लाइफस्टाइल | बिजनेस | राजनीति | कैरियर व सफलता | राजस्थान पर्यटन | स्पोर्ट्स मिरर | नियुक्तियां | वर्गीकृत | येलो पेजेस | परिणय | शापिंगप्लस | टेंडर्स निविदा | Plan Your Day Calendar

:: राजस्थान डाइजेस्ट ::

 





मध्यप्रदेश मंत्रि-परिषद के नवनियुक्त मंत्रियों को विभागों का वितरण
Our Correspondent :24 December 2013

मंत्रि

मंत्रि-परिषद सदस्य

विभाग

1.

श्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री

सामान्य प्रशासन, नर्मदा घाटी विकास, विमानन, संस्कृति, पर्यटन एवं अन्य विभाग जो किसी मंत्री को आवंटित नहीं

2.

श्री बाबूलाल गौर, मंत्री

गृह एवं जेल

3.

श्री जयंत मलैया, मंत्री

जल संसाधन, वित्त एवं वाणिज्यिक कर, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी

4.

श्री गोपाल भार्गव, मंत्री

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, सामाजिक न्याय, सहकारिता

5.

श्री गौरीशंकर शेजवार, मंत्री

वन, जैव विविधता एवं जैव प्रौद्योगिकी

6.

श्री कैलाश विजयवर्गीय, मंत्री

नगरीय प्रशासन एवं आवास - पर्यावरण

7.

श्री सरताज सिंह, मंत्री

लोक निर्माण

8.

डॉ. नरोत्तम मिश्रा, मंत्री

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, आयुष, भोपाल गैस त्रासदी एवं संसदीय कार्य

9.

कुँवर विजय शाह, मंत्री

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण

10.

श्री गौरीशंकर चतुर्भुज बिसेन, मंत्री

किसान कल्याण एवं कृषि विकास

11.

श्री उमाशंकर गुप्ता, मंत्री

तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास, उच्च शिक्षा

12.

सुश्री कुसुम मेहदेले, मंत्री

पशुपालन, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास कुटीर एवं ग्रामोद्योग, विधि एवं विधायी कार्य

13.

श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, मंत्री

वाणिज्य, उद्योग एवं रोजगार, सार्वजनिक उपक्रम, खेल एवं युवा कल्याण, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व

14.

श्री पारसचन्द्र जैन, मंत्री

स्कूल शिक्षा

15.

श्री राजेन्द्र शुक्ल, मंत्री

ऊर्जा, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा, खनिज साधन एवं जनसम्पर्क

16.

श्री अंतर सिंह आर्य, मंत्री

श्रम, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ कल्याण

17.

श्री रामपाल सिंह, मंत्री

राजस्व, पुनर्वास, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी

18.

श्री ज्ञान सिंह, मंत्री

आदिम जाति कल्याण, अनुसूचित जाति कल्याण

19.

श्रीमती माया सिंह, मंत्री

महिला एवं बाल विकास

20.

श्री भूपेन्द्र सिंह ठाकुर, मंत्री

परिवहन, सूचना प्रौद्योगिकी, लोक सेवा प्रबंधन, जनशिकायत निवारण

21.

श्री दीपक जोशी, राज्य मंत्री

स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा

22.

श्री लाल सिंह आर्य, राज्य मंत्री

नर्मदा घाटी विकास, सामान्य प्रशासन

23.

श्री शरद जैन, राज्य मंत्री

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, आयुष, गैस राहत, संसदीय कार्य

24.

श्री सुरेन्द्र पटवा, राज्य मंत्री

संस्कृति एवं पर्यटन





गहर नगर का विकास भाजपा सरकार की जिम्मेदारी नगरीय निकाय चुनाव के साथ जनता का विष्वास भी हमें जीतना है - श्री षिवराज सिंह चैहान
01 November 2014
भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन के दूसरे दिन कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान ने कहा कि नगरीय निकाय विकास की धुरी है, नगरों के विकास से मध्यप्रदेष का सम्पूर्ण विकास होगा। कांगे्रस मुक्त मध्यप्रदेष बनानें के लिए हमें नगरीय निकाय चुनाव के साथ जनता के विष्वास को जीतना है। उन्होनें कहा कि हमें जनता से सतत् संपर्क स्थापित करना होगा, हमारा व्यवहार सुलभ हो, सत्ता में आने के बाद विनम्रता जरूरी है। उन्होनें कहा कि चुनाव में मतभेद होते है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता के मन में कोई भेद न हो, गुटबाजी न हो। पार्टी प्रत्याषी चयन में विचार करेगी और जिसे प्रत्याषी चयनित किया जायेगा, वही मान्य होगा। पूरी पार्टी एक रहे यही कार्यकर्ताओं से आव्हान है। हमें परंपराओं को बरकरार रखना है, निकाय चुनाव में हर कार्यकर्ता उत्साह और आनंद से लबरेज रहे। उन्होनें कहा कि बिना उत्साह के चुनाव नहीं लड़े जाते। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह के उत्साह से हमें देष ओर अन्य प्रांतो में जीत मिली है।
श्री षिवराज सिंह चैहान ने कहा कि आज लौहपुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती है। सरदार पटेल ने 500 से अधिक रियासतों को विलय कर भारत को सषक्त करनें का काम किया था। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सरदार वल्लभभाई पटेल के काम को आगे बढ़ाकर भारत को एक करनें का काम कर रहे है। उन्होनें कहा कि तत्कालीन यूपीए सरकार ने देष को तबाह और बर्बाद करनें का काम किया था। यूपीए सरकार के प्रधानमंत्री बोलते नहीं थे और जब वे बोलते थे तो उन्हें कोई सुनता नहीं था। आज देष के प्रधानमंत्री मुखर है, जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी बोलते है तो दुनिया डोलती है। यूपीए सरकार ने अपने 10 सालों में देष के मान-सम्मान को बट्टा लगाया था, दुनिया में देष की साख खराब हुई थी। आज सषक्त सरकार और सषक्त प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देष की साख पूरी दुनिया में बढ़ी है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देष विकास के पथ पर अग्रसर हो रहा है। उन्होनें विष्वास जताते हुए कहा कि वैभवषाली भारत, गौरवषाली भारत और शक्तिषाली भारत का निर्माण प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में होगा।
उन्होनें कहा कि कांगे्रस के शासन में मध्यप्रदेष बीमारू राज्य था। सड़क, पानी और बिजली जैसी बुनियादी सुविधाओं के लिए प्रदेष की जनता मोहताज थी। मध्यप्रदेष की विकास दर ऋणात्मक थी। जबसे प्रदेष में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है, मध्यप्रदेष विकास के पथ पर अग्रसर हुआ है। आज हम गर्व के साथ कह सकते है कि मध्यप्रदेष देष में नंबर वन का राज्य है, प्रदेष की विकास दर अन्य प्रांतो से सर्वोच्च 11.08 प्रतिषत एवं कृषि विकास दर 24.99 प्रतिषत है।
उन्होनें कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम्, नर सेवा-नारायण सेवा, प्राणियों में सद्भावना हो और सर्वे भवन्तुः सुखिना के साथ, सबका साथ और सबका विकास हमारा ध्येय है, इस ध्येय को योजनाओं के माध्यम से मध्यप्रदेष में भारतीय जनता पार्टी सरकार ने धरातल पर उतारनें का काम किया है। उन्होनें मध्यप्रदेष सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारें में कहा कि सषक्त मध्यप्रदेष की परिकल्पना नगरों के विकास से संभव है। मध्यप्रदेष सरकार ने 60 हजार करोड़ का शहरी विकास का बजट बनाया है। मुख्यमंत्री पेयजल योजना से स्वच्छ पेयजल सुलभ हुआ है। उन्होनें कहा कि आने वाले दिनों में हर नगर में विकास की इबारत लिखी जायेगी, स्र्माट शहर बनानें की जिम्मेदारी प्रदेष सरकार की होगी। इंदौर एवं भोपाल में मेट्रो ट्रेन एवं ग्वालियर एवं जबलपुर में लाईट मेट्रो ट्रेन चलाई जायेगी।
श्री षिवराज सिंह चैहान ने कहा कि प्रदेष सरकार की योजनाएं हर शहर, हर नगर एवं हर गांव तक पहुंचे इसके लिए हर नगरीय निकाय में भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष एवं पार्षद होना चाहिए। शहर का संपूर्ण विकास करना है तो भारतीय जनता पार्टी की स्थानीय सरकार निकायों में जरूरी है। प्रदेष सरकार नगरों के विकास के लिए जो पैसा देती है वह नीचे तक सुव्यवस्थित रूप में पहुंचे, इसलिए नगरीय निकाय चुनाव में जुटकर भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनायें। उन्होनें कार्यकर्ताओं से कहा कि जितना छोटा चुनाव होता है वह चुनाव उतना कठिन होता है। लोकसभा चुनाव राष्ट्रीय मुद्दांे पर एवं विधानसभा चुनाव प्रादेषिक मुद्दों पर केन्द्रित होता है, लेकिन उन सबसे बढ़कर नगरीय निकायों के चुनाव होते है। नगर पंचायत, नगरपालिका और नगरनिगम के चुनाव जनता से जूड़कर उनके सुखदुख और काम से जीते जाते है, इसलिए हमें इस चुनाव में परिश्रम की पराकाष्ठा करनी है। रणनीति बनाकर प्रत्याषी का चयन ठीक हो ऐसी कार्ययोजना बनानी पड़ेगी।
उन्होनें कहा कि मध्यप्रदेष को गढ़ने का काम भारतीय जनता पार्टी ने हाथ में लिया उसे नगर-नगर तक हमें पहुंचाना है। वार्ड में जुटकर घर-घर जायें और प्रदेष सरकार की योजनाओं और उपलब्धियों के बारें में जनता को बतायें। उन्होनें उपस्थित नगर केन्द्रों के पालक-संयोजक, बूथ प्रभारियों से आव्हान करते हुए कहा कि घर-घर संपर्क के साथ हमें सदस्यता अभियान में जुटना है और राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह की मंषानुसार 2 करोड़ सदस्य मध्यप्रदेष में बनाना है। सदस्यता अभियान में मुख्यमंत्री, प्रदेष अध्यक्ष, हमारे सांसद, विधायक एवं सभी जनप्रतिनिधि और कार्यकर्ता प्राणपण के साथ जुटेंगे।



कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन 30-31 अक्टूबर-2014) सरकार और संगठन की एकजुटता का अनुपम उदाहरण है मध्यप्रदेष श्री कुषाभाऊ ठाकरे ने प्रदेष के कार्यकर्ताओं में परिश्रम की नींव डालकर एक मजबूत इमारत खड़ी करनें का कार्य किया - श्री अमित भाई शाह
01 November 2014
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित भाई शाह ने संकल्प अधिवेषन 30 व 31 अक्टूबर-2014 में आये पालक-संयोजक, बूथ प्रभारियों, कार्यकर्ताओं एवं मंच पर उपस्थित वरिष्ठ नेताओं, मंत्रीगण, पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे इस कार्यक्रम में कल आना था, लेकिन अपरिहार्य कारणों के चलते नहीं आ सका। आज कार्यक्रम में उपस्थित होने पर मैं कह सकता हूं कि इस तरह के सुचारू एवं संरचनात्मक कार्यक्रम की परिकल्पना को साकार मध्यप्रदेष के कार्यकर्ता ही कर सकते है। उन्होनें प्रदेष अध्यक्ष श्री नंदकुमार सिंह चैहान को बधाई देते हुए कहा कि जनसंघ की स्थापना से मध्यप्रदेष के कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी के गठन और आज तक के कार्यों में अपना अमूल्य योगदान दिया है। श्री कुषाभाऊ ठाकरे, राजमाता विजयाराजे सिंधिया जैसे महान संगठकों ने यहां कार्यकर्ताओं की ऐसी मजबूत नींव डाली है जिस पर मजबूत एवं भव्य इमारत खड़ी करनें में हमें कामयाबी प्राप्त हुई है। पिछले लगभग 11 वर्ष से प्रदेष में भारतीय जनता पार्टी का शासन है। राष्ट्र में कई वर्षों के पष्चात पूर्ण बहुमत की सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने दी है और हाल ही संपन्न हुए हरियाणा एवं महाराष्ट्र के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को जनता ने अपना आषीर्वाद दिया है। इन सभी परिणामों को देखते हुए यह कहना कतई अनुचित नहीं होगा कि देष की जनता के दिल में भारतीय जनता पार्टी रच-बस गयी है। श्री अमित भाई शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को जो आषीर्वाद मिला है वह अकारण नहीं मिला। भारतीय जनता पार्टी ने हमेषा गरीब लोगों, समाज के असहाय व्यक्तियों एवं जरूरतमंद लोगों के कल्याण के लिए काम किया है। एक बार जहां भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है, वहां हमेषा के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपना स्थाई किला स्थापित कर लिया है। मध्यप्रदेष, राजस्थान, गुजरात, छत्तीसगढ़ इसके उदाहरण है और अब गोवा, हरियाणा और महाराष्ट्र भी इसी कड़ी में शामिल हो चुके है। उन्होनंे मध्यप्रदेष के परिप्रेक्ष्य में कहा कि आज से 11 वर्ष पूर्व जब प्रदेष में आना होता था तो गुजरात से मध्यप्रदेष में आने वाली सड़क में पड़ने वाले गढढ़ो के माध्यम से पता चल जाता था कि मध्यप्रदेष आ गया। दिग्विजय सिंह ने मध्यप्रदेष की ऐसी हालत कर दी थी कि पता ही नहीं चलता था कि गढढ़े में सड़क है या सड़क में गढढ़े। मुख्यमंत्री षिवराज सिंह चैहान के नेतृत्व में चल रही भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने महज कुछ वर्षो के शासन में प्रदेष की विकास दर देष में सर्वाधिक पहुंचाई है। 2003 में सिंचाई के रकबे को 7 लाख हैक्टेयर से बढ़ाकर 20 लाख हैक्टेयर से अधिक पहुंचा दिया है, तीन गुना ज्यादा विकास की गति भारतीय जनता पार्टी की मध्यप्रदेष सरकार ने हासिल की है। आज मैं मध्यप्रदेष में भारतीय जनता पार्टी के शासन को लेकर गर्व के साथ कह सकता हूं कि यह राज्य ‘वेल्फेयर स्टेट’ (कल्याण राज्य) की ओर तेजी से बढ़ रहा है। उन्होनें यूपीए सरकार के शासनकाल को देष के लिए दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि 21वीं सदी की शुरूआत में देष की जनता को समझ में नहीं आ रहा था कि देष किस दिषा की ओर गतिषील है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने देष की जनता को भरोसा दिला दिया है कि भारत पुनः विष्व के नेतृत्व की क्षमता रखता है।
इन चार महीनों के छोटे से कार्यकाल में केन्द्र सरकार ने देष की जनता को ऐसी कई योजनाएं व सौगातें दी है। सरहद सुरक्षा, प्रधानमंत्री जन-धन योजना, मेक इन इंडिया, श्रमेव जयते, स्वच्छ भारत अभियान जैसे कार्यक्रमों से श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व को देष की जनता द्वारा मन से स्वीकार कर लिया है। श्री नरेन्द्र मोदी जब से देष के प्रधानमंत्री बने है, उन्होनें कम दिनों में ही देष के आमजन के बीच भारतीय जनता पार्टी का स्थान निष्चित कराकर एक बहुत बड़ी पूंजी हासिल करनें का अभिनव कार्य किया है। उन्होनें भारतीय जनता पार्टी के संविधान को जनसमूह के समक्ष उल्लेखित करते हुए कहा कि भारत की एकमात्र पार्टी भारतीय जनता पार्टी है जो हर दो वर्षों में आंतरिक लोकतंत्र का अवलोकन करती है, संविधान के हिसाब से हम प्रत्येक वर्ष सदस्यता अभियान कराते है। 1 नवंबर को प्रारंभ होने वाले नये सदस्यता अभियान की शुरूआत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा की जायेगी, यह सदस्यता अभियान आंतरिक चुनाव के लिए नहीं अपितु संगठन का विस्तार करनें के लिये है। ऐसे गांव, जाति, बूथ क्षेत्रों में पार्टी को बढ़ाने के लिए संगठन सदस्यता अभियान कर रहा है जहां पार्टी एवं संगठन की पहुंच कम है। हमें चार गुना ज्यादा सदस्य बनाकर पार्टी को संपूर्ण भारत में स्थापित करने का अभिनव कार्य करना है। उन्होनें मध्यप्रदेष के लिए 2 करोड़ सदस्य बनानें का लक्ष्य पार्टी संगठन के समक्ष रखा। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होनें कहा कि 1 नवंबर को सदस्यता अभियान के लिए एक टोल फ्री नंबर जारी किया जायेगा जिस पर काॅल करनें पर आपका स्वतः सदस्यता नंबर जारी हो जायेगा।
श्री शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेष इकाई सरकार और संगठन के समन्वय का अनुपम उदाहरण है। प्रदेष अध्यक्ष श्री नंदकुमार सिंह चैहान के नेतृत्व में संगठन और मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान के नेतृत्व में सरकार, पार्टी के बनने वाले सदस्यों के माध्यम से मध्यप्रदेष को एक ऐसा अजेय गढ़ बनायेंगे जिसे ध्वस्त कर पाना विरोधियों के बस में मुमकिन नहीं होगा। उन्होने सरकार और संगठन की प्रषंसा करते हुए कहा कि कार्यकर्ताओं का यह संगम बेहद सरचंनात्मक तरीके से किया गया है, यहां की व्यवस्थाएं सराहनीय है और परिवार भाव का सबसे अच्छा उदाहरण मध्यप्रदेष संगठन के द्वारा यह प्रस्तुत किया गया है। संकल्प अधिवेषन में आये कार्यकर्ता स्थानीय कार्यकर्ताओं के निवास पर रूककर पार्टी संगठन को मजबूत करनें की दिषा में और आगे बढ रहा है।
इस अवसर पर वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री संुदरलाल पटवा, श्री कैलाष जोषी, श्री कैलाष नारायण सारंग, श्री विक्रम वर्मा, राष्ट्रीय सचिव व सांसद ज्योति धु्रवे, अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री फग्गनसिंह कुलस्ते, प्रदेष संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन, सांसद श्री मेघराज जैन, डाॅ. सत्यनाराण जटिया, श्री भगवतषरण माथुर, श्री माखन सिंह चैहान, वरिष्ठ मंत्री श्री बाबूलाल गौर, श्री कैलाष विजयवर्गीय, श्री उमाषंकर गुप्ता, श्री भूपेन्द्र सिंह, श्री सरताज सिंह, डाॅ. नरोत्तम मिश्रा, श्री गौरीषंकर बिसेन, श्रीमती माया सिंह, श्रीमती यषोधरा राजे सिंधिया, श्री पारस जैन, श्री लालसिंह आर्य, श्री दीपक जोषी, श्री दिलीपसिंह भूरिया, श्री राकेष सिंह,़ सुश्री ऊषा ठाकुर, अनुसुईया उइके, डाॅ. सुधा मलैया, श्रीमती नीता पटैरिया, सुश्री राजो मालवीय, श्री विजेन्द्रसिंह सिसोदिया, श्री विष्वास सारंग, डाॅ. दीपक विजयवर्गीय, महापौर श्रीमती कृष्णा गौर, प्रदेष संवाद प्रमुख डाॅ. हितेष वाजपेयी, प्रदेष सह संवाद प्रमुख श्री संजय कुमार खोचे, महिला मोर्चा की प्रदेष अध्यक्ष श्रीमती लता वानखेड़े, जिला अध्यक्ष श्री आलोक शर्मा सहित पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।



कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन 30-31 अक्टूबर-2014) हरियाणा और महाराष्ट्र विजय में योगदान के पश्चात प्रदेष के कार्यकर्ता कष्मीर विजय के लिए प्राण-पण से जुटेंगे - श्री नंदकुमार सिंह चैहान

01 November 2014
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने संकल्प अधिवेषन के अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित भाई शाह के पहली बार मध्यप्रदेष आगमन पर स्वागत करते हुए कहा कि यह मध्यप्रदेष के लिए सौभाग्य की बात है कि लौहपुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर हमारे यषस्वी व कर्मठ राष्ट्रीय अध्यक्ष का आगमन मध्यप्रदेष में हुआ है। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित भाई शाह ने पार्टी की सरकार के गठन में जो रीति-नीतियां बनाई थी वे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी की पहुंच जन-जन तक हो इस कार्य में शत प्रतिषत कामयाब हुई है। लोकसभा चुनाव में चुनावी पंडितों के साथ कई राजनैतिक दल भारतीय जनता पार्टी पर नजर गढ़ाये बैठे थे, श्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेष का प्रभार संभालते ही राज्य को भारतीय जनता पार्टी के ध्वज तले रंगने का अभिनव कार्य प्रारंभ कर दिया था। परिणाम स्वरूप उत्तर प्रदेष की 80 में 73 लोकसभा सीटों पर विजय हासिल कर पार्टी ने एक नया इतिहास रचा। उन्होने कहा कि राजनैतिक सफलता का सिलसिला प्रारंभ हो चुका है। लोकसभा चुनाव के पष्चात भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित भाई शाह के नेतृत्व में हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में विजय हासिल की है।
श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने कहा कि आज पालक-संयोजक एवं बूथ प्रभारियों के संकल्प अधिवेषन के अवसर पर नगरीय निकायों के चुनावों में विजय दिलाने के लिए सफलता सूत्र देने हेतु राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह हमारे बीच है। मध्यप्रदेष में मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान और केन्द्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नाम और काम का जादू देष-प्रदेष की जनता के सिर चढ़कर बोल रहा है। नगरीय निकाय चुनाव में कार्यकर्ता अपने-अपने बूथ पर भारतीय जनता पार्टी को विजयी दिलाने के लिए यहां से संकल्प लेकर प्रस्थान करेंगे। उन्होनें कहा कि हम भाग्यषाली है कि मध्यप्रदेष में मुख्यमंत्री षिवराज सिंह चैहान और केन्द्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी विकास के लिए एक और एक दो नहीं बल्कि एक और एक ग्याहर साबित हो रहे है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने अपने छोटे से कार्यकाल में बड़े-बड़े कार्यक्रमों व योजनाओं को प्रारंभ कर एक नये मिषन को अपने हाथों में लिया है।
उन्होनें कहा कि स्व. कुषाभाऊ ठाकरे जैसे महान संगठक के संस्कार मध्यप्रदेष के कार्यकर्ताओं को मिले है, हमारे कार्यकर्ता प्रदेष भारतीय जनता पार्टी संगठन की शक्ति है। प्रदेष के कार्यकर्ता अपने परिश्रम और ईमानदारी, निष्ठा के बल पर अन्य राज्यों में जाकर पार्टी की विजय में अपना योगदान अर्पित करते है। प्रदेष के कार्यकर्ताओं ने हरियाणा और महाराष्ट्र की जीत में अभिनव योगदान दिया है। उन्होनें कार्यकर्ताओं को बताया कि केन्द्रीय संगठन से संदेष प्राप्त हो गया है कि मध्यप्रदेष के परिश्रमी कार्यकर्ता कष्मीर के अभेद्य किले को फतह करनें के लिए विधानसभा चुनाव में कष्मीर प्रस्थान करेंगे।



संकल्प अधिवेषन 30-31 अक्टूबर 2014) ऐतिहासिक कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में भाजपा मध्यप्रदेष को महारत हासिल - श्री अरविन्द मेनन
01 November 2014
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने संकल्प अधिवेषन को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेष भारतीय जनता पार्टी ने अनेक ऐतिहासिक कार्यक्रम किए है। ऐतिहासिक कार्यक्रम करने में अब मध्यप्रदेष भारतीय जनता पार्टी और कार्यकर्ता को महारथ हासिल हो चुकी है। उन्होंने कहा कि पूर्व में जम्बूरी मैदान में 6 लाख 50 हजार कार्यकर्ताओं का ऐतिहासिक कार्यकर्ता महाकंुभ पं. दीनदयाल उपाध्याय जयंती पर पार्टी ने प्रदेष में किया था। राजनीति के इतिहास में संकल्प अधिवेषन अभूतपूर्व कार्यक्रम है। संकल्प अधिवेषन में प्रदेष भर से आए 22000 नगर ग्राम केन्द्र के पालक, संयोजक एवं बूथ प्रभारी भोपाल के कार्यकर्ता के परिवारों में रूके है। 85 वार्डो में 22000 कार्यकर्ताओं की ठहरने की व्यवस्था सत्कार परिवार में हुई है। यह अभिनव कार्यक्रम भारतीय जनता पार्टी के परिवारभाव को मजबूत करता है। उन्होंने कहा कि दौड़ भाग के इस युग में हम विचार के साथ हर परिवार तक पहंुचे है।
उन्होंने कहा कि हाल ही में महाराष्ट्र और हरियाणा में हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत हासिल की है। इस जीत का श्रेय मध्यप्रदेष के कार्यकर्ताओं को जाता है। प्रदेष के कार्यकर्ताआंे के अथक परिश्रम का परिणाम हमें विजय के रूप में अर्जित हुआ है। इस विजय से मध्यप्रदेष के कार्यकर्ताओं का मान देष में बढा है। श्री मेनन ने कहा कि देष में अनेक राजनैतिक दल है जहां पर परिवारवाद है, ममता समता, डीएमके और कांग्रेस में मेडम और उनके बेटे ही अध्यक्ष, उपाध्यक्ष बनते है। भारतीय जनता पार्टी एक मात्र ऐसा कार्यकर्ता आधारित दल है जिसमें छोटा सा छोटा कार्यकर्ता भी सर्वोच्च पद पर पहंुचता है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री षिवराजसिंह चैहान इसके प्रत्यक्ष उदाहरण है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस घोटालों की पार्टी है। आकाष से पाताल तक कांग्रेस ने घोटाले किए है। देष की जनता के मन में कांग्रेस के प्रति आक्रोष है। आगामी नगरीय निकाय चुनाव में हमें कांग्रेस की विफलताओं और प्रदेष सरकार की सफलताओं को हर घर तक पहंुचाने का काम करना है। अधिवेषन के बाद हम नगरीय निकाय की ओर रूख करेंगे और भारतीय जनता पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व के कांग्रेस मुक्त शासन की परिकल्पना को साकार करना है।
श्री अरविन्द मेनन ने पार्टी की सदस्यता अभियान के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 1 से 7 नवंबर के बीच हर जिले में सदस्यता अभियान चलाया जायेगा। अभियान के प्रदेष प्रभारी श्री मेघराज जैन जल्दी ही अपनी टीम का गठन कर सदस्यता अभियान को सक्रियता प्रदान करेंगे। साथ ही बिटिया बचाओ अभियान भी जिला नगरीय निकाय एवं नगर पंचायत स्तर तक चलाया जायेगा। भोपाल में मुख्यमंत्री श्री षिवराजसिंह चैहान एवं प्रदेष अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमारसिंह चैहान अभियान की शुरूआत करेंगे



लोकतंत्रचेता, अजेय रणनीतिकार, विजय षिल्पी भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन का 30 अक्टूबर को उद्घाटन करेंगे- श्री नंदकुमार सिंह चैहान
Our Correspondent :29 October 2014
भोपाल । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन स्थल दषहरा मैदान भेल, भोपाल में पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन का उद्घाटन 30 अक्टूबर को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, लोकतंत्रचेता, अजेय रणनीतिकार और विजयषिल्पी श्री अमित शाह करेंगे। इस अधिवेषन में प्रदेष में नगरीय निकायों के चुनाव में विजय का शंखनाद होगा, दो दिवसीय कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन में केन्द्रीय नेतृत्व और वरिष्ठ मंत्री कार्यकर्ताओं को मार्गदर्षन देंगे। अधिवेषन में केन्द्रीय मंत्री श्री वैंकेया नायडू, श्री राजनाथ सिंह, श्रीमती सुषमा स्वराज, श्री नरेन्द्रसिंह तोमर, श्री थावरचंद गेहलोत, श्री अनंत कुमार, श्री प्रकाष जावडे़कर सहित पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा तथा अन्य पदाधिकारी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे, साथ ही प्रदेष के वरिष्ठ मंत्री श्री गोपाल भार्गव, श्री कैलाष विजयवर्गीय, डाॅ. नरोत्तम मिश्रा और श्री गौरीषंकर बिसेन प्रदेष में प्रगति के नये आयामों से कार्यकर्ताओं को रूबरू करेंगे। उन्होनें बताया कि प्रदेष में कमोवेष 7 लाख करोड़ रूपयों का निवेष होने जा रहा है, औद्योगिकीकरण के इस चरण में लाखों युवकों को रोजगार के अवसर तकनीकि प्रषिक्षण के अवसर बढ़ेंगे और आंचलिक युवकों को रोजगार मिलेगा। इस बात को कार्यकर्ताओं के सामने लाने के लिए ग्लोबल इंवेस्टमेंट मीट की सीडी का प्रदर्षन किया जायेगा। श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी ने नगरीय क्षेत्रों के 25 हजार कार्यकर्ताओं के आने का कार्यक्रम तय किया था, लेकिन नगरीय क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं मंे जिस तरह उत्साह जगा है यह संख्या अधिक भी हो जाना तय है, इसलिए अतिरिक्त व्यवस्थाएं भी सुनिष्चित कर ली गयी है। किसी भी राजनैतिक दल का यह देष-दुनिया में विलक्षण और अभिनव कार्यक्रम है, अधिवेषन में आने वाले कार्यकर्ता पार्टी कार्यकर्ताओं के निवास पर रूकंेगे। जहां रूकेंगे उन परिवारों को सत्कार परिवार के रूप में चिन्हित किया गया है। जिलेवार यहां पहुंचने वाले कार्यकर्ताओं की सूची यहां सत्कार परिवारों तक पहुंचा दी गयी है और इनकी सुविधाओं के लिए भोपाल के सभी 17 मंडलों के 85 वार्डों में नियंत्रण कक्ष के जरिये इस कार्य को अंजाम दिया जा रहा है। उन्होनें कहा कि सत्कार परिवार में कार्यकर्ताओं के रूकनें से आत्मीयता का रिष्ता विकसित होगा। अभ्यागत कार्यकर्ता सत्कार परिवार के यहां तुलसी का पौधा रोपकर पर्यावरण का संदेष देंगे, साथ ही गीता और अन्य यादगार सामग्री सत्कार परिवार को भेंट करेंगे। प्रदेष के जननायक मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान भी कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे और प्रदेष में जो सामाजिक, आर्थिक ताना-बाना बुनने के लिए नवाचार आरंभ किया गया है जन-जन तक राहत और सुविधाएं पहुंचाने का प्रयास हुआ है उसकी जानकारी देंगे, जिससे इस कार्य को और अधिक बल मिलेगा, विकास के प्रति जनरूचि जागृत होगी। उन्होनंे कहा कि संकल्प सम्मेलन में भाग लेकर कार्यकर्ता यहां से चुनाव में विजय का संकल्प लेकर अपने-अपने स्थानों पर पहुंचेंगे और नगरीय निकाय के चुनावों में सहमतिपूर्ण रणनीति बनानें में जुटेंगे। श्री चैहान ने बताया कि सम्मेलन के समापन के साथ ही प्रदेष में नगरीय निकाय के चुनाव की सरगर्मियां शबाव पर आ जायेंगी, पार्टी प्रत्याषियों के चयन के प्रति सजग औेर सचेत है और कार्यकर्ता भी सहमति के आधार पर चुनाव में विजय सुनिष्चित करेंगे। तीन स्तरीय चयन समितियां प्रदेष में गठित है, इनका पुनर्गठन जल्दी ही कर लिया जायेगा, जिससे जिला चयन समिति, संभागीय चयन समिति और प्रदेष स्तरीय चयन समिति अपने काम को अंजाम देगी। भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेष इकाई देष में अपने संगठनात्मक कौषल और रणनीति के लिए पहचान बना चुकी है। संकल्प अधिवेषन इसमें नया अध्याय जोड़ेगा।

सत्कार परिवार की कल्पना के जनक अरिवन्द मेनन ने अभिनव सोच दिया

श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने कहा कि 25 हजार कार्यकर्ताओं के रूकनें के लिए सत्कार परिवार गठित कर वहां अभ्यागतों को रूकनें की कल्पना प्रदेष संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने दी। इस अनूठी सोच ने पार्टी के नेतृत्व को प्रभावित किया और यह बात तय की गयी कि सत्कार परिवार में अभ्यागतों के रूकनें से आत्मीयता का नया रिष्ता जुड़ेगा और इससे पार्टी के अतिथि देवो भवः की कल्पना भी साकार होगी। 31 अक्टूबर को लौहपुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर ‘रन फाॅर यूनिटी’ का आव्हान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने किया है जो राष्ट्रीय एकता का प्रतीक है। समूचा देष राष्ट्रीय एकता के लिए जब दौड़ लगायेगा तो मध्यप्रदेष भी पीछे रहने वाला नहीं है। प्रदेष के सभी जिलों यहां तक नगर ग्राम केन्द्रों में भी रन फाॅर यूनिटी का आयोजन किया जायेगा। संकल्प अधिवेषन में भाग लेने वाले सभी कार्यकर्ता इस धावन में शामिल होंगे। इस दौड़ में पार्टी नेतृत्व, वरिष्ठ मंत्री श्री अनंत कुमार, श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, श्री थावरचंद गेहलोत, मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान, प्रदेष अध्यक्ष श्री नंदकुमार सिंह चैहान, प्रदेेष के मंत्री, सांसद, विधायक, पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि भी भाग लेंगे। उन्होनें बताया कि सत्कार परिवार में मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान का निवास भी शामिल है, वहां अनुसूचित जाति, जनजाति और सामान्य वर्ग के पांच कार्यकर्ता अतिथि के रूप में रूकेंगे। इस आयोजन में कार्यकर्ताओं की सुविधा के लिए हेल्पलाईन नंबर 7879088888 भी स्थापित किया जा चुका है।

(संकल्प अधिवेषन 30-31 अक्टूबर 2014)

कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन स्थल वल्लभभाई पटेल नगर सुरूचिपूर्ण सज्जा के साथ कार्यकर्ताओं की अगवानी के लिए तैयार
भारतीय जनता पार्टी के दो दिवसीय कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन के लिए वल्लभभाई पटेल नगर भेल दषहरा मैदान भोपाल सुरूचिपूर्ण सज्जा के साथ अभ्यागतों के स्वागत के लिए तैयार हो गया है। प्रदेष अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने पत्रकारों के साथ अधिवेषन स्थल का अवलोकन किया। प्रदेष मंत्री सुश्री राजो मालवीय, प्रदेष प्रवक्ता श्री विजेन्द्रसिंह सिसोदिया, प्रदेष प्रवक्ता एवं विधायक श्री रामेष्वर शर्मा, डाॅ. दीपक विजयवर्गीय, प्रदेष संवाद प्रमुख डाॅ. हितेष वाजपेयी, सह संवाद प्रमुख संजय कुमार खोचे, श्री विजेष लूनावत, जिला अध्यक्ष श्री आलोक शर्मा भी साथ में थे। इस अवसर पर आयोजन स्थल की साज-संवार के प्रभारी विजेष लूनावत ने बताया कि संकल्प अधिवेषन में प्रवेष के लिए 8 प्रवेष द्वारा बनाये गये है। स्व. प्यारेलाल खंडेलवाल, स्व. नारायणप्रसाद गुप्ता, स्व. वीरेन्द्र कुमार सखलेचा, स्व. रामहित गुप्ता, स्व. राजेन्द्र धारकर, स्व. लक्ष्मीनारायण शर्मा, स्व. नारायणकृष्ण शेजवलकर और स्व. ईष्वरदास रोहाणी द्वार से होकर अतिथि अभ्यागत समारोह स्थल पर पहुंचेंगे। आयोजन स्थल पर 4 डोम बनाये गये है, इनमें एलईडी स्क्रीन लगाये गये है। भोजन के लिए 200 काउंटर लगेंगे और भोजन वितरण की व्यवस्था संभागवार की जायेगी। उन्होनें बताया कि स्व. शीतला सहाय चिकित्सालय भी गठित किया गया है। जहां 10 बिस्तरों की व्यवस्था होगी, एक एम्बुलेंस, कार्डिक यूनिट और 5 चिकित्सक तैनात रहेंगे। उन्होनें बताया कि सभी 85 वाडऱ्ो में बने नियंत्रण कक्षों में भी चिकित्सीय व्यवस्था की गयी है।
मीडिया सेंटर: समारोह स्थल पर संचार माध्यम की सुविधा के लिए मानकचन्द्र वाजपेयी मीडिया सेंटर बनाया गया है। इस सेंटर को पूरी तरह फर्निष किया जा चुका है। चार प्रर्दषनियां: श्री विजेष लूनावत ने बताया कि कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन परिसर में बनाये गये चार प्रदर्षनी मंडपों में जनसंघ से लेकर भारतीय जनता पार्टी तक की विकास यात्रा को दर्षाया गया है। दूसरे मंडप में श्री नरेन्द्र मोदी के सपनों के भारत, श्री नरेन्द्र मोदी की दृष्टि सवा अरब जनता का विकास को समग्रता के साथ दर्षाया गया है। तीसरे मंडप में 2016 में उज्जैन में आयोजित होने वाले सिंहस्थ मेले का विहंगम दृष्य कल्पना के आधार पर चित्रित किया गया है। चैथे मंडप में श्री षिवराज सिंह चैहान और भारतीय जनता पार्टी सरकार की मध्यप्रदेष में उपलब्धियों को दर्षाया गया है।

29 अक्टूबर संध्या के समय संकल्प अधिवेषन स्थल पर मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान, केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर और प्रदेष अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चैहान की गरिमापूर्ण उपस्थिति में ध्वजारोहण कर प्रदर्षनी का शुभारंभ किया गया। इसके साथ ही समारोह स्थल पर प्रदेष के दूरदराज, नगरीय क्षेत्रों से पहुंचने वाले कार्यकर्ताओं का आगमन शुरू हो गया है।

(संकल्प अधिवेषन 30-31 अक्टूबर 2014) संकल्प अधिवेषन की वेबसाइट एवं हेल्पलाईन आरंभ आम जनता भी लाभ उठा सकेगी
भारतीय जनता पार्टी के संवाद प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय कार्यसमिति के पदाधिकारी सचिन खरे ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन में आए हुए कार्यकर्ताओं की सहायता हेतु 7879088888 हेल्पलाइन नंबर चालू कर दिया गया है। इस नंबर को डायल करने के बाद आईव्हीआरएस सिस्टम चालू हो जायेगा। इस पर पार्टी के बारे में जानकारी दी जायेगी। मुख्यमंत्री और प्रदेष अध्यक्ष का संदेष रहेगा। पार्टी के आगामी कार्यक्रमों की सूचना भी दी जायेगी। मध्यप्रदेष सरकार की योजनाओं की जानकारी मिलेगी। यदि कार्यकर्ता/आम जनता पार्टी को सुझाव देना चाहती है तो उसकी व्यवस्था भी इसमें है, जो पार्टी की सदस्यता लेना चाहते है उसमें भी यह मददगार है।
अतिथि अभ्यागत हेल्पलाइन का नंबर लगाने के बाद जैसे ही रिस्पोंस मिलता है 9 नंबर दबाकर आॅपरेटर से मुखातिब हो जायेंगे और उनकी समस्या का समाधान आॅपरेटर द्वारा किया जायेगा। अधिवेषन की वेबसाइट आरंभ श्री सचिन खरे ने बताया कि कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन की वेबसाइट आरंभ कर दी गयी है इसका एड्रेस है ूूूण्इरचेंदांसचण्वतह अधिवेषन से संबंधित जानकारी दृष्य श्रृव्य सामग्री इसी पर उपलब्ध होगी। सोषल मीडिया में संकल्प अधिवेषन का प्रचार आरंभ हो गया है। फेसबुक पर अधिवेषन का पेज और ट्विटर पर रुइरचेंदांसच ;हेषटैगद्ध के नाम से प्रचार चालू किया जा चुका है।
श्री सचिन खरे ने बताया कि हेल्पलाईन नंबर की प्रासंगिकता जिज्ञासुओं के लिए निरंतर बनी रहेगी। यह पार्टी ने स्थायी सुविधा दी है। पार्टी की आगामी कार्ययोजना और गतिविधियों के बारे में इस नंबर की उपयोगिता बनी रहेगी व आम जनता भी उक्त हेल्पलाइन का उपयोग पार्टी से जुडने के लिए कर सकेगी।

श्री राजनाथ सिंह 31 अक्टूबर को भोपाल में

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह 31 अक्टूबर को दोपहर 12.15 बजे हैदराबाद एयरपोर्ट से एयरक्राफ्ट द्वारा दोपहर 1.15 बजे भोपाल एयरपोर्ट पहंुचेंगे। दोपहर 1.30 बजे भोपाल के दषहरा मैदान भेल में आयोजित संकल्प अधिवेषन में भाग लेंगे। आप दोपहर 3 बजे भोपाल एयरपोर्ट से एयरक्राफ्ट द्वारा लखनऊ रवाना होंगे।
---------------------------------------------------------------------------------------------------------
विदेष मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज 30 अक्टूबर को भोपाल में

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेत्री एवं केन्द्रीय विदेष मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज 30 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे भेल के दषहरा मैदान में आयोजित संकल्प अधिवेषन में शामिल होंगी। आप सायं 6 बजे भोपाल से सायंकालीन विमान सेवा (एआई-633) से दिल्ली प्रस्थान करेगी। ---------------------------------------------------------------------------------------------------------

श्री वैंकेया नायडू 30 अक्टूबर को भोपाल प्रवास पर

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्री श्री वैंकेया नायडू 30 अक्टूबर को प्रातः 6.20 बजे दिल्ली से नियमित विमानसेवा से चलकर प्रातः 8.05 बजे भोपाल पहंुचेंगे। प्रातः 9.30 बजे केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग की बैठक एवं प्रातः 11 बजे संकल्प अधिवेषन में भाग लेंगे। आप दोपहर 2 बजे भोपाल से विषेष विमान द्वारा दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे।
------------------------------------------------------------------------------------------------------
केन्द्रीय मंत्री श्री प्रकाष जावडे़कर 30 को भोपाल आयेंगे
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय सूचना प्रसारण, संसदीय कार्य, वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री श्री प्रकाष जावडे़कर 30 अक्टूबर को प्रातः 6.20 बजे विमान सेवा से चलकर 8.05 भोपाल आयेंगे। आप प्रातः 9 बजे सूचना प्रसारण निदेषालयों के प्रमुखों, वन पर्यावरण मंत्रालय के अधिकारियों से सर्किट हाउस में भेंट करेंगे।
श्री प्रकाष जावड़ेकर प्रातः 11 बजे भेल दषहरा मैदान पहुुंचेंगे और भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन में अतिथि होंगे। आप बाद में विमान सेवा से मुंबई जायेंगे और 31 अक्टूबर को महाराष्ट्र में सरकार के गठन के अवसर पर शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेंगे।
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
केन्द्रीय मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत 30 और 31 संकल्प अधिवेषन में भाग लेंगे

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय सामाजिक, न्याय व अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत 30 अक्टूबर को प्रातःकालीन विमान सेवा से दिल्ली से चलकर भोपाल आयेंगे। आप यहां कार्यकर्ता संकल्प अधिवेषन के दो दिवसीय कार्यक्रम में 30 और 31 अक्टूबर को भाग लेंगे। आप 31 अक्टूबर को संध्याकालीन विमान सेवा से भोपाल से दिल्ली प्रस्थान करेंगे।

चिदंबरम की बयानी बेकरारी अवसरवादिता की कांग्रेसी मिसाल- श्री विजेन्द्रसिंह सिसौदिया

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष प्रवक्ता श्री विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कांग्रेस को मिली करारी पराजय पर गैर गांधी परिवार को कांग्रेस का नेतृत्व सौंपे जाने की बात कहकर लाखों कांग्रेसियों की भावना को व्यक्त किया है, लेकिन गांधी परिवार के निकटतम सदस्य होने के बावजूद उनके बयान से लगता है कि कांग्रेस में बढ़ते विद्रोह के विस्फोट को रोकने के लिए ऐसा उन्होंने 10 जनपथ की सहमति से ही किया होगा। इससे चिदंबरम का दोहरा चेहरा बेनकाब हो गया है। दरअसल चिदंबरम ने 2009 में षिवगंगा सीट जीतने के लिए करोड़ो रूपए खर्च किए थे, लेकिन हकीकत यह है कि वह दौर था जब टूजी स्पेक्ट्रम घोटाला हुआ और चिदंबरम ने सिर्फ तत्कालीन वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी का रास्ता रोकने और पार्टी से विदा करने का रास्ता साफ किया। अब जब कांग्रेस भ्रष्टाचार, घोटालों के कारण जनता की नजरों से उतर चुकी है चिदंबरम दोहरी भूमिका अदाकर जनता की आंखों में धूल झौक रहे है। एक ओर चिदंबरम 10 जनपथ के प्रति वफादारी की नौटंकी करते है दूसरी तरफ बदलाव की आग को हवा देते है। कांग्रेस का यदि शुद्धिकरण करना कार्यकर्ताओं की प्रतिबद्धता है तो उन्हें न केवल गैर गांधी को नेतृत्व सौंपने का विचार करना चाहिए अपितु चिदंबरम जैसी शख्सियतों से भी मुक्ति लेना पडेगी।


ग्लोबल इन्वेस्टमेंट डेस्टिनेषन के साथ मध्यप्रदेष उर्वरक, रसायन के क्षेत्र में इन्वेस्टमेंट रीजन डेस्टिनेषन बनेगा - श्री अनंत कुमार
कृषि के क्षेत्र में विकास के चरम के साथ मध्यप्रदेष औद्योगिकरण की दिषा में छलांग लगायेगा
- श्री षिवराज सिंह चैहान
पार्टी, सत्ता के साथ ही मध्यप्रदेष इकाई और केंद्र के बीच
श्री अनंत कुमार ने अनवरत सेतु का काम किया है
- श्री नंदकुमार सिंह चैहान

15 September 2014
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, गत आठ वर्षों से प्रदेष के संगठन प्रभारी और श्री नरेंद्र मोदी सरकार में उर्वरक, रसायन मंत्री श्री अनंत कुमार का प्रदेष कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर में मर्मस्पर्षी और आत्मीय वातावरण में प्रदेष अध्यक्ष श्री नंदकुमार सिंह चैहान और प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान ने स्वागत किया। उन्हें अभिनंदन पत्र, शाल, श्रीफल, स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने कहा कि गत आठ वर्षों से श्री अनंत कुमार प्रदेष में पार्टी की सफलता के षिल्पकार सिद्ध हुए। उन्होंने संगठन और सत्ता के बीच में तालमेल का षिल्प गढ़ा, साथ ही प्रदेष इकाई और केंद्रीय संगठन के बीच सेतु का कार्य करके हमें संस्कार दिये हैं हम उनके योगदान को भुला नहीं पायेंगे और आषा व्यक्त करते हैं कि अनंत कुमार मध्यप्रदेष का आने वाले दिनों में पूर्ववत मार्गदर्षन करते रहेंगे। उनके प्रभार में जो मंत्रालय हैं उसका सही उपयोग उपभोक्ता के रूप में मध्यप्रदेष है, क्योंकि यहां कृषि की विकास दर दुनिया में सबसे अधिक 24.99 प्रतिषत दर्ज हुई है। भोपाल के जिलाध्यक्ष आलोक शर्मा में अभिनंदन पत्र का वाचन किया। इस अवसर पर वरिष्ठ नेता श्री सुंदरलाल पटवा, श्री कैलाष जोषी, प्रदेष संगठन महामंत्री श्री अरविंद मेनन, स्थानीय सांसद श्री आलोक संजर, मंत्री डाॅ. नरोत्तम मिश्रा, श्री गौरी शंकर बिसेन, विधायक श्री रामेष्वर शर्मा ने भी अनंत कुमार के अमूल्य मार्गदर्षन के लिए प्रदेष के कार्यकर्ताओं की ओर से उन्हें बधाई दी और उनके यषस्वी जीवन की कामना की। भोपाल ग्रामीण के भक्तपाल सिंह, विष्णु खत्री एवं प्रदेष संवाद प्रमुख डाॅ. हितेष वाजपेयी ने भी श्री अनंत कुमार का पुष्पहारों से स्वागत किया। श्री आलोक संजर ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि अनंत कुमार ने मध्यप्रदेष में अनंत सफलताओं का द्वार उन्मुक्त किया जिससे हम सभी गौरवान्वित हुए। रामेष्वर शर्मा ने कहा कि हम अनंत कुमार के रूप में एक मार्गदर्षक पाकर अभिभूत हुए हैं।



प्रदेष में 2008, 2013 में विधानसभा चुनाव में विजय के षिल्पकार श्री अनंतकुमार रहे - श्री षिवराज सिंह चैहाने
15 September 2014
मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान ने कहा कि श्री अनंत कुमार का स्वागत करते हुए मध्यप्रदेष आज आत्म विभौर हो रहा है। अनंत कुमार ने संगठन प्रभारी के रूप में मध्यप्रदेष में पार्टी, संगठन के विस्तार, भारतीय जनता पार्टी की सरकार की सार्थकता के लिए हमेषा समर्पित प्रयास किये। मध्यप्रदेष सरकार और संगठन की समस्याओं को हल करने में अनंत कुमार पीछे नहीं रहे। उन्होंने कर्मण कारिता के रूप में कर्नाटक में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने में आधार भूमि तैयार करने में सफलता पाई। कंाग्रेस ने उन्हें लोकसभा चुनाव में पराजित कनमे के लिए विष्व के बड़े धनपति को खड़ा किया, लेकिन उन्होंने उसे भी 2 लाख 28 हजार मतों से पराजित करके कर्नाटक में कीर्तिमान स्थापित किया। श्री अनंत कुमार ने मध्यप्रदेष संगठन और सरकार को अपना पूरा समय देने के बाद भी कभी हस्तक्षेप नहीं किया, उन्होंने कार्यकर्ताओं को गुटवाजी से मुक्त, अहंकार शून्य, धैर्यवान और ऊर्जावान बनने की सलाह दी। उनसे हमारा आत्मीयता का जो रिष्ता है वह निरंतर बना रहेगा। श्री षिवराज सिंह चैहान ने मध्यप्रदेष को इन्वेस्टमेंट रीजन में शामिल करने, दूसरी पाइपलाइन का डेस्टीनेषन बनाने और पहली पाइपलाईन को बीना से जबलपुर, सागर, सिंगरौली तक विस्तार करके, मालनपुर तक पहुचाने का आग्रह करते हुए कहा कि इससे मध्यप्रदेष पेट्रो कैमिकल, प्लास्टिक उद्योग, गैस प्लांट की स्थापना के लिए सज्जित होगा और मध्यप्रदेष कृषि के नये क्षितिज झूते हुए औद्योगिककरण के क्षेत्र में भी छलांग लगायेगा। उन्होंने इस संबंध में 20 सितम्बर को होने वाली बैठक में विस्तार से चर्चा करने का श्री अनंत कुमार से आग्रह किया।



भाजपा विचारधारा आधारित दल है
- श्री अनंत कुमार

15 September 2014
अपने आत्मीय अभिनंदन का भावुक क्षणों में उत्तर देते हुए श्री अनंत कुमार ने कहा कि आप अभिनंदन के माध्यम से भले ही श्री अनंत कुमार को विदाई दे दें, लेकिन अनंत कुमार मध्यप्रदेष के स्नेह के बंधन में इस तरह अविभूत है कि वह जीवन पर्यन्त मध्यप्रदेष से जुड़ा हुआ अपने को गौरवान्वित समझेगा और हमारा पूरा ध्यान मध्यप्रदेष के विकास संगठन के विस्तार के लिए समर्पित रहेगा। भारतीय जनता पार्टी विचारधारा आधारित दल है हमें पार्टी ने संस्कार दिये हैं। समर्पण और सेवा हमारी पहचान है।
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष श्री अमित शाह के चमत्कारिक निर्देषन में हम निस्याम आगे बढ़ रहें हैं। कार्यकर्ता भाव से काम करने का हमारा कत्र्तव्य है। उन्होंने मध्यप्रदेष पार्टी संगठन को देष में अनुकरणीय बताया और कहा कि यह हमारे लिये दीप स्तंभ है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में राम भक्त हनुमान की जन्मस्थिलि है मैं भी मध्यप्रदेष की सेवा में उसी भक्तिभाव से जुटा रहूंगा। उन्होंने कहा कि इन्वेस्टमेंट रीजन के संबंध में 20 सितम्बर को होने वाली बैठक में धर्मेन्द्र प्रधान, पीयूष गोयल, नरेंद्र सिंह तोमर अपने मंत्रालयों के प्रस्ताव के साथ सम्मिलित होंगे। मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चैहान को बैठक में भागीदारी करने के लिए दावत देता हॅू। इस बैठक में तय किया जाये की मध्यप्रदेष ग्लोबल इंडस्ट्रीज के साथ ही इन्वेस्टमेंट रीजन का डेस्टीनेषन बनेगा जिससे यहां प्लास्टिक पार्क, फर्टीलाइजर प्लांट, रसायन उद्योग, रिफायनरी, के्रकिंग, यूरिया, गैस ऊर्जा जैसे तमाम उद्योग विकसित होंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का सपना स्वच्छ भारत को हकीकत में बदलना है, इसके लिए वेस्ट (कचरा) से कंपोस्ड खाद बनाने के प्रयास किये जायेंगे। मध्यप्रदेष के सभी नगरनिगमों में इसके लिए प्रयास की आवष्यकता है। 500 शहरों में यह योजना आरंभ होगी। बैंगलोर, बड़ोदरा में यह प्रयोग बहुत ही सफल और उपयोगी साबित हुआ है। उन्होंने मध्यप्रदेष को औद्योगिकरण की दिषा में अग्रसर करने के लिए अपने मंत्रालय का पूरा सहयोग देने का भरोसा दिलाया और कहा जिस प्रदेष में कृषि की विकास दर सर्वोच्च हो वहां फर्टिलाइजर उद्योग का विकास वास्तव में उपयोगी होगा। इस दिषा में केंद्र सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। कार्यक्रम का समापन भोपाल ग्रामीण के जिलाध्यक्ष भक्तपाल सिंह के आभार प्रदर्षन के साथ हुआ।
इस अवसर पर ओम यादव, सत्यार्थ अग्रवाल, अनिल अग्रवाल, विकास विरानी, राम बंसल, महेष शर्मा, कुलदीप खरे, सुनिल यादव, आरके सिंह बघेल, मालती नायक, वंदना जाचक, अंषुल तिवारी, राहुल राजपूत सहित जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे



नगरीय निकाय चुनावों की विजय के लिए सहमति के आधार पर एकजुटता के साथ जुटें - श्री नंदकुमार सिंह चैहान
15 September 2014
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष अध्यक्ष, सांसद श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने बालाघाट में जिला बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि नगरीय विकास के क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी सरकार ने पिछले दस वर्षों में उपलब्धियाॅ हासिल की हैं। प्रदेष के नगरीय क्षेत्रों में नागरिकोचित सुविधाओं में जो इजाफा है, उससे आम जनता को सकून मिला है। आने वाले नगरीय निकायों के चुनावों में विजय के लिए कार्यकर्ता एक जुटता के साथ जुटें।
श्री नंदकुमार सिंह चैहान ने कहा कि आने वाले दिनों में बालाघाट, बारासिवनी, मलजखंड नगरपालिका और कटंगी नगर पंचायत के चुनाव होंगे। चुनाव पूर्व सभी वार्डों में बैठकें आयोजित कर सहमति बनाकर चुनाव की तैयारी में जुट जायें। उन्होंने कहा कि पार्टी में कार्यकर्ता सर्वोपरि है। प्रदेष के मंत्री, सांसद, विधायक, निकाय अध्यक्ष सभी पार्टी के कार्यकर्ता है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता के परिश्रम से ही प्रदेष के विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत मिला है। लोकसभा चुनाव में पार्टी के 29 में से 27 क्षेत्रों में विजय हासिल की है। इस विजय को बरकरार बनाये रखने के लिये पूरे उत्साह के साथ चुनाव में विजय हासिल करने के लिये परिश्रम की पराकाष्ठा करें। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य में पार्टी की सरकारें हैं। इससे हमारी जवाबदेही बढ़ गयी है। हमें इस जिम्मेवारी पर खरे उतरना है, क्योंकि हमने विकास और सुषासन का आव्हान दिया है। हम अपने लक्ष्य से कोई समझौता नहीं करेंगे। जनता को मूल्य आधारित राजनीति का सकून देना हमारा कत्र्तव्य है।
बैठक में वरिष्ठ मंत्री श्री गौरीषंकर बिसेन, सांसद श्री बोधसिंह भगत, उदयसिंह नगपुरे, के.डी. देषमुख, योगेन्द्र निर्मल, नरेंद्र श्रीवास्तव, रमेष भटेरे सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।



दोहरी पराजय के बाद भी कांगे्रस ने सबक नहीं लिया - श्री विजेन्द्रसिंह सिसोदिया
15 September 2014
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष प्रवक्ता विजेन्द्रसिंह सिसोदिया ने कहा कि कांगे्रस प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सरकार के प्रथम 100 दिनों के कामकाज को भले ही अंडर एस्टीमेट करे, लेकिन लोकतंत्र की भावना के अनुरूप देष की जनता ने केन्द्र सरकार की लोकतांत्रिक भावना की तहेदिल से सराहना की है। लोकतंत्र में जनता सरकार के कामकाज के बारें में जानना चाहती है। यही कारण है कि प्रधानमंत्री ने 26 मई को सत्ता संभालते ही 100 दिन का एजेंडा बनानें को कहा, जिसकी विभागवार समीक्षा भी हुई। हर क्षेत्र में गतिषीलता परिलक्षित हुई। ऐसे में सवाल उठता है कि लोकतंत्र के तकाजे पर कांगे्रस कितनी खरी उतरी है। कांगे्रस ने इन 100 दिनों में जनसेवा की दिषा में क्या उपलब्धियां हासिल की। क्या वह विपक्ष की भूमिका पर खरी उतरी है ?
उन्होनें कहा कि कांगे्रस 10 वर्षों तक सत्ता में रहने के बाद जन आकांक्षाओं की कसौटी पर खरी उतरनें में विफल साबित हुई, इसलिए उसे पराजय हाथ लगी। फिर दूसरी पराजय उसे लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी न मिलने के रूप में हासिल हुई। क्योंकि वह नेता प्रतिपक्ष के लिए न्यूनतम आवष्यक 54 सीटें भी नहीं जीत पायी।
श्री विजेन्द्रसिंह सिसोदिया ने कहा कि कांगे्रस नेतृत्व की अपरिपक्वता का इससे बड़ा सबूत क्या होगा कि जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जापान में थे, राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेष में बिजली न मिलने का मुद्दा उठाया। उत्तर प्रदेष में जनता बिजली की कमी से परेषान है। राहुल गांधी में राजनय का सामान्य ज्ञान होता तो वे ऐसा आरोप नहीं लगाते। क्योंकि जापानी सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेना कल्चरल एक्सचेंज माना जाता है, इससे सद्भावना जगती है। दूसरे राहुल बाबा स्वंय भूल गये कि जब 10 वर्षों तक दिल्ली के तख्त पर डाॅ. मनमोहन सिंह विराजमान थे तब भी उत्तर प्रदेष अंधकार में रहा है, फिर वे कौन से चमत्कार न होने पर आलोचना कर रहे हैं। उन्होनें कहा कि कांगे्रस द्वारा तर्कहीन आलोचना किये जाने का न तो जनता नोटिस लेती है और न ऐसा करना लोकतांत्रिक सरोकार है।



कांगे्रस का लोकतांत्रिक भावना से सरोकार होता तो शीला दीक्षित के कथन का सम्मान करती - सुश्री राजो मालवीय
15 September 2014
भारतीय जनता पार्टी की प्रदेष मंत्री सुश्री राजो मालवीय ने कहा कि कांगे्रस लगातार पराजय के कारण अवसाद में चली गयी है और शीला दीक्षित के बयान पर तूफान खड़ा करनें में जुटी है। यदि कांगे्रस का लोकतांत्रिक भावना से सरोकार होता तो शीला दीक्षित के बयान पर गंभीरता से विचार करती। शीला दीक्षित कांगे्रस की वरिष्ठ नेत्री है जिनका लोकतांत्रिक परंपराओं से सरोकार रहा है और वे उनका सम्मान करना भी जानती है। दिल्ली में किसकी सरकार बनती है यह अलग मुद्दा है। लेकिन अहम मुद्दा यह है कि भारतीय लोकतंत्र में सरकार बनाने का दावा संख्या बल पर टिका हुआ है जिसके बारे में सुप्रीम कोर्ट कह चुका है कि इसका फैसला राजभवन में नहीं सदन के पटल पर होगा।
उन्होनें कहा कि ऐसे में कांगे्रस और उसके सहयोगी दलों को ऊहा-पोह मचाने के बजाय सदन का सामना करने का साहस दिखाना चाहिए। राज्यपाल ने बडे़ दल के रूप में दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी को आॅफर दिया है तो इससे कांगे्रस को राज्यपाल के बारें में अपने अपराध बोध से मुक्त होकर विचार करना चाहिए।
सुश्री राजो मालवीय ने कहा कि आजादी के बाद कांगे्रस ने ही राज्यपाल को कांगे्रस के एजेन्ट रूप में इस्तेमाल किया। रामलाल, बूटा सिंह और सिक्तेरजी इसके उदाहरण रहे हैं, इन्होनें राजभवन की गरिमा मटियामेट की और कांगे्रस ने अपना राजनैतिक खेल खेला, जिससे लोकतंत्र आहत हुआ। कांगे्रस को दूसरो पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। कांगे्रस का दामन तो दागों से रंगा हुआ है।



हरियाणा और महाराष्ट्र में कांग्रेस के हाथों से सत्ता फिसल चुकी है - श्री रामेष्वर शर्मा
15 September 2014
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष प्रवक्ता श्री रामेष्वर शर्मा ने कहा कि हरियाणा और महाराष्ट्र में कांग्रेस के दिन लद चुके हैं। आगामी माह अक्टूबर 15 को होने जा रहे मतदान में कांगे्रस को अपनी निष्क्रियता का सबूत मिल जायेगा। दोनों राज्यों में सत्ता कांग्रेस के हाथों से फिसल चुकी है और महाराष्ट्र और हरियाणा की जनता ने विकास और सुषासन के पक्ष में समर्थन देकर सत्ता की बागडोर भारतीय जनता पार्टी और सहयोगिओं के हाथों में सौंपने का इरादा कर लिया है। श्री रामेष्वर शर्मा ने बताया कि वे स्वयं हरियाणा के पलवल जिले में पार्टी की कमान संभालकर जिले के विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी प्रत्याषियों के समर्थन में प्रचार-प्रसार करेंगे।
श्री रामेष्वर शर्मा ने कहा कि यदि चुनाव पूर्व सर्वेक्षण पर भरोसा किया जाये तो कांग्रेस ने महाराष्ट्र में बाजी गवा दी है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का जादू जनता के मानस पटल पर अमिट बना हुआ है। भारतीय जनता पार्टी और षिवसेना को दो तिहायी बहुमत मिलना तय माना जा रहा है। हरियाणा में मई में संपन्न लोकसभा चुनाव में कांग्रेस 2 सीटों पर सिमट गयी है। जबकि भारतीय जनता पार्टी को जनता ने 23 सीटों पर विजयश्री से सम्मानित किया है। भारतीय जनता पार्टी को 27.3 प्रतिषत वोट हासिल हुए थे जबकि कांग्रेस को 18.10 प्रतिषत मत हासिल हुए। इससे जनता का रूझान समझना कठिन नहीं है।



महिला मोर्चा की प्रदेष पदाधिकारी एवं जिला अध्यक्षों की बैठक 20 सितंबर को भोपाल में
15 September 2014
कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर भोपाल में आहुत की गई है। बैठक को प्रदेष अध्यक्ष श्री नंदकुमार सिंह चैहान सम्बोधित करेगें। बैठक में नगररीय निकाय चुनाव पर विस्तार से चर्चा की जायेगी।
जम्मू-कष्मीर बाढ़ पीडि़तों की सहायता के लिए

महिला मोर्चा आवष्यक सामग्री भेजेगा

भारतीय जनता पार्टी महिला मार्चा अध्यक्ष श्रीमती लता वानखेडें ने बताया कि महिला मोर्चा कष्मीर में आई बाढ़ से पीडि़तों को सहायता हेतू प्रदेष भर से कपड़े, कंबल, शाल, शलवार सूट, कास्मेटिक्स और आवष्यक मेडिसिन एकत्रित करके 17 सितम्बर तक सभी सामग्री जिला कार्यालयों में सौपेगा। उन्होंने बताया कि सभी जिला मुख्यालय से एकत्रित सामग्री दिल्ली भेजी जायेगी। इस कार्यक्रम का संयोजक प्रदेष महामंत्री भारती अग्रवाल को बनाया गया है।



राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह 13 सितंबर को मध्यप्रदेष आयेंगे
12 September 2014
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह एक दिवसीय प्रवास कार्यक्रम के तहत मध्यप्रदेष 13 सितंबर को पहंुचेंगे और इंदौर से खरगौन जिलान्तर्गत मंडलेष्वर में चैतन्य धाम, उज्जैन के महाकाल दर्षन करने पहंुचेंगे। आप महाकाल के दर्षन उपरान्त इंदौर आयेंगे। इंदौर से रात्रि 9 बजे विमान सेवा से दिल्ली प्रस्थान करेंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार श्री अमित शाह 13 सितंबर को प्रातःकालीन विमान सेवा से दिल्ली से चलकर 9.20 बजे इंदौर पहंुचेंगे। आप इंदौर कार से 11.30 बजे चैतन्य धाम मंडलेष्वर पहंुचेंगे। आप दोपहर पश्चात 1.30 बजे मंडलेष्वर खरगौन से चलकर 4.30 बजे उज्जैन पहंुचेंगे और महाकालेष्वर मंदिर परिसर में पहंुचकर महाकाल के दर्षन करेंगे। आप कार से इंदौर लौटेंगे और 9.15 बजे रात्रिकालीन विमान सेवा से दिल्ली के लिए प्रस्थान करंेगे।



मुख्यमंत्री श्री षिवराजसिंह चैहान नगरीय विकास का जायजा लेंने निगम क्षेत्रों में जायेंगे
12 September 2014
भारतीय जनता पार्टी नगर निगम प्रकोष्ठ की प्रदेष संयोजक श्रीमति उमाषषि शर्मा ने बताया कि प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री षिवराजसिंह चैहान 13 सितंबर को सिंगरौली और रीवा पहंुचकर नगरीय क्षेत्रों में हुए विकास का जायजा लेंगे। नगरीय विकास को लेकर मुख्यमंत्री क्षेत्र के लोगों से चर्चा भी करेंगे। मुख्यमंत्री श्री षिवराजसिंह चैहान 18 सितंबर को रतलाम और इंदौर, 19 सितंबर को मुरैना और ग्वालियर, 20 सितंबर को सतना, 4 अक्टूबर को सागर और कटनी, 10 अक्टूबर को छिंदवाडा और जबलपुर और 16 अक्टूबर को देवास और भोपाल के नगरीय क्षेत्रों में जनता से भेंट करेंगे और नगरीय विकास के बारे में चर्चा करेंगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के प्रवास के अवसर पर जिला प्रबंध समिति की बैठक आयोजित की जायेगी। मुख्यमंत्री के नगरीय क्षेत्रों के विकास के संबंध में आयोजित प्रवास के समय प्रबुद्धजन की बैठकें भी आयोजित की जायेगी। सामाजिक संगठनों, चिकित्सक वकीलों और अवकाष प्राप्त कर्मियों से भी मुख्यमंत्री भेंट करेंगे।



उमर अब्दुल्ला सरकार पर कष्मीरी अवाम का गुस्सा बेवजह नहीं है - श्री विजेन्द्रसिंह सिसौदिया
12 September 2014
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष प्रवक्ता श्री विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने कहा कि जम्मू कष्मीर की कांग्रेस समर्थित उमर अब्दुल्ला सरकार भी बाढ़ की तबाही के कारण यदि जम्मू कष्मीर के अवाम के निषाने पर आयी है तो इसकी ठोस वजह उमर सरकार की अपराधिक लापरवाही है। जिस तरह उत्तराखण्ड की जनता ने बाढ़ का कहर झेला और सरकार सोती रही उमर अब्दुल्ला सरकार उत्तराखण्ड सरकार की निष्क्रियता और लापरवाही से भी आगे निकल गयी है इसका खामियाजा फौजियों को भुगतना पड रहा है, जिन्होंने आसमानी फरिष्ते का काम किया है। श्री विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने कहा कि जम्मू कष्मीर के बाढ नियंत्रण मंत्रालय ने ही चार वर्ष पहले राज्य सरकार को आगाह किया था कि भविष्य में झेलम चेनाब नदी का कहर बरपने वाला है। यह रिपोर्ट केन्द्र सरकार को भेजी गयी जिसने कार्ययोजना बनाने के लिए कुछ बिन्दुओं पर जम्मू कष्मीर सरकार से जानकारी मांगी थी और कार्ययोजना बनाने की चिंता व्यक्त की थी, लेकिन चार साल तक जम्मू कष्मीर सरकार ने कोई तवज्जो नहीं दी। इससे अधिक गैर जवाबदेही क्या होगी कि जब झेलम चेनाब का पानी बढ रहा था लेकिन राज्य सरकार को तब तक इसकी खबर नहीं हुइ्र जब तक कि श्रीनगर पानी डूब नहीं गया। श्री विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने कहा कि इस क्रूर अनदेखी के लिए जनता कांग्रेस और नेषनल कांफ्रेस को माफ नहीं करेगी, क्योंकि पिछले वर्षो में इन्होंने ही केन्द्र के पैसे पर गुलछर्रे उडाए है। बाढ़ राहत आपात राहत के लिए पिछले दिनों 1200 करोड़ रू. और श्री नरेन्द्र मोदी ने 1100 करोड़ रू. मंजूर किए है। अवाम को भी अलगाववादी पत्थरबाजी के लिए उकसा रहे थे वे बाढ़ के दौरान घरों से नहीं निकले, क्योंकि उनका अवाम से नहीं दूरदराज पाकिस्तानी हुक्मरानों से ही वास्ता है। संकट की इस घडी में वही सेना और उसके राहत पूर्ण कार्य संकट मोचन साबित हुए है।



नये युवाओं को भारतीय जनता युवा मोर्चा से जोड़कर मोर्चे को मजबूत बनायें- मेनन
Our Correspondent :31 May 2013
भारतीय जनता पार्टी प्रदेष कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर भोपाल में आज भारतीय जनता युवा मोर्चा के पदाधिकारियों की बैठक संपन्न हुई। बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश संगठन महामंत्री अरविंद मेनन ने लोकसभा चुनाव में मिली अभूतपूर्व विजय में मोर्चा के कार्य को सराहा एवं प्रशंसा की।
उन्होंने पदाधिकारियों से संभागवार मोर्चा के कार्यों की समीक्षा की एवं आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा सुनिष्चित करने को कहा। बैठक में नगरपालिका एवं नगर पंचायत स्तरीय कार्यक्रम बनाकर नये युवाओं को भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा से जोड़ने का प्रदेश पदाधिकारियों से आव्हान किया। जिला एवं संभाग केंद्रों प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रहीं योजनाओं की जानकारी युवा मोर्चा के द्वारा कार्यक्रम कर क्षेत्र के युवाओं को स्वरोजगार हेतु प्रेरित करने की बात कही।
भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमरदीप मौर्य ने बैठक को संबोधित करते हुए आगामी 23 जून से 1 जुलाई तक डाॅ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के उपलक्ष्य में धारा 370 राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए चुनौती विषय पर विभिन्न आयोजन करने के निर्णय लिये गये। 6 जुलाई को डाॅ. मुखर्जी के जन्मदिवस पर की भारतीय जनता युवा मोर्चा युवाओं में नेतृत्व विकास हेतु विभिन्न आयोजन करेगा। मौर्य ने प्रदेश में युवाओं के भविष्य को लेकर रोजगार संबंधित कार्यक्रमों को जिला स्तर पर क्रियान्वयन करने के लिए युवा मोर्चा के पदाधिकारियों से कहा।
इस अवसर पर प्रदेष महामंत्री अभिलाश पांडे, प्रदेश उपाध्यक्ष रजनीश अग्रवाल, रमेश भटेरे, राजीव यादव, प्रदेश मंत्री मारूति शिशिर, गौरव रणधीर, कुबेरसिंह गुर्जर, विवेक शर्मा, भानू भदौरिया, धनंजय शर्मा, कार्यालय मंत्री ज्ञानप्रसाद गुप्ता, प्रदेश मीडिया प्रभारी हितेश शुक्ला, सह मीडिया प्रभारी मिलन भार्गव सहित मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारी उपस्थित थे।।



प्रेस विज्ञप्ति
Our Correspondent :31 May 2013
आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव श्री अक्षय हुँका, लोक सभा प्रत्याशी रचना धींगरा एवं पार्टी कार्यकर्ता रितेश शुक्ला, नेहा बग्गा, दुष्यंत डांगी ,परमजीत , आशु अग्रवाल, विदिशा में दबंगों द्वारा ९०% से ज्यादा जलाई गयी १७ साल की नाबालिक बालिका एवं उसके परिवार जनो से आज हमीदिया अस्पताल में मिले , उनका हाल जाना | वहाँ जाने पे अस्पताल की बदहाली सामने आई , बर्न वार्ड में एयर कंडीशनर काम नहीं कर रहा था , लड़की दर्द से कहरा रही थी | परिजनों से चर्चा करने पे पता चला की आरोपी के परिवार वाले अस्पताल में भी आके धमका रहे है |
इस दौरान श्री हुँका ने डॉक्टर श्री पाल से चर्चा कर अच्छी मेडिकल सुविधा देने के साथ साथ एयर कंडीशनर जो ख़राब था उसे ठीक कराने की मांग की |
श्री हुँका एवं पार्टी के साथियो ने इसके पश्चात् आई.जी योगेश चौधरी एवं डी.आई.जी श्रीनिवास से मुलाकात कर ज्ञापन सौपा और लड़की व् उसके परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की , उसपे आई.जी एवं डी.आई .जी ने १ महिला और १ पुरुष कांस्टेबल की अस्पताल व् विदिशा में ड्यूटी लगाने की बात कही है |
मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में सरकारी अस्पताल की हालत गम्भीर है | कई मरीजो से चर्चा करने पे पता चला कि स्वस्थ संबंधी सही डिपार्टमेंट में डॉक्टर से मुलाकात करने के लिए उन्हें कई चक्कर लगवाए जाते है | प्रदेश के लोग अच्छी मेडिकल सुविधाओ से वंचित है यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है | आम आदमी पार्टी प्रदेश में होने वाली ऐसी घटनाओ की निंदा करती है और आशा करती है की सरकार आम जनता की समस्याओ को समझेगी और अच्छी स्वास्थ संबंधी सुविधाए सरकारी अस्पतालों में मुहैया कराएगी |।



प्रेस विज्ञप्ति
Our Correspondent :22 May 2013
आम आदमी पार्टी की भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी इस बात के मद्देनज़र आम आदमी पार्टी के राष्ट्रिय सयोंजक श्री अरविन्द केजरीवाल ने माननीय न्यायालय से जमानत लेने से इंकार कर दिया।जिसके उपरांत उन्हें न्यायिक हिरासत में लेते हुए 2 दिन के लिये जेल भेज दिया गया।श्री केजरीवाल और आम आदमी पार्टी देश में हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी जंग हर हाल में जारी रखेगी।चाहे इसके लिये आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओ को जेल ही क्यों न जाना पड़े। किसी भी सूरत में भ्रष्टाचारियो के साथ समझोता नहीं किया जाएगा। श्री केजरीवाल के साथ आम आदमी पार्टी से लेकर देश का प्रत्येक युवा व आम आदमी उनके साथ खड़ा है।देश मे व्याप्त भ्रष्टाचार से देश का प्रत्येक वर्ग हताश व परेशान है।जिसको दूर करने के लिये आम आदमी पार्टी पूर्ण निष्ठा व शिद्दत से कृतसंकल्पित है।



शिवराज सिंह चौहान,सुषमा स्वराज की राजनीति क्षीण करने में सक्रिय!
Our Correspondent :18 March 2013
भोपाल । पूरे भारत देश में आम चुनाव का माहौल है । हर छोटे,बड़े ,क्षेत्रीय राजनीतिक दल में अपना-अपना प्रधान मंत्री पद का दावेदार है। राष्ट्रीय स्तर के दल इंडियन नेशनल कांग्रेस में राहुल गांधी अघोषित प्रधानमंत्री पद के दावेदार है,तो भारतीय जनता पार्टी में श्री नरेन्द्र मोदी घोषित प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी है। पूरे देश में बहुराष्ट्रीय कंपनियों की तर्ज पर संचालित मीडिया घरानों की सूची में प्रचार प्रसार के लिए श्री नरेन्द्र मोदी,श्री राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी के संयेाजक श्री अरविन्द केजरीवाल तथा श्री मोदी और श्री राहुल गांधी के लिए विघ्र संतोषी,विरोधी शूल धारित देश के हीरो बने हुए है। आज कल टी.व्ही.चैनलों पर प्रसारित हो रहे समाचार और बड़े समाचार पत्रों को देखने पर यही कुछ देखने को मिलता है। यदि देश मे ंप्रसारित होने वाले लघु और मझोले समाचार पत्रों को छोड़ दें ,तो पूरे देश में बहुराष्ट्रीय कंपनियों की तर्ज पर संचालित मीडिया घरानों की सूची में प्रचार प्रसार के लिए श्री नरेन्द्र मोदी,श्री राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी के संयेाजक श्री अरविन्द केजरीवाल ही नजर आयेंगें। इनका समाज की मूल समस्या या आम जनता की जरूरतों से मानों कोई सरोकार नहीं है। ये वो ही प्रसारित करते है जो भाजपा, कांग्रेस या समतुल्य धनबली राजनेता इन्हें आदेश करते है अथवा सत्ताधारी दल अपने अधीन सरकारी तंत्र के खजाने सेे धन मुहैया कराता है।आज पेड मीडिया की बदौलत श्री नरेन्द्र मोदी देश के भाग्य विधाता है और देश के राज कुमार श्री राहुल गॉधी है वहीं श्री अरविन्द केजरीवाल समाजसेवी कार्यकर्ता बन गये है। शेष भारत की 130 करोड़ की आवादी में न कोई योग्यता रखता है ,और न कोई अभी मौजूदा अस्तित्व में है। और जो क्षेत्रीय दल है वे इन बड़े दलों के पिछलग्गू के सिवाय कुछ नहीं है। अब देश में श्री नरेन्द्र मोदी ही देश के भाग्य विधाता है तो भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता और पदाधिकारी नजदीक जाने का प्रयास भी करेगा। इस भगवामयी लहर में उच्च शिखर के दल के पदाधिकारी भी सिंहासन के लिए अपनी अपनी गोटिया बिठाने के लिए लामबन्द होने लग गये है। ऐसा ही कुछ देश की हाई प्रोफाईल लोक सभासीट विदिशा में भी हो रहा है।मध्यप्रदेश की विदिशा और उ.प्र. की लखनऊ ने देश के नेत्रत्व के लिए अपने नेता का चुनाव कर उच्च सदन में भेजा है। आज भी देश के उच्च सदन के सबसे बडे प्रतिपक्ष के पद का प्रतिनिधित्व करने वाली श्रीमती सुषमा स्वराज विद्यमान है। यह क्षेत्र मध्य भारत का महत्वपूर्ण संसदीय क्षेत्र है। म.प्र. में वर्तमान में मुख्यमंत्री और राजनीति के चाणक्य पूर्व मुख्यमंत्री श्री सुन्दरलाल पटवा के परम शिष्य श्री शिवराज सिंह चौहान यहां से पांच बार लोक सभा सदस्य रहे है। और अब भी उन्हीें के इशारों पर क्षेत्र में पार्टी का कार्य संचालित होता है। गत लोकसभा चुनाव के समय तक शिवराज सिंह के सामने पार्टी के प्रभावशाली दो प्रतिद्वंद्वी सदस्य हुआ करते थे। जिन पर शिवराज सिंह चौहान अपने दम पर नियंन्त्रण नहीं कर सकते थे। जिनमें एक भाई राघव जी और दूसरी श्रीमती सुषमा स्वराज । शिवराज सिंह चौहान श्री सुन्दरलाल पटवा के परम शिष्य है इतिहास साक्षी है कि इनके सामने कोई भी प्रतिद्वंद्वी ज्याद समय तक टिक नहीं सकता। चाहे वह कितना ही प्रबल शक्तिमान क्यो न हो। वे नहीं चाहते कि उनके क्षेत्र में कोई प्रभावशाली व्यक्ति पनपेे। अगर ऐसा होता रहा तो न लंबे समय तक राजनीति चल पायेगी न अपना कार्यकर्ताओं में वजूद रहेगा। प्रतिद्वंदी रहने से कार्यकर्ताओं का धु्रवीकरण होता है, जिसके कारण भविष्य में मनवांछित राजनीति में पारिवारिक लाभ मिलना असंभव है। श्री सुन्दर लाल पटवा की चाणक्यनीति के वारे में सब जानते है। ऐतिहासिक उदाहरण साक्ष्य है कि जिन्होंने अपने कार्यकाल में अपने प्रतिद्वंद्वी रहे श्री वीरेन्द्र कुमार सकलेचा जैसे धुरन्दर नेता को ठिकाने लगाने के लिए विरोधी दल के कट्टर विरोधी श्री अर्जुन सिंह से हाथ मिलाकर लोकायुक्त का सहारा लेकर उनकी राजनीति नेस्तनाबूत कर दी थी। आज का समय भी लगभग ऐसा ही चल रहा है आज उनका शिष्य अपने प्रतिद्वंद्वीयों को दर किनार करने के लिए राजनीतिक गोंटिया बिछा रहा है। एक प्रतिद्वंदी दर किनार हो गया एक आने वाले चुनाव में सिमट जायेगा। पूरे विदिशा लोक सभा क्षेत्र में अपने प्रतिद्वंद्वी के विरूद्ध यह सुनियेजित तरीके से प्रचार कराया जा रहा है कि श्रीमती सुषमा स्वराज का दिल्ली में वजूद समाप्त हो रहा है। ये श्री मोदी का हर प्लेटफार्म पर विरोध करती है। अगर जनता इन्हें चुनाव में जिता कर लोकसभा में भेज भी देगी तो भी इन्हें श्री मोदी जी या राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राजनाथ जी मंत्री नहीं बनाने वाले है। सुषमा जी श्री लालकृष्ण आडवानी की बी टीम बतायी जा रही है । उनकी टीम के अरूण जेटली पंजाब से पहली बार चुनाव मैदान में है। वैकैया नायडू भी चुनाव लड़ रहे है। इन्हें मंत्रिमंडल में स्थान मिलेगा चूकि इन्होंने मोदी जी के सामने समर्पण कर दिया है। म.प्र. के कोटे से अधिकतम चार मंत्री बनायेे जायेंगे। जिनमें मोदी जी के नजदीकी सामान्य वर्ग से श्री प्रभात झा,अनुसूचित जाति समाज से श्री सत्यनारायण जटिया,आदिवासी समाज से श्री फग्गन सिंह कुलस्ते और मालवा से वैश्य समाज की श्रीमती सुमित्रा महाजन है। इसमें क्षेत्र और सामाजिक जातिगत संतुलन भी बन जायेगा। सुषमा जी का नाम मोदी जी की विरोधी लोगों की सूची में है। इस कारण चुनाव जीतने के बाद भी एक प्रतिनिधि से ज्यादा कुछ नहीं रहने वाली है। चुनाव के समय सुनियोजित प्रचार यह भी कराया जा रहा है कि सुषमा जी ने पूरे कार्यकाल में कभी भी 24 घण्टे विदिशा में नहीं गुजारे है। इनका विदिशा संसदीय क्षेत्र में कोई स्थायी कार्यालय भी नहीं है। ये आती है ,दो चार दस घण्टे क्षेत्र में दौरा करती है और भोपाल में रात्रिविश्राम करके मंत्रियों से मिलती है और दिल्ली चली जाती है। इस कारण कार्यकर्ता के लिए भी अछूती है। उनसे कोई आम आदमी या भाजपा का साधारण कार्यकर्ता मुलाकात नहीं कर सकता है। किसानों की ओले पाले की समस्या के समय भी ऐसा ही व्यवहार रहता है। अर्थात इनका क्षेत्र की जनता और क्षेत्र की समस्या से कोई सरोकार नहीं है। जबकि श्री शिवराज सिंह चौहान दिनरात जनता के बीच बने रहते है। और भाभी श्रीमती साधना सिंह तन-मन-धन से कार्यकर्ताओं का विदिशा में रहकर सहयोग करती है और उनका मनोबल भी बढ़ाती रहती है। केन्द्रीय स्तर पर भी कोई लाभ क्षेत्र की जनता को नहीं दिला पायी। एक मेमो ट्रेन भी मिली तो वह भी सुविधाविहीन और पैसेन्जर गाड़ी को बन्द कराने के बाद । इसके विपरीत गंजबासौदा से कांग्रेस विधायक श्री निशंक जैन का भी गुणगान भाजपा के कार्यकर्ताओं द्वारा कराया जा रहा है। बताया जा रहा है कि उन्होंने चन्द दिनों में एक विधायक की हैसियत रखते हुए भी पांच रेल गाडिय़ों के स्टापेज करा दिये है। इनका स्वागत क्षेत्र की जनता ने जोर शोर से किया था। अर्थात पूरे क्षेत्र में वही प्रचार प्रसार हो रहा है जो श्री शिवराज सिंह चौहान और उनके समर्थक चाहते है। हालॉकि इसके लिए एक रणनीती चल रही है। इस रणनीति से यह अनुमान लगाया जा सकता है कि यदि सुषमा जी चुनाव मामूली वोटों से जीतती है तो सिर्फ सदस्य बना कर दर किनार कर उनके अस्तित्व को सुश्री उमाभारती की तरह जीर्ण क्षीण कर दिया जायेगा और यदि चुनाव हारती है तो श्री शिवराज सिंह चौहान श्री नरेन्द्र मोदी के प्रथम पंक्ति के चहेतों में शामिल हो जायेंगें। अगर भविष्य में प्रदेश में मुख्यमंत्री बने रहे तो ,आगामीे चुनाव में साधना सिंह प्रबल दावेदार बनकर उभर कर आयेगी। और यदि केन्द्र में मोदी की टीम में जगह मिली तो विदिशा सीट निर्विवाद स्वयं के लिए वॉकओवर करने के लिए सुरक्षित हो जायेगी। अभी श्रीमती साधना सिंह को संवैधानिक अनुभव के लिए विदिशा से विधानसभा उपचुनाव में प्रत्याशी बनाये जाने की संभावना प्रबल है। सुषमा जी का नाम उन प्रकरणों में भी उभार कर सामने लाया जा रहा है ,जिसमें प्रदेश के बाहर के लोगों ने विदिशा संसदीय क्षेत्र की सरकारी जमीन की रजिस्ट्रियॉ करायी और बैको से मोटी रकम लेकर गायब हो गये । वहीं रायसेन जिले के किसान भी अपनी जमीनों पर बिना ऋण लिये ही ऋण का बोझा ढोने अथवा आत्महत्या करने को विवश है । यहां भी किसानों के साथ किये गये फर्जीवाड़े में सुषमा जी ने कोई भी साथ नहीं दिया है। यहॉ पर चिन्हित और प्रायोजित मीडियाकर्मी सिर्फ श्री शिवराज सिंह चौहान के क्षेत्र के दौरे की गुणगान गाथा ही प्रकाशित कराते है। अब देखना यह है कि इस भाजपा के आंतरिक ध्रुवीकरण में श्री शिवराज सिंह चौहान राजनीतिक चौसर पर अपनी कौन सी अगली चाल चलने वाले है।



भोपाल से रचना ढींगरा होंगी आप की प्रत्याशी
Our Correspondent :03 March 2013
भोपाल। भोपाल संसदीय सीट से रचना ढींगरा आम आदमी पार्टी ((आप)) की प्रत्याशी होंगी। पार्टी ने शनिवार को मप्र में प्रत्याशियों की तीसरी सूची जारी कर दी। इसमें रचना ढींगरा के अलावा सात प्रत्याशियों की और घोषणा की गई है। अब तक आप के कुल 14 प्रत्याशियों की घोषणा हो चुकी है।
पार्टी के प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता अक्षय हुंका ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ये प्रत्याशी चुनाव में सक्रियता से जुटेंगे। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को तो हिंदुस्तान ने नकार दिया है, अब मुकाबला भाजपा से है। प्रत्याशियों को चुनाव लडऩे के लिए फंड उपलब्ध कराने के सवाल पर हुंका ने कहा कि हर बूथ से 2014 रुपए एकत्रित किए जाएंगे। एक संसदीय सीट पर 1500 से 2000 बूथ होते हैं। लिहाजा चुनाव लडऩे लायक राशि एकत्रित हो जाएगी। आप के प्रत्याशी जनता के प्रत्याशी हैं, जिन्हें जनता ही चुनाव लड़ाएगी।

रचना ढींगरा

लोकसभा चुनाव - सात प्रत्याशियों की तीसरी सूची जारी

मप्र : कहां से कौन प्रत्याशी
भोपाल - रचना ढींगरा
बैतूल -राजेश सरयाम
सागर - अतुल मिश्रा
गुना - शैलेंद्र कुशवाहा
होशंगाबाद - माया विश्वकर्मा
इंदौर - अनिल त्रिवेदी
सीधी -पंकज सिंह



नारी सम्मान और महिला सशक्तिकरण सर्वोच्च प्रतिबद्धता- शिवराज
Our Correspondent :29 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की विधानसभा चुनाव के बाद संपन्न हुई प्रथम प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि विधानसभा चुनाव में पार्टी ने हैट्रिक बनाकर जो जीत हासिल की है, उसका श्रेय पार्टी की विचारधारा, लाखों कार्यकर्ताओं के परिश्रम और नारी-शक्ति के सजग, सक्रिय नेतृत्व को है। कांगे्रस आजादी के बाद कभी यहां हैट्रिक नहीं बना पाई।
उन्होनें कहा कि महिला समाज ने प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी और राज्य सरकार के नेतृत्व में जो आस्था और विश्वास व्यक्त किया है उसे किसी भी हालत में खंडित नहीं होने दिया जायेगा। महिला सशक्तिकरण के लिए अनवरत् प्रयास जारी रहेंगे। उन्होनें कहा कि महिला आरक्षण प्रदान करने का गौरव भाजपा को हासिल हुआ है। संगठन में 33 प्रतिशत और निकायों में 50 प्रतिशत का आरक्षण महिलाओं को दिया गया है, लेकिन गर्व की बात है कि महिलाएं इस राज-काज में 56 प्रतिशत की भागीदारी करके मध्यप्रदेश में स्थानीय निकायों में सक्रिय भूमिका निर्वाह करनें में पुरूषांे से आगे निकल गयी है।
उन्होनें कहा कि पार्टी महिलाओं को विधानसभा और लोकसभा चुनाव में भी आरक्षण की पक्षधर है। लेकिन कांगे्रस सिर्फ मंच पर बात करती है भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा में बिना शर्त महिला आरक्षण बिल को पारित करने का आश्वासन दिया, फिर भी कांगे्रस विधेयक पारित करानें में विफल रही है। पूर्व में डॉ.श्यामाप्रसाद मुखर्जी, पं. दीनदयाल उपाध्याय, राजमाता सिंधिया एवं स्व. कुशाभाऊ ठाकरे जी के चित्रों पर अतिथियों ने पुष्प्पमालाएं अर्पित की एवं दीप प्रज्ज्वलित किया। महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती लता वानखेड़े एवं मोर्चा की जिला अध्यक्ष श्रीमती वंदना जाचक ने अतिथियों का स्वागत किया और स्मृति-चिन्ह भेंट किये। प्रदेश में 165 सीटों पर पार्टी की शानदार विजय के उपलक्ष्य में 165 दीपक जलायें गये और अतिथियों का अभिनंदन किया गया।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महिलाओं का सम्मान उनकी सुरक्षा और सशक्तिकरण के लिए सरकार ने महत्वाकांक्षी कार्यक्रम बनाया है। जिसके तहत महिलाओं के शैक्षिक विकास, राजनैतिक सशक्तिकरण, सामाजिक बदलाव और आर्थिक सशक्तिकरण के लिए विस्तार से कार्यक्रम बनाया जा रहा है, आने वाले दिनों में प्रदेश में जो भी राशन-कार्ड बनाये जायेंगे उन पर पुरूष के बजाय महिला का नाम पहले आयेगा। समाज की सोचने की दिशा में परिवर्तन लाने की जरूरत है, देश में इस दिशा में मध्यप्रदेश में अग्रणी पहल हुई है जिसकी सराहना की गयी है।
श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश सरकार ने यह सब अपने बलबूते पर किया है, क्योंकि केन्द्र सरकार मध्यप्रदेश के साथ भेदभाव करती है इस भेदभाव को समाप्त करना हमारी इस चुनाव के परिप्रेक्ष्य में पहली जिम्मेदारी है कि हम केन्द्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार का गठन सुनिश्चित करें। नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बने इससे मध्यप्रदेश के साथ हो रहा भेदभाव समाप्त होगा और महिला सशक्तिकरण की जो काम केन्द्र की निष्क्रियता के कारण अवरूद्ध है उन्हें पूरा करनें में सफल होंगे। उन्होनें कहा कि देश में साढ़े चार प्रतिशत विकास दर है वह भी भाजपा शासित राज्यों की विकास दर दहाई में होने के कारण संभव हुई है अन्यथा आज देश की विकास दर दो-ढ़ाई प्रतिशत के बीच में रहती।
उन्होनें कहा कि दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बननें के साथ ही प्रदेश और देश की जनता के सभी अरमान पूरें होंगे और प्रदेश के साथ होने वाले सौतेले व्यवहार से मुक्ति मिलेगी। मध्यप्रदेश में पिछली बार किसानों को हुई क्षति के कारण प्रदेश सरकार ने 1400 करोड़ रू. बांटे थे, सोयाबीन की फसल बिगड़ने के कारण 600 करोड़ रू. की राहत का खर्च आया है। केन्द्र सरकार ने किसानों को राहत के नाम पर दमड़ी भी देने से इंकार कर दिया है। भेदभाव की सूची लंबी है इसे लोकसभा चुनाव में ‘मिशन-29’ और राष्ट्रीय स्तर पर ‘मिशन 272$’ को सफल बनाकर ही समाप्त किया जा सकता है। इसमें महिलाओं की भूमिका निर्णायक सिद्ध होगी और महिलाएं अपने घरेलू काम से समय निकालकर चुनाव संग्राम में कूदंेगी। ‘‘एक नोट-कमल को वोट’’ का नारा घर-घर, गली-गली में गूंजेंगा।

महिला पंचायत का अगला सत्र लोकसभा चुनाव के बाद- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के अवसर पर बताया कि महिला पंचायत ने जो निष्कर्ष निकाले थे उसके आधार पर प्रदेश में महिला नीति का गठन किया गया और उसके अमल से महिला सशक्तिकरण का रास्ता आसान हुआ है। सरकार जल्द ही अगली महिला पंचायत आमंत्रित करेगी जिसमें प्रदेश की महिला प्रतिनिधियों को अपने विचार रखने का पूरा अवसर दिया जायेगा। उन्होनें कहा कि महिला सम्मान सुरक्षा हमारी कितनी सर्वोच्च प्राथमिकता है उसका संकेत इसी बात से मिल जाता है कि शपथ ग्रहण करने के साथ ही पहला फैसला कन्यादान योजना की राशि बढ़ानें का हुआ था और उसमें कन्या अभिभावक के हितों और कन्या की संतान के लिए स्थायी रकम जमा कराने का प्रावधान किया गया था। आने वाली महिला पंचायत के निर्णय ऐतिहासिक होंगे और उससे प्रदेश में समाज की मानसिकता में बुनियादी परिवर्तन दृष्टिगोचर होगा।

महिला मोर्चा पार्टी की अपेक्षा पर खरा उतरा- श्री नरेन्द्रसिंह तोमर

बैठक का उद्घाटन करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि महिला आरक्षण के मामलें में कांगे्रस की भूमिका निराशाजनक रही है। भारतीय जनसंघ से लेकर भारतीय जनता पार्टी ने महिला आरक्षण के लिए सक्रिय पहल की। बड़ौदा में संपन्न हुई राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में पार्टी ने पहले पहल महिला आरक्षण विधेयक लाने की जोरदार पहल की थी और अनवरत् इस दिशा में प्रयास जारी रखा। उन्होनें कहा कि लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी का बहुमत बनने और नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के साथ ही महिला आरक्षण विधेयक पारित कराने का सपना पूरा होगा। इसके लिए प्रदेश में मिशन-29 को सफल बनानें में महिला शक्ति कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखेगी।
श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि महिला मोर्चा प्रदेश संगठन की अपेक्षाओं पर खरा उतरा है और उसी का नतीजा है कि प्रदेश में तीसरी बार पार्टी की शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में सरकार का गठन हुआ है। उन्होनें कहा कि वरिष्ठ नेत्री कुसुम मेहदेले के नेतृत्व में महिला मोर्चा का बीजांकुर हुआ था जो आज लता वानखेड़े के नेतृत्व में फलित हो रहा है और हमें उसके नतीजे प्राप्त हो रहे है। महिला सशक्तिकरण भारतीय जनता पार्टी की प्रतिबद्धता है इंदिरा गांधी देश की नेता कांगे्रस पार्टी की सर्वेसर्वा और भारत की प्रधानमंत्री रही लेकिन उन्होनें महिला नेतृत्व का वह गौरव प्राप्त नहीं किया जो भारतीय जनता पार्टी को हासिल हुआ। हम सौभाग्यशाली है कि हमें महिला शक्ति का विश्वास प्राप्त हुआ है। महिला आरक्षण विधेयक को हर हाल में पारित कराने के लिए प्रतिबद्ध है और कांगे्रस को हमनें बिना शर्त समर्थन देने का प्रस्ताव भी दिया है। लेकिन कांगे्रस महिला आरक्षण लाने में विफल रही है अब समय आ गया है कि लोकसभा के चुनाव में मध्यप्रदेश में महिला शक्ति अपनी पूरी उर्जा का प्रदर्शन कर मिशन-29 को सफल बनायें। लोकसभा में बहुमत आने के साथ केन्द्र सरकार का नेतृत्व नरेन्द्र मोदी के पास होगा और हमारे सारे मनोरथ पूरें होंगे।
‘मोदी फॉर पीएम’ अभियान को जन-जन तक पहुचंाना है, इसमें महिलाओं की अग्रणी भूमिका होगी। घर-घर सपंर्क, अर्थसंग्रह और सरदार पटेल की प्रतिमा के लिए लौह-संग्रहण में भी मोर्चा पीछे नहीं रहेगा। इस अवसर पर महिला आयोजनों को लेकर प्रकाशित विशंभरा ग्रंथ का विमोचन मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, श्री नरेन्द्रसिंह तोमर, श्री अरविन्द मेनन, सुमित्रा महाजन, माया सिंह, कुसुम मेहदेले, अंजू माखीजा, राजो मालवीय, ऊषा चतुर्वेदी, सरिता देशपांडे, नीता पटैरिया एवं सीमा सिंह ने किया।
भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में मोर्चा की प्रदेश महामंत्री भारती अग्रवाल ने राजनैतिक प्रस्ताव प्रस्तुत करते हुए केन्द्र सरकार की वित्तीय प्रबंधन में विफलता, निरंकुश भ्रष्टाचार और महिलाओं में बढ़ती असुरक्षा को लेकर केन्द्र सरकार की कड़े शब्दों में निंदा की। प्रस्ताव का समर्थन कलावती यादव ने किया। बैठक की अध्यक्षता मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष लता वानखेड़े ने की। राजनैतिक प्रस्ताव पर विस्तार से चर्चा की गयी और नेत्रियों ने रचनात्मक सुझाव प्रस्तुत किये।
राजनैतिक प्रस्ताव में कहा गया है ‘पूत के पांव पालने में दिख जाते है’ हैट्रिक बनानें के बाद मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शपथ ग्रहण करते ही जो चार फैसले लिये उन फैसलों ने सरकार की प्रतिबद्धता का सबूत दिया है, उनका सर्वत्र स्वागत हुआ है। मध्यम वर्ग आयोग का गठन, उद्योग व्यापार संवर्धन बोर्ड बनानें, स्वागतम् लक्ष्मी योजना के शुभारंभ की प्रश्ंासा की गयी। प्रस्ताव में कहा गया है कि मुख्यमंत्री अभिभावक पेंशन योजना से समाज की मानसिकता में बेहतर बदलाव आयेगा। लाड़ो अभियान से कुरीतियों पर प्रहार होगा। महिला आरक्षण विधेयक पारित नहीं करा पाने के लिए कांगे्रस और यूपीए सरकार की कटु आलोचना की गयी और महिलाओं ने संकल्प पारित किया कि एनडीए की केन्द्र में सरकार के गठन और नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री पद पर आसीन होने के साथ महिला आरक्षण विधेयक पारित कराकर महिला मोर्चा दम लेगा।

230 विधानसभा क्षेत्रों में महिला सम्मेलन होंगे

भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में मोर्चा के आगामी कार्यक्रमों की घोषणा करते हुए मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष लता वानखेड़े ने बताया कि लोकसभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में सभी 230 विधानसभा क्षेत्रों में महिला सम्मेलन आयोजित किये जायेंगे। 5 फरवरी को सभी क्षेत्रों में सम्मेलन एवं जनसंपर्क अभियान आयोजित किये जायेंगे। बूथ स्तर पर मेहंदी लगाने का कार्यक्रम आयोजित किया जायेेंगे। कमल-रंगोली के आयोजन भी मतदान केन्द्र पर आयोजित किये जायेंगे। बलिदान दिवस 11 फरवरी को आजीवन सहयोग निधि का संग्रह होगा। 20 मार्च को रानी अवन्तीबाई लोधी बलिदान दिवस आयोजित किया जायेगा। मोर्चा की बहनें घर-घर संपर्क करेगी और घरों में पार्टी का ध्वज फहराया जायेगा। हर बूथ पर 5 बहनों की टीम तैनात की जायेगी। लोकसभा चुनाव को देखते हुए इनका पता, मोबाईल नंबर सूचीबद्ध किया जायेगा। प्रदेश कार्यसमिति बैठक में मंत्री कुसुम मेहदेले, सुमित्रा महाजन, सरिता देशपांडे, ऊषा चतुर्वेदी, नीता पटैरिया, सीमा सिंह, राजो मालवीय, अंजु माखीजा, महापौर समीक्षा गुप्ता, महापौर पुष्पा शिल्पी, अंजु सिंह बघेल, लता ऐलकर, ममता बोरसे, भारती अग्रवाल, सरोज राजपूत, मुद्रा शास्त्री, कलावति यादव, ममता भदौरिया, प्रेमाबाई मोहन, ज्योति दुबे, अरूणा जोशी, कार्यालय मंत्री ब्रजुला सचान, भावना सिंह, राजश्री गर्ग, वंदना जाचक, कुसुम शर्मा, रानी धाकड़, पुष्पा राय सहित मोर्चे की पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थीं।



कांगे्रस मुक्त भारत की शुरूआत मतदान केन्द्र पर नया समर्थन जुटानें से करें- अरविन्द मेनन
Our Correspondent :29 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के तीसरे सत्र को संबोधित करते हुए मोर्चे को नई रचनात्मक दिशा देने का आव्हान किया। उन्होनें कहा कि कांगे्रस मुक्त भारत बनानें की शुरूआत मतदान केन्द्र की ओर रूख करके नया समर्थन जुटाकर करें। प्रदेश में पौने पांच करोड़ के लगभग मतदाता है जिनमें मातृशक्ति की भागीदारी 2 करोड़ 62 लाख मतदाताओं के रूप में है। हमें इनका समर्थन जुटाकर अभी नहीं तो कभी नहीं की तर्ज पर चुनावी शंखनाद करना है। जनता की नब्ज को समझनें के लिए महिला बहनें नगर, ग्राम केन्द्र से लेकर मतदान केन्द्र तक अनवरत् प्रवास करें। जनता की नब्ज को समझें। देश में भारतीय जनता पार्टी के अनुकूल परिस्थितियां है। आम आदमी कांगे्रस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार से ऊब चुका है और विकल्प के रूप में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में सरकार का गठन चाहता है। जिसके प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी होंगे। जनता के उत्साह को समर्थन और वोटों में बदलने का काम महिला बहनों को करना हैं पुरूषों की पहुंच दरवाजे तक रहती है, लेकिन बहनें रसोई तक प्रवेश पाकर समाज में सकारात्मक मानसिकता बनानें में सक्षम है।
श्री अरविन्द मेनन ने कहा कि देश में जितनें भी गैर भाजपा दल है सभी व्यक्तित्व आधारित है। उनमें न तो विचारधारा है, न सिद्धान्त है। भारतीय जनता पार्टी एकमात्र कार्यकर्ता आधारित राजनैतिक दल है, जहां लोकतंत्र, राष्ट्रवाद और सुशासनजनित विकास का दर्शन है। यही कारण है कि अल्पकाल में भाजपा का विस्तार उत्तर-दक्षिण एवं पूर्व-पश्चिम में हुआ है जबकि कांगे्रस का समर्थन स्त्रोत सूख चुका है, कांग्रेस दल के रूप में सिकुड़ गया है, कांगे्रस वंशवाद में सिमटकर अस्ताचल की ओर बढ़ रही है। भारतीय जनता पार्टी ने नारी सम्मान को प्राथमिकता दी है वहीं अन्य दलों के लिए महिला सम्मान सिर्फ मंच तक सीमित है। उन्होनें ‘मोदी फॉर पीएम’ अभियान को घर-घर में पहुंचाने और समर्थन जुटाने का आव्हान किया। मार्मिक शब्दों में श्री मेनन ने कहा कि बहनें बैठक के बाद अपने घरेलू काम से समय निकालकर मतदान केन्द्र पर ध्यान केन्द्रित करें और वोटर लिस्ट को लेकर अपने समर्थकों और दूसरे नये मतदाताओं की ओर मुखातिब हों। नये मतदाताओं का समर्थन लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के लिए अत्यंत आवश्यक है। हमें मध्यप्रदेश में मिशन-29 और राष्ट्रीय स्तर पर मिशन 272$ को हासिल करने के लिए नया समर्थन जुटाना समय की मांग है। इसके लिए परिवार संपर्क और अपने क्षेत्र के एनजीओ का विश्वास अर्जित कर अपने लक्ष्य की प्राप्ति में तत्पर हों।



जेण्डर बजटिंग में मध्यप्रदेश देश में अग्रणी राज्य बना- श्रीमती माया सिंह
Our Correspondent :29 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी की प्रदेश महामंत्री और महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि प्रदेश में 16 लाख लाड़ली लक्ष्मियां बन चुकी है जिससे समाज की मानसिकता में एक बेहतर बदलाव आया है। कन्या जन्म को जनता ने वरदान के रूप में आत्मसात किया है प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के महिला सशक्तिकरण अभियान की बदोलत लिंगानुपात में अनुकूल बदलाव दिखा है। प्रति एक हजार पर अब महिला जनसंख्या का अनुपात 911 से बढ़कर 915 हो गया है। उन्होनें कहा कि प्रदेश में जेण्डर बजटिंग की अच्छी शुरूआत हुई है। जो बजट पहले 26 करोड़ रू. हुआ करता था वह बढ़कर ढ़ाई हजार करोड़ रू. हो गया है। मध्यप्रदेश की महिलाओं को स्वायत्तशासी संस्थाओं और निकायों में अब संवैधानिक रूप में 50 प्रतिशत और व्यवहारिक रूप से 56 प्रतिशत की भागीदारी करने का गौरव प्राप्त हुआ है ऐसे में महिलाओं की राजनैतिक जिम्मेदारी भी बढ़ जाती है और वे व्यापक हित में देश को ऐसी सरकार उपलब्ध करायंे जो देश को सशक्त नेतृत्व दे सकें। उन्होनें लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भारी मतों से विजयी बनानें और केन्द्र में एनडीए की सरकार के गठन का लक्ष्य पूर्ण करने तथा नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनानें के अभियान में जुट जाने का आव्हान किया।
श्रीमती माया सिंह ने कहा कि 2006 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महिला सशक्तिकरण का बीड़ा उठाया था और पहली महिला पंचायत का आयोजन किया था। पंचायत में की गयी सभी 14 घोषणाएं कार्यान्वित हो चुकी है। जिनके फलस्वरूप महिला सशक्तिकरण अभियान को नई उचाईयां प्राप्त हुई है देश के किसी भी प्रदेश में महिला सशक्तिकरण की दिशा में ऐसा ऐतिहासिक काम नहीं हुआ। उन्होनें कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता को गौरवान्वित किया है। अमेरिका में शिवराज सिंह चौहान को महिला सशक्तिकरण के बारें मंे बोलने के लिए जब आमंत्रित किया गया, उन्होनें अपने संबोधन में लाड़ली लक्ष्मी योजना का जिन मर्मस्पर्शी शब्दों में बयान किया अमेरिका की प्रबुद्ध जनता दांतो तले उंगलियां दबाकर स्तब्ध रह गयी और उन्हें नारी गरिमा के संबंध में नया परिज्ञान प्राप्त हुआ। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस वेलफेयर विजन को अमेरिका सहित कई देशों में सराहा गया।



सांसद-विधायक प्रकोष्ठ की बैठक 6 फरवरी को
Our Correspondent :29 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी, मध्यप्रदेश सांसद-विधायक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक श्री ध्यानेन्द्र सिंह ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसदों एंव पूर्व विधायकों की बैठक 6 फरवरी को प्रातः 11.30 बजे पार्टी के प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर भोपाल में आहुत की गयी है।
बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर एवं प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे।



प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में राज्यसभा और लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों के चयन पर चर्चा संपन्न
Our Correspondent :25 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश चुनाव समिति की बैठक आज प्रोफेसर कालोनी स्थित प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर के निवास पर संपन्न हुई। बैठक में आसन्न राज्यसभा चुनाव की दो सीटों के लिए प्रत्याशी चयन एवं लोकसभा चुनाव पर विस्तार से चर्चा की गयी। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने की। उन्होंने बताया कि बैठक में राज्यसभा चुनाव के लिए 5-6 नामों पर चर्चा की गयी तथा पैनल तैयार कर सहमति से इसे केन्द्रीय चुनाव समिति के समक्ष विचारार्थ अग्रेषित करने का निर्णय लिया गया। इसी क्रम में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए भी प्रदेश की 29 सीटों के लिए प्रत्याशियों के चयन पर विचार विमर्श किया गया। लोकसभा क्षेत्रों के लिए प्रत्येक सीट पर 1 से 2 नामों पर मंथन हुआ और पैनल बनाए गए।
उन्होंने बताया कि चर्चा उपरांत सूचीबद्ध पैनल केन्द्रीय समिति के विचार हेतु भेजने पर सहमति बनी और इस कार्य के लिए प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन को समिति ने अधिकृत किया। श्री अरविन्द मेनन पैनल बद्ध सूचियां लेकर दिल्ली जायेंगे, जिसे बाद में केन्द्रीय चुनाव समिति अंतिम रूप देगी।
प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री व सांसद श्री कैलाश जोशी, पूर्व मुख्यमंत्री संुदरलाल पटवा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा, मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन, वरिष्ठ नेता डॉ. सत्यनारायण जटिया, श्री फग्गनसिंह कुलस्ते, श्री भूपेन्द्र सिंह, डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया, श्री राजेन्द्र शुक्ल और श्रीमती लता वानखेड़े ने चर्चा में भाग लिया।



कांगे्रस ने भारत-निर्माण कम, घोटालों का निर्माण अधिक किया- राकेश सिंह
Our Correspondent :25 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष, सांसद श्री राकेश सिंह ने कहा कि पिछले 10 वर्षों के यूपीए के कार्यकाल में भारत की आर्थिक विकास दर निरंतर कम हुई है। कांगे्रस के नेताओं ने इन वर्षों में निजी स्वार्थ के लिए भ्रष्टाचार कर देश को अंधकार के गर्त में पहुंचाया है। कांगे्रस के द्वारा बनाई गयी आर्थिक नीतियां हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। देश की विकास दर, मंहगाई दर एवं ईधन के दाम सहित घरेलू चीजों में इन नीतियों का विपरीत प्रभाव पड़ा है, जिससे आम आदमी का जीना दुश्वार हुआ हैं।
उन्होनें कहा कि कांगे्रस के भारत-निर्माण की बात पूरी तरह से झूठ का पुलिन्दा है। जिन क्षेत्रांे में भारत-निर्माण की बात कांगे्रस कर रही है उन्हीं क्षेत्रों में घोटालों की लंबी फेहरिस्त उजागर हुई है। कांगे्रस के शासनकाल में आमजन कोे राहत मिलने के बजाय मंहगाई का उपहार मिला है। उन्होनें कहा कि कांगे्रस ने लोकसभा चुनाव के समय 100 दिन में मंहगाई कम करने की बात कही थी लेकिन यूपीए सरकार के 5 साल में मंहगाई दिन-प्रतिदिन बढ़ी है। श्री राकेश सिंह ने दावोस में चल रहे विश्व आर्थिक मंच पर कांगे्रस नेता आनंद शर्मा के बयान ‘देश की विकास दर जल्द ही रफ्तार पकड़ेगी’ को कांगे्रस की पतंगबाजी बताया है। उन्होनें कहा कि भारत की विकास दर आज न्यूनतम स्तर 4 प्रतिशत के निकट है और कांगे्रस के कुशासन के चलते निकट भविष्य में सुधार की कोई गुंजाईश नहीं। मंहगाई दर दहाई में और विकास दर इकाई में होना आम आदमी की नियति है।
श्री राकेश सिंह ने कहा कि एनडीए के शासनकाल में भारत की विकास दर 8 प्रतिशत के ऊपर पहुंच गयी थी एवं मंहगाई दर सिमट गयी थी। भारतीय जनता पार्टी के सुशासन और स्थिरता से आज गुजरात, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ एवं गोवा में लोगों के जीवन स्तर में सुधार हुआ है और आज भारत की जनता भी राष्ट्रीय चुनावों में भाजपा को सबसे सशक्त विकल्प मान रही है। पिछले दिनों समाचार चौनल के सर्वे (आॅपिनियन पोल) में भी यह बात जगजाहिर हो चुकी है कि भारतीय जनता पार्टी और पार्टी प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी की आंधी शुरू हो गयी है। देश में विकास, सुशासन, शुचिता, पारदर्शिता के आधार मानकर चलने वाली भारतीय जनता पार्टी की लोकसभा चुनाव 2014 में शानदार विजय दीवार पर लिखी इबारत की तरह स्पष्ट होता जा रहा है।



सपा प्रमुख से राजधर्म की अपेक्षा रेत से तेल निकालना है- श्री शर्मा
Our Correspondent :25 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व विधायक रामेश्वर शर्मा ने समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मुलायम सिंह की टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि मुलायम सिंह का चरित्र अवसरवादी और घोर समझौतावादी रहा है। जो शख्स जीवन पर्यन्त सियासी खुदगर्जी में सिद्धांतों को तिलांजलि देता रहा हो उससे राजधर्म की अपेक्षा बेमानी है। रेत से तेल निकालने का निरर्थक प्रयास है।
उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह ने मुल्लाजी संबोधन को सार्थक करने के लिए कारसेवकों का खून बहाया और तुष्टीकरण को परवान चढ़ाया, लेकिन मुजफ्फरनगर दंगों के वक्त उन्होंने जिस तरह मानवता को कलंकित किया उन्हें मानवता के लिए कलंक ही कहा जा सकता है। डॉ. राममनोहर लोहिया के सिद्धांतों को कुचलकर उन्होंने अलगाव की राजनीति को हवा दी। राष्ट्रद्रोहियों के हाथ खिलौना बनकर उन्होंने फक्र महसूस किया। विकास से कोसो दूर, सुशासन से दूर मुलायम सिंह ने हमेशा दगाबाजी की राजनीति की है। उनके लिए मानवता के खून में भिन्नता दिखाई देती है उसे हत्यारा कहना भी शब्दों के साथ बेइन्साफी है।
श्री रामेश्वर शर्मा ने कहा कि मुलायम सिंह दूसरों पर हत्या का आरोप लगाने के पहले अपने गिरहवान में झांकने का साहस दिखाएं। आईना में चेहरा देखने के बजाय मुल्ला जी आईना फोड़ रहे है।



यूपीए सरकार राष्ट्र के लिए विनाशकारी साबित हुई है- सुश्री राजो मालवीय
Our Correspondent :25 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश मंत्री सुश्री राजो मालवीय ने कहा कि केन्द्रनीत यूपीए सरकार भ्रष्टाचार और घोटालों में डूबी हुई है, देश वर्तमान दौर में अंधकार से गुजर रहा है। उन्होनें कहा कि महंगाई दर दिन दुगनी और रात चौगुनी बढ़ी है जिससे गरीब जनता का जीना दूभर हुआ है। देश सामाजिक और आर्थिक दृष्टि से असंतुलित हो चुका है, ऐसे समय में भारतीय जनता पार्टी की ओर देश की जनता आशातीत निगाहों से देख रही है। उन्होनें कहा कि सुशासन और संकल्प के साथ भारतीय जनता पार्टी एकमात्र विकल्प है जो वर्तमान विपरीत परिस्थितियों से देश को उबार सकती है।
उन्होनें कहा कि कांगे्रस का हाथ घोटालों और भ्रष्टाचार के साथ रहा है जो कि सर्वविदित है। यूपीए के कार्यकाल में दो करोड़ से अधिक रोजगार पर लगे लोगों को अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है। कांगे्रसनीत यूपीए सरकार राष्ट्र के लिए विनाशकारी सरकार साबित हुई है। यूपीए के शासनकाल में 25 प्रतिशत से अधिक छोटे और मंझले उद्योग बंद होने की कगार पर है, जो कि कांगे्रस की आर्थिक अनीतियों को दर्शाता है।
सुश्री राजो मालवीय ने कहा कि देश की मांग मोदी है, जो कि नरेन्द्र भाई मोदी की जनसभाओं में उमड़ रहे जनसैलाब से स्पष्ट दिखाई दे रहा है। उन्होनें कहा कि भाजपा के पास अतीत में रोजगार के अवसर सृजित करने का रिकार्ड और वर्तमान में भाजपा शासित प्रदेशों मंे विकास दर का दो अंको में होना भारतीय जनता पार्टी की सुशासन और सफल आर्थिक नीतियों को दर्शाता है। उन्होनें कहा कि ‘मोदी फॉर पीएम’ अभियान लोकसभा चुनाव में जनआकांक्षाओं को मूर्तरूप देने का काम करेगा। 11 फरवरी तक चलने वाला यह अभियान मिशन-29 में मील का पत्थर साबित होगा। इस अभियान के तहत पार्टी कार्यकर्ता घर-घर पहुंचकर भ्रष्ट केन्द्र सरकार की असफलताओं से जनता को अवगत करा रहे है।



भाजपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के जिला सम्मेलन सभी 55 संगठनात्मक जिलों में अगले सप्ताह से आरंभ होंगे
Our Correspondent :25 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ प्रदेश के सभी 55 संगठनात्मक जिलों में पिछड़ा वर्ग जिला सम्मेलन आयोजित करेगा। अगले सप्ताह से सम्मेलनों के आयोजन आरंभ होंगे। इन सम्मेलनों में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर एवं प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन भी भाग लेंगे और मार्गदर्शन करेंगे। जिला सम्मेलनों में ‘आओं बनायें मध्यप्रदेश’ पर जनता का ध्यान केन्द्रित किया जायेगा और जनसहयोग की अपील की जायेगी। पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक प्रदीप पटेल ने प्रकोष्ठ के सभी जिला संयोजकों से आग्रह किया है कि वे पार्टी के जिला अध्यक्ष, सांसद और विधायकों की सहमति प्राप्त कर जिला सम्मेलन की तिथि निश्चित कर प्रदेश कार्यालय को अवगत करायें, जिससें प्रदेश से वरिष्ठ वक्ताओं को सम्मेलन में भाग लेने भेजा जा सके।
प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक व सह प्रवक्ता हरिशंकर विश्वकर्मा ने बताया कि जिला सम्मेलनों में लोकसभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में प्रकोष्ठ की भूमिका पर विस्तार से चर्चा की जायेगी। प्रदेश में पिछड़े वर्ग की साढ़े पांच दर्जन से अधिक जातियां, उप जातियां निवास करती है जिनकी प्रदेश की आबादी में 53 प्रतिशत की भागीदारी है। पिछड़ा वर्ग बदलते समय की जबावदेहियों के प्रति सजग है और मतदान प्रतिशत में वृद्धि के लिए सतत् सजग बन गया है। प्रदेश सरकार ने पिछड़े वर्गों के कल्याण के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध की है। सम्मेलन में इन सुविधाओं एवं कल्याणकारी योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की जायेगी, जिसमें इनका लाभ जन-जन तक पहंुचाने में मदद मिलेगी।



जनता से डोर टू डोर संपर्क करना ‘मोदी फॉर पीएम’ अभियान का उद्देश्य
Our Correspondent :24 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी द्वारा प्रदेश के सभी 55 संगठनात्मक जिला केन्द्रों पर आज नेताजी सुभाषचंद बोस की जयंती के अवसर पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मौजूदगी में मोदी फॉर पीएम अभियान का शुभारंभ हुआ। यह अभियान 23 जनवरी से 11 फरवरी तक संचालित किया जायेगा। लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा एवं प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने भोपाल एवं मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने खरगौन एवं धार में मोदी फॉर पीएम अभियान की शुरूआत की। अभियान के तहत आज जिला केन्द्रों पर पार्टी के वरिष्ठ नेता कार्यकर्ताओं के साथ कलश लेकर जनता से एक नोट और कमल को वोट की अपील की। यह अभियान प्रदेश के हर गांव तक चलाया जायेगा।
भोपाल के कोहेफिजा स्थित शहीद नगर चौराहा पर लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा एवं प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने मोदी फॉर पीएम ‘‘एक वोट एक नोट‘‘ अभियान की शुरूआत की। श्रीमती सुषमा स्वराज ने कहा कि एक वोट एक नोट अभियान लोकसभा चुनाव की दृष्टि से प्रदेश भर में आयोजित हो रहा है। इस अभियान के तहत हम घर घर जायेंगे और जनता के पास जाकर एक नोट और भारतीय जनता पार्टी को वोट देने की अपील करेंगे। उन्होंने कहा कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य जनता से डोर टू डोर संपर्क करना है। नोट एक रू. से लेकर एक हजार का भी हो लेकिन मुख्य उद्देश्य घर घर तक पहंुचना है।
पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा ने कहा कि एक नोट कमल पर वोट लोकसभा चुनाव का प्रमुख अभियान है। यह अभियान सुभाषचन्द्र बोस की जयंती से प्रारंभ हुआ है जो कि 11 फरवरी तक चलेगा। मोदी जी को पीएम बनाने के लिए मोदी फॉर पीएम अभियान पार्टी द्वारा चलाया जा रहा है। आमजन की इसमें सहभागिता हो इस हेतु एक नोट कमल पर वोट अभियान से जन जन तक पहंुचेंगे। कार्यक्रम को पार्टी के संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने संबोधित करते हुए कहा कि लोकसभा हेतु भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश मेंं मिशन 29 और देश में मिशन 272 $ रखा है। मिशन 29 के लिए प्रदेश भारतीय जनता पार्टी प्राणपण से जुटेगी। उन्होंने कहा कि एक नोट कमल को वोट अभियान के जरिए कार्यकर्ता घर-घर पहंुचकर नरेन्द्र मोदी को पीएम बनाने के लिए आव्हान करेंगे। कोहेफिजा स्थित शहीद नगर निवासी विभांशी सिंह, सरिता सिंह एवं शबाहत शाहीद ने मोदी फॉर पीएम के लिए 100 एवं 10 रू. के नोट कलश में डालकर अपना समर्थन दिया।
इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता व विधायक विश्वास सारंग, सुरेन्द्रनाथ सिंह, जिला अध्यक्ष आलोक शर्मा, रामदयाल प्रजापति, प्रकाश मीरचंदानी, सीमा सिंह, सुखप्रीत कौर, सरोज राजपूत, राजो मालवीय, ओम यादव, सलीम कुरेशी, सत्यार्थ अग्रवाल, विकास विरानी, बृजुला सचान, सरिता देशपाण्डे, अर्चना पाण्डे, अनिल अग्रवाल, राहुल राजूपत, वंदना जाचक, महेश शर्मा, सुमीत पचौरी, जगदीश यादव, मनोज राठौर, अंशुल तिवारी, राशिद खान, मनोज विश्वकर्मा, सुनील यादव सहित पार्टी के पदाधिकारी, कार्यकर्ता उपस्थित थे। श्री प्रभात झा एवं श्री अरविन्द मेनन ने जिला अध्यक्ष आलोक शर्मा एवं कार्यकर्ताओं के साथ घर घर जाकर मोदी फॉर पीएम हेतु एक नोट लेकर वोट देने की अपील की।
मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने खरगौन में एक वोट एक नोट का शुभारंभ स्थानीय श्रीकृष्ण सिनेमा चौराहा से किया। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी बने इस हेतु प्रदेश की जनता अपने एक वोट के साथ एक नोट देने को तैयार है। देश की जनता कॉग्रेस के कुशासन से अब ऊब चुकी है। उसकी निगाहे भारतीय जनता पार्टी पर है जो देश को सुशासन कर विकसित राष्ट्रों की पंक्ति में लायेगी। उन्होंनें कहा कि आसन्न लोकसभा चुनाव के लिए मिशन 29 को लेकर भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता पूरी तरह प्राणपण से जुटे। उन्होंने पार्टी के पक्ष में मतदान करने के लिए आव्हान करते हुए कहा कि कांग्रेस के पिछले 10 वर्ष में जनता को कुशासन दिया है। जनता कांग्रेस के कुशासन से मुक्त होना चाहिए जिसके लिए भारतीय जनता पार्टी एकमात्र विकल्प है। उन्होंने कहा कि विकसित भारत के लिए भारतीय जनता पार्टी को अपना आशीर्वाद देकर भारी मतों से विजयी बनाए।
इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश महामंत्री नन्दकुमार सिंह चौहान, जिले के प्रभारी मंत्री विजय शाह, जिला संगठन मंत्री शैलेन्द्रसिंह कुशवाह, जिला अध्यक्ष रणजीतसिंह डंडीर सहित पार्टी पदाधिकारी जनप्रतिनिधि तथा बडी संख्या में जनता उपस्थित थी।
होशंगाबाद में पार्टी के वरिष्ठ नेता डॉ. सत्यनारायण जटिया ने अभियान की शुरूआत करते हुए कहा कि सुभाषचन्द्र बोस की जयंती से प्रारंभ यह अभियान 11 फरवरी तक पूर्ण होगा। एक वोट कमल को नोट अभियान मिशन 29 को मूर्तरूप देगा। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष सम्पत मुंदडा, नगर अध्यक्ष डॉ. नीरज सहित जिला पदाधिकारी कार्यकर्ता उपस्थित थे।
इंदौर में ‘मोदी फॉर पीएम’ अभियान का शुभारंभ अटल-द्वार से वरिष्ठ नेत्री एवं सांसद श्रीमती सुमित्रा महाजन, वरिष्ठ मंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय, पार्टी की प्रदेश उपाध्यक्ष सुश्री उषा ठाकुर, इंदौर नगर जिला अध्यक्ष श्री शंकर लालवानी, विधायक श्री रमेश मेंदोला की उपस्थिति में हुआ। श्रीमती सुमित्रा महाजन ने कहा कि राजनीति में शुचिता का प्रतीक नरेन्द्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी का मिशन-2014 है। हम जनता से समर्थन के आर्थिक सहयोग और आशीर्वाद लेकर नरेन्द्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनानें का अभिनव कार्य करेंगे। इस अवसर श्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जनता भारतीय जनता पार्टी के सुशासन को देख चुकी है और श्री नरेन्द्र मोदी, श्री शिवराज सिंह चौहान विकास के प्रतीक साबित हुए है, जो युवाओं को रोजगार, देश में मंहगाई पर नियंत्रण और विकसित भारत के स्वरूप को साकार करेंगे।
ग्वालियर नगर में महारानी लक्ष्मीबाई की समाधि से पवित्र माटी का एकत्रीकरण किया और लक्ष्मीबाई कॉलोनी में जनसंपर्क कर एक वोट और एक नोट देने की अपील के साथ धनसंग्रह की शुरूआत की गयी। इस अवसर पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री वेदप्रकाश शर्मा, वरिष्ठ मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, बालेन्दु शुक्ला, रविन्द्र सिंह राजपूत, कमल माखीजानी, जयप्रकाश राजौरिया, पंकज शुक्ला सहित जिले एवं मंडलों के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। राजगढ़ के ब्यावरा मेढ़तवाल धर्मशाला में प्रदेश मंत्री श्री तपन भौमिक की उपस्थिति में मोदी फॉर पीएम अभियान का शुभारंभ हुआ।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष रघुनंदन शर्मा, मोहन शर्मा, विधायक नारायण सिंह पवार, हेमन्त जोशी सहित जिले के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।
मुरैना में रामजानकी मंदिर टाउन हॉल में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष वेदप्रकाश शर्मा की उपस्थिति में श्री नरेन्द्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री बनानें के लिए आयोजित मोदी फॉर पीएम अभियान का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष अनूप भदौरिया, सभी मंडलों के अध्यक्ष, पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। जबलपुर नगर के गढ़ा मंडल में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष, सांसद श्री राकेश सिंह, वरिष्ठ मंत्री शरद जैन ने मोदी फॉर पीएम अभियान का अभियान का शुभारंभ किया। इस अभियान के तहत श्री नरेन्द्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री बनानें के लिए पार्अी कार्यकर्ता घर-घर जाकर एक नोट और एक वोट देने का आव्हान करेंगे।
जबलपुर ग्रामीण में पनागर विधानसभा के सुहागी क्षेत्र में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री राकेश सिंह, जिला अध्यक्ष आशीष दुबे, विधायक इंदु तिवारी ने मोदी फॉर पीएम अभियान शुरूआत करते हुए भारतीय जनता पार्टी के समर्थन में एक नोट और एक वोट की अपील की। रीवा के सिरमौर चौराहे से नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की प्रतिमा पर महापौर शिवेन्द्र सिंह, जिला अध्यक्ष जनार्दन मिश्रा ने माल्यापर्ण कर मोदी फॉर पीएम अभियान का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर रीवा जिले के सभी 19 मंडलों पर अभियान का शुभारंभ हुआ। रतलाम में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री दिलीपसिंह भूरिया, प्रभारी मंत्री श्री पारस जैन ने धान मंडी में मोदी फोर पीएम अभियान का शुभारंभ किया। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष बजरंग पुरोहित, श्रीमती निर्मला पाटीदार आदि उपस्थित थे।
सागर के सिविल लाईन्स चौराहे पर वरिष्ठ मंत्री गोपाल भार्गव, विधायक शैलेन्द्र जैन, महापौर पुष्पा शिल्पी, दिनेश शर्मा, विनोद तिवारी ने मोदी फॉर पीएम अभियान के तहत एक नोट-एक वोट की अपील करते हुए धनसंग्रह की शुरूआत की। सतना जिले के 19 मंडलों में एक वोट एक नोट अभियान का कार्यक्रम संपन्न हुआ। सतना नगर में विधायक शंकरलाल तिवारी के नेतृत्व में कार्यक्रम का शुभारंभ पन्नीलाल चौक से हुआ। इस अवसर पर शंकरलाल तिवारी ने घर घर जाकर भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में मतदान करने का आव्हान किया। जिसमें युवाओं ने बढ़ चढकर भाग लिया। सतना नगर के कार्यक्रम में विनोद तिवारी, विनोद यादव, अरूण द्विवेदी, कामता पाण्डे सहित पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे।
इस अभियान में कार्यकर्ता टोली बनाकर कलश के साथ घर-घर जाकर श्री नरेन्द्र मोदी के लिए वोट देने की अपील करेंगे और कांग्रेस की विफलताओं केंद्र सरकार की निष्क्रियता को बेनकाब करते हुए केंद्र में मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाने और जनसमस्याओं के समाधान, मध्यप्रदेश के साथ अनुकूल व्यवहार की संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा की जायेगी।



भाजपा युवा मोर्चा द्वारा आनलाईन वोटर रजिस्ट्रेशन रथ का शुभारंभ
Our Correspondent :24 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर भोपाल में आज नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की जयंती के अवसर पर भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया।
इस अवसर पर युवा मोर्चा के अध्यक्ष श्री अमरदीप मौर्य ने कहा कि भारतीय जनता युवा मोर्चा आगामी लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी को अभिनव विजय दिलाने के लिए ग्राम एवं शहर इकाई तक अपना योगदान देगा और कांगे्रस के भ्रष्टाचार, मंहगाई और कुशासन से देश को आजाद करेगा। रक्तदान शिविर में श्री अमरदीप मौर्य सहित भारतीय जनता पार्टी एवं युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं एवं अनेक व्यक्तियों ने रक्तदान किया।
नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की जयंती के अवसर पर युवा मोर्चा द्वारा आनलाईन वोटर रजिस्टेªशन रथ को प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर से रवाना किया गया। आॅनलाईन वोटर रजिस्टेªशन रथ को पार्टी के जिला अध्यक्ष श्री आलोक शर्मा एवं युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री अमरदीप मौर्य ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। वोटर्स के आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन अभियान के तहत रथ के द्वारा शहर के विभिन्न स्थलों पर जाकर मतदाताओं का रजिस्टेªशन का कार्य होगा एवं युवाओं से भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में मतदान करने के लिए आव्हान किया जावेगा।
इस अवसर पर पार्टी के मोर्चा के जिला अध्यक्ष अंशुल तिवारी, हितेष शुक्ला, मिलन भार्गव, सुमित पचौरी, नितिन परिहार, मोनू गोहल, गौरव राजपूत सहित पार्टी एवं मोर्चा के पदाधिकारी कार्यकर्ता उपस्थित थे।



प्रदेश चुनाव समिति की बैठक 24 जनवरी को भोपाल में
Our Correspondent :24 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी प्रदेश चुनाव समिति की बैठक 24 जनवरी को प्रातः 10.30 बजे प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल उपाध्याय भोपाल में आहूत की गयी है।
बैठक में पार्टी की वरिष्ठ नेत्री एवं लोकसभा नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज, राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी श्री अनंत कुमार का मार्गदर्शन प्राप्त होगा।



पारंपरिक प्रचार अभियान के साथ आईटी से प्रचार एक प्रभावी विद्या- सुषमा
Our Correspondent :23 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर भोपाल में आयोजित आईटी प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण कार्यशाला को संबोधित करते हुए पार्टी की वरिष्ठ नेत्री एवं लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज ने विदिशा लोकसभा क्षेत्र से आए 8 विधानसभा क्षेत्र के आईटी कार्यकर्ताओं से आईटी प्रचार की समीक्षा एवं जानकारी ली और प्रचार में आईटी की उपयोगिता को समझाते हुए कहा कि पारंपरिक प्रचार की आवश्यकता को आगे बढ़ाते हुए आईटी पिछले 5 वर्षों में प्रचार के क्षेत्र में एक प्रभावी विद्या साबित हुई है। कार्यशाला में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, सांसद प्रभात झा, प्रदेश संगठन महामंत्री अरविन्द मेनन, आईटी प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द गुप्ता, प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विकास बोन्द्रिया, प्रदेश संवाद प्रमुख डॉ. हितेष वाजपेयी, कृष्णगोपाल पाठक उपस्थित थे।
श्रीमती सुषमा स्वराज ने कहा कि वर्तमान परिवेश में आईटी का क्षेत्र बहुत व्यापक हुआ है और चुनाव प्रचार के मद्देनजर एक जगह बैठकर पार्टी का प्रचार-प्रसार बड़े पैमानें में करनें में सफल साबित हुआ है। उन्होनें समय की उपयोगिता को आईटी के प्रचार-प्रसार से जोड़ा और कहा कि सोशल नेटवर्किंग साईट्स फेसबुक व ट्विटर दोनों से एक समय में अपना संदेश एवं पार्टी का पक्ष लाखों कार्यकर्ताओं तक पहुंचाया जा सकता है। उन्होनें आईटी में मॉनीटरिंग पर जोर देते हुए कहा कि इसके जरिये पार्टी के पक्ष और विपक्ष में किये जा रहे प्रचार को समझनें में मदद मिल सकती है। उन्होनें अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये लोगों को जानकारी दी कि इस वक्त 8 लाख 90 हजार लोग फॉलो कर रहे है और ट्विटर पर जारी मेरे संदेश के लिए औसतन 60 री-ट्विट प्रति सेकंड प्राप्त होते है। इसके जरिये हम आईटी द्वारा प्रचार की व्यापकता और स्वरूप को समझ सकते है। उन्होनें आईटी कार्यकर्ताओं को दोधारी तलवार बताया और कहा कि आईटी कार्यकर्ता घर बैठकर पार्टी का प्रचार-प्रसार तो करता ही है साथ ही पोलिंग बूथ पर जाकर पोलिंग एजेन्ट से मॉनीटरिंग कर क्षेत्र के व्यक्तियों से समन्वय बनाकर वोट डालने के लिए प्रेरित करने का काम भी करता है।
आईटी प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द गुप्ता ने कार्यशाला में व्हाटस् एप्प, फेसबुक, ट्विटर की उपयोगिता बताई और भारतीय जनता पार्टी के संदेशों को सकारात्मक और सही दिशा में आगे बढ़ाने की बात कही। उन्होनें नेटवर्क मार्केटिंग का उदाहरण देकर प्रत्येक वॉलिन्टयर्स को क्षेत्र के 100 लोगों से जुड़ने की बात की और समन्वय कर अगले 400 घंटे तक आईटी द्वारा प्रचार की महत्वता को बताया।
कार्यशाला में विदिशा संसदीय क्षेत्र के आईटी प्रकोष्ठ के कार्यकर्ता उपस्थित थे।



मध्यप्रदेश की प्रगति एवं विकास के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान दें- शिवराज
Our Correspondent :23 January 2013
भोपाल। मप्र के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज खरगौन में ‘‘आओ बनाएं मध्यप्रदेश’’ कार्यक्रम में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की प्रगति और विकास के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान दें। मध्यप्रदेश पिछले 10 वर्षो में उन्नति और प्रगतिशील राज्यों में शुमार हुआ है। आगामी 5 वर्ष में मध्यप्रदेश जनसहयोग के माध्यम से सर्वोच्च उन्नतशील राज्य के रूप में पहचाना जायेगा।
श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि रोटी, कपडा और मकान मनुष्य की प्रमुख आवश्यकता होती है। मध्यप्रदेश सरकार ने 1 रू. किलो गेहंू और चावल देकर गरीब जनता के लिए रोटी और मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत भूमिहीन गरीबों को आवास देकर उनकी मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करनेे का काम किया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के बेटे बेटियों की पढाई में अब कोई बाधा उत्पन्न नहीं होगी। गरीब का बेटा भी आईएस और आईपीएस बने। इस हेतु उन्हें स्कॉलरशिप दी जायेगी। उन्होंने कहा कि समाज के हर वर्ग का कल्याण हो और हर समाज आगे बढ़े यही दृष्टि भारतीय जनता पार्टी सरकार की रही है। भाजपा सरकार प्रदेश के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी।
उन्होंने कहा कि हर वर्ग का उत्थान हो इसकी चिंता भारतीय जनता पार्टी सरकार ने की है और इसलिए शपथ लेने के साथ ही मैंने मध्यम वर्ग आयोग बनाकर इस वर्ग की समस्याओं का समाधान करने का काम किया है। उन्होंंने कहा कि मध्यप्रदेश को बदलना है। जिसके लिए आपके सहयोग की महती आवश्यकता है। हम मिलकर प्रदेश के विकास में अपनी भूमिका का निर्वहन कर अपने कत्र्तव्यों का पालन करने का काम करेंेगे। उन्होंने उपस्थित जनसमुदाय को प्रदेश के विकास के लिए अपने सर्वश्रेष्ठ योगदान देने हेतु संकल्प दिलवाया।
श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि प्रदेशवासियों के कल्याण और भलाई के लिए भारतीय जनता पार्टी सरकार ने निरंतर नए कार्यो को आकार दिया है। उन्होंने विजन 2018 के बारे में चर्चा करनेे हुए कहा कि 10 वर्षों में मध्यप्रदेश बीमारू राज्य से उभरा है। विजन 2018 से मध्यप्रदेश में विकास के नए आयाम स्थापित होंगे।
इस अवसर पर प्रभारी मंत्री विजय शाह, सांसद मकन सिंह सोलंकी, जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह डंडीर, विधायक बालकृष्ण पाटीदार, राजकुमार मेव, हितेन्द्र सोलंकी सहित पार्टी के जिला पदाधिकारी उपस्थित थे।



‘‘आम आदमी’’ के साथ धोखा और छलावा कर रही है आम आदमी पार्टी
Our Correspondent :23 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व सांसद श्री रघुनंदन शर्मा ने कहा कि प्रारंभ से ही आम आदमी पार्टी जिन मुद्दो को लेकर जनता के बीच गई थी अब उन्हीं मुद्दो से एक-एक कर मुकर रही है। आप ने बिजली, पानी की दरों में जो छूट देने की बात कही है उनमें भी बहुत पेंच सामने आ रहे है। बिजली में छूट देने की बात में सब्सिडी और 700 लीटर पानी मुफ्त देने की बात में 700 से अधिक पानी खर्च करने पर पूरा पैसा वसूले जाने की बात है। आप पार्टी ने कई वर्गो के साथ धोखा किया है जिससे वह स्वयं एक्सपोज हो रही है। चुनाव पूर्व अस्थाई शिक्षकों को नियमित करने की बात कर वोट हासिल किए और अब इस मामले में चुप्पी साध ली है। हकीकत यह है कि पिछले एक महीने में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने सुशासन कम और आम आदमी को उलझाया ज्यादा है।
उन्होनें कहा कि कांगे्रस और ‘आप’ दोनों ही मिलकर आम आदमी के साथ राजनीति कर रहे है। केजरीवाल भ्रष्टाचार के जिन सबूतों के आधार पर कांगे्रस को घेर रहे थे और शीला दीक्षित को गिरफ्तार करनेे की बात कर रहे थे, अब उन्हीं भ्रष्टाचार के मामलों में सबूत मांगने की बात कर जनता को गुमराह कर रहे है। आम आदमी पार्टी ने सत्ता की चाहत के लिए उसी कांगे्रस से हाथ मिला लिया है जो भ्रष्टाचार, मंहगाई और अराजकता के आकंठ डूबी है। आम आदमी के साथ इससे बड़ा धोखा और छलावा कुछ नहीं हो सकता।
श्री रघुनंदन शर्मा ने कहा कि जब से ‘आप’ ने सरकार बनाई है, दिल्ली में सरकार ने काम कम तमाशा ज्यादा किया है। मुद्दो को सुलझाने और आम आदमी को राहत देने की बजाय पार्टी मात्र धरना प्रदर्शन कर लोगों का ध्यान भटका रही है और लोगों को कष्ट पहुंचाने का काम कर रही है। ‘आप’ के इस दोहरे चरित्र से उनके ही नेता विनोद कुमार बिन्नी, कैप्टन गोपीनाथ खुलेआम आम आदमी पार्टी की कार्यशैली की आलोचना कर वास्तविकता उजागर कर रहे है। लगातार संविधान का उपहास करना, आम आदमी के कंधे पर खड़े होकर राजनीति करना अरविन्द केजरीवाल का शगल रहा है, जिसे देश की जनता ने पहचान लिया है और जनता समझ चुकी है कि कांगे्रस से मिलकर आम आदमी पार्टी देश को अंधकार की दिशा मंे ले जाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि देश की एकता, मजबूती और विकास के लिए एकमात्र विकल्प भारतीय जनता पार्टी है, जिसने मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात एवं गोवा मंे सुशासन कर आम आदमी को राहत एवं विकास से जोड़ा है एवं नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत को विकसित राष्ट्रों की श्रेणी में लाने का अभिनव कार्य करेगी।



प्रदेश चुनाव समिति की बैठक 24 जनवरी को भोपाल में
Our Correspondent :23 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी प्रदेश चुनाव समिति की बैठक 24 जनवरी को प्रातः 10.30 बजे प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल उपाध्याय भोपाल में आहूत की गयी है।
बैठक में पार्टी की वरिष्ठ नेत्री एवं लोकसभा नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज, राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी श्री अनंत कुमार का मार्गदर्शन प्राप्त होगा।



युवा मोर्चा 23 जनवरी को रक्तदान शिविर का आयोजन करेगा
Our Correspondent :23 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमरदीप मौर्य ने बताया कि मोर्चा 23 जनवरी को नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की जयंती पर प्रातः 11 बजे पं. प्रदेश कार्यालय, दीनदयाल परिसर भोपाल में रक्तदान शिविर का आयोजन करेगा।
उन्होंने बताया कि इस अवसर पर भारतीय जनता युवा मोर्चा वोटर रजिस्टेªशन रथ को प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर से रवाना करेगा, जिसके द्वारा शहर के विभिन्न स्थलों पर जाकर मतदाताओं का रजिस्टेªशन किया जायेगा।



केन्द्र सरकार आपरेशन ब्लू स्टार में विदेशी मदद की भूमिका स्पष्ट करे- राकेश
Our Correspondent :15 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं सांसद श्री राकेश सिंह ने कहा कि 1984 में हुए आॅपरेशन ‘ब्लूस्टार’ में ब्रिटेन की भूमिका स्पष्ट होनी चाहिए। उन्होनें हरमिन्दर साहिब स्वर्ण मंदिर में हुई सैन्य कार्यवाही की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि कांगे्रस ने हमेशा से साम्प्रदायिकता की राजनीति की है और आॅपरेशन ब्लूस्टार में विदेशी मदद की बात सामने आती है तो यह बेहद शर्मनाक है।
उन्होनें कहा कि भारतीय सेना के साथ अगर ब्रितानी स्पेशल एयर सर्विसेस की भूमिका की बात सच है तो कांगे्रसनीत यूपीए सरकार को पूरी घटना की सच्चाई देश के समक्ष रखनी चाहिए। डॉ. मनमोहन सिंह से इस मामलें में ज्यादा अपेक्षाएं है, क्योंकि वे 1984 की घटनाओं से पीड़ित वर्ग की पीड़ा का अहसास कर चुके है। साम्प्रदायिकता से लड़ने की आड़ में साम्प्रदायिकता का सहारा लिया है। आॅपरेशन ब्लूस्टार से सिक्ख समाज के कई परिवार प्रभावित हुए थे और घटना की 30वीं वर्षगांठ के दौरान ब्रिटेन की भूमिका से विश्व में सिक्ख समाज के कई परिवार पुनः आहत होंगे और ब्रिटेन की संलिप्तता इस मामलें में पाई जाती है तो भारत-ब्रिटेन के संबंधों पर असर होना स्वाभाविक है। अतः कांगे्रस को पूरी घटना की जिम्मेदारी लेते हुए सच्चाई सिलसिलेवार देश की जनता के सामने रखना चाहिए और आॅपरेशन ब्लूस्टार के लिए सिक्ख समाज से पुनः माफी मांगनी चाहिए।
श्री राकेश सिंह ने कहा कि आजादी के बाद कांगे्रस ने साम्प्रदायिकता को परवान चढ़ाकर राजनीति की और सरकार बनाई है। श्री सिंह ने कहा कि कांगे्रस ने पंजाब में अकाली दल की बढ़त रोकने के लिए बिन्डरावाले को प्रोत्साहन दिया, जो बाद में कांगे्रस के लिए भस्मासुर साबित हुए। अपने संकुचित लाभ के लिए कांगे्रस ने नीति और नैतिकता को तिलांजलि दी है।



शिंदे की रहम दिली संवेदना नहीं दिखावा है गृहमंत्री इस्तीफा दें- सिसोदिया
Our Correspondent :15 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विजेन्द्रसिंह सिसोदिया ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केन्द्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने आतंकवाद के आरोप में जेलों में बंद युवकों के मामलों की समीक्षा करने और अल्पसंख्यक वर्ग के युवकों को राहत दिए जाने के लिए सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र भेजकर एक वर्ग विशेषके प्रति रहम दिली कांग्रेस का राजनैतिक हथकंडा बताया है। इसमें संवेदना नहीं तुष्टीकरण का सार्वजनिक प्रदर्शन है। इस कागजी संवेदना ने जहां अन्य वर्गो के जख्मों पर नमक छिड़का है। वहीं भारतीय राजनैतिक परिदृश्य को प्रदूषित किया है।
विजेन्द्रसिंह सिसोदिया ने कहा कि आतंकवाद का कोई मजहब नहीं होता। ऐसे में अल्पसंख्यकों को राहत देने की बात कहकर शिंदे साहब न केवल अल्पसंख्यकों को चिन्हित कर अपमानित किया है अपितु उन्हें समाज की मुख्यधारा से अलग दिखाकर अलगाववाद को परवान चढाने का दुष्प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने ऐसा कहकर देश के बहुसंख्यक समुदाय की भावनाओं को आहत किया है। इससे साबित हो गया है कि कांग्रेस का असल मकसद राष्ट्रवादी शक्तियों को अपमानित और प्रताडित करना रह गया है। साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को वर्षो से निरपराध होते हुए कडी धाराएं लगाकर प्रताडित किया जा रहा है। हर अदालत में उन्हें क्लीनचिट दी जाती रही लेकिन बार बार कल्पित आरोप लगाकर उन्हें गंभीर बीमारी के बावजूद कोई राहत मिले यह कांग्रेस को मंजूर रही है। आने वाले लोकसभा चुनाव में जनता कांग्रेस के तुष्टीकरण की पोल खोलेगी और दंडित करेगी।
उन्होंने कहा कि केन्द्रीय गृहमंत्री देश की आतंरिक सुरक्षा मजबूत करने के बजाए गैर जिम्मेदाराना रवैया अपना रहे है। आईपीएल मैचों के दौरान दाउद के करीबी सट्टेबाज की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस के कार्यो में हस्तक्षेप इसका प्रमाण है। साथ ही दाउद इब्राहिम की गिरफ्तारी को लेकर गृहमंत्री द्वारा दिए गए बयानों पर भी संदेह उत्पन्न होता है, क्योंकि पूर्व गृह सचिव आरके सिंह पहले ही कह चुके है कि अमेरिका, भारत के इस मामले में कोई हस्तक्षेप नहीं करेगा, इसलिए गृहमंत्री को दाउद इब्राहिम की गिरफ्तारी के मामले और झूठी बयानबाजी की पूरी सच्चाई देश के सामने रखना चाहिए और देश की जनता को लगातार गुमराह करने, आतंरिक सुरक्षा मामलों में लिए गए लचर निर्णयों और दिल्ली, मुंबई जैसे महानगर की पुलिस के मामले में हस्तक्षेप करने के आधार पर अपने पद से तत्काल इस्तीफा देना चाहिए।



प्रदेश में जनता का सुकून कांगे्रस को रास नहीं आ रहा है
Our Correspondent :15 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कांगे्रस उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह के बयान को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि गंभीर मुद्दो पर हल्की-फुल्की चर्चा करके कांगे्रस अपनी उथली मानसिकता का सबूत देती है। आओं बचाएं मध्यप्रदेश यात्रा निकालने के पहले कांगे्रस को खुद अपनी पार्टी और संगठन के वजूद को सलामत रखने की चिंता करनी चाहिए। क्योंकि अन्तर्कलह में डूबी कांगे्रस को बाहरी दुशमन की आवश्यकता नहीं रही है। अंदरूनी संघर्ष में व्यस्त कांगे्रसी मध्यप्रदेश में तीसरी बार शर्मनाक पराजय के बाद भी कांगे्रस की बिगड़ती सेहत का मर्ज नहीं समझ पा रहे है और अपनी ढपली-अपना राग आलाप कर अच्छी बातों को सुनने का साहस नहीं जुटा पा रहे है।
डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि कांगे्रस बचाओं मध्यप्रदेश यात्रा निकालकर आखिल क्या करना चाहती है। उसने 10 वर्षो के शासन में सड़कों को गढ़ढो में तब्दील कर दिया था। जनता को बिजली कटौती का उपहार देकर चिमनी युग में पहुंचा दिया था। लक्ष्मण सिंह को याद होगा कि उनके मुख्यमंत्री का दावा था कि चुनाव विकास से नहीं तिकड़मों से जीतेे जाते है, उन्होनें तिकड़मे की। गांवो में अगड़ो और पिछड़ों मंे यादवी संघर्ष छेड़ दिया, जिससे कई गांवो पर सामूहिक जुर्माना तक थोपा गया। उन्होनें अनुसूचित जाति के उद्धार के लिए सम्मेलन बुलाकर प्रस्ताव पारित कराया कि अनुसूचित जाति का उद्धार हिन्दुत्व के अंचल में बने रहने में नहीं है। लक्ष्मण सिंह को स्पष्ट करना चाहिए कि क्या उन्हें गांवो में चौबीस घंटे बिजली, जीरों प्रतिशत ब्याज पर कर्ज, समर्थन मूल्य पर 150 रू. बोनस रास नहीं आ रहा है ?



भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति में सीएम और प्रदेश अध्यक्ष का अभिनंदन होगा
Our Correspondent :15 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की अगली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष नरेन्द्रसिंह तोमर का अभिनंदन किया जायेगा। बैठक 28 जनवरी को भोपाल में प्रातः 11 बजे आरंभ होगी जिसका उदघाटन मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान करेंगे।
प्रदेश अध्यक्ष श्री नरेन्द्रसिंह तोमर, राष्ट्रीय सचिव डॉ. सुधा मलैया, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन, मोर्चा प्रभारी माया सिंह और चुनाव अभियान प्रभारी श्री अनिल माधव दवे, संबोधित करेंगे। बैठक की अध्यक्षता लता वानखेडे करेगी। मोर्चा की प्रदेश महामंत्री भारती अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में प्रदेश के सभी 55 जिलों की अध्यक्ष, महामंत्री, विधानसभा क्षेत्र प्रभारी, महिला विधायक, सांसद बहनों सहित करीब 550 बहनें भाग लेंगी। बैठक का समापन संध्याकालीन सत्र में वरिष्ठ नेत्री एवं लोकसभा नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज करेगी। सुमित्रा महाजन को भी विशेष रूप से बैठक में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है।
भारती अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश में तीसरी बार सरकार के गठन के उपलक्ष्य में नवनिर्वाचित महिला विधायक बहनों, मंत्री कुसुम मेहदेले, माया सिंह, यशोधराजे सिंधिया का शाल श्रीफल भेंटकर अभिनंदन किया जायेगा। बताया गया है कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए मिशन 29 को सफल बनाने पर विस्तार से चर्चा की जायेगी और मोर्चा की आगामी कार्ययोजना पर विस्तार से विचार विमर्श किया जायेगा।



55 संगठनात्मक जिलों में 16 जनवरी को प्रस्तावित जिला बैठक हेतु जिला प्रभारी घोषित
Our Correspondent :14 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने 16 जनवरी को प्रदेष के 55 संगठनात्मक जिला स्तर पर प्रस्तावित जिला बैठक हेतु जिला प्रभारी घोषित किया है। ग्वालियर नगर एवं ग्रामीण नरेन्द्रसिंह तोमर, ग्वालियर ग्रामीण माया सिंह, सतना सुधा मलैया, इंदौर नगर एवं ग्रामीण अरविन्द मेनन, सुमित्रा महाजन, श्योपुर विवेक शेजवलकर, मुरैना वेदप्रकाष शर्मा, छिंदवाडा फग्गनसिंह कुलस्ते, होषंगाबाद रामेष्वर शर्मा, भिण्ड अनूप मिश्रा, जबलपुर नगर एवं ग्रामीण डॉ. सत्यनारायण जटिया, राकेष सिंह, खण्डवा कृष्णमुरारी मोघे, नंदकुमारसिंह चौहान, दतिया बंषीलाल गुर्जर, षिवपुरी अरविन्द सिंह भदौरिया, गुना लता वानखेड़े, अषोकनगर अरविन्द कोवठेकर, सागर अजय विष्नोई, टीकमगढ़ वीरेन्द्र खटीक, छतरपुर सुधा जैन, दमोह प्रहलाद पटेल, पन्ना जितेन्द्र सिंह बुन्देला, गणेष सिंह, सीधी केषव पाण्डे, सिंगरौली शरतेन्दु तिवारी, शहडोल गिरीष द्विवेदी, अनुपपुर अनुपम अनुराग अवस्थी, उमरिया सुनील जैन, कटनी नीता पटैरिया, डिण्डौरी लल्लू सिंह, बालाघाट अनिल शर्मा, सिवनी सुरेष देषपाण्डे, नरसिंहपुर प्रभात साहू, हरदा षिव चौबे, बैतूल तपन भौमिक, भोपाल नगर एवं ग्रामीण विक्रम वर्मा, रायसेन अनिल माधव दवे, विदिषा विष्वास सारंग, सीहोर कैलाष सारंग, राजगढ़ विजेन्द्रसिंह सिसोदिया, बुरहानपुर चन्द्रकांत गुप्ता, खरगौन राजेष डोंगरे, अलीराजपुर अमरदीप मौर्य, झाबुआ चेतन्य काष्यप, धार बाबूसिंह रघुवंषी, उज्जैन नगर एवं ग्रामीण मेघराज जैन, शाजापुर एवं आगर तेजबहादुर सिंह, देवास अंजू माखीजा, रतलाम दिलीप सिंह भूरिया, मंदसौर रघुनंदन शर्मा और नीमच जगदीष अग्रवाल को घोषित किया है।p>



29 लोकसभा क्षेत्र के पालक, प्रभारी एवं सह प्रभारी घोषित
Our Correspondent :14 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेष अध्यक्ष एवं सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने आज प्रदेष के 29 लोकसभा क्षेत्र के पालक, प्रभारी एवं सह प्रभारियों की घोषणा की है। मुरैना दुर्गालाल विजय पालक, केदार सिंह यादव प्रभारी, भिण्ड केषवसिंह भदौरिया पालक, अवधेष नायक प्रभारी, ग्वालियर ध्यानेन्द्र सिंह पालक, कुलवीर भारद्वाज प्रभारी एवं वी के गुप्ता सह प्रभारी, गुना राधेष्याम पारिख पालक, नरेन्द्र बिरथरे प्रभारी एव गोविंद राठी सह प्रभारी एवं ओमप्रकाष चौधरी सह प्रभारी, सागर सुधा जैन पालक, संजय बापट प्रभारी, टीकमगढ़ उमेष शुक्ला पालक, के.के. श्रीवास्तव प्रभारी, अनिल पाण्डेय सह प्रभारी, दमोह गंगाराम पटेल पालक, भानू राणा प्रभारी एवं राजेंद्र गुरू सहप्रभारी, खुजराहो जयप्रकाष चतुर्वेदी पालक, धुवप्रताप सिंह प्रभारी एवं विजय बहादुर बुंदेला सह प्रभारी, सतना प्रभाकर सिंह पालक, रामदास मिश्रा प्रभारी, रीवा केषव पाण्डेय पालक, विद्या प्रकाष श्रीवास्तव प्रभारी एवं रामसिंह पटेल सहप्रभारी, सीधी जगन्नाथ सिंह पालक, राजेष मिश्रा प्रभारी, शहडोल लल्लूसिंह पालक, अनुपम अनुराग अवस्थी प्रभारी एवं अनिल गुप्ता सह प्रभारी घोषित किया है। उन्होंने जबलपुर भगवतीधर वाजपेयी पालक, शरद जैन प्रभारी एवं सदानंद गोडबोले एवं भारतसिंह यादव सह प्रभारी, मंडला टी एस मिश्रा पालक, रूचिराम गुरवानी प्रभारी एवं ओमप्रकाष धुर्वे, भुवन अवधिया सह प्रभारी, बालाघाट रमेष रंगलानी पालक, नीता पटैरिया प्रभारी, छिंदवाड़ा रमेष दुबे पालक, कन्हईराम रघुवंषी प्रभारी एवं नरेन्द्र राजू परमार सह प्रभारी, होषंगाबाद षिव चौबे पालक, हरिषंकर जायसवाल प्रभारी एवं विरेन्द्र फौजदार सहप्रभारी, विदिषा गुरूप्रसाद शर्मा पालक, रामकिषन सिंह चौहान प्रभारी, भोपाल सुरेन्द्रनाथ ंिसह पालक, ओम यादव प्रभारी, राजगढ़ विजेन्द्र सिंह सिसोदिया पालक, रोडमल नागर प्रभारी, देवास नेमीचंद्र जैन पालक, नंदकिषोर पाटीदार प्रभारी एवं करण सिंह यादव सह प्रभारी, उज्जैन बाबूलाल जैन पालक, डॉ तेजबहादुर ंिसह प्रभारी एवं राजेष परमान सह प्रभारी, मंदसौर कैलाष चावला पालक, मदनलाल राठौर प्रभारी एवं दिलीप सिंह परिहार सहप्रभारी, रतलाम ईष्वरलाल पाटीदार पालक, किषोर शाह प्रभारी, मनोहर सेठिया सह प्रभारी, धार भंवरसिंह शेखावत पालक, अषोक जैन प्रभारी, डॉ. राज बरफा सह प्रभारी, इंदौर कैलाष पाटीदार पालक, मधु वर्मा प्रभारी, देवराजसिंह परिहार सह प्रभारी, खरगौन राय सिंह राठौर पालक, सोहन माहेष्वरी प्रभारी, राजेन्द्र यादव सह प्रभारी, खण्डवा राजेष डोंगरे पालक, दादाराव महाजन प्रभारी, कैलाष पाटीदार सह प्रभारी, बैतूल जितेन्द्र कपूर पालक, अलकेष आर्य को प्रभारी घोषित किया है।



मकर संक्रान्ति, पोंगल एवं लोहड़ी आध्यात्मिक क्रांति और समृद्धि का प्रतीक
Our Correspondent :14 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर एवं प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने मकर संक्रान्ति के मांगलिक पर्व के अवसर पर जन-जन की खुशहाली, सुख-समृद्धि और वैभव की कामना की है।
श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि संक्रान्ति सूर्य आराधना का पर्व है। सूर्य-शक्ति और ऊर्जा का स्त्रोत है। संक्रान्ति को सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। यह पर्व आध्यात्मिक क्रांति का संदेश देता है। यह एक खगोलीय घटना है जो जीवन को उमंगों से भर देती है। जीव-जगत के पालन के लिए धन्य पुष्ट होता है।
लोहड़ी एवं पोंगल पर्व पर जन-जन का अभिनंदन करते हुए श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि ये त्यौहार हमारी आन्नदवादी परंपरा का प्रतीक है जो सभी को सह अस्तित्व का संदेश देते है, हम मिल-जुलकर पर्व का आनंद लेते है और राष्ट्र को समृद्धिशाली बनानें में जुटते है।

ईद मिलादुन्नवी पर शुभकामनाएं अर्पित

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर एवं प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने ईद मिलादुन्नवी के मौके पर इस्तकबाल करते हुए सभी की खुशहाली की कामना की है। उन्होंने कहा कि मिलादुन्नवी का त्यौहार मिल जुलकर मनाकर मुल्क की खुशहाली कौम के अमन चैन के लिए दुआ करेंगे।



झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ में सह संयोजक एवं सदस्य मनोनीत
Our Correspondent :14 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक चेतन सिंह ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन की सहमति से प्रकोष्ठ में मोहन विटवेकर ग्वालियर को सह संयोजक, परसराम गुर्जर मुरैना, दिनेश पाण्डे ग्वालियर को सदस्य मनोनीत किया है।



सत्ता साध्य नहीं सामाजिक परिवर्तन, राष्ट्र को सशक्त बनाने का माध्यम है
Our Correspondent :14 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने आईटी प्रकोष्ठ की प्रदेश कार्यसमिति बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि 1951 में डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी और पं. दीनदयाल उपाध्याय भारतीय जनसंघ की सथापना करते हुए कहा था कि सत्ता हमारे लिए साध्य नहीं बेहतर सामाजिक परिवर्तन का माध्यम है हमें इस दिशा में आगे बढ़ना है। सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से आम आदमी समाज के अंतिम व्यक्ति की अधिकतम सेवा करने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग को सरल बनाना है।
उन्होंने कहा कि जनवरी अंत एवं फरवरी की शुरूआत में प्रदेश स्तर पर सूचना प्रौद्योगिकी से संबंद्ध जिलों के कार्यकर्ताओं की एक कार्यशाला और सम्मेलन भोपाल में आयोजि किया जायेगा। जिसमें सूचना प्रौद्योगिकी के सामान्यीकरण पर विस्तार से विचार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि हर जिले में सूचना प्रौद्योगिकी की एक कार्यशाला भी आयोजित की जायेगी, जिसमें पार्टी के जिलाध्यक्ष, मोर्चा प्रकोष्ठ पदाधिकारी, कार्यकर्ता और इस प्रौद्योगिकी में रूचि रखने वाले युवकों को आमंत्रित किया जायेगा। हमारा उद्देश्य विज्ञान का जनहित में व्यापक उपयोग करना समय और शक्ति का नियोजन कर विज्ञान का लाभ अधिक से अधिक लोगों को सुनिश्चित करना है।
नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि युग परिवर्तन के साथ हमें विज्ञान के माध्यमों को अपनाना होगा और विश्व के साथ कदम से कदम बढाने के लिए अपना दिमाग और जेहन को खुला रखना होगा। पार्टी और जनता के समस्या के समाधान में इस विद्या का कितना उपयोग हो सकता है यह देखना होगा। विधानसभा चुनाव में सूचना प्रौद्योगिकी प्रकोष्ठ ने महत्वपूर्ण कार्य किया है और मिशन 2013 में जो सफलता मिली है उसमें आईटी सेल की भूमिका को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है। उन्होंने आईटी प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विकास बोन्द्रिया और उनकी टीम को बधाई दी।
श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि लोकसभा चुनाव में हमें मध्यप्रदेश में मिशन 29 को सफल बनाने के लिए हर संसदीय क्षेत्र में एक आईटी कार्यकर्ता तैनात करना है जो प्रत्याशी के साथ छाया की तरह रहेगा और अद्यतन सूचनाएं और जानकारी उपलब्ध करायेगा। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में आईटी के उपयोग के लिए पार्टी के स्तर पर अधोसंरचना के विकास के लिए सभी प्रयास किए जायेंगे कोर कसर नहीं छोडी जायेगी। जनवरी-फरवरी में होने वाले प्रदेश स्तरीय सम्मेलन में 2 सत्र होंगे जिनको दिल्ली से भी विशेषज्ञ संबोधित करेंगे। पहले सत्र में प्रेजेन्टेशन दिया जायेगा और दूसरा सत्र मार्गदर्शन के लिए खुला रहेगा।
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन ने आईटी प्रकोष्ठ की प्रदेश कार्यसमिति बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी ने ज्ञान-विज्ञान के क्षेत्र में अभूतपूर्व क्रांति ला दी है। हमें आईटी की सभी संभावनाओं का दोहन राजनेताओं के व्यक्तित्व के विकास में करना है, इसके लिए टीम भावना से जुट जायें और संसदीय क्षेत्रों में आईटी प्रकोष्ठ का नेटवर्क तैयार करें, जिससे लोकसभा चुनाव में पार्टी के विचार और दर्शन जन-जन तक बिना वक्त गवायंे भेजे जा सकें। उन्होनें कहा कि पार्टी के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी श्री नरेन्द्र मोदी का संदेश और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह तथा प्रदेश अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सिंह तोमर की उपलब्धियां जन-जन तक पहुंचाने में आईटी प्रकोष्ठ अपनी शक्ति और साधन केन्द्रित करेगा। उन्होनें कहा कि पार्टी और प्रदेश की सत्ता शीर्ष से लेकर ग्राम-पंचायत स्तर और पार्टी के मंडल स्तर तक आईटी की विद्याओं से संबद्ध करने के लिए प्रयास करें। जिससे संगठन कीे सबसे निचली इकाई तक पार्टी की प्रेषणीयता नियमिति रूप से बनाई जा सके।
श्री अरविन्द मेनन ने कहा कि आईटी प्रकोष्ठ सभी 29 लोकसभा क्षेत्रों के लिए अलग-अलग टीम बनायेगा और विधानसभा से लेकर ग्राम-नगर केन्द्र तक परस्पर जोड़ने का प्रयास करेगा। उन्होनें कहा कि लोकसभा चुनाव की दृष्टि से पार्टी के लिए यह सबसे अनुकूल समय है। प्रदेश की जनता प्रधानमंत्री के रूप में श्री नरेन्द्र मोदी को देखना चाहती है, क्योंकि उसकी चाहत सशक्त नेतृत्व और कर्मठ व्यक्ति को प्रधानमंत्री की कुर्सी पर देखना है। जनता के उत्साह को वोटों में बदलने के लिए जिस मानसिकता की आवश्यकता है उसके विकास में आईटी प्रकोष्ठ की गतिविधियां सहायक बन सकती है।
प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक श्री विकास बोन्द्रिया ने आईटी सेल के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि बदलते परिवेश में आईटी की उपयोगिता अधिक हो गयी है। भारतीय जनता पार्टी आईटी प्रकोष्ठ में पार्टी के प्रचार प्रसार के लिए व्यवस्थात्मक, विस्तारात्मक एवं विचारात्मक तरीके से कार्य करने का निर्णय लिया है। आने वाले चुनाव में आईटी सेल सोशल मीडिया के जरिए यूपीए में 10 वर्ष के कुशासन के पटल पर रखेगी और भाजपा की योजनाएं कार्याे एवं सुशासन से लोगों को अवगत करायेगी। एक वोट एक नोट के अभियान में अब आईटी सेल एक सोशल मीडिया एकाउंट को भी जोडने का अभिनव कार्य करेगी। बैठक में संगठन महामंत्री अरविन्द मेनन के समक्ष विकास बोन्द्रिया द्वारा आईटी सेल की संभागवार एवं जिलेवार समीक्षा करायी गयी और आसन्न लोकसभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में आईटी सेल के कार्यक्रमों की रूपरेखा सुनिश्चित की गयी।
इस अवसर पर शिवराजसिंह डाबी, मधुकांत मालवीय, नीरज मिश्रा, पुष्पराज श्रीवास्तव, संजीव सेन, सचिन खरे, राजेश जोधानी, विकास सिंह, कृष्णकांत तिवारी, विजय सिंह बैस, गौरव शर्मा सहित प्रकोष्ठ के पदाधिकारी एवं जिला संयोजक उपस्थित थे।



सांस्कृतिक संवर्धन के लिए कला-संस्कृति का प्रोत्साहन भाजपा का लक्ष्य
Our Correspondent :14 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि कला और संस्कृति का उद्देश्य राष्ट्रीय सांस्कृतिक संवर्धन हो, जन-जन में राष्ट्र के प्रति उत्कृष्ट प्रेम भावना जाग्रत हो तभी कलाओं की सार्थकर्ता होगी। भारतीय जनता पार्टी का लक्ष्य है कि कला और संस्कृति के क्षेत्र में गतिशील नेतृत्व विकसित हो और कलाओं को उन्मुक्त वातावरण में विकास करने का अवसर हो।
श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि कला और संस्कृति राज-आश्रय से अपना मूल उद्देश्य प्राप्त नहीं कर सकती है इसके लिए आत्म निर्भरता की आवश्यकता है, यह तभी संभव है जब हम कला और संस्कृति के क्षेत्र में लोक-रूचि के साथ प्रामाणिकता और शास्वत सत्य को समाहित करें। भारतीय जनता पार्टी सांस्कृतिक प्रकोष्ठ की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए श्री तोमर ने हर जिलें में सांस्कृतिक गतिविधियों का विस्तार करने, विद्याओं के लिए उचित मंच सुलभ करने के लिए सक्रियता की आवश्यकता रेखांकित की। सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक श्री राजेश भदौरिया ने बैठक की अध्यक्षता की और प्रदेश के सभी संगठनात्मक 55 जिलों से आये पदाधिकारियों से परिचय कराया और जिलों में चल रही सांस्कृतिक गतिविधियों का संक्षिप्त परिचय दिया।
श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि आदिकाल से हमारे गांव में विविध विद्याओं में कला और संस्कृति विराजमान है। हमें उसे उचित अवसर और मंच देने की आवश्यकता है, जिससे हमारी कलाएं विलोपित होने से बचाई जा सकें, उन्हें सहेजकर और संभालकर रखा जा सके। जिला पदाधिकारियों से श्री तोमर ने आग्रह किया कि वे अपने स्वल्प साधनों से सुरूचिपूर्ण काव्य-गोष्ठियांे का आयोजन, नुक्कड़ नाटकों और अन्य कलाओं का आयोजन करें और जनप्रतिनिधियों में कला अभिरूचि विकसित करने का प्रयास करें। क्योंकि आज कला और संस्कृति के सामनें कई प्रकार की कठिनाईयां है और उनके साधन संकुचित होते जा रहे है। इस दिशा में हमें कला साधकों को आत्मनिर्भरता की ओर से प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। सभी जिलों में मिशन-29 की सफलता के लिए सांस्कृतिक गतिविधियों के माध्यम से जन जागरूकता पैदा करने का प्रयास करने का संकल्प लिया गया।
प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक श्री राजेश भदौरिया ने बताया कि सभी 29 संसदीय क्षेत्रों में सांस्कृतिक गतिविधियों के माध्यम से भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी के कर्मठ गतिशील व्यक्तित्व से जन-जन को अवगत कराया जायेगा। जिला पदाधिकारियों ने जिलों में चल रहीं सांस्कृतिक गतिविधियों से बैठक को अवगत कराया। इस अवसर पर सह संयोजक अभय नायक, कवि सुनील समैया, योगेश जैन सहित प्रकोष्ठ के कार्यसमिति सदस्य तथा जिला संयोजक उपस्थित थे।



कांगे्रस महासचिव अपना चेहरा देखने के बजाय आईना फोड़ रहे है- डॉ. दीपक विजयवर्गीय
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कांगे्रस महासचिव दिग्विजय सिंह के बयान को उनकी कुंठाग्रस्त मानसिकता का सबूत बताते हुए कहा कि उन्हें प्रदेश की जनता ने तीन बार खारिज करके उनकी हैसियत बता दी है। दिग्विजय सिंह को दूसरों के सिर और चेहरे देखने के बजाय अपने ही गिरहेबान में झांकने का साहस दिखाना चाहिए। अपना चेहरा आईना के देखने के बजाय दिग्विजय सिंह सिर्फ आईना फोड़ रहे है।
डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह की निरर्थक बयानबाजी सिर्फ सुखिर्याें में बने रहने का शगल है। उनकी मातृ संस्था कांगे्रस तक उनके बयानांे से थक चुकी है और विवश होकर कह चुकी है कि उनके बयानों से कांगे्रस का न तो सरोकार है और न ही उनके विचारों से सहमत है एवं कांगे्रस के प्रवक्ता जर्नादन द्विवेदी भी घोषित कर चुके है कि दिग्विजय सिंह पार्टी के प्रवक्ता नहीं है।
डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि राष्ट्रवादी संगठनों को अनावश्यक रूप से लांछित करके दिग्विजय सिंह अपने को देश के अतिवाद, अलगाववाद का संरक्षक सिद्ध करना चाहते है और मानते है कि इससे कांगे्रस के वोट बैंक में इजाफा होगा। जबकि हकीकत यह है कि देश में अल्पसंख्यक उनके बयानों से प्रभावित होनेे के बजाय अपमानित महसूस करने लगे है।



कांगे्रस महासचिव अपना चेहरा देखने के बजाय आईना फोड़ रहे है- डॉ. दीपक विजयवर्गीय
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कांगे्रस महासचिव दिग्विजय सिंह के बयान को उनकी कुंठाग्रस्त मानसिकता का सबूत बताते हुए कहा कि उन्हें प्रदेश की जनता ने तीन बार खारिज करके उनकी हैसियत बता दी है। दिग्विजय सिंह को दूसरों के सिर और चेहरे देखने के बजाय अपने ही गिरहेबान में झांकने का साहस दिखाना चाहिए। अपना चेहरा आईना के देखने के बजाय दिग्विजय सिंह सिर्फ आईना फोड़ रहे है।
डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह की निरर्थक बयानबाजी सिर्फ सुखिर्याें में बने रहने का शगल है। उनकी मातृ संस्था कांगे्रस तक उनके बयानांे से थक चुकी है और विवश होकर कह चुकी है कि उनके बयानों से कांगे्रस का न तो सरोकार है और न ही उनके विचारों से सहमत है एवं कांगे्रस के प्रवक्ता जर्नादन द्विवेदी भी घोषित कर चुके है कि दिग्विजय सिंह पार्टी के प्रवक्ता नहीं है।
डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि राष्ट्रवादी संगठनों को अनावश्यक रूप से लांछित करके दिग्विजय सिंह अपने को देश के अतिवाद, अलगाववाद का संरक्षक सिद्ध करना चाहते है और मानते है कि इससे कांगे्रस के वोट बैंक में इजाफा होगा। जबकि हकीकत यह है कि देश में अल्पसंख्यक उनके बयानों से प्रभावित होनेे के बजाय अपमानित महसूस करने लगे है।



कांगे्रस महासचिव अपना चेहरा देखने के बजाय आईना फोड़ रहे है- डॉ. दीपक विजयवर्गीय
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कांगे्रस महासचिव दिग्विजय सिंह के बयान को उनकी कुंठाग्रस्त मानसिकता का सबूत बताते हुए कहा कि उन्हें प्रदेश की जनता ने तीन बार खारिज करके उनकी हैसियत बता दी है। दिग्विजय सिंह को दूसरों के सिर और चेहरे देखने के बजाय अपने ही गिरहेबान में झांकने का साहस दिखाना चाहिए। अपना चेहरा आईना के देखने के बजाय दिग्विजय सिंह सिर्फ आईना फोड़ रहे है।
डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह की निरर्थक बयानबाजी सिर्फ सुखिर्याें में बने रहने का शगल है। उनकी मातृ संस्था कांगे्रस तक उनके बयानांे से थक चुकी है और विवश होकर कह चुकी है कि उनके बयानों से कांगे्रस का न तो सरोकार है और न ही उनके विचारों से सहमत है एवं कांगे्रस के प्रवक्ता जर्नादन द्विवेदी भी घोषित कर चुके है कि दिग्विजय सिंह पार्टी के प्रवक्ता नहीं है।
डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि राष्ट्रवादी संगठनों को अनावश्यक रूप से लांछित करके दिग्विजय सिंह अपने को देश के अतिवाद, अलगाववाद का संरक्षक सिद्ध करना चाहते है और मानते है कि इससे कांगे्रस के वोट बैंक में इजाफा होगा। जबकि हकीकत यह है कि देश में अल्पसंख्यक उनके बयानों से प्रभावित होनेे के बजाय अपमानित महसूस करने लगे है।



कांगे्रस महासचिव अपना चेहरा देखने के बजाय आईना फोड़ रहे है- डॉ. दीपक विजयवर्गीय
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कांगे्रस महासचिव दिग्विजय सिंह के बयान को उनकी कुंठाग्रस्त मानसिकता का सबूत बताते हुए कहा कि उन्हें प्रदेश की जनता ने तीन बार खारिज करके उनकी हैसियत बता दी है। दिग्विजय सिंह को दूसरों के सिर और चेहरे देखने के बजाय अपने ही गिरहेबान में झांकने का साहस दिखाना चाहिए। अपना चेहरा आईना के देखने के बजाय दिग्विजय सिंह सिर्फ आईना फोड़ रहे है।
डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह की निरर्थक बयानबाजी सिर्फ सुखिर्याें में बने रहने का शगल है। उनकी मातृ संस्था कांगे्रस तक उनके बयानांे से थक चुकी है और विवश होकर कह चुकी है कि उनके बयानों से कांगे्रस का न तो सरोकार है और न ही उनके विचारों से सहमत है एवं कांगे्रस के प्रवक्ता जर्नादन द्विवेदी भी घोषित कर चुके है कि दिग्विजय सिंह पार्टी के प्रवक्ता नहीं है।
डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि राष्ट्रवादी संगठनों को अनावश्यक रूप से लांछित करके दिग्विजय सिंह अपने को देश के अतिवाद, अलगाववाद का संरक्षक सिद्ध करना चाहते है और मानते है कि इससे कांगे्रस के वोट बैंक में इजाफा होगा। जबकि हकीकत यह है कि देश में अल्पसंख्यक उनके बयानों से प्रभावित होनेे के बजाय अपमानित महसूस करने लगे है।



कांगे्रस महासचिव अपना चेहरा देखने के बजाय आईना फोड़ रहे है- डॉ. दीपक विजयवर्गीय
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कांगे्रस महासचिव दिग्विजय सिंह के बयान को उनकी कुंठाग्रस्त मानसिकता का सबूत बताते हुए कहा कि उन्हें प्रदेश की जनता ने तीन बार खारिज करके उनकी हैसियत बता दी है। दिग्विजय सिंह को दूसरों के सिर और चेहरे देखने के बजाय अपने ही गिरहेबान में झांकने का साहस दिखाना चाहिए। अपना चेहरा आईना के देखने के बजाय दिग्विजय सिंह सिर्फ आईना फोड़ रहे है।
डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह की निरर्थक बयानबाजी सिर्फ सुखिर्याें में बने रहने का शगल है। उनकी मातृ संस्था कांगे्रस तक उनके बयानांे से थक चुकी है और विवश होकर कह चुकी है कि उनके बयानों से कांगे्रस का न तो सरोकार है और न ही उनके विचारों से सहमत है एवं कांगे्रस के प्रवक्ता जर्नादन द्विवेदी भी घोषित कर चुके है कि दिग्विजय सिंह पार्टी के प्रवक्ता नहीं है।
डॉ. विजयवर्गीय ने कहा कि राष्ट्रवादी संगठनों को अनावश्यक रूप से लांछित करके दिग्विजय सिंह अपने को देश के अतिवाद, अलगाववाद का संरक्षक सिद्ध करना चाहते है और मानते है कि इससे कांगे्रस के वोट बैंक में इजाफा होगा। जबकि हकीकत यह है कि देश में अल्पसंख्यक उनके बयानों से प्रभावित होनेे के बजाय अपमानित महसूस करने लगे है।



नेता प्रतिपक्ष सदन की मर्यादाओं का ख्याल रखें- श्री सारंग
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व विधायक श्री विश्वास सारंग ने कहा कि लोकतंत्र में सदन एक मंदिर के समान होता है, जहां जनता द्वारा चुने गये जनप्रतिनिधि जनता की सेवाओं के लिए अपना सर्वस्व अर्पण करते है। ऐसे मंदिर में अव्यवहारिक भाषा का प्रयोग सदन के नेता प्रतिपक्ष को शोभा नहीं देता। उन्होनें सदन में नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे द्वारा दिये गये बयान की निंदा करते हुए कहा कि कांगे्रस के नेता हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार से बौखलाए हुए है और अक्सर अशोभनीय टिप्पणी करने से बाज नहीं आ रहे है।
उन्होनें कहा कि पक्ष और विपक्ष को सदन के अंदर मर्यादा का पालन करना होता है। लेकिन कांगे्रस हमेशा से इस नियम की अवमानना करती आई है। उन्होनें आशा व्यक्त करते हुए कहा कि भविष्य में नेता प्रतिपक्ष सदन की मर्यादाओं का पालन करेंगे और वरिष्ठ नेताओं का सम्मान करेंगे। हाल ही में बने नेता प्रतिपक्ष को अपने वरिष्ठ नेताओं से सीखना चाहिए कि सदन की कार्यवाही में किस तरह अपने कत्र्तव्यों का निर्वाह करना चाहिए। प्रदेश की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को अपना अमूल्य आशीर्वाद दिया है और सरकार द्वारा बनाई गई जनोन्मुखी योजनाओं के लिए विपदा में सदैव सकारात्मक रूख रखना चाहिए।
श्री विश्वास सारंग ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने हमेशा लोकतंत्र और सदन की मर्यादा को ध्यान में रखकर विकास कार्य किये है और कभी भी वरिष्ठ नेताओं की अवहेलना नहीं की। लेकिन नये-नवेले नेता प्रतिपक्ष सदन के शुरूआती दिनों से ही सदन की अवमानना और मर्यादाओं को ताक पर रख रहे हैं।



युवा मोर्चा 12 जनवरी को प्रदेश के 752 संगठनात्मक मंडलों में वाहन रैलियां आयोजित करेगा- श्री मौर्य
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री अमरदीप मौर्य ने बताया कि स्वामी विवेकानंद जी की जयंती 12 जनवरी को युवा मोर्चा द्वारा प्रदेश के सभी 752 संगठनात्मक मंडलों में वाहन रैलियां आयोजित की जायेगी और स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व और कृतित्व पर केन्द्रित साहित्य प्रतियोगिताएं आयोजित की जायेगी। शुक्रवार 10 जनवरी को सभी जिलों में बैठकों का आयोजन किया गया, जिसमें वाहन रैलियों की तैयारियों का जायजा लिया गया। ये बैठकें 15 जनवरी तक सभी जिलों में आयोजित की जायेंगी। इन बैठकों में वोटर लिस्ट में नये नाम जोड़ने की पहल की जायेगी, इसके लिए मंडल स्तर पर तैयारी की जायेगी तथा नाम जोड़ने के लिए कलेक्टर कार्यालय में मंडल स्तर से संगठित रूप से की जायेगी।
श्री अमरदीप मौर्य ने बताया कि आगामी माह संसदीय क्षेत्रांतर्गत विधानसभा क्षेत्रों में नवमतदाता सम्मेलन आयोजित किये जायेंगे। इसके पूर्व गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा अभियान हस्ताक्षर आंदोलन किया जायेगा। युवा मोर्चा द्वारा जिला स्तर पर मोर्चा चाय स्टॉल भी गणतंत्र दिवस पर खोलकर आम आदमी को चाय-पान कराया जायेगा।
भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमरदीप मौर्य ने बताया कि जिले से मंडल स्तर तक कार्यक्रमों के आयोजन के लिए संभाग प्रभारियों की घोषणा कर दी गयी है। चंबल संभाग प्रभारी अभिषेक भार्गव, कुबेर सिंह गुर्जर, ग्वालियर संभाग अभिलाष पाण्डे, भानु भदौरिया, भोपाल संभाग रमेश भटेरे, ज्ञानप्रकाश गुप्ता, नर्मदापुरम संभाग आलोक अहिरवार, हितेश शुक्ला, इंदौर संभाग नरेन्द्र मरावी, विवेक शर्मा, उज्जैन संभाग मारूति शिशिर, सागर संभाग रजनीश अग्रवाल, धनंजय शर्मा, रीवा संभाग डॉ. दीपक सिंह, मिलन भार्गव, शहडोल संभाग मारूति शिशिर, गौरव रणदिवे, जबलपुर संभाग राजीव यादव, भारत पारिख को मनोनीत किया गया है।



तथाकथित धर्म निरपेक्षता दल अतिवाद के पोषक है- हिदायतुल्लाह शेख
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री हिदायतुल्लाह शेख ने कहा कि तथाकथित धर्म निरपेक्ष दलों के लिए अल्पसंख्यकों की समस्याएं अनर्थ है। क्योंकि यदि उनकी समस्याओं का समाधान हो गया तो फिर वोट बैंक नहीं रह जायेगा। कांगे्रस, सपा, राजद, डीएमके, बसपा और कम्यूनिस्टों के लिए समर्थन दफन हो जायेगा। इसलिए ये दल अल्पसंख्यकों को अपनी राजनीति का मोहरा बनाते है और अतिवाद का उन पर लेवल थोपकर उन्हें अलगाववाद का रास्ता दिखाते है।
श्री हिदायतुल्लाह शेख ने कहा कि मुज्जफरनगर दंगा पीड़ित बिना छत के ठंड में सिहर रहे है। दर्जनों मौतेें हो गयी है और सपा सरकार आधा दर्जन विमानों में फिल्मी सितारों को ढ़ोकर मौज-मस्ती कर रही है। उन्हें धर्म निरपेक्षता का असली रूप देखना है तो भारतीय जनता पार्टी को कोसने के बजाय मध्यप्रदेश आकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की संवेदनशीलता से सबक लेना चाहिए। यहां सभी को समान न्याय, समान सुरक्षा और समान अवसर सुरक्षित है। तथाकथित धर्म निरपेक्ष दलों ने अति मुस्लिमवाद को आत्मसात करने के बहुसंख्यकों को अपमानित करने की राजनीति की है जिससे समाज में शीतल संस्पर्श मिलने के बजाय वैमनस्य की आग में झुलस रहे है।



भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ द्वारा वैकल्पिक चिकित्सकों का महासम्मेलन 11 जनवरी को भोपाल में
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश सह संयोजक डॉ. अभिमन्यु सिंह ने बताया कि इलेक्ट्रो होम्योपैथ के जनक डॉ. काउंट सीज़र मेटी के जन्मदिवस 11 जनवरी को प्रातः 11 बजे भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ द्वारा हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर भोपाल में महासम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।
महासम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन, स्वास्थ्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा, प्रदेश प्रवक्ता व विधायक श्री विश्वास सारंग, प्रदेश संवाद प्रमुख डॉ. हितेष वाजपेयी सहित प्रकोष्ठ के पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। इस अवसर पर प्रदेश भर के वैकल्पिक चिकित्सक उपस्थित रहेंगे।



भाजपा किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति बैठक 2 फरवरी को भोपाल में
Our Correspondent :11 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा की एक दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक आगामी 2 फरवरी को प्रातः 9 बजे पार्टी के प्रदेश कार्यालय पं.दीनदयाल परिसर भोपाल में आहुत की गयी है। बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर एवं प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविन्द मेनन का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। बैठक की अध्यक्षता मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीलाल गुर्जर करेंगे।
श्री बंशीलाल गुर्जर ने बताया कि प्रदेश कार्यसमिति बैठक में किसान प्रहरी और सह-प्रहरियों के सम्मेलन के संदर्भ में चर्चा, आगामी लोकसभा चुनाव के संदर्भ में मंडल सम्मेलनों की रूपरेखा, मध्यप्रदेश को पुनः ‘कृषि कर्मण पुरस्कार’ प्राप्त होने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का सम्मान करने के कार्यक्रम की रूपरेखा के साथ पार्टी द्वारा घोषित आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा पर विचार-विमर्श किया जायेगा।



भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय परिषद की बैठक 18 एवं 19 जनवरी को दिल्ली में
Our Correspondent :10 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय परिषद की बैठक दो दिवसीय बैठक आगामी 18 एवं 19 जनवरी को दिल्ली में संपन्न होगी। बैठक का शुभारंभ 18 जनवरी को प्रातः 11 बजे होगा और 19 जनवरी को दोपहर 2 बजे राष्ट्रीय परिषद की बैठक का समापन होगा।
राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारी, कार्यसमिति, राष्ट्रीय परिषद के सदस्य, मोर्चे के राष्ट्रीय पदाधिकारी तथा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय संयोजक, सह-संयोजक, सासंद, विधायक, प्रदेष पदाधिकारीगण, मोर्चे के प्रदेष अध्यक्ष, महामंत्री, प्रकोष्ठ के प्रदेष संयोजक, पार्टी के जिला अध्यक्ष, महामंत्री, जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष, महापौर, नगर निगम के अध्यक्ष, परिषद दल के नेता, नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष, जिला पंचायतों के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष अपेक्षित है।



अनुशासन समिति की बैठक में 70 विधानसभा क्षेत्रों से शिकायतें प्राप्त हुई
Our Correspondent :10 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अनुशासन समिति की बैठक श्री लल्लू सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। केशव पाण्डे और अवधेश सिंह कुशवाह ने बैठक में भाग लिया और प्रकरणवार अनुशंसाएं की गयी। मध्यप्रदेश विधानसभा निर्वाचन में सांसद अथवा राष्ट्रीय परिषद से संबद्ध लोगों के संबंध में जो भी शिकायतें प्राप्त हुई वे प्रदेश समिति के अधिकार क्षेत्र में न होने के कारण उन्हें प्रदेश अध्यक्ष को अग्रिम कार्यवाही के लिए वापस कर दिया गया।
विधानसभा निर्वाचन में अनुशासन हीनता करने वाले कार्यकर्ताओं को जहां जिन परिस्थितियों में प्रदेश अध्यक्ष ने निलंबित किया था उन्हें कारण बताओ नोटिस देकर 10 दिन में जवाब तलब करने का समिति ने निर्णय किया।
विधानसभा निर्वाचन में विभिन्न जिलों से पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के रूप में कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं की शिकायतें अनुशासन समिति को प्राप्त हुई उन प्रकरणों में शिकायतकर्ताओं ने लोगों के नाम उल्लेख किया है किंतु उनका पूरा पता (रजिस्र्टड पता) नहीं होने के कारण शोकाज नोटिस देने में कठिनाई पायी गयी। शिकायतों के परिप्रेक्ष्य में शोकाज नोटिस जारी करने के लिए संबंधित जिलाध्यक्ष को कहा गया है जो अपने माध्यम से शोकाज नोटिस देकर 10 दिन में जवाब तलब कर भेजेंगे।
समिति ने निर्णय किया कि शोकाज नोटिस तामिल होने के बाद निर्धारित समय में यदि संबंधित कार्यकर्ता द्वारा जवाब नहीं दिया जाता है तो अनुशासन समिति को उसके विरूद्ध एकतरफा कार्यवाही करने और निष्कासन करने की स्वतंत्रता होगी। श्री लल्लू सिंह ने बताया कि 70 विधानसभा क्षेत्रों से जिनमें वे क्षेत्र भी शामिल है जिनमें पार्टी प्रत्याशी की विजय हुई है शिकायतें प्राप्त हुई है और उन्हें पंजीबद्ध किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इन शिकायतों में प्रमुख व्यक्तियों का नाम दिया गया है। साथ में शरारत में अन्य लोग भी शामिल माने जा सकते है इनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।



नई कार्य संस्कृति से प्रदेश की तस्वीर और तकदीर बदलेगी- श्री तोमर
Our Correspondent :10 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि महामहिम राज्यपाल रामनरेश यादव ने अपने अभिभाषण से प्रदेश की साढे़ सात करोड़ जनता को उत्साहित किया है। अभिभाषण में राज्य सरकार का संकल्प बोध मुखरित हुआ है। प्रदेश में जो अभिनव कर्म संस्कृति विकसित होगी उसमें देश के आम आदमी और आने वाली पीढी के लिए बहुलता और समृद्धि का द्वार खुलेगा। प्रदेश के सभी वर्गो के कल्याण के द्वार उन्मुक्त होंगे। प्रदेश में खेती लाभ का धंधा बनेगा। हर खेत को पानी, बिजली सड़क सुनिश्चित होगी। हर हाथ को काम देने के लिए कौशल प्रशिक्षण और हुनर सिखाने के लिए केन्द्र खोलने की परियोजना से प्रदेश में रोजगार के अवसरों में वृद्धि होगी। नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि राज्यपाल का अभिभाषण राज्य सरकार के संकल्पों का आईना सिद्ध होगा और इससे मध्यप्रदेश की तस्वीर और आम आदमी की तकदीर बदलेगी।
श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि जहां केन्द्र की कांग्रेसनीत यूपीए सरकार ने कोरा वायदा कर जनता के साथ विश्वासघात किया देश को महंगाई और भ्रष्टाचार के भंवर में फंसा दिया है वहीं भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अपने इरादों को कार्यरूप में परिणत कर दिखाया। जनता ने भाजपा सरकार के संकल्पों को फलित होते देखा है। प्रदेश को कृषि में 18 प्रतिशत वृद्धि के साथ विगत वर्ष 13 प्रतिशत विकास दर अर्जित करने के लिए लगातार दूसरी बार कृषि कर्मण सम्मान मिला है। प्रदेश की विकास दर दहाई में पहंुची है। कृषि उत्पादन में मध्यप्रदेश ने पंजाब और हरियाणा की हरित क्रांति पर सवालिया निशान लगा दिया है। मध्यप्रदेश आजादी के बाद बीमारू राज्य रहा है उसे भारतीय जनता पार्टी सरकार ने बीमारू राज्य के अभिशाप से मुक्त कर विकसित राज्य के सौपान पर पहंुचा दिया है। नरेन्द्रसिंह तोमर ने सकारात्मक, दिशादर्शक अभिभाषण को उत्साहजनक बताते हुए राज्यपाल के प्रति आभार व्यक्त किया है।



मंडल और बस्ती की कार्ययोजना पर विचार किया जायेगा - श्री आर्य
Our Correspondent :10 January 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा प्रदेश के सभी 55 संगठनात्मक जिलों में 21 जनवरी को एक साथ बैठक आयोजित की जायेगी और मंडल तथा बस्ती स्तर की कार्ययोजना पर विचार करते हुए मिशन-29 की सफलता के लिए अभियान चलाया जायेगा। पार्टी के प्रदेश महामंत्री और वरिष्ठ मंत्री श्री लालसिंह आर्य ने मोर्चा की राज्य स्तरीय बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि मोर्चा 3 प्रतिशत वोटों में वृद्धि कर पार्टी के समर्थन में 51 प्रतिशत मतदान सुनिश्चित करने के लिए प्रयास करेगा। जिससे मिशन-29 की सफलता सुनिश्चित होगी। बैठक को अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय प्रभारी और पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ.सत्यनारायण जटिया, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधेश्याम आनंद, वित्त निगम के पूर्व अध्यक्ष इन्द्रेश गजभिये ने भी संबोधित किया। बैठक की अध्यक्षता मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश खटीक ने की। मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ताराचंद बावरिया ने ओमप्रकाश खटीक को बधाई देते हुए कहा कि उनके कार्यकाल में प्रदेश में दो बार पार्टी की सरकार का गठन हुआ है।
श्री लालसिंह आर्य ने कहा कि अनुसूचित जाति मोर्चा की भूमिका की पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से सराहना की है और कहा है कि मोर्चा की विधानसभा चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका रही है, जिससे अनुसूचित जाति में पार्टी का जनाधार बढ़ा है। प्रदेश में अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित 35 सीटों मेंे से 28 पर पार्टी की विजय हुई है। उन्होनें कहा कि राज्य सरकार ने पहली कक्षा में प्रवेश के साथ जाति प्रमाण पत्र बनानें और इसका कम्प्यूटरीकरण करने का निर्णय लेकर जाति प्रमाण पत्र को लेकर उत्पन्न हुई समस्या का सकारात्मक समाधान किया है, साथ ही जो अनुसूचित जाति के छात्र शहरों में किराये का मकान लेकर पढ़ते है उन्हें छात्रावास जैसी सुविधा देने का भी निर्णय लिया गया है। इस निर्णय के लिए अनुसूचित जाति मोर्चा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का उनकी धन्यवाद यात्रा में अभिनंदन करेगा।

बस्ती प्रमुख का मनोनयन पूर्ण कर मिशन-29 में जुटें- डॉ.सत्यनारायण जटिया

डॉ. सत्यनारायण जटिया ने मोर्चा की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के 752 मंडलों की बैठकों में बस्तियों के प्रमुख नामित करने का कार्य लक्ष्य के साथ पूर्ण करें। बस्ती अनुसूचित जाति मोर्चा के हक में संचालित कार्यक्रमों का सत्यापन करेंगे। उन्होनें 14 फरवरी को मंडल स्तर पर रविदास जयंती मनाने की कार्ययोजना की तैयारियों की समीक्षा की। रविदास जयंती के आयोजन में पार्टी जुटेगी और कमान मोर्चा संभालेगा। बैठक में ‘स्टेच्यू आॅफ यूनिटी’ के अगले अभियान की तैयारी में लोहा और खेत की मिट्टी संग्रहण की कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा की गयी और 11 फरवरी को पं. दीनदयाल उपाध्याय के बलिदान दिवस पर समर्पण राशि सौंपने की तैयारियों पर भी विचार किया गया।



नया वर्ष प्रदेशवासियों के जीवन में सुखद विहान लायेगा - नरेन्द्रसिंह तोमर
Our Correspondent :30 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नरेन्द्रसिंह तोमर, प्रदेश संगठन महामंत्री अरविन्द मेनन ने नववर्ष के अवसर पर प्रदेश के जन जन और पार्टी कार्यकर्ताओं का अभिनंदन करते हुए उनकी सुख, समृद्ध और स्वस्थ जीवन की कामना की है। नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि वर्ष 2014 सभी के जीवन में नया विहान लायेगा। प्रदेश का जनजीवन खुशहाली की दिशा में नई करवट लेगा।नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि वर्ष 2013 का वर्ष व्यतीत हो रहा है। महंगाई ने आम आदमी का सुकून छीना है, लेकिन आने वाला वर्ष देश के राजनैतिक परिवर्तन की दिशा तय करेगा और देश को मौजूदा समस्याओं से निजात दिलाने के लिए राजनैतिक परिवर्तन का साक्षी बनेगा।



स्टेच्यू आॅफ यूनिटी अभियान के सफल संचालन के लिए अगले पखवाड़ा में प्रदेष स्तरीय कार्यशाला का भोपाल में आयोजन होगा- विनोद गोटिया
Our Correspondent :30 December 2013
भोपाल। स्टेच्यू आॅफ यूनिटी अभियान के प्रदेश संयोजक और पार्टी के प्रदेश महामंत्री विनोद गोटिया ने बताया कि स्टेच्यू आॅफ यूनिटी अभियान के ग्राम पंचायत स्तर तक सफल संचालन के लिए जनवरी माह में पहले पखवाड़े में भोपाल में प्रदेश स्तरीय कार्यशाला के आयोजन की तैयारी की जा रही है। इस कार्यषाला में प्रदेश समिति के सदस्यों, जिला संयोजकों और उनकी टीम, क्षेत्रीय संयोजक और टीम सदस्यों, अन्य सदस्यों, बुद्धिजीवी, चिंतक, साहित्य प्रेमी सहित करीब 1 हजार जनप्रतिनिधि भाग लेंगे। इस कार्यषाला में जिलों के हायर सेकेण्डरी, सेकेण्डरी स्कूलों में होने वाली निबंध प्रतियोगिता, प्रदेष की 32 हजार ग्राम पंचायतों में अभियान के संचालन पर विचार किया जायेगा और अब तक तैयारियों की समीक्षा की जायेगी। निबंध प्रतियोगिता में सरदार वल्लभभाई पटेल के व्यक्तित्व और कृतित्व पर केन्द्रित विषय होगा। इसके लिए केन्द्रीय कार्यालय से सामग्री प्राप्त होगी। विद्यालयों में शरदकालीन अवकाष के बाद निबंध प्रतियोगिता की तैयारी आरंभ हो जायेगी। विनोद गोटिया ने बताया कि स्टेच्यू आॅफ यूनिटी अभियान के तहत प्रदेश की सभी 32 हजार ग्राम पंचायतों में गांव से लौहा उपकरण संग्रह, मिट्टी संग्रह और याचिका पर हस्ताक्षर संग्रह के लिए मंजूषाएं प्राप्त होगी। इसी मंजूशा (पेटी) में गांवों की मिट्टी शीशी में जमा की जायेगी। लौहा अंश पेटी में संग्रहित किया जायेगा। याचिका पर ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों के (कपड़ानुमा याचिका पत्र) हस्ताक्षर लिए जायेंगे। गांवों की पंचायत प्रतिनिधियों के फोटो समूह भी लिए जायेंगे जो कोलाज में समन्वित होंगे और यह दुनिया का सबसे बडा कोलाज होगा।गोटिया ने कहा कि इसी समूची कवायत का उद्देश्य देश की जनता में भावनात्मक एकता की भावना बलवती करना और भावनात्मक एकता के शिल्पी सरदार वल्लभभाई पटेल के जीवन के अनकहे पहलुओं को मौजूदा और आने वाली पीढी के समक्ष सम्मान सहित प्रस्तुत करना सरदार पटेल का भारत के एकीकरण में ऐतिहासिक योगदान रहा है। हमें उनके सपनों को साकार करते हुए एक भारत श्रेष्ठ भारत के नारे को चरितार्थ करना है।



किसानों की ऋणग्रस्तता का अध्ययन कर सकारात्मक पहल से खेती की तस्वीर बदलेगी- विजेन्द्रसिंह सिसौदिया
Our Correspondent :30 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने कहा कि एक ओर जहां भारत सरकार ने वाली सम्मेलन में जीत का भ्रम पालकर देष की सीमाएं खाद्यान्न के आयात के लिए खोलने का मन बना लिया है जिससे बजट घाटा में इजाफा होना तय हो गया है। इससे देश का किसान हतोत्साहित होगा, वहीं मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान के अथक परिश्रम से राज्य सरकार ने कृषि क्षेत्र में विकास को साल दर साल दो अंको में बनाये रखने की महात्वाकांक्षी कार्ययोजना पर ठोस अमल आरंभ कर दिया है, इससे किसान की उत्पादकता बढ़ेगी और प्रदेश में कृषि का सशक्तीकरण होगा, जिससे ग्रामीण भारत की समृद्धि का सपना साकार होगा।विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने प्रदेश में कृषि के आधुनिकीकरण के लिए हर वर्ष 100 नये कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जाने को किसानों के लिए वरदान बताते हुए कहा कि इससे कृषि का उन्नयन होने से उत्पादन का प्रति हेक्टेयर नया कीर्तिमान बनेगा। एक फसली को दो फसली और दो फसली भूमि को तीन फसली बनानें के लिए सुलभ प्रौद्योगिकी और तकनीक को लोकप्रिय बनानें के प्रयासों को सराहनीय बताते हुए उन्होनें कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने आगामी पांच वर्षाें के लिए जो ‘दृष्टि-पत्र’ बनाया है उसकी कार्ययोजना पर अमल आरंभ हो चुका है। प्रदेश में किसान क्रेडिट कार्ड वितरण में हुई प्रगति से अनुमान है कि वर्ष 2018 तक प्रदेश में हर किसान के पास किसान क्रेडिट कार्ड होगा तथा बैंक शाखाओं के ऋण परामर्श केन्द्र आरंभ हो जाने से साख उत्पादन से जुढ़ जायेगी।उन्होनें कहा कि राज्य कृषि आयोग को किसान ऋण-ग्रस्तता के अध्ययन और इससे निजात दिलाने के उपायों की जांच-पड़ताल करनें का दायित्व सौंपकर राज्य सरकार ने किसानों के लिए आषा की किरण विकीर्ण कर दी है। इससे प्रदेष में खेती की तस्वीर और किसान की तकदीर बदलेगी।



मंहगाई पर साढ़े साती से नये साल का जोश ठंडा पड़ा- रामेश्वर शर्मा
Our Correspondent :30 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता, विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि दिनों-दिन केन्द्र सरकार के पेट्रोलियम उत्पादों, रसोई गैस में मूल्यवृद्धि के फरमान ने मंहगाई में तड़का लगा दिया है। मंहगाई पर साढ़े साती ने नये साल पर जशन के जोश को ठंडा कर दिया है। आम आदमी की थाली से दाल के बाद सब्जियां भी बाहर हो गयी है। प्याज ने पहले ही देशवासियों के आंसू निकाल दिये है।रामेश्वर शर्मा ने कहा कि देश की जनता ने इस साढ़े साती को उतारने का मन बना लिया है और आने वाले लोकसभा चुनाव में संकल्प के धनी भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में दिल्ली में सरकार का गठन कर मंहगाई के ग्रहण से मुक्ति पा ली जायेगी। इस साढ़े साती से निजात पाने की हर आम आदमी अकुलाहट अनिष्ठ ग्रहों से मुक्ति का संकेत है। मई में कांग्रेसनीत यूपीए सरकार की साढ़े साती समाप्त हो जायेगी और देश की सवा अरब जनता को सुकून मिलेगा।



‘स्टेच्यू आफ यूनिटी’ के लिए लौह-संग्रहण हेतु मध्य-भारत एवं मालवा प्रांत की बैठक 27 दिसंबर को
Our Correspondent :27 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी एवं गुजरात के मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की कल्पना के अनुकूल सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय एकता न्यास द्वारा सरदार वल्लभ भाई पटेल की स्मृति में बनाई जा रही प्रतिमा ‘स्टेच्यू आफ यूनिटी’ के लिए लौह-संग्रहण सहयोग समिति की बैठक 27 दिसंबर को भोपाल एवं इंदौर में आहुत की गयी है। मध्यप्रदेश के मध्य भारत और मालवाचंल प्रांत की यह बैठक क्रमशः भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर भोपाल एवं इंदौर संभागीय कार्यालय जावरा कम्पाउंड में प्रातः 11 बजे से प्रारंभ होगी। भोपाल में आयोजित बैठक में ‘स्टेच्यू आॅफ यूनिटी’ के लिए गठित प्रदेश समिति से पार्टी के प्रदेश महामंत्री विनोद गोटिया, प्रदेश प्रवक्ता विजेन्द्रसिंह सिसोदिया, अजयप्रताप ंिसह, अरविन्द भदौरिया, सत्येन्द्र भूषण, रमाकांत भार्गव, लता वानखेडे, बंशीलाल गुर्जर, इन्द्रशरण सिंह चौहान, योगेश ताम्रकार, रमेश मंदोला, प्रदीप पाण्डेय, अनुराग बंसल सहित भोपाल जिला अध्यक्ष आलोक शर्मा सम्मिलित होंगे। मध्यभारत के ‘स्टेच्यू आॅफ यूनिटी’ के संयोजक रामेश्वर शर्मा ने बताया कि बैठक में ग्राम, नगर की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए बैठक आयोजित की जा रही है। इसमें प्रदेश स्तर एवं क्षेत्रीय स्तर पर गठित की गयी समितियों को प्रभार सौंपे जायेंगे। बैठक में ‘स्टेच्यू फॉर यूनिटी’ के लिए मध्य भारत के सदस्य सत्यपाल सिकरवार मुरैना, रावदेशराज सिंह यादव अशोकनगर, राकेश जादौन ग्वालियर, मुकेश टंडन विदिशा, अवधेश नायक दतिया, जितेन्द्र जैन शिवपुरी, कौशलेन्द्र अग्रवाल गुना, अरूणा जोशी होशंगाबाद, दीपक भदौरिया ग्वालियर, मिलन भार्गव भोपाल, संजीव कांकर भिण्ड, कौशल शर्मा ग्वालियर, बृजकिशोर दंडोतिया मुरैना, भारत सिंह राजपूत होशंगाबाद, पंकज जोशी, राजेश दवे, राघवेन्द्र गौतम, अमिताभ श्रीवास्तव भोपाल से और सुशील बरूआ ग्वालियर, रामनरेश रायसेन सम्मिलित होंगे। मालवांचल प्रांत के ‘स्टेच्यू आॅफ यूनिटी’ के संयोजक राजेन्द्र पांडे ने बैठक के विषयों की जानकारी देते हुए बताया कि सरदार वल्लभ भाई पटेल की स्मृति में बनाई जा रही प्रतिमा के लिए समिति लोगों को कार्य सौंपे जायेंगे और नगर एवं ग्राम केन्द्रों पर जिम्मेदारी सुनिश्चित की जायेगी। इंदौर संभागीय कार्यालय में आयोजित बैठक में ‘स्टेच्यू फॉर यूनिटी’ के सदस्य यशपाल सिंह सिसोदिया मंदसौर, भूपेन्द्र आर्य खरगौन, गजेन्द्र पटेल, मुद्रा शास्त्री इंदौर, दिव्या गुप्ता इंदौर, बबीता परमार शाजापुर, गौरव रणदिवे इंदौर, भानू भदौरिया, ईश्वरसिंह पाटीदार, कैलाश सोनी, सोमेश्वर पटेल, राजपाल सिंह सिसोदिया उज्जैन, पृथ्वीराज सिंह देवास, जयप्रकाश पाटीदार धार, राजेन्द्र सिंह लूनेरा रतलाम, संजय जाधव, वरूण आचार्य उज्जैन, शिव मालवीय इंदौर, राजेन्द्र आर्य इंदौर तथा प्रेमाराव पुनिया रतलाम सम्मिलित होंगे।

प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में प्रदेश कार्यसमिति के एजेंडा पर विचार होगा
Our Correspondent :27 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी प्रदेश पदाधिकारियों की विशेष बैठक 6 जनवरी को शाम 5 बजे प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल उपाध्याय परिसर में आयोजित की जायेगी। श्री नरेन्द्रसिंह तोमर ने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी अनंत कुमार विशेष रूप से भाग लेंगे और मार्गदर्शन करेंगे। बैठक में पार्टी की आगामी कार्ययोजना पर चर्चा की जायेगी। आसन्न लोकसभा चुनाव की दृष्टि से बैठक महत्वपूर्ण होगी। पार्टी की 7 और 8 जनवरी 2014 को पार्टी की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक पं. दीनदयाल परिसर में संपन्न होगी और प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक में प्रदेश कार्यसमिति के एजेंडा पर विस्तार से चर्चा की जायेगी।

श्रीमती सुषमा स्वराज 29 दिसंबर को भोपाल में
Our Correspondent :27 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेत्री एवं लोकसभा नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज 29 दिसंबर को दिल्ली से एयर इंडिया के नियमित विमान से दोपहर 3.15 बजे भोपाल पहंुचेगी। आप स्थानीय कार्यक्रमों में भाग लेकर रात्रि विश्राम भोपाल में करेगी। 30 दिसंबर को आप शाम 6 बजे एयर इंडिया की नियमित विमान सेवा से भोपाल से दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगी।



अनुसूचित जाति मोर्चा की वार्ड स्तर तक संरचना का सशक्तिकरण होगा
Our Correspondent :27 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा की बैठक में मोर्चा की संरचना का शहरी और ग्रामीण अंचल में वार्ड स्तर तक सशक्त बनाने का निर्णय किया गया। जिला प्रभारी मंडल तक और मंडल प्रभारी वार्ड स्तर पर ध्यान केन्द्रित पर संरचना का विस्तार करेंगे। बैठक की अध्यक्षता करते हुए ओमप्रकाश खटीक ने लोकसभा चुनाव में परिप्रेक्ष्य में सभी जिला पदाधिकारियों, प्रभारियों को अपनी भूमिका परिभाषित करने का आग्रह किया। बैठक में रामप्रकाश वंशकार, इन्द्रेश गजभिए, राधेश्याम आनंद, राजेश खज्ञटीक, शिवलाल मकोडिया, नर्मदीबाई, रामप्रसाद चंदोरिया, इमरतलाल धार्मिक, पुष्पा राय सहित अन्य पदाधिकारियों ने अपने सुझाव दिए। बैठक में मोर्चा ने प्रदेश में भाजपा की तीसरी बार सरकार के गठन पर बधाई प्रस्ताव पारित कर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष नरेन्द्रसिंह तोमर और प्रदेश संगठन महामंत्री अरविन्द मेनन की कर्मठता की सराहना की गयी। ओमप्रकाश खटीक ने नवगठित मंत्रिमंडल में मोर्चा के दो कर्मठ सदस्यों डॉ. गौरीशंकर शेजवार और लालसिंह आर्य को शामिल किए जाने पर शिवराजसिंह चौहान और नरेन्द्रसिंह तोमर के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने भरोसा दिलाया कि लोकसभा चुनाव में अनुसूचित जाति पूरे उत्साह से भाजपा के समर्थन में वोट देगी।

आम आदमी पार्टी मध्य प्रदेश की प्रदेश स्तरीय बैठक
Our Correspondent :23 December 2013
भोपाल स्थित सोनागिरी सेक्टर 1 में संपन्न हुयी जिसमे सभी जिलों के जिला प्रतिनिधि और और मुख्य सदस्य शामिल हुए चूँकि आम आदमी पार्टी मप्र आगामी लोकसभा चुनावों में प्रदेश की जनता को एक ईमानदार विकल्प देने जा रही है जिसके सभी जिला टीमों से संवाद के बाद ये तय किया गया है कि आम आदमी पार्टी मध्य प्रदेश आगामी लोकसभा चुनावों के सम्बन्ध में 12 जनवरी से एक प्रदेशव्यापी स्वराज यात्रा निकलने जा रही है जिसमें प्रदेश सरकार और विपक्ष की नाकामियों को उजागर किया जायेगा स साथ ही साथ प्रदेश के सभी पांच जोनों में आगामी लोकसभा से संबधित टीमों का गठन किया जाएगा जिसमें बूथ स्तर से शुरू होकर सारी वस्तुस्थिति पर नजर राखी जाएगी फिलहाल आगामी लोकसभा चुनावों की तैयारियों के सम्बन्ध में सभी जिला प्रतिनिधियों को वोटर लिस्टए जिलों का मानचित्र आदि सम्पूर्ण जानकारियाँ एक ब्क् के माध्यम से उपलब्ध करा दी गयी है

नए मंत्रिमंडल के गठन के बाद मुख्यमंत्री का जीरो टालरेंस भ्रष्टाचार मिशन फेल-पूर्व नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह
Our Correspondent :23 December 2013
भोपाल। पूर्व नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जीरो टालरेंस भ्रष्टाचार मिशन नए मंत्रिमंडल के गठन के बाद फेल हो गया। मुख्यमंत्री की कथनी-करनी के इस अंतर के कारण 23 मंत्रियों में सात मंत्री दागी है। इसके साथ ही मंत्रिमंडल का गठन क्षेत्रीय दृष्टि से असंतुलित है, और कई वर्गों को इसमें उपेक्षित किया गया है।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शपथ लेने के बाद जीरो टालरेंस भ्रष्टाचार की बात कही थी। उनका यह मिशन मंत्रिमंडल के गठन के बाद उजागर हो गया। तीसरी बार फिर उनकी कथनी-करनी में अंतर दिखाई देने लगा। श्री सिंह ने कहा कि जिन सात मंत्रियों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया उनमें से चार मंत्रियों के खिलाफ लोकायुक्त में मामला दर्ज है। एक मंत्री के खिलाफ लोकायुक्त में पुलिस भर्ती में भ्रष्टाचार की जांच लंबित है। श्री सिंह ने कहा कि मामलों के साथ ही खनिज घोटाले एवं रिश्वत लेने के आरोपी भी मंत्री बनाए गए है। पूर्व नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार मिटाने और खत्म करने की मुख्यमंत्री की मंशा कितनी ईमानदार है इसकी कलई खुल गई है।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने की बात करने वाले मुख्यमंत्री ने अपने मंत्रिमंडल में जहां महिलाओं को पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं दिया, वहीं शोषित वर्ग की जीतकर आई महिलाओं को उपेक्षित किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पर सामंतवादी होने का आरोप लगाने वाली भाजपा ने अपने मंत्रिमंडल में जिन महिलाओं को शामिल किया है वे राज घराने की है। इसके साथ ही ऐसे मंत्री को मंत्रिमंडल में शामिल किया जिसने महिलाओं को सार्वजनिक रूप से अपमानित किया है। मुख्यमंत्री के कथनी-करनी का यह भी एक उदाहरण है। उन्होंने कहा कि इस मंत्रिमंडल में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़े वर्ग के साथ ही मालवा और पश्चिम निमाड़ क्षेत्रों की घोर उपेक्षा की गई है। रायसेन जिले से जहां तीन मंत्रियों ने शपथ ली वहीं मालवा और पश्चिम निमाड़ क्षेत्र की उपेक्षा की गई है। शिवराज मंत्रिमंडल में एक भी युवा चेहरे को स्थान नहीं दिया गया और चहेतों का मंत्रिमंडल बना दिया। श्री सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रिमंडल के गठन में मिले जनादेश का सम्मान नहीं किया है।

नवनियुक्त मंत्रिमंडल का गठन क्षेत्रीय संतुलन और सकारात्मक पहल का संगम - नरेन्द्रसिंह तोमर
Our Correspondent :23 December 2013
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नरेन्द्रसिंह तोमर, प्रदेश संगठन महामंत्री अरविन्द मेनन ने प्रदेश में तीसरी बार मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में मंत्रिमंडल के गठन पर बधाई देते हुए इसे प्रदेश के समग्र अंचल में क्षेत्रीय संतुलन और सकारात्मक पहल का संगम बताया है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि प्रदेश की साढे सात करोड़ जनता ने भारतीय जनता पार्टी पर जिस तरह अटूट विश्वास व्यक्त किया है और शिवराजसिंह चौहान सरकार की रीति नीतियों पर समर्थन की मोहर लगायी है हमें प्रदेश के आमजन की आशाओं, उम्मीदों पर खरे उतरने की चुनौती है। नवगठित मंत्रिमंडल जनआकांक्षाओं को पूर्ण करने में सफल होगा।
नरेन्द्रसिंह तोमर ने कहा कि आने वाले लोकसभा चुनाव हमारे लिए एक महान अवसर और चुनौती है जिस पर मंत्रिमंडल को खरा उतरना होगा। प्रदेश की जनता को सामाजिक न्याय और सुरक्षा देना सर्वोपरि दायित्व है। आने वाला समय हमारे कृतित्व को वास्तविकता की कसौटी पर कसेगा जिसमें सफल होना हम सब की जवाबदेही होगी।
उन्होंने कहा कि हमारे सामने युवा वर्ग के सपने साकार करने की चुनौती है। प्रदेश में कृषि को लाभ का व्यवसाय बनाना है। प्रदेश को भूख, भय और भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलाने के कार्य में पूर्णपन से जुटना है। आने वाले दिनों में सभी प्रयास इसी दिशा में केन्द्रित करना होंगे तभी जन जन की आकांक्षाएं पूर्ण करने में सफल होंगे। भाजपा नेताओं ने प्रदेश की जनता के समर्थन के लिए आभार व्यक्त किया है।
नवनियुक्त मंत्रिमंडल के गठन पर प्रदेश संगठन महामंत्री अरविन्द मेनन ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश के सामयिक विकास एवं समृद्धि के लिए नवनियुक्त मंत्रीगण पूर्ण श्रद्धा एवं निष्ठा से कार्य करेंगे साथ ही मध्यप्रदेश के विकास को लेकर भारतीय जनता पार्टी के जनसंकल्प 2013 को धरातल पर लाने का अभिनव कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय संतुलन के आधार पर नवनियुक्त मंत्रिमंडल जनता की जनआकांक्षाओं को पूर्ण करेगा।

23 दिसंबर को प्रदेश के समस्त जिला मुख्यालयों में संपन्न होगा ‘रन फॉर यूनिटी’ का आयोजन- विनोद गोटिया
Our Correspondent :23 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री और ‘रन फॉर यूनिटी’ प्रदेश आयोजन समिति के संयोजक विनोद गोटिया ने कहा कि लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा (स्टेच्यू आॅफ यूनिटी) के लिए भारतीय जनता पार्टी द्वारा आयोजित ‘‘रन फॉर यूनिटी’’ का भव्य कार्यक्रम 23 दिसंबर को प्रदेश के समस्त जिला मुख्यालयों पर आयोजित किया जायेगा। मध्यप्रदेश के 51 जिला मुख्यालयों में इस आयोजन की सफलता के लिए युवा मोर्चा और पार्टी के पदाधिकारीगण विशेष रूप से जुटे हुए है।
‘‘रन फॉर यूनिटी’’ कार्यक्रम करने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता, पदाधिकारी, सांसद, विधायक और जनप्रनिधि जिला मुख्यालयों पर पहुंचेंगे और 23 दिसंबर को ‘‘रन फॉर यूनिटी’’ का संयोजन करेंगे। ‘‘रन फॉर यूनिटी’’ कार्यक्रम के पश्चात विद्यालयों में निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किये जाने की तैयारियां की जा रही है। सभी जिलों में ‘स्टेच्यू आॅफ यूनिटी’ परियोजना से जुड़े आयोजनों के सफल संचालन के लिए जिलों में संयोजन समितियों का गठन किया जा रहा है।
पार्टी की वरिष्ठ नेत्री एवं लोकसभा नेता प्रतिपक्ष श्रीमती सुषमा स्वराज भोपाल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, सांसद प्रभात झा ग्वालियर, प्रदेश अध्यक्ष, सांसद नरेन्द्रसिंह तोमर मुरैना, प्रदेश महामंत्री विनोद गोटिया जबलपुर, राजेन्द्र शुक्ला रीवा, प्रदेश मंत्री गणेश सिंह सतना, गोपाल भार्गव सागर एवं प्रदेश उपाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह छतरपुर में दौड़ का नेतृत्व करेंगे। प्रदेश महामंत्री नंदकुमार सिंह चौहान खंडवा, डॉ. नरोत्तम मिश्रा दतिया में कार्यक्रम में भाग लेंगे। प्रदेश उपाध्यक्ष यशोधरा राजे सिंधिया, प्रदेश महामंत्री माया सिंह, भी ‘‘रन फॉर यूनिटी’’ कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आमंत्रित की गयी है।

भारतीय जनता मजदूर मोर्चा की राष्ट्रीय बैठक का उद्घाटन राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह 23 दिसंबर को करेंगे
Our Correspondent :23 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता मजदूर मोर्चा की राष्ट्रीय बैठक का 23 दिसंबर 2013 को दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के केन्द्रीय कार्यालय, 11 अशोक रोड़, दिल्ली में कुशाभाऊ ठाकरे सभागार में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह प्रातः 10 बजे उद्घाटन करेंगे। बैठक की अध्यक्षता मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रहलाद पटेल करेंगे। एक दिवसीय बैठक का समापन संध्या समय पार्टी की वरिष्ठ नेत्री और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज करेगी।
भारतीय जनता मजदूर मोर्चा के गठन के पश्चात् यह प्रथम राष्ट्रीय बैठक होगी। जिसमें मोर्चा के राष्ट्रीय प्रभारी मुख्तार अब्बास नकवी मार्गदर्शन करेंगे। मध्यप्रदेश से राष्ट्रीय बैठक में शंकरलाल तिवारी, मदनलाल रांझी, अनिल नेमा, शैलेन्द्र अग्रवाल, केशव गुप्ता, आनंद कोचर, सुनील सिरोठिया, छत्रपालसिंह छत्तू, पुष्पेन्द्र सिंह, लालसिंह गुप्ता, गोपाल परमार, राजेन्द्र गुर्जर, शालिग्राम राजपूत, राजेश माथुर, अखिलेश दुबे, अजयपाल सिंह प्रतिनिधित्व करेंगे। आगामी लोकसभा चुनाव के परिपे्रक्ष्य में मोर्चा की भूमिका पर विस्तार से विचार किया जायेगा। भारतीय मजूदर संघ के सभी पूर्व पदाधिकारी, राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य भी बैठक में भाग लेंगे। पार्टी के वरिष्ठ नेता माखन सिंह चौहान बैठक में समन्वय करेंगे।

रोजगार कार्यालय नियुक्ति केंद्रों के रूप में संवारे जायेंगे- अमरदीप मौर्य
Our Correspondent :23 December 2013
भोपाल। भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमरदीप मौर्य ने कहा कि विधानसभा चुनाव-2013 में पार्टी ने युवा वर्ग के सशक्तीकरण का जो एजेंडा बनाया गया था। कमान संभालते ही राज्य सरकार ने युवा वर्ग को सामाजिक, शैक्षिक और आर्थिक रूप से समृद्ध बनाने के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम पर अमल आरंभ कर दिया। प्रदेश में रोजगार कार्यालय को प्रेस मेन्ट सेंटर्स (नियुक्ति केन्द्र) में संवारे जाने, हर वर्ष 1 लाख उद्यमी युवकों को के्रडिट गारंटी दिये जाने और जिला मुख्यालयांें पर हर उद्यमी के लिए क्रय विक्रय की व्यवस्था करने की योजना इसका सबूत है। अमरदीप मौर्य ने नये प्रगतिशील एजेंडा के क्रियान्वयन में तत्परता के लिये मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का आभार व्यक्त किया है तथा युवा साथियों को बधाई दी है।
अमरदीप मौर्य ने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक संरचना का 4 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में निर्माण और एक हजार हैक्टेयर में उन्नयन किया जा रहा है। निर्माण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिये 3 राष्ट्रीय निर्माण एवं औद्योगिक क्षेत्र को कटनी, शिवपुरी, और राजगढ़ में विकास किया जा रहा है। प्रदेश में जहां विद्यमान औद्योगीकरण विकास केन्द्रों का विश्व स्तरीय उन्नयन किया जायेगा वहीं उत्पादित माल के क्रय विक्रय के लिए विपणन सुविधाओं का प्रदेश में जिला स्तर पर विकास किया जायेगा। ग्रामीण उद्योगों, ग्रामीण विकास, शहरी विकास का एकीकरण किया जा रहा है। गांवों में 24 घंटा बिजली संपूर्ति ने गांवों में औद्योगीकरण का वातावरण बनाया है और ग्रामीण युवक इस दिशा में आगे बढ रहे है। आने वाले दिनों में घर घर में कुटीर उद्योग होंगे और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में ग्रामीण युवकों की भ्ूामिका होगी। चीन की तरह मध्यप्रदेश में नगरों और ग्रामों में औद्योगीकरण का पर्यावरण तैयार हो रहा है।

14 महीनों के उच्चतम स्तर पर पहुंची थोक महंगाई दर- प्रभात झा
Our Correspondent :20 December 2013
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद प्रभात झा ने कहा कि आलू, प्याज़ और अन्य सब्जियों की मंहगाई से थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर नवंबर माह से बढ़कर 7.52 प्रतिषत पर पहुंच गई। यह थोक मंहगाई दर का 14 माह का उच्चतम स्तर है और इसके कारण रिजर्व बांक के लिए नीतिगत ब्याज दर में कटौती करना मुश्किल होगा। 16 दिसंबर 2013 को जारी आंकड़ों के अनुसार नवंबर में सब्जियों की कीमतों में सालाना आधार पर 95.25 प्रतिषत की तेजी रही, जबकि अक्टूबर में यह तेजी 78.38 प्रतिशत थी।
उन्होंने आगे बताया कि खाद्य वर्ग की वस्तुओं के थोक मूल्य सूचकांक के आधार पर कीमतें पिछले साल नवंबर की तुलना में 19.93 प्रतिशत उंची रहीं। जबकि पिछले माह खाद्य महंगाई दर 18.19 फीसदी थी। खाद्य वर्ग में दाल, सब्जी, दूध एवं अन्य खाद्य पदार्थों की कीमतों की गणना की जाती है। प्रभात झा ने बताया कि रघुराम राजन ने 4 सितंबर को आर बी आई के नए गर्वनर का पद संभालने के बाद से महत्वपूर्ण रेट्स में दो बार बढ़ोत्तरी हो चुकी हैं। 18 दिसंबर 2013 को होने वाली आर बी आई की मॉनेरिटी पॉलिसी रिव्यू में एक बार फिर रेपो रेट के 0.25 प्रतिशत तक बढ़ने की उम्मीद की जा रही है। सरकार ने गत सितंबर में थोक मुद्रास्फीति को भी 6.46 फीसदी से संषोधित कर 7.05 फीसदी कर दिया गया है। वहीं अक्टूबर माह में थोक महंगाई दर 7 फीसदी रही थी। ऐसे में लगातार तीन माह से थोक मंहगाई दर सात फीसदी या उससे उपर बनी रही।
उन्होंने कहा कि खुदरा और थोक महंगाई में बढ़ोत्तरी को देखते हुए कर्ज महंगा होने की आषंका है। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन पहले की कह चुके हैं कि महंगाई का मौजूदा स्तर स्वीकार्य नही है। ऐसे में खुदरा और थोक महंगाई दर में लगातार बढ़ोत्तरी का असर आगामी बुधवार को मौद्रिक नीति की समीक्षा में ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी के रूप में देखने को मिल सकता है। एसबीआई के मुख्य अर्थशास्त्री सौम्यकांति घोष का कहना है कि आई बी आई की ओर से रेपो रेट में 0.25 फीसदी की वृद्धि की जा सकती है। ब्रोकेरेज हाउस नोमुरा का मानना है कि आने वाले महीनों में सब्जियों की कीमतों के कमी का असर महंगाई दर दिखने लगेगा, लेकिन खुदरा महंगाई में 9 फीसदी से नीचे आने के आसार नही हैं। इसलिए ब्याज दरें लंबे समय तक ऊँची बनी रहेगी।

शिवराज सिंह चौहान
जीवन परिचय

शिवराज सिंह चौहान वर्तमान में मध्यप्रदेश प्रांत के मुख्यमंत्री हैं। आप भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के समर्पित कार्यकर्ता हैं।
शिवराज सिंह चौहान का जन्म 5 मार्च १९५९ को हुआ। उनके पिता का नाम श्री प्रेमसिंह चौहान और माता श्रीमती सुंदरबाई चौहान हैं। उन्‍होंने भोपाल के बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर (दर्शनशास्त्र) तक स्वर्ण पदक के साथ शिक्षा प्राप्‍त की। सन् १९७५ में मॉडल हायर सेकेंडरी स्कूल के छात्रसंघ अध्यक्ष। आपात काल का विरोध किया और १९७६-७७ में भोपाल जेल में निरूद्ध रहे। अनेक जन समस्याओं के समाधान के लिए आंदोलन किए और कई बार जेल गए। सन् १९७७ से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक हैं। वर्ष १९९२ में उनका श्रीमती साधना सिंह के साथ विवाह हुआ। उनके दो पुत्र हैं। जबिक आपने आजीवन कुवाँरे रहने की पृितज्ञा ली थी ॥

राजनीतिक करियर

सन् १९७७-७८ में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के संगठन मंत्री बने। सन् १९७५ से १९८० तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के मध्य प्रदेश के संयुक्त मंत्री रहे। सन् १९८० से १९८२ तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश महासचिव, १९८२-८३ में परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारणी के सदस्य, १९८४-८५ में भारतीय जनता युवा मोर्चा, मध्य प्रदेश के संयुक्त सचिव, १९८५ से १९८८ तक महासचिव तथा १९८८ से १९९१ तक युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहे।

जनप्रतिनिधि के रूप में

श्री चौहान १९९० में पहली बार बुधनी विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने। इसके बाद १९९१ में विदिशा संसदीय क्षेत्र से पहली बार सांसद बने। श्री चौहान १९९१-९२ मे अखिल भारतीय केशरिया वाहिनी के संयोजक तथा १९९२ में अखिल भारतीय जनता युवा मोर्चा के महासचिव बने। सन् १९९२ से १९९४ तक भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महासचिव नियुक्त। सन् १९९२ से १९९६ तक मानव संसाधन विकास मंत्रालय की परामर्शदात्री समिति, १९९३ से १९९६ तक श्रम और कल्याण समिति तथा १९९४ से १९९६ तक हिन्दी सलाहकार समिति के सदस्य रहे। श्री चौहान ११ वीं लोक सभा में वर्ष १९९६ में विदिशा संसदीय क्षेत्र से पुन: सांसद चुने गये। सांसद के रूप में १९९६-९७ में नगरीय एवं ग्रामीण विकास समिति, मानव संसाधन विकास विभाग की परामर्शदात्री समिति तथा नगरीय एवं ग्रामीण विकास समिति के सदस्य रहे। श्री चौहान वर्ष १९९८ में विदिशा संसदीय क्षेत्र से ही तीसरी बार १२ वीं लोक सभा के लिए सांसद चुने गये। वह १९९८-९९ में प्राक्कलन समिति के सदस्य रहे। श्री चौहान वर्ष १९९९ में विदिशा से चौथी बार १३ वीं लोक सभा के लिये सांसद निर्वाचित हुए। वे १९९९-२००० में कृषि समिति के सदस्य तथा वर्ष १९९९-२००१ में सार्वजनिक उपक्रम समिति के सदस्य रहे। सन् २००० से २००३ तक भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे। इस दौरान वे सदन समिति (लोक सभा) के अध्यक्ष तथा भाजपा के राष्ट्रीय सचिव रहे। श्री चौहान २००० से २००४ तक संचार मंत्रालय की परामर्शदात्री समिति के सदस्य रहे। श्री शिवराज सिंह चौहान पॉचवी बार विदिशा से १४वीं लोक सभा के सदस्य निर्वाचित हुये। वह वर्ष २००४ में कृषि समिति, लाभ के पदों के विषय में गठित संयुक्त समिति के सदस्य, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव, भाजपा संसदीय बोर्ड के सचिव, केन्द्रीय चुनाव समिति के सचिव तथा नैतिकता विषय पर गठित समिति के सदस्य और लोकसभा की आवास समिति के अध्यक्ष रहे।

मुख्‍यमंत्री के रूप में

श्री चौहान वर्ष २००५ में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किये गये। श्री चौहान को २९ नवंबर २००५ को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई। प्रदेश की तेरहवीं विधानसभा के निर्वाचन में श्री चौहान ने भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक की भूमिका का बखूबी निर्वहन कर विजयश्री प्राप्त की। श्री चौहान को १० दिसंबर २००८ को भारतीय जनता पार्टी के १४३ सदस्यीय विधायक दल ने सर्वसमति से नेता चुना। श्री चौहान ने १२ दिसंबर २००८ को भोपाल के जंबूरी मैदान में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ग्रहण की।

विरोध प्रदर्शन खोल रहे भाजपा की एकता की पोल- भूरिया
Our Correspondent :08 October 2013
भोपाल। भाजपा विधायकों के खिलाफ प्रदेश कार्यालय में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कांतिलाल भूरिया और विधानसभा चुनाव मीडिया कमेटी के अध्यक्ष एवं सांसद प्रेमचंद गुड्डू ने कहा कि इससे साफ हो गया है कि पार्टी के खिलाफ असंतोष किस कदर बढ़ता जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन प्रदर्शनों ने भाजपा के पार्टी विद डिफरेंस की पोल खोल दी है।
दोनों नेताओं ने सोमवार को यहां जारी बयान में कहा कि भाजपा विधायकों के खिलाफ न केवल पार्टी में बल्कि जनता में भी भारी असंतोष है। कल तक जो विधायक दो पहिया वाहनों पर घूमते थे, वे अब महंगी कारों में घूम रहे हैं। वे जनता का कोई काम नहीं कर रहे हैं। सत्ता के मद में वे ये भूल गए हैं कि वे जनता के सेवक हैं, शासक नहीं।
कांतिलाल भूरिया ने कहा कि पार्टी के सभी बड़े नेता एक साथ हैं। वे जनता के बीच जा रहे हैं। उनका कहना था कि पार्टी के नेताओं की एकता भाजपा के नेताओं को रास नहीं आ रही है। उनका कहना था कि पार्टी के सभी बड़े नेताओं के एकमंच पर आने से कार्यकर्ताओं में उत्साह का वातावरण है और इससे भाजपा बौखलाई हुई है।भूरिया ने कहा कि कल तक कांग्रेस में असंतोष और कलह का आरोप लगाने वाले भाजपाईयों को कांग्रेस की एकता देखकर पीड़ा हो रही है , इसी कारण वे अनर्गल आरोप लगाते रह्ते हैं।
प्रेमचंद गुड्डू ने कहा कि इस चुनाव में भाजपा को पता लग जाएगा कि कांग्रेस की एकता क्या होती हैं । दोनों नेताओं ने भाजपा नेताओं को सलाह दी है कि वे पहले अपना घर संभाले फिर कांग्रेस की चिंता करें। जिस तरह से भाजपा के अधिकांश विधायकों के विरुद्ध भाजपा के स्थानीय कार्यकर्ता ही विरोध कर रहे हैं वह स्पष्ट करता है कि पूरी भारतीय जनता पार्टी इस समय जबरदस्त आतंरिक विरोधों से जूझ रही है।

भाजपा में छिड़े ‘‘गृह युद्ध’’ ने पार्टी की बहु प्रचारित एकता को किया तार-तार
Our Correspondent :08 October 2013 भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया ने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथसिंह द्वारा इंदौर और उज्जैन का दौरा अचानक रद्द किये जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि राजनाथसिंह के दौरे का इस तरह अप्रत्याशित रूप से निरस्त होना भाजपा के भीतर इन दिनों जिलों में चल रहे ‘गृह युद्ध’ की परिणति है। इंदौर में यह गृह युद्ध इन दिनों अपने चरम पर है। इंदौर में इस युद्ध के एक पक्ष का नेतृत्व इंदौर की भाजपा सांसद श्रीमती सुमित्रा महाजन कर रही हैं, तो दूसरे का उद्योग मंत्री कैलाश विजयवर्गीय। ‘‘ताई-भाई’’ के इस बहु प्रचारित गृह युद्ध में 10 साल प्रदेश में राज करने वाली भाजपा के विधायकों के खिलाफ उठे एंटी इंकम्बैंसी (सत्ता विरोध) के बवंडर घी का काम कर रहा है। सवाल यह है कि इस बवंडर और भाजपा के भीतरी गृह युद्ध के चलते राजनाथसिंह आखिर अपने कितन प्रदेश दौरे निरस्त करेंेगे ? श्री भूरिया ने कहा है कि इंदौर के एक ताई समर्थक भाजपा विधायक द्वारा आयोजित चुनरी यात्रा के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए राजनाथसिंह इंदौर पहुंचने वाले थे, लेकिन कैलाश विजयवर्गीय के गुट वाले भाजपाइयों ने कल इंदौर हवाई अड्डे पर ऐसा धमाल मचाया कि उसकी गूंज भोपाल होते हुए दिल्ली तक पहुंच गई और इंदौर की धरती पर आशंकित फजीहत से बचने के लिए मजबूर होकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को अपना महत्वपूर्ण दौरा निरस्त करना पड़ा। इस वाकये ने सैकड़ों टुकड़ों में बंटी भारतीय जनता पार्टी की भीतरी असलियत प्रदेश की जनता के सामने उजागर कर दी है और पार्टी में एकता को लेकर किये जा रहे दावों को झूठा साबित कर दिया है। प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष ने कहा है कि भाजपा के प्रादेशिक नेता यह कहते हुए नहीं थक रहे थे कि कांगे्रस में एकता नहीं है। कांगे्रस के नेता कभी एक मंच पर जनता के सामने नहीं आ सकते, लेकिन अ.भा. कांगे्रस कमेटी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी के म.प्र. दौरे के बाद कांगे्रस ने प्रदेश भर में जो परिवर्तन यात्राएं और सत्ता परिवर्तन रैलियों आयोजित की हैं, उन सब में कांगे्रस के सभी प्रादेशिक नेताओं ने जनता को एक मंच से एक स्वर में संबोधित किया है तथा कई रोड शो भी साथ-साथ किये हैं। आपने कहा है कि दरअसल कांगे्रस की एकता को नकार कर भाजपा अपने भीतर की गुटबाजी की तरफ से प्रदेश की जनता का ध्यान हटाना चाहती थी, लेकिन अपने इस निराधार अभियान में उसको मुंह की खाना पड़ी है। प्रदेश की जनता कांगे्रस की विशाल सत्ता परिवर्तन रैलियों में स्वयं अपनी आंखों देख रही है कि प्रदेश में कांगे्रस एकजुट होकर भ्रष्ट निकम्मी भाजपा सरकार को उखाड़ फेकने के लिए चुनावी समर में उतर चुकी है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि पिछले दस वर्षों में मुख्य मंत्री शिवराजसिंह चौहान, उनके मंत्रियों और विधायकों ने शिलान्यास के पत्थर लगवाने, सरकारी योजनाओं के पैसों में मनमाने भ्रष्टाचार को संरक्षण देने और सभी वर्गों के अधिकारों पर डंका डालने के अलावा ऐसा कुछ खास किया ही नहीं है, जिससे जनहित और प्रदेश हित हुआ है। मुख्य मंत्री ने विकास के सपने तो खूब दिखाये हैं, किंतु वे अखबारी विज्ञापनों और सड़क किनारे के होर्डिंगांे से नीचे उतरे ही नहीं। यही कारण रहा कि ‘‘विकास’’ के नाम पर प्रदेश और जनता के हाथ पल्ले कुछ भी नहीं पड़ा और भाजपा के नेताअेां तथा दलालों ने विकास के मामले में इतनी ऊंची छलांगें लगा डाली हैं कि आम लोग दांतों तले उंगली दबा रहे हैं। उन्होंने कहा है कि आम जनता भाजपा सरकार के दूसरे कार्यकाल के अंत में यह महसूस कर रही है कि भाजपा ने उसके साथ बड़ा छलावा किया है।

रेलयात्रा में बढ़ोत्तरी कर कांगे्रस ने फिर जनता के साथ मजाक किया- राकेश सिंह
Our Correspondent :08 October 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष, सांसद राकेश सिंह ने कहा कि कांगे्रस आये दिन आम आदमी को मिलने वाली सुविधाओं की दरों में बढ़ोत्तरी कर उनके साथ क्रूर मजाक कर रही है। पिछले दिनों डीजल के दामों में वृद्धि करने के बाद आज रेल किराया में वृद्धि कर आम आदमी की जेब पर डाका डालने का काम किया है। उन्होनें कहा कि कांगे्रसनीत यूपीए सरकार के पास मंहगाई नियंत्रण करने के लिए कोई योजना नहीं है, वह नीतिगत फैसले करने में अक्षम है और लगातार मंहगाई बढ़ाकर आम आदमी के साथ खिलवाड़ करने का काम कर रही है।
उन्होनें कहा कि आज कांगे्रस ने हर क्षेत्र में मंहगाई और मूल्यवृद्धि से आम इंसान को परेशान करने का कार्य किया है। आज देश में मंहगाई दर लगातार बढ़ रही है और विकास दर 5 प्रतिशत से कम होने के आसार है। कांगे्रस की गलत आर्थिक नीतियों के कारण रूपये का अवमूल्यन हो रहा है जिससे लगातार भारत पर कर्ज की राशि का भार पड़ रहा है। डीजल, पेट्रोल में वृद्धि का सीधा असर आम आदमी की जरूरत की वस्तुओं पर पड़ता है। लेकिन केन्द्र सरकार के पास इसे सुधारने के लिए कोई नीति नहीं है। कांगे्रस सत्ता के नशे में मदमस्त होकर चिरनिद्रा में लीन है।
राकेश सिंह ने कहा कि रेलवे के किरायें में बढ़ोत्तरी का कारण तो केन्द्र सरकार डीजल मूल्य में वृद्धि होने में बता देती है लेकिन रेल यात्रा में यात्रियों को सुविधाएं देने के नाम पर पल्ला झाड़ लेती है। उन्होनें कहा कि आगामी 10 अक्टूबर से रेल मालभाड़ै में बढ़ोत्तरी का संकेत केन्द्र सरकार ने दिया है। जिसका सीधा असर लोगों को मिलने वाली बुनियादी चीजों पर पड़ेगा। उन्होनें कहा कि भाजपा की सरकार ने नीतियां बनाकर केन्द्र में शासन किया था। इस दौरान विकास दर दहाई तक पहुंच गयी थी और मंहगाई पर अंकुश लगाया था। कांगे्रस को भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल से सबक लेना चाहिए कि किस तरह सुशासन कर आम आदमी की सरकार चलानी चाहिए।

बच्चों में कुपोषण में कांगे्रस शासित राज्यों की हालत चिंताजनक- माया सिंह
Our Correspondent :08 October 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश महामंत्री, सांसद माया सिंह ने कहा बच्चों में कुपोषण के मामलें में मध्यप्रदेश में प्रभावी कदम उठाये जाने से कुपोषण की स्थिति में उत्साहजनक सुधार आया है और कुपोषण 49 प्रतिशत से घटकर 26 प्रतिशत रह गया है। इसकी तुलना में कांगे्रस शासित राज्यों में कुपोषण रोकने के प्रयासों में खास बदलाव नजर नहीं आया है।
आंध्रप्रदेश में कुपोषण का प्रतिशत 53 से घटकर 48 प्रतिशत बना हुआ है, हरियाणा में 45 प्रतिशत से 42, राजस्थान में 53 प्रतिशत से 42 और केन्द्र सरकार की नाक के नीचे दिल्ली में 54 प्रतिशत कुपोषण को सिर्फ 5 प्रतिशत घटाया जा सका है और यह 49 प्रतिशत बना हुआ है। दिल्ली में हर दूसरा बच्चा कुपोषण का शिकार हैं।
माया सिंह ने कहा कि कांगे्रस भाजपा शासित राज्यों से सबक ले सकती है। लेकिन कांगे्रस तो राजनैतिक पूर्वाग्रह से ग्रस्त होकर सिर्फ आरोप लगाकर मारो और भागों की कहावत चरितार्थ कर रही है।

यूपीए सरकार मध्यप्रदेश के मामलें में संघीय भावना से मुकर गयी- गणेश सिंह
Our Correspondent :08 October 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मंत्री, सांसद गणेश सिंह ने कांगे्रस के नेता और केन्द्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के आरोप को बकवास बताते हुए कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने 25 हजार करोड़ रू. की लागत से पावर फीडर सेपरेशन कर 52 हजार गांवों में 24 घंटे बिजली की पूर्ति सुनिश्चित की है। केन्द्र सरकार का इसमें कोई योगदान नहीं है। यदि उसनें दो हजार करोड़ रू. की राशि दी है तो वह राजीव गांधी ऊर्जा परियोजना पर व्यय हुई है।
उन्होनें कहा कि केन्द्र सरकार अपनी संवैधानिक जबावदेही से बचने के लिए झूठे आरोप थोपकर जनता को गुमराह नहीं कर सकती है। प्रदेश में 4700 किमी नेशनल हाईवे में सड़क की जगह गढ्ढे बन चुके है। एक पैसा भी केन्द्र सरकार ने नहीं दिया है। 1450 किमी के संधारण का काम जिस निर्माण संस्थान को केन्द्र सरकार ने दिया है उसे भी दमड़ी नहीं देकर सिर्फ खाना-पूर्ति करके प्रचार कर रही है। नेशनल हाईवे-7 मैहर की दुर्दशा पर सत्याग्रह तक करने को विवश होना पड़ा है। राष्ट्रीय सड़कों की बदहाली के कारण करोड़ों रू. की क्षति प्रदेश को हो रही है। सिंचाई परियोजनाओं का पैसा केन्द्र ने रोक रखा है। प्रदेश के लिए कोयला राज्य में होते हुए भी नहीं मिल पा रहा है। उल्टे कोयला आयात करने को विवश किया जा रहा है। यहां तक कि केन्द्रीय पूल से 350 मेगावाट बिजली की भी केन्द्र ने कटौती करके मध्यप्रदेश के साथ सौतेला व्यवहार किया है।
गणेश सिंह ने आरोप लगाया है कि केन्द्र सरकार मध्यप्रदेश में हुई प्राकृतिक आपदा के प्रति भी गंभीर और संवेदनशील नहीं हुई। न ंतो अध्ययन दल भेजा गया और न ओला, पानी, कीट व्याधि के लिए किसानांे को राहत दी गयी। राज्य सरकार को अपने संसाधनों से किसानों के आंसू पोंछना पड़े है। उन्होनें कहा कि कमलनाथ ने शहरी मंत्रालय में रहते मध्यप्रदेश के शहरी विकास से गुरेज किया और शहरों के विकास को तवज्जों नहीं दी। उन्होनें कहा कि यूपीए सरकार मध्यप्रदेश को भारतीय गणराज्य का अंग नहीं मानकर अपनी संवैधानिक जबावदेही से न केवल मुकर रहीं है अपितु देश की संघीय व्यवस्था का निरादर कर रही है। केन्द्रीय अनुदान केन्द्र सरकार की बख्शीश नहीं मध्यप्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता का संवैधानिक हक है और यह राशि भी राज्य की जनता से वसूले गये केन्द्रीय टैक्सों के बाद प्रदेश को मिलने वाले 32 प्रतिशत अंश का आधा-अधूरा भाग है। केन्द्र इसमें भी कटौती कर वित्त आयोग की भावना का अपमान कर रहा है।

कांगे्रस की सत्ता परिवर्तन यात्रा झूठ का पुलिंदा- सिसौदिया
Our Correspondent :08 October 2013
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने कहा कि कांगे्रस की सत्ता परिवर्तन यात्रा झूठ का पुलिंदा साबित हो रही है, कांगे्रस नेता अपनी रैलियों में झूठ बोलकर जनता के बीच भ्रम फैला रहे है। कांगे्रस को प्रदेश का विकास पच नहीं रहा है, किसान की उन्नति, सिंचाई की व्यवस्था, 24 घंटे बिजली की आपूर्ति एवं विकास की अन्य योजनाएं कांगे्रसियों को खटक रही है। इसलिए वे झूठी बयानबाजी कर जनता को भटकाने का प्रयास कर रहे है। लेकिन प्रदेश की जनता ने भारतीय जनता पार्टी का सुशासन देखा है जिससे भारतीय जनता पार्टी को जनता का विश्वास, स्नेह और आशीर्वाद आने वाले चुनावों में जरूर मिलेगा।
उन्होनें कहा कि कांगे्रस की परिवर्तन यात्रा में शीर्षस्थ नेता एकजुटता का ढोंग करते है और अगले ही दिन अनौपचारिक चर्चाओं में उनके मुख से आपस में विरोध के स्वर फूटते है। कांगे्रस ने पहले प्रदेश का बंटाधार किया और पिछले नौ वर्षो से देश को बर्बाद कर रही है। सैंकड़ो घोटाले और अनगिनत भ्रष्टाचार कर देश को गहरे अंधकार में झोंक दिया है और अब वही परंपरा को मध्यप्रदेश में लाकर प्रदेश को बर्बाद करना चाहते है।
विजेन्द्रसिंह सिसौदिया ने कहा कि भाजपा की सरकार ने पिछले 10 वर्षो में गांव, गरीब, किसान व मजदूर वर्ग की चिंता कर उन्हें मजबूत किया है। प्रदेश की आधारभूत संरचनाओं को सुदृढ़ बनाया है, जबकि कांगे्रस ने पिछले 55 वर्षो के शासन काल के दौरान आम आदमी और गरीबों के साथ विकास के नाम पर भद्दा मजाक किया था। उन्होनें कहा कि प्रदेश की जनता कांगे्रस की सत्ता परिवर्तन रैली के नाम पर हो रहे झूठे वायदों के बहकावें में नहीं आने वाली है, प्रदेश की जनता जागरूक है, भाजपा की सरकार ने सुशासन और विकास कर समाज के हर वर्ग की चिंता की है।

इतिहास की सबसे खराब कानून व्यवस्था भाजपा राज में- नेताप्रतिपक्ष
Our Correspondent :04 October 2013
भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को मध्यप्रदेश के इतिहास में सबसे दबतर बताते हुए कहा कि जब स्वयं गृहमंत्री अपराधियों को पकड़ने पर पुलिस अधिकारियों को फटकारें तो कानून व्यवस्था के ये हालात स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार के दस साल शासन की एक प्रमुख उपलब्धि है कि यह अपराधियों के प्रति बेहद संवेदनशील और आम जनता फरियादियों के विरूद्ध बेहद कठोर है।
नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि खंडवा के जेल से आतंकियों की फरारी से स्पष्ट पता चलता है कि सत्ता पक्ष के उच्च निर्देशों पर ही सुरक्षा में इतनी ढ़ील बरती गई। उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर जेलों में पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था होती है और जब भाजपा सरकार के अनुसार उनकी जेल में इतने खतरनाक आतंकवादी मौजूद है तो सुरक्षा व्यवस्था सामान्य से भी बदतर क्यों थी। उन्होंने कहा कि यह सवाल सीधे सकेत करते है कि सत्ता के शीर्ष के तार इस पूरे मामले में जुड़े हुए है।
श्री सिंह ने कहा कि अपराधियों को लेकर यह सरकार बेहद संवेदनशील है और अपराधियों से परेशान जनता के मामले में बेहद कठोर है। उन्होंने कहा कि हाल ही में भाजपा पार्षद के पति सतीश नायक के खिलाफ लूट अपहरण के मामले में जब पुलिस ने तत्परता के साथ सख्त कार्यवाही की तो अपराधी के साथ गृहमंत्री उमाशंकर गुप्ता ने पुलिस को शाबासी देने के बजाए फटकार लगाई कि उन्होंने इतनी शीघ्रता से कार्यवाही क्यों कि? नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि शिवराज सरकार के नेतृत्व में अगले माह में प्रदेश के हालात और बदतर होंगे।

खंडवा जेल से सात आतंकियों के फरार होने की घटना भाजपा सरकार पर काला धब्बा
Our Correspondent :03 October 2013
भोपाल। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि आतंकियों को पकड़ने ंऔर आतंकवाद खत्म करने पर राजनीति करने वाली भाजपा सरकार पर यह काला धब्बा है कि उसकी जेल से सात आतंकी फरार हो गए। उन्होंने प्रदेष की कानून व्यवस्था को ध्वस्त बताते हुए इस गंभीर घटना के लिए षिवराज सरकार को दोषी बताते हुए मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग की है।
नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि आतंकवाद के नाम पर राजनीति करने वाली भाजपा की खुद की सुरक्षा व्यवस्था कितनी ध्वस्त है कि खंडवा जेल से छः कुख्यात आतंकी फरार हो गए। श्री सिंह ने कहा कि इसके पूर्व भी एक आतंकवादी को स्वतंत्रता दिवस पर भाजपा सरकार ने सजा में छूट देकर उसे रिहा कर दिया था।
श्री सिंह ने कहा कि सच यह है कि भाजपा सरकार हमेषा आतंकवाद को समाप्त करने में असफल रही है। देष में अब तक के जितने भी बड़े आतंकी हमले हुए है वे भाजपा नीत केन्द्र सरकार के जमाने में हुए है। चाहे वह संसद पर या लालकिले पर हमला हो या मोदी के आतंक में डूबा गुजरात प्रदेष हो जहां अक्षरधाम पर आतंकियों ने हमला किया नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि भाजपा हमेषा संवेदनषील मुद्दों पर राजनीति करती रही है। जब भी इसे सत्ता में आने का मौका मिला यह आतंकवाद रोकने सहित हर मोर्चे पर असफल रही है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेष के जेल से सात आतंकियों के फरार होने की घटना गंभीर है और इसके लिए षिवराज सरकार को त्यागपत्र दे देना चाहिए।

पंकज त्रिवेदी के फोन डिटेल्स सार्वजनिक किए जाएं
Our Correspondent :03 October 2013
भोपाल। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने व्यापमं घ्ाोटाले भाजपा के शीर्ष लोगों से तार जुड़े होने का आरोप लगाते हुए व्यापमं के पूर्व परीक्षा नियंत्रक डाॅ. पंकज त्रिवेदी के काॅल डिटेल सार्वजनिक करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि असली अपराध्िायों के नाम उजागर न होने देेने और पंकज त्रिवेदी को बचाने के लिए भाजपा सरकार एसटीएफ पर भारी दबाव डाल रही है। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि डाॅक्टर बनाने के नाम पर प्रतिभाषाली विद्यार्थियों के साथ विष्वासघात करने वाली भाजपा सरकार को इस प्रदेष के 50 लाख युवा कभी माफ नहीं करेंगे। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि हाल ही में डेंटल डाक्टर बनाने के नाम पर 24 लाख रूपये ऐंठने वाला व्यक्ति भी भाजपा से जुड़ा निकला। श्री सिंह ने कहा कि व्यापमं घोटाले में अभी तक जितने भी नाम सामने आए है वे सभी भाजपा या सत्ता के शीर्ष पर बैठे लोगो से जुडे हैं।
नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि पंकज त्रिवेदी के जो फोन डिटेल्स निकाले गए है उसमें कई चैकाने वो तथ्य सामने आए है। श्री सिंह ने आरोप लगाया कि इसमें सत्ता शीर्ष से जुड़े एक ऐसे व्यक्ति का भी नाम है जिसने एक घंटे में कई बार पंकज त्रिवेदी को फोन किए हैं।
उन्होंने कहा कि पंकज त्रिवेदी को बचाने के लिए एसटीएफ पर इतना दबाव डाला जा रहा है कि उसका काम करना मुष्किल हो रहा है और उसे किसी भी नतीजे पर पहुंचने में कठिनाई आ रही है।
श्री सिंह ने कहा कि मैं पुनः मांग करता हूं कि व्यापमं घ्ाोटाला मध्यप्रदेष का सबसे बड़ा घोटाला है इसका अंदाजा सिर्फ इस बात से निकाला जा सकता है कि डेढ़ साल में 100 करोड़ रूपये का लेन-देन इस घोटाले में हुआ। अगर भाजपा सरकार के दस साल का पूरा लेखा-जोखा सामने आ जाए तो यह घोटाला कई हजार करोड़ का होगा और यह तभी संभव है जब इस पूरे घोटाले की जांच सीबीआई करें क्योंकि भाजपा सरकार के दबाव में एसटीएफ असली आरोपियों को बचाने के साथ ही उनके नाम भी उजागर करने में डर रही है।

सरकार की लापरवाहीं के कारण बाढ़ से लाखों लोगों का जीवन खतरे में पड़ा
Our Correspondent :24 August 2013
भोपाल। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने आरोप लगाया है कि भारी बारिश के चलते बाढ़ के हालात संभावित थे लेकिन सरकार की लापरवाही के चलते लाखों लोगों के जान-माल को खतरा पैदा हो नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह चैहान की प्रशासनिक अक्षमता के कारण आज प्रदेश में हालात बदतर हो गए हंै। चुनौतियों का मुकाबला करने में सरकार के पास दिशा दृष्टि का अभाव है जिसके कारण बाढ़ के गंभीर हालात बन गए है। अब मुख्यमंत्री हवाई सर्वे करके भले ही कोरी सहानुभूति जताएं लेकिन जो नुकसान होना था वह हो गया।नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री से कहा कि वे सोयाबीन की फसल बड़े पैमाने पर बर्बाद हुई इसका तत्काल आकलन कराकर प्रभावित किसानों को तत्काल मुआवजा देने का काम शुरू कराएंे।
गृहमंत्री का राघवजी के यहां जाना आपत्तिजनक नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने गृहमंत्री उमाशंकर गुप्ता की राघवजी से उनके बंगले पर मुलाकात पर आपत्ति जताते हुए कहा कि इससे पूरी पुलिस दबाव में आ गई है। उन्होंने कहा कि गृहमंत्री को भी अपने इस कृत्य के लिए तत्काल पद छोड़ देना चाहिए।
श्री सिंह ने कहा कि पूर्व मंत्री राघवजी मामले में अभी भी दो आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। राघवजी का मामला अदालत में है और सरकार स्वयं इस मामले में प्रमुख कार्यकारी एजेंसी है। ऐसे में प्रदेश के गृहमंत्री का राघवजी के घर जाना एक घंटे उनसे बात करना और अब तक दो अन्य आरोपियों का न पकड़ा जाने का आशय यह है कि भाजपा सरकार का इस पूरे मामले में रवैया संदिग्ध है।
श्री सिंह ने कहा कि पूरी भाजपा सरकार अभावत्र्रस्त है इसी के चलते राघवजी पर दबाव बनाने के लिए गृहमंत्री राघवजी के बंगले पर गए। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि गृहमंत्री और राघवजी के बीच हुई बातचीत का खुलासा होना चाहिए। साथ ही दोनों आरोपियों को भी पुलिस को तत्काल गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

रेत खनन के पकड़े गए डम्पर मामले को राजनीतिक दबाव में रफादफा करने का प्रयास
Our Correspondent :16 August 2013
भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने होशंगाबाद जिले में अवैध उत्खनन के पकड़े गए 150 डम्पर मामले को राजनीतिक दबाव में रफादफा करने का आरोप लगाते हुए इस पूरे मामले की जांच के लिए विधायकों की दो सदस्यीय समिति गठित की। यह समिति कांग्रेस विधायक दल के मुख्य सचेतक श्री नर्मदाप्रसाद प्रजापति के नेतृत्व में मौके पर जाकर वस्तु स्थिति का पता लगाएगी। इस समिति के सदस्य विधायक श्री भगवान सिंह राजपूत भी साथ में रहेंगे। श्री सिंह ने कहा कि रेत खनन के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मध्यप्रदेश सरकार की दलील पर जो टिप्पणी की है वह शिवराज सरकार के लिए शर्मनाक है।
नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट और नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के सख्त आदेशों के बाद भी मुख्यमंत्री के जिले में रेत का अवैध उत्खनन होना एक गंभीर मामला है। उन्होंने कहा कि इससे भी गंभीर यह है कि अवैध रेत उत्खनन के 150 डम्पर पकड़े गए लेकिन उनमें से मात्र 50 डम्पर पर चालानी कार्यवाही कर पूरे अवैध उत्खनन के मामले को दबाया जा रहा है। श्री सिंह ने कहा कि इससे लगता है कि इस अवैध उत्खनन में कुछ प्रभावशाली लोग शामिल है, जिन्हें मुख्यमंत्री का संरक्षण प्राप्त है।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में रेत के खनन पर लगाई गई रोक के खिलाफ मध्यप्रदेश सरकार की दलील पर आपत्ति जताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जो टिप्पणी की है वह प्रदेश सरकार के लिए न केवल शर्मनाक है बल्कि इससे यह भी पुष्टि होती है कि अवैध खनन के मामले में मध्यप्रदेश सरकार कितनी बदनाम है।
श्री सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकर ने रेत के खनन पर रोक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की पीठ के सामने दलील दी कि ‘‘कुछ अथॉरटी पर तो विश्वास करना होगा। सभी गुनहगार नहीं हो सकते।‘‘ इस पर सुप्रीम कोर्ट के दो न्यायाधीशों की पीठ ने कहा ‘‘हम भी चाहते है कि अथॉरटी पर हमारा विश्वास हो लेकिन यह सब आप पर निर्भर है।‘‘ नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की इस टिप्पणी के संकेत स्पष्ट है कि सरकार जिस तरह से अवैध उत्खनन का संरक्षण कर रही है उससे संवैधानिक संस्थाओं का विश्वास उठ गया है। श्री सिंह ने कहा कि इसकी पुष्टि होशंगाबाद जिले के निसाड़िया रेत खदान से जप्त डम्पर है। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल और सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद भी मध्यप्रदेश के रेत का न केवल खनन बल्कि अवैध उत्खनन भी धड़ल्ले से हो रहा है। श्री सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में भाजपा शासन में कानून का राज तो पहले ही खत्म हो चुका है, अब सवैधानिक संस्थाओं को भी शिवराज सरकार ठेंगा दिखा रही है।

शराब बंदी आंदोलन यात्रा को व्यापक जन समर्थनःबृजबिहारी चौरसिया
Our Correspondent :06 August 2013
भोपाल,12 अगस्त। जन न्याय दल की शराबबंदी आंदोलन यात्रा को मध्यप्रदेश में व्यापक जन समर्थन मिल रहा है। जन न्याय दल ने जनता से कानून बनाकर शराबबंदी के लिए वोट मांगने का जो अभियान चलाया है वह ग्रामीण अंचलों में चुनावी मुद्दा बन चुका है। दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष बृजबिहारी चौरसिया ने भोपाल में पत्रकारों को बताया कि शराब, सियासत और सड़ाए जा रहे सरकारी गेहूं में अनैतिक संबंध है। देश में सच्चे लोकतंत्र की स्थापना के लिए जरूरी है कि कानूनन शराबबंदी लागू की जाए और छिन्न भिन्न होते सामाजिक ताने बाने को बचाया जाए।
उन्होंने कहा कि आजादी के 66 साल बीत जाने के बाद भी देश की जनता सत्ता में भागीदारी नहीं पा सकी है। सत्ता की मलाई चाट रहे कुर्सी के दलाल जनता का मुनाफा गड़प कर रहे हैं और जनता की जेब तराशकर उसे नशे में डुबाने का षड़यंत्र कर रहे हैं। बुंदेलखंड के 26 विधानसभा क्षेत्रों की 27 दिवसीय शराबबंदी आंदोलन यात्रा पूरी करने के बाद भोपाल पहुंचे श्री चौरसिया ने बताया कि शराब निर्माताओं और प्रदेश के सियासतदारों के संबंध किसी से छुपे हुए नहीं हैं। सुशासन की बात करने वाली प्रदेश की भाजपा सरकार ये नहीं बताती कि प्रदेश में कितना गेहूं सड़ा कितना बिका, कितना फेंका गया,सड़े हुए गेहूं का क्या हुआ और कितना सड़ा गेहूं शराब निर्माताओं के पास पहुंचा। इन सभी सवालों का शासन के पास कोई जवाब नहीं है।
दल की बुंदेलखंड यात्रा के दौरान ये उजागर हुआ है कि केन्द्र सरकार और राज्य सरकार ने बुंदेलखंड विकास के नाम पर अरबों रुपया खर्च किया है इसके बाद भी जमीनी हकीकत खराब है। बुंदेलखंड में कानून व्यवस्था की हालत ठीक नहीं है। गरीब आज भी पलायन करने और भूख से मरने पर मजबूर है। जन न्याय दल ने आठ जुलाई से प्रारंभ की गई 27 दिवसीय शराबबंदी आंदोलन यात्रा के दौरान बुंदेलखंड की सभी विधानसभाओं की जमीनी हकीकत देखी है। लोगों की दशा दयनीय है, सरकारी योजनाएं कागजों पर संचालित हैं। भारी मात्रा में अवैध खनन जारी है। सत्ता में बैठे भाजपाई नेता और अधिकारी मिलकर भ्रष्टाचार कर रहे हैं और शासकीय धन का गबन कर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि भाजपा भय,भूख और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन देने का नारा देकर सत्ता में आई थी। लेकिन आज दस साल बीत जाने के बाद भी ये मुद्दे जहां के तहां हैं। उन्होंने भाजपा के नेताओं को इन मुद्दों पर सार्वजनिक चर्चा करने की खुली चुनौती दी। उन्होंने कहा कि भाजपा एसे चंद अधिकारियों का नाम ही बता दे जो बगैर लेनदेन के कार्य कर रहे हैं तो हम उनका सार्वजनिक अभिनंदन करने तैयार हैं।बुंदेलखंड की जागरूक जनता ने कांग्रेस की भ्रष्ट सरकार के बाद अब भाजपा की असफल सरकार को सत्ता से बेदखल करने का मन बना लिया है और विकल्प की तलाश में है। जन न्याय दल जनता को विकल्प देगा।
श्री चौरसिया ने कहा कि यदि हम समाज और देश को आने वाली चुनौतियों से बचाना चाहते हैं तो हमें शराबबंदी का संकल्प लेना होगा और सभी राजनीतिक दलों को इस संबंध में सहमति बनानी होगी। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में जन न्याय दल जनता के सामने शराबबंदी को प्रमुख मुद्दे के रूप में प्रस्तुत करेगी। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड के बाद अब शराबबंदी आंदोलन यात्रा अपने प्रदेश अध्यक्ष गोपाल सिंह कुशवाहा के नेतृत्व में ग्वालियर और रीवा संभागों में प्रवेश करेगी। वहीं अन्य जिलों में जिलावार विधानसभा क्षेत्रों में पहुंचकर अपना संदेश जनता को देगी।

वर्तमान शिक्षा हालातों को सुधारे शिवराज सरकार
Our Correspondent :06 August 2013
भोपाल, 05 अगस्त, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा है कि शिवराज सरकार आम जनता का मूल मुद्दों से ध्यान बांटने के लिए एक बार फिर ध्ार्म का सहारा ले रही है। भागवत गीता का पाठ्यक्रम में प्रवेश इसी मानसिकता से चुनाव के समय भाजपा का आदतन तनाव फेैलाने की घटिया राजनीति का प्रतीक है।नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा ध्ार्मनिरपेक्ष राज्य में धर्म विशेष के ग्रन्थों को शामिल करने के हथकंडो पर कहा कि धार्मिक शिक्षा के लिए सभी धर्मो के पास अपने-अपने शिक्षा कंेद्र हैं वे अपनी जवाब देही निभा रहे है लेकिन मुख्यमंत्री एन चुनाव के वक्त यह प्रयास कर रहे है कि मध्यप्रदेश में वोटो का ध्रुवीकरण हो। श्री सिंह ने कहा कि आज प्रदेश में शिक्षा स्वास्थ्य सहित जनता से जुडी सुविधाओं की बदतर हालत किसी से छुपी नही है। उनहोने कहा कि रोजा अफ्तार करने या टोपी पहनने से कोई व्यक्ति ध्ार्मनिरपेक्ष नहीं होता। वह अपने आचरण या मानसिकता से दिखता हैं। श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा एन ईद के वक्त भागवत गीता मदरसों में पढाने और उर्दु की किताबों में शामिल करने से वे अपने धर्म के प्रति कुछ भला कर रहे हो या नहीं पर उन्होंने यह जरूर बता दिया कि वे आर.एस.एस. की मानसिकता से शासन चला रहे हैं। उनकी सेक्यूलर बनने की अटल कोशिश ढोंगी हेै। उन्होने कहा कि मूल मुद्दों से जनता का ध्यान बांटने के लिए फिर से भाजपा अपने एजेंडे पर लौट आई है।श्री सिंह ने कहा कि भागवद् गीता, रामायण जैसे ग्रंथो की शिक्षा पाठ्यक्रम में शामिल करने से नही बल्कि संस्कारों से आती है। श्री सिंह ने कहा कि लाख कोशिशों के बाद भी आज हिन्दी और संस्कृत की बजाए लोग अंग्रेजी पढ़ रहे हैं स्वयं मुख्यमंत्री के बच्चे भी अंग्रेजी में ही शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।ं नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि आज मध्यप्रदेश में शिक्षा के जो हालात है वह किसी से छुपे नहीं है। स्वयं मुख्यमंत्री के सामने रीवा में एक लडकी ने शिक्षा के हालात का दुखडा रोया। श्री सिंह ने कहा कि जो शिक्षा छात्र-छात्राओं का भविष्य बनाती हेै पहले उसे मंुख्यमंत्री सुधार ले धार्मिक शिक्षा का काम विभिन्न धर्माे या परिवारों पर छोड़ दें।

आठ सालों में केन्द्र की योजनाओं में भ्रष्टाचार और मुफ्त में यश लूटने का हिसाब दे शिवराज
Our Correspondent :06 August 2013
भोपाल, 05 अगस्त, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान से पहले केन्द्र की उन योजनाओं का हिसाब देने को कहा है जो जनता के हित में यू.पी.ए. सरकार ने बनाई अरबों रूपये मध्यप्रदेश को दिए जिनमें भाजपा सरकार ने दो काम किया पहले उन योजनाओं को अपना नाम देकर मुफ्त का यश लूटा और उसमें व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान को अपने आठ साल के कार्यकाल में हुए भ्रष्टाचार, व्याभिचार और आत्याचार का हिसाब देना चाहिए। कांग्रेस ने पिछले 50 सालों में जो विकास, प्रगति की है वह पूरे देश की जनता के सामने है, लेकिन पिछले आठ सालों में केन्द्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जो दुर्गति शिवराज सिंह ने मध्यप्रदेश में की इसका वे जवाब दे। देश और मध्यप्रदेश के विकास में कांग्रेस के योगदान का हिसाब मांग कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि उन्हें जनता के हित की केन्द्रीय कल्याणकारी योजनाओं की कोई जानकारी नहीं है यदि है तो वे केन्द्र की योजनाओं का दुरूपयोग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अपने आठ सालों का ही सही जवाब दे दें जो जनता के सामने सच आ जायेगा कि केन्द्रीय योजनाओं के कारण कितने काम हुए। महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में लाखों गरीबों और जरूरतमंद को काम मिलना था लेकिन भाजपा सरकार के मंत्रियों के मार्गदर्शन में करोडों का भ्रष्टाचार हुआ। मुख्यमंत्री ने खुद भ्रष्ट अधिकारियों को हटाया लेकिन संबंधित मंत्री पर कोई कार्रवाई नहीं की। अस्पतालों में मुफ्त दवा वितरण और पैथालाजी जांच की केन्द्र सरकार की योजना को बदलकर मुख्यमंत्री मुफ्त दवा वितरण योजना बना दिया था बाद में शर्म आई तो सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम पर रख दी। केन्द्र शासन से करोडों रूपये इस योजना में मिले ओर हर अस्पताल में दवा वितरण अमले की भर्ती के लिये पैसे मिले। अब तक यह काम नहीं हुआ। यदि गरीबों की इतनी चिंता थी तो आठ साल पहले इस योजना को क्यों नहीं शुरू कर दिया। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में केन्द्र की कांग्रेस सरकार से पैसे मिल रहे हैं। यदि युवाओं के रोजगार की इतनी चिंता थी तो आठ साल पहले यह योजना क्यों नहीं चलाई। राजीव गांधी पंचायत सशक्तीकरण योजना में करोडों रूपये मिले। केन्द्र की पिछडा क्षेत्र विकास निधि से करोडों रूपये मिले। इसकी पंच परमेश्वर योजना बना डाली। यदि पंचायतों की इतनी चिंता थी तो आठ साल पहले इस दिशा में क्यांे नहीं किया काम। सर्व शिक्षा अभियान में सायकलें, गणवेष, किताबें बांटने के लिये करोडों रूपये मिले और मुख्यमंत्री कहते हैं कि मामा बांटेंगे सायकलें। श्री सिंह ने कहा कि युवाओं के कौशल विकास के लिए केन्द्र ने योजना बनाई हमारे मुख्यमंत्री ने उस योजना को अपने नाम से घोषित कर दिया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पिछले दस साल में यू.पी.ए. सरकार के कल्याणकारी कामों का हिसाब ले लें और उसकी जो दुर्गति उन्होंने प्रदेश में की इसका वे जवाब दे। बुंदेलखंड के विकास के लिए साढ़े तीन हजार करोड़ रूपये से अधिक मिला उसे भ्रष्टाचार में खर्च कर दिया ंआठ सालों में अपने कार्यकाल के इन घपलों-घोटालों का जवाब अगर शिवराज दे देंगे तो अपने आप जनता यह जान जाएगी कि कांग्रेस ने क्या किया था और भाजपा सरकार ने क्या कर दिया। प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों से हजारों की संख्या में बेटियां गुम हैं। वे कहां हैं? किस हाल में हैं? मुख्यमत्री ने उन्हें खोजने की कोशिश भी नहीं की ।इन आठ सालों में कितने आदिवासी युवकों को सरकारी योजनाओं का लाभ देकर उद्योगपति लखपति बनाया। प्रदेष की छोड दें अपने खुद के विधान सभा क्षेत्र से कितने आदिवासी युवकों को उद्योगपति बनाया? कितनों को उच्च शिक्षा के लिये विदेश भेजा? मध्यप्रदेश का नाम पूरे देश में भ्रष्टाचार की राजधानी के रूप में लिया जा रहा है। गैर कानूनी उत्खनन की सबसे ज्यादा 7000 शिकायतें मध्यप्रदेश में ही की गई हैं जिन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। सरकार को 12 हजार करोड रूपये की राजस्व हानि उठाना पडी जिसकी भरपाई कैसे होगी इसका हिसाब मुख्यमंत्री को देना होगा। किसानेां के खेतों में नकली बीज डलवाने वाले और खुद के खेत में अनार का बगीचा लगाने वाले मुख्यमंत्री हिसाब दें कि प्रदेश में किसानों पर गोली क्यों चली? किसानों से आत्महत्याएं क्यों की? मुख्यमंत्री सिर्फ बातें करते हैं, झूठ पर झूठ बोलते हैं। लुभावनी घोषणाएं कर डालते हैं और भ्रष्टाचार का पालन पोषण करते हैं। श्री इस पर दहाड़ ये है कि 50 साल का हिसाब मांगेगे । अपने आस-पास से खुद के कारनामों को अगर शिवराज सिंह देख ले तो उन्हे जवाब मिल जाएगा कि कांग्रेस ने क्या किया और आठ साल मंे उन्होने क्या किया।

क्यों मैदान छोड़ भागी शिवराज सरकार पुस्तिका का विमोचन
Our Correspondent :02 August 2013
भोपाल, 01 अगस्त, 2013। भाजपा सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर केन्द्रीत पुस्तिका ‘‘कांग्रेस विधायक दल का अविश्वास प्रस्ताव क्यों मैदान छोड़ भागी शिवराज सरकार’’ का आज कांग्रेस कमेटी कार्यालय में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं मध्यप्रदेश प्रभारी श्री मोहन प्रकाश ने विमोचन किया। इस अवसर पर मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री कांतिलाल भूरिया, नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह एवं उपाध्यक्ष श्री रामेश्वर नीखरा उपस्थित थे। कांग्रेस विधायक दल द्वारा प्रकाशित पुस्तिका में शिवराज सिंह चैहान उनके मंत्रियों सहित सरकार पर लगे आरोपों को प्रकाशित किया गया है। इस पुस्तिका को प्रदेश के सभी 230 विधानसभा क्षेत्रों में भेजा जाएगा और इनमें लगाए गए आरोपों की असलियत को आम जनता को बताया जाएगा। अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करने में शिवराज सिंह चैहान क्यों सदन छोड़कर भागे इनके कारणों के बारे में भी लोगों को अवगत कराया जाएगा। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस विधायक दल द्वारा विधानसभा के मानसून सत्र में शिवराज सरकार के खिलाफ दूसरा अविश्वास प्रस्ताव पेश किया गया था। इस प्रस्ताव पर 11 जुलाई 2013 को चर्चा कराने की जानकारी विधानसभा अध्यक्ष ने सदन को दी थी। इसके बाद 11 जुलाई को साजिश और षड़यंत्र रचकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने अविश्वास प्रस्ताव पर सदन के अंदर चर्चा नहीं होने दी। इस अविश्वास प्रस्ताव में नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के परिजनों पर सात गंभीर आरोप लगाए थे। जिनमें प्लाट हड़पने, भूमि हड़पने, राष्ट्रीय संरक्षित स्मारक की परिधि में मुख्यमंत्री की पत्नी द्वारा गोदाम बनाने, मुख्यमंत्री के साले एवं भाईयों द्वारा फर्जी और कूटरचित दस्तावेजों के द्वारा ठेकेदारी का पंजीयन कराने जैंसे गंभीर अपराध शामिल थे। अविश्वास प्रस्ताव पुुस्तिका में मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार के खिलाफ प्रकाशित आरोप रोहित गृह निर्माण सोसायटी में किन नियमों के तहत उनके भाई रोहित सिंह चैहान उनकी पत्नी रश्मि चैहान, उनके भतीजे प्रदुम्न सिंह चैहान, उनकी भाभी अनीता चैहान, उनके परिजन धीरेन्द्र सिंह चैहान, बलवंत सिंह चैहान, ममता चैहान, सीमा चैहान, ब्रजेश चैहान, शशि सिंह चैहान को प्लाट दिये गये उसकी जांच कराये और जवाब दें। ऐसा इस सोसायटी के प्रति उनकी क्या दिलचस्पी थी कि 2005 के बाद इसका आडिट नहीं हुआ।
मुख्यमंत्री के भाई नरेन्द्र सिंह चैहान, उनके भतीजे प्रदुम्न सिंह चैहान और दो अन्य लोगों ने 08 जून 2011 को 18.70 एकड़ जमीन 05 करोड़ 67 लाख 75 हजार रूपये में खरीदी। जबकि उसकी बाजार की कीमत 19 करोड़ रूपये थी। इतनी रियायत उन्हें क्यों और कैंसे मिली, साथ ही वर्ष 2003 में नरेन्द्र ंिसह चैहान और प्रदुम्न सिंह चैहान की आय और उसके श्रोत क्या थे?
बुधनी रेवा समाज समिति द्वारा संचालित वृद्धा आश्रम में वर्ष 2009-10 में नरेन्द्र ंिसह चैहान का नाम जुड़ गया। वे इसके असंवैधाकि रूप से साधारण सभा के सदस्य बन गये। उसके बाद 25 नवम्बर 2010 को मुख्यमंत्री के सचिव एसके. मिश्रा एक नोट शीट लिखते है प्रमुख सचिव सामाजिक न्याय विभाग को कि उपरोक्त समिति को वृद्धा आश्रम संचालन करने की अनुमति और मान्यता प्रदान करे। उसके पूर्व 02 नवम्बर, 2011 को मुख्यमंत्री के निज सचिव हरीश सिंह सीध्ो आयुक्त सामाजिक न्याय विभाग को पत्र लिखते है कि बुधनी रेवा समाज समिति न्यू कालोनी को विभागीय मान्यता जो कलेक्टर सीहोर ने आपके कार्यालय को प्रेषित की है इस पर तत्काल कार्यवाही करे। जब इस सेवा समिति के बारे में सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी गई तो कार्यालय असिस्टेंट रजिस्टार फर्मस एवं संस्थाएं ने जवाब दिया कि इस नाम की कोई संस्था उनके यहां पंजीकृत नहीं है। जबकि इस रेवा समाज सेवा समिति को नगर पंचायत बुधनी जिला सीहोर ने मोटर बाइंडिग प्रशिक्षण देने का पत्र लिखा और तीन दिन के अंदर प्रशिक्षण प्रारंभ करने को कहा। श्रीमती साधना सिंह के स्वामित्व की भूमि ग्राम बैस तहसील विदिशा में एक गोदाम बनाया है। यह गोदाम संरक्षित स्मारक हेल्यूडोरस स्तंभ खाम बाबा की संरक्षित सीमा के 100 मीटर के अंदर है और भारतीय पुरातत्व विभाग के संरक्षण में है। इसके 200 मीटर के अंदर परिधि में कोई भी निर्माण पुरातत्व विभाग के अनुमति के बगैर नहीं बनाया जा सकता लेकिन श्रीमती साधना सिंह का गोदाम उसी परिधि में बना हुआ है।
ज्योति सिंह पत्नी श्री संजय मसानी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी के साले की पत्नी है। इन्होंने 96 लाख रूपये का एक बंगला जो आम्रपाली एनक्लेव चूना भट्टी में स्थित है वह 19 लाख 59 हजार 16 रूपये में खरीदा। जिसके लिए उन्होंने 04 लाख 19 हजार 16 रूपये का भुगतान चेक से तथा शेष 15 लाख कैश से किया। यह रियायत पाकर उन्होंने स्टांप एवं पंजीयन की चोरी की और सरकार के राजस्व को हानि पहुंचाई। संजय सिंह जो मुख्यमंत्री जी के साले है उन्होंने निलाक्ष इन्फ्रा स्ट्रेक्चर प्राइवेट लिमिटेड के नाम से लोक निर्माण विभाग में पहले ए-3, फिर ए-4 और ए-5 श्रेणी में पंजीयन कराया। ए-4 श्रेणी में जल संसाधन विभाग में ठेकेदार के रूप में पंजीकरण कराया और इसके लिए जो दस्तावेज पेश किये वे कूटरचित और फर्जी थे। जिसकी शिकायत पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक और संबंधित थाने में भी की गई।
श्री रोहित सिंह चैहान जो आदित्य कंट्रक्शन कंपनी के प्रोपाइटर है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के भाई है। इन्हेांने भी लोक निर्माण विभाग में बगैर एफडीआर के ए-4, ए-3 और ए-2 श्रेणी में अपना पंजीयन कराया लेकिन जब लोक निर्माण विभाग से इसकी जानकारी मांगी तो उन्होंने कहा कि आदित्य कंस्ट्रक्शन कंपनी के नाम से कोई कंपनी पंजीकृत नहीं है जबकि स्वयं लोक निर्माण विभाग ने 06 अक्टूबर 2007 को मेसर्स आदित्य कंस्ट्रक्शन कंपनी जी-4 दीनदयाल परिसर, ई-2 अरेरा कालोनी को पत्र लिखकर यह बताया कि उनकी कंपनी को अ-5 पांच श्रेणी में ठेकेदार के रूप में पंजीकृत किया गया है। इसके अलावा एक 27 सूत्रीय आरोप पत्र भी 08 जुलाई को प्रमुख सचिव म.प्र. विध्ाानसभा को नियम प्रक्रियाओं के तहत कांग्रेस विधायक दल ने सौंपा। जिसमें सरकार से उसकी घोषणाओं और अमल के बारे में जानकारी चाही थी। उस अविश्वास प्रस्ताव के प्रमुख बिंदु थे- (1) घोषणावीर की घोषणाओं पर अमल ना होना।
(2) भ्रष्टाचार से भाजपा मस्त मध्यप्रदेश त्रस्त
(3) प्रदेश में कुपोषण का कहर
(4) भाजपा की भ्रष्ट कानून व्यवस्था
(5) महिलाओं पर अत्याचार
(6) ढोंगी मामा के प्रदेश में बेटियां असुरक्षित
(7) शिवराज सरकार में बेटियां लापता
(8) आदिवासियों व दलितों पर बेतहाशा अत्याचार
(9) आदिवासियों का हक भाजपा सरकार का अन्याय
(10) गेमन जमीन घोटाला
(11) 24 घंटे बिजली देने के नाम पर जनता से धोखाधड़ी
(12) ब्लैक लिस्टेड कंपनी लेंको अमरकंटक पावर लिमिटेड
(13) खनिज विभाग में अवैध खनन और माफिया को मंत्री एंव मुख्यमंत्री का संरक्षण
(14) मैगनीज घोटाला
(15) नमक खरीदी घोटाला
(16) मनरेगा में भरी घोटाला
(17) लघु वनोपज संघ में 260 करोड़ का घोटाला
(18) उद्योग लगेंगे, मुंगेरीलाल के सपने, इन्वेस्टर मीट, सरकारी खजाना किया खाली,
(19) उच्च शिक्षा में अनियमितता
(20) अधिकारी-कर्मचारी विरोधी भाजपा सरकार
(21) मध्यप्रदेश के किसानों से छलावा
(22) मुख्यमंत्री के रिश्तेदारों द्वारा भ्रष्टाचार की सोसायटी
(23) प्रदेश के कोल ब्लाक खनिज निगम, लघ्ाु उद्योग निगम और विभाग की कोयला दलाली
(24) टीकमगढ़ में भारी अनियमितताएं
(25) अपैक्स बैंक में भ्रष्टाचार
(26) म.प्र. सरकार के विभिन्न विभाग जिनमें भ्रष्टाचार का बोलबाला है
(27) सरकारी विज्ञापनों पर भारी अपव्यय फिल्मी दुनिया फेल।

मानहानि नोटिस की बजाए मुख्यमंत्री सच सामने लाने के लिए सी. बी. आई. जाॅच कराएं
Our Correspondent :02 August 2013
भोपाल, 01 अगस्त, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान अपने मंत्रियों से मानहानि का नोटिस दिलवाने के बजाए सचका सामना करें और पूरे मामले की सी.बी.आई. जाॅच कराने की पहल करें।नेता प्रतिपंक्ष श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री भाजपा से जुडे कारोबारी सुधीर शर्मा की डायरी में दर्ज मंत्री राजेन्द्र शुक्ला और लक्ष्मीकांत शर्मा को घूस देने के मामले में अखबारों ओर आयकर विभाग को मानहानि का नोटिस देने के बजाए इस संपूर्ण मामले की सी.बी.आई. जाॅच कराने की पहल करें ताकि इस हाईप्रोफाइल भृष्टाचार का सच सामने आ सकेनेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सुधीर शर्मा की डायरी में सिर्फ दो मंत्रियांें के ही नही बल्कि आर. एस. एस. के सुरेश सोनी सहित अनेेक भाजपा नेताओं के नाम पैसे एवं सुविधा लेने का उल्लेख हैं। अगर यह गलत हो तो सही बात सामने लाने का बेहतर तरीका हैं कि इस पूरे मामले की जांच सी.बी.आई. करे। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सी.बी.आई. की जांच से दूध का दूध्ा ओर पानी का पानी सामने आ जाएगा। श्री सिंह ने कहा कि सुध्ाीर शर्मा और दिलीप बिल्डकाॅन के मामले में भाजपा सरकार का भ्रष्ट चेहरा सामने आ चुका हैं। उसे छुपाने के लिए भाजपा जो हथकंडे कर रही है दरअसल वह असली सच से ध्यान बांटने का प्रयास कर रही है।

मुख्यमंत्री बताएं 2008 विधानसभा चुनाव का खर्चा
Our Correspondent :30 July 2013
भोपाल, 29 जुलाई, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान से पूछा कि क्या वर्ष 2008 के विध्ाानसभा चुनाव में खर्चा सुधीर शर्मा की कंपनी ने ‘‘आपरेशन विजय‘‘ के नाम से पूरा खर्च उठाया था। उन्होंने कहा कि आयकर विभाग की अपे्रजल रिपोर्ट में इस खुलासे के बाद मुख्यमंत्री को यह भी बताना चाहिए कि इसकी जानकारी उन्होंने चुनाव आयोग को दी थी। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री सहित पूरी शिवराज सरकार, भाजपा, आरएसएस के लोग आयकर विभाग की रिपोर्ट से बेनकाब हो चुके है। अब वे अनर्गल आरोप लगाकर उनने चेहरे पर लगी कालिख को छुपाने का जो प्रयास कर रहे हैं वह खिसियानी बिल्ली की कोशिश है लेकिन इससे उसका बचाव नहीं होने वाला उसे प्रदेश की जनता को जवाब देना होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा आरोप न लगाए बल्कि आयकर विभाग के तथ्य पूर्ण भ्रष्टाचार के आरोप का जवाब दे।
नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि आयकर रिपोर्ट के हवाले से भारतीय जनता पार्टी के दो मंत्री, भाजपा सांसद और आरएसएस के दिग्गजों के नाम आने के बाद अब भ्रष्टाचार के असली किरदार अपने दामन बचाने के लिए जवाब देने के बजाए अनर्गल आरोपों पर उतरकर भ्रष्टाचार के मुद्दे से ध्यान बांटने की कोशिश कर रहे है। श्री सिंह ने कहा कि कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव के बाद भाजपा के भ्रष्टाचार का यह बड़ा मामला सामने आने से पूरी भाजपा सरकार भयभीत हो गई है। उन्होंने कहा कि चूंकि भाजपा और उनकी सरकार के सभी शीर्ष किरदार भ्रष्टाचार में लिप्त है इसलिए भ्रष्ट मुख्यमंत्री और मंत्रियों का साथ देना उनकी मजबूरी है। उन्होंने कहा कि भाजपा के मुंह से लोकतंत्र कमजोर करने की बात अच्छी नहीं लगती क्योंकि 11 जुलाई 2013 को मध्यप्रदेश विध्ाानसभा में जो हुआ उससे यह सामने आ गया है कि भाजपा को लोकतंत्र पर कोई विश्वास नहीं है।

मुख्यमंत्री खुद को बचाने की कोशिश न करें इस्तीफा दें
Our Correspondent :28 July 2013
नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि
शेजवार को डायरी में नाम आने पर ही पद से हटाया था
भोपाल, 28 जुलाई, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने आयकर विभाग की रिपोर्ट से नित नए हो रहे खुलासे के बाद कहा है कि भाजपा और आरएसएस के चाल-चरित्र और चेहरे में भ्रष्टाचार स्पष्ट दिखलाई दे रहा है। इससे यह भी साबित हो गया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान का शासन पर कोई नियंत्रण नहीं है और सुधीर शर्मा, दिलीप सूर्यवंशी के भ्रष्टाचार में उनकी सीधी संलिप्तता भी उजागर हो गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को याद आना चाहिए कि सोम डिस्टलरी में तत्कालीन भाजपा विधायक दल के नेता प्रतिपक्ष गौरीशंकर शेजवार का नाम आया था उन्हें तत्काल पद से हटा दिया था। क्या इसका कारण भ्रष्टाचारी होने से ज्यादा दलित होना था। शिवराज सिंह चैहान इसका जवाब दें। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के पिछले पांच साल से सचिव रहे एस. के. मिश्रा लंबे समय तक खनिज सचिव और खनिज निगम के अध्यक्ष रहे हैं। सुधीर शर्मा की डायरी में 20 लाख रूपये इन्हीं खनिज सचिव को देने का उल्लेख है। श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री को न केवल इस संबंध में जवाब देना चाहिए नहीं तो यह उनकी मौन स्वीकृति माना जाएगा कि यह पैसा उनके नाम पर दिया गया था।
श्री सिंह ने कहा कि आयकर विभाग के खुलासे से यह भी स्पष्ट हो गया है कि संघ में कद और पद से प्रभावी सुरेश सोनी, तत्कालीन भाजपाध्यक्ष प्रभात झा, भाजपा के थिंक टैक कहे जाने वाले और नर्मदा नदी के स्वयंभू रक्षक बने भाजपा सांसद अनिल माधव दवे सुधीर शर्मा के पेरोल पर थे। जब आने जाने का व्यय तक इतने बड़े नेता सुध्ाीर शर्मा की कंपनी से लेते हों तो उन्होंने बंगला गाड़ी सहित क्या-क्या लाभ उठाए होंगे, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि यहीं कारण है कि सरस्वती शिशु मंदिर का शिक्षक मात्र 6-7 साल में हजारपति से अरब पति बन गया। क्योंकि यह सब उसके संरक्षक थे।
नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश के खदान माफिया को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान का सीधा संरक्षण इसलिए है क्योंकि उनके परिजन स्वयं न केवल अवैध उत्खनन में लगे हैं बल्कि खदान माफियाओं से वे हिस्सेदारी भी ले रहे है। उन्होनंे कहा कि आयकर विभाग को सुधीर शर्मा के यहां पड़े छापों से मिले दस्तावेजों से यह खुलासा इसका है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा और आरएसएस के लोगों की जिस तरह संलिप्तता इस पूरे कांड में नजर आ रही है इससे यह साबित होता है कि मुख्यमंत्री अपने नियंत्रण पर नहीं बल्कि निर्देशों पर काम कर रहे है और इनके साथ वे स्वयं भी पूरे प्रदेश को लूटने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि शुचिता, ईमानदारी की बात करने वाले शिवराज सिंह चैहान की ढोल की पोल खुल गई है। वे लंबी जुबान और ढीली कमान वाले मुख्यमंत्री के रूप में कुख्यात हो चुके है। श्री सिंह ने मुख्यमंत्री को एक गंभीर और उनकी सरकार को बेनकाब करने वाली रिपोर्ट को खारिज करने पर याद दिलाया कि कांग्रेस सरकार में सोम डिस्टलरी की जिस डायरीमंे उनके तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष गौरीशंकर शेजवार का नाम पैसे लेने वालों में आया था तब भाजपा ने बड़ी नैतिकता और शुचिता का चेहरा दिखाकर उन्हें तत्काल पद से हटा दिया था। श्री सिंह ने कहा कि विजय शाह को मंत्री पद से हटाने में एक मिनिट की भी देर न लगाने वाले मुख्यमंत्री की यह दलील हास्यास्पद है कि सीडी में छेड़छाड़की गई थी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की इस दलील से यह स्पष्ट होता था किमुख्यमंत्री आदिवासी मंत्री विजय शाह को बगैर तथ्य और प्रमाणों के ही उन्हें पद से हटाने का बड़ा निर्णय ले लेते है और यहां आयकर विभाग के छापों में मिले दस्तावेजों और उसके प्रमाणीकरण पर संदेह कर रहे है। नेता प्रतिपक्ष ने पूछा कि क्या सारी नैतिकता और शुचिता भाजपा में दलित और आदिवासी नेताओं पर लागू होती है। नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री से कहा कि वे खुद को बचाने की कोशिश न करे और इस्तीफा दें।

पटवाजी अपने भ्रष्ट चेले की सरकार का बचाव और संविधान तथा संसदीय परंपरा की रक्षा करने वाले राज्यपाल पर लांछन लगा रहे है
Our Correspondent :28 July 2013
नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने पटवाजी से पूछा कि वे किस भूमिका में राज्यपाल से मिले
भोपाल, 28 जुलाई, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री सुंदरलाल पटवा द्वारा विधानसभा आहूत करने के संबंध में सरकार को राज्यपाल द्वारा लिखी चिट्ठी के मामले में राज्यपाल से मिलने और उन्हें पत्र लिखने, पत्रकार वार्ता करने और सरकार की तरफ से पक्ष रखने पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि क्या वे शिवराज सिंह चैहान की तरफ से वकालत करने राज्यपाल के पास गए थे। नेता प्रतिपक्ष ने पटवाजी को याद दिलाया कि वे शायद भूल गए कि तत्कालीन कांग्रेस की सरकार में एनडीए ने जनसंघ के संस्थापक भाई महावीर को राज्यपाल बनाया था और उन्होंने भाजपा के दबाव में राजभवन को भाजपा का ऐनेक्सी बना दिया था। तब उन्हें राज्यपाल पद की गरिमा का ध्यान नहीं था। उन्होंने कहा कि पटवाजी भ्रष्टाचार पर चर्चा से भागे शिवराज सरकार का बचाव कर रहे है और संविधान, संसदीय परंपरा की रक्षा करने वाले राज्यपाल पर लांछन लगा रहे है। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि पटवाजी जैंसे नेता द्वारा अपनी गरिमा का ध्यान न रखते हुए स्वयं ही एक असंवैधानिक पहल करते हुए एक ऐसे मामले में हस्तक्षेप किया जा रहा है जहां उनकी कोई भूमिका हीं नहीं है। श्री सिंह ने कहा कि वे राज्यपाल जैंसे पद को लांछित कर रहे है और 11 जुलाई को विधानसभा में जिस तरह से भाजपा सरकार ने असंवैधानिक कृत्य किया उसका बचाव कर लोकतंत्र की दुहाई दे रहे है।
श्री सिंह ने कहा पटवाजी को याद दिलाया कि किस तरह भाजपा के ज्ञापन भाई महावीर लेते थे और वे पत्रकारों से चर्चा कर सरकार की आलोचना करते थे। उन पर तो राजभवन के कई महत्वपूर्ण दस्तावेज जो सिर्फ मुख्यमंत्री और राज्यपाल के बीच होते थे उन्हें लीक करने का भी आरोप था। श्री सिंह ने कहा कि दोहरी बातें करना दरअसल भाजपा के चरित्र में है इसमें पटवाजी का कोई दोष नहीं है। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने सवाल किया कि राज्यपाल श्री रामनरेश यादव ने लोकतंत्र की मर्यादा और गरिमा को ध्यान में रखकर जो पत्र मुख्यमंत्री को लिखा वह पटवाजी को मिला कहां से, क्योंकि वह पत्र उन्होंने मुख्यमंत्री को लिखा जो सिर्फ राज्यपाल और मुख्यमंत्री के ही बीच था, लेकिन पटवाजी जिस तरह पत्र का जिक्र कर रहे हैं उससे लगता है कि वे प्रदेश में समानंातर सरकार के सत्ता प्रमुख है। उन्होंने कहा कि क्या उनका चेला शिवराज इतने अक्षम है कि वे इस मामले में अपना कोई पक्ष नहीं रख सकते। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पटवाजी विपक्ष के राज्यपाल से मिलने पर तो सवाल उठा रहे हैं लेकिन स्वयं एक ऐसी प्रक्रिया का हिस्सेदार बन रहे हैं जो पूरी तरह सरकार-राजभवन के बीच चल रही है। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि आजादी के बाद यह पहला अविश्वास प्रस्ताव है जो विधि, नियमों प्रक्रिया के तहत सदन में आया लेकिन उस पर कोई चर्चा नहीं हुई।
श्री सिंह ने कहा कि पटवाजी ने बगैर पूरी जानकारी के पूर्वागृह से ग्रसित होकर आरोप लगा दिया। श्री सिंह ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव का नियम है कि जब तक वह ध्वनिमत से पारित न हो उस पर मतदान न हो वह पूरा नहीं होता। श्री सिंह ने कहा कि पटवाजी जिस अवैधानिक प्रक्रिया का समर्थन कर रहे हैं और कामकाज पूरा होने की बात कर रहे है वह उनकी अधूरी जानकारी है। सदन 19 जुलाई तक का था। कई सदस्यों के प्रश्न, अशासकीय, शासकीय संकल्प पर चर्चा होना थी। यहीं नहीं 10 जुलाई को जिस तरह छः घंटे चर्चा वाले 12 विधेयक को 20 मिनिट में निपटा दिया गया। जिस तरह मुख्यमंत्री विध्ाायकों को निर्देशित कर रहे थे कि अविश्वास प्रस्ताव पर नेता प्रतिपक्ष को बोलने नहीं देना चाहिए इसे वे स्वस्थ्य संसदीय पंरपरा मान रहे है। एक ऐसी गलत असंसदीय और लोकतंत्र विरोधी कृत्य का पटवाजी समर्थन करते है और राज्यपाल को नसीहत देते है। उन्होंने कहा कि पटवाजी प्रतिपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव से उनके चेले की सरकार इस कदर घबरा गई थी कि उस पर चर्चा न कराने का उसने ऐसा प्रपंच रचा जिसने पूरे मध्यप्रदेश को और संसदीय लोकतंत्र को शर्मसार कर दिया। पटवाजी ऐसे असंसदीय कृत्य का समर्थन करते है और राज्यपाल की आलोचना करते है। नेता प्रतिपक्षने कहा कि भाजपा का लोकतंत्र पर कोई विश्वास नहीं है। वह संसदीय प्रक्रियाओं और संविधानकी रक्षा को गलत ठहरा रहे है। इससे भाजपा का फासिस्टवादी चेहरा एक बार फिर बेनकाब हो गया है।

आयकर विभाग के खुलासे के बाद शिवराज सरकार त्यागपत्र दे
Our Correspondent :27 July 2013
भोपाल, 27 जुलाई, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान से त्यागपत्र देने की मांग की है।
श्री सिंह ने कहा कि दिलीप सूर्यवंशी की कंपनी दिलीप बिल्डकाॅन और सुधीर शर्मा के यहां पड़े छापों के बाद शिवराज सरकार के भ्रष्टाचार के सच सामने आ गए है। आयकर विभाग द्वारा सुधीर शर्मा की जप्त डायरी में खनिज मंत्री राजेन्द्र शुक्ला और उच्च शिक्षा मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा को रिश्वत देने के खुलासे के बाद अब मुख्यमंत्री को एक मिनिट भी पद पर रहने का अधिकार नहीं है। श्री सिंह ने कहा कि उनके मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा और राजेन्द्र शुक्ला के खिलाफ पूर्व से ही लोकायुक्त में शिकायत दर्ज है, जिनके खिलाफ आज तक अभियोजन चलाने की अनुमति नहीं दी गई। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि दिलीप सूर्यवंशी एवं सुधीर शर्मा के मुख्यमंत्री और भाजपा के लोगों से घनिष्ठ संबंध कांच की तरह साफ है। श्री सिंह ने कहा कि नवंबर, 2011 में विधानसभा में लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में कांग्रेस ने दोनों कारोबारियों के कम समय अकूत संपदा इकट्ठी होने की जानकारी दी थी। साथ ही यह भी बताया था कि किस तरह भाजपा सरकार ने इन दोनों कारोबारियों को संरक्षण और सपोर्ट नियमों के विरूद्ध जाकर किया है। श्री सिंह ने कहा कि आयकर विभाग ने सुधीर शर्मा की डायरी में मिली जानकारी में दो मंत्रियों राजेन्द्र शुक्ला और लक्ष्मीकांत शर्मा का जिक्र करते हुए सी.बी.आई.ईडी. और लोकायुक्त से जांच कराने की अनुशंसा की है। आयकर विभाग ने इस लेन-देन की तुलना हवाला कारोबार से भी की है।
नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह चैहान सरकार चूंकि स्वयं भ्रष्टाचार में लिप्त थी तो इसलिए वह धृतराष्ट्र बन गई। इसके बाद जून, 2012 में आयकर छापों के बाद कांग्रेस विधायक दल ने 11 सवाल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान से पूछे लेकिन मुख्यमंत्री मौन रहे। वे क्या जवाब देते क्योंकि ये सवाल उन्हें संदेह के घेरे में लाए थे। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शिवराज सरकार फिर धृतराष्ट बन गई। उन्होंने न केवल इस मामले में बेशर्म रूख अपनाया बल्कि सुधीर शर्मा को सरकारी उपक्रम क्रिस्प का अध्यक्ष बना दिया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इससे स्पष्ट हो गया था कि शिवराज सिंह चैहान पूरी तरह भ्रष्टाचार में संलिप्त है। हाल ही में विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल ने जो अविश्वास प्रस्ताव रखा था उसमें भी शिवराज के भ्रष्टाचार के मामले उजागर होने वाले थे, यहीं कारण है कि फासिस्टवादी शिवराज सरकार ने लोकतंत्र को अपने पैरों तले रौंद डाला।श्री सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार से लदी और दबी शिवराज सरकार को तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

शिवराज सिंह चैहान ने शिवराज सिंह चैहान ने मेरे आरोपों के झूठे जवाब दिए
Our Correspondent :23 July 2013
शिवराज सिंह चैहान ने शिवराज सिंह चैहान ने मेरे आरोपों के झूठे जवाब दिए अपने भाई, भतीजे और साले पर लगे अपने भाई, भतीजे और साले पर लगे और साले पर लगे आरोपों का जवाब नहीं दिया मुख्यमंत्री शिवराज ंिसंह चैहान ने मेरे सवालों के अधूरे और झूठे जवाब देकर एक बार फिर प्रदेश की जनता को गुमराह करने की कोशिश की है। उन्होंने कुछ आरोप जो उनकी पत्नी पर है उसके झूठे जवाब दिए पर अपने भाई, भतीजे और साले के आरोपों के जवाब नहीं दिए। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि शादी न करने की सौगंध के समय भले ही कांग्रेसजन न हो लेकिन नीलकंठ गांव जिसका घाट पूरी नर्मदा के किनारे में सबसे ऐतिहासिक पौराणिक और धार्मिक महत्व का घाट है वहां के बुजुर्ग और बच्चा-बच्चा इसकी गवाही दे सकता है। उन्होंने कहा कि जैत और यहां के लोग न केवल इनकी शादी न करने की सौगंध खाने की बात करते है बल्कि उन्होंने किन कारणों से शादी न करने की कसम खाई थी वह भी बताते नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि जहां तक डंपर चलाने और गोदाम बनाने की बात है तो यह अधिकार इस प्रदेश के हर नागरिक को है लेकिन अगर वह नागरिक यह धंधा करने में गलत जानकारी और फर्जीवाडा करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही होती है। श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री की पत्नी ने यही किया। डंपर खरीदें उसके लिए गलत जानकारी और गलत पता लिखा था। उन्होंने अपने पति का नाम शिवराज सिंह चैहान की बजाए एस.आर. सिंह क्यों लिखवाया। क्या प्रदेश का आम नागरिक ऐसा करता तो शिवराज सरकार उसे माफ कर सकती नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि विदिशा में जिस जगह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान की पत्नी ने गोदाम बनाया है वह राष्ट्रीय स्मारक हेल्यूडोरस स्तंभ खाम बाबा के संरक्षित स्मारक के सौ मीटर की परिधि मे बना हैं। क्या ये कानून का उल्लंघन नहीं है। क्या एक आम आदमी ऐसा करता तो शिवराज सरकार माफ कर नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि मेरे आरोपों का झूठा जवाब देने के साथ शिवराज सिंह चैहान ने अपने साले संजय सिंह मसानी, भाई नरेन्द्र सिंह चैहान, रोहित सिंह चैहान, भतीजे प्रद्युम्न सिंह चैहान द्वारा उनके मुख्यमंत्री पद का बेजा इस्तेमाल कर जो गलत काम नियम विरूद्ध किए है उसका कोई जवाब उन्होंने नहीं दिए। श्री सिंह ने कहा कि शिवराज के रिश्तेदार होते तो कानून उनके खिलाफ कार्यवाही करता लेकिन चूंकि वे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के रिश्तेदार है इसलिए पूरा शासनतंत्र दबाव में सब कुछ गलत होने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। शिवराज सिंह चैहान इसका जवाब नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा न कराने के पीछे मुख्य कारण यहीं था। अगर वे इन आरोपों का सदन के अंदर जवाब देते तो उसके झूठ की कलई तत्काल खुलती और शिवराज सिंह चैहान बेनकाब हो जाते।

लोक निर्माण मंत्री श्री नागेन्द्र सिंह वक्तव्य
Our Correspondent :26 July 2013
यह सच है, कि मुरैना सबलगढ़ अटार मार्ग के किण्मीण् 85/2 में चम्बल नदी पर प्रतिवर्ष पान्टून ब्रिज सेचालित कर संधारण किया जाता है। वर्ष फरवरी 1989 में म0प्र0 राज्य सेतु निर्माण निगम लिमिटेड ग्वालियर द्वारा निर्माण किया जाकर दिनांक 17/02/1989 को लोक निर्माण विभाग को सौंपा गया था। इस पुल निर्माण में 1313 लोहे की प्लेट, ब्रिज के लिए 397 आयरन प्लेट, 960 साल वुड्स स्लीपर, 115 साल वुड्स रनर तथा 45 पान्टून डम्स एवं अन्य सामग्री लगाई गई थी। थ्वगत वर्ष 2011-12 एवं 2012-13 में किसी भी अध् ि ाकारी/कर्मचारी द्वारा कोई भी सामग्री गायब नहीं की गई, एवं न ही पान्टून ;डमद्ध बेचे गये है। वर्ष 2010-11 में 24/06/2011 को चम्बल नदी में आई अचानक भीषण बाढ़ में 20 नग पान्टून बह गये थे, जिनकी रिकवरी हेतु जिम्मेदार ठेकेदार के नाम रू 2584705/- की आर आर सी जारी कर वसूली हेतु तहशीलदार पोरसा एवं कलेक्टर जिला मुरैना को लेख किया जा चुका है। विभाग के जिन-जिन अधिकारी/कर्मचारियों की समयावधि में सामग्री कम पाई गई या टूट फूट गई है, उसकी जाॅच माह मई 2013 में वरिष्ठ अधिकारियो द्व ारा की गई है, जिसके आधार पर एक उपयंत्री को निलंबित किया गया है तथा संबंधित अनुविभागीय अधिकारी एवं कार्यपालन यंत्री को अन्यत्र स्थानांतरित कर प्रथम दृष्टया दोषी पाये गये अधिकारियों के विरूध कार्यवाही परीक्षणाधीन है। सामग्री की कमी के जिम्मेदार एक ठेेकेदार के विरूध एफ0आई0आर0 भी दायर की जा चुकी है।
यह सत्य है, कि पुल को नवंम्बर माह से जून माह तक संचालित कर संधारित किया जाता है, तथा यह भी सही है, कि अधिकांशतः वर्षो मे उक्त पुल को पुर्व में समयावधि में लगाया जाकर निर्धारित समयावधि में ही खोला जाता रहा है, एवं विगत ही कुछ वर्षो में उक्त पुल को ठेकेदारों की लापरवाही से विलम्ब से लगाया जाकर समय पर खोला गया है, परन्तु मौके पर से किसी भी सामग्री को नही बेचा गया है। मुरैना-सबलगढ़ मार्ग 2 लेन का कार्य तथा कुछ शहरीय स्थानों पर 4 लेन का कार्य समय सिकरौदा पुल एवं नैपरी पुल निर्माण सहित कार्य हेतु बी ओ टी के टोल-एन्यूटी पद्वति से निविदा आमंत्रण कार्य म0प्र0 सड़क विकाश निगम द्वारा संपादित कर में काॅनकास्ट मुरैना-सबलगढ़ मार्ग ;राज्यमार्ग क्र-2द्ध अटार घाट पर पुल प्रस्तावित है। इस मार्ग की निविदा प्रक्रिया प्रगति पर है। इ
स मार्ग के लिए एन्यूटी आधार पर निविदा दो बार आमंत्रित की गई। प्रथम बार वार्षिक एप्यूटी 27ण्38 प्रतिशत आने से निविदा निरस्त की गई तथा दूसरी बार कोई निविदा प्राप्त नही हुई। अतः मार्ग की निविदा टोल-एन्यूटी के आधार पर आमंत्रित की गई। प्रथम बार कोई निविदा प्राप्त नही हुई। द्वितीय बार निविदा दिनांक 09/07/2013 को प्राप्त हुई है, जिसमें वार्षिक एन्यूटी 27ण्02 प्राप्त हुई है। यह दर अधिक होने के कारण निविदा मूल्यांकन समिति द्व ारा निविदा को निरस्त करने की अनुशंसा की गई है। निविदा प्रक्रिया पूर्ण होने के उपरांत एवं वित्तीय प्रबंध् ान प्रक्रिया उपरांत कार्य प्रारंभ कराया जायेगा। इस
कार्य में चम्बल नदी के उपर बृहद पुल का निर्माण जो कि सबलगढ़ जिला मुरैना म0प्र0 तथा जिला करोली राजस्थान को आवागमन हेतु जोड़ेगा जिसका निर्माण भी कराया जाएगा। चूॅकि चम्बल नदी का यह भाग घडि़याल अभ्यारण्य का क्षेत्र है अतः पुल निर्माण हेतु आवश्यक घडि़याल अभ्यारण्य में वन विभाग से अनुमति प्राप्त करने की कार्यवाही प्रगति पर है, जिसमें से म0प्र0 राज्य वाइल्ड लाइफ बोर्ड से नियमानुसार प्रस्ताव अनुमोदित हो चुका है तथा राजस्थान वाइल्ड लाइफ बोर्ड से अनुमोदन की प्रक्रिया प्रगति पर है। दोनो राज्यो के एकजाई सम्मिलित प्रस्ताव का अनुमोदन नेशनल वाइल्ड लाइफ बोर्ड से अनुमोदन हेतु प्रस्तुत किया जावेगा। वहां से अनुमोदन उपरांत उच्चतम् न्यायालय से अनुमति प्राप्त होगी। अनुमति प्राप्त होने के उपरांत ही अटार घाट पर पुल निर्माण का कार्य सम्पन्न कराया जावेगा।

मध्य प्रदेश में अवैध उत्खनन हो रहा है,भाजपाध्यक्ष अपनी जानकारी सही करे
Our Correspondent :26 July 2013
अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सिंह तोमर को मुख्यमंत्री के क्षेत्र में अवैध उत्खनन न होने और कांग्रेस द्वारा झूठा प्रचारित करने के आरोप पर एक पत्र लिखकर दस्तावेज भिजवाये है, जिसमें शिवा कारर्पोरेशन पर जिला प्रशासन ने 490 करोड़ 72 लाख 80 हजार रूपये का जुर्माना लगाया है। उन्होंने कहा कि इसके बाद आप बयान दें कि मध्यप्रदेश में अवैध उत्खनन कहां है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हालांकि भाजपा और आरएसएस का मूल चरित्र भ्रम फैलाना और असत्य बयानी करके जनता को गुमराह करना है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनसंघ और भाजपा की बुनियाद झूठ पर ही आधारित रहा है। अफवाह, साजिश, षड्यंत्र यह भाजपा का असली चेहरा है और समय-समय पर लाख ढ़कने पर भी वह बेनकाब हो जाता है। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि नरेन्द्र सिंह तोमर ने जिस गर्वोक्ति से यह बयान दिया कि “अवैध उत्खनन नहीं हो रहा है, कांग्रेस झूठा प्रचारित कर रही है।” अगर श्री तोमर उनके ही तंत्र द्वारा मुख्यमंत्री के क्षेत्र में हुए अवैध उत्खनन के लिये किये गये जुर्माने से अनभिज्ञ है तो इससे पता चलता है कि वह अपनी ही सरकार के काले कारनामों से अनजान है या अनजान बने हुए है। नेता प्रतिपक्ष श्री तोमर को लिखे पत्र मे कहा कि नसरूल्लागंज मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र का एक अंग है। इस क्षेत्र मे अनुविभागीय अध् ि ाकारी नसरूल्लागंज ने शिवा कार्पोरेशन को 28 दिसंबर,2011 को तीन नोटिस अवैध उत्खनन के जारी किये और उनसे 190 करोड़ 72 लाख 80 हजार रूपये सरकारी खजाने में जमा करने को कहा। नेता प्रतिपक्ष श्री तोमर को इन दस्तावेजों की काॅपी भेजते हुए कहा कि अब वह यह पता लगाये कि यह अवैध उत्खनन किसके संरक्षण में हो रहा है इसमें किसका हाथ है और कौन इसका भागीदार है। उन्होंने कहा कि श्री तोमर को इसके लिए किसी से नहीं पता करना है वह उस क्षेत्र में घूम रहा बच्चा-बच्चा इस बात की जानकारी उन्हें दे देगा।

नीतीश को शर्म नहीं आती: बीजेपी
Our Correspondent :23 July 2013
पटना। बिहार बीजेपी में अंदरुनी बगावत के बाद बीजेपी नेताओं ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हल्ला बोल दिया है. बीजेपी नेता राजीव प्रताप रुडी ने कहा कि नीतीश कुमार को शर्म नहीं आती, वो मुद्दा भटका रहे हैं.
बिहार बीजेपी प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, दो विधायकों के पार्टी से जाने से पार्टी नहीं टूटती. उन्होंने कहा कि ये तो समय ही बताएगा कि कौन सी पार्टी टूटेगी.
गौरतलब है कि बीजेपी में मोदी को लेकर बगावत पर नीतीश कुमार ने दावा किया था कि बीजेपी के 30 से 40 विधायक जेडीयू के संपर्क में हैं. जिसके बाद सियासी माहौल और गरमा गया और बीजेपी ने भी कई जेडीयू विधायकों को पार्टी से तोड़ने की धमकी दे डाली
इस बीच, एक सर्वे के हवाले से कहा गया है कि अगर अभी लोकसभा चुनाव हुए तो नीतीश को इसका नुकसान हो सकता है. सर्वे के मुताबिक बीजेपी-जेडीयू की इस जंग का सबसे ज्यादा फायदा लालू यादव की आरजेडी को हो सकता है
सर्वे के मुताबिक बीजेपी-जेडीयू के गठबंधन टूटने के बाद नीतीश की लोकप्रियता में 9 फीसदी की कमी आई है जबकि बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी की लोकप्रियता 6 फीसदी बढ़ी है.

मोदी के लिए दिल्ली अभी दूर है: शत्रुघ्न
Our Correspondent :23 July 2013
नई दिल्ली। बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने आज कहा कि गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी के लिए दिल्ली अभी दूर है. उन्होंने कहा कि वो मोदी से ज्यादा बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी को महत्व देते हैं.
मीडिया को दिए एक बयान में बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि आडवाणी और अटल विहारी बाजपेयी की बदौलत आज बीजेपी देश की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी हुई है. मोदी पर निशाना साधते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि पार्टी में कुछ नेता ऐसे हैं जो पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की उपेक्षा कर रहे हैं.
गौरतलब है कि इससे पहले भी शत्रुघ्न सिन्हा को मोदी के खिलाफ बोलते देखा गया है. सिन्हा को आडवाणी का समर्थक और मोदी का विरोधी माना जाता है.



शकील के बयान पर सियासी रार
Our Correspondent :23 July 2013
नई दिल्ली। शकील अहमद के बयान पर भले ही कांग्रेस ने कन्नी काट ली हो लेकिन कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने अपनी पार्टी के नेता शकील अहमद के उस ट्वीट का समर्थन किया, जिसमें उन्होंने बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर सांप्रदायिक राजनीति करने का आरोप लगाया था. शकील अहमद ने रविवार को एक ट्वीट करके कहा था कि प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिदीन का गठन गुजरात दंगों के बाद हुआ था.
सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि धार्मिक कट्टरतावाद आतंकवाद की जड़ है. नरेंद्र मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री बनने से पहले से ही उनकी पार्टी विभाजन की राजनीति करती आ रही है.
वहीं, दिग्गी के शकील के बचाव में आने के बाद एक बार फिर कांग्रेस महासचिव शकील अहमद ने आज मुख्य विपक्षी पार्टी पर आरोप लगाया कि वह एनआईए के उस आकलन से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है जिसमें कहा गया था कि 2002 के गुजरात दंगों के परिणामस्वरूप आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन का गठन हुआ.
अहमद ने ट्विटर पर लिखा है , ''नाटकीय ढंग से बीजेपी नेताओं के शोर शराबे के कारण मेरे बयान को लेकर एनआईए के आकलन से देश का ध्यान बांटने की कोशिशें की जा रही हैं.’’ इस मामले पर बीजेपी और कांग्रेस एक-दूसरे के आमने-सामने आ गई है और दोनों में बयानबाजी तेज हो गई है.



पी.एम.टी. घोटाले में सत्ता से जुड़े असली अपराधियों को बचाया जा रहा है
Our Correspondent :22 July 2013
नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने सी.बी.आई. से जांच की मांग दोहराई भोपाल, 21 जुलाई, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने आरोप लगाया है कि पी.एम.टी. घोटाले को सरकार रफादफा करने का प्रयास कर रही है। इसके असली अपराधियों को जो सीधे सत्ता से जुड़े है उन्हें बचाने का प्रयास कर रही है। उनसे पूछताछ तक नहीं की जा रही है। श्री सिंह ने कहा कि सरकार को तत्काल पूरे घ् ाोटाले की जांच सी.बी.आई. को सौंप देना चाहिए। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने कहा कि पी.एम.टी. घोटाला हाईप्रोफाइल घोटाला है जिसमें सत्तारूढ़ पार्टी के मंत्री से लेकर शीर्ष स्तर तक संदेह की उंगली उठ रही है। उन्होंने कहा कि पिछले दस दिनों में मुख्य अभियुक्त के अलावा छोटे-मोटे कर्मचारियों को तो पकड़ा जा रहा है लेकिन बड़े लोग जो इसके मास्टर माइंड है अभी तक पूरी जांच उन तक नहीं पहुंच रही है क्योंकि उन्हें सरकार का संरक्षण प्राप्त है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि व्यापमं में परीक्षा नियंत्रक पंकज त्रिवेदी दोहरे चार्ज में है जबकि वे तकनीकी शिक्षा से नहीं उच्च शिक्षा से ताल्लुक रखते है। उन्हें यह विशेष अवसर मंत्री के कृपा पात्र होने की वजह से मिला है। इनकी ख्याति जहां भी रहे गड़बड़ी करने की रही है। उन्हें नियम विरूद्ध परीक्षा नियंत्रक बनाया है। श्री सिंह ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पी.एम.टी. घ् ाोटाले की जो भी जांच कर रही है इसमंे उन लोगों के सारे सबूत दबाए, छिपाए और नष्ट किए जा रहे है जो भाजपा सरकार को सीधे बेनकाब करते है। श्री सिंह ने कहा कि जिस निजी संस्था के दो लोगों को पुलिस ने पकड़ा है वह मुख्यमंत्री के खास और सरकारी संस्था के उपाध्यक्ष के भाई की है। श्री सिंह ने कहा कि इस कांड की जांच सी.बी.आई. से ही होना जरूरी है, तभी इसके असली अपराधी सामने आ सकेंगे। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अब तक जो भी कार्यवाही हो रही है वह असली अपराधियों तक पहुंचने की नहीं बल्कि उन्हें बचाने की हो रही है।



भाजपा सरकार में इंदौर बना घपलों, घोटालों और अपराध का शहर
Our Correspondent :22 July 2013
नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह का इंदौर की अविश्वास सभा में संबोधन भोपाल, 21 जुलाई, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश की व्यवसायिक राजधानी के रूप में ख्याति अर्जित करने वाला इंदौर शहर को भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अपराधों का और घोटालो का शहर बना दिया है। सुगनी देवी घोटाला, पेंशन घोटाला, भूमि घोटाला का जब भी जिक्र आता है तो यहां के मंत्री कैलाश विजयवर्गीय का चेहरा इंदौर सहित पूरे प्रदेश के आंखों में तैर जाता है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा न कराना कोई साधारण घटना नहीं है। सदन के अंदर उस पर चर्चा न कराकर सरकार ने जवाब देने से भले ही मुंह चुरा लिया लेकिन क्या वह इस प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता से मुंह चुरा पाएगी उसे जवाब देना होगा।
संभागीय मुख्यालयों पर आयोजित अविश्वास सभा की कड़ी में आज इंदौर में नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने मुख्यमंत्री को ललकारते हुए कहा कि उन्होंने अपने काले कारनामों से इस प्रदेश की सूरत ही बिगाड़ दी है। हवा-हवाई बाते करके उन्होंने कवि सम्मेलन के कवियों की तरह मंच तो लूट लिया लेकिन इस प्रदेश को भ्रष्टाचार, व्याभिचार, अत्याचार और कुशासन से उपजे अराजकता की गर्त में धकेल दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के संरक्षण के ही कारण देश का सबसे बड़ा पीएमटी घोटाले का प्रमुख अभियुक्त इंदौर शहर का ही निकला। किसका संरक्षण था इसको यह इस शहर का हर व्यक्ति जानता है। युवाओ
ं के भविष्य से खिलवाड़ करने वाले मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों को इस प्रदेश की जनता अब बख्शने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि जमीन घोटाले के युं 2 तो अनेक मामले इस शहर में लोगों ने देखे और सुने है और उनके संरक्षकों को भी वे जानते है लेकिन औद्योगिक विकास के नाम पर इंदौर विकास प्राधिकरण, जेकेएम प्राइवेट लिमिटेड कंपनी और एमपी टेªड फेसीलिटेशन कार्पोरेशन लिमिटेड जिसके चेयरमेन खुद मुख्यमंत्री है ने अरबों रूपये की 51 एकड़ जमीन का जो घोटाला किया है वह इस पूरी सरकार के भ्रष्टाचार की इंतहा बयान करता है। उन्होंने कहा कि सरकारी संस्थाओं, निजी कंपनियों और भाजपा के नेताओं की सांठ-गंाठ से इस घोटाले ने पुस्तैनी जमीन के मालिकों और किसानों को तो ठगा लेकिन भू-माफियाओं ने अरबों रूपये इससे कमा लिए। बिग माॅल बनाने के नाम पर एमओयू हुआ पर उसका एमओयू में कोई उल्लेख नहीं है और वहां पर एक आवासीय काॅलोनी और होटल बना दिया गया।
जिस कंपनी ने एमओयू किया उसके पास अपनी कोई जमीन नहीं थी। यह जमीन उसने एमओयू करने के बाद सत्ता के प्रभावशाली लोगों से मिलकर हथियाई और इस प्रदेश की जनता के साथ धोखाधड़ी की। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इन्हीं घपलों, घोटालों और भ्रष्टाचारों की बात हम अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से विधानसभा के अंदर करना चाहते थे और इसी से डरकर बेनकाब होने के भय से मुख्यमंत्री और उनकी सरकार ने प्रतिपक्ष को एक जनतांत्रिक व्यवस्था में मिले अध् ि ाकारों को जो रोकने का प्रयास किया है इसका जवाब तो जनता ही मैंने क्या गलत जवाब मांगा मुख्यमंत्री से नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिह ने कहा कि मैंने अविश्वास प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री के परिजनों द्वारा पिछले सालों में किये गये भ्रष्टाचारों को सप्रमाण प्रस्तुत करते हुए उनसे जवाब चाहा था। मैंने उनसे पूछा - रोहित गृह निर्माण सोसायटी में किन नियमों के तहत उनके भाई रोहित सिंह चैहान उनकी पत्नी रश्मि चैहान, उनके भतीजे प्रदुम्न सिंह चैहान, उनकी भाभी अनीता चैहान, उनके परिजन धीरेन्द्र सिंह चैहान, बलवंत सिंह चैहान, ममता चैहान, सीमा चैहान, ब्रजेश चैहान, शशि सिंह चैहान को प्लाट दिये गये उसकी जांच कराये और जवाब दें। ऐसा इस सोसायटी के प्रति उनकी क्या दिलचस्पी थी कि 2005 के बाद इसका आडिट नहीं हुआ। ÿ मुख्यमंत्री के भाई नरेन्द्र सिंह चैहान, उनके भतीजे प्रदुम्न सिंह चैहान और दो अन्य लोगों ने 08 जून 2011 को 18.70 एकड़ जमीन जारी...... .... 3 05 करोड़ 67 लाख 75 हजार रूपये में खरीदी। जबकि उसकी बाजार की कीमत 19 करोड़ रूपये थी। इतनी रियायत उन्हें क्यों और कैंसे मिली, साथ ही वर्ष 2003 में नरेन्द्र ंिसह चैहान और प्रदुम्न सिंह चैहान की आय ÿ बुधनी रेवा समाज समिति द्वारा संचालित वृद्धा आश्रम में वर्ष 2009-10 में नरेन्द्र ंिसह चैहान का नाम जुड़ गया। वे इसके असंवैधाकि रूप से साधारण सभा के सदस्य बन गये। उसके बाद 25 नवम्बर 2010 को मुख्यमंत्री के सचिव एसके. मिश्रा एक नोट शीट लिखते है प्रमुख सचिव सामाजिक न्याय विभाग को कि उपरोक्त समिति को वृद्धा आश्रम संचालन करने की अनुमति और मान्यता प्रदान करे।
उसके पूर्व 02 नवम्बर, 2011 को मुख्यमंत्री के निज सचिव हरीश सिंह सीध्ो आयुक्त सामाजिक न्याय विभाग को पत्र लिखते है कि बुधनी रेवा समाज समिति न्यू कालोनी को विभगीय मान्यता जो कलेक्टर सीहोर ने आपके कार्यालय को प्रेषित की है इस पर तत्काल कार्यवाही करे। जब इस सेवा समिति के बारे में सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी गई तो कार्यालय असिस्टेंट रजिस्टार फर्मस एवं संस्थाएं ने जवाब दिया कि इस नाम की कोई संस्था उनके यहां पंजीकृत नहीं है। जबकि इस रेवा समाज सेवा समिति को नगर पंचायत बुधनी जिला सीहोर ने मोटर बाइंडिग प्रशिक्षण देने का पत्र लिखा और तीन दिन के अंदर प्रशिक्षण प्रारंभ करने को कहा। ÿ श्रीमती साधना सिंह के स्वामित्व की भूमि ग्राम बैस तहसील विदिशा में एक गोदाम बनाया है। यह गोदाम संरक्षित स्मारक हेल्यूडोरस स्तंभ खाम बाबा की संरक्षित सीमा के 100 मीटर के अंदर है और भारतीय पुरातत्व विभाग के संरक्षण में है। इसके 200 मीटर के अंदर परिधि में कोई भी निर्माण पुरातत्व विभाग के अनुमति के बगैर नहीं बनाया जा सकता लेकिन श्रीमती साधना सिंह का गोदाम उसी परिधि में बना हुआ है। ज्योति सिंह पत्नी श्री संजय मसानी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी के साले की पत्नी है। इन्होंने 96 लाख रूपये का एक बंगला जो आम्रपाली एनक्लेव चूना भट्टी में स्थित है वह 19 लाख 59 हजार 16 रूपये में खरीदा। जिसके लिए उन्होंने 04 लाख 19 हजार 16 रूपये का भुगतान चेक से तथा शेष 15 लाख कैश से किया। यह रियायत पाकर उन्होंने स्टांप एवं पंजीयन की चोरी की और सरकार के राजस्व को हानि पहुंचाई। ÿ संजय सिंह जो मुख्यमंत्री जी के साले है उन्होंने निलाक्ष इन्फ्रा स्ट्रेक्चर प्राइवेट लिमिटेड के नाम से लोक निर्माण विभाग में पहले ए-3, फिर ए-4 और ए-5 श्रेणी में पंजीयन कराया। ए-4 श्रेणी में जल संसाधन विभाग में ठेकेदार के रूप में पंजीकरण कराया और इसके लिए जो दस्तावेज पेश किये वे कूटरचित और फर्जी थे। जिसकी शिकायत पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक और संबंधित श्री रोहित सिंह चैहान जो आदित्य कंट्रक्शन कंपनी के प्रोपाइटर है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के भाई है।
इन्हेांने भी लोक निर्माण विभाग में बगैर एफडीआर के ए-4, ए-3 और ए-2 श्रेणी में अपना पंजीयन कराया लेकिन जब लोक निर्माण विभाग से इसकी जानकारी मांगी तो उन्होंने कहा कि आदित्य कंस्ट्रक्शन कंपनी के नाम से कोई कंपनी पंजीकृत नहीं है जबकि स्वयं लोक निर्माण विभाग ने 06 अक्टूबर 2007 को मेसर्स आदित्य कंस्ट्रक्शन कंपनी जी-4 दीनदयाल परिसर, ई-2 अरेरा कालोनी को पत्र लिखकर यह बताया कि उनकी कंपनी को अ-5 पांच श्रेणी में ठेकेदार के रूप में पंजीकृत किया गया है। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय ंिसह ने कहा कि इन उपरोक्त मामलों में मैंने मुख्यमंत्री से सीधे जवाब चाहा था। इस बारे में पूर्व में भी मुख्यमंत्री को और अन्य संबंधित विभागों को जांच एजेंसियों को लिखा लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। तब उपरोक्त मुद्दों को सदन में उठाकर मुख्यमंत्री से जवाब मांगने के अलावा कोई दूसरा विकल्प विपक्ष के पास नहीं था। इसलिए बौखलाए मुख्यमंत्री ने विधानसभा के अंदर भी जवाब न देने से बचने के लिए मध्यप्रदेश के संसदीय इतिहास केा ही एक काले अध्याय के रूप नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इसके अलावा हमने एक 27 सूत्रीय आरोप पत्र भी 08 जुलाई को प्रमुख सचिव म.प्र. विधानसभा को नियम प्रक्रियाओं के तहत सौंपा था। जिसमें हमने सरकार से उसकी घोषणाओं और अमल के बारे में जानना चाहा था। उस अविश्वास प्रस्ताव के प्रमुख बिंदु थे- (1) घोषणावीर की घ्ाोषणाओं पर अमल ना होना। (2) भ्रष्टाचार से भाजपा मस्त मध्यप्रदेश त्रस्त (3) प्रदेश में कुपोषण का कहर (4) भाजपा की भ्रष्ट कानून व्यवस्था (5) महिलाओं पर अत्याचार (6) ढोंगी मामा के प्रदेश में बेटियां असुरक्षित (7) शिवराज सरकार में बेटियां लापता (8) आदिवासियों व दलितों पर बेतहाशा अत्याचार (9) आदिवासियों का हक भाजपा सरकार का अन्याय (10) गेमन जमीन घोटाला (11) 24 घंटे बिजली देने के नाम पर जनता से धोखाधड़ी (12) ब्लैक लिस्टेड कंपनी लेंको अमरकंटक पावर लिमिटेड (13) खनिज विभाग में अवैध खनन और माफिया को मंत्री एंव मुख्यमंत्री का संरक्षण (14) मैगनीज घोटाला (15) नमक खरीदी घोटाला (16) मनरेगा में भरी घोटाला (17) लघु वनोपज संघ में 260 करोड़ का घोटाला(18) उद्योग लगेंगे, मुंगेरीलाल के सपने, इन्वेस्टर मीट, सरकारी खजाना किया खाली, (19) उच्च शिक्षा में अनियमितता (20) अधिकारी-कर्मचारी विरोध्ी भाजपा सरकार (21) मध्यप्रदेश के किसानों से छलावा (22) मुख्यमंत्री केरिश्तेदारों द्वारा भ्रष्टाचार की सोसायटी (23) प्रदेश के कोल ब्लाक खनिज निगम, लघु उद्योग निगम और विभाग की कोयला दलाली (24) टीकमगढ़ में भारी अनियमितताएं (25) अपैक्स बैंक में भ्रष्टाचार (26) म.प्र. सरकार के विभिन्न विभाग जिनमें भ्रष्टाचार का बोलबाला है (27) सरकारी विज्ञापनों पर भारी अपव्यय फिल्मी दुनिया फेल। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि यह वे आरोप है जिन्हें जनता पिछले 10 साल से म.प्र में भोग रही है। हमने जनता की इसी आवाज को विधानसभा में बुलंद करना चाहा, सरकार से जवाब मांगना चाहा लेकिन सरकार डरकर सदन से भाग गई और एक ऐसा इतिहास रच गई जिसे आने वाली पीढ़ी जब भी देखेगी उसका सिर शर्म से झुक



1984 दंगा: सज्जन को अदालत का नोटिस
Our Correspondent :22 July 2013
नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 के सिख विरोधी दंगा मामले में सज्जन कुमार को बरी करने के फैसले के खिलाफ सीबीआई की अपील पर कांग्रेस नेता को नोटिस जारी किया है. ये मामला एक भीड़ द्वारा पांच सिखों की हत्या से जुड़ा है.
जस्टिस जी एस सिस्तानी और जस्टिस जी पी मित्तल की पीठ ने जांच एजेंसी की याचिका पर सज्जन कुमार से जवाब तलब किया है. न्यायालय इस मामले में अब 27 अगस्त को आगे विचार करेगा.



1984 दंगा: सज्जन को अदालत का नोटिस
Our Correspondent :22 July 2013
नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने 1984 के सिख विरोधी दंगा मामले में सज्जन कुमार को बरी करने के फैसले के खिलाफ सीबीआई की अपील पर कांग्रेस नेता को नोटिस जारी किया है. ये मामला एक भीड़ द्वारा पांच सिखों की हत्या से जुड़ा है.
जस्टिस जी एस सिस्तानी और जस्टिस जी पी मित्तल की पीठ ने जांच एजेंसी की याचिका पर सज्जन कुमार से जवाब तलब किया है. न्यायालय इस मामले में अब 27 अगस्त को आगे विचार करेगा.



शिवराज के पोस्टर से मोदी गायब
Our Correspondent :22 July 2013
भोपाल। आज से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जन आशीर्वाद यात्रा शुरु कर रहे हैं. इसके साथ ही वो एमपी में विधानसभा चुनाव अभियान का आगाज करेंगे. लेकिन अखबारों में छपे इस यात्रा के विज्ञापन से गुजरात के मुख्यमंत्री और बीजेपी के प्रचार समिति अध्यक्ष नरेंद्र मोदी गायब नजर आ रहे हैं.
इस पोस्टर में बीजेपी के सभी नेता नजर आ रहे हैं, लेकिन मोदी कहीं भी नहीं दिख रहे हैं. इसमें अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, सुषमा स्वराज, राजनाथ सिंह, अनंत कुमार नजर आ रहे हैं, लेकिन मोदी कहीं नहीं हैं. अब तक बीजेपी हाईकमान यही कहता आ रहा है कि मोदी पार्टी का चेहरा हैं और उन्हें चुनाव प्रचार समिति की कमान भी दी गई है.
खुद पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह कई बार कह चुके हैं कि नरेंद्र मोदी इस वक्त बीजेपी में सबसे लोकप्रिय नेता हैं और उनकी लोकप्रियता का फायदा बीजेपी को होगा. राजनाथ अमेरिका से भी मोदी पर से वीजा पाबंदी हटाने की गुजारिश करने की बात कह चुके हैं. ऐसे में मोदी का पोस्टर से गायब होना कई सवाल खड़े करता है. बीजेपी में अंदरखाने मोदी को लेकर विरोध है, ये विरोध आडवाणी के इस्तीफे के बाद खुलकर सामने आ गया था. शिवराज आडवाणी कैंप के समर्थक माने जाते हैं. ये भी तय है कि शिवराज जनआशीर्वाद यात्रा के जरिए मोदी की लोकप्रियता को चुनौती देना चाहते हैं.

2014 में चुनाव नहीं धर्मयुद्ध : जेटली
Our Correspondent :22 July 2013
नई दिल्ली। बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने कहा कि आम चुनाव 2014 में केवल राजनीति की लड़ाई नहीं बल्कि नैतिकता और अनैतिकता के बीच एक धर्मयुद्ध होगा. जेटली ने कहा कि यूपीए सरकार घोटालों की सरकार है और इस सरकार में सामने आ रहे भ्रष्टाचार के कई मामलों ने लघु उद्योग का रूप धारण कर लिया है.
सीबीआई के दुरुपयोग पर बोलते हुए जेटली ने कहा कि कांग्रेस अपने मंत्रियों और कांग्रेसी नेताओं को बचाने के लिए सीबीआई का मिसयूज करती है. उन्होंने कहा कि वोट की राजनीति के लिए कांग्रेस आईबी को बदनाम करती है और सीबीआई के जरिए ‘2 जी घोटाला’, ‘रेल घूस कांड’ और दूसरे अन्य मामलों के दोषियों को बचाती है.
राज्य सभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने कहा कि यूपीए सरकार में महंगाई दिन ब दिन आसमान छूती जा रही है. आए दिन पेट्रोल डीजल और खाने-पीने की चीजों की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है जिससे देश की आम जनता का जीना मुहाल हो गया है. जेटली ने भरोसा दिलाया कि अगर आम चुनाव में एनडीए की सरकार बनी तो वो मंहगाई से गरीबों को निजात दिलाएंगे.

प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने आज राज्यपाल श्री रामनरेश यादव से मुलाकात कर उन्हें एक पत्र सौंप
Our Correspondent :19 July 2013
भोपाल, 19 जुलाई, 2013। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने आज राज्यपाल श्री रामनरेश यादव से मुलाकात कर उन्हें एक पत्र सौंपकर विधानसभा का असंवैधानिक रूप से किए गए सत्रावसान करने के फलस्वरूप पुनः विधानसभा का सत्र बुलाने की मांग की। इसके पूर्व भी कांग्रेस विधायक दल ने इस आशय का पत्र राज्यपाल को सौंपा था। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने विधानसभा सत्र के अवसान को लेकर सत्ता पक्ष द्वारा सुनियोजित रूप से फैलाए जा रहे भ्रम की जानकारी देते हुए राज्यपाल को पुनः 11 जुलाई 2013 को विधानसभा में क्रमवार घटित घटनाओं का ब्यौरा सौंपा। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने राज्यपाल को सौंपे पत्र में बताया कि विधानसभा संचालन नियम 143 के अंतर्गत एक बार अविश्वास प्रस्ताव को चर्चा हेतु स्वीकृत कर लिया जाये तो उस पर चर्चा कराना आवश्यक है, क्योंकि अविश्वास प्रस्ताव पर किसी परिस्थिति में चर्चा नहीं हो सकती है ऐसा कोई नियम नहीं है। उक्त परिस्थिति में विधानसभा संचालन नियम में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है कि विधानसभा अनिश्चितकाल हेतु स्थगित कर दी जाये। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने राज्यपाल महोदय को 11 जुलाई को विधानसभा की कार्यवाही का सारांश प्रस्तुत किया- संसदीय कार्य मंत्री (डाॅ. नरोत्तम मिश्रा) - अध्यक्ष महोदय, अविश्वास पर ही औचित्य का प्रश्न खड़ा हो गया, मैंने नहीं किया है इनके उपनेता ने ही प्रश्न खड़ा किया है, माननीय अध्यक्ष महोदय, जब अविश्वास के औचित्य पर ही प्रश्न है, नेता प्रतिपक्ष पर अविश्वास है, उन्होंने सदन में अपने लोगों को खड़ा किया, हमने अपने लोगों को खड़ा किया, मैं कह रहा हूं कि विधायी कार्य पूर्ण हो चुका है, अब इसका कोई औचित्य नहीं है सदन में सहयोग नही दे रहे है इसलिए सदन की कार्यवाही स्थगित की जावे। (व्यवधान) श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति- यह कार्यसूची क्या है, अध्यक्ष महोदय, यह आपकी अनुमति से सदन के अंदर कार्यसूची में छपा है, कार्यसूची में अविश्वास प्रस्ताव है, प्रस्ताव पारित हुआ था, इस पर चर्चा होनी चाहिए नहीं तो यह कार्यसूची किस काम की है। (व्यवधान) यह लोक तंत्र की हत्या की जा रही है, यह कार्यसूची किस काम की है। डाॅ. नरोत्तम मिश्रा- मैं संसदीय कार्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा, यह प्रस्ताव करता हूं कि सदन में शासकीय कार्य पूरा हो चुका है और प्रतिपक्ष सदन की कार्यवाही आगे चलाने में सहयोग नहीं कर रहा है इसलिए सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित की जावे। (व्यवधान) वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री (श्री कैलाश विजयवर्गीय) - अध्यक्ष महोदय, माननीय संसदीय कार्य मंत्री जी ने जो प्रस्ताव रखा है उसका मैं समर्थन करता हूं। (व्यवधान) श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति- संपूर्ण मध्यप्रदेश को मालूम है कि विधानसभा अध्यक्ष ने स्वीकृति दी है कि अविश्वास प्रस्ताव लिया जाता है। (व्यवधान) सदन की कार्यवाही का अनिश्चितकाल के लिए स्थगन अध्यक्ष महोदय- क्योंकि संसदीय कार्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा यह प्रस्ताव रखा गया है कि संसदीय कार्य समाप्त हो गया है और अन्य कोई कार्य लंबित नहीं है अतः मैं सदन की कार्यवाही अनितश्चतकाल के लिए स्थगित करता हूं। नेता प्रतिपक्ष श्री सिंह ने राज्यपाल को बताया कि पूर्व में सदन आधे घंटे के लिए स्थगित किया गया था पुनः 12ः46 मिनिट पर सदन शुरू हुआ और सदन की कार्यवाही 12ः59 मिनिट पर अनिश्चितकाल के लिये स्थगित कर दी गई। इस अवधि में राष्ट्रगान भी शामिल है। उपरोक्त घटनाक्रम से यह स्थिति बिलकुल स्पष्ट है कि कार्य-सूची के अनुसार विधानसभा का कार्य पूरा नहीं हुआ और विश्वास प्रस्ताव पर बोलने ही नहीं दिया गया और डाॅ. श्री नरोत्तम मिश्रा के प्रस्ताव पर और श्री कैलाश विजयवर्गीय के समर्थन के आधार पर विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी जो कि पूर्ण रूप से अवैध है। उपरोक्त समस्त कार्यवाही एक साजिश के तहत षड़यंत्रपूर्वक तरीके से की गई ताकि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा ना हो सके। श्री सिंह ने राज्यपाल को बताया माननीय महोदय को यह अधिकार है कि माननीय महोदय विधानसभा सत्र को पुनः आहूत कर सकते है, यदि सत्र अवैधानिक रूप से समाप्त कर दिया गया हो तो। विधानसभा में घटित घटनाक्रम से स्पष्ट है कि विधानसभा सत्र इस आधार पर अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया कि 11 जुलाई 2013 की कार्यसूची के अनुसार विधानसभा का कार्य पूर्ण हो चुका है, जबकि विधानसभा की कार्यवाही के अनुसार यह स्थिति बिलकुल उलट है। अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हुई थी परंतु उस पर चर्चा पूर्ण नहीं हो सकी और ना ही उसका कोई निराकरण ही हुआ है। इसके अतिरिक्त विधानसभा संचालन नियम के अनुसार अविश्वास प्रस्ताव चर्चा हेतु स्वीकृत कर लिया जाये तो उस पर चर्चा करानी आवश्यक है। ऐसी स्थिति में जिस तरीके से विधानसभा सत्र अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा किये बिना अनिश्चितकाल हेतु स्थगित कर दिया वह अवैधानिक था इस संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा ‘‘स्टेट आॅफ पंजाब विरूद्ध सत्यपाल‘‘ (ए.आई.आर. 1969 सु.को. 903) में यह सिद्धांत प्रतिपादित किया है कि - ‘यदि अवैधानिक रूप से विधानसभा सत्र स्थगित कर दिया जाता है तो उसे प्रदेश के राज्यपाल पुनः आहूत कर सकते है।‘ नेता प्रतिपक्ष ने राज्यपाल को सौंपे पत्र में कहा कि चूंकि 11 जुलाई 2013 को विधानसभा की जो सत्रावसान हुआ है वह पूरी तरह असंवैधानिक है इसलिए वे दोबारा विधानसभा आहूत कर अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कराने के लिए निर्देशित करें।

मोदी की उम्मीदवारी पर उद्धव की चुप्पी
Our Correspondent :19 July 2013
नई दिल्ली। चंद दिन पहले ही गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के हिंदू राष्ट्रवादी वाले बयान की तारीफ करने वाली शिवसेना आज मोदी को लेकर चुप्पी साध ली. एनडीए की तरफ से मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर शिवसेना ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं. शिवसेना के मुताबिक एनडीए में पीएम पद के लिए ऐसे भरोसेमंद चेहरे हैं, जिन पर विचार किया जा सकता है.
दरअसल शुक्रवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में एसोचैम के कार्यक्रम में आए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मीडिया के सवालों के जवाब में कहा कि एनडीए में पीएम पद के लिए बहुत से भरोसेमंद लोग मौजूद हैं. उनके मुताबिक एनडीए की ओर से एक भरोसेमंद पीएम कैंडिडेट पर राजनाथ सिंह से चर्चा करेंगे
जब पत्रकारों ने ठाकरे से सवाल किया कि मोदी को भरोसेमंद उम्मीदवार के तौर पर नहीं देखते क्या, तो इस मुद्दे पर वो चुप्पी साधे रहे. उद्धव ठाकरे दो दिन के लिए दिल्ली आए हैं. वो आज बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी से भी मिले.

सिंगला की जमानत याचिका पर CBI को नोटिस
Our Correspondent :19 July 2013
नई दिल्ली । आ रेलवे घूस कांड मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने पूर्व रेल मंत्री पवन कुमार बंसल के भांजे विजय सिंगला और तीन अन्य की जमानत याचिकाओं पर सीबीआई को नोटिस जारी कर 30 अगस्त तक जवाब मांगा है.
जस्टिस हिमा कोहली ने सिंगला, रेलवे बोर्ड के निलंबित सदस्य महेश कुमार, बेंगलूर स्थित जी.जी. इलेट्रोनिक्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के महाप्रबंधक नारायण राव मंजूनाथ और कथित बिचौलिये संदीप गोयल की जमानत याचिकाओं पर सीबीआई को नोटिस जारी कर 30 अगस्त को जवाब मांगा है.
चारों आरोपियों के वकीलों ने अदालत को बताया कि इस मामले में गिरफ्तारी के 60 दिनों के भीतर ही आरोपपत्र दाखिल किया जा चुका है और जांच के लिए कुछ बाकी नहीं बचा है, इसलिए आरोपी जमानत के हकदार हैं. इस मामले में जल्द सुनवाई किए जाने की मांग करते हुए अधिवक्ता ने अदालत को बताया कि निचली अदालत द्वारा केवल उन्हें इस आधार पर जमानत से इनकार किया जा रहा है कि सबूतों से छेड़छाड़ की जा सकती है.
उन्होंने कहा कि सभी बरामदगियां की जा चुकी हैं और सभी गवाहों के बयान दर्ज हो चुके हैं. इसलिए कुछ बचा नहीं है. आरोपियों के वकीलों ने तर्क दिया कि हम अदालत से मामले की जल्द सुनवाई की अपील करते हैं क्योंकि आरोपी आरोपपत्र दाखिल होने के बावजूद लंबे समय तक जेल में रहेंगे.
उनकी जमानत याचिकाओं का विरोध करते हुए सीबीआई ने कहा कि जमानत नहीं दिए जाने का कारण केवल सबूतों से छेड़छाड़ करने की आशंका भर नहीं है बल्कि यह अपराध की गंभीरता का भी मामला है.
सिंगला पर आरोप है कि उन्होंने कुमार को रेलवे बोर्ड में उनकी पसंद का सदस्य (इलैक्ट्रिकल) का पद दिलाए जाने के लिए उनसे दस करोड़ रुपये की रिश्वत की मांग की थी. कुमार को हाल ही में सदस्य (स्टाफ) रेलवे बोर्ड पर पदोन्नत किया गया था.
चारों आरोपियों को भारतीय दंड संहिता के तहत आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों के तहत आरोपित किया गया है. इस मामले में इन लोगों के अलावा छह अन्य एम वी मुरली कृष्णन और सी वी वेणुगोपाल, राहुल यादव, समीर संधीर, सुशील डागा और अजय गर्ग को भी आरोपित किया गया है. केवल गर्ग को सीबीआई की विशेष अदालत ने जमानत दे दी है.

हकीकत से दूर है टीवी पर आलोचना:PM
Our Correspondent :19 July 2013
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने विपक्ष पर निशाना साधा है. पीएम ने कहा है कि टीवी पर बैठकर आरोप लगाना और आलोचना करना अच्छा लगता है, लेकिन ये हकीकत नहीं है. अर्थव्यवस्था की हालत में थोड़ी गिरावट क्या हुई विपक्ष इसे बढ़ा चढ़ाकर बता रहा है. उन्होंने कहा कि आर्थिक हालातों को सुधारने के लिए हम लगातार प्रयास कर रहे हैं.
मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को उद्योग जगत को विश्वास दिलाया कि केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कदम उठा रही है. "मुझे मालूम है कि अर्थव्यवस्था में मंदी के कारण उद्योग जगत बेहद चिंतित है."
उन्होंने कहा, "अगर स्थितियां ठीक नहीं चलतीं, जैसा कि अभी लग रहा है, तो यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह आगे बढ़कर इस दिशा में कदम उठाए. सबसे बड़ी चिंता विदेशी मुद्रा की अस्थिरता को लेकर है."
प्रधानमंत्री ने कहा कि बाजार से बड़ी मात्रा में मुद्रा के प्रवाह के कारण ऐसा हुआ है, जिसके चलते रुपये का अवमूल्यन हुआ है. उन्होंने कहा, "हम डिमांड और सप्लाई दोनों तरफ से करंट अकाउंट डेफिसीट को कम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं."
पीएम ने कहा है कि चालू खाता घाटा को कम किया जा सकता है सिंह ने आंकड़े बताते हुए कहा कि वित्त वर्ष 2012-13 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 4.7 प्रतिशत है, प्रधानमंत्री ने कहा, "इसे 2.5 फीसदी तक लाना संभव है, और हम इसके लिए प्रयासरत हैं. यही नहीं उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2013-14 में ये संभव हो सकेगा.

प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री गिरते रूपयो को रोकने मे नाकाम, टेलीकाम 100% एफडीआई घातक सिद्ध होगी- कैलाश वितयवर्गीय
Our Correspondent :18 July 2013
भोपाल। आज एक प्रेस वार्ता मे म.प्र. के उद्योगमंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री रूपये की गिरती साख को बचाने मे नाकाम रहे है, उन्होंने कहा कि इस हेतु सर्वदलीय सभा बुलानी चाहिए, उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि भाजपा शासित राज्यों मे जीडीपी का स्तर ऊंचा है जबकि कांग्रेस शासित राज्यों मे यह निम्न स्तर पर है।
एक प्रश्न के उत्तर मे उन्होंने कहा कि अगर हमारी सरकार बनेगी तो जीडीपी का स्तर 10% रहेगा।

झारखंड विधानसभा में विश्वासमत आज
Our Correspondent :18 July 2013
रांची: झारखंड के नए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज विधानसभा में विश्वासमत हासिल करेंगे. सोरेन ने 13 जुलाई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. हालांकि सोरेन को विश्वास मत हासिल करने में कड़े इम्तिहान से गुजरना पड़ सकता है. जहां विश्वास मत के खिलाफ समूचा विपक्ष लामबंद है
वहीं गठबंधन के तीन विधायकों का विश्वास मत के दौरान उनकी मौजूदगी संदिग्ध बताई जा रही है. इससे पहले उन्होंने नौ जुलाई को राज्यपाल सैयद अहमद से मिलकर उन्हें 43 विधायकों के समर्थन की सूची सौंपी थी. सूत्रों के मुताबिक, सोरेन सदन में विश्वास मत का प्रस्ताव रखेंगे. इसके खिलाफ जहां विपक्ष ने मतदान करने का ऐलान किया है, वहीं अपहरण मामले और बीज घोटाले में आरोपों का सामना कर रहे सत्तारूढ़ जेएमएम के दो विधायक सीता सोरेन और नलिन सोरेन फरार हैं
इससे पहले लंबे वक्त से चला आ रहा राष्ट्रपति शासन हटाने को कैबिनेट ने मंजूरी दी थी. जेएमएम नेता हेमंत सोरेन ने 13 जुलाई को अपने दो सहयोगी मंत्रियों कांग्रेस के राजेन्द्र सिंह और आरजेडी के अन्नपूर्णा सिंह के साथ शपथ ग्रहण की थी. इससे पूर्व उन्होंने राज्यपाल डा सैयद अहमद के पास नौ जुलाई को सरकार बनाने का दावा पेश करते हुए 82 सदस्यीय विधानसभा में 43 विधायकों के समर्थन की सूची पेश की थी.


यूपी कैबिनेट का विस्तार, 2 नए चेहरे शामिल
Our Correspondent :18 July 2013
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने 16 महीने पुराने मंत्रिमंडल का आज तीसरा विस्तार किया है. आज हुए कैबिनेट विस्तार में 2 नए चेहरों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है जबकि दो राज्य मंत्रियों को प्रमोशन देकर कैबिनेट मंत्री बनाया गया है.
गायत्री प्रसाद प्रजापति को तरक्की देकर खनन मंत्रालय का कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. प्रजापति अमेठी से विधायक हैं. राममूर्ति वर्मा को भी तरक्की देकर दुग्ध एवं विकास मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है. बलिया से विधायक नारद राय को पहली बार अखिलेश मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. उन्हें राज्य मंत्री बनाया गया है. इनके अलावा गाजीपुर से विधायक कैलाश यादव को भी राज्य मंत्री पद की शपथ दिलाई गई है. इसके साथ ही अखिलेश मंत्रिमंडल में अब मंत्रियों की संख्या बढ़कर 58 हो गई है.
गौरतलब है कि राजाराम पांडेय को महिलाओं के प्रति अभद्र टिप्पणी करने के बाद मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखाया गया था जबकि राजा भैया ने जिया-उल-हक हत्याकांड में आरोपी बनाए जाने के बाद खुद ही इस्तीफा दे दिया था. हालांकि संभावना व्यक्त की जा रही थी कि राजा भइया को कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है लेकिन सरकार ने ऑपरेशन क्लीन के तहत राजा भइया को शामिल करने का जोखिम नहीं उठाया.


सांसद विजय बहादुर सिंह बीएसपी से निष्‍कासित
Our Correspondent :17 July 2013
लखनऊ: गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में बयान देने वाले बीएसपी सांसद विजय बहादुर सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है. पार्टी ने अनुशासनहीनता के आरोप में उन्‍हें पार्टी से निकाला है.
बीएसपी ने 'कुत्ते के बच्चे' वाले बयान पर नरेंद्र मोदी का बचाव करने वाले सांसद विजय बहादुर सिंह को पार्टी से निकालने का संकेत मायावती ने तीन दिन पहले ही दे दिया था. विजय बहादुर सिंह के बयान पर मायावाती ने कहा था कि हर नेता को पार्टी अनुशासन में रहना होगा.
माया ने विजय बहादुर को पार्टी छोड़ने की राय देते हुए दो टूक कहा था कि जिन्हें पार्टी के सिद्धांत और अनुशासन मंजूर नहीं हैं, उन्हें खुद पार्टी छोड़ देनी चाहिए. उन्होंने कहा था कि इस मामले की जांच हो रही है और उस नेता को पार्टी से बाहर भी किया जा सकता है. बुधवार को विजय बहादुर को पार्टी से निकाल देने का फैसला ले लिया गया.
बीएसपी सांसद ने मोदी के बयान का ये कहते हुए समर्थन किया था कि 'कुत्ते के बच्चे' वाली उनकी टिप्पणी से यह साबित होता है कि वह 'संवेदनशील' व्यक्ति हैं. उन्होंने कहा था कि जो लोग उन पर हमला कर रहे हैं वे 'राष्ट्रविरोधी' हैं.
बीएसपी सांसद ने मोदी की जमकर तरफदारी करते हुए कहा था, 'मोदी का बयान सौ फीसदी सही है. यह देश के पक्ष में दिया गया बयान है. वह राष्ट्रीय एकता और अहिंसा की बात कर रहे हैं. जो लोग उनके इस बयान का विरोध कर रहे हैं, वे राष्ट्रविरोधी हैं. मेरी उनसे अपील है कि वोटों के लिए ऐसा न करें.'


नीतीश पर विपक्ष का हल्ला बोल, मांगा इस्तीफा
Our Correspondent :17 July 2013
पटना: छपरा में मिड डे मिल खाने से 20 बच्चों की मौत के बाद बिहार की राजनीति एक बार फिर गरमा गई है. हाल के दिनों तक सत्तासीन जदयू के साथ गठबंधन सरकार चलाने वाली बीजेपी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस्तीफे की मांग कर डाली है तो वहीं आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा है कि राज्य सरकार राम भरोसे चल रही है. इस हादसे के बाद बीजेपी और आरजेडी ने आज छपरा बंद का एलान किया है.
बीजेपी ने नीतीश सरकार को इस हादसे का जिम्मेदार ठहराते हुए उनसे इस्तीफा मांगा है. बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि नीतीश कुमार को मिड डे मिल की घटना की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.
वहीं आरजेडी के अध्यक्ष लालू यादव ने इस हादसे के लिए नीतीश शासन के भ्रष्टाचार को जिम्मेदार ठहराया है. लालू ने आरोप लगाया कि सरकार के कई मंत्री भी बच्चों को दोपहर का मुफ्त खाना देने की इस सरकारी योजना से अपना फायदा उठा रहे हैं. लालू ने ऐसे मंत्रियों के खिलाफ भी जांच की मांग की है.
एलजेपी अध्यक्ष राम विलास पासवान भी सियासी मौका देख कूद पड़े हैं. पासवान का कहना है कि मरने वाले छात्रों के परिजनों को 2 लाख नहीं बल्कि 20 लाख रुपए मुआवजा मिलना चाहिए, क्योंकि वो महादलित और अति पिछड़ा समुदाय के हैं.


मध्यप्रदेश में अवैध उत्खनन हो रहा है,
Our Correspondent :16 July 2013
भाजपाध्यक्ष अपनी जानकारी सही करें भाजपाध्यक्ष अपनी जानकारी सही करें न ेता प ्रतिपक्ष श्री अजय सि ंह न ेता प ्रतिपक्ष श्री अजय सि ंह श्री अजय सि ंह न े भाजपाध्यक्ष को पत्र लिखकर बताया कि भाजपाध्यक्ष को पत्र लिखकर बताया कि म ुख्यम ंत्री क े क्ष ेत्र म ें अव ैध उत्खनन पर म ुख्यम ंत्री क े क्ष ेत्र म ें अव ैध उत्खनन पर 490 करा ेड ़ का जुर्मा ना लगाया ह ै जिला प ्रशासन न े भोपाल, 15 ज ुर्लाइ , 2013। भोपाल, 15 ज ुर्लाइ , 2013। भोपाल, 15 ज ुर्लाइ , 2013। न ेता प्रतिपक्ष श्री अजय सि ंह ने भाजपा अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सि ंह तोमर को मुख्यमंत्री क े क्षेत्र में अव ैध उत्खनन न होन े और कांग्र ेस द्वारा झ ूठा प ्रचारित करने क े आरोप पर एक पत्र लिखकर दस्ताव ेज भिजवाये है, जिसमें शिवा कारपोर ेशन पर जिला प ्रशासन ने 490 करोड ़ 72 लाख 80 हजार रूपये का ज ुर्माना लगाया है। उन्हांेन े कहा कि इसके बाद आप बयान द ें कि मध्यप ्रद ेश में अव ैध उत्खनन कहा है। न ेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हाला ंकि भाजपा और आरएसएस का मूल चरित्र भ्रम फैलाना और असत्य बयानी करके जनता को गुमराह करना है। उन्होंन े कहा कि भारतीय जनसंघ और भाजपा की ब ुनियाद झ ूठ पर ही आधारित रही है। अफवाह, साजिश, षड़यंत्र यह भाजपा का असली च ेहरा है और समय-समय पर लाख ढकन े पर भी वह ब ेनकाब हो जाता है। न ेता प्रतिपक्ष श्री सि ंह ने कहा कि नरेन्द ्र सि ंह तोमर ने जिस गर्वोक्ति स े यह बयान दिया कि ‘‘अव ैध उत्खनन नही ं हा े रहा है, अव ैध उत्खनन नही ं हा े रहा है, अव ैध उत्खनन नही ं हा े रहा है, का ंग्र ेस झ ूठा प ्रचारित का ंग्र ेस झ ूठा प ्रचारित कर रही है। का ंग्र ेस झ ूठा प ्रचारित कर रही है।‘‘ कर रही है।‘‘‘‘‘‘ अगर श्री तोमर उनक े ही तंत्र द्वारा मुख्यमंत्री के क्षेत्र में हुए अव ैध उत्खनन के लिये किये गये ज ुर्माने स े अनभिज्ञ है तो इसस े पता चलता है कि वह अपनी ही सरकार के काले कारनामों स े अनजान है या अनजान बन े हुए है। न ेता प ्रतिपक्ष न े श्री तोमर को लिखे पत्र में कहा कि नसरूल्लागंज मुख्यमंत्री क े विधानसभा क्षेत्र का एक अंग है। इस क्षेत्र में अन ुविभागीय अधिकारी नसरूल्लागंज न े शिवा कार्पाेर ेशन को 28 दिसम्बर, 2011 को तीन नोटिस अव ैध उत्खनन क े जारी किये और उनसे 490 करोड ़ 72 लाख 80 हजार रूपये सरकारी खजान े में जमा करन े को कहा। न ेता प ्रतिपक्ष न े श्री तोमर को इन दस्तावेजों की काॅपी भेजते हुए कहा कि अब वह यह पता लगाये कि यह अव ैध उत्खनन किस क े स ंरक्षण में हो रहा है, इसमें किसका हाथ है और कौन इसका भागीदार है। उन्होंन े कहा कि श्री तोमर को इसके लिए किसी स े नहीं पता करना है वह उस क्षेत्र में घ ूम आये वहा ं का बच्चा-बच्चा इस बात की जानकारी उन्हें द े द ेगा।


अविश्वास सभा 16 जुलाई ग्वालियर तथा जुलाई ग्वालियर तथा
Our Correspondent :15 July 2013
भोपाल संभाग के बाद अगली अविश्वास प्रस्ताव सभा 16 जुलाई को ग्वालियर में और 21 जुलाई को उज्जैन तथा इंदौर संभाग मे ं होगी। यह सभा फूलबाग स्थित रानी लक्ष्मीबाई की प्रतिमा के सामने होगी। उल्ल ेखनीय है कि 11 जुलाई को विधानसभा के मानसून सत्र मे ं शिवराज सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होना थी, ल ेकिन एक साजिश, षड़यंत्र के तहत संसदीय नियम प्रक्रियाओ ं को दर किनार कर जिस तरह सदन को स्थगित किया, उसके विरोध में कांग्रेस विधायक दल ने सभी संभागीय मुख्यालयों पर शिवराज सरकार के खिलाफ अविश्वास सभा रखने का निर्णय लिया है।


मोदी को कांग्रेस का जवाब
Our Correspondent :15 July 2013
नई दिल्ली: गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए जुबानी हमले को लेकर कांग्रेस ने चौतरफा हमला बोला है. मोदी ने धर्म निरपेक्षता को लेकर कांग्रेस पर कटाक्ष किया था कि जब जब कांग्रेस संकट में फंसती है तो ये धर्मनिरपेक्षता का बुर्का ओढ़ कर बंकर में छिप जाती है. इस बयान के बाद से कांग्रेस आग बबूला है. सोमवार को कांग्रेस के मीडिया सेल के प्रमुख अजय माकन ने खेल और शिक्षा के मसले पर यूपीए सरकार के प्रदर्शन को लेकर मोदी के सवालों का जवाब पूरी तैयारी से दिया. तमाम आंकड़ों के साथ माकन ने गुजरात में शिक्षा व्यवस्था के बहाने मोदी पर निशाना साधा.
उन्होंने कहा कि मोदी को हमसे सवाल करने से पहले खुद से पूछना चाहिए कि खेल और शिक्षा को लेकर गुजरात में उन्होंने पिछले 11 सालों में क्या किया ? उन्होंने कहा कि गुजरात सरकार ने उच्च शिक्षा के लिए भी कोई प्रयास नहीं किया.
रविवार को पुणे में फर्ग्युसन कॉलेज में मोदी ने कांग्रेस और यूपीए सरकार पर जमकर हमला बोला था. मोदी ने खेल और उच्च शिक्षा को लेकर केंद्र सरकार की नीतियों के पर सवाल उठाए थे.
माकन ने कहा कि मैं खेल मंत्री रह चुका हूं और इस नाते पूछना चाहूंगा कि ओलिंपिक के लिए 83 खिलाड़ियों ने क्वॉलिफाई किया था, इनमें गुजरात से कितने थे? इसका जवाब देते हुए माकन ने खुद ही कहा कि एक भी खिलाड़ी गुजरात से नहीं था. कांग्रेस नेता ने मोदी पर तीखे हमले करते हुए कहा कि राष्ट्रीय खेल के 1000 गोल्ड मेडलों में से गुजरात ने 7 मेडल जीते हैं. यहां तक कि चंडीगढ़ ने भी 10 मेडल जीते हैं. उन्होंने कहा कि गुजरात के लोग खेलना चाहते हैं लेकिन मोदी सरकार ने इसके लिए कुछ भी नहीं किया. उन्होंने कहा कि यूपीए ने एनडीए शासनकाल के मुकाबले खेल पर कहीं ज्यादा बजट बढ़ाया.
पूरी तैयारी और आंकड़ों के साथ आए माकन ने कहा कि गुजरात में उच्च शिक्षा की स्थिति काफी खराब है. उन्होंने कहा कि गुजरात में केवल चार डिग्री और इंजिनियरिंग कॉलेजों में नियमित प्रिंसिपल हैं. प्रिंसिपल और टीचर के हजारों पद सूबे में खाली हैं, सोचिए शिक्षा की क्या स्थिति है. यही नहीं मोदी को घरने के लिए माकन ने मीडिया के सामने आंकड़े रखें, माकन ने कहा गुजरात में बीच में स्कूल छोड़ने वाले बच्चों की संख्या 57% है, जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है.
माकन ने एनडीए शासन काल के आंकड़ों से तुलना करते हुए बताया कि हमने उच्च शिक्षा के लिए एनडीए के शासनकाल से ज्यादा प्रयास किए है, माकन ने कहा कि जब यूपीए सत्ता में आई थी तो केंद्रीय विश्वविद्यालयों की संख्या 17 थी और आज यह बढ़कर 44 हो गई है इसी तरह 7 से बढ़कर आईआईटी 16 हो गए हैं और आईआईएम भी 6 से बढ़कर 13 हो गए हैं.
मोदी ने पुणे में बयान देकर महाराष्ट्र में चुनावी बिगुल फूंक दिया है. मोदी के बयान पर कांग्रेस पार्टी ने एकजुटता दिखाते हुए घेरने की कोशिश की है. वही मोदी अपनी सोची समझी रणनीती के तहत ये बयान दे रहे हैं और चाहते हैं कि कांग्रेस प्रतिक्रिया के तौर पर कोई गलती करे. कांग्रेस और मोदी वार अब खुलकर सामने आ गई है. मोदी के हर जवाब के लिए कांग्रेस ने भी कमर कस ली है. बहरहाल आने वाले वक्त में ये लड़ाई बेहद दिलचस्प होने वाली है.


कम बोलें मोदी : यशवंत सिन्हा
Our Correspondent :15 July 2013
नई दिल्ली: एक बार फिर बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. यशवंत ने मोदी को कम बोलने की सलाह दी है. उन्होंने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि मोदी कम बोलें तो उनके लिए अच्छा है वर्ना लोगों का ध्यान 11 साल पहले हुए गुजरात दंगे की ओर चला जाएगा और अगर ऐसा होता है तो न केवल मोदी को बल्कि बीजेपी को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है.
एक अंग्रेजी अखबार में लिखे अपने लेख में यशवंत सिन्हा ने कहा है कि मोदी के विरोधियों की रणनीति साफ है. वे जितने बोलेंगे उतने ही विवाद खड़े होंगे. उन्होंने लिखा है कि अगर मोदी ऐसे ही बोलते रहे तो सबका ध्यान सरकार के भ्रष्टाचार और कुशासन से हट कर 11 साल पहले गुजरात में जो कुछ हुआ उस पर चला जाएगा.
दरअसल मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में मोदी ने कहा था कि गुजरात दंगों के दौरान उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा था कि वो एक राष्ट्रवादी हिंदू हैं और उन्होंने गुजरात में सांप्रदायिक दंगे के दौरान जो किया सही था.
जब उनसे पूछा गया कि गुजरात में हुए सांप्रदायिक दंगे में हजारों बेगुनाह मारे गए थे, क्या उस पर पछतावा है तो मोदी ने कहा कि हम इंसान हैं, कुत्ते के पिल्ले भी अगर कार के नीचे आ जाए तो हमें दुख होता है. मोदी के इस बयान के बाद बवाल खड़ा हो गया था.
रविवार को एक भाषण में मोदी ने बुर्का शब्द इस्तेमाल कर एक बार फिर मुसलमानों को आहत करने की कोशिश की है. मोदी ने कहा था कि कांग्रेस संकट की घड़ी में धर्मनिरपेक्षता का बुर्का ओढ़ लेती है.


RSS दरबार में आडवाणी का नमो-नमो ?
Our Correspondent :05 July 2013
नागपुर : बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी आज नागपुर पहुंचे जहां उन्होंने आरएसएस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की. दिल्ली से सुबह आडवाणी नागपुर पहुंचे और सीधा आरएसएस मुख्यालय गए.
आडवाणी ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी के साथ बैठक की. आडवाणी का दौरा इसलिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि चुनाव प्रचार समिति की कमान नरेंद्र मोदी को दिए जाने के बाद आडवाणी पहली बार नागपुर पहुंचे हैं. इसके अलावा कल ही पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक में आडवाणी ने नरेन्द्र मोदी के प्लान को सिरे से खारिज कर दिया था.
ऐसे में माना जा रहा है कि संघ प्रमुख के साथ आडवाणी की ये मुलाकात बीजेपी में मची खींचतान को कुछ कमतर कर सकेगी. वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने कल भागवत और भैयाजी जोशी से मुलाकात की थी जबकि बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह कल आरएसएस नेताओं से मुलाकात करेंगे. ?


राजनीतिक दल फ्री न बांटे टीवी-लैपटॉप: SC
Our Correspondent :05 July 2013
नई दिल्ली: वोट बैंक बनाने के लिए राजनीतिक दलों द्वारा जनता में रेवड़ी की तरह बांटी जा रही टीवी, लैपटॉप जैसे मुफ्त गिफ्ट आयटम पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त तेवर अपनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि राजनीतिक दलों को चुनाव के दौरान जनता को टेलीविजन या लैपटॉप सहित अन्य मुफ्त उपहार देने का वादा नहीं करना चाहिए.
कोर्ट ने इस दिशा में निर्वाचन आयोग से राजनीतिक दलों को ऐसा करने से रोकने के लिए नए दिशा-निर्देश तय करने को कहा है.
जस्टिस पी. सतशिवम और जस्टिस रंजन गोगोई की पीठ ने कहा कि इस तरह के दिशा-निर्देश चुनाव के दौरान निष्पक्षता बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं. न्यायालय ने कहा कि राजनीतिक दलों द्वारा अपने घोषणा-पत्र में जनता को मुफ्त उपहार दिए जाने का वादा लोगों को प्रभावित कर सकता है और इससे निष्पक्ष चुनाव बाधित हो सकता है. कोर्ट ने निर्वाचन आयोग से ये भी कहा कि राजनीतिक दलों का चुनावी घोषणा पत्र आदर्श आचारसंहिता लागू होने से पहले ही जारी किया जाना चाहिए.
कोर्ट ने कहा कि राजनीतिक दलों द्वारा जनता से टेलीविजन और लैपटॉप समेत अन्य मुफ्त उपहारों का वादा जनप्रतिनिधि अधिनियम की धारा 123 के अंतर्गत एक भ्रष्ट परम्परा है. अदालत ने यह महत्वपूर्ण फैसला एक याचिका खारिज करते हुए सुनाया.
याचिका में तमिलनाडु की एक राजनीतिक पार्टी द्वारा मुफ्त में जनता को टेलीविजन दिए जाने का वादा किए जाने को भ्रष्ट परंपरा घोषित करने का अनुरोध किया गया था.


मोदी 'रैंबो' नहीं 'मोगैंबो' हैं : कांग्रेस
Our Correspondent :04 July 2013
नई दिल्ली: आजकल गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को बीजेपी हीरो के रूप में प्रचारित कर रही है वहीं विपक्षी पार्टियां मोदी का माखौल उड़ाने में लगी हुई है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि आजकल एक पात्र की खूब चर्चा चल रही है जो अपने आप को ‘रैंबो’ कहता है. उत्तराखंड त्रासदी में 15 हजार लोगों की जान बचाने की दावा करता है. नीतीश के बाद अब कांग्रेस ने भी ‘रैंबो’ पात्र की जमकर माखौल उड़ाया.
पटना में कांग्रेस महासचिव शकील अहमद ने गुरुवार को कहा कि 'रैंबो' मोदी कहीं ‘मोगैंबो’ न बन जाए. मोदी का नाम लिए बगैर शकील ने कहा कि मैं तो हमेशा से कहता रहा हूं कि जिस तरह से कुछ लोग रैंबो बनाने की कोशिश कर रहे हैं, वो जल्द ही मोगैंबो बन जाएंगे.
शकील ने कहा कि रैंबो और मोगैंबो जैसे कैरेक्टर फिल्मों में ही अच्छे लगते हैं. लेकिन, बीजेपी के लोग अपने एक नेता को रैंबो प्रोजेक्ट करने में लगे हैं. वे कहते हैं कि वो पहाड़ों में आता है और एक साथ 15,000 लोगों को बचाकर ले जाता है, ये बिल्कुल ही हास्यास्पद है. इससे उस शख्स का ही मजाक उड़ रहा है.
शकील अहमद के बयान पर बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने पलटवार किया है. नकवी ने कहा कि आजकल सुबह होते ही कांग्रेसी नेता नरेंद्र मोदी के बारे में बयान देने लगते हैं. ये तो वक्त ही बताएगा कि रैंबो कौन और मोगैंबो कौन?


चौटाला को राहत,22 जुलाई तक बढ़ी जमानत
Our Correspondent :04 July 2013
नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट ने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला की मेडिकल ग्राउंड पर अंतरिम जमानत की अवधि 22 जुलाई तक के लिए बढ़ा दी है. इससे पहले हाईकोर्ट ने चौटाला की दायर याचिका पर सीबीआई से जवाब तलब किया था.
चौटाला ने अपनी अंतरिम जमानत की अवधि बढ़ाने का आग्रह करते हुए कहा था कि 3 जून को उन्हें पेसमेकर लगाया गया है और डॉक्टरों ने उन्हें 3 माह तक नियमित जांच के लिए आने की सलाह दी है. जिसके लिए कुछ और मोहलत की मांग की थी. उन्हें 21 मई को अंतरिम जमानत दी गई थी जिसकी अवधि 4 जुलाई को खत्म हो गई.
आवेदन में चौटाला ने कहा कि उनका स्वास्थ्य लगातार कमजोर बना हुआ है और उन्हें कई बीमारियां भी हैं. उन्हें 3 माह अतिरिक्त देखभाल और इसे आगे जारी रखने की जरूरत है. उन्हें साफसुथरा और तनावमुक्त माहौल चाहिए. पूर्व मुख्यमंत्री ने आवेदन में कहा है 'यह प्रार्थना की जाती है कि अपीलकर्ता की अंतरिम जमानत की अवधि बढ़ाई जाए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद हरियाणा के सिरसा जिले में स्थित उनके पैतृक गांव में अपने परिवार के साथ रहने की अनुमति दी जाए'.
22 जनवरी को निचली अदालत ने चौटाला, उनके पुत्र अजय चौटाला और आठ अन्य को वर्ष 2000 में 3,206 कनिष्ठ शिक्षकों की गैरकानूनी तरीके से भर्ती करने के लिए 10 साल कैद की सजा सुनाई थी. अन्य दोषियों में से 44 को 4 साल की कैद और एक दोषी को 5 साल की कैद की सजा सुनाई गई थी.
इन सभी को भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत धोखाधड़ी, जालसाजी करने, नकली दस्तावेजों का असली की तरह उपयोग करने और षडयंत्र रचने का तथा भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग करने का दोषी ठहराया गया था.


राहुल ने महिलाओं की भागीदारी पर दिया जोर
Our Correspondent :29 June 2013
नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज कोर कमिटी टीम की बैठक में पार्टी को मजबूत बनाने पर जोर दिया है. इसके लिए उन्होंने महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने की बात कही, साथ ही पार्टी के पदाधिकारियों के सामने एक नया रोडमैप रखा.
दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय में हुई बैठक में राहुल गांधी ने साफ कर दिया कि पार्टी में महिलाओं की भागीदारी 50 फीसदी हो. इतना ही नहीं टिकट बंटवारे में भी 50 फीसदी कोटा महिलाओं को मिले. राहुल ने इसके लिए अगले तीन से चार साल का लक्ष्य रखा है. कांग्रेस के प्रवक्ता भक्त चरण दास ने राहुल के साथ हुई बैठक का ब्यौरा दिया.
कांग्रेस के लिए चुनौतियों में पार्टी शासित राजस्थान और दिल्ली सहित चार राज्यों में विधानसभा चुनाव भी शामिल है. दो अन्य राज्य मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ हैं. झारखंड विधानसभा चुनाव भी नजदीक दिख रहा है क्योंकि राज्य में राष्ट्रपति शासन 18 जुलाई को खत्म हो रहा है. अभी तक कांग्रेस वहां सरकार बनाने की इच्छुक नहीं है. झारखंड मुक्ति मोर्चा पिछले छह महीने से गठबंधन के लिए दबाव बनाए हुए है.


इशरत एनकाउंटर: CBI और गृह मंत्रालय आमने-सामने
Our Correspondent :29 June 2013
नई दिल्ली: इशरत जहां कथित फर्जी मुठभेड़ मामले में फर्जी एनकाउंटर की जांच को लेकर सीबीआई और गृह मंत्रालय के बीच मतभेद दिनों-दिन गहराता ही जा रहा है. गृह मंत्रालय किसी भी हाल में इंटेलिजेंस ब्यूरो के स्पेशल डायरेक्टर राजेंद्र कुमार को आरोपी बनाए जाने के पक्ष में नहीं है, जबकि अब तय है कि 4 जुलाई को दायर होने वाली चार्जशीट में सीबीआई उन्हें हत्या के षड्यंत्र में शामिल बताएगी. वहीं इस मामले में मोदी भी लपेटे में आ गए हैं.
गृह मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने बताया, 'इशरत जहां और तीन अन्य संदिग्ध आतंकी पहले आईबी की हिरासत में थे और उसके बाद चारों को गुजरात पुलिस को सौंप दिया गया था. राजेंद्र कुमार उस समय में गुजरात में आईबी के स्टेशन हेड थे और उनकी देखरख में ही यह ऑपरेशन हुआ था, लेकिन बाद में उनको गुजरात पुलिस द्वारा फर्जी मुठभेड़ में मारे जाने की गतिविधि में वह शामिल नहीं थे.'
सीबीआई अपनी चार्जशीट में कहने वाली है कि राजेंद्र कुमार शुरू से लेकर फर्जी मुठभेड़ में बतौर साजिशकर्ता शामिल थे. दूसरी तरफ, गृह मंत्रालय का मानना है राजेंद्र कुमार निर्दोष हैं और सीबीआई के पास उनको साजिशकर्ता साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं है. गृह मंत्रालय को लगता है कि अधिकारी को राजनीति में बलि का बकरा बनाया जा रहा है. सीनियर अधिकारी का कहना है कि साजिश में शामिल बताने के लिए सीबीआई को यह साबित करना होगा कि आरोपी गुजरात पुलिस और राजेंद्र कुमार एकमत थे, लेकिन हमें विश्वास है कि ऐसा कोई सबूत सीबीआई के पास नहीं है.
एक अखबार ने गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से कहा है कि मंत्रालय राजेंद्र कुमार की हरसंभव मदद करेगा. जरूरत पड़ने पर सीबीआई के खिलाफ अदालत को इशरत और उसके साथियों के आतंकी होने का सुबूत भी देगा. अधिकारी का कहना है कि नरेंद्र मोदी को घेरने के लिए हलफनामा बदला गया था, आज वह प्रधानमंत्री के दावेदार बन चुके हैं और अधिकारी बेवजह राजनीति का शिकार हो रहे हैं.
गौरतलब है कि गृह मंत्रालय ने गुजरात हाई कोर्ट को सौंपे अपने दूसरे हलफनामे में इशरत और उसके साथियों के आतंकी होने के पुख्ता सुबूत नहीं होने का दावा किया था. इसी के बाद अदालत ने इसकी सीबीआई जांच का आदेश दिया था. 6 अगस्त 2009 में अपने पहले हलफनामे में गृह मंत्रालय ने इशरत और उसके साथियों को लश्कर आतंकी बताते हुए मुठभेड़ की सीबीआई जांच का विरोध किया था, लेकिन तत्कालीन गृहमंत्री पी. चिदंबरम के दबाव में दो महीने के भीतर ही हलफनामा बदल दिया गया था.
वहीं, दूसरी तरफ सीबीआई इशरत जहां एनकाउंटर मामले में 4 जुलाई तक चार्जशीट दायर करने वाली है. माना जा रहा है कि इस चार्जशीट में कई ऐसी बातें होगीं जो नरेंद्र मोदी की मुसीबत बढ़ा सकती हैं. सीबीआई सूत्रों की मानें तो इसमें मोदी का भी नाम आ सकता है. साथ ही उनके दाहिने हाथ कहे जाने वाले अमित शाह का भी इसमे फंसना तय माना जा रहा है.
सीबीआई को लेकर बीजेपी ने भी अपना रुख आक्रामक कर दिया है. राज्य बीजेपी के नेता मोदी के बचाव में उतर आए हैं. उनका कहना है कि अदालत में सच सामने आ जएगा. जाहिर है इस खबर के बाद राजनीति गरमा गई है. गुजरात कांग्रेस की ओर से बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है. कांग्रेस का कहना है कि कानून अपना काम कर रही है.


येदियुरप्पा का BJP में वापसी से इंकार
Our Correspondent :29 June 2013
बेंगलुरु: कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी से अलग होकर अपनी ‘कर्नाटक जनता पार्टी’ बना लेने वाले बीएस येदियुरप्पा ने बीजेपी में आने से इंकार कर बीजेपी के प्रयासों को झटका दे दिया है. बीजेपी के एक वर्ग द्वारा येदियुरप्पा को बीजेपी में पुन: वापस लाने के प्रयासों के बीच इस लिंगायत नेता ने घर वापसी की किसी भी संभावना से इंकार कर दिया है. साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि बीजेपी के किसी नेता ने उनसे इस मामले पर संपर्क नहीं किया है.
यह पूछे जाने पर कि क्या राजनाथ सिंह और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने उनसे पार्टी में वापस आने को लेकर संपर्क किया है, येदियुरप्पा ने संवाददाताओं से कहा कि अभी तक किसी ने भी मुझसे संपर्क नहीं किया है और बीजेपी या किसी भी पार्टी में जाने का सवाल ही नहीं उठता. येदियुरप्पा ने कहा कि इस तरह की खबरों में कोई सच्चाई नहीं है कि मोदी के बीजेपी चुनाव प्रचार समिति के प्रमुख बनाए जाने से उनकी पार्टी में वापसी की संभावना है.
उन्होंने कहा कि ये सब अफवाह हैं. मैं अपनी पार्टी (कर्नाटक जनता पार्टी) की अलग पहचान बनाए रखना चाहता हूं और मैं इसकी मजबूती की दिशा में काम करने के लिए राज्य के दौरे पर जाने वाला हूं.


आती रही मुश्किलें, नहीं झुकने दी कमर, वजूद आज भी कायमः उमा
Our Correspondent :04 May 2013
भोपाल। भाजपा उपाध्यक्ष उमा भारती ने कहा कि वे भारतीय राजनीति का दुर्लभ उदाहरण हैं। बार- बार संकट आने के बाद भी अपना वजूद कायम रख पाई हैं। शुक्रवार को जन्मदिन के मौके पर पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने कहा कि वे लोकसभा चुनाव भोपाल से नहीं उप्र की अमरोहा या अन्य किसी सीट से लड़ेंगी। फिर से मप्र की मुख्यमंत्री बनने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे पार्टी में खुद अपनी भूमिका तय नहीं कर सकती, पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह तय करेंगे।
भारतीय जनशक्ति के विलय से भाजपा में लौटे नेताओं और कार्यकर्ताओं को भाजपा में तवज्जो नहीं मिलने के सवाल पर उमा ने कहा कि तवज्जो न मिले तब भी वे काम करते रहेंगे। उमा ने शहर में लगे होर्डिंग्स और जलसे की तैयारी पर उमा ने कहा कि होर्डिंग्स की जानकारी उन्हें बीती रात दिल्ली रेलवे स्टेशन पर मिले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने दी थी।
उन्होंने जन्म दिन पर बधाई और आशीर्वाद भी दिया। सवालों के जवाब में उमा ने कहा कि अब तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र तोमर ने बधाई नहीं दी है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री चौहान ने ट्विटर पर उमा को जन्म दिन की बधाई दी है। उमा ने कहा कि 1984 के दंगों के दोषियों को फांसी मिलनी चाहिए। सिख समाज देशभक्त है। प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचारों के मामले में बढऩे के सवाल पर उमा ने कहा कि मप्र में ऐसी घटनाएं होने पर कांग्रेसी खुशी न मनाएं।
देर रात तक मिली बधाइयां
उमा के निवास पर हुए जलसे में मंत्री कृषि मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया, ब्रजेंद्र प्रताप सिंह, नारायण सिंह कुशवाह सहित कई विधायकों के अलावा प्रदेश मंत्री राजो मालवीय, भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष रजनीश अग्रवाल शामिल हुए। उनके बंगले पर देर रात तक बधाई देने वालों का तांता लगा रहा। उमा ने सरबजीत की मृत्यु के शोक के मद्देनजर जन्मदिन सादगी से मनाने की बात कही, लेकिन कार्यकर्ताओं ने आतिशबाजी भी की।


वापसी को लेकर तैयारी में तो नहीं है दिग्गी?
Our Correspondent :04 May 2013
भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एक बार फिर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय हो रहे हैं। विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की रणनीति तय करने से लेकर टिकट वितरण और चुनाव प्रचार में दिग्विजय की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण होगी। कहा जा रहा है कि वे एक तरह से मप्र कांग्रेस के अघोषित प्रभारी के रूप में काम करेंगे। उन्होंने प्रदेश के विभिन्न अंचलों में दौरे तेज कर दिए हैं।
दिग्विजय पिछले दिनों अनुज लक्ष्मण सिंह और भतीजे आदित्य विक्रम सिंह के साथ महाकाल के दर्शन करने उज्जैन पहुंचे थे। वहां उन्होंने घोषणा की थी कि राजगढ़ अब लक्ष्मण और आदित्य संभालेंगे और वे पूरे प्रदेश में दौरा करेंगे। कांग्रेस में वापसी के बाद पहली बार लक्ष्मण की राहुल गांधी से मुलाकात को दिग्विजय की सक्रियता से जोड़ कर देखा जा रहा है। दिग्विजय के करीबियों के अनुसार वे अब परिवार की जिम्मेदारियों से मुक्त हैं, इसलिए प्रदेश में अधिक समय दे सकेंगे।
दिग्विजय उज्जैन से खरगौन, बुरहानपुर और खंडवा होते हुए बुधवार रात को भोपाल आए थे। यहां उन्होंने विधायक आरिफ अकील द्वारा मई दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की और गुरुवार सुबह दिल्ली चले गए लेकिन वे शुक्रवार को ग्वालियर पहुंच जाएंगे। अगले कुछ दिनों में दिग्विजय पूरे प्रदेश में इसी तरह दौरे करेंगे।
इसके साथ ही दिग्विजय कांग्रेस के भीतर अपने नेटवर्क के जरिए भूरिया और अजय सिंह की परिवर्तन यात्रा का फीडबैक ले रहे हैं। दिग्विजय सिंह ने दैनिक भास्कर से चर्चा में स्वीकार किया कि प्रदेश में उनकी सक्रियता बढ़ेगी और सब मिल कर कांग्रेस को मजबूत करेंगे।


मुख्यमंत्री निवास मे रुकते है दंगाई: पचौरी
06 Feb. 2013

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस क पूर्व सुरेश पचोरी ने आरोप लगाया है की प्रदेश मे दंगाईन को प्रदेश सरकार संरक्षण देती है|इंदौर से आए हुए दंगो के आरोपी मुख्यमंत्री निवास मे जाकर रुके थे| जिन दंगो के कारण पटवा सरकार बर्खास्त हुई, उसके आरोपी भाजपा संगठन और सरकार मे महत्व ओहदो पर बैठे हुए है| पचौरी हबीबिया स्कूल मे नरेला क्षेत्र के कार्यकर्ता सम्मेलन मे बोले रहे थे| पचौरी ने कहा की भाजपा की सरकार मे प्रदेश मे साम्प्रदायिक सोहद्र बिगड़ रहा है| इंदौर मे जब भी दंगे हुए मुख्यमंत्री पीड़ितों से मिलने नही गये | बल्कि दांगी सीम हाउस मे जाकर रुके थे|ओबेदुल्लगंज मे जब दंगे हुए थे तब भाजपा के नेता सुंदरलाल पटवा दंगाई घर गये | १९९२ मे भोपाल मे हुए जिस दंगे के कारण पटवा सरकार बर्खास्त हुई उसके आरोपी भाजपा के संगठन और सरकार मे पदो पर बैठे हुए है|


राजनाथ ने कहा मोदी लोकप्रिय नेता
Our Correspondent : 4 Feb. 2013
भोपाल। भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी लोकप्रिय नेता हैं। लेकिन पार्टी प्रधानमंत्री पद के लिए नेता का चयन परंपरानुसार अपने संसदीय बोर्ड में ही करेगी, जैसा कि पिछले चुनाव में लालकृष्ण आडवाणी को चुना गया था। सिंह ने पाकिस्तान के साथ कूटनीतिक मोर्चे पर यूपीए सरकार को विफल बताते हुए कहा कि यह सरकार चीन के मामले में भी रणनीति नहीं बना पा रही है। प्रदेश भाजपा कार्यालय में कुशाभाऊ ठाकरे और विजयाराजे सिंधिया की मूर्तियों का अनावरण करने आए राजनाथ ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि यूपीए सरकार आर्थिक मोर्चे पर भी विफल रही है। गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के आरएसएस के संबंध में बयान पर कहा कि हम संसद के दोनों सत्रों में यह मामला उठाएंगे। अगर संघ में आतंकवाद की ट्रेनिंग दी जाती है तो प्रतिबंध क्यों नहीं लगाती सरकार?

संगठन से ऊपर कोई नहीं: झा
31 Aug 2012

भोपाल। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष प्रभात झा ने हिंदी भवन में आयोजित जिला भाजपा कार्यसमिति की बैठक में कहा कि किसी भी जनप्रतिनिधि के लिए संगठन सर्वोपरि होना चाहिए। कोई भी संगठन से ऊपर नहीं है। बैठक में अगले दो महीने के कार्यक्रम तय किए गए। झा ने भाजयुमो की भोपाल होशंगाबाद संभागीय रैली को सफल बनाने में पार्टी के सभी पदाधिकारियों से जुटने को कहा। झा ने कहा कि सभी जनप्रतिनिधियों को पार्टी जिला कार्यालय में जाना चाहिए। बैठक में तय किया गया कि 21 से 24 सितंबर तक जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों में युवा सम्मेलन आयोजित किए जाएं। झा ने कहा कि चुनावी सहयोग निधि में राशि जमा करने का काम जल्द शुरू कर नीचे तक ले जाएं। बैठक में भोपाल के विधायक नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर और गृह मंत्री उमाशंकर गुप्ता नहीं पहुंचे। सांसद कैलाश जोशी दिल्ली में और महापौर कृष्णा गौर बेंगलूर में थे, इसलिए नहीं आए।


मोदी गुजरात के शेर : विजय दर्डा
30 July 2012

अहमदाबाद। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करने के मामले में अब एक कांग्रेस सांसद फंस गए हैं। राज्यसभा सांसद विजय दर्डा ने एक समारोह में न केवल मोदी और बाबा रामदेव के साथ मंच शेयर किया बल्कि इस कार्यक्रम में मोदी को गुजरात का शेर भी बताया।
सांसद दर्डा को मीडिया के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए तरुण क्रांति पुरस्कार प्रदान किया गया। उनके साथ ही बाबा रामदेव और जैन इंटरनैशनल ट्रेड ऑर्गनाइजेशन को भी यह पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी समारोह में मंच पर मौजूद मोदी को गुजरात का शेर बताते हुए दर्डा ने कहा कि उन्होंने जिस तरह का काम गुजरात में किया है, वह वाकई काबिलेतारीफ है।
इस तारीफ के बाद मोदी ने कहा कि गुजरात में हुए काम की तारीफ करना बेहद खतरनाक होता है। जो कोई गुजरात की या गुजरात में हुए अच्छे काम की तारीफ करता है उसे उसका बुरा नतीजा भुगतना ही पड़ता है। मोदी ने कहा, अब सांसद दर्डा की बारी आ गई लगती है। उन्होंने कहा कि आश्चर्य नहीं कि कल की ब्रेकिंग न्यूज यह होगी कि सांसद दर्डा को कांग्रेस नेतृत्व ने नोटिस भेज दिया। इस बयान के मीडिया में आते ही इस पर विवाद शुरू हो गया। कांग्रेस नेतृत्व ने भी इस पर गौर करते हुए सांसद दर्डा से जवाबतलब कर दिया। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस नेतृत्व ने दर्डा से कहा है कि वह बताएं किन स्थितियों में उन्होंने मोदी के साथ मंच शेयर करने का फैसला किया। आलाकमान का रुख इस मसले पर बेहद सख्त बताया जाता है। विवाद होने के बाद दर्डा बचाव की मुद्रा में आ गए। उन्होंने कहा कि उनके बयान को राजनीतिक नहीं माना जाना चाहिए। दर्डा ने कहा कि वह एक धार्मिक समारोह में शामिल होने गए थे। वह उस धार्मिक मौके पर बस अपने दिल की भावनाएं व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा, 'हमारे धर्म में कहा गया है कि हम अपने मेजबान की तारीफ करते हैं। जो कुछ मैंने कहा उसे इसी संदर्भ में देखा जाना चाहिए। उसका कोई राजनीतिक मतलब न निकाला जाए।'


राहुल होंगे पीएम प्रत्याशी
17 July 2012

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी वर्ष 2014 के पहले प्रधानमंत्री पद के दावेदार हो सकते हैं। कांग्रेस में उन्हें प्रधानमंत्री पद का अपना उम्मीदवार घोषित करने की तैयारी चल पड़ी है। राष्ट्रपति चुनाव के खत्म होते ही पार्टी संगठन और सरकार में बड़े पैमाने पर फेरबदल की सुगबुगाहटें चल रही हैं। इसी के साथ पार्टी आगामी आम चुनाव को लेकर अपनी रणनीति भी तैयार कर रही है।
कांग्रेस की रणनीतिक टीम के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी के ज्यादातर नेता आगामी आम चुनाव से पहले कांग्रेस द्वारा प्रधानमंत्री पद के लिए अपना उम्मीदवार घोषित करने के पक्ष में हैं। हालांकि पार्टी नेता ने राहुल गांधी का नाम सीधे-सीधे नहीं लिया। प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी तय करने की मांग करने वाले नेताओं का तर्क है कि, लोग जानना चाहते हैं कि कांग्रेस की ओर से प्रधानमंत्री पद का अगला उम्मीदवार कौन होगा। एक अन्य नेता ने कहा कि स्वाभाविक है कि प्रधानमंत्री पद के लिए अगर अगले उम्मीदवार की बात हुई तो राहुल गांधी ही चर्चा में होंगे। संगठन और सरकार में फेरबदल की चर्चा के बीच सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल, महासचिव जनार्दन द्विवेदी, दिग्विजय सिंह और केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भेंट की। हालांकि बैठक के बाद किसी ने मुलाकात में हुई बातचीत का ब्योरा नहीं दिया।


प्रणब के सामने उलझे कांग्रेसी
12 July 2012

भोपाल। राष्ट्रपति पद के यूपीए के प्रत्याशी प्रणब मुखर्जी बुधवार को भोपाल प्रवास पर रहे। इस दौरान उन्होंने संगमा के आरोपों पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। पत्रकारों से चर्चा में मुखर्जी ने एनडीए समर्थित प्रत्याशी पीए संगमा और भाजपा नेताओं द्वारा लगाए जा रहे आरोपों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। स्टेटिस्टिकल इंस्टीट्यूट के चेयरमैन पद से उनके इस्तीफे पर हस्ताक्षर फर्जी होने के आरोप पर मुखर्जी ने कहा कि निर्वाचन अधिकारी निर्णय दे चुके हैं।
उधर प्रणब मुखर्जी की भोपाल यात्रा पर आयोजित कांग्रेस व अन्य समर्थक दलों की बैठक भी राजनीति से अछूती नहीं रही। बैठक के संचालन के मुद्दे पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया को विधायक दल के सचेतक एनपी प्रजापति की नाराजगी झेलनी पड़ी। वहीं असंतुष्ट विधायकों महेंद्र सिंह कालूखेड़ा और प्रभुदयाल गेहलोत की गैर मौजूदगी भी चर्चा का विषय रही। मुखर्जी बुधवार को केंद्रीय मंत्री नारायण सामी, कांग्रेस के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा, मप्र प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव बीके हरिप्रसाद और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुरेश पचौरी के साथ भोपाल आए। होटल लेक व्यू अशोका में आयोजित बैठक का संचालन प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी सचिव कैप्टन जयपाल सिंह द्वारा करने पर प्रजापति ने आपत्ति जताई। भोजन के दौरान प्रजापति ने हरिप्रसाद की मौजूदगी में भूरिया से पूछा कि कैप्टन ने किस हैसियत से बैठक का संचालन किया। उनका कहना था कि नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह या विधायक दल का सचेतक होने के नाते संचालन उन्हें करना था।


राहुल से नहीं मिल रहा मार्गदर्शन : खुर्शीद
11 July 2012

नई दिल्ली। केंद्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने कांग्रेस को दिशाहीन बताया है। उन्होंने कहा कि यूपीए-2 की सरकार के दौरान प्रशासन में राजनीति का घालमेल हो गया है। बिखराव की स्थिति बन रही है। इसे कांग्रेस अध्यक्ष ही सुधार सकती हैं। प्रधानमंत्री सरकार तो चला सकते हैं, लेकिन इसे सुधार नहीं सकते।' मौजूदा चुनौतियों से निपटने में राहुल गांधी से जो मार्गदर्शन मिलना चाहिए वह नहीं मिल रहा है। पार्टी के पास इंतजार करने के अलावा कोई उपाय नहीं है।
इस बयान पर बवाल मचा तो कानून मंत्री को सफाई देनी पड़ी। उन्होंने मंगलवार को कहा कि 'लोकतांत्रिक तकाजे के तहत जो बातें मैं करता रहा हूं वो अब आगे से नहीं करूंगा।' साथ ही उन्होंने दोहराया कि सब चाहते हैं कि राहुल बड़ी जिम्मेदारी लें। इस बीच कांग्रेस प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि खुर्शीद की सफाई के बाद पूरा मामला खत्म हो गया है।
उधर भाजपा और सपा ने खुर्शीद के बयान को सही ठहराया है। भाजपा प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने कहा, 'यदि पार्टी के भविष्य के नेता के पास ही सोच की कमी है तो ऐसे में बस शुभकामना ही दी जा सकती है। एक मंत्री का इस तरह का बयान देना पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी सवाल है।' यूपीए सरकार को बाहर से समर्थन दे रही समाजवादी पार्टी ने कहा है कि कानून मंत्री सलमान खुर्शीद का बयान बिलकुल सही है। पार्टी प्रवक्ता शाहिद सिद्दिकी ने कहा, 'कांग्रेस व राहुल गांधी के पास वाकई कोई विचारधारा नहीं है।


समय से पहले हो सकते हैं लोकसभा चुनाव
11 July 2012

लखनऊ। समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि पार्टी नेता और कार्यकर्ता आगामी लोकसभा चुनाव के लिए कमर कस लें, क्योंकि लोकसभा चुनाव समय से पहले 2013 में भी हो सकते हैं। लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर पार्टी मुख्यालय में आयोजित सीनियर नेताओं की बैठक में मुलायम ने कहा कि वर्तमान राजनीतिक हालातों को देखते हुए आम चुनाव तय समय से पहले होने से इनकार नहीं किया जा सकता है। बैठक में शामिल रहे एक सीनियर नेता के मुताबिक पार्टी मुखिया ने हमें कम से कम 50 सीटें जीतने का लक्ष्य दिया है। मुलायम की अध्यक्षता में हुई बैठक में उन 58 संसदीय क्षेत्रों में पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की गई है, जिन्हें पार्टी बीते लोकसभा चुनाव में हार गई थी। बैठक में यह फैसला भी किया गया राज्य सरकार के किसी मंत्री या एमएलए को लोकसभा चुनाव लड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी।


बाल ठाकरे ने कलाम को बताया 'पाखंडी'
3 July 2012

नई दिल्ली। शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को 'पाखंडी' बताया है। ठाकरे कलाम के 2004 के चुनाव बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के प्रधानमंत्री पद ठुकराने के खुलासे से नाराज़ हैं। शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में ठाकरे ने कलाम को सीधे-सीधे 'ढोंगी' बताया है।
ठाकरे ने इसमें लिखा है कि इसे खुलासे के बाद कलाम की हर जगह हंसी उड़ रही है। लोगों के मन में कलाम के लिए इज्जत थी, लेकिन कई साल बाद यह खुलासा कर उन्होंने अपनी छवि बिगाड़ ली है। लोग उन्हें अब 'पाखंडी' कह रहे हैं। ठाकरे ने कहा कि अब तक ऐसा माना जाता था कि कलाम ने सोनिया को प्रधानमंत्री बनने से रोका था। इसी काम के लिए देश में उनकी तारीफ होती थी। ठाकरे ने इतने साल बाद यह बात सामने लाने पर भी कलाम की खिंचाई की है। ठाकरे ने लिखा है, 'कलाम बहुत पहले ही यह बात बता सकते थे। स्वार्थ के कारण उन्होंने ऐसा नहीं किया। कलाम ने पोखरण में जो परमाणु परीक्षण कराया उससे देश को फायदा नहीं हुआ, लेकिन उन्होंने सोनिया के बारे में जो विस्फोट किया उससे वैश्विक मंच पर भारत की छवि खराब हुई है।


बीजेपी नेता संजय झा ने जेडीयू का दामन थामा
3 July 2012

पटना। भारतीय जनता पार्टी नेता और पूर्व विधान पार्षद संजय कुमार झा ने मंगलवार को पार्टी का दामन छोड़कर जेडीयू का दामन थाम लिया है। मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और जेडीयू के अन्य नेताओं तथा मंत्रियों की उपस्थिति में झा ने जेडीयू की सदस्यता ग्रहण की।
बाद में संवाददाताओं से बातचीत में जेडीयू नेता श्याम रजक ने कहा कि झा के जेडीयू में शामिल होने से बीजेपी में सेंध लगाने या गठबंधन में इसके कारण खटास वाली कोई बात नहीं है। बिहार का एनडीए गठबंधन प्रेम और सौहार्द पर आधारित है। यह चलता रहेगा। वहीं जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि इसमें कयास लगाने वाली बात नहीं है। झा ने पहले ही इच्छा व्यक्त की थी कि वह जेडीयू में शामिल होना चाहते हैं। उनका विधानपार्षद के रूप में कार्यकाल समाप्त हो गया, जिसके बाद उन्होंने जेडीयू में सदस्यता ली है। जेडीयू के नेता संजय सिंह ने कहा, 'झा का दिल और दिमाग पहले से ही जेडीयू में था।


भाजपा ने राष्ट्रपति पद के लिए किया संगमा का समर्थन
20 June 2012

नई दिल्ली। भाजपा ने राष्ट्रपति पद के लिए पी. ए. संगमा की दावेदरी का समर्थन किया है। भाजपा नेता अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की।
सुषमा स्वारज ने कहा कि बीजेपी ने पी.ए. संगमा की उम्मीदवारी का समर्थन करने का फैसला किया है। अकाली दल हमारे फैसले के साथ है। वहीं अरुण जेटली ने कहा कि शिवसेना और जेडीयू का इस मामले हमसे अलग रुख रखने का एनडीए गठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हालांकि, उन्होंने उम्मीद जताई कि जेडीयू और शिवसेना अपने फैसले पर पुनर्विचार करेंगी और संगमा का समर्थन करेंगी। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए सुषमा स्वराज और अरुण जेटली ने कहा कि सत्ताधारी यूपीए गठबंधन ने आम सहमति बनने की कोशिश नहीं की। उन्होंने कहा कि पहले कांग्रेस ने प्रणव मुखर्जी को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया और उसके बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने हमसे समर्थन मांगा। लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा ने बताया कि प्रधानमंत्री के फोन के जवाब में लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि आपने हमसे पहले राय नहीं ली और अब केवल सूचित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यूपीए के रवैये और प्रमुख विपक्षी पार्टी होने के नाते बीजेपी ने संगमा को समर्थन देना का फैसला किया है।


संघ मोदी के साथ, जदयू सरकार गंवाने तक को तैयार
20 June 2012

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी को लेकर एनडीए का विवाद गहराता जा रहा है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जहाँ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जवाब में नरेंद्र मोदी के समर्थन में खड़ा हो गया है वहीं मोदी के खिलाफ जदयू सरकार गंवाने को तैयार हो गई है. जदयू ने साफ कह दिया है की वह कट्टरपंथियों के साथ नहीं आएगी। उधर, भाजपा नेता बलबीर पुंज ने कहा कि उनके नेताओं को किसी और के सर्टिफिकेट की दरकार नहीं है।
संघ प्रमुख मोहन भागवत महाराष्ट्र के लातूर में स्वयंसेवकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने सवाल किया कि 'इतने दिनों बाद नीतीश को अब गुजरात की याद क्यों आई है? यह सब वोट बैंक की वजह से हो रहा है।' भागवत ने मोदी के एनडीए के प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार होने का समर्थन किया। जवाब में जदयू महासचिव शिवानंद तिवारी ने कहा कि 'पार्टी धर्मनिरपेक्षता और सामाजिक न्याय के मसले पर कोई समझौता नहीं करेगी। चाहे हम एनडीए में रहें या न रहें। वहीं बिहार के पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने नीतीश कुमार को चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि वे मोदी के साथ हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में दम है तो उन्हें बर्खास्त कर के दिखाएं। गिरिराज सिंह भाजपा कोटा से मंत्री हैं।


आरएसएस खुलकर मोदी के समर्थन में आया
20 June 2012

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) अब खुलकर नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने के समर्थन में आ गया है। लातूर में संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने स्वंयसेवकों को संबोधित करते हुए सवाल किया कि कोई हिंदुत्ववादी भारत का प्रधानमंत्री क्यों नहीं बन सकता? हालांकि, उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन साफ है कि भागवत, मोदी की दावेदारी के समर्थन में खुलकर आ गए हैं।
भागवत के इस बयान के बाद नीतीश बनाम मोदी की जंग में बीजेपी के कुछ ओर बड़े नेता मोदी के समर्थन में आ सकते हैं। पार्टी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी कल ही कह चुके हैं कि भारत एक धर्मपरायण देश है, ऐसे में धर्मनिरपेक्ष प्रधानमंत्री का तर्क बेतुका है। उन्होंने कहा कि भारत का प्रधानमंत्री पंथनिरपेक्ष होना चाहिए न कि धर्मनिरपेक्ष। इसके अलावा संघ प्रमुख ने एतराज जताते हुए कहा कि उन्हें यह बताने की जरूरत नहीं है कि कौन धर्मनिरपेक्ष है? उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री से सवाल किया कि क्या आज तक के प्रधानमंत्री धर्मनिरपेक्ष नहीं थे?
बिहार सरकार के मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह भी नीतीश कुमार के बयान के खिलाफ खुलकर मैदान में आ गए हैं। उन्होंने कहा मोहन भागवत का बयान एकदम सही है और नीतीश कुमार गलत बोल रहे हैं। गिरिराज सिंह ने मोदी का खुलकर समर्थन करते हुए कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री 200% धर्मनिरपेक्ष हैं। उन्होंने नीतीश को चुनौती देते हुए कहा कि अगर मैं गलत हूं तो मुख्यमंत्री मुझे कैबिनेट से निकालकर दिखाएं। वहीं, मोदी के पक्ष में मोहन भागवत के बयान पर जेडीयू ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। पार्टी प्रवक्ता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि पार्टी किसी भी कीमत पर धर्मनिरपेक्षता के मुद्दे पर कोई समझौता नहीं करेगी। उन्होंने संघ को कड़ी चेतावनी दी है कि बिहार की सरकार रहे या न रहे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन वे धर्मनिरपेक्षता और सामाजिक न्याय के मुद्दे पर अपने कॉमिटमेंट से पीछे नहीं हटेंगे।


आडवाणी-गडकरी पोस्टर में मोदी के पैरों में
20 June 2012

अहमदाबाद। भारतीय जनता पार्टी में पोस्टर वॉर थमने का नाम नहीं ले रही है। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के पैरों में लालकृष्ण आडवाणी और पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी को दिखाए जाने का मामला तूल पकड़ने लगा है. हालाँकि अभी यह पता नहीं चल पाया है कि अहमदाबाद में लगाए गए इन पोस्टरों के पीछे कौन है। एक पोस्टर भोपाल में संजय जोशी के समर्थन में भी लगाया गया है। इसमें कहा गया है कि बीजेपी विचारधारा की राजनीति करने का दावा करती है, लेकिन इसके पास कोई विचार नहीं है, सिर्फ अत्याचार है। पोस्टर के अंत में संजय जोशी जिंदाबाद के नारे लिखे हुए हैं। गौरतलब है कि संजय जोशी और नरेंद्र मोदी की जंग में मोदी के खिलाफ जमकर पोस्टर लगाए गए थे। इन पोस्टरों में मोदी के कथित तानाशाही रवैये की काफी आलोचना की गई थी। हालांकि, संजय जोशी ने साफ किया था कि इन पोस्टरों के पीछे उनका हाथ नहीं है। बाद में उन्होंने एक खुली चिट्ठी में अपने समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की थी कि इस तरह के पोस्टर न लगाएं। चिट्ठी में उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की थी कि सभी लोग पार्टी के हित में काम करें।


'तृणमूल के सभी मंत्री इस्तीफे देने को तैयार, कलाम ने किया इंकार
19 June 2012

नई दिल्‍ली। राष्‍ट्रपति चुनाव को लेकर तृणमूल कांग्रेस के सभी मंत्री इस्तीफे देने को तैयार है। तृणमूल कांग्रेस ने साफ किया है कि राष्‍ट्रपति के पद के लिए उनके उम्‍मीदवार पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ही हैं और वो ही रहेंगे। तृणमूल कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता सुदीप बंदोपध्‍याय ने अफवाहों पर विराम लगाते हुए कहा है कि अभी तक किसी भी मंत्री ने केंद्र सरकार से इस्‍तीफा नहीं दिया है लेकिन यदि जरूरी हुआ तो यह कदम भी उठाया जा सकता है। सुदीप ने कहा कि सभी मंत्री इस्‍तीफे के लिए तैयार हैं।
दूसरी ओर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने सोमवार को साफ कर दिया कि वह राष्‍ट्रपति चुनाव नहीं लड़ेंगे। कलाम को चुनाव में उतरने के लिए बीजेपी के नेताओं ने खूब मनाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने। बीजेपी के सीनियर नेता लालकृष्‍ण आडवाणी ने कलाम से फोन पर बात की लेकिन कलाम नहीं माने। आडवाणी के सलाहकार रहे सुधींद्र कुलकर्णी ने भी कलाम से दो बार मुलाकात की। लेकिन कलाम के करीबियों ने उन्‍हें सलाह दी कि उनके पक्ष में चुनाव जीतने के लिए जरूरी वोट नहीं हैं, ऐसे में चुनाव से दूर रहना ही बेहतर होगा। कलाम ने बयान जारी कर चुनाव नहीं लड़ने का अपना इरादा जाहिर किया।


कांग्रेस के दो गुट आपस में भिड़े
इंदौर 11 June 2012

धार। धार में रविवार को कांग्रेस के दो गुट आपस में उलझ पड़े। कांग्रेसियों के बीच जमकर पथराव हुआ और लट्ठ चले। यही नहीं मौके पर बंदूक भी निकली गई. पुलिस भी उन्हें छुड़ाने में नाकाम सी नजर आई। इस दौरान पुलिस को भी डंडे पड़े. पुलिसकर्मियों के सामने हुए पथराव में वे भी चपेट में आए। जैसे-तैसे दोनों पक्षों को अलग कराया गया। पुलिस ने पूर्व सीसीबी बैंक अध्यक्ष कुलदीप सिंह बुंदेला सहित 50 पर केस दर्ज किया।
नगरीय निकाय चुनाव की आचार संहिता व धारा 144 लागू होने के बावजूद कांग्रेसी अपना दंभ दिखाए बगैर नहीं रहे। कांग्रेस पर्यवेक्षक व देपालपुर विधायक सत्यनारायण पटेल के एक पक्ष से मिलने पर रविवार शाम पार्टी के दो गुटों में संघर्ष। शहर अध्यक्ष गौतम प्रजापत व एक अन्य घायल हो गया।
बताया जाता है कि पर्यवेक्षक पटेल कांग्रेसी दावेदारों के नाम लेने आए थे। उन्होंने जिला कांग्रेस सम्मेलन में दावेदारों से चर्चा की। निष्कासित नेता मोहनसिंह बुंदेला समर्थित दावेदार कांग्रेस कार्यालय में उनका इंतजार कर रहे थे। पर्यवेक्षक के कार्यालय में नहीं पहुंचने पर आक्रोशित बुंदेला समर्थक जिलाध्यक्ष बालमुकुंदसिंह गौतम के निजी कार्यालय पहुंच गए। वहां तनाव बढ़ा और पथराव शुरू हो गया, जमकर लठ्ठ भी चले।


चिदंबरम पर चलता रहेगा केस
नई दिल्ली। मद्रास हाईकोर्ट ने लोकसभा में निर्वाचन के मामले में जारी सुनवाई रोकने की चिदंबरम की अर्जी गुरुवार को खारिज कर उनकी परेशानी बढ़ा दी है. गृहमंत्री पी चिदंबरम पर आरोप है कि उन्होंने 2009 में लोकसभा चुनाव जीतने के लिए कई स्तरों पर गड़बड़ी की थी। अदालती फैसला आते ही भाजपा ने गृहमंत्री को बर्खास्त करने की मांग की है। मामले की सुनवाई मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच के जस्टिस के वेंकटरमण कर रहे थे। कोर्ट ने चिदंबरम के खिलाफ लगाए गए 29 आरोपों में से दो हटा दिए हैं। जो आरोप हटाए गए हैं उनमें चिदंबरम के चुनावी कार्यक्रम से जुड़े लोगों द्वारा बैंक अफसरों की मदद लेना और मतदाताओं में पैसे बांटने का आरोप शामिल है। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान निजी रूप से कोर्ट में पेश होने से छूट देने की उनकी अर्जी खारिज कर दी है। चिदंबरम पर कुल 29 आरोप थे., कोर्ट ने दो हटा दिए, अब 27 आरोपों के साथ उन पर केस चलेगा.


e/;izns'k fo/kku lHkk pquko 2008 fo'ks"k

eq[;ea=h f'kojkt dk ea=he.My

eq[;ea=h f'kojkt flag pkSkgu

ckcqyky xkSj

jk/ko th

t;ar eyS;k

dSyk'k fot;oxhZ;

xksiky HkkxZo

vuqi feJk

txnh'k nsoMk

y{ehdkar 'kekZ

ukxsUnz flag ukxksn

vpZuk fpVuhl

txUukFk flag

jked`".k dqlefj;k

xkSjh'kadj prqHkqZt

rqdksthjko iokj

 

eq[;ea=h f'kojkt ds jkT;ea=h

dj.k flag oekZ

ikjl tSu

ukjk;.k flag

jatuk c?ksy

dUgS;k yky

gfj'kadj [kfVd

nsohflag lS;e

 

jktsUnz 'kqDyk

pquko 2008 es fofHkUu jkT;ksa es ikVhZ;ksa }kjk izkIr cgqer
e/;izns'k NRrhlx<+ fnYyh
ikVhZ 2003 2008 ikVhZ 2003 2008 ikVhZ 2003 2008
dkaxzsl 38 70 dkaxzsl 37 38 dkaxzsl 47 42
Hkktik 173 142 Hkktik 50 50 Hkktik 20 23
ch,lih 0 5 ch,lih 2 2 ch,lih 0 2
vU; 17 4 vU; 1 0 vU; 3 2
jktLFkku fetksje  
ikVhZ 2003 2008 ikVhZ 2003 2008
dkaxzsl 56 96 dkaxzsl 12 32
Hkktik 120 78 ,e,u,Q 21 3
ch,lih 2 6 tsMih,u 2 3
vU; 22 60 vU; 5 2
jkt/kkuh ds fot;h izR;k'kh;ksa ds uke 2008
{ks= fot;h izR;k'kh ikVhZ dk uke izkIr er
xksfoaniqjk ckcqyky xkSj Hkktik 62766
nf{k.k if'pe mek'kadj xqIrk Hkktik 48707
ujsyk fo'okl lkjax Hkktik 57075
e/; /kzqoukjk;.k flag Hkktik 50061
gqtqj ftrsUnz Mkxk Hkktik 40241
mRrj vkfjQ vdhy dkaxzsl 58267
cSjfl;k czEgkuan Hkktik 46852