लाइफस्टाइल | बिजनेस | राजनीति | कैरियर व सफलता | छत्तीसगढ़ पर्यटन | स्पोर्ट्स मिरर | नियुक्तियां | वर्गीकृत | येलो पेजेस | परिणय | शापिंगप्लस | टेंडर्स निविदा | Plan Your Day Calendar



:: स्पोर्ट्स मिरर ::

 

 

मैरी कॉम का विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में पदक पक्का, सेमीफाइनल में प्रवेश
20 November 2018
नई दिल्ली। भारत की स्टार मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने मंगलवार को महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में 48 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ ही भारत के लिए एक पदक पक्का कर दिया। मैरी कॉम ने क्वार्टर फाइनल में चीन की वु यू को आसानी से 5-0 से हराया। अब उनका मुकाबला उत्तरी कोरिया की किम हुयांग मी से होगा, जिन्होंने कोरिया की बेक चोरोंग को हराकर अंतिम चार में जगह बनाई। मैरी कॉम अब रिकॉर्ड छठे स्वर्ण पदक से मात्र दो कदम दूर हैं। इस समय मैरी कॉम और आयरलैंड की कैटी टेलर विश्व चैंपियनशिप में 5-5 स्वर्ण पदकों के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर हैं। मणिपुर की यह 35 वर्षीया मुक्केबाज 2010 के बाद पहले विश्व खिताब के लिए चुनौती पेश कर रही हैं। मैरी कॉम ने अपने पहले प्रयास में रजत पदक जीतने के बाद पांच बार स्वर्ण पदक हासिल किया था। उन्होंने 2002 से 2010 के बीच लगातार पांच बार यह खिताब हासिल किया था।


ज्वेरेव ने जोकोविच को हराकर जीता एटीपी फाइनल्स खिताब
19 November 2018
लंदन। जर्मनी के युवा स्टार एलेक्झेंडर ज्वेरेव ने धमाकेदार प्रदर्शन कर उलटफेर करते हुए दुनिया के नंबर वन खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को सीधे सेटों में हराकर एटीपी फाइनल्स का खिताब हासिल किया। 21 वर्षीय जोकोविच ने 14 बार के ग्रैंड स्लैम चैंपियन जोकोविच को आसानी से 6-4, 6-2 से हराकर खिताब अपने नाम किया। ज्वेरेव ने पहले सेट में जोरदार और आक्रामक खेल दिखाया। उन्होंने तेज सर्विस के अलावा नेट पर आकर कई बार आक्रमण किया। 4-4 के स्कोर के बाद ज्वेरेव का दबाव काम आया और उन्होंने जोकोविच की सर्विस भंग की। इस टूर्नामेंट में पहली बार जोकोविच की सर्विस भंग हुई और ज्वेरेव ने 5-4 की बढ़त ली। उन्होंने 10वें गेम में तीन एस सर्विस करते हुए इस गेम के साथ ही पहला सेट 6-4 से जीता। ज्वेरेव ने दूसरे सेट में शुरू से ही दबाव बनाया और दो बार जोकोविच की सर्विस भंग की, वैसे एक बार उनकी सर्विस भी भंग हुई। जोकोविच ने वापसी की कोशिश की लेकिन जर्मन खिलाड़ी ने उन्हें कोई मौका नहीं दिया और यह सेट 6-2 से जीतते हुए अपनी सबसे बड़ी सफलता हासिल की। ज्वेरेव ने कहा, यह मेरी सबसे बड़ी जीत हैं। मैं यह खिताब जीतकर बहुत खुख हूं। मैं नोवाक को बधाई देना चाहता हूं कि उन्होंने इस वर्ष के दूसरे हाफ में शानदार खेल दिखाया।
पंकज आडवाणी की बड़ी कामयाबी, जीता 20वां विश्व खिताब जीता
16 November 2018
यांगून। भारत के दिग्गज क्यू खिलाड़ी पंकज आडवाणी ने गुरुवार को 150-अप प्रारूप में अपना लगातार तीसरा आईबीएसएफ बिलियर्ड्स खिताब जीता जिससे उनके कुल विश्व खिताबों की संख्या 20 हो गई। बेंगलुरु के 33 साल के आडवाणी ने बेहद रोमांचक फाइनल में म्यामांर के नाय थ्वाय ओ को हराया। आडवाणी 150-अप प्रारूप में खिताब के तुरंत बाद अब लंबे प्रारूप में भी हिस्सा लेंगे। आडवाणी ने फाइनल में 6-2 (150-21, 0-151, 151-0, 4-151, 151-11, 150-81, 151-109, 151-0) से जीत दर्ज की। उन्होंने सेमीफाइनल में डेविड कोजियर को 5-0 (150-73, 152-17, 152-8, 151-4, 157-86) से हराया था। मेजबान देश के लिए भी यह गौरवपूर्ण लम्हा रहा क्योंकि उसका खिलाड़ी पहली बार खिताबी मुकाबले में खेला। नाय थ्वाय ओ ने सेमीफाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए कई बार के चैंपियन माइक रसेल को 5-2 से शिकस्त दी थी। आडवाणी ने खिताब जीतने के बाद कहा, "यह जीत मेरे लिए बेहद विशेष है।यह परफेक्ट 20 है और मुझे खुशी है कि मैं और खिताब जीतने का भूखा हूं। यह सुखद है कि में वर्षों से शीर्ष स्तर पर खेलने में सक्षम हूं।"
साइना नेहवाल हांगकांग ओपन के पहले दौर में पराजित
15 November 2018
कोवलून। भारत की स्टार शटलर साइना नेहवाल को हांगकांग ओपन के पहले ही दौर में हार का सामना करना पड़ा। दुनिया की दूसरे क्रम की अकाने यामागुची ने कड़े संघर्ष के बाद साइना को 10-21, 21-10, 21-19 से हराया। साइना ने मैच में जबर्दस्त शुरुआत करते हुए पहला गेम आसानी से जीता तो उम्मीद जागी कि वे जापानी खिलाड़ी यामागुची के खिलाफ अपना रिकॉर्ड सुधार लेंगी लेकिन यामागुची ने पहला गेम हारने के बाद मैच में जोरदार वापसी की। उन्होंने दूसरा गेम आसानी से जीतकर मैच में 1-1 की बराबरी की। निर्णायक गेम बहुत संघर्षपूर्ण रहा और एक-एक अंक के लिए जद्दोजहद हुई। इस गेम में दोनों खिलाड़ी एक समय 17-17 की बराबरी पर थी इसके बाद जापानी खिलाड़ी ने बाजी मारी और दूसरे दौर में प्रवेश किया। पुरुषों के डबल्स वर्ग में भारत के मनु अत्री और सुमित रेड्डी की जोड़ी ने थाइलैंड के बोंडी इसारा और मानेपांग जोंगाजित की जोड़ी को सीधे गेमों में 21-12, 21-18 से हराया। दुनिया की 27वें क्रम की जोड़ी ने आसानी से यह मैच जीता।
फेडरर और एंडरसन ने एटीपी फाइनल्स में दर्ज की आसान जीत
14 November 2018
लंदन। रॉजर फेडरर ने एटीपी फाइनल्स में जीत दर्ज करते हुए अपनी उम्मीदों को बनाए रखा। फेडरर ने डॉमिनिक थिएम को सीधे सेटों में 6-2, 6-3 से हराया। केविन एंडरसन ने जापान के केई निशिकोरी को एकतरफा अंदाज में 6-0, 6-1 से शिकस्त दी। फेडरर को पहले राउंड रॉबिन मैच में केई निशिकोरी के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। सत्र समाप्ति के इस टूर्नामेंट में 46 ग्रुप मैचों में फेडरर की यह पहली सीधे सेटों में हार थी। यदि उन्हें एक हार और मिलती तो उनका सेमीफाइनल में पहुंचना मुश्किल हो जाता। 37 वर्षीय फेडरर ने शानदार वापसी कर थिएम को पराजित किया। फेडरर को अब गुरुवार को अंतिम राउंड रॉबिन मैच में केविन एंडरसन का सामना करना है। टूर्नामेंट में पहली बार खेल रहे एंडरसन दो जीत के साथ ग्रुप में शीर्ष पर चल रहे हैं और यदि फेडरर हार जाते या एक सेट गंवा देते तो एंडरसन सेमीफाइनल में पहुंच जाते। निशिकोरी एक अन्य मैच में एंडरसन के सामने टिक नहीं पाए और मात्र 64 मिनटों में समर्पण कर बैठे। एंडरसन ने एकतरफा अंदाज में निशिकोरी को रौंदा।
विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में नौ देश कर रहे पदार्पण
13 November 2018
नई दिल्ली। इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में गुरुवार से शुरू हो रही एआईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में चार परिसंघों से नौ देश टूर्नामेंट में पदार्पण करेंगे। चैंपियनशिप के 10वें संस्करण में मुक्केबाजी का मजबूत देश माना जाने वाला स्कॉटलैंड भी पदार्पण कर रहा है। इससे पहले पांच परिसंघों के 102 राष्ट्र बीते नौ संस्करणों में हिस्सा ले चुके हैं। इस टूर्नामेंट की शुरुआत 2001 में हुई थी। 2006 में जब दिल्ली में यह टूर्नामेंट हुआ था तब 33 देशों की 178 मुक्केबाजों ने हिस्सा लिया था। स्कॉटलैंड ने कुछ ही वर्ष पूर्व अपनी महिला टीम बनाई है। उसने इससे पहले कभी विश्व चैंपियनशिप में अपनी टीम नहीं उतारी। इस देश की तीन मुक्केबाजों में 19 साल की विक्टोरिया ग्लोवर हैं जो 57 किलोग्राम भारवर्ग में प्रतिस्पर्धा करेंगी। उनके अलावा स्कॉटलैंड की स्टेफनी केरनाचान 51 किलोग्राम भारवर्ग और मेगन रीड 64 किलोग्राम भारवर्ग में रिंग में उतरेंगी। स्कॉटलैंड के अलावा 2012 में एआईबीए में शमिल होने वाले देश कोसोवो की महिला टीम भी विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा ले रही है। कोसोवो के मुक्केबाजों ने पुरुषों की एलिट यूथ और जूनियर एआईबीए टूर्नामेंट में शिरकत की है। माल्टा इस चैंपियनशिप में पदार्पण करने वाला तीसरा देश है। इससे पहले माल्टा ने 2009 में पुरुषों की विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था। भारत का पड़ोसी देश बांग्लादेश भी इस टूर्नामेंट में अपनी तीन मुक्केबाजों के साथ पदार्पण कर रहा है। बांग्लादेश ने कुछ ही वर्ष पूर्व महिला मुक्केबाजी कार्यक्रम की शुरुआत की है। इसके अलावा केमैन आइलैंड की मुक्केबाज भी पहली बार विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगी। अफ्रीकी मुक्केबाजी परिसंघ के चार राष्ट्र कांगो, मोजांबिक, सिएरा लियोन और सोमालिया की मुक्केबाज पहली बार विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगी।
द. अफ्रीकी टीम की अनुकरणीय पहल, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नहीं करेगी यह काम
2 November 2018
पर्थ। दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम ने वादा किया कि वे रविवार से शुरु होने जा रही वनडे सीरीज में बॉल टैंपरिंग को लेकर ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ियों के खिलाफ कोई टिका टिप्पणी नहीं करेंगे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी इस वर्ष की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुई टेस्ट सीरीज में बॉल टैंपरिंग मामले में फंसे थे जिसके चलते ऑस्ट्रेलिया की बहुत बदनामी हुई थी। उस सीरीज के बाद पहली बार ये दोनों टीमें आमने-सामने होंगी। ऑस्ट्रेलिया को दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के हाथों टेस्ट सीरीज में और इंग्लैंड से वनडे सीरीज में हार झेलनी पड़ी थी। केपटाउन टेस्ट में बॉल टैंपरिंग के कारण कप्तान स्टीव स्मिथ, उपकप्तान डेविड वॉर्नर पर एक-एक साल और केमरान बेनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का प्रतिबंध लगाया गया। उस टेस्ट में खेले द. अफ्रीकी कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने कहा कि उनकी टीम इस मामले को नहीं उछालेगी। वो बीता हुआ कल हैं और हम आगे की तरफ देख रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका ने जब 2016 में ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था तो गेंद से छेड़छाड़ के कारण डु प्लेसिस पर जुर्माना लगा। दक्षिण अफ्रीका मजबूत टीम के साथ यहां पहुंचा है। हाशिम अमला उंगली की चोट और जेपी डुमिनी कंधे की चोट के कारण इस सीरीज में नहीं खेल रहै हैं। डेल स्टेन की टीम में वापसी हुई और वे कगिसो रबाडा, लुंगी नजीडी और इमरान ताहिर के साथ गेंदबाजी आक्रमण की जिम्मेदारी संभालेंगे।
एकता ने एशियन पैरा गेम्स की क्लब थ्रो स्पर्धा में जीता स्वर्ण पदक
10 October 2018
जकार्ता। एकता भयान ने एशियन पैरा गेम्स में महिलाओं की क्लब थ्रो स्पर्धा में भारत को चौथा स्वर्ण पदक दिलाया। भयान ने चौथे प्रयास में 16.02 मीटर का थ्रो लगाया। एकता ने संयुक्त अरब अमीरात की अलकाबी ठेकरा को हराकर एफ 32/51 वर्ग में स्वर्ण पदक जीता। एफ 32/51 खिलाड़ियों में हाथ की विकृति से संबंधित है। भयान ने इस साल इंडियन ओपन पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भी स्वर्ण पदक जीता था। भारत को जयंती बहेडा, आनंदन गुणशेखरन और मोनू घंगास ने भी तीन कांस्य पदक दिलाए। घंगास पुरुषों के शॉटपुट में तीसरे स्थान पर रहे। वहीं गुणशेखरन ने पुरुषों के 200 मीटर टी44/62/64 में कांसा अपने नाम किया। बहेडा ने महिलाओं की 200 मीटर टी45/46/47 स्पर्धा में तीसरा स्थान हासिल किया। भारत अभी तक तीन स्वर्ण समेत 11 पदक जीत चुका है।
एम्बापे के 13 मिनट में 4 गोल, PSG ने तोड़ा 82 साल पुराना रिकॉर्ड
8 October 2018
पेरिस। किलियन एम्बापे के चार गोलों की मदद से पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) ने रविवार को लीग वन (फ्रांस की शीर्ष घरेलू फुटबाल लीग) के मुकाबले में लियोन को 5-0 से हराकर लगातार नौवीं जीत दर्ज कर नया रिकॉर्ड अपने नाम किया। टीम ने सत्र के शुरुआती नौ मुकाबलों में जीत कर ओलिंपिक लिलोइस के 1936 में लगातार आठ जीत के रिकॉर्ड को तोड़ा। इससे पहले 29 सितंबर को पीएसजी ने नीस को 3-0 से हराकर इस रिकार्ड की बराबरी की थी। ब्राजील के स्टार खिलाड़ी नेमार ने नौवें मिनट में गोलकर टीम का खाता खोला इसके बाद युवा फ्रांसिसी स्टार एम्बापे ने 14 मिनट के अंदर दनादन चार गोल (61वें, 66वें, 69वें और 74वें मिनट में) कर टीम को 5-0 से जीत दिलाई। लीग वन में पिछले 45 सत्र में एक मैच में चार गोल दागने वाले एम्बापे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने। उन्होंने 19 वर्ष 9 महीने की उम्र में यह उपलब्धि हासिल की। इस जीत के साथ ही टीम के नौ मौचों में 27 अंक हो गए है जो दूसरे स्थान पर काबिज एलओएससी (लिली ओलिंपिक स्पोर्टिंग क्लब) से आठ अंक ज्यादा है।
INDvsWI: यह रिकॉर्ड बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने विराट
5 October 2018
राजकोट। भारत और वेस्टइंडीज के बीच राजकोट में खेले जा रहे टेस्ट मैच के दूसरे दिन कप्तान विराट कोहली ने शतक जमाया। कोहली ने 230 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौकों की मदद से 139 रन बनाए। इस शतक के साथ ही कोहली ने कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। विराट ने अपनी 139 रन की शतकीय पारी के दौरान साल 2018 में अपने एक हजार टेस्ट रन पूरे कर लिए। ये लगातार तीसरा मौका है जब विराट ने एक साल में हजार से ज्यादा रन बनाए हो। इससे पहले उन्होंने साल 2016 और 2017 में भी ये कारनामा किया था। - इसके अलावा लगातार साल भी एक हजार रन बनाने वाले वह दुनिया के पहले कप्तान बने। इस साल विराट ने 9 टेस्च मैच में करीब 64की औसत से अपने एक हजार रन पूरे किए। इस साल कोहली 4 शतक और 4 अर्धशतक लगा चुके हैं। साल 2017 में कोहली ने 10 टेस्ट मैच में 75 से ज्यादा की औसत से 1059 रन बनाए थे। पिछले साल कोहली ने टेस्ट मैचों में 5 शतक और 1 अर्धशतक लगाया था। वहीं साल 2016 में कोहली के बल्ले से 12 टेस्ट मैच में 76 की औसत से 1215 रन निकले थे। उस साल कोहली ने 4 शतक और 2 अर्धशतक लगाए थे। भारत में 3000 हजार रन भी किए पूरे विराट ने इस पारी में एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया। विराट ने भारत में अपने टेस्ट क्रिकेट के 3 हजार रन पूरे कर लिए हैं। भारत में विराट की 33 टेस्ट मैचों में औसत 65 से ज्यादा की है। अपने घरेलू जमीन पर विराट ने 11 शतक और 10 अर्धशतक लगाए हैं। विराट के नाम अपने देश में 5 दोहरे शतक भी है। इस दौरान उनका बेस्ट स्कोर 243 रन है, जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ बनाया था।
INDvsWI: डेब्यू मैच में शतक लगाने वाले पृथ्वी के लिए बधाइयों का लगा तांता
4 October 2018
नई दिल्ली। भारत के युवा ओपनर पृथ्वी शॉ ने राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में शानदार शतक जड़ा। अपने डेब्यू टेस्ट में शतक जमा कर इस क्रिकेटर ने सभी का दिल जीता। उनके शतक लगाते ही बधाइयों का तांता लग गया। पृथ्वी शॉ ने अपने पहले टेस्ट मैच में शतक जमाने के लिए 99 गेंदों का सामना किया। इस पारी में शॉ ने 15 चौके जड़े। शॉ अपने पहले मैच में लोकेश राहुल के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे, लेकिन जब इन दोनों के बीच तीन ही रन की साझेदारी हुई थी की राहुल आउट हो गए। इसके बाद पृथ्वी शॉ और पुजारा ने मिलकर भारतीय पारी को आगे बढ़ाते हुए 206 रनों की साझेदारी की। पृथ्वी शॉ भारत के लिए पहले टेस्ट मैच में शतक जड़ने वाले 15वें खिलाड़ी बन गए हैं। पृथ्वी की बल्लेबाजी देख भारत सहित विदेशी क्रिकेट दिग्गज भी इस युवा बल्लेबाज की पारी की तारीफ करे बिना नहीं रह पाए।
IND vs WI: पृथ्वी शॉ पहले टेस्ट में करेंगे डेब्यू, मयंक को नहीं मिला मौका
3 October 2018
राजकोट। पृथ्वी शॉ वेस्टइंडीज के खिलाफ गुरुवार से शुरू होने जा रहे पहले टेस्ट मैच में भारत की तरफ से टेस्ट डेब्यू करेंगे। भारत ने इस मैच के लिए अपने 12 खिलाड़ियों के नामों की घोषणा कर दी। मयंक अग्रवाल को मौका नहीं मिला। भारत को पिछले नौ महीनों में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में हार का सामना करना पड़ा लेकिन तब भी टेस्ट मैचों में दुनिया की नंबर एक टीम बना हुआ है। अब भारतीय टीम इंग्लैंड में मिली हार को पीछे छोड़ इस सीरीज़ पर फोकस कर रही है। वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले पहले टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम मैनेजमेंट ने 12 खिलाड़ियों के नाम का एलान किया है। पृथ्वी शॉ को मिलेगा मौका यह तय है कि भारत इस मैच में नयी सलामी जोड़ी के साथ मैदान पर उतरेगा। लोकेश राहुल के साथ भारतीय पारी की शुरुआत करेंगे। मयंक अग्रवाल को अंतिम 12 में जगह नहीं मिली है तो ऐसे में उन्हें अपने पदार्पण के लिए थोड़ा और इंतजार करना पडेगा। मध्यक्रम की जिम्मेदारी चेतेश्वर पुजारा, कप्तान विराट कोहली और उप कप्तान अंजिक्य रहाणे के ऊपर होगी। इनके हाथ में होगी भारतीय गेंदबाजी गेंदबाजी विभाग की बात करें तो भारत का तीन स्पिनरों - आर अश्विन, रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव के साथ खेलना तय है। जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को विश्राम देने तथा ईशांत शर्मा के चोटिल होने के बाद उमेश यादव और मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई करेंगे। चोटिल हार्दिक पांड्या की अनुपस्थिति में जडेजा ऑलराउंडर की भूमिका निभाएंगे। एशिया कप में वनडे में शानदार वापसी करने वाले जडेजा अपने घरेलू मैदान पर चमक बिखेरने के लिये तैयार होंगे। पंत पर भी होंगी सभी की निगाहें एक अन्य खिलाड़ी रिषभ पंत पर भी निगाह टिकी रहेगी जिन्होंने ओवल में 114 रन की पारी खेलकर टीम में अपनी जगह सुरक्षित रखी है। ओवल में अपने पदार्पण पर 56 रन बनाने वाले हनुमा विहारी को अंतिम एकादश में जगह नहीं मिल पाएगी क्योंकि टीम पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों को उतारना चाहती है। खुद को साबित करने आई वेस्टइंडीज भारत की यह सबसे दमदार टीम नहीं है लेकिन तब भी वह अनुभवहीन वेस्टइंडीज पर दबदबा बनाने में सक्षम है। कैरेबियाई टीम में प्रतिभा की कमी नहीं है लेकिन उन्हें भारत में खेलने का खास अनुभव नहीं है। उसकी 15 सदस्यीय टीम में से केवल पांच खिलाड़ियों को ही भारत में टेस्ट खेलने का अनुभव है और इनमें तेज गेंदबाज केमार रोच भी शामिल हैं जो बारबाडोस में अपनी नानी के निधन के कारण पहले मैच में नहीं खेल पाएंगे। जिन अन्य खिलाड़ियों को भारत में टेस्ट खेलने का अनुभव है उनमें देवेंद्र बिशू, क्रेग ब्रेथवेट, कीरन पावेल और शेनोन गैब्रियल शामिल हैं। वेस्टइंडीज नवंबर 2013 में सचिन तेंदुलकर की विदाई श्रृंखला में खेलने के बाद पहली बार भारत में टेस्ट खेल रहा है। कोच स्टुअर्ट लॉ की देखरेख में टीम ने कुछ अच्छे परिणाम दिए हैं। उसने पिछले साल इंग्लैंड को लीड्स में हराया जिसमें शाई होप ने 147 और नाबाद 118 रन की पारियां खेली थी। वेस्टइंडीज स्वदेश में श्रीलंका के खिलाफ 1-1 से ड्रा खेलने और बांग्लादेश पर 2-0 की जीत दर्ज करने के बाद भारत दौरे पर आ रहा है। लॉ को अपनी टीम से काफी उम्मीद हैं। उनकी टीम ने वड़ोदरा में दो दिवसीय अभ्यास मैच खेलने से पहले दुबई में अभ्यास किया था। लॉ ने कहा, ‘भारत का दौरा करना दूसरी टीमों के लिए हमेशा मुश्किल होता है। हमें दुनिया को दिखाना होगा हम भी अच्छा खेल सकते हैं और मौके का फायदा उठा सकते हैं।’ वेस्टइंडीज़ ने 2002 में जीती थी भारत से सीरीज़ भारत को आठवें नंबर की वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत से बहुत कुछ हासिल नहीं होगा लेकिन कैरेबियाई टीम अपना प्रभाव छोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। उसे भारत के खिलाफ 2002 के बाद अपनी पहली जीत का इंतजार है जबकि भारतीय सरजमीं पर उसने 1994 के बाद कोई मैच नहीं जीता है। टीमें : भारत (अंतिम 12) : विराट कोहली (कप्तान), केएल राहुल, पृथ्वी शॉ, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रिषभ पंत, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर। वेस्टइंडीज : जेसन होल्डर (कप्तान), सुनील एम्ब्रिस, देवेंद्र बिशू, क्रेग ब्रैथवेट, रोस्टन चेज, शेन डोविच, शैनन गैब्रियल, जहमार हैमिल्टन, शिमरान हेटमायर, शाई होप, शेरमेन लुईस, केमो पॉल, कीरन पॉवेल, जोमेल वार्रिकैन में से।
INDvsBAN: जाधव का खुलासा, इस वजह से फाइनल में मिली जीत
29 September 2018
दुबई। भारत ने एशिया कप के फाइनल में बांग्लादेश पर अंतिम गेंद पर जीत दर्ज कर खिताब हासिल किया। चोटिल केदार जाधव ने भारत के लिए विजयी रन बनाया और भारत ने सातवीं बार यह खिताब अपने नाम किया। बांग्लादेश ने लिटन दास के शतक (121) की मदद से 222 रन बनाए थे और भारत ने अंतिम गेंद पर विजयी रन बनाकर 3 विकेट से मैच जीता। विजयी रन बनाने वाले केदार ने खुलासा किया कि उन्होंने बांग्लादेशी कप्तान की किस गलती का लाभ उठाया और टीम को जीत दिलाई। केदार जाधव हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण रिटायर होकर पैवेलियन लौट चुके थे लेकिन रवींद्र जडेजा के आउट होने के बाद वे फिर मैदान में उतरे। अंतिम ओवर में भारत को जीत के लिए 6 रन की जरुरत थी और क्रीज पर मौजूद थे केदार जाधव और कुलदीप यादव। जाधव ने कहा, अंतिम ओवर में जब हमे 6 रन चाहिए तो बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा को लगा कि हमम बड़े शॉट यानी चौके या छक्के लगाने की कोशिश करेंगे इसी वजह से उन्होंने अधिकांश फील्डर बांउड्री पर लगा दिए। हमने देखा कि 30 गज के सर्कल में ज्यादा खिलाड़ी नहीं है इसलिए हमने सिंगल और डबल्स से मैच अपने नाम कर लिया। जाधव ने यह भी स्वीकारा कि जिस तरह दूसरे छोर पर कुलदीप ने बल्लेबाजी की उससे भी मुझे काफी आत्मविश्वास मिला। केदार ने फाइनल में 27 गेंद पर 1 चौके और 1 छक्के की मदद से नाबाद 23 रन बनाए। गेंदबाजी में केदार जाधव का जादू देखने को मिला। केदार ने ना केवल बांग्लादेश को बड़ा स्कोर बनाने से रोका बल्कि वे जोड़ी ब्रेकर भी साबित हुए। एक वक्त बांग्लादेश 20 ओवर में बिना कोई विकेट खोए 120 रन बना चुका था, भारत के सभी प्रमुख गेंदबाज विकेट लेने में नाकाम साबित हुए। ऐसे में केदार जाधव को गेंद सौंपी गई और उन्होंने कप्तान को निराश नहीं किया। उन्होंने मेहदी हसन को पैवेलियन भेज अपनी टीम को पहली सफलता दिलाई। यही नहीं इसके बाद जाधव ने टूर्नामेंट में शानदार फॉर्म में चल मुश्फिकुर रहीम को भी बुमराह के हाथों कैच आउट करवा बांग्लादेश को सबसे बड़ा झटका दिया। इस मैच में केदार ने 9 ओवर की गेंदबाजी में 41 रन देकर 2 विकेट झटके।
बांग्लादेश की भारत के खिलाफ आक्रामक शुरुआत
28 September 2018
दुबई। बांग्लादेश ने शुक्रवार को एशिया कप के फाइनल में भारत के खिलाफ आक्रामक शुरुआत की। बांग्लादेश ने 5 ओवरों में बिना किसी नुकसान के 33 रन बना लिए हैं। लिटन दास 22 और मेहदी हसन 9 रन बनाकर क्रीज पर हैं। भारत ने शुक्रवार को एशिया कप फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। भारत ने प्लेइंग इलेवन में 5 बदलाव किए। बांग्लादेश ने एक बदलाव कर मोमिनुल हक की जगह नजमुल इस्लाम को शामिल किया। भारत इस मैच में अपनी फर्स्ट प्लेइंग इलेवन के साथ मैदान में उतरेगा, इसलिए टीम में रोहित शर्मा, शिखर धवन, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और युजवेंद्र चहल की वापसी होगी। इस वजह से केएल राहुल, मनीष पांडे, खलील अहमद, सिद्धार्थ कौल और दीपक चाहर को बाहर बैठना पड़ा। भारत शुक्रवार को एशिया कप के फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ अपने खिताब की रक्षा करने उतरेगा। यह मुकाबला थोड़ी देर में शुरु होगा। भारत जहां इस टूर्नामेंट में सातवीं बार चैंपियन बनना चाहेगा वहीं बांग्लादेश पहली बार इस खिताब पर कब्जा जमाने के लिए पूरी ताकत लगाएगा। भारत ने सुपर-4 के मैच में बांग्लादेश को 7 विकेट से हराया था लेकिन इस बार फाइनल में इनके बीच जोरदार मुकाबला होने की उम्मीद है। टीम इंडिया ने जहां इस टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं हारा है इसलिए रोहित शर्मा के जांबाजों के हौसले बुलंद होंगे। वैसे उन्हें बांग्लादेश के मुश्फिकुर रहीम और मुस्ताफिजुर रहमान से बचकर रहना होगा। रहीम जहां खूब रन बना रहे हैं, वहीं मुस्ताफिजुर का भारत के खिलाफ पुराना रिकॉर्ड बहुत जबर्दस्त रहा है। बांग्लादेश को भारतीय सलामी बल्लेबाजों रोहित और शिखर धवन से सतर्क रहना होगा। भारतीय गेंदबाजों ने भी विपक्षी बल्लेबाजों का काम मुश्किल कर रखा है। वैसे मशरफे मुर्तजा की टीम बगैर किसी दवाब के खुलकर खेलेगी क्योंकि तमिम इकबाल और शाकिब अल हसन की अनुपस्थिति के चलते उनकी दावेदारी को कमजोर माना जा रहा है। बांग्लादेश अपने गेंदबाजी आक्रमण में तो कोई बदलाव नहीं करना चाहेगा। बल्लेबाजी में उसकी चिंता टॉप थ्री को लेकर है क्योंकि ये अभी तक अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। शाकिब के चोट के कारण टूर्नामेंट से बाहर होने से बांग्लादेश की मुश्किलें बढ़ गई हैं। इसके मद्देनजर ऐसा लगता है कि लिटन दास, सौम्या सरकार और मोमिनुल हक को एक मौका मिलेगा। टीमें - भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, अंबाती रायुडू, दिनेश कार्तिक, महेंद्रसिंह धोनी, केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह। बांग्लादेश : लिटन दास, सौम्या सरकार, नजमुल इस्लाम, मोहम्मद मिथुन, मुश्फिकुर रहीम, इमरूल कायस, महमदुल्लाह, मशरफे मुर्तजा (कप्तान), मेहदी हसन, रूबेल हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान।
फेडरर, ज्वेरेव की जीत से टीम यूरोप का लेवर कप पर कब्जा बरकरार
25 September 2018
शिकागो। जर्मनी के टेनिस खिलाड़ी एलेक्जेंडर ज्वेरेव की दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन के ऊपर जीत के साथ ही टीम यूरोप ने विश्व टीम को मात देकर रॉड लेवर कप का खिताब अपने पास ही रखा। टीम यूरोप ने विश्व टीम को 13-8 से हराया। एलेक्जेंडर ने एंडरसन को टूर्नामेंट के अंतिम दिन 6-7, 7-5 10-7 से मात दी। इससे पहले, टीम यूरोप का हिस्सा रहे रॉजर फेडरर ने जॉन इस्नर को 6-7, 7-6, 10-7 से मात दी। फेडरर और ज्वेरेव हालांकि डबल्स मुकाबलों में इस्नर और जैक सोक की जोड़ी से मात खा गए थे। यूरोप ने दिन की शुरुआत 7-5 की बढ़त के साथ की थी। उसे अंतिम दिन जीत के लिए तीन अंकों की आवश्यकता थी। ज्वरेव ने कहा कि मैं इस जीत से काफी खुश हूं। हमने खिताब का अच्छे से बचाव किया। फेडरर अच्छे कोच नहीं हैं, लेकिन उन्होंने मेरी काफी मदद की। उन्होंने मुझे कई अच्छी रणनीतिक सलाह दी और उन्होंने काम भी किया क्योंकि मैं दूसरा सेट जीता और फिर मैच का टाई ब्रेक भी। टीम यूरोप ने प्राग में हुए पिछले सत्र में जीत हासिल की थी। अगले वर्ष यह टूर्नामेंट जेनेवा में 20-22 सितंबर के बीच आयोजित किया जाएगा।
Asia Cup: धवन-रोहित के शतकों से भारत की पाक पर सबसे बड़ी जीत
24 September 2018
दुबई। शिखर धवन (114) और रोहित शर्मा (111 नाबाद) के शतकों की मदद से भारत ने रविवार को एशिया कप के सुपर-4 राउंड में पाकिस्तान पर 9 विकेट से धमाकेदार जीत दर्ज की। 238 रनों के टारगेट को भारत ने 39.3 ओवरों में 1 विकेट खोकर हासिल किया। यह भारत की पाकिस्तान पर विकेटों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले पाकिस्तान ने शोएब मलिक के अर्द्धशतक (78) की मदद से 7 विकेट पर 237 रन बनाए। एक अन्य मैच में अबुधाबी में बांग्लादेश के हाथों अफगानिस्तान की हार के साथ ही भारत ने फाइनल में प्रवेश कर लिया। भारत ने इस जीत के साथ ही एशिया कप के फाइनल में प्रवेश कर लिया। धवन और रोहित ने पहले विकेट के लिए रिकॉर्ड दोहरी शतकीय (210) साझेदारी की। टूर्नामेंट के इस संस्करण में भारत की पाकिस्तान पर लगातार दूसरी जीत है। यह भारत की पाकिस्तान पर विकेटों के लिहाज से वनडे में सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले भारत ने छह बार पाकिस्तान को 8 विकेट से हराया है जिनमें इस संस्करण में 19 सितंबर को मिली जीत भी शामिल है। टीम इंडिया जब लक्ष्य का पीछा कर रही थी तब रोहित शर्मा भाग्यशाली रहे कि उन्हें 12 के स्कोर पर जीवनदान मिला। रोहित का अफरीदी की गेंद पर कवर्स पर इमाम ने आसान कैच छोड़ा। धवन ने शादाब खान की गेंद पर चौका लगाकर वनडे में 26वीं फिफ्टी पूरी की। रोहित ने आमिर की गेंद पर 2 रन लेकर फिफ्टी पूरी की। रोहित जब 81 रनों पर थे तब शादाब की गेंद पर फखर जमान ने उनका आसान कैच छोड़ा। धवन ने अफरीदी की गेंद पर चौका लगाकर शतक पूरा किया। वे 109 गेंदों में 14 चौकों और 2 छक्कों की मदद से सेंचुरी तक पहुंचे। धवन शतक पूरा करने के बाद जोखिमभरा रन चुराने के प्रयास में रन आउट हुए। उन्होंने 100 गेंदों में 16 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 114 रन बनाए। रोहित ने शोएब मलिक की गेंद पर 2 रन लेकर शतक पूरा किया। यह उनका 19वां वनडे शतक हैं। उन्होंने इस पारी के दौरान जैसे ही 94 रन पूरे किए थे, उनके वनडे क्रिकेट में 7000 रन पूरे हुए थे। वे यह कमाल करने वाले नौवें भारतीय बल्लेबाज बने। रोहित 119 गेंदों का सामना कर 7 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 111 रन बनाकर नाबाद रहे। रोहित के साथ अंबाती रायुडू 12 रन बनाकर नाबाद रहै। इसके पूर्व पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। चहल ने अपने पहले ओवर में भारत को सफलता दिलाई जब उन्होंने इमाम को पैवेलियन लौटाया। इमाम को अंपायर ने एलबीडब्ल्यू नहीं दिया था, लेकिन भारत ने रिव्यू लिया और फैसला उनके पक्ष में आया। इमाम ने 10 रन बनाए। फखर जमान ने आक्रामक अंदाज में खेलना शुरू ही किया था कि वे कुलदीप यादव की गेंद को स्वीप करने के चक्कर में एलबीडब्ल्यू हुए। फखर स्वीप करने के प्रयास में फिसल गए थे। उन्होंने 44 गेंदों में 31 रन बनाए। अभी पाक इस सदमे से उबरा भी नहीं था कि बाबर आजम कप्तान सरफराज के साथ तालमेल गड़बड़ाने से रन आउट हुए। वे मात्र 9 रन बना पाए। 58 रनों पर तीसरा विकेट गिरने के बाद शोएब और सरफराज पाक की पारी को संभाला। मलिक ने भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर 1 रन लेते हुए फिफ्टी पूरी की। यह उनकी भारत के खिलाफ 11वीं और कुल 43वीं फिफ्टी है। उन्होंने 64 गेंदों में 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से फिफ्टी पूरी की। कुलदीप ने सरफराज को कवर्स पर रोहित के हाथों झिलवाया। उन्होंने 44 रन बनाए और मलिक के साथ चौथे विकेट के लिए 107 रन जोड़े। अब पाक की उम्मीद मलिक पर टिक गई थी लेकिन वे जसप्रीत बुमराह की गेंद पर विकेटकीपर धोनी को कैच दे बैठे। उन्होंने 90 गेंदों का सामना कर 4 चौको और 2 छक्कों की मदद से 78 रन बनाए। आसिफ अली (30) को चहल ने बोल्ड किया। शादाब खान (10) को बुमराह ने बोल्ड किया। भारत ने प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं किया। पाकिस्तान ने टीम में दो बदलाव किए। उस्मान खान की जगह मो. आमिर और हैरिस सोहैल की जगह शादाब खान को लिया गया। लगातार तीन जीत दर्ज कर चुका भारत रविवार को एशिया कप के सुपर-4 राउंड में पाकिस्तान के खिलाफ किसी तरह की ढिलाई नहीं बरतेगा। टीम इंडिया इस बात को अच्छी तरह से जानती है कि यदि मौका मिला तो पाकिस्तान कभी भी वापसी कर लेती है। इन दोनों टीमों के बीच ग्रुप में हुए मैच में भारत ने 8 विकेट से जीत दर्ज की थी। हांगकांग के खिलाफ संघर्षपूर्ण जीत के बाद टीम इंडिया ने पाक को आसानी से हराया था। बांग्लादेश को 7 विकेट से हराने के बाद भारत के हौसले बुलंद होंगे। भुवनेश्वर कुमार ने टीम को शुरुआती सफलता दिलाई जिसके बाद भारतीय स्पिनरों ने दबाव बनाया था। रवींद्र जडेजा ने पिछले मैच में शानदार गेंदबाजी की थी और टीम को उनसे इस मैच में भी जबर्दस्त प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी। भारत की बल्लेबाजी अच्छी चल रही है और उसके ओपनर्स लय में दिख रहे हैं। शिखर धवन ने पाक के खिलाफ तो रोहित ने बांग्लादेश के खिलाफ फिफ्टी लगाई। अंबाती रायुडू और केदार जाधव भी लय में है जबकि महेंद्रसिंह धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ अच्छी पारी खेली। पाकिस्तान को अफगानिस्तान पर जीत दर्ज करने में पसीना आ गया। 258 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए पाक के लिए इमाम उल हक और बाबर आजम ने फिफ्टी जड़ी। इसके बाद विषम परिस्थिति में शोएब मलिक ने अपने अनुभव का लाभ उठाते हुए नाबाद अर्द्धशतक लगाकर टीम को जीत दिलाई थी। पाक ने शाहिन अफरीदी को मौका दिया और उन्होंने इसे सही साबित किया। टीमें - (संभावित) : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, अंबाती रायुडू, दिनेश कार्तिक, केदार जाधव, महेंद्रसिंद धोनी, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल। पाकिस्तान : फखर जमान, इमाम उल हक, बाबर आजम, शादाब खान, शोएब मलिक, सरफराज अहमद (कप्तान), आसिफ अली, मोहम्मद नवाज, हसन अली, मो. आमिर, शाहिन अफरीदी।
एशियन गेम्स 2018 : 12वें दिन एथलेटिक्स में भारत को दो गोल्ड, अब तक इतने मेडल
31 August 2018
नई दिल्ली। एशियन गेम्स 2018 का 12वां दिन भारत के लिहाज से शानदार रहा। एथलेटिक्स इवेंट के आखिरी दिन भारत ने दो गोल्ड समेत पांच मेडल जीते। लेकिन हॉकी में भारत के हाथ मायूसी लगी, जब पिछली बार की चैंपियन टीम भारत को मलेशिया के हाथों सेमीफाइनल में हार मिली। भारत के अब कुल 59 पदक हो गए हैं। जिसमें 13 गोल्ड, 21 सिल्वर और 25 ब्रॉन्ज मेडल हैं। इसके साथ ही भारत ने इंचियोन एशियन गेम्स-2014 को पीछे छोड़ दिया है। पिछले एशियाड में भारत के खाते में कुल 57 पदक आए थे। साथ ही भारत अब तक 13 गोल्ड मेडल जीतकर इंचियोन के प्रदर्शन से आगे निकल आया है। इंचियोन में 11 गोल्ड मिले थे। गुरुवार को भारत को दो गोल्ड एथलेटिक्स इवेंट में मिले। पहले पुरुषों के 1500 मीटर में जॉनसन ने भारत को गोल्ड दिलाया तो दूसरा गोल्ड महिलाओं के 4X400 मीटर रिले में आया। ये भारत का इस एशियन गेम्स में 13वां गोल्ड था। इससे पहले 1998 में भारत ने इस इवेंट में सिल्वर जीता था। उसके बाद ये पहला मेडल है। केरल से ताल्लुक रखने वाले 27 वर्षीय जॉनसन इससे पहले एशियन गेम्स 2018 में ही 800 मीटर के फाइनल में सिल्वर मेडल जीता था। इस एशियन गेम्स में ये जॉनसन का दूसरा पदक है। जिनसन जॉनसन ने 1500 मीटर फाइनल में भारत को इस एशियन गेम्स का 12 वां गोल्ड जिताया था। उन्होंने 1500 मीटर फाइनल रेस को 3:44:72 सेकेंड में पूरा करते हुए सुनहरी कामयाबी हासिल की। ट्रैक एंड फील्ड में जॉनसन का रिकॉर्ड बेहद शानदार रहा है। उन्होंने वर्ष 2015 में वुहान में आयोजित एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 800 मीटर इवेंड में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। इसके लिए उन्होंने 1:49:98 सेकेंड का समय निकाला था। इसी वर्ष थाइलैंड में आयोजित एशियन ग्रां प्री में तीन गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। वर्ष 2016 जुलाई में बैंगलुरू में उन्होंने 800 मीटर के रेस में 2016 समर ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था और उन्होंने इस दौरान अपना व्यक्तिगत बेस्ट टाइम (1:45:98) निकाला था। इसके अलावा भारत की सीमा पुनिया ने 62.26 के स्कोर के साथ भारत को डिस्कस थ्रो में ब्रॉन्ज मेडल दिलाया।
Asian Games Live : बॉक्सिंग में भारत के दो पदक पक्के, अमित और विकास सेमीफाइनल में
29 August 2018
जकार्ता। भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल और विकास कृष्णन ने 18वें एशियन गेम्स में अपने-अपने वर्गों के सेमीफाइनल में पहुंचकर कम से कम दो कांस्य पदक पक्के कर दिए। अमित पंघाल ने 49 किग्रा वर्ग में उत्तर कोरियाई बॉक्सर किम जांग रियांग को 5-0 से हराकर किया सेमीफाइनल में प्रवेश किया। अब उनका मुकाबला फिलीपींस के कार्लो पाल्लम से होगा। विकास ने 75 किग्रा वर्ग में चीन के इरबेक तंगलाथियान को 3-2 से हराया। अब उनका मुकाबला कजाकिस्तान के अमानुल आबिलखान से होगा। महिला अंडर-51 किग्रा वर्ग के क्वार्टरफाइनल में भारत की सरजूबाला देवी को चीन की चेंग युआन के हाथों 0-5 से हार झेलनी पड़ी। स्क्वैश महिला टीम इवेंट भारतीय महिला स्क्वॉश टीम ने ग्रुप स्तर में खेले गए मैच में जीत हासिल की। पूल-बी में भारत ने चीन को 3-0 से हराया। भारतीय टीम में जोशना चिनप्पा, दीपिका पल्लीकल, सुनयना और तन्वी खन्ना शामिल हैं। प्री-क्वार्टर फाइनल में हारे अमलराज-मधुरिका भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी अमलराज एंथोनी और मधुरिका पाटकर की जोड़ी को 18वें एशियाई खेलों में बुधवार को मिश्रित युगल स्पर्धा से बाहर होना पड़ा। कयाक युगल-1000 मीटर के सेमीफाइनल में भारत भारत के नाओचा सिंह और चिंग सिंह की भारतीय जोड़ी ने 18वें एशियाई खेलों में 11वें दिन बुधवार को नौकायन में पुरुषों की कयाक युगल-1000 मीटर स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। नाओचा और चिंग की जोड़ी को इस स्पर्धा की अंतिम सूची में 11वां स्थान हासिल हुआ। भारतीय जोड़ी ने हीट-1 में तीन मिनट और 53.449 सेकेंड का समय लेकर स्पर्धा को पूरा करते हुए छठा स्थान हासिल किया था।
Asian Games: टेबल टेनिस में 60 साल बाद पहला मेडल, पुरुषों की टीम ने किया कारनामा
28 August 2018
जकार्ता। भारत की पुरुष टेबल टेनिस टीम ने 18वें एशियन गेम्स में इतिहास रच दिया है। भारतीय टीम ने सेमीफाइनल मुकाबले में दक्षिण कोरिया को 3-0 से मात देकर कांस्य पर कब्जा जमाया। ब्रॉन्ज मेडल जीतकर भारतीय पुरुष टीम ने पहली बार इस इवेंट में कोई मेडल जीतने की उपलब्धि हासिल की है। 1958 में पहली बार एशियन गेम्स में शामिल किए गए इस खेल में भारत ने पहली बार कोई पदक जीता है। खिलाड़ियों ने इस मैच से पहले कहा था कि, हमने सपने में भी नहीं सोचा था कि हमें एशियन गेम्स में मेडल मिलेगा। पहले मैच में साथियान गनाशेखरन को दक्षिण कोरिया के खिलाड़ी सांग्सु ली ने 11-9, 9-11, 3-11, 3-11 से मात देकर अपनी टीम का खाता खोला। दूसरे मैच में भी भारत को हार का सामना करना पड़ा। अचंता शरथ कमल को सिक योंग जियोंग ने 9-11, 9-11, 11-6, 11-7, 8-11 से हरा दिया। भारत तीसरे मैच में मिली हार के कारण फाइनल में कदम रखने से चूक गया था। तीसरे मैच में दक्षिण कोरिया के वुजिन जांग ने एंथोनी अमलराज को 11-5, 11-7, 4-11, 11-7 से मात दी।
कौन है वह विश्व कप विजेता टीम का भारतीय क्रिकेटर, जो सटोरिए के संपर्क में था
25 August 2018
नई दिल्ली: भारत और इंग्लैंड के बीच जारी पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के बीच एक और चौंकाने वाली खबर अचानक से करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों के बीच चर्चा का विषय बन गई है. खबर यह है कि एक साल 2011 विश्व कप जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम का एक सदस्य साल 2008-09 के सत्र में बुकी के संपर्क में था. और अब इस मामले में जस्टिस लोढ़ा ने क्रिकेट प्रशासकीय कमेटी (सीओए) को खिलाड़ी और बुकी विवाद की जांच के निर्देश दिए हैं. लेकिन क्रिकेटप्रेमियों के बीच यह चर्चा लगातार हो रही है. और तेजी से नए मुकाम की ओर बढ़ती दिख रही है कि आखिर बुकी से संपर्क में रहने वाला वह क्रिकेटर कौन था. सभी अपने-अपने अनुमान लगा रहे हैं. बता दें कि वीरवार को देश के अग्रणी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने एक भारतीय क्रिकेटर को लेकर यह खबर छापी थी कि साल 2011 विश्व कप विजेता टीम का खिलाड़ी एक अंतरराष्ट्रीय मुकाबले से पहले बुकी के संपर्क में था. अखबार के हवाले से जस्टिस लोढ़ा ने कहा कि क्रिकेट प्रशासकीय कमेटी के लिए सर्वश्रेष्ठ बात इस मामले की तुरंत जांच करना है. उन्होंने कहा कि क्रिकेट से जुड़े मामलों की प्रमुख सीओए को इस बाबत पहल करनी चाहिए और इस मामले को उसे एक तार्किक निष्कर्ष तक लेकर जाना चाहिए. बीसीसीआई के पास इस मामले की जांच करने के लिए पहले से ही भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई है जस्टिस लोढ़ा ने कहा कि अगर किसी कारण वह जांच नहीं करते तो, बीसीसीआई को सुप्रीम कोर्ट के समक्ष आवेदन करना चाहिए. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किया गया व्यक्ति इस मामले की जांच करेगा. सीओए को आवेदन या रिपोर्ट के जरिए सुप्रीम कोर्ट के संज्ञान में इस मुद्दे को लाना चाहिए. सीओए नियमित रूप से लोढ़ा सुधार पर अनुपालन रिपोर्ट कोर्ट में दाखिल करता है. ऐसे में उन्होंने इस बारे में भी सुप्रीम कोर्ट को जानकारी देनी चाहिए. जस्टिस लोढ़ा ने कहा कि मैंने अपनी रिपोर्ट में यह लिखा है कि मैच-फिक्सिंग संभव नहीं है, लेकिन स्पॉट-फिक्सिंग संभव है और यह होती है. भारतीय टीम ने साल 2011 में श्रीलंका को हराकर 28 साल बाद विश्व कप जीता था. लेकिन अब इंग्लैंड पर जीत के बीच गलत वजहों से चर्चा में है. और भारत के करोड़ों क्रिकेटप्रेमियों का सवाल यही है कि आखिर बुकी से संपर्क में रहने वाला वह क्रिकेटर कौन है, जो साल 2008-09 में बुकी के संपर्क में था. और जो विश्व कप विजेता टीम का सदस्य 2011 में था.
एशियन गेम्स 2018: कबड्डी में गोल्ड चूका भारत, महिला टीम भी फाइनल में ईरान से हारी
24 August 2018
नई दिल्ली। एशियन गेम्स 2018 में भारत का कबड्डी में गोल्ड जीतने का सपना टूट गया। पुरुषों की टीम के बाद महिला टीम भी ईरान से फाइनल में हार गई और उसे सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। महिला कबड्डी के फाइनल में ईरान ने भारतीय महिला टीम को 27-24 के अंतर से मात दी। फाइनल मुकाबले में इरान की टीम शुरुआत से ही भारतीय टीम पर भारी पड़ी। बीच बीच में टीम इंडिया ने वापसी की लेकिन वह इरान की चुनौती पार नहीं कर पाई। इस मैच में अंपायरिंग को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। इरान ने पहली बार एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है, वहीं भारत पिछले दो बार साल 2018 और 2014 में स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहा था। फाइनल मैच में भी कप्तान पायल चौधरी मे रेड मारकर भारत का खाता खोला। हालांकि इसके बाद इरान ने वापसी कर स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया। रणदीप खेरा, पायल और शोनाली की रेडिंग के साथ-साथ रितु नेगी और साक्षी के डिफेंस के दम पर भारत ने ईरान के खिलाफ 13-8 की बढ़त बना ली थी, लेकिन ईरान ने आक्रमक रेडिंग और मजबूज डिफेंस की बदौलत पहले हाफ में भारत के खिलाफ स्कोर 11-13 कर लिया। दूसरे हाफ में भी इरान ने भारत को दबाव में रखा और एक समय 24-20 की बढ़त बना ली थी। इसके बाद रितु नेगी ने भारत को एक अंक दिलाया और स्कोर 24-21 कर दिया। इसके बाद खराब रेडिंग के चक्कर में भारत 4 अंक से पिछड़ गया, लेकिन तभी साक्षी ने सुपर रेड मारकर तीन अंक लिए और वापसी करते हुए स्कोर 24-24 कर दिया था, लेकिन ईरान ने यहां आखिर में खुद पर काबू रखते हुए मैच को 27-24 से जीत कर स्वर्ण पदक जीत लिया।
Asian Games LIVE : 15 साल के शार्दुल ने जीता सिल्वर
23 August 2018
जकार्ता। एशियन गेम्स में गुरुवार को भारत को एक रजत और एक कांस्य पदक मिला। शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप इवेंट में सिल्वर मेडल जीता। 15 साल के शार्दुल ने पांचवें दिन भारत को चौथा सिल्वर मेडल दिलाया है। विहान ने पुरुषों की डबल ट्रैप स्पर्धा में 73 के स्कोर के साथ सिल्वर मेडल जीता। कोरिया के ह्यूनवुड शिन ने गोल्ड जबकि कतर के हमाद अली अल मारी ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। इससे पहले अंकिता रैना ने महिला सिंगल्स टेनिस में कांस्य हासिल किया। भारत अब तक 4 गोल्ड, 4 सिल्वर और 9 बॉन्ज मेडल जीत चुका है। यह तीसरा मौका है जब एशियन गेम्स में टेनिस के महिला सिंगल्स में भारत को पदक मिला है। इससे पहले सानिया मिर्जा 2006 में रजत और 2010 में कांस्य पदक जीत चुकी हैं। टेनिस में एक और पदक पक्का हो गया है। मैन्स डबल में रोहन बोपन्ना और दिविज सरन की जोड़ी फाइनल में प्रवेश कर गई है। इस जोड़ी ने सेमीफाइनल में जापान के के. उसूगी और एस. शिमाबुकुरो की जोड़ी को हराया। इससे पहले महिला वर्ग में दुनिया की 189वें क्रम की अंकिता रैना ने हांगकांग की यूडिस चोंग को 6-4, 6-1 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। टेनिस के सभी पांचों इवेंट्‍स में सेमीफाइनल में हारने वाले को भी कांस्य पदक मिलता है। अंकिता ने पहले सेट में 1-4 से पिछड़ने के बाद जबर्दस्त वापसी कर अगले पांचों गेम जीतते हुए सेट अपने कब्जे में किया था। उन्होंने यह सेट 54 मिनट में जीता था। उन्हें दूसरा सेट जीतने के लिए मात्र 27 मिनट लगे थे।
INDvsENG : तीसरे टेस्ट में भारत मजबूत, इंग्लैंड को 521 का टारगेट
21 August 2018
नॉटिंघम। कप्तान विराट कोहली के शानदार शतक से इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया मजबूत स्थिति में पहुंच गई है। मैच के तीसरे दिन भारत ने दूसरी पारी में 7 विकेट के नुकसान पर 352 रन बनाकर पारी घोषित कर दी। इस तरह दूसरी पारी में भारत की कुल बढ़त 520 रन हो गई है। इंग्लैंड को यह टेस्ट जीतने के लिए 521 रन की दरकार है, जो कि चौथी पारी में असंभव बताया जा रहा है। इंग्लैंड ने दिन का खेल खत्म होने तक बिना किसी नुकसान के 23 रन बना लिए हैं। कप्तान विराट कोहली ने 103 रन (197 गेंद, 10 चौके) की शानदार पारी खेली। वहीं चेतेश्वर पुजारा ने 72 रन बनाए। हार्दिक पांड्या 52 रन पर नाबाद रहे। इंग्लैंड ने चौथी पारी में नॉटिंघम में 284/6 का स्कोर बनाकर 2004 में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट जीता था। यह इस मैदान में चौथी पारी का लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत हासिल करने का सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। सोमवार को इंग्लैंड के गेंदबाज विकेट के लिए तरस गए। कोहली और पुजारा ने लंच तक शानदार बल्लेबाजी की। तीसरे दिन आउट होने वाले पहले बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा रहे जिन्होंंने 72 रन (208 गेंद, 9 चौके) बनाए। लंच के बाद वे स्ट्रोक्स की गेंद पर कूक को कैच दे बैठे। कोहली को वोक्स ने एलबीडब्ल्यू आउट किया। ऋषभ पंत कुछ खास नहीं कर सके और महज एक रन के स्कोर पर एंडरसन की गेंद पर कूक के हाथों कैच आउट हो गए। पारी के दौरान कोहली का अच्छा साथ निभाने वाले अजिंक्य रहाणे 29 रन बनाकर राशिद की गेंद पर बोल्ड हुए। सातवां विकेट मोहम्मद शमी का रहा, जिन्होंने 3 रन बनाए। अश्विन 1 रन पर नाबाद रहे। पांड्या का अर्द्धशतक पूरा होते ही कोहली ने पारी घोषित कर दी। इंग्लैंड की ओर से स्पिनर राशिद ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए। स्ट्रोक्स ने दो तो वोक्स और एंडरसन ने एक-एक विकेट लिया। इससे पहले भारत ने पहली पारी में 329 रन बनाए थे, जिसके जवाब में मेजबान टीम 161 रन पर ढेर हो गई थी।
एशियन गेम्स : भारत की झोली में एक और पदक, लक्ष्य ने ट्रैप शूटिंग में जीता सिल्वर
20 August 2018
जकार्ता। एशियन्स गेम्स में भारत की झोली में सोमवार को एक और पदक मिला। ट्रैप शूटिंग में लक्ष्य ने रजत पदक हासिल किया है। लक्ष्य हरियाणा के जिंद के रहने वाले हैं। इससे पहले एशियन गेम्स में सोमवार के दिन भारत की शुरुआत सिल्वर मेडल के साथ हुई। भारतीय निशानेबाज दीपक कुमार में 10मी एयर राइफल प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल अपने नाम किया है। दीपक का एशियन गेम्स में यह पहला मेडल है। दीपक ने प्रतियोगिता के दौरान कड़ा मुकाबला करते हुए 249.1 अंकों के साथ दूसरा स्थान पाया वहीं उनकी साथी खिलाड़ी रवि 205.2 अंकों के साथ चौथे स्थान पर रहे। एक और मेडल पक्का, विनेश फोगाट कुश्ती के फाइनल में इस बीच एशियन गेम्स में भारत का एक और पदक पक्का हो गया है। 50 किलो वर्ग कुश्ती में भारतीय महिला पहलवान विनेश फोगाट फाइनल में पहुंच गई हैं। सेमीफाइनल मुकाबले में विनेश ने महज 75 सेकंड में जीत दर्ज कर ली। इससे पहले कोरिया की पहलवान को एक तरफा मुकाबले में 11-0 से मात देकर उन्होंने सेमीफाइनल में प्रवेश किया था। वहीं शनिवार को चीन की सुन यानान को 8-2 से हराकर विनेश ने क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था। साल 2014 के कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड और एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल हासिल करने वाली विनेश, बबीता कुमारी और गीता की बहन हैं। विनेश के ताऊ महावीर सिंह मशहूर पहलवान थे।
IND vs ENG 2018: भुवनेश्वर कुमार हुए आखिरी दो टेस्ट से भी बाहर
18 August 2018
नॉटिंघम: इंग्लैंड में पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में पहले से ही मुसीबतों की मारी टीम इंडिया के लिए और निराश करने वाली खबर आई है. मेजबान टीम के खिलाफ आखिरी दो टेस्ट मैचों के लिए टीम का ऐलान तीसरे टेस्ट मैच (Eng vs Ind, 3rd Test) के बाद किया जाएगा. लेकिन उससे पहले ही साफ हो गया है कि सीमर भुवनेश्वर कुमार (Bhuneshwar Kumar is ruled out of last two test) भारतीय टीम का हिस्सा नहीं होंगे. सभी यह उम्मीद कर रहे थे थे कि आखिरी दो टेस्ट मैचों के लिए उनकी सेवाएं टीम को जरूर मिलेंगी, लेकिन भुवी अभी भी अपनी कमर की चोट से पूरी तरह नहीं उब सके हैं. कमर की चोट के कारण भी भुवनेश्ववर कुमार भारत के लिए पिछले कुछ वनडे मुकाबले नहीं खेल सके थे. भुवी की यह चोट हेडिग्ले में खेले गए तीसरे वनडे के दौरान और ज्यादा बढ़ गई और आखिर में शुरुआती तीन टेस्ट मैचों से उन्हें बाहर कर दिया गया. दक्षिण अफ्रीका दौरे में इस 28 साल के तेज गेंदबाज ने बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था. और टीम मैनेजमेंट सहित करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमी उनसे इंग्लैंड में और बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे थे. लेकिन ये तमाम उम्मीदें हवा-हवाई हो गईं. रिपोर्ट के अनुसार भुवनेश्वर कुमार नेशनल क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में पुनर्वास कार्यक्रम से गुजर रहे हैं. लेकिन अकादमी और नॉटिंघम स्थित सूत्रों की मानें, तो भुवी अभी पूरी तरह नहीं उबर सके हैं. और अब बाकी दो टेस्ट मैचों के लिए टीम में उनका चयन नहीं हो पाएगा. हालांकि, बीसीसीआई ने शुरुआती तीन टेस्ट के लिए टीम के ऐलान के बाद यह कहा था कि भुवनेश्वर आखिरी दो टेस्ट के लिए टीम का हिस्सा हो सकते हैं. वैसे दौरे के शुरुआती दोनों मैचों में भारत के लिए बड़ा सिरदर्द उसके बल्लेबाज साबित हुए हैं. जहां पहले टेस्ट में भारत की 31 हार हुई, तो लंदन में टीम विराट को पारी और 159 रन से मुंह की खानी पड़ी. बावजूद इसके, इससे इनकार नहीं किया जा सकता है कि भुवनेश्वर की टीम को अच्छ-खासी कमी खली. उम्मीद है कि यह तेज गेंदबाज एशिया कप में खेलता दिखाई पड़े. लेकिन इंग्लैंड की पिचें इस सीमर के लिए कहीं ज्यादा मुफीद थीं.
इंग्लैंड के सामने तीसरे टेस्ट से पहले होगी यह बड़ी परेशानी
16 August 2018
नॉटिंघम। इंग्लैंड के विकेटकीपर जोस बटलर का मानना है कि भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट से पहले इंग्लैंड टीम प्रबंधन के सामने चयन को लेकर समस्या रहेगी। बटलर ने कहा, बेन स्टोक्स की नॉटिंघम में 18 अगस्त से होने वाले टेस्ट के लिए टीम में वापसी हुई जबकि दूसरे टेस्ट में उनकी जगह शामिल क्रिस वोक्स ने शानदार शतक लगाया था। वोक्स ने इसके अलावा 4 विकेट भी लिए थे। सैम कुरैन और वोक्स शुरुआती दो टेस्ट मैचों में मैन ऑफ द मैच रहे थे। ऐसे में तीसरे टेस्ट के लिए टीम में किन ऑलराउंडरों को शामिल किया जाएगा यह देखने वाली बात होगी। इसे लेकर कोच और कप्तान पसोपेश में होंगे। इंग्लैंड ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है। बेन स्टोक्स को ब्रिस्टल मारपीट मामले में बरी घोषित किया गया। इसके बाद स्टोक्स को तीसरे टेस्ट के लिए टीम में शामिल किया गया। बटलर ने कहा, स्टोक्स को मैं सीधे प्लेइंग इलेवन में देखता हूं। मैं शीघ्र ही उन्हें ट्रेनिंग में देखना चाहता हूं। पिछले 10-11 महीने उनके लिए काफी कष्टदायक रहे और खेल के प्रति उनके प्यार को देखते हुए हर कोई उन्हें टेस्ट मैच खेलते हुए देखना चाहता है। बटलर ने कहा, दुनिया की नंबर वन टीम भारत के खिलाफ दो जीत से इंग्लिश टीम के ड्रेसिंग रूम का आत्मविश्वास बहुत ऊंचा है। लॉर्ड्स में टीम ने भारत पर शानदार जीत दर्ज की जिसके बाद शानदार जश्न मना। साथी खिलाडि़यों के साथ जश्न मनाना सबसे अच्छी बात होती है।
Ind vs Eng: पूर्व क्रिकेटर नासिर हुसैन का टीम इंडिया पर तंज, बोले-यह मर्दों और बच्‍चों का मुकाबला.
14 August 2018
लंदन: इंग्‍लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्‍ट में टीम इंडिया की करारी हार के बाद इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान नासिर हुसैन ने विराट ब्रिगेड पर तंज कसा है. वर्ष 1968 में भारत के मद्रास (अब चेन्‍नई) में जन्‍मे नासिर हुसैन ने दूसरे टेस्ट में भारत की शर्मनाक हार के बाद साफ कहा है कि इस टीम में जुझारूपन की कमी साफ तौर पर देखने को मिली है. वे यहीं नहीं रुके और कहा कि अब यह ‘मर्दों और बच्चों ’ के बीच का मुकाबला हो गया है.भारत को वर्षा से बाधित चौथे टेस्ट में एक पारी और 159 रन से पराजय झेलनी पड़ी थी. पहले टेस्ट में इंग्लैंड ने उसे 31 रन से हराया था. हुसैन ने स्काय स्पोर्ट्स से कहा,‘इंग्लैंड इन हालात में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम है लेकिन नजरें भारत पर होगी. उसकी गाड़ी पटरी से पूरी तरह उतर चुकी है.’ उन्होंने कहा,‘भारत दुनिया की नंबर एक टीम है और यह सीरीज रोमांचक रहनी चाहिए थी. इस समय तो यह मर्दों और बच्चों का मुकाबला बन गया है.भारत का ग्राफ गलत दिशा में जा रहा है.’गौरतलब है कि इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में बल्‍लेबाजों के खराब प्रदर्शन के कारण भारतीय टीम पिछली तीन पारियों में 162, 107 और 130 रन पर आउट हो गई. हुसैन ने कहा,‘एजबेस्टन टेस्ट में वे काफी समय दौड़ में थे लेकिन कोहली की कमर की चोट चिंता का सबब है.अश्विन की उंगली में भी चोट है. भारत के बाकी बल्लेबाज नाकाम रहे हैं और बीच में कोई अभ्यास मैच भी नहीं है.’ उन्होंने कहा,‘उन्हें कड़ा आत्ममंथन करना होगा. ड्रेसिंग रूम में कुछ अच्छे क्रिकेटर हैं जिन्हें भारत को संकट से निकालना होगा.’ वैसे, अकेले नासिर हुसैन ही नहीं, टीम इंडिया के कई पूर्व क्रिकेटरों ने भी इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में विराट ब्रिगेड के अब तक के प्रदर्शन को निराशाजनक माना है. पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया, ‘भारत का काफी खराब प्रदर्शन. हम सभी उस समय अपनी टीम के साथ खड़ा होना चाहते हैं और उसका समर्थन करना चाहते हैं जब वह अच्छा नहीं कर रही हो लेकिन बिना प्रतिस्पर्धा के हारते हुए देखना निराशाजनक है. उम्मीद करता हूं कि उनमें इसके बाद वापसी करने का आत्मविश्वास और मानसिक मजबूती है.’ पूर्व भारतीय बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने कहा, ‘दो पारियों में भारतीय टीम 82 ओवर ही खेल सकी. यह देखना निराशाजनक है कि वे गलतियों से सीख नहीं ले रहे. इस मैच में सभी विभागों में बुरी तरह पिछड़ गए. सबसे निराशाजनक चुनौती पेश नहीं कर पाना रहा. किसी बल्लेबाज में आत्मविश्वास नजर नहीं आया.’एक अन्य पूर्व बल्लेबाज विनोद कांबली ने कहा कि अगले टेस्ट से पूर्व भारत को काफी सोच विचार करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘इस पूरे मैच में हमारा रवैया रक्षात्मक रहा. हमने अपना स्वाभाविक शॉट खेलने वाला खेल नहीं खेलकर इंग्लैंड के गेंदबाजों को हावी होने का मौका दिया. आगामी दिनों में टीम इंडिया के रणनीतिकारों को काफी विचार विमर्श करना होगा. पूर्व भारतीय स्पिनर बेदी ने टीम की कड़ी आलोचना करते हुए लिखा, ‘लॉर्ड्स में बेहद खराब प्रदर्शन. भारतीय क्रिकेट के साथ किसी भी तरह से जुड़े व्यक्ति को पता है कि समस्या की जड़ क्या है.’भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने उम्मीद जताई कि भारत 18 अगस्त से नाटिंघम में शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट से पूर्व अपनी गलतियों से सबक लेगा.उन्होंने लिखा, ‘प्रतिकूल हालात में फंस गए, विरोधी टीम को अधिक तवज्जो नहीं दे रहा लेकिन भारत ने बिना कड़ी चुनौती पेश किए बिना लार्ड्स टेस्ट आसानी से गंवा दिया. सीरीज का तीसरा टेस्‍ट 18 अगस्‍त से खेला जाना है
ओलिंपिक पदक चाहिए तो बेहतर सुविधाएं देनी होंगी : विनेश.
13 August 2018
नई दिल्ली। दो बार की कॉमनवेल्थ गेम्स चैंपियन पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि यदि भारत को ओलिंपिक में कुश्ती में पदक चाहिए तो पहलवानों को बेहतर सुविधा देनी होगी। विनेश ने कहा है कि भारत पहलवानों से ओलंपिक में पदक की उम्मीद करता है लेकिन विश्वस्तरीय सुविधाएं नहीं होने के कारण चैंपियन पहलवान बाहर नहीं निकल पाते। ट्रेनिंग के हालात में भी थोड़ा सुधार आ रहा है। 23 वर्षीय विनेश अभी शानदार फॉर्म में हैं। उन्होंने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स और स्पेन में हुई ग्रांप्रि में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने कहा, ‘अभी हमारे सामने एशियन गेम्स है और फिर विश्व चैंपियनशिप लेकिन चीजें अभी भी पहले की तरह जहां थी, वहीं है। ट्रेनिंग सेंटर में खाने की गुणवत्ता पहले से बेहतर हुई है लेकिन कई चीजों में बदलाव की जरूरत है। यदि आप ओलंपिक पदक चाहते हो तो आपको भी अंतरराष्ट्रीय सुविधाएं भी देनी होगी। इसके साथ ही विनेश ने कहा कि, मैं कुछ समय ट्रेनिंग से भी दूर रही। मैंने हंगरी में अच्छी तैयारी की और कई छोटी चीजों पर काम किया। जिसका फायदा मुझे कॉमनेवल्थ गेम्स और ग्रांप्रि में स्वर्ण जीतकर मिला।
BEST OF WORLD CUP 2018: कुछ ऐसा अभूतपूर्व स्वागत हुआ क्रोएशिया टीम का घर लौटने परड'.
4 August 2018
जागरेब: फीफा विश्व कप के फाइनल (मैच रिपोर्ट) में भले ही क्रोएशिया की टीम खिताबी जीत हासिल न कर पाई हो, लेकिन उसने अपने प्रशसंकों के दिलों में एक खास जगह बना ली है. Best of world cup 2018 पलों के तहत कई रिकॉर्ड बने, कई शानदार बातें हुईं. इन्हीं पलों में से फ्रांसीसी और क्रोएशिया टीम का देशवासियों द्वारा किया गया शानदार स्वागत भी रहा. विश्व कप में रनरअप रही क्रोएशिया टीम के खिलाड़ियों का उनके देश के लोगों ने लोगों ने अपनी टीम को ऐसा आंखें चौंधिया देने वाला स्वागत दिया, मानो उनकी टीम विश्व कप जीतकर लौटी हो. और खिलाड़ी जनता से मिले प्यार और सम्मान को देखकर भावुक हो गए. क्रोएशिया के खिलाड़ी स्वदेश लौटने पर अपने प्रशंसकों के लिए क्रोएशिया की राजधानी में खुली बस में लगभग पांच घंटे तक घूमते रहे पुलिस के अनुसार, जागरेब की सड़कों पर अपनी टीम के नायकों के स्वागत के लिए 500,000 से अधिक लोग मौजूद थे. जागरेब की आबादी 800,000 है. रिपोर्ट के अनुसार, टीम के कप्तान और रियल मेड्रिड के खिलाड़ी लुका मोड्रिक ने कहा कि हमने अपने सपने को साकार किया है इसके अलावा, लोग इवान राकिटिक के नाम को बार-बार ले रहे थे. बार्सिलोना के मिडफील्डर ने कहा कि इस भावना को दर्शा पाना असंभव है क्रोएशिया की आबादी 45 लाख है। वह उरुग्वे के बाद फीफा विश्व कप के फाइनल में पहुंचने वाला दूसरा सबसे छोटा देश बना है
ND vs ENG 1st Test, 2nd day: सैम कुरेन ने रचा इतिहास, भारतीय पारी में बने 'ये रिकॉर्ड'.
3 August 2018
बर्मिंघम: इंग्लिश लेफ्टी गेंदबाज सैम कुरेन पांच टेस्ट मैचों की सीरीज ( India tour of England, 2018) के पहले टेस्ट के दूसरे दिन (Eng vs Ind, 1st Test, 2nd day) भारतीयों के लिए बड़ी दहशत साबित हुए. इस युवा गेंदबाज ने अपनी घातक गेंदबाजी ने भारतीय शीर्ष कर्म को तहस-नहस करते हुए 'रिकॉर्ड विशेष' अपने खाते में जमा कर लिया. पहले विकेट के लिए जब शिखर धवन और मुरली विजय ने पचास रन जोड़े, तो लगा कि भारत अंग्रेजों को करारा जवाब देने जा रहा है, लेकिन 14वें ओवर में कुरेन ने मुरली विजय को क्या आउट किया कि एक के बाद एक झटके देकर कुरेन ने चार विकेट चटकाकर खास रिकॉर्ड अपने खाते में जमा कर लिया. हम कुरेन के रिकॉर्ड के बारे में आपको बताएंगे, उससे पहले आप दूसरे बाकी रिकॉर्डों के बारे में जान लीजिए. विराट कोहली के 1000 रन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के खिलाफ एक हजार रन पूरे किए. कोहली ऐसा करने वाले 13वें भारतीय बल्लेबाज बन गए. वहीं, यह भी बता दें कि विराट कोहली ने इस पारी के साथ इंग्लैंड की जमीं पर अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया. इस मैच से पहले इंग्लैंड के खिलाफ हजार रन पूरे करने के लिए 23 रन की दरकार थी. बेन स्टोक्स का डबल हार्दिक पंड्या को आउट करते हुए बेन स्टोक्स ने टेस्ट क्रिकेट में अपना 100वां विकेट लिया. और वह ढाई हजार रन+100 विकेट का डबल बनाने वाले इंग्लैंड के पांचवें खिलाड़ी बन गए. स्टोक्स से पहले टोनी ग्रेग, इयान बॉथम, एंड्र्यू फ्लिंटॉफ और स्टुअर्ट ब्रॉड ही इस कारनामे को अंजाम दे सके हैं. लो जी! 7 साल बाद हुआ ऐसा अगर आप इस पर ध्यान देंगे कि इंग्लैंड की जमीं पर भारतीय ओपनरों ने आखिरी बार कब पचास रन जोड़े, तो आप याद नहीं ही कर पाएंगे. चलिए हम ध्यान दिला देते हैं. यह 18 पारियां पहले और साल 2011 में हुआ था, जब अभिनव मुकुंद और गौतम गंभीर ने लॉर्ड्स की पहली पारी में 50 रन जोड़े थे. और अब सात साल बाद धवन और विजय ने पहले विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी निभाई. चलिए बात सैम कुरेन की कर लेते हैं. सैम कुरेन चटकाए गए शुरुआती चार विकेटों के साथ ही ऐसा करने वाले इंग्लैंड के सबसे युवा गेंदबाज (20 साल और 60 दिन) बन गए हैं. कुरेन से पहले यह कारनामा बिल वोस ने किया था. तब बिल वोस की उम्र 20 साल 170 दिन थी. तब उन्होंने 79 रन देकर चार विकेट चटकाए थे. और यह उन्होंने विंडीज के खिलाफ पोर्ट ऑफ स्पेन में 3 फरवरी 1930 को किया था.
IND vs ENG 1st TEST, 1st Day: ये 'अहम रिकॉर्ड' बने ठीक मैच के पहले दिन, जो रूट का 'जलवा.
2 August 2018
बर्मिंघम: मेजबान इंग्लैंड और भारत के बीच शुरू हुई पांच टेस्ट मैचों की सीरीज (India tour of England, 2018) के पहले टेस्ट (Eng vs Ind, 1st Test) के पहले दिन बर्मिंघम में भारतीय वापसी करने में कामयाब रहे. इंग्लैंड ने शुरुआत अच्छी की थी, लेकिन दिन ढलते-ढलते पलड़ा भारत की ओर झुक गया. बहरहार, पहले दिन (Eng vs Ind, 1st Test, 1st day) कई अहम रिकॉर्ड बने. चलिए आप जान लीजिए कि ये अहम रिकॉर्ड क्या रहे. पहले दिन एशिया के बाहर किसी भारतीय गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भाइयों अभी भी इस मामले में बी. चंद्रशेखर पहली पायदान पर काबिज हैं. हां इतना जरूर है कि अश्वि ने भी शीर्ष पांच गेंदबाजों में अपनी जगह बना ली है. चलिए जानिए कौन किस नंबर पर जमा है इस मामले में प्रदर्शन गेंदबाज बनाम जगह 6/94 बी. चंद्रशेखर ऑस्ट्रेलिया ऑकलैंड, 1976 5/55 बिशन सिंह बेदी ऑस्ट्रेलिया ब्रिसबेन, 1977 5/84 अनिल कुंबले ऑस्ट्रेलिया एमसीजी, 2007 4/60 आर. अश्विन इंग्लैंड एजबैस्टन, 2018 एक ही देश के खिलाफ लगातार टेस्ट मैचों में अर्धशतक, या इससे ज्यादा रन कोई भी इंग्लिश कप्तान जो रूट के आस-पास नहीं हैं. यहां से रूट को ही लगातार नया मानक स्थापित करना है अर्धशतक बल्लेबाज मैच 12 जो रूट इंग्लैंड बनाम भारत 9 एन. हार्वे ऑस्ट्रेलिया बनाम द.अफ्रीका 9 जे एड्रिक इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया 9 डी. वॉल्टर्स ऑस्ट्रेलिया बनाम विंडीज 9 एम. जयवर्धने श्रीलंका बनाम भारत 0 कुमार संगाकारा श्रीलंका बनाम पाकिस्तान सबसे कम उम्र में छह हजार रन बनाने वाले बल्लेबाज यहां भी इंग्लिश कप्तान जो रूट ने शीर्ष पांच बल्लेबाजों में अपना नाम लिखवा लिया है. चलिए इन बल्लेबाजों के बारे में भी जान लीजिए उम्र बल्लेबाज 26 साल व 313 दिन सचिन तेंदुलकर 27 साल व 43 दिन एलिस्टर कुक 27 साल व 214 दिन जो रूट 27 साल व 323 दिन ग्रीम स्मिथ 28 साल व 217 दिन स्टीव स्मिथ 28 साल वन 329 दिन एबी डि विलियर्स सबसे कम दिनों (पदार्पण से) 6000 रन बनाने वाले बल्लेबाज यहां तक जो रूट ने सभी दिग्गजों को पानी पिलाकर अपना नाम चस्पा कर दिया है. दिन बल्लेबाज 2058 जो रूट 2168 एलिस्टर कुक 2192 केविन पीटरसन 2216 डेविड वॉर्नर 2410 एंड्रयू स्ट्रॉस इंग्लैंड के लिए सबसे कम पारियों में 6000 रन पारी बल्लेबाज 114 वॉली हैमंड 116 लेन हटन/के. बैरिंगटन 127 जो. रूट 128 केविन पीटरसन 131 एलिस्टर कुक अभी सीरीज की शुरुआत भर है. और जो. रूट ने रिकॉर्डों की बारिश शुरू कर दी है. आप खुद सोचिए कि जब भारतीय बल्लेबाज मैदान पर उतरेंगे, तो रिकॉर्डों की इबारत कहां जाकर रुकेगी. तो भाई साहब लगातार नजरें बनाए रखिए. हमसे जुड़े रहिए. लगातार आपके लिए रिकॉर्ड लेकर आते रहेंगे
महिला हॉकी विश्‍व कप में भारत ने इटली को हराया, क्‍वार्टर फाइनल में प्रवेश.
1 August 2018
महिला हॉकी विश्‍व कप में मंगलवार को इंडिया की टीम ने इटली को हरा दिया है। भारतीय टीम ने इटली को 3-0 से पराजित करके र्क्‍वाटर फाइनल में प्रवेश किया। अब भारत का मुकाबला आयरलैंड से होगा। भारतीय टीम की जीत में लालरेमसियामी, वंदना कटारिया और नेहा गोयल की अहम भूमिका रही। इन खिलाडि़यों ने गोल किए। मालूम हो कि इंग्‍लैंड में आयोजित हो रही इस स्‍पर्धा का यह नॉक आउट मुकाबला था। दोनों टीमों ने एग्रेसिव शुरुआत की थी। मैच के अंत में भारत ने इटली को हराकर र्क्‍वाटर फाइनल में प्रवेश किया।
भारतीय महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना ने की इस 'बड़े रिकॉर्ड' की बराबरी.
30 July 2018
भारत की स्टार बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने वेस्टर्न स्टोर्म और लोबोरो लाइटनिंग के बीच किया सुपर लीग के मैच के दौरान महिला टी20 क्रिकेट में सबसे तेज अर्धशतक के रिकार्ड की बराबरी कर ली. मंधाना ने न्यूजीलैंड की सोफी डेवाइन के रिकार्ड की बराबरी की जिसने भारत के खिलाफ 2015 में यह रिकॉर्ड बनाया था. मंधाना ने 19 गेंद में 52 रन बनाए और उन्होंने अपनी पारी में चार छक्के और पांच चौके जड़े. मंधाना की टीम वेस्टर्न स्टोर्म ने छह ओवर में दो विकेट पर 85 रन बनाए थे. लेकिन स्टोर्म ने लाइटनिंग को बिना किसी नुकसान के 67 रन पर रोक दिया. पराजित टीम की ओर से डेवाइन ने 46 रन बनाए. स्थानीय मीडिया और खिलाड़ियों के बीच स्मृति मंधाना के रिकॉर्ड के ही चर्चा रही मंधाना ने रशेल प्रीस्ट के पहले ओवर में नौ रन बनाकर शुरूआत की. इसके बाद डेवाइन को अगले ओवर में छक्का लगाया. फिर लांग आफ पर जेनी गन को चौका जड़ा. और कुछ ही देर में किसी को पता ही नहीं चला कि कब स्मृति ने सोफी डेवाइन के सबसे तेज पचासे के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली. वैसे इससे पहले भी इसी केएसएल टूर्नामेंट में स्मृति यार्कशायर डायमंड्स के खिलाफ खेले अपने पहली मैच में सबसे तेज पचासा जड़ने के नजदीक आ गई थीं. तब स्मृति ने 20 गेंदों पर 48 रन बनाए थे. इसके अलावा साल की शुरुआत में ही मंधाना ने इंग्लैंड के खिलाफ 25 गेंदों में 50 रन बनाए थे. तब उन्होंने अपना ही रिकॉर्ड सुधारा था. स्मृति ने इंग्लैंड के खिलाफ इस मैच से कुछ दिन पहले ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 30 गेंदों पर 50 रन बनाए थे. बहरहाल, महिला क्रिकेट के इतिहास में सोफी डिवाइन ने भारत के खिलाफ 2015 में सिर्फ 18 गेंदों में अर्धशथक जड़ा था. और अब तीन साल बाद स्मृति मंधाना ने भी इतनी ही गेंदों पर पचासा जड़कर समूची विश्व महिला क्रिकेट को अच्छा संदेश दिया है. और बता दिया है कि भारत में भी बेहतरीन बल्लेबाजों की कोई कमी नहीं है.
वनडे मैचों में तीन दोहरे शतक जमा चुके रोहित शर्मा ने टी20 में किया यह बड़ा कारनामा..
28 July 2018
शॉर्टर फॉर्मेट के क्रिकेट में रोहित शर्मा का जवाब नहीं... टीम इंडिया के इस ओपनर ने कल आयरलैंड के खिलाफ पहले टी20 मैच में इस बात को एक बार फिर साबित किया. वनडे मैचों में तीन दोहरे शतक जमा चुके रोहित ने इस मैच में मात्र 45 गेंदों पर 97 रन की बेहतरीन पारी खेली जिसमें आठ चौके और पांच छक्‍के शामिल रहे. यही नहीं, रोहित ने इस दौरान शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिए 160 रन की साझेदारी की. यह टी20 क्रिकेट में पहले विकेट के लिए भारत की ओर से दूसरी सबसे बड़ी (ओवरआल चौथी सबसे बड़ी ) साझेदारी है. मजे की बात यह है कि टी20 इंटरनेशनल में अब तक पहले विकेट के लिए जो पांच सबसे बड़ी साझेदारियां हुई हैं उनमें से तीन में रोहित शर्मा का नाम शामिल है. कल के मैच के दौरान रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी 12 रन के अंतर से एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम करने से चूक गई. इन दोनों बल्‍लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 160 रन जोड़े. यदि ये दोनों 12 रन और बना लेते तो टी20 की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड स्‍थापित कर लेते. यह रिकॉर्ड इस समय न्‍यूजीलैंड के मार्टिन गप्टिल और केन विलियमसन के नाम पर है. इन दोनों ने वर्ष 2016 में हेमिल्‍टन में पाकिस्‍तान के खिलाफ 171 रन की साझेदारी की थी. इस मामले में दूसरे नंबर पर दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ और एल. बोसमेन हैं जिन्‍होंने वर्ष 2009 में सेंचुरियन में इंग्‍लैंड के खिलाफ 170 रन जोड़े थे. इसके बाद पहले विकेट की अगली तीन साझेदारियां रोहित के नाम पर हैं. वर्ष 2017 में इंदौर में उन्‍होंने श्रीलंका के खिलाफ केएल राहुल के साथ पहले विकेट के लिए 165 रन जोड़े. इस दौरान रोहित शर्मा ने महज 43 गेंदों पर 12 चौकों और 10 छक्‍कों की मदद से 118 रन ठोक डाले. उनका स्‍ट्राइक रेट 274.41 का रहा. केएल राहुल ने इस मैच में 49 गेंदों पर 89 रन की पारी खेली थी. आयरलैंड के खिलाफ पहले टी20 में रोहित ने शिखर धवन के साथ 160 रन जोड़े. यही नहीं, रोहित, शिखर धवन के साथ न्‍यूजीलैंड के खिलाफ दिल्‍ली में पहले विकेट के लिए 158 रन की साझेदारी कर चुके हैं. वर्ष 2017 में खेले गए इस मैच में रोहित और शिखर, दोनों ने 80-80 रन बनाए थे. जहां रोहित के 80 रन 55 गेंदों पर छह चौकों और चार छक्‍कों की मदद से आए थे, वहीं धवन ने इसके लिए 52 गेंदों का सामना कर 10 चौके और दो छक्‍के जड़े थे. रोहित एक बार क्रीज पर सेट होने के बाद बड़े-बड़े शॉट खेलने में माहिर हैं. कप्‍तान विराट कोहली एक बार कह भी चुके हैं कि रोहित के पास दूसरे बल्‍लेबाजों के मुकाबले गेंद खेलने के लिए दो से तीन सेकंड का अधिक समय होता है. उनकी टाइमिंग जबर्दस्‍त है और इसी कारण वे आसानी से गेंद को बाउंड्री के बाहर उड़ाने में सक्षम होते हैं. शॉर्टर फॉर्मेट में बड़े स्‍कोर बनाने की इस काबिलियत के कारण रोहित शर्मा को 'हिटमैन' का नाम मिला है. टी20 क्रिकेट में पहले विकेट के लिए पांच सबसे बड़ी साझेदारियां 1. मार्टिन गप्टिल और केन विलियमसन-171 रन 2. ग्रीम स्मिथ और लूट्स बोसमेन-170 रन 3. रोहित शर्मा और केएल राहुल-165 रन 4. रोहित शर्मा और शिखर धवन-160 रन 5.रोहित शर्मा और शिखर धवन-158 रन.
WI vs BAN ODI: हेटमेयेर का शतक, वेस्टइंडीज ने बांग्लादेश को 3 रन से हराया
26 July 2018
प्रोविडेंस: शिमरोन हेटमेयर के बेहतरीन शतक की मदद से वेस्टइंडीज ने आखिरी क्षणों तक रोमांचक रहे दूसरे वनडे में बांग्लादेश को तीन रन से हराकर सीरीज में बराबरी कर ली. सीरीज के तीसरे वनडे मैच में जो भी टीम जीतेगी, सीरीज पर उसी का कब्‍जा होगा. इससे पहले इंडीज टीम दो मैचों की टेस्‍ट सीरीज एकतरफा अंतर से अपने नाम कर चुकी है.इंडीज टीम के 271 रन का बांग्‍लादेश ने शानदार अंदाज में पीछा किया लेकिन आखिरकार उसे तीन रन से मैच हारना पड़ा. बांग्लादेश को आखिरी ओवर में जीत के लिये आठ रन चाहिये थे जो वह नहीं बना सकी. इससे पहले, मैच में बल्‍लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज के लिये शिमरोन हेटमेयर ने 93 गेंद में 125 रन बनाये जिसकी मदद से मेजबान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 271 रन बनाए. जवाब में बांग्लादेश टीम छह विकेट पर 268 रन ही बना सकी. वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने 66 रन दे डाले और एक विकेट लिया. होल्डर ने 50वें ओवर में मुशफिकर रहीम (68) को मिडविकेट पर कैच आउट कराया. इसके बाद आखिरी पांच गेंद में सिर्फ चार रन दिए. बांग्लादेश के लिये तमीम इकबाल (54) और शाकिब अल हसन (56) ने उपयोगी पारियां खेली. मुशफिकर और महमूदुल्लाह ने चौथे विकेट के लिये 87 रन जोड़े और लग रहा था कि बांग्लादेश यह मुकाबला भी जीत जाएगा लेकिन 46वें ओवर में महमूदुल्लाह रन आउट हो गए. इसके बाद कोई बल्लेबाज टीम को जीत तक नहीं ले जा सका
मैसी और रोनाल्डो के साथ एम्बापे भी सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर अवॉर्ड के लिए शॉर्टलिस्ट
25 July 2018
लंदन। फ्रांस के युवा स्टार किलियन एम्बापे और एंटोइन ग्रीजमैन को लियोनेल मैसी और क्रिस्टियानो रोनाल्डो के साथ फीफा सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर के अवॉर्ड के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया है। इस अवॉर्ड के लिए अभी 10 खिलाडि़यों को शॉर्टलिस्ट किया गया जिनमें राफेल वरान, लुका मॉडरिक, एडेन हेजार्ड, केविन डी ब्रून, मोहम्मद सालाह और हैरी केन शामिल है। इंग्लैंह के हैरी केन ने फुटबॉल विश्व कप में सर्वाधिक 6 गोल के साथ गोल्डन बूट अवॉर्ड हासिल किया था। एम्बापे विश्व कप फाइनल में गोल दागने वाले दूसरे सबसे युवा खिलाड़ी बने। वे फाइनल में खेलने वाले तीसरे युवा खिलाड़ी बने थे। लुका मॉडरिक ने क्रोएशिया को पहली बार फाइनल में पहुंचाया, लेकिन उनकी टीम को फ्रांस के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। ब्राजील के स्टार नेमार को इन शॉर्टलिस्ट किए गए खिलाडि़यों में जगह नहीं मिली है। पिछले दो सालों में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर रहे रोनाल्डो ने रीयल मैड्रिड को लगातार तीसरी बार चैंपियंस ट्रॉफी खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। वे इसके बाद जुवेंटस क्लब से जुड़ गए। मैनेजर और खिलाड़ी के रूप में विश्व कप जीतने वाले दुनिया के तीसरे शख्स बनने वाले फ्रांस के कोच डिडिएर डेशचैंप्स को साल के सर्वश्रेष्ठ कोच के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया है। 10 कोचेस की इस सूची में रीयल मैडिड के पूर्व मैनेजर जिनेदिन जिदान, इंग्लैंड को विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचाने वाले उसके कोच गैरेथ साउथगेट और मौजूदा विश्व कप की उपविजेता क्रोएशियाई टीम के कोच ज्लाटको डालिक के नाम भी शामिल हैं। महिला चैंपियंस लीग की चैंपियन ल्योन क्लब के छह सदस्यों को साल की सर्वश्रेष्ठ महिला फुटबॉलर के लिए 10 शॉर्ट लिस्ट खिलाड़ियों की सूची में शामिल किया गया है। इन अवॉर्ड्स के लिए तीन-तीन फाइनलिस्ट की घोषणा बाद में की जाएगी। विजेता कौन बनेगा इसका पता 24 सितंबर को लंदन में होने वाले समारोह में चलेगा।
जसप्रीत बुमराह ने बताया, 'विदेशी दौरे पर जाने से किस तरह बनाते हैं योजना'.
24 July 2018
लंदन: करीब दो साल के इंटरनेशनल करियर में ही टीम इंडिया के प्रमुख गेंदबाज बन चुके जसप्रीत बुमराह ने कहा है कि विदेशी दौरों पर जाने से पहले सिर्फ क्रिकेट को लेकर ही रणनीति नहीं बनाते बल्कि वह उस देश के विभिन्न स्थलों को भी देखना चाहते हैं जहां का दौरा वह करते हैं. इंग्लैंड दौरे पर दूसरे टेस्ट से चयन के लिए उपलब्ध बुमराह के हवाले से उनकी आईपीएल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियन्स ने कहा , ‘आप देश का लुत्फ उठाना चाहते हो , आप स्थलों को देखना चाहते हो. इससे आपको उस जगह की संस्कृति के बारे में पता चलता है और अंतत : आप उस देश का लुत्फ उठाने लगते हो. यह बाद में आपके प्रदर्शन में भी नजर आता है.’ बुमराह ने कहा , ‘मैं जब भी किसी नए देश में जाता हूं तो मैं हमेशा पहले से योजना बनाता हूं. किसी देश के लिए रवाना होने से पहले मैं वहां के कुछ वीडियो देखता हूं. वहां क्या चीजें काम करेंगी. घरेलू टीम वहां क्या करती है. लंबे दौरों के दौरान यह काफी महत्वपूर्ण है कि आप देश का लुत्फ उठाओ और विभिन्न स्थलों को देखो.’ आयरलैंड के खिलाफ टी 20 सीरीज के दौरान अंगूठे में चोट लगा बैठे बुमराह इंग्लैंड के खिलाफ टी 20 और वनडे सीरीज में नहीं खेले. दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट पदार्पण को याद करते हुए बुमराह ने कहा , ‘मैं हमेशा टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहता था. जब मुझे दक्षिण अफ्रीका में खेलने का मौका मिला तो मैं बहुत खुश था. शुरुआत अच्छी रही. मैंने हमेशा टेस्ट क्रिकेट को पसंद किया है और मैं इसे काफी ऊंचा आंकता हूं.’ अपने अलग तरह के बॉलिंग एक्‍शन के कारण बुमराह विपक्षी बल्‍लेबाजों के लिए मुश्किल का सबब बनते रहे हैं. जनवरी 2016 में अपने इंटरनेशनल करियर का आगाज करने वाले गुजरात के जसप्रीत बुमराह ने अब तक तीन टेस्‍ट, 37 वनडे और 35 टी20 मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्‍व किया है. टेस्‍ट क्रिकेट में 14, वनडे में 64 और टी20 इंटरनेशनल में 43 विकेट उनके नाम पर दर्ज हैं. शॉर्टर फॉर्मेट में बुमराह को डेथ ओवर्स की बॉलिंग में महारत हासिल है
SL vs SA 2ND TEST: टेस्ट क्रिकेट इतिहास में पहली बार बना 'यह अजब रिकॉर्ड'.
23 July 2018
कोलंबो: टेस्ट क्रिकेट के करीब डेढ़ सौ साल के इतिहास में अनेकों रिकॉर्ड बने हैं. बल्लेबाजो ने बड़े-बड़े रिकॉर्ड बनाए, तो गेंदबाज भी उनसे पीछे नहीं रहे. सभी ने रिकॉर्डों की खूबसूरती बढ़ाने में अपना-अपना योगदान दिया. फील्डरों ने भी, विकेटकीपरों ने भी. और यहां तक की मैदानों ने भी. बहरहाल, कुछ रिकॉर्ड बहुत ही अजीब-गरीब होते हैं. और यह तभी बनते हैं, जब इनकी किस्मत में लिखा होता है. कुछ ऐसा ही हुआ श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेल गए दूसरे टेस्ट में. यह टेस्ट मैच मेजबान श्रीलंका ने 119 रन से जीतकर सीरीज 2-0 से जीत ली. दूसरी पारी में रंगना हेराथ ने छह विकेट चटकाए. श्रीलंका ने सिंहले स्पोटर्स क्लब ग्राउंड में खेले गए मैच की चौथी पारी में दक्षिण अफ्रीका के सामने 490 रनों का लक्ष्य रखा था. दक्षिण अफ्रीका की इस दूसरी पारी में लंकाई गेंदबाजों ने कुल मिलाकर 86.5 ओवर गेंदबाजी की. और ओवरों के इस विशाल कोटे में वह इतिहास लिखा गया, जो पहले कभी नहीं लिखा गया, या लिखा गया, तो उसका स्तर इतना ऊंचा नहीं था. बता दें कि दूसरी पारी में रंगाना हेराथ ने 32.5 ओवर गेंदबाजी की, तो दिलरुवान परेरा ने 30 ओवर फेंके. इनके अलावा अकिला धनंजय ने 19, सुरंगा लकमनल ने 2, धनंजय डि-सिल्वा ने 2 और दुनुष्का गुनाथिलका ने एक ओवर की गेंदबाजी की. और सबने मिलकर दक्षिण अफ्रीका को दूसरी पारी में 290 पर ढेर कर दिया. और जब पारी खत्म हुई, तो अजब रिकॉर्ड अपनी कहानी खुद बयां कर रहा था. दरअसल दूसरी पारी में श्रीलंका की तरफ से फेंके गए 86.5 ओवर के विशाल कोटे में सिर्फ दो ओवर ही ऐसे रहे, जो किसी तेज गेंदबाज ने फेंके. यह ओवर सुरंगा लकमल ने फेंके. और बचे 84.5 ओवर की गेंदबाजी सिर्फ और सिर्फ स्पिनरों ने की. मतलब पूरी पारी में सिर्फ दो ही ओवर तेज गेंदबाज ने फेंके. और यह वह बात रही, जो पहले कभी टेस्ट क्रिकेट इतिहास में नहीं ही घटित हुई थी
Sotteville Athletics Meet : पूर्व ओलिंपिक चैंपियन को हरा नीरज चोपड़ा ने जीता गोल्ड.
20 July 2018
भारत के 20 वर्षीय स्टार भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने मंगलवार को फ्रांस में आयोजित सोटेविल एथलेटिक्स मीट में स्वर्ण पदक जीता है। नीरज ने भाला फेंक स्पर्धा में 85.17 मीटर की दूरी तय कर सोना अपने नाम किया। नीरज ने 2012 के ओलिंपिक चैंपियन केशोर्न वॉलकोट को पछाड़ते हुए सोने पर कब्जा जमाया। हालांकि, यह इस स्पर्धा में उनका पहला स्वर्ण पदक नहीं है। इसके अलावा, इस स्पर्धा में मोल्डोवा के एडरियान मारडारे ने 81.48 मीटर की दूरी तय कर रजत और लिथुआनिया के एडिस मेटुसेविसियस ने 79.31 मीटर की दूरी तय कर कांस्य पदक जीता। 2012 में आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में नीरज ने स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने भाला फेंक स्पर्धा के फाइनल में 86.47 मीटर की दूरी तय कर स्वर्ण पर निशाना साधा था। यह नीरज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं है। भारत के 20 वर्षीय एथलीट नीरज ने इससे पहले आईएएएफ डायमंड लीग में भाला फेंक स्पर्धा में 87.43 मीटर की दूरी तय तक अपना नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था। इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में 18 अगस्त से शुरू होने वाले एशियाई खेलों के लिए नीरज को भारत की एथलेटिक्स टीम में शामिल किया गया है। ऐसे में सभी की निगाहें नीरज पर होंगी।
PAK vs ZIM: 10 ओवर में ही वनडे मैच जीता पाकिस्‍तान, अशरफ और फखर चमके.
19 July 2018
बुलावायो: पाकिस्तान ने जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ वनडे सीरीज का तीसरा मैच बेहद आसानी से 9 विकेट से जीत लिया है. इस जीत के साथ ही पाकिस्‍तानी टीम ने पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की विजयी बढ़त बना ली है. पाक के लिए इस मैच में तेज गेंदबाज फहीम अशरफ और ओपनर फखर जमां ने शानदार प्रदर्शन किया. जहां फहीम अशरफ ने 22 रन देकर पांच विकेट लिए, वहीं फखर जमां ने 24 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से नाबाद 43 रन की बेहतरीन पारी खेली. फहीम अशरफ को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया पाकिस्तान के तेज गेंदबाज फहीम अशरफ के शानदार प्रदर्शन की बदौलत पाकिस्‍तान टीम, मेजबान जिम्‍बाब्‍वे को महज 67 रन पर ढेर कने में सफल रही. पाकिस्तान के खिलाफ यह जिम्‍बाब्वे का अब तक का सबसे कम स्कोर है. साथ ही क्वीन्स स्पोर्ट्स क्लब में हुए 78 वनडे मैचों में भी यह न्यूनतम स्कोर है. इसके जवाब में पाकिस्तान ने सलामी बल्लेबाज फखर जमां के नाबाद 43 रन की बदौलत 9.5 ओवर में एक विकेट पर 69 रन बनाकर एकतरफा जीत दर्ज की मैच में जिम्‍बाब्वे ने एक फिर टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन दूसरे ओवर से ही उसके विकेटों पर पतन शुरू हो गया. पदार्पण कर रहे प्रिंस मासवोरे एक रन बनाने के बाद उस्मान खान की उछाल लेती गेंद पर कैच दे बैठे. अशरफ जब 10 वें ओवर में गेंदबाजी के लिए आए तो मेजबान टीम का स्कोर तीन विकेट पर 26 रन था. उन्होंने पीटर मूर (01) को स्लिप में बाबर आजम के हाथों कैच कराया और फिर चामू चिभाभा (16) को पगबाधा किया. उन्होंने एल्टन चिगुंबुरा (09), रेयान मरे (08) और रिचर्ड नगार्वा (01) को भी पेवेलियन भेजा
अर्जुन तेंदुलकर ने लिया पहला इंटरनेशनल विकेट तो भावुक हुए सचिन के दोस्‍त विनोद कांबली.
18 July 2018
मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर का नाम इस समय चर्चाओं में है. अर्जुन इस समय भारतीय अंडर19 टीम के सदस्‍य के रूप में श्रीलंका के दौरे पर हैं. हाल ही में उन्‍होंने श्रीलंका अंडर19 टीम के पहले यूथ टेस्‍ट मैच में खिलाफ खेलते हुए अपना पहला इंटरनेशनल विकेट हासिल किया. अर्जुन ने श्रीलंका के कामिल मिशारा को एलबीडब्‍ल्‍यू किया. किसी भी गेंदबाज के लिए पहला इंटरनेशनल विकेट बेहद भावुक करने वाला क्षण होता है और इस विकेट को लेते हुए ऐसी ही भावनाएं 19 साल के अर्जुन के मन में उमड़ी होंगी अर्जुन के इस विकेट पर सचिन तेंदुलकर के बाल सखा और पूर्व क्रिकेटर विनोद कांबली ने भी भावनाओं से भरा ट्वीट किया है. बाएं हाथ के बल्‍लेबाज रहे कांबली ने अपने ट्वीट में लिखा, 'जब मैंने यह (अर्जुन को विकेट लेते हुए )देखा तो खुशी के आंसू बह निकले. मैंने उसे बड़े होते हुए और क्रिकेट के खेल में कड़ी मेहनत करते हुए देखा है. यह केवल शुरुआत है, मैं तुम्‍हारे लिए आने वाले दिनों में ढेर सारी सफलता की कामना करता हूं. गौरतलब है कि अर्जुन तेंदुलकर बाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं. यूथ टेस्‍ट मैच में उन्‍होंने मिशारा को जो गेंद फेंकी, वह तेजी से अंदर आई और बल्‍लेबाज को कुछ करने का मौका ही नहीं मिला. मैच में श्रीलंका अंडर 19 टीम 244 रन बनाकर आउट हुई. मैच में अर्जुन ने 11 ओवर फेंके और 33 रन देकर एक विकेट हासिल किया. उनके स्‍पैल में दो मेडन ओवर शामिल रहे. श्रीलंका अंडर 19 टीम को 244 रन पर आउट करने में खास भूमिका हर्ष त्‍यागी और आयुष बादोनी की रही, इन दोनों ने चार-चार विकेट हासिल किए. श्रीलंका दौरे का दूसरा यूथ टेस्‍ट मैच 23 से 26 जुलाई के बीच खेला जाएगा. इसके बाद भारतीय अंडर 19 टीम पांच वनडे मैचों की सीरीज खेलेगी.
IND vs ENG 2ND ODI: कुछ ऐसे विराट कोहली ने किया महेंद्र सिंह धोनी के अंदाज का बचाव.
17 July 2018
लंदन: पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के दिमाग और जहन में क्या चलता रहता है, यो तो वही जानें, लेकिन माही अपने अंदाज से अपने चाहने वालों को बहुत ही ज्यादा चौंका देते हैं. कभी अपने आतिशी पुराने अंदाज से, तो कभी एकदम उलट अंदाज से, जो लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे वनडे (मैच रिपोर्ट) मुकाबले के दौरान देखने को मिला. इस मैच में धोनी ने वनडे में अपने दस हजार रन तो जरूर पूरे किए, लेकिन उनका अंदाज अभी भी क्रिकेटप्रेमियों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में मिली हार के कारण विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है. ऐसे में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने धोनी के बचाव में उतरते हुए कहा कि लोगों का इस तरह सीधे परिणाम तक पहुंच जाना निराशाजनक है. कोहली ने कहा कि धोनी को मिलने वाली आलोचनाओं से कोई भी प्रभावित नहीं है. धोनी का साथ देते हुए कोहली ने कहा कि जब-जब धोनी अपनी क्षमता से कम प्रदर्शन करेंगे, ऐसी बातें तब-तब होती रहेंगी. यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग सीधे परिणाम तक पहुंच जाते हैं. उन्होंने कहा, "धोनी जब अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तब लोग उन्हें बेहतरीन खिलाड़ी बोलते हैं, लेकिन जब वह अच्छा नहीं खेल पाते तो लोग आलोचनाएं करते हैं. क्रिकेट में हम सभी के लिए कोई न कोई दिन खराब होता है. यह दिन हर किसी के लिए खराब था, केवल उनके लिए ही नहीं. हम इस हार के लिए केवल बल्लेबाजी को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते. धोनी ने लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए दूसरे वनडे मैच में भारतीय टीम के लिए 37 रन बनाए. और इसके लिए धोनी ने 59 गेंद खेलीं और सिर्फ दो चौके लगाए. वहीं, धोनी का स्ट्रा. रेट 62.71 का रहा. वास्तव में यह धोनी की शैली नहीं है. यही वजह है कि धोनी के इस अंदाज को लेकर क्रिकेटप्रेमियों के बीच बहस चल रही है.
मोहम्मद कैफ ने क्रिकेट को कहा अलविदा, 'इस बात' का हमेशा रहेगा मलाल.
14 July 2018
नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के सर्वश्रेष्ठ फील्डरों में शुमार रहे निचले क्रम के उम्दा बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने भारत के लिए आखिरी मैच खेलने के करीब 12 साल बाद आज सभी तरह के प्रतिस्पर्धी क्रिकेट को अलविदा कह दिया. सैंतीस बरस के कैफ ने 13 टेस्ट, 125 वनडे खेले थे और उन्हें लाडर्स पर 2002 में नेटवेस्ट ट्राफी फाइनल में 87 रन की मैच जिताने वाली पारी के लिए जाना जाता है.कैफ ने 13 टेस्ट में 32 की औसत से 2753 रन बनाए. वहीं 125 वनडे में उनका औसत 32 रहा. कैफ हिंदी क्रिकेट कमेंटेटर के रूप में कैरियर की दूसरी पारी शुरू कर चुके हैं. वैसे इस पूर्व क्रिकेटर ने वीरवार को संन्यास लिया, तो इसके पीछे बहुत ही खास वजह रही. लेकिन उन्होंने सोशल मीडिया में लिखे संदेश में उन पलों के बारे में भी लिखा जिसका उन्हें हमेशा मलाल रहेगा. कैफ ने 13 टेस्ट में 32 की औसत से 2753 रन बनाए. वहीं 125 वनडे में उनका औसत 32 रहा. कैफ हिन्दी क्रिकेट कमेंटेटर के रूप में करियर की दूसरी पारी शुरू कर चुके हैं. कैफ ने ट्विवटर पर एक पत्र जारी करते हुए कई लोगों का शुक्रिया अदा किया. इस पूर्व क्रिकेटर ने सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ सहित अपने माता-पिता, भाइयों और पत्नी सहित उन तमाम लोगों का शुक्रिया अदा किया, जिन्होंने उनके करियर को गढ़ने में अहम योगदान दिया. बहरहाल इस मौके पर कैफ ने खुलकर इस घटना के बारे में बताया जिसका उन्हें ता उम्र मलाल रहेगा. कैफ ने सोशल मीडिया पर जारी पत्र में कहा कि काश वह भारत के लिए और ज्यादा मैच खेलते. कैफ ने लिखा कि काश ऐसा कोई सिस्टम होता, जो 25 साल के एक अंतर्मुखी लड़के के पास बैठकर उसे यह बताता कि वह विंडीज में मेजबान टीम के खिलाफ अपनी आखिरी सीरीज में 148 नाबाद की पारी खेलने के बाद भी अगली सीरीज के लिए फिर कभी क्यों चयनित नहीं हुआ
IND vs ENG 1ST ODI: कोहली की एक और विराट उपलब्धि, क्लॉइव लॉयड और रिकी पोन्टिंग के बराबर पहुंचे..
13 July 2018
नई दिल्ली: नॉटिंघम में खेले गए पहले वनडे (मैच रिपोर्ट) में भारत ने मेजबान इंग्लैंड को 8 विकेट से हराकर बता दिया कि मेजबानों के लिए वनडे सीरीज में भी जीतना आसान होने नहीं जा रहा है. टीम इंडिया की जीत में कई कमाल हुए. कुलदीप यादव के छह विकेट, रोहित शर्मा का नाबाद शतक, विराट कोहली के 75 रन. वास्तव में सिर्फ यही ही नहीं हुआ, इनके अलावा भी बहुत खास बातें हुईं. कप्तान विराट कोहली ने एक और विराट कारनामा कर दिखाया. चलिए हम पहले वनडे में हुईं इन खास बातों के बारे में आपको बारी-बारी से बताते हैं. रोहित शर्मा का 'इंग्लिश रिकॉर्ड' * रोहित शर्मा की नाबाद 137 रन की पारी भारत के लिए गौरव लेकर आई. इस पारी के साथ रोहित ने वह कारनामा कर दिखाया, जो इंग्लैंड की धरती पर पहले कोई भारतीय बल्लेबाज नहीं कर सका. यह इंग्लैंड में वनडे में मेजबान टीम के खिलाफ खेली गई किसी भारतीय बल्लेबाज की सर्वश्रेष्ठ पारी रही. भारतीय शीर्ष क्रम की ताकत का 'सबसे बड़ा सबूत' हालिया समय में भारतीय शीर्ष क्रम ने एक ईकाई के रूप में सामने वाली टीमों की जमकर बखिया उधेड़ी है. इसका सबसे बड़ा सबूत यह है कि पिछले नौ वनडे मैचों में से आठ में भारत के शीर्ष तीन बल्लेबाजों में से किसी एक ने शतक जड़ा है. चलिए नजर डाल लीजिए. रन बल्लेबाज जगह 208* रोहित मोहाली 100* धवन विजाग 112 कोहली डरबन 160* कोहली केपटाउन 109 धवन जोहानेसबर्ग 115 रोहित पोर्ट एलिजाबेथ 129* कोहली सेंचुरियन 101* रोहित ट्रेंट ब्रिज विराट कोहली ने पहले वनडे में 82 गेंदों पर 75 रन बनाकर दिखाया कि वह अपनी लय को पूरी तरह हासिल कर चुके हैं. कोहली ने अपने प्रशंसकों को भरोसा दिया कि आने वाले मैचों में उनके बल्ले से कुछ ऐसी ही पारियां देखने को मिलेंगी. यह जीत कोहली के लिए विराट उपलब्धि भी लेकर आई. और वह क्लाइव लॉयड और रिकी पोन्टिंग की बराबरी पर पहुंच गए. कोहली ने यह कारमामा किया कि पचास वनडे मैचों में कप्तानी करने के बाद सबसे ज्यादा जीत दर्ज करने के मामले में. अब विराट कोहली इस मामले में संयुक्त रूप से पहले नंबर पर आ गए हैं. विराट कोहली, रिकी पॉन्टिंग और क्लाइव लॉयड के नाम पर पचास मैचों में कप्तानी करने के बाद 39 मैच जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है. पहले यह पॉन्टिंग और लॉयड के नाम पर था, तो अब इस पर विराट के नाम की भी मुहर लग गई. और इस तरह कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए (37), विव रिचर्ड्स (36), शान पोलक (34) और वसीम अकरम (33) को मात दी.
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर एबी डिविलियर्स के फैंस यह खबर पढ़कर झूम उठेंगे...
11 July 2018
बेला-बेला (दक्षिण अफ्रीका): हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा करके सबको चौंकाने वाले दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी अब्राहम डिविलियर्स के प्रशंसकों के लिए यह खबर खुश करने वाली है. डिविलियर्स ने मंगलवार को महत्‍वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा कि वह अगले कुछ वर्षो तक इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलेंगे. वेबसाइट 'ईएसपीएनक्रिकइन्फो' की रिपोर्ट के अनुसार, डिविलियर्स से उन्हें घरेलू क्रिकेट टीम टाइटंस के प्रतिनिधित्व की आशा भी है. 'आईओओल डॉट सीओ डॉट जेडए' को दिए बयान में डिविलियर्स ने कहा, "मैं अगले कुछ वर्षो तक आईपीएल में खेलता रहूंगा. इसके साथ ही मैं टाइटंस के लिए भी खेलना चाहूंगा और युवा खिलाड़ियों की मदद करना चाहूंगा. डिविलियर्स ने कहा, "दुनियाभर से कुछ प्रस्ताव भी मुझे मिले हैं, लेकिन मैं सामान्य तरीके से विचार करना सही समझता हूं.आशा है कि मैं अपनी घरेलू टीम टाइटंस के लिए खेलना जारी रखूंगा." संन्यास की घोषणा से यह साफ जाहिर हो गया कि डिविलियर्स के खाते में अब वर्ल्‍डकप का खिताब कभी नहीं जुड़ पाएगा, लेकिन वह इससे निराश नहीं हैं. उन्होंने कहा, "काफी समय के लिए मेरे लिए वर्ल्‍डकप सबसे बड़ा लक्ष्य रहा लेकिन पिछले कुछ वर्षो में मैंने यह महसूस किया है कि टूर्नामेंट में मिली उपलब्धि के आधार पर स्वयं की क्षमता का आंकलन करना वास्तविक चीज नहीं. इसमें खराब प्रदर्शन करियर का अंत नहीं होगा. मैं भले ही यह टूर्नामेंट न जीत पाया हूं, लेकिन इससे जुड़ी मेरे पास कई अच्छी यादें हैं." विश्‍व क्रिकेट के दिग्‍गज बल्‍लेबाजों में शुमार डिविलियर्स ने 114 टेस्‍ट, 228 वनडे और 78 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले.टेस्‍ट क्रिकेट में उनके नाम पर 8765 रन दर्ज हैं. वनडे में उन्‍होंने 9577 और टी20 इंटरनेशनल में 1672 रन बनाए हैं
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर एबी डिविलियर्स के फैंस यह खबर पढ़कर झूम उठेंगे...
11 July 2018
बेला-बेला (दक्षिण अफ्रीका): हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा करके सबको चौंकाने वाले दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी अब्राहम डिविलियर्स के प्रशंसकों के लिए यह खबर खुश करने वाली है. डिविलियर्स ने मंगलवार को महत्‍वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा कि वह अगले कुछ वर्षो तक इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलेंगे. वेबसाइट 'ईएसपीएनक्रिकइन्फो' की रिपोर्ट के अनुसार, डिविलियर्स से उन्हें घरेलू क्रिकेट टीम टाइटंस के प्रतिनिधित्व की आशा भी है. 'आईओओल डॉट सीओ डॉट जेडए' को दिए बयान में डिविलियर्स ने कहा, "मैं अगले कुछ वर्षो तक आईपीएल में खेलता रहूंगा. इसके साथ ही मैं टाइटंस के लिए भी खेलना चाहूंगा और युवा खिलाड़ियों की मदद करना चाहूंगा. डिविलियर्स ने कहा, "दुनियाभर से कुछ प्रस्ताव भी मुझे मिले हैं, लेकिन मैं सामान्य तरीके से विचार करना सही समझता हूं.आशा है कि मैं अपनी घरेलू टीम टाइटंस के लिए खेलना जारी रखूंगा." संन्यास की घोषणा से यह साफ जाहिर हो गया कि डिविलियर्स के खाते में अब वर्ल्‍डकप का खिताब कभी नहीं जुड़ पाएगा, लेकिन वह इससे निराश नहीं हैं. उन्होंने कहा, "काफी समय के लिए मेरे लिए वर्ल्‍डकप सबसे बड़ा लक्ष्य रहा लेकिन पिछले कुछ वर्षो में मैंने यह महसूस किया है कि टूर्नामेंट में मिली उपलब्धि के आधार पर स्वयं की क्षमता का आंकलन करना वास्तविक चीज नहीं. इसमें खराब प्रदर्शन करियर का अंत नहीं होगा. मैं भले ही यह टूर्नामेंट न जीत पाया हूं, लेकिन इससे जुड़ी मेरे पास कई अच्छी यादें हैं." विश्‍व क्रिकेट के दिग्‍गज बल्‍लेबाजों में शुमार डिविलियर्स ने 114 टेस्‍ट, 228 वनडे और 78 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले.टेस्‍ट क्रिकेट में उनके नाम पर 8765 रन दर्ज हैं. वनडे में उन्‍होंने 9577 और टी20 इंटरनेशनल में 1672 रन बनाए हैं
T20 रैंकिंग: बैटिंग में केएल राहुल ने लगाई 'छलांग', फिंच पहले और फखर जमां दूसरे स्‍थान पर..
10 July 2018
दुबई: इंग्‍लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में जोरदार प्रदर्शन का फायदा युवा बल्‍लेबाज केएल राहुल को मिला है. इस सीरीज के पहले मैच में अपने नाबाद शतक की बदौलत राहुल नौ पायदान की लंबी छलांग लगाकर आईसीसी की टी 20 बैटिंग रैंकिंग में शीर्ष तीन बल्लेबाजों में शामिल हो गए हैं. भारतीय टीम भी टी20 की रैंकिंग में दूसरे स्‍थान पर पहुंच गई है. आईसीसी की ताजा वर्ल्‍ड रैंकिंग के अनुसार ऑस्ट्रेलियाई ओपनर एरॉन फिंच टी 20 अंतरराष्ट्रीय में 900 रेटिंग अंक हासिल करने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं. वह तीन पायदान आगे बढ़कर टी 20 बल्लेबाजी रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंच गए हैं. उनके बाद पाकिस्तान के फखर जमां और भारतीय स्टार राहुल का नंबर आता है. जमां ने 44 पायदान की लंबी छलांग लगाई है. राहुल ने पिछले चार टी 20 मैचों में 70, 101*, 6 और 19 रन की पारियां खेली जिससे उन्होंने 9 पायदान आगे बढ़कर अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग हासिल की. वह अब इस प्रारूप में भारत के नंबर एक बल्लेबाज हैं. उनके बाद रोहित शर्मा (दो पायदान ऊपर 11 वें) का नंबर आता है. हिटमैन रोहित शर्मा ने कल ब्रिस्टल में नाबाद 100 रन बनाए थे. भारतीय कप्तान विराट कोहली हालांकि बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे और इसलिए चार पायदान नीचे चौथे स्थान पर खिसक गए. टी 20 प्रारूप में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान फिंच ने त्रिकोणीय श्रृंखला के दौरान जिम्बाब्वे के खिलाफ 172 रन की पारी खेली थी. यह पारी खेलने के बाद उनके रेटिंग अंकों की संख्या 900 पर पहुंच गई थी लेकिन अभी वह 891 अंक के साथ शीर्ष पर हैं. गेंदबाजी रैंकिंग में युजवेंद्र चहल एक पायदान नीचे चौथे स्थान पर खिसक गए हैं लेकिन उनके साथी स्पिनर कुलदीप यादव को इंग्लैंड के खिलाफ पहले टी 20 में पांच विकेट लेने का फायदा मिला और वह 41 पायदान आगे बढ़कर 34 वें स्थान पर पहुंच गए हैं. आलराउंडर हार्दिक पंड्या ने कल चार विकेट लिये जिससे वह पांच पायदान ऊपर 29 वें स्थान पर पहुंच गए. अफगानिस्तान के राशिद खान और पाकिस्तान के शादाब खान गेंदबाजी रैंकिंग में शीर्ष दो स्थान पर बने हुए हैं लेकिन इसके बाद काफी अंतर देखने को मिला है. ऑस्ट्रेलिया के एंड्रयू टाय (सातवें) और बिली स्टेनलेक (19 वें) तथा इंग्लैंड के आदिल राशिद (नौवें), लियाम प्लंकेट (11 वें) और डेविड विली (12 वें) ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग हासिल की. टीम रैंकिंग में भारतीय टीम भी आगे बढ़ने में सफल रही. उसने आयरलैंड को 2-0 और इंग्लैंड को 2-1 से हराया था जिससे वह दूसरे स्थान पर पहुंच गई. पाकिस्तान त्रिकोणीय सीरीज में जीत के बाद शीर्ष पर बना हुआ है. पाकिस्तान के 132 और भारत के 124 अंक हैं
दीपा कर्माकर ने टर्की में जिम्नास्टिक्स वर्ल्‍ड चैलेंज में जीता गोल्‍ड मेडल..
9 July 2018
चोट के कारण करीब दो वर्ष के लंबे अंतराल के बाद वापसी करने वाली भारत की शीर्ष जिम्नास्ट दीपा कर्माकर ने रविवार को तुर्की के मर्सिन में चल रहे एफआइजी कलात्मक जिम्नास्टिक्स विश्व चैलेंज कप की वाल्ट स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। त्रिपुरा की 24 वर्षीय जिम्नास्ट 2016 रियो ओलंपिक में वाल्ट स्पर्धा में चौथे स्थान पर रहीं थीं। उन्होंने रविवार को 14.150 के स्कोर से स्वर्ण पदक हासिल किया। वह क्वालीफिकेशन में भी 13.400 के स्कोर से शीर्ष पर रहीं थीं। दीपा का यह विश्व चैलेंज कप में पहला पदक है। अपने कोच बिश्वेश्वर नंदी के साथ गईं दीपा ने क्वालीफिकेशन में 11.850 के स्कोर से तीसरे स्थान पर रहकर बैलेंस बीम फाइनल्स के लिए भी क्वालीफाई किया। दीपा रियो ओलंपिक के बाद एंटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट (एसीएल) की चोट से जूझ रहीं थीं और उन्होंने इसके लिए सर्जरी कराई थी। पहले वह कॉमनवेल्थ गेम्स में वापसी करने वाली थीं, लेकिन रिहैबिलिटेशन में उम्मीद से ज्यादा समय के कारण वह गोल्ड कोस्ट में भाग नहीं ले सकीं। उन्हें आगामी एशियन गेम्स के लिए चुनी 10 सदस्यीय भारतीय जिम्नास्टिक्स टीम में शामिल किया गया है। गौरतलब है कि रियो ओलिंपिक में दीपा कर्माकर चौथा स्‍थान पाया था। रविवार को तुर्की के मर्सिन में हुए इस टूर्नामेंट में दीपा ने स्‍वर्ण पदक प्राप्‍त किया।
T20I Tri Series: ग्‍लेन मैक्सवेल का तूफानी अर्धशतक, ऑस्ट्रेलिया ने जिम्बाब्वे को हराया...
7 July 2018
हरारे : ग्लेन मैक्सवेल की 56 रन की आतिशी पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने टी 20 त्रिकोणीय सीरीज में आज यहां मेजबान जिम्बाब्वे को करीबी मुकाबले में पांच विकेट से पराजित कर दिया. जिम्‍बाब्‍वे की टीम पहले ही फाइनल से बाहर हो चुकी है. मैच में जिम्‍बाब्‍वे की टीम ने पहले बैटिंग करते हुए 151 रन बनाए. जवाब में ऑस्‍ट्रेलिया ने एक गेंद शेष रहते हुए मैच पांच विकेट से जीत लिया. मैक्‍सवेल ने नाबाद 56 रन बनाते हुए टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई. मैच में पहले बैटिंग करते हुए जिम्बाब्वे ने सलामी बल्लेबाज सोलोमोन मीर के 63 रन से 20 ओवर में नौ विकेट पर 151 रन बनाए जिसे ऑस्ट्रेलिया ने 19.5 ओवर में पांच विकेट पर 154 रन बनाकर हासिल कर लिया. मैक्सवेल ने टी 20 अंतरराष्ट्रीय में लगभग छह महीने बाद अर्धशतक लगाया.उन्होंने इससे पहले फरवरी में इंग्लैंड के खिलाफ पिछला अर्धशतक लगाया था. मैक्सवेल ने मैच के 16 वें ओवर में वेलिंगटन मसाकदजा (32 रन पर एक विकेट) की गेंद पर छक्का लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया.उन्होंने 38 गेंद की पारी में पांच छक्के और एक चौका लगाया. उन्होंने ट्रेविस हेड (48) के साथ तीसरे विकेट के लिए 103 रन की साझेदारी कर जीत की नीव रखीं. इससे पहले जिम्बाब्वे ने ऑस्ट्रेलिया के दोनों सलामी बल्लेबाजों को 26 रन तक पेवेलियन भेज कर दबाव में ला दिया था. ब्लेसिंग मुजरबानी टीम के सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 21 रन पर तीन विकेट लिए. जिम्बाब्वे ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन मीर के अलावा विकेटकीपर पीटर मूर (30) ही ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का अच्‍छी तरह से सामना कर सके. तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई सबसे सफल ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज रहे. उन्होंने 28 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि बिली स्टेनलेक और जे रिचर्डसन को दो-दो विकेट मिले. ऑस्ट्रेलिया की चार मैचों में यह तीसरी जीत है और रविवार को टूर्नामेंट के फाइनल में उसका सामना पाकिस्तान से होगा
FIFA WC: पेनल्टी चूकने वाले कोलंबियाई खिलाड़‍ियों को मिली जान से मारने की धमकी...
5 July 2018
मॉस्को। फुटबॉल विश्व कप के प्री-क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ पेनल्टी चूकने वाले कोलंबियाई खिलाड़‍ियों मटायस उरिबे और कार्लोस बेका को जान से मारने की धमकियां मिली। सोशल मीडिया पर कोलंबियाई फैंस ने इन दोनों खिलाड़‍ियों को बहुत अपमानित किया और इनसे स्वदेश नहीं लौटने को कहा। कोलंबियाई खिलाड़ी आंद्रेस एस्कोबार की मंगलवार को ही 24वीं पुण्यतिथि हुई, एस्कोबार ने 1994 विश्व कप में आत्मघाती गोल दागा था जिसके कुछ दिनों बाद उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इंग्लैंड के खिलाफ प्री-क्वार्टरफाइनल मैच में शूटआउट में जैसे ही उरिबे और बेका पेनल्टी चूके और कोलंबिया विश्व कप से बाहर हुआ, सोशल मीडिया पर इन दोनों खिलाड़‍ियों की आलोचना शुरू हो गई। उरिबे का शॉट क्रासबार से टकराकर लौटा जबकि बेका की पेनल्टी को इंग्लिश गोलकीपर पिकफोर्ड ने बचाया। इसके बाद फैंस का गुस्सा सोशल मीडिया पर नजर आया। अधिकांश फैंस ने इन खिलाड़‍ियों से कोलंबिया वापस नहीं लौटने और आत्महत्या कर लेने को कहा। फैंस का अधिकांश गुस्सा बेका के खिलाफ नजर आया। एक यूजर ने लिखा, बेका तुम किसी काम के नहीं हो और तुम्हें कोई नहीं चाहता है। अब कोलंबिया वापसी मत करना। एक अन्य यूजर ने लिखा, बेका को छोड़कर अन्य सभी खिलाड़‍ियों का आभार। एक अन्य ट्‍वीट इस तरह था, उरिबे तुम नाकारे साबित हुए, स्वदेश मत लौटना। एक अन्य यूजर ने लिखा, उरिबे अपना अंतिम मैच खेल चुका है। वैसे एक फैन ने सोशल मीडिया पर चल रहे इस तरह के संदेशों को गलत बताया। उसने लिखा, उरिबे और बेका की मौत की कामना मत करो। जो आंद्रेस एस्कोबार के साथ हुआ, वह इनके साथ नहीं होना चाहिए। खेल में जीत-हार तो चलती रहती है।
IND vs ENG T20 : कुलदीप यादव के 'पंजे' के बाद केएल राहुल ने जड़ा तूफानी शतक, टीम इंडिया 8 विकेट से जीती....
4 July 2018
मैनचेस्‍टर: चाइनामैन कुलदीप यादव (24 रन देकर पांच विकेट) की बेहतरीन गेंदबाजी और केएल राहुल के तूफानी शतक (101 रन, 54 गेंद, 10 चौके और पांच छक्‍के ) की बदौलत टीम इंडिया ने अपने इंग्‍लैंड दौरे की शुरुआत जीत के साथ की है. तीन टी20 मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारतीय टीम ने आज इंग्‍लैंड को 8 विकेट के बड़े अंतर से पराजित किया. मैच में टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर इंग्‍लैंड को पहले बैटिंग के लिए आमंत्रित किया. कुलदीप यादव की शानदार गेंदबाजी के कारण इंग्‍लैंड टीम निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट पर 159 रन ही बना पाई. जोस बटलर ने सर्वाधिक 69 और जेसन रॉय ने 30 रन बनाए. जवाब में राहुल की पारी की बदौलत भारतीय टीम ने लक्ष्‍य 18.2 ओवर में महज दो विकेट खोकर ही हासिल कर लिया. विराट कोहली ने मोईन अली को छक्‍का जड़ते हुए शानदार अंदाज में मैच खत्‍म किया. इस जीत के साथ भारतीय टीम ने सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है. भारतीय पारी: केएल राहुल ने खेली यादगार पारी इंग्‍लैंड के 159 रन के जवाब में भारतीय पारी शिखर धवन और रोहित शर्मा ने प्रारंभ की लेकिन पहले ही ओवर में धवन (4) आउट हो गए. उन्‍हें तेज गेंदबाज डेविड विली ने बोल्‍ड किया.पहले ओवर में आठ रन बने. दूसरे ओवर में क्रिस जॉर्डन को छक्‍का जड़ते हुए केएल राहुल ने आक्रामक तेवर दिखाए. ओवर में 9 रन बने.पारी के तीसरे ओवर में राहुल को उस समय जीवनदान मिला जब विली की गेंद पर जेसन रॉय ने उनका कैच ड्रॉप कर दिया. ओवर में 9 रन बने.पारी के चौथे ओवर में बॉलिंग के लिए आए प्‍लंकेट को राहुल ने दो चौके लगाए. इस ओवर में 12 रन बने. पांच ओवर के बाद टीम इंडिया को स्‍कोर एक विकेट पर 48 रन था.पारी के चौथे ओवर में बॉलिंग के लिए आए प्‍लंकेट को राहुल ने दो चौके लगाए. इस ओवर में 12 रन बने. पांच ओवर के बाद टीम इंडिया को स्‍कोर एक विकेट पर 48 रन था. टीम इंडिया के 50 रन 5.4 ओवर में पूरे हुए.आठवें ओवर में बॉलिंग के लिए आए मोईन अली का स्‍वागत राहुल ने चौका और फिर छक्‍का लगाकर किया. ओवर में 16 रन बने. नौवें ओवर में आदिल राशिद का भी ऐसा ही हाल हुआ. इस स्पिनर की गेंद पर राहुल ने छक्‍का और चौका लगाते हुए अपना अर्धशतक पूरा किया. इस दौरान राहुल ने 27 गेंदों का सामना करते हुए छह चौके और दो छक्‍के लगाए.राहुल की इस जोरदार बल्‍लेबाजी के चलते टीम इंडिया 10वें ओवर में 100 रन के पार पहुंच गई. 10 ओवर के बाद स्‍कोर एक विकेट पर 103 रन था. राहुल की इस जोरदार बल्‍लेबाजी के चलते टीम इंडिया 10वें ओवर में 100 रन के पार पहुंच गई. 10 ओवर के बाद स्‍कोर एक विकेट पर 103 रन था. अर्धशतक पूरा करने के बाद तो राहुल की बल्‍लेबाजी और भी ऊंचाई छूती गई. उन्‍होंने इंग्‍लैंड के हर गेंदबाज की जमकर खबर ली.राहुल की इस जोरदार बल्‍लेबाजी के चलते टीम इंडिया 10वें ओवर में 100 रन के पार पहुंच गई. 10 ओवर के बाद स्‍कोर एक विकेट पर 103 रन था. अर्धशतक पूरा करने के बाद तो राहुल की बल्‍लेबाजी और भी ऊंचाई छूती गई. उन्‍होंने इंग्‍लैंड के हर गेंदबाज की जमकर खबर ली. पारी के 13वें ओवर में आदिल राशिद इंग्‍लैंड के लिए दूसरी सफलता लेकर आए. उन्‍होंने रेाहित शर्मा (32 रन, 30 गेंद, तीन चौके, एक छक्‍का) को मोर्गन के हाथों कैच कराया.मैच में 8 रन बनाते हुए विराट कोहली टी20 इंटरनेशनल में 2000 रन पूरे करने वाले दुनिया के चौथे बल्‍लेबाज बन गए. वे सबसे कम पारियों में इस आंकड़े तक पहुंचे हैं. न्‍यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्‍कुलम और मार्टिन गप्टिल तथा पाकिस्‍तान के शोएब मलिक भी टी20 में दो हजार रन बना चुके हैं.राहुल का शतक 53 गेंदों पर 10 चौकों और पांच छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ. अगले ही ओवर में विराट ने मोईन अली को छक्‍का जड़ते हुए टीम को जीत तक पहुंचा दिया. राहुल नाबाद 101 और विराट कोहली 20 रन बनाकर नाबाद रहे. इंग्‍लैंड की पारी: कुलदीप यादव ने किया कमाल भारत के आमंत्रण पर पहले बैटिंग के लिए उतरी इंग्‍लैंड की पारी जेसन रॉय और जोस बटलर ने तूफानी अंदाज में शुरू की. भारत के लिए पहला ओवर भुवनेश्‍वर कुमार ने फेंका जिसमें रॉय के दो चौकों सहित 11 रन बने. उमेश यादव की ओर से फेंके गए पारी के दूसरे ओवर में रॉय और बटलर ने एक-एक चौका लगाया. ओवर में 9 रन बने. तीसरे ओवर में 8 और युजवेंद्र चहल की ओर से फेंके गए चौथे ओवर में 16 रन बने. इस ओवर में बटलर ने छक्‍का भी जमाया. खेल के पांचवें ओवर में उमेश यादव टीम के लिए बहुप्रतीक्षित कामयाबी लेकर आए जब उन्‍होंने जेसन रॉय (30 रन, 20 गेंद, पांच चौके) को बोल्‍ड कर दिया.इसी ओवर में इंग्‍लैंड के 50 रन पूरे हुए. पारी का छठा ओवर भारत के लिए अच्‍छा रहा. हार्दिक पंड्या के इस ओवर में केवल तीन रन बने.10वें ओवर में चाइनामैन कुलदीप यादव को आक्रमण पर लाया गया.10 ओवर के बाद इंग्‍लैंड का स्‍कोर एक विकेट खोकर 77 रन था. 11वें ओवर में बटलर ने अपना अर्धशतक पूरा किया. इस दौरान उन्‍होंने 29 गेंदों का सामना करते हुए आठ चौके और दो छक्‍के लगाए. हार्दिक पंड्या का यह ओवर बेहद महंगा रहा और इसमें 18 रन बने.पारी के 12वें ओवर में चाइनामैन कुलदीप यादव ने हेल्‍स (0) को बोल्‍ड करते हुए भारत को दूसरी सफलता दिलाई. इस ओवर में इंग्‍लैंड के 100 रन पूरे हुए. कुलदीप यादव की ओर से फेंके गए पारी के 14वें ओवर ने मैच की तस्‍वीर ही बदल डाली. इंग्‍लैंड ने इस ओवर में इयोन मोर्गन (7), जॉनी बेयरस्‍टॉ (0)और जो रूट (0) के विकेट गंवाए. इसमें से मोर्गन का कैच कोहली ने लपका जबकि बेयरस्‍टॉ और रूट को धोनी ने स्‍टंप किया. मजबूत स्थिति में नजर आ रही इंग्‍लैंड की पारी देखते ही देखते इस ओवर में पटरी से उतर गई. 16वें ओवर में मोईन अली (6) भी पेवेलियन लौट गए. उन्‍हें पंड्या की गेंद पर रैना ने कैच किया.पारी का 17वां ओवर भुवनेश्‍वर कुमार ने फेंका जिसमें विली ने एक छक्‍का और दो चौके लगाए. ओवर में 20 रन बने.इंग्‍लैंड का सातवां विकेट जोस बटलर (69 रन, 46 गेंद,आठ चौके और दो छक्‍के) और आठवां विकेट क्रिस जॉर्डन (0) के रूप में गिरा.20 ओवर के बाद इंग्‍लैंड का स्‍कोर 8 विकेट पर 159 रन रहा. डेविड विली 29 और लियोम प्‍लंकेट 3 रन बनाकर नाबाद रहे. भारत के लिए कुलदीप यादव ने 24 रन देकर सर्वाधिक पांच विकेट लिए. उमेश यादव को दो विकेट मिले. भारतीय टीम ने प्‍लेइंग्‍ा इलेवन में केएल राहुल और उमेश यादव का स्‍थान दिया. दिनेश कार्तिक को टीम में जगह नहीं मिल सकी. राहुल ने अपनी शतकीय पारी से टीम मैनेजमेंट के फैसले को सही साबित किया दोनों टीमें इस प्रकार थीं .. इंग्‍लैंड: इयोन मोर्गन (कप्‍तान), जेसन रॉय, जोस बटलर, एलेक्‍स हेल्‍स, जो रूट, जॉनी बेयरस्‍टॉ, मोईन अली, डेविड विली, आदिल राशिद, क्रिस जॉर्डन और लियोम प्‍लंकेट. भारत: विराट कोहली (कप्‍तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, सुरेश रैना, लोकेश राहुल, एमएस धोनी, हार्दिक पंड्या, भुवनेश्‍वर कुमार, कुलदीप यादव, उमेश यादव और युजवेंद्र चहल.
FIFA WC : जापान को 3-2 से हराकर बेल्जियम क्वार्टर फाइनल में.....
3 July 2018
नई दिल्ली। फीफा फुटबॉल विश्व कप 2018 के नॉकआउट राउंड में जापान का मुकाबला बेल्जियम के साथ हुआ। इस बेहद रोमांचक मुकाबले में बेल्जियम ने जापान को 3-2 से हराकर पहली बार विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का सपना तोड़ दिया। विश्व कप में ये तीसरा मौका है जब बेल्जियम ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है। 1970 के बाद विश्‍वकप में यह पहला मौका है जब नॉकआउट दौर में किसी टीम ने दो गोल से पिछड़ने के बाद वापसी कर मैच जीता। अब बेल्जियम का क्‍वार्टर फाइनल में मुकाबला पांच बार की चैंपियन ब्राजील से होगा। पहले हाफ के खेल में दोनों ही टीमों ने आक्रामक खेल दिखाया लेकिन गोल करने में सफल नहीं रही। 45 मिनट के खेल में जापान के डिफेंडरों ने गजब का खेल दिखाते हुए बेल्जियम के आक्रमण को सफल नहीं होने दिया। पहले हाफ के 24वें मिनट में बेल्जियम के रोमेलू को गोल के ठीक सामने गेंद मिली और उनके पास शानदार मौका था लेकिन वो जापान के गोलकीपर को छका नहीं पाए और इस बेहतरीन मौके को गवां दिया। 30वें मिनट में जापान के खिलाड़ियों ने मिलकर एक शानदार मौका गोल करने का बनाया लेकिन बेल्जियम के गोलकीपर थिबॉट कटरेआ ने उनके हमले को नाकाम कर दिया। पहले हाफ में बेल्जियम ने गोल के ज्यादा मौके बनाए लेकिन जापान की तरफ से भी गोल करने की काफी कोशिश की गई। खेल के 40वें मिनट में जापान के गाकू को यलो कार्ड दिखाया गया। पहले हाफ में बेल्जियम ने पांच कार्नर हासिल किए जबकि जापान को एक भी कार्नर नहीं मिला। दूसरा हाफ जापान के लिए कमाल का साबित हुआ। दूसरे हाफ का खेल शुरू होते ही जापान के हारागुची ने 48वें मिनट में गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा दिया और अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। इसके तुरंत बाद ही 52वें मिनट में ही ताकाशी इनई ने अपनी टीम के लिए दूसरा गोल कर मजबूत बेल्जियम को चौंका दिया। इस गोल के साथ जापान ने बेल्जियम पर 2-0 की मजबूत बढ़त हासिल कर ली। बेल्जियम ने इसके बाद लगातार अपना हमला जारी रखा और आखिरकार उसे खेल के 69वें मिनट में सफलता मिली। जन वर्टोगन ने हेडर से गोल दागकर स्कोर को 1-2 पर पहुंचा दिया। इस गोल के पांच मिनट बाद ही बेल्जियम के सब्सिट्यूट खिलाड़ी फेलेनी ने अपनी टीम के लिए 74वें मिनट में गोल दागकर स्कोर को 2-2 से बराबर कर दिया। 90 मिनट का खेल खत्म होने तक दोनों टीमों का स्कोर 2-2 की बराबरी पर रहा। इसके बाद 4 मिनट के इंजुरी टाइम का खेल शुरू हुआ और इसके आखिरी वक्त में बेल्जियम के नासेर शेडली ने गोल कर अपनी टीम को जीत दिला दी। चेडली न ये गोल 90 प्लस चार मिनट में किया।
IND vs ENG: विराट कोहली और रोहित शर्मा के पास है टी20 में यह 'बड़ा' रिकॉर्ड बनाने का मौका......
2 July 2018
विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया की इंग्‍लैंड के खिलाफ सीरीज का आगाज मंगलवार से हो रहा है. सीरीज के अंतर्गत कल पहले टी20 मैच में विराट कोहली ब्रिगेड का मुकाबला इंग्‍लैंड की टीम से होना है. टी20 सीरीज के बाद भारतीय टीम को इंग्‍लैंड में तीन वनडे और पांच टेस्‍ट मैचों की सीरीज भी खेलनी है. टी20 सीरीज में भारतीय टीम के दो दिग्‍गज बल्‍लेबाजों विराट कोहली और रोहित शर्मा के पास एक बड़ी उपलब्धि हासिल करने का मौका है. इस सीरीज में दोनों बल्‍लेबाज टी20 इंटरनेशनल में 2000 रन बनाने वाले दुनिया के बल्‍लेबाजों में अपना नाम दर्ज करा सकते हैं. विराट के इस समय 59 टी20 मैचों में 1992 रन हैं. वे आठ रन बनाते ही इस खास सूची में स्‍थान बना लेंगे. विराट के पास आयरलैंड के खिलाफ दो मैचों की सीरीज में ही यह उपलब्धि हासिल करने का मौका था लेकिन वे चूक गए थे. सीरीज के पहले मैच में जहां वे अपना खाता भी नहीं खोल पाए थे, वहीं दूसरे मैच में केवल 9 रन बनाने पीटर चेज का शिकार बन गए थे. भारतीय फैंस को पूरी उम्‍मीद है कि विराट सीरीज के अंतर्गत कल होने वाले मैच में ही 2000 रन के आंकड़े को छू लेंगे. विराट और रोहित भारतीय टीम के दिग्‍गज बल्‍लेबाज हैं और इनके प्रदर्शन पर भारतीय टीम की सीरीज जीत का बहुत कुछ दारोमदार होगा. विराट की ही तरह ओपनर रोहित शर्मा भी इस टी20 सीरीज में 2000 रन तक पहुंच सकते हैं. रोहित के इस समय टी20 इंटरनेशनल में 1949 रन हैं. दो हजार टी20 रन तक पहुंचने के लिए उन्‍हें 51 रन की जरूरत है. विराट और रोहित यदि इंग्‍लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में यह आंकड़ा छूने में सफल रहे तो यह उपलब्धि हासिल करने वाले दुनिया के चौथे और पांचवें बल्‍लेबाज बन जाएंगे. टी20 क्रिकेट (इंटरनेशनल) में अब तक केवल तीन ही बल्‍लेबाजों ने 2000 या इससे अधिक रन बनाए हैं. इस सूची में पहले स्‍थान पर न्‍यूजीलैंड के मार्टिन गप्टिल और दूसरे स्‍थान पर इसी देश के ब्रेंडन मैक्‍कुलम हैं. जहां गप्टिल ने 2,271 रन बनाए हैं, वहीं मैक्‍कुलम ने टी20 इंटरनेशनल में 2,140 रन बनाए हैं. मैक्‍कुलम इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्‍यास ले चुके हैं. टी20 इंटरनेशनल में दो हजार रन पूरे करने वाले तीसरे बल्‍लेबाज पाकिस्‍तान के शोएब मलिक हैं, जिन्‍होंने रविवार को ही जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ टी20 मैच में यह उपलब्धि हासिल की. जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ हरारे में हुए मुकाबले में शोएब ने टी20 में दो हजार रन पूरे किए. टी20 में रनों के मामले में शोएब इस समय 2026 रन के साथ तीसरे स्‍थान पर हैं.
ओलिंपिक चैंपियन मारिन को हराकर सिंधु सेमीफाइनल में....
30 Jun 2018
कुआलालंपुर। भारत की पीवी सिंधु ने धमाकेदार प्रदर्शन कर ओलिंपिक चैंपियन केरोलिना मारिन को सीधे गेमों में हराकर मलेशिया ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। इसी तरह किदांबी श्रीकांत ने भी पुरुष सिंगल्स सेमीफाइनल में जगह बनाई। ओलिंपिक रजत पदक विजेता सिंधु और मारिन के बीच हमेशा ही संघर्षपूर्ण मुकाबले होते रहे हैं। इस बार सिंधु ने बेहतर प्रदर्शन कर मारिन को 22-20, 21-19 से हराया। पहला गेम बहुत ज्यादा संघर्षपूर्ण रहा और एक-एक अंक के लिए संघर्ष होता रहा। 7-7 की स्थिति में दोनों बराबरी पर थे, इसके बाद कभी सिंधु 18-15 से आगे हो गई थी, लेकिन मारिन ने 18-18 के स्कोर पर बराबरी की। सिंधु ने यह गेम 22-20 से अपने नाम किया। दूसरे गेम में सिंधु एक समय 11-6 और फिर 15-10 से आगे हो गई थी। मारिन ने वापसी का प्रयास करते हुए स्कोर को 14-17 पर पहुंचाया। सिंधु ने यह गेम 21-19 से जीतकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। पुरुषों के क्वार्टर फाइनल में किदांबी श्रीकांत ने ब्राइस लेवेडेज को 21-18, 21-14 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई। लेवेडेज ने पहले गेम में संघर्ष किया, लेकिन दूसरे गेम में श्रीकांत ने उन्हें वापसी का कोई मौका नहीं दिया। भारतीय खिलाड़ी ने यह मुकाबला मात्र 39 मिनटों में जीता।
INDvsIRE T-20: दूसरा मैच आज, टीम इंडिया के पास 'बेंच स्ट्रेंथ' को आज़माने का मौका....
29 Jun 2018
सडबलिन: आयरलैंड के खिलाफ पहला टी20 मैच जीत चुकी टीम इंडिया शुक्रवार को सीरीज़ के दूसरे और अंतिम मैच में अपनी ‘बेंच स्ट्रेंथ’ को आजमाना चाहेगी. इसके पीछे मकसद इंग्लैंड के खिलाफ चुनौतीपूर्ण दौरे के लिए सभी खिलाड़ि‍यों को वहां के पिच के मिजाज से वाफिक कराने का है. भारत ने आयरलैंड और इंग्लैंड के तीन महीने लंबे दौरे की शुरुआत शानदार तरीके से करते हुए आयरलैंड पर पहले टी 20 मैच में 76 रन से जीत दर्ज की. रोहित शर्मा और शिखर धवन के अर्धशतकों की बदौलत भारत ने पांच विकेट पर 208 रन का स्कोर खड़ा किया और फिर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की गेंदबाजी की बदौलत आयरलैंड को 132 के स्‍कोर तक सीमित कर दिया. इस मैच से यह संकेत मिला कि भारत की पसंदीदा प्‍लेइंग इलेवन तीन महीने के ब्रेक के बाद भी शानदार तरीके से खेल रही है और इंग्लंड दौरे के लिये अच्छी तरह से तैयार है. मैच भारतीय समयानुसार रात साढ़े आठ बजे शुरू होगा.
FIFA World Cup: जीत के बाद मैसी ने भगवान के बारे में दिया बड़ा बयान...
27 Jun 2018
सेंट पीटर्सबर्ग। मार्कोस रोजो द्वारा किए गए गोल की मदद से अर्जेंटीना ने फुटबॉल विश्व कप में नाइजीरिया को 2-1 से हराकर प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। अर्जेटीना के स्टार स्ट्राइकर लियोनेल मैसी ने अपनी टीम की तरफ से पहला गोल दागा था। नाइजीरिया ने दूसरे हाफ में मिली पेनल्टी की मदद से बराबरी की जिसके बाद रोजो ने गत उपविजेता टीम को अगले दौर में पहुंचाया। आइसलैंड के खिलाफ पहला मैच ड्रॉ होने के बाद अर्जेंटीना को दूसरे मैच में क्रो‍एशिया के हाथों 0-3 से हार झेलनी पड़ी थी। इसके बाद अर्जेंटीना को करो या मरो के मुकाबले में नाइजीरिया को हराना ही था। यह मैच जीतने के बाद मैसी ने कहा, 'इस मैच इतना दबाव मैंने कभी नहीं झेला, क्योंकि हमारे उपर विश्व कप से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा था लेकिन मैं निश्चिंत भी था क्योंकि भगवान हमारे साथ था। भगवान ऐसा कभी नहीं चाहते कि हम इतनी जल्दी विश्व कप से बाहर हो जाए। मैं इसके लिए भगवान का शुक्रिया अदा करता हूं।' उन्होंने कहा, अर्जेंटीना पहले दौर से ही बाहर होने की हकदार नहीं थी। क्वालीफाई करने का यह शानदार तरीका था। हमने अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन किया, इसलिए हम खुश है। हम जानते थे कि हम यह मैच जीतेंगे लेकिन हमें इतने ज्यादा संघर्ष की उम्मीद नहीं थी। मैसी ने स्वीकारा कि मैच में बराबरी होने के बाद अर्जेंटीना के खिलाड़ी थोड़े नर्वस हो गए थे। यह अच्छा मैच था और पहले हाफ में हमारा पूरा नियंत्रण था। पहला गोल दागने के बाद भी हमें कई मौके मिले थे। हमें लगा था कि दूसरा हाफ भी ऐसा ही रहेगा, लेकिन नाइज‍ीरिया ने पेनल्टी पर गोल दागकर हमारी मुश्किलें बढ़ा दी थी।' लगातार हो रही आलोचनाओं के चलते मैसी ने दो साल पहले अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास ले लिया था, लेकिन फैंस के दबाव के चलते उन्होंने वापसी की। मैसी ने कहा, मैं अर्जेंटीना के फैंस का शुक्रिया अदा करता हूं कि वे इतनी भारी तादाद में यहां पहुंचे। उन्होंने हम पर विश्वास रखा और इसी के चलते हम जीत दर्ज कर पाए। मार्कोस रोजो को अर्जेंटीना टीम में शामिल किए जाने पर काफी विवाद हुआ था, लेकिन उन्होंने नाइजीरिया के खिलाफ गोल कर अपनी उपयोगिता साबित की। मैसी ने कहा, 'टीम में जगह बनाने के बाद रोजो खेलने के हकदार थे।' रोजो ने कहा, मैंने तो पहले ही कह दिया था कि मैं नाइजीरिया के खिलाफ गोल दागूंगा। मैं इस गोल को अपने परिवार को समर्पित करता हूं। हमारी टीम बहुत आगे बढ़ने की हकदार हैं।
भारत 'ए' ने वेस्‍टइंडीज 'ए' को हराया, दीपक चाहर और मयंक अग्रवाल ने दिखाई चमक...
26 Jun 2018
बलीसेस्टर: तेज गेंदबाज दीपक चाहर के पांच विकेट के बाद सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के शतक की बदौलत भारत 'ए' ने त्रिकोणीय वनडे सीरीज में यहां वेस्टइंडीज 'ए' को 7 विकेट से पराजित कर दिया. वेस्टइंडीज के 222 रन के लक्ष्य को भारत 'ए' की टीम ने महज 38 .1 ओवर में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया. भारत 'ए' की टीम के लिए मयंक अग्रवाल ने 102 गेंद में 112 रन की बेहतरीन पारी खेली. उनकी इस पारी में 11 चौके और दो छक्के शामिल थे. मयंक के अलावा शुभमन गिल ने भी 92 गेंद में 58 रन की नाबाद पारी खेली. शुभमन ने इस दौरान पांच चौके जमाए. शुभमन और अग्रवाल ने दूसरे विकेट के लिए 148 रन की साझेदारी की. इससे पहले, दीपक चाहर ने 10 ओवर में 27 रन देकर पांच विकेट चटकाए जिससे वेस्टइंडीज की टीम 49.1 ओवर में 221 रन के छोटे स्‍कोर पर सिमट गई. भारत की ओर से शारदुल ठाकुर , खलील अहमद , विजय शंकर और क्रुणाल पंड्या को भी एक-एक विकेट मिला. वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन मोहम्मद ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन चाहर ने पहले ओवर की दूसरी गेंद पर ही सलामी बल्लेबाज जर्मेन ब्लैकवुड को खाता खोले बिना पेवेलियन भेज दिया. उन्होंने अपने दूसरे और पारी के तीसरे ओवर में आंद्रे मैक्कार्टे (11) को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया. दो विकेट सस्ते में गिरने के बाद कप्तान जेसन मोहम्मद (31) ने सलामी बल्लेबाज चंद्रपाल हेमराज (45) के साथ तीसरे विकेट के लिए 72 रन की साझेदारी की. शुभमन गिल ने हेमराज को रन आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा. वेस्टइंडीज के लिए विकेटकीपर डेवोन थामस ने सबसे अधिक नाबाद 64 रन का योगदान दिया. उन्होंने अंतिम विकेट के लिए चेमार होल्डर (06) के साथ 41 रन की साझेदारी की.
WI vs SL Test: वेस्‍टइंडीज के गेंदबाजों के आगे श्रीलंका की टीम संघर्षरत, पांच विकेट गिरे....
25 Jun 2018
ब्रिजटाउन: केमार रोच (2/13) और शेनन गेब्रिएल (2/42) की गेंदबाजी के दम पर वेस्टइंडीज ने केनसिंग्टन ओवल मैदान पर चल रहे तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच के दूसरे दिन श्रीलंका की टीम को बैकफुट पर धकेल दिया है. रविवार का खेल समाप्त होने तक श्रीलंका ने 99 रन पर पांच विकेट गंवा दिए हैं. अभी भी वह वेस्टइंडीज 105 रन पीछे है. स्‍टंप्‍स के समय श्रीलंका टीम के रोशन सिल्वा (3) और निरोशन डिकवेला (13) नाबाद हैं. वेस्टइंडीज ने अपनी पहली पारी में 204 रन बनाए थे. टीम के लिए शेन डॉरिक (71) और कप्तान जेसन होल्डर (74) ने सबसे अधिक रन बनाए. इसके अलावा, टीम का कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाया. श्रीलंका के लिए लाहिरु कुमारा ने सबसे अधिक चार विकेट लिए, वहीं कासुन रजीथा ने तीन विकेट हासिल किए थे. कप्तान सुरंगा लकमल को दो और दिलरुवान परेरा को एक सफलता हाथ लगी थी. अपनी पहली पारी खेलने उतरी श्रीलंका टीम के लिए शुरुआत बेहद खराब रही. टीम ने तीसरे ओवर की तीसरी गेंद पर ही कुसल परेरा के रूप में अपना शुरुआती विकेट गंवा दिया. रॉच ने परेरा को खाता खोलने का मौका भी नहीं दिया. इसके बाद, महेला उद्वाते (4) और दनुश्का गुनतिलका (29) ने दूसरे विकेट के लिए 16 रन ही जोड़े थे कि रॉच ने उद्वाते को भी एलबीडब्‍ल्‍यू करके पेवेलियन का रास्ता दिखा दिया. गुनतिलका और कुसल मेंडिस (22) ने 59 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी कर टीम को संभालने की कोशिश की, लेकिन 75 के कुल योग पर गेब्रिएल ने मेंडिस को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ दिया. 81 के कुल योग पर होल्डर ने गुनाथीलका को भी पेवेलियन लौटा दिया. गुनतिलका के आउट होने के बाद धनंजय डीसिल्वा (8) और रोशन टीम की पारी को आगे बढ़ाने उतरे, लेकिन उसके खाते में चार ही रन जुड़ पाए थे कि 85 के स्कोर पर गेब्रिएल ने धनंजय को भी एलबीडब्‍ल्‍यू करके श्रीलंका का पांचवां विकेट भी गिरा दिया. रोशन और निरोशन ने दिन का खेल समाप्त होने तक बिना कोई और विकेट गंवाए 14 रन जोड़कर टीम को 99 के स्कोर तक पहुंचाया.
पाकिस्तानी क्रिकेटर अहमद शहजाद डोप टेस्ट में नाकाम, लग सकता है तीन से छह माह का बैन....
23 Jun 2018
पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज अहमद शहजाद डोप परीक्षण में असफल हो गए हैं. डोपिंग रोधी कानूनों के उल्लंघन करने पर उन्हें तीन से छह महीने के लिए निलंबित किया जा सकता है.पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस बारे में जानकारी दी. पीसीबी ने ट्विटर पर लिखा, "एक खिलाड़ी कथित तौर पर डोप टेस्ट में नाकाम रहा है लेकिन अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC)के नियमानुसार, जब तक सरकार की एंटी-डोपिंग एजेंसी की तरफ से इसकी पुष्टि नहीं हो जाती है तब तक उस खिलाड़ी का नाम उजागर नहीं किया जा सकता. अगले एक-दो दिन में हमें इसका जवाब मिल जाएगा." वैसे मीडिया में आई खबरों के अनुसार यह खिलाड़ी पाकिस्‍तानी बल्‍लेबाज अहमद शहजाद हैं. शहजाद ने 13 टेस्ट, 81 वनडे और 57 टी 20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं. वह पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड द्वारा गठित जांच समिति के सामने पेश होंगे. बोर्ड के एक विश्वसनीय सूत्र ने कहा , ‘शुरुआती परीक्षण में उन्हें पॉजिटिव पाया गया है लेकिन प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही कोई आधिकारिक घोषणा की जाएगी.’ सूत्र ने बताया कि शहजाद अप्रैल-मई में फैसलाबाद में हुए पाकिस्तान कप के दौरान डोप टेस्ट में पॉ‍जिटिव पाया गया था. इस बीच, लैब की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान की एंटी-डोपिंग इकाई की तरफ से अभी तक खिलाड़ी के ब्‍लड सैंपल की जांच नहीं की गई है. पीसीबी अभी परिणाम आने का इंतजार कर रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि खिलाड़ी के नमूने का टेस्ट हाल ही में फैसलाबाद में 50 ओवर के घरेलू टूर्नामेंट के दौरान लिया गया था. पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, जिस खिलाड़ी के रक्त का नमूना लिया गया और अगर उनके टेस्ट में फेल होने की पुष्टि हो जाती है तो उन पर दो साल का बैन लग सकता है. गौरतलब है कि पाकिस्तान के रजा हसन पहले ही डोप टेस्ट मामले में दो साल का बैन झेल चुके हैं. इसके अलावा लेग स्पिनर यासिर शाह और अब्दुर रहमान भी तीन-तीन महीने के प्रतिबंध का सामना कर चुके हैं
ENG vs AUS: आखिरी दो वनडे के लिए सैम कुरेन और ओवरटन इंग्‍लैंड टीम में शामिल....
22 Jun 2018
नॉटिंघम: इंग्लैंड ने तेज गेंदबाज सैम कुरेन और क्रेग ओवरटन को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के शेष दो मैचों के लिए अपनी टीम में स्‍थान दिया है. इयोन मोर्गन की अगुवाई वाली इंग्लैंड ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में पहले ही 3-0 की अजेय बढ़त ले चुकी है, ऐसे में उसके पास नए खिलाड़ि‍यों को आजमाने का मौका है. इंग्‍लैंड टीम ने मंगलवार को यहां छह विकेट पर 481 रन का विशाल स्‍कोर बनाकर नया वर्ल्‍ड रिकार्ड स्थापित किया था. इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने मैच में कुल 21 छक्के और 41 चौके लगाए थे. इसके बाद स्पिनर आदिल राशिद और मोईन अली ने मिलकर सात विकेट लिए थे. इंग्‍लैंड की टीम इस मैच में 239 रन बनाकर ढेर हो गई थी. मोर्गन की टीम ऑस्ट्रेलिया को 242 रन के बड़े अंतर से हराने में सफल रही थी. यह इंग्लैंड की रनों के लिहाज से सबसे बड़ी वनडे जीत है वहीं ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी हार. बेन स्‍टोक्‍स और क्रिस वोक्स के चोट के कारण बाहर होने के बाद इंग्लैंड ने अपना गेंदबाजी आक्रमण मजबूत करने का फैसला किया है. कुरेन और ओवरटन के आने से तेज गेंदबाज मार्क वुड, लियम प्लंकेट या डेविड विली को अंतिम दो मैचों के लिए बाहर किया जा सकता है. सीरीज का अंतिम मैच रविवार को मैनचेस्टर में खेला जाएगा
यो-यो टेस्‍ट की बड़ी बाधा पार करने के बाद 'हिटमैन' रोहित शर्मा ने यूं साधा मीडिया पर निशाना.....
21 Jun 2018
नई दिल्ली: शॉर्टर फॉर्मेट में टीम इंडिया के स्‍टार प्‍लेयर रोहित शर्मा ने ब्रिटेन दौरे के पहले बड़ी बाधा पार कर ली है. टीम में शामिल होने के लिए जरूरी यो-यो टेस्ट को आज सफलता पूर्वक पूरा करने के बाद आलोंचको पर निशाना साधा. दरअसल, ब्रिटेन दौरे के लिए वनडे टीम के खिलाड़ियों ने 15 जून को यो-यो टेस्ट दिया था जिसमें रोहित शर्मा के शामिल नहीं होने पर सवाल उठाए गए थे. पिछले सप्ताह हुए यो-यो टेस्ट में अंबाती रायुडू को छोड़कर सभी खिलाड़ी इसमें सफल रहे थे जिसमें कप्तान विराट कोहली और पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी भी शामिल थे. रोहित ने कारणों के चलते भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई0 से 15 जून को इस टेस्ट में भाग नहीं लेने के लिए अनुमति ली थी. बीसीसीआई के महाप्रबंधक (क्रिकेट परिचालन) सबा करीम ने कहा, ‘रोहित के लिए 15 जून को यो-यो टेस्ट देना अनिवार्य नहीं था क्योंकि उन्होंने पहले से मंजूरी ली थी.’ रोहित ने आज सोशल मीडिया पर जानकारी दी कि उन्होंने बेंगलुरू स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में आज टेस्ट पास कर लिया है. फिटनेस पर सवाल उठाने वाले उन्‍होंने मीडिया के एक वर्ग पर निशाना भी साधा. उन्होंने ट्वीट किया , ‘मैं अपना समय कहां और कैसे बिताता हूं, इस बारे में किसी को दखल देने का हक नहीं है. जब तक मैं नियमों का पालन करता हूं तब तक मुझे अपने तरीके से समय बिताने का अधिकार है. असल मुद्दों पर चर्चा करिए.कुछ चैनलों को मैं बताना चाहूंगा कि यो-यो टेस्ट में सफल होने के लिए मुझे एक मौका मिला जो आज था.’ इससे पहले बीसीसीआई ने रोहित के यो-यो टेस्ट में क्वालीफाई नहीं करने की स्थिति में टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे को विकल्प के तौर पर तैयार रहने के लिए कहा था. हाल के दिनो में टेस्ट टीम में शामिल मोहम्मद शमी और वनडे टीम के लिए चुने गये अंबाती रायुडू के अलावा भारत 'ए' के इंग्लैंड दौरे के लिए चुने संजू सैमसन यो-यो टेस्ट में नाकाम हो गये थे. इस कारण यो-यो टेस्‍ट के नतीजे को लेकर क्रिकेटप्रेमियों को लेकर खासी उत्‍सुकता थी. भारतीय टीम ब्रिटेन दौरे का आगाज 27 जून को आयरलैंड के खिलाफ दो टी20 मैचों की सीरीज से करेगी. सीरीज का दूसरा मैच 29 जून को खेला जाएगा. भारतीय टीम दिल्ली से 23 जून को रवाना होगी
टेस्ट रैंकिंग: शतक के सहारे शिखर धवन और मुरली विजय ने लगाई छलांग...
20 Jun 2018
दुबई: टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और मुरली विजय आईसीसी की ताजा टेस्ट रैंकिंग में बल्लेबाजों की सूची में अपनी रैंकिंग सुधारने में सफल रहे हैं. धवन और विजय ने पिछले सप्ताह अफगानिस्तान के खिलाफ बेंगलुरू में एकमात्र टेस्ट मैच में शतक जड़ा था. इस मैच में धवन ने 107 और विजय ने 105 रन की पारी खेली थी. धवन इसी के साथ ही एक टेस्ट मैच में पहले दिन लंच से पहले शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने थे. अपनी इस शतकीय पारी की बदौलत धवन ताजा टेस्ट रैंकिंग में 10 स्थानों की लंबी छलांग लगाकर करियर के अपने सर्वश्रेष्ठ 24वें नंबर पर पहुंच गए हैं. दूसरी ओर, विजय छह स्थान ऊपर उठकर 23वें नंबर पर पहुंच गए हैं. भारत ने इस टेस्ट मैच को दो दिन के अंदर ही पारी और 262 रन से जीता था. गेंदबाजी की बात करें तो बेंगलुरू टेस्ट में छह विकेट लेने वाले लेफ्ट स्पिनर रवींद्र जडेजा एक स्थान के सुधार के साथ तीसरे, तेज गेंदबाज इशांत शर्मा दो स्थानों के सुधार के साथ 25वें और उमेश यादव 26वें नंबर पर पहुंच गए हैं. उमेश यादव ने बेंगलुरू में अपने 100 टेस्‍ट विकेट पूरे किए थे. अपना पहला टेस्ट मैच खेलने वाले अफगानिस्तान के खिलाड़ियों ने भी रैंकिंग में अपना नाम दर्ज करवा लिया है. ताजा टेस्ट रैंकिंग में हशमतुल्लाह शाहिदी 111वें और कप्तान अशगर स्टानिकजई 136वें नंबर पर हैं. गेंदबाजों में यामिन अहमदजई 94वें और मुजीब उर रहमान 114वें नंबर पर हैं. वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज शेनन गेब्रिययल श्रीलंका के साथ सोमवार को समाप्त हुए दूसरे टेस्ट मैच के बाद करियर की सर्वश्रेष्ठ 12वें स्थान पर पहुंच गए हैं. उन्होंने उस मैच में 121 रन देकर 13 विकेट हासिल किए थे.इसकी बदौलत अब उनको 11 स्थानों का फायदा हुआ है. गेब्रियल के अब 754 रेटिंग अंक हो गए हैं. श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंडीमल नौवें और कुसल मेंडिस 12वें पायदान पर पहुंच गए हैं. गेंदबाजों में सुरंगा लकमल 29वें और लाहिरू कुमारा 51वें नंबर पर हैं
मैक्सिको के प्रशंसकों ने जर्मनी पर जीत का ऐसा जश्न मनाया कि भूकंप आ गया...
19 Jun 2018
मेक्सिको सिटी। फीफा विश्व कप में रविवार को मैक्सिको ने गत विजेता जर्मनी को 1-0 से हरा दिया। अपनी टीम की इस बड़ी जीत की खुशी में मैक्सिको के प्रशंसक इस कदर नाचे कि देश में भूकंप आ गया। भूकंप की जांच करने वाले यंत्रों पर इसे रिकॉर्ड किया गया। जैसे ही मैक्सिको की टीम ने गोल किया, लोग नाचने लगे और सिस्मोग्राफ यंत्र पर इसे महसूस किया गया। 7 सेकंड तक दो बार झटके महसूस किए गए। प्रशंसक मैक्सिको सिटी में मशहूर ऐंजल ऑफ इंडिपेंडेंट्स स्मारक के करीब इकट्ठा हो गए और मैक्सिको के झंडे लहराते हुए झूम-झूमकर गाने लगे। जैसे ही स्टार खिलाड़ी हिरविंग लोजानो ने 35वें मिनट में गोल किया, लोग चिल्ला उठे "हमने कर दिखाया।" मैक्सिको के जियोलॉजिकल और एटमॉस्फेरिक रिसर्च इंस्टीट्यूट ने बताया कि सुबह 11.32 बजे जब लोजानो ने जर्मनी के खिलाफ गोल दागा तो धरती में एक वाइब्रेशन महसूस किया गया, जो छोटा भूकंप महसूस किया गया। सक्रिय हो गए सेंसर दरअसल, ऐंजल ऑफ इंडिपेंडेंट्स के करीब मौजूद प्रशंसक खुशी से "मैक्सिको, मैक्सिको, मैक्सिको" के नारे लगा रहे थे। उनके कूदने से जमीन पर हुई हलचल के चलते भूकंप मापने वाले सेंसर सक्रिय हो गए। प्रशंसक अब उम्मीद जता रहे हैं कि उनके देश की टीम अब 15 अन्य टीमों के साथ अगले दौर में पहुंचेगी। प्रशंसक टीम के क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और यहां तक कि फाइनल तक में पहुंचने की उम्मीद लगा बैठे हैं। सोशल मीडिया पर प्रशंसकों ने गोलकीपर गुलिमेरो ओचाओ के प्रदर्शन की खूब तारीफ की। कई ऐसे मीम भी चल निकले, जिसमें उन्हें अगले राष्ट्रपति के रूप में दिखाया जा रहा है। 45 वर्षीय मर्चेंट ने कहा कि वह बेहद खुश हैं यह जीत एक भूकंप की तरह है। हम बेहद ही खुश हैं। वहीं मैक्सिको के राष्ट्रपति एरनीक पेना निएटो ने भी ट्विटर पर टीम को बधाई दी। 1982 के बाद पहली बार 1982 के बाद ऐसा पहली बार हुआ है कि जर्मनी को फीफा विश्व कप में खेले गए पहले ग्रुप मैच में ही हार का सामना करना पड़ा है। 1988 में हुआ था ऐसा वर्ष 1988 में लुसियाना स्टेट यूनिवर्सिटी और अबर्न के बीच कॉलेज स्तर के फुटबॉल मैच में अबर्न की जीत का टाइगर स्टेडियम में ऐसा जश्न मना कि इर्दगिर्द के क्षेत्र में सिस्मोग्राफ में रिकॉर्ड हो गया। वर्ष 2016 में लिसेस्टर सिटी के प्रशंसकों ने भी नॉर्विक पर जीत का ऐसा जश्न मनाया था कि भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।
बॉल टैम्‍परिंग विवाद: अब श्रीलंका के दिनेश चंदीमल पर लगा गेंद से छेड़छाड़ करने का आरोप ...
18 Jun 2018
वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के दौरान श्रीलंका के कप्तान दिनेश चंदीमल पर भी बॉल टैम्‍परिंग के आरोप लग गए हैं. शनिवार को श्रीलंकाई टीम ने मैदान पर उतरने से उस वक्त मना कर दिया था जब अंपायरों ने उन पर बॉल को गलत तरीके से चमकाने (बॉल टैम्‍परिंग) का आरोप लगाया था. ऑस्‍ट्रेलिया-दक्षिण अफ्रीका की टेस्‍ट सीरीज के बाद यह पहला मौका है जब किसी टीम के कप्‍तान पर बॉल टैम्‍परिंग का गंभीर आरोप लगा है. इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के तीसरे टेस्‍ट में ऑस्‍ट्रेलिया के कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ, उपकप्‍तान डेविड वॉर्नर और टीम के ओपनर कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर बॉल टैम्‍परिंग के आरोप लगे थे. इन तीनों खिलाड़ि‍यों पर बैन भी लगाया गया था. वेस्‍टइंडीज के खिलाफ मैच में श्रीलंका के कप्‍तान चंदीमल को आईसीसी की 2.2.9 धारा के तहत दोषी पाया गया है. टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल शुरु होने में देरी होने की वजह से अंपायरों ने मेजबान टीम को पेनाल्टी के रूप में 5 रन दिए. आपको बता दें कि गेंद बदलने के विरोध में श्रीलंका के खिलाड़ी ड्रेसिंग रुम से बाहर ही नहीं आए, जिसके कारण मैच देरी से शुरू हो पाया. श्रीलंका ने ‘गेंद से छेड़छाड़ ’ से जुड़े विवाद के बीच वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में ‘विरोध के साथ ’ खेलना जारी रखा.अंपायर अलीम डार और इयान गाउल्ड उस गेंद की हालत से संतुष्ट नहीं थे जिसका उपयोग दूसरे दिन के खेल के आखिर में किया गया था. श्रीलंकाई टीम से कहा गया कि वे उसी गेंद से खेल आगे शुरू नहीं कर सकते. गेंद बदलने की मांग से नाराज श्रीलंका ने कप्तान दिनेश चंदीमल की अगुवाई में खेल के तीसरे दिन कल मैदान पर उतरने से इनकार कर दिया लेकिन आखिर में निर्धारित समय से दो घंटे बाद खेल शुरू हो गया था. श्रीलंका पर पांच रन का जुर्माना लगाया गया था और वेस्टइंडीज के स्कोर में पांच पेनल्टी रन जोड़ दिये गए थे. श्रीलंका ने अगर ‘गेंद से छेड़छाड़’ की है तो यह काफी मामूली सजा है. मैच रैफरी जवागल श्रीनाथ, श्रीलंकाई कोच चंडिका हथुरासिंघे और टीम मैनेजर असांका गुरुसिंघे के बीच बातचीत हुई. एक समय दिन के खेल और यहां तक कि पूरे मैच को लेकर आशंका बन गयी थी. हालांकि बातचीत के बाद हालांकि श्रीलंकाई गेंद बदलने और आगे खेलने के लिये तैयार हो गए थे. श्रीलंका क्रिकेट ने बयान जारी कर टीम के खिलाड़ियों का पूरा समर्थन किया. श्रीलंका क्रिकेट ने कहा, ‘टीम प्रबंधन ने हमें बताया कि श्रीलंका के खिलाड़ी किसी भी गलत काम में शामिल नहीं हैं.’बोर्ड ने खिलाड़ियों से बातचीत के बाद उन्हें मैदान में उतरने के लिए मना लिया था. बयान में कहा गया, ‘श्रीलंका क्रिकेट ने खिलाड़ियों को मैदान में उतरने की सलाह दी है ताकि मैच जारी रहे और खेल की भावना को कायम रखने के लिए टीम द्वारा 'विरोध के तहत' खेल जारी रखने के निर्णय की सराहना करते हैं.’ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने कहा कि उनके पास कार्रवाई करने का अधिकार नहीं है. आईसीसी ने ट्वीट किया , ‘अगर किसी आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है तो मैच के खत्म होने के बाद नियमों के मुताबिक कार्रवाई होगी
IND vs AFG:...लेकिन शिखर धवन के लिए सर डॉन ब्रेडमैन का 'यह रिकॉर्ड' है बड़ा चैलेंज ...
15 Jun 2018
टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने बेंगलुरु में अफगानिस्तान के खिलाफ खेले जा रहे इकलौते टेस्ट के पहले दिन वह कारनामा किया जो उनसे पहले कोई भी भारतीय बल्लेबाज नहीं कर सका. शिखर धवन भारतीय क्रिकेट इतिहास में लंच से पहले शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज बन गए. लेकिन इसके बावजूद एक और कारनामा है, जो उन्हें करना बाकी है. हालांकि, इस मामले में शिखर धवन पूर्व दिग्गज वीरेंद्र सहवाग के रिकॉर्ड की बराबरी कर चुके हैं. लेकिन अब सवाल यही है कि क्या धवन महानतम बल्लेबाज सर डॉन ब्रेडमैन के रिकॉर्ड को छू या तोड़ पाएंगे. अगर हम एक सेशन में सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले भारतीय बल्लेबाजों की बात करें, तो इस मामले में अब शिखर धवन अपने पूर्व साथी वीरेंद्र सहवाग की बराबरी पर आ गए हैं. एक सेशन से मतलब सुबह से लेकर लंच तक, लंच से लेकर चाय या फिर चायकाल के समय से लेकर दिन के खेल की समाप्ति तक हैं. आम तौर पर प्रत्येक सेशन में करीब तीस ओवर का खेल होता है. और इन करीब तीस ओवरों के खेल में टेस्ट क्रिकेट में शतक बनाना बहुत बड़ी बात है. जाहिर है कि कोई आतिशी बल्लेबाज ही इस काम को अंजाम देगा. मतलब सहवाग जैसा. वीरेंद्र सहवाग ने इस काम को एक-दो बार नहीं बल्कि पूरे तीन बार अंजाम दिया है. और अगर सहवाग के बाद किसी और बल्लेबाज ने यह कारनामा किया है, तो वह हैं टीम इंडिया के गब्बर. बेंगलुर में पहले दिन खेली 107 रन की पारी को मिलाकर शिखर धवन भी एक सेशन में शतक जड़ने का कारनामा तीन बार कर चुके हैं. अब सहवाग तो काफी पहले ही टेस्ट क्रिकेट छोड़ चुके हैं, तो ऐसे में सवाल यह है कि क्या शिखर धवन सर डॉन ब्रेडमैन के रिकॉर्ड को छू या तोड़ पाएंगे. वास्तव में यह शिखर धवन तो क्या किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान होने नहीं जा रहा. एक ही सेशन में शतक बनाने का कारनामा सर डॉन ब्रेडमैन ने छह बार किया है. जाहिर है कि धवन ने अभी आधा ही रास्ता तय किया है, लेकिन यह भी उनके लिए बड़ी बात है.
ENG vs AUS ODI: मोर्गन, रूट की शतकीय साझेदारी, इंग्‍लैंड ने ऑस्‍ट्रेलिया को 3 विकेट से हराया ...
14 Jun 2018
लंदन: कप्तान इयोन मोर्गन (69) और जो रूट (50) की शतकीय साझेदारी की बदौलत इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने पहले वनडे मैच में ऑस्‍ट्रेलिया को तीन विकेट से हरा दिया है. केनिंग्टन ओवल मैदान पर खेले गए इस मैच में मेजबान ने ऑस्ट्रेलिया से मिले 215 रन के लक्ष्य को हासिल कर सात विकेट खोकर हासिल कर लिया. इस जीत के साथ ही इंग्लैंड ने पांच वनडे मैचों की इस सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए ऑस्ट्रेलिया की पारी निर्धारित 214 रनों के छोटे स्‍कोर पर ही सिमट गई. जवाब में इंग्लैंड ने 44 ओवरों में सात विकेट खोकर 218 रन बनाकर जीत हासिल कर ली. विली ने छक्‍का जड़ते हुए इंग्‍लैंड टीम को जीत तक पहुंचाया. इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक तीन विकेट लेने वाले मोईन अली मैन ऑफ द मैच रहे. आस्ट्रेलियाई पारी की शुरुआत की खराब रही और 100 के स्कोर से पहले ही उसने ट्रेविस हेड (5), एरॉन फिंच (19), कप्तान टिम पेन (12), शॉन मार्श (24) और मार्कस स्टोइनिस (22) के रूप में अपने पांच विकेट गंवा दिए. बॉल टेम्‍परिंग विवाद के कारण आलोचनाओं का सामना करने वाली ऑस्ट्रेलिया टीम के पास उसके अहम बल्लेबाज स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर नहीं थे. पांच विकेट गंवा चुकी ऑस्ट्रेलियाई पारी को ग्लेन मैक्सवेल (62) और एश्टन एगर (40) ने संभालने की कोशिश की. दोनों ने 84 रनों की साझेदारी कर टीम का स्कोर 174 तक पहुंचाया. इसी स्कोर पर मैक्सवेल आउट हो गए। 193 के स्कोर पर एश्‍टन भी पेवेलियन लौट गए. इसके बाद, टीम की पारी पूरी तरह से बिखर गई. टीम के तीन अन्य बल्लेबाज मिशेल नेसेर (6), एंड्रयू टाई (19) और केन रिचर्डसन (1) ज्यादा कमाल नहीं कर पाए और ऑस्ट्रेलिया की पारी 214 रनों पर समाप्त हो गई. ऑस्ट्रेलिया की पारी को 214 रनों पर समेटने में इंग्लैंड के लिए मोइन अली और लियाम प्लंकट ने अहम भूमिका निभाई. दोनों ने तीन-तीन विकेट लिए. इसके अलावा, आदिल राशिद को दो और डेविड विले तथा मार्क वुड को एक-एक सफलता मिली लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड के लिए भी शुरुआत अच्छी नहीं रही. सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय खाता खोले बिना ही पवेलियन लौट गए. इसके बाद, 38 के स्कोर तक टीम ने एलेक्स हेल्स (5) और जॉनी बेयरस्टॉ (28) के रूप में अपने दो और विकेट गंवा दिए. यहां कप्तान मोर्गन और रूट ने टीम की पारी को संभाला। दोनों ने 115 रनों की शानदार शतकीय साझेदारी कर इंग्लैंड को लक्ष्य तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई. 153 के स्कोर पर मोर्गन आउट हो गए. इंग्लैंड के खाते में 10 रन ही जुड़े थे कि रूट का साथ देने आए जोस बटलर (9) भी 163 के स्कोर पर चलते बने. इसी स्कोर पर रूट का विकेट भी गिर गया. इसके बाद, अली (17) ने डेविड विली (35) के साथ 34 रन जोड़े और टीम को 197 के स्कोर तक पहुंचाया. इस स्कोर पर इंग्‍लैंड को अली का विकेट गंवाना पड़ा.. इसके बाद विली ने जीत के लिए जरूरी 17 रनों का लक्ष्य प्लंकट (3) के साथ मिलकर हासिल किया. दोनों ने 21 रन जोड़कर टीम को तीन विकेट से जीत दिलाई. इस पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए बिली स्टानलेक, टाई और नेसेर ने दो-दो विकेट लिए, वहीं रिचर्डसन को एक सफलता हाथ लगी
FIFA World Cup : सर चढ़कर बोल रहा फुटबॉल का क्रेज, अर्जेंटीना में कैदी भूख हड़ताल पर ...
13 Jun 2018
ब्यूनस आर्यर्स। फुटबॉल विश्व कप का जादू सबके सर चढ़कर बोल रहा है और अर्जेंटीना की एक जेल के कैदियों ने तो भूख हड़ताल कर दी है। ये कैदी चाहते है कि इस जेल की खराब हो चुकी टीवी की केबल ‍प्रणाली को तुरंत ‍ठीक किया जाए ताकि वे विश्व कप के मैच इस पर देख सके। ब्यूनस आर्यर्स से 1300 किमी दूर प्यूर्टो मार्डिन जेल के नौ कैदियों ने एक बयान में कहा कि केबल टेलीविजन कैदियों का अधिकार है। हमारे जेल में केबल तीन दिन से नहीं चल रहा है और हमने जब तक इसे ठीक नहीं किया जाता तब तक भूख हड़ताल पर रहने का फैसला किया है। इन नौ कैदियों ने अपने इस अधिकार को हासिल करने के लिए कानूनी मदद लेते हुए केस दायर किया है। जेल के कॉमन एरिया की केबल प्रणाली पिछले कुछ दिनों से खराब है और इसे ठीक नहीं किया जा पाया है। अर्जेंटीना में फुटबॉल का बहुत ज्यादा क्रैज हैं। अर्जेंटीना को रूस में शुरू होने जा रहे विश्व कप में अपने अभियान की शुरुआत आइसलैंड के खिलाफ शनिवार को करनी है। विश्व कप की शुरुआत गुरुवार को रूस और सऊदी अरब के बीच होने वाले मैच के साथ गुरुवार को होगी।
इंग्लैंड को वनडे में हराकर स्कॉटलैंड ने सिर्फ दूसरी बार किया 'ऐसा ...
12 Jun 2018
केलम मेक्लॉड (नाबाद 140) की शतकीय पारी और मार्क वॉट (3/55) की बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर स्कॉटलैंड ने ग्रेंज क्रिकेट क्लब मैदान पर खेले गए एकमात्र वनडे मैच में इंग्लैंड को छह रनों से हरा दिया. टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी स्कॉटलैंड ने निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट गंवाकर 371 रन बनाए. जवाब में इंग्लैंड की टीम इस लक्ष्य हासिल करने से केवल छह रन पीछे रह गई. उसकी पारी 365 रनों पर समाप्त हो गई. स्कॉटलैंड के खिलाड़ी केलम को मैन ऑफ द मैच चुना गया. स्कॉलैंड अभी तक 106 वनडे खेल चुका है और इसमें से उसने 38 मुकाबले जीते हैं. इस रिकॉर्ड के बावजूद इस मैच में उसने एक खास बात हासिल की, जो उसे बड़ा कॉन्फिडेंस दे सकता है स्कॉटलैंड के लिए केलम के अलावा, मैथ्यू क्रॉस (48) और कप्तान केल कोएट्जर (58) ने भी अहम भूमिका निभाई. दोनों ने शतकीय साझेदारी कर टीम को मजबूत शुरुआत दी. इसके अलावा, जॉर्ज मुनसे ने भी 55 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली। रिची बेरिंगटन ने 39 रनों का अहम योगदान दिया. इंग्लैंड के लिए इस पारी में लियाम प्लंकट और आदिल राशिद ने दो-दो विकेट लिए, वहीं मार्क वुड को एक सफलता हाथ लगी. लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड ने भी जेसन रॉय (34) और जॉनी बेयरस्टॉ (105) की शतकीय पारी के दम पर पहले विकेट के लिए 129 रनों का स्कोर खड़ा किया और टीम को मजबूत शुरुआत दी. इसके बाद, एलेक्स हेल्स (52) ने भी अर्धशतकीय पारी खेली. मोइन अली ने 46 और प्लंकट ने 47 रनों का अहम योगदान दिया, लेकिन टीम के निचले क्रम के बल्लेबाज अच्छी शुरुआत से मिली लय को कायम नहीं रख पाए और टीम 365 रनों पर ही ऑल आउट होते हुए केवल छह रनों से हार गई. स्कॉटलैंड के लिए वॉट के अलावा, एलेसदेर इवांस और रिची बेरिंगटन ने दो-दो विकेट लिए, वहीं सेफयान शारिफ को एक सफलता मिली. इंग्लैंड के खिलाड़ी आदिल राशिद रन आउट हुए. स्कॉटलैंड के लिए बड़ी बात यह रही कि खेले 106 वनडे मैचों में यह किसी टेस्ट प्लेइंग नेशन के खिलाफ उसकी सिर्फ दूसरी जीत रही. इससे पहले उसने पिछले साल जिंबाब्वे को इडिनबर्ग में पटखनी दी थी. बता दें कि स्कॉटलैंड टीम तीन विश्व कप में हिस्सा ले चुकी है, लेकिन अभी भी उसे अपनी पहली जीत दर्ज करना बाकी है.
इस वजह से संजू सैमसन यो-यो टेस्ट पास नहीं कर सके, इंग्लैंड दौरे से हुए बाहर ...
11 Jun 2018
टीम इंडिया के युवाओं और सभी दिग्गजों सावधान हो जाओ. फिटनेस के लिहाज से बड़ी खबर आ रही है. दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी के उत्तराधिकारियों में से एक कहे जा रहे भविष्य के सितारा बल्लेबाज संजू सैमसन की इंग्लैंड दौरे से छुट्टी हो गई है. वजह यह है कि संजू बीसीसीआई के नए फिटनेस यो-यो टेस्ट में फेल हो गए हैं. आपको ध्यान दिला दें कि पिछले साल युवराज सिंह और सुरेश रैना भी इस मुश्किल टेस्ट को पास नहीं कर सके थे. उदीयमान बल्लेबाज श्रेयस अय्यर की कप्तानी में भारत ए टीम रविवार को इंग्लैंड के लिए रवाना हो चुकी है. और खबरों की मानें, तो बीसीसीआई ने संजू को इंग्लैंड की उड़ान भरने से रोक दिया है क्योंकि वह यो-यो टेस्ट पास नहीं कर सके. संजू सैमसन को विशषज्ञों ने धोनी का उत्तराधिकारी तक करार दिया था. लेकिन अगली पीढ़ी में अब रेस उनके और दिल्ली के ऋषभ पंत के बीच है. लेकिन यह सच है कि वह भविष्य में धोनी की जगह लेने के एक बड़े दावेदार हैं. राहुल द्रविड़ ने न केवल उन्हें प्रतिभाशाली बल्लेबाज करार दिया, बल्कि अपनी कोचिंग में पिछले साल उन्हें खूब प्रोत्साहित भी किया. बेंगलुरु स्थित नेशल क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के सूत्रों ने कहा कि संजू सैमसन तीन दिन पहले फिटनेस टेस्ट आने आए थे. उनके साथ इंग्लैंड दौरे पर जाने वाली भारतीय ए टीम के बाकी दूसरे खिलाड़ी भी थे. खबरें ऐसी भी हैं कि संजू को कुछ छोटी चोटें थीं, जिनके चलते वह ट्रेनिंग भी नहीं कर सके थे. और इसका साफ असर यो-यो टेस्ट पर पड़ा, जिसे वह पास करने में नाकाम रहे. बीसीसीआई ने हालांकि अभी संजू के स्थानापन्न के नाम का ऐलान नहीं किया है, लेकिन जल्द ही किसी दूसरे खिलाड़ी को इंग्लैंड दौरे पर भेजा जाएगा. लेकिन आईपीएल या विजय हजारे ट्रॉफी में बेहतर करने वाले किसी विकेटकीपर के नाम पर विचार किया जा सकता है. अब जब संजू पर्याप्त ट्रेनिंग नहीं कर सके, तो वह यो-यो टेस्ट के मानक स्कोर से बहुत पीछे रह गए. सूत्रों के मुताबिक हर खिलाड़ी को इस टेस्ट को पास करने के लिए कम से कम 16.1 के स्कोर को छूना होता है. लेकिन संजू इस मानक से काफी पीछे रह गए और इस मुश्किल टेस्ट में फेल हो गए.
WAC2018: भारतीय महिलाओं की श्रीलंका पर जीत, मिताली राज का 'कारनामा' ...
8 Jun 2018
बांग्लादेश के हाथों पिछले मैच में स्तब्धकारी हार से उबरते हुए भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने मलेशिया में खेले जा रहे टी-20 एशिया कप में श्रीलंका को सात विकेट से हरा दिया. वहीं इस मुकाबले में अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज ने बड़ी उपलब्धि हासिल की. अनुजा पाटिल प्लेयर ऑफ द मैच रहीं. श्रीलंका टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनते हुए 20 ओवरों में 7 विकेट पर 107 का स्कोर खड़ा किया. उसकी तरफ से ओपर बी मेंडिस ने 27 और जीडब्ल्यू परेरा ने सबे ज्यादा 46 रन बनाए. एकता विष्ट ने दो विकेट चटकाए. भारतीय टीम ने जवाब में 18.5 ओवरों में ही 3 विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया. मिताली राज ने 23, हरमनप्रीत कौर ने 24 और वी. कृष्णामूर्ति ने बिना आउट हुए 29 रन बनाए. मिताली राज ने विशेष उपलब्धि हासिल की और वह यह कारनामा करने वाले भारत की पहली बल्लेबाज बनीं मिताली राज ने इस संक्षिप्त पारी के दौरान टी-20 इंटरनेशनल में अपने दो हजार रन पूरे किए. उनसे पहले कोई भी भारतीय बल्लेबाज यह उपलब्धि हासिल नहीं कर सकी है
विराट कोहली को इस प्रदर्शन के मिलेगा पॉली उमरीगर अवार्ड !'.....
7 Jun 2018
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी के लिए पोली उमरीगर पुरस्कार के सम्मानित किया जाएगा. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा 12 जून को बेंगलुरू में आयोजित होने वाले समारोह में कोहली को सम्मानित किया जाएगा. बीसीसीआई ने वीरवार को इसकी जानकारी दी. बीसीसीआई पुरस्कार समारोह में घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाता है. इस समारोह में जहां एक ओर कोहली को पुरुष वर्ग में सर्वोच्च पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा, तो वहीं हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना को महिला वर्ग में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 2016-17 और 2017-18 सीजन में शानदार प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया जाएगा. इसके अलावा बीबीसीआई अपने महान अध्यक्ष रहे दिवंगत जगमोहन डालमिया के सम्मान में चार वर्गों में पुरस्कार देगा. इसमें जगमोहन डालमिया ट्रॉफी, अंडर-16 विजय मर्चेट ट्रॉफी, बेस्ट जूनियर और महिला वर्ग में सीनियर क्रिकेटर पुरस्कार शामिल है. इस मौके पर बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सी. के.खन्ना ने कहा कि बोर्ड का वार्षिक पुरस्कार समारोह एक ऐसा पल होता है, जहां इस खेल के पूर्व दिग्गज, वर्तमान की पीढ़ी और आने वाले समय के सितारे एक ही छत के नीचे मौजूद होते हैं. यह उन खिलाड़ियों का आभार जताने का एक माध्यम है, जिन्होंने अपने कौशल और कड़ी मेहतन से इस खेल को और भी बेहतरीन बनाया है. बता दें कि विराट कोहली को साल 2016-17 और साल 2017-18 के प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया जाएगा. उम्मीद है कि यह पुरस्कार विराट को और आगे बेहतर करने के लिए प्रेरित करेगा.
ICC RANKING: 'ऐसा संयोग' आईसीसी रैंकिंग में पहली बार दिखाई पड़ा !'.....
6 Jun 2018
क्रिकेट के मैदान पर आए दिन अलग-अलग संयोग देखने को मिलते रहे हैं. कभी कोई बल्लेबाज कुछ कर देता है, तो कभी गेंदबाज कुछ कर देता है. यह संयोग मैदान के बाहर भी दिख जाता है. लेकिन अब यह संयोग आईसीसी की टी20 रैंकिंग में भी दिखाई पड़ा है. और यह वह बात है, जो शायद ही कभी देखी या सुनी गई ! आईसीसी ने हालिया टी-20 रैंकिंग जारी की है. इसमें गेंदबाजी में अफगानिस्तान के राशिद खान ने झंडा गाड़ते हुए अपनी पहली बायदान को बरकरार रखा है. उनके फिलहाल 759 प्वाइंट्स हैं. और उनके और दूसरे स्थान पर काबिज पाकिस्तान के शादाब खान (33 अंक) के बीच 26 प्वाइंट्स का अच्छा-खासा अंतर है. और राशिद को मात देने के लिए बाकी गेंदबाजों को एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ेगा. लेकिन इस हफ्ते की रैंकिंग में बहुत ही खास बात सामने निकल कर आई. आपको बता दें कि इस रैंकिंग में तीसरे नंबर पर भारत के युजवेंद्र चहल हैं. चहल को तो राशिद को मात देने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी क्योंकि चहल के अंक हैं 706. इसके बाद क्रमश: चौथे और पांचवें नंबर पर न्यूजीलैंड के ईश सोढ़ी और विंडीज के सैमुअल बद्री हैं. जहां सोढ़ी के 700 प्वाइंट्स हैं, तो सैमुअल बद्री के 671 अंक हैं. और इन पांचों ने मिलकर रैंकिंग में अलग ही कारनामा कर दिखाया है. इस हफ्ते की टी-20 रैंकिंग में खास बात यह है कि शीर्ष पांच पायदानों पर काबिज सभी गेंदबाज लेग स्पिनर हैं. और यह बताता है कि टी-20 में लेग स्पिनर कितना ज्यादा प्रासंगिक हो चले हैं.
गोलकीपर ने किया चोट का बहाना, ब्रेक मिलने पर साथी खिलाड़ियों ने खोला रोजा'.....
5 Jun 2018
रमज़ान का महीना चल रहा है. दुनिया में लाखों मुस्लिम रोजा रखते हैं. रोजे के वक्त वो खाना और पानी से दूर रहते हैं. ट्यूनीशिया में 23 मेंसे 22 खिलाड़ी मुस्लिम हैं. इनमें से ज्यादातर खिलाड़ी रोजा रखते हैं. जब ये टीम ग्राउंड पर उतरती तो एक चीज बार-बार देखने को मिली. जैसे ही रोजा खोलने का वक्त आता तो गोलकीपर चोटिल हो जाता और खिलाड़ी ब्रेक के समय रोजा खोलते. इस बात को जान हर कोई हैरान है. ट्यूनीशिया ने रोजा खोलने का नया तरीका ढूंढ निकाला है. BBC की खबर के मुताबिक, ट्यूनीशिया का पोर्तुगाल से वर्ल्ड कप फ्रेंडली फुटबॉल गेम खेला गया. जिसमें 23 वर्षीय मोइज हसन चोटिल होकर गिर गया. गिरने के बाद रेफरी ने मैच रोक दिया. टीम के सभी खिलाड़ियों ने ब्रेक का फायदा उठाया और ग्राउंड के बाहर जाकर खजूर खाए और जूस पीकर रोजा तोड़ा. कुछ दिन बाद जब दूसरा मुकाबला हुआ तो ऐसी ही घटना फिर देखने को मिली. सोशल मीडिया पर ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है. टर्की के खिलाफ मुकाबले में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला. ट्विटर पर लोगों ने इस तरीके को ढूंढ निकाला. ट्विटर पर गोलकीपर मोइज हसन भी जोक्स में शामिल हुए और लिखा- मुझे सच में लगी थी दोस्त, जिसके बाद वो जोर-जोर से हंसने लगे.
ENG vs PAK 2nd TEST: तीसरे दिन ही पाकिस्तान की करारी हार, झेलनी पड़ी 'यह शर्मिंदगी'.....
4 Jun 2018
नई दिल्ली: गेंदबाजों की घातक गेंदबाजी के दम पर मेजबान इंग्लैंड ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के तीसरे ही दिन रविवार को पाकिस्तान को पारी और 55 रन से हराकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली. पिछले लगभग नौ महीनों में इंग्लैंड की यह पहली टेस्ट जीत है. पाकिस्तान को उसकी पहली पारी में 174 रन पर समेटने के बाद इंग्लैंड ने अपने रविवार के स्कोर सात विकेट पर 302 रन से आगे खेलते हुए अपनी पहली पारी में 363 रन का स्कोर बनाया और 189 रन की बढ़त हासिल की. जवाब में पाकिस्तान की टीम दूसरी पारी में 134 रन ही बना सकी और उसे पारी तथा 55 रन से हार का सामना करना तो करना पड़ा ही. साथ ही बड़ी शर्मिंदगी भी झलेनी पड़ी. पाकिस्तान के लिए दूसरी पारी में इमाम-उल-हक ने 64 गेंदों पर पांच चौकों से सर्वाधिक 34 और पहला टेस्ट खेल रहे उस्मान सलाउद्दीन ने 102 गेंदों पर दो चौकों से 33 रन का योगदान दिया. इंग्लैंड की ओर से स्टुअर्ट ब्रॉड ने तीन विकेट और अपना दूसरा टेस्ट मैच खेल रहे आफ स्पिनर डोमिनिक बेस ने तीन विकेट चटकाए. जेम्स एंडरसन ने दो और सैम कुरेन तथा क्रिस वोक्स को एक-एक विकेट मिला। इससे पहले, मेजबान इंग्लैंड ने सुबह सात विकेट पर 302 रन से आगे खेलना शुरू किया जॉस बटलर ने 34 और सैम कुरेन ने अपनी पारी को 16 रन से आगे बढ़ाया. इंग्लैंड की टीम तीसरे दिन 61 रन और जोड़कर 363 रन पर आलआउट हो गई. कुरेन ने 38 गेंदों पर चार चौकों से 20 रन का योगदान दिया. उनका विकेट टीम के 319 के स्कोर पर गिरा। मेजबान टीम ने इसके बाद 344 के स्कोर पर स्टुअर्ट ब्रॉड (2) के रूप में अपना नौंवा और 363 के स्कोर पर जेम्स एंडरसन (5) के रूप में अपना आखिरी विकेट खोया. बटलर ने एक छोर संभाले रखा और वह अविजित रहे. उन्होंने 101 गेंदों पर 11 चौकों और दो छक्कों से 80 रन की नाबाद पारी खेली. पाकिस्तान के लिए फहीम अशरफ ने 60 रन देकर सर्वाधिक तीन विकेट हासिल किया मोहम्मद आमिर, मोहम्मद अब्बास और हसन अली के हिस्से दो-दो विकेट आए. शादाब खान ने एक विकेट प्राप्त किया.
तिसारा परेरा को छोड़ अन्‍य बल्‍लेबाज नाकाम, टी 20 मैच में वेस्‍टइंडीज की वर्ल्‍ड इलेवन पर बड़ी जीत.....
1 Jun 2018
लंदन: ओपनर इविन लेविस के तूफानी अर्धशतक तथा लेग स्पिनर सैमुअल बद्री की किफायती गेंदबाजी के दम पर वेस्टइंडीज ने गुरुवार को खेले गए इंटरनेशनल टी20 मुकाबले में आईसीसी वर्ल्‍ड इलेवन को आसानी से हरा दिया. लार्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेले गए इस मैच को वेस्‍टइंडीज ने 72 रन से जीता. लुईस ने अपनी पारी के दौरान महज 26 गेंदों पर पांच छक्कों और इतने ही चौकों की मदद से 58 रन बनाए. उनकी इस पारी की बदौलत इंडीज टीम 20 ओवर में चार विकेट पर 199 रन का बड़ा स्‍कोर बनाने में सफल रही. जवाब में वर्ल्‍ड इलेवन की टीम 16.4 ओवर में महज 127 रन बनाकर ढेर हो गई.वर्ल्‍ड इलेवन के लिए तिसारा परेरा ने सर्वाधिक 61 रन बनाए. वेस्टइंडीज में पिछले साल तूफान के कारण क्षतिग्रस्त हुए स्टेडियमों के पुनर्निर्माण के लिये धन जुटाने के उद्देश्य से खेले गये इस मैच में लुईस ने 26 गेंदों पर 58 रन बनाए. उनके अलावा मर्लोन सैमुअल्स ने 43, दिनेश रामदीन ने नाबाद 44 और आंद्रे रसेल ने नाबाद 21 रन बनाए. मैच में पहले बैटिंग का आमंत्रण पाने वाली वेस्‍टइंडीज टीम ने बल्‍लेबाजों के इस योगदान की बदौलत चार विकेट पर 199 रन का स्कोर खड़ा किया. जवाब में विश्व एकादश की टीम 16.4 ओवर में 127 रन पर आउट हो गई. उसकी तरफ से श्रीलंकाई आलराउंडर तिसारा परेरा (37 गेंदों पर सात चौकों और तीन छक्कों की मदद से 61 रन) ही अच्छी बल्लेबाजी कर पाए. भारतीय बल्लेबाज दिनेश कार्तिक खाता खोलने में भी नाकाम रहे. बद्री ने तीन ओवर में चार रन देकर दो विकेट लिए जबकि तेज गेंदबाज केसरिक विलियम्स ने 42 रन देकर तीन और रसेल ने 25 रन देकर दो विकेट हासिल किए. बद्री ने अपने पहले दो ओवरों में दो विकेट लिए जिनमें कार्तिक का विकेट भी शामिल था. रसेल ने भी अपने दो ओवरों में दो विकेट निकाले जिससे स्कोर चार विकेट पर आठ रन हो गया. विश्व एकादश की टीम इस खराब शुरुआत से आखिर तक नहीं उबर पाई. परेरा के बाद विश्व एकादश की तरफ से दूसरा बड़ा स्कोर 12 रन था जो शोएब मलिक ने बनाया. टाइमल मिल्स चोटिल होने के कारण बल्लेबाजी के लिए नहीं उतरे. कार्तिक के अलावा भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी भी विश्व एकादश की टीम का हिस्सा थे लेकिन उन्हें अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली. इर्मा और मारिया तूफान के कारण पिछले साल सितंबर में एंगुइला और डोमिनिका में स्टेडियम को नुकसान पहुंचा था
सिलेक्‍टर्स और अंपायर्स की फीस बढ़ाएगा BCCI, जानें अब मिलेगी कितनी राशि.....
31 May 2018
नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई ) ने राष्‍ट्रीय चयनकर्ताओं, अंपायरों और स्‍कोरर को खुशखबरी दी है. बीसीसीआई ने तीन राष्ट्रीय चयनकर्ताओं का पारिश्रमिक बढ़ाने के साथ अंपायरों , स्कोरर और वीडियो विश्लेषकों की फीस दोगुनी करने का फैसला किया है. सबा करीम की अध्यक्षता वाली क्रिकेट परिचालन विंग ने यह फैसला किया. सीओए को भी लगता है कि मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद एंड कंपनी को उनकी सेवाओं का फायदा मिलना चाहिए. दिलचस्प बात है कि बीसीसीआई कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी वेतन बढ़ाने के फैसले से अवगत नहीं थे. अभी चेयरमैन को सालाना 80 लाख रुपये जबकि अन्य चयनकर्ताओं को 60 लाख रुपये मिले रहे हैं. पारिश्रमिक बढ़ाने का फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि बाहर किए गए चयनकर्ता गगन खोड़ा और जतिन परांजपे भी इतना ही वेतन हासिल कर रहे हैं जितना देवांग गांधी और सरनदीप सिंह. बीसीसीआई के सीनियर अधिकारी ने कहा , ‘चयनकर्ताओं की नियुक्ति आम सालाना बैठक में ही हो सकती है , जतिन और गगन सेवा नहीं देने के बावजूद नियमों के अनुसार इतनी ही सैलरी पा रहे हैं. देवांग और सरनदीप के साथ यह ठीक नहीं होगा क्योंकि वे देश से बाहर भी आते जाते रहते हैं.’ उम्मीद है अब मुख्य चयनकर्ता को करीब एक करोड़ रुपये मिलेंगे जबकि दो अन्य को 75 से 80 लाख रुपये के करीब हासिल होंगे. बीसीसीआई ने छह साल के अंतराल बाद घरेलू मैच रैफरियों, अंपायरों , स्कोरर और वीडियो विश्लेषकों की फीस भी दोगुनी करने का फैसला किया फीस बढ़ाने की सिफारिश सबा करीम ने 12 अप्रैल को सीओए के साथ बैठक के दौरान की थी. हालांकि कोषाध्यक्ष चौधरी को इन वित्तीय फैसलों से दूर रखा गया. बीसीसीआई अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा , ‘मुझे याद है कि अनिरुद्ध ने पिछले साल वित्तीय समिति की बैठक के दौरान इस बढ़ोतरी का सुझाव दिया था लेकिन मुझे नहीं लगता कि उन्हें इस बार उन्हें इस फैसले में शामिल किया गया.’अंपायरों को संशोधित फीस के अनुसर प्रथम श्रेणी मैच , 50 ओवरों के मैच या तीन दिवसीय मैच में 40,000 रुपये रोजाना मिलेंगे जबकि पहले उन्हें 20,000 रुपये प्रतिदिन मिलते थे. टी 20 मैचों में इसे 10,000 रुपये से बढ़ाकर 20,000 रुपये प्रत्येक मैच कर दिया जाएगा. मैच रैफरियों को चार दिवसीय , तीन दिवसीय औरएक दिवसीय मैच के लिये 30,000 रुपये जबकि टी 20 मैचों के लिए 15,000 रूपये मिलेंगे. स्कोरर को अब मैच के दिन 10,000 रुपये जबकि टी 20 मैचों में 5,000 रुपये मिलेंगे. वीडियो विश्लेषकों को टी 20 मैचों के लिये 7,500 रुपये जबकि अन्य मैचों के लिये 15,000 रुपये प्रतिदिन मिलेंगे. इस बीच तेलगांना क्रिकेट संघ ने भी सीओए से एसोसिएट सदस्यता की मांग की है क्योंकि हैदराबाद के पास मतदाता सदस्य के रूप में मुख्य सदस्यता हासिल है
इयोन मोर्गन चोट के कारण हटे, इंडीज के खिलाफ टी20 मैच में शाहिद अफरीदी होंगे वर्ल्‍ड इलेवन के कप्‍तान...
30 May 2018
दुबई: वेस्‍टइंडीज के खिलाफ होने वाले टी20 मैच में पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान शाहिद अफरीदी वर्ल्‍ड इलेवन टीम का नेतृत्‍व करेंगे. इंग्लैंड की सीमित ओवरों की टीम के कप्तान इयोन मोर्गन चोट के कारण 31 मई को होने वाले इस टी20 इंटरनेशनल मैच से हट गए है. मोर्गन को इस मैच के लिए वर्ल्‍ड इलेवन की कप्‍तानी करनी थी लेकिन अब उनके उपलब्‍ध नहीं होने के काण अफरीदी को कप्‍तानी सौंपी गई है. मोर्गन की उंगली में फ्रैक्चर के कारण है. आईसीसी के बयान के अनुसार मोर्गन के स्थान पर इंग्लैंड के ही सैम बिलिंग्स को वर्ल्‍ड इलेवन में स्‍थान दिया गया है. इंग्लैंड के आलराउंडर सैम कुरेन और तेज गेंदबाज टाइमल मिल्स को भी टीम में जगह दी गयी है. कुरेन इस मैच से टी20 अंतरराष्ट्रीय में पदार्पण कर सकते हैं. मोर्गन मिडिलसेक्स की तरफ से समरसेट के खिलाफ टॉटन में 27 मई को खेले गये मैच में चोटिल हुए थे. वर्ल्‍ड इलेवन में भारत के दो खिलाड़ी शामिल हैं. दिनेश कार्तिक और मोहम्मद शमी को टीम में जगह मिली है. शमी को हार्दिक पंड्या की जगह टीम में लिया गया है जो वायरल संक्रमण के कारण मैच से हट गए थे. यह मैच वेस्टइंडीज में पिछले साल तूफान के कारण क्षतिग्रस्त हुए स्टेडियमों के निर्माण के लिये धन एकत्रित करने के उद्देश्य से आयोजित किया जा रहा है आईसीसी वर्ल्‍ड इलेवन इस प्रकार है.. 0 टिप्पणियां शाहिद अफरीदी (कप्तान, पाकिस्तान), तमीम इकबाल (बांग्लादेश), सैम बिलिंग्स (इंग्लैंड) दिनेश कार्तिक (भारत), राशिद खान (अफगानिस्तान), संदीप लामिचाने (नेपाल), मिशेल मैकलेनगन (न्यूजीलैंड), शोएब मलिक (पाकिस्तान), तिसारा परेरा (श्रीलंका), ल्यूक रोंकी (न्यूजीलैंड), आदिल राशिद, सैम कुरेन, टाइमल मिल्स (तीनों इंग्लैंड) और मोहम्मद शमी (भारत).
विराट कोहली तीसरी बार बने वर्ष के इंटरनेशनल क्रिकेटर, जानें और किस-किस खिलाड़ी को मिला पुरस्‍कार...
29 May 2018
मुंबई: टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली को आज यहां वर्ष 2017-18 के लिये वर्ष का सिएट अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर चुना गया. यह तीसरा अवसर है जबकि उन्होंने यह पुरस्कार हासिल किया. कोहली इससे पहले वर्ष 2011-12 और 2013-14 में भी यह पुरस्कार हासिल कर चुके हैं. भारतीय सलामी बल्लेबाज शिखर धवन को वर्ष का अंतरराष्ट्रीय बल्लेबाज जबकि न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट को वर्ष का अंतरराष्ट्रीय गेंदबाज चुना गया. अपने जमाने के मशहूर विकेटकीपर बल्लेबाज फारूख इंजीनियर को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया. भारतीय महिला टीम की ऑलराउंडर हरमनप्रीत कौर की आस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले साल वर्ल्‍डकप में खेली गयी नाबाद 171 रन की पारी को वर्ष की बेजोड़ पारी आंका गया. घरेलू क्रिकेट में रनों का अंबार लगाने वाले मयंक अग्रवाल को वर्ष का सर्वश्रेष्ठ घरेलू खिलाड़ी और शुभमन गिल को सर्वश्रेष्ठ अंडर-19 खिलाड़ी चुना गया. गौरतलब है कि पृथ्‍वी शॉ के नेतृत्‍व में इसी साल जूनियर वर्ल्‍डकप जीतने वाली टीम में शुभमन शामिल थे. टूर्नामेंट में उन्‍होंने अपनी बल्‍लेबाजी और तकनीक से हर किसी को प्रभावित किया था. अन्य पुरस्कारों में अफगानिस्तान के राशिद खान को वर्ष का सर्वश्रेष्ठ टी20 गेंदबाज और न्यूजीलैंड के कॉलिन मुनरो को सर्वश्रेष्ठ टी20 बल्‍लेबाज का पुरस्कार हासिल किया. वेस्टइंडीज के धाकड़ बल्लेबाज क्रिस गेल को ‘पॉपुलर च्वाइस अवार्ड’ दिया गया
चैंपियन बनने के बाद CSK ने मनाया जश्न, जमकर नाचे ब्रावो-भज्जी
28 May 2018
नई दिल्ली। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने तीसरी बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुए फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से हराकर खिताब पर कब्जा जमाया। चेन्नई सुपर किंग्स के लिए ये जीत इसलिए भी खास है, क्योंकि दो साल के बैन के बाद इस टीम की आईपीएल 2018 में वापसी हुई थी। शुरू में किसी ने भी नहीं सोचा था कि धोनी की अगुवाई में ये टीम चैंपियन बनेगी। मगर माही ने इतिहास रच दिया। खुद तो बल्ले से कमाल किया ही, टीम में ऐसा आत्मविश्वास भरा कि चैंपियन का ताज सीएसके के सिर सजा। खिताब जीतने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ियों ने जमकर जश्न मनाया। इस जश्न में धोनी अपनी बेटी जीवा के साथ दिखे तो वहीं हरभजन और रैना भी अपनी-अपनी बेटियों के साथ जीत का जश्न मनाते दिखे। इसके अलावा ड्वेन ब्रावो भी जमकर मस्ती करते दिखे। टीम बस में चढ़ने से पहले ब्रावो भज्जी के साथ स्टेडियम के अंदर ही नाचते दिखे। इससे पहले सनराइजर्स ने केन विलियम्सन (47) और यूसुफ पठान (45 नाबाद) की पारियों की मदद से 6 विकेट पर 178 रन बनाए। जवाब में वॉटसन 117 रन बनाकर नाबाद रहे और उसके शतक की मदद से चेन्नई ने 9 गेंद शेष रहते 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया। वॉटसन ने 57 गेंदों में 11 चौके और 8 छक्के लगाए।
SRH vs KKR, Qualifier 2: कुछ ऐसे राशिद खान बंद करा देते हैं काबुल के बाजार!?
26 May 2018
नई दिल्ली: आए दिन बम धमाकों और खून खराबे की खबरों के बीच अफगानिस्तान के युवाओं को नया हीरो मिल गया है. एक ऐसा हीरो जिनसे अफगानिस्तान के युवाओं के सामने एक नई इबारत लिख दी है. इन दिनों राजधानी काबुल के हर घर में लेग स्पिनर राशिद खान की चर्चा है. चर्चा आईपीएल शुरू होने से पहले तक भी भी. लेकिन ज्यों-ज्यों राशिद का प्रदर्शन आगे बढ़ता गया, वैसे-वैसे उनकी चर्चा भी कई गुना बढ़ती गई. और शनिवार को केकेआर के खिलाफ खेले गए क्वालीफायर-2 के बाद राशिद खान मानो हर अफगान क्रिकेटप्रेमी बच्चे के बड़े नायक बन गए हैं. वास्तव में इंडियन प्रीमियर लीग ने पहले कभी अफगानिस्तानियों को इतना ज्यादा आकर्षित नहीं किया, जितना इस बार. और कारण साफ है. एक दो नहीं, बल्कि तीन क्रिकेटर एक इस साल आईपीएल में खेलें. राशिद खान, मुजीब-उर-रहमान और मोहम्मद नबी. लेमार टीवी अफगानिस्तान में इन मैचों का सीधा प्रसारण कर रहा है. जब भी आईपीएल में सनराइजर्स का मैच होता है, तो हजारों अफगानिस्तानी तय समय से पहले ही अपने-अपने घरों में टीवी सेट से चिपक जाते हैं. और इसकी सबसे बड़ी वजह हैं अफगानिस्तान के कप्तान राशिद खान. और शनिवार को कई फायरिंग करके राशिद खान के प्रदर्शन का जश्न मनाया गया. पिछले कुछ मैचों की तरह ही शनिवार को भी काबलु में हजारों व्यापारियों ने मैच खत्म होने तक अपने बिजनेस पर पूर्ण विराम लगा दिया. फिर चाहे यह ढाबे हों, नाई की दुकान हो या फिर ट्रैवल एजेंसी, सभी ने मैच शुरू होते ही अपने शटर भीतर से गिरा दिए. और दुकान का पूरा स्टॉफ तब तक टीवी सेट से चिपका रहा, जब तक राशिद खान को मैन ऑफ द मैच पुरस्कार तक नहीं मिल गया. इस पर काबुल के एक दुकानदार कहते हैं कि भारत क्रिकेट में बहुत ही अच्छा है, लेकिन जब आईपीएल नीलामी में हमारे खिलाड़ी बिके, तो यह हमारे लिए बहुत ही गौरव की बात थी. एक और दुकानदार कहते हैं कि जब भी मैं राशिद और बाकी दूसरे खिलाड़ियों को आईपीएल में खेलते देखता हूं, तो गर्व से मेरा सीना चौड़ा हो जाता है. एक और व्यापारी कहते हैं कि आईपीएल में हमारे खिलाड़ियों का चयन होना हमारे लिए बहुत ही बड़े सम्मान की बात है. और वास्तव में काबुल के बाजारों में दुकानों के बंद होने का सिलसिला यहीं खत्म होने नहीं जा रहा. अब आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि जब 14 जून से अफगानिस्तानी टीम बेंगलुरु में भारत के खिलाफ पहला टेस्ट मैच खेलेगी, तो काबुल के बाजारों की स्थिति क्या होगी.
KKR vs SRH, qualifier-2: ये हैं हैदराबाद और केकेआर के 'स्पिन चैंपियन बल्लेबाज', कौन जीतेगा बैटल?
25 May 2018
नई दिल्ली: कुछ ही घंटे बाद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 का क्वालीफायर-2 मुकाबला होगा. और इस मुकाबले और स्पिन पिच पर स्पिनरों के खिलाफ साबित हुए सबसे बड़े महारथियों के खिलाफ भी एक बड़ी टक्कर होने जा रही है. और स्पिन के ये महराथी हैं रॉबिन उथप्पा और शिखर धवन. अब जबकि पिच स्पिनरों की मददगार होने जा रही है, तो इन दोनों महारथियों का इस पिच पर कड़ा इम्तिहान होने जा रहा है. रॉबिन उथप्पा की जंग होने जा रही है शिखर धवन के साथ. और इस टक्कर का विजेता भी मैच के परिणाम पर बड़ा असर डालने जा रहा है.रॉबिन उथप्पा की टक्कर लेग स्पिन राशिद खान से हैं, तो शिखर धवन का मुकाबले पीयूष चावला से. वैसे एक बार को आप कहेंगे कि ये दोनों भला कैसे स्पिन के महारथी हो गए. इन दोनों ने आखिरकार टूर्नामेंट में ऐसे कैसे तीर चला दिए हैं, जो इन्हें स्पिन के खिलाफ महारथी करार दिया जाए. शिखर धवन के आलोचक यह कह सकते हैं कि इस लेफ्टी बल्लेबाज ने टूर्नामेट में खेले 14 मैचों में 39.72 के औसत से 437 रन बनाए हैं. और वह सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची में 14वे नंबर पर हैं. ऐसे में धवन कैसे स्पिन के खिलाफ महारथी हो गए. कुछ ऐसा ही सवाल रॉबिन उथप्पा के आलोचक भी कर सकते हैं. वजह यह है कि रॉबिन उथप्पा का हाल तो और भी बुरा और वह 20वें नंबर पर हैं. पिछले आईपीएल में केकेआर के लिए तूफान की तरह बरसने वाले रॉबिन इस बार 15 मैचों में 23.26 के औसत से सिर्फ 349 रन ही बना सके हैं. आलोचकों को यह सवाल करने का हक है. लेकिन बता दें कि ऐसे प्रदर्शन के बावजूद ये दोनों अपनी-अपनी टीम के स्पिनर के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. आप जरा इस पैमाने को ध्यान से समझिए. दरअसल बात यह है कि उथप्पा ने अभी तक टूर्नामेंट में राशिद खान की 31 गेंदों का सामना किया है. उन्होंने रन बनाए हैं 187.09 के स्ट्राइक रेट से बिना एक बार भी आउट हुए 58 रन. वहीं. धवन ने पीयूष चावला की खेली 39 गेंदों पर बिना एक बार भी आउट हुए 146.15 के स्ट्रा. रेट से रन बनाए हैं. उम्मीद है आप हमारे पहलू को बहुत ही आसानी से समझ गए होंगे. और आज है उथप्पा और धवन का सबसे बड़ा टेस्ट. कौन पास होगा? इंतजार कीजिए..
IPL Qualifier 1: सनराइजर्स को 2 विकेट से हराकर चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स फाइनल में पहुंचा, डुप्‍लेसिस ने बनाए नाबाद 67 रन.
23 May 2018
मुंबई: आईपीएल 2018 के क्‍वालिफायर-1 में आज चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच जबर्दस्‍त मुकाबला हुआ. आखिरी क्षणों तक रोमांचक रहे इस मैच में चेन्‍नई ने फाफ डुप्‍लेसिस के नाबाद 67 रनों (42 गेंद, पांच चौके और चार छक्‍के) की बदौलत दो विकेट से जीत हासिल की और टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बना ली.मैच में 140 रन का अपेक्षाकृत छोटा लक्ष्‍य हासिल करने में चेन्‍नई को एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा. निर्णायक क्षणों ने डुप्‍लेसिस ने मैच विजेता पारी खेली और निचले क्रम के शारदुल ठाकुर (नाबाद 15 रन, 5 गेंद, तीन चौके) के साथ टीम को जीत तक पहुंचाकर ही दम लिया. विजयी छक्‍का डुप्‍लेसिस के बल्‍ले से ही निकला. चेन्‍नई ने लक्ष्‍य 19.1 ओवर में 8 विकेट खोकर हासिल कर लिया. वानखेड़े मैदान पर चेन्‍नई के कप्‍तान एमएस धोनी ने टॉस जीतकर सनराइजर्स का पहले बैटिंग के लिए बुलाया था. कार्लोस ब्रेथवेट के नाबाद 43 की बदौलत सनराइजर्स ने 20 ओवर में सात विकेट पर 139 रन बनाए थे. वैसे मैच में मिली हार के बावजूद सनराइजर्स के गेंदबाजों ने अपने संघर्ष से हर किसी का दिल जीता. आखिरी के ओवरों में ज्‍यादा रन लुटाने के कारण केन विलियमसन की टीम को हार का सामना करना पड़ा. डुप्‍लेसिस को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. चेन्‍नई की पारी:डुप्‍लेसिस ने की गजब की बैटिंग हैदराबाद के 139 के स्‍कोर के जवाब में चेन्‍नई को भी शुरुआत में झटके झेलने पड़े. पारी शेन वॉटसन और फाफ डु प्‍लेसिस ने शुरू की लेकिन भुवनेश्‍वर ने पहले ही ओवर में वॉटसन (0) को विकेटकीपर श्रीवत्‍स गोस्‍वामी से कैच कराकर झटका दे दिया.दूसरे ओवर में रैना ने संदीप शर्मा की लगातार तीन चौके जमाए. विकेट की तलाश में केन विलियमसन चौथे ओवर में सिद्धार्थ कौल आक्रमण पर लाए जिन्‍होंने लगातार गेंदों पर सुरेश रैना (22) और अंबाती रायुडू (0) को बोल्‍ड कर दिया.तीन विकेट गिरने से सनराइजर्स के खेमे का उत्‍साह चरम पर था.छठे ओवर में धोनी ने कौल के खिलाफ अपनी पहली बाउंड्री लगाई. ओवर में 8 रन बने.पावर प्‍ले (छह ओवर) के बाद चेन्‍नई का स्‍कोर तीन विकेट पर 33 रन था.आठवें ओवर में लेग ब्रेक बॉलर राशिद खान ने एमएस धोनी (9) को बोल्‍ड करते हुए चेन्‍नई की मुश्किलों को बढ़ा दिया. लगातार विकेट लेकर सनराइजर्स ने मैच में जोरदार वापसी कर ली थी.नौवें ओवर में फाफ डुप्‍लेसिस की गेंद पर पारी का पहला छक्‍का लगाया..लगातार विकेट गिरने से चेन्‍नई की रनगति इतनी धीमी हो गई थी कि 10 ओवर में किसी तरह 50 रन पूरे हुए. 11वां ओवर शाकिब अल हसन ने फेंका, जिसमें 6 रन बने.12वें ओवर में राशिद ने ब्रावो (7) को स्लिप में धवन के हाथों कैच करा दिया. चेन्‍नई का छठा विकेट जडेजा (3) के रूप में संदीप शर्मा के खाते में गया. पारी के 14 वें ओवर में शाकिब को छक्‍का और चौका जड़ते हुए डुप्‍लेसिस ने चेन्‍नई के फैंस को राहत दी. ओवर में 14 रन बने.15वें ओवर में डुप्‍लेसिस ने संदीप शर्मा पर हमला बोला और छक्‍का और चौका जमाया. इस ओवर में 12 रन बने लेकिन आखिरी गेंद पर टीम को दीपक चाहर (10) का विकेट गंवाना पड़ा. कैच ब्रेथवेट ने लपका. 15 ओवर के बाद चेन्‍नई का स्‍कोर सात विकेट खोकर 92 रन था और शेष पांच ओवर में टीम को 48 रन की जरूरत थी.18वें ओवर में डुप्‍लेसिस ने ब्रेथवेट को दो चौके और छक्‍का लगाकर रोमांच को चरम पर पहुंचा दिया. उनका अर्धशतक 37 गेंदों पर तीन चौकों और तीन छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ. ओवर में 20 रन बने लेकिन इसमें टीम को हरभजन सिंह (2) का विकेट भी गंवाना पड़ा. अंतिम दो ओवर में चेन्‍नई को 23 रन की जरूरत थी. 19वें ओवर में शारदुल ठाकुर ने सिद्धार्थ कौल को तीन चौके जमाते हुए हर किसी को हैरान कर दिया. ओवर में 17 रन बने. आखिरी ओवर में चेन्‍नई को 6 रन की जरूरत थी. भुवनेश्‍वर की पहली ही गेंद पर छक्‍का जड़ते हुए डुप्‍लेसिस ने टीम को यादगार जीत दिला दी. सनराइजर्स के लिए राशिद खान, संदीप शर्मा और सिद्धार्थ कौल ने दो-दो विकेट लिए. सनराइजर्स की पारी: पहली ही गेंद पर आउट हुए शिखर धवन इससे पहले, चेन्‍नई के आमंत्रण पर बैटिंग के लिए उतरी सनराइजर्स की शुरुआत तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने बिगाड़ दी. मैच की पहली ही गेंद पर चाहर ने धवन (0) को बोल्‍ड कर दिया.वैसे, इस ओवर में विलियमसन ने तीन चौके लगाए.पारी की शुरुआत धवन के साथ श्रीवत्‍स गोस्‍वामी ने की थी.लुंगी एंगिडी की ओर से फेंके गए पारी के दूसरे ओवर में छह और तीसरे ओवर (गेंदबाज-दीपक चाहर) में 10 रन बने.पांच ओवर के पहले सनराइजर्स के दो और विकेट गिरे. चौथे ओवर में श्रीवत्‍स गोस्‍वामी (12) को लुंगी एंगिडी ने अपनी ही गेंद पर कैच किया. अगले ओवर में शारदुल ठाकुर ने बड़ी कामयाबी दिलाते हुए कप्‍तान केन विलियमसन (24 रन, 15 गेंद, चार चौके) के विकेटकीपर धोनी के दस्‍तानों में कैद करा दिया.पॉवरप्‍ले (छह ओवर) के बाद सनराइजर्स का स्‍कोर तीन विकेट पर 47 रन था. सातवें ओवर में ड्वेन ब्रावो बॉलिंग के लिए आए. सनराइजर्स के 50 रन 6.2 ओवर में पूरे हुए, लेकिन ब्रावो की अगली ही गेंद पर शाकिब (12) भी धोनी को कैच थमाकर पेवेलियन लौट गए.10 ओवर के बाद सनराइजर्स का स्‍कोर चार विकेट खोकर 64 रन था. पारी के 12वें ओवर में मनीष पांडे (8) आउट हो गए. उन्‍हें लेग स्पिनर रवींद्र जडेजा ने अपनी ही गेंद पर कैच किया. स्‍कोर 75 रन तक पहुंचने के पहले ही सनराइजर्स की आधी टीम पेवेलियन लौट चुकी थी.ओवर तेजी से निकलरहे थे और स्‍कोर गति नहीं पकड़ पा रहा था.15वें ओवर में यूसुफ पठान (24) के आउट होने से सनराइजर्स की सम्‍मानजनक स्‍कोर तक पहुंचने की रही-सही उम्‍मीदें भी जाती रहीं. पठान को ब्रावो ने अपनी ही गेंद पर कैच किया. पारी के 18वें ओवर में ब्रेथवेट ने शारदुल ठाकुर को लगातार दो छक्‍के जड़ते हुए टीम का स्‍कोर 100 रन के पार पहुंचाया.ओवर में 17 रन बने.19वां ओवर एंगिडी ने और 20 वां ओवर शारदुल ठाकुर फेंका जिसमें क्रमश: 4 और 20 रन बने. आखिरी ओवर में ब्रेथवेट ने दो छक्‍के और एक चौका लगाया. 20 ओवर के बाद सनराइजर्स का स्‍कोर 6 विकेट खोकर 139 रन रहा. आखिरी गेंद पर भुवनेश्‍वर कुमार (7) रन आउट हुए. ब्रेथवेट 29 गेदों पर 43 रन (एक चौका और चार छक्‍के) बनाकर नाबाद रहे. चेन्‍नई के ड्वेन ब्रावो ने सर्वाधिक दो विकेट लिए चेन्‍नई ने प्‍लेइंग इलेवन में एक बदलाव करते हुए सेम बिलिंग्‍स की जगह शेन वॉटसन को स्‍थान दिया. दूसरी ओर, सनराइजर्स हैदराबाद ने उसी टीम के साथ उतरने का फैसला किया जो पिछले मैच में खेली थी.
IPL 2018: क्‍वालिफायर 1 में सुरेश रैना पर टिकी निगाहें, इस मामले में विराट कोहली को छोड़ सकते हैं पीछे.
22 May 2018
मुंबई: आईपीएल 2018 अब निर्णायक मोड़ पर पहुंच चुका है. आईपीएल प्‍लेऑफ के क्‍वालिफायर 1 में शीर्ष दो टीमें सनराइजर्स हैदराबाद और चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स की टीमें आमने-सामने होगी. इस मुकाबले में जीतने वाली टीम फाइनल में स्‍थान बनाने में कामयाब होगी. क्रिकेटप्रेमियों को इस मैच में दोनों टीमों के बीच रोमांचक संघर्ष की उम्‍मीद तो है ही, उनकी निगाह चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के दिग्‍गज खिलाड़ी सुरेश रैना पर भी टिकी होंगे जो आईपीएल में विराट कोहली के एक रिकॉर्ड को पीछे छोड़ सकते हैं. विराट इस समय आईपीएल में सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. उन्‍होंने अब तक 38.35 के औसत से 4,948 रन बनाए हैं. सुरेश रैना इस मामले में उनसे 17 रन ही पीछे हैं. उन्‍होंने आईपीएल में अब तक उन्‍होंने 34.48 के औसत से 4931 रन बनाए हैं. आज के मैच में यदि वे 18 रन बनाने में सफल रहे तो विराट कोहली के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ देंगे. गौरतलब है कि विराट कोहली की कप्‍तान वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू की टीम प्‍लेऑफ में स्‍थान बनाने में नाकाम रही है रैना ने आईपीएल के 174 मैचों में यह रन बनाए हैं जिसमें एक शतक और 35 अर्धशतक शामिल हैं. आईपीएल में रनों के मामले में रोहित शर्मा तीसरे स्‍थान पर हैं. रोहित ने 173 आईपीएल मैचों में 31.86 के औसत से 4,493 रन बनाए हैं. सनराइजर्स हैदराबाद और चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स ने 18-18 अंक हासिल करते हुए टूर्नामेंट के प्‍लेऑफ में जगह बनाई है. हालांकि नेट रनरेट बेहतर होने के कारण केन विलियमसन के नेतृत्‍व वाली सनराइजर्स अंक तालिका में पहले स्‍थान पर है. आज के क्‍वालिफायर 1 में जीत हासिल करने वाली टीम टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश बना लेगी.
IPL 2018: चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के लुंगी एंगिडी ने इस मामले में की आशीष नेहरा की बराबरी.
21 May 2018
पुणे: दक्षिण अफ्रीका के युवा तेज गेंदबाज लुंगी एंगिडी ने आईपीएल के इस सीजन में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स की ओर से खेलते हुए शानदार प्रदर्शन किया है. दाएं हाथ के तेज गेंदबाज एंगिडी ने रविवार को किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ चेन्‍नई की जीत में अहम भूमिका निभाई. मैच में उन्‍होंने केवल 10 रन देकर चार विकेट हासिल किए. एंगिडी के इस प्रदर्शन की बदौलत चेन्‍नई टीम, किंग्‍स इलेवन को 19.4 ओवर में 153 रन के छोटे स्‍कोर पर आउट करने में सफल हो गई. बाद में जीत के लिए जरूरी 154 रन का लक्ष्‍य एमएस धोनी की टीम ने 19.1 ओवर में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया. चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स ने अपना आखिरी लीग मैच जीतते हुए ऊंचे मनोबल के साथ प्‍लेऑफ में स्‍थान बनाया है. अंकतालिका में यह टीम सनराइजर्स हैदराबाद के बाद दूसरे स्‍थान पर रही. सनराइजर्स और चेन्‍नई दोनों के 18-18 अंक रहे लेकिन नेट रनरेट के मामले में सनराइजर्स की टीम बेहतर साबित हुई. 22 वर्षीय एंगिडी ने कल के मुकाबले में किंग्‍स इलेवन के स्‍टार बल्‍लेबाज क्रिस गेल और लोकेश राहुल के अलावा रविचंद्रन अश्विन और एंड्रयू टॉय के भी विकेट लिए. उन्‍होंने अपने चार ओवर के कोटे में केवल 10 रन देकर यह सफलताएं हासिल कीं. किसी भी गेंदबाज द्वारा चार विकेट लेने के मामले में यह आईपीएल में सीएसके की ओर से यह सबसे किफायती गेंदबाजी विश्‍लेषण रहा. एंगिडी ने इस मामले में पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा की बराबरी की. टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज नेहरा ने 2015 के आईपीएल सीजन में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के लिए ही खेलते हुए आरसीबी के खिलाफ चार ओवर में 10 रन देकर चार विकेट लिए थे. यह एंगिडी की गेंदबाजी का ही कमाल था कि चेन्‍नई कल के मैच में जोरदार फॉर्म में चल रहे किंग्‍स इलेवन के बल्‍लेबाज लोकेश राहुल को सस्‍ते में आउट करने में सफल रहा. उनकी एक बेहतरीन गेंद तेजी से अंदर की ओर आई और लोकेश राहुल का विकेट ले उड़ी. राहुल इस मैच में केवल सात रन बना पाए.वैसे, किंग्‍स इलेवन के इस ओपनर ने टूर्नामेंट के 14 मैचों में 54.92 के बेहतरीन औसत से 659 रन बनाए. स्‍वाभाविक रूप से एंगिडी को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया.
IPL 2018, SRH vs KKR: सनराइजर्स से जीती तो प्‍लेऑफ में पहुंचेगी केकेआर, नहीं तो
19 May 2018
हैदराबाद: आईपीएल 2018 में आज सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मुकाबले में दिनेश कार्तिक की टीम को हर हाल में जीत की जरूरत होगी. केकेआर को अगर आईपीएल -11 के प्लेऑफ में अपनी जगह सुरक्षित करनी है तो उसे केन विलियमसन की कप्‍तानी वाली सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ यह मैच जीतना होगा. मैच में हार मिलने की स्थिति में केकेआर की प्‍लेऑफ की राह बेहद मुश्किल हो जाएगी और उसका अगले राउंड में प्रवेश दूसरी टीमों की जीत-हार और नेटरन के 'गणित' में उलझकर रह जाएगा.सनराइजर्स के अभी 13 मैचों में नौ जीत से 18 अंक हैं और यह पहले ही प्लेऑफ में जगह बना चुकी है. सनराइजर्स को पिछले मैच में रायल चैलेंजर्स बेंगलुरू के हाथों हार का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बावजूद उसकी टीम आत्मविश्वास से ओतप्रोत है और केकेआर को उसके खिलाफ थोड़ी सी भी ढील महंगी पड़ सकती है. दूसरी ओर, दो बार के चैंपियन केकेआर अभी 13 मैचों में सात जीत से तीसरे स्थान पर है. अगर वह आज के मैच में जीत दर्ज कर लेता है तो फिर उसकी प्लेऑफ में जगह पक्की हो जाएगी. गेंदबाजी अभी तक सनराइजर्स का सबसे मजबूत पक्ष रहा है लेकिन आरसीबी के खिलाफ यह उसका कमजोर पक्ष साबित हुआ. हैदराबाद की टीम प्लेऑफ से पहले अब अपनी कमियों को दूर करने की कोशिश करेगी. सनराइजर्स अपनी टीम में कुछ बदलाव कर सकता है. वह बासिल थम्पी को बाहर कर सकता है जो कल सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए. थम्पी ने चार ओवर में 70 रन लुटाए और ईशांत शर्मा का पिछला रिकॉर्ड तोड़ा. एबी डिविलियर्स और मोईन अली जैसे बल्लेबाजों ने जहां सनराइजर्स के गेंदबाजों को निशाना बनाया वहीं उसके बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया. कप्तान केन विलियमसन शानदार फॉर्म में चल रहे हैं. उनकी आरसीबी के खिलाफ 42 गेंदों पर 81 रन की पारी आईपीएल 2018 में 50 रन से अधिक का आठवां स्कोर है. शिखर धवन पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे जिसकी भरपाईवे यहां करना चाहेंगे जबकि मनीष पांडे एक और बड़ी पारी खेलने के लिये बेताब होंगे. गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार इस मैच में वापसी कर सकते हैं जहां उन्हें राशिद खान , सिद्धार्थ कौल और शाकिब अल हसन का साथ मिलेगा. जहां तक केकेआर का सवाल है तो पिछले मैच में राजस्थान रायल्स पर जीत से उसका मनोबल बढ़ा होगा. इस मैच में कुलदीप यादव ने चार विकेट लिये थे और वह आत्मविश्वास से भरे हैं. केकेआर के लिये क्रिस लिन , सुनील नारायण और कप्तान दिनेश कार्तिक का प्रदर्शन काफी मायने रखता है
IPL 2018: एबी डिविलियर्स ने लिया ऐसा खतरनाक कैच, विराट ने कहा- स्पाइडर मैन
18 May 2018
IPL 2018 RCB VS SRH: रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में मुकाबला खेला गया. पहले बल्लेबाजी करते हुए आरसीबी ने 218 रन जड़ दिए. मैच में एबी डिविलियर्स (69 रन) और मोइन खान (65 रन) ने शानदार पारी खेली. मैच में एबी डिविलियर्स ने न सिर्फ बल्ले से शानदार परफॉर्म किया बल्कि फील्डिंग में भी जौहर दिखाए. उन्होंने एक ऐसा कैच पकड़ा जिसको देखकर हर कोई हैरान था. उन्होंने वो कैच उस वक्त पकड़ा जब टीम को विकेट की सख्त जरूरत थी. एलेक्स हेल्स शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे. शिखर धवन के आउट होने के बाद एलेक्स हेल्स लंबे-लंबे शॉट्स खेल रहे थे. वो 3 छक्के और 2 चौके जड़ चुके थे. मोइन अली की गेंद पर उन्होंने लेग की तरफ शानदार शॉट खेला. बॉल छक्के की तरफ जा रही थी लेकिन डिविलियर्स बीच में आए और एक हाथ से कैच पकड़ लिया. कैच देखकर विराट कोहली भी हैरान थे. विराट कोहली ने ट्वीट करते हुए फोटो पोस्ट की और लिखा- ''आज मैंने स्पाइडर मैन को लाइव देखा.'' आतिशी पारी खेलने वाले और बहुत ही आसाधारण कैच लेने वाले एबी डि विलियर्स को मैन ऑफ द मैच चुना गया. हैदराबाद से पहले बैटिंग का न्योता पाने के बाद बेंगलोर ने एबी डि विलियर्स (69 रन, 39 गेंद, 12 चौके, 1 छक्का), मोईन अली (65 रन, 34 गेंद, 2 चौके, 6 छक्के), ग्रैंडहोम (40 रन, 17 गेंद, 1 चौका, 4 छक्के) और सर्फराज खान (नाबाद 22 रन, 8 गेंद, 3 चौके, 1 छक्का) की उम्दा बैटिंग की बदौलत कोटे के 20 ओवरों में 6 विकेट पर 218 रन का बहुत ही मजबूत स्कोर खड़ा किया. हैदराबाद के लिए लेग स्पिनर राशिद खान ने 3 विकेट चटकाए.
MI vs KXIP: लोकेश राहुल की 94 रन की पारी बेकार, मुंबई 3 रन से जीता, प्‍लेऑफ की उम्‍मीदें कायम रखीं
17 May 2018
मुंबई: मुंबई का वानखेड़े स्‍टेडियम आज रोमांचक मैच का गवाह बना. आईपीएल 2018 के अंतर्गत खेले गए इस मैच में किंग्‍स इलेवन पंजाब के लोकेश राहुल की जोरदार पारी (94 रन, 60 गेंद, 10 चौके, तीन छक्‍के) पर मुंबई के जसप्रीत बुमराह की बेहतरीन गेंदबाजी (चार ओवर में 15 रन देकर तीन विकेट) भारी पड़ी. डेथ ओवर्स में बुमराह की घातक गेंदबाजी की बदौलत मुंबई ने इस मैच में पंजाब को 3 रन से हरा दिया. इस जीत के साथ MI ने प्‍लेऑफ की उम्‍मीदों को और मजबूत बना लिया है.मैच में जीतके लिए पंजाब के सामने 187 रन का लक्ष्‍य था. राहुल और एरोन फिंच (46 रन, 35 गेंद, तीन चौके, एक छक्‍का) के बीच दूसरे विकेट के लिए हुई 111 रन की साझेदारी की बदौलत टीम मजबूती से जीत की ओर बढ़ रही थी. लेकिन 17वें ओवर में बुमराह ने फिंच और स्‍टोइनिस को आउट करते हुए इन उम्‍मीदों पर पानी फेर दिया. यही नहीं,19वें ओवर में बुमराह ने लोकेश राहुल का महत्‍वपूर्ण विकेट भी झटका. उनके इन झटकों के कारण पंजाब टीम 20 ओवर में पांच विकेट पर 183 रन ही बना पाई. पंजाब के आमंत्रण पर पहले बैटिंग करते हुए मुंबई ने कीरोन पोलार्ड के 50 रन (23 गेंद, पांच चौके और तीन छक्‍के) तथा क्रुणाल पंड्या के 32 रन (23 गेंद, एक चौका, दो छक्‍के) की बदौलत 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 186 रन बनाए थे. जसप्रीत बुमराह को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. आज की इस जीत के बाद मुंबई इंडियंस अंकतालिका में छलांग मारकर चौथे स्‍थान पर आ गई है. टीम के 13 मैचों में छह जीत और सात हार के साथ 12 अंक हैं और उसकी प्‍लेऑफ की संभावनाएं मजबूत हो गई हैं. दूसरी ओर पिछले कुछ मैचों में आत्‍मघाती प्रदर्शन के बाद किंग्‍स इलेवन की टीम छठे नंबर पर खिसक गई है. अश्विन की टीम के 13 मैचों में छह जीत और सात हार के साथ 12 ही अंक हैं लेकिन मुंबई और पांचवें नंबर पर काबिज राजस्‍थान रॉयल्‍स (13 मैचों में 12 अंक) का नेट रनरेट उससे बेहतर है. राहुल के आउट होते ही KXIP के संघर्ष ने दम तोड़ा मुंबई के 186 रन के जवाब में किंग्‍स इलेवन की पारी लोकेश राहुल और क्रिस गेल ने शुरू की. मिचेल मैकक्‍लेंघन के पहले ओवर की तीसरी गेंद पर राहुल ने छक्‍का लगाकर अपने इरादे जता दिए. ओवर में 8 रन बने.तीसरे ओवर में गेंदबाजी के लिए आए हार्दिक पंड्या ने 19 रन लुटाए, इसमें गेल का छक्‍का व चौका तथा राहुल के दो चौके शामिल रहे.चौथे ओवर में गेल (18) की पारी का अंत मैकक्‍लेंघन ने कर दिया.कैच कटिंग ने लपका. गेल की जगह फिंच बैटिंग के लिए आए.हार्दिक पटेल द्वारा फेंका गया पारी का 5वां ओवर फिर महंगा रहा, इसमें फिंच के छक्‍के सहित 12 रन बने.पांच ओवर के बाद किंग्‍स इलेवन का स्‍कोर 46 रन था. छठे ओवर में राहुल को जीवनदान मिला जब क्रुणाल की गेंद पर कटिंग भरसक प्रयास के बाद कैच नहीं पकड़ पाए. इस ओवर में राहुल के दो चौकों सहित 11 रन बने. पावरप्‍ले (छह ओवर) के बाद किंग्‍स इलेवन का स्‍कोर एक विकेट खोकर 57 रन था.आज की पारी के दौरान राहुल टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्‍लेबाज भी बन गए. उन्‍होंने दिल्‍ली के ऋषभ पंत को पीछे छोड़ा. राहुल की बैटिंग के कारण पंजाब का स्‍कोर तेजी से आगे बढ़ रहा था.में 10 ओवर के बाद किंग्‍स इलेवन का स्‍कोर एक विकेट खोकर 86 रन था. शेष 10 ओवर में टीम को 101 रन की जरूरत थी. 11वें ओवर में राहुल का अर्धशतक 36 गेंदों पर छह चौकों और एक छक्‍के की मदद से पूरा हुआ.राहुल-फिंच की साझेदारी मुंबई के लिए मुसीबत बनती जा रही थी.13वें ओवर में पंजाब का स्‍कोर 100 रन के पार पहुंचा.15 ओवर के बाद किंग्‍स इलेवन का स्‍कोर एक विकेट खोकर 127 रन था. शेष पांच ओवर में टीम को 12 के औसत से 60 रन की जरूरत थी.पारी के 16वें ओवर में राहुल ने मार्कंडे को लगातार दो छक्‍के जड़ते हुए स्‍कोर को गति दी. ओवर पंजाब के लिए बेहद शानदार रहा और इसमें 18 रन बने.पारी के 17वें ओवर में फिंच (46 रन, 35 गेंद, तीन चौके और एक छक्‍का) की पारी का अंत बुमराह ने कर दिया. कैच हार्दिक पंड्या ने पकड़ा. बुमराह के इस ओवर में स्‍टोइनिस (1) भी आउट हुए. ओवर में केवल चार रन बने.मैच बेहद रोमांचक फिनिश की ओर बढ़ रहा था.पंजाब की जीत का दारोमदार अब पूरी तरह राहुल पर था. 18वां ओवर बेन कटिंग ने फेंका, जिसमें राहुल ने लगातार तीन चौके लगाए. ओवर में 15 रन बने.आखिरी दो ओवर में टीम को 23 रन की जरूरत थी.19वें ओवर की शुरुआत बुमराह ने वाइड के साथ की. लेकिन तीसरी गेंद पर उन्‍होंने राहुल (96 रन, 60 गेंद, 10 चौक, तीन छक्‍के) को कटिंग से कैच कराकर मुंबई को बहुप्रतीक्षित सफलता दिलाई. जल्‍दी-जल्‍दी तीन विकेट लेकर बुमराह ने मैच में शक्‍ल बदल दी थी. ओवर में केवल 6 रन बने.आखिरी ओवर में पंजाब को 17 रन की जरूरत थी.भरसक प्रयासों के बावजूद टीम के बल्‍लेबाज मैकक्‍लेंघन के इस ओवर में 13 रन ही बना पाए. ओवर में टीम ने युवराज सिंह का विकेट भी गंवाया. मुंबई की पारी: पोलार्ड और क्रुणाल ने खेली तूफानी पारी मुंबई की पारी सूर्यकुमार यादव और ईविन लेविस ने शुरू की. अं‍कित राजपूत के पहले ओवर में सात और मोहित शर्मा की ओर से फेंके गए दूसरे ओवर में लेविस ने छक्‍के सहित 9 रन बने. तीसरे ओवर में सूर्यकुमार ने अंकित को दो छक्‍के और एक चौका जमाया. इस ओवर में 21 रन बने.पारी के चौथे ओवर में एंड्रयू टॉय ने लेविस (9) को बोल्‍ड करते हुए पंजाब को पहली सफलता दिलाई. लेविस की जगह ईशान किशन बैटिंग के लिए आए.पारी के 5वें ओवर में मोहित शर्मा को ईशान किशन ने दो छक्‍के और चौका लगाया. ओवर में 18 रन बने और स्‍कोर 50 रन के पार जा पहुंचा.छठे ओवर में टाय की लगातार गेंदों पर ईशान किशन (20) और सूर्यकुमार यादव (27) के आउट होने से पंजाब के हौसले बुलंद हो गए.ओवर में केवल तीन रन बने.तीन विकेट गिरने से मुंंबई की रनगति पर कुछ ब्रेक लग गया था.आठवें ओवर में कप्‍तान अश्विन आक्रमण पर आए, ओवर में पांच रन बने.मुंबई के विकेट लगातार गिर रहे थे. 9वें ओवर में बारी रोहित शर्मा (9) की थी जिन्‍हें अंकित राजपूत ने युवराज से कैच कराया. रोहित एक बार फिर नाकाम रहे.10 ओवर के बाद मुंबई इंडियंस का स्‍कोर चार विकेट खोकर 79 रन था.10 ओवर के बाद कुछ टॉवर्स की लाइट बंद होने से खेल कुछ देर रुका रहा. 11वां ओवर अक्षर पटेल ने फेंका, इसमें केवल 6 रन बने.12वें ओवर में क्रुणाल ने स्‍टोइनिस को लगातार दो छक्‍के और फिर चौका जड़ते हुए थमे स्‍कोर को फिर से गति देने की कोशिश की. ओवर में 19 रन बने और स्‍कोर 100 रन के पार पहुंच गया.13वें ओवर में बारी पोलार्ड की थी. उन्‍होंने अक्षर पटेल को छक्‍का लगाया. ओवर में 12 रन बने.14वें ओवर में पोलार्ड ने अंकित को छक्‍का और फिर लगातार दो चौके जमाए. मुंबई का स्‍कोर तेजी से 'छलांग' लगा रहा था.15वें ओवर में क्रुणाल (32) की पारी पर विराम लग गया. उन्‍होंने स्‍टोइनिस की गेंद पर अंकित राजपूत ने कैच किया.वैसे इस ओवर में पोलार्ड ने दो चौके और एक छक्‍का लगाया. इसी ओवर में पोलार्ड का अर्धशतक 22 गेंदों पर पांच चौकों और तीन छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ.16वें ओवर में पोलार्ड (50 रन, 23 गेंद, पांच चौके और तीन छक्‍के) के आउट होने से पंजाब ने राहत की सांस ली. अश्विन की गेंद पर कैच फिंच ने लपका.पारी के 18वें ओवर में कटिंग (4) को अश्विन की गेंद पर अक्षर पटेल ने लपका. 19वें ओवर में हार्दिक पंड्या भी आउट हो गए. उन्‍हें 9 रन के निजी स्‍कोर पर टाय की गेंद पर अश्विन ने कैच किया.पारी का आखिरी ओवर में मोहित शर्मा ने फेंका, जिसमें 11 रन बने. 20 ओवर के बाद मुंबई का स्‍कोर 8 विकेट पर 186 रन रहा पंजाब के एंड्रयू टाय ने सर्वाधिक चार और कप्‍तान आर. अश्विन ने दो विकेट लिए.
IPL 2018: कुलदीप यादव ने राजस्‍थान के खेमे में इस दिग्‍गज की मौजूदगी को दिया अपने शानदार प्रदर्शन का श्रेय
16 May 2018
कोलकाता: चाइनामैन कुलदीप यादव ने मंगलवार को राजस्‍थान रॉयल्‍स के खिलाफ अपनी फिरकी का जादू दिखाया. उनके चार विकेट की बदौलत आईपीएल 2018 के महत्‍वपूर्ण मुकाबले में कोलकाता नाइटराइडर्स ने राजस्‍थान को 6 विकेट से हराकर प्‍लेऑफ की अपनी संभावनाओं को मजबूत बना लिया है. इस प्रदर्शन के कारण उत्‍तरप्रदेश के इस स्पिनर को मैच का सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ी चुना गया है. मैच के बाद कुलदीप यादव ने कहा कि विरोधी डग आउट में पूर्व दिग्‍गज स्पिनर शेन वॉर्न की मौजूदगी से उन्हें आईपीएल में अपने कैरियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिली. कुलदीप ने इस मैच से पहले 12 मैचों में सिर्फ 9 विकेट लिए थे लेकिन कल उसने राजस्थान रायल्स के खिलाफ 20 रन देकर चार विकेट चटकाए. कुलदीप ने कहा कि मैं ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर शेन वॉर्न के सामने अच्‍छा प्रदर्शन करने के लिए बेताब था. गौरतलब है कि वॉर्न इस समय राजस्‍थान रॉयल्‍स रायल्स टीम के मेंटर हैं.कुलदीप ने कहा,‘मैं हमेशा से उनका (वॉर्न का) बहुत बड़ा फैन रहा हूं. वे मेरे आदर्श हैं. उनके सामने खेलने पर मुझे अलग तरह की प्रेरणा मिलती है. मैं वॉर्न के सामने अच्छा प्रदर्शन करना चाहता था.’सीमित ओवरों के फॉर्मेट में टीम इंडिया के प्रमुख स्पिनर कुलदीप ने कहा कि वार्न ने आगामी इंग्लैंड दौरे के लिए उन्हें उपयोगी टिप्‍स दिए हैं. कुलदीप के अनुसार, ‘ मैंने मैच के बाद उनसे बात की. इंग्लैंड दौरे के लिए मैंने तैयारी शुरू कर दी है.आईपीएल के बाद मैं उनसे इस बारे में विस्‍तार से से बात करूंगा.’मंगलवार के मैच में बारे में उन्‍होंने कहा, राजस्‍थान रॉयल्‍स के ओपनरों राहुल त्रिपाठी और जोस बटलर ने जिस तरह की धमाकेदार शुरुआत की थी उससे मैं कुछ दबाव में था. मेरा पूरा ध्‍यान विकेट हासिल करने पर था. बटलर इस समय जोरदार फॉर्म में हैं और मैंने उन्‍हें आउट करने के लिए प्रयास कर रहा था. ऐसे मौके पर आपको खुद को अच्‍छे प्रदर्शन के लिए प्रेरित करना होता है और अपने मजबूत पक्ष और बेसिक्‍स पर ध्‍यान देना होता है. मुझे पता था कि बटलर रिवर्स स्‍वीप के लिए प्रयास करेंगे इसलिए मैंने 'क्विकर' फेंकी. हर मैच के लिए आपको योजना के साथ जाना होता है. यह अलग बात है कि कभी यह योजना काम करती है और कभी नहीं
IPL 2018 KXIP VS RCB: मेकअप रूम में अनुष्का ने देखा मैच, कोहली को देखते ही किया ऐसा
15 May 2018
आईपीएल 2018 में किंग्स इलेवन पंजाब VS रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बीच मुकाबला खेला गया. विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को ये मैच जीतना बेहद जरूरी था. एक हार बेंगलुरु को लीग में बाहर का रास्ता दिखा सकती है. प्ले ऑफ में उनको अब सभी मैच जीतना जरूरी है. पंजाब के खिलाफ उन्होंने शानदार परफॉर्मेंस की और मुकाबले को बेहद आसानी से 10 विकेट से जीत लिया. बेंगलुरु के लिए उनके गेंदबाजों ने काम आसान कर दिया. पंजाब को सिर्फ 88 रन पर ही रोक दिया. मैच में सबसे खास था अनुष्का शर्मा का एन्जॉय करना. बता दें, अनुष्का शर्मा इंदौर के होलकर में तो नहीं थीं. लेकिन शूट के दौरान ही उन्होंने मैच को एन्जॉय किया. शूट होने की वजह से वो रॉयल चैलेंजर्स को सपोर्ट करने इंदौर नहीं आ पाईं. लेकिन शूट पर रहते भी उन्होंने विराट कोहली की टीम आरसीबी को सपोर्ट किया. मैच से पहले उन्होंने आरसीबी के लिए पोस्ट किया. विराट कोहली के नाम की टी-शर्ट पहनकर उन्होंने आरसीबी को सपोर्ट किया. जैसे ही मैच शुरू हुआ तो उन्होंने इंस्टाग्राम पर फोटो स्टोरी पोस्ट की. जिसमें वो मेकअप रूम में मैच एन्जॉय करती नजर आ रही हैं. अनुष्का ने पंजाब के विकेट गिरने पर काफी एन्जॉय किया. उनकी ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं. मैच में विराट कोहली को देखते ही अनुष्का काफी एक्साइटेड हो गईं. पिछली बार जब किंग्स इलेवन पंजाब और रॉयल चैलेंजर्स के बीच मुकाबला हुआ था तो वो स्टेडियम में मौजूद थी और विराट कोहली वो मुकाबला जीते थे. अब विराट कोहली की लकी चार्म ने दूर से ही उनको सपोर्ट किया और विराट कोहली को जीत हासिल हुई. बता दें, रॉयल चैलेंजर्स का अगला मुकाबला 17 मई को सनराइजर्स हैदराबाद से है और दूसरा मुकाबला राजस्थान रॉयल्स के साथ है. अगर वो दो मुकाबला जीत लेते हैं तो उनके 14 प्वॉइंट्स हो जाएंगे और प्ले-ऑफ में जगह बना सकते हैं.
IPl 2018, CSK vs SRH: 'कुछ ऐसे' अंबाती रायुडु को हैदराबाद की धुनाई भाती है सबसे ज्यादा!
14 May 2018
नई दिल्ली: कोलकाता नाइट राइडर्स इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 में शनिवार के पहले अहम अहम मुकाबले में मेजबान किंग्स इलेवन पंजाब से उसके घर होल्कर क्रिकेट स्टेडियम में में भिड़ेगी. सही बात यह है कि दोनों ही टीमें अलग-अलग कारणों से दो राहे पर खड़ी हैं. लेकिन केकेआर के मुकाबले पंजाब की समस्या ज्यादा बड़ी दिखाई पड़ रही है. शुरुआती मैचों में बहुत सकारात्मक दिखाई पड़ रही बात अब समस्या में तब्दील सी हो गई है. पंजाब की ताकत इस सीजन में उसकी क्रिस गेल और लोकेश राहुल की सलामी जोड़ी रही है. दोनों ने टीम को कई दफा तूफानी शुरुआत दी है. मध्यक्रम का भार करुण नायर ने संभाले रखा है जिसमें मार्कस स्टोइनिस ने उनका बखूबी साथ दिया है. मध्यक्रम में एक स्थान के लिए कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने तीन बल्लेबाजों का उपयोग किया है, लेकिन सफलता नहीं मिली है. मनोज तिवारी, युवराज सिंह और एरॉन फिंच मौकों को भुना नहीं पाए हैं. वहीं, गेंदबाजी में अश्विन और अफगानिस्तान के मुजीब उर रहमान ने शानदार प्रदर्शन किया है और टीम को काफी मजबूत किया हैं. तेज गेंदबाजी में एंड्रयू टाई और मोहित शर्मा ने शानदार प्रदर्शन किया है. सलामी बल्लेबाज क्रिस लिन का बल्ला चलना कोलकाता के लिए बेहद जरूरी है. कप्तान दिनेश कार्तिक, लिन के साथ सुनील नारायण या रॉबिन उथप्पा में किसे पारी की शुरुआत करने भेजते हैं, यह बल्लेबाजों के मैदान पर उतरने के बाद ही पता चलेगा. कार्तिक का प्रदर्शन अभी तक अच्छा रहा है. नितीश राणा ने शुरुआत में अच्छा प्रदर्शन किया था लेकिन हाल ही में वह राह भटक गए हैं. इनके अलावा आंद्रे रसेल किसी भी टीम के लिए सिरदर्द साबित हो सकते हैं. गेंदबाजी में कुलदीप यादव, पीयूष चावला, नरेन की स्पिन तिगड़ी कोलकाता की ताकत है. तेज गेंदबाजी में टॉम कुरैन और रसेल पर भी अहम जिम्मेदारी है. आज के मुकाबले के लिए दोनों टीमें इस प्रकार हो सकती हैं:
IPL 2018, KKR VS KXIP LIVE: 'इस वजह' से दोनों किंग्स इलेवन पंजाब और केकेआर खड़े हैं दोराहे पर!...
12 May 2018
नई दिल्ली: अब यह तो आप जानते ही हैं कि अंबाती रायुडु मूल रूप से हैदराबाद के ही रहने वाले हैं. शुरू में वह जूनियर क्रिकेट और रणजी ट्रॉफी हैदराबाद के लिए खेले, लेकिन आईपीएल में भी उनका हैदराबाद (सनराइजर्स) के साथ खास रिश्ता बन गया है. अगर आईपीएल के इतिहास में उनकी पारियों की बात करें, तो रायुडु ने सबसे ज्यादा हैदराबाद को ही धोया है. और यह बताता है कि रायुडु को हैदराबाद कुछ ज्यादा ही रास आता है. इस बात को उन्होंने रविवार (मैच रिपोर्ट) को बखूबी साबित किया. आपको बता दें कि अंबाती रायुडु ने अपने दो सर्वश्रेष्ठ स्कोर बेंगलोर रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ बनाए. इस साल आरसीबी के खिलाफ 82 रन की पारी खेलने से पहले उन्होंने बेंगलोर के खिलाफ साल 2012 में बेंगलुरु में ही नाबाद 81 रन की पारी खेली थी. लेकिन इस साल इसमें उन्होंने एक रन का सुधार किया. तब भी अंबाती रायुडु एक शतक के हकदार थे. और इसकी भरपाई उन्होंने रविवार को कर दी. साथ ही इसी पारी के साथ उन्होंने आंकड़ों या प्रमाणों के जरिए यह बता दिया कि वह भले ही हैदराबाद से आते हैं, लेकिन उन्हें इसी टीम की सबसे ज्यादा धुनाई करना भाता है. आपको बता दें कि अंबाती रायुडु ने आईपीएल में अपने तीन सर्वश्रेष्ठ स्कोर हैदराबाद के खिलाफ ही बनाए. और दो स्कोर तो इसी आईपीएल में उन्होंने बना डाले. हालांकि, रायुडु बेंगलोर के खिलाफ साल 2012 में नाबाद 81 रन बना चुके थे, लेकिन हैदराबाद के खिलाफ उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर 68 रन साल 2014 में बनाया था. इसके बाद उन्होंने जारी टूर्नामेंट में चार साल बाद हैदराबाद को निशाने पर लेते हुए पिछले खेले गए मुकाबले में 79 रन ठोक डाले. लेकिन मानो उनके भीतर का गुबार अभी हैदराबाद पर और बरसना चाहता था. और उस बचे-खुचे गुबार की बारिश रायुडु ने रविवार को सुपर किंग्स पर कर डाली. वास्तव में रायुडु के हैदराबाद के खिलाफ रविवार को 62 गेंदों पर नाबाद 100 रन उनका इस टीम के खिलाफ उनका इस टीम के खिलाफ तीसरा सबसे बड़ा स्कोर रहा. किसी दूसरी टीम मतलब बेंगलोर के मुकाबले एक स्कोर ज्यादा. बस अंतर यह रहा कि उनकी पिछली दो पारियां हैदराबाद में आई थीं. और यह शतकीय पारी रायुडु ने पुणे में खेली. और यह आंकड़ा बताता है कि जब बारी हैदराबाद के खिलाफ खेलने की आती है, तो रायुडु कुछ खास ही दिमाग में लिए मैदान पर उतरते हैं
IPL 2018, DD vs SRH: 'यहां' ऋषभ पंत बन गए विराट कोहली सहित दिग्गजों को पछाड़ नंबर वन...
11 May 2018
नई दिल्ली: फिरोजशाह कोटला में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ (मैच रिपोर्ट) आतिशी लेफ्टी बल्लेबाज ऋषभ पंत के लिए पहली पारी मिली जुली रही. राशिद खान एंड कंपनी की धुनाई के बीच ऋषभ पंत की गलती से दिल्ली के दो बल्लेबाज कप्तान श्रेयस अय्यर और हर्शल पटेल रन आउट हो गए, लेकिन इस युवा बल्लेबाज ने एक बेहतरीन पारी खेलते हुए अपनी इस गलती की बहुत हद तक भरपाई कर दी. लेकिन इससे अलग ऋषभ पंत बड़ा कारनामा करते हुए आईपीएल में 'इतिहासपुरुष' बन गए. वास्तव में ऋषभ पंत ने विराट कोहली, सुरेश रैना सहित कई दिग्गजों को मात देते हुए यह बता दिया कि अगली पीढ़ी के सुपरस्टार तो वही हैं. वैसे कारनामे की बात करें, तो हम बात कर रहे आईपीएल में सबसे कम उम्र में एक हजार रन पूरे करने की. अब इस रिकॉर्ड पर पंत ने पिछले सभी नामों को मिटाते हुए अपना नाम चस्पा कर दिया है. आपको बता दें कि ऋषभ से पहले तक यह रिकॉर्ड संजू सैमसन के नाम पर था. और उन्होंने 21 साल व 183 दिन की उम्र में आईपीएल में हजार रन पूरे किए थे. अब संजू दूसरी पायदान पर खिसक गए हैं, तो वहीं विराट कोहली (22 साल व 175 दिन) के साथ तीसरे, रोहित शर्मा (22 साल व 340 दिन) के साथ चौथे नंबर पर हैं. इसके अलावा इस मामले में अब सुरेश रैना (23 साल व 118 दिन) पांचवे और डेयर डेविल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर (23 साल व 142 दिन) छठे नंबर पर आ गए हैं. लेकिन फिरोजशाह कोटला में पंत ने आईपीएल में अपनी अभी तक सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ पारी और आतिशी शतक से इस रिकॉर्ड पर अपना नाम लिख दिया ऋषभ पंत नाबाद 128 रन की पारी के साथ ही आईपीएल में सिर्फ 20 साल और 218 दिन की उम्र में एक हजार पूरे करने के मामले में पहले नंबर पर आ गए. और जैसे तेवर उन्होंने दिखाए, उससे लगता है कि आने वाले दिनों में वह और भी कई बड़े धमाके करेंगे.
IPL 2018: ईशान किशन के 'तूफान' में शामिल था धोनी का हेलीकॉप्टर शॉट....
10 May 2018
आईपीएल 2018 में मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच मुकाबला खेला गया. मैच के हीरो रहे ईशान किशन. उन्होंने 21 गेंद पर 62 रन की शानदार पारी खेली. इस खिलाड़ी के तूफान के आगे कोलकाता के सभी गेंदबाज फेल साबित हुए. मैच के 14वें ओवर में उन्होंने कुलदीप यादव के ओवर में लगातार चार छक्के जड़ दिए. जिससे स्कोर काफी आगे पहुंच गया. इन चार छक्कों में सबसे खास छक्का था वो जब उन्होंने बिलकुल धोनी स्टाइल में हेलीकॉप्टर शॉट खेला. 17 गेंदों पर हाफ सेंचुरी बनाने के बाद भी ईशान किशन नहीं रुके और मुंबई इंडियंस पर आक्रामण शुरू कर दिया. उन्होंने अगली ही गेंद पर एमएस धोनी स्टाइल में हेलीकॉप्टर शॉट खेला. बॉल सीधी बाउंड्री पार कर गई और छक्के के लिए निकल गई. ईशान की ऐसी बल्लेबाजी देख कप्तान रोहित शर्मा भी हैरान थे. उनको आउट करने के लिए सुनील नरेन को लाया गया. उन्होंने नरेन की गेंद पर भी छक्का जड़ दिया. लेकिन अगली ही गेंद पर वो आउट हो गए. उनकी आतिशी पारी के चलते ही मुंबई इंडियंस 20 ओवर में 210 रन बनाने में कामयाब रहा. जिसके बाद मुंबई इंडियंस के गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की और कोलकाता को 108 रन पर ऑल आउट कर दिया. ये कोलकाता की सबसे बड़ी हार थी. इसी जीत के साथ मुंबई इंडियंस अब टॉप 4 में एंट्री कर चुका है. उसे टॉप 4 में बने रहने के लिए सभी मैच जीतना जरूरी है.
IPL 2018: राजस्‍थान 15 रन से जीता, पंजाब के काम नहीं आई राहुल की नाबाद 95 रन की पारी.....
9 May 2018
जयपुर: राजस्‍थान रॉयल्‍स ने आईपीएल 2018 के लगभग एकतरफा रहे मुकाबले में किंग्‍स इलेवन पंजाब को 15 रन से हराकर प्‍लेऑफ की उम्‍मीदों को कायम रखा है. जयपुर के सवाई मानसिंह स्‍टेडियम पर खेले गए इस मैच में 159 रन के लक्ष्‍य के जवाब में पंजाब के लिए लोकेश राहुल (नाबाद 95 रन, 70 गेंद, 11 चौके, दो छक्‍के) ने एक बार फिर जोरदार पारी खेली, लेकिन वे टीम को जीत नहीं दिला पाए. 20 ओवर में किंग्‍स इलेवन पंजाब सात विकेट पर 143 रन ही बना पाया. पंजाब के विकेट लगातार गिरते रहे. 100 रन के पहले ही टीम के छह बल्‍लेबाज पेवेलियन लौट चुके थे. अकेले राहुल ही आखिरी क्षणों तक संघर्ष करते नजर आए लेकिन उनके एकाकी प्रयास आखिर में नाकाफी साबित हुए. 11 रन बनाने वाले मार्कस स्‍टोइनिस टीम के दूसरे टॉप स्‍कोरर रहे. मैच में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए राजस्‍थान रॉयल्‍स ने ओपनर जोस बटलर की तूफानी पारी (82 रन, 58 गेंद, नौ चौके और एक छक्‍का) की बदौलत 20 ओवर में 8 विकेट पर 158 रन बनाए थे. बटलर को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. आज की इस जीत के बाद राजस्‍थान के 10 मैचों में चार जीत और छह हार के साथ 8 अंक हो गए हैं और अंक तालिका में वह छठे स्‍थान पर आ गया है. किंग्‍स इलेवन पंजाब के 10 मैचों में 6 जीत और चार हार के साथ 12 अंक है. अंक तालिका में आर. अश्विन की टीम तीसरे स्‍थान पर है. पंजाब की पारी: अकेले राहुल ही संघर्ष करते नजर आए राजस्‍थान के 158 के स्‍कोर का पीछा करते हुए किंग्‍स इलेवन की पारी लोकेश राहुल और क्रिस गेल ने शुरू की. गौतम के पहले ओवर में 4 और जोफ्रा आर्चर के दूसरे ओवर में राहुल के छक्‍के सहित 9 रन बने.पारी का तीसरा ओवर राजस्‍थान के लिए दोहरी सफलता वाला रहा. गौतम के ओवर की पहली गेंद वाइड रही जिस पर गेल (1) स्‍टंप हुए. इसी ओवर में टीम को कप्‍तान आर. अश्विन (0) का विकेट भी गंवाना पड़ा. उन्‍हें गौतम ने बोल्‍ड किया.चौथे ओवर में करुण नायर (3) को आर्चर की गेंद पर जयदेव उनादकट ने कैच कर दिया. दो ओवर में ही तीन विकेट गिरने से किंग्‍स इलेवन मुश्किल में फंसती नजर आई.पांच ओवर के बाद किंग्‍स इलेवन का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 25 रन था.छठे ओवर में राहुल ने बेन स्‍टोक्‍स को दो चौके लगाकर स्‍कोर को गति दी. पावरप्‍ले के बाद पंजाब का स्‍कोर 3 विकेट पर 33 रन था.नौवें ओवर में अक्षदीप नाथ (9) के रूप में पंजाब का चौथा विकेट गिरा. उन्‍हें ईश सोढ़ी ने गौतम से कैच कराया.10वें ओवर में पंजाब के 50 रन पूरे हुए.10 ओवर के बाद किंग्‍स इलेवन का स्‍कोर चार विकेट खोकर 55 रन था. आखिरी 10 ओवर में पंजाब को जीत के लिए 104 रन की जरूरत थी. 11वां ओवर ईश सोढ़ी ने फेंका, जिसमें 6 रन बने.12वें ओवर में मनोज तिवारी (9) के स्‍टोक्‍स की गेंद पर रहाणे के हाथों कैच आउट होने से पंजाब की मुश्किलें और बढ़ गईं. 14वें ओवर में अक्षर पटेल (9) रन आउट हो गए. इसी ओवर में राहुल ने अपना अर्धशतक 48 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्‍के की मदद से पूरा किया.15 ओवर के बाद किंग्‍स इलेवन का स्‍कोर छह विकेट खोकर 92 रन था.आखिरी पांच ओवर में टीम को 67 रन की जरूरत थी.16वां ओवर जयदेव उनादकट ने फेंका, जिसमें केवल 6 और पारी के 17वें ओवर में 4 रन बने.पंजाब के 100 रन इसी ओवर में पूरे हुए.उनादकट द्वारा फेंके गए पारी के 18वें ओवर में 9 रन बने. आखिर के दो ओवर में टीम को 48 रन बनाने थे और लक्ष्‍य लगभग असंभव हो गया था.आर्चर की ओर से फेंके गए पारी के 19वें ओवर में राहुल के तीन चौकों सहित 16 रन बने. आखिरी ओवर में पंजाब को 32 रन की जरूरत थी.20 ओवर की पहली ही गेंद पर स्‍टोइनिस (11) उनादकट की गेंद पर गौतम को कैच दे बैठे.इस ओवर में राहुल के छक्‍के और दो चौकों के बावजूद किंग्‍स इलेवन 16 रन ही बना पाई और उसे 15 रन की हार का सामना करना पड़ा. राजस्‍थान के लिए कृष्‍णप्‍पा गौतम ने सर्वाधिक दो विकेट लिए. राजस्‍थान की पारी: बटलर ने बनाए सर्वाधिक 82 रन राजस्‍थान रॉयल्‍स की पारी अजिंक्‍य रहाणे और जोस बटलर ने शुरू की. मार्कस स्‍टोइनिस की ओर से फेंके गए ओवर में बटलर के दो चौकों सहित 11 रन बने.अक्षर पटेल के दूसरे ओवर में बटलर ने चौका और फिर छक्‍का लगाया. मोहित शर्मा के तीसरे ओवर में दोनों बल्‍लेबाजों के एक-एक चौके सहित 10 रन बने. चौथे ओवर में राजस्‍थान का पहला विकेट रहाणे (9) के रूप में गिरा, जिन्‍हें एंड्रयू टाय की गेंद पर अक्षदीप नाथ ने कैच किया.राजस्‍थान के 50 रन पांचवें ओवर में गौतम के छक्‍के के साथ पूरे हुए. पांच ओवर के बाद स्‍कोर एक विकेट पर 52 रन था.बटलर की बैटिंग के कारण राजस्‍थान का स्‍कोर तेजी से 'छलांग' लगा रहा था.पावरप्‍ले (6 ओवर) के बाद राजस्‍थान के खाते में 63 रन आ चुके थे.सातवें ओवर में स्‍टोइनिस की गेंद पर कृष्‍णप्‍पा गौतम (8) आउट हो गए.आठवें ओवर में बटलर का अर्धशतक 27 गेंदों पर सात चौकों और एक छक्‍के की मदद से पूरा हुआ.पारी के नौवें ओवर (अक्षर पटेल ) में 1 और मुजीब उर रहमान की ओर से फेंके गए 10वें ओवर में 9 रन बने.10 ओवर के बाद राजस्‍थान का स्‍कोर दो विकेट खोकर 82 रन था. 11वां ओवर अक्षर पटेल ने फेंका जिसमें 9 रन बने.13वें ओवर में राजस्‍थान का स्‍कोर 100 रन के पार पहुंचा.14वें ओवर (अश्विन) में 13 रन बने, इसमें सैमसन ने छक्‍का और चौका लगाया.15 वें ओवर में संजू सैमसन 22 रन बनाकर मुजीब की गेंद पर मनोज तिवारी के हाथों लपके गए.15 ओवर के बाद राजस्‍थान का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 120 रन था. संजू की जगह बेन स्‍टोक्‍स बैटिंग के लिए आए.16वां ओवर अश्विन ने फेंका, जिसमें बटलर का कैच अक्षदीप नाथ से छूटा.हालांकि बटलर (82 रन, 58 गेंद, 9 चौके और एक छक्‍का) इस जीवनदान का फायदा नहीं ले सके और अगले ही ओवर में मुजीब की गेंद पर स्‍टंप आउट हो गए.18वें ओवर में बिन्‍नी (11) को रन आउट होकर पेवेलियन लौटना पड़ा.19वें ओवर में राजस्‍थान के 150 रन पूरे हुए.टाय की ओर से फेंके गए 20वें ओवर में राजस्‍थान ने स्‍टोक्‍स (14), जोफ्रा आर्चर (0) और जयदेव उनादकट (0) के विकेट गंवाए. पंजाब के एंड्रयू टाय ने चार और मुजीब उर रहमान ने दो विकेट लिए. 20 ओवर में टीम का स्‍कोर आठ विकेट पर 158 रन रहा. राजस्‍थान रॉयल्‍स ने टीम बदलाव किए. महिपाल लोमरोर, स्‍टुअर्ट बिन्‍नी और ईश सोढ़ी को टीम में स्‍थान दिया गया है. दूसरी ओर, किंग्‍स इलेवन ने मयंक अग्रवाल की जगह अक्षदीप नाथ और अंकित राजपूत की जगह मोहित शर्मा को प्‍लेइंग इलेवन में जगह दी
IPL 2018: 'अच्छाई' का पार्थिव पटेल को यह सिला मिला विराट कोहली से!.....
8 May 2018
नई दिल्ली: रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) की रणनीति भी समझ से परे है. और शायद यही वजह है कि टीम छठे नंबर है. सितारा बल्लेबाज चल नहीं रहे हैं. चल रहे हैं, तो एक मैच में चलते हैं, तीन में छुट्टी! सेलेक्शन ऐसा कि शुरुआती मैचों में समझ नहीं आया. और शायद अब जब आया है, तो सवाल ये बनने लगे हैं कि हुजूर आते-आते देर तो नहीं कर दी. अब यह तो आपने देखा ही है कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर छठे नंबर पर है. सोमवार के मैच से पहले तक नौ में से तीन ही मैच जीत सकी. यह सही है कि विराट कोहली और एबी डि विलियर्स ने योदान दिया है. लेकिन वास्तव में ये दोनों ही बल्लेबाज वैसा प्रभाव नहीं ही छोड़ पाए जैसा केएल राहुल या क्रिस गेल ने छोड़ा. खासतौर पर एबी डि विलियर्स जो टी-20 के विशेषज्ञ कहे जाते हैं, वह तो एकदम से छिप कर रहे गए. लेकिन अब एक फैसले से एक तरह पूरे मैनेजमेंट और खासतौर पर कप्तान विराट कोहली के लिए जरूर सवाल बन चले हैं. अब इस पर तो किसी को शक नहीं होगा कि मैनेजमेंट बोले तो विराट और कोहली बोले तो मैनेजमेंट! अब इस मामले को ऐसे समझें कि पार्थिव पटेल पिछले साल मुंबई इंडियंस के लिए खेले थे. और आप यह जानकर थोड़ा चौंक जाएंगे कि पार्थिव पिछले साल मुंबई के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. लेकिन पहले तो इस विकेटकीपर को यह सिला मिला कि नीलामी में पुरानी टीम ने भाव नहीं दिया. अब नए विकेटकीपर ईशान किशन के साथ क्या हाल हो रहा है, यह सभी देख ही रहे हैं. बहरहाल, पार्थिव के साथ दूसरा खराब सिला किया रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने. अब आप ही बताएं कि जिस खिलाड़ी का प्रदर्शन ऐसा रहा हो, उसे शुरुआती 8 मैचों में कैसे बाहर रखा जा सकता है. लेकिन बेंगलोर ने नहीं खिलाया. और जब खिलाया, तो पार्थिव ने पहले ही मैच में 53 बनाकर यह दिखा भी दिया कि आप पूरी तरह गलत थे! पार्थिव दूसरे मैच में सोमवार को हैदराबाद के खिलाफ हिस्सा हैं, लेकिन बात यह है कि पार्थिक के साथ किसी ने भी सही बर्ताव नहीं ही किया. और दोष कौन लेगा..? यह तो आप आसानी से समझ सकते हैं.
IPL 2018: 'इस पॉवर' में केएल राहुल ने आतिशी क्रिस गेल को पीछे छोड़ा!.....
7 May 2018
नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 में यूं तो करीब किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स का मैच (मैच रिपोर्ट) खत्म हुए कई घंटे बीत चुके हैं, लेकिन करोड़ों क्रिकेटप्रेमी अभिभूत हैं. केएल राहुल के शॉट्स और उनकी बैटिंग उनकी जुबान से हटने का नाम ही नहीं ले रही. ऑफिस में चर्चा, मेट्रों में चर्चा. हर किसी को केएल राहुल ने अपने आतिशी अंदाज से क्रिकेटप्रेमियों को अपना दीवाना बना कर रख दिया. एक ऐसी पारी, जो उन्हें खुद व खुद टीम इंडिया के लिए टी-20 टीम ही नहीं, बल्कि वनडे टीम में फिर से जगह दिए जाने का बहुत ही मजबूत दावा ठोक देती है. बहरहाल, आपको बता दें कि केएल राहुल गेंदबाजों पर ही नहीं, बल्कि बखियाउधेड़ू क्रिस गेल पर भी भारी पड़ रहे है! आप इस बात से हैरान होंगे, लेकिन यह दो सौ फीसदी सही है भाई साहब. चाहे पारी की शुरुआत हो, या मिड्ल ओवर या फिर ये आखिरी ओवर हों, यहां केएक राहुल पर लगाम कसने वाला कोई नहीं है. रविवार को किंग्स इलेवन पंजाब को आखिरी 5 ओवर में जीत के लिए 51 रन बनाने थे, लेकिन राहुल ने ऐसे कटाई की कि सिर्फ 21 गेंदों में ही इन 51 रनों को अपनी झोली में डालते हुए पंजाब की जीत पर मुहर लगा दी. वैसे राहुल ने खास पावर ही नहीं, बल्कि आतिशी गेल को ऑरेंज कैप के मामले में भी बहुत पीछे छोड़ दिया है. आपको बता दें कि फिलहाल केल राहुल 9 मैचों से 47.00 के औसत से 376 रन बनाकर ऑरेंज झटकने के मामले मे तीसरी पायदान पर चल रहे हैं, तो गेल के 6 मैचों में 6 मैचों से 77.50 के औसत से 310 रन बनाकर 11वें नंबर पर हैं. हालांकि गेल का औसत राहुल मीलों आगे हैं, लेकिन 'खास पावर' में राहुल ने दिखा दिया है कि गेल कम से कम इस मामले में तो उनके आगे कहीं नहीं ठहरते. और यह है पॉवर-प्ले की पॉवर! पावर-प्ले बोले तो शुरुआती छह ओवर (30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ 2 ही फील्डर). और इसमें राहुल का कोई जवाब नहीं है. जवाब की वजह भी आप जान लो. इन छह ओवरों के दौरान प्रति सौ गेंदों पर राहुल का स्ट्राइक रेट 176.74 है, तो क्रिस गेल ने इस दौरान सौ गेंदों पर 158.33 रन बनाए हैं.
IPL 2018 KKR VS CSK: धोनी से आशीर्वाद लेने के लिए फैन ने किया ऐसा, देखते रह गए विदेशी खिलाड़ी.....
4 May 2018
आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच मुकाबला खेला गया. मैच भले ही चेन्नई सुपर किंग्स हार गई हो लेकिन स्टेडियम पर धोनी के नारे लगे. हर जगह धोनी का जलवा कायम है. उनकी कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स शानदार परफॉर्म कर रही है दूसरी तरफ वो शानदार बल्लेबाजी भी कर रहे हैं. हर मैच उनके छक्के चौके देखने को मिल रहे हैं. मैच के दौरान कुछ ऐसा हुआ जिसने हर किसी को हैरान कर दिया. धोनी बल्लेबाजी का इंतजार कर रहे थे. कोच माइकल हसी उनको लैपटॉप पर कुछ दिखा रहे थे. धोनी कुछ देखने में बिजी थे उसी वक्त स्टेडियम की बाउंड्री पार करते हुए उनका एक फैन आ गया. उसने धोनी का आशीर्वाद लिया. धोनी कूल अंदाज में नजर आए और फैन का सम्मान करते हुए आशीर्वाद दिया और उनको जाने के लिए कहा. धोनी का ये सादगी भरा अंदाज लोगों को बहुत पसंद आ रहा है. सोशल मीडिया पर उनका ये वीडियो काफी वायरल हो रही है. फैन जब आशीर्वाद लेने आया तो बाकी विदेशी खिलाड़ी हैरानी से देखने लगे. उन्होंने भी देखा कि देश में धोनी का क्रेज कितना है. जब वो बल्लेबाजी करने उतरे तो कोलकाता के फैन भी जोर-जोर से धोनी चिल्लाने लगे.
ICC रैंकिंग: वनडे में भारत को पीछे छोड़ शीर्ष पर इंग्‍लैंड, टी20 में पाकिस्‍तान शीर्ष पर बरकरार.....
3 May 2018
दुबई: टीम इंडिया को आईसीसी वनडे रैंकिंग में अपना शीर्ष स्‍थान गंवाना पड़ा है. इंग्लैंड की टीम भारत को पछाड़कर आईसीसी वनडे क्रिकेट रैकिंग में शीर्ष स्थान पर काबिज हो गई है.इंग्लैंड को 2014-15 के खराब सत्र के कारण फायदा मिला है जिसमें पूर्ण सदस्यों के खिलाफ 25 में से उसने सात ही वनडे जीते. उस सत्र को ताजा गणना से हटा दिया गया है जबकि 2015-16, 2016-17 को 50 प्रतिशत गिना गया है. पिछली बार जनवरी 2013 में वनडे रैकिंग में शीर्ष पर आई इंग्लैंड टीम के 125 अंक हैं जबकि भारत एक अंक गंवाकर 122 अंक के साथ दूसरे स्थान पर है. दक्षिण अफ्रीका एक पायदान खिसककर तीसरे स्थान पर आ गया है जिसके 113 अंक है. न्यूजीलैंड की टीम उससे एक अंक पीछे रहते हुए चौथे स्थान पर है. बाकी रैंकिंग में कोई बदलाव नहीं हुआ है जिसके मायने हैं कि मौजूदा शीर्ष 10 टीमें वर्ल्‍डकप 2019 खेलेंगी. विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया आठ अंक गंवाकर पांचवें स्थान पर है जबकि पाकिस्तान छठे स्थान पर है. बांग्लादेश ( 93 अंक ) को तीन अंक मिले जबकि श्रीलंका ( 77 ) ने सात अंक गंवाए. वेस्टइंडीज ( 69 ) ने पांच अंक गंवाए जबकिअफगानिस्तान ( 63 ) ने पांच अंक हासिल किए. टी20 रैंकिंग में कोई बदलाव नहीं है जिसमें पाकिस्तान शीर्ष पर है. अफगानिस्तान अब श्रीलंका से आगे आठवें स्थान पर है. ऑस्ट्रेलिया दूसरे और भारत तीसरे स्थान पर है. इनके बाद न्यूजीलैंड और इंग्लैंड की टीमें हैं
IPL 2018, RCB vs MI : हार्दिक पंड्या की जुझारू पारी बेकार, RCB ने मुंबई इंडियंस को 14 रन से हराया.....
2 May 2018
बेंगलुरू: विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू ने आज आईपीएल 2018 के रोमांचक मुकाबले में रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस को 14 रन से हराकर प्‍लेऑफ में पहुंचने की उम्‍मीदें बरकरार रखी हैं. चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम पर खेले गए इस मैच में मुंबई के सामने जीत के लिए 168 रन का लक्ष्‍य था लेकिन हार्दिक पंड्या के जुझारू अर्धशतक (50 रन, 42 गेंद, पांच चौके, एक छक्‍के) के बावजूद वह 20 ओवर में सात विकेट पर 153 रन ही बना पाई. हार्दिक के अलावा उनके भाई क्रुणाल पंउ्या ने भी 23 रन की पारी खेली. दोनों भाइयों ने छठे विकेट के लिए 56 रन की साझेदारी की, लेकिन इन दोनों के आउट होते ही मुंबई की चुनौती ने दम तोड़ दिया और टीम के कदम 153 रन पर जाकर रुक गई. मैच में मुंबई इंडियंस के कप्‍तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर आरसीबी को पहले बैटिंग के लिए आमंत्रित किया था. ओपनर मनन वोहरा के 45, ब्रेंडन मैक्‍कुलम के 37 और कप्‍तान विराट कोहली के 32 रनों के बावजू रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलुरू ने 20 ओवर में सात विकेट पर 167 रन ही बना पाई थी लेकिन अपने गेंंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत वह इस स्‍कोर को डिफेंड करने में सफल रहा. आज की इस जीत के बाद आरसीबी के आठ मैच में तीन जीत के साथ 6 अंक हो गए हैं. अंक तालिका में वह पांचवें स्‍थान पर है. राजस्‍थान रॉयल्‍स के भी छह अंक हैं लेकिन आरसीबी का नेट रनरेट उससे बेहतर है. दूसरी ओर मुंबई के आठ मैचों में दो जीत के साथ महज चार अंक है. अंक तालिका में वह सातवें स्‍थान पर हैं. दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स की टीम सबसे नीचे आठवें स्‍थान पर है. मुंबई की पारी: हार्दिक और क्रुणाल का संघर्ष काम नहीं आया 167 रन के स्‍कोर के जवाब में मुंबई इंडियस की पारी सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन ने शुरू की. पहला ओवर साउदी ने फेंका जिसकी आखिरी गेंद पर ईशान किशन (0) बोल्‍ड हो गए.आरसीबी को जिस शुरुआत की जरूरत थी, वह मिल गई थी. ईशान के आउट होने से मुंबई संभल भी नहीं पाई थी कि पारी के चौथे ओवर में उमेश यादव ने लगातार गेंदों पर सूर्यकुमार यादव (9) और कप्‍तान रोहित शर्मा (0) को आउट करके आरसीबी के खेमे को खुश कर दिया. जहां सूर्यकुमार एलबीडब्‍ल्‍यू हुए, वहीं रोहित पहली ही गेंद पर विकेटकीपर डिकॉक के दस्‍तानों में कैद हुए. तीन विकेट जल्‍द गिरने से मैच रोमांचक हो गया था.पांच ओवर के बाद मुंबई इंडियंस का स्‍कोर एक विकेट खोकर 29 रन था.आठवें ओवर में सिराज ने कीरोन पोलार्ड (13) को विकेटकीपर डिकॉक से कैच कराकर आरसीबी को चौथी सफलता दिलाई. पोलार्ड एक बार फिर नााकाम रहे.इसी ओवर में मुंबई के 50 रन पूरे हुए.वाशिंगटन सुंदर की ओर से फेंका गया पारी का 10वां ओवर मुंबई के लिए अच्‍छा रहा, इसमें हार्दिक ने एक छक्‍का और एक चौका लगाया. ओवर में 15 रन बने.10 ओवर के बाद मुंबई इंडियंस का स्‍कोर चार विकेट खोकर 77 रन था. 12वें ओवर में सेट हो चुके जेपी डुमिनी (23) को उमेश यादव के बेहतरीन थ्रो पर रन आउट होना पड़ा. 100 रन के पहले ही मुंबई की आधी टीम पेवेलियन लौट चुकी थी.दो भाई हार्दिक और क्रुणाल पंड्या पर अब मुंबई को जीत दिलाने की जिम्‍मेदारी थी.आरसीबी के गेंदबाजों ने आज अतिरिक्‍त के रूप में काफी रन दिए. पारी के 14वें ओवर में मुंबई टीम 100 रन तक पहुंची.विकेट की तलाश में विराट कोहली 15वें ओवर में उमेश यादव को आक्रमण पर लेकर आए. इस ओवर में 6 रन बने. आखिरीपांच ओवर में मुंबई को जीत के लिए 62 रन की जरूरत थी.पारी का 16 ओवर ग्रैंडहोम ने फेंका, इसमें हार्दिक ने दो चौके और क्रुणाल ने छक्‍का लगाया. ओवर में 17 रन बने.हार्दिक और क्रुणाल का मुंबई के लिए संघर्ष जारी था. सिराज के ओवर (17वें ) में 10 और टिम साउदी के अगले यानी पारी के18वें ओवर में केवल पांच रन बने.आखिरी दो ओवर में टीम को जीत के लिए 30 रन की जरूरत थी.आखिरी दो ओवर में पंडया ब्रदर्स के आउट होने से मुंबई की उम्‍मीदों को झटका लगा. जहां क्रुणाल (23)को सिराज ने आउट किया, वहीं अगले ओवर में हार्दिक (50 रन, 42 गेंद, पांच चौके एक छक्‍का) साउदी की गेंद पर कोहली द्वारा लपके गए.आखिरी ओवर में मुंबई को जीत के लिए 25 रन की जरूरत थी लेकिन साउदी के ओवर में मुंबई के बल्‍लेबाज 10 रन ही बना पाए. बेन कटिंग 12 और मैकक्‍लेंघन बिना कोई रन बनाए नाबाद रहे.आरसीबी के टिम साउदी, उमेश यादव और मोहम्‍मद सिराज ने दो-दो विकेट लिए. विकेट पतन: 5-1 (ईशान, 0.6), 21-2 (सूर्यकुमार, 3.1), 21-3 (रोहित, 3.2) ,47-4 (पोलार्ड, 7.1),84-5 (डुमिनी, 12),140-6 (क्रुणाल, 18.3), 143-7 (हार्दिक, 19.1) लड़खड़ाते-लड़खड़ाते 167 रन तक पहुुंच पाई RCB मुंबई इंडियंस के आमंत्रण पर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू की पारी क्विंटन डिकॉक और ब्रेंडन मैक्‍कुलम ने शुरू की. पहला ओवर जेपी डुमिनी ने फेंका जिसमें मनन ने छक्‍का लगाकर अपना और टीम का खाता खोला.आरसीबी ने टूर्नामेंट में अब तक कुछ खास नहीं कर सके मनन वोहरा से ओपनिंग कराकर बड़ा दांव खेला था. अगले दो ओवर चेन्‍नई के लिए अच्‍छे रहे. मैक्‍कलेंघन की ओर से फेंके गए दूसरे ओवर में दो और जसप्रीत बुमराह की ओर से फेंके गए तीसरे ओवर में 3 रन बने.पारी के चौथे ओवर में मनन ने डुमिली को दो चौके और दो छक्‍के लगा दिए. ओवर में 22 रन बने.पांचवें ओवर की आखिरी गेंद पर मैकक्‍लेंघन ने डिकॉक (7रन, 13 गेंद, एक चौका) को कप्‍तान रोहित शर्मा से कैच कराकर मुंबई को पहली सफलता दिलाई. पांच ओवर के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू का स्‍कोर एक विकेट खोकर 38 रन था.सातवें ओवर में स्‍कोर 50 रन तक पहुंचा.नौवें ओवर में मनन वोहरा ने मार्कंडे को छक्‍का लगाया लेकिन अगली ही गेंद पर उन्‍हें एलबीडब्‍ल्‍यू होकर पेवेलियन लौटना पड़ा. मनन ने 31 गेंदों पर दो चौकों और चार छक्‍कों की मदद से 45 रन बनाए. विराट कोहली उनकी जगह बैटिंग के लिए आए.10वें ओवर में मैक्‍कुलम ने हार्दिक पंड्या को दो छक्‍के और एक चौका जड़ दिया. ओवर में 20 रन बने.10 ओवर के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू का स्‍कोर दो विकेट खोकर 82 रन था. 12 वें ओवर में मैक्‍कुलम ने मार्कंडे को दो और विराट कोहली ने एक चौका लगाया. इसी ओवर में टीम का स्‍कोर 100 के पार पहुंचा.ओवर तेजी से गुजर रहे थे और आरसीबी की रनगति तेजी नहीं पकड़ पा रही थी.15वें ओवर में ब्रेंडन मैक्‍कुलम (37 रन, 25 गेंद, चार चौके, दो छक्‍के) को हार्दिक पंड्या के बेहतरीन थ्रो पर रन आउट होना पड़ा. 15 ओवर के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू का स्‍कोर दो विकेट खोकर 123 रन था.18वें ओवर में हार्दिक पंड्या ने मंदीप सिंह (14), कप्‍तान विराट कोहली (32) और वाशिंगटन सुंदर (1) को आउट कर रॉयल चैलेंजर्स के सामने बड़ा चैलेंज पेश कर दिया.अगले ओवर में बुमराह ने टिम साउदी (1) को भी पेवेलियन लौटा दिया. देखते ही देखते आरसीबी के सात विकेट गिर चुके थे.आखिरी ओवर में कॉलिन ग्रैंडहोम ने मैकक्‍लेंघन को तीन छक्‍के लगाकर आरसीबी को 167 रन तक पहुंचाया. ग्रैंडहोम 10 गेंदों पर 23 (तीन छक्‍के) और उमेश यादव 1 रन बनाकर नाबाद रहे. मुंबई के हार्दिक पंड्या ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए. ये तीनों विकेट उन्‍हें पारी के 18वें ओवर में मिले. विकेट पतन: 38-1 (डिकॉक, 4.6), 61-2 (मनन, 8.4), 121-3 (मैक्‍कुलम, 14.3),139-4 (मंदीप, 17.1), 139-5 (कोहली, 17.2), 141-6 (सुंदर, 17.6), 143-7 (साउदी, 18.5) बीमार होने के कारण एबी डिविलियर्स आरसीबी की प्‍लेइंग इलेवन का हिस्‍सा नहीं थे. मुंबई इंडियंस की टीम में ईविन लेविस को स्‍थान नहीं मिल पाया, उनकी कलाई में चोट है. उनकी जगह पोलार्ड को टीम में जगह दी गई.
IPL 2018: केकेआर के खिलाफ मैच में मिली हार से नाराज RCB के कप्‍तान विराट कोहली ने कही यह बात......
1 May 2018
बेंगलुरू: आईपीएल 2018 में रविवार को विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलुरू को एक और हार का सामना करना पड़ा. कोलकाता नाइटराइडर्स ने उसे छह विकेट से पराजित किया. मैच में विराट की टीम 175 रन के सम्‍मानजनक स्‍कोर को भी डिफेंड करने में नाकाम रही और उसे सात मैचों में अपनी पांचवीं हार झेलने को मजबूर होना पड़ा है. टीम की हार के बाद विराट कोहली अपने टीम के प्रदर्शन से बेहद खफा नजर आए. विराट ने कहा कि उनकी टीम कोलकाता नाइटराडर्स के खिलाफ जीत की हकदार नहीं थी. उन्होंने आईपीएल में अपनी टीम की छह विकेट की हार के लिये टीम के कमजोर क्षेत्ररक्षण को दोषी ठहराया. मैच के बाद कोहली ने कहा, ‘मैच पर गौर करें तो हम जीत के हकदार नहीं थे. मुझे नहीं लगता कि हमने जीत के लिए अपनी तरफ से पूरी कोशिश की. अगर हम इस तरह का लचर क्षेत्ररक्षण करते हैं तो फिर हम जीत के हकदार नहीं है. हम इस तरह के क्षेत्ररक्षण को बर्दाश्त नहीं कर सकते जहां पर एक रन चौके में बदल रहा हो. हमने आज अच्छा खेल नहीं दिखाया’अगर आरसीबी अगला मैच भी गंवा देता है तो उसके लिये आगे के सभी मैचों में करो या मरो वाली स्थिति बन जाएगी. कोहली ने कहा कि उन्हें अब हर मैच को सेमीफाइनल की तरह लेना होगा. उन्होंने कहा, ‘‘हमें क्वालीफाई करने के लिये सात में से छह मैच जीतने होंगे. हमें अब इस मानसिकता के साथ उतरना होगा जैसे कि हमारे लिये हर मैच वास्तविक सेमीफाइनल हो.’ आरसीबी के बल्‍लेबाज ब्रेंडन मैक्‍कुलम ने कहा कि उनकी टीम को कोलकाता नाइटराडर्स के खिलाफ मैच में एबी डिविलियर्स की कमी खली.मैक्‍कुलम ने कहा, ‘हमें निश्चित तौर पर डिविलियर्स की कमी खली. वह संभवत: अभी दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज और क्रिकेट इतिहास के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है, इसलिए उनकी अनुपस्थिति हमारे लिये करारा झटका था.’केकेआर के बल्लेबाज और मैन आफ द मैच क्रिस लिन ने माना कि डिविलियर्स को अंतिम एकादश में नहीं पाकर उनके गेंदबाजों को खुशी हुई. उन्होंने कहा,‘हां, इससे गेंदबाजों के चेहरे थोड़ा खिल गए. हम सभी जानते हैं कि एबी कैसी फॉर्म में हैं. वह खतरनाक बल्लेबाज है लेकिन हम इससे राहत नहीं ले सकते थे क्योंकि बाज (ब्रैंडन मैकुलम) भी गेंद को अच्छी तरह से हिट करता है.’
IPL 2018: इसलिए रोहित शर्मा हैं महेंद्र सिंह धोनी से भी बड़े मैच विनर!....
30 April 2018
नई दिल्ली: भइया आज की तारीख में आईपीएल में सबसे बडे़ मैच जिताऊ बल्लेबाज रोहित शर्मा हैं! निश्चित तौर पर यह बात माही के चाहने वालों को नाराज कर सकती है. वे खफा हो सकते हैं. कोई दूसरा शख्स कह सकता है कि रोहित शर्मा क्रिस गेल के सामने कहीं से कहीं नहीं ठहरते! पर कुल मिलाकर सच यही है दोस्तों कि धोनी तो आईपीएल में अपनी टीम के साथी खिलाड़ी सुरेश रैना से भी बड़े मैच जिताऊ नहीं हैं! और हम झूठ बिल्कुल नहीं बोल रहे. हम आपको इस बात का पूरा सबूत देंगे कि क्यों रोहित शर्मा आज की तारीख में सबसे बड़े मैच जिताऊ बल्लेबाज हैं. दरअसल आज हम आपके लिए एक बहुत ही खास रिकॉर्ड लेकर आए हैं. और यह विषय है कि आईपीएल में जीते हुए मुकाबलों में किस बल्लेबाज ने सबसे ज्यादा अर्धशतक जड़े हैं. जी हां, अपनी टीम की जीत में किस बल्लेबाज ने सबसे ज्यादा पचासे जड़े हैं. और इस मामले में एबी डि विलियर्स लाजवाब हैं. बता दें कि एबीडि विलियर्स ने अपनी टीम की जीत में 13 अर्धशतक जड़े हैं. तो इस लिहाज से तो एबी सबसे बड़े मैच जिताऊ साबित हुए कि नहीं. वहीं, इस मामले में गौतम गंभीर, डेविड वॉर्नर और गौतम गंभीर संयुक्त रूप से तीसरे नंबर पर हैं. इन्होंने अपनी टीम के लिए खेलते हुए जीते हुए मैचों में संयुक्त रूप से 11-11 अर्धशतकों का योगदान दिया है. और जब हम कह रहे हैं कि धोनी आज की तारीख में रैना से बड़े मैच जिताऊ नहीं है, तो यह इस वजह से है कि दोनों के नाम संयुक्त रूप से 12-12 अर्धशतक हैं अपनी टीम की जीत में. हो सकता है कि धोनी आने वाले मैच में चेन्नई की जीत में एक और पसासा जड़कर अर्धशतकों की संख्या 13 कर दें. वह निश्चित तौर पर ऐसा कर सकते हैं. लेकिन बात तो हम वर्तमान की कर रहे हैं. और धोनी और रैना दोनों ही इस पहलू से रोहित शर्मा से पीछे हैं. आपको बता दें कि रोहित शर्मा ने भी एबी डि विलियर्स के बराबर ही मुंबई इंडियंस की जीत में 13 अर्धशतकों का योगदान दिया है. आप आप ही बताएं कि रोहित शर्मा आईपीएल में धोनी और रैना से बड़े मैच जिताऊ बल्लेबाज हैं कि नहीं! बहरहाल यह रेस बहुत ही शानदार है. देखते हैं कि दिन की समाप्ति पर कौन बड़ा चैंपियन बनकर निकलता है. फिलहालत तो एबी और रोहित संयुक्त रूप से मुस्कुरा रहे हैं!
IPL 2018, DD vs KKR: श्रेयस अय्यर का प्रचंड प्रहार, केकेआर की 55 रन से हार....
28 April 2018
नई दिल्ली: युवा कप्तान श्रेयस अय्यर (नाबाद, 93 रन, 40 गेंद, 10 छक्के) की आतिशी पारी और पृथ्वी शॉ (62 रन, 44 गेंद) की उम्दा बल्लेबाजी की बदौलत दिल्ली डेयर डेविल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-11 में शुक्रवार को केकेआर को 55 रन के विशाल अंतर से धो दिया. दिल्ली ने इन दोनों की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत 20 ओवरों में 4 विकेट पर 219 का बहुत ही मजबूत स्कोर खड़ा किया. जवाब में कोलकाता की टीम कोटे के 20 ओवरों में 9 विकेट पर 164 रन ही बना सकी. उसकी तरफ से आंद्रे रसैल ने सबसे ज्यादा 44 और युवा शुबमन गिल ने 37 रन का योगदान दिया. श्रेयस अय्यर को मैन ऑफ द मैच चुना गया. पावर-प्ले में ही खत्म हुई पावर! जाहिर है कि 220 के स्कोर का पीछा करते हुए पावर-प्ले के शुरुआती छह ओवर ही मैच की दिशा-दशा तय करने में अहम भूमिका निभाते हैं. और केकेआर इन ओवरों में ही टांय-टांय फिस्स हो गया. शीर्ष चार बल्लेबाज क्रिस लिन (5), रॉबिन उथप्पा (1), सुनील नारायण (26) और नितीश राणा (8) इन इन ओवरों में ही पवेलियन लौटकर एक दूसरे छोर पर कप्तान दिनेश कार्तिक को असहाय छोड़ गए. और केकेआर की बड़ी शक्ति पावर-प्ले में ही ढह गई! शुरुआती छह ओवरों की समाप्ति पर केकेआर का स्कोर 4 विकेट पर 51 रन था. मध्यक्रम...बेदम! जब करीब सवा दो सौ के स्कोर का पीछा करते हुए टॉप चार बल्लेबाज पावर प्ले (शुरुआती 6 ओवर) खत्म होने से पहले ही पवेलियन लौट जाएं, तो मध्यक्रम के बल्लेबाजों की मैदान में इंट्री करने से पहले सांस उखड़नी तय है! कुछ ऐसा केकेआर के साथ भी हुआ. थोड़ी बहुत कोशिश शुबमन गिल (37) और आंद्रे रसैल (44) ने जरूर की, लेकिन यह ऊंट के मुंह में जीरे जैसा प्रयास था. कुल मिलाकर एक केकेआर के किसी एक बल्लेबाज को श्रेयस अय्यर का रूप धारण करने की जरुरत थी. इसमें केकेआर के बल्लेबाज नाकाम साबित हुए. DELHI DAREDEVILS की पारी इससे पहले फिरोज शाह कोटला मैदान पर केकेआर से पहले बैटिंग का न्योता पाने के बाद दिल्ली डेयर डेविल्स ने युवा कप्तान श्रेयस अय्यर (नाबाद 93 रन, 40 गेंद, 10 छक्के) के धमाकेदार प्रदर्शन की बदौलत दिल्ली ने केकेआर के सामने जीत के लिए 220 रन मुश्किल टारगेट रखा है. दिल्ली को निर्धारित 20 ओवरों में 4 विकेट पर 219 रन तक पहुंचाने में सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (62 रन, 44 गेंद) और कोलिन मुनरो (33) ने भी अच्छा योगदान दिया. लेकिन दिल्ली की पारी के बड़े हीरो श्रेयस अय्यर ही रहे, जिन्होंने अपने हमले से केकेआर को दहला कर रख दिया. उनके अलावा ग्लेन मैक्सवेल ने भी (27 रन, 18 गेंद) उपयोगी योगदान दिया. पहली बार दिखा पावर-प्ले! दिल्ली के पिछले मैचों में तो पता ही नहीं होता था कि पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर, 30 गज के घेरे के बाहर दो फील्डर) के कुछ मायने भी हैं. कभी दो विकेट गिर जाते थे, तो कभी गंभीर साथ छोड़ जाते थे. केकेआर के खिलाफ पहली बार दिल्ली ने पावर-प्ले में पावर दिखाई! और इन ओवरों में ज्यादा जिम्मेदार रहे कोलिन मुनरो. वहीं पृथ्वी शॉ ने भी बखूबी साथ दिया. शुरुआती 6 ओवर के बाद दिल्ली का स्कोर बिना किसी नुकसान के 57 रन था. इसमें मुनरो का 32, तो पृथ्वी का 25 रन का योगदान था. पृथ्वी शॉ ने दिखाया दम इस 18 साल के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉट (62 रन, 44 गेंद) ने अब इंटरनेशलन स्तर पर क्रिकेटप्रेमियों को सिर्फ दूसरे ही मुकाबले में यह दिखा दिया कि क्यों उन्हें भारतीय क्रिकेट का अगला सुपरस्टार कहा जा रहा है. बेहतरीन स्ट्रोक और गजब का आत्मविश्वास. मिशेल जॉनसन के फेंके 9वें ओवर में हेलीकॉप्टर शॉट के जरिए छक्का जड़कर पृथ्वी ने दिखाया कि धोनी ही नहीं, उन्हें भी हेलीकॉप्टर शॉट लगाना आता है. और जब 13वें ओवर में जॉनसन एक बार फिर सामने पड़े, तो पृथ्वी ने एक और छक्का जड़कर दिखाया वह उन्हें मासूम बच्चा समझने की भूल बिल्कुल भी न करें. बहरहाल, पृथ्वी की खूबसूरत पारी का अंतर पीयूष चावला ने कर दिया, लेकिन पृथ्वी ने जो मैसेज समीक्षकों को देना था, वह बखूबी अंदाज में दिया. श्रेयस अय्यर का कत्ल-ए-आम! अपने पहले ही मैच में कप्तानी मिलने का इससे खूबसूरत जश्न आपने पहले नहीं ही देखा होगा! ऐसे प्रहार, ऐसे शॉट कि केकेआर को पहले ही सत्र में मानो बुरी तरह लूट लिया दिल्ली के युवा कप्तान श्रेयस अय्यर ने. और जब पारी के आखिरी ओवर में शिवम मावी के ओवर में श्रेयस ने चार छक्के लगाए, तो मानो यह तेज गेंदबाज आईसीयू में चला गया! और इसी के साथ ही श्रेयस अय्यर ने सिर्फ 40 गेंदों पर नाबाद 93 रन ठोक डाले. एक दो नहीं, पूरे 10 छक्कों के साथ. मानो शुक्रवार को फिरोजशाह कोटला पर छक्कों की बारिश हो रही थी. और दर्शक इन छक्कों के आनंद में पूरी तरह तर-बतर हो गए. यह श्रेयस का ही अंदाज था कि केकेआर ने दिल्ली को 4 विकेट पर 219 का बहुत ही मजबूत स्कोर देकर उसके बल्लेबाजों को मानसिक रूप से मैदान में उतरने से पहले ही पस्त कर डाला. इससे पहले कोलकाता नाइट राइर्डस ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया है.वहीं, थोड़ा चौंकाने वाली बात यह है कि गौतम गंभीर इस मैच में नहीं खेल रहे हैं. इसके अलावा डेन क्रिस्टियन को भी इलेवन में जगह नहीं मिली. विजय शंकर और कोलिन मुनरो को दिल्ली टीम में शामिल किया गया है. वहीं केकेआर ने टॉम कुरन की जगह मिशेल जॉनसन को टीम में जगह दी.
IPL 2018: यह महेंद्र सिंह धोनी का स्टाइल है, बना डाले ये 4 बड़े रिकॉर्ड.....
27 April 2018
नई दिल्ली: क्या बात..क्या बात..क्या बात! मैच खत्म हुए करीब-करीब 24 घंटे हो चुके हैं. लेकिन करोड़ों क्रिकेटप्रेमी अभी भी महेंद्र सिंह धोनी की बैटिंग की ही चर्चा कर रहे हैं. माही ने बुधवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के गेंदबाजी की गजब धुलाई से अपने तमाम उन आलोचकों को उन्होंने धो डाला, जो पिछले काफी दिनों से ये कह रहे हैं कि धोनी अब पहले जैसे फिनिशर नहीं रहे. बहरहाल, धोनी ने जो जवाब दिया, वह रहा सुपर से ऊपर का. और इस पारी के साथ ही उन्होंने बना डाले कुछ रिकॉर्ड भी. चलिए बारी-बारी से पढ़ लीजिए. छक्का लगाकर चौथी बार जीत यूं तो इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के लिए माही ने अनेकों मैच छक्का लगाकर टीम इंडिया को जिताए हैं, लेकिन जब बात आईपीएल की आती है, तो उन्होंने वीरवार को यह कारनामा चौथी बार किया. चलिए जान लीजिए कि कब-कब धोनी ने छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिलाई बनाम साल केकेआर चेन्नई, 2008 किंग्स इलेवन पंजाब धर्मशाला, 2010 किंग्स इलेवन पंजाब विशाखपत्तनम, 2016 आरसीबी बेंगलुरु, 2018 सबसे बड़े रनवीर कप्तान! अब माही टी-20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान बना गए हैं. चलिए जान लीजिए कि कौन-कौन किस पायदान पर है. रन नाम 5010 एमएस धोनी 4242 गौतम गंभीर 3591 विराट कोहली इस कारनामे में भी अच्छा-खासा योगदान रविववार को आरसीबी-चेन्नई के बीच खेला गया मुकाबला संयुक्त रूप से दूसरा ऐसा टी-20 मैच बन गया, जिसमें सबसे ज्यादा छक्के लगे. दो साल पहले ही न्यू प्लामाउथ में सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट्स बनाम ओटागो के बीच खेले मैच में सबसे ज्यादा छक्के लगे थे. बहरहाल, बुधवार को चेन्नई की जीत में लगे कुल 33 छक्कों में धोनी का योगदान 7 छक्कों का रहा छक्के मैच 34 सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट्स VS ओटागो (न्यू प्लाइमाउथ 2016) 33 कोल्ट्स सीसी VS कोलंबो सीसी (कोलंबो एनसीसी 2016) 33 आरसीबी बनाम सीएसके (बेंगलुरू 2018) सर्वश्रेष्ठ स्कोर चेज ! आरसीबी के खिलाफ रविवार को चेन्नई ने पिछले करीब दस साल में अपने सपसे बड़े स्कोर का सफलतापूर्वक पीछा किया. वास्तव में अगर धोनी 34 गेंदों में नाबाद 70 रन नहीं ही बनाते, तो यह रिकॉर्ड नहीं ही बनता. चलिए इस बाबत चेन्नई सुपर किंग्स की कहानी जान लीजिए. स्कोर बनाम जगह 2016 आरसीबी बेंगलुरु, 2018 2016 आरसीबी चेन्नई, 2012 203 केकेआर चेन्नई 2018 193 केईपी धर्मशाला 2010 188 डीडी दिल्ली, 2008 तो देखना आपने क्रिकेट में साल 2005 में किए गए आगाज के करीब 13 साल बाद भी माही अभी भी उसी अंदाज में मार रहा है. और यह भी तय है कि अगले कुछ और सालों तक धोनी गेंदबाजों की कुछ ऐसी तरह सुतली खोलते रहेंगे. और नए-नए रिकॉर्ड बनाने में योगदान देते रहेंगे.
विराट कोहली को मिल सकता है 'राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड', बीसीसीआई ने भेजा नाम.....
26 April 2018
नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के नाम एक और उपलब्धि जुड़ सकती है. बीसीसीआई ने उनका नाम देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार 'राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड' के लिए भेजा है. दूसरी तरफ, पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर का नाम ध्यानचंद अवार्ड के लिए भेजा गया है. यह देश का सर्वोच्च लाइफटाइम पुरस्कार है. गौरतलब है कि विराट कोहली का नाम इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए वर्ष 2016 में भी भेजा गया था. हालांकि उन्हें पुरस्कार नहीं मिल पाया था. अगर इस बार कोहली को खेल रत्न मिलता है तो वह सचिन तेंदुलकर और महेंद्र सिंह धोनी के बाद इस पुरस्कार को पाने वाले तीसरे खिलाड़ी बन जाएंगे. क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को वर्ष 1997 और भारतीय टीम के सफलतम कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को वर्ष 2007 में खेल रत्न प्रदान किया गया था. आपको बता दें कि,एक दिन पहले ही बीसीसीआई ने शिखर धवन और स्मृति मंधाना का नाम अर्जुन अवार्ड के लिए भी भेजा था.
IPL 2018: राशिद खान ने की रहस्यमयी गुगली, देखते रह गए हार्दिक पंड्या......
25 April 2018
IPL 2018 में मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच मुकाबला खेला गया. जिसमें सनराइजर्स हैदराबाद ने छोटा स्कोर बनाने के बाद भी जीत हासिल की. सबसे पहले सनराइजर्स हैदराबाद ने इस सीजन का सबसे छोटा स्कोर (118 रन) खड़ा किया. जिसके बाद हैदराबाद ने ऐसा किया जिसने हर किसी को हैरान कर दिया. राशिद खान ने ऐसी गुगली फेकी जिसको देख हार्दिक पंड्या भी हैरान रह गए. बता दें, हार्दिक पंड्या उस वक्त बल्लेबाजी करने उतरे थे जिस वक्त क्रीज पर टिकने की सख्त से सख्त जरूरत थी. जैसे ही हार्दिक पंड्या बल्लेबाजी करने उतरे तो सामने गेंदबाज थे राशिद खान. जो शानदार परफॉर्म कर रहे हैं. पोलार्ड को आउट करने के बाद राशिद ने हार्दिक को ऐसी गुगली फेकी कि वो भी उलझ गए. बॉल स्टम्प्स पर लगते-लगते बच गई. उनकी बॉल देखने के बाद हार्दिक भी हैरान रह गए. वो राशिद को देखने लगे. राशिद ने धीरे से मुस्कुरा दिया जिसके बाद वो भी हंसने लगे. बता दें, इस मैच में राशिद खान ने 4 ओवर में सिर्फ 11 रन दिए और 2 विकेट चटकाए. उन्होंने 16 बॉल डॉट निकाली. जिसके लिए उनको मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया.
वेस्‍टइंडीज के खिलाफ टी20 मैच में वर्ल्‍ड इलेवन की ओर से खेलेगा अफगानिस्‍तान का यह क्रिकेटर......
24 April 2018
लंदन: अफगानिस्‍तान के स्‍टार खिलाड़ी राशिद खान अगले माह वेस्‍टइंडीज के खिलाफ होने वाले टी20 मैच में वर्ल्‍डकप इलेवन की ओर से खेलते नजर आएंगे. इंटरनेशनल टी 20 बॉलिंग रैंकिंग में शीर्ष स्‍थान पर काबिज राशिद खान के अलावा बांग्लादेश के हरफनमौला शाकिब अल हसन और तमीम इकबाल ने भी लार्ड्स मैदान पर 31 मई को खेले जाने वाले चैरिटी मैच में ICC वर्ल्‍ड एकादश की ओर से खेलने की पुष्टि की है. इस मैच का आयोजन पिछले साल कैरेबियाई देशों में तूफान के कारण क्षतिग्रस्त हुए स्टेडियमों के पुनर्निर्माण के लिए राशि जुटाने के लिए हो रहा है. इन तीनों से पहले पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी और शोएब मलिक के अलावा श्रीलंका के तिसारा परेरा भी मैच में वर्ल्‍ड इलेवन टीम की ओर से खेलने की पुष्टि कर चुके हैं. आईसीसी वर्ल्‍ड इलेवन का नेतृत्व इंग्लैंड के वनडे कप्तान इयोन मोर्गन करेंगे. आने वाले दिनों में टीम के साथ कुछ और बड़े नाम जुड़ने की संभावना है. गौरतलब है कि वेस्टइंडीज इस समय आईसीसी टी 20 वर्ल्‍डकप का मौजूदा चैम्पियन है. इस मैच में इंडीज टीम की कमान कार्लोस ब्रेथवेट के हाथ में होगी. टीम में धमाकेदार बल्‍लेबाज क्रिस गेल के अलावा मार्लन सैमुअल्स , सैमुअल बद्री और आंद्रे रसेल सरीखे खिलाड़ी भी शामिल होंगे. चैरिटी मैच से होने वाली आमदनी को तूफान से क्षतिग्रस्त पांच स्टेडियमों और सामुदायिक क्रिकेट सुविधाओं के पुनर्निर्माण और नवीनीकरण के लिए दिया जाएगा
IPL 2018, DD vs KXIP: क्रिस गेल के 'लक्ष्य-ए-खास' को रोकना आज दिल्ली के लिए बना बड़ा चैलेंज!...
23 April 2018
नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) -11 में पांच में से चार मुकाबले चुकी दिल्ली डेयरडेविल्स को यहां अपने घरेलू फिरोजशाह कोटला मैदान में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ सोमवार रात आठ बजे अपने दुर्दिनों को खत्म करने के इरादे से मैदान पर उतरेगी. दिल्ली के अब तक पांच मैचों में दो ही अंक हैं और वह तालिका में सबसे नीचे है. उसे पिछले लगातार दो मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा है. शनिवार को उसे रायल चैलेंजर्स बेंगलोर के हाथों छह विकेट से मात खानी पड़ी थी. वास्तव में डेयर डेविल्स के सामने क्रिस गेल की सुनामी को रोकना आज सबसे बड़ी चुनौती होगी. वजह यह है कि पिछले तीन लगातार मैचों में अर्धशतक जड़ चुके क्रिस गेल आज एक बार फिर से 'खास मकसद' लेकर मैदान पर उतरेंगे. दिल्ली के लिए ऋषभ पंत फार्म में चल रहे हैं जबकि एक मैच में शानदार पारी खेलने के बाद जैसन रॉय अपने लय को कायम रखने में विफल रहे हैं. इसके अलावा कप्तान गौतम गंभीर सहित अन्य बल्लेबाज भी संघर्ष करते नजर आ रहे हैं. गेंदबाजी में राहुल तेवतिया और ट्रेंट बोल्ट अब तक सात-सात विकेट ले चुके हैं जबकि अन्य गेंदबाज उनका साथ नहीं दे पा रहे हैं. दूसरी तरफ, पंजाब पांच मैचों में से चार मैच जीतकर तालिका में शीर्ष पर हैं. इस लीग में पंजाब ने पहले मैच में दिल्ली को छह विकेट से हराया था और वह एक बार फिर उसी प्रदर्शन को यहां भी बरकरार रखना चाहेगा. दिल्ली के लिए सबसे बड़ी चिंता क्रिस गेल के बल्ले को खामोश रखने की है. गेल का बल्ला इस समय जमकर रन उगल रहा है। गेल ने पिछले तीन मैचों में 63, नाबाद 104 और नाबाद 90 रन बनाए हैं. गेल के इस विस्फोटक प्रदर्शन की बदौलत पंजाब लगातार पिछले तीन मैचों में जीत दर्ज करने में सफल रहा है. गेल तीन मैचों में 229 और लोकेश राहुल पांच मैचों में 213 रन बना चुके हैं. गेदबाजी में कप्तान रविचंद्रन अश्विन पांच और एंड्रयू टाई अब तक सात विकेट ले चुके हैं. दिल्ली को बेशक घरेलू दर्शकों का समर्थन मिले लेकिन पंजाब की टीम जिस तरह शानदार फार्म में चल रही है, उसे देखते हुए पंजाब को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. आज के मुकाबले में दोनों टीमें इस प्रकार हो सकती हैं: चलिए बात क्रिस गेल के लक्ष्य-ए-खास की भी कर लेते हैं. दरअसल रविवार की समाप्ति के बाद 229 रन के साथ ऑरेंज कैप संजू सैमसन के पास चली गई है. ऐसे में 229 रन बना चुके गेल आज फिर से कैप झटकने के साथ ही एक बड़ी लकीर खींचने के इरादे से मैदान पर उतरेंगे.
CWG 2018: इस बेहतरीन स्कोर और हैट्रिक के साथ सुशील कुमार ने जीता स्वर्ण पदक....
12 April 2018
गोल्ड कोस्ट: भारत के दिग्गज पहलवान सुशील कुमार ने केवल एक मिनट के भीतर ही अपने प्रतिद्वंद्वी रूस के जोहानेस बोथा को चित करते हुए 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में अपने स्वर्ण पदकों की हैट्रिक के साथ ही भारत की झोली में 14वां स्वर्ण पदक डाला. आठवें दिन पहलवानों में सुशील कुमार ही का आखिरी मुकाबला था. उनसे पहले राहुल अवारे, बबीता फोगाट और किरण अलग-अलग अपने वर्गों में पदक जीत चुके थे. ऐसे में सुशील पर सभी की निगाहें लगी हुई थीं. और सुशील ने प्रतिद्वंद्वी को बुरी तरह से रौंद कर रख दिया. इससे पहले, सुशील ने 2010 दिल्ली और 2014 ग्लास्गो में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीते थे. इस जीत के साथ ही उन्होंने अपने पदकों की हैट्रिक पूरी की है. सुशील ने बोथा को पहले ही मिनट में पूरा पलटते हुए चार अंक लिए और इसके बाद उन्हें नीचे पटकते हुए दो और अंक हासिल कर लिए। भारतीय दिग्गज पहलवान सुशील ने बोथा को संभलने का मौका भी नहीं दिया. सुशील ने रूसी पहलवान को एक बार फिर पटकर चार और अंक हासिल किए और स्वर्ण पदक जीत लिया.सुशील ने पुरुषों की 74 किलोग्राम वर्ग स्पर्धा में दक्षिण अफ्रीका के जोहानेस बोथा को 10-0 से मात देकर राष्ट्रमंडल खेलों का तीसरा स्वर्ण पदक जीता.
IPL 2018: छक्कों की 'रिकॉर्ड बारिश' में ड्वेन ब्रावो ने बनाया 'यह अनचाहा रिकॉर्ड'....
11 April 2018
नई दिल्ली: मंगलवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-2018 में चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेले गए रोमांच को क्रिकेटप्रेमी अगले कई दिन तक नहीं भूल पाएंगे. आईपीएल के इतिहास में चेन्नई ने अपने दूसरे सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ स्कोर का सफलतापूर्वक पीछा किया. और एक गेंद बाकी रहते 2013 का लक्ष्य हासिल किया. इससे पहले चेन्नई ने साल 2012 में आरसीबी के खिलाफ 206 के लक्ष्य को हासिल किया था. बहरहाल इस मुकाबले में छक्कों से जुड़े दो और रिकॉर्ड बने. एक रिकॉर्ड को क्रिकेटप्रेमी चाहेंगे कि बार-बार बनें, लेकिन दूसरे रिकॉर्ड को ड्वेन ब्रावो सहित दुनिया का कोई भी गेंदबाज नहीं चाहेगा कि वह इस रिकॉर्ड का शिकार बने! आपको बता दें कि मंगलवार के इस मुकाबले में दोनों टीमों को मिलाकर कुल 31 छक्के लगे. और इस मैच ने आईपीएल में किसी एक मैच में सबसे ज्यादा छक्के लगने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली. साल 2017 में दिल्ली में डेयर डेविल्स और गुजरात लॉयन्स के बीच खेले गए मुकाबले में भी 31 ही छक्के लगे थे. इससे क्रिकेटप्रेमियों को पूरा मजा आया, लेकिन ड्वेन ब्रावो को बिल्कुल भी नहीं वहीं, दूसरे रिकॉर्ड की बात करें, तो ड्वेन ब्रावो आईपीएल के इतिहास में सबसे ज्यादा छक्के खाने वाले गेंदबाज बन गए हैं. इस मामले में उमेश यादव (77) पांचवे, इरफान पठान (79) चौथे, आर विनय कुमार (98) तीसरे, और प्रवीण कुमार (104) दूसरे नंबर पर हैं. लेकिन इनसे ज्यादा अब ड्वेन ब्रावो का जायखा खराब हो गया है. वैसे यहां चौंकाने वाली बात यह है कि ये सबसे ज्यादा छक्के खाने वाले सभी तेज गेंदबाज हैं. आपको बता दें मंगलवार को अपने ही देश के आंद्रे नेल के हाथों पिटने के बाद ब्रावो अब तक आईपीएल में 107 छक्के खा चुके हैं. केकेआर के खिलाफ ब्रावो ने 7 छक्के खाए.
CWG 2018 live: चार मुक्केबाजों ने कांस्य सुनिश्चित किए, महिला हॉकी टीम भी सेमीफाइनल में....
10 April 2018
गोल्ड कोस्ट: ऑस्ट्रेलिया में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के छठे दिन निराशाजनक सुबह के बाद भारतीय शूटर हीना सिद्धू ने करोड़ों भारतीय खेलप्रेमियों के चेहरे पर स्वर्ण जीतकर मुस्कान ला दी. उन्होंने 25 मी. पिस्टल वर्ग में स्वर्ण जीता, तो मुक्केबाज नमन तंवर और अमित पंघाल और मौहम्मद हुसामुद्दीन और मनोज कुमार ने अपने-अपने वर्ग में सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के लिए चार कांस्य पदक सुनिश्चित कर दिए हैं. इसके अलावा भारतीय महिला हॉकी टीम ने दक्षिण अफ्रीका को मात 1-0 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. बता दें कि प्रतियोगिता के छठे दिन के ज्यादातर प्रमुख स्पर्धाएं हो चुकी हैं. दिन के बाकी के बची प्रमुख स्पर्धाओं में पुरुष तैराकी की 15,00 मी. फ्रीस्टाइल में साजन प्रकाश, एथलेटिक्स में मोहम्मद अनस यहिया 400 मी. रेस में पदक लिए जोर-आजमाइश करेंगे. मतलब अगर इन खिलाड़ियों ने दम दिखाया, तो छठे दिन भारत को एक-दो पदक और मिल सकते हैं. इनके अलावा पैरा पावरलिफ्टिंग में सचिन चौधरी भी पदक के लिए मुकाबला करेंगे. वहीं गैरपदक मुकाबलों की बात करें, तो मुक्केबाजी में चार मुक्केबाजों के कांस्य सुनिश्चित करने के बाद अब बचे दिन में केवल सतीश कुमार 91 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए जोर-आजमाइश करेंगे. इसके अलावा महिलाओं के 400 मी. के सेमीफाइनल में हिमा दास भी अपना भाग्य आजमाएंगी. बहरहाल छठे दिन शूटिंग में भारत की दिन की शुरुआत खराब रही, जब दावेदार और भारत के स्टार निशानेबाज गगन नारंग और चैन सिंह 50 पिस्टल वर्ग के फाइनल में पदक नहीं जीत सके. लेकिन इस मायूसी को हिना सिद्धू ने खत्म कर दिया. इसके अलावा मुक्केबाजी में भी तीन कांस्य पदक अभी से सुनिश्चत हो गए हैं. नमन तंवर ने 91 किग्रा और अमित पंघाल ने 46-49 किग्रा, मौहम्मद हुसामुद्दीन ने 56 किग्रा और मनोज कुमार ने 69 किग्रा भार वर्ग सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के लिए चार कांस्य पदक सुनिश्चत कर दिए हैं. इन चारों को ये पदक मिलना तय है. देखने की बात यह होगी कि इन चार कांस्यों में कितने स्वर्ण में बदलते हैं, और कितने रजत में. हॉकी में भी भारतीय पुरुष और महिला दोनों ही टीमों ने उम्मीदों को बरकरार रखते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है.पहले पुरुष टीम ने मलेशिया को 2-1, तो बाद में महिला टीम ने दक्षिण अफ्रीका को 1-0 से हराकर सेमीफाइनल का टिकट हासिल किया. स्कवॉश की बात करें, तो मिक्स्ड वर्ग में दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषाल ने जीत हासिल की, तो इसी वर्ग जोशना चिनप्पा और पॉल सिद्धू भी अपना मैच जीतने में कामयाब रहे. लॉन बॉल में भारत को निराशा हाथ लगी और भारत को आयरलैंड के खिलाफ हार मिली. बैडमिंटन के मिक्स्ड वर्ग में सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा ने विजयी आगाज करते हुए इस वर्ग के अंतिम 32 जोड़ियों में जगह बना ली है. कुल मिलाकर छठा दिन अभी तक भारत के लिए मिश्रित सफलता वाला रहा है. बाकी बची स्पर्धाओं में तीन पदकों के लिए होड़ होगी. मतलब यह है कि दिन की समाप्ति पर भारत की पदकों की संख्या में इजाफा हो सकता है
IPL 2018 LIVE, SRH vs RR: नए कप्‍तानों के साथ हैदराबाद और राजस्‍थान रॉयल्‍स आज होंगे आमने-सामने....
9 April 2018
हैदराबाद: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की दो पूर्व चैंपियन राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद अपने कप्तानों को खोने का गम भुलाकर लीग के 11वें संस्करण में नए कप्तानों के साथ जीत से शुरुआत करना चाहेंगी. ये दोनों टीमें अब से कुछ घंटों बाद आईपीएल के चौथे मैच में हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में आमने-सामने होंगी. राजस्थान अपने पुराने कप्तान स्टीव स्मिथ और हैदराबाद डेविड वॉर्नर के बिना लीग में उतरी हैं. स्मिथ और वार्नर पर बॉल टेम्परिंग मामले में एक-एक साल का बैन लगा है. इसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड( बीसीसीआई) ने भी आईपीएल से उन्हें प्रतिबंधित कर रखा है. राजस्थान की टीम दो साल का प्रतिबंध झेलने के बाद लीग में लौटी है. हैदराबाद टीम अपने प्रमुख बल्‍लेबाज वॉर्नर को मिस करेगी. स्मिथ की गैर मौजूदगी में भारतीय टीम के टेस्ट उप कप्तान अजिंक्य रहाणे राजस्थान की कमान संभाल रहे हैं जबकि न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन के हाथों में हैदराबाद टीम की कमान है. हैदराबाद को शिखर धवन और एलेक्स हेल्स से विस्फोटक शुरुआत की उम्मीद होगी. इसके अलावा मनीष पांडे और यूसुफ पठान मध्यक्रम में टीम को मजबूती देने का काम करेंगे. स्विंग मास्टर भुवनेश्वर कुमार और संदीप शर्मा के अलावा लेग स्पिनर राशिद खान और ऑलराउंडर शाकिब अल हसन के साथ गेंदबाजी का जिम्मा संभालेंगे. दूसरी तरफ राजस्थान की टीम अपने प्रमुख आलराउंडर बेन स्टोक्स और जयदेव उनादकट पर अधिक निर्भर करेगी. उनादकट को टीम ने इस बार 11.5 करोड़ रुपये में खरीदा है. इस दोनों के अलावा हरफनमौला जोफरा आर्चर और कर्नाटक के स्पिनर के. गौतम के कंधों पर ज्यादा जिम्मेदारी होगी. राजस्थान ने इस बार आर्चर को 7.2 और गौतम को 6.2 करोड़ रुपये में खरीदा है. स्मिथ की जगह टीम में शामिल किए गए हेनरिक क्लासेन से भी टीम को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी. राजस्थान को 2008 में चैंपियन बनाने वाले ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज लेग स्पिनर शेन वार्न इस बार टीम के मेंटर की भूमिका में हैं. हैदराबाद : केन विलियमसन (कप्तान), शिखर धवन, मनीष पांडे, भुवनेश्वर कुमार, ऋद्धिमान साहा, सिद्वार्थ कौल, दीपक हुड्डा, खलील अहमद, संदीप शर्मा, यूसुफ पठान, श्रीवत्स गोस्वामी, रिकी भुई, बासिल थम्पी, टी. नटराजन, सचिन बेबी, बिपुल शर्मा, मेहंदी हसन, तन्मय अग्रवाल, एलेक्स हेल्स, कार्लोस ब्रैथवेट, राशिद खान, शाकिब अल हसन, मोहम्मद नबी, क्रिस जॉर्डन और बिली स्टानलेक. राजस्थान : अजिंक्य रहाणे (कप्तान), अंकित शर्मा, संजू सैमसन, बेन स्टोक्स, धवल कुलकर्णी, जोफरा आर्चर, डार्सी शॉर्ट, दुष्मंथा चमीरा, स्टुअर्ट बिन्नी, श्रेयस गोपाल, एस. मिधुन, जयदेव उनादकट, बेन लॉफलिन, प्रशांत चोपड़ा, के. गौतम, महिपाल लोमरोर, जतिन सक्सेना, अनुरीत सिंह, आर्यमान बिरला, जोस बटलर, हेनरिक क्लासेन, जहीर खान और राहुल त्रिपाठी.
Commonwealth Games 2018: मीराबाई चानू ने रिकॉर्ड के साथ भारत को दिलाया पहला स्वर्ण....
5 April 2018
गोल्ड कोस्ट: भारत की वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने करोड़ों देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए 21वें कॉमनवेल्थ खेलों में महिलाओं के भारत्तोलन के 48 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक पर कब्जा कर लिया. यह खेलों में भारत को मिलने वाला पहला स्वर्ण पदक रहा. इससे पहले वेटलिफ्टिंग में ही गुरुराजा ने भारत को रजत दिलाया था. बहरहाल मीराबाई चानू ने स्नैच और क्लीन एंड जर्क दोनों ही वर्गों में अपने प्रतिद्वंद्वियों को मीलो तो पीछे छोड़ा ही, कॉमनवेल्थ खेलों में नया रिकॉर्ड भी बना दिया. मीराबाई को लेकर शुरुआत से ही चर्चा चल रही थी. और उन्होंने अपने प्रदर्शन से साबित किया कि वास्तव में उन्होंने प्रतियोगिता को लेकर कितनी बेहतरीन तैयारी की थी. 48 किग्रा भार वर्ग में मलेशिया की रैनाइवोसोआ मैरी दूसरे, तो श्रीलंका की गोम्स दिनुषा को कांस्य पदक मिला. मलेशियाई खिलाड़ी ने कुल 170 किग्रा, तो वहीं श्रीलंका की गोम्स ने 155 किग्रा भार वजन उठाया. लेकिन ये दोनों ही खिलाड़ी मीराबाई चानू के सामने बिल्कुल भी नहीं ठहर सकीं. मीराबाई ने खेलों में स्नैच औऐर क्लीन एंड जर्क दोनों ही कैटेगिरी में रिकॉर्ड स्कोर किया. जहां उन्होंने स्नैच वर्ग के तीसरे प्रयास में 86 किग्रा वजन उठाया, तो वहीं क्लीन एंड जर्क के तीसरे प्रयास में मीराबाई ने 110 किग्रा भार वजन उठाया. कुल मिलाकर मीरबाई चानू ने 196 किग्रा वजन उठाकर यह सुनिश्चित कर दिया कि भारत की झोली से पहला स्वर्ण कोई भी नहीं छीनने जा रहा.
SA vs AUS: दक्षिण अफ्रीका की ऐतिहासिक जीत के बाद मोर्ने मोर्केल ने शान के साथ क्रिकेट को कहा अलविदा....
4 April 2018
दक्षिण अफ्रीका के धाकड़ तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्केल ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ मंगलवार को जोहानिसबर्ग में खत्‍म हुए चौथे टेस्‍ट में अपनी टीम को जीत दिलाते हुए मोर्केल ने शान के साथ क्रिकेट से संन्‍यास लिया. मोर्केल के लिए यह मैच हर लिहाज से यादगार रहा. यह टेस्‍ट जीतते हुए दक्षिण अफ्रीका ने सीरीज में न केवल 3-1 के अंतर से सीरीज पर कब्‍जा जमाया बल्कि वह रनों के लिहाज से यह दक्षिण अफ्रीका की अब तक की सबसे बड़ी जीत (492 रन) रही. मैच में गेंदबाज के रूप में मोर्केल का प्रदर्शन भी ठीकठाक रहा. पहली पारी में उन्‍होंने एक और दूसरी पारी में दो विकेट हासिल किए. दक्षिण अफ्रीका की यह सीरीज जीत इस मायने में भी उल्‍लेखनीय रही कि पहले टेस्‍ट में मिली हार के बाद उसने अगले तीनों टेस्‍ट जीते इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ केपटाउन में खेले गए तीसरे टेस्ट के दौरान मोर्केल ने टेस्‍ट क्रिकेट में अपने 300 विकेट पूरे किए थे. हालांकि बॉल टैम्‍परिंग विवाद की 'काली छाया' के कारण उनका यह प्रदर्शन उतनी तारीफ हासिल नहीं कर पाया जिसका कि यह हकदार था. मोर्कल की गिनती दक्षिण अफ्रीका के दिग्‍गज गेंदबाजों में की जाती थी. अपने लंबे कद के कारण वे गेंदों का काफी उछाल देने में सफल रहते थे और बल्‍लेबाजों के लिए मुसीबत खड़ी करते थे. मोर्केल ने अपने टेस्‍ट करियर का आगाज वर्ष 2006 में भारत के खिलाफ किया था. अपने करीब 12 साल के इंटरनेशनल करियर के दौरान उन्‍होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए 86 टेस्‍ट, 117 वनडे और 44 टी20 मैच खेले. टेस्‍ट क्रिकेट में 309 विकेट, वनडे में 188 और टी20 क्रिकेट में 47 विकेट उनके नाम पर दर्ज हैं. जोहानिसबर्ग टेस्‍ट में दक्षिण अफ्रीका की जीत के बाद अपने विदाई संबोधन में मोर्केल ने कहा, 'मैच में चोटिल होना बुरा अनुभव रहा लेकिन मैंने डॉक्‍टर से कहा कि किसी भी तरह से आप मुझे दूसरी पारी में गेंदबाजी करने लायक बना दो.मैं अपने साथी खिलाड़ियों, दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट, अपने परिवार और दोस्तों का शुक्रिया करता हूं, जिन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया है.
AUS vs SA 4th Test: फिलेंडर का कहर, द. अफ्रीका ने रनों के लिहाज से टेस्‍ट क्रिकेट की अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की.
3 April 2018
जोहानिसबर्ग: बॉल टैम्‍परिंग विवाद से हलाकान ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे टेस्‍ट में भी हार का सामना करना पड़ा है. तेज गेंदबाज वर्नोन फिलेंडर की बेहतरीन गेंदबाजी की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने वांडर्स स्टेडियम में खेले गए सीरीज के चौथे और अंतिम टेस्‍ट के आखिरी दिन आज ऑस्ट्रेलिया को 492 रनों से हरा दिया. इसी के साथ दक्षिण अफ्रीका ने चार टेस्ट मैचों की सीरीज 3-1 से अपने नाम कर ली है. दक्षिण अफ्रीका ने चौथी पारी में आस्ट्रेलिया को 612 रनों का विशाल लक्ष्य दिया था, जवाब में मेहमान टीम 119 रन पर ही ढेर हो गई. यह दक्षिण अफ्रीका की रनों के लिहाज से टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ी जीत है तो वहीं आस्ट्रेलिया की रनों के लिहाज से अभी तक की सबसे बड़ी हार है. फिलेंडर ने मैच की दूसरी पारी में 21 रन देकर छह विकेट लिए. यह उनका खेल के सबसे लंबे प्रारूप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. फिलेंडर ने इस मैच में टेस्ट में अपने 200 विकेट पूरे कर लिए हैं. ऐसा करने वाले वह 7वें दक्षिण अफ्रीकी हैं. ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाजों का दूसरी पारी में इस कदर निराशाजनक प्रदर्शन रहा कि केवल दो खिलाड़ी ही दहाई के आंकड़े को छू सके. जोए बर्न्‍स ने 42 और पीटर हैंड्सकॉम्ब में 24 रन बनाए. ऑस्ट्रेलियाई टीम ने दिन की शुरुआत तीन विकेट के नुकसान पर 88 रनों के साथ की थी, लेकिन आखिरी दिन मेहमान टीम सिर्फ 16.4 ओवर की खेल सकी. फिलेंडर के अलावा मोर्ने मोर्केल ने अपने विदाई टेस्‍ट में दो विकेट लिए. केशव महाराज को एक सफलता मिली. दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में 488 रन बनाए थे. वहीं ऑस्ट्रेलिया अपनी पहली पारी में 221 रन ही बना सकी थी. दक्षिण अफ्रीका ने अपनी दूसरी पारी छह विकेट के नुकसान पर 344 रनों पर घोषित करते हुए ऑस्ट्रेलिया को विशाल लक्ष्य दिया था
Miami Masters Open: उलटफेर! जॉन इसनेर ने जीता खिताब, हासिल की यह बड़ी उपलब्धि.
2 April 2018
मियामी: अमरीका के टेनिस खिलाड़ी जॉन इसनेर ने उलटफेर करते हुए करियर का पहला मियामी ओपन टेनिस टूर्नामेंट खिताब अपने नाम किया. रविवार रात खेले गए पुरुष एकल वर्ग के खिताबी मुकाबले में इसनेर ने वर्ल्ड नम्बर-4 एलेक्जेंडर ज्वेरेव को मात दी. ज्वेरेव को खिताब जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा था क्योंकि उन्होंने कुछ अच्छे परिणाम दिए थे, लेकिन उनका खिताब जीतने का सपना अधूरा ही रह गया. इसनेर ने जर्मनी के टेनिस खिलाड़ी ज्वेरेव को फाइनल मैच में अपनी खिताबी जीत के बाद कहा कि मैंने इस बारे में सोचा भी नहीं था. मैं काफी खराब खेल रहा था। मैंने तीन सेट में अपना पहला मैच जीता इसनेर ने जर्मन खिलाड़ी ज्वेरेव को 6-7 (4-7), 6-4 और 6-4 से मात देकर खिताबी जीत तो हासिल की, साथ ही उन्होंने अपने करियर में पहली बार बड़ी उपलब्धि को भी हासिल कर लिया. इसनेर ने कहा कि एक खिताब जीतने से आपका आत्मविश्वास बढ़ जाता है। इस खिताबी जीत के साथ ही इसनेर ने विश्व के 10 शीर्ष खिलाड़ियों में जगह बना ली है
NZ vs ENG TEST: टिम साउदी के कहर के बीच इंग्‍लैंड को मिला जॉनी बेयरस्‍टॉ का सहारा..
30 March 2018
क्राइस्टचर्च: न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज टिम साउदी ने अपनी बेहतरीन गेंदबाजी से दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन शुक्रवार को इंग्लैंड को लगातार झटके दिए. इंग्लैंड ने पहले दिन का खेल खत्म तक 290 रनों पर अपने आठ विकेट खो दिए हैं. मैच में साउदी ने अब तक 60 रन देकर पांच विकेट हासिल किए. वैसे जॉनी बेयरस्‍टॉ (नाबाद 97) और मार्क वुड (52) के कारण इंग्लैंड ने शुरुआती झटकों से उबरते हुए कुछ भरपाई जरूर कर ली है. अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे जैक लीच पहले दिन स्‍टंप्‍स के समय 10 रन बनाकर क्रीज पर थे. हेग्ले ओवल मैदान पर खेले जा रहे इस टेस्‍ट में न्‍यूजीलैंड ने टॉस जीता और इंग्‍लैंड को पहले बैटिंग के लिए आमंत्रित किया. इंग्‍लैंड टीम की शुरुआत खराब रही. न्यूजीलैंड के साउदी और ट्रेंट बोल्ट ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए इंग्‍लैंड की टीम को अच्छी शुरुआत से वंचित रखा. इंग्लैंड ने 94 के कुल स्कोर तक ही अपने 5 विकेट गंवा दिए थे. एलिस्‍टर कुक (2), मार्क स्टोनमैन (35), जेम्स विंसे (18), जो रूट (37) और डेविड मलान (0) पेवेलियन लौटे यहां से बेयरस्‍टॉ और हरफनमौला बेन स्टोक्स (25) ने टीम को संभाला और स्कोर 151 रनों तक पहुंचा दिया. बोल्ट ने स्टोक्स को आउट कर इंग्लैंड की परेशानी को एक बार फिर बढ़ा दिया. स्टुअर्ट ब्रॉड 5 रन बनाकर आउट हुए. यहां से बेयरस्‍टॉ और वुड ने एक बार फिर बिखरती हुई पारी को संभाला और आठवें विकेट के लिए 95 रनों की साझेदारी की. वुड ने अपना अर्धशतक पूरा किया ही था कि साउदी ने उन्हें बोल्ड कर इंग्लैंड को 8वां झटका दिया. वुड ने 62 गेंदें खेलीं और सात चौके और एक छक्का लगाया. बेयरस्‍टॉ ने अब तक 154 गेंदों का सामना किया है और 11 चौकों के अलावा एक छक्का लगाया है. न्‍यूजीलैंड के लिए अब तक साउदी ने पांच और बोल्‍ट ने तीन विकेट लिए हैं.
महिला क्रिकेट : अनुजा पाटील और स्‍मृति मंधाना का शानदार प्रदर्शन, भारत ने इंग्‍लैंड को 8 विकेट से हराया.
29 March 2018
मुंबई: टिप्पणियाअनुजा पाटील की शानदार गेंदबाजी के बाद स्‍मृति मंधाना ने बल्‍ले से बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए आज यहां त्रिकोणीय टी20 सीरीज में भारतीय महिला टीम को इंग्‍लैंड पर 8 विकेट की जीत दिला दी. अनुजा ने मैच में 21 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि स्मृति मंधाना (62) ने अर्धशतकीय पारी खेली. भारतीय टीम फाइनल की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी है. ब्रेबोर्न स्टेडियम में हुए इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की टीम की पारी 107 रनों पर ही सिमट गई. जवाब में भारतीय टीम ने लक्ष्‍य को 15.4 ओवरों में महज दो विकेट खोकर ही हासिल कर लिया. पहले बैटिंग करने उतरी इंग्‍लैंड की टीम लगातार विकेट गंवाती रही. टीम के लिए डेनियल व्याट ने सर्वाधिक 31 रन बनाए. उनके अलावा अन्‍य कोई बल्लेबाज 20 से अधिक रन नहीं बना पाई .भारत के लिए अनुजा पाटील ने तीन विकेट लिए जबकि राधा यादव, दीप्ति शर्मा और पूनम यादव ने दो-दो विकेट लिए. जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने 30 के स्कोर पर मिताली राज (6) के रूप में अपना पहला विकेट खोया. इसके बाद, 48 के स्कोर पर मेजबान टीम ने जेमिमा रॉड्रिग्‍ज (7) के रूप में अपना दूसरा विकेट गंवाया. रॉड्रिग्‍स के आउट होने के बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर (20) ने मंधाना के साथ 60 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को जीत तक पहुंचा दिया. इंग्‍लैंड की ओर दोनों विकेट डेनियल हैज ने लिए. टूर्नामेंट का फाइनल मैच 31 मार्च को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला जाएगा
बीसीसीआई ने स्‍टीव स्मिथ और डेविड वार्नर को IPL-2018 से बाहर किया.
28 March 2018
नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बॉल टैम्‍परिंग मामले में एक साल के लिए प्रतिबंधित स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर पर इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में प्रतिबंध लगा दिया है. स्मिथ और वार्नर क्रमश: राजस्थान रायल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान थे, लेकिन इस प्रकरण के बाद उन्हें कप्तानी छोड़नी पड़ी. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के एक-एक साल के बैन के बाद बीसीसीआई ने दोनों को आईपीएल से बाहर कर दिया.आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला ने यहां पत्रकारों से कहा,‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने दोनों खिलाड़ियों पर प्रतिबंध लगाया है और हम भी इस साल दोनों को आईपीएल से बाहर कर रहे हैं. ’ उन्होंने कहा,‘हमने पहले आईसीसी के फैसले का इंतजार किया.उसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के फैसले का. तब जाकर हमने यह फैसला लिया है.’ शुक्ला ने कहा,‘हमने इस सत्र के लिये उन पर प्रतिबंध लगाया है. दोनों टीमों को विकल्प दिए जाएंगे. हमने हड़बड़ी में कोई फैसला नहीं लिया. यह सोच-समझकर लिया गया फैसला है.’ गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्‍ट के दौरान ऑस्ट्रेलिया के कैमरन बैनक्रॉफ्ट को पीले रंग की पट्टी से गेंद को रगड़ने का दोषी पाया गया था. उनकी यह हरकत मैदान में मौजूद कैमरामैन ऑस्कर की नजरों से नहीं बच पाई. कैमरे ने उन्‍हें गेंद से छेड़खानी की कोशिश करते पकड़ लिया और इस मामले ने तूल पकड़ लिया. बॉल टैम्‍परिंग की कोशिश कैमरे में कैद होने और मामले को लेकर स्‍टीव स्मिथ की स्‍वीकारोक्ति के बाद तो मानो क्रिकेट जगत में तूफान आ गया.प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में स्मिथ ने माना था कि उन्‍होंने जीत हासिल करने के लिए कुछ खास साथियों के साथ मिलकर बॉल टैम्‍परिंग की योजना बनाई थी. हालांकि उन्‍होंने कहा था कि कंगारू टीम ने पहली बार ऐसा किया है.
कैसे होती है बॉल टैम्‍परिंग, सचिन और द्रविड़ सहित किन-किन खिलाड़ियों पर लग चुका है इसका आरोप.!
27 March 2018
क्रिकेट के खेल में बॉल टेम्‍परिंग (गेंद के साथ छेड़छाड़) का मामला इस समय सुर्खियों में है. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्‍ट में 'सामूहिक' तरीके से बॉल टैम्‍परिंग के मामले में ऑस्‍ट्रेलिया की क्रिकेट टीम की हर कहीं आलोचना हो रही है. इस टेस्‍ट के दौरान ऑस्‍ट्रेलियाई टीम की ओर से बॉल टैम्‍परिंग की कोशिश कैमरे में कैद होने और मामले को लेकर स्‍टीव स्मिथ की स्‍वीकारोक्ति के बाद ऑस्‍ट्रेलिया के इस कद्दावर बल्‍लेबाज को न केवल कप्‍तानी गंवानी पड़ी है बल्कि आईसीसी ने उन्‍हें एक मैच के लिए बैन कर दिया है. बॉल टैम्‍परिंग को लेकर स्मिथ पर लाइफ बैन की तलवार भी लटक रही है. बॉल टैम्‍परिंग की बात करें तो 70 के दशक से इस बारे में शिकायत मिलनी शुरू की. गेंद के एक हिस्‍से को किसी खुरदुरी चीज से खराब करके गेंदबाज यह काम करते हैं. इस अनैतिक तरीके से गेंद की शक्‍ल बिगाड़ने से गेंद अधिक स्विंग होने लगती है और गेंदबाजों को अतिरिक्‍त फायदा मिलता है. इन तरीकों से होती रही है बॉल टैम्‍परिंग जेंटलमैन गेम कहे जाने वाले क्रिकेट में कई दशकों से खिलाड़ियों पर गेंद से छेडखानी के आरोप लगते रहे हैं.केपटाउन टेस्‍ट के दौरान शनिवार को ऑस्ट्रेलिया के कैमरन बैनक्रॉफ्ट को पीले रंग की पट्टी से गेंद को रगड़ने का दोषी पाया गया. हालांकि उनकी यह हरकत मैदान में मौजूद कैमरामैन ऑस्कर की नजरों से नहीं बच पाई. कैमरे ने उन्‍हें गेंद से छेड़खानी की कोशिश करते पकड़ लिया और इस मामले ने तूल पकड़ लिया. इस घटना से पूर्व भी मैदान पर खिलाड़ि‍यों को अपने दांत, पैंट की जिप, मिट्टी और कोल्‍ड ड्रिंक की बॉटल्‍स के ढक्‍कन जैसी चीजों से बॉल टैम्‍परिंग करते हुए पकड़ा जा चुका है. नियमों के मुताबिक खिलाड़ी गेंद में चमक लाने के लिए पसीना या लार जैसी प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल कर सकते है लेकिन कोई कृत्रिम पदार्थ इस्‍तेमाल नहीं किया जा सकता इन खिलाड़ि‍यों पर लग चुका बॉल टैम्‍परिंग का आरोप गेंद से छेड़छाड़ का पहला आरोप 70 के दशक के मध्य में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जॉन लीवर पर लगा था. भारतीय टीम के उस समय के कप्‍तान कप्तान बिशन सिंह बेदी ने लीवर पर 1976 के भारतीय दौरे के दौरान गेंद पर वैसलीन लगाने का आरोप लगाया था. जिसके बाद बेदी ब्रिटिश मीडिया के निशाने पर आ गए थे. वैसे, बॉल टैम्‍परिंग के मामले में सबसे पहले 2000 में पाकिस्तान के तेज गेंदबाज वकार यूनुस को निलंबित किया गया था. यूनुस और पाकिस्तान के एक अन्‍य दिग्‍गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम पर 1992 के दौरे पर पर रिवर्स स्विंग के लिए गेंद से छेड़छाड़ का आरोप लग चुका है. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल एथरटन भी जेब में रखी मिट्टी की मदद से गेंद से छेड़छाड़ के मामले में फंस वुके हैं. एथरटन ने उस समय अपने बचाव में कहा था कि उन्होंने हाथ सुखाने के लिए मिट्टी रखी थी लेकिन फिर भी उन पर 2000 पाउंड का जुर्माना लगा था. कुछ ऐसे भी खिलाड़ी है जिन्होंने करियर खत्म होने के बाद गेंद से छेड़छाड़ की बात स्वीकार की. इसमें इंग्लैंड के मार्क्स ट्रेस्कोटिक शामिल हैं, जिन्होंने अपनी किताब में 2005 में एशेज सीरीज में मिंट से गेंद चमकाने की बात स्वीकार की थी. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी भी कैमरे की नजर से गेंद से छेड़छाड करते पकड़े गए जिसमें उन्हें गेंद को दांत से काटते हुए देखा गया. इसके बाद उनपर दो मैचों का प्रतिबंध लगा था. दक्षिण अफ्रीका के मौजूदा कप्तान फाफ डु प्लेसिस भी दो बार बॉल टैम्‍परिंग की कोशिश में जुर्माना झेल चुके हैं. वर्ष 2006 में ओवल में इंग्लैंड के साथ खेले जा रहे मैच में पाकिस्तान की टीम पर बॉल टेंपरिंग के आरोप लगे थे, जिसके विरोध में पाकिस्‍तान टीम ने अपने कप्‍तान इंजमाम उल हक की अगुवाई में मैच छोड़ दिया था. भारतीय खिलाड़ि‍यों के लिहाज से बात करें तो देश के दो दिग्‍गज खिलाड़ि‍यों सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ पर भी बॉल टैम्‍परिंग का आरोप लग चुका है. इसके लिए सचिन को एक मैच से सस्पेंड कर दिया गया था. यह बात 2001 की है, जब भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज चल रही थी. हालांकि बाद में तेंदुलकर पर लगा प्रतिबंध रद्द कर दिया गया था. वर्ष 2004 में भारतीय टीम के जिम्‍बाब्‍वे दौरे में द्रविड़ पर मिंट (एक तरह की टॉफी) से गेंद को चमकाने का आरोप लगा था. द्रविड़ पर इसके लिए जुर्माना लगाया गया था
NZ vs ENG: गेंदबाजों की तिकड़ी ने न्‍यूजीलैंड को दिलाई पारी के अंतर से जीत!
26 March 2018
ऑकलैंड: न्यूजीलैंड ने बारिश से प्रभावित पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में आज यहां इंग्लैंड पर पारी और 49 रन से नाटकीय जीत दर्ज की. इन दोनों देशों के बीच 102 टेस्ट मैचों के इतिहास में यह केवल 10वां अवसर है जब न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड को हराया है. इस डे-नाइट टेस्‍ट के अंतिम दिन हालांकि बेन स्टोक्स (66) और क्रिस वोक्स (52) ने बेहतरीन पारी खेलते हुए एक समय न्यूजीलैंड के लिए जीत का इंतजार बढ़ा दिया था लेकिन आखिरी कीवी टीम मैच में जीत हासिल करने में कामयाब रही. न्यूजीलैंड की तरफ से गेंदबाजों की तिकड़ी, ट्रेंट बोल्ट, नील वैगनर और टाड एस्टल ने तीन-तीन हासिल किए. न्‍यूजीलैंड की दूसरी पारी 320 रन पर समाप्‍त हुई. मैच में इंग्‍लैंड की टीम पहली पारी में शर्मनाक तरीके से 58 रन बनाकर आउट हो गई थी जिसके जवाब में न्‍यूजीलैंड ने पहली पारी 8 विकेट पर 427 रन बनाते हुए घोषित की थी. हरफनमौला स्टोक्स दिन के शुरू से ही क्रीज पर थे लेकिन डिनर ब्रेक से ठीक पहले वैगनर की उठती गेंद पर उन्होंने बैकवर्ड प्वाइंट पर टिम साउदी को कैच थमा दिया.उन्होंने 188 गेंद खेली तथा छह चौके जमाए. चाय के विश्राम से ठीक पहले मोईन अली (28) के आउट होने के बाद वोक्स ने क्रीज पर कदम रखा और उन्होंने स्टोक्स के साथ सातवें विकेट के लिये 83 रन जोड़े. इंग्लैंड ने दिन के शुरू में तीन विकेट पर 132 रन से आगे खेलना शुरू किया तथा पहले सत्र में तीन विकेट गंवाए. डेविड मलान (23) दिन के पांचवें ओवर में ही आउट हो गए. स्टोक्स और जॉनी बेयरस्टॉ (26) ने इसके बाद स्कोर को 181 रन तक पहुंचाया बेयरस्टॉ को अपनी पारी के दौरान दो बार जीवनदान मिला लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाए. केन विलियमसन ने डाइव लगाते हुए उनका कैच लपका. मोईन चाय के विश्राम से पहले आखिरी गेंद पर आउट हुए. अम्‍पायर ने पहले बल्लेबाज के पक्ष में फैसला दिया था लेकिन डिसीजन रिव्‍यू सिस्‍टम (डीआरएस) के कारण उन्हें पेवेलियन लौटना पड़ा. सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच शुक्रवार से क्राइस्टचर्च में शुरू होगा
ICC CWCQ: अफगानिस्तान के राशिद खान 'बड़ा इतिहास' रचने की कगार पर!!
24 March 2018
नई दिल्ली: अफगानिस्तान के खिलाड़ी और आईपीएल नीलामी में मोटी रकम हासिल करने वाले राशिद खान एक की बार में 'डबल इतिहास' रचने की कगार पर आ खड़े हुए हैं. लेकिन इस इतिहास रचने से पहले ही उन्होंने कई दिग्गजों को पीछे छोड़ डाला है. और अब वह जल्द ही 'बड़ा इतिहास' रचने के साथ ही वह कई और दिग्गजों को पीछे छोड़ देंगे. आपको बता दें कि आयरलैंड के खिलाफ हरारे स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर खेले जा रहे मुकाबले में राशिद खान ने पन 10 ओवर के कोटे में तीन विकेट लिए. इसी के साथ ही वह अपने करियर में सिर्फ 43 मैचों के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं. अब उनके विकेटों की संख्या 99 हो गई है. चलिए हम आपको बताते हैं किन खिलाड़ियों ने इतने ही मतलब 43 वनडे खेलने के बाद करियर में कितने विकेट चटकाए हैं. विकेट नाम देश 99 राशिद खान अफगानिस्तान 87 मिशेल स्टार्क ऑस्ट्रेलिया 83 सकलेन मुश्ताक/शेन बॉन्ड पाकिस्तान/न्यूजीलैंड 81 ट्रेंट बोल्ट न्यूजीलैंड 79 मोहम्मद शमी भारत मतलब साफ है कि राशिद खान अब वनडे क्रिकेट इतिहास में सबसे तेज 100 विकेट चटकाने वाले गेंदबाज बनने का गौरव हासिल करने के लिए तैयार हैं. चलिए उन पांच गेंदबाजों पर भी नजर डाल लीजिए, जिन्होंने वनडे में सबसे तेज विकेटों का सैकड़ा जड़ा और इन गेंदबाजों ने सौ विकेट पूरे करने के लिए कितने मैच खेले. मैच नाम देश 52 मिशेल स्टॉर्क ऑस्ट्रेलिया 53 सकलैन मुश्ताक पाकिस्तान 54 शेन बॉन्ड न्यूजीलैंड 55 ब्रेट ली ऑस्ट्रेलिया 56 ट्रेंट बोल्ट न्यूजीलैंड कुल मिलाकर राशिद खान 'बिग हिस्ट्री ' बनाने की कगार पर हैं. सौवां विकेट लेते ही राशिद खान वनडे इतिहास में सबसे तेज विकेट लेने वाल गेंदबाज बन जाएंगे. और शायद सबसे कम उम्र के गेंदबाज भी.
बालसखा सचिन तेंदुलकर के पैर छूकर विनोद कांबली ने सुधारी 'बड़ी भूल'!
23 March 2018
नई दिल्ली: बुधवार को पहली मुंबई टी20 लीग का पुरस्कार वितरण समारोह था. लेकिन यह समारोह तब एक अलग ही चर्चा का विषय बन गया, जब वह नजारा देखने को मिला, जिस पर हर कोई चौंका गया. दरअसल उपविजेता टीम के कोच और पूर्व दिग्गज क्रिकेटर विनोद कांबली ने पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान मंच पर जब सचिन तेंदुलकर के पैर छुए, तो हर कोई हैरान रह गया. दरअसल सचिन तेंदुलकर इस लीग के ब्रांड एंबेसडर हैं. और वह मुख्य अतिथि के तौर पर आए हुए थे. विनोद कांबली की टीम शिवाजी पार्क लॉयन्स फाइनल में मुंबई नॉर्थ ईस्ट के हाथों 3 रन से हार गई थी. पुरस्कार समारोह में उपविजेता टीम के खिलाड़ियों और कोचिंग स्टॉफ के सदस्यों को मंच पर बुलाने के दौरान यह घटना घटी. इस दौरान जैसे ही विनोद कांबली ने सचिन के पैर छुए, तो वह हैरान होते हुए झेंप से गए. सचिन ने कांबली को रोकने की कोशिश की. और इसके बाद दोनों ने काफी देर एक-दूसरे को गले लगाए रखा. कांबली ने अपनी इस अदा से उस विवाद के खात्म पर पूरी तरह मुहर लगा दी, जिसके चलते कई साल इनके रिश्तों के बीच तल्खी आ गई थी. ध्यान दिला दें कि जब सचिन ने क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद अपने घर पर प्रसिद्ध पार्टी का आयोजन किया था, तो उसमें बाल सखा कांबली को न्यौता नहीं दिया था. यहां तक कि सचिन ने साल 2013 में अपनी फेयरवेल स्पीच में भी कांबली का जिक्र तक नहीं किया था इससे कांबली बहुत ज्यादा आहत हुए थे. तब विनोद कांबली ने रुआंसा होते हुए यह भी कहा था कि सचिन उनके भेजे गए एसएमएस का जवाब नहीं देते वास्तव में इन दोनों दोस्तों के रिश्ते ने एक घटना ने यू-टर्न ले लिया था. लेकिन अब पिछले दिनों काफी घटनाए हुईं. और पुराने दोस्तों के प्रयासों से इन दोनों के रिश्ते सुधरे. यह सचिन ही थे, जिनके जोर देने पर कांबली ने फिर से कोचिंग को चुना और सचिन के कहने पर ही शिवाजी पार्क टीम ने उन्हें अपना कोच बनाया. शायद यह भी एक कारण रहा कि कांबली ने सचिन को ऐसा सम्मान दिया. और इससे कई साल पहले दोनों के बीच हुआ विवाद पूरी तरह जमींदोज हो गया. दरअसल साल 2009 में रियलिटी शो 'सच का सामना' में कांबली ने कहा था कि उनके साथ टीम इंडिया में भेदभाव हुआ था. उन्होंने कहा कि जब वो बुरे दौर से गुजर रहे थे तो सचिन को उनकी मदद करनी चाहिए थी. ख़बरों के मुताबिक इस शो से कांबली को 10 लाख रुपये मिले थे कांबली ने बाद में भी कहा कि जब मुझे सचिन की सबसे ज़्यादा ज़रूरत थी तो उसने मेरी मदद नहीं की, इसलिए मैंने रियलिटी शो में ऐसा कहा. कांबली यह कहते-कहते रो पड़े थे. लेकिन इस शो के बाद से दोनों के रिश्ते पूरी तरह खराब हो गए. और अब करीब आठ या नौ साल बाद अब कांबली ने सचिन के पैर छूकर अपनी गलती पूरी तरह से सुधार ली
आईपीएल ने ऐसे कराई क्रिकेट की चांदी, बढ़ गया जबर्दस्त मुनाफा
22 March 2018
नई दिल्ली: भारत के किसी और खेल या बाकी क्षेत्रों में अच्छे दिए आए हों या न आए हों, लेकिन क्रिकेट की जरूर चांदी हो गई है. कारण यह है कि साल 2016 के मुकाबले पिछले साल खेल प्रायोजन से मिलने वाली राशि में क्रिकेट मे 14 फीसदी का इजाफा हुआ. इस बात का खुलासा ग्रुपएम की खेल और मनोरंजन के क्षेत्र में मीडिया अधिकार हासिल करने वाली ईकाई एमईएसपी और खेल व्यवसाय समाचार कंपनी स्पोर्ट्सपावर की संयुक्त रिपोर्ट में हुआ. और ऐसा हुआ है इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के कारण. हालांकि रिपोर्ट में विस्तार से कुछ नहीं गया है, लेकिन बताया गया है कि क्रिकेट में पिछले साल अनुमानित तौर पर 4,692.5 करोड़ रुपये खर्च किए गए. यह कुल खर्च की गई रकम का 65 फीसदी और साल 2016 की तुलना में 15 फीसदी ज्यादा रकम ही. ग्रुपएम की मानें, तो पिछले साल कुल विज्ञापन सालाना आमदनी में 10 प्रतिशत इजाफा हुआ. और अनुमानित तौर पर 61,263 करोड़ रुपये रही. यह रिपोर्ट पांचवें साल जारी की गई और इसका शीर्षक 'स्पोर्ट्स नेशन इन द मेकिंग' रहा. रिपोर्ट को मुंबई में जारी किया गया. यह रिपोर्ट विज्ञापनदाताओं या बाजार के खेल प्रतियोगिताओं पर मोटा खर्च किए जाने की इच्छा को प्रकट करती है. अब बाजार कितना ज्यादा रुचिकर है यह आप इस बात से समझ सकते हैं कि सितम्बर 2017 में स्टार स्पोर्ट्स ने पांच साल के प्रसारण अधिकार 16,347.50 करोड़ रुपये में खरीदे. हीं, आईपील में ही पांच साल के टाइटल स्पॉन्सरशिप के अधिकार चीन की मोबाइल कंपनी वीवो को 2,199 करोड़ रुपये में दिए गए थे. आईपीएल इतिहास की ये दो सबसे बड़ी डील यह बताने के लिए काफी हैं कि साल 2017 में अगर क्रिकेट को मिलने वाली स्पॉन्सरशिप में इजाफा हुआ है, तो उसके पीछे सबसे बड़ा योगदान आईपीएल का है. वहीं क्रिकेट के अलावा बाकी खेलों की हिस्सेदारी बाजार में 35 फीसदी है. और इन खेलों में फुटबॉल को मैदान और टीम की स्पॉन्सरशिप और मीडिया खर्च से 1,074 करोड़ रुपये की कमाई हुई. वहीं, जहां क्रिकेटरों के पास 90 ब्रांड हैं, तो बाकी भारतीय खिलाड़ियों के पास 78 ब्रांड हैं. विराट कोहली के पास सबसे ज्यादा 16 ब्रांड हैं.
राजस्व मंत्री श्री गुप्ता ने पदक विजेता तहसीलदार श्री सोनकिया को सम्मानित किया
21 March 2018
राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने 39वीं नेशनल मास्टर एथलेटिक्स चैम्पियनशिप-2018 में सिल्वर मैडल जीतने पर तहसील हुजूर, भोपाल के तहसीलदार श्री विनोद सोनकिया को सम्मानित किया। प्रतियोगिता 21 से 25 फरवरी तक बेंगलुरु में हुई थी। श्री गुप्ता ने कहा कि श्री सोनकिया ने व्यस्ततम शासकीय कार्यों के बावजूद यह उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने कहा कि इन्हें विभाग द्वारा भी प्रशस्ति-पत्र दिया जायेगा। श्री सोनकिया ने 100 मीटर रेस और 400 मीटर रिले रेस में सिल्वर मैडल जीता है। चैम्पियनशिप में पूरे देश के 30 वर्ष से अधिक उम्र के 4500 प्रतिभागी शामिल हुए थे। अब सोनकिया 4 सितम्बर से मलागा, स्पेन में होने वाली वर्ल्ड मास्टर एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में शामिल होंगे। श्री सोनकिया इसके पूर्व वर्ष 2016 में सिंगापुर में हुई एशियाड मास्टर एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में भी शामिल हो चुके हैं।
इस कारण ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ हुए कागिसो रबाडा की दोषमुक्ति से खफा
21 March 2018
नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन ने स्मिथ दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाद कागिसो रबाडा पर लगे दो मैचों के प्रतिबंध को हटाए जाने के फैसले पर नाखुशी जाहिर की है. उन्होंने यह भी संकेत दिया है कि ऑस्ट्रेलिया की आईसीसी मैच रेफरी के फैसले के खिलाफ अपील न करने की नीति में अब बदलाव हो सकता है. ध्यान दिला दें कि ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में रबाडा पर स्मिथ के साथ दुर्व्यवहार का आरोप लगा था. उनके कंधे की टकराहट स्मिथ के कंधे से हुई थी. इसके बाद बाद मैच रेफरी ने रबाडा के हिस्से में दो नकारात्मक अंक डाल दिए थे. इसके साथ उनके नकारात्मक अंकों की संख्या आठ हो गई था और उन पर दो मैचों का प्रतिबंध लगा दिया गया था. इस फैसले के खिलाफ रबाडा ने अपील की जिसमें वो सफल रहे ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा एक सदस्य कमीशन ने रबाडा की अपील के बाद हुई सुनवाई में मेरा पक्ष जानना ही उचित नहीं समझा. तीसरे टेस्ट से पहले स्मिथ ने कहा कि आईसीसी ने कुछ मापदंड तय किए हैं, किए हैं या नहीं. मैदान पर साफ तौर पर शारीरिक संपर्क हुआ था. मैं निश्चित तौर पर अपने गेंदबाजों से नहीं कहूंगा कि आप विकेट लेने के बाद उनसे भिड़ो. मैं नहीं समझता की यह खेल का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि मैं मानता हूं कि वह निश्चित तौर पर मुझसे भिड़े थे और यह फुटेज में जितना दिख रहा है, उससे कहीं तेज टक्कर थी. स्मिथ ने कहा कि जो दूसरा शख्स इसमें शामिल था उससे कुछ पूछा नहीं गया, यह काफी रोचक है. उन्होंने कहा है कि इस फैसले ने खेल में शारीरिक टकराव को लेकर परेशान करने वाले मानक स्थापित किए हैं. इस बात की संभावना की तरफ इशारा करते हुए कि यह फैसला मैदान पर शारीरिक तकरार को बढ़ावा दे सकता है. स्मिथ ने कहा कि रबादा के फैसले ने हालात को गुणात्मक रूप से बदल दिया है, शारीरिक टकराव की अनुमति के संबंध में भी और फैसले के खिलाफ अपील के संबंध में भी
इस वजह से कागिसो रबाडा आईसीसी की मार से बाल-बाल बच गए, तीसरा टेस्ट खेलेंगे
20 March 2018
नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए दूसरे टेस्ट में अपने खराब बर्ताव के कारण दुनिया भर में अपनी किरकिरी कराने और आलोचना झेलने वाले दक्षिण अफ्रीका के उदीयमान और वर्तमान उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में से एक कागिसो रबाडा ईश्वर की कृपा से सजा से बाल-बाल बच गए. मैच रैफरी द्वारा दोषी पाए जाने के बाद फिर से कई गई अपील के बाद बाद एक सदस्यीय कमीशन के सामने हुई सुनवाई में रबाडा को घटना का दोषी नहीं पाया गया. इसके बाद वह स्वत: ही तत्काल प्रभाव से क्रिकेट खेलने के लिए स्वतंत्र हैं हम आपको ध्यान दिला दें कि दूसरा टेस्ट खत्म होने के बाद मैच रेफरी ने आईसीसी की आचार संहिता के तहत उनकी कुल मैच फीस का पचास फीसदी जुर्माना उन पर ठोका था. स्टीव स्मिथ के मामले में खुद पर लगे आरोपों से इनकार के बाद अनुशासनात्मक कमेटी ने इस मामले में उन्हें सजा सुना ही दी. वहीं रबाडा ने डेविड वॉर्नर के मामले में लगे दूसरे लेवल-1 के आरोप को खुद ही स्वीकार कर लिया. उन्होंने भाषा के जरिए वॉर्नर को उत्तेजित करने की बात स्वीकारी. लेकिन अब कमीशन के सामने हुई हुई सुनवाई में रबाडा सजा से बचकर निकल गए ध्यान दिला दें कि दूसरे टेस्ट के बाद मैच फीस के 50 फीसदी दंड के अलावा उन्हें तीन डिमेरिट प्वाइंट्स भी मिले थे और इससे पूरी तस्वीर ही बदल गई थी. इन तीन डिमेरिट प्वाइंट्स का अर्थ यह हुआ कि पिछले 24 महीने के भीतर उनके कुल आठ डिमेरिट प्वाइंट हो गए थे. और इसके कारण वह नियमों के अनुसार खुद-ब-खुद ही दो मैचों के लिए निलंबित होने के दायर में आ गए थे. लेकिन कमीशन के सामने हुई सुनवाई में इस तेज गेंदबाज को ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के साथ शारीरिक संपर्क करने का दोषी नहीं पाया गया. मतलब वह लेवल-2 के अपराध से बच गए, लेकिन उन्हें खेल भावना के खिलाफ बर्ताव का दोषी पाया गया है. इसके तहत रबाडा को मैच फीसदी का 25 फीसद जुर्माना झेलना होगा. साथ ही, उनके हिस्से में एक डिमेरिट अंक भी आया है. इससे उनका बड़ा फायदा मिल गया. सजा की श्रेणी बदलने से कागिसो रबाडा के डिमेरिट प्वाइंट्स घटकर आठ से सात रह गए. इसका अर्थ यह है कि वह तत्काल प्रभाव से खेलने के स्वतंत्र हैं. और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट में खेलेंगे. रबाडा ने फैसले पर खुशी जाहिर की है.
Nidahas Trophy Final: कुछ ऐसे रोहित शर्मा ने श्रीलंका को दिया स्पेशल धन्यवाद, लंकाई प्रशसंकों की आंखों से छलके खुशी के आंसू
19 March 2018
नई दिल्ली: निधास टी20 ट्रॉफी में रविवार को भारत और बांग्लादेश के बीच फाइनल मुकाबले के बाद मैदान पर वो नजारा देखने को मिला, जो यदा-कदा ही देखने को मिलता है, जा जो पहले कभी नहीं देखा गया. टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा की अदा ने श्रीलंकाई क्रिकेटप्रेमियों को ऐसा घायल किया कि उनकी आंखों से खुशी के आंसू बह निकले. अब यह तो आप जानते ही हैं कि गुजरे शुक्रवार को श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेले गए मुकाबले में कैसा अच्छा-खासा विवाद हुआ था. विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया कि बांग्लादेशी कप्तान शाकिब-अल-हसन और उसके एक्स्ट्रा खिलाड़ी नुरुल हसन को अपनी कुल मैच फीस से 25 फीसदी रकम सजा के रूप में गंवानी पड़ी. इस पर अगर कुछ कसर बाकी बची थी, तो वो मैदान पर बांग्लादेशी खिलाड़ियों के बर्ताव और बाद में ड्रैसिंग रूम का शीशा तोड़े जाने की घटना ने पूरी कर दी. इस घटना ने श्रीलंकाई क्रिकेटप्रेमियों में बहुत ही ज्यादा रोष भर दिया. और ये क्रिकेटप्रेमी हाथों में तिरंगा लिए फाइनल में रोहित शर्मा एंड कंपनी की हौसलाअफजाई करने पहुंचे. और आखिरी गेंद, हर थ्रो हर बेहतरीन प्रयास पर इन्होंने चिल्ला-चिल्लाकर टीम इंडिया का मनोबल बढ़ाने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी. यहां तक कि श्रीलंकाई मूल के लोग हिंदी में 'जीतेगा भाई जीतेगा, भारत जीतेगा' के नारे लगाते हुए दिखाई पड़े. यही वजह रही कि फाइनल जीतने के बाद रोहित शर्मा और पूरी टीम ने मैदान का चक्कर लगाकर श्रीलंकाई दर्शकों का शुक्रिया अदा किया. लेकिन उस समय श्रींलकाई क्रिकेटप्रेमियों का शोर चरम पर पहुंच गया, जब रोहित शर्मा श्रीलंका का झंडा पकड़कर चलने लगे. एक शख्स श्रीलंका के झंडे के साथ भारतीय टीम के साथ चल रहा था. ऐसे में साथ चल रहे रोहित शर्मा ने इस शख्स से श्रीलंका का झंडा थाम लिया. रोहित के इस अंदाज पर श्रीलंकाई क्रिकेटप्रेमी बहुत ही भावुक हो गए. और बहुत सारे श्रीलंका क्रिकेटप्रेमियों की आंखों से आंसू बहते देखे गए. यह कप्तान रोहित शर्मा का मिले सपोर्ट के लिए श्रीलंकाई दर्शकों को धन्यवाद कहने का अपना तरीका था. और उनके इस अंदाज ने हजारों श्रीलंकाई क्रिकेटप्रेमियों का दिल जीत लिया.
Nidahas Trophy: बांग्‍लादेश ने श्रीलंका को हराकर फाइनल में बनाई जगह, रविवार को भारत से होगा मुकाबला
17 March 2018
कोलंबो: अपने गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन के बाद महमूदुल्लाह की 18 गेंद में 43 रन की नाबाद पारी की बदौलत बांग्लादेश ने तनावपूर्ण मुकाबले में श्रीलंका को दो विकेट से हराकर निधास ट्रॉफी टी20 त्रिकोणीय श्रृंखला के फाइनल में प्रवेश कर लिया. फाइनल रविवार को भारत और बांग्लादेश के बीच खेला जाएगा. कप्तान तिसारा परेरा और कुशल परेरा के अर्धशतकों की मदद से श्रीलंका ने शीर्षक्रम के पतन से उबरते हुए सात विकेट पर 159 रन बनाये. जवाब में बांग्लादेश ने 19.5 ओवर में आठ विकेट पर 160 रन बनाये. मैच का आखिरी ओवर काफी तनावपूर्ण रहा जिसमें बांग्लादेश को जीत के लिये 12 रन चाहिये थे. मुस्ताफिजूर रहमान दूसरी गेंद पर रन आउट हो गए जिसके बाद बांग्लादेशी खिलाड़ियों और श्रीलंकाई फील्डरों मे झड़प हो गई. दोनों अंपायरों को बीच बचाव करना पड़ा और कप्तान शाकिब अल हसन ने अपने खिलाड़ियों को मैदान से वापिस आने का इशारा किया. आखिर में बीच बचाव के बाद बांग्लादेशी बल्लेबाज मैदान पर आये और महमूदुल्लाह ने चौका तथा छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई. वह 18 गेंद में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 43 रन बनाकर नाबाद रहे. पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंकाई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही. युवा तेज गेंदबाज मुस्ताफिजूर रहमान ने शीर्ष क्रम की चूलें हिला दी. इससे पहले तिसारा और कुशल परेरा ने उम्दा पारियां खेलकर श्रीलंका को 150 रन के पार पहुंचाया. तिसारा ने 58 और कुशाल ने 61 रन जोड़े. टिप्पणियाश्रीलंका का स्कोर नौवें ओवर में पांच विकेट पर 41 रन था. ऐसा लग रहा था कि टीम 100 रन तक भी नहीं पहुंच सकेगी लेकिन कुशल और तिसारा ने आखिरी ओवरों में अच्छी पारियां खेलकर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. कुशल ने टूर्नामेंट का तीसरा अर्धशतक लगाते हुए 40 गेंद की अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया. तिसारा ने 37 गेंद का सामना करके 58 रन बनाए जिसमें तीन चौके और तीन छक्के शामिल थे. बांग्लादेश के लिये मुस्ताफिजूर ने 39 रन देकर दो विकेट लिये. आगामी आईपीएल सत्र में मुंबई इंडियंस के लिये खेलने जा रहे मुस्ताफिजूर ने कुशाल मेंडिस को 11 के स्कोर पर आउट किया. इसके बाद दासुन शनाका (0) को अगले ओवर में पवेलियन भेजा. बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने सलामी बल्लेबाज धनुष्का गुणतिलका (4) को आउट करके टीम को पहली सफलता दिलाई. शाकिब ऊंगली की चोट के कारण पिछला मैच नहीं खेल सके थे. मुस्ताफिजूर ने उपुल थरंगा (5) को रन आउट किया. छठे ओवर के आखिर में श्रीलंका का स्कोर चार विकेट पर 35 रन था. जीवन मेंडिस को नौवें ओवर में मेहदी हसन मिराज ने पवेलियन भेजा.
ओह! इतिहास से वसीम जाफर मीलों दूर रह गए, इस वजह से लगी नजर!
16 March 2018
नई दिल्ली: नागपुर में चल रही ईरानी ट्रॉफी में इतिहास रचने की कगार पर खड़े विदर्भ के मेंटोर और अनुभवी बल्लेबाज वसीम जाफर तीसरे दिन उस बड़े इतिहास को रचने से चूक गए, जिस पर हिंदुस्तान ही नहीं, बल्कि समूचे एशियाई क्रिकेटप्रेमियों की नजरें लगी ही थीं. और अगर जाफर तिहरा शतक नहीं ही बना सके, तो उसके पीछे एक बड़ा कारण रहा, जिसने जाफर से ऐतिहासिक मौका छीन लिया. हम एक बार फिर से दोहरा दें कि अगर जब वसीम जाफर मैदान पर उतरे, तो उनके निशाने पर तीन पारियां थीं. लेकिन इससे पहले एशियाई क्रिकेट प्रेमी वसीम जाफर के 40 साल से की ज्यादा उम्र में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तिहरा शतक जड़ने वाले पहले एशियाई बल्लेबाज बने की दुआ कर रहे थे. चलिए एक बार फिर से उन चुनिंदा बल्लेबाजों पर नजर डाल लीजिए, जिन्होंने चालीस साल से ऊपर की उम्र में तिहरा शतक जड़ा वीरवार को वसीम जाफर 285 रन पर नाबाद थे. और सभी यह उम्मीद और प्रार्थना कर रहे थे कि जिस तरह जाफर ने बैटिंग की, वह तिहरा शतक जरूर जड़ेंगे. लेकिन शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. और अब करोड़ों हिंदुस्तानियों और एशियाई क्रिकेटप्रेमियों को इसी बात से संतोष करना होगा कि वसीम जाफर फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 40 पार की उम्र में 250 से ऊपर की पारी खेलने वाले पहले बल्लेबाज बन गए. दरअसल वसीम अगर रिकॉर्ड नहीं बना सके, तो उसके पीछे उनका ध्यान भंग होना रहा. नागपुर में चल रही ईरानी ट्रॉफी में इतिहास रचने की कगार पर खड़े विदर्भ के मेंटोर और अनुभवी बल्लेबाज तीसरे दिन उस बड़े इतिहास को रचने से चूक गए, जिस पर हिंदुस्तान ही नहीं, बल्कि समूचे एशियाई क्रिकेटप्रेमियों की नजरें लगी ही थीं. और अगर जाफर ऐसा नहीं कर सके, तो उसके पीछे एक बड़ा कारण रहा दरअसल तीसरे दिन बारिश के कारण लंच तक का खेल नहीं हुआ. करीब 60 से 65 ओवर का खेल बर्बाद हो गया. जाफर इस दौरान ड्रैसिंग रूम में ही रहे. इससे उनकी लय और ध्यान पर असर पड़ा. नतीजन तीसरे दिन के तीसरे ही ओवर में सिद्धार्थ कौल ने उन्हें बोल्ड कर दिया. अगर मैच सुबह सही समय पर शुरू होता, तो शायद जाफर की कहानी कुछ और होती. लेकिन अब जाफर को 286 के आंकड़े के साथ ही संतोष करना होगा.
खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया से मिले कराते अकादमी के विजेता खिलाड़ी
15 March 2018
मध्यप्रदेश राज्य कराते अकादमी के खिलाड़ियों ने पिछले दिनों दिल्ली में आयोजित जूनियर कैडेट एवं अंडर-21 राष्ट्रीय कराते प्रतियोगिता में दो स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य पदक जीतकर मध्यप्रदेश का नाम रौशन किया है। पदक विजेता खिलाड़ियों ने आज खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया से भेंट कर उन्हें अपनी उपलब्धियों से अवगत कराया। खेल मंत्री ने विजेता खिलाड़ियों और कराते अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक श्री जयदेव शर्मा को बधाई देते हुए कहा कि कड़ी मेहनत और लगन हमेशा सफल होती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार खिलाड़ियों को अति आधुनिक सुविधाएँ और प्रशिक्षण देने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रतियोगिता की जूनियर बालक+75 किलोग्राम भार वर्ग व्यक्तिगत कुमीते स्पर्धा में अंकित शर्मा ने स्वर्ण पदक जीता। इसी तरह, जूनियर बालिका वर्ग टीम काता में गार्गी सिंह परिहार, सलोनी पाटीदार और वंदना यादव ने स्वर्ण पदक अर्जित किया। प्रतियोगिता के अंडर-21 (84 किलोग्राम भार वर्ग) व्यक्तिगत कुमीते इवेन्ट में अकादमी के खिलाड़ी विशाल विश्नोई तथा कैडेट व्यक्तिगत कुमीते -47 किलोग्राम भार वर्ग में गार्गी सिंह परिहार ने एक-एक पदक प्राप्त किया। कैडेट व्यक्तिगत कुमीते -54 किलोग्राम भारवर्ग में ईशा मालवीय, -52 भार वर्ग में ऋषभ तोमर, +70 किलोग्राम भारवर्ग में अश्नी कुमार सिंघा तथा अंडर -21 व्यक्तिगत कुमीते के -55 किलोग्राम भार वर्ग में किरण मालवी ने एक-एक कांस्य पदक अर्जित किया।
PSL 2018: लाहौर कलंदर्स के खिलाफ मैच के दौरान इमाद वासिम के सिर पर लगी चोट, अब ठीक है हालत
13 March 2018
कराची: पाकिस्‍तान सुपर लीग (PSL)के मैच के दौरान चोटिल हुए पाकिस्तान के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज इमाद वासिम की स्थिति अब ठीक है.पीएसएल के अंतर्गत रविवार को कराची किंग्स और लाहौर कलंदर्स के बीच खेले गए मैच में एक कैच पकड़ने के दौरान इमाद वासिम के सिर में चोट लगी थी.मैच के दौरान कराची किंग्‍स के कप्‍तान इमाद कैच लेने के लिए पीछे की तरफ दौड़े और इसी दौरान सोहेल खान से टकरा गए. हालांकि उन्होंने कैच पकड़ लिया था लेकिन वह इस दौरान सिर के बल गिरे और उन्‍हें सिर में चोट लग गई. इमाद मैदान पर कुछ देर पड़े रहे. इसके बाद मेडिकल स्टाफ उन्हें मैदान से बाहर ले गया. पीएसएल के ट्विटर हैंडल पर लिखा गया है, "इमाद की स्थिति अब अच्छी है. उनके सिर में चोट थी लेकिन अब वह ठीक हैं." कराची और लाहौर की टीमों के बीच खेला गया यह मैच टाई समाप्‍त हुआ था. बाद में सुपर ओवर में लाहौर कलंदर्स की टीम ने जीत हासिल की मैच में पहले बल्‍लेबाजी करते हुए कराची किंग्‍स ने निर्धारित 20 ओवर्स में पांच विकेट पर 163 रन बनाए. लेंडल सिमंस ने 55 और बाबर आजम ने 61 रन का योगदान दिया. जवाब में लाहौर कलंदर्स की टीम ने भी 20 ओवरों में 8 विकेट पर 163 रन बनाए. लाहौर के लिए आगा सलमान ने सर्वाधिक 50 रन बनाए.दोनों टीमों का स्‍कोर बराबर होने पर सुपर ओवर का सहारा लिया गया जिसमें लाहौर की टीम ने जीत हासिल की
Nidahas Trophy 2018: श्रीलंका से हार का बदला लेने उतरेगी भारतीय टीम, इन खिलाड़ियों पर होगी नजर
12 March 2018
नई दिल्ली: निदास ट्रॉफी टूर्नामेंट में खेले गए अपने पहले मैच में श्रीलंका से मिली हार का बदला लेने के लिए भारतीय टीम पूरी तरह से तैयार है. दोनों टीमें एक बार फिर सोमवार को आर. प्रेमदासा स्टेडियम में आमने-सामने होंगी और इस बार भारतीय टीम मैच की बाजी अपने पाले में करने की हर कोशिश करेगी. भारत का ध्यान श्रीलंका के खिलाफ जीत के लिए अपनी बल्लेबाजी पर होगा. अपनी कमजोर बल्लेबाजी के कारण ही उसे पहले मैच में मेजबान टीम से हार मिली थी. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम शिखर धवन (90) की शानदार पारी के दम पर ही 174 रनों का स्कोर बना पाई थी. इस लक्ष्य को श्रीलंका ने कुसल परेरा (66) की अर्धशतकीय पारी और उपुल थारंगा की ओर से दिए गए अहम 22 रनों के योगदान के दम पर हासिल कर लिया था. धवन के साथ-साथ कप्तान रोहित शर्मा, सुरेश रैना, मनीष पांडे और ऋषभ पंत को भी मजबूत स्कोर खड़ा करने के लिए रन बनाने होंगे. भारतीय टीम ने बांग्लादेश के खिलाफ खेला गया अपना दूसरा मैच जीता. इस मैच में अपनी अच्छी गेंदबाजी के दम पर भारत ने बांग्लादेश की पारी को 139 रनों पर ही समेट दिया और इसी कारण भारत को इस लक्ष्य को हासिल करने में अधिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा. श्रीलंका से हार का बदला लेने के लिए भारत को अपनी गेंदबाजी को भी मजबूत करना होगा. टीम के पास गेंदबाज जयदेव उनादकट, युजवेंद्र चहल, शार्दूल ठाकुर, विजय शंकर और वाशिंगटन सुंदर हैं. मेजबान टीम की बात की जाए, तो भारत के खिलाफ पहले मैच में उसने अच्छा प्रदर्शन किया था. हालांकि, बांग्लादेश के खिलाफ शनिवार को खेले गए दूसरे मैच में उसे हार का सामना करना पड़ा. श्रीलंका की बल्लेबाजी अच्छी रही है। उसके पास कुशाल मेंडिस और कुशाल परेरा जैसे खिलाड़ी हैं, जिनकी मदद से श्रीलंका ने बांग्लादेश के खिलाफ 214 रनों का स्कोर खड़ा किया था. इसमें उपुल थारंगा ने भी अहम योगदान दिया था. लेकिन, इस विशाल लक्ष्य का बचाव श्रीलंकाई गेंदबाज नहीं कर सके और बांग्लादेश ने रोमांचक जीत हासिल की. ऐसे में श्रीलंका को अपनी गेंदबाजी पर मेहनत करने की जरूरत है। दुश्मंथा चमीरा, थिसारा परेरा को नुवान प्रदीप के साथ अधिक मेहनत करनी होगी।
ENG VS NZ: जॉनी बेयरस्टॉ ने शतक से इंग्लैंड को सीरीज जिताई, किए ये 5 कारनामे
10 March 2018
नई दिल्ली: प्लेयर ऑफ द मैच जॉनी बेयरस्टॉ (104) की शानदार शतकीय पारी के दम पर इंग्लैंड ने शनिवार को न्यूजीलैंड को सात विकेट से हराकर पांच वनडे मैचों की सीरीज 3-2 से अपने नाम कर ली. हेग्ले ओवल मैदान पर खेले गए पांचवें और अंतिम वनडे मैच में टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड ने 223 रन बनाए. इस लक्ष्य को इंग्लैंड ने तीन विकेट के नुकसान पर 32.4 ओवरों में ही 229 रन बनाकर हासिल कर लिया. लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड को जीत के लिए अधिक मेहनत नहीं करनी पड़ी. सलामी बल्लेबाज बेयरस्टॉ और एडम हेल्स (61) ने 155 रनों की शानदार साझेदारी कर टीम को आधी जीत दिला दी थी. बेयरस्टॉ ने अपनी पारी में केवल 60 गेंदों का सामना कर नौ चौके और छह छक्के लगाए. हेल्स ने 74 गेंदों पर नौ चौके लगाए. इसके बाद, जोए रूट (नाबाद 23) और बेन स्टोक्स (नाबाद 26) ने टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया. इसके दम पर इंग्लैंड ने इस सीरीज को 3-2 से जीत लिया.न्यूजीलैंड के लिए ट्रैंट बाउल्ट, सेंटनर और सोढ़ी ने एक-एक विकेट लिया इससे पहले न्यूजीलैंड के लिए क्रिस वोक्स और आदिल राशिद परेशानी का सबब बने रहे. वोक्स ने पहले ओवर की तीसरी ही गेंद पर मुनरो को विकेट के पीछे खड़े जोश बटलर के हाथों कैच आउट करवाया. इंग्लैंड के गेंदबाजों के आगे न्यूजीलैंड के बल्लेबाज फीके नजर आए. इस कारण न्यूजीलैंड ने 100 का स्कोर पार करने से पहले ही अपने पांच अन्य बल्लेबाज खोए. इसके बाद, हैनरी निकोल्स (55) ने अर्धशतकीय पारी खेल न्यूजीलैंड को संभालने की कोशिश की, लेकिन उन्हें टॉम कुरान ने पवेलियन का रास्ता दिखाया. निकोल्स 177 के स्कोर पर कुरान की गेंद पर इयोन मोर्गन के हाथों लपके गए. न्यूजीलैंड के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले मिशेल सेंटनर (67) को वोक्स ने आउट किया. सेंटनर आठवें विकेट के रूप में पवेलियन लौटे. उन्होंने 71 गेंदों का सामना करते हुए चार चौके और दो छक्के लगाए. इसके बाद, वोक्स ने टिम साउथी (10) को और कुरान ने ईश सोढ़ी (5) को आउट कर न्यूजीलैंड की पारी 223 रनों पर समेट दी. इस पारी में इंग्लैंड के लिए वोक्स और राशिद ने तीन-तीन विकेट लिए, वहीं कुरान को दो सफलता मिली. वुड और मोइन अली भी एक-एक विकेट लेने में सफल रहे.जॉनी बेयरस्टॉ ने मैच जिताऊ शतकीय पारी से इंग्लैंड को सीरीज 3-2 जिताने के साथ ही कुछ रिकॉर्ड भी अपनी झोली में डाले. चलिए नजर दौड़ा लीजिए. -यह बेयरस्टॉ का चौथा वनडे और न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा शतक रहा, -सिर्फ 58 गेदों पर शतक बनाया, इंग्लैंड के लिए तीसरा सबसे तेज शतक -किसी इंग्लैंड ओपनर द्वारा बनाया गया सबसे तेज शतक - यह उनका लगातार दूसरा शतक रहा. चौथे वनडे में 138 रन बनाए थे -बेयरस्टॉ ने सीरीज में 60.40 के औसत से 302 रन बनाए
हॉकी: भारतीय महिला टीम ने दक्षिण कोरिया को 3-1 से हराया, सीरीज में अजेय बढ़त बनाई
9 March 2018
सियोल: भारतीय महिला हॉकी टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए दक्षिण कोरिया के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज जीत ली है. दक्षिण कोरिया के दौरे में शुक्रवार को खेले गए चौथे मैच में भारतीय टीम ने 3-1 से जीत हासिल की. इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने पांच मैचों की सीरीज में 3-1 से अजय बढ़त बना ली है और सीरीज का पांचवां मैच महज औप‍चारिकता बनकर ही रह गया है. आज के मैच में भारत के लिए गुरजीत कौर, दीपिका और पूनम रानी ने गोल किए जबकि मेजबान देश कोरिया के लिए एकमात्र गोल मि ह्यून पार्क ने किया. गौरतलब है कि सीरीज के अंतर्गत पहले दो मैच भारतीय टीम ने जीते थे जबकि तीसरे मैच में दक्षिण कोरियाई टीम ने जीत हासिल की थी. सीरीज के चौथे मैच के पहले क्वार्टर के दूसरे ही मिनट में गुरजीत ने फील्ड गोल कर भारतीय टीम का खाता खोला. इसके बाद, दीपिका ने 13वें मिनट में गोल कर टीम को 2-0 की बढ़त दे दिला दी. दूसरे और तीसरे क्वार्टर में दोनों ही टीमों के बीच जोरदार संघर्ष हुआ लेकिन कोई भी टीम गोल करने में सफल नहीं हो पाई. चौथे क्वार्टर के तीसरे मिनट में वंदना से मिले पास को पूनम रानी (47वें मिनट) ने सीधे कोरिया के गोल पोस्ट में पहुंचा दिया. इस गोल के साथ भारतीय टीम ने मैच में 3-0 की बढ़त हासिल कर ली. कोरिया को मैच की समाप्ति के लिए बचे अंतिम तीन मिनट में गोल करने का अवसर मिला, 57वें मिनट में पार्क ने फील्ड गोल कर स्कोर 1-3 कर दिया. आखिरकार भारतीय टीम ने 3-1 से जीत हासिल करने में सफल रही
डोपिंग के कारण एक साल का बैन झेलने वाले अफगानिस्‍तान के मो. शहजाद ने अब पिच पर बल्‍ला पटका, दो मैच के लिए सस्‍पेंड
8 March 2018
हरारे: अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्‍मद शहजाद को आईसीसी के दो मैचों के निलंबन का सामना करना पड़ा है. शहजाद को इससे पहले डोपिंग टेस्‍ट में नाकाम रहने के कारण क्रिकेट की शीर्ष संस्‍था आईसीसी ने एक साल को बैन लगाया था और उन्‍होंने हाल ही में क्रिकेट में वापसी की है. शहजाद को इस बार दो मैचों को निलंबन बुधवार को आईसीसी आचार संहिता के उल्‍लंघन के कारण झेलना पड़ा है. आईसीसी क्रिकेट वर्ल्‍डकप क्वालीफायर के दौरान जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ मैच में उन्‍होंने जोर से बल्‍ला पटका था जिसके कारण पिच को नुकसान पहुंचा था.उनके इस व्‍यवहार को आचार संहिता का उल्लंघन माना गया. शहजाद के डीमेरिट अंक चार हो जाने के कारण उन्‍हें क्रिकेट वर्ल्‍डकप क्वालीफायर के अगले दो मैचों से निलंबित कर दिया गया. यही नहीं, शहजाद को ताजा गलती के लिए अपनी मैच फीस का 15 प्रतिशत हिस्सा गंवाना पड़ा और उनके खाते में एक डीमेरिट अंक जुड़ गया. जिम्‍बाब्वे के खिलाफ मैच के दौरान शहजाद ने आउट होने के बाद बगल वाली पिच पर बल्ला पटका था जिससे पिच को नुकसान हुआ था. उन्‍हें आईसीसी की आचार संहिता के अनुच्छेद 2.1.8 के उल्लंघन का दोषी पाया गया, जो किसी अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान क्रिकेट उपकरणों या पोशाक, मैदानी उपकरण आदि को नुकसान पहुंचाने से संबंधित है शहजाद को इससे पहले 12 दिसंबर 2016 को दुबई में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई ) के खिलाफ टी-20 मैच के दौरान आइसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन के लिए 100 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगाया गया था. तब उनके खाते में तीन डीमेरिट अंक जोड़े गए थे. अब एक और डीमेरिट अंक जुड़ने से उनके चार डीमेरिट अंक हो गए, जो दो निलंबन अंकों के बराबर हैं. शहजाद पर डोपिंग में नाकाम करने के कारण आईसीसी एक साल का बैन भी लगा चुका है. डोप टेस्‍ट में नाकाम रहने के कारण इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने उन पर यह कार्रवाई की थी. शहजाद ने दुबई में 17 जनवरी 2017 को अपना यूरिन सैंपल दिया था, जांच के बाद उसमें वह तत्व (क्लेनबूटेरॉल) पाया गया जो वाडा की लिस्ट में बैन है. शहजाद पर जो बैन लगाया गया था वह 17 जनवरी 2017 से लागू हुआ और 17 जनवरी 2018 को खत्म हुआ था
दक्षिण अफ्रीका दौरे में विराट कोहली की टीम इंडिया ने जीता दिल, इस समस्‍या के समाधान के लिए दिया दान
28 February 2018
जोहानेसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गई विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली भारतीय क्रिकेट टीम ने केपटाउन शहर की जल समस्‍या के समाधान के लिए आर्थिक सहयोग दिया है. भारतीय और दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम ने पानी की कमी की गंभीर संकट से जूझ रहे केपटाउन शहर में पानी की बोतल पहुंचाने और बोरवेल बनवाने के लिए लगभग साढे आठ हजार डॉलर की राशि दान की है. टी20 सीरीज के अंतर्गत शनिवार को हुए तीसरे और आखिरी मैच के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली और दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस ने 1,00,000 रैंड (दक्षिण अफ्रीकी मुद्रा) ‘द गिफ्ट ऑफ दी गिवर्स फाउंडेशन’ को दान में दिए. यह अफ्रीकी महाद्वीप का सबसे बड़ा आपदा राहत संगठन है. फाउंडेशन के चेयरमैन इम्तियाज सुलिमान ने कहा कि दान में मिली इस राशि का अच्‍छे काम के लिए इस्‍तेमाल किया जाएगा. फाउंडेशन इस मदद के लिए भारतीय और दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम की सराहना करती है. इस मदद से हमें उन क्षेत्रों में बोरवेल बनवाने में मदद मिलेगी, जो पानी की कमी से जूझ रहे हैं. फंड का इस्‍तेमाल मानसिक और शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के घरों में पानी पहुंचाने के लिए भी किया जाएगा पिछले माह केपटाउन के रहवासियों के लिए प्रतिदिन अधिकतम 50 लीटर पानी इस्‍तेमाल करने की सीमा निर्धारित कर दी गई थी. शहर के मेयर ने कहा था कि जलसंकट बेहद गंभीर होता जा रहा है और इसमें केपटाउन के हर नागरिक को सहयोग करना होगा. फाफ डु प्‍लेसिस ने कहा कि केपटउन में दोनों टीमों को भी जलसंकट से सामना करना पड़ा था. कोहली से चर्चा के बाद हमने कुछ जर्सी पर टीम के सदस्‍यों के हस्‍ताक्षर कराकर इनकी नीलामी का फैसला किया. इससे जो भी राशि मिली, उसका केपटाउन जल संकट के समाधान में इस्‍तेमाल किया जाएगा.गौरतलब है कि विराट कोहली ब्रिगेड ने दक्षिण अफ्रीका के दौरे में शानदार प्रदर्शन करते हुए वनडे और टी20 सीरीज अपने नाम की. टीम इंडिया ने जहां वनडे सीरीज 5-1 से जीती, वहीं टी20 सीरीज में वह 2-1 से विजयी रही थी
IPL 2018: वीरेंद्र सहवाग ने बताया, इस कारण आर. अश्विन को चुना गया किंग्‍स इलेवन पंजाब का कप्‍तान
27 February 2018
इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2018 के लिए स्‍टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को किंग्‍स इलेवन पंजाब (KXIP) का कप्‍तान नियुक्‍त किया गया है. टीम इंडिया के पूर्व स्‍टार बल्‍लेबाज और इस समय किंग्‍स इलेवन के मेंटर वीरेंद्र सहवाग ने फेसबुक के एक लाइव सेशन के दौरान अश्विन को कप्‍तान बनाए जाने का खुलासा किया. अश्विन के अलावा विस्‍फोटक बल्‍लेबाज युवराज सिंह को भी कप्‍तानी का दावेदार माना जा रहा था. सहवाग ने उन वजहों का खुलासा किया जिसके कारण अश्विन के पक्ष में फैसला लिया गया. किंग्‍स इलेवन टीम के मेंटर ने कहा कि टीम मैनेजमेंट ने दीर्घकालीन विकल्‍प को ध्‍यान में रखते हुए अश्विन को कप्‍तान के रूप में चुना है. वीरू ने कहा कि वे हमेशा चाहते थे कि कोई गेंदबाज ही कप्‍तान बने क्‍योंकि एक गेंदबाज खेल को किसी और की तुलना में अधिक बेहतर समझता है. उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि अश्विन के नेतृत्‍व में टीम अच्‍छा प्रदर्शन करेगी. सहवाग ने कहा, 'मैं हमेशा सोचता था यदि किसी को कप्‍तान बनाना चाहिए तो यह गेंदबाज ही होना चाहिए. मैं वसीम अकरम, वकार यूनुस और कपिल देव का बहुत बड़ा फैन हूं. ये सभी गेंदबाज थे और कप्‍तान के रूप में टीम के लिए अच्‍छा प्रदर्शन किया. मुझे पूरी तरह आश्‍वस्‍त हूं कि इस सीजन में अश्विन, किंग्‍स इलेवन पंजाब के लिए चमत्‍कार करेंगे.' उन्‍होंने काह कि अश्विन की खासियत यह है कि वे बेहद स्‍मार्ट हैं और गेंदबाजी में तेजी से बदलाव कर सकते हैं. अश्विन टी20 के फॉर्मेट को किसी अन्‍य की तुलना में बेहतर तरीके से समझते हैं क्‍योंकि वे पावर प्‍ले में बॉलिंग करते रहे हैं. वे स्‍लॉग ओवर्स में गेंदबाजी करने के अभ्‍यस्‍त हैं इस समय वनडे और टी20 की भारतीय टीम से बाहर चल रहे अश्विन ने यह जिम्‍मेदारी मिलने के बाद कहा, 'इतने प्रतिभाशाली खिलाड़ियों से सुसज्जित खिलाड़ियों की जिम्मेदारी मिलने से मैं बहुत ही सम्मानित महसूस कर रहा हूं. मैं खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ हासिल करने के प्रति मैं बहुत ही विश्वस्त हूं. वास्तव में मेरे लिए यह बहुत ही गौरव का पल है.' उन्होंने कहा कि कप्‍तानी संभालने को लेकर मैं किसी तरह का दबाव महसूस नहीं कर रहा. मैंने पहले ही 21 साल की उम्र में तमिलनाडु की कप्तानी की है. और अब मुझे उम्मीद है कि मैं इस चुनौती का पूरा लुत्फ उठाऊंगा.
ENG VS NZ: रॉस टेलर ने शतक के साथ जीत न्यूजीलैंड को जीत दिलाई, स्पेशल रिकॉर्ड भी बनाया
26 February 2018
हैमिल्टन: रॉस टेलर (113) की शतकीय पारी के दम पर न्यूजीलैंड ने रविवार को खेले गए पहले वनडे मैच में इंग्लैंड को तीन विकेट से हरा दिया. सेडोन पार्क में खेले गए इस मैच में जीत हासिल कर पांच वनडे मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है. इस मैच में टेलर के अलावा टॉम लाथम की 79 रन ने भी अहम भूमिका निभाई. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड ने निर्धारित ओवरों में न्यूजीलैंड को 285 रनों का लक्ष्य दिया, जिसे न्यूजीलैंड ने 287 रन बनाकर हासिल कर लिया. लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड के लिए पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही. 100 का आंकड़ा पार करने से पहले ही उसने मार्टिन गुप्टिल (13) और कप्तान केन विलियमसन (8) के रूप में अपने अहम बल्लेबाजों को गंवाने के साथ मुनरो (6) का विकेट भी गंवाया. यहां टीम के लिए उम्मीद की किरण बनकर आए टेलर और लाथम ने 178 रनों की बेहतरीन शतकीय साझेदारी कर टीम को मजबूत किया. न्यूजीलैंड ने सात विकेट गंवाकर 287 रन बनाने के साथ ही मैच जीत लिया. इंग्लैंड के लिए इस पारी में वोक्स और स्टोक्स ने दो-दो विकेट लिए, वहीं विले, टॉम कुरान और राशिद को एक-एक सफलता मिली. इससे पहले इंग्लैंड ने शुरुआत में ही जॉनी बेयरस्टॉ (4) के रूप में अपना पहला विकेट गंवा दिया. वह ट्रैंट बाउल्ट की गेंद पर टेलर के हाथों लपके गए. इसके बाद, सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय (49) और जोए रूट (71) के साथ मिलकर 79 रनों की शानदार अर्धशतकीय साझेदारी की. मिशेल सेंटनर ने इस साझेदारी में खलल डाली. सेंटनर ने रॉय को बोल्ड कर पैवेलियन भेजा. इसके बाद रूट का साथ देने आए कप्तान इयोन मोर्गन (8) को ईश सोढी ने सस्ते में निपटा दिया. वह साउथी के हाथों लपके गए. सेंटनर ने बेन स्टोक्स (12) को भी चलता किया. एक छोर पर टीम की पारी संभाले रूट कोलिन मुनरो का शिकार हुए. इस कदर बिखर रही टीम को जोस बटलर ने संभाला. बटलर ने 79 रनों की शानदार पारी खेलते हुए टीम को 284 के स्कोर तक पहुंचाया. रॉस टेलर की पारी की खासियत यह रही कि उन्होने वनडे में अपने 7000 रन पूरे कर लिए. ऐसा कारमाना करने वाले रॉस टेलर स्टीफन फ्लेमिंग और नॉथ एस्ले के बाद सिर्फ तीसरे कीवी क्रिकेटर बन गए.
India vs South Africa : तो इन बदलावों के साथ तीसरे टी-20 में इतिहास रचने उतरेगी टीम इंडिया
24 February 2018
केपटाउन: टीम इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला आज केपटाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेला जाएगा. भारतीय टीम निर्णायक तीसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में शनिवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उतरेगी तो उसका इरादा उतार चढाव से भरे इस दौरे का जीत के साथ शानदार अंत करने का होगा. पिछले मैच में मिली हार के झटके से उबरते हुए विराट कोहली की टीम आठ सप्ताह लंबे इस दौरे को एक और श्रृंखला जीतकर अंजाम तक पहुंचाना चाहेगी. तीन मैचों की श्रृंखला फिलहाल 1.1 से बराबर है. भारत ने जोहानिसबर्ग में पहला टी20 मैच 28 रन से जीता. इसके बाद दक्षिण अफ्रीका ने सेंचुरियन में छह विकेट से जीतकर बराबरी की. भारत ने न्यूलैंड्स पर कभी टी20 क्रिकेट नहीं खेला है . यहां भारत का यह पहला टी20 मैच है जबकि दक्षिण अफ्रीका ने यहां आठ टी20 खेलकर पांच गंवाए हैं. उसे दो जीत 2007 टी20 विश्व कप में मिली और द्विपक्षीय श्रृंखला में एकमात्र जीत 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ मिली थी. दक्षिण अफ्रीका ने दिखा दिया है कि टी20 प्रारूप उसे अधिक रास आता है. उसने वर्षाबाधित पिंक वनडे जीता और इस श्रृंखला के पहले मैच में भी 204 रन का लक्ष्य हासिल करने के करीब पहुंचा था. पिछले मैच में कार्यवाहक कप्तान जेपी डुमिनी ने मोर्चे से अगुवाई करते हुए रणनीति पर अमल किया. अब देखना यह होगा कि मेजबान टीम अपनी गेंदबाजी की क्या रणनीति बनाती है और भारतीय गेंदबाजों पर दबाव बनाने के लिए क्या करती है. पिछले मैच में दक्षिण अफ्रीका ने अंतिम एकादश में बदलाव नहीं किया और अब यह देखना होगा कि निर्णायक मैच में भी क्या वे इस पर कायम रहते हैं. जोन जोन स्मट्स प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे हैं जबकि डेविड मिलर भी खराब फार्म में है. भारतीय टीम में जसप्रीत बुमराह पेट में खिंचाव के कारण बाहर रहे थे. अभी भी उनका खेलना तय नहीं है. टीम प्रबंधन उन्हें लेकर कोई जोखिम नहीं लेना चाहेगा क्योंकि श्रीलंका में त्रिकोणीय श्रृंखला दो सप्ताह बाद ही खेलनी है. भारतीय गेंदबाजों में जयदेव उनादकट काफी महंगे साबित हुए जिन्होंने 9.78 की औसत से 75 रन दिए. युजवेंद्र चहल ने आठ ओवर में 103 रन देकर एक विकेट लिया. ऐसे में कोहली गेंदबाजी आक्रमण में बदलाव की सोच सकते हैं. बुमराह के खेलने पर उनादकट को बाहर रखा जा सकता है. शरदुल ठाकुर ने चार ओवर में 31 रन देकर एक विकेट लिया था. भारतीय टीम अक्षर पटेल को भी उतार सकती है जिससे तीसरे तेज गेंदबाज के रूप में हार्दिक पंड्या पर फोकस होगा.
IND vs SA T20 series: द. अफ्रीका के हेनरिक क्‍लासेन के अलावा यह खिलाड़ी भी हैं मैन ऑफ द सीरीज के दावेदार
23 February 2018
नई दिल्‍ली: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टी20 मैचों की सीरीज का अंतिम मैच शनिवार को खेला जाएगा. टी20 सीरीज में अब तक कांटे का मुकाबला हुआ है और दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं.पहला टी20 मैच भारतीय टीम ने 28 रन से जीता था जबकि दूसरे मैच में मेजबान दक्षिण अफ्रीका ने 6 विकेट से जीत हासिल की थी. भारत की ओर से शिखर धवन, मनीष पांडे और भुवनेश्‍वर कुमार ने जोरदार खेल दिखाया है. दूसरी ओर, दक्षिण अफ्रीका के लिए हेनरिक क्‍लासेन, रीजा हेंड्रिक्‍स और कप्‍तान जेपी डुमिनी का प्रदर्शन मेजबान टीम के लिए हौसला बढ़ाने वाला रहा है. इन खिलाड़ि‍यों में मैन ऑफ द सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका के हेनरिक क्‍लासेन, मनीष पांडे, शिखर धवन और भुवनेश्‍वर कुमार मजबूत दावेदार माने जा रहे हैं. दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्‍लेबाज हेनरिक क्‍लासेन दो टी20 मैचों के बाद रन बनाने के मामले में भले ही चौथे स्‍थान पर हैं लेकिन उनका स्‍ट्राइक रेट अब तक कमाल का (223.68) का रहा है. सेंचुरियन टी20 में 30 गेंदों पर खेली गई 69 रन की धमाकेदार पारी के लिए वे मैन ऑफ द मैच रहे थे. क्‍लासेन ने दो मैचों में अब तक 8 छक्‍के लगाए हैं. पहले टी20 मैच में भी उन्‍होंने 8 गेंदों पर 16 रन बनाए थे. रनों के लिहाज से भारत के मनीष पांडे ने दो मैचों में सर्वाधिक 108 रन (स्‍ट्राइक रेट 144) बनाए हैं और दोनों ही मैचों में वे नाबाद रहे थे. शिखर धवन दो मैचों में 96 रन (स्‍ट्राइक रेट 181.13) बनाकर दूसरे स्‍थान पर हैं. मेजबान टीम के दक्षिण अफ्रीका ने भी शिखर के बराबर 96 रन बनाए हैं लेकिन उनका स्‍ट्राइक रेट 143.28 का है. क्‍लासेन दो मैचों में 85 रन बनाते हुए चौथे और एमएस धोनी इतने ही मैचों में 68 रन (स्‍ट्राइक रेट 174.36)बनाकर पांचवें स्‍थान पर हैं. गेंदबाजी में भुवनेश्‍वर कुमार दो मैचों में पांच विकेट लेकर पहले स्‍थान पर हैं. सीरीज के पहले टी20 मैच में ही उन्‍होंने पांच विकेट हासिल किए हैं. दक्षिण अफ्रीका के जूनियर डाला दो मैचों में तीन विकेट लेकर दूसरे और भारत के जयदेव उनादकट इतने ही मैचों में तीन विकेट लेकर तीसरे स्‍थान पर हैं. एंडिले फेलुकवायो और हार्दिक पंड्या ने भी दो-दो विकेट हासिल किए हैं, लेकिन भुवनेश्‍वर कुमार को छोड़कर अन्‍य सभी गेंदबाज बेहद महंगे रहे हैं.
IND vs SA: सेंचुरियन टी20 मैच की जीत के बाद इस दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर ने कहा, 'निर्णायक मैच का इंतजार है
22 February 2018
सेंचुरियन टी20 मैच में मेजबान दक्षिण अफ्रीका की छह विकेट की जीत ने तीन मैचों की सीरीज को रोमांचक मोड़ पर पहुंचा दिया है. भारत और दक्षिण अफ्रीका, अब दो मैचों के बाद 1-1 की बराबरी पर हैं और तीसरा टी20 मुकाबला दोनों टीमों के लिए 'करो या मरो' की तरह हो गया है. सीरीज के दूसरे टी20 मैच में जेपी डुमिनी के बल्‍लेबाजों ने जिस पेशेवर अंदाज में भारत के 188 रन के स्‍कोर को चेज किया, उसने दक्षिण अफ्रीकी फैंस को खुश कर दिया है. टीम के टेस्‍ट और वनडे के नियमित कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस ने भी दक्षिण अफ्रीकी टीम के इस प्रदर्शन को सराहा है. टीम की जीत के बाद उन्‍होंने ट्विटर पर लिखा, 'युवा दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ियों ने जबर्दस्‍त क्षमता दिखाई. जेपी डुमिनी और हेनरिक क्‍लासेन अच्‍छी बल्‍लेबाजी की. जूनियर डाला की गेंदबाजी का भी आनंद लिया. सीरीज के निर्णायक मैच का इंतजार है. गौरतलब है कि डु प्‍लेसिस चोट के कारण इस समय दक्षिण अफ्रीका टीम का हिस्‍सा नहीं है. वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में उन्‍होंने शतक बनाया था लेकिन इसी दौरान उनकी अंगुली ने चोट लग गई थी. इस कारण उन्‍हें दक्षिण अफ्रीकी की टीम से बाहर होना पड़ा. डु प्‍लेसिस के अलावा विकेटकीपर बल्‍लेबाज क्विंटन डिकॉक और एबी डिविलियर्स की भी कमी दक्षिण अफ्रीका को वनडे सीरीज में खेली. जहां डिकॉक चोट के कारण पूरी सीरीज से बाहर हो गए थे, वहीं 360 डिग्री बल्‍लेबाज कहे जाने वाले एबी सीरीज के आखिरी तीन मैच खेल पाए थे. भारतीय टीम ने वनडे सीरीज 5-1 के अंतर से जीती थी. टी20 सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका ने हाशिम अमला, एडेन मार्कराम और इमरान ताहिर जैसे अनुभवी खिलाड़ि‍यों को आराम दिया था. वनडे मैचों में अच्‍छा प्रदर्शन करने वाले हेनरिक क्‍लासेन के अलावा क्रिस्टियन जोंकर और जूनियर डाला के रूप में दो और नए चेहरों को टीम में स्‍थान दिया गया था. वनडे सीरीज में जोरदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय टीम की तुलना में दक्षिण अफ्रीका की यह टीम अनुभवहीन मानी जा रही थी लेकिन सेंचुरियन टी20 जीतकर उसने अपनी क्षमता दिखा दी है.
IND VS SA : टी-20 सीरीज जीतने मैदान पर उतरेगी टीम इंडिया, इन खिलाड़ियों पर रहेगी नजर
21 February 2018
नई दिल्ली: कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट टीम आज तीन मैचों की टी-20 सीरीज पर कब्जा जमाने के इरादे से सेंचुरियन के सुपर स्पोर्ट पार्क में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरा टी-20 मैच खेलेगी. भारत ने 18 फरवरी को जोहानसबर्ग में खेले गए सीरीज के पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को 28 रनों से हराया था. उस जीत के बाद भारतीय टीम ने सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल की है. वह आज दूसरा मैच जीतकर इस सीरीज में अजेय बढ़त हासिल करना चाहेगी. कोहली की टीम अच्छे फॉर्म में है. सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने रोहित शर्मा के साथ पिछले मैच में टीम को अच्छी शुरुआत दी थी. इसके अलावा, कप्तान कोहली और मनीष पांडे ने भी अच्छा प्रदर्शन किया ऐसे में भारतीय टीम दूसरे मैच में भी टीम अच्छा स्कोर खड़ा कर सकती है. गेंदबाजों की बात की जाए, तो भुवनेश्वर कुमार अकेले ही दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों पर भारी पड़े थे. उन्होंने एक ओवर में तीन विकेट लेने के साथ ही मैच का रुख पूरी तरह से मोड़ दिया था. इसके अलावा, रही सही कसर हार्दिक पांड्या, युजवेंद्र चहल और जयदेव उनादकट ने पूरी कर दी थी. इस लिहाज से भारतीय टीम का पलड़ा भारी है. दूसरी ओर, पिछले मैच में मिली हार पर दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने निराशा जताई थी. उनके अनुसार, शुरुआत में टीम के बल्लेबाज अच्छी साझेदारी नहीं कर पाए. मेजबान के लिए रीजा हैंड्रिक्स ने सबसे अधिक 70 रन बनाए थे इसके अलावा, कप्तान ड्यूमिनी, डेविड मिलर कुछ खास नहीं कर पाए थे. टीम के पास उनके अनुभवी खिलाड़ी अब्राहम डिविलियर्स भी नहीं हैं और उनकी अनुपस्थिति का प्रभाव दक्षिण अफ्रीका के प्रदर्शन पर साफ नजर आया. ऐसे में देखा जाए, तो दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को अधिक मेहनत करनी होगी. जहां तक गेंदबाजों का सवाल है, तो पिछले मैच से टी-20 प्रारूप में पदार्पण करने वाले जूनियर डाला ने सबसे अधिक विकेट लिए थे. क्रिस मौरिस, डेन पेटरसन और तबरेज शम्सी कुछ खास कमाल नहीं कर पाए. ड्यूमिनी ने इस बात को माना है कि मैच जीतने के लिए युवा खिलाड़ियों पर निर्भर नहीं रहा जा सकता. ऐसे में दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी गेंदबाजों को भारतीय बल्लेबाजों के बल्ले से निकलने वाले रनों को रोकने के लिए नई रणनीति अपनानी होगी.
IPL 2018: न्‍यूजीलैंड के इस गेंदबाज ने कहा, 'खुश हूं MS धोनी को मैच में बॉलिंग करने का मौका नहीं मिलेगा
20 February 2018
चेन्नई: आईपीएल के 11वें सीजन में न्‍यूजीलैंड के स्पिनर मिचेल सेंटनर चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स टीम की ओर से खेलते नजर आएंगे. CSK टीम के धाकड़ प्‍लेयर महेंद्र सिंह धोनी की आक्रामक बल्लेबाजी की क्षमता से सेंटनर अच्‍छी तरह परिचित हैं. ऐसे में वे इस बात से खुश है कि आईपीएल में उन्‍हें मैच के दौरान 'माही' को गेंदबाजी करने का मौका नहीं मिलेगा. सेंटनर ने कहा कि कि उन्हें खुशी है कि वह आगामी IPLसीजन में पूर्व भारतीय कप्तान को चेन्नई सुपरकिंग्स के नेट्स पर गेंदबाजी करेंगे, मैच में नहीं.आईपीएल के आगामी सत्र के लिए सेंटनर को धोनी की अगुवाई वाली सुपरकिंग्स (CSK) टीम ने खरीदा है. आईपीएल नीलामी में 50 लाख रुपये में चेन्‍नई टीम से जुड़ने वाले सेंटनर ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि मैं धोनी को मैच की जगह अब नेट्स पर गेंदबाजी करूंगा.’ सेंटनर टीम के साथ जुड़ने और धोनी, सुरेश रैना तथा रवींद्र जडेजा जैसे खिलाड़ियों के साथ खेलने को लेकर उत्सुक हैं. सेंटनर ने पिछले साल न्यूजीलैंड के सीमित ओवरों के भारत के दौरे के दौरान अपने नियंत्रण और चतुराई से प्रभावित किया था. हेमिल्टन में जन्मा यह गेंदबाज इस साल जनवरी में पहली बार टी20 अंतरराष्ट्रीय गेंदबाजी रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचा था. 26 साल के सेंटनर टीम में हरफनमौला की हैसियत से खेलते हैं.उन्‍होंने न्‍यूजीलैंड का 17 टेस्‍ट, 48 वनडे और 26 टी20 मैचों में प्रतिनिधित्‍व किया है. टेस्‍ट में उन्‍होंने 535 रन (औसत 25.47) बनाने के अलावा 34 विकेट हासिल किए हैं. वनडे मैचों में उन्‍होंने 22.20 के औसत से 555 रन बनाए हैं और 56 विकेट हासिल किए हैं. टी20 इंटरनेशनल में 170 रन और 28 विकेट सेंटनर के नाम पर दर्ज हैं.
IND VS SA 1st T20: ये 3 कारनामे किए मैन ऑफ द मैच भुवनेश्वर कुमार ने जोहानिसबर्ग में
19 February 2018
नई दिल्ली: टीम इंडिया का मैनेजमेंट भले ही भुवनेश्वर कुमार को फाइनल इलेवन से कभी अंदर कभी बाहर कर रहा हो, लेकिन इस सीमर जोहानिसबर्ग के न्यूवांडर्स में खेले गए पहले टी-20 मुकाबले में पांच विकेट लेकर यह साबित किया कि वह हर फॉर्मेट, हर मैच और हर जगह खेलने के हकदार हैं. मैन ऑफ द मैच भुवनेश्वर कुमार ने इस मैच में कई रिकॉर्ड अपनी झोली में डाले. चलिए आपको बारी-बारी से विस्तार से इनके बारे में बताते हैं.
यह बड़ा कारनामा करने वाले पहले भारतीय गेंदबाज जोहानिसबर्ग टी-20 से पहले तक भारत की तरफ से खेल के तीनों फॉर्मेटों में पांच विकेट किसी भी गेंदबाज ने नहीं लिए थे. अब इस पर भुवनेश्वर ने अपना नाम लिखवा लिया है (टेस्ट में चार और वनडे और टी-20 में एक-एक बार)
सिर्फ दूसरे भारतीय गेंदबाज टी-20 में भुवी से पहले पांच विकेट भारत के लिए सिर्फ लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने चटकाए थे. अब भुवनेश्वर ऐसा करने वाले सिर्फ दूसरे भारतीय गेंदबाज बन गए हैं. जब-जब भुवनेश्वर की अनदेखी होती है, वह बहुत ही शानदार जवाब टीम मैनेजमेंट को देते हैं. उम्मीद है कि आगे किसी वनडे या दूसरे मैच में आराम देने से पहले टीम मैनेजमेंट कई बार सोचेगा. सेंचुरियन में खेले गए आखिरी वनडे में जब चर्चा जसप्रीत बुमराह को रेस्ट देने की हो रही थी, तो टीम मैनेजमेंट ने भुवनेश्वर को इस मैच की इलेवन से बाहर रखा था.

Ind vs SA : जीत के साथ सीरीज का अंत करना चाहेगी टीम इंडिया
16 February 2018
नई दिल्ली: भारत और दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीमों के बीच जारी छह मैचों की वनडे सीरीज का अंतिम मुकाबला शुक्रवार को यहां खेला जाएगा. दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली भारतीय टीम एक और जीत अपने नाम कर इस सीरीज का अंत 5-1 से करने के इरादे से उतरेगी. भारत ने पहले ही 4-1 से सीरीज अपने नाम कर ली है, लेकिन वह किसी भी हालत में सीरीज को हार के साथ खत्म नहीं करना चाहेगी. दोनों टीमें सुपर स्पोर्ट पार्क मैदान पर आमने-सामने होंगी. इससे पहले इसी सीरीज में यह दोनों टीमें इस मैदान पर दूसरे वनडे में भिड़ चुकी हैं. इस मैच में भारत ने नौ विकेट से जीत दर्ज की थी. पांचवें वनडे में भारत ने मेजबान टीम को 73 रनों से मात दी थी और इसी के साथ दक्षिण अफ्रीका में पहली वनडे सीरीज जीतने का इतिहास रचा था. इस सीरीज जीत के साथ ही भारत आईसीसी वनडे रैंकिंग में पहले स्थान पर आ गया था. वहीं मेजबान टीम इस स्थिति में एक ही कोशिश कर सकती है वो है सीरीज का अंत जीत के साथ करने की, लेकिन वो भी जानती है कि यह उसके लिए किसी भी लिहाज से आसान नहीं है क्योंकि भारत ने इस पूरी सीरीज में जो क्रिकेट खेली है वो मेजबान पर पूरी तरह से खेल के हर विभाग में हावी होकर खेली है. मेहमान सीरीज जीतने के बाद इस मैच को किसी भी हालत में हल्के में तो नहीं लेगा. वह इस मैच में वही क्रिकेट खेलना चाहेगा जो अभी तक खेलता आ रहा है. दक्षिण अफ्रीका इस मैच में हाशिम अमला और अब्राहम डिविलियर्स पर ज्यादा निर्भर करेगी. इन दोनों के अलावा ज्यां पॉल ड्यूमिनी और डेविड मिलर पर भी बड़ी जिम्मेदारी होगी. गेंदबाजी का दारोमदार काफी हद तक कागिसो रबादा और पिछले मैच में चार विकेट लेने वाले लुंगी नगिड़ी पर होगा।
IND vs SA: शॉन पोलाक ने बताया, क्‍यों विराट कोहली के पसंदीदा खिलाड़ी हैं हरफनमौला हार्दिक पंड्या.
15 February 2018
पोर्ट एलिजाबेथ: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान और तेज गेंदबाज शॉन पोलाक ने कहा है कि विराट कोहली भारतीय टीम के हरफनमौला हार्दिक पंड्या में अपनी झलक देखते हैं. उन्होंने भारतीय टीम में हार्दिक को लंबे समय तक मौके मिलने की भविष्यवाणी भी की. पोलाक ने कहा, ‘कोहली को हार्दिक पंड्या का खेल के प्रति रवैया पसंद है. विराट जिस तरह का क्रिकेट खेलते हैं, हार्दिक के खेल से यह काफी मेल खाता है. ऐसे में यह तय है कि पंड्या को टीम में जमने और अपनी जगह पक्की करने के लिए लंबा समय मिलेगा.’टेस्ट क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल गेंदबाज पोलाक ने कहा, ‘यह क्रिकेट की प्रकृति है, अगर कप्तान किसी खिलाड़ी के खेलने के तरीके को पसंद करता है तो खिलाड़ी को अतिरिक्त मौके मिलते हैं. मेरी राय में इसके कुछ भी गलत नहीं है गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांचवें वनडे में हार्दिक बैटिंग करते हुए तो बिना कोई रन बनाए आउट हो गए, लेकिन गेंदबाजी में उन्‍होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए दो विकेट लिए. फील्डिंग में भी कमाल करते हुए उन्‍होंने एक कैच लपका और एक बल्‍लेबाज को रन आउट किया. उनके इस प्रदर्शन का जीत को 73 रन की जीत दिलाने में अहम योगदान रहा. छह वनडे मैचों की सीरीज में टीम इंडिया इस समय 4-1 की बढ़त हासिल कर चुकी है. युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की कलाई के स्पिनरों की जोड़ी ने भी अच्छा प्रदर्शन करते हुए मिलकर एक बार फिर छह विकेट चटकाए. इन दोनों स्पिनरों की तारीफ करते हुए पोलाक ने कहा, ‘अगर आप उनके वनडे आंकड़े देखो तो कुलदीप का औसत 20 से कम है और उसने 38 विकेट चटकाए हैं. चहल भी इसी तरह का है और उसका औसत 22 का है. इन दोनों का इकोनामी रेट भी शानदार है. लेकिन क्या वे इंग्लैंड में भारत को वर्ल्‍डकप जिता सकते हैं? यह अच्छा है कि आपको वहां का दौरा करने का मौका मिलेगा जिससे वहां उनके प्रदर्शन का आकलन हो सकेगा. आपको इंग्लैंड में हमेशा ऐसे विकेट नहीं मिलेंगे जहां गेंद टर्न हो.
IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज जीत ने टीम इंडिया के फैंस को दी यह बड़ी खुशी
14 February 2018
दुबई: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज जीत टीम इंडिया के लिए बड़ी खुशी लेकर लेकर आई है. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसके मैदान पर पहली बार द्विपक्षीय सीरीज जीतकर विराट कोहली की टीम इंडिया ने न केवल नया इतिहास रचा है, बल्कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC)वनडे टीमों की रैंकिंग में पहला स्थान भी हासिल कर लिया है. पिछले छह माह में भारतीय टीम तीसरी बार वनडे रैंकिंग में टॉप पोजीशन पर आई है. छह वनडे मैचों की सीरीज में चार मैच जीतने के साथ ही भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 4-1 की अजेय बढ़त बना ली है. मंगलवार को पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए पांचवें मैच में भारत ने 73 रनों से जीत हासिल की थी भारत वनडे टीमों की रैंकिंग में 122 अंकों के साथ पहले स्थान पर काबिज है, जबकि दक्षिण अफ्रीका पिछड़कर 118 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर आ गया है. इंग्लैंड 116 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है.भारत की सीरीज जीत का साफ मतलब यह है कि इंग्लैंड वनडे सीरीज में न्यूजीलैंड को 5-0 से मात दे देता है, तो वह दक्षिण अफ्रीका को पछाड़ते हुए दूसरा स्थान हासिल कर लेगा
IND vs SA : आज टीम इंडिया के पास दक्षिण अफ्रीका में इतिहास रचने का मौका
13 February 2018
नई दिल्ली: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जारी छह मैचों की वनडे सीरीज का पांचवां मुकाबला आज खेला जाएगा. चौथे वनडे में हार का सामना करने वाली भारतीय टीम कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में दक्षिण अफ्रीका को हराकर पहली बार इस टीम के खिलाफ उसके घर में कोई द्वीपक्षीय सीरीज जीतने का रिकॉर्ड बनाना चाहेगी. भारत ने छह मैचों की वनडे सीरीज के पहले तीन मैचों में धमाकेदार जीत दर्ज की लेकिन चौथे वनडे में मेजबान ने वापसी करते हुए सीरीज को बराबरी पर खत्म करने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखा. पिछले कुछ वर्षो के दौरान वनडे क्रिकेट में दक्षिण अफ्रीका में भारत का रिकॉर्ड खराब रहा है, लेकिन विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम इसे बदल सकती है. साल 2013-14 के दौरान हुई वनडे सीरीज में भारत को दक्षिण अफ्रीका के हाथों 0-2 से हार झेलनी पड़ी थी. 2010-11 में हुई सीरीज में मेहमान टीम ने दक्षिण अफ्रीका को कड़ी टक्कर दी थी, लेकिन भारतीय टीम 2-3 से सीरीज हार गई. मौसम विभाग ने आज को शहर में बारिश होने का अनुमान लगाया है, जिससे टीम संयोजन पर असर पड़ सकता है, क्योंकि दोनों कप्तान मौसम के मिजाज को देखते हुए अंतिम एकादश का चयन करना चाहेंगे.
IND VS SA: इसलिए युजवेंद्र चहल पर बरसे सुनील गावस्कर, कहीं ये 'तीन अहम बातें'
12 February 2018
नई दिल्ली: अपने समय के दिग्गज बल्लेबाज और कमेंटेटर सुनील गावस्कर जोहानेसबर्ग में भारतीय स्पिनर युजवेंद्र चहल के प्रदर्शन पर जमकर बरसे हैं. गावस्कर की नाराजगी की वजह भी वही है, जो करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों की है. लेकिन गावस्कर ने चौथे वनडे को लेकर एक नहीं, कई खास बातें कही हैं. हम याद दिला दें कि शुरुआती तीन वनडे मैचों में स्टार साबित हुए युजवेंद्र चहल ने चौथे वनडे में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज डेविड मिलकर को तब आउट कर दिया था, जब यह दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज सिर्फ सात के निजी योग पर था. लेकिन युजवेंद्र चहल की यह गेंद नोबॉल रही. और इस मिले फायदे को डेविड मिलर ने दोनों हाथों से जमकर भुनाया. डेविड मिलर ने यह जीवनदान मिलने के बाद क्लासेन के साथ मिलकर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की जमकर पिटाई करते हुए 28 गेंदों पर नाबाद 39 रन ठोकते हुए अपनी टीम को पांच विकेट से जीत दिलाकर पिंक-डे पर न हारने की परंपरा को बरकरार रखा. बहरहाल हम गावस्कर द्वारा कही गई अहम बातों के बारे में आपको बताते हैं
कोई भी बॉलर नो बॉल से बचे गावस्कर ने कहा कि मैं युजवेंद्र के बारे में पूरी इमानदारी से कहूंगा. सभी तरह की तकनीक की उपलब्धता के साथ आधुनिक क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज को नो-बॉल नहीं फेंकनी चाहिएं. लेग स्टंप के बाहर वाइड बॉल होना समझ में आता है, क्योंकि इसको लेकर नियम बहुत ही सख्त है. सनी ने कहा कि साथ ही गेंदबाज को ऑफ स्टंप के बाहर भी वाइड नहीं ही फेंकनी चाहिए. जहां तक फ्रंटफुट नो-बॉल की बात है, तो तेज गेंदबाज कभी-कभी ओवर-स्टेप कर जाते हैं. लेकिन अब जबकि पचास ओवरों की क्रिकेट में भी नो-बॉल पर फ्री हिट मिलती है, तो तेज गेंदबाजो को भी नो-बॉल नहीं करनी चाहिए.
आरामतलब हो गई टीम इंडिया गावस्कर ने आगे कहा कि टीम इंडिया में थोड़ा पेशवरपन का अभाव है. मुझे लगता है कि 3-0 से बढ़त बनाने के बात टीम की मनोदशा थोड़ी आरामतलब हो गई और इसका दक्षिण अफ्रीका ने पूरा फायदा उठाया. मिलर और क्लासेन ने शानदार बल्लेबाजी की. साथ ही गावस्कर ने अपने तीसरे सबसे अहम प्वाइंट के तहत युजवेंद्र चहल की नो-बॉल को मैच का टर्निंग प्वाइंट करार दिया. गावस्कर ने युजवेंद्र की आलोचना करते हुए साफ कहा कि इस युवा स्पिनर द्वारा डेविड मिलर को फेंकी गई नो बॉल मैच का टर्निंग प्वाइंट रही. और अगर यह नो बॉल नहीं होती, तो भारत यह मैच नहीं ही हारता.

मेरी विराट के साथ दोस्ती राजनीतिक संबंधों की मोहताज नहीं : शाहिद आफरीदी
10 February 2018
नई दिल्ली: भारत-पाक के बीच सीमा पर जारी तनाव से भले ही दोनों देशों के बीच क्रिकेट से जुड़े संबंध प्रभावित हुए हों लेकिन शाहिद अफरीदी पूरी दृढ़ता के साथ कहते हैं कि भारतीय कप्तान विराट कोहली के साथ उनके मित्रवत संबंध राजनीतिक स्थिति से प्रभावित नहीं हो सकते और ना ही ऐसा होगा. सेंट मौरित्ज आइस क्रिक्रेट टूर्नामेंट से इतर अफरीदी ने कहा, ‘‘विराट के साथ मेरे ताल्लुकात राजनीतिक हालत पर निर्भर नहीं करते. विराट शानदार इंसान हैं, मेरी ही तरह अपने देश के क्रिकेट के दूत हैं.’’ उन्होंने कहा कि कोहली हमेशा उन्हें बहुत अधिक सम्मान देते हैं. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने कहा, ‘‘मैं मानता हूं कि क्रिकेटर के तौर पर दो लोगों के बीच के ताल्लुकात से हम यह उदाहरण तय कर सकते हैं कि देशों के बीच कैसे रिश्ते होने चाहिए. मुझे लगता है कि पाकिस्तान के बाद उन्हें भारत और ऑस्ट्रेलिया में सबसे अधिक प्यार और सम्मान मिला
IND VS SA:'इन तीन बदलावों' के साथ दक्षिण अफ्रीका उतरेगा जोहानिसबर्ग में चौथे वनडे में, टाल पाएगा बड़ा खतरा
9 February 2018
नई दिल्ली: केपटाउन वनडे में लगातार तीसरी हार के बाद सीरीज हार को बचाने की कवायद में जुटी मेजबान दक्षिण अफ्रीकी टीम जोहानिसबर्ग के न्यूवांडर्स में शनिवार को मेहमान भारत के खिलाफ खेले जाने वाले चौथे डे-नाइट वनडे मैच के लिए अलग रणनीति के साथ मैदान पर उतरेगी. टीम पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज एबी डि विलियर्स की टीम में वापसी हुई है, तो दक्षिण अफ्रीका से छनकर आ रही खबरों के अनुसार मेजबान टीम मैनेजमेंट ने इस चौथे डे-नाइट मैच में तीन बदलाव करने का मन बना लिया है. अब यह तो आप जानती हैं कि पिछले तीन मैचों में अपने चार स्टार और नियमित खिलाड़ियों के चोट के चलते सीरीज से बाहर होने के कारण मेजबान टीम को कितना बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ा. अचानक से ही ऐसा लगा कि मानो किसी ने दक्षिण अफ्रीकी टीम की ताकत को सोख सा लिया है. न मैदान पर कप्तान ही 'दिखाई' पड़ा, तो खिलाड़ियों का रवैया और मेंटल एप्रोच बहुत ही निराश करने वाली रही. उम्मीद है कि एबी की टीम में वापसी से टीम का मनोबल बढ़ेगा. हालांकि, उनका खेलना पूरी तरह से उनके पूरी तरह फिट होने पर निर्भर करता है. लेकिन मेजबान मैनेजमेंट की रणनीति इलेवन को लेकर करीब-करीब साफ है. एबी मुकाबले के लिए करीब नब्बे फीसदी फिट हैं और वह खाया जोंडों की जगह लेंगे, तो फरहान बेहरदीन को डेविड मिलकर की जगह पर शामिल किया जा सकता है. किलर मिलकर के नाम से मशहूर डेविड मिलर की फॉर्म इन दिनों बहुत ही गड़बड़ाई हुई है. और चौथे मैच में उन्हें टीम प्रबंधन ने बाहर बैठाने का मन बना लिया है. इसके अलावा पिछले मैच में बाहर बैठाए गए लुंगी एंगिडी की जगह फिर से तेज गेंदबाज मॉर्न मॉर्कल की इलेवन में वापसी हो सकती है. अब देखने की बात यह होगी कि ये तीन संभावित बदलाव दक्षिण अफ्रीका के सिर पर मंडरा रहा सीरीज हार का खतरा टाल पाएगा, या नहीं.
IND VS SA: 'यह इतिहास' युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने 3 मैचों में ही रच डाला, आगे क्या होगा?
8 February 2018
नई दिल्ली: केपटाउन में भारत के खिलाफ तीसरे डे-नाइट वनडे मुकाबले में भी भारतीय स्पिनर मेजबान बल्लेबाजों के लिए एक भयावह सपना साबित हुआ. केपटाउन में इस करामाती भारतीय जोड़ी ने दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजी की एक बार फिर से हवा निकाल दी. और छह मैचों की सीरीज के सिर्फ तीन ही मैचों में दोनों ने मिलकर वो कारनामा कर दिखाया, जो पूर्व में भारतीय स्पिनर दक्षिण अफ्रीका में नहीं ही कर सके थे. आप आप सोच सकते हैं कि छह मैच खत्म होते-होते इन दोनों द्वारा रचा गया यह इतिहास और कितनी ऊंचाई छुएगा. वनडे सीरीज की शुरुआत से ही युजवेंद्र और कुलदीप दोनों ने मिलकर दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों को क्लब स्तरीय सरीखा साबित कर दिया है. मेजबान बल्लेबाज गेंदों को पढ़ ही नहीं पा रहे हैं. और जब पढ़ नहीं पा रहे हैं, तो न तो इनसे निपटने की तकनीक ही उनके पास दिखती है और न ही टेम्प्रामेंट. डरबन में पहले वनडे में इन दोनों ने पांच विकेट (कुलदीप-3, युजवेंद्र-2)आपस में बांटें थे. सेंचुरियन में दूसरे वनडे में तो युजवेंद्र मानो मेजबानों के लिए काल बन गए. इस मैच में युजवेंद्र ने पांच और कुलदीप ने 3 विकेट चटकाए, तो केपटाउन में तीसरे वनडे में भी इन दोनों ने सेंचुरियन का प्रदर्शन दोहराते हुए आठ विकेट बांटे. अंतर बस यह रहा कि दोनों के हिस्से चार-चार विकेट आए. और केपटाउन के इन आठ विकेटों से ही इन दोनों ने मिलकर इतिहास रच दिया.
दक्षिण अफ्रीकी ज़मीं पर रोहित फ़्लॉप, टेस्ट-वनडे में 8 साल में नहीं लगा सके एक भी अर्धशतक
7 February 2018
नई दिल्ली: दक्षिण अफ़्रीका के खिलाफ़ टीम इंडिया वनडे सीरीज़ में शानदार प्रदर्शन कर रही है और प्रोटियाज़ के 3 मुख्य खिलाड़ी चोटिल होने के बाद पलड़ा भारतीय टीम का ही भारी दिख रहा है. भारतीय टीम हर छोर पर मजबूत नजर आ रही है. लेकिन, एक खिलाड़ी अब भी रनों के लिए तरसता दिख रहा है और वह हैं रोहित शर्मा. रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट के सबसे ख़तरनाक बल्लेबाज़ों में से एक हैं. इस फ़ॉरमैट में तीन दोहरे शतक लगाने वाले एकमात्र बल्लेबाज़ और सलामी बल्लेबाज़ी में निरंतरता भी किसी से कम नहीं लेकिन इन नंबरों पर गौर कीजिए- 11, 10, 10, 47, 20, 15. ये रोहित शर्मा की इस दौरे पर दक्षिण अफ़्रीका में खेली 6 पारियों के स्कोर हैं. टेस्ट और वनडे की 6 पारियों में कुल 18.83 की औसत और क्या ये चिंता की बात है? वनडे में शायद नहीं, क्योंकि उन्होंने वो मुकाम हासिल कर लिया है लेकिन टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री के बयान के तहत फ़ॉर्म और हालात को चयन के वक्त ध्यान में रखना होगा. आखिर यही वजह बताई गई जब टेस्ट में अजिंक्य रहाणे और भुवनेश्वर कुमार को बाहर किया गया था. अब देखना यह है कि रोहित शर्मा आखिर दक्षिण अफ़्रीकी हालात में कैसा खेलते हैं. दक्षिण अफ़्रीका में रोहित शर्मा ने टेस्ट खेले हैं. औसत 15.37 की है और सेंचुरियन की उपमहाद्वीप जैसी पिच पर 47 रन का उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर तब आया जब टीम हार के क़रीब थी. टेस्ट बीत चुके हैं, फ़िलहाल वनडे जारी हैं. जिस फ़ॉरमैट के वो हिटमैन हैं, दक्षिण अफ़्रीका में खेले 10 वनडे मैचों में रोहित शर्मा ने 121 रन 13.44 की औसत से बनाए हैं. स्ट्राइक रेट 56.01 का है. गौरतलब ये है कि टेस्ट और वनडे में एक भी अर्धशतक तक वो नहीं लगे सके हैं. रोहित एमएस धोनी के बाद इस टीम के दूसरे सबसे सीनियर खिलाड़ी हैं. मौक़े भी रोहित को बाक़ी खिलाड़ियों से ज्यादा ही मिले हैं. ऐसे में टीम इंडिया, और खासतौर पर कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री के भरोसे का जवाब रोहित को रन बनाकर देना होगा क्योंकि ये सच है कि वो इस फ़ॉरमैट के सबसे ख़तरनाक बल्लेबाज़ों में शुमार हैं.
IND VS SA: दक्षिण अफ्रीका को एक और बड़ा झटका, अब क्विंटन डि कॉक बाकी वनडे और टी-20 सीरीज से बाहर
5 February 2018
नई दिल्ली: पहले से ही दिग्गज चोटिल खिलाड़ियों की मारी मेजबान दक्षिण अफ्रीकी टीम को एक और बड़ा झटका लगा है. मेजबान विकेटकीपर और सलामी बल्लेबाज क्विंटन डि कॉक छह मैचों की वनडे सीरीज के बाकी बचे चार वनडे मुकाबलों से बाहर हो गए हैं. निश्चित तौर पर इस बड़े झटके के बाद दक्षिण अफ्रीका टीम को बड़ा झटका लगा है. क्विंटन डि कॉक सीरीज से बाहर होने वाले चौथे दक्षिण अफ्रीकी दिग्गज खिलाड़ी हैं. अब यह तो आप जानते ही हैं कि पहले से ही मेजबान स्टार तेज गेंदबाज डेल स्टेन, बल्लेबाज एबी डि विलियर्स वनडे और नियमित कप्तान फैफ डु प्लेसिस चोट के कारण वनडे के साथ-साथ बाद में खेले जाने वाली टी-20 सीरीज से भी बाहर हो चुके हैं. सभी ने देखा कि सेंचुरियन में खेल गए दूसरे वनडे मुकाबले में दिग्गज खिलाड़ियों की अनुपस्थिति का कैसे टीम के मनोबल और खेल पर साफ असर दिखाई पड़ा. अगर सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजी एकदम से टांय-टांय फिस्स हो गई, तो निश्चित तौर पर इसके पीछे एक बड़ा कारण मेजबान इलेवन में एबी डि विलियर्स और फैफ डु प्लेसिस का टीम में न होना था. बिना नियमित कप्तान के मेजबान टीम मैदान पर एकदम से अनाथ सी दिखाई पड़ी. इन लगे दो झटकों से मेजबान टीम संभली भी नहीं थी कि अब क्विंटन डि कॉक के चोट के कारण बाकी चार मैचों से बाहर होने से निश्चित तौर पर दक्षिण अफ्रीकी टीम का मनोबल और नीचे जाएगा क्विंटन डि कोक के बाएं हाथ की कलाई में चोट के कराण 2-4 हफ्ते तक सक्रिय क्रिकेट से दूर रहेंगे. दक्षिण अफ्रीकी मैनेजर डा. मोहम्मद मूसाजी ने बताया कि दूसरे वनडे के दौरान क्विंटन कलाई में बहुत ही गहरी चोट आयी है. और इससे उबरने में उन्हें 2-4 हफ्ते का समय लगेगा. इसके कारण वह सीरीज के चार वनडे और संभवत : टी-20 सीरीज में भी नहीं खेल पाएंगे
India vs Australia U19 Final: 'ये छह' बड़े हीरो रहे भारत की अंडर19 विश्व कप खिताबी जीत के
3 February 2018
नई दिल्ली: राहुल द्रविड़ के चेलों ने अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में करोड़ों भारतीयों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए ऑस्ट्रेलिया को पटखनी देकर खिताब अपनी झोली में डाल लिया. यह चौथा मौका रहा, जब भारत ने जूनियर विश्व कप जीता है. इससे पहले भारत ने मोहम्मद कैफ की कप्तानी में साल 2000, विराट कोहली के नेतृत्व में साल 2008, उन्मुक्त चंद की कप्तानी में 2012 अब पृथ्वी शॉ के अंडर में अब चौधी बार भारतीय जूनियरों ने विश्व कप जीतने का कारनामा कर दिखाया है भारत की इस जीत में कोच राहुल द्रविड़ की सोच और कार्यशैली का बहुत ही बड़ा योगदान रहा. जिस जिम्मेदारी को उन्होंने हाथ में लिया था, उसे उन्होंने अंजाम पहुंचाकर ही दम लिया. चलिए हम आपको जूनियर टीम इंडिया की जीत के छह सबसे बड़े हीरो के बारे में बताते हैं
शुभम गिल बन गए सनसनी पंजाब के इस दाएं हत्था बल्लेबाज ने अपनी बैटिंग से सभी का दिल जीत लिया. फाइनल में शुभम भले ही सिर्फ 31 रन बनाए, लेकिन शुभम का बहुत ही शानदार औसत उनके योगदान को बताने और समझाने के लिए काफी है. शुभम गिल ने 6 मैचों में 181.00 के औसत से 362 रन बनाए. इसमें एक शतक और दो अर्धशतक भी शामिल हैं.
सबसे सही समय बोला मनजोत कालरा का बल्ला पंजाब के ही लेफ्टी बल्लेबाज मनजोत कालरा ने मानो अपना सर्वश्रेष्ठ फाइनल के लिए ही बचा कर रखा था. फाइल की कालरा की नाबाद 101 रन पारी उन्हें टॉप-3 भारतीय बल्लेबाजों में जगह दिला गई. कालरा ने 6 मैचों की पांच पारियों में 84.00 के औसत से 252 रन बनाए.
पृथ्वी शॉ भी करते रहे प्रहार यह सही है कि बहुत बड़ी प्रतिष्ठा और उम्मीदों के साथ टूर्नामेंट खेलने न्यूजीलैंड गए भारतीय जूनियर कप्तान पृथ्वी शॉ का प्रदर्शन भले ही उनके कद के हिसाब से नहीं रहा. लेकिन कम स्कोर ही सही, लेकिन उन्होंने नियमित रूप से योगदान दिया. पृथ्वी 6 मैचों की 5 पारियों में 65.25 के औसत से 261 रन बनाकर भारत के दूसरे सबसे कामयाब बल्लेबाज रहे. उनका सर्वाधिक स्कोर 94 का रहा, जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले ही मैच में बनाया था.
अनुकूल रॉय बन गए 'बेस्ट बॉलर' झारखंड के लिए अभी भी अपने प्रथम श्रेणी करियर शुरू न कर सके बंयहत्था स्पिनर अनुकूल रॉय ने नियमित अंतराल पर विकेट चटकाए. अनुकूल रॉय 14 विकेट चटकाकर टूर्नामेंट के सबसे कामयाब गेंदबाज बने.
नागरकोटी-शिवम की जोड़ी पड़ी भारी भारत के इन दो उभरते हुए तेज गेंदबाजों ने पूर्व क्रिकेटरों सहित देश के क्रिकेटप्रेमियों को यह दिखाया कि अब भारत के 19 साल के लड़के भी 145/घंटा से ऊपर की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं. ये दोनों लगातार सामने वाली टीम पर भारी पड़े. दोनों ने नौ-नौ विकेट चटकाए और दोनों ही आईपीएल में तीन करोड़ के आस-पास की अच्छी खासी रकम में बिके. राहुल द्रविड़ के मार्गदर्शन में जूनियरों ने दिखा दिया कि हाल-फिलहाल अंडर-19 स्तर पर भारत का कोई जोड़ नहीं है. करियर में कुछ खिलाड़ियों ने पहला बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है. अब सभी की निगाहें इस पर होंगी कि ये रणजी ट्रॉफी और भारत के लिए कैसा प्रदर्शन करते हैं क्योंकि सीनियर टीम में दरवाजे उनके लिए यहीं से खुलेंगे

Under19 WorldCup:ऑस्‍ट्रेलिया को हराकर कल फाइनल में यह रिकॉर्ड बना सकती है भारतीय टीम
2 February 2018
माउंट माउंगनई: अंडर19 वर्ल्‍डकप के फाइनल में कल क्रिकेटप्रेमियों की निगाहें पृथ्‍वी शॉ के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम पर होंगी. कोच राहुल द्रविड़ की भारतीय टीम आईसीसी अंडर 19 विश्‍वकप के फाइनल में कल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलेगी तो उसकी नजरें चौथा खिताब जीतकर इतिहास रचने पर लगी टिकी होंगी. भारत और ऑस्ट्रेलिया टूर्नामेंट के इतिहास की दो सबसे सफल टीमें हैं जो तीन-तीन बार खिताब जीत चुकी हैं. राहुल द्रविड़ के मार्गदर्शन में भारतीय युवा बिग्रेड कल फाइनल खेलेगी तो उसके पास रिकॉर्ड चौथा खिताब जीतकर ऑस्ट्रेलिया को पीछे छोड़ने का मौका होगा. भारतीय क्रिकेट के भावी सितारे पृथ्वी शॉ अगर यह कर पाते हैं तो भारत को अंडर 19 खिताब दिलाने वाले मोहम्मद कैफ ( 2002 ), विराट कोहली (2008) और उन्मुक्त चंद ( 2012 ) की जमात में शामिल हो जाएंगे.टूर्नामेंट में खेल रही भारतीय टीम की खासियत यह है कि इसमें कई आलराउंडर खिलाड़ी शामिल हैं जो टीम को बल्‍लेबाजी-गेंदबाजी, दोनों में संतुलन प्रदान करते हैं. मौजूदा फॉर्म को देखते हुए भारत का फाइनल में पलड़ा भारी लग रहा है. भारत ने अभी तक पांचों मैच जीते हैं जिसमें सेमीफाइनल में पाकिस्तान पर 203 रन से मिली जीत शामिल है. इसके अलावा टूर्नामेंट के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया को 100 रन से हराया था. पाकिस्तान के खिलाफ 272 रन बनाने के बाद भारत ने उसकी पूरी पारी 69 रन पर समेट दी थी. अभी तक हर जीत में टीम का सामूहिक प्रयास रहा है. सभी खिलाड़ियों ने किसी ना किसी रूप में योगदान दिया है. बल्लेबाजों में शॉ और मनजोत कालरा ने टीम को हमेशा अच्छी शुरुआत दी है. तीसरे नंबर पर शुभमन गिल जबर्दस्त फॉर्म में हैं । उन्‍होंने पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में शतक जमाया और अब फाइनल में वे एक और यादगार पारी खेलना चाहेंगे. गेंदबाजी में शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी का प्रदर्शन उम्दा रहा है. ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को रोकना हालांकि उनके लिये आसान नहीं होगा. अभिषेक शर्मा और अनुकूल राय ने स्पिन का मोर्चा संभाला है. अभिषेक निचले मध्यक्रम में उपयोगी बल्लेबाज भी हैं. भारतीय फील्डिंग भी टूर्नामेंट में शानदार रही है. भारतीय अंडर 19 टीम से भविष्य के सितारे निकलते रहे हैं और इस टीम में भी वह माद्दा है. दूसरी ओर आस्ट्रेलिया पहले मैच में मिली हार का बदला चुकता करना चाहेगा. पहला मैच हारने के बाद उसने शानदार वापसी करके लगातार चार मैच जीते. क्वार्टर फाइनल में इंग्लैंड को 31 रन से हराने के बाद उसने अफगानिस्तान को छह विकेट से हराया
IND Vs SA : क्या इतिहास बदल सकेंगे विराट के 'वीर', जानें डरबन में कैसा है टीम इंडिया का रिकॉर्ड.
1 February 2018
नई दिल्ली: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद वनडे सीरीज गुरुवार से शुरू होगी. टेस्ट में भारत को 1-2 से हार का स्वाद चखना पड़ा, लेकिन वडे में टीम इंडिया बदला लेने के इरादे से मैदान में उतरेगी. 6 मैचों की वनडे सीरज का पहला मैच डरबन में खेला जाएगा. दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर भारत का रिकॉर्ड कुछ अच्छा नहीं रहा है. भारतीय टीम को इतिहास बदलने के लिए एंड़ी-चोटी का ज़ोर लगाना होगा. 1992-93 से डरबन में भारत ने 7 वनडे मैच खेले हैं. इसमें उसे 6 में हार मिली है और एक मैच बेनतीजा रहा है. इतना ही नहीं दो देशों की सीरीज़ में भी भारत का यहां रिकॉर्ड ख़राब है. द्विपक्षीय सीरीज की बात करे तो भारत ने अफ्रीकी टीम के खिलाफ अफ्रीकी जमीन पर चार द्विपक्षीय सीरीज में खेल चुकी है. सबसे चौकाने वाली बात है कि इन चारों में टीम इंडिया के शूरवीरों को हार का सामना करना पड़ा है. दो सीरीज में तो टीम इंडिया व्हाइटवॉश की भी शिकार बनी. ऐसे में विराट कोहली के लिए अफ्रीकी चुनौती आसान नहीं होगी
इतिहास अफ्रीकी टीम के पक्ष में दूसरी ओर इतिहास दक्षिण अफ्रीकी टीम के पक्ष में दिखाई दे रहा है. फाफ डू प्लेसिस की टीम अपने घर में हमेशा चैंपियन रही है. 2016 से टीम अपने घर में 19 वनडे मैच खेली है और इसमें से 17 में उसे जीत हासिल हुई है और 2 में वो हारे हैं. आईसीसी वनडे रैंकिंग में नंबर-1 पर मौजूद अफ्रीकी टीम को उसके घर में चुनौती देना आसान नहीं होगा.
आईसीसी रैंकिंग में भी नंबर एक की जंग आईसीसी की मौजूदा वनडे रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीकी टीम 121 अंक के साथ टॉप पर है वहीं, भारतीय टीम 119 अंक के साथ दूसरे नंबर पर है. तीसरे नंबर पर इंग्लैंड टीम के 116 अंक हैं. अगर वनडे सीरीज में 4-2 या इससे बेहतर नतीजा भारत के पक्ष में रहा तो वनडे में वो नंबर एक बनेगी. वहीं प्रोटियाज अगर 5-1 से जीते तो उनकी नंबर एक रैंकिंग बरकरार रहेगी और भारत तीसरे स्थान पर मौजूद इंग्लैंड से नीचे आ जाएगा. महेंद्र सिंह धोनी सहित 8 वनडे स्पेशलिस्ट दक्षिण अफ़्रीका पहुंच टीम की ताकत को बढ़ा रहे हैं. जोहानिसबर्ग में जीत के बाद टीम इंडिया से आगे दमदार प्रदर्शन की उम्मीद की जा सकती है.

'नवी मुंबई में स्थानीय क्रिकेट मैच के दौरान 14 साल के लड़के ने बनाए नाबाद 1045 रन'.
31 January 2018
मुंबई: नवी मुंबई में एक स्थानीय क्रिकेट टूर्नामेंट में 14 साल के एक छात्र ने नाबाद 1045 रन बनाए. उसके कोच ने यह दावा किया. तनिष्क गावटे ने 29 और 30 जनवरी को यह स्कोर बनाया. गावटे के कोच मनीष ने बताया कि इस युवा बल्लेबाज ने कोपारखैरने स्थित यशवंतराव चव्हाण इंग्लिश मीडियम स्कूल मैदान पर टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में यह स्कोर बनाया. गावटे ऐसे मैदान पर खेल रहे थे, जिसके लेग साइड की सीमा रेखा 60 से 65 गज है, जबकि ऑफ साइड की 50 गज है. उसकी पारी में 149 चौके और 67 छक्के शामिल हैं. गौरतलब है कि इससे पहले स्कूल क्रिकेट में 1009 रन नाबाद बनाकर प्रणव धनावड़े ने तहलका मचाया था.
'IND vs PAK U19 WC: टीम इंडिया के सूरमाओं ने चटाई पाकिस्तान को धूल, ये रहे जीत के 5 कारण'.
30 January 2018
नई दिल्ली: अंडर-19 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 203 रनों से हराया. पूरे मैच में भारत ने पाकिस्तान को हावी नहीं होने दिया और एकतरफा जीत हासिल की. बता दें, पूरे टूर्नामेंट में टीम इंडिया एक भी मैच नहीं हारा है. अब उनकी आखिरी जंग ऑस्ट्रेलिया से होगी. 102 रन की शानदार पारी खेलने के लिए शुभमन गिल को प्लेयर ऑफ द मैच दिया गया. शुभमन गिल की शानदार पारी की बदौलत टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 273 रनों का टारगेट दिया. जिसके सामने पाकिस्तान पस्त हो गया. आइए जानते हैं क्या कारण रहे जिसकी वजह से टीम इंडिया फाइनल में पहुंचा...
पृथ्वी शॉ और मनजोत कालरा की शुरुआती साझेदारी टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया के सामने फोकस था कि ज्यादा से ज्यादा रन बनाना. ओपनिंग पर उतरे पृथ्वी शॉ और मनजोत कालरा ने टीम इंडिया को शानदार शुरुआत दी. दोनों ने 89 रनों की साझेदारी की और टीम इंडिया को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया.
शुभमन गिल का शतक मैच में सबसे खास था शुभमन गिल का शतक. वो उन्होंने ऐसे समय में जड़ा जब टीम को उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी. कप्तान पृथ्वी शॉ के आउट होने के बाद शुभमन क्रीस पर उतरे और पाकिस्तान पर हमला बोल दिया. उन्होंने 148 गेंदों पर 102 रन जड़े. जिसमें 7 चौके शामिल थे. आखिरी तक शुभमन टिके रहे और टीम के स्कोर को 272 तक पहुंचा दिया.
ईशान पोरल के 4 विकं पूरे टूर्नामेंट में शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी ने शानदार परफॉर्मेंस दी है. लेकिन इस मैच में ईशान पोरल ने शानदार परफॉर्म किया. जहां शिवम मावी और नागरकोटी विकेट नहीं ले पा रहे थे तो पोरल ने उनका काम आसान कर दिया. उन्होंने शुरुआत में ही पाकिस्तान की जड़े हिला दीं और शुरुआती विकेट लिए. मैच में उन्होंने 6 ओवर गेंदबाजी की और 4 विकेट चटकाए.
शिवा सिंह और पराग के 2-2 विकेटं तेज गेंदबाजों के बाद स्पिनर्स ने भी अपना काम बखूबी किया. शिवा सिंह और रियान पराग ने पाकिस्तान की जीत के सपनों पर पानी फेर दिया. शिवा ने 8 ओवर करते हुए 2 विकेट लिए तो वहीं पराग ने 4 ओवर में 2 विकेट चटकाए.
7 गेंदबाजों ने कराई बॉलिंग सेमीफाइनल में सबसे शॉकिंग था पृथ्वी शॉ का वो डिसीजन जिसने सभी को हैरान कर दिया. उन्होंने 7 गेंदबाजों से गेंदबाजी कराई. पृथ्वी शॉ मैच के दौरान प्लान बदलते गए और विकेट लेते चले गए. शिवम मावी और नागरकोटी विकेट नहीं ले पाए तो उन्होंने अनुकुल रॉय और अभिषेक शर्मा से गेंदबाजी कराई. दोनों ने ही 1-1 विकेट चटकाया और पाकिस्तान की झोली से मैच निकाल लिया.

'इस बड़ी वजह' से विराट कोहली ने शाहरुख खान से छीन लिए केकेआर के 'चार गेंदबाज'.
29 January 2018
नई दिल्ली: इंडियन प्रीमिलयर लीग (आईपीएल) 2018 की हुई नीलामी में अलग-अलग टीमें खास रणनीति बनाकर आईं थी, लेकिन इनमें से विराट कोहली की टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर एक अलग ही रणनीति के साथ मैदान पर उतरी. और इस रणनीति से उसने डॉन शाहरुख खान से उसके उन चार गेंदबाजों को छीन लिया, जिसने उसने पिछले साल बहुत ही बड़ी चोट पहुंचायी थी. लेकिन अब विराट कोहली ने अपने ही खास अंदाज में डॉन से कम से कम आधा हिसाब तो चुका ही दिया है, लेकिन आधा अभी भी बाकी है. वास्तव में यह चोट इतनी ज्यादा बड़ी थी कि भारतीय कप्तान विराट कोहली बुरी तरह तिलमिलाकर रह गए थे और उन्होंने तभी मन ही मन यह ठान लिया था कि वह इस बड़ी चोट का का बदला जरूर लेंगे और हर हाल में लेंगे. और इस बदले के लिए विराट कोहली ने आईपीएल 2018 की नीलामी का दिन. और दक्षिण अफ्रीका से उनके इशारे पर रॉयल चैलेंजर्स के मैनेजमेंट ने एक-एक करके केकेआर के वो सभी चार गेंदबाज छीन लिए, जिन्होंने आरसीबी को पिछले साल 23 अप्रैल को 'बड़ा सदमा' पहुंचाया था. आपको बता दें कि ये चारों गेंदबाज टीम इंडिया में शामिल उमेश यादव, ऑस्ट्रेलिया के नॉथन काउल्टर नाइल, इंग्लैंड के क्रिस्टोफर रोजर वोक्स और न्यूजीलैंड के 31 साल के कोलिन डि ग्रैंधहोमी हैं. ये चारों ही गेंदबाज पिछले साल केकेआर की फाइनल इलेवन का हिस्सा थे, जो अब बेंगलोर से जुड़ गए हैं. इन्हीं चारों ने मिलकर विराट कोहली एंड कंपनी को दिया था बड़ा सदमा. चलिए अब इस बारे में जान लीजिए. आपको बता दें कि पिछले साल आईपीएल में इन्हीं चारों गेंदबाजों ने मिलकर आरसीबी को सिर्फ 49 रन पर ढेर कर दिया था, जो आईपीएल के पिछले दस साल में किसी टीम का न्यूनतम स्कोर बन गया. बस यही स्कोर विराट कोहली के दिल में बैठा हुआ था. और अब उन्होंने चार गेंदबाजों को केकेआर से झटक कर कुछ इस अंदाज में बदला लिया. कोहली खुश हो सकते हैं कि लेकिन उनका पूरा बदला तभी मानी जाएगा, जब आरसीबी के गेंदबाज केकेआर को 49 या उससे कम स्कोर पर आउट कर देंगे.
IPL Auction 2018: जिस खिलाड़ी पर लगा है 'बिगड़ैल' का ठप्‍पा, उसे ही मिली सबसे ज्‍यादा कीमत..
27 January 2018
बेंगलुरु: आईपीएल 2018 के लिए शनिवार से शुरू हुई नीलामी में पिछली बार की तरह इस बार भी इंग्‍लैंड के बेन स्‍टोक्‍स पर बड़ा दांव लगा. इंग्‍लैंड के हरफनमौला बेन स्‍टोक्‍स को राजस्‍थान रॉयल्‍स की टीम ने साढ़े 12 करोड़ रुपये में खरीदा है. आईपीएल 11 में अभी तक किसी खिलाड़ी की लगी यह सबसे बड़ी कीमत है. गौरतलब है कि बेन स्‍टोक्‍स आईपीएल 2017 में भी 14.5 करोड़ रुपये की भारीभरकम प्राइस पर बिके थे. उन्‍हें पिछली बार राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स की टीम ने खरीदा था. आरपीएस की टीम इस बार आईपीएल का हिस्‍सा नहीं है, उसे केवल दो साल के आईपीएल में स्‍थान दिया गया था. बेन स्‍टोक्‍स ऐसे खिलाड़ी हैं, जो गेंद और बल्‍ले के अपने प्रदर्शन से किसी भी मैच की सूरत बदलने की क्षमता रखते हैं.इस कारण इस आईपीएल सीजन में भी विभिन्‍न्‍न फ्रेंचाइजी ने उन पर अच्‍छा दांव लगाया. उनकी बोली चढ़ते-चढ़ते 12 करोड़ रुपये के ऊपर पहुंच गई. आखिरकार राजस्‍थान रॉयल्‍स की टीम उन्‍हें अपनी टीम में स्‍थान देने में सफल हो गई. यह अलग बात हैं कि खेल कौशल में धनी इस खिलाड़ी की छवि बिगड़ैल की है. स्टोक्स को पिछले साल सितंबर में एक नाइटक्लब के बाहर झगड़े में शामिल होने के कारण इंग्‍लैंड की टीम से बाहर कर दिया था. इसके कारण वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज में नहीं खेल पाए जिसमें इंग्लैंड को 0-4 से करारी हार का सामना करना पड़ा था. इंग्‍लैंड के कई पूर्व क्रिकेटरों का मानना था कि स्‍टोक्‍स का इंग्‍लैंड टीम में नहीं होना एशेज में ऑस्‍ट्रेलिया के लिए फायदेमंद रहा. वैसे, आईपीएल के इस सीजन में बेन स्‍टोक्‍स के अलावा इंग्‍लैंड के एक अन्‍य हरफनमौला क्रिस वोक्‍स को भी अच्‍छी कीमत मिली उन्‍हें रॉयल चैंलेजर्स बेंगलुरू ने सात करोड़, 40 लाख रुपये में खरीदा. उम्‍मीद है कि ये दोनों खिलाड़ी अपनी-अपनी टीमों के लिए उपयोगी साबित होंगे. बेन स्‍टोक्‍स ने इंग्‍लैंड के लिए अब तक 21 टी20 मैच खेले हैं, इसमें उन्‍होंने 192 रन बनाने के अलावा 10 विकेट भी हासिल किए हैं. कुल मिलाकर वे 92 टी20 मैच खेले हैं जिसमें उन्‍होंने एक शतक की मदद से 1721 रन बनाए हैं जबकि 46 विकेट हासिल किए हैं. 18 रन देकर तीन विकेट उनका टी20 का अब तक का सर्वश्रेष्‍ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है
कुछ ऐसे सायना नेहवाल ने बदला लिया ओलंपिक कांस्य पदक विजेता से!..
25 January 2018
नई दिल्ली: भारत की दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने अच्छी शुरुआत करते हुए इंडोनेशिया मास्टर्स बैडमिंटन टूर्नामेंट के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया है. सायना ने बुधवार को महिला एकल वर्ग के पहले दौर में चीन की चेन युफेई को मात दी. इस जीत के साथ ही सायना ने युफेई से पिछले साल हांगकांग ओपन में मिली हार का बदला भी पूरा कर लिया है.दोनों अब तक दो बार एक-दूसरे से भिड़ीं हैं और दोनों के बीच मुकाबलों का स्कोर अब 1-1 से बराबर हो गया है. दूसरे दौर में सायना का सामना चीन की ही खिलाड़ी चेन शियाओशिन से होगा वहीं इस टूर्नामेंट में पुरुष एकल वर्ग में समीर वर्मा को हार का सामना करना पड़ा. वह पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गए हैं. समीर को जापान के खिलाड़ी काजुमासा साकाई ने 53 मिनट में 21-16, 12-21, 21-10 से मात देकर दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया. इसके अलावा, पुरुष युगल वर्ग में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने अच्छी शुरुआत की. दोनों ने पहले दौर में जापान की ताकुटो इनोई और युकी कानेको की जोड़ी को सीधे गेमों में 21-15, 21-17 से हराकर दूसरे दौर में कदम रख लिया है. पुरुष युगल वर्ग में ही भारत का प्रतिनिधित्व कर रही मनु अत्री और बी. सुमित रेड्डी की जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा. चीनी ताइपे की लु चिंग याओ और यांग पो हान की जोड़ी ने पहले दौर में मनु और सुमित की जोड़ी को 58 मिनट में 21-18, 16-21, 21-16 से मात दी. ओलम्पिक की कांस्य पदक विजेता सायना ने युफेई को एक घंटे और नौ मिनट तक चले मैच में 22-24, 21-15, 21-14 से मात दी.
IND VS SA: 'इस अनचाहे रिकॉर्ड' से चेतेश्वर पुजारा बाल-बाल बचे, लेकिन इन 8 बल्लेबाजों से नहीं!..
24 January 2018
नई दिल्ली: जब रन नहीं बन रहे होते हैं, तो आप कितना भी नेट अभ्यास क्यों न कर लो, यह आपके कॉन्फिडेंस पर वार करता ही करता है. कुछ ऐसा ही आज टीम इंडिया की अगली दीवार कहे जा रहे चेतेश्वर पुजारा के साथ मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहांसबर्ग में तीसरे टेस्ट के पहले दिन हुआ. चेतेश्वर पुजारा के अंदाज को देखकर ऐसा लगा कि वह बुधवार को अनचाहा इतिहास रच कर ही मानेंगे! लेकिन ऐसा नहीं ही हो सका. पुजारा ने जूझने के बाद खुद को अनचाहे रिकॉर्ड से तो बचा लिया, लेकिन आठ बल्लेबाजों से खुद को नहीं बचा सके. पुजारा को सलामी बल्लेबाज केएल राहुल के जल्द ही आउट होने के बाद जोहांसबर्ग टेस्ट के पहले दिन बहुत ही जल्द ही बैंटिंग के लिए मैदान पर उतरना पड़ा. और पुजारा ने जल्द ही अंगद की तरह पिच पर अपने पैर गड़ा दिए! लेकिन पुजारा के पैर पिच पर इतने ज्यादा धंस गए के निकलने का नाम ही नहीं ले रहे थे. ऐसा लग रहा था कि पुजारा जोहांसबर्ग में अनचाहा रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं. बता दें कि किसी बल्लेबाज का अपना खाता खोलने से पहले सबसे ज्यादा गेंद खेलने का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के ज्यॉफ एलॉट (77 गेंद) के नाम है. यह रिकॉर्ड उन्होंने साल 1999 में ऑकलैंड में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया था. करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों को लग रहा था कि पुजारा इस अनचाहे रिकॉर्ड को तोड़ने की ओर बढ़ रहे हैं, लेकिन वह इससे खुद को बचाने में कामयाब रहे. और जब पुजारा ने अपना पहला रन लिया, तो ड्रेसिंग रूम में बैठे सभी साथी खिलाड़ियों ने मुस्कान के साथ ताली बजाकर पुजारा का स्वागत किया. पुजारा ने भी मुस्कान के साथ ही खिलाड़ियों का अभिवादन स्वीकार किया. बहरहाल पुजारा इस मामले में अब तीसरे नंबर पर आ गए हैं. लेकिन पुजारा पिच पर उतरने के बाद पहला रन बनाने के मामले में चौथे नंबर पर इंग्लैंड के रिचर्ड एलिसन (52 गेंद), 5वें नंबर पर इंग्लैंड के पीटर सच (51 गेंद), छठे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया के पॉल शेहन (44 गेंद), सातवें पर पाकिस्तान के वसीम बारी (43 गेंद), आठवें पर ऑस्ट्रेलिया के माइक व्हिटनी (43) से खुद को नहीं बचा सके. पुजारा ने इन आठों से ज्यादा गेंद खेलीं. वहीं नौवें नंबर पर बांग्लादेश के मंजुरुल इस्लमाम (41 गेंद) और 10वें पर विंडीज के कीथ ऑथर्टन (40 गेंद) हैं बता दें कि चेतेश्वर पुजारा ने 54वीं गेंद पर अपना खाता खोला. और वह इस अनचाहे रिकॉर्ड के मामले में तीसरे नंबर पर आ गए हैं. दूसरे नंबर पर इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन (55 गेंद) हैं
Under19 WorldCup: लोएड पोप ने 8 विकेट लेकर ऑस्‍ट्रेलिया को सेमीफाइनल में पहुंचाया...
23 January 2018
क्‍वींसटाउन: ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम ने आईसीसी अंडर19 वर्ल्‍डकप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. टीम ने आज यहां खेले गए प्रतियोगिता के पहले क्‍वार्टर फाइनल में इंग्लैंड को 31 रनों से हराया.ऑस्‍ट्रेलियाई टीम की जीत में गेंदबाज लोएड पोप का अहम योगदान रहा. पोप ने 8 विकेट लिए. मैच में क्वींसटाउन इवेंट्स सेंटर में खेले गए टूर्नामेंट के पहले क्वार्टर फाइनल मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया टीम 33.3 ओवरों में 127 रन बनाकर आउट हो गई. इस छोटे से लक्ष्य को इंग्लैंड की टीम हासिल नहीं कर पाई और 23.4 ओवरों में 96 के स्कोर पर सिमट गई. ऑस्ट्रेलिया के लिए कप्तान जेसन सांघा ने सबसे अधिक 58 रन बनाए. उनके अलावा, टीम का कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाया. इंग्लैंड के लिए ईथन बेम्बर, डिलोन पेनिंग्टन और विल जैक्स ने तीन-तीन विकेट लिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की पारी को 96 रनों पर समेटने में ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज लोएड पोप की भूमिका सबसे अहम रही. उन्होंने 35 रन देकर 8 विकेट लिए. इंग्लैंड के लिए टॉम बेन्टन ने सबसे अधिक 58 रन बनाए, लेकिन इसके बावजूद टीम अपना लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई. ऑस्ट्रेलिया की जीत में सबसे अहम भूमिका निभाने वाले गेंदबाज पोप को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया
Pak vs NZ: पहले टी20 मैच में पाकिस्‍तान 105 रन पर ढेर, सात विकेट से जीती न्‍यूजीलैंड टीम...
22 January 2018
वेलिंगटन: गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद ओपनर कॉलिन मुनरो की नाबाद पारी की बदौलत न्‍यूजीलैंड ने आज यहां पहले टी20 मैच में पाकिस्‍तान को आसानी से, 7 विकेट से पराजित कर दिया. मैच में पहले बैटिंग करते हुए पाकिस्‍तान की टीम महज 105 रन पर आउट हो गई. जवाब में न्‍यूजीलैंड टीम ने 25 गेंद शेष रहते लक्ष्‍य महज तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया. टी20 की शीर्ष दो टीमों के बीच हुए इस मैच में मुनरो ने नाबाद 49 रन बनाए जिससे न्यूजीलैंड ने 106 रन के लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया. न्‍यूजीलैंड ने इससे पहले पांच वनडे मैचों की सीरीज में भी पाकिस्‍तान को 5-0 के अंतर से हराया था. पिछले दो महीने में सभी प्रारूपों में यह न्यूजीलैंड की लगातार 13वीं जीत है. टीम ने इस दौरान पाकिस्तान के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज के अलावा वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट, वनडे और टी20 सीरीज भी जीती. मामूली चोट के कारण न्‍यूजीलैंड के नियमित कप्‍तान केन विलियमसन इस मैच में नहीं खेले. मैच में न्‍यूजीलैंड के कार्यवाहक कप्तान टिम साउदी (13 रन पर तीन विकेट) और सेथ रेंस (26 रन पर तीन विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने पाकिस्तान की टीम 19.4 ओवर में 105 रन पर सिमट गई. बाएं हाथ के स्पिनर मिशेल सेंटनर ने भी 15 रन देकर दो विकेट चटकाए. पाकिस्तान की ओर से बाबर आजम (41) और हसन अली (23) ही दोहरे अंक में पहुंच पाए जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड टीम की शुरुआत भी खराब रही और रुमान रईस (24 रन पर दो विकेट) ने आठ रन तक सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल (02) और ग्लेन फिलिप्स (03) को पेवेलियन लौटा दिया. मुनरो ने इसके बाद टाम ब्रूस (26) के साथ तीसरे विकेट के लिए 49 और रॉस टेलर (नाबाद 22) के साथ भी चौथे विकेट के लिए 49 रन ही अटूट साझेदारी करके 16वें ओवर में टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया. आज की इस जीत से न्‍यूजीलैंड ने तीन टी20 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है
IND VS SA: सबसे तेज पिचों में से एक कर रही टीम इंडिया का इंतजार, लेकिन...
20 January 2018
नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीकी धरती पर बतौर कप्तान अपने पहले ही इम्तिहान में फेल होने के बाद विराट कोहली और टीम इंडिया आत्मचिंतन कर रहे हैं, लेकिन 24 जनवरी से वॉन्डर्स में दौरे की सबसे तेज पिच टीम इंडिया के स्वागत का इंतजार कर रही है. मतलब यह है कि क्लीन स्वीप से बचना है तो जल्दी ही कुछ सोचना होगा. वैसे चयनकर्ताओं ने नेट्स में बल्लेबाजों की मदद के लिए दिल्ली के नवदीप सैनी और मुंबई के शार्दुल ठाकुर को जोहांससबर्ग भेजा है. यहां घरेलू टीम का रिकॉर्ड अपनी ज़मीं पर सबसे खराब रहा है. 1956 से अब तक कुल 37 मैच खेले गए हैं. मेजबान टीम ने इनमें से 15 मैच जीते और 11 हारे हैं. बाकी 11 मैच ड्रॉ छूटे. भारत ने यहां साल 2006 में जीत दर्ज की थी. यानी पिच जितनी तेज होगी, उतना ही मौका विपक्षी टीम के पास होगा. यही वजह है कि सीरीज में बड़ा अंतर साबित हुए एबी डिविलियर्स भी भारतीय पेसर्स से सावधान रहने की बात कर चुके हैं. और अब दक्षिण अफ़्रीकी पूर्व विकेटकीपर मार्क बाउचर ने भी कहा है, 'ये दक्षिण अफ्रीका की सबसे तेज और उछाल वाली पिच है, लेकिन भारत ने भी यहां टेस्ट मैच जीता हुआ है. अगर वो सही जगह पर गेंदबाजी करते हैं, तो प्रोटियाज बल्लेबाज़ों पर दबाव डाल सकते हैं, लेकिन दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों की लंबाई देखकर लगता है कि बहुत सी गेंद भारतीय बल्लेबाजों के कान के पास से गुजरेंगी. दुनिया की सबसे तेज पिचों में शुमार वॉंडर्स की पिच को तेज़ गेंदबाज़ों का स्वर्ग यूं ही नहीं कहा जाता. ये विश्व के उन चुनिंदा वेन्यू में शुमार है जहां तेज़ गेंदबाज़ हर 50 गेंद में विकेट झटकते हैं. यही नहीं हर दिन यहां पर करीब 10 विकेट आउट होने का रिकॉर्ड है. मतलब नतीजा तो पक्का है, और मौका भारत के पास भी रहेगा उस नतीजे को अपने पक्ष में करने का अगर वो पिछली हार को भुलाकर बेखौफ क्रिकेट खेले.
U-19 WORLD CUP: भारतीय जूनियरों ने जिंबाब्वे को दस विकेट से रौंदा.
19 January 2018
नई दिल्ली: पहले से ही क्वार्टरफाइनल में जगह बना चुकी भारतीय टीम ने अंडर-19 विश्व कप के अपने आखिरी लीग मुकाबले में जिंबाब्वे को दस विकेट से रौंद डाला. पहले बल्लेबाजी चुनने के बाद जिंबाब्वे की टीम 48.1 ओवरों में 154 रन बनाकर आउट हो गई. उसकी तरफ से एम शुंबा ने सबसे ज्यादा 36 रन बनाए. भारत की तरफ से सबसे शानदार गेंदबाजी अनुकूल रॉय ने की. उन्होंने 7 ओवर में 20 रन देते हुए 4 विकेट लिए. जवाब में भारत ने नई सलामी जोड़ी हार्विक देसाई (नाबाद 56) और शुभम गिल (नाबाद 90) रन की बदौलत सिर्फ 21.4 ओवरों में मैच जीत लिया. शुभम गिल मैन ऑफ इस मुकाबले ने भारत ने नई सलामी जोड़ी मैदान पर उतरी थी और भारतीय कप्तान पृथ्वी शॉ को मिड्ल ऑर्डर में भेज दिया गया था. इसका पूरा फायदा शुभम गिल और हार्विक देसाई ने मिलकर उठाया. शुभम गिल थोड़ा दुर्भाग्यशाली रहे कि अपने शतक से सिर्फ दस रन दूर रह गए. लेकिन यह एक ऐसी यादगार पारी रही, जो उन्हें आगे बहुत ही ज्यादा भरोसा देगी. वहीं, हार्विक देसाई का नाबाद अर्धशतक भी नॉकआउट राउंड में बेहतर करने के लिए उन्हें कॉन्फिडेंस देगा. इससे पहले भारत के लिए अनुकूल की अच्छी गेंदबाजी के अलावा अभिषेक शर्मा और अर्शदीप ने 2-2 विकेट लिए. जिंबाब्वे की तरफ से मिल्टन सुंबा ने सबसे अधिक 36 रन बनाए. वेस्ले ने 30, लियाम रोचे ने 31 रन बनाए. बता दें कि इससे पहले लीग राउंड में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को ऑलराउंड प्रदर्शन की बदौलत 100 रन से हराया. जिसके बाद भारत ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और पपुआ न्यू गिनी को को 10 विकेट से हरा दिया, तो अब जिंबाब्वे के खिलाफ मैच को मिलाकर टूर्नामेंट में लगातार दूसरे मुकाबले में दस विकेट से जीत दर्ज की. लीग राउंड के शुरुआती तीनों मैचो में धमाकेदार प्रदर्शन से भारतीय टीम ने दुनिया भर की टीमों को मैसेज दे दिया है कि वे आगे के मैचों में उनके खिलाफ कमर कसर कर तैयारी कर लें.
ब्राजील की वर्ल्‍डकप विजेता टीम के सदस्‍य रहे रोनाल्डिन्हो ने फुटबॉल को अलविदा कहा.
17 January 2018
साओ पाउलो: ब्राजील के मशहूर फुटबॉलर रोनाल्डिन्हो ने खेल से संन्‍यास लेने की घोषणा की है. वे वर्ष 2002 में वर्ल्‍डकप जीतने वाली ब्राजील टीम के न केवल सदस्‍य थे बल्कि टीम को चैंपियन बनाने में भी उनका अहम योगदान था. रोनाल्डिन्हो आखिरी बार दो साल पहले पेशेवर फुटबाल खेले थे. पेरिस सेंट जर्मेन और बार्सिलोना क्‍लब के पूर्व स्टार रोनाल्डिन्हो ने आखिरी बार 2015 में फ्लूमाइनेंसे के लिये खेला था.उनके भाई और एजेंट राबर्टो एसिस ने संन्‍यास की पुष्टि करते हुए कहा कि वह (रोनाल्डिन्हो ) अब दोबारा नहीं खेलेंगे रोनाल्डिन्हो ने पोर्टो अलेग्रे में अपने कैरियर का आगाज ग्रेमियो के साथ किया, लेकिन फ्रांस के पीएसजी के साथ खेलते हुए उन्हें ख्याति मिली. इसके बाद 2003 से 2008 के बीच वह बार्सीलोना के लिये खेले. रोनाल्डिन्हो ब्राजील टीम में मिडफील्‍डर और फारवर्ड की हैसियत से खेले, उन्‍हें फ्री किक लेने में महारत हासिल थी. उन्हें 2005 में फीफा का वर्ष का सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर चुना गया था.वह 2008 से 2011 के बीच एसी मिलान के लिए खेले जिसके बाद ब्राजील लौटकर फ्लामेंगो और एटलेटिको माइनेइरो के लिए खेले. ब्राजील के लिये उन्होंने 97 मैच खेलकर 33 गोल दागे जिनमें दो विश्व कप 2002 में किए थे. ऐसी चर्चाएं है कि रोनाल्डिन्हो सियासत में उतर सकते हैं
IND vs PNG U-19 WC: भारतीय टीम का जोरदार प्रदर्शन जारी, पपुआ न्यू गिनी को दी 10 विकेट से मात, पृथ्वी-अनुकूल रहे जीत के हीरो.
16 January 2018
नई दिल्ली: न्यूजीलैंड में चल रहे अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है. भारतीय टीम ने अपने दूसरे मुकाबले में जोरदार प्रदर्शन करते हुए पपुआ न्यू गिनी को 10 विकेटों से हरा दिया. भारत के लिए कप्तान पृथ्वी शॉ ने फिर से जोरदार पारी खेली है. उन्होंने 39 गेंदों पर 57 रन की पारी खेली है. इस पारी में उन्होंने 12 चौके जड़े. वहीं दूसरे ओपनर मनजोत कालरा 9 रन बनाकर नॉट आउट रहे. पपुआ न्यू गिनी की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम को मात्र 65 रन का लक्ष्य दिया था. उनकी पूरी टीम महज 64 रन बनाकर ऑल आउट हो गई. भारतीय गेंदबाजों में अनुकूल रॉय ने 5 विकेट अपने नाम किए, जबकि शिवम मावी ने दो विकेट अपने नाम किए. अनुकूल रॉय और शिवम के शानदार गेंदबाजी के आगे पपुआ न्यू गिनी की टीम महज 21.4 ओवर ही टिक सकी और 64 रन पर आउट हो गई. इस मुकाबले में पपुआ गिनी की शुरुआत बेहद खराब रही और अंत तक वह संभल नहीं सका. भारत के लिए कमलेश नागरकोटी और अर्शदीप सिंह ने भी एक-एक विकेट अपने नाम किया. अनुकूल रॉय को शानदार प्रदर्शन का इमान मिला और उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया.
IND VS SA: यहां विराट कोहली ने सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ा, पर नहीं दे सके 'मॉडर्न ब्रेडमैन' को मात.
15 January 2018
नई दिल्ली: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बिल्कुल सही समय पर और करोड़ों भारतीयों की चाहत को पूरा करते हुए सेंचुरियन के स्पोर्टपार्क में मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन अपने करियर का 21वां शतक जड़ डाला. इसी के साथ ही विराट ने एक नहीं बल्कि दो बहुत ही अहम रिकॉर्ड बनाते हुए अपने गुरु सचिन तेंदुलकर को बहुत ही नजदीकी अंतर से मात दी, लेकिन वह क्रिकेट के 'मॉडर्न ब्रेडमैन' को नहीं ही पछाड़ सके. चलिए सबसे पहले बात विराट कोहली के दूसरे रिकॉर्ड की कर लेते हैं. विराट कोहली सेंचुरियन के इस शतक के साथ ही दक्षिण अफ्रीकी धरती पर दो या इससे ज्यादा शतक बनाने वाले दूसरे सिर्फ भारतीय बल्लेबाज बन गए. और विराट का यह शतक यह भी भरोसा दे गया कि वह अपने करियर में सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ते हुए दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन जाएंगे. सचिन तेंदुलकर ने दक्षिण अफ्रीका में पांच शतक बनाए हुए हैं. वैसे विराट ने अगले अहम रिकॉर्ड में सचिन को जरूर मात दे दी इस रिकॉर्ड के तहत विराट कोहली ने सचिन तेंदुलकर को तो मात दे दी, लेकिन भारतीय कप्तान मॉडर्न ब्रेडमैन कहे जा रहे ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ को मात देने से काफी अंतर से चूक गए. आपको बता दें कि अपने 21वें टेस्ट शतक के लिए डॉन ब्रेडमैन ने 56, सुनील गावस्कर ने 98 और सचिन तेंदुलकर ने 110 पारियां ली थीं. विराट कोहली ने अपना 21वां टेस्ट शतक जड़ने के लिए सचिन से महज एक कम 109 पारियां लीं, लेकिन इसी काम को स्टीव स्मिथ ने 105 पारियों में अंजाम दिया था. मतलब यह विराट पांच पारियों से स्टीव स्मिथ को नहीं पछाड़ सके.
PAK VS NZ: इस गेंदबाज ने पाकिस्तान को सबसे बुरी में से एक हार पर धकेला..74 पर ढेर..
13 January 2018
नई दिल्ली: न्यूजीलैंड ने शनिवार को तीसरे एकिदिनी मुकाबले में पाकिस्तान को 183 रन से हराकर सीरीज अपने नाम कर ली. और पाकिस्तान की इस का सबब बने ट्रेंट बोल्ट, जो पाक बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे. न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 257 रन बनाए, जबकि पाकिस्तानी टीम 28वें ओवर में 74 रन पर आउट हो गई. इसी के साथ ही मेजबान टीम ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है. एक समय पाकिस्तान का स्कोर 19वें ओवर में आठ विकेट पर 32 रन था और उस पर न्यूनतम वनडे स्कोर पर सिमट जाने का खतरा मंडरा रहा था. न्यूनतम वनडे स्कोर जिम्बाब्वे के नाम है जो 35 रन पर आउट हो गई थी. पाकिस्तान का न्यूनतम वनडे स्कोर 43 रन है. लेकिन पुछल्लों ने मिलकर पाक को इस शर्मनाकर स्थिति से बचा लिया. सरफराज अहमद ( 14 ) , मोहम्मद आमिर ( 14 ) और रूम्मान रईस ( 16 ) ने आखिरी दो विकेट के लिए 42 रन जोड़े दस ओवरों के बाद पाकिस्तान के तीन विकेट नौ रन पर गिर गए थे. अनियमित गेंदबाज कोलिन मुनरो ने शादाब खान को बोल्ड किया और हसन अली को विलियमसन के हाथों लपकवाया. इससे पहले न्यूजीलैंड के लिये केन विलियमसन ( 73 ) और रोस टेलर ( 52 ) के अलावा मार्टिन गप्टिल ( 45 ) ने उपयोगी पारियां खेली बोल्ट ने पांच विकेट चटकाए. उन्होंने अजहर अली, फखर जमान और मोहम्मद हफीज को पांच गेंदों के भीतर पैवेलियन भेजकर पाकिस्तान को ऐसा झटका दिया कि मेहमान टीम आखिरक तक इससे नहीं उबर सकी
IND vs SA: दूसरा टेस्‍ट कल से, दांव पर है लगातार नौ सीरीज जीतने का टीम इंडिया का रिकॉर्ड..
12 January 2018
सेंचुरियन: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्‍ट मैचों की क्रिकेट सीरीज के अंतर्गत कल से शुरू होने वाला दूसरा टेस्‍ट मैच टीम इंडिया के लिए 'करो या मरो' की तरह है. केपटाउन में हुआ पहला टेस्‍ट मैच टीम इंडिया 72 रन से हार गई थी. ऐसे में दूसरे टेस्‍ट में भारतीय बल्‍लेबाजों को पिच की उछाल और दक्षिण अफ्रीका के तेज आक्रमण का बेहतर ढंग से सामना करना होगा. एक तरह से लगातार नौ सीरीज जीतने का भारत का रिकॉर्ड कल दांव पर होगा चूंकि मेजबान टीम ने पहला टेस्ट 72 रन से जीतकर तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है. भारत को 2018-19 में विदेशी धरती पर 12 टेस्ट खेलने हैं और यह उनमें से दूसरा ही टेस्ट है. भारत को सीरीज में बने रहने के लिए यह टेस्ट हर हालत में जीतना होगा. वैसे, दक्षिण अफ्रीका अगर सीरीज में क्‍लीन स्‍वीप करने में सफल होता है तो भी भारत की नंबर वन टेस्ट रैंकिंग पर असर नहीं पड़ेगा लेकिन भारतीय टीम को स्वदेश में काफी आलोचना का सामना करना पड़ेगा. भारतीय टीम प्रबंधन को ऐसे में काफी सोच-समझकर चयन करना होगा. दूसरे टेस्ट की पहली गेंद फेंके जाने से 48 घंटे पहले भारतीय टीम ने सुपरस्पोर्ट्स पार्क पर करीब चार घंटे तक अभ्यास किया. चेतेश्वर पुजारा ने पहली स्लिप में कैचिंग का अभ्यास किया जबकि विराट कोहली और रोहित शर्मा ने मिलकर बल्लेबाजी की जबकि अजिंक्य रहाणे अधिकांश समय मूक दर्शक बने रहेण्‍ उन्होंने और शिखर धवन ने आखिर में सहायक कोच संजय बांगर के साथ थ्रो डाउन अभ्यास किया. दोनों में से किसी ने असली तेज गेंदबाजी का सामना नहीं किया. केएल राहुल, मुरली विजय और पुजारा ने आसपास के नेट पर बल्लेबाजी की. उनके बाद कोहली और रोहित बल्लेबाजी के लिये आए और फिर हार्दिक पंड्या तथा ऋद्धिमान साहा उतरे. धवन की जगह राहुल का खेलना लगभग तय है. धवन का विदेश में खेले गए 19 टेस्ट में औसत 43.72 है जो उनके कैरियर के औसत 42.62 से अधिक है, लेकिन दक्षिण अफ्रीका, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड में उनके रिकॉर्ड को देखे तो यह 11 टेस्ट में सिर्फ 27.81 है. दक्षिण अफ्रीका में तीन टेस्ट में उनका औसत 18 रहा है और वह एक भी अर्धशतक नहीं बना सके. उनका सर्वोच्च स्कोर यहां 29 रन है जो उन्होंने 2013-14 में बनाया था. यह आंकड़े उनके लिये भी चिंता का सबब हैं. दूसरी ओर राहुल तकनीकी रूप से अधिक सक्षम बल्लेबाज हैं. रोहित और रहाणे में से एक का चयन भी कठिन है. हालांकि कोहली ने कहा था कि मौजूदा फॉर्म को देखते हुए पहले टेस्ट में रोहित को चुना गया. रोहित केपटाउन में दो पारियों में 11 और 10 रन ही बना सके लेकिन ऐसा लगता नहीं है कि टीम प्रबंधन एक मैच की नाकामी के बाद अपना फैसला बदलेगा. गेंदबाजी में हार्दिक पंड्या अपनी जगह पक्की कर ही चुके हैं. कोहली को बाकी चार का चयन करना है और इसमें पिच की भूमिका अहम होगी. अगर पिच न्यूलैंड्स की तरह होगी तो भारत एक स्पिनर को बाहर कर सकता है. अब देखना यह है कि कोहली तेज गेंदबाजी आक्रमण में क्या बदलाव करते हैं. उमेश यादव ने कल नेट पर गेंदबाजी और बल्लेबाजी का अभ्यास किया. बीमारी से उबर चुके ईशांत शर्मा भी लय में दिखे. दोनों मिलकर 115 टेस्ट का अनुभव रखते हैं लेकिन अगर कोहली टीम में बदलाव नहीं करते हैं तो मात्र एक मैच के अनुभव वाले जसप्रीत बुमराह को इन पर तरजीह मिल सकती है. भारतीय खेमे में जहां असमंजस की स्थिति है, वहीं दक्षिण अफ्रीका खेमा उतना चिंतित नजर नहीं आया. मेजबान टीम के लिये चिंता का सबब चोटिल डेल स्टेन का विकल्प तलाशना है. युवा लुंगी एंगिडि या ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस को खेलने का मौका मिल सकता है.
भारत के इस बॉलर ने U19 वर्ल्‍डकप में ली थी हैट्रिक, बाद में सीनियर टीम के लिए भी किया यह कमाल.
11 January 2018
नई दिल्‍ली: न्‍यूजीलैंड में होने वाले आईसीसी U19 वर्ल्‍डकप में भारतीय टीम को खिताब के दावेदारों में शुमार किया जा रहा है. प्रतियोगिता में भारतीय टीम की कप्‍तानी मुंबई के बल्‍लेबाज पृथ्‍वी शॉ के हाथ है जबकि टीम के कोच राहुल द्रविड़ हैं. U19 वर्ल्‍डकप में टीम इंडिया का प्रदर्शन अब तक शानदार रहा है. भारतीय टीम वर्ष 2000, 2008 और 2012 में जूनियर वर्ल्‍डकप चैंपियन रह चुकी है जबकि दो बार (वर्ष 2006 और 2016) में उसे उपविजेता रहकर संतोष करना पड़ा था. वर्ष 2016 में खेले गए पिछले U19 वर्ल्‍डकप के फाइनल में भारतीय टीम फाइनल में वेस्‍टइंडीज से पांच विकेट से हार गई थी. इस वर्ल्‍डकप की भारतीय टीम ने ईशान किशन, अवेश खान, ऋषभ पंत, कुलदीप यादव जैसे स्‍टार खिलाड़ी शामिल थे, इनमें से ऋषभ और कुलदीप सीनियर क्रिकेट में भी भारतीय टीम का प्रतिनिधित्‍व कर चुके हैं. यूपी के चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव के नाम तो U19 वर्ल्‍डकप और सीनियर स्‍तर पर भारत के लिए हैट्रिक लेने का दुर्लभ रिकॉर्ड दर्ज है. कुलदीप ने वर्ष 2016 में स्‍कॉटलैंड के खिलाफ लगातार तीन गेंदों पर तीन विकेट हासिल किए थे. इस टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने वाले कुलदीप देश के पहले गेंदबाज हैं. ग्रुप ए के मैच में उन्‍होंने स्‍काटलैंड के निक फेरर (0), काइले स्‍टलिंग (0)और एलेक्‍स बॉम (5) को आउट किया था. फेरर को कुलदीप ने दीपक हुडा से कैच कराया था जबकि स्‍टर्लिंग ओवर की आखिरी गेंद पर एलबीडब्‍ल्‍यू आउट हुए थे. इसके बाद अपने अगले ओवर की पहली गेंद पर कुलदीप ने बॉम को आउट करके हैट्रिक पूरी की थी जूनियर वर्ल्‍डकप के इस शानदार प्रदर्शन के दम पर कुलदीप सीनियर भारतीय टीम में भी स्‍थान बनाने में सफल रहे थे. यही नहीं, उन्‍होंने पिछले साल ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ भी हैट्रिक ली. सितंबर 2017 में कोलकाता में खेले गए मैच में उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया के मैथ्‍यू वेड, एस्‍टन एगर और पैट कमिंस को लगातार गेंदों पर आउट किया था. इन तीन विकेटों में से वेड बोल्‍ड हुए थे जबकि एगर को अम्‍पायर ने एलबीडब्‍ल्‍यू करार दिया था. हैट्रिक के तीसरे विकेट के रूप में कुलदीप ने कमिंस को विकेट के पीछे एमएस धोनी से कैच कराया था. सीनियर क्रिकेट में कुलदीप से पहले चेतन शर्मा और कपिल देव ने ही वनडे में भारत के लिए हैट्रिक ली थी. चेतन शर्मा ने वर्ष 1997 में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ नागपुर में और कपिल ने 1991 में कोलकाता में श्रीलंका के खिलाफ हैट्रिक ली थी. कुलदीप यादव सीनियर स्‍तर पर टीम इंडिया के लिए अब तक दो टेस्‍ट, 14 वनडे और 8 टी20 मैच खेल चुके हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में वे 9, वनडे में 22 और टी20 में 12 विकेट ले चुके हैं.
युजवेंद्र चहल ने क्रिस गेल से लिया पंगा, जिम में कसरत करते हुए कह डाली ऐसी बात
10 January 2018
नई दिल्ली: टीम इंडिया के शाइनिंग स्टार लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल साउथ अफ्रीका में टीम इंडिया को जीत दिलाने के लिए जी तोड़ महनत कर रहे हैं. 1 फरवरी से वनडे सीरीज शुरू होने वाली है. जिसके लिए वो पसीना बहा रहे हैं. उन्होंने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो अपलोड किया है जहां वो जिम में एक्सरसाइज करते नजर आ रहे हैं. चहल को पहले पतले होने के लिए ट्रोल किया जा चुका है. अब उन्होंने ये वीडियो डालकर सभी की बोलती बंद करने की कोशिश की है. साउथ अफ्रीकी स्पिनर और आरसीबी में उनके टीम मेट रहे तबरेज शमसी ने इस वीडियो में कमेंट करते हुए कहा- ''हे भगवान! ये युजवेंद्र चहल है या क्रिस गेल.'' चहल ने पोस्ट पर कमेंट करते हुए कहा- ''मैं क्रिस गेल से ज्यादा वजन उठाता हूं. ये मेरा वॉर्म अप सेट है शमसी.'' जिसके बाद क्रिस गेल भी आ गए और बड़े ही मजेदार ढंग से लिखा- ''मुझे मार डालो! क्रिस गेल और शमसी के कमेंट करने के बाद भारत के फील्डिंग कोच ने लिखा- ''डम्बल कुछ ज्यादा हलके नजर आ रहे हैं. भारी वजन उठाओ भाई.'' बता दें, चहल ने आईपीएल के पिछले सीजन में 13 मैच खेले थे. लेकिन आरसीबी ने उन्हें रिटेन नहीं किया है. 2016 के सीजन में उन्होंने आरसीबी की तरफ से 21 विकेट झटके थे. उन्होंने अब तक 56 आईपीएल मैच खेलते हुए 70 विकेट लिए हैं. आरसीबी ने कप्तान विराट कोहली, एबीडिविलियर्स और सरफराज खान को रिटेन किया है. कोहली को 17 करोड़, एबीडिविलियर्स को 11 करोड़ और सरफराज को 1.75 करोड़ में रिटेन किया है.
कुछ ऐसे' यूसुफ पठान का करियर बीसीसीआई ने बचा लिया, निलंबन के बावजूद आईपीएल में खेल सकेंगे
9 January 2018
नई दिल्ली: टीम इंडिया और सक्रिय घरेलू क्रिकेट से दूर चल रहे यूसुफ पठान के लिए मंगलवार का दिन बुरी और अच्छी दोनों ही खबर लेकर आया. पहली खबर उनके लिए सुबह-सुबह आयी, जब उन्हें यह खबर मिली कि बीसीसीआई ने बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन को पत्र लिखकर उन्हें जारी घरेलू सत्र के आगे के मैचों में टीम में न चुनने को कहा है. वजह यह रही कि यूसुफ पिछले साल हुए डोप टेस्ट में फेल हो गए. लेकिन कुछ ही घंटे बाद उनके लिए अच्छी खबर आई और बीसीसीआई ने उन्हें बहुत ही बड़ी राहत प्रदान की. बोर्ड ने ऐसा फैसला लिया, जो उन्हें फिर से टीम इंडिया की जर्सी पहना सकता है. पहले बात बुरी खबर की कर लेते हैं. बता दें कि यूसुफ पठान ने पिछले घरेलू सत्र में बड़ौदा रणजी टीम के लिए केवल एक ही मैच खेला था. दरअसल यूसुफ ने ब्रोजिट नाम की दवा का सेवन किया था. इस दवा में प्रतिबंधित पदार्थ का इस्तेमाल होता है. किसी भी खिलाड़ी को यह दवा लेने के लिए पहले से ही अनुमति लेनी पड़ती है. लेकिन दवा लेने से पहले न तो यूसुफ पठान ने ही इजाजत ली और न ही बड़ौदा टीम के डॉक्टर ने. नतीजा यह रहा कि यूसुफ डोप टेस्ट में फेल हो गए. डोप टेस्ट का रिजल्ट पॉजेटिव आते ही बीसीसीआई ने बड़ौदा एसोसिएशन को जारी सत्र के लिए यूसुफ को टीम में न चुनने का फरमान जारी कर दिया. इसके बाद ही उनके अगले कुछ महीने बाद आईपीएल और आगे टीम इंडिया में खेलने को लेकर सवाल उठने शुरू हो गए थे. मगर पहली मिली बुरी खबर के कुछ ही घंटे बाद उनके लिए और एक और बुरी खबर तो आई, लेकिन यूसुफ जब इसकी गहराई में गए, तो उनकी आंखों से आंसू आ गए. और इसके लिए उन्होंने पत्र लिखकर बीसीसीआई का शुक्रिया भी अदा किया. बिना इजाजत ली गई दवा और यूसुफ पठान के इतिहास को देखते हुए बोर्ड ने उन्हें सजा भी दे दी, लेकिन बोर्ड ने यूसुफ को पूरी तरह से बचा भी लिया. सजा के तहत बीसीसीआई ने यूसुफ पठान को पांच महीने के लिए निलंबित कर दिया, जबकि साल 2012 में आईपीएल में डोप टेस्ट में फेल हुए दिल्ली डेयर डेविल्स के क्रिकेटर और वर्तमान दिल्ली घरेलू टीम के कप्तान प्रदीप सांगवान को 18 महीने का प्रतिबंध झेलना पड़ा था दरअसल यूसुफ पठान का यह निलंबन 15 अगस्त 2017 से लागू होगा. बोर्ड ने कहा कि नियमों के अनुसार यूसुफ पर अस्थायी रूप से लगाए गए प्रतिबंध की अवधि का लाभ लेने का उन्हें पूरा हक है, जो उन पर 28 अक्टूबर 2017 से लागू था. इसलिए अब बोर्ड के ताजा निलंबन की अवधि 15 अगस्त 2017 से लागू होकर 14 जनवरी 2018 की आधी रात को खत्म हो जाएगी. इसी के साथ ही यूसुफ पठान न केवल आईपीएल की नीलामी में हिस्सा ले सकेंगे, बल्कि इस टूर्नामेंट और आगे टीम इंडिया के लिए भी खेल सकेंगे.
AUS VS ENG: ऑस्ट्रेलिया ने 4-0 से जीती एशेज सीरीज, सिडनी टेस्ट में इंग्लैंड को पारी व 123 रन से हराया
8 January 2018
सिडनी: ऑस्ट्रेलिया ने सिडनी टेस्ट पारी और 123 रनों से जीत कर 2017 एशेज़ सीरीज 4-0 के बड़े अंतर से जीत लिया है. दूसरी पारी में इंग्लैंड की टीम 303 रनों से पिछड़ने के बाद महज़ 180 रन ही बना सकी. इंग्लैंड कप्तान जो रूट अंतिम दिन डीहाइड्रेशन, डायरिया, और वॉमिटिंग की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती हुए, जिसके कारण वह बल्लेबाज़ी करने मैदान पर नहीं उतरे. रूट 58 रन बनाकर खेल रहे थे. उनके बाद कोई भी इंग्लैंड का बल्लेबाज़ ज्यादा देर नहीं टिक सका. पैट कमिन्स ने दूसरी पारी में पहली पारी की तरह 4 विकेट झटके और मैच में 8 विकेट के लिए उन्हें मैन ऑफ़ द मैच चुना गया. वहीं, ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को इस सीरीज में 137.40 की औसत से 7 पारियों में 687 रन बनाने के लिए मैन ऑफ़ द सीरीज़ चुना गया. उन्होंने कुल 3 शतक और 2 अर्धशतक लगाए. कंगारू टीम के सभी गेंदबाजो ने 20 से ज्यादा विकेट लिए. सीरीज़ में सबसे ज्यादा रन स्मिथ ने बनाए और कमिन्स 23 विकेट के साथ गेंदबाज़ों में टॉप पर रहे. स्मिथ ने जीत के बाद कहा कि ये एक टीम की जीत है..सभी गेंदबाज़ों ने 20 से ज्यादा विकेट लिए और बल्लेबाज़ों ने जीत में योगदान दिया. इससे पहले चौथे दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 4 विकेट पर 93 रन बनाए थे. कप्तान जो रूट (42) और जॉनी बर्यस्टो (17) रन बनाकर खेल रहे थे. अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी इंग्लैंड को दिन का पहला झटका मार्क स्टोनमैन के रूप में लगा था. उन्हें मिशेल स्टॉर्क ने खाता खोलने का मौका दिए बगैर पगबाधा आउट कर पेवेलियन भेजा था. इसके बाद, नाथन लॉयन ने एलिस्टर कुक (10) को भी 15 के कुलयोग पर बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखाया. कुक के आउट होने के बाद इंग्लैंड की पारी संभालने उतरे कप्तान रूट और जेम्स विंस (18) ने 28 रन ही जोड़े थे कि पैट कमिंस ने स्टीव स्मिथ के हाथों विंसे को कैच आउट कर इस साझेदारी को तोड़ दिया. ऑस्ट्रेलिया के लिए चौथे दिन लॉयन ने दो विकेट लिए थे, जबकि स्टॉर्क और कमिंस को एक-एक सफलता मिली थी
IND vs SA LIVE: केपटाउन टेस्‍ट के दूसरे दिन का खेल शुरू, पुजारा और रोहित शर्मा क्रीज पर
6 January 2018
केपटाउन: भारतीय गेंदबाजों की मेहनत पर बल्‍लेबाजों के कमजोर प्रदर्शन ने पानी फेर दिया. भुवनेश्‍वर कुमार (4 विकेट) की अगुवाई में भारतीय गेंदबाजों ने आज यहां पहले टेस्‍ट में दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी को 73.1 ओवर में 286 रन पर समेट दिया था, लेकिन पहले दिन स्‍टंप्‍स तक भारत ने भी 28 के स्‍कोर पर तीन विकेट गंवा दिए थे. मुरली विजय, शिखर धवन और विराट कोहली के रूप में भारतीय टीम के तीन विकेट गिर चुके हैं. दूसरे दिन 18 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर तीन विकेट पर 37 रन है. चेतेश्‍वर पुजारा 9 और रोहित शर्मा 5 रन बनाकर क्रीज पर हैं. टेस्‍ट के दूसरे दिन भारतीय बल्‍लेबाजों ने संयत शुरुआत की. डेल स्‍टेन और वेर्नोन फिलेंडर की ओर से फेंके गए दिन के पहले चार ओवर मेडन रहे. दिन के पांचवें ओवर में रोहित शर्मा ने स्‍टेन की गेंद पर दो रन लेकर भारत के स्‍कोर को 28 से 30 रन पर पहुंचाया. इस ओवर में पांच रन बने
पहले दिन भारत ने गंवा दिए थे तीन विकेट मैच के पहले दिन भारतीय टीम का पहला विकेट मुरली विजय (1) के रूप में गिरा था जिन्‍हें वेर्नोन फिलेंडर ने डीन एल्‍गर से कैच कराया. इसके अगले ही ओवर में शिखर धवन (16 रन, 13 गेंद, तीन चौके) ने अपना विकेट एक तरह से थ्रो कर दिया. उन्‍होंने डेल स्‍टेन की गेंद पर बेवजह शॉट लगाने की कोशिश की और गेंदबाज को ही कैच दे बैठे. स्‍कोर 18 रन तक पहुंचते-पहुंचते भारत के दो विकेट गिर चुके थे.पहले दिन का खेल समाप्‍त होने के पहले कप्‍तान विराट कोहली (5 रन, 13 गेंद ) भी पेवेलियन लौट गए. उन्‍हें तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्केल ने विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक से कैच कराया. पहले दिन के खेल की समाप्ति के समय टीम इंडिया का स्‍कोर तीन विकेट पर 28 रन था और पुजारा के साथ रोहित शर्मा क्रीज पर थे.
दक्षिण अफ्रीका ने बनाए थे 286 रन इससे पहले भारतीय टीम ने भुवनेश्‍वर की अगुवाई में शानदार प्रदर्शन करते हुए दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी को 286 रन पर समेट दिया था. मेजबान टीम के लिए इस मैच में एबी डिविलियर्स और फाफ डु प्‍लेसिस ने अर्धशतक बनाए थे. भारत के लिए भुवनेश्‍वर कुमार ने सर्वाधिक चार और आर. अश्विन ने दो विकेट लिए. गौरतलब है कि दुनिया की नंबर एक टीम भारत ने दूसरे स्थान की टीम दक्षिण अफ्रीका पर मजबूत बढ़त बना रखी है और अगर टीम को टेस्ट सीरीज में 0-3 से क्लीन स्वीप का सामना करना पड़ता है तो भी वह अपनी शीर्ष रैंकिंग नहीं गंवाएगी दक्षिण अफ्रीका में हालांकि भारत का रिकॉर्ड काफी खराब है जहां उसने छह में से पांच सीरीज गंवाई हैं जबकि एक ड्रॉ रही. भारत ने 1992 से दक्षिण अफ्रीका की सरजमीं पर खेले 17 टेस्ट में से सिर्फ दो में जीत दर्ज की है. टीम ने एक जीत 2006-07 में राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में जबकि एक 2010-11 में महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में दर्ज की.भारत ने हालांकि पिछले दो दौरों पर दक्षिण अफ्रीका में बेहतर प्रदर्शन किया है. टीम ने 2010-11 में सीरीज ड्रॉ कराई जबकि 2013-14 में उसे कड़ी टक्कर देने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा.

AUS VS ENG: 'यह धमाल' करने वाले स्टीव स्मिथ दूसरे बल्लेबाज बने... दिग्गज बल्लेबाज को पीछे छोड़ा!
5 January 2018
नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के धमाल करने का सिलसिला जारी है. कुछ दिन पहले ही स्मिथ आईसीसी की सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग में अपने साथ संयुक्त रूप से काबिज सर लेह हटन को पछाड़कर ब्रेडमैन के बाद स्पष्ट तौर पर सर्वकालिक बल्लेबाजों में दूसरी पायदान पर पहुंच गए, तो वहीं उन्होंने सिडनी में इंग्लैंड के खिलाफ एशेज के पांचवें टेस्ट के दूसरे दिन अपनी नाबाद 44 रन की पारी से एक और मामले में दिग्गज क्रिकेटर वॉली हैमंड को पीछे छोड़ दिया. हम बात कर रहे हैं सबसे तेजी से टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज छह हजार रन बनाने की. अभी भी इस मामले में सर डॉन ब्रेडमैन ही शीर्ष पर विराजमान हैं और अब इस मामले में स्टीव स्मिथ ने संयुक्त रूप से सर गैरी सोबर्स के साथ दूसरी पायदान पर कब्जा कर लिया है. सर डॉन ब्रेडमैन ने टेस्ट में सबसे तेज छह हजार रन बनाने का कारनामा सिर्फ 68 ही पारियों में कर डाला था. वैसे स्टीव स्मिथ टेस्ट में छह हजार रन बनाने वाले दुनिया के 64वें बल्लेबाज बन गए हैं. जिस अंदाज में स्टीव स्मिथ का बल्ला रन उगल रहा है, उसे देखते हुए लग रहा है कि आने वाले हर टेस्ट मैच के साथ कोई न कोई रिकॉर्ड उनके बल्ले से निकलेगा. सिडनी में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के वॉली हैमंड को सबसे तेज छह हजारी बनने के मामले में सिर्फ तीन पारियों से मात दे दी. जहां सर वॉली हैमंड ने टेस्ट में सबसे तेज छह हजार रन बनाने के लिए 114 पारियां लीं, तो स्टीव स्मिथ ने इस काम को 111 पारियों में ही अंजाम दे डाला
टेनिस: चोट के कारण केई निशिकोरी ऑस्‍ट्रेलियन ओपन से हटे, जोकोविक का खेलना भी संदिग्‍ध
4 January 2018
मेलबर्न: जापान के चोटिल स्टार केई निशिकोरी साल के पहले आस्ट्रेलिया ग्रैंडस्‍लैम, ऑस्‍ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट से हट गए हैं. दूसरी ओर नोवाक जोकोविक का भी इस प्रतियोगिता में खेलना संदिग्‍ध है. जोकोविच ने कहा है कि वह खेलने पर फैसला करने से पहले प्रदर्शनी मैच खेलेंगे. जोकोविक लगातार चोट के कारण परेशान हैं. उनकी कोहनी में चोट लगी थी जिसके कारण वह प्रतिस्पर्धी टेनिस से दूर हैं. एशिया के नंबर एक खिलाड़ी निशिकोरी ने सिनसिनाटी में अभ्यास के दौरान दायीं कलाई में चोट लगने के बाद पिछले अगस्त से प्रतिस्पर्धी टेनिस नहीं खेला है. निशिकोरी ने कहा कि वह अब भी ग्रैंडस्लैम के कड़े अभियान के लिए तैयार नहीं हैं. मेलबर्न में 15 जनवरी से शुरू हो रहे साल के पहले ग्रैंडस्लैम के संदर्भ में निशिकोरी ने अपनी वेबसाइट पर कहा, ‘मुझे यह घोषणा करते हुए दुख है कि मैं इस साल ऑस्ट्रेलिया ओपन में नहीं खेल पाऊंगा.’उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया ओपन मेरा पसंदीदा ग्रैंडस्लैम है.. यह मेरा ‘घरेलू’ ग्रैंडस्लैम है.’ दूसरी तरफ जुलाई में दायीं कोहनी में चोट के कारण विंबलडन क्वार्टर फाइनल से हटने के बाद से जोकोविक नहीं खेले हैं. वह इससे पहले अबूधाबी में प्रदर्शनी मैच और कतर ओपन से हट चुके हैं. वह अगले हफ्ते मेलबर्न में कूयोंग क्लासिक और फिर यहीं टाई ब्रेक टेंस टूर्नामेंट में खेलकर अपनी चोट को परखेंगे. 12 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन जोकोविक की वेबसाइट पर जानकारी दी गई, ‘नोवाक ऑस्ट्रेलिया जा रहे हैं जहां वे दो प्रदर्शनी टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे. इन दो प्रतियोगिताओं के बाद सत्र के पहले ग्रैंडस्लैम ऑस्ट्रेलिया ओपन में उसके खेलने पर फैसला किया जाएगा जहां वह छह बार चैंपियन बने हैं

NZ vs WI: न्‍यूजीलैंड के ओपनर कॉलिन मुनरो ने टी20 क्रिकेट में बनाया यह वर्ल्‍ड रिकॉर्ड
3 January 2018

माउंट मॉनगनुई: न्‍यूजीलैंड के बाएं हाथ के बल्‍लेबाज कॉलिन मुनरो ने इतिहास रचते हुए टी20 (इंटनेशनल ) क्रिकेट में तीन शतक जमाने वाले पहले बल्‍लेबाज बनने का श्रेय हासिल किया है. इस कीवी ओपनर ने आज यहां माउंट मॉनगनुई में वेस्‍टइंडीज के खिलाफ तीसरे और अंतिम टी20 मैच में यह उपलब्धि हासिल की. मैच में न्‍यूजीलैंड की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करने का फैसला लिया था. मुनरो ने महज 47 गेंदों पर शतक पूरा किया और वे 104 रन बनाकर आउट हुए. उनकी इस पारी में तीन चौके और 10 छक्‍के शामिल रहे. आज के इस शतक से पहले वे वर्ष 2017 में भारत के खिलाफ नाबाद 109 और इसी वर्ष बांग्‍लादेश के खिलाफ 101 रन की पारी खेल चुके हैं आज के मैच में मुनरो का अर्धशतक 26 गेंदों पर तीन चौकों और चार छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ था. मुनरो की इस पारी की बदौलत न्‍यूजीलैंड की टीम मैच में निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट खोकर 243 रन का विशाल स्‍कोर बनाने में सफल रही. मुनरो के अलावा मार्टिन गुप्टिल ने भी 63 रन का योगदान दिया. इन दोनों बल्‍लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 136 रन की साझेदारी की. वेस्‍टइंडीज टीम के लिए कार्लोस ब्रेथवेट ने दो विकेट हासिल किए. गौरतलब है कि वर्ष 2012 में टी20 डेब्‍यू करने वाले मुनरो ने अपना पहला मैच दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था


ऑस्‍ट्रेलियाई ऑलराउंडर मिशेल मार्श ने आईपीएल के बजाय काउंटी क्रिकेट को दी तरजीह!
2 January 2018

सिडनी: ऐसे समय जब खिलाड़ी पैसे के पीछे भाग रहे हैं, ऑस्ट्रेलिया के हरफनमौला खिलाड़ी मिचेल मार्श ने बड़ी कमाई वाले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) पर काउंटी क्रिकेट को तरजीह देकर उदाहरण पेश किया है.मिचेल मार्श ने इस साल इंडियन प्रीमियर लीग में नहीं खेलने का फैसला किया है और इसके बजाय वह लंबे प्रारूप में अपने खेल में सुधार करने के लिये इंग्लिश काउंटी सरे की तरफ से खेलेंगे. पिछले साल राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स ने मार्श को 4.8 करोड़ रुपये खरीदा था. ईएसपीएन क्रिकइन्फो के अनुसार मार्श ने कहा, ‘पैसों के लिहाज से यह बड़ा फैसला था लेकिन मेरा मुख्य लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया के लिये टेस्ट मैच क्रिकेट खेलना है.’ उन्होंने कहा, ‘आईपीएल लुभावना है. उससे पैसा और भारत में खेलने का लोभ जुड़ा है लेकिन मैंने अपनी क्रिकेट को ध्यान में रखकर फैसला किया है. जब मैंने फैसला किया तो मुझे नहीं लगा कि मैं इतनी जल्दी इस पर पहुंच जाऊंगा.’ मार्श ने ऑस्ट्रेलिया के लिए अब तक 23 टेस्ट मैचों में 893 रन बनाने के अलावा 29 विकेट लिए हैं. उन्‍होंने कहा कि वह इंग्लैंड में जून में होने वाली वनडे सीरीज के लिए ध्यान लगाना चाहते हैं और उनका ध्‍यान अपने देश के लिए अच्छा प्रदर्शन करने पर है


RANJI TROPHY FINAL: बड़ा कारनामा! 'ऐसी हैट्रिक' रजनीश गुरबानी ने पहली बार बनाई 83 साल के रणजी इतिहास में!
30 December 2017

नई दिल्ली: इंदौर के होल्कर स्टेडियम में दिल्ली और मुंबई के बीच खेले जा रहे पांचदिनी रणजी ट्रॉफी फाइनल के मुकाबले के दूसरे दिन शनिवार को सुबह-सुबह शनिदेव का कहर दिल्ली पर टूटा! यह कहर ढाया सेमीफाइनल में अपने बूते कर्नाटक से जीत छीन लेने वाले युवा सीम गेंदबाज रजनीश गुरबानी ने. रजनीश गुरबानी ने हैट्रिक जड़कर वह कारनामा कर दिखाया, जो उनसे पहले इस टूर्नामेंट के इतिहास में शायद ही कोई गेंदबाज कर सका है. बता दें कि कुल मिलाकर यह रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट के करीब 83 साल के इतिहास में बनने वाली कुल 74वीं हैट्रिक रही रणजी ट्रॉफी में पहली बार कोई हैट्रिक साल 1934-45 में उत्तर भारत के बागा जिलानी ने साउदर्न पंजाब के खिलाफ बनाई थी. बहरहाल रजनीश गुरबानी की हैट्रिक टूर्नामेंट के करीब आठ दशकों के इतिहास में फाइनल में बनने वाली केवल दूसरी ही हैट्रिक रही. उनसे पहले यह कारनामा साल 1973-73 के सेशन में मुंबई और तमिलनाडु के बीच खेले गए रणजी ट्रॉफी के फाइनल में तमिलनाडु के बी कल्याणसुंदरम ने किया था. उन्होंने मुंबई की दूसरी पारी के दौरान आखिरी चार बल्लेबाजों को आउट किया था. बी. कल्याणसुंदरम द्वारा बनाई गई हैट्रिक के बाद करीब 34 साल बाद रणजी ट्रॉफी के फाइनल में हैट्रिक बनाने का कारनामा रजनीश गुरबानी के हिस्से में आया. होल्कर स्टेडियम में चल रहे मैच के दूसरे दिन शनिवार को उन्होंने सुबह के सेशन में गुरबानी ने विकास मिश्रा, नवदीप सैनी और इसके बाद उन्होंने जमकर खेल रहे और शतकवीर ध्रुव शौरी (145) को आउट करके इतिहास रच दिया. अभी तक रणजी ट्रॉफी के फाइनल में बनी दो हैट्रिक में रजनीश गुरबानी के साथ अलग बात यह रही कि न केवल उन्होंने तीनों बल्लेबजों को बोल्ड आउट किया, बल्कि तीसरी गेंद पर शतकवीर बल्लेबाज का विकेट लिया. वहीं, बी. कल्याणसुंदरम की हैट्रिक में एक बल्लेबाज का विकेट एलबीडब्ल्यू था और तीनों ही बल्लेबाज अपना खाता नहीं खोल सके थे.


महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज को तेलंगाना सरकार की ओर से बंपर इनाम
29 December 2017

हैदराबाद: तेलंगाना सरकार ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज को गुरुवार को एक करोड़ रुपए और घर बनाने के लिए 600 वर्ग फुट जमीन भेंट की. राज्य सरकार की एक विज्ञप्ति के मुताबिक, राज्य के खेल मंत्री टी पद्माराव ने मिताली को यहां सम्मानित किया. मंत्री ने मिताली के कोच आरएसआर मूर्ति को भी 25 लाख रुपए भेंट किए. खेल को बढ़ावा देने के बाबत मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के निर्देशों का पालन करते हुए सरकार ने यह कदम उठाया


AUS VS ENG: 'रिकॉर्ड नाबाद दोहरे' शतक के साथ एलिस्टर कुक ने दिलाई इग्लैंड को मजबूत बढ़त
28 December 2017

नई दिल्ली: एलिस्टर कुक (नाबाद 244) के नाबाद व रिकॉर्ड दोहरे शतक के दम पर इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के तीसरे दिन वीरवार को स्टम्प्स तक नौ विकेट खोकर 491 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा कर दिया है. मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर जारी इस मैच में ऑस्ट्रेलिया की ओर से पहली पारी में बनाए गए 327 रनों के आधार पर 164 रनों की बढ़त हासिल कर ली है. कुक पिच पर डटे हुए हैं. उनके साथ जेम्स एंडरसन नाबाद हैं. कुक ने एंडरसन के साथ मिलकर दिन का खेल समाप्त होने तक बिना कोई और विकेट गंवाए 18 रन जोड़े और टीम को 491 के स्कोर तक पहुंचा दिया है. बनाए गए कई रिकॉर्डों के अलावा एलिस्टर कुक का यह दोहरा शतक मेलबर्न के इस मैदान पर अभी तक किसी भी बल्लेबाज का सर्वाधिक स्कोर है. अपने दूसरे दिन के स्कोर दो विकेट पर 192 रनों से आगे खेलने उतरी इंग्लैंड ने 218 को स्कोर पर दिन का पहला विकेट सामना करते हुए रूट ने सात चौक लगाए. रूट के आउट होने के बाद एक छोर पर इंग्लैंड की पारी को संभाले खड़े कुक कप्तान जोए रूट (61) के रूप में गंवाया. पैट कमिंस की गेंद पर रूट नॉथन लियॉन के हाथों लपके गए. 133 गेंदों का को पवेलियन भेजने में आस्ट्रेलिया का हर गेंदबाज नाकाम रहा. हालांकि, इस बीच टीम के गेंदबाजों ने अन्य बल्लेबाजों को आउट कर इंग्लैंड को कमजोर करने की कोशिश की. कप्तान रूट के आउट होने के बाद टीम के चार बल्लेबाज- डेविड मलान (14), जॉनी बेयरस्टॉ (22), मोइन अली (20), क्रिस वोक्स (26) और टॉम कुरान (4) ज्यादा देर तक पिच पर नहीं टिक पाए. कुरन का विकेट गिरने के बाद कुक का साथ देने आए स्टुअर्ट ब्रॉड (56) ने 100 रनों की शतकीय साझेदारी कर टीम को 473 को स्कोर तक पहुंचा दिया. इसी स्कोर पर वह कमिंस की गेंद पर उस्मान ख्वाजा के हाथों लपके गए. इस पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए जोश हाजलेवुड, ल्योन और कमिंस ने तीन-तीन विकेट लिए हैं एलिस्टर कुक का यह टेस्ट में पांचवां दोहरा शतक रहा. इसी के साथ उन्होंने इस मामले में दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ और राहुल द्रविड़ की बराबरी कर ली है.


टी-20 रैंकिंग में कोहली ने गंवाया पहला स्थान, रोहित-राहुल को फायदा
26 December 2017

दुबई: रोहित शर्मा और केएल राहुल ने श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई टी-20 सीरीज में अच्छे प्रदर्शन के दम पर इस प्रारूप की आईसीसी बल्लेबाजी रैंकिंग में लंबी छलांग लगाई है. हालांकि कप्तान विराट कोहली ने सीरीज में नहीं खेलने के कारण अपना शीर्ष स्थान गंवा दिया. भारतीय टीम ने यह सीरीज 3-0 से जीती, जिससे वह टीम रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंच गई है. टी20 बल्लेबाजी रैंकिंग में कोहली तीसरे स्थान पर खिसक गए हैं. उन्होंने निजी कारणों से इस सीरीज में हिस्सा नहीं लिया था, जिसका फायदा ऑस्ट्रेलिया के आरोन फिंच को मिला जो अब शीर्ष पर काबिज हो गए हैं. उनके बाद वेस्टइंडीज के इविन लुईस का नंबर आता है, जबकि कोहली तीसरे नंबर पर खिसक गए हैं. कोहली और फिंच के बीच हालांकि आठ रेटिंग अंकों का ही अंतर है. खिलाड़ियों को एक मैच में नहीं खेलने के कारण अपने रेटिंग अंकों का दो प्रतिशत गंवाना पड़ता है और इसलिए कोहली के रेटिंग अंक 824 से 776 हो गए हैं. राहुल ने इस सीरीज में 154 रन बनाए, जिससे उन्होंने 23 स्थान की लंबी छलांग लगाई है और वह चौथे नंबर पर पहुंच गए हैं. रोहित को भी सीरीज में 162 रन बनाने का फायदा मिला. वह छह पायदान ऊपर 14वें स्थान पर काबिज हो गए हैं. रोहित ने इंदौर में दूसरे मैच में 118 रन की पारी खेली थी. श्रीलंकाई बल्लेबाजों में कुसल परेरा आठ पायदान ऊपर 30वें और उपुल थरंगा 36 पायदान ऊपर 105वें स्थान पर पहुंच गए हैं. गेंदबाजों में लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को सीरीज में 8 विकेट लेने का फायदा मिला. इससे वह 14 पायदान चढ़कर 16वें स्थान पर पहुंच गए हैं. हार्दिक पंड्या ने भी 40 स्थान की लंबी छलांग लगाई है. अब वह संयुक्त 39वें स्थान पर हैं. कुलदीप यादव 48 पायदान आगे बढ़कर 64वें स्थान पर पहुंच गए हैं. गेंदबाजों में हालांकि जसप्रीत बुमराह को पहले दो मैचों में विकेट नहीं लेने और तीसरे मैच से बाहर रहने का नुकसान हुआ है. वह तीसरे स्थान पर खिसक गए हैं. पाकिस्तान के इमाद वसीम अब शीर्ष पर, जबकि अफगानिस्तान के राशिद खान दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं. टीम रैंकिंग में भारत को क्लीन स्वीप का फायदा मिला और उसके अब 121 अंक हो गए हैं. इससे वह इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज को पीछे छोड़कर दूसरे स्थान पर काबिज हो गया है. भारत इस सीरीज से पहले पांचवें स्थान पर था. पाकिस्तान 124 अंकों के साथ पहले स्थान पर है.


10 ओवर के मैच में इस पाकिस्तानी खिलाड़ी ने जड़ी 26 बॉल में सेंचुरी, लगे 1 ओवर में 6 छक्के
23 December 2017

नई दिल्ली: फटाफट क्रिकेट यानी चौके छक्कों की बरसात. कम बॉल में ज्यादा से ज्यादा रन बनाना. पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद आफरीदी फाउंडेशन चैरिटी मैच खेले जा रहे हैं. जो 10-10 ओवर के हो रहे हैं. मुकाबले में पाकिस्तानी क्रिकेटर बाबर आजम और शोएब मलिक का बल्ला खूब चला. शोएब मलिक ने शानदार 1 ओवर में 6 छक्के जड़े तो वहीं बाबर आजम ने 26 गेंदों पर ही शतक जड़ दिया
शोएब मलिक ने जड़े एक ओवर में 6 छक्के शोएब मलिक SAF रेड टीम से खेल रहे थे. 6 ओवर में 104 रन बने थे. टीम को बड़े स्कोर की तरफ बढ़ना था. तभी शोएब मलिक बल्लेबाजी करने आए और एक ही ओवर में 6 छक्के जड़ दिए और टीम का स्कोर 10 ओवर में ही 210 पहुंचा दिया.
बाबर आजम ने जड़ा 26 बॉल पर शतक SAF रेड के बाद SAF ग्रीन बल्लबाजी करने आया. शुरुआत से ही बल्लबाजी करने आए बाबर आजम अटैकिंग मोड पर आ गए और 26 गेंद पर शतक जड़ दिया. जिसके बाद जीत का चौका शाहिद आफरीदी ने लगाया. पिछले साल पाकिस्तान के कोच मिकी ऑर्थर ने बाबर की तारीफ करते हुए कहा था- '23 साल के इस बल्लेबाज को देखकर मुझे विराट कोहली की याद आती है. उनमें विराट कोहली की झलक नजर आती है.' ESPNCricinfo को इंटरव्यू देते हुए बाबर ने कहा था- 'मेरी तुलना कोहली से नहीं की जानी चाहिए.विराट कोहली मॉर्डन क्रिकेट के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं और मुझे उनकी बराबरी करने के लिए अभी बहुत वक्त लगेगा.' बाबर आजम ने भारत के खिलाफ आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में 52 बॉल पर 46 रन जड़े थे. बाबर ने अब तक 36 वनडे खेले हैं जिसमें 1,758 रन जडे हैं. जिसमें 7 हाफ सेंचुरी और 7 सेंचुरी शामिल हैं.


इस बड़े कारनामे' से रोहित शर्मा ने दस साल पहले ही दे दी थी 'बड़े धमाकों' की गारंटी!
23 December 2017

नई दिल्ली: टीम इंडिया के कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में अभी तक किए ' बड़े धमाकों' से नियमित कप्तान विराट कोहली को भी मानो भुला सा दिया है. एक के बाद एक बड़े कारनामे. पहले वनडे में दोहरा शतक और शुक्रवार को इंदौर के होल्कर स्टेडियम में रिकॉर्डों की बारिश. वास्तव में अगर आप रोहित शर्मा के दस साल पहले किए गए कारनामे पर आप नजर डालेंगे, तो पाएंगे कि आज उनके बल्ले से बन रहे रिकॉर्ड एक दिन बनने ही बनने थे. तब रोहित शर्मा ने यह कारनामा गुजरात के खिलाफ खेले गए टी-20 मैच में किया था तब उम्र महज 19 साल की थी, जब उन्होंने राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को अपनी ओर देखने की तरफ मजबूर कर दिया था. और दिन था 4 अप्रैल 2007. इस दिन मुंबई और गुजरात के बीच ब्रेबोर्न स्टेडियम में अंतर राज्यीय घरेलू टी-20 टूर्नामेंट के तहत मैच खेला गया. मुंबई गुजरात के 142 के स्कोर का पीछा कर रही थी. मुंबई के दोनों ओपनर महज नौ रन के स्कोर पर पैवेलियन लौट गए थे. 19 साल के रोहित शर्मा तीसरे नंबर पर बैटिंग करने उतरे. इसके बाद रोहित शर्मा ने गुजरात के गेंदबाजों को बुरी तरह धुन डाला. रोहित ने अकेले अपने दम पर मुंबई को मैच जिता डाला और कर डाला बड़ा धमाका. रोहित शर्मा सिर्फ 45 गेंदों पर बिना आउट हुए 101 रन बनाकर टी-20 में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए. उन्होंने 13 चौके और 5 छक्के लगाए. इसका इनाम रोहित को जल्द ही मिला और उन्हें दक्षिण अफ्रीका में उसी साल खेले गए पहले टी-20 विश्व के लिए भारतीय टीम में चुन लिया गया. रोहित के ये कारनामे उनका स्तर बताने के लिए काफी हैं. और ये करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों को और भी गारंटी देते हैं कि आने वाले समय में और कई बड़े रिकॉर्ड उनके बल्ले से बरसेंगे


IND vs SL: आज जीती तो इस साल 14वीं सीरीज अपने नाम कर लेगी टीम इंडिया
22 December 2017

इंदौर: रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम इंडिया आज यहां श्रीलंका के खिलाफ होने वाले दूसरे टी20 मैच में ही सीरीज को अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी. टीम इंडिया इंदौर में हो रहे इस मैच में जीत हासिल करने में कामयाब रही तो इस साल उसकी यह 14वीं सीरीज जीत होगी. श्रीलंकाई टीम को कटक में टी20 सीरीज के शुरुआती मैच में कल 93 रन की करारी हार का सामना करना पड़ा था. यह सीरीज अगले महीने में भारत के दक्षिण अफ्रीका के चुनौतीपूर्ण दौरे के लिये कोई अच्छी तैयारी साबित नहीं हुई है क्योंकि घरेलू टीम ने पसंदीदा परिस्थितियों में कमजोर श्रीलंका टीम के खिलाफ पूरी तरह वर्चस्‍व स्‍थापित किया. ऐसे में श्रीलंका को यदि आज जीत हासिल करने के लिए अपना सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन देना होगा. सीरीज का तीसरा और अंतिम मैच रविवार को खेला जाएगा भारतीय बल्लेबाजों ने अब तक कमजोर श्रीलंकाई आक्रमण के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन किया.नियमित कप्तान विराट कोहली और शिखर धवन तथा भुवनेश्वर कुमार की अनुपस्थिति के बावजूद श्रीलंकाई खिलाड़ियों को टी20 सीरीज के पहले मैच में भी कोई कोई राहत नहीं मिली. श्रीलंका के वरिष्ठ खिलाड़ी भारतीय गेंदबाजों और बल्लेबाजों का सामना करने में जूझते रहे. लेकिन आईपीएल जैसे मजबूत ढांचे ने मेजबानों के लिये एक अच्छी बेंच स्ट्रेंथ तैयार कर दी है युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव जैसे खिलाड़ी अंतररष्ट्रीय पर्दापण करने के तुरंत बाद खुद के लिए जगह बनाने में सफल रहे. श्रीलंका को जरूरत है कि उसके कप्तान थिसारा परेरा, उपुल थरंगा और मैथ्यूज उदाहरण पेश कर नेतृत्व करें. ये लंबे समय से टीम का हिस्सा रहे हैं और अगर ये मजबूत प्रदर्शन करते हैं तो वे खिलाड़ियों में कुछ उत्साह और उम्मीद जगा सकते हैं. दूसरी ओर, भारत को इस श्रीलंकाई टीम पर दबदबा बनाने के लिये भारत को अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम की जरूरत नहीं है लेकिन उनका अच्छा प्रदर्शन करना आवश्यक है


रणजी ट्रॉफी : रजनीश गुरबानी की गेंदबाजी ने कर्नाटक से जीत छीनी, विदर्भ 5 रन की जीत के साथ फाइनल में पहुंचा
21 December 2017

कोलकाता: जीत की प्रबल दावेदार मानी जा रही कर्नाटक को हराकर विदर्भ ने शान के साथ रणजी ट्रॉफी के फाइनल में स्‍थान बना लिया है, जहां उसका मुकाबला दिल्‍ली की टीम से होगा. रजनीश गुरबानी (7/68) की शानदार गेंदबाजी के दम पर विदर्भ ने दूसरे सेमीफाइनल में आज यहां आठ बार की विजेता टीम कर्नाटक को हराया. ईडन गार्डन्स पर खेले गए इस मैच में विदर्भ ने कर्नाटक को 5 रन से हराया. विदर्भ और कर्नाटक का मुकाबला बुधवार को ही रोमांचक मोड़ पर पर पहुंच गया था. कर्नाटक को जीत के लिए केवल 87 रनों की जरूरत थी, वहीं विदर्भ को तीन विकेट हासिल करने थे. इन तीन विकेट को विदर्भ की टीम ने गुरबानी की बदौलत हासिल करते हुए जीत पाई. अपनी दूसरी पारी में विदर्भ ने 313 रन बनाकर कर्नाटक को 198 रनों का लक्ष्य दिया था. लक्ष्य को हासिल करने उतरी कर्नाटक ने बुधवार को दिन का खेल समाप्त होने तक 7 विकेट के नुकसान पर 111 रन बना लिए थे. उसे अब केवल जीत के लिए 87 रन चाहिए थे. हालांकि, गुरबानी ने स्टम्प्स तक सबसे अधिक चार विकेट लिए थे. कर्नाटक टीम गुरुवार को लक्ष्य हासिल करने के लिए मैदान पर उतरी. पिछले दिन के नाबाद बल्लेबाजों श्रेयस गोपाल (नाबाद 24) और कप्तान विनय कुमार (36) ने 30 रन जोड़कर टीम को 141 के स्कोर तक पहुंचाया. इसी स्कोर पर गुरबानी ने विनय को विकेट के पीछे खड़े अक्षय वाडकर के हाथों कैच आउट करा दिया. इसके बाद गोपाल के साथ मिलकर अभिमन्यु मिथुन (33) के साथ मिलकर 48 रनों की साझेदारी की और टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया, लेकिन एक बार फिर गुरबानी कर्नाटक की परेशानी बन गए. गुरबानी ने इस साझेदारी को भी जमने नहीं दिया और 189 के स्कोर पर मिथुन उनकी गेंद पर सारवाते के हाथों लपके गए. कर्नाटक को जीत के लिए केवल 9 रन चाहिए थे और उसके पास केवल एक विकेट बाकी था, लेकिन गुरबानी अब भी मुसीबत बनकर खड़े थे. पहली बार फाइनल में प्रवेश की उम्मीद लिए खड़ी विदर्भ की आंखों में उस समय चमक आ गई, जब गुरबानी ने 192 के कुल स्कोर पर कर्नाटक की आखिरी उम्मीद को भी तोड़ दिया. उन्होंने श्रीनाथ अरविंद (2) को वानखाड़े के हाथों कैच आउट करवाकर विदर्भ को रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचा दिया. सेमीफाइनल में विदर्भ के के लिए कुल 12 विकेट लेने वाले गुरबानी को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया. विदर्भ और दिल्ली के बीच अब खिताबी भिड़ंत इंदौर के होल्कर स्टेडियम में 29 दिसंबर से होगी.


जनवरी में लगेगी IPL की मंडी, 80 करोड़ पहुंचा नीलामी का बजट
20 December 2017

बेंगलुरू: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की नीलामी अगले साल 27 और 28 जनवरी को बेंगलुरू में होगी. बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज इसकी पुष्टि की. बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा, ‘‘अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने वाले अधिकतर खिलाड़ियों की वापसी से यह बड़ी नीलामी होगी जो कि बेंगलुरू में 27 और 28 जनवरी को होगी. बेंगलुरू में ही इससे पहले सभी नीलामी आयोजित की गयी थी और इसलिए वह फ्रेंचाइजी की पसंद था.’’ इस साल की नीलामी में 80 करोड़ रूपये का बजट होगा, जबकि पहले यह 66 करोड़ रूपये था. एक फ्रेंचाइजी पांच खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है जिनमें दो ‘राइट टू मैच’ कार्ड भी शामिल हैं. इस साल की नीलामी में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स की टीमें दो साल के प्रतिबंध के बाद हिस्सा ले रही हैं बता दें कि एक फ्रेंचाइजी पांच खिलाड़ियों को अपने साथ बनाए रख सकती है


बड़ा कारनामा! इन दिग्गजों को पछाड़ा ... सर डॉन ब्रेडमैन की 'यह गद्दी' झपटने को तैयार स्टीव स्मिथ !
19 December 2017

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलियाई युवा कप्तान स्टीव स्मिथ भी विराट कोहली की तरह धीरे-धीरे रिकॉर्डपुरुष में तब्दील होते जा रहे हैं. मंगलवार को स्मिथ ने वह कारनामा कर डाला, जो टेस्ट क्रिकेट इतिहास में उनसे पहले सिर्फ एक ही बल्लेबाज कर सका है. पर्थ टेस्ट में 239 रन खेलकर मैन ऑफ द मैच बने ड्वेन स्मिथ जहां एक मामले में सर डॉन ब्रेडमैन के बाद दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं, तो एक दूसरे मामले में उन्होंने खुद को क्रिकेट इतिहास के सबसे महानतम बल्लेबाज के बिल्कुल नजदीक ला खड़ा किया. या कहें कि स्मिथ जल्द ही सर डॉन ब्रेडमैन को इस मामले में पीछे छोड़ सकते हैं.वैसे इस कारनामे के साथ ही स्टीव स्मिथ ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के सामने भी विराट चैलेंज खड़ा कर दिया है. वास्तव में सिर्फ 28 साल की उम्र में ही स्मिथ का यह कारनामा एक बहुत ही बड़ी बात है. खासकर यह देखते हुए कि उनसे पहले सचिन तेंदुलकर, द्रविड़ और रिकी पोंटिंग और बाकी दिग्गज बल्लेबाज भी यह कारनामा नहीं कर सके, जो उन्होंने कर दिखाया है. पर्थ टेस्ट के बाद मंगलवार को आईसीसी ने अपनी ताजा रैंकिंग जारी की. इसी रैंकिंग में यह बताया गया है कि स्मिथ ने कैसे रिकी पोंटिंग और जैक हॉब्स जैसे बल्लेबाजों को पीछे छोड़ दिया. इस दोहरे शतक से स्मिथ को काफी फायदा मिला और इससे उनके अब आईसीसी रैंकिंग में 945 प्वाइंटस हो गए हैं. वहीं इस पारी के साथ ही उनका टेस्ट में औसत भी 63.32 हो गया है. कम से कम बीस टेस्ट पारियों के आधार पर यह अभी तक सर डॉन ब्रेडमैन के 99.94 के बास से दूसरा सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ औसत है. वहीं, जारी एशेज सीरीज में जिस समय इंग्लैंड के खिलाफ चौथा टेस्ट मैच शुरू होगा, तब तक पिछले दो साल की अवधि के भीतर रैंकिंग में नंबर एक बल्लेबाज बने रहने वाले इकलौते बल्लेबाज बन जाएंगे. यह भी वह बात है, जो ब्रेडमैन सहित किसी भी दिग्गज बल्लेबाज के हिस्से में नहीं ही आई है बहरहाल औसत से बड़ा धमाका स्टीव स्मिथ ने दूसरे क्षेत्र में किया है. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने अपने पिछले दो साल के प्रदर्शन और हालिया पारी की बदौलत अब आईसीसी की सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग में पहली पायदान पर बरकरार सर डॉन ब्रेडमैन के नंबर को चुनौती दे डाली है. बता दें कि कुल 961 प्वाइंट्स के साथ ब्रेडमैन रैंकिंग में नंबर एक पायदान पर काबिज हैं. लेकिन अब स्टीव स्मिथ अब रिकी पोंटिंग और जैक हॉब्स को पछाड़कर रैंकिंग में संयुक्त रूप से दूसरे नंबर पर आ गए हैं ऑस्ट्रेलियाई कप्तान और लेन हटन दोनों के ही अब 945 प्वाइंट्स हैं. मतलब यह कि स्मिथ और ब्रेडमैन के बीच अब सिर्फ 16 अंकों का ही फासला रह गया है. और जिस रफ्तार से स्मिथ रन बरसा रहे हैं, कहा जा सकता है कि वह दिन अब ज्यादा दूर नहीं है, जब वह आसीसीसी की सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर भी कब्जा जमा लेंगे.


टी10 क्रिकेट: इयोन मोर्गन ने मात्र 14 गेंदों पर अर्धशतक जमाया, केरल किंग्‍स बना चैंपियन
18 December 2017

शारजाह: इंग्‍लैंड के इयोन मोर्गन की तूफानी पारी की बदौलत केरल किंग्‍स ने पंजाबी लेजेंड्स को आठ विकेट से हराकर टी10 क्रिकेट टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया. पहले क्रम पर बैटिंग के लिए आए मोर्गन ने जोरदार बल्‍लेबाजी करते हुए मात्र 14 गेंदों पर अर्धशतक जड़ दिया. उनकी इस पारी की बदौलत केरल की टीम ने जीत के लिए जरूरी 121 रन का लक्ष्‍य आठ ओवर में ही हासिल कर लिया. मोर्गन ने 21 गेंदों पर पांच चौकों और छह छक्‍कों की मदद से 63 रन की पारी खेली. वे आखिरकार हसन अली के शिकार बने. रविवार रात खेले गए इस मैच में केरल किंग्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया. पंजाबी लेजेंड्स की ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज ल्यूक रोंकी ने 34 गेंदों पर 70 रनों की आतिशी पारी खेली, उन्‍होंने इस दौरान 5 छक्के लगाए. रोंकी के अलावा शोएब मलिक ने 14 गेंदों में 26 रन बनाए. इन दोनों के योगदान की बदौलत पंजाबी लेजेंड्स की टीम 10 ओवर में 3 विकेट पर 120 रन तक पहुंचने में कामयाब रही जवाब में बल्‍लेबाजी के लिए उतरी केरल किंग्‍स टीम की शुरुआत खराब रही. सलामी बल्लेबाज वॉल्टन बिना खाता खोले ही फहीम अशरफ के शिकार बन गए. मुकाबले में अगर केरल टीम को जीत मिली तो इसका पूरा श्रेय इयोन मोर्गन को जाता है जिन्‍होंने क्रीज पर उतरते ही ताबड़तोड़ प्रहार शुरू कर दिए. उन्होंने टूर्नामेंट का सबसे तेज अर्धशतक लगाया. मोर्गन ने पॉल स्‍टर्लिंग के साथ दूसरे विकेट के लिए 113 रन की साझेदारी की. स्‍टर्लिंग ने 23 गेंदों में नाबाद 52 रन बनाए. उन्‍होंने कीरोन पोलार्ड के साथ मिलकर टीम को जीत तक पहुंचाया.


INDVsSL : भारत-श्रीलंका के बीच विशाखापट्टनम में होगा निर्णायक मुकाबला, दमदार रिकॉर्ड के बूते भारत का पलड़ा भारी
16 December 2017

विशाखापट्टनम: रविवार को भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा और फाइनल वनडे मैच खेला जाएगा. भारत और श्रीलंका की टीमें एक-एक मुकाबला जीत चुकी हैं. श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और आखिरी एक दिवसीय क्रिकेट मैच में कल भारतीय टीम उतरेगी तो बल्लेबाजों के उम्दा फार्म और इस शहर में दमदार रिकॉर्ड के बूते उसका पलड़ा भारी होगा. भारत ने अभी तक इस मैदान पर अक्तूबर 2015 में दक्षिण अफ्रीका से श्रृंखला गंवाने के बाद कोई श्रृंखला नहीं हारी है. दूसरी ओर श्रीलंका की नजरें भारत में पहली द्विपक्षीय श्रृंखला जीतने पर होगी जिसने आठ में पराजय का सामना किया और एक ड्रॉ खेली मोहाली में कप्तान रोहित शर्मा ने शानदार दोहरे शतक के साथ मोर्चे से अगुवाई की जबकि धर्मशाला में पहले वनडे में भारत को शर्मनाक पराजय झेलनी पड़ी थी. रोहित एंड कंपनी की नजरें यहां लगातार दूसरा मैच जीतकर श्रृंखला अपने नाम करने पर लगी होंगी. भारत ने इस मैदान पर सात मैच खेले हैं और सिर्फ एक में उसे पराजय झेलनी पड़ी. मेजबान को उम्मीद होगी कि उसका शानदार फार्म यहां बरकरार रहेगा धर्मशाला में मिली हार के बाद भारत आईसीसी वनडे रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीका को पछाड़ नहीं सकेगा. लेकिन यहां श्रृंखला में जीत दाव पर है और भारतीय टीम टेस्ट श्रृंखला के बाद वनडे में भी अपना दबदबा बरकरार रखना चाहेगी. भारतीय कप्तान श्रीलंकाई बल्लेबाजों पर अपना खौफ कायम रखने के इरादे से उतरेंगे जबकि बाकी बल्लेबाजों से भी अच्छे प्रदर्शन की अपेक्षा होगी. धर्मशाला में 112 रन पर आउट होने के बाद मेजबान टीम ने दूसरे वनडे में लय हासिल की.


टी10 लीग: हैट्रिक लेकर शाहिद अफरीदी बने 'हीरो', पहली ही गेंद पर आउट हुए वीरेंद्र सहवाग
15 December 2017

शारजाह में चल रहे टी10 क्रिकेट लीग में जहां पाकिस्‍तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने जोरदार प्रदर्शन करते हुए हैट्रिक बनाई, वहीं भारत के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग पहली ही गेंद पर बिना कोई रन बनाए आउट हो गए.'बूम-बूम अफरीदी' के इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत उनकी पख्‍तूंस टीम ने गुरुवार को खेले गए मैच में वीरू की मराठा अरेबियंस को 25 रन से पराजित किया. मैच में पहले बल्‍लेबाजी करते हुए पख्‍तून की टीम ने निर्धारित 10 ओवर में चार विकेट पर 121 रन का स्‍कोर बनाया. टीम के लिए फखर जमां ने सर्वाधिक 45 रन बनाए. फखर ने 22 गेंदों पर तीन चौके और इतने ही छक्‍के लगाते हुए यह रन बनाए. लियाम डॉसन ने 23 गेंदों पर 44 रनों का योगदान दिया. उनकी इस पारी में तीन चौके और चार छक्‍के शामिल थे. टीम के कप्‍तान शाहिद अफरीदी ने छह गेंद पर 10 रन बनाए और वे रन आउट हुए. मराठा अरेबियंस के लिए इमाद वासिम ने सर्वाधिक दो विकेट लिए. जवाब में 122 रन का लक्ष्‍य हासिल करने के इरादे से मैदान में उतरी मराठा अरेबियंस टीम 10 ओवर में सात विकेट पर 96 रन की बना सकी और 25 रन से मैच हार गई. एलेक्‍स हेल्‍स ने नाबाद 57 रन की पारी खेली लेकिन अन्‍य बल्‍लेबाजों से उन्‍हें सहयोग नहीं मिल पाया. एक समय टीम का स्‍कोर दो विकेट पर 46 रन था लेकिन शाहिद अफरीदी ने पारी के पांचवें ओवर में लगातार गेंदों पर आर. रोसाउ, ड्वेन ब्रावो और कप्‍तान वीरेंद्र सहवाग को आउट करते हुए मराठा अरेबियंस टीम की कमर तोड़ दी. वीरू ने सहवाग को आउट करते ही अपनी हैट्रिक पूरी की रोसोउ ने जहां 5 रन बनाए वहीं ब्रावो और सहवाग पहली ही गेंद पर आउट हुए. पख्‍तून के लिए शाहिद अफरीदी ने दो ओवर में 7 रन देकर तीन विकेट लिए. मोहम्‍मद इरफान और सोहेल खान के खाते में दो-दो विकेट आए. शाहिद अफरीदी को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. जीत पर पख्‍तून टीम को दो अंक हासिल हुए.


IND VS SL: रोहित शर्मा ने गुरु सचिन तेंदुलकर को 'यहां' दी मात...सहवाग को भी नहीं बख्शा
13 December 2017

नई दिल्ली: मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ चल रहे दूसरे डे-नाइट मुकाबले में कप्तान रोहित शर्मा ने अपना 16वां शतक जड़ने के साथ ही एक ऐसा बड़ा कारनामा कर डाला, जिस पर उनके गुरु सचिन तेंदुलकर को भी फख्र होगा. यही नहीं, उन्होंने इस शतक से अपने दोस्त और वरिष्ठ वीरेंद्र सहवाग को भी नहीं बख्शा, तो वहीं पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को भी रोहित शर्मा ने चुनौती दे डाली है. चलिए पहले बात गुरु-चेले की कर लेते हैं. अब यह तो आप जानते ही हैं कि सचिन तेंदुलकर एक तरह से रोहित शर्मा के मार्गदर्शक रहे हैं. पहले कई मौकों पर उन्होंने यह कहा है कि विराट कोहली और रोहित शर्मा दो ऐसे बल्लेबाज हैं, जो उनका रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं. और बुधवार को रोहित ने कम से कम एक मामले में तो यह कारनामा कर ही दिखाया मोहाली का यह शतक रोहित के वनडे करियर का 16वां शतक था. अपने 16वें वनडे शतक के लिए जहां सचिन तेंदुलकर ने 185 पारियां ली थीं, तो रोहित शर्मा ने सचिन से 18 कम पारियां पहले ही इस कारनामे को अंजाम दे दिया. रोहित शर्मा ने अपना शतक 167वीं पारी में पूरा करके गुरु को बता दिया कि वह आगे उनके और कई रिकॉर्डों पर पानी फेरेंगे.हां यह जरूर है कि यह बतौर कप्तान रोहित का पहला शतक है. ठीक यही बात रोहित ने वीरेंद्र सहवाग को भी बता दी. अब भारत के लिए सबसे ज्यादा वनडे शतक के मामले में रोहित अब वीरेंद्र सहवाग (15) को पछाड़ कर कर आगे निकल गए हैं. इस पारी के बाद वह सर्वाधिक वनडे शतक के मामले में चौथी पायदान पर आ गए हैं. रोहित से ज्यादा वनडे में शतक सिर्फ सचिन (49), विराट कोहली (32) और सौरव गांगुली (22) ने ही बनाए हैं. धर्मशाला में सस्ते में निपटने के बाद रोहित शर्मा को जिस टॉनिक की जरुरत थी, वह उन्हें मोहाली में मिल गया है. और उम्मीद है कि अब रोहित का बल्ला तीसरे वनडे और टी-20 मुकाबले में भी लंकाई गेंदबाजों की लंका लगाएगा


यह बड़ा अवार्ड' जीतने के लिए विराट कोहली को इस तिकड़ी को देनी होगी मात
11 December 2017

नई दिल्ली: इस साल बल्ले से एक के बाद एक रिकॉर्ड बनाने वाले और कई रिकॉर्डों को डुबाने वाले भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली के लिए अब अवार्ड जीतने का समय करीब-करीब शुरू हो चुका है. वजह यह है कि कुछ ही दिन बाद साल 2017 खत्म हो जाएगा. ऐसे में एक नहीं बल्कि कई पुरस्कार समारोहों का आयोजन होना है. और इसमें कोई दो राय नहीं कि रिकॉर्डों की तरह ही विराट कई पुरस्कार भी अपनी झोली में डालने के लिए तैयार हैं. सबसे पहले आपको इस पुरस्कार के बारे में बता देते हैं. यह पुरस्कार आईसीसी का क्रिकेटर ऑफ द ईयर-2017 (वीवर्स च्वॉयस अवार्ड) है. इस पुरस्कार के लिए क्रिकेटप्रेमियों की ऑनलाइन वोटिंग को भी शामिल किया जाता है, तो वहीं कई क्रिकेटरों और पत्रकारों का पैनल भी साल का सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर चुनने में अहम भूमिका निभाता है. इस श्रेणी साल 2017 के लिए नामित खिलाड़ियों के नामों का ऐलान हो गया है. और इसमें विराट कोहली का मुकाबला तीन चोटी के खिलाड़ियों से है. इस प्रतिष्ठित पुरुस्कार के लिए विराट को न्यूजीलैंड के बेन स्टोक्स, ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर और इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जे. रूट चुनौती दे रहे हैं. इन बाकी तीन खिलाड़ियों ने भी इस साल शानदार प्रदर्शन किया है. लेकिन जिस अंदाज में विराट कोहली का बल्ला श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई टेस्ट सीरीज में बोला है, उसने कोहली के प्रदर्शन और दावेदारी को एक नया ही मुकाम दे दिया है. बावजूद इसके जे रूट, डेविड वॉर्नर और बेन स्टोक्स के साथ उनकी टक्कर बहुत ही कांटे की है. कुल मिलाकर आईसीसी क्रिकेटर ऑफ द ईयर (वीवर्स च्वॉयस अवार्ड, 2017) के लिए मुकाबला बहुत ही रोमांचक है. इसमें दो राय नहीं कि अगर विराट कोहली को यह पुरस्कार जीतना है, तो इसमें करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों के वोटों के भी बहुत ही ज्यादा मायने हैं. इसीलिए बेहतर है कि कोहली को विजेता बनाने के लिए भारतीय ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन वोटिंग करें. बाकी इस बाबत कौन चैंपियन बनता है, यह अगले कुछ दिनों के भीतर साफ हो जाएगा


टी-20 में 800 छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने क्रिस गेल
9 December 2017

नई दिल्‍ली: अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिये मशहूर क्रिस गेल क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप टी-20 में 800 छक्के जड़ने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गये हैं. वेस्टइंडीज के बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के ढाका में खेले गये मैच में रंगपुर राइडर्स की तरफ से नाबाद 126 रन की पारी के दौरान यह उपलब्धि हासिल की. उन्होंने अपनी 51 गेंद की पारी में छह चौके और 14 छक्के लगाये. गेल के नाम पर अब 318 टी-20 मैचों में 801 छक्के दर्ज हैं. इनमें से 103 छक्के उन्होंने टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगाये हैं. टी-20 में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों की सूची में गेल के बाद वेस्टइंडीज के ही कीरेन पोलार्ड (506), न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम (408), वेस्टइंडीज के ड्वेन स्मिथ (351) और ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर (314) का नंबर आता है. गेल ने टी-20 में अपना 19वां शतक भी पूरा किया. उनकी इस पारी से राइडर्स ने इस एलिमिनेटर मैच में खुलना टाइटन्स को आठ विकेट से हराया


यह खास शर्त' पूरी होगी, तभी टीम इंडिया श्रीलंका के खिलाफ वनडे में बन पाएगी नंबर-1
8 December 2017

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रही तीन वनडे मैचों की जीत के साथ ही रोहित शर्मा एंड कंपनी एक बड़े लक्ष्य के साथ मैदान पर उतरेगी. दोनों टीमें जब धर्मशाला में पहला डे-नाइट मुकाबला खेलेंगी, तो भारतीय वनडे टीम के पास आईसीसी रैंकिंग में नंबर एक पायदान को कब्जाने का पूरा मौका होगा. लेकिन ऐसा करने के लिए उसे 'एक खास शर्त' को पूरा करना होगा. और विराट कोहली के बिना टीम के लिए यह शर्त आसान होने नहीं जा रही. श्रीलंका को टेस्ट सीरीज में शिकस्त करने के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी धर्मशाला के स्टेडियम में जमकर पसीना बहा रहे हैं. मगर रोहित के रणबांकुरे एक अलग ही दबाव के साथ शुक्रवार के रण में मैदान पर उतरेंगे. यह दबाव इसी शर्त के रूप में उन पर होगा, जो टीम इंडिया के रैंकिंग में फिर से नंबर एक वनने की राह में खड़ा हुआ है. बता दें कि आसीसी रैंकिंग में फिलहाल दक्षिण अफ्रीका और भारत दोनों के ही 120 रेटिंग अंक हैं, लेकिन अंकों में तकनीकी तौर पर अंतर होने के कारण फिलहाल दक्षिण अफ्रीकी पहली पायदान पर काबिज है. जहां दक्षिण अफ्रीका के 6386 अंक हैं, तो वहीं भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका से सिर्फ सांत अंक पीछे हैं. ये वो अंक हैं जो रेटिंग प्वाइंट्स (120) से अलग होते हैं. टीम इंडिया के 6379 अंक हैं. चलिए बात टीम इंडिया की खास शर्त की करते हैं, जिससे रोहित की टीम को नंबर एक बनने के लिए हर हाल में पूरा करना है. इसके लिए भारत को धर्मशाला का मुकाबला हर और हर हाल में जीतना ही होगा. वैसे बता दें कि मुकाबला सिर्फ धर्मशाला ही नहीं बल्कि 13 दिसम्बर को मोहाली और 17 दिसम्बर को विशाखापत्तनम में होने वाले वनडे मैच भी हर हाल में जीतने होंगे. जी हां, श्रीलंका के खिलाफ 2-1 से सीरीज जीतने से ही फिर से नंबर एक का ताज नहीं मिल जाएगा. खास शर्त यही है कि अगर भारतीय वनडे टीम को वनडे रैंकिंग में नंबर एक टीम बनना है, तो उस हर हाल में तीनो वनडे मैच जीतने होंगे. और अगर शुरुआत ही धर्मशाला में हार से हुई, तो रैंकिंग का फिर से राजा बनने का सपना भी धर्मशाला में ही चूर हो पाएगा साफ है कि रोहित एंड कंपनी हर मुकाबले में इस दबाव के साथ मैदान पर उतरेगी. वहीं अब जब विराट टीम इंडिया के साथ नहीं हैं, तो दबाव को और बढ़ाएगा. अब करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों की नजरें इसी पर लगी हैं कि 'नए लुक' में टीम इंडिया फिर से वनडे की रैंकिंग का राजा बन पाती है या नहीं


एक और 'विराट कारनामा'! 'यहां' एक साथ 'इन चार दिग्गजों' को दे पटका विराट कोहली ने!
7 December 2017

नई दिल्ली: कहा जा सकता है कि 'रिकॉर्डमैन' बन चुके भारतीय कप्तान विराट कोहली की इन दिनों पांचों उगंलियां घी और सिर पूरी तरह से कड़ाही में है! श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई सीरीज में कई रिकॉर्डों को डुबोने वाले विराट के लिए गुरुवार का दिन बड़ी खबर लेकर आया और कोहली ने अब अब एक और विराट कारनामा कर डाला है. कोहली ने अपने इस विराट कारनामे से एक नहीं बल्कि चार-चार दिग्गजों को एक ही बार में पटक डाला यूं तो रेस पिछले कई दिनों से चल रही थी. इस रेस में एक नहीं कई दिग्गज कोहली को ओपन चैलेंज दे रहे थे. इसमें विदेशी ही नहीं बल्कि भारतीय खिलाड़ी भी शामिल थे. लेकिन श्रीलंका के खिलाफ विराट ने सीरीज में 610 रन बनाकर इन इन सभी को पीछे छोड़ दिया. चार दिग्गजों को पटकने के बाद अब ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ विराट कोहली के निशाने पर आ गए हैं. चलिए आपको पहले यह बताते हैं कि किन दिग्गजों को विराट कोहली ने रेस मे पीछे कर दिया है. विराट ने चल रहे इस 'द्वंद्व' में अपने कारनामे से एक साथ पटका है डेविड वॉर्नर, चेतेश्वर पुजारा, केन विलियम्स और जे रूट को. ये चारों ही बल्लेबाज श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में विराट से आगे चल रहे थे. चंद दिन पहले ही विराट ने अपना सफर रैंकिंग में बतौर नंबर छह बल्लेबाज शुरू किया था. लेकिन अब तीन टेस्ट में निकाले गए 152.50 के औसत के बाद कोहली ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के बाद नंबर दो पायदान पर आ गए हैं. विराट अब 893 प्वाइंट्स के साथ दुनिया के नंबर दो बल्लेबाज हैं स्मिथ और उनके बीच अभी भी 45 अंकों का फासला है, जिनके 938 अंक हैं. लेकिन जिस रफ्तार से कोहली का बल्ला आग उगल रहा है, तो कोई बड़ी बात नहीं कि जल्द ही कोहली स्टीव स्मिथ को भी गद्दी से उतारकर नंबर एक पायदा कब्जा लें.


एशेज: तेज गेंदबाज मिचेल स्‍टार्क ने किया कमाल, ऑस्‍ट्रेलिया ने एडिलेड टेस्‍ट 120 रन से जीता
6 December 2017

एडिलेड: तेज गेंदबाज मिचेल स्‍टार्क ने कमाल करते हुए ऑस्‍ट्रेलिया को इंग्‍लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज के दूसरे टेस्‍ट मैच में यादगार जीत दिला दी है. स्‍टार्क ने 88 रन देकर पांच विकेट लिए, उनके इस प्रदर्शन की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड टेस्‍ट 120 रनों से जीता. मैच के अंतिम दिन इंग्‍लैंड की जीत की उम्‍मीदें बरकरार थीं और स्‍टंप्‍स के समय टीम का स्‍कोर चार विकेट पर 176 रन था. टीम को जीत के लिए 178 रन की जरूरत थी लेकिन स्‍टार्क ने यह संभव नहीं होने दिया. उनकी तूफानी गेंदबाजी के कारण इंग्‍लैंड की टीम दूसरी पारी में 84.2 में 233 रन बनाकर आउट हो गई. इस जीत के साथ स्‍टीव स्मिथ की ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने सीरीज में 2-0 से बढ़त हासिल कर ली है. इससे पहले, ब्रिस्बेन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया ने 10 विकेट से जीत हासिल की थी. कप्तान जो रूट की (67) की मंझी हुई बल्लेबाजी के दम पर इंग्लैंड ने चौथे दिन मंगलवार को स्‍टंप्‍स तक दूसरी पारी में 4 विकेट पर 176 रन बनाए थे. रूट के विकेट पर रहते हुए इंग्‍लैंड की जीत की उम्‍मीद कायम थीं. उसे जीत के लिए 178 रन की दरकार थी जबकि छह विकेट आउट होने बाकी थे. पांचवें दिन जब इंग्‍लैंड की पारी प्रारंभ हुई तो टीम के समर्थक जीत की उम्‍मीद लगाए हुए थे लेकिन रूट (67) के जल्‍दी ही आउट होने से इन उम्‍मीदों ने दम तोड़ दिया. रूट को तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड की गेंद पर विकेटकीपर टिम पेन ने कैच किया. पांचवां विकेट 177 के स्कोर पर गिरा. रूट के आउट होने के साथ ही इंग्लैंड की जीत की उम्‍मीदें टूट गई. इसके बाद स्‍टार्क और नाथन लियोन ने बाकी के बल्लेबाजों को भी ज्यादा देर तक मैदान पर टिकने नहीं दिया. लियोन ने मोइन अली (2) का विकेट लिया जबकि जॉनी बेयरस्टॉ (36), क्रेग ओवर्टन (7) और स्टुअर्ट ब्रॉड (8) के विकट स्‍टार्क ने अपनी झोली में डाले. इस डे-नाइट टेस्‍ट में ऑस्‍ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शॉन मार्श (126) के शतक की बदौलत पहली पारी आठ विकेट पर 442 रनों पर घोषित कर दी. जवाब में इंग्‍लैंड की पहली पारी 227 रन पर सिमट गई थी. हालांकि ऑस्ट्रेलिया का दूसरी पारी में प्रदर्शन सबसे खराब रहा था और इंग्‍लैंड जेम्स एंडरसन ने पांच और क्रिस वोक्स ने चार विकेट लेते हुए उसे 138 रनों पर ही समेट दिया था. इस पारी के आधार पर इंग्लैंड के पास 353 रनों का लक्ष्य था, जिसे टीम हासिल नहीं कर पाई और 233 रन पर सिमट गई. ऑस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में शतक लगाने वाले शॉन मार्श को प्लेयर ऑफ द मैच के पुरस्कार से नवाजा गया. इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच अब एशेज सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच 14 से 18 दिसम्बर तक पर्थ में खेला जाएगा


AUS VS ENG: जेम्स एंडरसन का बड़ा कारनामा...पर 'यह ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर' बना चुनौती
5 December 2017

नई दिल्ली: खुद को सर्वकालिक महान गेंदबाजों में शामिल करा चुके इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने एशेज के दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया को बहुत ही सस्ते में समेटते हुए सिर्फ 138 रनों पर ढेर कर दिया. हालांकि इस टेस्ट मैच में भी इंग्लैंड का जीतना बहुत ही मुॉश्किल है. लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन का एंडरसन पर कोई असर नहीं है. एंडरसन ने चौथे दिन पांच विकेट चटकाए और इसी के साथ ही वे विंडीज के महान गेंदबाज कर्टनी वाल्श के और नजदीक पहुंच गए. यह बहुत ही साफ है कि कोर्टनी वाल्श के 519 विकेट पर एंडरसन जल्द ही अपना नाम लिखा लेंगे. फिलहाल जेम्स एंडरसन के 514 विकेट हो गए हैं और वह वॉल्श का रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ छह विकेट ही दूर हैं. बहरहाल यह 25वां मौका था, जब इस इंग्लिश सीमर ने मैच में पांच विकेट चटकाए. वहीं एंडरसन ने मैच में दस विकेट तीन बार लिए हैं. इस कारनामे के बाद एंडरसन का दुनिया का दूसरा सबसे तेज गेंदबाज बनना तय है लेकिन इंग्लैंड के इस महान सीमर के सामने अब सबसे बड़ा चैलेंज ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा बन गए हैं. चैलेंज की वजह मैक्ग्रा का रिकॉर्ड ही नहीं, बल्कि एंडरसन की उम्र भी है. मैक्ग्रा ने अपने टेस्ट करियर में 563 विकेट लिए हैं और तेज गेंदबाजों की पायदान में वह नंबर एक पर हैं, तो उन्होंने पारी में पांच विकेट चटकाने का कारनामा 29 बार किया है. अब इसी रिकॉर्ड को तोड़ना एंडरसन के लिए एक बड़ी चुनौती बन गया है जेम्स एंडरसन अगले साल 36 साल के होने जा रहे हैं. यह सही है कि एंडरसन ने अपनी बेमिसाल फिटनेस के चलते ही 514 विकेट लिए हैं, लेकिन अगर यह कहा जाए कि मैक्ग्रा के 563 विकेट से आगे निकलना उनके लिए बड़ी चुनौती है, तो यह गलत नहीं ही होगा


मैच के दौरान श्रीलंका के ख‍िलाड़‍ियों ने पहना मास्‍क, ट्विटर पर जमकर उड़ा मजाक
4 December 2017

नई द‍िल्‍ली : रविवार यानी कि तीन दिसंबर का द‍िन हमेशा हमेशा के लिए क्रिकेट के इतिहास में दर्ज हो गया है. लेकिन इतिहास भारत की बेहतरीन पारी या किसी रिकॉर्ड की वजह से नहीं बना है. जी हां, अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में पहली बार प्रदूषण की वजह से मैच रोक दिया गया. यही नहीं श्रीलंका के खिलाड़ी मैदान में मास्‍क पहने हुए नजर आए. दिल्‍ली के फिरोज शाह कोटला स्‍टेडियम में भारत और श्रीलंका के बीच चल रहे टेस्‍ट मैच के दूसरे दिन कई बार खेल में व्‍यवधान आया. श्रीलंकाई खिलाड़‍ी खांसी, दम घुटने और सांस लेने में तकलीफ की श‍िकायत कर रहे थे और उनकी ओर से कई बार मैच रोकने की अपील की गई. इन सबसे विराट कोहली बेहद परेशान हो गए और उन्‍होंने कुछ इस तरह पारी की घोषणा कर दी: टीम इंडिया अच्‍छा खेल रही थी और जिन हालातों में पारी की घोषणा हुई वो भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को ज़रा भी पसंद नहीं गया है. मैच को अपने पक्ष में करने का आरोप लगाते हुए ट्विटर यूजर्स ने श्रीलंका के कैप्‍टन दिनेश चंदीमल और ख‍िलाड़‍ियों का जमकर मजाक उड़ाया: बहरहाल, हम तो यही कहेंगे कि हो सकता है कि श्रीलंकाई ख‍िलाड़‍ियों ने कुछ ज्‍यादा ही कर दिया हो लेकिन दिल्‍ली की हवा जहरीला है इसमें कोई दोराय भी नहीं है. अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में मास्‍क पहने हुए ख‍िलाड़‍ियों को देखकर भारत की छवि बहुत खराब हुई है. ऐसे में इस जहरीली हवा से छुटकारा पाने के लिए ठोस कदम उठाना और भी जरूरी हो गया है.


IND vs SL: तीसरा टेस्‍ट कल से, टीम इंडिया के पास ऑस्‍ट्रेलिया और इंग्‍लैंड के रिकॉर्ड की बराबरी का मौका
1 December 2017

नई दिल्ली: भारत और श्रीलंका के बीच तीन टेस्‍ट मैच की सीरीज का अंतिम मैच कल से यहां के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला जाएगा. विजय रथ पर सवार विराट कोहली ब्रिगेड लगातार नौवीं सीरीज जीतकर इतिहास रचने के इरादे से उतरेगी. नागपुर में दूसरे टेस्ट में पारी और 239 रन की जीत के साथ मौजूदा सीरीज में 1-0 से आगे चल रही टीम इंडिया ने कोहली की अगुआई में पिछली आठ सीरीज में जीत दर्ज की है और अगर टीम कल से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट को ड्रॉ भी करा लेती है तो लगातार नौ टेस्ट सीरीज जीतने के ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेगी. भारत ने पिछली सीरीज वर्ष 2014-15 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी की सरजमीं पर गंवाई थी. टीम इंडिया को तब चार मैचों की सीरीज में 2-0 से शिकस्त का सामना करना पड़ा. इसके बाद से भारत ने नौ सीरीज खेलीं और लगातार आठ सीरीज जीतकर इतिहास रचने की दहलीज पर खड़ा है. टीम इंडिया ने इस दौरान स्वदेश में पांच, श्रीलंका में दो और वेस्टइंडीज में एक सीरीज जीती. दुनिया की नंबर एक टीम भारत के स्वदेश में दबदबे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 2012-13 में इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों की सीरीज 2-1 से गंवाने के बाद से वह अपनी मेजबानी में लगातार सात सीरीज जीत चुका है. टीम इंडिया ने इस दौरान 23 मैचों में से 19 में जीत दर्ज की जबकि एकमात्र मैच उसने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गंवाया. दक्षिण अफ्रीका के कड़े दौरे से पहले यह भारत के लिए अंतिम टेस्ट मैच होगा और ऐसे में टीम प्रबंधन की इच्छा के अनुरूप कोटला में भी कोलकाता के ईडन गार्डन्स और नागपुर के वीसीए स्टेडियम की तरह घसियाली पिच पर मैच हो सकता है. ईडन गार्डन्स पर तेज गेंदबाजों ने कहर बरपाया था जबकि नागपुर में स्पिनर अधिक प्रभावी रहे थे. टीम प्रबंधन के सामने यह भी सवाल होगा कि इस मैच में कोलकाता की तरह पांच गेंदबाजों के साथ उतरा जाए या नागपुर की तरह चार गेंदबाजों के साथ उतरकर अतिरिक्त बल्लेबाज को खिलाया जाए. अगर भारत पांच गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला करता है तो उप कप्तान अजिंक्य रहाणे को बाहर बैठाना पड़ सकता है. वह मौजूदा सीरीज की तीन पारियों में एक बार भी दोहरे अंक तक नहीं पहुंचे हैं. दूसरी तरफ रोहित शर्मा ने एक साल से भी अधिक समय बाद टीम में वापसी करते हुए नागपुर में शतक जड़ा था जिसके कारण उन्हें बाहर करना आसान फैसला नहीं होगा. भारत पिछले 30 साल से कोटला पर अजेय है. यहां पिछले 11 मैचों में से 10 में टीम इंडिया ने जीत दर्ज की है और एक मैच बराबरी पर छूटा. इस मैदान पर भारत ने कुल 33 टेस्ट खेले हैं और उनमें से उसे 13 में जीत और छह में हार मिली जबकि 14 मैच ड्रॉ छूटे. निजी कारणों से पिछले मैच में बाहर रहने वाले शिखर धवन और लोकेश राहुल में से एक को अंतिम एकादश से बाहर रहना पड़ सकता है क्योंकि मुरली विजय नागपुर में शतक जड़कर सलामी बल्लेबाज के रूप में अपना दावा मजबूत कर चुके हैं. मध्यक्रम में कोहली का साथ बेहतरीन फॉर्म में चल रहे चेतेश्वर पुजारा, रोहित और विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा निभा सकते हैं. रहाणे को अगर मौका मिलता है तो वह कोटला पर अपने पिछले प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे. उन्होंने इस मैदान पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दिसंबर 2015 में हुए पिछले मैच की दोनों पारियों में शतक जड़े थे. रहाणे इसके अलावा 3000 टेस्ट रन की उपलब्धि भी हासिल कर सकते हैं जिसके लिए उन्हें 185 रन की दरकार है. नागपुर में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाली ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की जोड़ी एक बार फिर मैदान पर दिख सकती है. तेज गेंदबाजों में ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और उमेश यादव दावेदार होंगे कोहली के पास इस मैच में जीत के साथ भारत के दूसरे सबसे सफल कप्तान के रूप में सौरव गांगुली की बराबरी करने का मौका होगा. गांगुली की अगुआई में भारत ने 49 मैचों में 21 जीत दर्ज की जबकि कोहली की अगुआई में भारत अब तक 31 मैचों में 20 जीत दर्ज कर चुका है. कप्तान के रूप में इन दोनों से अधिक जीत सिर्फ धोनी (60 मैचों में 27 जीत) के नाम दर्ज हैं.दूसरी तरफ श्रीलंका को बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों विभागों में जूझना पड़ा है. कप्तान दिनेश चंदीमल (दो मैचों में 166 रन) के अलावा टीम का कोई बल्लेबाज सीरीज में 100 रन के आंकड़े को भी पार नहीं कर पाया है. गेंदबाजी में तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल के अलावा टीम के अन्य गेंदबाजों ने निराश किया है


विश्‍व रिकॉर्डधारी मुरलीधरन जैसी ‘रफ्तार’ हासिल करने के लिए रविचंद्रन अश्विन को करना होगा यह काम!
30 November 2017

नई दिल्ली: सबसे कम टेस्‍ट में 250 और 300 विकेट लेकर बड़ा कारनामा करने वाले टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन पर दुनियाभर की निगाहें टिकी हुई हैं. श्रीलंका के खिलाफ नागपुर टेस्‍ट में 300 विकेट पूरे करने के बाद अश्विन ने कहा है कि वे अपने टेस्‍ट विकेटों की संख्‍या 'डबल' करना चाहते हैं. अश्विन को आगे भी ‘सबसे तेज’ बने रहने और 600 विकेट के जादुई आंकड़े को छूने के लिए विदेशी सरजमीं पर अच्छा प्रदर्शन करना होगा क्योंकि भारतीय टीम को अगले दो वर्षों में स्वदेश के बजाय विदेशों में अधिक टेस्ट मैच खेलने हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में इस समय सर्वाधिक विकेट श्रीलंका के ऑफ स्पिनर मुरलीधरन के नाम पर हैं. मुरली के रिकॉर्ड को छूने या इसके करीब तक पहुंचने के लिए अश्विन को विदेशी मैदानों पर भी लगातार विकेट हासिल करने होंगे.खासतौर पर उन्‍हें एशिया के बाहर के मैदानों पर अपने गेंदबाजी प्रदर्शन को बेहतर बनाना होगा. अश्विन ने नागपुर में अपने 54वें टेस्‍ट में 300वां विकेट लेकर सबसे कम मैचों में इस मुकाम पर पहुंचने का रिकॉर्ड बनाया है. इसके बाद 350 से लेकर 800 विकेट तक के सभी रिकार्ड मुरलीधरन के नाम पर हैं जिनकी नजर में अभी यह भारतीय ऑफ स्पिनर विश्व का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज है. अश्विन अभी जिस गति से विकेट ले रहे हैं उससे वह मुरलीधरन के सबसे तेज 350 और 400 विकेट लेने के रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं या उसकी बराबरी कर सकते हैं लेकिन इसके लिये उन्हें विदेशों में अच्छा प्रदर्शन करना होगा. उन्होंने विदेशी सरजमीं पर 20 टेस्ट मैचों में केवल 84 विकेट लिए हैं. इस तरह से उन्होंने विदेशों में प्रति टेस्ट 4.2 विकेट लिए हैं जबकि ओवरआल उनका यह औसत प्रति टेस्ट 5.5 है. विदेशों के इन विकेटों में भारतीय उपमहाद्वीप के अन्य देशों (श्रीलंका और बांग्लादेश) में सात टेस्ट मैचों में लिए गए 43 विकेट भी शामिल हैं. इन दोनों देशों में परिस्थितियां स्पिनरों के अनुकूल होती है. इस तरह से अश्विन भारतीय उपमहाद्वीप से बाहर 13 टेस्ट मैचों में केवल 41 विकेट ले पाए हैं जो कि प्रति मैच 3.1 विकेट बैठता है. अश्विन यदि उपमहाद्वीप से बाहर अपने प्रदर्शन में सुधार नहीं कर पाते हैं तो फिर उनके लिए यह बुरी खबर होगी कि भारत को अगले दो साल में जो 16 टेस्ट मैच विदेशों में खेलने हैं वे सभी उपमहाद्वीप से बाहर खेले जाएंगे. भारत ने अगले साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका में चार टेस्ट मैच खेलने हैं जहां अश्विन ने जो एकमात्र टेस्ट मैच खेला है उसमें उन्हें विकेट नहीं मिला. इसके बाद जुलाई-अगस्त में भारतीय टीम इंग्लैंड में पांच टेस्ट मैच खेलेगी. इस देश में अश्विन के नाम पर दो टेस्ट मैचों में तीन विकेट दर्ज हैं. भविष्य के दौरा कार्यक्रम के अनुसार भारत अगले साल चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिये दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाएगा जहां अश्विन का प्रदर्शन अपेक्षाकृत बेहतर (छह मैचों में 21 विकेट) है. भारतीय टीम अगस्त 2019 में वेस्टइंडीज में भी तीन टेस्ट मैच खेलेगी. कैरेबियाई सरजमीं पर अश्विन ने अब तक चार मैचों में 17 विकेट हासिल किये हैं. बीसीसीआई अगर किसी अन्य सीरीज का प्रबंध नहीं करता है तो भारत अगले दो वर्षों में स्वदेश में केवल आठ टेस्ट मैच ही खेल पाएगा.अगर अश्विन के आंकड़ों पर बात करें तो उन्होंने अपने पहले 50 टेस्ट विकेट नौ टेस्ट मैच में लिए थे लेकिन विदेशी सरजमीं पर खेले गये पहले नौ मैचों में उनके नाम पर केवल 24 विकेट दर्ज थे. उन्होंने 18वें टेस्ट में 100 विकेट लेकर नया भारतीय रिकॉर्ड बनाया था और फिर अगले 100 विकेट लेने के लिये 19 टेस्ट मैच खेले थे लेकिन 200 से 300 विकेट तक वह केवल 17 टेस्ट मैचों में पहुंच गए थे. इस गति से वह 72 टेस्ट मैच तक 400 विकेट तक पहुंच जाएंगे. यह वही संख्या है जितने मैचों में मुरलीधरन ने यह आंकड़ा छुआ था. इसके बाद हालांकि श्रीलंकाई दिग्गज ने विकेट लेने की अपनी गति बढ़ा दी थी. अश्विन ने हाल में कहा था कि उनका लक्ष्य 600 विकेट के जादुई आंकड़े तक पहुंचना है. मुरलीधरन ने 101 मैचों में यह मुकाम हासिल किया था जबकि उन्होंने 58 मैचों में 300 विकेट लिए थे. इसका मतलब है कि उन्होंने अपने अगले 300 विकेट केवल 43 मैचों में लिए थे. टेस्ट क्रिकेट में 600 से अधिक विकेट लेने वाले दो अन्य गेंदबाज शेन वार्न ने पहले 300 विकेट 63 मैचों में अगले 300 विकेट भी इतने ही मैचों में लिए थे. अनिल कुंबले ने हालांकि पहले 300 के लिए 66 मैच खेले लेकिन इसके बाद 58 मैच खेलकर वह 600 के आंकड़े को छू गए थे. अश्विन अगर विदेशों में घर जैसा प्रदर्शन नहीं दोहरा पाते हैं तो उन्हें अंतिम एकादश से बाहर बैठना पड़ सकता है जैसा कि पहले भी होता रहा है. अश्विन के पदार्पण के बाद भारत ने उपमहाद्वीप में जो 41 टेस्ट मैच खेले उन सभी में यह ऑफ स्पिनर अंतिम एकादश में शामिल था. इन मैचों में अश्विन ने 259 विकेट लिए. उपमहाद्वीप से बाहर इस बीच भारत ने जो 21 टेस्ट मैच खेले उनमें से आठ में अश्विन को अंतिम एकादश में नहीं चुना गया था. बीसीसीआई को अपनी अगली विशेष आम सभा (एसजीएम) में भविष्‍य के दौरा कार्यक्रम पर भी चर्चा करनी है और अगर 2019 के बाद के कार्यक्रम में भारतीय टीम को स्वदेश में अधिक मैच खेलने को मिलते हैं तो फिर अश्विन कई अन्य रिकार्ड अपने नाम कर सकते हैं


सोशल मीडिया पर उड़ी पाक क्रिकेटर उमर अकमल की मौत की खबर, जानिए क्या है सच्चाई
29 November 2017

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर खबरें आती हैं और वायरल हो जाती हैं. चाहे वो सच हो या फेक. लोग सच मान बैठते हैं और झूठी खबर सच्ची बताकर पेश करते हैं. ठीक वैसा ही हुआ उमर अकमल के साथ, सोशल मीडिया पर उनकी झूठी खबर वायरल हुई कि उमर अकमल की लाहौर में मौत हो गई. जिसके बाद उन्हें RIP लिखने लगे. जिसके बाद पूरी दुनिया में ये खबर वायरल हो गई. एक फोटो भी वायरल हो रही है जिसमें उमर अकमल जैसा ही कोई शख्स अस्पताल में पड़ा हुआ है.
उमर अकमल ने खुद बताई ये खबर झूठी
उमर अकमल ने जैसे ही ये खबर सुनी तो उन्होंने सोशल मीडिया पर ट्वीट और वीडियो पोस्ट कर बताया कि ये खबर झूठी है और वो बिलकुल सुरक्षित हैं. उमर ने ट्वीट करते हुए लिखा: 'अलहमदुल्लाह, मैं लाहौर में पूरी तरह सुरक्षित हूं, सोशल मीडिया पर वायरल खबर गलत है. और इंशाअल्लाह मैं नेशनल टी20 कप के सेमीफाइनल में खेलूंगा जैसे ही उमर ने ये खबर बताई ने फैन्स ने रिट्वीट करना शुरू कर दिया. ताकी ये झूठी खबर और न फैले. उमर अकमल ने अपना आखिरी वनडे मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 26 जनवरी 2017 को खेला था. फिलहाल वो टीम से बाहर चल रहे हैं लेकिन टीम में वापसी के लिए कड़ी महनत कर रहे हैं


IND vs SL: सबसे तेज 300 विकेट लेने के बाद रविचंद्रन अश्विन ने दिया यह बयान
28 November 2017

नागपुर: श्रीलंका के खिलाफ सोमवार को दूसरे टेस्ट मैच में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले दिग्गज गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने अपने करियर के 300 टेस्ट विकेट भी पूरे किए. अश्विन ने कहा है कि वह इस आंकड़े को 'डबल' करना चाहते हैं. विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में सोमवार को खेले गए मैच में अश्विन सबसे तेजी से करियर के 300 विकेट पूरे करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं. अश्विन ने 54वें टेस्ट मैच में यह आंकड़ा छुआ है. इस सूची में अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज डेनिस लिली को पछाड़ते हुए पहला स्थान हासिल कर लिया है. अश्विन ने 54 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे किए हैं, वहीं लिली ने 56 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे करने का रिकॉर्ड बनाया था अश्विन ने कहा, 'मैं उम्मीद कर रहा हूं कि 300 विकेट की इस उपलब्धि को मैं 600 विकेट में तब्दील कर सकूं. मैंने अभी केवल 54 टेस्ट मैच ही खेले हैं. स्पिन गेंदबाजी उतनी आसान नहीं है, जितनी यह नजर आती है.' दूसरे टेस्ट से पहले अश्विन को 300 विकेट पूरे करने के लिए 8 विकेट और लेने थे, जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में हासिल किए. भारतीय टीम ने विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका को एक पारी और 239 रनों से हरा दिया. इस टेस्ट मैच में अश्विन ने कुल 8 विकेट लिए और 300 विकेट पूरे करने की उपलब्धि भी हासिल की. केवल इतना ही नहीं. अश्विन ने सबसे तेजी से 300 विकेट पूरे करने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में अनिल कुंबले को पछाड़ा है. कुंबले ने 66 मैचों में 300 विकेट लिए थे, जो अश्विन ने 54 मैचों में हासिल किए हैं. अश्विन ने कहा, 'इसमें काफी मेहनत लगती है. मैंने और रवींद्र जडेजा ने काफी गेंदबाजी की थी. टीम की ओर से हाल ही में मिले ब्रेक से हमें श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए तरोताजा होने में काफी मदद मिली


IND V/S SL: 'कुछ यूं' सिर पर सवार हुए विराट कोहली..न स्टीव वॉ बचेंगे, न ही पोंटिंग!
27 November 2017

नई दिल्ली: अगर यह कहा जाए कि इन दिनों भारतीय कप्तान की पांचों उंगलियां घी में और सिर कड़ाही में है, तो एक बार को गलत नहीं ही होगा. पहले दोहरा शतक, फिर बड़ी जीत और इसके बाद लगातार उन पर हो रही रिकॉर्डों की बारिश! कोहली कुछ भी करते हैं, झट से कोई न कोई रिकॉर्ड निकलकर सामने आ ही जाता है. नागपुर में 'विराट जीत' के बाद भी कुछ ऐसा ही हुआ. अब विराट कोहली दो पूर्व कंगारू कप्तानों को पटखनी से बस चंद ही कदम दूर हैं विराट कोहली का नागपुर में बतौर कप्तान यह 31वां टेस्ट मैच था. इस टेस्ट में जीत के बाद कोहली अब दोनों पूर्व कप्तानों के सिर पर सवार हो गए हैं. बता दें कि इतने ही मैचों में कप्तानी करने तक ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ ने अपनी कप्तानी में ऑस्ट्रेलियाई टीम को 21 टेस्ट मैचों में जीत दिलाई थी. वहीं, इतने ही मैचों में कप्तानी करने तक रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलिया को 23 मैचों में जीत से नवाजा था. बेशक इतने मैचों के बाद विराट कोहली जीत के मामले में इन दोनों से पीछे खड़े रह गए हों, लेकिन इन दोनों का रिकॉर्ड किसी भी सूरत में विराट के हाथों से बचने नहीं जा रहा.नागपुर में यह विराट की अपने 31वे टेस्ट की कप्तानी में 20वीं जीत थी. इस जीत के साथ ही उन्होंने इतने ही टेस्ट मैचों में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (19 जीत) के रिकॉर्ड पर तो पानी फेर दिया अब जब विराट कुछ दिन बाद फिरोजशाह कोटला मैदान पर तीसरे टेस्ट में मैदान पर उतरेंगे, तो उनके पास स्टीव वॉ का रिकॉर्ड बराबर करने का पूरा मौका होगा. साफ है कि अब अपनी कप्तानी में हासिल होने वाली एक-एक जीत विराट को रिकी पोंटिंग (23) के नजदीक लेकर आएगी


टी20 क्रिकेट: पाकिस्‍तान के कामरान अकमल ने 71 गेंद पर ठोके 150 रन, 'दागी' सलमान बट के साथ बनाया विश्‍व रिकॉर्ड
25 November 2017

पाकिस्‍तान के विकेटकीपर बल्‍लेबाज कामरान अकमल ने 'दागी' सलमान बट के साथ टी20 क्रिकेट में विश्‍वरिकॉर्ड बनाया है. इन दोनों बल्‍लेबाजों ने शुक्रवार को टी20 क्रिकेट की पहले विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी निभाई. दोनों ने पहले विकेट के लिए 209 रन जोड़े. पाकिस्तान के राष्ट्रीय टी20 कप में लाहौर व्‍हाइट्स टीम की ओर से इस्लामाबाद के खिलाफ इन दोनों ने यह कारनामा किया. इस दौरान कामरान ने जहां 12 छक्‍कों और 14 चौकों की मदद से नाबाद 150 रन बनाए वहीं सलमान बट ने 49 गेंदों में 55 रन बनाए. रावलपिंडी में खेले गए इस मैच में लाहौर की टीम ने 20 ओवर में बिना विकेट खोए 209 रन बनाए थे.इस मैच में जहां लाहौर टीम का एक भी विकेट नहीं गिरा, वहीं इस्लामाबाद की टीम महज 100 रन बनाकर आउट हो गई. मैच में लाहौर टीम ने 109 रनों से जीत दर्ज की. कामरान-बट की जोड़ी ने केंट के जेएल डेनली और डीजे बेल के 207 रनों के पहले विकेट की साझेदारी के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा. डेनली-बेल ने यह रिकॉर्ड इंग्लिश काउंटी टी20 क्रिकेटक्रिकेट में एसेक्‍स के खिलाफ बनाया था. कामरान-बट की ओर से की गई यह साझेदारी (209) टी20 क्रिकेट के किसी भी विकेट की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है. कामरान ऐसे पहले पाकिस्‍तानी और विकेटकीपर बल्‍लेबाज बन गए जिन्‍होंने किसी टी20 मैच में 150 रन बनाए हैं.उ'न्‍होंने दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डि कॉक के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा. दक्षिण अफ्रीका बल्‍लेबाज ने टी20 मैच में नाबाद 126 रन की पारी खेली थी. गौरतलब है कि सलमान बट स्‍पॉट फिक्सिंग के मामले में पांच वर्ष का प्रतिबंध झेल चुके हैं.प्रतिबंध पूरा करने के बाद बट ने हाल ही में पाकिस्‍तान के घरेलू क्रिकेट में वापसी की है


एशेज: मिचेल स्‍टार्क और पैट कमिंस ने इंग्‍लैंड को पहली पारी में 302 रन पर समेटा
24 November 2017

ब्रिसबेन: मार्क स्‍टोनमैन, जेम्‍स विंस और डेविड मालन के अर्धशतक के बावजूद इंग्‍लैंड की टीम आज यहां एशेज सीरीज के पहले टेस्‍ट के दूसरे दिन 302 रन पर आउट हो गई. इंग्लिश पारी लंच के तुरंत पहले 116.4 ओवर में 302 रन पर समाप्‍त हुई. इसी स्‍कोर पर लंच घोषित कर दिया गया. मैच के दूसरे दिन ऑस्‍ट्रेलिया के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया और इंग्‍लैंड की पारी को समेटने में ज्‍यादा देर नहीं लगाई.तेज गेंदबाज मिचेल स्‍टार्क और पैट कमिंस ने तीन-तीन विकेट लिए. स्पिन नाथन लायन ने दो विकेट हासिल किए. मैच के दूसरे दिन इंग्‍लैंड ने चार विकेट पर 196 रन से आगे खेलना प्रारंभ किया. पांचवें विकेट के लिए डेविड मालन और मोईन अली की जोड़ी ने 83 रन की साझेदारी की. इंग्‍लैंड की पारी का पांचवां विकेट डेविड मालन (56) के रूप में गिरा जिनहें स्‍टार्क ने शॉन मार्श के हाथों कैच कराया. मालन के आउट होने के बाद मोईन अली भी नहीं टिके और 38 रन बनाकर लायन की गेंद पर एलबीडब्‍ल्‍यू आउट हो गए दोनों सेट बल्‍लेबाजों के आउट होने के बाद इंग्लिश टीम नियमित अंतराल में विकेट गवांती रही. क्रिस वोक्‍स (0), जॉनी बेयरस्‍टॉ (9), जैक बॉल (14)और स्‍टुअर्ट ब्रॉड (20)आउट होने वाले अगले बल्‍लेबाज रहे. मैच के पहले दिन मार्क स्‍टोनमैन ने 53 और जेम्‍स विंस ने 83 रन की पारी खेली थी.


हांगकांग सुपर सीरीज: साइना नेहवाल दूसरे दौर में पहुंची, कश्यप और सौरभ हारे
22 November 2017

कोलून: साइना नेहवाल ने चार लाख डालर ईनामी राशि की हांगकांग सुपर सीरिज बैडमिंटन के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया लेकिन पारूपल्ली कश्यप और सौरभ वर्मा पहले दौर की बाधा पार नहीं कर सके. लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना ने दुनिया की 44वें नंबर की खिलाड़ी डेनमार्क की मेट्टे पोलसेन को 21 . 19, 23 . 21 से हराया. दुनिया की 11वें नंबर की खिलाड़ी साइना अब आठवीं वरीयता प्राप्त चीन की चेन युफेइ से खेलेगी जिसने अगस्त में ग्लास्गो में हुई विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीता था. पुरूष एकल वर्ग में राष्ट्रमंडल खेल चैम्पियन कश्यप को कोरिया के ली डोंग कियून ने 15 . 21, 21 . 9, 22 . 20 से हराया. वहीं, सौरभ इंडोनेशिया के टोमी सुगियार्तो से 15 . 21, 8 . 21 से हार गए.


विराट के हाथों 'कुछ यूं' बाल-बाल बच गए हाशिम अमला!
21 November 2017

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुए ईडन गार्डन में सोमवार को खत्म हुए पहले टेस्ट के आखिरी दिन शानदार नाबाद शतक जड़ने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कई रिकॉर्ड अपनी झोली में डाले. 104 रनों की इस नाबाद पारी से कहीं उन्होंने सुनील गावस्कर को पीछे छोड़ा, तो किसी मामले में दिलीप वेंगसरकर को. लेकिन बड़े-बड़े दिग्गजों को गद्दी से उतारने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला कोहली के हाथों से बाल-बाल बच गए. वैसे अगले दोनों टेस्ट मैचों में भी कोहली और हाशिम के बीच कई रिकॉर्डों को लेकर जंग चलती रहेगी. अब यह तो आप जानते ही हैं कि कोहली और हाशिम अमला के बीच कई मामलों में रेस चल रही है. कभी हाशिम अमला आगे निकल जाते हैं, तो कभी कोहली उन पर भारी पड़ जाते हैं. सोमवार को भी एक ऐसी ही रेस में विराट, हमला को मात देने से बाल-बाल चूक गए और अब यह मौका विराट को को दोबारा नहीं मिलेगा क्योंकि अब यह इतिहास के पन्नों में दर्ज हो चुका है. फिर से ध्यान दिला दें कि कोहली ने सोमवार को टेस्ट करियर का 18वां टेस्ट शतक जड़ने के साथ ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना 50वां शतक जड़ा था. यह कारनामा करने वाले कोहली दुनिया के आठवें और भारत के दूसरे बल्लेबाज बन गए. लेकिन इस सबके हाशिम अमला के रिकॉर्डों के लिए बड़ा खतरा बन चुके विराट उन्हें मात देने से बहुत ही नजदीकी अंतर से चुक गए. यह अंतर रहा पारियों के लिहाज से. बता दें कि विराट कोहली ने अपना 50वां अंतरराष्ट्रीय शतक 348वीं पारी में बनाया, जबकि हाशिम अमला ने भी अपने 50वें शतक (32 वनडे, 18 टेस्ट) के लिए इतनी ही यानी 348 पारियां लीं. मतलब यह कि कोहली इस मामले में अमला को मात देने से सिर्फ एक पारी दूर रह गए. वहीं, मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपना 50वां अंतरराष्ट्रीय शतक 376वीं पारी में बनाया था. बहरहाल, इस चूक से विराट कोहली सबक ले सकते हैं क्योंकि सिर्फ 29 साल के कोहली को आगे और कई मामलों में तेज गति के लिहाज से हाशिम अमला को पटखनी देने का मौका मिलेगा. कुल मिलाकर आगे भी दोनों दिग्गज बल्लेबाजों बीच रेस बहुत ही रोमांचक होने जा रही है क्योंकि दोनों की उम्र के बीच सिर्फ दो साल का ही फासला है


खुद पर से यह 'ग्रहण' नहीं हटा सके केएल राहुल..पर बना गए 'यह रिकॉर्ड'!
20 November 2017

नई दिल्ली: भारत के सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल पर पिछली कई पारियों से लगा 'ग्रहण' सोमवार को श्रीलंका के खिलाफ ईडन गार्डन में पहले टेस्ट मैच के आखिरी दिन भी नहीं हट सका. फिर एक अच्छी शानदार पारी खेलने के बावजूद राहुल की बदनसीबी जारी रही. राहुल का 'यह दुर्भाग्य' पिछली कई पारियों से चला आ रहा है और यह ग्रहण लाख कोशिशों के बावजूद हटने का नाम नहीं ले रहा. ईडन टेस्ट की दूसरी पारी में भी एक बार फिर से लोकेश राहुल अपने अर्धशतक को शतक में तब्दील नहीं कर सके. लेकिन इसके बावजूद उन्होंने एक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली. ईडन में मैच के पांचवें दिन राहुल अपने रविवार के स्कोर में महज छह रन और जोड़कर 79 रन बनाकर आउट हो गए. लेकिन इस पारी के साथ ही उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड बराबर कर लिया, जिससे वह इस साल खेले जाने वाले बाकी टेस्ट मैचों में अपनी बल्‍लेबाजी को और ऊंचाई प्रदान कर सकते हैं. बता दें कि अपनी इस पारी के साथ ही राहुल ने 2017 में सबसे ज्यादा अर्धशतक बनाने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली.लेकिन राहुल इन अपनी इन पारियों को शतक में तब्दील करने पर काफी मैचों से लगे ग्रहण को नहीं हटा सके. इस पारी के साथ लोकेश राहुल ने इस साल सबसे ज्यादा अर्धशतक या पचास प्लस स्कोर के मामले में दक्षिण अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर की बराबरी कर ली है. ये दोनों सलामी बल्लेबाज अभी तक इस साल नौ अर्धशतक अपने खाते में जमा कर चुके हैं. वैसे इन दोनों बल्लेबाजों का श्रीलंकाई विकेटकीपर और लेफ्टी बैट्समैन निरोशन डिकवेला भी दबे पांव पीछा कर रहे हैं. यह श्रीलंकाई बल्लेबाज इस साल अपने खाते में छह पचासे जमा करके दूसरी पायदान पर चल रहा है खैर अब जब धीरे-धीरे साल 2017 समाप्ति की तरफ बढ़ रहा है, तो देखना बहुत ही रुचिकर होगा कि अर्धशतक की रेस में इस साल का शहंशाह कौन साबित होता है और इससे भी बड़ा सवाल यह कि क्या राहुल अपने ऊपर लगे इस ग्रहण को श्रीलंका के खिलाफ अगले दोनों टेस्ट मैचों में हटा पाएंगे पाएंगे. बेस्ट ऑफ लक राहुल


एक बार फिर इस क्रिकेटर की गेंदबाजी पर आईसीसी ने लगाया बैन, यह रहा कारण
17 November 2017

दुबई: ​अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने पाकिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज की गेंदबाजी को एक बार फिर से प्रतिबंध लगाया है.श्रीलंका के खिलाफ दुबई में खेली गई टेस्ट सीरीज में आईसीसी ने उनकी गेंदबाजी एक्शन को गलत पाया, जिसके बाद आईसीसी ने यह फैसला लिया. आईसीसी ने यह फैसला एक स्वतंत्र जांच के बाद लिया है. परीक्षण में हफीज का हाथ गेंदबाजी करते समय 15 डिग्री के आईसीसी के नियम से अधिक मुड़ता है. आईसीसी ने एक बयान में कहा, ‘अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने पाकिस्तान के ऑफ स्पिन गेंदबाज मोहम्मद हफीज का गेंदबाजी एक्शन एक स्वतंत्र परीक्षण में गलत पाया, इसलिए इस ऑफ स्पिनर को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में तुरंत प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया गया है उन्होंने कहा, ‘आईसीसी के गेंदबाजी नियमों के अनुच्छेद 11.1 के तहत हफीज का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंध सभी राष्ट्रीय क्रिकेट महासंघों की घरेलू क्रिकेट स्पर्धाओं में भी लागू होगा.’ बयान में कहा गया है, ‘हालांकि अनुच्छेद 11.5 के अनुसार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) से सलाह के बाद हफीज पीसीबी के घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट में गेंदबाजी कर सकते हैं.’ हफीज को श्रीलंका