लाइफस्टाइल | बिजनेस | राजनीति | कैरियर व सफलता | छत्तीसगढ़ पर्यटन | स्पोर्ट्स मिरर | नियुक्तियां | वर्गीकृत | येलो पेजेस | परिणय | शापिंगप्लस | टेंडर्स निविदा | Plan Your Day Calendar



:: राजस्थान डाइजेस्ट ::

 
सिविल सर्विसेज वर्कशॉप
प्रख्यात लेखक व मार्गदर्शक डॉ. विजय अग्रवाल का व्याख्यान

01 April 2016
इस वर्ष की सिविल सर्विसेज परीक्षाओं में अब ज्यादा समय नहीं बचा है 2 महीने बाद 'स्टेट सिविल सर्विसेज' और 4 महीने बाद 'आल इंडिया सिविल सर्विसेज' के लिए एग्जाम का आयोजन होगा
भोपाल से बड़ी संख्या में छात्र इन परीक्षाओं में बैठते हैं परन्तु यहाँ से चयनित होने वाले छात्रों की संख्या अभी भी बहुत कम है I जिसका सबसे बड़ा कारण है - स्टूडेंट्स में इन परीक्षाओं की सही समझ ना होना I जिस कारण से उनकी साल भर की मेहनत कई बार बेकार चली जाती है
'सिविल सर्विसेज एग्जाम' की बेहतर समझ विकसित करने व छात्रों में इस परीक्षा के लिए सही एप्रोच विकसित करने के उद्देश्य से इस रविवार शासकीय मौलाना आजाद सेंट्रल लाइब्रेरी एक विशेष वर्कशॉप का आयोजन कर रही है
3 अप्रैल को सुबह 11 बजे लाइब्रेरी परिसर में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम को पूर्व सिविल सेवक व लोकप्रिय सिविल सर्विसेज मार्गदर्शक डॉ. विजय अग्रवाल संबोधित करेंगें
कार्यक्रम सबके लिए ओपन है ...इच्छुक व्यक्ति कार्यक्रम शुरू होने से 15 मिनिट पहले लाइब्रेरी पहुंचकर इस कार्यक्रम का हिस्सा बन सकते हैं

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी इस प्रकार है :-

कार्यक्रम - सिविल सर्विसेज वर्कशॉप
दिनांक - 3 अप्रैल 2016 रविवार
समय - सुबह 11 बजे
स्थान - सेंट्रल लाइब्रेरी भोपाल

वक्ता - डॉ.विजय अग्रवाल

वक्ता के बारे में :-

डॉ. विजय अग्रवाल
1982 बैच के भारतीय सूचना सेवा के पूर्व अधिकारी
राष्ट्रपति के पूर्व प्रधान सचिव
प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो के पूर्व अतिरिक्त महानिदेशक
मैनेजमेंट थिंकर एवं स्पीकर
115 से ज्यादा लोकप्रिय पुस्तकों के लेखक
'आप IAS कैसे बनेंगे' नामक पुस्तक के लेखक
लोकप्रिय कार्यक्रम 'डेली ऑडियो गाइडेंस' के सूत्रधार
वर्कशॉप में चर्चा होगी
आपको सिविल सर्विसेज में क्यों आना चाहिए
सिविल सर्विसेज एग्जाम आपमें क्या ढूंढती है
एक सिविल सेवक में क्या गुण होने चाहिए
सिविल सेवा परीक्षा के लिए मानसिक तैयारी
पढ़ाई की शुरुआत कैसे करें
क्या पढ़ें, कैसे पढ़ें और कैसे याद रखें
किसी विषय पर अपनी राय या विचार कैसे बनाएं
प्रतियोगी परीक्षाओं में दूसरों से बेहतर स्कोर कैसे करें
तैयारी के दौरान अपना मानसिक संतुलन कैसे बनाये रखें
तैयारी के लिए समय प्रबंधन की अचूक रणनीति
तैयारी के दौरान आने वाले दवाब/ तनाव से कैसे निपटें
तैयारी के दौरान निरंतरता कैसे बनाये रखें


सेंट्रल लाइब्रेरी में 'सिविल सर्विस डे' पर निबंध प्रतियोगिता
21 अप्रैल को सुबह 10 बजे आयोजित होगी ओपन प्रतियोगिता

20 April 2016
आगामी 21 अप्रैल को सिविल सर्विस डे है अर्थात देश की सेवा में लगे 'सिविल सेवकों' को याद करने का दिन I लोगों की बेहतरी के लिए नीति निर्माण से लेकर देश के कोने कोने में सैकड़ों योजनाओं को लागू करने का कार्य कर रहे देश के हज़ारों सिविल सेवकों के सम्मान में सेंट्रल लाइब्रेरी इस गुरूवार एक विशेष आयोजन कर रही है I
सिविल सर्विसेज क्लब के सहयोग से इस गुरूवार सेंट्रल लाइब्रेरी में एक ओपन निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है I कोई भी व्यक्ति बिना किसी रजिस्ट्रेशन के इस प्रतियोगिता में हिस्सा ले सकता है I
प्रतियोगिता 21 अप्रैल को ठीक सुबह 10 बजे शुरू होगी
प्रतियोगिता का विवरण इस प्रकार है :-

प्रतियोगिता का नाम - ओपन निबंध प्रतियोगिता
अवसर - सिविल सर्विस डे
दिनांक - 21 अप्रैल 2016 गुरूवार
समय - सुबह 10 बजे से
स्थान - सेंट्रल लाइब्रेरी भोपाल

विषय - एक आदर्श सिविल सेवक (An Ideal Civil Servant)
प्रतियोगिता का माध्यम - हिंदी एवं English
शब्द सीमा - 1000 शब्द
समय सीमा - 1 घंटा
भाग ले सकता है - कोई भी व्यक्ति
रजिस्ट्रेशन - आवश्यक नहीं है

आयोजक - सिविल सर्विसेज क्लब (सिविल सर्विसेज एग्जाम पर रिसर्च करने वाली संस्था)
पुरूस्कार - 1500 रुपये का नगद पुरूस्कार




झमाझम बरसे बदरा, मौसम हुआ खुशनुमा

18 July 2015
जयपुर। राजधानी पर शुक्रवार को एकबार फिर मेघ मेहरबान हुए। कई इलाकों में पहले छिटपुट बारिश की शुरूआत हुई और फिर हुई दोपहर होते-होते झमाझम बरसात ने लोगों को उसम से राहत दिलाई। हालांकि,इस दौरान जगह-जगह सड़कों पर पानी भरने से राहगीरों को दिक्कतें भी झेलनी पड़ी। जवाहरलाल नेहरू मार्ग स्थित सिंचाई भवन पर शाम तक 20.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। जबकि सांगानेर स्थित जयपुर मौसम केन्द्र पर 15.7 और बनीपार्क स्थित कलक्ट्रेट पर 22 मिमी बारिश दर्ज की गई।
बारिश का जोर करीब करीब पूरे शहर पर रहा। तेज बरसात के चलते टोंक रोड, प्रताप नगर सेक्टर-3 व 8, सांगानेर मुख्य बाजार, जेएलएन मार्ग समेत कई सड़कों पर पानी भर गया। इस दौरान कई जगहों पर यातायात भी प्रभावित हुआ। टोंक फाटक पुलिया के नीचे पानी जमा होने से लोगों को काफी दिक्कतें हुई। इससे पहले सुबह से ही बादल छाए रहने और हवा नहीं चलने से उमस ने लोगों को परेशान किया। बरसात के बाद लोगों को राहत तो मिली, लेकिन कई इलाकों में बिजली गुल होने से लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ी। कलक्ट्रेट नियंत्रण कक्ष के मुताबिक सांगानेर में 27 मिमी और शाहपुरा में 2 मिमी बारिश हुई।

तापमान बढ़ा

खुशनुमा मौसम से पहले शहरवासियों को तेज गर्मी और उमस का भी सामना करना पड़ा। राजधानी का अधिकतम तापमान गुरूवार की तुलना में .6 डिग्री की बढ़ोत्तरी के साथ 37.1 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान .6 डिग्री की गिरावट के साथ 27 डिग्री दर्ज किया गा। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को शहर में आंशिक रूप से बादल छाए रहने की संभावना है।
जबकि अधिकतम तापमान 38 और न्यूनतम 26 डिग्री रहने का अनुमान है। प्रदेश में भी कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है।f


RAS का अंतिम परिणाम घोषित, नागौर की राधिका ने किया टॉप

18 July 2015
अजमेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आरएएस 2012 का साक्षात्कार परिणाम शुक्रवार शाम को घोषित कर दिया गया। आरएएस के इस अंतिम परिणाम में डीडवाना-नागौर की राधिका देवी ने टॉप किया है। नागौर जिले से 3 अभ्यर्थी टॉप 10 में रहे। टॉप 10 में से पहले दो स्थानों पर महिला अभ्यर्थियों ने जगह बनाई है। अब प्रदेश को 1211 आरएएस अफसर मिल सकेंगे। यह भर्ती प्रक्रिया करीब 4 साल में पूरी हो सकी है।

परिणाम जानने के लिए यहां क्लिक करें

http://rpsc.rajasthan.gov.in/pdf_reports_files/VV_PRES.TXT

परिणाम के अनुसार दूसरे स्थान पर नोहर-बीकानेर की मोनिका बलाड़ा, तीसरे स्थान पर ग्राम शिशु के राजेंद्र सिंह शेखावत, चौथे स्थान पर धनोली-सवाई माधोपुर के अजितेष कुमार मीणा, पांचवें स्थान पर यशपाल आहूजा, छठे स्थान पर जयपुर के विकास राजपुरोहित, 7वें स्थान पर विकास कुमार रोल, 8वें स्थान पर बड़ी खाटू निवासी महावीर सिंह, नवें स्थान पर नागौर के उम्मेद सिंह और 10वें स्थान पर जोधपुर पारसा राम रामचंद रहे। नागौर जिले से डीडवाना, बड़ी खाटू और नागौर के अभ्यर्थी मेरिट में शामिल रहे हैं।
आयोग सचिव नरेश कुमार ठकराल के मुताबिक यह परिणाम सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एसएलपी (सिविल) अपील संख्या 18272-76/2008 (सिविल अपील नंबर 2049-2053/2011) और रिट पिटीशन- 140/2014 और लंबित रिट पिटीशन 6744/2008, 11200/2010, 5347/2015,1085/2014 व अन्य पिटीशनों के अध्यधीन रहेगा। आयोग ने सेवावार पदों की रिक्तियों की स्थिति भी जारी की है। सूची को बायीं से दायीं ओर पढ़ा जाए।

अलग आरक्षण नहीं

आयोग सचिव नरेश कुमार ठकराल ने स्पष्ट किया है कि नॉन गजेटेड एंप्लाइज, डिपार्टमेंट कैंडिडेट्स, एक्स सर्विसमेन, स्पोटर्स मेन और डिसएब्लड पर्सन के लिए अलग से कोई आरक्षण नहीं है। इन वर्गों के अभ्यर्थियों को राज्य सरकार उपलब्ध अभ्यर्थियों के अनुसार एडजस्ट करेगी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रोका परिणाम

आयोग ने इन रोल नंबरों के अभ्यर्थियों के परिणाम सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रोके हैं।

832715 832163 833553 833701.

हाईकोर्ट के आदेश पर रोका परिणाम

801920 833196 831426 833337 831252 869612 833477 866919 802276 865558 831928 831533 833195 833499 864415 869179 867757 812429 871491 869034 865211 867513 861728 870770 832809 801184 831042 832596 800911 873414 871582 869830 866491 831027 831434 868272 873145 866932 821965 871928 867328 802282 822866 852598 868148 821139 863866 863223 802277 832716 832123 870341 864499 872143 833164 801015.

6 पद एनजीई कैटेगरी के लिए

कोर्ट के आदेश पर एसबीसीडब्ल्यू पी नंबर 7082/2015 के तहत छह पद नॉन गजेटेड एंप्लाइज आरक्षित रखा गया है।

7 जनवरी से जारी थी साक्षात्कार प्रक्रिया

आयोग द्वारा कुल 1211 पदों के लिए यह परीक्षा आयोजित की गई थी। इसमें राज्य सेवा के 380 और अधीनस्थ सेवा के 851 पद शामिल हैं। आरएएस 2012 की साक्षात्कार प्रक्रिया 7 जनवरी 2015 से जारी थी, जो आज शाम को पूरी हो गई। कुल 1211 पदों के लिए 3164 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए चयनित किया गया था। साक्षात्कार का अंतिम चरण 22 जून से शुरू होकर 15 जुलाई को पूरा हो जाना था, लेकिन कोर्ट के आदेश पर 28 और अभ्यर्थियों के आ जाने पर साक्षात्कार दो दिन और बढ़ाए गए थे।

लंबे समय से चल रही है प्रक्रिया

आरएएस 2012 की प्रक्रिया चलते हुए करीब 4 साल पूरे हो गए हैं। आयोग ने 27 जनवरी 2014 को आरएएस मुख्य परीक्षा 2012 का परिणाम घोषित किया था। इस परीक्षा के बाद 3165 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए सफल घोषित किया गया। इनमें से बीकानेर की एक अभ्यर्थी ने आत्महत्या कर ली थी। इसके चलते कुल 3164 अभ्यर्थी साक्षात्कार के लिए शेष रहे थे। कंटेंट : मोहम्मद आरिफ कुरैशी, अजमेर


रमजान के जुमातुल विदा पर दुआ के बाद बरसी रहमत

18 July 2015
जयपुर. रमजान के अलविदा जुमे की मुख्य नमाज जौहरी बाजार स्थित जामा मस्जिद में अदा की गई। बड़ी संख्या में रोजेदारों ने नमाज अदा कर अमन चैन की दुआ मांगी। नमाज जामा मस्जिद के इमाम मुफ्ती अमजद अली ने अदा करवाई। तकरीर में मुफ्ती अमजद अली ने कहा कि इस्लाम की तालीमात में हुकूक की अदायगी बहुत जरूरी है। हमारे नवी ने पैदाइश से वफात तक सारी उम्र यही तालीम दी है कि किसी का हक मत छीनो, सब का हक अदा करो।
ईमानदारी, खैरख्वाह, ख़ैरख़्वाही, हमदर्दी और अच्छे अखलाक यह सब इस्लाम की तालीमात है, इस्लाम मोहब्बत, सलामती और दिल को पाक साफ रखने का पैगाम देता है। आज जरूरत इस बात की है कि नवी की सुन्नतों और अहकामात के साथ हमारी जिंदगी में लाएं, मुसलमान के अखलाक और हमदर्दी ऐसी हो जिसे देखकर ईमान का एहसान हो। मुफ्ती सैयद अमजद अली साहब ने सुख-समृद्धि व भाईचारे की दुआ करवाई गई।


झमाझम बरसे बदरा, मौसम हुआ खुशनुमा

18 July 2015
जयपुर। राजधानी पर शुक्रवार को एकबार फिर मेघ मेहरबान हुए। कई इलाकों में पहले छिटपुट बारिश की शुरूआत हुई और फिर हुई दोपहर होते-होते झमाझम बरसात ने लोगों को उसम से राहत दिलाई। हालांकि,इस दौरान जगह-जगह सड़कों पर पानी भरने से राहगीरों को दिक्कतें भी झेलनी पड़ी। जवाहरलाल नेहरू मार्ग स्थित सिंचाई भवन पर शाम तक 20.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। जबकि सांगानेर स्थित जयपुर मौसम केन्द्र पर 15.7 और बनीपार्क स्थित कलक्ट्रेट पर 22 मिमी बारिश दर्ज की गई।
बारिश का जोर करीब करीब पूरे शहर पर रहा। तेज बरसात के चलते टोंक रोड, प्रताप नगर सेक्टर-3 व 8, सांगानेर मुख्य बाजार, जेएलएन मार्ग समेत कई सड़कों पर पानी भर गया। इस दौरान कई जगहों पर यातायात भी प्रभावित हुआ। टोंक फाटक पुलिया के नीचे पानी जमा होने से लोगों को काफी दिक्कतें हुई। इससे पहले सुबह से ही बादल छाए रहने और हवा नहीं चलने से उमस ने लोगों को परेशान किया। बरसात के बाद लोगों को राहत तो मिली, लेकिन कई इलाकों में बिजली गुल होने से लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ी। कलक्ट्रेट नियंत्रण कक्ष के मुताबिक सांगानेर में 27 मिमी और शाहपुरा में 2 मिमी बारिश हुई।

तापमान बढ़ा

खुशनुमा मौसम से पहले शहरवासियों को तेज गर्मी और उमस का भी सामना करना पड़ा। राजधानी का अधिकतम तापमान गुरूवार की तुलना में .6 डिग्री की बढ़ोत्तरी के साथ 37.1 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान .6 डिग्री की गिरावट के साथ 27 डिग्री दर्ज किया गा। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को शहर में आंशिक रूप से बादल छाए रहने की संभावना है।
जबकि अधिकतम तापमान 38 और न्यूनतम 26 डिग्री रहने का अनुमान है। प्रदेश में भी कुछ स्थानों पर बारिश होने की संभावना है।f


RAS का अंतिम परिणाम घोषित, नागौर की राधिका ने किया टॉप

18 July 2015
अजमेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आरएएस 2012 का साक्षात्कार परिणाम शुक्रवार शाम को घोषित कर दिया गया। आरएएस के इस अंतिम परिणाम में डीडवाना-नागौर की राधिका देवी ने टॉप किया है। नागौर जिले से 3 अभ्यर्थी टॉप 10 में रहे। टॉप 10 में से पहले दो स्थानों पर महिला अभ्यर्थियों ने जगह बनाई है। अब प्रदेश को 1211 आरएएस अफसर मिल सकेंगे। यह भर्ती प्रक्रिया करीब 4 साल में पूरी हो सकी है।

परिणाम जानने के लिए यहां क्लिक करें

http://rpsc.rajasthan.gov.in/pdf_reports_files/VV_PRES.TXT

परिणाम के अनुसार दूसरे स्थान पर नोहर-बीकानेर की मोनिका बलाड़ा, तीसरे स्थान पर ग्राम शिशु के राजेंद्र सिंह शेखावत, चौथे स्थान पर धनोली-सवाई माधोपुर के अजितेष कुमार मीणा, पांचवें स्थान पर यशपाल आहूजा, छठे स्थान पर जयपुर के विकास राजपुरोहित, 7वें स्थान पर विकास कुमार रोल, 8वें स्थान पर बड़ी खाटू निवासी महावीर सिंह, नवें स्थान पर नागौर के उम्मेद सिंह और 10वें स्थान पर जोधपुर पारसा राम रामचंद रहे। नागौर जिले से डीडवाना, बड़ी खाटू और नागौर के अभ्यर्थी मेरिट में शामिल रहे हैं।
आयोग सचिव नरेश कुमार ठकराल के मुताबिक यह परिणाम सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एसएलपी (सिविल) अपील संख्या 18272-76/2008 (सिविल अपील नंबर 2049-2053/2011) और रिट पिटीशन- 140/2014 और लंबित रिट पिटीशन 6744/2008, 11200/2010, 5347/2015,1085/2014 व अन्य पिटीशनों के अध्यधीन रहेगा। आयोग ने सेवावार पदों की रिक्तियों की स्थिति भी जारी की है। सूची को बायीं से दायीं ओर पढ़ा जाए।

अलग आरक्षण नहीं

आयोग सचिव नरेश कुमार ठकराल ने स्पष्ट किया है कि नॉन गजेटेड एंप्लाइज, डिपार्टमेंट कैंडिडेट्स, एक्स सर्विसमेन, स्पोटर्स मेन और डिसएब्लड पर्सन के लिए अलग से कोई आरक्षण नहीं है। इन वर्गों के अभ्यर्थियों को राज्य सरकार उपलब्ध अभ्यर्थियों के अनुसार एडजस्ट करेगी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रोका परिणाम

आयोग ने इन रोल नंबरों के अभ्यर्थियों के परिणाम सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रोके हैं।

832715 832163 833553 833701.

हाईकोर्ट के आदेश पर रोका परिणाम

801920 833196 831426 833337 831252 869612 833477 866919 802276 865558 831928 831533 833195 833499 864415 869179 867757 812429 871491 869034 865211 867513 861728 870770 832809 801184 831042 832596 800911 873414 871582 869830 866491 831027 831434 868272 873145 866932 821965 871928 867328 802282 822866 852598 868148 821139 863866 863223 802277 832716 832123 870341 864499 872143 833164 801015.

6 पद एनजीई कैटेगरी के लिए

कोर्ट के आदेश पर एसबीसीडब्ल्यू पी नंबर 7082/2015 के तहत छह पद नॉन गजेटेड एंप्लाइज आरक्षित रखा गया है।

7 जनवरी से जारी थी साक्षात्कार प्रक्रिया

आयोग द्वारा कुल 1211 पदों के लिए यह परीक्षा आयोजित की गई थी। इसमें राज्य सेवा के 380 और अधीनस्थ सेवा के 851 पद शामिल हैं। आरएएस 2012 की साक्षात्कार प्रक्रिया 7 जनवरी 2015 से जारी थी, जो आज शाम को पूरी हो गई। कुल 1211 पदों के लिए 3164 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए चयनित किया गया था। साक्षात्कार का अंतिम चरण 22 जून से शुरू होकर 15 जुलाई को पूरा हो जाना था, लेकिन कोर्ट के आदेश पर 28 और अभ्यर्थियों के आ जाने पर साक्षात्कार दो दिन और बढ़ाए गए थे।

लंबे समय से चल रही है प्रक्रिया

आरएएस 2012 की प्रक्रिया चलते हुए करीब 4 साल पूरे हो गए हैं। आयोग ने 27 जनवरी 2014 को आरएएस मुख्य परीक्षा 2012 का परिणाम घोषित किया था। इस परीक्षा के बाद 3165 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए सफल घोषित किया गया। इनमें से बीकानेर की एक अभ्यर्थी ने आत्महत्या कर ली थी। इसके चलते कुल 3164 अभ्यर्थी साक्षात्कार के लिए शेष रहे थे। कंटेंट : मोहम्मद आरिफ कुरैशी, अजमेर


रमजान के जुमातुल विदा पर दुआ के बाद बरसी रहमत

18 July 2015
जयपुर. रमजान के अलविदा जुमे की मुख्य नमाज जौहरी बाजार स्थित जामा मस्जिद में अदा की गई। बड़ी संख्या में रोजेदारों ने नमाज अदा कर अमन चैन की दुआ मांगी। नमाज जामा मस्जिद के इमाम मुफ्ती अमजद अली ने अदा करवाई। तकरीर में मुफ्ती अमजद अली ने कहा कि इस्लाम की तालीमात में हुकूक की अदायगी बहुत जरूरी है। हमारे नवी ने पैदाइश से वफात तक सारी उम्र यही तालीम दी है कि किसी का हक मत छीनो, सब का हक अदा करो।
ईमानदारी, खैरख्वाह, ख़ैरख़्वाही, हमदर्दी और अच्छे अखलाक यह सब इस्लाम की तालीमात है, इस्लाम मोहब्बत, सलामती और दिल को पाक साफ रखने का पैगाम देता है। आज जरूरत इस बात की है कि नवी की सुन्नतों और अहकामात के साथ हमारी जिंदगी में लाएं, मुसलमान के अखलाक और हमदर्दी ऐसी हो जिसे देखकर ईमान का एहसान हो। मुफ्ती सैयद अमजद अली साहब ने सुख-समृद्धि व भाईचारे की दुआ करवाई गई।


भ्रष्टाचार पर चुप क्यों हैं मोदी : राहुल

17 July 2015
जयपुर। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दो दिवसीय राजस्थान यात्रा के पहले दिन गुरुवार को किसानों और ग्रामीणों से रूबरू हुए। करीब नौ किलोमीटर लंबी पदयात्रा करते हुए केंद्र और राज्य सरकार पर उन्होंंने हमला बोला। कहा कि आपको याद है, एक साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि न खाऊंगा, न खाने दूंगा। लेकिन वे अपना वादा भूल गए हैं। केंद्र में औद्योगिक घरानों की सरकार है। मध्य प्रदेश में व्यापम घोटाले और राजस्थान के ललित मोदी प्रकरण का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा, प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार पर चुप क्यों हैं ? सुबह दिल्ली से सीधे सूरतगढ़ और वहां से हनुमानगढ़ पहुंचे राहुल ने खोथवाली गांव में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा पर सीधा हमला बोला। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार की ओर से स्कूल बंद किए जा रहे हैं। जबकि कांग्रेस सरकार ने जनहित की कई योजनाएं शुरू की थीं। मुफ्त दवाएं दीं। उन्हें बंद किया जा रहा है। आदिवासियों की मदद करने की कोशिश की। भाजपा सरकार उस पर भी आगे काम नहीं कर रही। कांग्रेस सिर्फ राजस्थान में ही नहीं, देशभर में भाजपा सरकार से लड़ाई लड़ेगी और एक-एक कर हर गलत काम का बदला लेगी। राहुल ने पदयात्रा के दौरान दोपहर का खाना एक दलित ग्र्रामीण पूड़ाराम के घर पर खाया। ग्रामीणों के घर गए, चाय भी पी राहुल गांधी पदयात्रा के दौरान गांवों में किसानों के घरों में गए, उनसे बात की। उनकी बनाई चाय पी, एक स्थान पर अल्पाहार भी किया। इस दौरान किसानों ने अपनी समस्याएं बताई तो राहुल ने कहा कि आप घबराएं नहीं। कांग्रेस गरीबों, किसानों की पार्टी है। अगर बीजेपी आपको तंग करने की कोशिश करेगी तो हम उनसे निपटेंगे। हम आपके साथ हैं। हर एक कार्यकर्ता, एमएलए और एमपी ये बातें उठाएगा और लड़ाई लड़ेगा। जहां भी गरीब लोगों को मारने की कोशिश करेंगे, हम दीवार की तरह खड़े हो जाएंगे। अधिकांश किसानों ने क्षेत्र में बढ़ते कैंसर रोग और फसल की बर्बादी का मुद्दा राहुल के समक्ष उठाया। पदयात्रा में पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस के राष्टï्रीय महासचिव गुरुदास कामत के साथ ही बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और लोग मौजूद थे। जयपुर में कांग्रेसजनों को संबोधित करेंगे राहुल गांधी शुक्रवार को सुबह 10:30 बजे जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे। वरिष्ठ कांग्रेसियों के अलावा पदाधिकारियों, प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष, विधायक, आनुषांगिक संगठनों पदाधिकारियों को संबोधित करेंगे। राहुल गांधी शाम को चार बजे प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती समारोह में शामिल होंगे।


जयपुर में तोड़े गए मंदिरों का मामला उठाएंगे राहुल

17 July 2015
जयपुर। आरएसएस और राजस्थान की भाजपा सरकार के बीच टकराव का कारण बने प्रशासन द्वारा हटाए गए जयपुर के मंदिरों के मुद्दे पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को वसुंधरा सरकार से जवाब मांगेंगे। इसके लिए जयपुर शहर कांग्रेस ने एक रिपोर्ट तैयार की है।
इस रिपोर्ट में छोटी काशी के नाम से प्रसिद्ध जयपुर शहर में प्रशासन द्वारा हटाए गए मंदिरों का विवरण दिया गया है। रिपोर्ट गुरुवार शाम को राहुल के जयपुर पहुंचते ही उन्हें सौंपी गई। राहुल ने शाम को जयपुर पहुंचकर खासाकोठी होटल में मंदिर मुद्दे सहित राज्य से जुड़े विभिन्न विषयों पर प्रदेश के नेताओं के साथ बैठक की।
जानकारी के अनुसार राहुल शुक्रवार सुबह जयपुर के कुछ वरिष्ठ नागरिकों से भी चर्चा करेंगे। इसके बाद वह राज्य सरकार से मंदिर तोड़े जाने का जवाब मांगेंगे।


वायु सेना का अनमेन्ड एरियल ह्वीकल जैसलमेर में दुर्घटनाग्रस्त

17 July 2015
जैसलमेर। वायु सेना का एक अनमेन्ड एरियल ह्वीकल (यूएवी) राजस्थान के जैसलमेर में खुले मैदान में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। बताया गया है कि इसका इंजन फेल हो गया था। रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष ओझा ने गुरुवार को बताया कि यह यूएवी बुधवार रात करीब एक बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गया।
जांच के लिए वायु सेना के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। दुर्घटना में जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ। थाना प्रभारी जेठाराम ने बताया कि आवाज सुनने के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस का सूचना दी। इसके बाद एक टीम घटनास्थल के लिए रवाना हो गई।


राजस्थान में बनेगी स्किन बैंक

16 July 2015
जयपुर। ब्लड और नेत्र बैंक की तर्ज पर राजस्थान में जल्द ही स्किन बैंक विकसित किया जाएगा। यह बैंक राजस्थान के सबसे बड़ी सरकारी अस्पताल जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में बनेगा। यह बैंक 50 से 80 प्रतिशत तक जले लोगों की जान बचाने और उनकी प्लास्टिक सर्जरी के लिए काफी उपयोगी साबित होगा।
राजस्थान के चिकित्सा मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने सवाई मानसिंह अस्पताल से इसकी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उत्तर भारत में यह अपनी तरह का पहला स्किन बैंक होगा।
यह बैंक नेत्र बैंक की तरह ही काम करेगा। यदि कोई अपनी त्वचा दान करना चाहता है तो मृत्यु के बाद यह त्वचा ली जा सकेगी और इसे बहुत कम तापमान में सुरक्षित रखा जाएगा। ऐसी त्वचा को दो से पांच वर्ष तक सुरक्षित रखा जा सकता है। सवाई मानसिंह अस्पताल में प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रोफेसर डॉ.राकेश जैन का कहना है कि मृत व्यक्ति से ली गई त्वचा को रासायनिक रूप से उपचारित कर सुरक्षित रखा जा सकता है। यह जले हुए मरीजों को तात्कालिक रूप से काफी उपयोगी है।

प्रोटीन की कमी नहीं होगी

इस तरह ली गई त्वचा को जले हुए मरीज को लगाया जाएगा और तीन से चार सप्ताह में जब उस मरीज की खुद की त्वचा आने लगेगी तो यह त्वचा अपने आप हटती जाएगी। इससे मरीज को संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा, उसके शरीर में प्रोटीन की कमी नहीं होगी और उसकी खुद की त्वचा भी जल्द आएगी। ज्यादा जले हुए मरीजों की जान बचााने मे यह वरदान साबित हो सकती है, क्योंकि 50 प्रतिशत से ज्यादा जले हुए मरीजों के बचने का प्रतिशत बहुत कम होता है।
चिकित्सा विभाग ने सवाई मान सिंह अस्पताल को इसके लिए तैयारी करने के निर्देश दे दिए हैं। दो माह में इसकी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर एक वर्ष के अंदर इसे शुरू किया जाएगा।


राहुल गांधी राजस्थान में करेंगे पदयात्रा

16 July 2015
जयपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी दो दिवसीय राजस्थान दौरे पर आएंगे। वे गुरुवार सुबह नौ बजे दिल्ली से सीधे श्रीगंगानगर के सूरतगढ़ पहुंचेंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने बताया कि यहां से पदयात्रा शुरू होगी, जो ग्राम सुरावाली पहुंचेगी। यहां राहुल गांधी गांववासियों और प्रदेशभर से आए हुए प्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगे। इसके बाद पदयात्रा ग्राम अमरसिंहवाला पहुंचेगी।
पदयात्रा के दौरान गांधी के साथ कांग्रेस के नेता, कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे। इसके बाद वे जयपुर के लिए रवाना होंगे। अगले दिन 17 जुलाई को सुबह 10ः30 बजे राहुल गांधी जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में वरिष्ठ कांग्रेसियों के अलावा पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, जिलाध्यक्षों और आगामी निकाय चुनाव से संबंधित शहरों के नगर कांग्रेस अध्यक्षों के इस सम्मेलन को संबोधित करेंगे। फिर शाम को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में भीमराव अंबेडकर की 125वीं जन्म शताब्दी समारोह के कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे।


पासपोर्ट महामेला 25 जुलाई को, 1850 लोग कर सकेंगे आवेदन

16 July 2015
जयपुर. पासपोर्ट मेला की सफलता के बाद क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय 25 जुलाई को जयपुर, सीकर और जोधपुर के पासपोर्ट सेवा केंद्र पर पासपोर्ट महामेला का आयोजन करने जा रहा है। तीनों सेवा केंद्रों के लिए 1850 लोग पासपोर्ट के लिए आवेदन कर सकेंगे। महामेला का आयोजन सुबह 9.30 बजे से शाम 5 बजे तक किया जाएगा। इसमें तत्काल, पीसीसी और सेवा केंद्र में लंबित (ऑन होल्ड) आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।
महामेला के लिए पासपोर्ट की वेबसाइट www.passportindia.gov.in पर ऑनलाइन 16 जुलाई दोपहर 1 बजे से 24 जुलाई रात 12 बजे तक आवेदन कर सकते हैं। महामेला में सामान्य और नवीनीकरण आवेदनों को स्वीकार किया जाएगा। पासपोर्ट अधिकारी विवेक जैफ ने बताया कि इससे पहले 11 जुलाई को 1550 लोगों ने पासपोर्ट मेला में आवेदन किया था।


गवाहों पर हमले में मेरा कोई हाथ नहीं: आसाराम

14 July 2015
जयपुर। नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीडऩ के आरोप में दो वर्ष से जोधपुर जेल में बंद आसाराम के खिलाफ गवाही देने वालों पर एक के बाद एक हो रहे हमलों के संदर्भ में उनका कहना है कि इसमें उनका कोई हाथ नहीं है। सुनवाई के लिए आज कोर्ट में प्रवेश करने के दौरान उखड़े-उखड़े नजर आए आसाराम ने कहा कि चाहे जिससे जांच करवा लो, चाहे राष्टï्रपति से करवा लो इसमें मेरा कोई हाथ नहीं है। वहीं जोधपुर कोर्ट में सोमवार को पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी कर दी थी।
कोर्ट में प्रवेश करने के दौरान आसाराम से उनके खिलाफ गवाही देने वाले कृपाल सिंह पर हुए जानलेवा हमले के बारे में सवाल किए गए, इस पर उन्होंने कहा कि कृपाल आज से ग्यारह माह पूर्व गवाही दे चुका था। ऐसे में उस पर हमला करने की कोई वजह समझ से परे है।

अब तक नौ गवाहों पर हो चुका है हमला

आसाराम मामले में नौ गवाहों पर जानलेवा हमला हो चुका है। इनमें तीन की मौत हो चुकी है। पीडि़त के पिता को भी शाहजहांपुर और जोधपुर में टारगेट बनाया जा चुका है।
एक अन्य गवाह राहुल सचान पर भी फरवरी में जोधपुर कोर्ट में गवाही देकर बाहर निकलते समय चाकू से हमला किया गया था। हालांकि इस हमले में बुरी तरह से घायल राहुल की जान बच गई थी।


राज्य सरकार ने कलक्टर से मांगी रिपोर्ट

14 July 2015
बांसवाड़ा।राज्य सरकार ने जिले के घाटोल क्षेत्र के बोदलापाड़ा गांव के हाइड्रोफोबिया (रैबीज) रोग से ग्रस्त केशव के मामले में सोमवार को जिला कलक्टर से रिपोर्ट तलब कर ली है। उधर इस मामले में मानवीय संवेदनाएं सोमवार को फिर तार-तार हुई जब गंभीर हालत के बावजूद केशव को उदयपुर रवाना करने में सुबह से शाम हो गई। काफी प्रयास के बाद परिजन अस्पताल पहुंचे और पुलिसकर्मी तो आए ही नहीं।
इसके बाद सोमवार को राज्य सरकार ने जिला कलक्टर से रिपोर्ट मांगी। सीएमएचओ डॉ. एच. एल. ताबीयार ने बताया, दो-ढाई माह पहले केशव को कुत्ते ने काटा था। इस पर केवल एक इंजेक्शन लगवाया था एवं पूरा उपचार नहीं लिया, जिससे ये केशव की यह हालत हुई। रिपोर्ट कलक्टर को भेजी जा रही है।
नहीं मिली बंधन से मुक्ति : केशव को रविवार रात लकडियों से बांध कर अमानवीय तरीके से घाटोल से एमजी अस्पताल ला गया था और मेल वार्ड में भर्ती किया था, लेकिन पागलपन के दौरे पर किसी पर हमले या अप्रिय स्थिति से बचाव के लिए सोमवार को उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया। साथ ही नींद का इंजेक्शन लगाया और बेण्डेज से हाथ-पांव बांधे।
अस्पताल में बेहतर उपचार की सुविधा न होने के चलते सुबह साढ़े दस बजे उदयपुर रैफर किया, लेकिन दोपहर तक परिजन नहीं पहुंचे। काफी प्रयास के बाद वे अस्पताल पहुंचे तो सुरक्षा की दृष्टि से तैनात पुलिसकर्मी नहीं आए।
शाम तक उनकी बाट जोहते रहे और आखिर सवा चार बजे उसे परिजनों के भरोसे उदयपुर रवाना किया गया। वरिष्ठ चिकित्साधिकारी डॉ. देवेश गुप्ता ने बताया कि केशव का रोग गंभीर रूप धारण कर चुका है। यहां इसका उपचार संभव नहीं था, इसलिए रैफर किया गया।


राज्य में अब तक 12.50% ज्यादा पानी बरसा

14 July 2015
जोधपुर. राजधानी में सोमवार शाम को एक घंटे में 16 मिमी बारिश हुई। इस दौरान 40 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। शहर में इस साल अब तक सामान्य की अपेक्षा 40 प्रतिशत ज्यादा बरसात हो चुकी है। वहीं पिछली जुलाई की तुलना में अब तक 410.23 फीसदी यानी चार गुना ज्यादा बारिश हो चुकी है। प्रदेश में अब तक सामान्य से 12.50% बारिश हुई है। 19 जिलों में अब तक अच्छी बरसात हुई है, इनमें से पांच जिलों में 60 प्रतिशत से ज्यादा बरसात हो चुकी है। जोधपुर, उदयपुर को छोड़ बाकी संभागों में सामान्य से ज्यादा बरसात हुई है। मौसम विभाग के अनुसार-अगले ढाई महीने में सामान्य बरसात होगी। वहीं स्काईमेट एजेंसी के अनुसार सामान्य से 10 प्रतिशत ज्यादा बरसात होगी। जयपुर में सोमवार को कलेक्ट्रेट पर 13 मिमी बरसात रिकॉर्ड की गई।
यहां ज्यादा : बीकानेर, गंगानगर, हनुमानगढ़, जोधपुर, जैसलमेर, नागौर, टोंक, धौलपुर, सवाईमाधोपुर, जयपुर, अलवर, कोटा, बारां और बूंदी में 60% तक ज्यादा बारिश।
यहां कम : पाली, सिरोही, अजमेर, भीलवाड़ा, उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौडगढ़, प्रतापगढ़ और राजसमंद में सामान्य से 20 प्रतिशत कम बरसात हुई है। उदयपुर संभाग में सामान्य से 27 प्रतिशत कम बरसात हुई है।


बातचीत से पहले पाक की नीयत जांचनी चाहिए : थरूर

13 July 2015
जयपुर। पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर का कहना है कि पाकिस्तान यदि आतंकवाद के मुद्दे पर गंभीर नहीं है तो हमें बातचीत से पहले सोचना चाहिए। उन्होंने बातचीत से पहले भारत को होमवर्क करने की जरूरत बताते हुए कहा कि पाक की नीयत और गंभीरता को भी जांचना चाहिए। थरूर ने उम्मीद जताई कि भारत सरकार इस बारे में विचार कर रही होगी। ललित मोदी-वसुंधरा राजे और सुषमा स्वराज मामले की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि मेरी पार्टी दोनों नेताओं के इस्तीफे मांग रही है,अन्य पार्टियां भी इस्तीफे मांग रही है, लेकिन फिर भी इस्तीफे नहीं हो रहे। इस मामले को लीगली देखना चाहिए। कानूनी प्रक्रिया के जरिए यह साफ होना चाहिए कि आरोपी कौन है। फिर उसके हिसाब से सजा होनी चाहिए। थरूर आज जयपुर में फिक्की फ्लो के कार्यक्रम में शामिल होने जयपुर आए थे। इस मौके पर उन्होंने मीडिया के सवालों के जवाब भी दिए। भारत की छवि का जिक्र करते हुए थरूर ने कहा कि इंडिया की सॉफ्ट इमेज के प्रति विकसित देशों का नजरिया बदला है। यह नकारात्मक है। यहां रेप, हत्या, लूट जैसी सनसनीखेज खबरों का असर उन देशों पर ऐसा पड़ा है कि वहां की महिलाएं इंडिया में अकेले ट्रैवल करना खुद को सेफ नहीं मानती है। थरूर ने इस मौके पर बॉलीवुड पर भी बात की। जहां तक फिल्मों का सवाल है तो उन्होंने इंडिया की सॉफ्ट इमेज को बरकरार रखने के लिए काफी काम किया है। आज भी यूरोपियन देशों में बॉलीवुड फिल्में देखी जाती है। थरूर ने कहा कि एक बार एक यूरोपियन देश के एक लीडर ने उन्हें बॉलीवुड फिल्म का गाना भी सुनाया।


पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव के खिलाफ ईडी जांच

13 July 2015
जयपुर। ललित मोदी प्रकरण में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को घेरने में जुटी कांग्रेस अब खुद नई मुसीबत में फंस गई है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे और प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री वैभव गहलोत से जुड़ी कंपनियों के खिलाफ कालेधन को वैध बनाने के आरोपों की जांच शुरू कर दी है। यदि शिकायत सही निकली तो मनी लांड्रिंग एक्ट के तह केस दर्ज होगा।
गहलोत के पारिवारिक मित्र रतन कांत शर्मा ने मार्च 2007 में ट्राइटन होटल्स एंड रिसोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी रजिस्टर कराई। अप्रैल 2007 में कंपनी के 100 रुपये कीमत वाले 2 लाख 27 हजार शेयर रतन और उनकी पत्नी जूही के नाम थे। इसके अतिरिक्त 14 हजार 500 के शेयर भी जूही के नाम थे। इस कंपनी ने कुछ साल तक कोई काम नहीं किया।
जुलाई 2011 में ट्राइटन होटल्स के 2500 शेयर मॉरीशियस की कंपनी शिवनार होल्डिंग्स को 39 हजार 900 प्रीमियम पर दिए गए। यही नहीं वित्त वर्ष 2012-13 में ट्राइटन होटल्स के शेयर की कीमत घटकर 1150 रुपये रह गई। जनवरी 2013 में ट्राइटन होटल्स के 10 हजार शेयर फिर से शिवनार होल्डिंग्स को आवंटित किए गए। आरोप है कि शिवनार होल्डिंग्स कंपनी गलत ढंग से कमाए गए धन को वैध बनाने का जरिया है।
जिस दौरान अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री थे उसी समय रतनकांत शर्मा ने जयपुर में होटल बनाया, जिसका काम वैभव गहलोत संभालते हैं। ईडी में सामाजिक कार्यकर्ता सूरज सोनी की ओर से की गई शिकायत में सबूत के तौर पर वैभव की कंपनी सनलाइट कार रेंटल सर्विसेज के दस्तावेज दिए गए हैं। जिसके अनुसार, सनलाइट में रतनकांत शर्मा निदेशक हैं।
इधर रतन की कंपनी ट्राइटन होटल्स में वैभव गहलोत लीगल एडवाइजर हैं। ऐसे में संदेह है कि शिवनार होल्डिंग्स की आड़ में लगाई गई 11 करोड़ रुपए की राशि गहलोत की है। वही इस बारे में वैभव गहलोत का कहना है कि ईडी जांच में सब स्पष्ट हो जाएगा।
मेरी कंपनी सनलाइट का मॉरिशियस की कंपनी से कोई लेना-देना नहीं है। मैं ट्राइटन होटल्स में तीन साल तक लीगल एडवाइजर रहा हूं। रतनकांत ने मेरी कंपनी सन लाइट को 13 लाख का लोन दिया है। उन्होंने 10 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से मेरी कंपनी के एक लाख के शेयर खरीद रखे हैं।


धौलपुर पैलेस में कार्यकर्ताओं से मिलीं वसुंधरा, देर रात तक सुनी समस्याएं

13 July 2015
धौलपुर. मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने रविवार को चौथे दिन पार्टी पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर समस्याएं जानी। इस बार खास बात ये रही कि जिन समस्याओं का तुरन्त समाधन हो सकता था उनके लिए उन्होंने खुद संबन्धित मंत्री अधिकारी से खुद फोन पर बात कर निराकरण के निर्देश दिए। जानकारी के अनुसार मुलाकात का दौर राजे के निवास राज निवास पैलेस (धौलपुर पैलेस) में शाम काे 5 बजे शुरू हुआ जो देर रात तक जारी रहा।
पैलेस में किसी को भी मोबाइल अंदर नहीं ले जाने दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने पार्टी पदाधिकारियों की अलग-अलग ग्रुपों में बैठकें ली। प्रत्येक बैठक को करीब आधा घंटे का समय दिया गया जिसमें उनकी समस्याएं सुनी। सीएम ने संबन्धित मंत्री या अधिकारी से बात कर समाधन के निर्देश दिए तथा जिनका तुरन्त समाधान संभव नहीं था उन्हें नोट करवाया गया। इसके साथ ही पार्टी पदाधिकारियों को निकाय चुनाव में एकजुट रहने की नसीहत दी।


आसाराम ने कोर्ट जाने से किया इन्कार

11 July 2015
जयपुर। नाबालिग के यौन उत्पीड़न के आरोप में जोधपुर जेल में बंद आसाराम की तबीयत शुक्रवार को बिगड़ गई जिसके चलते उन्होंने कोर्ट जाने से इन्कार कर दिया। उनका कहना था कि वह अच्छा नहीं महसूस कर रहे हैं। पुलिस ने उन्हें कोर्ट में पेश नहीं किया। वहीं कोर्ट में मुख्य जांच अधिकारी चंचल मिश्रा से जिरह हुई। इस मामले में राजस्थान उच्च न्यायालय ने प्रतिदिन सुनवाई का आदेश दे रखा है। ऐसे में मामले की सुनवाई प्रतिदिन हो रही है। चंचल मिश्रा से जिरह अगले पांच-सात दिन तक चलने की संभावना है। मामले की सुनवाई के लिए पुलिस प्रतिदिन आसाराम को जेल से कोर्ट लेकर आती है।


टोल वसूली में मनमर्जी का आरोप

11 July 2015
हनुमानगढ़। सूरतगढ़ फोरलेन मार्ग पर नियम विरूद्ध टोल वसूली के मामले को लेकर शुक्रवार को टोल हटाओ संघर्ष समिति के प्रतिनिधि मंडल ने जिला कलक्टर रामनिवास को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के अनुसार नगर परिषद क्षेत्र के बीस किलोमीटर दायरे के अंदर टोल बूथ नहीं लगाया जा सकता। साथ ही पचास किलोमीटर तक एक बूथ होना चाहिए। इसके बावजूद सूरतगढ़ फोरलेन मार्ग पर इन मापदंडों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। केवल दस किलोमीटर की दूरी के भीतर यात्रा करने वालों से भी टोल वसूला जा रहा है। प्रतिनिधि मंडल ने जिला कलक्टर से कहा कि फोरलेन निर्माण में भारी भ्रष्टाचार हुआ है।
इस कारण सड़क की हालत खस्ता हो गई। लेकिन संबंधित एजेंसी का ध्यान सड़क की हालत सुधारने के बजाय अधिकाधिक टोल वसूलने पर है। सड़क की हालत सुधारी जाए तथा नियम विरूद्ध लिया जा रहा टोल बंद करवाया जाए। प्रतिनिधि मंडल मे माकपा के रामेश्वर वर्मा, एडवोकेट जितेन्द्र सारस्वत, बहादुरसिंह चौहान, रघुवीर वर्मा, एसकेडी शिक्षण संस्थान के बाबूलाल जुनेजा, जगतार सिंह, अजमेर सिंह, रविन्द्र भांभू, अशोक गाबा आदि शामिल थे।


जासूसी कर रहा है पाकिस्तान, राजस्थान बॉर्डर पर लगाए कैमरे

11 July 2015
जोधपुर. अंतरराष्ट्रीय नियमों को तोड़ते हुए पाकिस्तान भारतीय सीमा की जासूसी करने के लिए पश्चिमी बॉर्डर पर सीसीटीवी कैमरे लगा रहा है। विरोध के बावजूद पाक ने इंटरनेशनल बॉर्डर से 200-300 मी. की दूरी पर ही कैमरे लगा दिए हैं। बीएसएफ ने पाक रेंजर्स से इसका कड़ा विरोध जताया है। आने वाले दिनों में डीआईजी या आईजी स्तर की बैठक में यह मामला उठाया जाएगा।

चार जिलों में कैमरे लगाने का काम

बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर और श्रीगंगानगर सीमा पर भारतीय सीमा चौकियों के ठीक सामने कैमरे लगाए जाने का काम जोरों पर है। कैमरे लगाने के लिए पाक ने 15-15 फीट ऊंचे पोल भी लगाए हैं, वहीं कुछ कैमरे झाड़ियों में लगाए गए हैं।

चीनी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल

बॉर्डर पर जो कैमरे लगाए गए हैं, उनमें चीनी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है। पोल पर सोलर पैनल भी साथ लगे हैं, इससे इन्हें बिजली की सप्लाई हो जाती है। कैमरे की रेंज करीब एक किमी से ज्यादा बताई जा रही है। ज्यादातर कैमरे पॉकेट्स में लगाए गए हैं।

पहले यूएवी और अब कैमरे

सीमा पर घुसपैठ पाकिस्तान की ओर से ही होती है। फिर भी पाकिस्तान ने दिखावे के लिए कैमरे लगाए हैं। इससे पहले अप्रैल में पाक सेना ने यूएवी (मानव रहित विमान) से रात में रेकी की थी। यूएवी को जीरो लाइन के पास 300 से 500 मी. की ऊंचाई पर उड़ाया गया था।

ये हैं नियम : नियमानुसार सीमा के दोनों तरफ 500-500 मीटर तक कैमरे या अन्य ऐसे उपकरण इस्तेमाल नहीं किए जा सकते।

पश्चिमी सीमा पर कई स्थानों पर इंटरनेशनल बॉर्डर के पास पाकिस्तान ने सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। भारत की ओर से बीएसएफ ने इस पर कड़ा एतराज जताया है। अब बड़े स्तर पर ये मामला उठाया जाएगा। -रवि गांधी, प्रवक्ता व डीआईजी, बीएसएफ राजस्थान सीमांत


कांग्रेस नेता आज राज्यपाल से मिलेंगे

10 July 2015
जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट के नेतृत्व में कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल शुक्रवार को दोपहर 12.30 बजे प्रदेश के राज्यपाल कल्याण सिंह से मुलाकात कर प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पद से हटाने की मांग को लेकर ज्ञापन प्रस्तुत करेंगे। ज्ञापन में ललित मोदी प्रकरण सहित कई मुद्दों का हवाला होगा। प्रतिनिधि मंडल में पायलट के साथ नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी, पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष, पूर्व केंद्रीय मंत्री, कांग्रेस के विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी और कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित रहेंगे।


बंद फ्लोर मिल में जुए की फड़

10 July 2015
अजमेर। आदर्शनगर थाना पुलिस ने गुरूवार परबतपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में एक बंद पड़ी फ्लोर मिल पर दबिश देकर जुआ खेलते आठ जनों को गिरफ्तार कर उनसे दांव पर लगाए 60 हजार रूपए बरामद किए। अलवर गेट थाना पुलिस के अलावा अन्य थाना पुलिस ने भी जुआ एक्ट में कार्रवाई की। आदर्शनगर थानाप्रभारी लक्ष्मणराम चौधरी ने बताया कि दोपहर में परबतपुरा इंडस्ट्रियल एरिया में अलवर गेट निवासी संदीप उर्फ नीलू बनासिया की बंद पड़ी फ्लोर मिल पर दबिश दी। मिल की घेराबंदी कर अलवर गेट निवासी लक्ष्मण कोली, खादिम मोहल्ला निवासी नईमुद्दीन, पड़ाव निवासी वासुदेव सिंधी, ट्राम-वे स्टेशन निवासी गोरधन, आम का तालाब निवासी अनिल सिंह, अलवर गेट निवासी बलवीर सिंह पंजाबी, अजयनगर निवासी जगदीश कुमार सिंधी और रोहित कुमार को छक्का-दाना से जुआ खेलते पकड़ा। पुलिस ने छक्का-दाना की जोड़ी और दांव पर लगाए 60 हजार 540 रूपए बरामद किए। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ जुआ एक्ट में कार्रवाई की।

दो जुआरी व खाईवाल गिरफ्तार

अलवर गेट थाना पुलिस ने गुरूवार सुबह दो जनों को ताशपत्ती और एक जने को सट्टे की खाईवाली करते दबोचा। थानाप्रभारी विक्रम सिंह भाटी ने बताया कि गश्त के दौरान कैरिज कारखाने के पास सुनहरी कॉलोनी निवासी चन्द्रप्रकाश पुत्र धनसिंह को सट्टे की पर्ची काटते पकड़ा। उससे 3035 रूपए बरामद किए गए। जादूघर कुम्हार मोहल्ला में सुभाष सिंह और कमल किशोर कोली को ताशपत्ती से जुआ खेलते पकड़ कर 435 रूपए बरामद किए।

मिल मालिक भी जांच के दायरे में

पुलिस मामले में मिल मालिक संदीप बनासिया को फैक्ट्री में जुए की फड़ की जांच दायरे में लिया है। संदीप ने फैक्ट्री को जुआरियों को किराए पर दिया था या जुआरी चोरी छुपे दीवार फांद कर जुआ खेला जा रहा था।


भाजपा सरकार के खिलाफ ही आरएसएस ने कर दी दो घंटे राजधानी जाम

10 July 2015
जयपुर। जयपुर में करीब जेडीए और जिला प्रशासन की ओर से विभिन्न विकास कार्य के नाम पर 100 मंदिरों को तोड़ने के खिलाफ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ गुरुवार को सड़कों पर उतर पड़ा। संघ के समर्थन से मंदिर बचाओ संघर्ष समिति ने शहर के सभी छोटे-बड़े चौराहों पर जाम लगा दिया। रास्ते रोक दिए गए। मेट्रो को भी रोकने की तैयारी की थी, लेकिन ऐसा संभव नहीं हुआ। चक्का जाम का ऐतिहासिक असर पूरी राजधानी में देखने को मिला है। तेज बारिश के बीच भी जाम बदस्तूर जारी रहा।
भगवा पट्टा गले में डालकर सभी चौराहों पर बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने चारों ओर से रास्तों काे रोका। बड़ी संख्या में वाहनों की कतारें इन चौराहों पर लग गई। जाम के बीच जगह-जगह लोग मनुहार करते नजर आए, लेकिन कार्यकर्ताओं का कहना था कि उन्होंने पहले ही अपील कर दी थी कि वे सुबह 9 बजे से पहले या 11 बजे बाद ही सड़कों पर अपने काम को निकलें। हालांकि जाम के बीच जो लोग अटक गए, उन्हें खासी परेशानी का सामना करना पड़ा।

छोटी चौपड़ मेट्रो साइट पर हंगामा

कार्यकर्ता छोटी चौपड़ मेट्रो साइट पर घुस गए। वहां उन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया। बाद में पुलिस ने कार्यकर्ताओं को बाहर निकाला। वे मंदिर तोड़े जाने का विरोध कर रहे थे।

ट्रैफिक खुलते ही सड़कों पर दौड़े वाहन

दो घंटे के चक्काजाम के आह्वान के बाद जैसे ही जाम खोला गया, सड़कों पर वाहन दौड़ पड़े। ट्रैफिक नियमित हो गया। चक्काजाम का ऐलान 75 चौराहों पर किया गया था, वहीं रास्ते रोके गए थे। गलियों में जहां जाम नहीं रखा गया था, वहां ट्रैफिक आ-जा रहा था। पूर्व आह्वान के तहत भी लोग घरों से नहीं निकले, ऐसे में जाम खुलते ही सड़कों पर ज्यादा भीड़ नहीं रही।

अंबाबाड़ी सर्किल पर एंबुलेंस रोकी, बाद में जाने दिया

समिति ने आह्वान किया था कि आपात सेवाओं को जाम से मुक्त रखा गया है, लेकिन अंबाबाड़ी सर्किल पर विधायक नरपत सिंह राजवी के समर्थकों ने एंबुलेंस को रोक लिया। जब मीडियाकर्मियों ने टोका तो एंबुलेंस को जाने दिया। यहां 9 बजे से 10 मिनट पहले ही जाम लगा दिया गया था। जाम भी लंबा था, जिसके कारण एंबुलेंस भी फंस गई। उधर, करणी पैलेस पर एक अार्मी अफसर को भी रोक दिया गया। तबीयत खराब होने से वे अस्पताल जा रहे थे, तब एक कार्यकर्ता ने कमेंट किया कि हजारों लोगों में एक मर भी गया तो क्या हो जाएगा। वे गिड़गिड़ाते रहे, कार्यकर्ता विरोध करते रहे।

डॉक्टर की पर्ची देखकर भी जाने दिया

एंबुलेंस और परीक्षा वाले स्टूडेंट्स को जाम से मुक्ति की घोषणा की गई थी, लेकिन कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह उन मरीजों को भी जाने दिया, जिनके पास डॉक्टर या अस्पताल की पर्ची भी थी। ऐसा नजारा झोटवाड़ा पुलिया, कांटा चौराहा आदि स्थानों पर देखने को मिला। यहां पार्षद दिनेश कांवट और संघ की ओर से योगेश शर्मा के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने जाम लगाया।

राणा की जय जय, शिवा की जय-जय के नारे गूंजे

झोटवाड़ा पुलिया, कांटा चौराहा, चौमूं पुलिया पर कार्यकर्ताओं के नारों से माहौल अलग तरह का दिखाई दिया। यहां राणा की जय-जय, शिवा की जय-जय जैसे नारे गूंजते रहे। यहां भी बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता भी संघ कार्यकर्ताओं के साथ बंद कराते रहे। बरसात के बीच कार्यकर्ताओं का जोश कम नहीं हुआ।

सड़कों पर बैठ कर रहे कीर्तन, बेरिकेड्स लगा रोक दिए रास्ते

छोटी चौपड़, बड़ी चाैपड़, पिंजरपोल गोशालाओं, चौमूं सर्किल, अंबाबाड़ी, गुर्जर की थड़ी, टोंक रोड के हर चौराहे पर जाम लगा दिया। यही नहीं कार्यकर्ता कीर्तन करने के लिए सड़कों पर दरी बिछाकर बैठ गए। जगह-जगह बैरिकेड्स लगाकर जाम लगाया गया। 0लोगों को निकलने का कोई रास्ता नहीं बचा। कलेक्ट्रेट सर्किल पर रामधुनी की गई। यहां वाहनों की आवाजाही में ज्यादा दिक्कतें नहीं आईं। इधर, सोढ़ाला सर्किल पर करणी सेना के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में इकट्‌ठा होकर जाम लगा दिया। दूसरी ओर रामबाग सर्किल और अंबेडकर सर्किल पर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने जाम लगा दिया।

बारिश में चक्काजाम कर बैठे घनश्याम तिवाड़ी

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के विरोधी माने जाने वाले वरिष्ठ विधायक घनश्याम तिवाड़ी यहां सांगासेतु पर चक्काजाम कर बैठ गए। यहां तेज बारिश शुरू होने के बावजूद वे अपने कार्यकर्ताओं के साथ जमे रहे। यहां कीर्तन कर रहे हैं।

सुबह सड़कों पर भी खासी भीड़

चक्का जाम को देखते हुए दफ्तर और व्यापारिक गतिविधियों के संबंध में 9 से 11 बजे के बीच निकलने वाले लोग सुबह 8:30 बजे से ही घरों से निकल गए। कहीं जाम में नहीं फंस जाएं, इसे देखते हुए वे समय से काफी समय पहले ही निकल गए। चक्का जाम से बचने के कारण ही सड़ाकें पर वाहनों की भीड़ सुबह देखी गई।


आर्म्‍स एक्ट प्रकरण में सलमान की याचिका पर सुनवाई 20 तक टली

09 July 2015
जयपुर। राजस्थान उच्च न्यायालय में फिल्म अभिनेता सलमान खान की ओर से आर्म्स एक्ट प्रकरण में पांच गवाहों को फिर से बुलाने की अनुमति मांगने की याचिका पर सुनवाई 20 जुलाई तक टल गई।
उच्च न्यायालय ने बुधवार को सलमान की याचिका पर सरकारी वकील से अपना पक्ष रखने को कहा। उन्होंने इसके लिए समय देने की मांग की। इस पर न्यायालय ने उन्हें बीस जुलाई को अगली सुनवाई तिथि पर अपना जवाब देने को कहा है। आर्म्स एक्ट प्रकरण में मुजरिम बयान के दौरान स्वयं को बेगुनाह बताने वाले सलमान खान ने इस मामले में पांच गवाहों को जिरह के लिए फिर से बुलाने की अनुमति मांगी थी। लेकिन सेशन कोर्ट ने सलमान की याचिका को खारिज कर दिया। इस पर सलमान की ओर से उच्च न्यायालय में दायर याचिका पर बुधवार को न्यायाधीश निर्मलजीत कौर की अदालत में सुनवाई टली। सलमान के वकील की दलील सुनने के बाद न्यायाधीश ने सरकारी वकील कांतिलाल ठाकुर से जवाब मांगा। इस पर ठाकुर ने जवाब के लिए कुछ समय देने की मांग की। इस पर न्यायाधीश ने बीस जुलाई तक का समय देते हुए अगली सुनवाई तिथि बीस जुलाई तय कर दी।

यह है मामला

वर्ष 1998 में अपनी फिल्म 'हम साथ-साथ है की जोधपुर में शूटिंग के दौरान सलमान खान ने हिरणों का शिकार किया था। बाद में उनके कमरे की तलाशी लेने के दौरान अवधि पार लाइसेंस की एक पिस्टल और एक रायफल बरामद की गई थी। इस कारण सलमान के खिलाफ आर्म्स एक्ट में भी मामला दर्ज किया गया। इस मामले का फैसला आने वाला था, लेकिन जांच में सामने आया कि वर्ष 2006 में सरकारी वकील ने कुछ गवाहों को बुलाने के लिए आवेदन कर रखा है। इसका निस्तारण नहीं हो पाया। बाद में न्यायालय ने चार गवाहों को बुला उनसे जिरह की अनुमति प्रदान की। इसके बाद सलमान की तरफ से पांच गवाहों को फिर से बुलाने की याचिका दायर की गई।


मंदिर मामले पर वसुंधरा के खिलाफ सड़क पर संघ

09 July 2015
जयपुर। राजस्‍थान की मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब तक ललित मोदी के विवाद में उलझी वसुंधरा के खिलाफ अब सड़क पर संघ उतर आया है हालांकि मुद्दा मोदी नहीं बल्कि मंदिर हैं।
खबरों के अनुसार जयपुर में मेट्रो ट्रैक के‍ निर्माण के दौरान तोड़े गए मंदिरों को लेकर संघ ने गुरूवार को राजधानी में बंद आ आह्वान किया था। इसे सफल बनाने के लिए संघ के कार्यकर्ता शहर में लगभग 75 जगहों पर जाम लगाकर बैठ गए और प्रदर्शन करने लगे।
संघ के प्रदर्शन के चलते प्रशासन ने शहर में लगभग 3 हजार पुलिसकर्मी तैनात कर दिए हैं लकिन उन्‍हें इस बात के स्‍पष्‍ट आदेश दिए गए हैं कि प्रदर्शन के दौरान बल प्रयोग ना किया जाए। साथ ही भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन से दूर रहने की नसीहत भी दी है।
संघ का गुस्‍सा इस बात पर है कि सरकार ने बिना बताए शहर में मेट्रो के निर्माण के दौरान मंदिरों को हटा दिया। हालांकि, बताया जा रहा है कि इस बंद और जाम को आम लोगों का समर्थन नहीं मिला है।


प्रधानमंत्री के सपने से जुड़ा हमारा आशीष

09 July 2015
उदयपुर। शहर के युवा बिजनेसमैन आशीष शर्मा इन दिनों केंद्र सरकार के तैयार किए गए "माय जीओवी इंडिया-1 ईयर" वीडियो में दिख रहे हैं। यह वीडियो हाल ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल इंडिया वीक के उद्घाटन अवसर पर रिलीज किया था। फिलहाल यह वीडियो यू-ट्यूब पर देखा जा सकता है, लेकिन कुछ ही दिनों में इसके प्रोमोज टीवी पर दिखाए जाएंगे। आशीष ने बताया कि केंद्र सरकार का पोर्टल माईजीओवीडॉटइन के नागरिकों को सरकार से जुड़ने का मौका देता है। इसके तहत विभिन्न मुद्दों व विषयों पर लोगों के सुझाव मांगे जाते हैं। साथ ही उनकी रचनात्मकता दिखाने के लिए भी अवसर प्रदान किया जाता है। इसी के तहत उन्होंने भी अपने सुझाव दिए थे।
वेब पोर्टल के एक साल पूरे होने पर विभिन्न क्षेत्रों के श्रेष्ठ 20 सुझावों को चयन किया गया। राजस्थान से मेरे सुझाव चयन हुआ है। मैंने ग्रामीण पर्यटन के विकास पर सुझाव दिया था। इसके बाद सभी चयनित लोगों को मुंबई बुलाया गया, जहां इससे संबंधित वीडियो नवम्बर 2014 में शूट किया गया। यह वीडियो 5 मिनट 30 सेकंड्स का है। अब तक इसे 3 हजार से अधिक व्यूज मिल चुके हैं और 390 सब्सक्राइब कर चुके हैं।

यह था सुझाव

देश के विकास में पर्यटन की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके तहत ग्रामीण पर्यटन पर ध्यान दिया जाना आवश्यक है। गांवों को इस तरह से विकसित किया जाए कि वहां पर्यटक आएं। यहां होटलों या रेस्त्रां के बदले गांवों में ही पर्यटकों के ठहरने की व्यवस्था की जानी चाहिए। ताकि वे उनकी संस्कृति को करीब से जान सकें। गांवों में लोगों के कार्य के आधार पर उन्हें पर्यटन से जोड़ा जाना चाहिए। इससे उन्हें आर्थिक लाभ भी मिलेगा व पर्यटन भी विकसित होगा।


जन-गण-मन से हटे अधिनायक शब्द: कल्याण सिंह

08 July 2015
जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने कहा कि राष्ट्रगान से अधिनायक शब्द हटाना चाहिए, इसके बदले मंगल शब्द का इस्तेमाल होना चाहिए। उनके अनुसार अधिनायक शब्द आजादी से पहले के अंग्रेजी शासकों का महिमा मंडन करता है।
राजस्थान विश्वविद्यालय के 26वें दीक्षांत समारोह में राज्यपाल सिंह ने कहा कि जन-गण-मन अधिनायक जय है... लेकिन अधिनायक कौन है? ये अंग्रेजी शासक की प्रशंसा है। अब हमे इसकी जगह जन-गण-मन मंगल गाए... लिखना चाहिए।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रगान में संशोधन करने का मतलब यह नहीं है कि वह राष्ट्रगान के रचयिता रविंद्र नाथ टैगोर का सम्मान नहीं करते हैं। उन्होंने राज्यपाल के नाम से पहले महामहिम शब्द के इस्तेमाल से भी बचने सलाह दी। कल्याण सिंह ने आगे कहा कि यह शब्द भी ब्रिटिश शासन में गवर्नर को महान बताने के लिए इस्तेमाल होता था। अब हम इसके स्थान पर माननीय शब्द का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अकबर नहीं महाराणा प्रताप महान

राजस्थान के पूर्व बीजेपी नेता कल्याण सिंह ने इसके पहले महाराणा प्रताप को मुगल शासक अकबर से ज्यादा महान बताया था और अकबर की बजाय महाराणा प्रताप नाम से पहले महान शब्द लगाने की बात कही थी। ऐसे ही झांसी की रानी को विक्टोरिया से अद्यिक महान और मराठा शासक शिवाजी को औरंगजेब से महान बता चुके हैं।


मंदिर तोड़ने के मामले में बुरे फंसी वसुंधरा

08 July 2015
जयपुर। मेट्रो और ट्रैफिक सुगम करने के लिए 86 मंदिरों को तोड़ने और शिफ्ट किए जाने के मामले में राजस्थान सरकार बुरे फंस गई है। ऐसा पहली बार हो रहा है कि जब राष्ट्रीय स्वयं सेवक और हिंदू जागरण मंच जैसे दक्षिण पंथी संगठन भाजपा सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर रहे हैं।
मंदिर तोड़े जाने के विरोध में इन संगठनों के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को जयपुर में वाहन रैली निकाली। उधर इस मामले में भाजपा की अंदरू नी खींचतान भी खुलकर सामने आ रही है। सरकार से अंसतुष्ट भाजपा विधायक इस विरोध में खुलकर सामने आ गए हैं। मंत्री रह चुके वरिष्ठ विधायक नरपत सिंह राजवी ने तो इस मामले में राजे को पत्र लिख कर विरोध प्रकट किया है।
इस मामले को लेकर भाजपा तथा संघ से ज़ुड़े स्थानीय कार्यकर्ताओं का गुस्सा खुलकर सामने आ गया और मंदिर बचाओ समिति सहित विभिन्न हिंदूवादी संगठनों ने इस मामले में 9 जुलाई को जयपुर में दो घंटे के लिए चक्का जाम करने की घोषणा कर दी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने इन संगठनों को समर्थन दिया है।


मोदी समेत 14 राष्ट्राध्यक्ष जयपुर मेंमोदी समेत 14 राष्ट्राध्यक्ष जयपुर में

08 July 2015
जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 21 अगस्त को जयपुर आएंगे। यहां होने वाली "समिट ऑफ फोरम फॉर इंडिया पैसिफिक आइलैंड्स को-ऑपरेशन" (फिपिक) की बैठक में प्रधानमंत्री के अलावा 14 देशों के राष्ट्राध्यक्ष भी अपने जीवन साथियों के साथ मौजूद रहेंगे। विदेश मंत्रालय के इस कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने मंगलवार को विदेश विभाग के अफसरों का दल जयपुर पहुंचा।

मुख्य सचिव आज लेंगे बैठक

इस संबंध में बुधवार को मुख्य सचिव सी.एस. राजन राज्य के अन्य अधिकारियों के साथ विस्तृत बैठक लेंगे। बैठक में सम्मेलन में शिरकत करने वाले मेहमानों के ठहरने और राज्य के पर्यटन महत्व के स्थानों को दिखाने की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जाएगा।

पीएम का फागी दौरा भी संभव

21 अगस्त को शाम 6 से रात 8 बजे तक होने वाले सम्मेलन पर दुनिया की नजरें रहेंगी। जयपुर में कार्यक्रम स्थल तय नहीं है। 22 को मोदी फागी जा सकते हैं, जहां गैर परंपरागत ऊर्जा प्रोजेक्ट का शुभारंभ कर सकते हैं। मंगलवार को विदेश विभाग के दल ने फागी का दौरा किया।

पहली बार दिल्ली से बाहर

यह सम्मेलन पहली बार नई दिल्ली से बाहर होगा। सूत्रों के अनुसार भारतीय उपमहाद्वीप के देश, खास तौर पर पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, म्यांमार, भूटान, मालदीव भी शामिल होंगे।
इस सम्मेलन को सौहार्दपूर्ण वातारण तैयार करने, एक जुटता कायम करने और पृथ्वी पर हो रहे पर्यावरणीय बदलाव की दिशा में मिल जुल कर काम करने के लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा रहा है।


जयपुर में मंदिर शिफ्टिंग मामले में संघ पर भी उठ रहे सवाल

07 July 2015
जयपुर। जयपुर में मंदिर शिफ्टिंग मामले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भले ही भाजपा विधायकों को तलब कर नाराजगी जताई हो, लेकिन इस मामले में चुप्पी को लेकर संघ की भूमिका पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।
जयपुर में मेट्रो रूट और यातायात को सुगम बनाने के लिए पिछले डेढ़ साल से मंदिर शिफ्टिंग का काम चल रहा था और इन मंदिरों के महंत इसका विरोध भी कर रहे थे, लेकिन इस दौरान संघ परिवार की तरफ से किसी तरह का विरोध सामने नहीं आया। संघ परिवार इस मामले में कुछ दिन पहले ही सक्रिय हुआ है। कांग्रेस इसे बड़ा मुद्दा बना रही है।
पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कहना है कि यह सब संघ और भाजपा की मिलीभगत है। अब तक ये सब चुप थे और मंदिर टूटते रहे। अब जब जनता की नाराजगी खुलकर सामने आ रही है तो चक्काजाम किए जाने की बात कही जा रही है।

कांग्रेस ऐसा करती तो दंगे हो जाते

गहलोत ने कहा कि कांग्रेस शासन में यह कार्रवाई एक भी मंदिर के खिलाफ हो जाती तो दंगे हो जाते, जबकि भाजपा शासन में इतने मंदिर हटा दिए गए कोई कुछ नहीं बोला। इससे साफ जाहिर है कि सब कुछ मिलीभगत से चल रहा था। उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि मंदिरों की सही तरीके से प्राण प्रतिष्ठा कराए।


नाराज आरएसएस को मनाने की कोशिश में वसुंधरा राजे

07 July 2015
जयपुर। डेढ़ सौ साल पुराने मंदिर को तोड़े जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इससे नाराज राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) को मनाने की जिम्मेदारी अब भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी. सतीश को सौंपी गई है।
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सतीश को आरएसएस के प्रदेश पदाधिकारियों से संवाद कर कोई बीच का रास्ता खोजने को कहा है। इसी क्रम में वह सोमवार को सुबह जयपुर पहुंचे और मुख्यमंत्री के साथ लंबी बैठक की।
इसके बाद वह संघ मुख्यालय भारती भवन गए और वहां प्रांत प्रमुख दुर्गादास सहित अन्य पदाधिकारियों के साथ बातचीत की। इस दौरान प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी भी उनके साथ थे। सूत्रों के अनुसार बातचीत का अब तक कोई सकारात्मक परिणाम सामने नहीं आया है।

वहीं दूसरी ओर विश्व हिंदू परिषद भी भाजपा सरकार के विरोध में खड़ी नजर आ रही है। विहिप नेताओं ने चेतावनी दी है कि मंदिर मामले में दोषी अधिकारियों पर कठोर कार्रवाई नहीं हुई तो पूरे राजस्थान में चक्का जाम किया जाएगा।

रिपोर्ट नागपुर भेजने की तैयारी

संघ ने तय किया है कि जयपुर मेट्रो द्वारा तोड़े गए प्राचीन मंदिरों और शहर की धरोहरों को इससे हुए नुकसान पर लोगों से बातचीत कर एक तथ्यात्मक रिपोर्ट तैयार की जाएगी। संघ इस रिपोर्ट को नागपुर भेजने की तैयारी में है।

संघ वापस नहीं लेगा चक्का जाम

सतीश के प्रयासों के बावजूद फिलहाल संघ 9 जुलाई को जयपुर में प्रस्तावित चक्का जाम की घोषणा वापस लेने को तैयार नहीं हुआ। उसने कहा है कि चक्का जाम होकर रहेगा। इसमें सभी हिंदूवादी संगठन शामिल होंगे।


हाई-वे पर लगाया जाम

07 July 2015
सारथल। गत दिनों हुए चार अध्यापकों के स्थानान्तरण को निरस्त करने की मांग को लेकर सोमवार सुबह आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय के छात्रों व ग्रामीणों ने स्कूल के गेट पर ताला व नेशनल हाई-वे 90 पर जाम लगाकर करीब आधे घंटे तक प्रदर्शन किया। इससे हाई-वे पर दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई। बाद में पुलिस चौकी प्रभारी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों व छात्रों से समझाइश की और जाम खुलवाया। अध्यापकों के स्थानान्तरण को निरस्त कराने की मांग को लेकर सुबह करीब नौ बजे छात्र व ग्रामीणों ने स्कूल के गेट पर ताला लगाकर हाई-वे पर जाम लगाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया।
जिस समय स्कूल गेट पर ताला लगाया गया उस समय शिक्षक विद्यालय के अंदर मौजूद थे। छात्रों व ग्रामीणों का कहना था कि आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में विद्यार्थियों की अच्छी संख्या होने के बावजूद चार अध्यापको का स्थानान्तरण कर दिया गया। जिससे बच्चों की पढ़ाई पर असर पड़ रहा हैं। सूचना मिलने के करीब आधे घंटे बाद पुलिस चौकी प्रभारी उदयराजसिंह पुलिस जाप्ते के मौके पर पहुंचे और ग्रामीणो व छात्रो से समझाइश कर जाम खुलवाया।
इसके बाद नेहरू युवा मण्डल के अध्यक्ष महावीर नागर के नेतृत्व में ललित नागर, मुकेश, बबलू सुमन, पवन सेन, रामप्रताप, दिनेश, कमलेश, सुरेन्द्र हेमन्त, जगदीश, रविन्द सुमन ने पुलिस चौकी प्रभारी को ज्ञापन सौंपकर शीघ्र अध्यापकों का तबादला निरस्त कराने की मांग की। उन्होंने चेतावनी दी कि एक सप्ताह में अध्यापको को मूल स्थान पर नियुक्त नहीं किया तो जन आदोलन किया जाएगा। जाम के दौरान हाई-व के दोनों और वाहनो की कतार लगने से वाहन चालको व यात्रियों को परेशान होना पड़ा।


मंदिरों को तोड़े जाने से संघ नाराज

06 July 2015
जयपुर। डेढ़ सौ वर्ष पूर्व जयपुर की स्थापना के समय के मंदिरों को तोड़े जाने से राष्टï्रीय स्वयं सेवक संघ प्रदेश सरकार से काफी नाराज है। संघ की नाराजगी जयपुर के छह विधायकों एवं तीन मंत्रियों से अधिक है, इनमें से एक मंत्री तो वे है जिनके विभाग ने ही मंदिर तोड़े है।
संघ की नाराजगी इस हद तक बढ़ गई कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी की सफाई सुनने से तो बिल्कुल ही इंकार कर दिया, परनामी शहर के आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक है। शनिवार और रविवार को संघ पदाधिकारियों ने बीजेपी अध्यक्ष, मंत्रियों और विधायकों को भारती भवन में तलब कर नाराजगी जताते हुए यहां तक कह दिया कि औरंगजेब सहित अन्य मुगल शासकों के समय भी इस तरह तो मंदिरों को नहीं तोड़ा गया था, अधिकारियों के कहने पर मंदिर तोड़े गए,जबकि प्रदेश अध्यक्ष एवं शहर के तीनों मंत्री संघ के स्वयं सेवक है।
संघ पदाधिकारियों ने विधायकों से पूछा कि शहर से तीन कैबिनेट मंत्री और भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष के होते हुए इतनी बड़ी संख्या में मंदिर कैसे टूट गए। उन्होंने इसे रोकने पर अब तक कदम क्यों नहीं उठाया।
संघ ने स्पष्टï कह दिया कि अगर मंत्री होते हुए वे इस स्थिति को रोक नहीं सकते तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी को कहा गया कि मंदिर टूटते रहे और संगठन देखता रहा। यह स्थिति ठीक नहीं है। सांसद रामचरण बोहरा की भी जमकर खिंचाई की।
संघ पदाधिकारियों की भाजपा नेताओं और सरकार से नाराजगी इस हद तक पहुंच गई कि मंदिर हटाने के विरोध में 9 जुलाई को प्रस्तावित चक्का जाम के लिए सहयोग भी नहीं मांगा। वहीं अब विधायकों के लिए असमंजस की स्थिति है कि अपनी ही सरकार के खिलाफ कैसे प्रदर्शन किया जाए। इस मामले में जल्द ही पार्टी के स्तर पर निर्देश जारी होंगे। माना जा रहा है कि कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन में हिंदू जागरण मंच के बैनर तले सड़क पर उतारा जाएगा।

मंदिर शिफ्ट करने के मामले पर सरकार गंभीर : शेखावत

नगरीय विकास मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे मंदिरों को अन्यत्र स्थापित करने के मामले में गंभीर है। जो मंदिर अन्यत्र स्थापित कर दिए गए हैं, उनके धार्मिक महत्व और वास्तु दृष्टिïकोण को ध्यान में रखते हुए उन्हें सुंदर एवं आकर्षक बनाया जाएगा। मंदिरों के पुरा महत्व को बरकरार रखा जाएगा।
मुख्यमंत्री ने स्पष्टï रूप से निर्देश दिए कि भविष्य में किसी भी धार्मिक स्थल के बारे में कोई भी निर्णय नगरीय विकास मंत्री, क्षेत्रीय विधायक तथा क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों की सहमति के बिना न लिया जाए। शेखावत ने आश्वस्त किया कि इस मामले में लापरवाही बरतने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। दूसरी ओर मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने तुरंत जेडीए, मेट्रो और जिला प्रशासन के अधिकारियों को तलब किया और इस मामले की पूरी रिपोर्ट ली।


राजस्थान में डेढ़ सौ वर्ष पुराने मंदिर को हटाने से संघ नाराज

06 July 2015
जयपुर। डेढ़ सौ साल पहले जयपुर की स्थापना के समय बने मंदिरों को तोड़े जाने से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ राज्य सरकार से काफी खफा है। यह नाराजगी छह विधायकों एवं तीन मंत्रियों से कुछ ज्यादा ही है।
यही नहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी की सफाई सुनने से भी संघ ने इंकार कर दिया है।
वह शहर के आदर्श नगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। शनिवार और रविवार को संघ पदाधिकारियों ने भाजपा अध्यक्ष, मंत्रियों और विधायकों को भारती भवन में तलब कर नाराजगी जताते हुए यहां तक कह दिया कि औरंगजेब सहित अन्य मुगल शासकों के समय में भी इस तरह से मंदिरों को नहीं तोड़ा गया था।
संघ पदाधिकारियों ने विधायकों से पूछा कि शहर से तीन कैबिनेट मंत्री और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के होते हुए इतनी बड़ी संख्या में मंदिर कैसे टूट गए? उन्होंने इसे रोकने पर अब तक कदम क्यों नहीं उठाया। संघ ने कहा कि अगर मंत्री होते हुए वह इसे नहीं रोक सकते तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी को कहा गया कि मंदिर टूटते रहे और संगठन देखता रहा। यह स्थिति ठीक नहीं है। सांसद रामचरण बोहरा की भी जमकर खिंचाई की गई। संघ पदाधिकारियों की भाजपा नेताओं और सरकार से नाराजगी इस कदर बढ़ गई है कि मंदिर हटाने के विरोध में 9 जुलाई को प्रस्तावित चक्का जाम के लिए सहयोग भी नहीं मांगा।
वहीं अब विधायकों के लिए असमंजस की स्थिति है यह कि अपनी ही सरकार के खिलाफ कैसे प्रदर्शन किया जाए। इस मामले में जल्द ही पार्टी स्तर पर निर्देश जारी होंगे।

मंदिर शिफ्ट करने के मामले पर सरकार गंभीर

नगरीय विकास मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे मंदिरों को दूसरी जगह स्थापित करने के मामले में गंभीर हैं। जो मंदिर कहीं और स्थापित कर दिए गए हैं, उनके धार्मिक महत्व और वास्तु दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए उन्हें सुंदर एवं आकर्षक बनाया जाएगा।


अपहरण कर किया दुष्कर्म

06 July 2015
गुढ़ागौड़जी। ऊबली बालाजी के पास छावसरी रोड पर झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले एक जने ने नाबालिग बालिका का अपहरण करदुष्कर्म करने का मामला पुलिस में दर्ज कराया है।
बालिका के पिता ने पाली निवासी शेरानाथ, चैननाथ, शंकरनाथ, सोहननाथ, अनोपनाथ, चौलानाथ के खिलाफ रिपोर्ट दी कि 25 मई को वह अपनी पत्नी के साथ मजदूरी करने गया था। पीछे से आरोपित उसके घर से 15 वर्षीय पुत्री को गाड़ी में डालकर ले गए। आरोपित शेरानाथ ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


एकतरफा प्रेमी ने ब्‍लेड मारकर खुद को किया घायल

04 July 2015
अहमदाबाद। एकतरफा प्रेम में पागल कॉलेज के युवक ने साथी छात्रा द्वारा प्रेम से अस्वीकार करने पर आपा खो दिया। अपने हाथ पर ब्लेड से वार कर वह युवती के सामने यही रट लगाए था कि जब तक तू मेरा प्रेम स्वीकार नहीं करेगी तब तक मैं शरीर पर वार करता रहूंगा। इस दौरान वहां से गुजर रहे पुलिसकर्मी दोनों को पकड़कर थाने ले आया। जहां युवक के माता-पिता को बुलाकर उसे सौंप दिया गया।
युवक और युवती एक ही कॉलेज में पढाते हैं। गुरुवार शाम एकतरफा प्रेम में पागल युवक ने युवती को यूनिवर्सिटी क्षेत्र के दादा साहेब पगला के पास बुलाया। युवक ने युवती से अपने दिल की बात कह दी। युवती ने यह कहते हुए प्रेम का अस्वीकार कर दिया कि वह उसे अपना अच्छे दोस्‍त के सिवा और कुछ नहीं मानती है।

इसके बाद दोनों के बीच बहस शुरू हो गई। थोड़ी देर बाद आवेश में आकर युवक ने ब्लेड से अपने हाथ पर कई वार कर खुद को लहूलुहान कर लिया। वह यह भी कहता जा रहा था कि जब तू मेरा प्रेम कबूल नहीं करती यह सिलसिला जारी रहेगा। तभी वहां से गुजरे पुलिसकर्मी की नजर उन दोनों पर पड़ी। वह दोनों को एजी टीचर्स चौकी पर ले गया। पुलिस ने युवक के माता पिता को बुलाकर उसे सौंप दिया।


डीईओ का सात घंटे तक घेराव

04 July 2015
उदयपुर। राज्य सरकार की ओर से शुक्रवार को जारी स्टाफ पैटर्न की सूची में विधवा, परित्यक्ता व विकलांगों का पदस्थापन व स्थानांतरण होने पर शिक्षा विभागीय कर्मचारी समन्वय समिति के सदस्यों ने जिला शिक्षा अधिकारी का (डीईओ) कार्यालय में 7 घंटे तक घेराव किया। कर्मचारियों ने अपनी मांग पूरी होने के बाद देर रात 10 बजे शिक्षा अधिकारी को घेराव से मुक्त किया। स्टाफ पैटर्न में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के 108 पदस्थापन हुए जिसमें से 15 पदस्थापन में आरक्षित वर्ग को ले लिया गया। इन कर्मचारियों को यथावत रखने को लेकर घेराव किया गया। प्रदर्शन के दौरान मनोज वैष्णव, सर्यूप्रकाश आचार्य, पुरषोत्तम पाराशर सहित समिति सदस्य उपस्थित थे।
समिति के सदस्य शुक्रवार अपराह्न करीब तीन बजे शिक्षा उपनिदेशक कार्यालय में मंत्रालयिक कर्मचारियों के पद कम करने पर सरकार के लिए सद्बुद्धि यज्ञ कर रहे थे, तभी स्टाफ पैटर्न की सूची जारी होने की सूचना आई जिसमें विधवा, विकलांग व परित्यक्ता के भी तबादले कर दिए गए। इसको लेकर आक्रोशित कर्मचारी जिला शिक्षा अधिकारी के घर पहुंच गए। वहां पर लगभग 1.5 घंटे प्रदर्शन करने के बाद डीईओ भरत कुमार मेहता बाहर आए। कर्मचारी उनको लेकर डीईओ कार्यालय पहुंचे। वहां पर लगभग 5 घंटे घेराव करने के बाद कर्मचारियों की मांग पूरी होने पर घेराव खत्म किया।

रैली निकाल किया प्रदर्शन

राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ की ओर से शिक्षा विभाग में स्टॉफ पैटर्न प्रक्रिया के नाम पर मंत्रालयिक/सहायक कर्मचारियों, शिक्षकों के पद कम करने का विरोध करते हुए शुक्रवार को मोहता पार्क से संभागीय आयुक्त कार्यालय तक रैली निकाल कर प्रदर्शन किया और संभागीय आयुक्त को ज्ञापन दिया गया। जिलाध्यक्ष अरविन्द सिंह राव के नेतृत्व में कर्मचारियों ने मंत्रालयिक एवं सहायक कर्मचारियों के पदों का कम करने के संबंध में विरोध प्रदर्शन किया।

इस पर माने

डीईओ ने विरोध देखते हुए 15 कर्मचारियों के लिए हाथों हाथ नए आदेश बनाए। सभी संस्था प्रधानों को आदेश दिया कि स्थानांतरण निरस्त करने की कार्रवाई प्रस्तावित होने के कारण कर्मचारियों को कार्य मुक्त नहीं करें। अगर इनको कार्यमुक्त कर दिया हो तो पुन: ड्यूटी पर लिया जाए। इस आदेश के प्रस्ताव बनाकर निदेशालय भेजे जाएंगे। 9 व 10 जुलाई को जयपुर में डीईओ की बैठक में इसका निर्णय किया जाएगा।

कोमा मरीज का किया स्थानांतरण

समिति के सचिव कमल बाबेल ने बताया कि स्टाफ पैटर्न में निकली सूची में लगभग 8 माह से कोमा में चल रही कर्मचारी भगवती बाई का भी स्थानांतरण कर दिया गया। यह सुंदरवास स्थित बालिका विद्यालय में कार्यरत थी तो इन्हें पुरोहितो की मादड़ी लगा दिया गया। तुलसी माली विकलांग, मंजु सोनी सहित कई विधवा व विकलांग का भी तबादला कर दिया।

यह हुए पदस्थापन व स्थानांतरण

स्टाफ पैटर्न में पदस्थापन अध्यापक 15 शारीरिक शिक्षक 74, पुस्तकालाध्यक्ष 14 प्रयोगशाला सहायक 2, कनिष्ठ लिपिक 2, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 108, जमादार 2, प्रयोगशाना सेवक 2। स्थानांतरण - अध्यापक 7, शारीरिक शिक्षक 9, पुस्तकालाध्यक्ष 7, प्रयोगशाला सहायक 2, कनिष्ठ लिपिक 15, प्रयोगशाला सेवक 1, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 12।


ईशा ने दिलाई हेमा मालिनी को अस्पताल से छुट्टी

04 July 2015
जयपुर। सड़क हादसे में घायल मथुरा सांसद व एक्ट्रेस हेमा मालिनी को उनकी बेटी ईशा देओल ने अस्पताल से छुट्टी दिला ली। इसके बाद वे उन्हें चार्टर प्लेन में लेकर मुंबई रवाना हो गईं। ईशा ने बताया कि अब उनके आगे का इलाज मुंबई में ही कराया जाएगा।
दौसा के पास लालसोट मोड पर गुरुवार देर रात हेमा मालिनी की मर्सडीज व लालसोट के परिवार की अॉल्टो कार की जबरदस्त भिडंत हो गई थी। उसी हादसे में हेमा घायल हो गई थीं। एक्सीडेंट में एक डेढ़ साल की बालिका की भी मौत हो गई थी। तब से फोर्टिस अस्पताल में भर्ती हेमा मालिनी के फोरहैड पर दायीं पलक के ऊपर प्लास्टिक सर्जरी की गई थी। इसके बाद अब सामान्य स्थिति बनने पर उनकी बेटी ईशा उन्हें मुंबई ले गईं।

बालिका की मौत पर जताया दुख

मुंबई ले जाने से पहले ईशा देओल ने फोर्टिस अस्पताल में कहा कि यह अफसोस की बात है कि इस तरह का हादसा हुआ है। इसमें जिस बालिका की मौत हुई है, उसका सभी को बेहद दुख है। उनके परिवार में कई लोग घायल हुए हैं, यह भी दुख की बात है। उन्होंने कहा कि उनकी मां को भी कई जगह गहरी चोट लगी है। यहां उनका इलाज किया गया है। अब आगे उन्हें हम मुंबई ले जा रहे हैं। ईशा ने कहा कि वे दुख की घड़ी में मां के लिए जिस तरह की बातें हुईं, उसे भूलने की कोशिश कर रही हैं।

चुपके से निकाला हेमा को फोर्टिस से

ईशा देओल के दुख जताने के तुरंत बाद पूरा मीडिया हेमा मालिनी का गेट पर इंतजार कर रहा था। यहीं एक कार भी खड़ी की गई थी, लेकिन उन्हें फोर्टिस के दूसरे गेट से एंबुलेंस में निकाला गया। वहीं से सीधे एयरपोर्ट ले जाया गया। एयरपोर्ट पर भी एंबुलेंस सीधे रनवे पर ले जाई गई।

एक होटल के उद्घाटन कार्यक्रम के लिए जयपुर आ रही थीं हेमा

हेमा मालिनी शुक्रवार को जयपुर के बापू नगर में होने वाले एक होटल के शुभारंभ कार्यक्रम में शरीक होने आ रही थीं। इसलिए गुरुवार रात ही वे जयपुर पहुंच रहीं थी, कि रास्ते में यह हादसा हो गया।


हेमा मालिनी का ड्राइवर गिरफ्तार, ओवर स्पीडिंग का केस

03 July 2015
जयपुर/दौसा। मथुरा से भाजपा सांसद और अभिनेत्री हेमा मालिनी के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। बीती रात हुई सड़क दुर्घटना में हेमा समेत चार लोग घायल हो गए थे और एक बच्ची की मौत हो गई थीं।
आज हेमा के ड्राइवर महेश ठाकुर पर ओवर स्पीडिंग (तेज गति से कार चलाने) का मामला दर्ज हुआ और उसे गिरफ्तार कर दौसा लाया गया। दौरा के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी राजिंदर त्यागी ने इसकी पुष्टि की है।
मालूम हो, वृंदावन से जयपुर जा रहीं हेमा मालिनी गुरुवार रात एक सड़क दुर्घटना में घायल हो गई थीं। राजस्थान के दौसा के नजदीक हुए हादसे में एक बच्चे की मौत हो गई है और तीन लोग घायल हुए हैं।
हेमा को आंख के पास चोट लगी जहां से खून बह रहा था। जयपुर के फॉर्टिस अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। हालांकि वे खतरे से बाहर हैं। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने घटना पर अफसोस जताया है।
हेमा मालिनी वृंदावन से अपनी मर्सिडीज कार से जयपुर के लिए रवाना हुई थीं। दौसा के पास उनकी कार विपरीत दिशा से आ रही ऑल्टो से टकरा गई। मर्सिडीज कार में लगे एयरबैग्स से उसमें सवार लोगों को तो गंभीर चोट नहीं आईं लेकिन ऑल्टो में सवार बच्ची सोनम की मौत हो गई जबकि दो महिलाएं और एक बच्ची घायल हो गई।


"दलित हूं, इसलिए किया जा रहा है परेशान"

03 July 2015
अजमेर।"कुर्सी पर बैठी थी, तब उम्मीद थी कि सभी का सहयोग मिलेगा और मैं अच्छा काम करूंगी, लेकिन जिस तरह मेरे काम में अब दखलंदाजी की जा रही है, उससे में आहत हुई हूं। ...और यह सब इसलिए हो रहा है, क्योंकि मैं एक दलित परिवार से हूं।" राज्य की सबसे युवा जिला प्रमुख वंदना नोगिया ने अपनी यह व्यथा गुरूवार को राजस्थान पत्रिका से बातचीत में व्यक्त की। नोगिया ने अन्य मुद्दों पर भी खुलकर अपनी पीड़ा जाहिर की।
आपके कुर्सी पर आसीन होने के बाद से कुछ न कुछ विवाद हो रहे हैं। इसके पीछे आप क्या कारण मानती हैं? मेरे खिलाफ सारा खेल इसलिए रचा जा रहा है क्योंकि मैं एक दलित परिवार की बेटी और उच्च शिक्षित भी हूं। ये विडम्बना ही है कि मेरी ही विचारधारा के पार्टी के कुछ लोगो को मेरा जिला प्रमुख बनना रास नहीं आ रहा। इसलिए मुझे येनकेन-प्रकारेण नीचा दिखाया जा रहा है। इस तरह की ओछी हरकतें व व्यवहार को लेकर खुद को काफी व्यथित महसूस करती हूं।

आपके कामकाज में कौन दखल दे रहा है?

जनप्रतिनिधियो के साथ चर्चा करना, उनके सुझाव पर अमल करना तो अच्छा लगता है। लेकिन कुछ जनप्रतिनिधियो के नाते-रिश्तेदार दबंगई दिखाते हुए अनावश्यक दखलंदाजी कर निर्णयों को प्रभावित कर रहे हैं। यह किसी तरह से भी उचित नहीं है।

जिला परिषद मे यदि ऎसे ही हालात रहे तो आप काम कैसे करेंगी?
कुछ दिनों से समझ नहीं आ रहा है कि मुझे क्या करना चाहिए। थक-हार कर पिछले दिनो मुझे मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेश संगठन और पंचायतीराज मंत्री से मिलकर शिकायत करनी पड़ी। मुख्यमंत्री ने मुझे आश्वस्त किया है कि आप तो काम करते रहो, शेष्ा मैं देख लूंगी। यदि ऎसे ही हालात आगे भी रहे तो मेरे लिए जिला परिषद चलाना मुश्किल होगा।
जिला प्रमुख निर्वाचित हुए आपको काफी समय हो गया। कोई ठोस काम अभी तक क्यो नहीं हुआ?
जब से मैंने जिला प्रमुख की कुर्सी संभाली है, तब से जिले के सभी विधायक एवं अन्य जनप्रतिनिधियों का सम्मान कर रही हूं। मैं काम करना चाहती हूं। फिर भी मुझे हतोत्साहित करने के लिए सुनियोजित तरीको से नीचा दिखाने का प्रयास किया जा रहा है।
आपको मिली सरकारी कार पर लालबत्ती हटाने को लेकर काफी विवाद हुआ। इसके क्या कारण रहे?
प्रदेश में सभी जिलों के प्रमुखो की सरकारी कार पर लालबत्ती लगाई हुई हैं। इससे पहले अब तक जिला प्रमुख अपनी कार पर लालबत्ती लगाते रहे हैं। मुझे लालबत्ती लगी कार ही सुपुर्द की गई। यदि लालबत्ती लगाना नियम में नहीं था, तो कार्यवाहक सीईओ जगदीश हेड़ा ने पहले लालबत्ती क्यों नहीं उतरवाई? उन्हें लालबत्ती उतरवाने के बाद ही कार सुर्पुद करनी चाहिए थी। करीब तीन माह बाद कुछ सामंतवादी राज नेताओ के दबाव में मुझे नीचा दिखाने के लिए कार की लालबत्ती उतारी गई। ऎसे अफसर कुर्सी पर बैठने लायक ही नहीं हैं, जो बाहरी लोगो के दबाव मे काम कर रहे हैं।
आप द्वारा किए कर्मचारियों के तबादलो को जिला परिषद प्रशासन ने निरस्त करवा दिया। यहां तक कि आपके दो निजी सहायको को भी रिलीव कर दिया गया। इस बारे में आपका क्या कहना है?
पंचायतीराज विभाग के निर्देशो की अनुपालना में जिन कार्मिकों के तीन साल एक ही जगह पर पूरे हो गए, उन कार्मिकोे के तबादले दूसरी पंचायत समिति क्षेत्र में किए गए। इन तबादलों के दौरान मैंने संबंधित क्षेत्र के विधायको से भी राय-मशविरा किया। फिर भी जानबूझ कर तबादले निरस्त करवाए गए। यदि किसी को परेशानी थी, तो मुझे ही बता देते। किसी कर्मचारी के विकलांग होने की जानकारी मुझे नहीं थी। यदि होती तो उसका तबादला ही नहीं होने देती।
जिला परिषद स्थायी समितियों के अध्यक्ष चुनाव में बाजी कैसे पलट गई?
पांच में से तीन समितियों का निर्वाचन होना था। इसलिए सभी सदस्यो को बैठाकर चर्चा की गई। ग्रामीण जलप्रदाय स्थायी समिति और विकास व उत्पादन कार्यक्रम समिति के अध्यक्ष पद के लिए सभी के बीच सहमति बन गई।
इसलिए दोनों पदों पर भाजपा के सदस्य निर्विरोध जीते। शिक्षा समिति पर आम सहमति नहीं होने पर मतदान करवाया गया। उसमें भी भाजपा को जीत मिली। केकड़ी विधायक शत्रुघ्न गौतम, किशनगढ़ विधायक भागीरथ चौधरी एवं भाजपा संगठन नेताओ से चर्चा करने के बाद तीनों पदो पर योग्य व सक्षम सदस्यो का चुनाव कर लिया गया।


नई नीति पर नाराज हुईं वसुंधरा, कहा, पुराना पैटर्न ही लागू करो

03 July 2015
जयपुर। नीति आयोग की बैठक में केंद्र प्रवर्तित योजनाओं की नई नीति पर राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे बेहद नाराज थीं। उन्होंने बैठक में शिकायत की कि नई नीति से राज्यों के पास फंडिंग कम हो गया है। इससे राजस्थान जैसे राज्य को नुकसान हो रहा है। केंद्र की योजनाओं का समुचित फायदा नहीं हो रहा।
नीति आयोग के मुख्यमंत्रियों के समूह की बैठक में वसुंधरा राजे ने शनिवार को यह बात कही। यह बैठक समूह के अध्यक्ष व मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई। नीति आयोग की बैठक में वसुंधरा राजे ने कहा, केंद्र प्रवर्तित योजनाओं का लाभ तब ही पूरी तरह मिल सकता है, जबकि पूर्व की तरह 100 फीसदी तक राज्यों को पैसा मिले। जबकि मौजूदा समय में नई नीति के अनुसार राज्य और केंद्र का अनुपात 60-40 कर दिया गया है। इससे राज्यों को खासकर राजस्थान जैसे राज्यों को भारी नुकसान हो गया है और फंड की कमी के चलते इन योजनाओं को पूरी तरह लागू करने में दिक्कतें आ रही हैं।
राज्य की आर्थिक उन्नति में इससे बाधा उत्पन्न हो सकती है। राजे ने इसके साथ ही एक समान कर प्रणाली के लागू होने से राज्यों की घटने वाली आमदनी पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि एेसी स्थिति में केंद्र की योजनाओं की नीति में सुधार जरूरी हो गया है।
मीडिया से बनाए रखी दूरी और बिना बोले निकल गई

आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी से संबंधों के कारण पिछले कुछ दिनों से विवादों में चल रही वसुंधरा राजे ने एक बार फिर मीडिया से दूरी बनाई। नीति आयोग की यह बैठक खत्म होते ही वसुंधरा राजे दूसरी ओर से निकल कर बाहर चली गईं। मीडिया यहां सुबह से ही बैठक खत्म होने पर वसुंधरा राजे से बात करने को उत्सुक था, लेकिन विवादों पर वे कोई जवाब नहीं देना चाहती थीं। ऐसे में उन्होंने न तो नीति आयोग की बैठक के संबंध में मीडिया से बात करना उचित समझा और न ही अन्य किसी विषय पर। वे इस बात से वाकिफ थीं कि जैसे ही वे मीडिया से रूबरू होंगी, पहला सवाल ही ललित मोदी से ताल्लुक रखने वाला होगा।

न मोदी मिले न अन्य कोई नेता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीति आयोग के चेयरमैन हैं, लेकिन यहां मुख्यमंत्रियों के समूह वाली आयोग की बैठक थी। ऐसे में न तो मोदी आए और न कोई अन्य नेता। शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में बैठक हुई। ऐसे में फिलहाल वसुंधरा राजे की मुलाकात मोदी या अन्य किसी से नहीं हुई है।


इंडोनेशिया की लड़की से किया शादी, पैसे-गहने लेकर फरार

02 July 2015
जयपुर। जयपुर के एक युवक ने फेसबुक पर इंडोनेशिया की लड़की को अपना फ्रेंड बनाया। प्यार किया। शादी की। फिर उससे 10 हजार रुपए, डायमंड के गहने लेकर जयपुर आ गया और दूसरी शादी की तैयारी कर ली। अब लड़की ने जयपुर के महिला थाने में इस लड़के, उसके पिता नरेंद्र शर्मा और मां ममता शर्मा के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है। थानाधिकारी पुष्पेंद्र सिंह राणा ने बताया कि मामला दर्ज करने के बाद जांच शुरू कर दी है। आरोपी की खोजबीन हो रही है। पुलिस के अनुसार, मामला 2013 में शुरू हुआ। चांदपोल के भैरोजी का रास्ता का रहने वाला आकाश शर्मा इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में ब्राइट स्टार डायमंड कंपनी में काम करता था। यहां उसने फेसबुक अकाउंट इंडिया इंडो भारत ग्रुप को खुद से जोड़ा। इसी ग्रुप पर जकार्ता की रहने वाली महिला अनीता पुर्विता सारी भी जुड़ी हुई थी। दोनों में जून 2013 में इसी ग्रुप पर दोस्ती हो गई। दोस्ती के साथ चैटिंग, मैसेज, वॉट्सऐप और फिर फोन कॉल्स की शुरुआत हो गई। मुलाकातों के दौर चले। आकाश ने सारी को प्रपोज कर दिया।


कल्याण सिंह ने अब राष्ट्रगान में अधिनायक शब्द पर जताई आपत्ति

02 July 2015
जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने अब राष्ट्रगान में अधिनायक शब्द के इस्तेमाल के आपत्ति की है। जयपुर में एक समारोह में उन्होंने कहा कि गुरूदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर द्वारा लिखित इस राष्ट्रगान में अधिनायक शब्द का इस्तेमाल अंग्रेजों की प्रशंसा के लिए किए गए था, लेकिन हम अब तक समझ नहीं पाए हैं कि इसे कैसे हटाया जाए।
राज्यपाल जयपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ी संस्था विद्या भारती की ओर से आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने एक बार फिर पाठ्यपुस्कों में अकबर और विक्टोरिया को महान बताए जाने का विरोध किया और कहा कि किताबों में कुछ भी पढाया जाए, लेकिन वे इन्हें महान नहीं कह सकते। महान तो महाराणा प्रताप और झांसी की रानी लक्ष्मी बाई ही थे।
गौरतलब है कि कल्याण सिंह पहले भी किताबों में अकबर को महान बताए जाने पर आपत्ति कर चुके हैं।


राजस्थान में पुराना है महल को होटल बनाने का ट्रेंड

02 July 2015
जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री के सांसद पुत्र दुष्यंत सिंह के धौलपुर सिटी पैलेस को होटल बनाए जाने पर विवाद भले ही हो, लेकिन राजस्थान में अपने महल या पुरानी हवेलियों और किलों को होटल बनाने बहुत पुराना ट्रेंड है। इन्हें हैरिटेज होटल की श्रेणी में रखा जाता है। राजस्थान में इस समय करीब 180 हैरिटेज होटल हैं। इनके मालिकों की एक एसोसिएशन भी बनी हुई।
राजस्थान में इस ट्रेंड की शुरुआत जयपुर राजपरिवार ने की थी। जयपुर राजघराने के महाराज सवाई मान सिंह द्वितीय अपने विशाल रामबाग पैलेस को छोड़ कर छोटे महल में चले गए और 1957 में इसे होटल बना दिया गया। इसके बाद उदयपुर के राजपरिवार ने 60 के दशक में जगनिवास पैलेस को और फिर जोधपुर राजपरिवार ने उम्मेद भवन पैलेस को होटल में बदला।
आज की तारीख में पूरे राज्य में कई किले और हवेलियां होटल बन चुके हैं। इनके अलावा कई प्राचीन हवेलियो को भी होटलों में बदल दिया गया है। राजस्थान के शेखावटी अंचल की ज्यादातर हवेलियों में अब होटल चल रहे हैं। इसी दौरान 90 के दशक में हेरिटेज होटल एसोसिएशन भी गठित हो गई।
अब सरकार ने पर्यटन को लेकर जो नई नीति जारी की है, उसमें तो राजस्थान में इन हैरिटेज सम्पत्तियों को होटल में बदलने के लिए कई तरह की सुविधाएं दे दी गई हैं और राजस्थान में नवम्बर में होने वाले निवेश सम्मेलन 'रिसर्जेंट राजस्थान' में सरकार हैरिटेज होटलों में निवेश को एक बड़े आकर्षण के रूप में रखने की तैयारी कर रही है। इसके लिए हाल में एक आदेश जारी कर प्रदेश भर में फैली हैरिटेज सम्पत्तियो का ब्योरा एकत्र किया जा रहा है। सरकार इनका 'हैरिटेज सम्पत्ति बैंक' बना कर निवेशकों को आमंत्रित करने की तैयारी कर रही है।


भोपाल-जोधपुर पैसेंजर ट्रेन का इंजन पटरी से उतरा

01 July 2015
जोधपुर। जोधपुर-जयपुर रेल मार्ग पर मंगलवार दोपहर बड़ा रेल हादसा टल गया। भोपाल से जोधपुर आ रही पैसेंजर रेल का इंजन गोविन्दी मारवाड़ व नावां के बीच पटरी से उतर गया। इस कारण जोधपुर-जयपुर के बीच रेल मार्ग अवरूद्ध हो गया है। इस मार्ग पर दो रेल रास्ते में अटकी हुई है। भोपाल से जोधपुर आ रही पैसेंजर रेल दोपहर डेढ़ बजे गोविन्दी मारवाड़ से आगे निकली ही थी कि नावां पहुंचने से पूर्व उसका इंजन पटरी से उतर गया। हादसे के समय रेल की रफ्तार अधिक नहीं होने के कारण बड़ा हादसा टल गया। इंजन के नीचे उतरते ही थोड़ी दूरी तक घिसटने के बाद रेल वही थम गई। इंजन के थोड़ी दूरी तक घिसटने के कारण पटरियों को नुकसान पहुंचा है। रेलवे ने मौके पर राहत अभियान शुरू कर दिया है। इस इंजन को पटरी पर चढ़ाने के प्रयास किए जा रहे है। इस रेल के बीच रास्ते में अटक जाने के कारण जोधपुर से सुबह जयपुर के लिए रवाना हुई मरुधर एक्सप्रेस व जोधपुर से भोपाल जाने वाली पैसेंजर रेल रास्ते में अटकी हुई है। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि शाम तक इस मार्ग पर यातायात सुचारू कर दिया जाएगा।>


जेल से चल रहा हथियारों का अंतरराज्यीय नेटवर्क

01 July 2015
जयपुर। राजस्थान में आतंकवाद निरोधी दस्ते ने बीकानेर जेल से हथियारों का अंतरराज्यीय नेटवर्क चलाने वाले एक अपराधी का मामला पकड़ा है। यह अपराधी एक विधायक के पुत्र की हत्या सहित कई मामलों में जेल में सजा काट रहा है।
आतंकवाद निरोधक दस्ते और राजस्थान पुलिस ने पिछले तीन दिन में बीकानेर और आसपास के जिलों से नौ लोगो से दस देसी पिस्‍टल बरामद की है। इस मामले की जांच में यह बात सामने आई है कि यह नेटवर्क जेल में बंद अपराधी अमीन चला रहा था।
अमीन को 2011 में कांग्रेस विधायक नाथूराम सिनोदिया के बेटे के अपहरण और हत्या सहित कई मामलों में यहां बंद किया गया था। बीकानेर के एसपी संतोष चालके का कहना है कि हथियारों के साथ पकडे़ गए लोगों से पूछताछ में सामने आया कि उन्हें यह हथियार अमीन के आदमियों से मिले थे और अमीन ही इस नेटवर्क का सरगना है जो राजस्थान ही नहीं दूसरे राज्यों में भी हथियार बेचने का काम रहा है।
वह जेल में से ही अपने लोगों के सम्पर्क में था और इसके लिए मोबाइल फोन व अन्य तरीकों का इस्तेमाल कर रहा था। उन्होंने बताया कि मामले की जांच जारी है। गौरतलब है कि यह बीकानेर की वही जेल है जहां करीब एक साल पहले जेल में ही शूटआउट हो गया था।


अभ्यर्थियों का आंकड़ा 15 लाख पार

01 July 2015
अजमेर।बहुप्रतीक्षित पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए राजस्व मंडल व अधीनस्थ कर्मचारी चयन बोर्ड के अधिकारियों के बीच मंगलवार को जयपुर में हुई अहम बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय किए गए। बैठक में परीक्षा केन्द्रों, अभ्यर्थियों की संख्या, वर्गवार रिक्तियां,पाठयक्रम व प्रश्न पत्र आदि विष्ायों पर चर्चा हुई। परीक्षा में अभ्यर्थियों की संख्या का आंकड़ा 15 लाख के पार जाने की संभावनाओं को देखते हुए प्रदेश भर में कानून व्यवस्था व प्रश्न पत्रों की गोपनीयता आदि मुद्दों पर भी विस्तार से चर्चा की गई।

सूत्रों के अनुसार बैठक में अभ्यर्थियों की संख्या का आंकड़ा 15 लाख के आसपास जाने की संभावना को देखते हुए इसके लिए परीक्षा केन्द्रों की व्यवस्था पर विशेष्ा चर्चा हुई। प्रदेश भर में करीब 10 से 12 हजार परीक्षा केन्द्र बनाए जा सकते हैं। इनकी एक प्रस्तावित सूची भी चयन बोर्ड को सौंपी गई है।

परीक्षा का तानाबाना

सूत्रों के अनुसार पटवारी परीक्षा के लिए अब तक प्रस्तावित पाठयक्रमानुसार सामान्य ज्ञान व गणित 100-100 अंकों के तथा हिंदी व आईटी के प्रश्न पत्र 50-50 अंकों के होंगे। कुल 300 अंक होंगे। पाठयक्रम में कम्प्यूटर शिक्षा से जुड़ा एक प्रश्न पत्र भी जोड़ा गया है इसके लिए निर्घारित संस्थानों से डिप्लोमा के संबंध में भी चर्चा हुई। परीक्षा के दौरान वीडियोग्राफी, संवेदनशील परीक्षा केन्द्राेंं की स्थिति आदि पर चर्चा हुई।
राजस्व मंडल प्रदेश के सभी जिला कलक्टरों के माध्यम से वर्गवार रिक्तियां मंगवाए जाने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर चुका है। किस श्रेणी व वर्ग में कितने पद रिक्त हैं इनका ब्यौरा मंगवाया जाकर एक सूची जिलेवार चयन बोर्ड को भेजी जाएगी। इसके पश्चात परीक्षा के पाठयक्रम व प्रश्न पत्रों को अंतिम रूप दिया जाएगा।
कर्मचारी चयन बोर्ड परीक्षा आयोजन के बाद वरीयता सूची राजस्व मंडल को भेजी जाएगी। राजस्व मंडल जिला कलक्टरों के माध्यम से नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करेगा। जानकारी के अनुसार मंगलवार को हुई बैठक में राजस्व मंडल के निबंधक सी. आर मीणा व कर्मचारी चयन बोर्ड के अध्यक्ष आर. के. मीणा सहित अन्य अधिकारियों ने भाग लिया।


एक साल में राम मंदिर के लिए क्या किया, पीएम से पूछेंगे संत

30 June 2015
जयपुर। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर शीघ्र ही साधु- संतों की एक समिति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेगी। ये संत मोदी से पूछेंगे कि उनकी सरकार को एक साल हो गया और इस दौरान उन्होंने राम मंदिर के लिए क्या किया। वे मोदी को मंदिर बनने में आने वाली बाधाओं को दूर करने को लेकर सुझाव देंगे। भीलवाड़ा में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की राष्ट्रीय प्रबंध समिति की हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है।
समिति ने राम मंदिर, गंगा नदी का प्रवाह नहीं बदलने और गायों की रक्षा के लिए केंद्रीय कानून बनाने के प्रस्ताव पर चर्चा की। दो दिन चली प्रबंध समिति की बैठक में तीनों प्रस्ताव लिए गए। विहिप ने ओडिशा में भगवान जगन्नाथ के नव कलेवर महोत्सव में मंदिर में राजनीतिक हस्तक्षेप के कारण निर्धारित चार लोगों के अलावा अन्य लोगों के घुसने का विरोध किया है। परिषद ने मांग की है कि ओडिशा सरकार इसके लिए माफी मांगे और भविष्य में इस प्रकार की गलती नहीं करने का आश्वासन दे।

नर्सिगकर्मियों ने बुलंद की आवाज

30 June 2015
सीकर। सरकारी अस्पतालों को निजी हाथों में देने के सरकारी फैसले में सोमवार को नर्सिग कर्मियों ने उग्र प्रदर्शन किया। जयपुर में प्रदर्शन करते वक्त डंडे खाए, गिरफ्तारी दी। वहीं जिले में दो घंटे तक सेवाएं ठप कर रखी। इस दौरान चिकित्सा सेवा दो घंटे ठप रही ।
इमरजेंसी को छोड़कर शेष सेवाओं में नर्सिग कर्मियों ने सेवाएं नहीं दी। सोमवार को नर्सिग कोर कमेटी के बनैर तले दो सौ से ज्यादा लोग जयपुर में स्वास्थ्य भवन घेरने पहुंचे थे। जयपुर में नर्सिग आंदोलन की अगुवाई कर रहें कोर कमेटी के प्रवक्त नरेश लमोरिया को जयपुर में गिरफ्तार कर लिया गया। जबकि सीकर के तीन नर्सिग छात्रों को लाठी चार्ज में चोटें आई। राजस्थान यूनाईटेड नर्सेज संघर्ष कोर कमेटी के प्रांतीय सदस्य सचिव रामनिरंजन चौधरी ने बताया कि स्वास्थ्य भवन के घेराव में जिले से 300 से ज्यादा नर्सिग व छात्र शामिल हुए थे। नर्सिग स्टूडेंट्स यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष सुशील कुलहरि ने बताया कि प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज में तीन नर्सिग छात्र भी घायल हुए है। जिनका स्थानीय अस्पताल में उपचार चल रहा है।

दो घंटे नहीं दी सेवाएं

राजस्थान नर्सेज एसोसिएशन के आह्वान पर सोमवार को ब्लॉक स्तर से लेकर जिला मुख्यालय तक नर्सिग कर्मियों ने दो घंटे का कार्य बहिष्कार किया। नर्सिग कर्मी सुबह अस्पताल आए लेकिन वार्ड में जाने के बजाए गेट पर बैठकर सरकार के खिलाफ नारे लगाए। इसके बाद सभी एकत्रित होकर एसोसिएशन के प्रांतीय उपाध्यक्ष दानवीर सिंह माण्डोता व अध्यक्ष सुखवीर गोरा की अगुवाई में जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। इस आंदोलन से सबसे बुरा असर जिला मुख्यालय स्थित एसके अस्पताल पर पड़ा है। यहां से करीबन डेढ़ सौ नर्सिगकर्मी आंदोलन में शामिल होने के लिए जयपुर चले गए। बचे हुए नर्सिग कर्मियों ने दो घंटे वार्डो में कार्य बहिष्कार पर रहे। इससे रोगियों को इंजेक्शन, ड्रिप और दवाइयो के लिए नर्सिग छात्र छात्रओं के भरोसे रहना पड़ा। हालांकि इस दौरान इमरजेंसी में आने वाले मरीजों की देखभाल की गई।

फार्मासिस्ट भी कूदे मैदान में

पीपीपी मोड के विरोध में फार्मासिस्ट भी एकजुट हो गए। फार्मासिस्ट जागृति संस्थान के जिलाध्यक्ष हनुमान सिंह बाजिया के नेतृत्व में सोमवार को दर्जनों फार्मासिस्टों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर विरोध जताया। इस अवसर पर सुरेंद्र चौधरी, अशोक चौधरी समेत कई लोग मौजूद थे।


हिरण शिकार मामले में एक गवाह ने मांगी गवाही से मुक्ति

30 June 2015
जयपुर। फिल्म अभिनेता सलमान खान के खिलाफ जोधपुर में चल रहे हिरण शिकार मामले में एक अहम गवाह ने स्वयं को गवाही से मुक्त करने की गुहार लगाई है। अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए इस गवाह ने अपने पक्ष में कुछ डॉक्टरों के प्रमाण पत्र भी प्रस्तुत किए हैं। कोर्ट ने इन प्रमाण पत्रों की सत्यता की जांच का आदेश दिया है। मामले की अगली सुनवाई अब 27 जुलाई को होगी।
सलमान के खिलाफ करीब 17 वर्ष से चल रहे हिरण शिकार मामले की सुनवाई जोधपुर ग्रामीण मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में चल रही है। सोमवार को इस मामले में पूर्व वन अधिकारी ललित बोड़ा और गवाह छोगाराम विश्नोई के बयान होने थे। इस सुनवाई में बोड़ा उपस्थित ही नहीं हुए।
वहीं छोगाराम की तरफ से उनका पुत्र उपस्थित हुआ। उसने अपने पिता की तरफ से शपथ पत्र देकर कहा कि स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के कारण वह गवाही देने में असमर्थ हैं। छोगाराम ने कोर्ट से अपील की है कि स्वास्थ्य ठीक नहीं रहने के कारण उसे इस मामले में गवाही देने से मुक्त किया जाए। इस संबंध में उनकी तरफ से उनके पुत्र ने डॉक्टरों के प्रमाण पत्र पेश किए


राजस्थान के तीस शहरों की बदलेगी सूरत

29 June 2015
जयपुर। शहरों की हालत सुधारने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से शुरू किए गए अटल मिशन से राजस्थान में एक लाख से ज्यादा आबादी वाले 30 शहरों की सूरत बदलने की उम्मीद है। केंद्र सरकार इन शहरों में आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए तीन हजार करोड़ रूपए देगी यानी हर शहर को करीब सौ करोड रूपए मिलेंगे। इन शहरों में काम क्या किया जाना है, यह राज्य सरकार ही तय करेगी।
दरअसल केंद्र सरकार ने पिछली सरकार के समय शुरू किए जवाहर लाल नेहरू अर्बन रिन्युल मिशन (जेएनएनयूआरएम) की जगह अटल मिशन फॉर रिजुनीवेशन एंड अर्बन ट्रांसफॉर्मेशन यानी अमृत योजना शुरू की है। हालांकि जेएनएनयूआरएम के तहत चल रही परियोजनाओं के लिए भी केंद्र पैसा देता रहेगा, लेकिन अब इसके तहत कोई नए प्रोजेक्ट स्वीकृत नहीं किए जाएंगे।
अब शहरों के विकास का काम अमृत योजना के तहत होगा और इसकी खासियत यही है कि इसमें राज्य सरकार शहरों की जरूरत के हिसाब से प्रोजेक्ट बना कर देगी। केन्द्र सरकार ने अपनी कोई शर्तें इसमें नहीं थोपी है। इसके अलावा पुरानी योजना में कुछ चुनिंदा बडे़ शहरों जैसे जयपुर, जोधपुर आदि में ही काम हो रहा था, लेकिन अमृत योजना में एक लाख की आबादी से ज्यादा वाले 30 शहरों में काम होगा।
पिछली योजना में राज्यों को अपनी जरूरत के हिसाब से प्रोजेक्ट चुनने की आजादी नहीं थी और सड़क, पुल, सीवरेज जैसे कुछ ही काम होते थे। परियोजनाएं स्वीकृत करने की प्रक्रिया भी काफी लंबी थी और समय भी काफी लगता था। राजस्थान में इसके तहत चल रहे प्रोजेक्ट तीन से पांच साल तक देर से चल रहे हैं। इन खामियों को अमृत योजन में दूर किया गया है।
राजस्थान सरकार ने अभी शहरों के नाम तय नहीं किए हैं, लेकिन इनकी प्रक्रिया चल रही है, हालांकि सूत्रों की मानें तो अजमेर, बीकानेर, जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर और भरतपुर जैसे सम्भागीय मुख्यालयों के अलावा अलवर, भीलवाड़ा, भिवाडी, नागौर, गंगानगर, हनुमानगढ़, दौसा, सवाई माधोपुर, बाड़मेर, पाली, जैसलमेर, राजसमंद, जालौर, सिरोही आदि शहरों को इसमें शामिल किया जा सकता है।
शहरों का चयन जनप्रतिनिधियों के साथ चर्चा कर किया जाएगा और इसमें उन शहरों को प्राथमिकता दी जाएगी जहां पर्यटन तथा औद्योगिक विकास की सम्भावनाएं ज्यादा हों।

कोल्ड ड्रिंक में सल्फास मिलाकर पी गया पूरा परिवार

29 June 2015
जयपुर। शहर के एक परिवार ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर गुरुवार शाम को कोल्डड्रिंक में सल्फॉस मिलाकर पी गया। इससे परिवार के 70 वर्षीय एस. सांवर केडिया और उनकी पत्नी पुष्पा की मौत हो गई। जबकि बेटे विनीत, पोते वेदांत और पोती विधिता की तबीयत खराब हो गई। तीनों को नजदीकी एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया है। पुलिस को घटनास्थल पर सुसाइड नोट मिला है। जिसमें परिस्थितियां खराब चलने के कारण और हालात से मजबूर होकर मर्जी से सेल्फॉस का सेवन करने और मौत का जिम्मेदार किसी के नहीं होने की बात लिखी है। डीसीपी प्रफुल्ल कुमार ने बताया कि एस सांवर केडिया अपनी पत्नी, बेटे-बहू और पोते-पोती के साथ खंडेलवाल टॉवर के पास एडब्ल्यूएचओ कॉलोनी में रहते थे।


अकबर नहीं महाराणा प्रताप थे महान: राज्यपाल कल्याण सिंह

29 June 2015
जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह का कहना है कि महान अकबर नहीं बिल्क महाराणा प्रताप थे। अकबर यहां प्रशासक था, जबकि महाराणा प्रताप राजस्थान के ही निवासी थे इसलिए वे ही छात्रों के प्रेरणास्रोत हैं।
रविवार को जयपुर में श‍िक्षा के क्षेत्र में आर्थिक मदद देने वालों को सम्मानित करने के लिए भामाशाह सम्मान समारोह में कल्याण सिंह ने कहा कि बच्चों को अकबर के महान होने का पाठ पढ़ाया जाता है, लेकिन महाराणा प्रताप के महान होने का जिक्र नहीं मिलता। अकबर महान हो ही नहीं सकते। वह तो मुगल बादशाह थे। कल्याण सिंह ने कहा कि जो देश की जमीन पर पला बढ़ा हो और जिसने देश की रक्षा की हो, वही महान हो सकता है।
उन्होंने कहा कि पाठ्यक-पुस्तकों में महाराणा प्रताप की महानता और जीवन से जुड़े अंशों को प्रकाशित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जयपुर में महाराणा प्रताप की भव्य प्रतिमा स्थापित की जानी चाहिए। राजस्थान में अकबर और महाराणा प्रताप की महानता को लेकर विवाद पहले से ही चल रहा है।
राज्य के शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी और अन्य मंत्री भी पाठ्य-पुस्तकों में अकबर को महान बताए जाने पर आपत्ति प्रकट कर चुके हैं। राजस्थान की भाजपा सरकार यहां की पाठ्य-पुस्तकों में बदलाव कर रही है और इसी को लेकर इस तरह की बयानबाजी होती रही है।


जोधपुर के पास सडक दुर्घटना, छह युवाओं की मौत

27 June 2015
जयपुर। राजस्थान में जोधपुर के पास सोयला में एक ट्रक व जीप की भिंडत में छह युवकों की मौत हो गई। ये सभी सीकर के रहने वाले थे और पाली के पास मंदिर दर्शन के लिए जा रहे थे।
सभी की उम्र 17-18 वर्ष बताई जा रही है। टक्कर ओवरटेक करने के कारण हुई। दो की मौत मौके पर ही हो गई और चार की मौत अस्पताल ले जाते समय रास्ते में हुई।

पिता-पुत्र को गोली मार साढ़े 5 लाख लूटे

27 June 2015
अलवर। अलवर-मालाखेड़ा मार्ग पर जयन्ती फैक्ट्री के समीप शुक्रवार दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों ने पिता-पुत्र की गोली मारकर हत्या कर दी और करीब साढ़े पांच लाख रूपए लूट ले गए। वारदात की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। इसके बाद जिले में नाकेबंदी करा दी गई। पुलिस ने दो जनों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है, लेकिन देर शाम तक पुलिस को बदमाशों के बारे में कोई स्पष्ट सुराग हाथ नहीं लग सके।
डीएसपी (ग्रामीण) परमाल सिंह ने बताया कि लक्ष्मणगढ़ के बेरला गांव निवासी रामजीलाल (60) पुत्र छोटेलाल का भूगोर के समीप एक प्लॉट था, जिसे उसने बरखेड़ा निवासी सुरेश पुत्र तुलसी जाट और जयराम पुत्र रामहेत जाट को बेचान का सौदा किया। रामजीलाल ने कुछ दिन पहले टोकन मनी के रूप में एक लाख एक हजार रूपए ले लिए थे तथा शुक्रवार को प्लॉट की रजिस्ट्री कराना तय हुआ। शुक्रवार को रामजीलाल, उसका पुत्र मामचंद (35) और पत्नी मिश्रो देवी अलवर आए। अलवर तहसील में प्लाट की रजिस्ट्री कराने के बाद रामजीलाल और मामचंद करीब साढ़े पांच लाख रूपए लेकर बाइक से अपने गांव बेरला लौट रहे थे।
अलवर-मालाखेड़ा मार्ग पर दोपहर करीब सवा तीन बजे दादर स्थित जयन्ती फैक्ट्री के समीप पीछे से दो मोटरसाइकिलों पर सवार होकर आए चार बदमाशों ने रामजीलाल और मामचंद पर फायर कर दिया। गोली लगने से पिता-पुत्र वहीं ढेर हो गए और बदमाश रूपयों से भरा बैग लूटकर फरार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही कार्यवाहक पुलिस अधीक्षक पारस जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र वर्मा, डीएसपी परमाल सिंह और सदर थानाधिकारी देवेन्द्र प्रताप मौके पर पहंुचे। गोली लगने से सड़क पर अचेत पड़े पिता-पुत्र को सामान्य अस्पताल पहंुचाया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोçष्ात कर दिया। पुलिस ने सामान्य चिकित्सालय में पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिए। पुलिस ने घटना के सम्बन्ध में मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है।

जेब से 21 हजार रूपए मिले

पुलिस ने मृतक मामचंद की जेब से 21 हजार और उसके पिता रामजीलाल की जेब से 600 रूपए बरामद किए। उक्त रूपयों के बारे में बदमाशों को पता नहीं था इस कारण जेब से राशि नहीं निकालकर ले गए।

पत्नी को बस में बैठाया

परिजनों ने बताया कि रामजीलाल की पत्नी मिश्रो देवी को तबीयत खराब होने के कारण उसे चिकित्सक को दिखाया। प्लॉट की रजिस्ट्री होने के बाद रामजीलाल और मामचंद ने मिश्रो देवी को गांव की बस में बैठा दिया और दोनों बाइक पर अलवर से गांव के लिए रवाना हो गए।

दो जनों से पूछताछ

डीएसपी परमाल सिंह ने बताया कि वारदात के बाद पुलिस ने प्लॉट खरीददार सुरेश और जयराम की मोबाइल टावर लोकेशन की जांच की, जिसमें वारदात के दौरान उनकी मोबाइल की लोकेशन कलसाड़ा के आसपास मिली। संदेह के आधार पर पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है।

शहर की तरफ भागे बदमाश

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि वारदात को अंजाम देने वाले चार बदमाश सफेद रंग की अपॉची और एक अन्य बाइक पर सवार होकर अलवर की तरफ से आए थे। वारदात को अंजाम देने के बाद वापस अलवर शहर की तरफ ही भागे। घटना के बाद मौके पर काफी लोगों की भीड़ जमा रही।

एक के अंदर फंसी, दूसरे के पार निकली गोली

घटना के दौरान मामचंद बाइक चला रहा था और उसका पिता रामजीलाल पीछे बैठा हुआ था। बदमाशों ने पीछे से पिता-पुत्र पर फायर किए। मामचंद के गोली दायें कंधे से लगकर शरीर के अंदर जा फंसी और रामजीलाल के गोली बायीं तरफ कमर से घुसकर सीने से पार निकल गई। गोली लगने से दोनों के ह्वदय, किडनी और फेफड़े आदि क्षतिग्रस्त हो गए।

छोटा पुत्र भी अलवर आया था

मृतक रामजीलाल के छोटे पुत्र नरेन्द्र ने बताया कि वह जोधपुर में पत्थर कटिंग का काम करता है। शुक्रवार को ही वह जोधपुर से आया था और मालाखेड़ा स्टेशन पर उतर गया। वहां उसने अपने पिता और भाई से मोबाइल पर बातचीत की तो उन्होंने कहा कि प्लॉट की रजिस्ट्री हो गई है और वह गांव ही आ रहे हैं। इस पर वह भी गांव के लिए रवाना हो गया, लेकिन रास्ते में ही उसे घटना के बारे में पता चला और वह अलवर अस्पताल आ गया। अस्पताल में नरेन्द्र का रो-रोकर बुरा हाल था। कुछ देर बाद अन्य परिजन भी पहंुच गए।


वसुंधरा से इस्तीफा नहीं लेगी बीजेपी, पीएम से नहीं शाह से करेंगी मुलाकात

27 June 2015
जयपुर. ललित मोदी की मदद कर आरोपों से घिरीं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शनिवार को जयपुर से दिल्ली पहुंचीं। यहां वह नीति आयोग की बैठक में शामिल हुईं। पहले माना जा रहा है कि वे पीएम नरेंद्र मोदी से मिलकर एक बार फिर अपना पक्ष रख सकती हैं। वसुंधरा बीजेपी प्रमुख अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिल सकती हैं। इस बीच, वसुंधरा को लेकर शुक्रवार को मोदी ने शाह से दो घंटे लंबी चर्चा की। सूत्रों का कहना है कि आलाकमान वसुंधरा की सफाई से संतुष्ट है और उनकी कुर्सी पर फिलहाल कोई खतरा नहीं है।
इस बीच, कांग्रेस ने कैंसर फाउंडेशन को लेकर मुख्यमंत्री वसुंधरा को घेरा। कांग्रेस ने अब राजस्थान सरकार और पुर्तगाल के कैम्पेलीमोड फाउंडेशन के करार पर सवाल उठाए हैं। इसी फाउंडेशन में ललित मोदी की पत्नी के कैंसर का इलाज हुआ था। कांग्रेस महासचिव सीपी जोशी का आरोप है कि वसुंधरा सरकार ने फाउंडेशन के साथ 2 अक्टूबर, 2014 को एमओयू साइन किया है। सरकार फाउंडेशन को जयपुर में कैंसर अस्पताल के लिए 8.7 एकड़ जमीन देगी। करार अनैतिक है।

आलाकमान नहीं लेगा वसुंधरा से इस्तीफा

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के बीच हुई बैठक में तय किया गया कि सुषमा और वसुंधरा का बचाव किया जाएगा। किसी से इस्तीफा नहीं लिया जाएगा। इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी प्रधानमंत्री और अमित शाह से अलग-अलग मुलाकात की।

तीन रिटायर्ड जजों ने भी की थी ललित मोदी की मदद

आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की मदद करने वालों की लिस्ट लंबी होती जा रही है। एक न्यूज चैनल ने दावा किया कि सुप्रीम कोर्ट के तीन जज- जस्टिस उमेश सी. बनर्जी, जस्टिस जीवन रेड्डी और जस्टिस एसबी सिन्हा के साथ-साथ मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर रामदेव त्यागी और पत्रकार प्रभु चावला ने भी ललित मोदी की मदद की थी। जस्टिस उमेश सी. बनर्जी ने मोदी को लंदन में रहने के लिए कानूनी मदद दी थी। बनर्जी सुप्रीम कोर्ट से पहले आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस थे। काडेन बोरिस पार्टनर्स नाम की लॉ फर्म के फाउंडर हेमंत बत्रा ने


फर्जी दस्तावेज से कर ली पूरी नौकरी, रिटायरमेंट पर पकड़ा गया

26 June 2015
जयपुर। राजस्थान के टोंक जिले में सरकारी विभाग में मिलीभगत का अनूठा मामला सामने आया है। यहां एक व्यक्ति ने कृषि विभाग में फर्जी दस्तावेज के आधार पर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के रूप में नौकरी कर ली। दूसरे विभाग में तबादला करवा लिया। वेतन वृद्धि ले ली और पूरी नौकरी होने के बाद जब रिटायरमेंट के समय पेंशन तैयार करने के लिए उसके कागज देखे गए तो पता चला कि सारे दस्तावेज ही फर्जी थे।
यह कारनामा दूनी तहसील के कजोडी लाल ने किया। उसने फर्जी नियुक्ति आदेश से कृषि विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी पद पर नियुक्ति ले ली। इसके बाद फर्जी आदेश से ही आयुर्वेद विभाग में तबादला करा लिया।
वह न सिर्फ वेतन उठाता रहा, बल्कि वेतन वृद्धि भी मिल गई। हाल में रिटायरमेंट से पहले पेंशन तैयार करने के लिए उसके दस्तावेजों की जांच की गई। मूल दस्तावेज निकलवाए गए तो पता चला कि शुरू से लेकर आखिर तक सारा मामला फर्जी है।
विभाग ने पहले उसे निलंबित किया और फिर पुलिस में मामला दर्ज कराया। अब पुलिस उन सब की जांच भी कर रही है, जो इस मिलीभगत में शामिल थे।

कारोबार में घाटे से दुखी परिवार ने पी लिया जहर, बुजुर्ग दंपती की मौत

26 June 2015
जयपुर। कारोबार में घाटे से आजिज अम्बाबाड़ी इलाके में एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने जहर पीकर सामूहिक आत्महत्या करने की कोशिश की। इसमें बुजुर्ग दंपती की मौत हो गई जबकि उनका बेटा, पोता और पोती की हालत गंभीर है। उन्हें सोनी मणिपाल अस्पताल में दाखिल कराया गया है। चंद लाइनों में लिखे सुसाइड नोट में आर्थिक परेशानी से आत्महत्या करने की बात लिखी गई है। जहर कोल्ड ड्रिंक और फ्रूटी में मिलाकर लिया गया था। इस दौरान घर की बहू अपने पीहर गई हुई थी। उसके लौटने पर घटना का पता लगा।
पुलिस के अनुसार मृतक सांवरमल केडिया (68) व उनकी पत्नी पुष्पा (64) मूलत: चिड़ावा (झुंझुनूं) के निवासी थे। यहां अम्बाबाड़ी स्थित एडब्ल्यूएचओ कॉलोनी में बेटे विनीत केडिया (45), पुत्रवधु अनीष्ाा, पोती वेदिता और पोते वेदांत के साथ रहते थे। नजदीकी रिश्तेदार ने बताया कि गुरूवार सुबह अनीष्ाा वैशाली नगर स्थित अपने पीहर गई थी। वहां से शाम करीब छह बजे घर पहुंची तो बाहर से ताला बंद मिला, लेकिन भीतर टीवी चालू था। काफी देर खटखटाने पर भी आवाज नहीं आई तब अनीष्ाा ने चाचा को फोन कर बुलाया। उनकी सूचना पर विद्याधर नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची।
दरवाजा न खुलने पर पुलिस ने जैक लगाकर ताला तोड़ा। ड्राइंग रूम में सोफे पर वेदिता और वेदांत बेसुध थे। बेडरूम में सांवरमल, पुष्पा और विनीत केडिया पड़े थे। हिलाने पर विनीत में कुछ हलचल हुई, वहीं बुजुर्ग दंपती की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने विनीत, वेदिता और वेदांत को अस्पताल भेजा।
पुलिस उपायुक्त (उत्तर) प्रफुल्ल कुमार ने बताया कि एक कॉपी में चार लाइन में सुसाइड नोट लिखा मिला। यह सांवरमल केडिया ने लिखा था। घटना शाम करीब चार बजे की है। सांवरमल ने सुसाइड नोट में आर्थिक तंगी के कारण जान देने और किसी को परेशान न करना लिखकर खुद के हस्ताक्षर के साथ तारीख और समय लिखा। सांवरमल का केरोसिन डीलरशिप का कारोबार था। घाटे के बाद करीब डेढ़ साल से यह काम बंद चल रहा था। विनीत ने एल्युमिनियम और डिजायनर दरवाजों की ट्रेडिंग का काम शुरू किया था।

पेय पदार्थ में मिलाई सल्फॉस व जिंक फॉस्फेट

पुलिस और एफएसएल टीम को ड्राइंग रूम की मेज में फ्रूटी और कोल्ड ड्रिंक की बोतल और आधे खाली ग्लास मिले। एसीपी शास्त्री नगर द्वारका प्रसाद शर्मा के मुताबिक परिवार ने इन शीतल पेय में ही सल्फॉस और जिंक फॉस्फेट की गोलियां घोलकर पी थी। मौके से दोनों के सैम्पल भी लिए हैं।

ताला किसने लगाया

पुलिस को घर के बाहर के कमरे में ताला लगा मिला। विनीत की पत्नी पीहर गई थी, जबकि अन्य सभी सदस्य भीतर थे। घर का टीवी भी तेज आवाज में चलता मिला। पुलिस भी ताला बाहर से लगाए जाने की पड़ताल कर रही है।


नेतृत्व परिवर्तन की बातों से नाराज हैं वसुंधरा राजे

26 June 2015
जयपुर। आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बीच संबंधों को लेकर नेतृत्व परिवर्तन की बात पर प्रदेश प्रदेश का सियासी माहौल एकदम बदल गया है। वसुंधरा नेतृत्व परिवर्तन की बात करने वालों से खासी नाराज बताई जाती हैं। वहीं उनके कट्टर समर्थक भी इस बात से दुखी और आक्रोषित भी हैं।
वे किसी और को प्रदेश का मुख्यमंत्री बनते देखना नहीं चाहते। यही कारण है कि बार-बार या तो वे मंत्रियों और विधायकों की मुख्यमंत्री के सामने परेड कराते हैं, या बयान देते हैं कि सभी विधायक व मंत्री सीएम के साथ हैं। गुरुवार के बाद अब शुक्रवार को भी राजे के निवास पर ज्यादातर मंत्रियों और विधायकों के पहुंचने का सिलसिला चल रहा है।
पिछले दिनों मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में कोई खास नीतिगत फैसले नहीं हो पाए थे। बताया जा रहा है कि नेतृत्व परिवर्तन को लेकर जिस तरह की गर्मी चल रही है, कैबिनेट की औपचारिक बैठक के बाद अनौपचारिक बैठक में इसी बात की चर्चा ज्यादा रही। कैबिनेट के ज्यादातर मंत्रियों ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त तक किया गया बताया। जानकारों का कहना है कि मंत्रियों की भी जिस तरह से लॉबिंग की गई है, उसे देखते हुए स्पष्ट है कि वसुंधरा राजे न केवल इस प्रकरण से खासी खफा हैं, बल्कि वे चाहती भी हैं कि बार-बार प्रदेश की जनता के सामने यह मैसेज जाना चाहिए कि सभी विधायक और मंत्री उनके साथ हैं। ताकि इसका सीधा प्रभाव संगठन में केंद्रीय स्तर पर जाए।

आमतौर पर ऐसा रहता है वसुंधरा राजे का मिजाज

वसुंधरा राजे का मंत्रियों और विधायकों से मिलने का मिजाज इन दिनों बदला हुआ है। आमतौर पर वसुंधरा राजे मंत्रियों से कैबिनेट की बैठकों में और विधायकों से बमुश्किल समय देने पर मिलती हैं। ज्यादातर विधायक तो इसी बात से परेशान रहते हैं कि सीएम उनसे मिलती नहीं। ऐसे में वे कार्यकर्ताओं के और क्षेत्र के काम नहीं करा पा रहे। कामों को मंजूरी नहीं दिला पाते। इससे क्षेत्र में उनकी साख खराब हो रही है। मंत्रियों को भी वे अपनी मंर्जी से ही बुलाती हैं। पिछले दिनों से नेतृत्व परिवर्तन को लेकर सियासी माहौल जिस तरह से बदला है, कहा जा रहा है कि राजे एकदम बदली-बदली सी नजर आ रही हैं।

ज्यादातर मंत्री और विधायकों ने भी भरी सीएमआर में हाजिरी

मुख्यमंत्री राजे के नजदीकी माने जाने वाले संसदीय कार्य मंत्री राजेंद्र राठौड़ पिछले दिनों में कई बार मीडिया के सामने कह चुके हैं कि वसुंधरा राजे के साथ सभी या ज्यादातर विधायक हैं और मंत्री भी उनके पक्ष में हैं। ऐसे में किसी भी प्रकार से नेतृत्व परिवर्तन की कोई संभावना नहीं है। शुक्रवार सुबह से भी विधायकों और मंत्रियों के मुख्यमंत्री आवास पर जाने का सिलसिला लगातार बना हुआ है। गुरुवार को करीब 50 विधायक राजे के निवास जा चुके थे। शेष में से ज्यादातर भी सुबह से यहां पहुंच रहे हैं। इनके अलावा कई मंत्रियों ने भी सीएमओ की ओर रुख किया है। राठौड़ और परिवहन मंत्री यूनुस खान तो सुबह से यहीं डटे हुए हैं। इनके अलावा जिलों के अध्यक्ष, सांसद व अन्य पदाधिकारी भी बड़ी संख्या में यहां सीएम निवास पर पहुंच रहे हैं। राजनीतिक हलकों में चर्चा गर्म है कि राजे इन सभी को अपने पक्ष में करने के लिए इस तरह का माहौल बना रही हैं। मुख्यमंत्री ने अभी तक इस संबंध में खुल कर कुछ नहीं बोला है, लेकिन बताया जा रहा है कि वे इस प्रकरण से खासी नाराज हैं। उनके खास माने जाने वाले पूर्व चिकित्सा मंत्री डॉ. दिगंबर सिंह भी सीएमआर पहुंचे हैं। माना जाता है कि संकट के दौर में दिगंबर सिंह और राजेंद्र राठौड़ मैनेजमेंट के अच्छे खिलाड़ी की भूमिका में दिखते रहे हैं।


दस्तावेज देखे बगैर टिप्पणी नहीं : परनामी

25 June 2015
जयपुर। ललित मोदी मामले में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा हस्ताक्षर किए गए दस्तावेज सामने आने के बाद राजस्थान में राजे के लिए मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं।
इस मामले पर उनका पक्ष रखने के लिए बुधवार देर रात आनन-फानन में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी ने प्रेसवार्ता बुलाई और कहा कि जब तक यह पता नहीं चले कि जिस दस्तावेज पर हस्ताक्षर दिखाए जा रहे है, वह क्या है, तब तक कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती।
इससे पहले शाम को दस्तावेज सामने आने के बाद अपने निवास पर राजे ने राज्य के चिकित्सा मंत्री राजेंद्र राठौड़, प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी और उद्योग मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर के साथ चर्चा की।

वसुंधरा ने रद की ब्रिटेन यात्रा

इस बीच वसुंधरा राजे ने 27 जून से प्रस्तावित अपनी ब्रिटेन यात्रा स्थगित कर दी है। वे वहां रिसर्जेंट राजस्थान की तैयारी के लिए जा रही थीं। यात्रा रद करने के पीछे कारण नीति आयोग की बैठक को बताया जा रहा है, लेकिन जानकारों का कहना है कि मौजूदा संकट के कारण राजे ने यह यात्रा रद की है।

बापू के प्रपौत्र तुषार के खिलाफ मुकदमा

25 June 2015
जयपुर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रपौत्र तुषार गांधी की तरफ से शहीद-ए-आजम भगत सिंह के खिलाफ दिए गए बयान को लेकर राजस्थान के नागौर कोर्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। सीपीआई (एम) के नेता भागीरथ ने शिकायत की थी।
दरअसल जयपुर में एक कार्यक्रम के दौरान तुषार ने भगत सिंह और महात्मा गांधी को लेकर एक सवाल के जवाब में माना कि भगत सिंह अंग्रेजों के गुनहगार थे, उन्होंने असेंबली में बम फोड़ा था। यह कानून के खिलाफ था। जहां तक बापू की बात है तो वे गुनहगारों का साथ नहीं देते थे। भगत सिंह के दोषी होने के बावजूद बापू ने अंग्रेजों से उनकी सजा को कम करके उम्रकैद में बदलने की सिफारिश की थी।
उल्लेखनीय है कि अमृतसर में भी तुषार गांधी के खिलाफ एफआइआर दर्ज हुई थी और भारी संख्या में जुलूस निकालकर लोगों ने उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।


सड़क पर उतरी कांग्रेस

25 June 2015
जयपुर। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद पहली बार एकजुट नजर आई कांग्रेस ने बुधवार को उद्योग मैदान से सिविल लाइंस फाटक तक पैदल मार्च कर "ललित मोदी प्रकरण" में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से इस्तीफा देने की मांग की। प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष सचिन पायलट के नेतृत्व में लम्बे अरसे बाद कांग्रेस का राजधानी में यह बड़ा प्रदर्शन था।
इसमें पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी समेत लगभग सभी प्रमुख नेता शामिल हुए। सिविल लाइंस फाटक पर प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है। प्रधानमंत्री, भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री को चुप्पी तोड़कर देश को भ्रष्टाचार, घोटाले और कालेधन की हकीकत बतानी होगी।
पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी के मामले में राजे का नाम जुड़ने के बाद से ही कांग्रेस मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग कर रही है। हालांकि पिछले सप्ताह इस मुद्ये को लेकर कांग्रेस की शहर इकाई का प्रदर्शन फ्लॉप हो गया था, लेकिन बुधवार को कांग्रेस एकजुट नजर आई। सुबह नौ बजे से ही उद्योग मैदान में जुटना शुरू हुए कार्यकर्ताओं ने दोपहर करीब सवा बारह बजे सिविल लाइंस की ओर पैदल कूच किया।
सिविल लाइंस फाटक पहुंचने के बाद खुली जीप पर सवार होकर कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए पायलट, गहलोत, डूडी और पूर्व मंत्री गिरिजा व्यास समेत विभिन्न नेताओं ने राजे और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर देश के भगौड़े ललित मोदी की सहायता करने और आर्थिक रिश्ते रख कालाधन बाहर भेजने के आरोप लगाते हुए इस्तीफे की मांग की। करीब आधे घंटे विरोध प्रदर्शन के बाद कांग्रेसी लौट गए।

कांग्रेस को विरोध का हक नहीं : राठौड़

चिकित्सा मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन को गलत बताया है। राठौड़ ने बुधवार को पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस शासन में खूब भ्रष्टाचार हुआ। ऎसे में कांग्रेस को नैतिक आधार पर अब इस तरह का विरोध करने का कोई हक नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके पुत्र सांसद दुष्यंत सिंह ने सभी काम नियम व नीतियों के अनुरूप किए हैं। इसका पूरा लेखा-जोखा उपलब्ध है।
उन्होंने कांग्रेस पर चाय के प्याले में उफान लाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। राठौड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री व उनके सांसद पुत्र पहले ही इन आरोपों के बारे में पूरी स्थिति स्पष्ट कर चुके हैं। इसे केन्द्रीय नेतृत्व ने भी स्वीकार कर आरोपों को खारिज कर दिया है। नगरीय विकास मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने भी कहा कि कांग्रेस के पास प्रदर्शन करने के अलावा कुछ नहीं बचा।
भाजपा ने राजनीतिक पतन का नया अध्याय शुरू किया है। यही कारण है कि भ्रष्टाचार के प्रकरणों में लिप्त ललित मोदी को पासपोर्ट दिलवाने में मदद करने तथा उसकी कम्पनियों से अनुचित आर्थिक लाभ प्राप्त करने के आरोपों के बावजूद मुख्यमंत्री राजे पद पर बनी हुई हैं। भाजपा नेताओं के बचाव में उतरने से मामले की निष्पक्ष जांच भी संभव नहीं लग रही।

सचिन पायलट, प्रदेशाध्यक्ष कांग्रेस

प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने शासन में बने रहने का नैतिक अधिकार खो दिया है। अपनी नेता को बचाने के लिए प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष और एक मंत्री बयानबाजी कर रहे हैं। अध्यक्ष कुर्सी बचाना चाहते हैं और मंत्री अपना पोर्टफोलियों बदलवाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। अशोक गहलोत, पूर्व मुख्यमंत्री असली चेहरा दिख रहा है
भ्रष्टाचार के मामले उजागर होने के बाद भी भाजपा नेताओं का पदों पर बना रहना भाजपा का असली चेहरा दिखा रहा है। रामेश्वर डूडी, नेता प्रतिपक्ष


दस्तावेज देखे बगैर टिप्पणी नहीं : परनामी

25 June 2015
जयपुर। ललित मोदी मामले में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा हस्ताक्षर किए गए दस्तावेज सामने आने के बाद राजस्थान में राजे के लिए मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं।
इस मामले पर उनका पक्ष रखने के लिए बुधवार देर रात आनन-फानन में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी ने प्रेसवार्ता बुलाई और कहा कि जब तक यह पता नहीं चले कि जिस दस्तावेज पर हस्ताक्षर दिखाए जा रहे है, वह क्या है, तब तक कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती।
इससे पहले शाम को दस्तावेज सामने आने के बाद अपने निवास पर राजे ने राज्य के चिकित्सा मंत्री राजेंद्र राठौड़, प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी और उद्योग मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर के साथ चर्चा की।

वसुंधरा ने रद की ब्रिटेन यात्रा

इस बीच वसुंधरा राजे ने 27 जून से प्रस्तावित अपनी ब्रिटेन यात्रा स्थगित कर दी है। वे वहां रिसर्जेंट राजस्थान की तैयारी के लिए जा रही थीं। यात्रा रद करने के पीछे कारण नीति आयोग की बैठक को बताया जा रहा है, लेकिन जानकारों का कहना है कि मौजूदा संकट के कारण राजे ने यह यात्रा रद की है।

बापू के प्रपौत्र तुषार के खिलाफ मुकदमा

25 June 2015
जयपुर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रपौत्र तुषार गांधी की तरफ से शहीद-ए-आजम भगत सिंह के खिलाफ दिए गए बयान को लेकर राजस्थान के नागौर कोर्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। सीपीआई (एम) के नेता भागीरथ ने शिकायत की थी।
दरअसल जयपुर में एक कार्यक्रम के दौरान तुषार ने भगत सिंह और महात्मा गांधी को लेकर एक सवाल के जवाब में माना कि भगत सिंह अंग्रेजों के गुनहगार थे, उन्होंने असेंबली में बम फोड़ा था। यह कानून के खिलाफ था। जहां तक बापू की बात है तो वे गुनहगारों का साथ नहीं देते थे। भगत सिंह के दोषी होने के बावजूद बापू ने अंग्रेजों से उनकी सजा को कम करके उम्रकैद में बदलने की सिफारिश की थी।
उल्लेखनीय है कि अमृतसर में भी तुषार गांधी के खिलाफ एफआइआर दर्ज हुई थी और भारी संख्या में जुलूस निकालकर लोगों ने उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।


सड़क पर उतरी कांग्रेस

25 June 2015
जयपुर। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद पहली बार एकजुट नजर आई कांग्रेस ने बुधवार को उद्योग मैदान से सिविल लाइंस फाटक तक पैदल मार्च कर "ललित मोदी प्रकरण" में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से इस्तीफा देने की मांग की। प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष सचिन पायलट के नेतृत्व में लम्बे अरसे बाद कांग्रेस का राजधानी में यह बड़ा प्रदर्शन था।
इसमें पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी समेत लगभग सभी प्रमुख नेता शामिल हुए। सिविल लाइंस फाटक पर प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है। प्रधानमंत्री, भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री को चुप्पी तोड़कर देश को भ्रष्टाचार, घोटाले और कालेधन की हकीकत बतानी होगी।
पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी के मामले में राजे का नाम जुड़ने के बाद से ही कांग्रेस मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग कर रही है। हालांकि पिछले सप्ताह इस मुद्ये को लेकर कांग्रेस की शहर इकाई का प्रदर्शन फ्लॉप हो गया था, लेकिन बुधवार को कांग्रेस एकजुट नजर आई। सुबह नौ बजे से ही उद्योग मैदान में जुटना शुरू हुए कार्यकर्ताओं ने दोपहर करीब सवा बारह बजे सिविल लाइंस की ओर पैदल कूच किया।
सिविल लाइंस फाटक पहुंचने के बाद खुली जीप पर सवार होकर कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए पायलट, गहलोत, डूडी और पूर्व मंत्री गिरिजा व्यास समेत विभिन्न नेताओं ने राजे और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर देश के भगौड़े ललित मोदी की सहायता करने और आर्थिक रिश्ते रख कालाधन बाहर भेजने के आरोप लगाते हुए इस्तीफे की मांग की। करीब आधे घंटे विरोध प्रदर्शन के बाद कांग्रेसी लौट गए।

कांग्रेस को विरोध का हक नहीं : राठौड़

चिकित्सा मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन को गलत बताया है। राठौड़ ने बुधवार को पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस शासन में खूब भ्रष्टाचार हुआ। ऎसे में कांग्रेस को नैतिक आधार पर अब इस तरह का विरोध करने का कोई हक नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके पुत्र सांसद दुष्यंत सिंह ने सभी काम नियम व नीतियों के अनुरूप किए हैं। इसका पूरा लेखा-जोखा उपलब्ध है।
उन्होंने कांग्रेस पर चाय के प्याले में उफान लाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। राठौड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री व उनके सांसद पुत्र पहले ही इन आरोपों के बारे में पूरी स्थिति स्पष्ट कर चुके हैं। इसे केन्द्रीय नेतृत्व ने भी स्वीकार कर आरोपों को खारिज कर दिया है। नगरीय विकास मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने भी कहा कि कांग्रेस के पास प्रदर्शन करने के अलावा कुछ नहीं बचा।
भाजपा ने राजनीतिक पतन का नया अध्याय शुरू किया है। यही कारण है कि भ्रष्टाचार के प्रकरणों में लिप्त ललित मोदी को पासपोर्ट दिलवाने में मदद करने तथा उसकी कम्पनियों से अनुचित आर्थिक लाभ प्राप्त करने के आरोपों के बावजूद मुख्यमंत्री राजे पद पर बनी हुई हैं। भाजपा नेताओं के बचाव में उतरने से मामले की निष्पक्ष जांच भी संभव नहीं लग रही।

सचिन पायलट, प्रदेशाध्यक्ष कांग्रेस

प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने शासन में बने रहने का नैतिक अधिकार खो दिया है। अपनी नेता को बचाने के लिए प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष और एक मंत्री बयानबाजी कर रहे हैं। अध्यक्ष कुर्सी बचाना चाहते हैं और मंत्री अपना पोर्टफोलियों बदलवाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। अशोक गहलोत, पूर्व मुख्यमंत्री असली चेहरा दिख रहा है
भ्रष्टाचार के मामले उजागर होने के बाद भी भाजपा नेताओं का पदों पर बना रहना भाजपा का असली चेहरा दिखा रहा है। रामेश्वर डूडी, नेता प्रतिपक्ष


कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन: वसुंधरा का मांगा इस्‍तीफा

24 June 2015
जयपुर। ललित मोदी प्रकरण में मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे के इस्‍तीफे की मांग को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बुधवार को सिविल लाइंस का घेराव किया। प्रदेशाध्‍यक्ष सचिन पायलट के नेतृत्‍व में बड़ी संख्‍या में कांग्रेस कार्यकर्ता सुबह उद्योग मैदान में जुटे और सिविल लाइंस की ओर कूच किया।

आरोप हमने नहीं लगाए, दस्‍तावेज सामने आए हैं

सिविल लाइंस पर सभा में तब्‍दील हुई रैली को संबोध्‍ाित करते हुए पायलट ने कहा कि ललित मोदी को लेकर आरोप कांग्रेस ने नहीं लगाए ये जानकारी दस्‍तावेज के जरिए सामने आई है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वे पीएम नहीं रखवाले हैं। अब उनकी नाक के नीचे भ्रष्‍टाचार हो को बचाया जा रहा है।

उल्‍टा चोर कोतवाल को डांटे

पूर्व सीएम अशाक गहलोत ने कहा कि उल्‍टा चोर कोतवाल को डांटे। पोल खुल चुकी है, वसुंधरा जी को इस्‍तीफा दे देना चाहिए। काले धन का जिक्र करते हुए गहलोत ने कहा कि अब काला धन कहां गया। लोग काला धन देश में लोने के उनके वादे का इंतजार कर रहे हैं। ललित मोदी की कंपनी का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि मोदी की कंपनी के पास इतना पैसा कहां से आया।

बड़ी संख्‍या में जुटी भीड़

प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस का बड़ा जाप्‍ता मौजूद था। विरोध प्रदर्शन में बड़ी संख्‍या में महिलाएं भी शामिल हुईं। प्रदर्शनकारी हाथों में तख्तियां लिए हुए चल रहे थे। इन पर लिखा हुआ था, वसुंधरा राजे इस्‍तीफा दें।

पहले सीएम वसुंधरा इस्‍तीफा दें

उल्‍लेखनीय है कि इससे पहले मंगलवार को ललित मोदी प्रकरण पर पायलट ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है फिर केंद्र सरकार किस आधार पर बिना जांच क्‍लीनचिट दे रही है। उन्‍होंने कहा कि सीम वसुंधरा राजे के पद पर रहते हुए जांच प्रभावित होगी। ऐसे में पहले वे इस्‍तीफा दें उसके बाद जांच कराई जाए।


पारिवारिक कलह में बैराज से कूदी महिला, बचाया

24 June 2015
कोटा। कुन्हाड़ी थाना क्षेत्र में मंगलवार शाम बालाकुंड निवासी ममता कलाल (35) बैराज से नदी के डाउन स्ट्रीम में कूद गई, जिसे मौके पर पहुंच कर बचा लिया।
सूचना मिलते ही पुलिस व नगर निगम के गोताखोर मौके पर पहुंचे और उसे बाहर निकालकर एम्बुलेंस से एबीएस अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने बताया कि महिला ने पारिवारिक कलह के चलते ही खुदकुशी का प्रयास किया था। घटना के समय बैराज पर बड़ी संख्या में लोगों के खड़ा होने से जाम की स्थिति हो गई थी।
जिसे पुलिस ने पहुंचकर सामान्य करवाया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि महिला के कूदते ही कुन्हाड़ी थाने का कांस्टेबल राधेश्याम सांखला भी उसे बचाने के लिए कूद गया। इस कारण उसके हाथ में भी चोट लगी है।


मैंने किसी मॉरिशस की कंपनी को शेयर नहीं बेचे, जिसे भी बेचे 10 रु में बेचे

24 June 2015
जयपुर। मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे के सांसद पुत्र दुष्यंत सिंह व पूर्व मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत को लेकर भाजपा कांग्रेस में लग रहे आरोप प्रत्यारोप थमने का नाम नहीं ले रहे। अब वैभव ने कहा है कि उन्‍होंने मॉरिशस की किसी भी कंपनी को शेयर नहीं बेचे और जिसे भी बेचे हैं 10 रुपए में ही बेचे हैं।

सरकार फ्रस्‍टेशन में

वैभव ने बुधवार को यहां कहा कि सरकार फ्रशटेशन में मुझ पर आरोप लगा रही है। सरकार खुद घोटालों में फंस गई है और फ्रस्‍टेशन में ऐसे अनर्गल आरोप लगा रही है।

परनामी ने लगाया था आरोप

उल्‍लेखनीय है कि कुछ दिन पहले ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने आरोप लगाया था कि अशोक गहलोत के बेटे वैभव ट्राइटन होटल्स एंड रिजोर्ट्स में विधिक सलाहकार हैं। इस कंपनी के 100 रु. के शेयर को मॉरिशस की कंपनी ने 40 हजार रु. प्रति शेयर में खरीदा था। मॉरिशस की उस कंपनी का कोई अता-पता ही नहीं है। उस समय गहलोत सीएम थे। मामला उठने पर भी कार्रवाई नहीं की।

गहलोत ने दिया था जवाब

इस पर गहलोत ने पलटवार करते हुए कहा था कि आरोप लगाने की बजाय जांच करा लें। गहलोतने कहा, भाजपा वैभव पर जिस मामले में आरोप लगा रही है, वे कोर्ट से खारिज हो चुके हैं। मैं तो वसुंधराजी से कह चुका हूं कि वैभव, राॅबर्ट वाड्रा और दुष्यंत की हाईकोर्ट के सिटिंग जज से जांच कराएं। सच सामने जाएगा। परनामीजी की सरकार है, आरोप लगाने के बजाय जांच क्यों नहीं कराते?


ललित मोदी प्रकरण में गडकरी ने वसुंधरा को दी क्लीनचिट

23 June 2015
जयपुर। आइपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के साथ संबंधों को लेकर फंसीं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को सोमवार को बड़ा सहारा मिला। केंद्रीय मंत्री और भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने जोर देकर कहा कि मुख्यमंत्री ने कुछ भी गलत नहीं किया है। उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों में कोई तथ्य नहीं है। भाजपा और केंद्र सरकार मजबूती से उनके पीछे खड़ी है। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री गडकरी एक राष्ट्रीय राजमार्ग के लोकार्पण समारोह भाग लेने के लिए जाते हुए जयपुर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने वसुंधरा राजे से मुख्यमंत्री आवास पर मुलाकात की। इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में गडकरी ने कहा -'वसुंधरा के खिलाफ लगाए जा रहे आरोप बेबुनियाद हैं। वह कानूनी, तार्किक और नैतिक तौर पर पूरी तरह सही हैं। राजे और उनके सांसद पुत्र दुष्यंत ने जो किया, उसमें कोई भ्रष्टाचार नहीं है। दुष्यंत का मामला पूरी तरह एक व्यापारिक सौदा है, जिसके सभी जगह पूरे रिकॉर्ड हैं। किसी से पैसा कर्ज पर लेना कोई गुनाह नहीं है। इस प्रकार की डील को जिस तरह राजनीतिक विवादों में लाने की कोशिश की जा रही है, वह दुर्भाग्यपूर्ण है। चाहे वह सुषमा स्वराज का मामला हो या वसुंधरा राजे का। गौरतलब है कि ललित मोदी मनी लॉड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय की जांच का सामना कर रहे हैं। ऐसे में वसुंधरा द्वारा उनके समर्थन में लंदन की अदालत में कथित तौर पर 'गवाह का गोपनीय बयान दिए जाने की आलोचना हो रही है। साथ ही वसुंधरा के पुत्र दुष्यंत की कंपनी में ललित मोदी के निवेश पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।


सामने आया महिला सरपंच द्वारा रिश्वत लेने का सबसे बड़ा मामला

23 June 2015
जयपुर। राजस्थान के भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने रावतभाटा के गांव बडोलिया की सरपंच काली बाई मीणा और कर्मचारी सत्यभान सिंह को 1.19 लाख रूपए की रिश्वत लेते पकड़ा है।
किसी महिला सरपंच द्वारा रिश्वत का यह अब तक का सबसे बड़ा मामला बताया जा रहा है। पुलिस के अनुसार, रावतभाटा के निवासी मुद्दसर अहमद ने शिकायत की थी कि 5.5 बीघा आवासीय भूमि को कृषि भूमि में बदलने के लिए सरपंच एक लाख नकद और 21 हजार की रसीद कटवाने के लिए कह रही है।
शिकायत सही पाए जाने पर पुलिस ने कार्रवाई की और सरपंच व कर्मचारी को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया।


दत्तक पुत्र नहीं करा सकते जन्मदाता मां-बाप का इलाज

23 June 2015
जयपुर। कोई राज्य कर्मचारी किसी के गोद चला जाए तो वह जन्म देने वाले मां-बाप का सरकारी खर्च पर इलाज नहीं करवा सकेगा। उसे जिस मां-बाप ने गोद लिया है, उनके सरकारी खर्च से इलाज पर सरकार को आपत्ति नहीं है। विभाग ने राज्य कर्मचारी के मामले में यह व्यवस्था निर्धारित की है। गोद गए कर्मचारी को जन्म देने वाले मां-बाप सेवा नियमों के तहत कर्मचारी के माता-पिता की श्रेणी में नहीं माने जा सकते। विभाग ने यह भी स्पष्ट किया है कि राजस्थान सिविल सेवा नियमों के तहत गोद के मामलों में कर्मचारी पर आश्रित मां-बाप ही उसके परिवार में शामिल हो सकते हैं। यदि गोद लेने वाले पिता की एक से अधिक पत्नी है तो पहली पत्नी को माता का दर्जा मिलेगा। गोद लेने वाले पिता की अन्य पत्नियों को सौतेली मां माना जाएगा। वे इन नियमों के तहत मां की श्रेणी में नहीं आएंगी। विभाग का कहना है कि एक बार गोद दे देने के बाद मां-बाप संतान पर अपना अधिकार नहीं रखते हैं। इसी कारण उन्हें मां-बाप की परिभाषा से बाहर माना गया है। अंकेक्षण विभाग ने मांगी थी राय स्थानीय निधि एवं अंकेक्षण विभाग ने अपने एक कर्मचारी के मामले में वित्त विभाग से राय मांगी थी। वित्त विभाग ने इसी मामले में सेवा नियमों के तहत मां-बाप की व्याख्या की है। सूत्रों ने बताया कि केन्द्र सरकार ने ऎसे मामलों में अपने कर्मचारियों के लिए पहले से ही इस तरह का स्पष्टीकरण जारी कर रखा है।


नितिन गडकरी ने वसुंधरा से की मुलाकात

22 June 2015
जयपुर। पूर्व आईपीएल कमिश्‍नर ललित मोदी से संबंधों को लेकर विवाद में फंसने के बाद पहली बार किसी केंद्रीय स्‍तर के वरिष्‍ठ नेता ने सोमवार को मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे से मुलाकात की।
केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने यहां मुख्‍यमंत्री राजे के साथ राजस्‍थान के हाइवे प्रोजेक्‍ट्स को लेकर बातचीत की। इस दौरान राज्‍य सरकार के कई वरिष्‍ठ पदाधिकारी भी मौजूद थे।
दोनों नेताओं की इस मुलाकात के बाद यह कहा जा सकता है कि पार्टी में राजे के प्रति नरमी आई है। हालांकि इससे पहले ही भाजपा प्रवक्‍ताओं ने राजे की विपक्ष द्वारा इस्‍तीफे की मांग को खारिज करते हुए उनका बचाव किया था।
मालूम हो कि ललित मोदी की मदद और उनके बेटे दुष्‍यंत सिंह के साथ आर्थिक संबंधों को लेकर पहले भाजपा बैकफुट पर थी लेकिन आंतरिक जांच के बाद राजे को क्लिनचिट दे दी गई।
आईपीएल में वित्‍तीय गड़बडि़यों का आरोप झेल रहे ललित मोदी पर राजे के बेटे की कंपनी के 10 रुपये की कीमत वाले शेयर को 96 हजार रुपये प्रति शेयर खरीदने का आरोप है, लेकिन भाजपा का कहना है कि ये लेन-देन विधिमान्‍य हैं।


बीकानेर में मिलेगी ऊंटनी के दूध की शुगर फ्री लस्सी

22 June 2015
जयपुर। राजस्थान में अब बीकानेर घूमने आने वाले पर्यटकों को ऊंटनी के दूध की शुगर फ्री लस्सी भी मिल सकेगी। बीकानेर में उंटों पर अनुसंधान के लिए काम कर रहा राष्ट्रीय ऊंट अनुंसधान केंद्र यह लस्सी उपलब्ध कराएगा
यह लस्सी मधुमेह और दिल के रोगियों के लिए फायदेमंद बताई जा रही है। यह केंद्र ऊंटनी के दूध से कई उत्पाद जैसे आइस्क्रीम, फ्लेवर्ड मिल्क, कुल्फी, चाय, कॉफी, पॉश्चरीकृत दूध, गुलाब जामुन, पेड़े, बर्फी, चॉकलेट जैसे उत्पाद बनाए जाते हैं।
ऊंटनी के दूध पर चल रहे शोध कार्य के प्रभारी डॉ. राघवेंद्र सिंह का कहना है कि ऊंटनी के दूध में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं। ऐसे में इससे बनी छाछ में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व बढ जाते हैं और यह छाछ व लस्सी लीवर, आंतों की बीमारी, उच्च रक्तचाप व लू के साथ मधुमेह और दिल के रोगियों के लिए भी उपयोगी हो जाती है।
विदेशी पर्यटकों द्वारा इन्हें काफी पसंद किया जाता है और अब इसे देखते हुए ही शुगर फ्री लस्सी भी बनाई जा रही है। जून के अंत तक यह केंद्र के दूध पार्लर पर मिलने लगेगी।


वसुंधरा ने हजारों लोगों के साथ किया योग

22 June 2015
जयपुर। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर राजस्थान में मुख्य समारोह जयपुर के एसएमएस स्टेडियम में हुआ। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने हजारों लोगों के साथ योग किया। सभी ने पतंजलि योगपीठ के राज्य समन्वयक कुलभूषण वैरागी के निर्देशन में ऊँ उच्चारण एवं प्रार्थना के साथ योग की शुरूआत की।
इसके बाद शिथिलीकरण क्रिया, खड़े होकर किए जाने वाले, बैठकर किए जाने वाले, पेट के बल लेटकर किए जाने वाले तथा पीठ के बल लेटकर किए जाने वाले आसन किए। सामूहिक योग की शुरूआत में क्रिया चालन अभ्यास किया गया, जिसमें ग्रीवा चालन एवं कटि चालन शामिल थे। इसके बाद खड़े होकर किए जाने वाले आसनों में ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अर्द्घचक्रासन एवं त्रिकोणासन किए गए।
बैठकर किए जाने वाले आसनों में भद्रासन, वज्रासन, अर्द्ध उष्ट्रासन, शशांक आसन एवं वक्रासन के बाद पेट के बल लेटकर भुजंगासन, सलभासन एवं मकरासन किए गए। अंत में प्राणायाम में अनुलोम-विलोम, भ्रामरी प्राणायाम, षणमुखी मुद्रा एवं सांभवी मुद्रा के साथ योग के आसनों का समापन हुआ। इस दौरान सरकार के कई मंत्री, अधिकारियों सहित आम नागरिक मौजूद थे।
राज्य के सभी जिलों में योग दिवस मनाया गया, इसके लिए सरकार की ओर से जिलों के प्रभारी मंत्रियों एवं अधिकारियों को तैनात किया गया था। पाकिस्तान सीमा से सटे बाड़मेर एवं श्रीगंगानगर जिलों में सुरक्षा में तैनात सेना के जवानों ने भी योग किया। जोधपुर में भी सैनिकों ने योग किया।


सुब्रमण्‍यम भी नहीं दिला पाए आसाराम को जमानत

20 June 2015
जोधपुर। नाबालिग से बलात्‍कार के अरोप में जेल में बंद आसाराम को शनिवार को भी राहत नहीं मिली और उन्‍हें जमानत दिलवाने आए सुब्रमण्‍यम स्‍वामी की सारी दलीले बेकार गई। अदालत ने आसाराम जमानत अर्जी खारिज कर दी। यह तीसरी बार है जब जोधपुर सेशन कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज की है।
अब इस मामले में अगली सुनवाई 29 जून को होगी। गौरतलब है कि शुक्रवार को आसाराम के वकील सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने जोधपुर कोर्ट में जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान दलीलें पेश की थी और आसाराम के लिए जमानत की मांग की थी। एक घंटे तक चली सुनवाई के बाद अदालत ने फैसला शनिवार तक के लिए सुरक्षित रख लिया था और आज फैसला सुनाते हुए याचिका खारिज कर दी।
बताया जा रहा है कि बचाव पक्ष ने गवाहों के बयान अधूरे रहने और पॉक्सो एक्ट में केस दर्ज होने का हवाला देकर जमानत का विरोध किया था। हालांकि, सुनवाई के बाद सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने उम्‍मीद जताई थी की आसाराम को जमानत मिल जाएगी। वहीं आसाराम ने भी कहा था कि वो जल्‍द जेल से बाहर आ जाएंगे। गौरतलब है कि आसाराम सितंबर 2014 से बलात्‍कार के आरोप में जेल में बंद हैं।


राजस्थान के आयुर्वेद अस्पतालों में बनेंगे योग केंद्र

20 June 2015
जयपुर। राजस्थान में योग अब सिर्फ अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की गतिविधि ही नहीं रहेगी, बल्कि यह लगातार जारी रहेगा। यहां के आयुर्वेद अस्पतालों में भर्ती मरीजों को योग कराया जाएगा और आउटडोर मरीजों को भी योग से उपचार की जानकारी दी जाएगी।
इसके साथ ही दस जिलों में योग व प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र बनाए जाएंगे। इसके लिए सरकार ने तीन करोड़ रूपए भी जारी कर दिए हैं। इस बीच रविवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की तैयारियां भी जारी है।
प्रेदश के चिकित्सा विभाग का दावा है कि पूरे प्रदेश में करीब 35 लाख लोग रविवार को योग करेंगे। जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में राज्यस्तररीय कार्यक्रम होगा जहां 35 हजार लोगों के योगाभ्यास की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा ब्लॉक व ग्राम पंचायत स्तर तक योग के कार्यक्रम होंगे।
सरकार के सभी मंत्री और विधायक अपने प्रभार वाले जिलों और क्षेत्रों में इन कार्यक्रमों में शामिल होंगे। केन्द्र सरकार द्वारा योग दिवस के प्रोटोकॉल के अनुसार रिहर्सल किया जा रहा है।


वसुंधरा के बचाव में खुल कर आई राजस्थान भाजपा

20 June 2015
जयपुर। आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की सहायता करने और उनकी कंपनी के साथ हुए शेयरों के बेचने के मामले में राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके सांसद पुत्र दुष्यंत सिंह को शुक्रवार को राजस्थान भाजपा का पूरा समर्थन मिला। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने प्रेस कांफ्रेंस कर राजे और दुष्यंत पर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद और कांग्रेस का कुप्रचार बता कर खारिज कर दिया।
पार्टी दुष्यंत की कंपनी के चार्टर्ड अकाउंटेंट को भी ले कर आई और दस्तावेज पेश कर यह साबित करने की कोशिश की कि दुष्यंत और ललित मोदी की कंपनी के बीच शेयरों की जो भी खरीद-फरोख्त हुई वह पूरी तरह कानूनी थी। इसमें आयकर तथा कंपनी अधिनियम के सभी नियमों का पूरा पालन किया गया है।
परनामी ने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत की कंपनी द्वारा मॉरीशस की एक कंपनी को बेचे शेयरों का मामला फिर उठाया और आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता काले धन को सफेद करने के लिए कागजी कंपनियों को शेयर बेच रहे हैं।


वसुंधरा की तबियत बिगड़ी, अमित शाह व राजनाथ से मिलने का कार्यक्रम रद्द

19 June 2015
नई दिल्‍ली। ललित मोदीगेट मामले में घिरी राजस्‍थान की मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे का शुक्रवार को पंजाब के आनंदपुर साहिब में एक समारोह में शामिल होने का कार्यक्रम रद्द हो गया है। यहां उनकी मुलाकात भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह और गृहमंत्री राजनाथ सिंह से तय थी।
मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे आज सिखों के महत्‍वपूर्ण धार्मिक स्‍थल आनंदपुर साहिब के 350 वर्ष पूरे होने के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने वाली थीं। उन्‍हें यहां अमित शाह, राजनाथ और पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के साथ मंच साझा करना था। लेकिन बीमारी का हवाला देते हुए उन्‍होंने यहां जाने का कार्यक्रम रद्द कर दिया।
माना जा रहा है कि ललित मोदी के मामले में फंसी वसुंधरा राजे के जवाब से असंतुष्‍ट अमित शाह की सलाह पर उन्‍होंने इस कार्यक्रम में हिस्‍सा नहीं लेने का फैसला किया है। पार्टी मोदीगेट के मामले में बैकफुट पर है और वह यह नहीं चाहती है कि इस समय राजे का समर्थन करती नजर आए।
मोदी ने दावा किया है कि वसुंधरा ने ब्रिटेन आव्रजन के उनके दस्तावेजों का समर्थन किया था। जबकि वसुंधरा ने पार्टी अध्‍यक्ष को बताया कि पूर्व आईपीएल कमिश्‍नर के साथ उनके पारिवारिक संबंध अवश्‍य हैं, लेकिन उन्होंने कोई गलती नहीं की है।


आसाराम की पैरवी के लिए सुब्रमण्यम स्वामी पहुंचे जोधपुर

19 June 2015
जयपुर। नाबालिग से दुष्कर्म मामले में जोधापुर जेल में बंद आसाराम की जमानत याचिका पर पैरवी के लिए भाजपा के नेता और वरिष्ठ वकील सुब्रमण्यम स्वामी आखिरषुक्रवार को जोधपुर पहुंच गए।
कोर्ट के बाहर भारी संख्या में मौजूद आसाराम के समर्थकों ने स्वामी का जोरदार स्वागत किया। इस दौरान कोर्ट में प्रवेश को लेकर समर्थकों व पुलिस में झडप भी हुई।
सुनवाई पर जाने से पहले स्वामी ने मीडिया से कहा कि मामला पेचीदा है और बहस से पहले मैं कुछ नहीं कह सकता। मेरा काम कोशिश करना है।
गौरतलब है कि आसाराम की यह जमानत याचिका खुद स्वामी ने ही लगवाई थी, लेकिन इसकी सुनवाई की तीन तारीखों पर वे नहीं पहुंचे। आसाराम को स्वामी द्वारा सुनवाई किए जाने से बहुत उम्मीद है।
दो दिन पहले उन्होंने कहा भी था कि अब जाने के दिन आए है, हालांकि बहुत पूछने पर भी इस बात का खुलासा नहीं किया था।


नए अपराध-अपराधी होंगे चुनौती

19 June 2015
उदयपुर। लम्बे समय तक लेकसिटी की कानून व्यवस्था को हर मायनों में जानने-समझने वाले पुलिस अधीक्षक राजेन्द्रप्रसाद गोयल के लिए भू-माफिया पर अंकुश, नए पनपते अपराध, बढ़ते साइबर क्राइम चुनौती होंंगे। बांसवाड़ा से स्थानांतरित होकर यहां आए गोयल के लिए शहर खूब जाना-पहचाना है। यहां लम्बे समय तक वे एसीबी में तो एएसपी सिटी बनकर रहे। यहां के अपराधियों व अपराध के बारे में वे भलीभाति परिचित हैं। पत्रिका से बातचीत में गोयल ने बताया कि शहरी क्षेत्र के साथ ग्रामीण क्षेत्र में शराब तस्करी, दुर्घटनाओं की रोकथाम के साथ मौताणा-चढ़ोतरा जैसी सामाजिक कुरूतियों से भी उन्हे निपटना होगा। गुजरात-मध्यप्रदेश सीमा से सटे इस जिले में सर्वाधिक 48 थाने हैं। गोयल ने कहा कि अपराध के साथ यहां पर पर्यटकों की आवाजाही के मद्देनजर लपकागिरी व अन्य अपराधों के अंकुश पर भी ध्यान देना होगा।


व्यापारी ने बदमाशों को नगदी से भरा बैग नहीं दिया तो गोली मारी

18 June 2015
जयपुर। वैशालीनगर ए ब्लॉक में लूट के इरादे से आए मोटरसाइकिल सवार दो बदमाश एक व्यापारी पर फायरिंग करके भाग गए। गोली पीड़ित चन्द्र प्रकाश विजयवर्गीय के दाहिने हाथ पर लगी। इससे वह घायल हो गया। सूचना पर वैशालीनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़ित चन्द्रप्रकाश की रिपोर्ट पर इलाके में नाकाबंदी कराई लेकिन आरोपियों का कोई सुराग नहीं लगा।
पुलिस ने बताया कि ए ब्लॉक वैशालीनगर में रहने वाले चन्द्र प्रकाश की आम्रपाली सर्किल के निकट एफ ब्लॉक में विजय स्टोर के नाम से दुकान है। वह होलसेल का काम करता है।

मोटरसाइकिल पर आए दो बदमाश

चन्द्रप्रकाश के पास बैग था। जिसमें करीब 8 लाख रुपए थे। मंगलवार देर रात को दुकान बंद करके चन्द्रप्रकाश अपने घर का गेट खोलकर अंदर घुसा ही था कि पीछे से मोटरसाइकिल सवार दो बदमाश आए और चन्द्रप्रकाश से नगदी से भरा बैग मांगने लगे।

बैग नहीं दिया तो चला दी गोली

चन्द्रप्रकाश ने बैग देने से इंकार किया तो बदमाशों ने उस पर फायरिंग कर दी। इससे गोली चन्द्रप्रकाश के हाथ पर जा लगी। चन्द्रप्रकाश चिल्लाने लगा और आरोपियों का पीछा किया, लेकिन आरोपी भाग गए।

लोगों ने कराया अस्‍पताल में भर्ती

लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी और घायल चन्द्रप्रकाश को एसएमएस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।


योग करने जुटेंगे 70000 लोग

18 June 2015
जयपुर। अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस पर जयपुर जिले में करीब 70 हजार लोग योग शिविरों में हिस्सा लेंगे। राजधानी के एसएमएस स्टेडियम में आयोजित राज्य स्तरीय मुख्य समारोह में 25 हजार से अधिक लोग शामिल होंगे, जबकि जिले के पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायत मुख्यालय पर करीब 45 हजार के योग कार्यक्रम में हिस्सा लेने का अनुमान है। जिले में 21 जून को सुबह 6:30 से 7:40 बजे तक होने वाले कार्यक्रम के प्रति लोगों का उत्साह देखते हुए जिला प्रशासन ने तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। जिला कलक्टर कृष्ण कुणाल ने बुधवार को हुई बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी।
उन्होंने बताया कि योग दिवस पर जिले में आयोजित होने वाले सभी शिविरों में 33 मिनट तक योग कराया जाएगा। एसएमएस स्टेडियम के मुख्य मैदान के अलावा आरसीए व फुटबॉल ग्राउण्ड पर योग की व्यवस्था की गई है, जिसके लिए सभी जगहों पर कारपेट बिछाई जाएगी। इसके साथ ही कहा कि मुख्य मैदान पर चार, दोनों अन्य मैदानों पर दो-दो बड़ी साइज की एलईडी लगाई जाएगी। पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायत स्तरीय आयोजन के लिए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है। उन्होंने इस कार्यक्रम से आंगनबाड़ी कार्यक र्ताओ, पेरा-मेडिकल स्टाफ, पटवारी, ग्राम सेवक, उचित मूल्य दुकानदारों को जोड़ने के निर्देश भी दिए। बैठक में उन्होंने स्पष्ट किया कि योग कार्यक्रम में 12 वर्ष से कम आयु के बालक- बालिकाएं भाग नहीं ले सकेंगे।

दस दिवसीय कैम्प

योगाश्रय सेवायतन प्रन्यास की ओर से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर अजमेर रोड स्थित योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा केन्द्र पर 18 जून को सुबह 7 बजे से दस दिवसीय नि:शुल्क चक्रा मेडीटेशन और योग कैम्प का आयोजन किया जाएगा। साथ ही हीरा नगर स्थित नीलकंठ महादेव मंदिर में 21 जून सुबह 6 बजे से प्राणायम और योग शिविर आयोजित होगा। प्रन्यास की ट्रस्टी मीनाक्षी शर्मा ने बताया कि वाई.के.शर्मा चक्रों की क्रिया और ध्यान का अभ्यास करवाएंगे। योग बिमन नन्दी के मार्गदर्शन में होगा।

अल्पसंख्यकों के साथ बैठक

प्रदेश में 21 जून को होने वाले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रमों में प्रमुख अल्पसंख्यक समुदायको भी जोड़ने के लिए बुधवार को स्वास्थ्य भवन में चिकित्सा मंत्री राजेन्द्र राठौड़ की अध्यक्षता में बैठक हुई। विभाग का दावा है कि राज्य स्तरीय कार्यक्रम में एक हजार से अधिक अल्पसंख्यक समुदायों के सदस्य हिस्सा लेंगे। बैठक में सांसद रामचरण बोहरा, राज्य मदरसा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष हिदायत खां एवं केन्द्रीय अल्पसंख्यक आयोग के जयपुर समन्वयक राजेन्द्र गोधा सहित अल्पसंख्यक समुदायों के प्रतिनिधि व आयुर्वेद विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। अल्पसंख्यक प्रतिनिधि मुश्ताक ने योग कार्यक्रमों में मुस्लिम समुदाय से योग कार्यक्रमों में टोपी पहन आने की अपील की।

स्वास्थ्य भवन में आज योगाभ्यास

स्वास्थ्य भवन में गुरूवार सुबह 6 बजे योग शिविर लगेगा। निदेशक जनस्वास्थ्य बी.आर.मीणा ने बताया कि शिविर में सभी अधिकारी एवं कर्मचारी योग आसन एवं प्राणायाम करेंगे।
40 फीसदी कर्मचारियों को मधुमेह

स्वास्थ्य भवन में मधुमेह जांच शिविर आयोजित किया गया। अतिरिक्त निदेशक नीरज के. पवन ने बताया कि शिविर में 334 अधिकारियों एवं कर्मचारियों की जांच में से 40 प्रतिशत में मधुमेह की बीमारी पाई गई। इन सभी अधिकारियों को इसका उपचार कराने के साथ ही नियमित योग का भी परामर्श दिया गया है।


पंचायत सचिव को 23 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

18 June 2015
चित्तौड़गढ़। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने बुधवार को गंगरार तहसील के जोजरों का खेड़ा ग्राम पंचायत सचिव को 23 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। सचिव ने ये रिश्वत राशि एक प्रेरक को उसका मानदेय जारी करने की एवज में मांगी थी।
एसीबी के एडिशनल एसपी भूपेंद्रसिंह चुंडावत ने बताया कि सीअाई जयमलसिंह के नेतृत्व में टीम ने जोजरों का खेड़ा पहुंचकर सचिव नरेंद्र पाठक को रंगे हाथों पकड़ा। सचिव नरेंद्र पाठक के खिलाफ प्रेरक मुन्नी अहीर पत्‍नी नरेंद्र यादव ने शिकायत की थी।
शिकायत में बताया गया कि उसका लंबे समय से मानदेय बकाया चल रहा था। हाल ही राज्य सरकार ने प्रेरकों का मानदेय जारी किया था। ग्राम पंचायत सचिव मानदेय पास कराने की एवज में रिश्वत मांग रहा था।
शिकायत के सत्यापन के बाद टीम जोजरों का खेड़ा पहुंची। वहां नरेंद्र यादव ने सचिव नरेंद्र पाठक को रिश्वत राशि 23 हजार रुपए देते ही इशारा पाकर एसीबी टीम ने सीआई जयमलसिंह के नेतृत्व में सचिव को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से रिश्वत की राशि भी बरामद कर ली।


मैं जेल में भी करता हूं योग : आसाराम

17 June 2015
जयपुर। नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में जोधपुर जेल में बंद आसाराम ने कहा कि योग बहुत अच्छी चीज है। सभी का करना चाहिए, मैं तो जेल में भी योग करता हूं। आसाराम की जमानत याचिका पर पैरवी के लिए भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी मंगलवार को भी नहीं आए। यह चौथा मौका है, जब वे हाजिर नहीं हुए। अब उनके आने की आने की संभावना नहीं बताई जा रही है। आसाराम के स्थानीय वकील ही बुधवार को इस पर बहस करेंगे।
आसाराम की जमानत याचिका पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट [जोधपुर जिला] की अदालत में मंगलवार को सुनवाई होनी थी, लेकिन उनकी तरफ से पैरवी करने डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी जोधपुर नहीं पहुंचे। उनके वकील महेश बोडा ने कहा कि वे बुधवार को इस पर बहस करेंगे।
न्यायालय से बाहर निकलते समय आसाराम ने कहा कि उन्होंने भी विश्व योग दिवस के बारे में सुना है। योग करना सभी के लिए अच्छा है। इससे स्वास्थ्य अच्छा रहता है। मैं पहले भी योग करता था और अब भी जेल में रोजाना योग करता हूं। जो लोग इसकि खिलाफ है, उनका विरोध सतही है। अंदर से सभी योग के पक्ष में हैं।

23 अप्रैल को मिले थे स्वामी

सुब्रमण्यम स्वामी ने 23 अप्रैल को जेल में आसाराम से मुलाकात की थी। इसके बाद आसाराम के प्रति सद्भावना दिखाते हुए उन्होंने कहा था कि उन्हें फंसाया गया है और पूरा केस सिर्फ परिस्थितिजन्य साक्ष्यों पर निर्भर है। जमानत आसाराम का मूलभूत अधिकार है, वे निचली कोर्ट में जमानत अर्जी दायर करेंगे। लालू यादव, जयललिता जैसे नेताओं से आसाराम के केस की तुलना करते हुए उन्होंने कहा था कि जब ये नेता दोषी ठहराए जाने के बाद जेल से बाहर रह सकते हैं तो आसाराम जेल से बाहर क्यों नहीं आ सकते।


चिकित्सालय की विद्युत लाइन में सेंधमारी

17 June 2015
बारां। दवा व जांच समेत नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था शुरू होने के बाद आर्थिक तंगी से जूझ रहे जिला अस्पताल की विद्युत लाइन में सेंधमारी कर हर साल लाखों की चपत लगाई जा रही है। चिकित्सालय के कुछ कर्मचारियों को भी इसकी जानकारी है, लेकिन मरीजों से उपचार-पर्ची के नाम पर पांच-पांच रूपए एकत्र कर बिजली के बिल चुकाने का जुगाड़ कर रहे खुद अस्पताल प्रशासन को अरसे से इसकी भनक तक नहीं है।

ऎसे हो रही आपूर्ति

विद्युत वितरण निगम के विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि अस्पताल परिसर की चार दीवारी के बाहर मुख्य मार्ग पर अस्पताल भवन के लिए अलग से फीडर निकाला हुआ है। इस पूरे फीडर का वहां ट्रांसफार्मर पर ही मीटर लगाया हुआ है तथा इस मीटर से सुलभ कॉम्प्लेक्स के पीछे से होते हुए टीबी क्लिनीक तक खम्बे खड़ेकर अस्पताल के लिए लाइन लगाई हुई है। इस लाइन से टीबी क्लिनीक तक विभिन्न भवनों में विद्युत आपूर्ति की जा रही है। इसमें आंकड़े डालकर आस-पास की करीब आधा दर्जन स्थानों में सहजता से बिजली पहुंच रही है।

विद्युत निगम कर रहा दोहरी कमाई

वहीं कुछ दुकानदार व संस्थान को विद्युत निगम की ओर से भी अस्पताल की लाइन से ही कनेक्शन दिए हुए है। इससे विद्युत निगम एक ही कनेक्शन पर अलग-अलग कनेक्शन देकर दोनों उपभोक्ताओं से राशि वसूल कर रहा है। यहां करीब 15 करोड़ का मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य भवन बना रहे ठेकेदार व जीएसएस बना रहे ठेकेदार को भी इसी से बिजली दी गई है। लेकिन अस्पताल व विद्युत निगम के अधिकारी इसके बारे में अधिकृत तौर पर कुछ भी कहने से कतरा रहे हैं।

मार्च से बिल जमा नहीं

आरएपीडीआरपी के तहत विद्युत सुधार का कार्य जुलाई 2013 में शुरू होने से पहले अप्रेल 2013 में अस्पताल का विद्युत बिल मात्र एक लाख 76 हजार 655 रूपए का आया था। जुलाई 2013 में यह राशि बढ़कर दो लाख 99 हजार 259 पर पहुंच गई। अगस्त में दो लाख 56 हजार, सितम्बर में दो लाख 46 हजार के बिल आए है। अब मई 2015 में तीन लाख 26 हजार 845 व अप्रेल के दो लाख दो हजार 282 रूपए के बिल समेत वर्तमान में अप्रेल-मई के पांच लाख के बिल तो बकाया है। तंगी के चलते मार्च 2015 के बाद बिल ही जमा नहीं हुए है।
अस्पताल के मीटर से कोई लाइन नहीं ली जा रही है। अस्पताल में लाइन आने से पहले कोई आंकड़े डालकर बिजली ले रहा है तो वह विद्युत वितरण निगम की है। अस्पताल के बिल का भुगतान एमआरएस के बजट से किया जाता है। फिर भी मैंने मेटर्न को देखने के लिए कहा है। डॉ. केएल मीणा, पीएमओ, जिला चिकित्सालय

अस्पताल प्रशासन करें जांच

अस्पताल की लाइन से चोरी के मामले में अस्पताल वाले ही कार्रवाई करेंगे। फिर भी जेईएन को मौके पर भेजकर जांच कराकर उचित कार्रवाई की जाएगी। वहीं एईएन संतोष चौहान का कहना है आज ही यह मामला सामने आया है, अब बुधवार को जांच कराई जाएगी।

बहादुर सिंह अधीशासी अभियंता जविविएनएल

नाम की लैब, जांच झालावाड़ में

जिले में विद्युत मीटरों की जांच के लिए लैब स्वीकृत है, इसके लिए भवन भी बना हुआ है, लेकिन भवन में बैठने के लिए अधिकारी नहीं है। विद्युत मीटर सहायक अभियंता का पद स्वीकृत किया गया ना अब तक किसी की नियुक्ति की गई। जबकि सर्किल कार्यालय शुरू होने के साथ ही निगम की ओर से मीटर एईएन समेत अन्य अधिकारियों की नियुक्ति की जाती है। इससे जिले के विद्युत मीटरों को जांच के लिए झालावाड़ लैब में भेजा जा रहा है। जिले में करीब डेढ़ लाख विद्युत उपभोक्ता है। प्रतिमाह नए आवंटित होने वाले मीटरों के अलावा करीब पांच दर्जन मीटरों को प्रतिमाह शिकायत के आधार पर जांच के लिए भेजा जा रहा है। वहां से यहां ठीक होकर आने में कई बार खासा समय लग जाता है।

ऎसे हो रही परेशानी

जिले के विद्युत मीटरों को जांच के लिए झालावाड़ स्थित लैब भेजने व वहां जांच कराने की प्रक्रिया में काफी परेशानी हो रही है। एक-दो मीटरों को झालावाड़ भेजना संभव नहीं होने के कारण पहले खराब व जांच योग्य मीटरों को एकत्र करना पड़ रहा है। यहां से मीटर झालावाड़ भेजने के बाद कई दिनों तक उनकी जांच नहीं होती। जांच होने तथा मीटरों के वापस आने एवं उनकी तथ्यात्मक रिपोर्ट पहुंचने में समय लग रहा है। कई बार एक से तीन माह तक का समय बीत जाता है। इससे अधिकारी कर्मचारियों को भी परेशानी हो रही है।

यहां लैब शुरू करने के लिए भवन तो बनाया गया लेकिन मीटर टेस्टिंग का कार्य एईएन मीटर झालावाड़ के कार्य क्षेत्र में ही रखा गया है। इससे यहां नए आवंटित होने वाले व शिकायत वाले मीटरों को जांच के लिए झालावाड़ ही भेजना पड़ता है।

बहादुर सिंह, एक्सईएन, जविविनि

भवन में विजीलेंस

बाबजीनगर स्थित 33 केवी जीएसएस पर वर्ष 2013 में लैब भवन का निर्माण हो गया था। भवन बनने के बाद भी अधिकारी की नियुक्ति नहीं किए जाने से कुछ दिनों तक तो यह भवन खाली पड़ा रहा। बाद में एक्सईएन विजीलेंस के कार्यालय के लिए अस्çााई रूप से आवंटित कर दिया गया। अभी इस भवन में एईएन प्रोटक्शन व एक्सईएन विजीलेंस के ही कार्यालय चल रहे हैं।


राजस्थान के सभी प्राथमिक अस्पताल अब निजी कंपनियां चलाएंगी

17 June 2015
जयपुर। राजस्थान मंत्रिमंडल की मंगलवार को हुई बैठक में कई अहम फैसले किए गए। इनमें सबसे बड़ा फैसला राज्य के सभी प्राइमरी हैल्थ सेंटर्स को निजी क्षेत्र में सौंपे जाने का किया गया है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अध्यक्षता में हुई इस कैबिनेट की बैठक में सबसे ज्यादा समय राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर दिया गया।
बैठक के बाद संसदीय कार्यमंत्री राजेंद्र राठौड़ ने कैबिनेट में हुए फैसलों के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य में 2082 पीएससी यानी प्राइमरी हैल्थ सेंटर हैं। अभी इनकी स्थिति ज्यादा ठीक नहीं हैं। इनमें बड़ी संख्या में डॉक्टर्स और नर्सिंगकर्मियों के पद खाली हैं। ऐसी स्थिति में इनके मौजूदा हालात को ठीक करने के लिए इन्हें निजी क्षेत्र में सौंपे जाने का फैसला कैबिनेट ने किया है। निजी कंपनियों-संगठनों को यह काम पीपीपी मोड पर दिया जाएगा। इनमें सारा सारा स्टाफ निजी क्षेत्र का होगा। मौजूदा स्टाफ को अन्य खाली स्थानों पर लगाया जाएगा।
एक पीएससी पर सरकार के 30 लाख रुपए सालाना खर्च होते हैं। प्रारंभिक तौर पर 90 पीएससी से पीपीपी मोड पर काम शुरू किया जाएगा। इसके बाद सभी पीएससी को पीपीपी मोड पर दिया जाएगा। यहां मिल रही मौजूदा सुविधाएं जिनमें सभी निशुल्क सुविधाएं भी शामिल हैं, जारी रहेंगी। उन्हें बंद नहीं किया जाएगा।

वन रक्षक और प्रोबेशनर्स को सौगातें

कैबिनेट ने दो अन्य फैसलों में राज्य के प्रोबेशनर्स और वन रक्षकों को सौगातें दी हैं। राज्य के मौजूदा 1 लाख से ज्यादा प्रोबेशनर कर्मचारी-अधिकारियों के मानदेय को सरकार ने 10 फीसदी बढ़ाने का फैसला किया है। इसके अलावा वन रक्षकों की ग्रेड-पे 1900 से बढ़ाकर 2000 करने का फैसला किया है। इससे राज्य के 3967 वनरक्षकों को फायदा होगा। इस फैसले से सरकार पर 4.5 करोड़ रुपए सालाना का वित्तीय भार आएगा। विधानसभा सेवा के अतिरिक्त निजी सचिव से निजी सचिव की डीपीसी में अब तक 50 प्रतिशत मैरिट और 50 प्रतिशत सीनियॉरिटी मापदंड है। अब इसे बदलकर डीपीसी 2 फीसदी वरीयता के आधार पर किए जाने का भी कैबिनेट ने फैसला किया है।

आरटीडीसी की संपत्ति भी पीपीपी मोड पर

कैबिनेट ने आरटीडीसी की संपत्तियों को भी पीपीपी मोड पर देने का फैसला किया है। आरटीडीसी के पास होटल व मोटलों की 75 संपत्तियां हैं। इनमें 27 पहले से बंद हैं। जो 44 चल रही हैं, उनमें केवल 12 फायदे में हैं। इन फायदे वाली संपत्तियों को सरकार पीपीपी मोड पर नहीं देगी। बाकी में से कुछ को नीलाम करेगी। कुछ को लीज पर देगी। शेष को अपग्रेड कर संचालित किया जाएगा।


आसाराम बोले, दो दिन में सब ठीक हो जाएगा

16 June 2015
जयपुर। नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीडऩ के आरोप में डेढ़ साल से जोधपुर जेल में बंद कथावाचक आसाराम ने कहा कि दो दिन में सब कुछ ठीक हो जाएगा। बाद में इसका मतलब पूछे जाने पर वे थोड़ा सकापका गए और कहा कि तबीयत ठीक हो जाएगी दो दिन में।
उल्लेखनीय है कि दो दिन बाद ही आसाराम की जमानत याचिका पर सुनवाई होनी है। सोमवार को भी कोर्ट परिसर में आसाराम के समर्थकों का भारी जमावड़ा रहा। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में बनाए रखने के लिए हल्का बल प्रयोग कर सभी को वहां से खदेड़ा। हाई कोर्ट के आदेश पर आसाराम प्रकरण में प्रतिदिन सुनवाई हो रही है।

स्वामी का इंतजार

भाजपा के वरिष्ठ नेता डॉ. सुब्रह्मïण्यम स्वामी ने आसाराम से जेल में जाकर पिछले दिनों मुलाकात की थी। इसके बाद उन्होंने कहा था कि वे आसाराम की जमानत याचिका पर पैरवी करेंगे। उनकी तरफ से जोधपुर में आसाराम की तरफ से जमानत याचिका दायर की गई। लेकिन अपने वायदे के बावजूद डॉ. स्वामी इस याचिका पर तीन सुनवाई तिथि पर उपस्थित नहीं हो पाए।


ब्रॉडगेज पर दौड़ी पैसेंजर ट्रेन

16 June 2015
सीकर। ढाई वर्ष बंद सीकर व झुंझुनूं के रेलवे स्टेशन पर सोमवार को पूरी पेसेंजर ट्रेन को देखकर हर किसी के कदम रूक गए। हर कोई कौतुहल से ट्रेन को ही देखते नजर आया। सीकर व झुंझुनूं के आठ रेलव स्टेशन पर एक सितम्बर 2012 के बाद ब्रॉडगेज पर पहली बार ट्रेन सौ किलोमीटर की स्पीड से चली है।
यह ट्रेन लुहारू से सीकर सीआरएस निरीक्षण के लिए पहुंची है। ट्रेक पर तीन दिन सीआरएस ट्रायल चलेगा। टे्रन में 11 डिब्बे लगे हुए है। हालांकि सभी डिब्बे निरीक्षण यान के है, लेकिन डिब्बो में रेलवे इंजीनियरिंग व सिग्नल तथा निर्माण विभाग की टीमें सवार थी। हालांकि इससे पहले 27 मई को चलाई गई ट्रायल ट्रेन की गति भी सौ किलोमीटर प्रति घंटा ही रखी गई थी।

ट्रायल के बाद जल्द शुरू होगी ट्रेन

सीआरएस की ट्रायल ही सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है। जुलाई में नया टाइम टेबिल रेलवे की ओर से घोषित होता है। उससे पहले ट्रेन चलाने की अनुमति मिलने पर नई ट्रेन भी हमें मिल सकती है।

यह रहेगा कार्यक्रम

16 जून : सीकर स्टेशन से स्पेशल ट्रेन सुबह 7.55 बजे रवाना होकर दोपहर तीन बजे नुआं स्टेशन पहुंचेगी। इस दौरान सुबह आठ बजे सीआरएस चेतनबक्शी मोटर ट्राली से निरीक्षण करते हुए नुआं पहुंचेंगे। बाद में शाम साढ़े पांच बजे स्पेशल ट्रेन से रवाना होकर शाम सात बजे सीकर पहुंचेगे। पहले दिन करीब 52.73 किलोमीटर का निरीक्षण किया जाएगा। हालांकि इस दौरान सीआरएस रात्रि को मंडावा में ही ठहर सकते है।
17 जून : ब्रॉडगेज पर सीआरएस सीकर से सुबह छह बजे ट्रेन रवाना होकर साढ़े आठ बजे नुआं पहुंचेंगें। 8.55 पर टे्रन नुआं से चिड़ावा पहुंचेंगी। इस दौरान सीआरएस नौ बजे मोटर ट्राली पर रवाना होकर साढ़े पांच बजे चिड़ावा पहुंचेंगे। बाद में शाम छह बजे चिड़ावा से विशेष ट्रेन में रवाना होकर रात नौ बजे सीकर आएंगे। दूसरे दिन 40.68 किलोमीटर का निरीक्षण होगा।
18 जून : सुबह पांच बजे सीआरएस ट्रेन से रवाना होकर साढ़े आठ बजे चिड़ावा पहुंचेंगे। वहां से ट्रेन 8.55 पर रवाना होकर दोपहर डेढ़ बजे लुहारू पहुंच जाएगी। सीआरएस मोटर ट्राली से नौ बजे रवाना होकर डेढ़ बजे लुहारू पहुंचेंगे। बाद में शाम सात बजे सीकर के लिए विशेष ट्रेन के लिए रवाना होंगे। तीसरे दिन 28.61 किलोमीटर का निरीक्षण होगा। इसी दिन सीआरएस ट्रायल समाप्त हो जाएगी।

25 जून तक भेज देंगे रिपोर्ट

सीकर। सीआरएस चेतन बक्शी ने बताया कि ट्रैक के बारे में निरीक्षण से पहले कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। ट्रैक के निरीक्षण के बाद ही पूरी रिपोर्ट तैयार होती है। निरीक्षण में हर बात का ध्यान रखा जाता है। ट्रैक के निरीक्षण के पहले मोटर ट्राली से भी जांच की जाएगी। इसके बाद दूसरे स्थानों पर भी निरीक्षण का कार्यक्रम है। मुम्बई पहुंचने के बाद 25 जून तक रेलवे बोर्ड व उत्तर-पश्चिम रेलवे के जीएम को रिपोर्ट भेज दी जाएगी। रिपोर्ट के आधार पर ही स्पीड की मंजूरी दी जाएगी।
चेतन बक्शी सोमवार रात नौ बजे रेलवे के गेस्ट हाउस में पहुंचे। सीआरएस निरीक्षण के दौरान मंगलवार को जयपुर मंडल रेल प्रबंधक अंजली गोयल भी आएंगी। रेलवे स्टेशन पर सुबह आठ बजे सीआरएस ट्रायल से पहले पटरियों की पूजा की जाएगी। इसके बाद सीआरएस की टीम के 30 कर्मचारी छह मोटर ट्रालियों में रवाना होंगे। मोटर ट्राली दो दिन पहले ही बीकानेर डिविजन व रेवाड़ी से बुलाई गई है।


पहली बारिश में ही मेन रोड पर हो गया 10 फीट गहरा गड्‌ढा, दहशत फैली

16 June 2015
जयपुर। राजस्थान की राजधानी में एक दिन की बारिश के साथ ही यहां मेन रोड पर करीब 10 फीट से ज्यादा गहरा गड्ढा हो गया। सड़क धंसने से यहां आसपास के क्षेत्र में दहशत फैल गई। अचानक सड़क धंसने से हुए गड्ढे कि मिट्‌टी कहां चली गई, पता ही नहीं चला। गड्‌ढा इतना बड़ा हुआ कि यदि इस दौरान कोई वाहन इधर से गुजरता तो उसमें ही समा जाता।
ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने तुरत-फुरत रास्ता रोककर लोगों को इस क्षेत्र में जाने से रोका है। जयपुर में रविवार को तेज बारिश हुई थी। इसी बारिश के बाद देर रात मानसरोवर स्थित द्वारकादास पार्क के पास सड़क के बीच एकाएक मेन रोड का एक बड़ा हिस्सा धंस गया। इसके पास ही करीब डेढ़ सौ फीट दूरी पर अमानीशाह नाला जा रहा है।

हाउसिंग बोर्ड के 1000 फ्लैट्स वाले अपार्टमेंट को भी खतरा

जिस जगह से यह जमीन धंसी है, उसके पास ही बने रामकृष्ण अपार्टमेंट की नींव भी इसके बिल्कुल नजदीक है। इससे अपार्टमेंट में रहने वालों में दहशत फैल गई है। जानकारों का कहना है कि यदि यह धंसी जमीन का गड्‌ढा बढ़ गया तो अपार्टमेंट की नींव हिल सकती है। इससे यहां बने करीब 1000 फ्लैट्स में रहने वालों के लिए दिक्कत हो सकती है।

मिट्टी कहां गई, पता ही नहीं, अपार्टमेंट के नीचे हो सकता है पोल

नगर निगम के कर्मचारी भी जमीन धंसने के बाद मौके पर पहुंचे। कर्मचारियों का कहना है कि जमीन में बालू मिट्टी है, जिसमें खासे होल हाे सकते हैं। ऐसे में जमीन धंसने के बाद अंदर ही अंदर धंसती हुई नाले की ओर चली गई लगती है।
यह रास्ता अपार्टमेंट के नीचे से भी हो सकता है। इसलिए इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि राजस्थान हाउसिंग बोर्ड के अपार्टमेंट के नीचे जमीन धंसने से बड़े पोल हो गए हों। इसके कारण अपार्टमेंट के अस्तित्व पर संकट आ सकता है।


भारत के नए रुख से कई भयभीत: रक्षा मंत्री

15 June 2015
जयपुर। केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर कहा कि भारत के नए रुख से कई लोग भयभीत हो गए और प्रतिक्रिया देने लगे जबकि, इसकी जरूरत नहीं थी। वे सिर्फ इतना बताना चाह रहे थे कि अब मानसिक सोच बदल रही है। पर्रीकर आज जयपुर में फेन्स की ओर से सीमा सुरक्षा चुनौतियां एवं समाधान पर आयोजित राष्टï्रीय संगोष्ठी का उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि देश में सेना और जनता के बीच संघर्ष वाले मुद्दों को हल किया जाएगा। रक्षा मंत्री ने कहा कि पहले सेना का कमांडर किसी कलेक्टर को पत्र लिख देता था कि उसको महत्वपूर्ण माना जाता था, लेकिन आज बहुत से लोग इसको तवज्जो नहीं देते। इसकी वजह यह है कि हमने पिछले चालीस साल से कोई युद्ध नहीं लड़ा। मैंने कई मुख्यमंत्रियों को भी लिखा है कि वे सेना के मामलों को गंभीरता से लें और सुलझाने में पूरी मदद करें। पर्रीकर ने कहा कि जो राष्ट्र अपनी सीमाओं की हिफाजत नहीं कर सकता वह राष्ट्र तरक्की भी नहीं कर सकता है।
उन्होंने आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार देश की सीमाओं की सुरक्षा और वहां तैनात सैनिकों की पूरी हिफाजत करेगी। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा के बारे में जीरो टालरेन्स होना महत्वपूर्ण है।
उन्होंने कहा कि देश की सीमाओं की रक्षा करना बड़ा कठिन काम है। हमारे सैनिक विषम परिस्थितियों में सीमाओं पर काम करते हैं। उन्होंने सीमा पार के खतरों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि बाहरी एवं आन्तरिक असुरक्षा दोनों ही समस्या वाली हो सकती है। हमें इन सब खतरों से सावधान रहते हुए देश को विकास के पथ पर आगे ले जाना है।

राज्यवद्र्धन सिंह का मुशर्रफ पर प्रहार

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवद्र्धन सिंह राठौड़ ने पाक के पूर्व राष्टï्रपति, पाकिस्तान और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। राठौड़ ने कहा कि पाकिस्तान के पूर्व राष्टï्रपति परवेज मुशर्रफ, जो अपने देश में तो घुस नहीं सकते, भारत में घुसने की बात करते हैं।
राठौड़ ने कांग्रेस पर भी हमला बोला और कहा कि भारत ने उग्रवादियों के खिलाफ कार्रवाई की, लेकिन दुर्भाग्य है कि इसमें देश बंटा हुआ नजर आया।
उन्होंने कहा कि म्यांमार की कार्रवाई देश की सोच में आए बदलाव को बताता है। सेना हमेशा तैयार रहती है, कुछ करने के लिए। लेकिन, कोई भी कार्रवाई करने के लिए राजनीतिक इच्छा शक्ति की आवश्यकता होती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह कर दिखाया है। हम आतंकवाद को बर्दाश्त करेंगे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने छद्म वेश में होने वाले हमलों, गौवंश की तस्करी, बाग्ंलादेश से होने वाली घुसपैठ पर चिंता व्यक्त की और रक्षा मंत्री से इस दिशा में ठोस कदम उठाने का आग्रह किया। फोरम् फोर अवेयरनेस ऑफ नेशनल सिक्योरिटी के संरक्षक एवं मार्गदर्शक इंद्रेश कुमार भी इस मौके पर मौजूद थे।


प्रदेश के मंत्री जख्मों पर छिड़क रहे नमक

15 June 2015
उदयपुर। टोंक में करंट से हुई 17 लोगों की मौत पर राज्य सरकार के मंत्री परिजनों को हिम्मत देने के बजाय जख्मों पर नमक छिड़कने का काम रहे हैं। ऊर्जा राज्य मंत्री पिछली सरकार पर ठीकरा फोड़कर राजनीति कर रहे हैं। ऎसे समय पर व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने पर काम करना चाहिए, न कि दुर्भाग्यपूर्ण बयान देना। उदयपुर यात्रा पर आए कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष पायलट ने रविवार रात को यहां सर्किट हाउस में राजस्थान पत्रिका से बातचीत की।
उन्होंने कहा कि सरकार को टोंक हादसे में बचे लोगों की मदद कर मृतक के परिजनों को सरकारी नौकरी देनी चाहिए। मैंने प्रभावित क्षेत्र का शनिवार को दौरा किया तो सामने आया कि एक साल पहले वहां के लोगों ने खुले पड़े तारों की कहानी प्रशासन को बताई थी। लेकिन तंत्र की लापरवाही का खमियाजा इस खौफनाक घटना के रूप में सामने आया। उन्होंने घटना की न्यायिक जांच कराने की मांग कर कहा कि बिजली लाइनों की रख-रखाव के लिए जो करोड़ों रूपए खर्च किए जाते हैं, उसकी ऑडिट होनी चाहिए।

जनता की अर्जी, कचरे के डिब्बे में

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सरकार आपके द्वार के तहत एक साल पहले उदयपुर संभाग का दौरा किया। करीब 90 हजार अर्जियां जनता की आई, लेकिन सब कचरे के डिब्बे में चली गई। उनका क्या निराकरण हुआ? इसका कोई जवाब नहीं मिला। बीकानेर व भरतपुर संभाग के लोगों को भी राहत नहीं मिली। सरकार कहती है कि जनता का दर्द बांटा है, तो इस पहल को क्यों बंद कर दिया?

15 लाख को नौकरी का थोथा वादा

स्वराज संकल्प यात्रा और घोषणा पत्र में भाजपा ने राजस्थान से जो वादे किए, सरकार उस पर खरा नहीं उतरी। मैं पूछना चाहता हूं कि 15 लाख नौकरियां देने की बात की, लेकिन अब तक उसका हुआ क्या।

सवा सौ रूपए किलो बिक रही दाल

वेट-सर्विस टैक्स बढ़ा दिया। पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेडर के दाम और बसों का किराया बढ़ा दिया। दाल सवा सौ रूपए किलो बिक रही है। सरकार ने महंगाई पर कोई नियंत्रण नहीं किया। राज्य में किसानों को कोई राहत नहीं मिली है। दस लाख किसानों को अतिवृष्टि का मुआवजा नहीं मिला और मंत्री बोल रहे हैं कि पैसा नहीं है।

मुद्दे स्थानीय ही होंगे

अगस्त में होने वाले निकाय चुनाव पर पायलट ने कहा कि हमने तैयारियां शुरू कर दी हैं। उदयपुर संभाग का दौरा इसीलिए कर रहे हैं। फील्ड में पार्टी के लिए खून-पसीना बहाने वाले कार्यकर्ताओं से मिलेंगे। उनकी सलाह को प्रमुखता देंगे। निकाय चुनाव स्थानीय मुद्दों पर होगा।


दराजस्‍थान के कई हिस्‍सों में मेघ मल्‍हार, शाम तक चल सकती हैं तेज हवाएं

15 June 2015
जयपुर। राजस्‍थान के कुछ इलाकों में सोमवार को भी मेघ बरसे। रविवार को जयपुर सहित कई जगहों पर बारिश हुई थी। नागौर, डीडवाना सहित कई हिस्‍सों में सोमवार सुबह बारिश हुई। जयपुर में रविवार को तापमान 37.7 दर्ज किया गया। वहीं अजमेर में 37.9, कोटा 37.5 और जोधपुर में 39.3 डिग्री सेल्यिस दर्ज किया गया।
जयपुर में सोमवार को तापमान 36 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। शाम तक तेज हवाओं के साथ बूंदाबांदी हो सकती है।

निगम के दावों की खुली पोल

जयपुर में रविवार को बीस मिनट आई बारिश ने नगर निगम के मानसून पूर्व के इंतजामों की हकीकत सामने ला दी। निगम प्रशासन ने शहर के 900 छोटे बड़े नालों की सफाई शुरू करवाई है, लेकिन अभी तक सिर्फ 215 नाले ही साफ हो सके जबकि निगम ने मानसून पूर्व नालों की सफाई का दावा किया था।
निगम के विद्याधर नगर जोन, मोतीडूंगरी जोन हवामहल जोन पूर्व और पश्चिम में कई नाले खोले तक नहीं गए। कई जगह नाले साफ कर, मलबा सड़क पर ही छोड़ दिया गया। त्रिपोलिया बाजार में पुराने पुलिस हैडक्वार्टर के सामने वाली साइड में तीन दिन पहले नालों से मलबा निकाला गया, लेकिन उठाया नहीं गया। अगर निगम अभी भी तेजी से नालों की सफाई कराए और कचरा सड़क पर नहीं छोड़े तो बारिश में नालों के उफान और सड़कों पर जगह-जगह पानी भरने की समस्या से निजात मिल सकती है।


बस पर तार गिरा, जिंदा जले 25 बराती

13 June 2015
जयपुर। राजस्थान के टोंक जिले में बरात लेकर जा रही बस पर बिजली की हाई टेंशन लाइन का तार टूटकर गिरने से आठ बच्चों समेत 25 लोग जिंदा जल गए। हादसे में झुलसे 29 बरातियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें से 12 गंभीर हैं जिन्हें जयपुर के अस्पताल में रेफर किया गया। मृतकों की संख्या और बढ़ने की आशंका है। प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये आर्थिक मदद देने की घोषणा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दुर्घटना पर शोक व्यक्त किया। दिल्ली दौरे पर गई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया, कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी और बिजली मंत्री पुष्पेंद्र सिंह को मौके पर भेजा। बाछेड़ा गांव निवासी जयराम के बेटे रामचरण की शुक्रवार को शादी थी। पूरा परिवार बरात लेकर मोरला गांव जा रहा था, जहां पूर्व सरपंच रामधन की बेटी से रामचरण का विवाह होना था। बरात गांव पहुंचती उससे पहले ही रास्ते में सांस गांव में बिजली का तार टूटकर बस की छत पर गिर गया। इसके बाद बस में करंट दौड़ गया। मौके पर पहुंचे आसपास के गांव के लोगों ने लकड़ियों के सहारे तार को हटाया। इसके बाद एक-एक कर शवों को बाहर निकाला। गांव वालों का कहना है कि यह बिजली का तार काफी समय से ढीला था। इसे ठीक करने के लिए कई बार लाइनमैन को कहा जाता रहा, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। नतीजतन यह बड़ा हादसा हो गया। यदि तारों को ठीक कर दिया जाता तो इतने लोग नहीं मरते। राजस्थान में यह इस तरह का अब तक का सबसे बड़ा हादसा बताया जा रहा है।


तबादलों पर तकरार

13 June 2015
अजमेर। तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादला अधिकार को लेकर पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री सुरेन्द्र गोयल और शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी में तकरार हो गई है। गोयल ने पंचायतीराज विभाग को प्रारंभिक शिक्षा विभाग का नियंत्रक बताते हुए कहा कि तबादले उनकी मंजूरी से किए जाएंगे। वहीं देवनानी ने कहा कि तबादले शिक्षा विभाग ही करेगा। पंचायतीराज विभाग की समीक्षा बैठक लेने शुक्रवार को अजमेर आए मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जहां तक उनकी जानकारी में हैं, तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादला अधिकार की पत्रावली स्वीकृति के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के पास गई है। तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादला सूची शिक्षा विभाग तैयार करेगा, लेकिन पंचायतीराज विभाग प्रारंभिक शिक्षा विभाग का नियंत्रक विभाग होने के कारण तबादला सूची उनकी मंजूरी से जारी होगी। गोयल के बयान पर देवनानी ने कहा कि प्रारंभिक शिक्षा विभाग में केवल 82 हजार शिक्षक और कर्मचारी पंचायतीराज के हैं। जबकि करीब एक लाख 80 हजार से ज्यादा शिक्षक और कर्मचारी शिक्षा विभाग के हैं। इसलिए तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादले शिक्षा विभाग ही करेगा। विभाग ही सूची तैयार करेगा और विभाग की ही मंजूरी से सूची जारी होगी। हालाकि देवनानी ने बाद में बात संभालने के लिए यह भी कहा कि तबादलों में गोयल उनकी सलाह मानेंगे और वे गोयल की सलाह मानेंगे।


दलित दूल्हे की बारात में लड़कियों का अश्लील डांस, हंगामा

13 June 2015
जयपुर। भरतपुर के मूडिया गांव में दलित दूल्हे की बारात को लेकर जमकर हंगामा हुआ। डीजे और दो महिलाओं के अश्लील डांस को लेकर बारात को रोक दिया गया। रात भर हंगामा हुआ, पुलिस पहुंची फिर सुबह फैसला हुआ कि भविष्य में अब गांव में किसी भी समाज की काेई निकासी ही नहीं निकलेगी।
हुआ यह कि गांव के बाहर से एक दलित दूल्हे की बारात यहां पहुंची। रात में गांव में डीजे पर गानों के शोर के साथ बारात निकल रही थी। बाराती डीजे के साथ दो लड़कियों को भी डांस के लिए लेकर आए थे। आपत्ति यहीं से शुरू हुई।
डीजे के शोर के बीच दोनों लड़कियों के अश्लील डांस पर गांव वालों ने आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि बारात निकालो, बैंड बजाओ कोई दिक्कत नहीं, लेकिन ये डीजे पर अश्लील डांस नहीं चलेगा। इसे लेकर बाराती नाराज हो गए और आपस में हाथापाई की नौबत आ गई और बारात रोक दी गई।

एसपी समेत पहुंचा पुलिस जाब्ता और दोनों पक्षों को किया तितर-बितर

रात में डीजे और अश्लील डांस को लेकर हुए हंगामे के बीच भरतपुर एसपी राहुल प्रकाश समेत पुलिस जाब्ता मौके पर पहुंचा। गांव वालों ने कहा कि रात में तेज डीजे पर ऐसा डांस वे बर्दाश्त नहीं करेंगे। इस पर बारातियों ने विरोध किया।
रात 10 बजे तो पुलिस ने कानून का सहारा लेते हुए डीजे को बंद करा दिया। एसपी के समझाने के बावजूद कोई नहीं माना तो पुलिस ने दोनों पक्षों को तितर-बितर कर दिया।

बिना बारात ही सुबह कराए गए फेरे

रात भर चले हंगामे के बीच न तो बारात निकाली जा सकी और न ही फेरे हाे सके। अंतत: शुक्रवार सुबह बिना बारात के ही दुल्हन के घर पहुंच सीधे ही फेरे कराए गए।

पंचों का फैसला, अब नहीं निकलेगी गांव में कभी निकासी

हंगामे और विवाद के बाद मूडिया गांव में पंचायत बैठी। पंचायत ने सभी पक्षों को सुना। सभी समाजों के लोगों को बुलाया गया। फैसला किया गया कि जब भी गांव में कोई शादी होगी, ऐसी स्थिति से बचने के लिए कोई बारात ही नहीं निकाली जाएगी। बाहर से आने वाले बाराती सीधे दुल्हन के घर यानी जहां फेरे होने होंगे, वहां जाएंगे और पाणिग्रहण संस्कार संपन्न कराया जाएगा। निकासी नहीं होगी।


मैट्रो चलाने के लिए हटा दिए जयपुर के प्राचीन मंदिर

12 June 2015
जयपुर। मैट्रो ट्रेन संचालन में बाधक बने जयपुर के दो प्राचीन मंदिरों को गुरुवार सुबह 4 बजे क्रेन एवं अतिक्रमण हटाने में काम ली जाने वाली अन्य मशीनरी के माध्यम से हटाया गया। इन मंदिरों की स्थापना जयपुर शहर बसाए जाने के साथ ही हुई थी। जिला प्रशासन और जयपुर मैट्रो ने गुरुवार को छोटी चौपड़ दो मंदिरों को हटाया। प्रशासन ने सुबह कार्रवाई कर प्राचीन रोजगारेश्वर महादेव मंदिर और कष्टï हरण महादेव मंदिर को हटाकर आतिश मार्केट में शिफ्ट किया। तीन बड़ी क्रेन और भारी अमले के साथ लगभग चार घंटे में प्रशासन ने मंदिरों को जगह से हटा दिया। प्रशासन ने मंदिरों को हटाने की कार्रवाई चाक चौबंद सुरक्षा के बीच की। धार्मिक संगठन एवं आम लोग प्राचीन मंदिरों को हटाए जाने का काफी समय से विरोध कर रहे थे, इसी कारण प्रशासन ने गुरुवार सुबह 4 बजे कार्रवाई की योजना बनाई, लेकिन फिर भी लोग विरोध करने पहुंच गए और मंदिर हटाने में अधिकारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। हालांकि विरोध की संभावना को देखते हुए भारी पुलिस बल गत रात्रि से ही तैनात कर दिया गया था। इसके बाद छोटी चौपड़ के 6 मंदिरों को आतिश मार्केट पार्किंग में शिफ्ट करने के लिए मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव शुरू हुआ। पहले दिन हवन-पूजन से शुरूआत हुई। शुक्रवार को मंदिरों की प्राण प्रतिष्ठा कर दी जाएगी। बड़ी चौपड़ के 7 मंदिरों को हटाने की कार्रवाई करने अमला यूँ तो सुबह चार बजे ही पहुंच गया था लेकिन भारी भीड़ और बारिश के कारण प्रशासन को मंदिर हटाने की कार्रवाई निरस्त करनी पड़ी। बाद में प्रशासन ने दोबारा काम शुरू किया। इससे पहले भी मैट्रो संचालन के बाधक बने चार मंदिरों को हटाया जा चुका है। जयपुर मैट्रो के एमडी एन.सी. गोयल का कहना है कि शहर में दूसरे चरण के मैट्रो संचालन के लिए यह कार्रवाई की गई।


जिले की विकास योजनाओं पर मंथन

12 June 2015
बारां। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की मौजूदगी में बुधवार रात जयपुर में सम्पन्न बैठक में बारां जिले की विकास योजनाओ को लेकर देर तक मंथन का दौर चला। मुख्यमंत्री ने महकमों के आला अधिकारियों से विभागवार योजनाओं की प्रगति जानी एवं लम्बित परियोजनाओं के कार्य शुरू करने, योजनाओं को पूरा करने पर चर्चा की। बैठक में जिले के जनप्रतिनिधियों के अलावा जिला कलक्टर भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने बारां शहर की बाढ़ रूपी सबसे बड़ी समस्या का गंभीरता से लेते हुए मानसून से पहले यथासंभव काम पूरा कराने की हिदायत दी। बैठक में सांसद दुष्यन्त सिंह, अन्ता के विधायक एवं कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, विधायक प्रताप सिंह सिंघवी, रामपाल मेघवाल, ललित मीणा, जिला प्रमुख नन्दलाल सुमन, जिला कलक्टर ललित कुमार गुप्ता, भाजपा जिलाध्यक्ष नरेश सिकरवार आदि भी मौजूद थे। विधायकों ने उठाए मुद्दे छबड़ा विधायक प्रताप सिंह सिंघवी ने ल्हासी परियोजना के विस्थापितो को आवासीय पट्टे देने एवं छबड़ा थर्मल व अदानी पावर प्लांट में स्थानीय लोगों को ज्यादा रोजगार देने की मांग उठाई। बारां-अटरू के विधायक रामपाल मेघवाल ने बारां शहर में बाढ़ राहत योजना के काम में तेजी लाने की बात रखी। परवन वृहद् सिंचाई परियोजना को लेकर भी चर्चा हुई। उन्होंने काम शुरू करने की तैयारी की बात कही। मेघवाल के अनुसार मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि बाढ़ योजना के मामले में उन्हें रिजल्ट चाहिए, ताकि बारिश में लोगों को परेशानी नहीं आए। जीएसएस के काम शुरू होंगे किशनगंज विधायक मीणा के अनुसार किशनगंज, मामोनी व कस्बाथाना में जीएसएस का मामला उठाने पर ऊर्जा विभाग के शासन सचिव ने दोनों 132 केवी जीएसएस व कस्बाथाना 33 केवी जीएसएस का काम जल्द शुरू कराने को आश्वस्त किया।


एक घंटे की मूसलधार ने करवाया बाढ़ का अहसास, नदी बनीं सड़कें

12 June 2015
जोधपुर. शहर में गुरुवार दोपहर एकाएक हुई मूसलधार बारिश ने लोगों को संभलने का मौका भी नहीं दिया। बारिश इतनी तेजी थी कि जो जहां था, वहीं अटक गया। 1 घंटे तक हुई बारिश में सड़कें, हॉस्पिटल, दुकानें, ऑफिस, मंडी, एयरपोर्ट से लेकर पटरियां तक पानी भर गया। जालोरी गेट के अंदर अरोड़ा कॉलेज के पीछे पोल में करंट से इंद्रा चौक निवासी राकेश सोलंकी की मौत हो गई। रात 11:30 तक 22.5 मिमी बारिश हुई।

बिलाड़ा में सर्वाधिक बारिश

जोधपुर जिले के बिलाड़ा में 60, फलौदी में 5 एमएम बारिश। यही नहीं जयपुर, उदयपुर, अजमेर, पीपाड़, बाप, मथानिया, ओसियां आदि जगहों पर भी बारिश हुई।
> जो जहां था वहीं थम गया, पानी सड़कों, घरों, हॉस्पिटल तक पहुंचा।
> भीतरी शहर में कई वाहन बहे, शादी-पार्टी की व्यवस्थाएं बिगड़ीं।
> सिग्नल प्रणाली खराब, कई ट्रेनें लेट चलीं, कई आते हुए अटकीं।
> फ्लाइट नहीं कर पाई लैंड, कई क्षेत्रों में देर रात तक बिजली गुल।

जयपुर-अजमेर भी भीगे

चूरू के सुजानगढ़ में 22, अजमेर में 7.9 मिमी पानी बरसा। जयपुर, ब्यावर, बीकानेर, नागौर, शेखावाटी में भी बारिश हुई।

विवाह में विघ्न

अधिकांश मैरिज प्लेस शादी-ब्याह के लिए बुक थे। अचानक बारिश के कारण सारी व्यवस्थाएं तार-तार हो गईं। कई परिवारों ने बगीचियों व न्याति नोहरों में शादी का डिनर एडजस्ट किया।

सिग्नल खराब, ट्रेनें अटकीं

राइकाबाग से जोधपुर कैंट तक सिग्नल प्रणाली खराब होने से भगत की कोठी-मन्नारगुड़ी, संपर्क क्रांति, जोधपुर-जयपुर इंटरसिटी, मंडोर एक्सप्रेस, हावड़ा एक्सप्रेस, जम्मू-तवी लेट चलीं। 10 मालगाड़ियां और कालका एक्सप्रेस, मरुधर व पैसेंजर ट्रेन शहर के बाहर रुकी रहीं। आरपीएफ कंट्रोल रूम ठप हुआ।

सड़कें लबालब

भीतरी शहर सहित पावटा, शास्त्रीनगर, रातानाडा, राईका बाग, डीआरएम आॅफिस के बाहर, सिवांची गेट में सड़कों पर एक से तीन फीट तक पानी बहा।

बिजली गुल

बारिश शुरू होते ही अधिकांश शहर में बिजली गुल हुई। ब्रह्मपुरी, शास्त्री नगर जी सेक्टर, जूनी मंडी, सांगरिया, त्रिपाेलिया बाजार, मारवाड़ अपार्टमेंट, शोभावतों की ढाणी, शिकारगढ़, डिगाड़ी, कालीबेरी में देर रात तक बंद रही।

फ्लाइट लेट

दिल्ली से आई एअर इंडिया की फ्लाइट को अहमदाबाद डायवर्ट किया गया। बाद में शाम छह बजे ये फ्लाइट जोधपुर पहुंची।


अमिताभ, माधुरी और प्रीति के खिलाफ जोधपुर में मुकदमा

11 June 2015
जयपुर। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन, फिल्म अभिनेत्री माधुरी दीक्षित और प्रीति जिंटा के खिलाफ जोधपुर की अदालत में परिवाद पेश हुआ है। केन्द्रीय खाद्य सुरक्षा नियामक की ओर से मैगी नूडल्स के सभी उत्पादों को स्वास्थ्य के लिए घातक बताने के बाद देश भर में बवाल मचा है। जोधपुर के मसूरिया निवासी महेन्द्र प्रजापत की ओर से अधिवक्ता उमेश कल्ला ने अतिरिक्त मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट संख्या-2 तनसिंह चारण की अदालत में परिवाद पेश कर कहा कि अमिताभ बच्चन, माधुरी दीक्षित और प्रीति जिंटा के मैगी का विज्ञापन करने और इसकी गुणवत्ता और उपयोगिता को शानदार बताने से उत्प्रेरित होकर परिवादी और उसके परिवार ने मैगी का उपयोग करना शुरू किया। इसके बाद कुछ समय से उनके और उनके बच्चे के खुजली, जोड़ों का दर्द और पेट दर्द आदि रोगों की शिकायत हो रही है। गत दस दिनों से मीडिया से मैगी में घातक रसायन मिलने और चिकित्सकों द्वारा इस खाने की मनाही किए जाने की जानकारी मिली, जिससे वह भारी तनाव में है और खुद को ठगा सा महसूस कर रहा है। उन्होंने तर्क दिया कि अप्रार्थी फिल्म स्टार ने ऐसे उत्पाद का विज्ञापन किया, जो मानवता जीवन के लिए संकट पैदा करने वाला है। इन्होंने लाखों लोगों के स्वास्थ्य के साथ धोखाधड़ी की है। केन्द्रीय खाद्य सुरक्षा नियामक ने भी मैगी में अधिक मात्रा में सीसा और मोनो सोडियम ग्लूटामेट पाए जाने की पुष्टिï की है, जो स्वास्थ्य के लिए घातक है। परिवाद में नेस्ले इण्डिया कम्पनी के प्रबंध निदेशक मोहन गुप्ता, संयुक्त निदेशक शादाब आलम और स्थानीय डिस्ट्रीब्यूटर को भी प्रतिवादी बनाया गया है। परिवाद पर गुरुवार को अदालत में प्रारम्भिक सुनवाई होगी।


बैंक खातों से उड़ाए 82 हजार

11 June 2015
अजमेर।फोन कॉल कर बेधकड़ बैंक खाता, एटीएम नम्बर और उसका पिन नम्बर जानने के बाद बैंक खातों से लाखों की रकम उड़ाने की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही।
बीते दो दिन में क्रिश्चियन गंज थाना क्षेत्र में शातिर ठग गिरोह ने एक व्यवसायी और एक युवती को चपत लगा दी। शातिर ठग दोनों के बैंक खाते से लाखों रूपए निकालने में कामयाब रहा। पुलिस ने आईटी एक्ट व धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। मामले में अनुसंधान महिला थानाप्रभारी रामेश्वर प्रसाद कर रहे हैं।

"खाते मे आ जाएंगे वापस"

करमचंदानी ने पुलिस को बताया कि बैंक प्रबंधन ने उसके साथ हुई धोखाधड़ी की जानकारी दी। उसे दुबारा उसी नम्बर से कॉल आया। फोन करने वाले ने उससे फिर ओटीपी नम्बर और पिन नम्बर पूछते हुए उसके बैंक खाते में वापस रकम आने का आश्वासन दिया। जब करमचंदानी ने दुबारा उस नम्बर पर सम्पर्क किया तो फोन बंद मिला।

केस : 1

वैशाली नगर बधिर विद्यालय के पीछे सेक्टर तीन में रहने वाली अपूर्वा टकसाली ने क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि गत 6 जून को उसके बीओबी खाते से रात 10 बजकर 10 मिनट पर 10 हजार 41 रूपए निकाल लिए गए। फिर दो मिनट बाद फिर से 10 हजार 41 रूपए की निकासी बैंक खाते से हो गई। तीसरी बार में रात 10 बजकर 21 मिनट पर उसके खाते से 497 रूपए की ऑन लाइन खरीदारी की गई। जबकि उसका एटीएम कार्ड उसके पास ही मौजूद था।
न उसे कॉल आया न ही एसएमएस पर किसी को भी जानकारी दी या ली गई। उसने किसी को भी खाता संख्या या पिन नम्बर नहीं बताए। इसके बावजूद उसके बैंक खाते से 20 हजार 577 रूपए की ऑन लाइन खरीदारी की गई। अपूर्वा ने ठगी की वारदात की जानकारी वैशालीनगर स्थित बैंक शाखा प्रबंधक को भी दी। पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी है।

केस : 2

माकड़वाली रोड जी-ब्लॉक 84 निवासी कमलेश करमचंदानी पुत्र मूलचंद करमचंदानी ने क्रिश्चियन गंज थाना पुलिस को शिकायत दी कि उसे गत 29 मई को दोपहर 12.30 बजे फोन कॉल आया। फोन करने वाले ने खुद को आईसीआईसीआई बैंक से बोलना बताया।
उसने केवाईसी पूरी नहीं होने पर बैंक खाता और एटीएम को ब्लॉक करने की बात कही। खाता को वापस शुरू करने के लिए एटीएम कार्ड की जानकारी मांगी। उसने एटीएम के पीछे के चार अंक और मैसेज मे आया हुआ ओटीपी कोड पूछा। करमचंदानी ने उसे दोनों बता दिए। फिर करीब एक घंटे बाद उसका कॉल आया और दुबारा एटीएम पिन और ओटीपी कोड पूछा।
करमचंदानी ने 2 जून को बैंक में 90 हजार रूपए जमा करवाए तो खाते में 90 हजार 737 रूपए ही जमा दिखाए जो कुल रकम से काफी कम थे।
उसने 2 जून को बैंक में जानकारी चाहिए तो 29 मई को नेट बैकिंग के जरिए 72 हजार रूपए (40 हजार और 32 हजार रूपए) दो बार में निकालना सामने आया। पुलिस ने कमरचंदानी की शिकायत पर आईटी एक्ट व धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया।


राजस्थान को केंद्र का झटका: मांगे 12 हजार करोड़ मिले सिर्फ 1850 करोड़

11 June 2015
जयपुर। प्रदेश में अतिवृष्टि एवं बेमौसम की बारिश से हुए नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र सरकार ने 1850 करोड़ रुपए की सहायता राशि स्वीकृत की है। आपदा प्रबंधन एवं राहत सचिव रोहित कुमार की केंद्र सरकार से टेलीफोन पर बातचीत के आधार पर यह सूचना दी गई है। राज्य सरकार ने केंद्र से 11886 करोड़ की सहायता मांगी थी।
आपदा प्रबंधन एवं राहत विभाग के अनुसार केंद्र सरकार ने एसडीआरएफ के तहत प्रदेश को मिलने वाली केंद्रीय सहायता की 413.75 करोड़ रुपए की दूसरी किश्त भी जारी करने का निर्णय किया।

केंद्र जारी कर चुका है 400 करोड़ रुपए

इससे पहले करीब 400 करोड़ रुपए पहली किश्त के रूप में केंद्र सरकार राजस्थान को जारी कर चुकी है। केंद्र एनडीआरएफ के तहत राज्य सरकार को केंद्र ने 1378.13 करोड़ की सहायता राशि स्वीकृत है। हालांकि राज्य सरकार ने केंद्र से इससे कहीं ज्यादा राशि की मांगी थी। केंद्र सरकार ने एनडीआरएफ की 69.60 करोड़ रुपए की राशि भी खर्च करने की इजाजत दे दी है। यह राशि राज्य सरकार के पास बची हुई थी।
केंद्र सरकार के नए नियमों के तहत कराए गए सर्वे के अनुसार 11735 गांवों में 33 से 100 फीसदी तक का खराबा हुआ। इससे 28.35 लाख से अधिक किसान प्रभावित हुए। तमाम किसानों को नए नियमों के तहत मुआवजा देने के लिए 6578 करोड़ रुपए की जरूरत बताई गई थी।

फैक्ट फाइल

16 अप्रैल को केंद्र को भेजा गया मेमोरेंडम

-11735 गांवों में 33 से 100 फीसदी खराबा
-24.37 लाख हैक्टेयर भूमि में फसलें चौपट
-28.35 लाख किसान प्रभावित

पहली फेज में ज्यादा नुकसान

आपदा एवं राहत विभाग के अनुसार प्रदेश में ओलावृष्टि एवं बारिश के तीन फेज रहे। पहले फेज फरवरी से दो मार्च, दूसरा फेज 15-16 मार्च और तीसरा फेज 26 मार्च के बाद आया। इसमें सबसे ज्यादा नुकसान पहले फेज व दूसरे फेज में हुआ।


आसाराम की पैरवी के लिए नहीं पहुंचे स्वामी

10 June 2015
जयपुर। नाबालिग के यौन उत्पीडऩ मामले में जोधपुर जेल में बंद आसाराम के लिए आज का दिन निराशाजनक रहा। वरिष्ठ वकील और भाजपा नेता सुब्रह्मïण्यम स्वामी लगातार तीसरी डेट पर उनकी पैरवी के लिए जोधपुर कोर्ट नहीं पहुंच सके। आसाराम समर्थक अवश्य पहुंचे थे। उन्होंने फुटपाथ पर ही हवन कर आसाराम की रिहाई के लिए प्रार्थना की। कोर्ट में उनके वकीलों ने जमानत अर्जी पर सुनवाई की तारीख बढ़वा दी। इससे पहले आसाराम कोर्ट पहुंचे तो उनके समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। पुलिस से उनकी तकरार भी हुई और बाद में इन समर्थकों ने फुटपाथ पर ही हवन किया। समर्थकों ने पुलिस से कहा कि हवन करने से आसाराम को जमानत मिल जाएगी। इसी दौरान, आसाराम ने मीडिया से कहा कि उनकी पुरानी बीमारी फिर उभर आई है, इसकी वजह से उन्हें नींद नहीं आ रही। उन्होंने पूर्व में स्वयं को त्रिनाड़ी शूल बीमारी से पीडि़त बताया था। इस बीमारी से पूरे शरीर में दर्द रहता हे और नींद की समस्या हो जाती है।


राजस्थान बोर्ड 10वीं व प्रवेशिका का परिणाम आज

10 June 2015
अजमेर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 10 वीं व प्रवेशिका परीक्षा का नतीजा बुधवार सुबह 11 बजे घोषित होगा। सेकंडरी परीक्षा में 11,06, 357 व प्रवेशिका में 8,745 विद्यार्थी हैं। मार्कशीट गुरूवार से मिलेंगी। परिणाम results.patrika.com पर देखा जा सकता है। इसके अलावा बोर्ड वेबसाइट www.rajeduboard.nic.in, rajresults.nic.in, examresults.net, rajasthaneducation.net �पर भी उपलब्ध होगा। राजस्थान बोर्ड परीक्षा का यह अंतिम परिणाम होगा, इससे पहले बोर्ड 12वीं के तीनों संकाय का परिणाम जारी कर चुका है।


किसानों के घर की रोटी खाएंगे राहुल गांधी जानेंगे उनकी समस्याएं

10 June 2015
रायपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष 14 जून को जांजगीर में होंगे। वे किसानों से मिलेंगे और उनसे उनकी समस्याएं जानेंगे। डभरा में वे किसानों से साथ वो रोटी खाएंगे, जो किसानों के घर से डिब्बे में आएगी। चौपाल में ही लंच और किसानों से बातचीत।
वे जमीन आवंटन से प्रभावित ग्रामीणों से मुलाकात भी करेंगे। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने बताया कि राहुल गांधी कोरबा जिले के कुदमुरा गांव प्रभावित परिवार के लोगों से मिलेंगे। इसके साथ ही वे मदनपुरा के कोल ब्लाॅक को देखने जाएंगे। मदनपुरा में चार कोल ब्लाक का आबंटन होना है। इन कोल ब्लाक के आबंटन का सीधा असर हंसदेव बांगो बांध के कैचमेंट एरिया पर पड़ने वाला है। वहां के किसानों पर इसका सीधा असर पड़ने की पूरी संभावना है।
वे रात को संभवत: जांजगीर में ही रुकेंगे। दूसरे दिन वे जांजगीर जिले में रैली करेंगे। ऐन वक्त पर कार्यक्रम में फेरबदल होने पर राहुल गांधी 14 के बजाए 15 या 16 जून को आएंगे।


अदालत में रोने लगे आसाराम, तबीयत बिगड़ी

09 June 2015
जयपुर। नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीडऩ के आरोपी आसाराम सोमवार को कोर्ट परिसर में रो पड़े। जोधपुर जिला सेशन कोर्ट में उनकी नियमित सुनवाई के लिए पेश किया गया, जहां उनकी तबीयत बिगड़ गई। सुनवाई के दौरान ही आसाराम को तत्काल वहां से वापस जेल भेज दिया गया। सेशन न्यायाधीश (जोधपुर जिला) मनोज कुमार व्यास की अदालत में सोमवार को आसाराम मामले की सुनवाई होनी थी,जिसके लिए आसाराम को पेश किया गया। सुनवाई के दौरान ही उनकी तबीयत बिगड़ गई।
कोर्ट से बाहर निकलते ही मीडियाकर्मियों के सामने आसाराम भावुक हो गए और आंखों से आंसू तक निकल गए।
आसाराम ने अपने जमानत प्रार्थना पत्र के संबंध में कहा कि उनके वकील डॉ. सुब्रह्मïण्यम स्वामी आए या नहीं आए। कोई बात नहीं। मैं उनको दोष नहीं देता। कुछ लोग चाहते हैं कि उनकी जमानत नहीं हो। इतना कहकर वो रोते हुए वाहन में बैठकर जेल के लिए रवाना हो गए।
सुनवाई के दौरान पुलिस अधिकारी मुक्ता पारीक के बयान आज भी अधूरे रहे। सुनवाई मंगलवार को जारी रहेगी।


खुद ने सीखी, अब आदिवासी बच्चों को पढ़ा रहे अंग्रेजी

09 June 2015
सिरोही। पिण्डवाड़ा के वीरान जंगल। जहां सुविधाएं और संसाधन दूर की कोड़ी माने जाते हैं। यहां पागल बाबा नाम के साधु आदिवासियों के बच्चों को जीवन की दिशा दे रहे हैं। वे इन बच्चों को अपने दम-खर्चे पर अंग्रेजी और गणित पढ़ा रहे हैं-पारंगत कर रहे हैं। बाबा पिछले दस साल से सिवेरा के समीप जगल की भंवरी गुफा में रहते हैं।

कर दिया पारंगत

जब पत्रिका संवाददाता यहां पहुंचा तो छह साल की गौरी गरासिया बाहर आई और बोली वेलकम सर, दिस टाइम बाबा इज बिजी इन प्रे। बच्चों से बात की तो वे जवाब अंग्रेजी में ही दे रहे थे। गौरी के अलावा यहां मौजूद अर्जुन कुमार, प्रकाश कुमार, प्रवीण कुमार, नीनालाल, कान्ति लाल, भंवर, प्रकाश तथा गोविन्द भी अंग्रेजी में बातचीत कर रहे थे। बाबा के पास पढने आने वाले तीन बच्चे अर्जुन, प्रवीण व रूपा अनाथ हैं। उनके पढ़ने व कपड़ों का खर्च बाबा ही देते हैं। बाबा ने बताया कि भक्तों से मिलने वाले सहयोग से इन बच्चों के लिये कॉपी किताब व अन्य विद्यालय सामग्री खरीद लेते हैं।

लोगों ने चिढ़ाया तो नाम ही रख लिया

पागल बाबा मूल रूप से उत्तर प्रदेश के निवासी है। 14 वर्ष की उम्र में दीक्षा ली। नर्मदा की परिक्रमा के दौरान वहां एक मनू नाम का पागल व्यक्ति था। इससे बाबा को भी उनकी मण्डली के लोग मजाक में मनू पागल कह देते थे। इस पर उन्होंने अपना नाम ही पागल बाबा रख लिया।

पहले स्वयं ने साधी

बाबा को खुद भी अंग्रेजी का ज्ञान नहीं था। कुछ साल पहले उन्हें दक्षिण भारत का एक साधु मिला। वह अंग्रेजी में बात कर रहा था। इस पर उन्होंने भी ठान लिया कि वे भी अब अंग्रेजी बोलना सीखेंगे। इसके बाद उन्होंने कुछ किताबें खरीदी और निरन्तर प्रयास कर भाषा का ज्ञान लिया। अब वे आस-पास रह रहे कक्षा एक से दस तक पढ़ने वाले आदिवासी बच्चों को निशुल्क अंग्रेजी पढ़ा रहे हैं।


हिरण के शिकार की अफवाह उड़ी, लोगों ने गांव घेरकर जला दिए दलितों के घर

09 June 2015
फलौदी(जोधपुर). राजस्थान के जोधपुर के समीप स्थित सांवरीज गांव के लोग पूरी रात दहशत में रहे। यहां हिरण के शिकार की अफवाह उड़ी तो गुस्साए लोगों ने गांव घेरकर कई दलितों के घर फूंक दिए। रात करीब 9 बजे फलौदी पुलिस घटना को सूचना मिली, तो थानाधिकारी सुरेंद्र कुमार व अन्य की टीम मौके पर पहुंची। तब तक मौके पर तकरीबन 400 लोगों की भीड़ जमा हो चुकी थी। पुलिस ने पीड़ित परिवार के लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया, तो भीड़ ने पुलिस पर भी पथराव किया। इससे थानाधिकारी सहित तीन पुलिस कर्मचारियों को चोटें आईं। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से पीड़ित परिवार के सभी 27 सदस्यों को वहां से बाहर निकाला। मामले की जानकारी मिलने पर एसपी (ग्रामीण) हरेंद्र कुमार महावर, एएसपी (फलौदी) सत्येंद्र पाल सिंह, डीएसपी सायर सिंह व अन्य अधिकारी देर रात मौके पर पहुंचे। जबकि, कलेक्टर प्रीतम बी यशवंत सोमवार सुबह घटना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे।
तत्पश्चात उन्होंने एडीएम आरडी बारठ के साथ फलौदी के राइका बाग इलाके में स्थित भील समाज के न्याति नोहरे में पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात कर पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। घटना के संबंध में सांवरीज निवासी भोजाराम की रिपोर्ट पर फलौदी पुलिस ने महिपाल भादू, प्रकाश विश्नोई, बक्सीराम विश्नोई, प्रकाश विश्नोई, हड़मान राम, महिपाल उदाणी सहित 43 लोगों को नामजद किया है। मामले की जांच ओसियां उप अधीक्षक को सौंपी गई है। इस संबंध में कलेक्टर ने मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए कहा कि पीड़ित परिवार को पूरी सुरक्षा देकर उनका पुनर्वास किया जाएगा। इस प्रकरण में किसी भी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

हिरण शिकार की अफवाह, उजाड़ दिया दलित का आशियाना

पुलिस के अनुसार रविवार को सांवरीज के पास एक हिरण मिला, जिसके पैर में कुड़की लगी थी। वन्यजीव प्रेमियों ने इसे फलौदी स्थित रेस्क्यू सेंटर पहुंचाया। इसके बाद किसी ने हिरण के शिकार होने की अफवाह उड़ा दी और लोग आक्रोशित हो गए। जहां हिरण मिला था, उससे करीब दो-ढाई किमी दूर भोजाराम भील के परिवार पर शिकार का शक करते हुए भीड़ ने ढाणी को घेर लिया। कुछ ही देर में झोपडिय़ों को आग लगा दी।

कार्रवाई की मांग

भील समाज के सचिव जीवनराम भील, पूर्व सरपंच फूलाराम भील, दलित अधिकार अभियान के सचिव अशोक कुमार, गोरधन जयपाल, पंस सदस्य उम्मेदाराम भील, बलाराम भील, जयगोपाल मेघवाल ने कलेक्टर व एसपी (ग्रामीण) से मुलाकात कर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही और पीड़ित परिवार को राहत दिलाने की मांग की है। वहीं, दलित आदिवासी मानवाधिकार मंच के संयोजक जीवनराम भील ने 10 जून को भील समाज के न्याति नोहरा में महापड़ाव की घोषणा की है।

यह हुए घायल

ढाणी पर हमले में पुरखाराम (35) पुत्र पाबूराम, कानाराम (50) पुत्र मूलाराम, रामाराम (55) पुत्र भोजाराम, नारायणराम (35) वर्ष पुत्र रुघाराम व जेठाराम (30) पुत्र नारायणराम गंभीर रूप से घायल हो गए। इन्हें फलौदी अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद जोधपुर रेफर कर दिया गया।

व्यापार संघ ने की आर्थिक मदद

गरीब परिवार का आशियाना उजड़ा, तो एसडीएम राकेश कुमार ने स्थानीय व्यापार संघ के अध्यक्ष राधाकिशन थानवी सहित अन्य से बातचीत की। व्यापार संघ ने दलित परिवार को तात्कालिक राहत पहुंचाने के लिए 21 हजार रुपए पीड़ित परिवार को दिए।


राजस्थान में सांसदों की कार्यशाला हुई ना विधायकों ने चुने गांव

08 June 2015
जयपुर। गांवों को आदर्श बनाने की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की फ्लैगशिप योजना राजस्थान में धीमी गति से चल रही है। धीमी चाल का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि सांसद आदर्श ग्राम योजना के लिए 8 माह में सांसदों की कार्यशाला की तारीख तय नहीं हुई है, जबकि मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना के लिए तीन माह बाद भी करीब आधे जिलों में एक भी ग्राम पंचायत नहीं चुनी गई है। सांसदों की जागरूकता के लिए कार्यशाला नहीं होने पर हालांकि केंद्र सरकार नाराजगी भी जता चुकी। सांसद आदर्श ग्राम योजना की तर्ज पर फरवरी में राज्य में मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना प्रारंभ की गई। विकास का नया सोच बताते हुए प्रारंभ की गई इस योजना का हाल यह है कि 200 में से मात्र 70 विधायकों ने ही अभी तक ग्राम पंचायत चुनी है, जबकि यहां भाजपा के 160 विधायक है। वसुंधरा सरकार के पांच मंत्रियों ने भी अभी तक इस योजना में गांव का चयन नहीं किया। हालात यह है कि राजस्थान से राज्यसभा सदस्य कांग्रेस के आनन्द शर्मा ने सांसद आदर्श ग्राम योजना में गांव नहीं चुना वे राजस्थान से दिलचस्पी भी नहीं लेते। राज्यसभा सदस्य बनने के बाद वे मात्र दो मौकों पर कांग्रेसजनों के बीच पहुंचे, वहीं प्रदेश से राज्यसभा में निर्वाचित हुए रामजेठमलानी, भाजपा के राष्टï्रीय महासचिव भूपेन्द्र यादव जैसे दूसरे बाहरी नेताओं ने गांव तो चुन लिए लेकिन माहौल बदलने के लिए वहां आना-जाना ज्यादा नहीं किया है। जानकारी के अनुसार सांसदों की ओर से चुने गए गांव को अक्टूबर 2016 तक आदर्श घोषित किया जाना है। इधर मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना का हाल यह है कि प्रदेश के तीन जिलों में तो ग्राम पंचायत चयन 100 फीसदी हो गया है, लेकिन 16 जिलों में एक भी ग्राम पंचायत का चयन नहीं हुआ है। प्रदेश के ग्रामीण विकास मंत्री सुरेन्द्र गोयल का कहना है कि सांसदों की कार्यशाला के लिए मुख्यमंत्री से समय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना में गांव चयन करने के लिए विधायकों को पत्र लिख दिया है।


अब देवल को सौंपा नगर परिषद आयुक्त का कार्यभार

08 June 2015
पाली। नगर परिषद पाली में सचिव पद पर आए अधिशासी अधिकारी संजय देवल को डीएलबी ने आयुक्त का कार्य भार सौंपा है। देवल सोमवार को नगर परिषद आयुक्त का कार्य भार ग्रहण करेंगे। ज्ञात रहे कि परिषद आयुक्त रामसिंह पालावत पाली से स्थानांतरित होकर भीलवाड़ा चले गए थे।
बाद में यूआईटी सचिव डॉ. बजरंगसिंह को आयुक्त का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया। पांच जून को डीएलबी ने सिंह से यह चार्ज लेकर देवल को दे दिया। देवल ने बताया कि वे सोमवार को कार्यभार ग्रहण करेंगे।


जयपुर से अमेरिका के लिए सीधी फ्लाइट अगले माह, बढ़ेगी फ्लाइटों की संख्या

08 June 2015
जयपुर| जयपुर एयरपोर्ट पर अगले महीने से इंटरनेशन फ्लाइटों की संख्या बढ़ जाएगी। यूरोपियन देशों में जाने के लिए लिए दिल्ली, मुंबई नहीं जाना पड़ेगा क्योंकि विस्तार का काम खत्म होते ही जयपुर एयरपोर्ट से अमेरिका, जर्मन, सिंगापुर के लिए सीधी उड़ान मिल सकेगी। एयरपोर्ट अधिकारियों का कनहा है कि विस्तार का काम जुलाई अंत तक पूरा हो जाएगा।
वर्तमान में रनवे की लंबाई करीब 9 हजार 200 फीट है। रनवे विस्तार के बाद इसकी लंबाई बढ़ाकर 11 हजार 500 फीट हो जाएगी। विस्तार होने के बाद बड़े विमान जैसे एयर बस 340, जम्बो जेट 747 लैंडिंग कर सकेंगे। इंटरनेशनल फ्लाइटें में वृद्धि होगी। अभी अरब देशों के लिए विमान जा रहे हैं। इसके बाद अमरीका, जर्मनी, हांगकांग सिंगापुर जैसे देशों के लिए विमान चल सकेंगे। यहीं नहीं लोगों को एयरपोर्ट पर एयरपोर्ट को वाई-फाई की सुविधा मिल सकेगी। इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो गया है। दो-तीन महीने में पूरा हो जाएगा। इससे यात्री इंटरनेट का यूज फ्री में कर कसेंगे। यात्रियों को वाई-फाई की सुविधा मिलेगी।


सामूहिक दुष्कर्म के बाद बार-बार बिकी महिला

06 June 2015
जयपुर। उदयपुर की एक महिला का पिछले दिनों कुछ लोगों ने अपहरण किया, बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म किया और फिर बार-बार बेचा। महिला ने इस संबंध में कोटड़ा पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है। यह मुकदमा अदालत के जरिये दर्ज कराया गया। झाड़ोल के जोगीवर गांव की 20 वर्षीय इस महिला ने बताया कि जोगीवार गांव के ही एक युवक मिड्डिया अपने दो साथियों के साथ अपहरण कर उसे गुजरात ले गए और वहां बंधक बनाकर दुष्कर्म किया। तीनों युवक उसे एक व्यापारी के हाथों बेच दिया। इससे पहले भी झाड़ोल में उसे बार-बार बेचा गया, खरीदा गया। महिला ने आरोप लगया कि जिस व्यापारी लालू को उसे बेचा गया, उसने भी उसके साथ दुष्कर्म किया। मौका मिलते ही वह भाग निकली।


पुलिस दल पर पथराव

06 June 2015
डूंगरपुर। सदर थाना क्षेत्र के बाड़ौद द्वितीय नई बस्ती में शुक्रवार को अवैध रूप से टयूबवेल खोदने पर जब्तशुदा वाहनों को लेकर आते पुलिस दल पर मार्ग में बोरवेल संचालक के कार्मिकों ने पथराव किया। इससे सदर थाना के उप निरीक्षक सहित तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए। सदर पुलिस ने शांतिभंग के आरोप में छह व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।
पुलिस के अनुसार गड़ामौरेया के निकट स्थित बाडौद द्वितीय नई बस्ती में मोगजी पुत्र रूपसी बरण्डा के खेत पर दो बोरिंग मशीन से अवैध रूप से ट्यूबवेल खोदे जाने की शिकायत तहसीलदार व सदर पुलिस को मिली। तहसीलदार के निर्देश पर सदर थाना के उप निरीक्षक लक्ष्मण कुमार मय जाब्ता मौके पर पहुंचे। यहां गड़ामौरेया के हलका पटवारी ने बोरिंग मशीन से खुदाई रूकवाई और मौका पर्चा बनाकर रिपोर्ट पुलिस को पेश की। उप निरीक्षक व दल ने मौके पर दो वाहनों व मशीनरी को जब्त किया।

अतिरिक्त पुलिस बल पहुंचा

उप निरीक्षक ने मौके से सदर थाना प्रभारी को तथा पुलिस नियंत्रण कक्ष को सूचना दी। सदर थाना प्रभारी विनोद कुमार मय जाब्ता मौके पर पहुंचे। पुलिस नियंत्रण कक्ष से भी अतिरिक्त पुलिस बल मौके पर पहुंचा। पुलिस ने बोरवेल मशीन के दो वाहन, पिकअप तथा एक मोटर साइकिल जब्त की। इस बीच संचालक रमेश जैन तथा किशोर कुमार भाग खडे हुए।

पहले धमकाय, फिर उत्पात

वाहन मय मशीनरी लेकर सदर थाने लौटते समय दोपहर करीब एक बजे बस्ती से आधा किलोमीटर आगे एक पिकअप व मोटर साइकिल से आए तीन-चार व्यक्तियों ने पुलिस दल को रोका। बोरवेल वाहन का संचालक रमेश जैन पिकअप से उतारा और पुलिस से दोनों वाहन छोड़ने को कहा। मना करने पर मोटर साइकिल सवार किशोर पुत्र हीरालाल ने धमकी दी कि वाहन आगे नहीं जाने दिए जाएंगे। पुलिस समझाइश कर रही थी कि रमेश व किशोर ने वाहनों में बैठे श्रमिकों को उकसाया। इस पर श्रमिकों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। लट्ठ से भी हमला किया। इससे उप निरीक्षक लक्ष्मण कुमार, कांस्टेबल ओमप्रकाश एवं तेजाराम घायल हो गए।

छह आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर शांतिभंग करने के आरोप में भलई निवासी गोविन्द पुत्र हकरा खोखरिया, डीगवास निवासी नारायणलाल पुत्र कमजी मीणा, सोम फलासिया निवासी मुकेश पुत्र शंातिलाल खराड़ी, बेनड़ा लसाडिया भीलवाड़ा निवासी गोपाल पुत्र भैरू राव, भलई निवासी राजेश पुत्र बदामीलाल तथा गड़ामौरेया निवासी प्रकाश पुत्र लालजी सुथार को गिरफ्तार किया है। सदर पुलिस ने उप निरीक्षक लक्ष्मण कुमार की रिपोर्ट पर भी अलग से मामला दर्ज किया है।


मुझे गंगा प्‍यारी, इसलिए मैंने मांगकर लिया मंत्रालय : उमा

06 June 2015
जयपुर। केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने इशारा किया कि उन्‍हें जो मंत्रालय दिया गया है वह उन्‍होंने खुद मांग कर लिया है।
उमा ने शुक्रवार को जयपुर में कार्यक्रम जल क्रांति को संबोधित करते हुए कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल सरकार के शपथ लेने से पहले 25 मई को मुझे बुलाया। उन्‍होंने कहा, मैं तुम्‍हें मंत्री बनाना चाहता हूं। मैंने उनसे पूछा, अाप मुझे काम क्‍या देंगे। उन्‍होंने पूछा, तुम्‍हें क्‍या पसंद है। मैंने कहा, मुझे गंगा प्‍यारी है। और 27 मई को मुझे जल संसाधन मंत्रालय दिया गया।
उमा ने पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह पर निशाना साधा। कहा, कोई भी सवाल पूछने पर मनमोहन कहते थे मैनु क्या पता। मोदी पहले प्रधान मंत्री जिन्हें सबकुछ है पता है।

हर योजना बने जल आंदोलन

उमा ने मोदी के व्‍यक्तित्‍व के बारे में कहा कि वे साधारण व्‍यक्ति नहीं बल्कि मसीहा हैं। मोदी ने कहा कि आजादी की लड़ाई लंबी चली लेकिन आजादी तब तक नहीं मिली जब तक कि वह जन आंदोल में नहीं बदल गई। उमा ने कहा कि इस प्रकार जब तक जल संसाधन मंत्रालय की कोई भी योजना तब तक सफल नहीं होगी जब तक जन आंदोलन नहीं बन जाती।

पूरा पिटारा राजस्‍थान के लिए खोल देगा

उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे की प्रशंसा करते हुए कहा कि कल दिल्‍ली में वे मुझसे मिली थीं। वसुंधरा ने राजस्‍थान में गिरते भू जल स्‍तर व आने वाले कल को लेकर चिंता व्‍यक्‍त की। मैंने उनसे कहा, आप चिंता न करें मेरा मंत्रालय अपना पूरा पिटारा राजस्‍थान के लिए खोल देगा।

वसुंधरा उस बात का नहीं मानीं बुरा

उन्‍होंने वसुंधरा से जुड़े एक प्रसंग का भी उल्‍लेख किया। उमा ने कहा, जब मैं भाजपा में नहीं थी तब जयपुर में मैंने वसुंधरा की आलोचना की थी। इसके बाद मेरा जन्‍मदिन आया, तो उन्‍होंने मुझे फोन कर जन्‍मदिन की बधाई दी। तब मैंने उनसे कहा कि यह आपका बड़प्‍पन है कि आपने यह बात दिल से नहीं लगाई।

गाय और गंगा भगवा एजेंडा नहीं, यह 50 करोड़ आबादी की रोटी और रोजगार का एजेंडा

उमा भारती ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भारत में गंगा और गाय को भगवा एजेंडा कहना गलत है। गाय और गंगा हिंदू और मुस्लिम दोनों का समान रूप से पालन करते हैं। गंगा सेफ्रन एजेंडा नहीं, यह हमारी इकॉनॉमी है। यह 50 करोड़ लोगों की रोटी और रोजगार से जुड़ा एजेंडा है। कांग्रेस को भारतीय जीवन दृष्टि को समझना पड़ेगा। गंगा जीवन देती है, इसलिए उसे मां कहते हैं। गंगा खत्म हो गई तो 50 करोड़ लोगों के भूख मरने की नौबत आ जाएगी। इसलिए 29 साल से अटके गंगा मिशन को नमामि गंगे मिशन के रूप में आगे बढ़ाया जा रहा है। 10 साल में गंगा को साफ करेंगे
जर्मनी, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया ने अपनी टेम्स, डार्लिन आदि नदियों को साफ करने में 27 साल लग गए। लेकिन हम गंगा को 10 साल में साफ कर देंगे। भारत में भी पिछले 29 साल में कई योजनाएं बनी गंगा को लेकर, लेकिन 5 हजार करोड़ रुपए आज तक कहां खर्च किए, ढूंढ़े नहीं मिल रहे। हम अगले 4 चार साल में 20 हजार करोड़ रुपए खर्च कर गंगा साफ और शुद्ध बनाएंगे। गंगा रिवर बेसिन से चंबल भी जुड़ी है। गंगा के लिए जो परियोजना बनेगी वह चंबल के लिए भी बनेगी और राजस्थान के फायदा पहुंचेगा। गंगा के लिए पैसा तो चाहिए ही, साथ ही जन आंदोलन की जरूरत है। पूरे देश में जल क्रांति के लिए राजस्थान से उपयुक्त कोई जगह नहीं।
मैं हूं मध्यप्रदेश की, राजस्थान से प्यार करती हूं। जब मध्यप्रदेश से नदियों का पानी राजस्थान को देने की बात आएगी तो मैं राजस्थान की निवासी बनकर यहां के लोगों को ज्यादा से ज्यादा पानी देने की कोशिश करूंगी।


भाजपा आरएसएस की संतान: माणिक सरकार

05 June 2015
जयपुर। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने आज उदयपुर कलक्ट्रेट पर आदिवासियों के महापड़ाव को संबोधित करते हुए केन्द्र की मोदी सरकार और राज्य की वसुंधरा सरकार पर जमकर निशाने साधे। उन्होंने भाजपा को आरएसएस की संतान करार दिया। माणिक सरकार ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने सौ दिन में काला धन वापस लाने का वादा किया था, लेकिन 365 दिन बीत जाने के बाद भी कुछ नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण बिल पूंजीपतियों और बड़े घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए बार-बार लाया जा रहा है। यह किसान विरोधी बिल है और किसान विरोधी गतिविधियां बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र में मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार आने से तानाशाह प्रवृत्ति बढ़ी है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने जनता को अच्छे दिन लाने का सपना दिखाया था, जो केवल छलावा निकला। उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र की नीतियां जन विरोधी है। प्रधानमंत्री विदेश यात्राएं कर रहे हैं, लेकिन इन यात्राओं से जनता का पेट भरने वाला नहीं है। उन्होंने राज्य में वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि राज्य सरकार आदिवासियों की विरोधी है। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने भाजपा को आरएसएस की संतान करार दिया। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार इजराइल से हथियार खरीद रही है। जबकि इजराइल बिक्री से मिलने वाले पैसों से अपने यहां फिलीस्तानी आंदोलन को दबा रहा है। महापड़ाव में सुदूर आदिवासी इलाकों से बड़ी संख्या में महिला-पुरुष पहुंचे दूर-दराज से आए आदिवासी वामपंथी नेता को सुनने के लिए चिलचिलाती धूप में कलक्ट्रेट पर जमे रहे।


सौ करोड़ का व्यवसाय प्रभावित

05 June 2015
अजमेर।स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के सहयोगी बैंक स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर सहित अन्य बैंकों में गुरूवार को कर्मचारियों की हड़ताल रही। इसके चलते जिले की 13 शाखाओं सहित क्षेत्रीय कार्यालयों में भी कामकाज ठप रहा। बैंक हड़ताल की वजह से जिले में करीब एक सौ करोड़ रूपए का बैंक कारोबार प्रभावित हुआ।
वैशालीनगर स्थित क्षेत्रीय कार्यालय के सामने गुरूवार सुबह 11 बजे एसबीबीजे और बैंक ऑफ पटियाला के कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन कर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की नीतियों पर रोष्ा जाहिर किया। ऑल इंडिया एसबीबीजे एम्पलाइज कोर्डिनेशन कमेटी के उप महासचिव राजेन्द्र बंसल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया प्रबंधन सहयोगी बैकों के कार्यकलापों पर हर स्तर पर दखलअंदाजी कर रहा है।
इससे सहयोगी बैंकों के अधिकारियों और कर्मचारियों में असंतोष्ा उत्पन्न हो रहा है। उन्होंने मांग की कि एसबीआई के सहयोगी बैंकों एसबीबीजे, बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद और स्टेट बैंक ऑफ ट्रावनकोर पर नियंत्रण समाप्त होना चाहिए।
बैंक यूनियन के नेता राजेश गर्ग ने कहा कि बैंकों में अनुकम्पा के आधार पर नियुक्ति बंद नहीं होनी चाहिए। कर्मचारी नेता रवि वर्मा ने कहा कि एसबीआई की नीतियों की वजह से देश भर के लगभग 30 हजार कर्मचारी हड़ताल पर हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि समस्या का समाधन नहीें हुआ तो 24 जून को फिर हड़ताल की जाएगी।

नसीराबाद में बैंककर्मी रहे हड़ताल पर

स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर की शाखा के कर्मचारियों की ओर से गुरूवार को की गई अघोषित हड़ताल से ग्राहकों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। राज्य में स्थित सभी स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर की शाखाओं में कर्मचारियों की कमी चल रही है। लेकिन बैंक के उच्चाधिकारियों की ओर से इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।


भ्रूण लिंग जांच के 500 पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीन, विभाग को नहीं पता- कहां हैं

05 June 2015
जयपुर. पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीनों का जाल पूरे प्रदेश में फैला हुआ है। चिकित्सा विभाग की मानें तो प्रदेश में चलते फिरते सोनोग्राफी मशीनों की तादाद 1500 से ज्यादा है। चिंता की बात यह है कि इनमें से 500 से अधिक पोर्टेबल मशीनों की जानकारी विभाग को भी नहीं है कि उन्हें कौन व्यक्ति किन-किन जिलों में काम में ले रहा है। बीते तीन सालों में पीसीपीएनडीटी भ्रूण लिंग परीक्षण के जितने मामले पकड़े हैं, उन सभी में पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीनों का उपयोग हो रहा था। पिछले सप्ताह चंदवाजी के पास चलती कार में भ्रूण जांच करती पकड़ी गई डॉक्टर के पास भी पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीन थी। इसके बाद हरकत में आई जांच एजेंसियों ने ऐसे मामलों को पकड़ने के लिए विशेष टीम गठित की हैं जो हर जिले में जाकर पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीनों का पता कर रही है।

यहां सबसे ज्यादा आशंकाएं

अलवर, बहरोड़, उदयपुर, धौलपुर, डूंगरपुर और बीकानेर सहित करीब 10 शहरों और कस्बों में पोर्टेबल मशीनों के होने की सबसे अधिक संभावनाएं जताई जा रही हैं। अब पीसीपीएनडीटी सेल की ओर से बनाई टीम फिलहाल उदयपुर और धौलपुर में काम कर रही है।

यह मामला आ चुका है सामने

एक वर्ष पूर्व प्रदेश में 100 से अधिक पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीनें बेचने का मामला सामने आ चुका है। यह वह संख्या है जो विभाग के पास है। बताया जा रहा है कि प्रदेश में अनाधिकृत रूप से 500 से अधिक पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीनें हैं जिन्हें विभिन्न जिलों में काम में लिया जा रहा है। विशेष टीम जिले स्तर पर इन मशीन संचालकों का पता करेगी।

यह करेगी टीम

} टीम अपंजीकृत मशीनों का पता करेगी। पता लगने पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।
} जो पंजीकृत हैं, उनका वेरीफिकेशन करेगी और उनके रजिस्ट्रेशन का पता करेगी।
} कौन रेडियोलॉजिस्ट क्या और कितना काम कर रहा है, इसका पता किया जाएगा।
} किस कंपनी से पोर्टेबल मशीन की खरीद की गई है, उसका पता किया जाएगा।

इन सभी से पकड़ी गई थी पोर्टेबल मशीनें

} चौमूं में राकेश यादव से वर्ष 2013 में और चौमूं में ही वर्ष 2014 में रूबीना को पकड़ा।
} 21 जून 2014 को सिंघाना में दिल्ली से आने वाले डॉ. योगेश को पकड़ा।
} पांच जून 2014 में अजमेर और बीकानेर में अमित सिंघल को पकड़ा।

मानेसर में पकड़ी गई थी हजारों पोर्टेबल मशीनें

वर्ष 2013 में हरियाणा के मानेसर के एक गोदाम में हजारों पोर्टेबल मशीनें पकड़ी गई थी। आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि सैंकडों पोर्टेबल मशीनों को वे राजस्थान में बेच चुके थे। इन मशीनों को खरीदने वालों ने कभी कोई पंजीकरण नहीं कराया। यहां से खरीद करने वाले चौमंू, सिंघाना और अजमेर और बीकानेर जैसे क्षेत्रों में सोनोग्राफी कर रहे थे। पंजीकरण नहीं होने से इन्हें पकड़ा जाना भी आसान नहीं है। इसीलिए अब विशेष टीम गुप्तचरों को एक्टिव करेगी।

आदमशाह हॉस्पिटल में सोनोग्राफी की परमिशन ली थी मनोज ने

चलती कार में भ्रूण जांच करने वाली डॉक्टर जिस व्यक्ति के संपर्क में थी, उसने घाटगेट के आदमशाह हॉस्पिटल में सोनोग्राफी सेंटर लगा रखा था। अस्पताल में प्रतिमाह 100 से अधिक सोनोग्राफी जांच की जाती थी। यहां गर्भपात भी किया जाता था। पीसीपीएनडीटी सेल की टीम के इंस्पेक्टर जनेश सिंह ने आसपास के लोगों से इस बारे में पूछताछ की और कई जानकारियां जुटाई। भ्रूण जांच करने वाली डॉक्टर संतोष पारीक जिस मनोज शर्मा के साथ मिलकर यह काम करती थी, उसने चिकित्सा विभाग विभाग से सोनोग्राफी सेंटर चलाने की अनुमति ले रखी थी। डॉ. संतोष पारीक सरकारी डॉक्टर थी और बस्सी, बांदीकुई में काम करते हुए एपीओ भी हो चुकी थी। आदमशाह हॉस्पिटल में जिन मरीजों की सोनोग्राफी की गई, वे कहां से आए इस बारे में भी पता किया जा रहा है।

मनोज को रिश्तेदारों के यहां तलाश रही है टीम

पीसीपीएनडीटी सेल के नोडल अधिकारी किशनाराम ने बताया कि मनोज शर्मा को पकड़ने के लिए टीम हर स्तर पर कार्य कर रही है। जिस दिन संतोष पारीक पकड़ी गई, उसके अगले दिन वह शादी में गया था। लेकिन टीम के पहुंचने से पहले निकल लिया। उसके घर और रिश्तेदारों से पूछताछ की जा रही है। साथ ही अन्य डॉक्टरों से भी उसके बारे में पता किया जा रहा है।

पकड़ी गई तो हो गई भर्ती

डाक्टर संतोष पारीक को पकड़ने के बाद जब पीसीपीएनडीटी सेल लाया गया तो उसने तबीयत खराब होने की बात कही और उसके बाद उसे एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया।

टीमें बनाईं, पता कर रहे हैं

हम पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीनों का पता कर रहे हैं। अंपजीकृत मशीनों का पता लगाना काफी मुश्किल है। ऐसी काफी मशीनें हैं और इनका पता लगाने के लिए हमने टीम बनाई हैं। टीमें विभिन्न जिलों में जाकर जांच करेंगी और सोर्स के माध्यम से भ्रूण लिंग जांच करने वालों का पता करेंगी। -किशनाराम ईशवरलाल, नोडल अधिकारी पीसीपीएनडीटी सेल।


राजस्थान बोर्ड 12वीं कला का रिजल्ट घोषित, लड़कियों ने फिर बाजी मारी

02 June 2015
जयपुर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं कला का परिणाम शाम 4 बजे घोषित किया गया। बोर्ड अध्यक्ष प्रो. बी.एल चौधरी ने बोर्ड कार्यालय में परीक्षा परिणाम घोषित किया। परीक्षा में पहले तीन स्थानों पर बेटियों का कब्जा रहा। कोटा के प्रगति पब्लिक स्कूल की श्वेता चौबे ने 500 में से 478 अंक प्राप्त कर पहले स्थान पर कब्जा जमाया है। इन्हें 95.60 प्रतिशत अंक मिले हैं। दूसरे स्थान पर कोटा के ज्योतिबा सीनियर सैकंडरी स्कूल की किरन पंवार हैं। इन्होंने 95 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। तीसरे स्थान पर शाहपुरा जयपुर मनोहरपुरा स्कूल की सिमरन अग्रवाल रहीं। इन्हें 94.8 प्रतिशत अंक मिले हैं।

मेरिट के 10 स्थानों पर कुल 27 विद्यार्थी

खास बात यह है कि मेरिट के 10 स्थानों पर कुल 27 विद्यार्थी हैं। इनमें से सिर्फ तीन स्थानों पर ही लड़के अपनी जगह बना पाए हैं। 24 स्थानों पर बेटियों ने परचम लहराया है। सरकारी स्कूल से चार विद्यार्थी अपनी जगह बनाने में कामयाब हुए हैं। मैरिट के 27 छात्रों में से 10 जयपुर के हैं। 12वीं साइंस और कॉमर्स का परिणाम 22 मई को घोषित होने के बाद छात्र आटर्स के परिणाम का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे।

कुल परिणाम 84.14 प्रतिशत

12वीं बोर्ड में कुल 84.14 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए हैं। इनमें बेटियों का प्रतिशत ज्यादा है। 87.35 प्रतिशत लड़कियां और 81.60 प्रतिशत लड़के सफल हुए हैं। परीक्षा 12वीं के तीनों संकायों की सबसे बड़ी परीक्षा है। इसमें 5 लाख 74 हजार 679 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। साइंस में पौने दो लाख, कॉमर्स में 60 हजार से ज्यादा छात्रों ने परीक्षा दी थी। बोर्ड ने परिणाम की जानकारी एसएमएस पर देने की भी व्यवस्था की है। आई.वी.आर.एस. के माध्यम से भी परिणाम जान रहे हैं।

डुप्लीकेट मार्कशीट आज से

बोर्ड सचिव चौधरी ने बताया कि 12वीं कला वर्ग 2015 की अंक तालिकाओं की प्रतिलिपि बोर्ड के संभाग मुख्यालयों पर स्थित विद्यार्थी सेवा केंद्रों से मंगलवार से प्राप्त की जा सकेंगी। ये विद्यार्थी सेवा केंद्र जयपुर में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, मीरा मार्ग, बनीपार्क, भरतपुर में राजकीय मास्टर आदित्येंद्र उच्च माध्यमिक विद्यालय, चूरू में राजकीय बागला उच्च माध्यमिक विद्यालय, जोधपुर में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, महामंदिर लाल मैदान, बीकानेर में राजकीय सार्दुल उच्च माध्यमिक विद्यालय, कोटा गेट, उदयपुर में राजकीय गुरु गोविंद सिंह उच्च माध्यमिक विद्यालय, कोटा में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, मल्टीपरपज और माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कार्यालय अजमेर में स्थित है।


मीरा की सचित्र दुर्लभ जीवनी जोधपुर में मौजूद

02 June 2015
जोधपुर। भक्त शिरोमणि मीरा की जीवनी पर आधारित 18वीं शताब्दी के 14 रंगीन चित्रों से सुसçज्जत ग्रंथ का पता चला है। हाल ही में राजस्थान प्राच्य विद्या प्रतिष्ठान जोधपुर में मिले दुर्लभ ग्रंथ में मीरा के मेड़ता में जन्म से लेकर बाल्यकाल व अंतिम समय तक का वर्णन चित्रों के माध्यम से किया गया है।
राजस्थानी भाष्ाा में लिखे गए ग्रंथ में मेड़ता में मीरा के जन्म व राठौड़ राजा जयमल का राज, अल्पवस्था में चित्तौड़ के राणा से विवाह से पूर्व सगाई का दस्तूर लाने और चित्तौड़ में बारात पुन: पहुंचने का सचित्र वर्णन शामिल हैं।
ग्रंथ में महल के ठाकुर जी के मंदिर में पूजन, कृष्ण भक्ति में लीन, मीरा को विष्ा का प्याला देने और भक्ति में बाधक राणा की करतूतों से दुखी होकर मीरा के मेड़ता में जाकर रहने और वहां से द्वारिका जाने का सचित्र विवरण है। इसके अलावा द्वारिका में ब्राह्मणों से पुन: चित्तौड़ चलने की प्रार्थना पर रणछोड़ मंदिर में हरिजस गाने व रणछोड़ में समा जाने का वर्णन है।

"पूजन करवा कांई फल होई "

अल्पावस्था में चित्तौड़ के राणा से विवाह के बाद बारात पहुंचने पर कुलदेवी पूजन का कहे जाने पर प्रत्युत्तर में मीरां का कहना कि "पूजन करवा कांई फल होई"। महल की रानियों-कुंवरानियों का जवाब था कि इससे सुहाग अमर होगा। मीरा का पुन: जवाब में कहना कि अब से पूर्व अनेक रानियों-ठकुरानियां बाल अवस्था में दुहागिन हुई, तो क्या उन्होंने कुलदेवी का पूजन नहीं किया था? यह सुन कर सभी ठकुरानियां के नाराज होने और राणा को इस बात का पता चलने पर मीरां को अलग महल में अकेले ही भेजने का वर्णन है।

शोध के लिए महत्वपूर्ण

प्रतिष्ठान में 17वीं से 20वीं शताब्दी के मीरा सम्बंधी संग्रहित ग्रंथों में अब तक का अप्राप्य दुर्लभ ग्रंथ मिला है। मीरा के जीवन पर आधारित तत्कालीन घटनाओं का मारवाड़-मेवाड़ मिश्रित रंगीन चित्र श्ौली में बखूबी चित्रण किया गया है। यह शोध अध्येयताओं के लिए नई जानकारी जुटाने में सहायक होगा। -डॉ. कमलकिशोर सांखला, वरिष्ठ शोध सहायक, प्राच्य विद्या प्रतिष्ठान जोधपुर


LCD से लेकर डिस्क ब्रेक से लैस है जयपुर मेट्रो

02 June 2015
जयपुर. कल से पिंक सिटी मेट्रो सिटी होगी। देश का छठा शहर जहां मेट्रो चलेगी। सबसे बड़ी खासियत इसका देश में चल रही बाकी मेट्रो से आधुनिक होना है। इसमें न तो दिल्ली और बेंगलुरू मेट्रो की तरह झटके लगेंगे, न ही ट्रेनों के टकराने की आशंका होगी। कामर्शियल रन से दो दिन पहले दैनिक भास्कर के पाठकों के लिए मेट्रो ने इसका विशेष ट्रायल किया। इसमें भास्कर टीम ने 46 मिनट तक 18 किमी रूट का सफर किया।
मेट्रो ट्रेन में 1230 यात्री सफर कर सकेंगे। एक ट्रेन में दो मोटर कार और दो ड्राइविंग ट्रेलर कार होंगे। एक मोटर कार में 340 (सिटिंग 50 व स्टैंडिंग 290) और ड्राइविंग ट्रेलर कार में 315 (सिटिंग 43 व स्टैंडिंग 272) यात्री एक बार में सफर कर सकेंगे।

मेट्रो की वे तीन खास बातें, जो देश की किसी अन्य मेट्रो में नहीं

ट्रेन ऑपरेटर से पैसेंजर कर सकेंगे सीधे बात

कोच में प्रवेश द्वार के नजदीक पैसेंजर इमरजेंसी अलार्म हैंडल लगा हुआ है। सिस्टम पर लगा कांच हटाने के बाद लाल हैंडल को नीचे करना है। इसके बाद पैसेंजर ट्रेन ऑपरेटर से बात कर सकता है। यहीं लगे सीसीटीवी कैमरे से पैसेंजर को ट्रेन ऑपरेटर देख सकता है।

किसी भी हाल में ट्रैक से नहीं उतरेगी

ट्रेन के आगे और पीछे के कोच में कोलिजन बीम लगाए गए हैं। इसके कारण टकराने पर मेट्रो कभी ट्रैक से नहीं उतरेगी।

पहली बार डिस्क ब्रेक सिस्टम

झटके नहीं लगेंगे, क्योंकि नई तकनीक के व्हील माउंटेड डिस्क ब्रेक हैं। व्हील्स बबलिंग नहीं करते और झटका नहीं लगता।


बाल उगाने के नाम पर ठगे 1.80 लाख

01 June 2015
जयपुर। जयपुर निवासी विवेक शर्मा ने शहर के जवाहर नगर सर्किल पुलिस थाने में 1.80 लाख रुपए ठगने का मामला दर्ज करवाया है। पीडि़त का कहना है कि कुछ महीनों पहले उसके पास दिल्ली के ग्रेटर कैलाश इलाके से एडवांस हेयर स्टूडियो के नाम से मैसेज आया। मैसेज में कहा गया कि यदि आप बाल झडऩे की समस्या से परेशान हे तो इसका निदान जल्द ही जयपुर में मिलेगा। जब विवेक ने मैसेज में दिए गए नंबर पर संपर्क किया तो बताया गया कि जयपुर के एक फाइव स्टार होटल में हेयर ट्रीटमेंट एंड काउंसलिंग कैंप लगाया जाएगा। पीडि़त ने कैंप में जाकर अपनी परेशानी बताई। विवेक ने कैंप में बताया कि मैं 6 साल से बाल झडऩे की समस्या से परेशान हूं। काउंसलर्स और एक्सपर्ट ने विवेक को देखने के बाद कहा कि आपका हेयर क्राउन वापस नहीं आ पाएगा। आपको इसके लिए कॉस्मेटिक हेयर सर्जरी लेनी होगी। इसका खर्च लगभग 2 लाख रुपए होगा। आपके बालों का सैंपल लंदन जाएगा और एक विशेष स्किन बनकर आएगी। ऐसी सर्जरी कई बड़े क्रिकेट स्टार और बॉलीवुड सेलिब्रिटी करवा चुके हैं। विवेक का कहना है कि ऐसा सुनकर वे प्रभावित हो गए और उन्होंने ट्रीटमेंट के लिए 1.80 लाख रुपए जमा करवा दिए। विवेक के बालों का सैंपल लिया गया और थोड़े दिनों बाद आने को कहा। थोड़े दिनों बाद उन्हें ट्रीटमेंट के लिए दिल्ली बुलाया गया। ट्रीटमेंट के दौरान उनके क्राउन एरिया को शेव कर दिया गया और इस पर ग्लू से कॉस्मेटिक हेयर को चिपका दिया गया। विवेक का कहना है कि 15 दिन बाद ही मुझे सिरदर्द होने लग गया और बोल हटने लग गए। मेरे पहले वाले बाल भी उडऩे लग गए। मैंने देखा कि सिर में एलर्जी भी हो गई हैं। मैंने तुरंत जयपुर में स्किन एक्सपर्ट को दिखाया तो उन्होंने कहा कि इन बालों को दोबारा मत लगाना वरना बहुत बड़ी परेशानी हो सकती है। इसके बाद मैंने कंपनी को इस बारे में बताया तो उन्होंने मेरी शिकायत को नजरअंदाज कर दिया। मैंने उन्हें नोटिस भी भेजा, लेकिन उनका कोई जवाब नहीं आया। जब मैंने कंपनी की वेबसाइट पर अन्य यूजर्स की कम्प्लेंट देखीं तो सैकंड़ों शिकायत मेरी जैसी ही निकलीं। आखिरकार मैंने पुलिस में शिकायत की।


भाजपा नेता बोले, आरक्षण दे दें तो सोने से तोल देंगे वसुंधरा को

01 June 2015
जयपुर। भाजपा के राष्टï्रीय कार्यकारिणी सदस्य और दिल्ली के पूर्व विधायक रामवीर सिंह विधूड़ी ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को चुनौती दी है कि वे गुर्जरों के अपने कार्यकाल के शेष साढ़े 3 साल में भी आरक्षण दे दें तो उन्हें सार्वजनिक कार्यक्रम में सोने से तोल देंगे। उन्होंने इसी तरह सरकार से समझौता करने वाले गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी बैंसला को भी सोने से तोलने की बात की। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यदि उनके समाज को इस तरह भी आरक्षण मिलता है तो इससे अच्छी बात क्या होगी। विधूड़ी ने शनिवार को यहां जयपुर में प्रेस कांफ्रेंस में यह बात कही। उन्होंने कहा कि यह सब जानते हैं कि सरकार ने गुर्जरों के साथ जो भी समझौता किया है, वह पूरा होना संभव ही नहीं है। क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण दिया ही नहीं जा सकता। ऐसे में सरकार गुर्जरों को मूर्ख बना रही है। आरक्षित 50 फीसदी के अंदर से ही गुर्जरों को अलग से 5 फीसदी आरक्षण देने की घोषणा की जानी चाहिए। सरकार का मौजूदा समझौता निश्चित रूप से फिर से कोर्ट में उलझने वाला है, जैसा पहले हुआ था। सरकार ओबीसी के दो टुकड़े करे। एक बैकवर्ड और दूसरा अति बैकवर्ड। इसी के तहत समाधान निकाला जाना चाहिए। विधूड़ी ने अपनी ही पार्टी की सरकार पर वार करने के साथ यह भी कहा कि वे उनके समाज के कुछ लोगों की ओर से कर्नल बैंसला के नेतृत्व में किए जा रहे आंदोलन का समर्थन नहीं करते। यह आंदोलन हिंसात्मक और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाला है। लोगों को परेशान करने वाला है। ऐसे आंदोलन से बचना चाहिए।


सूने मकान में वृद्धा का जला शव मिला

01 June 2015
नाल।नाल रेलवे फाटक के पास एक निजी कॉलोनी के सूने मकान से एक वृद्धा का जला हुआ शव मिला है।नाल पुलिस थाने के एसएचओ नरेन्द्र पूनिया ने बताया कि मृतका की शिनाख्त बीकानेर में चौखूंटी रेलवे फाटक के पास रहने वाली शीला देवी (70) पत्नी हीरालाल कालरा के रूप में हुई है।
उसका जला हुआ शव मुक्ताप्रसाद नगर निवासी टैक्सी चालक सम्पतसिंह के सूने मकान से मिला है। पुलिस को घटना की सूचना सम्पतसिंह ने ही दी। उसने बयान में बताया कि वह रविवार को फनवल्र्ड वाटर पार्क आया था। रास्ते में अपने मकान को देखने गया तो मकान के दरवाजे खुले मिले और अंदर देखा तो यहां जली हुई लाश मिली। प्रथम दृष्टया हत्या का मामला माना जा रहा है। लाश तीन-चार दिन पुरानी जली हुई लगती है।

पुलिस अधीक्षक पहुंचे मौके पर

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक संतोष चालके, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवेन्द्रसिंह बिश्Aोई व सीओ सदर ने मौके पर पहुंच मुआयना किया। शव का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से मौके पर ही करवाया गया।
शव परिजनों को सुपुर्द, हत्या का मामला दर्ज : नाल में मृतका के शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद उसके पुत्र वेदप्रकाश को सुपुर्द कर दिया गया। वहीं जिस मकान में शीला देवी की लाश मिली, उसके मालिक सम्पतसिंह की ओर से एफआईआर दर्ज की गई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र बिश्Aोई ने बताया कि महिला शीला देवी को तेल से जलाकर मारा गया है। हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
डीएनए सैम्पल भी लिया : पुलिस ने बताया कि मृतका का शव परिजनों को सुपुर्द करने से पहले उसका डीएनए सैम्पल लिया गया है। मौके से मृतका का चश्मा व चप्पल भी मिली है।
20 मई को लापता हो गई थी : शीला देवी 20 मई को चौखूंटी रेलवे फाटक क्षेत्र में जयहिंंद स्कूल के पास वाली गली में एक किराए के मकान में अपने पुत्र वेदप्रकाश के साथ रहती थी। वह 20 मई को घर से बिना सूचना दिए ही निकल गई। घर वापस नहीं आने पर वेदप्रकाश ने अपनी मां की गुमशुदगी कोटगेट पुलिस थाना में दर्ज कराई थी।
घर से निकलने के ठीक 11 दिन बाद नाल रेलवे फाटक के पास स्थित एक कॉलोनी के सुने मकान से शीला देवी की जली हुई लाश बरामद हुई।