लाइफस्टाइल | बिजनेस | राजनीति | कैरियर व सफलता | छत्तीसगढ़ पर्यटन | स्पोर्ट्स मिरर | नियुक्तियां | वर्गीकृत | येलो पेजेस | परिणय | शापिंगप्लस | टेंडर्स निविदा | Plan Your Day Calendar



:: सिटी स्केन ::

 


इन सेक्सी अदाओं पर छिड़ गई है एक तेजतर्रार बहस !
18 JAN 2013
रायपुर। छत्तीसगढ़ का शिमला कहे जाने वाले मैनपाट में प्रशासन हर साल मैनपाट कार्निवाल का आयोजन करता है। अब तक यह आयोजन शालीनता के साथ होता था, लेकिन इस बार अश्लीलता की हद हो गई। यहां विभाग ने यूक्रेन से डांस ग्रुप को बुलाया था, लेकिन जब शालीन और सभ्य माहौल में यह डांस शुरू हुआ तो लोग विरोध करने लगे। वहीं कार्यक्रम में मौजूद नेता और अधिकारी ताली बजा रहे थे।
मैनपाट यहां के प्राकृतिक वातावरण के लिए जाना जाता है, लेकिन अश्लीलता का आरोप लगाने वालों का कहना था कि सरकार महोत्सव का आयोजन जरूर करे, लेकिन ऐसे फूहड़ कार्यक्रम नहीं। यहां सौम्य और सरल आदिवासियों की संस्कृति इससे प्रभावित होती है।



तीस रुपए दीजिए और खुलेआम प्यार कीजिए !
18 JAN 2013
रायपुर। ये पार्क बनाया तो शहर वालों के सुकून के लिए लेकिन यहां अड्डा है मोहब्बत करने वालों का। यहां आपको प्यार का इजहार करते, तकरार करते प्रेमी जोड़े मिल जाएंगे। बात मेलजोल की हो तो ठीक है, लेकिन जब हदें पार होने लगें तो सभ्य समाज के लिए ऐसे स्थान जी का जंजाल बन जाते हैं। जी हां बात कर रहे हैं राजधानी के वीआईपी रोड स्थित राजीव गांधी स्मृति उद्यान की। जब इस उद्यान की परिकल्पना की जा रही थी तब किसी ने नहीं सोचा था कि यहां प्रेमी जोड़े इश्क फरमाएंगे। हालांकि इस पार्क में प्रवेश शुल्क के रूप में पंद्रह रुपए की टिकट लेनी होती है, लेकिन प्रेमियों को यह रकम कोई ज्यादा नहीं लगती और वह तीस रुपए में आराम से इश्क फरमाते रहते हैं।
वन विभाग के देखरेख में चल रहा यह पार्क प्रेमी जोड़ों का अड्डा बन गया है। यहां के अधिकारियों का कहना है कि पार्क में प्रेमी जोड़ों की संख्या सबसे अधिक होती है, लेकिन उनकी सुरक्षा का चिंता उन्हें सताती है। ऐसा इसलिए कि उनकी आड़ में असामाजिक तत्व भी आ जाते हैं।



युवतियां ले रहीं सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग, खुद करेंगी अपनी हिफाजत
18 JAN 2013
बिलासपुर. सात दिन की सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग लेने वाली युवतियों व बालिकाओं ने आत्मविश्वास से कहा कि वे अब अपनी सुरक्षा करने के साथ ही जरूरत पडऩे पर दूसरों की मदद भी कर सकती हैं।
94.3 माय एफएम द्वारा आयोजित सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग कैंप का गुरुवार को समापन हो गया। कैंप में शामिल होने वाली युवतियों व बालिकाओं ने आगे भी कराटे की ट्रेनिंग जारी रखने का संकल्प लिया है।
महिलाओं व युवतियों को किसी भी संकट से निपटने उन्हें शारीरिक व मानसिक तौर पर सशक्त बनाने 94.3 माय एफएम द्वारा सात दिवसीय सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग कैप का आयोजन किया गया। गुरुनानक स्कूल में आयोजित कैंप खास तौर पर महिलाओं व युवतियों के लिए था, लेकिन आत्म सुरक्षा के मद्देनजर नन्ही बच्चियां भी इसमें बढ़चढ़ कर शामिल हुईं।
शिविर में स्कूल-कॉलेज स्टूडेंट्स के साथ ही गृहिणियां, सर्विस क्लास महिलाएं भी शामिल हुईं। कराते गुरु 'सेन साईÓ रमाकांत मिश्र के निर्देशन में प्रशिक्षार्थी किक-पंच मारने के तरीकों के साथ ही डिफेंस की बारीकियां सीखीं। मिश्र ने आत्मरक्षा के विभिन्न तरीकों सहित संकट के दौरान मानसिक संतुलन बरकरार रखते हुए प्रतिद्वंद्वी का सामना करने के उपाय बताए।
कैंप में शामिल हुई होमियोपैथ डा. पूनम ने कहा कि सिर्फ सात दिन की ट्रेनिंग से हम लोगों आत्मविश्वास बढ़ा है। अब हम अपनी सुरक्षा करने के साथ ही जरूरत पडऩे पर दूसरों की मदद भी कर सकते हैं। दीपिका ने कहा कि ट्रेनिंग से अपनी सुरक्षा को लेकर हमारा आत्मविश्वास बढ़ा है।
अनु कश्यप ने कहा कि कराते सीखने के फायदे को देखते हुए सभी युवतियों ने आगे भी ट्रेनिंग जारी रखने का संकल्प लिया है। शिविर में शामिल हुईं डा. सोनम ने कहा कि पहले अकेले कहीं आने-जाने से डर लगता था, लेकिन कराते की ट्रेनिंग लेने के बाद अब डर खत्म हो गया है। कैंप का संयोजन आरजे किंशुक ने किया।
ग्रुप भी बनाया
सात दिनों तक एक साथ सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग लेने वाली युवतियों व बालिकाओं ने दूसरी युवतियों, महिलाओं व बालिकाओं को आत्म सुरक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से एक ग्रुप भी बनाया है।