लाइफस्टाइल | बिजनेस | राजनीति | कैरियर व सफलता | राजस्थान पर्यटन | स्पोर्ट्स मिरर | नियुक्तियां | वर्गीकृत | येलो पेजेस | परिणय | शापिंगप्लस | टेंडर्स निविदा | Plan Your Day Calendar



:: सिटी स्केन ::

 


अब नए पैटर्न पर होगी आरएएस परीक्षा, प्री के लिए आज जारी होगी विज्ञप्ति
18 June 2013
अजमेर। आरएएस-2013 की प्री और मुख्य परीक्षाएं नए सिलेबस से होगी, जिसमें राजस्थानी को विशेष महत्व दिया गया है। आरपीएससी ने सोमवार को संशोधित नियमों के तहत तैयार नवीन परीक्षा योजना व सिलेबस आयोग की वेबसाइट पर भी जारी कर दिया। इससे पहले राजस्थानी को आरएएस की प्री और मुख्य परीक्षाओं में राजस्थानी की उपेक्षा कर दी गई थी।
राजस्थान और राजस्थानी साहित्य को महत्व
आयोग सचिव डॉ. केके पाठक के मुताबिक नए सिलेबस में भाषा के प्रश्न पत्र में राजस्थानी साहित्य को महत्व दिया गया है। सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्रों में लगभग प्रत्येक विषय क्षेत्र में राजस्थान से जुड़ी समस्याओं और चुनौतियों को विशेष स्थान दिया गया है। यहां तक कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भी राजस्थान की विभिन्न वैज्ञानिक एवं प्रौद्योगिकीय परियोजनाओं के साथ राजस्थान के विशेष संदर्भ में कृषि-विज्ञान, उद्यान-विज्ञान, वानिकी, डेयरी एवं पशुपालन को पृथक से सम्मिलित किया गया है।
राजस्थान के अभ्यर्थियों में से हिंदी योग्यताधारी अभ्यर्थियों का इन सेवाओं में चयन हो सके, इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रश्न पत्र संख्या 4 सामान्य हिंदी व सामान्य अंग्रेजी नाम से है। कुल 200 अंकों के प्रश्न पत्र में हिंदी भाषा के अंतर्गत राजस्थानी साहित्य व बोलियों का वेटेज 20 अंकों का रखा गया है।
हिंदी भाषा का वेटेज 100 अंकों का है। ऐसे में अंग्रेजी का वेटेज 80 अंक रह जाएगा। ऐसा पहली बार हुआ है कि भाषा के प्रश्न पत्र के भीतर राजस्थानी साहित्य व बोलियों को सम्मिलित किया गया है। इस प्रकार नवीन परीक्षा पद्धति पाठ्यक्रम का लाभ राजस्थान के अभ्यर्थियों, विशेषकर ग्रामीण परिवेश के अभ्यर्थियों के लिए अधिक उपयुक्त है।आरएएस-2013 परीक्षा अब बिना स्केलिंग के होगी।
पुरानी प्रणाली के अनुसार परीक्षा का प्रारूप इस प्रकार था
(अ) अनिवार्य विषय के रूप में कुल 500 अंकों के पेपर होते थे। इनमें सामान्य ज्ञान एवं सामान्य विज्ञान का 200 अंक, राजस्थान का सामान्य ज्ञान, राजस्थानी सोसायटी, कला व संस्कृति का पेपर 100 अंक, सामान्य हिंदी 100 अंक और सामान्य अंग्रेजी 100 अंक का पेपर होता था।
प्रत्येक के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता था। दो ऐच्छिक विषयों के चार प्रश्न पत्र - प्रति प्रश्न पत्र पूर्णाक 200 अर्थात कुल 800 अंकों के होते थे। अनिवार्य व ऐच्छिक मिला कर कुल 1300 अंकों के प्रश्न पत्र होते थे। तीसरे स्तर के रूप में साक्षात्कार होता था।
नए पैटर्न में सभी प्रश्न पत्र अनिवार्य
इस प्रकार 1300 अंकों की लिखित परीक्षा में राजस्थान के ज्ञान का हिस्सा 8 प्रतिशत से भी कम था। वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवा (संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा द्वारा सीधी भर्ती) नियम 1999 में सन 2012 में संशोधन कर जो अधिसूचना जारी की गई है, उसके तहत ऐच्छिक विषयों को हटाकर सभी प्रतियोगियों के लिए सारे प्रश्न पत्र अनिवार्य किए गए हैं। इसका मूल प्रारूप यह है-
प्रारंभिक परीक्षा- अनिवार्य विषय के रूप में सामान्य ज्ञान और सामान्य विज्ञान 200 अंकों का होगा। इसके हल के लिए अभ्यर्थी को 3 घंटे का समय मिलेगा।
मुख्य परीक्षा- अनिवार्य विषय के रूप में सामान्य अध्ययन प्रथम (200), सामान्य अध्ययन द्वितीय (200), सामान्य अध्ययन-तृतीय (200), सामान्य हिंदी व सामान्य अंग्रेजी (200) और साक्षात्कार 100 अर्थात कुल 900अंकों का होगा।
प्रारंभिक में केवल एक प्रश्न पत्र
डॉ पाठक के मुताबिक प्रारंभिक परीक्षा में केवल 1 प्रश्न पत्र रखा गया है, जो सामान्य ज्ञान और सामान्य विज्ञान का होगा। इसमें राजस्थान के इतिहास, भूगोल, अर्थशास्त्र, प्रशासन, राजस्थानी समाज, भाषा कला एवं संस्कृति, साहित्य एवं अन्य राजस्थान से संबंधित जानकारी के कुल प्रश्नों का न्यूनतम 25 प्रतिशत किया है। इस प्रकार इसमें राजस्थान से संबंधित सामान्य ज्ञान का हिस्सा पहले की तुलना में 7.7 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत कर दिया गया है।
मुख्य परीक्षा में चार प्रश्न पत्र
मुख्य परीक्षा में कुल 4 प्रश्न पत्र होंगे व प्रत्येक प्रश्न पत्र 200 अंकों का होगा। सामान्य अध्ययन के तीन प्रश्न पत्र होंगे और सभी प्रश्न पत्रों में राजस्थान का इतिहास, भूगोल, राजस्थान की अर्थव्यवस्था, समसामयिक घटनाएं, सामान्य प्रशासन एवं प्रशासनिक व्यवस्था, राजस्थान में विकास की संभावनाएं सहित राजस्थानी समाज, भाषा, कला एवं संस्कृति, साहित्य एवं राजस्थान से संबंधित अन्य जानकारी का भाग भी न्यूनतम 25 प्रतिशत रहेगा। यह इससे अधिक भी हो सकता है।
राजस्थान के हितों का ध्यान रखा
आरएएस का नया सिलेबस व नवीन परीक्षा योजना ऐतिहासिक कदम है। इसमें राज्य के हितों का खास ध्यान रखा गया है। प्रदेश के अभ्यर्थियों को भरपूर फायदा मिलेगा। - हबीब खां गौराण, अध्यक्ष, राजस्थान लोक सेवा आयोग।
आरएएस प्री-2013 के लिए आज जारी होगी विज्ञप्ति
आरएएस-2013 के पदों पर भर्ती संबंधी विज्ञप्ति मंगलवार को जारी होगी। विभिन्न विभागों की पदों की संख्या भी इस विज्ञप्ति में ही जारी की
जाएगी। आयोग ने अपने भर्ती कैलेंडर में जून में ही आरएएस-13 के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करना प्रस्तावित कर रखी थी।
इसके अनुरूप ही आयोग यह विज्ञप्ति जारी करेगा। आयोग मंगलवार को जितने पदों के लिए विज्ञप्ति जारी करेगा, संभावना जताई जा रही है इनकी संख्या में और वृद्धि हो सकती है। कारण, अधीनस्थ विभागों से आयोग को पदों की संख्या और मिलने की संभावना है।


LDC भर्ती: 707 पदों के लिए सूची जारी, 20 तक दर्ज करा सकते हैं आपत्ति
18 June 2013
जोधपुर। एलडीसी भर्ती में रिक्त 707 पदों के लिए प्रोविजन सूची मंगलवार को जारी होगी व इसी दिन चस्पां कर दी जाएगी। जिला परिषद ने 4 हजार 398 अभ्यर्थियों की सूची तस्दीक कर राज्य सरकार को भेज दी है। पंचायत राज विभाग ने सभी जिला परिषदों के सीईओ को बताया है कि 18 जून को मेरिट वाइज ऑनलाइन सूची जारी कर दी जाएगी।
एसीईओ चूनाराम विश्नोई ने बताया कि पंचायतराज निदेशक एसएस सोहता ने एलडीसी भर्ती के लिए आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में ऐसी जिला परिषदों को वेरीफाइड सूची आज ही भेजने के निर्देश दिए जिनकी सूची अब तक बकाया है।
निदेशक ने इस सूची के आधार पर मेरिट बना कर राजकॉम्प से मंगलवार को जारी करने का भरोसा दिलाया है। विश्नोई ने बताया कि इस सूची पर अभ्यर्थियों की आपत्तियां 19- व 20 जून को सुनी जाएंगी व 21 जून को कलेक्टर की कमेटी सूची को अनुमोदित करेगी। इसके बाद जिला परिषद की स्थाई समिति इसका अनुमोदन करेगी व पंचायत समितियों को सूची भेज कर नियुक्ति के आदेश जारी किए जाएंगे।


दिन में उमस का दौर, पौन घंटे की बारिश के बाद मिली राहत
18 June 2013
अजमेर। शहर में सोमवार शाम को पौन घंटे में आधा इंच से अधिक पानी बरसा। तेज बारिश के बाद गर्मी और उमस से राहत मिली और आकाश साफ हो गया। दिन में उमस का दौर बना रहा। ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष में ही मानसून सक्रिय हो जाने का असर शहर में आज फिर देखने को मिला।
आज दो चरणों में मानसून की मेहर हुई। पहले करीब दो बजे मौसम का मिजाज अचानक बदला और काले मेघों ने शहर को ढक लिया। कुछ ही देर में बूंदाबांदी शुरू हो गई। लगभग 10 मिनट तक बूंदाबांदी का दौर चला। बूंदाबांदी थमते ही उमस और बढ़ गई। लेकिन बादलों की लुकाछिपी जारी रही।
शाम को 4.15 बजे मौसम का मिजाज फिर बदला। घने काले बादल छा गए और पानी से लदे मेघ शहर के एक छोर से दूसरे छोर की ओर उड़ते नजर आए। बादलों की आवाजाही लोगों को मनमोहक लग रही थी। कुछ ही देर में पहले बूंदाबांदी और फिर तेज बारिश होने लगी। ब्यावर रोड, रामगंज, पुष्कर रोड़, कोटड़ा, फॉयसागर और वैशाली नगर समेत विभिन्न क्षेत्रों में तेज बारिश हुई। लगभग पौन घंटे हुई बारिश के चलते शहर की विभिन्न सड़कें लबालब हो गई। नाले उफन पड़े। कुछ देर के लिए जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया।


पर्यटन क्षेत्र में राजस्थान को द्वितीय पुरस्कार
19 march 2013
जयपुर। राजस्थान को देश में पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट एवं संर्वागीण विकास के लिये श्रेष्ठ राज्य का द्वितीय 'राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार 2011-12' पुरस्कार प्रदान किया गया है। इसी के साथ देश में सर्वश्रेष्ठ विरासत होटल के लिये भी राजस्थान के जयपुर की सामोद हवेली को चुना गया है। 'राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार 2011-2012' का श्रेष्ठ राज्य का प्रथम पुरस्कार आंध्र प्रदेश और तृतीय पुरस्कार गुजरात का दिया गया है।
नई दिल्ली के विज्ञान भवन में सोमवार को सायं आयोजित समारोह में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 'राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार 2011-12' के लिए घोषित सभी श्रेणियों के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए गए। राष्ट्रपति से राजस्थान की ओर से श्रेष्ठ राज्य का द्वितीय पुरस्कार राजस्थान पर्यटन विभाग के आयुक्त एवं प्रमुख सचिव,राकेश श्रीवास्तव ने पुरस्कार ग्रहण किया। समारोह में केंद्रीय पर्यटन मंत्री डॉ. के. चिरंजीव एवं केंद्रीय पर्यटन सचिव और अन्य कई गणमान्य लोग मौजूद थे।
देश में सबसे अभिनव और अद्वितीय पर्यटन परियोजना के लिए राजस्थान में चलाई जा रही 'राहत राइडर्स कार्यक्रम' को समारोह में विशेष पुरस्कार से नवाजा गया। पुरस्कार लेने के बाद राजस्थान पर्यटन विकास विभाग के आयुक्त एवं प्रमुख सचिव,राकेश श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं राज्य की पर्यटन मंत्री बीना काक के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में प्रदेश का पर्यटन विभाग निरन्तर उन्नति की ओर अग्रसर है और यही कारण है कि आज भारत में आने वाला प्रत्येक विदेशी टूरिस्ट राजस्थान अवश्य आना चाहता है। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी राजस्थान को पर्यटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यो के लिये पुरस्कृत किया जा चुका है।


एग्जाम से एक दिन पहले तक सेंटर तय नहीं
19 march 2013
जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही के चलते इस बार हजारों विद्यार्थी परेशान हैं। पहले से ही ऑनलाइन प्रक्रिया से जूझ रहे परीक्षार्थी अब परीक्षाओं की तिथी आगे बढ़ने से नाराज हैं। हाल ही में विश्वविद्यालय ने बीए की परीक्षाओं को करीब डेढ़ महीना आगे बढ़ा दिया है।
नहीं मिला परमिशन लैटर
बीस मार्च से राजस्थान विश्वविद्यालय की बीए की परीक्षाएं भी शुरू हो रही हैं। इन परीक्षाओं के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने अभी तक भी परमिशन लैटर जारी नहीं किए हैं। परमिशन लैटर नहीं मिलने के कारण ही परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को सेंटर तक पता नहीं है। इस बारे में जब विद्यार्थियों ने विश्वविद्यालय प्रशासन से जानकारी चाही तो पता चल कि परमिशन लैटर परीक्षा से करीब चौबीस घंटे पहले साइट पर डाले जाएंगे।
परीक्षा की तैयारी छोड़ विद्यार्थी काट रहे हैं चक्कर
बीए परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्रा सुजाता शर्मा ने बताया इस बार विश्वविद्यालय ने परेशान कर दिया है। परीक्षाओं की तारीख बढ़ा दी है,लेकिन सेंटर तक का पता नहीं।
पिछले चार दिनों से परीक्षा की तैयारी छोड़कर विश्वविद्यालय के चक्कर काट रही हूं,लेकिन किसी भी प्रोफेसर ने मदद नहीं की है। सभी का कहना है कि इस बार परीक्षा से कुछ घंटे पहले ही सेंटर का पता चल सकेगा। ज्यादा पूछताछ करते हैं तो कहते हैं कि सभी जानकारी वेब साइट पर है। वेब साइट देखते हैं तो साइट इतनी स्लो है कि कोई जानकारी पूरी नहीं मिल पाती।


छेड़छाड़ के विरोध पर हंगामा
19 march 2013
जयपुर। राजधानी में युवकों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। शिप्रापथ थाना क्षेत्र में बीती रात नशे में धुत एक युवक ने छेड़छाड़ का विरोध करने की खुन्नस के चलते जमकर उत्पात मचाया। इस हंगामे में उसके साथ कई अन्य युवक भी शामिल थे,जो पुलिस के पहुंचने से पहले ही वहां से फरार हो गए।
इस हंगामे में युवकों ने एक कार पर पत्थर फैंके और उसके शीशे फोड़ दिए। ऎसा उसने इसलिए किया कि कार मालिक ने उसे बीती शाम को लड़कियों को छेड़ने व फब्तियां कसने से मना किया था।
मामला शिप्रापथ थाना क्षेत्र स्थित द्वारकादास पुरोहित उद्यान के सामने का है। पीडित विकास जैन ने बताया कि उनके घर पर ही पेय व खाद्य पदार्थ की दुकान है। सोमवार शाम को विपलव नाम का लड़का आया जो कि नशे में धुत था। वह अक्सर दुकान पर आता था। लड़के ने दुकान से कोल्डड्रिंक खरीदी और वहीं रूककर आती-जाती लड़कियों के साथ छेड़छाड़ व फब्तियां कस रहा था। जैन ने बताया कि लड़के को छेड़छाड़ करने से मना किया और उसे वहां से जाने को कहा तो लड़का उससे उलझ गया और धमकी देकर गया कि बाद में देख लूंगा।
जैन ने बताया कि रात्रि करीब साढ़े 12 बजे वही लड़का अपने कुछ दोस्तों के साथ आया और घर के बाहर खड़ा रहा। कुछ देर लड़कों की हरकत देखने के बाद विकास सोने चला गया और आरोपी लड़के ने एक बड़ा सा पत्थर उठाकर उनकी कार पर फेंक दिया। जिससे कार का पीछे का शीशा टूट गया। पीडित आरोपी लडकों तक पहुंचता उससे पहले वह वहां से भाग छूटे। पीडित ने बताया कि रात्रि में पुलिस को सूचना दे दी


रोडवेज की 3500 बसों में लगेंगे कैमरे
15 march 2013
जयपुर। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम यात्रियों की सुरक्षा की दृष्टि से 3500 बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने जा रहा है। इन बसों में सीसीटीवी कैमरों के साथ जीपीएस सिस्टम भी लगाए जाएंगे। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से शुक्रवार को इसकी लागत की 50 फीसदी राशि देने की घोषणा कर दी गई है।
10 करोड़ रूपए आएगी लागत
निगम के अनुसार 3500 बसों में सीसीटीव कैमरे और जीपीएस सिस्टम लगाने पर करीब 20 करोड़ रूपए खर्च आएगा। इनमें से 50 प्रतिशत राशि यानि 5 करोड़ रूपए केन्द्रीय मंत्रालय वहन करेगा। निगम इन बसों में डीजल की चोरी पर अंकुश लगाने के लिए सैंसर भी लगाने की तैयारी कर रहा है। योजना के अनुसार इन सभी बसों के डीजल टैंक पर एक-एक सैंसर लगाया जाएगा।
प्रजेंटेशन के बाद मंत्रालय की स्वीकृति
कार्यकारी निदेशक(यातायात)विश्राम मीना ने बताया कि भारत सरकार के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय(नई दिल्ली) में शुक्रवार को राजस्थान रोड़वेज के अधिकारियों ने जीपीएस बेस्ड व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम व सुरक्षा की दृष्टि से बस के अन्दर कैमरा लगाने के साथ ही डीजल टेंक में सेन्सर लगाने के प्रोजेक्ट का प्रजेन्टेशन दिया। इस प्रजेन्टेशन के बाद मंत्रालय ने निगम की योजना का अनुमोदन करते हुए इसकी लागत की 50 प्रतिशत राशि का योगदान भारत सरकार की ओर देने पर सहमति दी। मार्च 2014 तक लग जाएंगे कैमरे
सूत्रों के अनुसार राजस्थान रोड़वेज निगम की 3500 बसो में व्हीकल ट्रेकिंग (जीपीएस) सिस्टम के साथ ही कैमरा लगाने के लिये अप्रेल के प्रथम सप्ताह में निविदा जारी की जाएंगी। इस योजना के तहत सभी 3500 बसों में मार्च,2014 तक कैमरे व जीपीएस सिस्टम लग जाएंगे। 1 महीने तक रहेगी रिकॉर्डिग
सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे द्वारा की गई रिकॉडिंüग एक माह तक कभी भी देखी जा सकती है। व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम मय कैमरा लागू करने से निगम के राजस्व में वृद्धि होगी। बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने के बाद महिलाओं के लिए ज्यादा सुरक्षित हो जाएंगी,क्योंकि छेड़खानी जैसी हरकत करने वालों की तस्वीर इनमें कैद हो जाएगी।


पहले दिन ही खाली रही पार्किग
28 Jan 2013
शुरू की गई पार्किंग उद्घाटन के बाद पहले ही दिन खाली नजर आई। बाजार की दुकानें खुलने के बाद भी पार्किंग में इक्का-दुक्का गाडियां ही पहुंची और ज्यादातर वाहन दुकानों के सामने ही खड़े रहे। व्यापारियों को पार्किंग से दुकान तक ले जाने वाली बसें भी सुबह दस बजे तक जस की तस खड़ी रही।
उद्घाटन अवसर पर रविवार को दुल्हन की तरह सजी पार्किंग आज सुबह अस्त-व्यस्त दिखाई दी। पार्किंग के बाहर व्यापारियों के लाने ले जाने के लिए लगाई गई बसें खाली खड़ी रही। पार्किंग शुल्क को लेकर अड़े व्यापारियों ने पार्किंग में वाहन खड़े करने से बिल्कुल मना कर दिया है। मालूम हो कि करीब 55 करोड़ रूपए से ज्यादा खर्च कर तैयार की गई पार्किंग का रविवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उद्घाटन किया है।
नहीं दिखे कर्मचारी
अंडरग्राउंड पार्किंग में व्यापारियों व आम लोगों की सहुलियत के लिए 30 से 40 कर्मचारियों को ड्यूटी पर रखने का दावा किया गया था लेकिन मौके पर कुछ लोग ही उपस्थित दिखाई दिए। पार्किंग में वाहन खड़ा करने के लिए आए लोग अंदर जाने का रास्ता तलाश करते भी दिखाई दिए। व्यापारियों के लिए करीब छह बसें लगाई गई हैं लेकिन सभी खाली खड़ी रहीं कोई व्यापारी न तो वाहन खड़ा करने पहुंचा न ही कोई इसमें बैठा।
उड़ रही है धूल
पार्किंग के अंदर पूरी साफ-सफाई नहीं होने के कारण धूल के गुबार उड़ रहे हैं। जेडीए अफसरों की दलील है कि अभी उद्घाटन हुआ है और पार्किंग के अंदर मिट्टी धीरे-धीरे ही साफ होगी इसी वजह से ही धूल उड़ रही है। यूं तो जेडीए ने अंदर से बड़े-बड़े पंखे लगाए हैं जो कि अंदर की धूल को बाहर निकालेंगे लेकिन वे चालू नहीं किए गए हैं।
गुलाबपुरा व आसींद में तनाव बरकरार
भीलवाड़ा। क्षेत्र के गुलाबपुरा व आसींद थाना इलाकों में दो पक्षों के मध्य विवाद के चलते बीते दिन भी इलाके में माहौल तनावपूर्ण रहा। सोमवार सुबह क्षेत्र के एसडीएम की ओर से कर्फ्यू में सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक की ढील दी गई। अब तक दोनों पक्षों के 70 से अघिक लोगों को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है। उल्लेखनीय है कि तीन दिन पहले धार्मिक भावनाओं को लेकर आमने-सामने हुए दो पक्षों में विवाद के चलते मारपीट हो गई थी। समझौता कराने पहुंची पुलिस को भी विरोध झेलना पड़ा। स्थिति बिगड़ने पर आंसू गैस छोड़नी पड़ी और बल प्रयोग करना पड़ा।


'आगामी चुनावों में मिलेगा युवाओं को मौका'
28 Jan 2013
जोधपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा ने कहा कि आने वाले विधानसभा व लोकसभा चुनावों में पार्टी बड़े स्तर पर युवाओं को मौका देगी। यह पार्टी से जुड़े युवाओं के लिए बड़ी सौगात होगी।
जयपुर में आयोजित कांग्रेस के तीन दिवसीय चिंतन शिविर के बाद पहली बार रविवार को जोधपुर पहुंचे वोरा ने पत्रिका से बातचीत में बताया कि इस शिविर के परिणाम पार्टी के लिए आने वाले समय में लाभकारी साबित होंगे। शिविर आयोजन समिति अध्यक्ष वोरा ने कहा कि राहुल के भाषण से सोनिया गांधी और कांग्रेसी ही नहीं, बल्कि पूरा देश भावुक हुआ। उन्होंने चिंतन शिविर को सफल बनाने में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अहम भूमिका बताई। उन्होंने कहा कि प्रदेश की वर्तमान सरकार ने नि:शुल्क दवा सहित कई जनहितकारी योजनाएं लागू की हैं, जो सुशासन की मिसाल है।
वहीं नागौर में पत्रकारों से बातचीत में बोहरा ने बताया कि कांग्रेस आगामी चुनाव के लिए मुस्तैदी से जुट गई है। चुनाव कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। उन्होंने स्वीकार किया कि देश में महंगाई बढ़ी है। महंगाई नियंत्रण के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए राज्य सरकारों को भी प्रयास करने होंगे। उन्होंने बताया कि राहुल गांधी को उपाध्यक्ष मनोनीत करना परिवारवाद नहीं है। इस परिवार ने कुर्बानियां दी हैं और राहुल में नेतृत्व क्षमता है।


सभी को मिलेगी साइकिल
28 Jan 2013
साइकिल देगी। फिर चाहे वे शहर की हों या गांव की या फिर एपीएल या बीपीएल। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को 103 वर्षीय शिक्षक तेजकरण डंडिया के अभिनन्दन समारोह में यह घोषणा की।
गहलोत ने कहा कि अगर किसी बालिका के घर के सामने स्कू ल है तो भी उसे साइकिल मिलेगी। पिछले साल तक साइकिल वितरण के लिए कई तरह के नियम थे, अब ऎसा कुछ नहीं होगा। गहलोत के भाषण के बीच में शिक्षा मंत्री बृजकिशोर शर्मा ने अभिभावक की आय को डेढ़ लाख से बढ़ाकर ढाई लाख करने की बात कही, लेकिन गहलोत ने मंच से ही कहा कि अगर किसी अभिभावक की आय अनंत है तो भी उसकी बेटी को साइकिल दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने विश्वास दिलाया कि दसवीं और बारहवीं के मेरिट में आने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप भी जल्द मिल जाएंगे। पुरस्कृत शिक्षक फोरम की ओर से आयोजित समारोह में डंडिया के साथ ही देहदान की घोषणा करने वाली शिक्षिका निर्मला आर्य का अभिनंदन किया गया।
पिछले साल प्रवेश लेने वालों को भी
मुख्यमंत्री की घोषणा को देखते हुए शिक्षा विभाग ने छात्राओं को साइकिल देने के लिए नए सिरे से खरीद प्रक्रिया शुरू कर दी है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक शहरी बालिकाओं को शामिल करते हुए इस साल दो लाख और अगले साल तीन लाख बालिकाओं को साइकिल देने के लिए नए सिरे से निविदा की स्वीकृति मांगी गई है। पांच लाख साइकिल खरीदकर सरकार शिक्षा सत्र 2011-12 और 2012-13 में कक्षा नौ प्रवेश लेने वाली बालिकाओं को साइकिल दे देगा। गुर्जर बालिकाओं को छोड़ शेष सभी से 100 रूपए लिए जाएंगे।


चिंतन शिविर: तैयारियां शुरू,अहम बैठकें आज
10 Dec 2013
जयपुर। आगामी सप्ताह राजधानी में होने वाले कांग्रेस के चिंतन शिविर की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। 18 से 20 जनवरी तक होने वाले इस शिविर की तैयारियों को जायजा लेने गुरूवार को पार्टी के प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक जयपुर पहुंचेंगे। वासनिक इस संबंध में पीसीसी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ भी बैठक करने वाले हैं। उधर,बताया जा रहा है चालीस एसपीजी कंमाडो भी गुरूवार को जयपुर पहुचेंगे और सुरक्षा का जायजा लेंगे।
समितियों में नाम जुड़वाने की जुगत
वासनिक के जयपुर दौरे के साथ ही स्थानीय नेताओं और प्रदेश स्तरीय नेताओं में हलचल शुुरू हो गई है। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए एक दर्जन से भी ज्यादा समितियों का निर्माण किया जाना है। इन समितियों में दस से बारह कागेंसी नेताओं और कार्यकर्ताओं को जगह दी जानी है। समितियों में नाम जुड़वाने के लिए कई स्थानीय नेता और कार्यकर्ता भी अपनी जुगत लगाने में व्यस्त है। होटल और खान-पान समिति में नाम जुड़वाने के लिए सबसे ज्यादा नेता और कार्यकर्ता कतार में हैं। बिड़ला सभागार में भी तैयारियां शुरू
तीन दिन जयपुर में चलने वाले चिंतन शिविर के दौरान ही जयपुर के बिड़ला सभागार में भी कार्यक्रम का आयोजन होना है। बताया जा रहा है सभागार में कई बड़े नेता प्रदेश भर के नेताओं और कार्यकर्ताओं को संबोघित करेंगे। इसे लेकर बुधवार से ही तैयारियां शुरू कर दी गई है। कुछ जगहों पर रंग-रोगन किया जा रहा है और सीटों को दुरूस्त किया जा रहा है। देश के बड़े नेताओं के आने के कारण प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाना है। तीन दिन तक जयपुर शहर को हाई सिक्योरिटी जोन में बदला जाना है। गहलोत और चंद्रभान के साथ बैठक
अगले सप्ताह जयपुर में होने वाले चिंतन शिविर की तैयारियों का आज से ही आगाज किया जाएगा। प्रदेश प्रभारी वासनिक के जयपुर आने के साथ ही आज पीसीसी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री के साथ बैठकों का लंबा दौर चलेगा। तीन दिन चलने वाले इस चिंतन शिविर के लिए एक दर्जन से भी ज्यादा समितियां बनाने की तैयारी चल रही है। इन समितियों में स्थानीय स्तर के नेताओं के साथ ही प्रदेश स्तर के नेताओं को भी शामिल किया जाएगा। जयपुर में होने वाले इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में देश भर से दो हजार से भी ज्यादा कांगे्रसी नेताओं और कार्यकर्ताओं के आने का अनुमान है।


पुजारी ने युवती को छेड़ा,भक्तों ने कर दी पिटाई
10 Dec 2013
जयपुर। जयपुर में गुरूवार की सुबह हनुमान मंदिर में दर्शन करने गई एक युवती को पुजारी की बुरी नियत का शिकार होना पड़ा। मामला महेश नगर थाना इलाके के सोडाला स्वेज फार्म स्थित हनुमान मंदिर का है। हालांकि,छेड़छाड़ के दौरान युवती ने हल्ला मचाने के बाद पुजारी की दर्शनार्थियों ने जमकर पिटाई कर दी और बाद में उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी को हिरासत में लिया है।
जानकारी के अनुसारहनुमान मंदिर पर गुरूवार सुबह 24 वष्ाीüया महिला अघिवक्ता दर्शन करने के लिए आई हुई थी,यहां अघिवक्ता की ओर से जब मंदिर की परिक्रमा लगाई जा रही थी,इस दौरान मंदिर के पुजारी पटना निवासी राम नरेश दास (68) ने उससे छेड़छाड़ करते हुए पकड़ लिया। महिला ने हल्ला मचा दिया। मौजूद दर्शनार्थी ने पुजारी की जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद महेश नगर थाना पुलिस पुजारी को पकड़ कर थाने ले आई। पुजारी से पूछताछ में सामने आया है कि वह करीब दो महीने पटना से जयपुर आया था और यहां सोडाला स्वेज फार्म स्थित हनुमान मंदिर में पुजारी बनकर रह रहा था।
उधर,युवती को वश में करने के 25 हजार
युवती को मोहजाल में फंसाने के चक्कर में एक युवक तांत्रिक की ठगी का शिकार हो गया। युवक के 25 हजार रूपए लेकर तांत्रिक फरार हो गया। जवाहर नगर थाने मे बनीपार्क स्थित लाल बसाड़ी के शशि कुमार ने इस्तगासे से मामला दर्ज कराया है कि एक युवती को प्रेम प्रसंग में फंसाने के चक्कर में जवाहर नगर इलाके के टीला नंबर-दो पर रहने वाले तांत्रिक सलीम के पास गया। उसने 25 हजार रूपए मांगे। पैसे देने के बाद भी कुछ नहीं होने पर पीडित युवक तांत्रिक के पास पहुंचा तो वह नहीं मिला। जांच अघिकारी उपनिरीक्षक दौलत कुमार ने बताया कि क्षेत्र में सलीम नामक तांत्रिक की तलाश की जा रही है।


जैन मुनि पर हमले के विरोध में मौन जुलूस
10 Dec 2013
नईजयपुर। सकल जैन समाज की ओर से गुजरात गिरनार में मुनि प्रबल सागर पर हुए कातिलाना हमले के विरोध में गुरूवार सुबह सी स्कीम स्थित महावीर स्कूल से मौन जुलूस निकाला गया। पूरे देश में चल रहे विरोध प्रदर्शन की कड़ी में नौ बजे से ही महावीर स्कूल में जैन समाज के गणमान्य नागरिकों का जुटना शुरू हो गया। मौन जुलूस में जैैन समाज के लोग हाथ में तख्ती लिए चल रहे थे। जुलूस महावीर स्कूल से रवाना होकर मुख्यमंत्री निवास तक के इस जुलूस में बड़ी संख्या में जैन स्कूलों के छात्र-छात्राएं भी जुलूस में सम्मिलित हुए। सकल जैन समाज के प्रवक्ता विनोद जैन कोटखावदा ने बताया,घटना के विरोध में मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया जाएगा कि जैन तीर्थों एवं साधु-संतों एवं तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा के लिए केंद्र एवं संबंधित राज्य सरकार कड़े कदम उठाए।
बंद रखे प्रतिष्ठान
प्रबल सागर पर हमले के विरोध में गुरूवार को जैन धर्मालम्बियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे तो सरकारी और बैक कर्मचारियों ने भी सामूहिक अवकाश लेकर अपना विरोध जताया।


भारतीय सैनिकों पर हमले के पीछे हाफिज सईद का हाथ
10 Dec 2013
नई दिल्ली। पाकिस्तानी सेना द्वारा भारतीय सीमा में घुसकर सैनिकों पर हमले के पीछे लश्कर-ए-तैयबा के मुखिया हाफिज सईद का हाथ होने की बात सामने आई है। खुफिया एजेंसियों को सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक सैनिकों की हत्या से हफ्ते भर पहले हाफिज सईद एलओसी पर गया था। दिल्ली के एक अँग्रेज़ी अख़बार के हवाले से ये खबर सामने आई है कि पुंछ में एलओसी के दौरे पर हाफिज सईद लश्कर की बॉर्डर एक्शन टीम से मिलने आया था। बताया जा रहा है कि हाफिज सईद लश्कर को घुसपैठ के लिए उकसाने आया था। लश्कर की ये टीम पाकिस्तानी सेना की मदद करती है। लश्कर की इस टीम को बॉर्डर एक्शन टीम कहते हैं। एलओसी पर हाफिज सईद के दौरे के बाद घुसपैठ की कोशिशें बढ़ी हैं। खुफिया विभाग का कहना है कि मेंढर में दो भारतीय सैनिकों पर हमला आतंकी हाफिज सईद की देख रेख में हुई है। ये सईद के इशारे पर की गई है। उनका कहना है कि हर वक्त सीमा पर पाकिस्तान सेना के साथ लश्कर के 200-250 लोग रहते हैं, जो पाकिस्तानी सेना की मदद करते हैं। सईद उनको भारत में घुसपैठ के लिए उकसाने आया था। खुफिया विभाग का कहना है कि पीओके के जरिए घुसपैठ की कोशिश कराई जाती है। पाकिस्तान सेना घुसपैठ में पूरी मदद करती है। जान बूझकर गोलीबारी की जाती है ताकि भारतीय सेना का ध्यान भटके और घुसपैठ कराई जा सके।