Untitled Document


register
REGISTER HERE FOR EXCLUSIVE OFFERS & INVITATIONS TO OUR READERS

REGISTER YOURSELF
Register to participate in monthly draw of lucky Readers & Win exciting prizes.

EXCLUSIVE SUBSCRIPTION OFFER
Free 12 Print MAGAZINES with ONLINE+PRINT SUBSCRIPTION Rs. 300/- PerYear FREE EXCLUSIVE DESK ORGANISER for the first 1000 SUBSCRIBERS.

   >> सम्पादकीय
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> आपकी शिकायत
   >> पर्यटन गाइडेंस सेल
   >> स्टुडेन्ट गाइडेंस सेल
   >> सोशल मीडिया न्यूज़
   >> नॉलेज फॉर यू
   >> आज खास
   >> राजधानी
   >> कवर स्टोरी
   >> विश्व डाइजेस्ट
   >> बेटी बचाओ
   >> आपके पत्र
   >> अन्ना का पन्ना
   >> इन्वेस्टीगेशन
   >> मप्र.डाइजेस्ट
   >> निगम मण्डल मिरर
   >> मध्यप्रदेश पर्यटन
   >> भारत डाइजेस्ट
   >> सूचना का अधिकार
   >> सिटी गाइड
   >> लॉं एण्ड ऑर्डर
   >> सिटी स्केन
   >> जिलो से
   >> हमारे मेहमान
   >> साक्षात्कार
   >> केम्पस मिरर
   >> हास्य - व्यंग
   >> फिल्म व टीवी
   >> खाना - पीना
   >> शापिंग गाइड
   >> वास्तुकला
   >> बुक-क्लब
   >> महिला मिरर
   >> भविष्यवाणी
   >> क्लब संस्थायें
   >> स्वास्थ्य दर्पण
   >> संस्कृति कला
   >> सैनिक समाचार
   >> आर्ट-पावर
   >> मीडिया
   >> समीक्षा
   >> कैलेन्डर
   >> आपके सवाल
   >> आपकी राय
   >> पब्लिक नोटिस
   >> न्यूज मेकर
   >> टेक्नोलॉजी
   >> टेंडर्स निविदा
   >> बच्चों की दुनिया
   >> स्कूल मिरर
   >> सामाजिक चेतना
   >> नियोक्ता के लिए
   >> पर्यावरण
   >> कृषक दर्पण
   >> यात्रा
   >> विधानसभा
   >> लीगल डाइजेस्ट
   >> कोलार
   >> भेल
   >> बैरागढ़
   >> आपकी शिकायत
   >> जनसंपर्क
   >> ऑटोमोबाइल मिरर
   >> प्रॉपर्टी मिरर
   >> सेलेब्रिटी सर्कल
   >> अचीवर्स
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> जीवन दर्शन
   >> कन्जूमर फोरम
   >> पब्लिक ओपिनियन
   >> ग्रामीण भारत
   >> पंचांग
   >> येलो पेजेस
   >> रेल डाइजेस्ट
  

wheat ad3

पाँचवी, आठवीं, दसवीं और बारहवीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाएँ पूर्व निर्धारित कार्यक्रम अनुसार होंगी
15 March 2020
भोपाल.स्कूल शिक्षा विभाग ने नोवल कोरोना वायरस के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों के संबंध में स्पष्टीकरण जारी करते हुए निर्देश प्रसारित किये हैं कि प्रदेश में शासकीय विद्यालयों में पाँचवी एवं आठवीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाएँ पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होंगी। इसी तरह, कक्षा दसवीं और बारहवीं की वार्षिक परीक्षाओं (चाहे वे किसी भी सक्षम बोर्ड/ प्रबंधन के तत्वावधान में आयोजित की जा रही हों) का आयोजन यथावत पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार किया जायेगा। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा आज जारी नवीन दिशा-निर्देशों के अन्तर्गत कोरोना वायरस रोग को महामारी घोषित किये जाने के फलस्वरूप सभी स्कूल और कॉलेज को 31 मार्च 2020 तक बंद किये जाने का निर्णय लिया गया है।
प्रसारित निर्देशों में कहा गया है कि इस अवधि में समस्त शासकीय विद्यालयों में समस्त शिक्षकीय और गैर शिक्षकीय स्टाफ विद्यालय में उपस्थित रहकर यथावत शासकीय/अकादमिक कार्य संपादित करेंगे। समस्त निजी विद्यालय अपने शिक्षकीय एवं गैर शिक्षकीय स्टाफ की विद्यालय में उपस्थिति के संबंध में अपने स्तर पर स्वविवेक से समुचित निर्णय ले सकेंगे।

संस्कृति विभाग ने स्थगित किये कार्यक्रम
15 March 2020
भोपाल.कोरोना वायरस और उससे जनित रोग के संक्रमण से बचाव के लिये संस्कृति विभाग द्वारा विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से किये जा रहे कार्यक्रम स्थगित किए गए हैं। इनमें रविन्द्र भवन भोपाल में होने वाला 15 मार्च का नाट्य समारोह, 17 मार्च को भारत भवन में प्रस्तावित राष्ट्रीय सम्मान अलंकरण समारोह, 21 से 27 मार्च तक होने वाला इंडिया मून्स आर्ट फेस्टिवल 2020, 25 मार्च को मराठी साहित्य अकादमी, 26 मार्च को सिंधी सेन्ट्रल पंचायत के सांस्कृतिक कार्यक्रम, रविन्द्र भवन, 31 मार्च में होने वाले उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी के सुर यात्रा कार्यक्रम को स्थगित किया गया है।


शबरी जयंती समारोह में मंत्री श्री मरकाम और श्री जयवर्द्धन सिंह
24 February 2020
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह अपने प्रभार के जिला राजगढ़ के अंतर्गत ब्यावरा में आयोजित माँ शबरी जयंती समारोह में शामिल हुए। आदिम-जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम भी कार्यक्रम में पहुँचे। मंत्रीद्वय को कार्यक्रम में साफा बाँधकर और तीर-कमान भेंट कर सम्मानित किया गया।
मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने माँ शबरी का स्मरण करते हुए कहा कि उनका जीवन और चरित्र सम्पूर्ण समाज के लिये प्रेम तथा सद्भाव का प्रतीक है। मंत्री श्री मरकाम ने कहा कि माता शबरी ने मानव समाज को प्रेम की चरम सीमा के सुख का अनुभव कराया। विधायक श्री गोवर्धन दांगी ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

हुनरमंद बुनकरों, कारीगरों को निरंतर मिलेगा प्रोत्साहन : मंत्री श्री हर्ष यादव
24 February 2020
भोपाल.कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने भोपाल हाट में नेशनल हैण्डलूम एक्सपो के समापन अवसर पर प्रदेश के उत्कृष्ट शिल्पियों को राज्य-स्तरीय कबीर बुनकर एवं विश्वकर्मा पुरस्कार प्रदान किये। उन्होंने कहा कि माटी शिल्प, बांस शिल्प, काष्ठ कला, बुटिक प्रिंट, गोंडी चित्रकला, ब्लॉक प्रिंट, जूट शिल्प और ऐसी ही अन्य हस्तकलाओं के प्रतिभावान कलाकारों को निरंतर प्रोत्साहित किया जाएगा। कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री ने कलाकृतियों की प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।
मंत्री श्री यादव ने कहा कि वर्ष 2017-18, 2018-19 और 2019-20 के लिये निर्णायक मंडल द्वारा शिल्पियों का चयन कर उन्हें पुरस्कृत करने का कार्य प्रदेश की नई सरकार ने किया है। इससे शिल्पियों और कलाकारों को अपनी कला में सुधार और विक्रय से आर्थिक उन्नति के अवसर भी मिलेंगे। उन्होंने बताया कि अब प्रदेश में बुनकरों को प्रशिक्षण और वर्कशेड उपलब्ध करवाने पर ध्यान दिया गया है। उनके उत्पादों के विक्रय और विपणन के लिये भी आवश्यक सहयोग दिया जा रहा है। विभिन्न प्रदर्शनियों और मेलों में उनकी कलाकृतियों के प्रदर्शन के माध्यम से कलाकारों को लाभान्वित किया जा रहा है। इस अवसर पर श्री यादव ने स्मारिका का विमोचन किया।
मंत्री श्री यादव ने वर्ष 2017-18 के कबीर बुनकर पुरस्कार के लिये श्री अब्दुल रहीम चंदेरी (अशोकनगर) को प्रथम, मो. आरिफ खान महेश्वर (खरगोन) को द्वितीय और अशोक कुमार कोली चंदेरी (अशोकनगर) को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया। इसी वर्ष के राज्य-स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार से सुश्री समरीन नाज, इंदौर को प्रथम श्री फारूख खत्री बाग (धार) और राजीव नाफडे होशंगाबाद को पुरस्कृत किया गया।
वर्ष 2018-19 के राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार से भोपाल की श्रीमती नीतू यादव को प्रथम, ग्वालियर के श्री सौरभ राय को द्वितीय और उज्जैन के मो. वसीम छीपा को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया।
वर्ष 2019-20 के राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार से उज्जैन की नाजिश बी छीपा को प्रथम, बैतूल के अनिल बागमारे को द्वितीय और ग्वालियर के कार्तिके विश्वकर्मा को तृतीय पुरस्कार दिया गया। प्रोत्साहन पुरस्कार में 2018-19 के लिये बैतूल के ललित सोनी, उज्जैन की श्रुति गोखले, बाग (धार) के मो. काजिम खत्री और भोपाल के श्री मधुलाल श्याम को पुरस्कृत किया गया। वर्ष 2019-20 के प्रोत्साहन पुरस्कार के लिये ग्वालियर के श्री नानक माहोर को प्रथम, ग्वालियर के ही श्री शम्मी विश्वकर्मा को द्वितीय और उज्जैन के श्री हयात गुटृी को पुरस्कृत किया गया।
मंत्री श्री यादव ने हस्तशिल्प विकास निगम द्वारा बच्चों के लिये आयोजित की गई चित्रकला प्रतियोगिता में श्रेष्ठ चित्र बनाने वाले बच्चों को दो श्रेणियों में पुरस्कृत किया। इन बच्चों में मीत चावला प्रथम, अंतरिक्ष सेठिया एवं शीतल गुप्ता द्वितीय, तरन्नुम शेख तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत हुए। हैण्डलूम एक्सपो में श्रेष्ठ स्टॉल डिस्प्ले के लिये मनीष सोनगरे और आकांक्षा चौरसिया को पुरस्कार प्रदान किया गया। आयुक्त हस्तशिल्प श्री राजीव शर्मा उपस्थित थे।

मंत्री श्री आरिफ अकील ने नागरिकों के साथ देखा भोपाल विकास प्लान का प्रेजेन्टेशन
24 February 2020
भोपाल.अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री आरिफ अकील ने स्थानीय नागरिकों और संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव के साथ अपने निवास पर भोपाल विकास प्लान का प्रेजेन्टेशन देखा। श्री आरिफ अकील ने उपस्थित नागरिकों से प्लान पर अगले 2-3 दिन के भीतर सुझाव देने को कहा। श्री अकील ने बताया कि नागरिकों से प्राप्त सुझावों को विभाग को प्रेषित किया जायेगा।
प्रेजेन्टेशन में बताया गया कि जनसंख्या के हिसाब से भोपाल विकास प्लान ड्राफ्ट किया गया है। इसी आधार पर अधोसंरचना विकास के काम किये जायेंगे। प्लान में लॉजिस्टक हब और कमर्शियल एरिया का भी ध्यान रखा गया है। इस बात पर भी ध्यान दिया गया है कि सड़कों पर एक्सीडेन्टल जोन और अतिक्रमण क्षेत्र निर्मित न हो। भौगोलिक स्थिति का विश्लेषण कर के ही प्लान तैयार किया गया है।
बताया गया कि प्लान में भोपाल की पुरानी ऐतिहासिक धरोहरों सुरक्षित और संरक्षित करने के कार्य को प्राथमिकता दी गई है। प्रेजेन्टेशन में लेण्ड वेल्यू मेप, केपीटल प्रोजेक्ट आदि की जानकारी दी गई। प्लान के मुताबिक नक्शे कलेक्टर, कमिश्नर, नगर निगम एवं टाउन एण्ड कंट्री प्लानिंग के कार्यालयों में लगाये जायेगे। इसके अलावा, एमपी टाऊन प्लान की वेबसाइट पर भी नागरिक नक्शे के अनुसार जानकारी हासिल कर सकते हैं।

मल्टी पार्किंग में आग दुर्घटना स्थल पर तुरंत पहुँचे मंत्री श्री शर्मा
21 February 2020
भोपाल.जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज सुबह पीएंडटी चौराहा माता मंदिर स्थित मल्टी पार्किंग में आग लगने की सूचना मिलने पर तुरंत घटना स्थल पर पहुँचे। स्थानीय पार्षद श्री मोनू सक्सेना उनके थे।
मंत्री श्री शर्मा ने घटना स्थल पर आग से जले वाहनों और बिजली के जले तारों का निरीक्षण किया। उन्होंने रहवासियों से आग लगने के सम्बन्ध में जानकारी ली। श्री शर्मा ने रहवासियों को जाँच कराने का आश्वासन दिया। श्री शर्मा ने बिल्डिंग की बिजली फिटिंग की तुरंत मरम्मत कर नई बिजली फिटिंग्स कराने के निर्देश दिए।

दिव्य नयन डिवाइस दृष्टिबाधितों के लिए होगी मददगार
21 February 2020
भोपाल.दृष्टि बाधित दिव्यांगों के लिए 'दिव्य नयन' डिवाइस विकसित की गई है। इस डिवाइस के माध्यम से कोई भी लिखी हुई जानकारी सीधे पढ़ी और सुनी जा सकती है। अटल बिहारी वाजपेई सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान में दिव्यांग जनों की समस्याओं के निराकरण के संबंध में सुझाव देने के लिए हुई बैठक में यह जानकारी दी गई।
बैठक में प्रदेश के दिव्यांगों की शिक्षा, प्रशिक्षण, रोजगार और पुनर्वास के लिए किए जा रहे प्रयासों पर भी चर्चा हुई। बैठक में यह तय किया गया कि देश में दिव्यांगों के लिए संचालित उत्कृष्ट संस्थानों में रिसोर्स पर्सन भेज कर अध्ययन करवाया जाए। संस्थान के प्रमुख सलाहकार श्री मदन मोहन उपाध्याय ने प्रतिभागियों से कहा कि आगे भी दिव्यांगों की बेहतरी के लिए अपने सुझाव दें, जिससे इनकी समस्याओं के निराकरण के लिए बेहतर नीति बनाई जा सके। बैठक में विषय विशेषज्ञों ने महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

न्यू स्टार किड्स स्कूल के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में मंत्री श्री शर्मा
20 February 2020
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कोलार रोड स्थित न्यू स्टार किड्स स्कूल के वार्षिक उत्सव कार्यक्रम में 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' और 'स्वच्छता जागरूकता' अभियान का शुभारंभ किया। श्री शर्मा ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए बच्चों को पुरस्कृत कर उनका उत्साहवर्धन किया।
कार्यक्रम में श्री ईश्वर सिंह चौहान, श्री नरेश ज्ञानचंदानी, श्री कैलाश बेगवानी, श्री हरि पाटीदार, श्री अजीत सक्सेना, श्री सत्येंद्र जोशी भी उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने दी महाशिवरात्रि की बधाई
20 February 2020
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएँ दी हैं।
मुख्यमंत्री ने अपने शुभकामना संदेश में कहा कि शिवरात्रि भारत की आध्यात्मिक संस्कृति का पर्व है। उन्होंने कहा कि भगवान शंकर सभी देवों के आराध्य हैं। वे सृजन के देव है।
श्री कमल नाथ ने कहा कि महाशिवरात्रि सर्वाधिक महत्व का धार्मिक अवसर है, जब सभी समुदाय शिव भक्ति में रम जाते हैं। यह अवसर भक्तों को समर्पण भाव के साथ रचनात्मक काम करने की प्रेरणा देता है।

मंत्री श्री जयवर्द्धनसिंह द्वारा आरोन में आजीविका भवन का लोकार्पण
20 February 2020
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने गुना जिले के आरोन में ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत 40 लाख की लागत से निर्मित आजीविका भवन का लोकार्पण किया। श्री सिंह ने कहा कि आजीविका मिशन के समूह राशि का सदुपयोग कर व्यवसाय को बढ़ाने का प्रयास करें।
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि महिलाएँ सशक्त होंगी तो प्रदेश भी सशक्त होगा। उन्होंने महिला स्व-सहायता समूह की सदस्यों को ऋण स्वीकृति-पत्र प्रदान किये। बैंक सीसीएल की राशि 8 लाख रूपये के स्वीकृति-पत्र 4 समूहों को दिए गए। कार्यक्रम में 32 ग्रामों के 47 समूहों को 93 व्यक्तिगत गतिविधियों के लिये 18 लाख 51 हजार रूपये स्वीकृत किए गए। श्री सिंह ने महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा निर्मित सामग्रियों के स्टाल का अवलोकन किया। समूह की महिलाओं ने अपने अनुभव सुनाए।
निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन
श्री सिंह ने नगर परिषद आरोन में रैन बसेरा, स्व. श्रीमती आशा रानी देवी जी बस-स्टैण्ड के जीर्णोद्धार लागत 71 लाख 42 हजार का एवं अन्य निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन किया।
शासकीय महाविद्यालय आरोन में विद्यार्थियों का सम्मान
मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने शासकीय महाविद्यालय आरोन के वार्षिकोत्सव में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि कॉलेज में इन्डोर स्टेडियम नगरीय विकास एवं आवास विभाग द्वारा बनवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कॉलेज में ऑडिटोरियम का निर्माण करवाने का भी प्रयास करेंगे। श्री सिंह ने कहा कि विद्यार्थी समय का सदुपयोग कर अपना भविष्य सवारें।
कौटिल्य अकादमी में बच्चों से भेंट
मंत्री श्री सिंह ने कौटिल्य अकादमी में कोचिंग ले रहे बच्चों से चर्चा कर उनकी पढ़ाई के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बेहतर पढ़ाई कर जिले का नाम रोशन करें। गौरतलब है कि मंत्री श्री सिंह के प्रयासों से अकादमी में बच्चों को नि:शुल्क कोचिंग दी जा रही है।
निर्माण कार्यों का निरीक्षण
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने आरोन नगर में 5 करोड़ की लागत के निर्माणाधीन स्टेडियम का निरीक्षण किया। उन्होंने कार्य समय-सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर के पार्कों का अवलोकन कर उनके सौन्दर्यीकरण का प्रस्ताव भेजने के भी निर्देश दिए। इस दौरान स्थानीय जन-प्रतिनिधि एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

मंत्री श्री शर्मा द्वारा महाशिवरात्रि की बधाई
20 February 2020
भोपाल.अध्यात्म एवं जनसंपर्क मंत्री श्री पी. सी. शर्मा ने महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर प्रदेश के नागरिकों को बधाई दी है। श्री शर्मा ने अपने शुभकामना संदेश में कहा कि महाशिवरात्रि देश की आध्यात्मिक संस्कृति का पर्व है। उन्होंने कहा कि भगवान शंकर सभी देवों के आराध्य हैं। भगवान शंकर सृजन के देव है। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि यह पर्व भक्तों को समर्पण भाव के साथ रचनात्मक काम करने की प्रेरणा देता है।


सक्रिय माइक्रो फाइनेंस माफिया पर एफआईआर दर्ज कर सख्त कार्यवाही करें : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
11 February 2020
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रदेश में माइक्रो फाइनेंस कम्पनियों की शिकायतों को देखते हुए लोगों को इनके खिलाफ शिकायत दर्ज करने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि माइक्रो फाइनेंस माफिया पनपने से पहले इस पर अंकुश लगायें। सक्रिय माइक्रो फाइनेंस माफिया पर एफआईआर दर्ज कर सख्त कार्रवाई करें। मुख्यमंत्री मंत्रालय में जनाधिकार कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कलेक्टरों को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने किसानों के फसल ऋण माफी के दूसरे चरण की शुरूआत समय पर करने के निर्देश दिए। उन्होंने 31 मार्च तक अविवादित नामांतरण एवं बँटवारे संबंधित प्रकरणों को निपटारा आवश्यक रूप से करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को पट्टे का अधिकार न मिलने के लिए और सामान्य तकनीकी कारणों के कारण दावा प्रकरणों के निरस्त होने के लिए संबंधित जिला कलेक्टरों की जिम्मेदारी तय की जाएगी।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने युवा ग्राम शक्ति समिति फरवरी माह के अंत तक गठित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को और ज्यादा गतिशील बनाएँ। नकली दवाईयाँ बनाने वाली कंपनियों और इससे जुड़े माफिया पर लगातार निगरानी रखें और इससे जुड़े लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि धान खरीदी में आ रही समस्याओं का भी तत्काल समाधान करें। उन्होंने बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए सभी प्रकार के एतिहाती उपाय करने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने शिकायतकर्ताओं की समस्याओं का समाधान किया। कुछ प्रकरणों में तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। टीकमगढ़ के एक शिकायतकर्ता द्वारा गलत परमिट पर वाहन चलाने, परमिट निरस्त नहीं किए जाने और डबल टैक्स वसूली संबंधी शिकायत पर टीकमगढ़ आरटीओ को हटाने और उसके खिलाफ तत्काल कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
भोपाल जिले के एक प्रकरण में ‍शिकायतकर्ता श्रीमती यशोदा रजक की ओर से उनके पति ने मुख्यमंत्री को बताया कि ग्रीन लेंड गृह निर्माण सहकारी संस्था भोपाल द्वारा उनके प्लाट का नामंतरण नहीं किया गया। सोसायटी की मिलीभगत से सोसायटी के सदस्य द्वारा उन्हें अविकसित प्लाट बेच दिया गया। उन्होंने गृह निर्माण सोसायटी से वैधानिक तरीके से प्लाट लिया। बेचने वाले और सोसायटी की मिलीभगत से अविकसित जमीन बेचने के प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने सोसायटी और बेंचने वाले दोनों पर कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह प्रकरण शुद्ध रूप से माफिया से जुड़ा प्रकरण है। इसमें सोसायटी और प्लाट बेचने वाले दोनों की मिलीभगत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह गैर कानूनी कालोनी का प्रकरण है। शिकायतकर्ता ने मुख्यमंत्री को बताया कि सीएम हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज कराने के बाद सोसायटी के अध्यक्ष का सुलह के लिए फोन आया था और इसके बाद उनकी जमीन पर अनावश्यक रूप से चिन्हांकन कर दिया गया। इस पर मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को धोखे में रखकर प्लाट बेचने के लिए कार्रवाई करने और शिकायतकर्ता को पैसा वापस दिलाने के निर्देश दिए।
रीवा में धान खरीदी में आ रही अनियमितताओं के संबंध में मुख्यमंत्री ने रीवा कलेक्टर से पूछताछ की। उन्हें बताया कि रीवा के किसानों की शिकायत है कि उन्हें धान की तुलाई में परेशानी आ रही है साथ ही पहाड़ी हिस्सों और वन क्षेत्रों में राशन नहीं पहुँच पा रहा है। उन्होंने कलेक्टर को इसे प्राथमिकता से निराकृत करने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने देवास जिले में आंगनवाड़ी भवन बनने में तीन साल की देरी होने के प्रकरण में निर्देश दिए कि निर्माण में देरी के लिए जिम्मेदार अधिकारियों और एजेंसी को कारण बताओ नोटिस जारी होने के 15-20 दिनों में कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने सभी कलेक्टरों से कहा कि किसी भी प्रकार की अनियमितताओं के प्रकरण में केवल कारण बताओ नोटिस जारी करना काफी नहीं है। नोटिस के बाद सख्त कार्रवाई भी करें।
इंदौर जिले के एक प्रकरण के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने कहा कि सूदखोर माफिया को सख्ती से रोकें। कलेक्टर इंदौर ने बताया कि माफिया के विरूद्ध अभियान चलने के कारण पिछले एक महीनें में सूदखोरी के 21 मामले सामने आए हैं। इन प्रकरणों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है। इंदौर के ही एक प्रकरण में शिकायतकर्ता को एक गृह निर्माण सोसायटी ने फ्लैट बुक करने के बाद भी उसका आघिपत्य नहीं मिलने को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कॉलोनाइजर द्वारा आम जनता के साथ की गई धोखाधड़ी बर्दाश्त नहीं की जायेगी। ऐसे कालोनाइजरों पर कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि इंदौर से गैरकानूनी कॉलोनी द्वारा किए जा रहे धोखाधड़ी के प्रकरण सामने आ रहे है। इसमें ढील न देकर कलेक्टर सख्त कार्रवाई करें।
ग्वालियर में जीवाजी विश्वविद्यालय में एक्स-रे कोर्स परीक्षा में विलम्ब होने पर मुख्यमंत्री ने परीक्षा नियंत्रक और संबंधित लिपिक स्टाफ को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने सीधी जिले के शिकायतकर्ता द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के आवेदन पर मध्यांचल ग्रामीण बैंक सेमरिया से ऋण लेने में अनियमितता और लापरवाही तथा विलम्ब होने की स्थिति में कलेक्टरों को निगरानी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कलेक्टरों से कहा कि बैंकों की शिकायतों पर विशेष ध्यान दें और उनका सकारात्मक निराकरण करवायें।
बैठक में मुख्य सचिव श्री एस आर मोहंती, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री अशोक बर्णवाल और संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

राष्ट्रीय जल सम्मेलन में विषय-विशेषज्ञों ने दिये महत्वपूर्ण सुझाव
11 February 2020
भोपाल.जलाधिकार कानून लागू करने के लिये लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग और जल-जन जोड़ो अभियान द्वारा संयुक्त रूप से मिंटो हॉल में आयोजित 'राष्ट्रीय जल सम्मेलन'' चार सत्र में सम्पन्न हुआ। जल-पुरूष श्री राजेन्द्र सिंह ने सभी सत्रों की अध्यक्षता की।
इस अवसर पर कानूनविद् श्री अनुपम सराफ, तेलंगाना जल बोर्ड के अध्यक्ष श्री प्रकाश राव, झारखण्ड के पूर्व मंत्री श्री सरयू राय, 2030 वाटर रिसोर्स ग्रुप (वर्ल्ड बैंक) के श्री अनिल सिन्हा (नीरी), नागपुर के डॉ. कृष्णा खैरवार, जल गुरु श्री महेन्द्र मोदी, पर्यावरणविद् सुश्री इंदिरा खुराना, सुश्री प्रतिभा शिंदे तथा डॉ. स्नेहिल दोंडे (मुम्बई), कर्नाटक के पूर्व मंत्री श्री वी.आर. पाटिल के अलावा विभिन्न राज्यों से आये अनेक जल और पर्यावरण से जुड़े समाज-सेवी ओर विषय-विशेषज्ञों ने अपने विचार रखकर अपने अनुभव साझा किये। यूनिसेफ इण्डिया प्रमुख श्री माइकल जूमा भी सम्मेलन में उपस्थित थे।
सभी जल विशेषज्ञों एवं वक्ताओं ने जल के अधिकार और प्रदेश की नदियों को पुनर्जीवित किये जाने के संबंध में अनेक पहलुओं पर अपनी बात रखी और महत्वपूर्ण सुझाव भी दिये। विषय-विशेषज्ञों द्वारा प्रदत्त सुझावों को प्रदेश में तैयार किये जा रहे जल के अधिकार अधिनियम में समाहित किया जायेगा। सम्मेलन में पानी के मुद्दे पर महिलाओं की भागीदारी, जन-सामान्य को अधिकार के साथ-साथ जिम्मेदारियों से अवगत कराने के लिये जन-जागरूकता पर जोर दिया गया। विषय-विशेषज्ञों ने सुझाव दिया कि पानी उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये स्थानीय स्तर पर जल को सहेजा जाना चाहिये। पानी की उपलब्धता के मान से लोगों को अपनी दिनचर्या एवं क्रिया-कलापों में बदलाव लाना होगा।
मंत्री श्री पांसे ने दिये स्मृति-चिन्ह
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने सम्मेलन में 25 राज्यों से आये प्रतिनिधियों को स्मृति-चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। उन्होंने आशा जताई कि जल अधिकार कानून के विभिन्न पहलुओं पर सम्मेलन में हुई चर्चा और मंथन से बेहतर परिणाम निकलेंगे।

मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह द्वारा आगर में 1.87 करोड़ के कार्यों का भूमि-पूजन
11 February 2020
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने आगर में एक करोड़ 87 लाख रुपए लागत के 12 निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन किया। ये कार्य मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास योजना में कराये जायेंगे।
मंत्री सिंह ने कहा कि आगर शहर को सुन्दर बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। यहाँ स्टेडियम का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि रातड़िया तालाब के सौन्दर्यीकरण की डीपीआर तैयार हो गई है। श्री सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास योजना में कच्चे मकानों में रहने वालों का सर्वे कराकर उन्हें नये आवास निर्माण के लिये ढाई लाख रुपए सहायता राशि दी जाएगी।
प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने कहा कि जिले के युवाओं का कौशल उन्नयन कर उन्हें स्व-रोजगार योजनाओं से जोड़कर रोजगार मुहैया करवाया जाएगा। महिलाओं को अजीविका मिशन अन्तर्गत स्व-सहायता समूहों से जोड़कर आत्म-निर्भर बनाने के लिये बैंक ऋण दिलवाया जाएगा। उन्होंने माली समाज के मांगलिक भवन निर्माण के लिए 10 लाख रुपए स्वीकृत किये।

आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा उत्कृष्टता संस्थान
7 February 2020
भोपाल.उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी की अध्यक्षता में आज उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान की सामान्य परिषद की बैठक सम्पन्न हुई। श्री पटवारी ने कहा कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में मूलभूत सुविधाओं के साथ विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दिया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इसके लिए हमें महाविद्यालयों में आधुनिक सुविधाओं की व्यवस्था करना होगी। उच्च शिक्षा मंत्री ने संस्थान में ज्यादा से ज्यादा स्मार्ट क्लासेस बनाने के निर्देश दिए।
बैठक में संस्थान में प्रस्तावित निर्माण कार्य, अध्ययनरत विद्यार्थियों की काउन्सलिंग, यूजीसी के निर्देशानुसार आई.व्यू.ए.सी. की वित्तीय व्यवस्था तथा संस्थान में ऑडिटोरियम तथा सेमिनार हॉल के निर्माण पर विस्तृत चर्चा की गई।
मंत्री ने किया संस्था का निरीक्षण
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने आज भोपाल के उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान का निरीक्षण किया। उन्होंने संस्थान के क्लासरूम, लैब आदि का भ्रमण किया। श्री पटवारी ने विद्यार्थियों से भी शैक्षणिक व्यवस्था और अन्य विषयों पर चर्चा की।
आयुक्त उच्च शिक्षा श्री डी.पी. आहूजा, उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान के प्राचार्य डॉ. एस.एस. विजयवर्गीय तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

मुख्य धारा से छूटे लोगों को जोड़ने के लिए हो अधिकारियों का ओरिएंटेशन कोर्स
7 February 2020
भोपाल.मुख्य धारा से छूट गये लोगों को मुख्यधारा में लाने के संबंध में प्रभावी कार्यवाही सुनिष्चित करने के लिए आईएएस और अन्य अधिकारियों का ओरिएंटेशन कोर्स होना चाहिए। संचालक सामाजिक न्याय श्री कृष्णगोपाल तिवारी ने अटल बिहारी बाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान में व्याख्यान माला 'असरदार परिवर्तन-टिकाऊ परिणाम' में 'वे फारवर्ड टू इनक्लूड द इक्सक्लूडेड' विषय पर विचार व्यक्त करते हुए यह बात कही।
श्री तिवारी ने कहा कि नौकरी करने से कहीं अधिक कठिन है दिव्यांग को नौकरी हासिल करना। उन्होंने कहा कि दिव्यांगों को इसी समाज में रहना है, अत: 40 से 80 प्रतिशत तक के दिव्यांगों को सामान्य स्कूलों में ही अध्ययन की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दिव्यांगों की क्षमताओं को जाने बगैर कई बार निर्णय होन से उन्हें समाज की मुख्य धारा से जोड़ने में कठिनाई होती है। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त पाठ्यक्रम के रूप में सभी बच्चों को ब्रेल लिपि और साइन लेंग्वेज के बारे में जानकारी दी जानी चाहिए। इससे उन्हें दिव्यांगों के साथ जुड़ने में मदद मिलेगी।
एटीट्यूड बदलने की जरूरत
श्री तिवारी ने कहा कि तथाकथित पढ़े लिखे लोगों को एटीट्यूड बदलने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कई बार नकारात्मक दृष्टिकोंण के कारण दिव्यांगों के हित में सही निर्णय नहीं हो पाते हैं।
इवेन्ट + रिस्पांस = आउटकम
श्री तिवारी ने कहा कि किसी भी घटना के बाद व्यक्ति के रिस्पांस पर उसका परिणाम सामने आता है। वह या तो सकारात्मक या नकारात्मक होता है। उन्होंने इस संबंध में थामस एडिसन की लैब के जल जाने और अन्य घटनाओं का दृष्टांत दिया। श्री तिवारी ने कहा कि दिव्यांगों की सुविधाओं के लिए नित नये उपकरण बनाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नई तकनीकों के सहारे दिव्यांग बेहतर जीवन जी सकते हैं।
सहानुभूति नहीं अवसरों की जरूरत
संस्थान के महानिदेशक श्री आर. परशुराम ने कहा कि दिव्यांगों को सहानुभूति नहीं अवसरों की जरूरत है। यह समाज और सरकार की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि श्री तिवारी के साथ मिलकर संवेदनशीलता और उन्नत विचारों के साथ दिव्यांगों के संबंध में बेहतर नीति बनायी जायेगी। श्री परशुराम ने कहा कि इंटीग्रेशन और इनक्लूजन के प्रयास तो लगातार किये जा रहे हैं, लेकिन अभी उतनी सफल्ता नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि अच्छा टीचर वह है जो कमजोर छात्रों पर अधिक ध्यान देता है।
व्याख्यान माला में श्री तिवारी ने श्रोताओं के प्रश्नों का उत्तर भी दिया। उन्होंने समापन प्रेरक कविता से किया। इस दौरान प्रमुख सलाहकार श्री एम.एम. उपाध्याय, श्री मंगेश त्यागी और श्री गिरीश शर्मा भी उपस्थित थे।

विशेष पिछड़ी जनजाति सांस्कृतिक केन्द्र का निर्माण 18 महीने में पूरा करने के निर्देश
7 February 2020
भोपाल.आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि भोपाल में अरेरा हिल्स क्षेत्र में निर्माणाधीन विशेष पिछड़ी जनजाति सांस्कृतिक सह- प्रशासनिक केन्द्र का निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण हो और इसे नियत समय अक्टूबर 2021 तक हर हाल में पूरा किया जाये। श्री मरकाम ने निर्माणाधीन भवन का निरीक्षण करते हुए यह निर्देश दिये।
मंत्री श्री मरकाम के निरीक्षण के दौरान बताया गया कि प्रदेश की विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा, भारिया एवं सहरिया की संस्कृति और विभिन्न कलाओं के संरक्षण और प्रोत्साहन के लिये भोपाल में 18 करोड़ रूपये की लागत से सांस्कृतिक सह-प्रशासनिक केन्द्र का निर्माण किया जा रहा है। इस केन्द्र में एक इंडोर और एक आउटडोर ऑडिटोरियम होगा। ये ऑडिटोरियम 200-200 सीटर क्षमता के होंगे। इस केन्द्र में कलाकारों के रुकने की व्यवस्था भी रहेगी। निर्माणाधीन भवन में विशेष पिछड़ी जनजाति से संबंधित प्रशासनिक कार्यालय भी होंगे। इस पाँच मंजिला भवन में दो ब्लॉक बनाये जा रहे हैं। कार्य की निर्माण एजेन्सी राजधानी परियोजना को बनाया गया है।
भोपाल के अलावा श्योपुर में सहरिया, डिंडोरी में बैगा और छिन्दवाड़ा में भारिया विशेष पिछड़ी जनजाति के सांस्कृतिक केन्द्रों का निर्माण कराया जा रहा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिकता से कराएं सड़कों का संधारण : मंत्री श्री पटेल
6 February 2020
भोपाल.पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने मंत्रालय में राज्य ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण (एमपीआरआरडीए) की कार्यकारिणी की 24वीं बैठक में निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों का प्राथमिकता से संधारण कराएं। साथ ही, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में गारन्टी पीरियड की सड़कों का संधारण संबंधित ठेकेदार से कराया जाए।
मंत्री श्री पटेल ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि ग्रामीण क्षेत्रों तक विकास की योजनाएं पहुँचे। ग्रामीणों को नजदीकी शहरों में जाने-आने के लिये किसी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास में सड़कों का सर्वाधिक योगदान होता है। इसलिये ग्रामीण क्षेत्र में गुणवत्तापूर्ण सड़कों के निर्माण पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क का गुणवत्ता नियंत्रण सुनिश्चित करने के लिये राज्य स्तरीय टीम गठित की जाए।
राज्य ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण (एमपीआरआरडीए) के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री उमाकांत उमराव ने बैठक में बताया कि प्राधिकरण द्वारा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में पहले और दूसरे चरण में बनाई गई 84 हजार 936 किलोमीटर सड़कों का संधारण किया जा रहा है। मंडी निधि से 250 आबादी तक वाले गाँवों को संपर्कता प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस योजना में 250 करोड़ की लागत से 380 किलोमीटर सड़कों का निर्माण पूरा किया गया है। इससे 281 गाँव लाभान्वित हुए हैं।
बैठक में बताया गया कि मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना में पूर्व में बनाई गई 10 हजार किलोमीटर कच्ची सड़कों में से 6707 किलोमीटर सड़कों का डामरीकरण किया गया है। वर्तमान में 428 किलोमीटर ग्रामीण सड़कों के डामरीकरण का कार्य प्रगति पर है।

युवा पीढ़ी नफरत फैलाने वाले तत्वों से सावधान रहें
6 February 2020
भोपाल.उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा है कि युवा पीढ़ी को समाज में नफरत और घृणा फैलाने वाले तत्वों से सावधान रहना चाहिए। समाज में समरसता के लिये सहिष्णुता और आपसी भाईचारा जरूरी है अन्यथा भावी पीढ़ी को इसके दुष्‍परिणाम भुगतना होंगे। उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी आज छतरपुर के शासकीय महाराजा स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्रथम युवा उत्सव को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने जिले के 5 शासकीय महाविद्यालयों में बुनियादी सुविधाओं के लिये 40 करोड़ रूपयों की राशि उपलब्ध कराने की घोषणा भी की। इस मौके पर विधायक सर्वश्री आलोक चतुर्वेदी, कुं. विक्रम सिंह नातीराजा, प्रद्युम्न सिंह लोधी, नीरज दीक्षित, राजेश शुक्ला और कुणाल चौधरी भी मौजूद थे।
उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में मूलभुत सुविधाओं के साथ विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जायेगी। महाविद्यालयीन विद्यार्थियों को पढ़ाई और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। मंत्री श्री पटवारी ने छात्र-छात्राओं के बीच पहुँचकर संवाद किया। उनकी समस्याएँ और सुझाव सुने। मंत्री श्री पटवारी ने इस मौके पर घोषणा करते हुए कहा कि महाराजा महाविद्यालय को 10 करोड़ रूपये, नवीन आदर्श महाविद्यालय को 6 करोड़ रूपये, शासकीय कन्या महाविद्यालय को 7.50 करोड़ रूपये, हरपालपुर महाविद्यालय को 8 करोड़ रूपये, महाराजपुर महाविद्यालय को 6.97 करोड़ रूपये, शासकीय नवीन महाविद्यालय राजनगर के भवन निर्माण के लिये 4.70 करोड़ रूपये की राशि प्रदान की जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के महाविद्यालयों में 200 स्मार्ट क्लासेस की शुरूआत की जा चुकी है।
छात्र-छात्राएँ गुरूओं के मार्गदर्शन में आगे बढ़े
मंत्री श्री पटवारी ने छात्र-छात्राओं से गुरूओं के मार्गदर्शन में आगे बढ़ने की अपील की। उन्होंने शिक्षकों से उच्च शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित अकादमिक कैलेण्डर के अनुसार शैक्षणिक गतिविधियाँ सुनिश्चित करने के लिये कहा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 30 वर्ष के बाद लोक सेवा आयोग के जरिये सहायक प्राध्यापकों के पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी की गई है। श्री पटवारी ने बताया कि सागर संभाग में करीब 300 पद भरे जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि अतिथि विद्वानों के हितों का ध्यान रखा जायेगा। मंत्री श्री पटवारी ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रतिभाशाली विद्यार्थियों, एनसीसी कैडेट और खेल प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का सम्मान किया। मंत्री श्री पटवारी छतरपुर विश्वविद्यालय के न्यूज लेटर के विमोचन कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके साथ ही मंत्री श्री पटवारी 15वें अखिल भारतीय वॉलीबाल टूर्नामेंट समारोह में भी शामिल हुए।

हस्तशिल्प निगम और खादी बोर्ड से ऑनलाइन खरीदी कर सकेंगे सरकारी विभाग
5 February 2020
भोपाल.कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने मंत्रालय के एनआईसी कक्ष में राज्य खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड और संत रविदास राज्य हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम के नवीन पोर्टल का शुभारंभ किया। यह पोर्टल सरकारी विभागों को खादी बोर्ड और हस्तशिल्प विकास निगम को क्रय आदेश देने, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर राशि का भुगतान करने में मददगार होगा। श्री यादव ने उम्मीद जताई कि अब दोनों उपक्रम अधिक गति से कार्यों को क्रियान्वित करेंगे।
शासकीय विभागों द्वारा वस्त्र एवं अन्य सामग्री क्रय करने की प्रक्रिया को भंडार क्रय नियम के अन्तर्गत सरल और पारदर्शी बनाने के लिये यह नया पोर्टल शुरू किया गया है। ई-कामर्स पोर्टल व्यवस्था में शासकीय क्रय कर्ता विभाग द्वारा मांग के अनुरूप उत्पादों के प्रदाय के आदेश 85 प्रतिशत अग्रिम राशि के साथ ऑनलाइन दिये जा सकेंगे। इसके लिये ऑनलाइन (बैंक ट्रांसफर, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग) और ऑफलाइन (चालान, एनईएफटी, आरटीईजीएस) राशि दी जा सकेगी। आदेश प्राप्ति पर निगम के अधिकृत प्राधिकारी निगम के विभिन्न उत्पादन केन्द्रों को वांछित सामग्री के अनुरूप मात्रा आवंटित करेंगे। इसके बाद उत्पादन केन्द्र संबंधित विभाग को सामग्री प्रदाय करेगा।
पोर्टल पर वस्त्रों और अन्य सामग्री की प्रदाय की दरें दर्शाई गई हैं। विभिन्न विभागों और कार्यालयों में वर्दी का कपड़ा, चादर, बस्ता कपड़ा, अस्पतालों में बैण्डेज एवं रोल बैण्डेज आदि के रूप में हाथकरघा बुनकरों द्वारा तैयार सामग्री प्रदाय की जाती है। हस्तशिल्प निगम ने इस वर्ष गत माह तक 10 करोड़ 70 लाख रूपये के वस्त्रों का प्रदाय सरकारी विभागों को किया है। निगम के 29 आउटलेट संचालित हैं। खादी बोर्ड के 20 आउटलेट चल रहे हैं। बोर्ड के प्रदेश में सूती, ऊनी, रेशनी और पोली वस्त्र के 12 उत्पादन केन्द्र हैं। इसके अलावा, तेलघानी एवं चर्म शिवण का भी एक-एक केन्द्र संचालित है।
प्रोक्योरमेंट पोर्टल से होगी आय में वृद्धि
मध्यप्रदेश शासन ने प्रदेश के हाथकरघा बुनकरों को निरंतर रोजगार उपलब्ध करवाने और उनकी आय वृद्धि के उद्देश्य से शासकीय कार्यालयों में सामग्री प्रदाय की व्यवस्था की है। हस्तशिल्प विकास निगम की वेबसाइट - www.hsvnprocurement.mp.gov.in पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर खरीदी की जा सकेगी। इसी तरह, खादी बोर्ड की वेबसाइट - www.khadiprocurement.mp.gov.in विकसित की गई है। सरकारी विभागों की सुविधा के लिये ऐड टू कार्ट, ट्रेकिंग स्टेटस और आर्डर से लेकर सप्लाई तक के विकल्प पोर्टल पर मुहैया कराए गए हैं।
पोर्टल के शुभारंभ अवसर पर प्रमुख सचिव कुटीर एवं ग्रामोद्योग श्री अनिरूद्ध मुखर्जी, प्रबंध संचालक खादी बोर्ड श्री मनोज खत्री और प्रबंध संचालक हस्तशिल्प विकास निगम श्री राजीव शर्मा उपस्थित थे।

वनाधिकार अधिनियम में निरस्त दावों का गहन परीक्षण नियत समय पर हो
5 February 2020
भोपाल.प्रमुख सचिव आदिम-जाति कल्याण श्रीमती दीपाली रस्तोगी ने प्रशासन अकादमी में एम.पी. वनमित्र पोर्टल पर केन्द्रित प्रशिक्षण-सह-कार्यशाला में मास्टर ट्रेनर्स से कहा है कि वनाधिकार अधिनियम में लंबित प्रकरणों का गहन परीक्षण कर पोर्टल पर अपलोड की कार्यवाही नियत समय पर की जाये। कार्यशाला में प्रदेश के समस्त जिलों के तीन-तीन कम्प्यूटर के जानकार अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर के रूप में पोर्टल की प्रक्रिया के संबध में सैद्धांतिक एवं टेबलेट्स पर विस्तृत प्रशिक्षण दिया गया। श्री योगेश बिचकोले महाराष्ट्र नॉलेज कार्पोरेशन ने वन अधिकार अधिनियम की प्रक्रिया की जानकारी दी।
प्रशिक्षण में वनाधिकार समितियों के दायित्वों, दावों के परीक्षण, वन-भूमि का नक्शा बनाने तथा दावों का सत्यापन करने के संबध में जानकारी दी गई। दावों का परीक्षण करने के संबध में उपखण्ड स्तरीय समिति एवं जिला स्तरीय समिति के दायित्वों एवं कार्य-प्रणाली के संबध में भी जिलों से आये डिस्ट्रिक्ट ई-गवर्नेंस की बारीकियों से मास्टर ट्रेनर्स को अवगत कराया गया।
कार्यशाला में जानकारी दी गई कि प्रदेश में अब तक पोर्टल के माध्यम से 3 लाख 25 हजार से अधिक दावे दर्ज किये जा चुके हैं। ग्राम वनाधिकार समितियों ने 9000 से अधिक दावों का सत्यापन कर उपखण्ड स्तरीय समितियों को भेजा है। कार्यशाला में बताया गया कि दावों के निराकरण के लिए 31 मार्च 2020 की अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। प्रदेश में वनाधिकार अधिनियम के अंतर्गत करीब 3 लाख 60 हजार निरस्त दावों का पुनः परीक्षण कर पोर्टल के माध्यम से निराकरण किया जाना है।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में वनवासियों को उनकी भूमि का मालिकाना हक दिलाने के लिये एम.पी. वनमित्र पोर्टल का पिछले वर्ष गाँधी जयंती 02 अक्टूबर को मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ और आदिम-जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने लोकार्पण किया था। प्रशिक्षण में संचालक क्षेत्रीय आदिवासी परियोजना की सुश्री शैल बाला मार्टिन भी मौजूद थीं।

खिलचीपुर में 1376 किसानों का 9 करोड़ से अधिक फसल ऋण माफ
4 February 2020
भोपाल.ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार ने किसानों से कर्ज माफी का जो वादा किया था, उसको पूरा किया है। किसानों की ऋण माफी को लेकर किए गए वादे का अब दूसरा चरण शुरू हो चुका है। उन्होंने बताया कि अब 50 हजार से एक लाख रुपये तक के फसल ऋण माफ किये जा रहे हैं। ऊर्जा मंत्री खिलचीपुर में जय किसान फसल ऋण माफी योजना अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर विकासखंड स्तरीय शिविर में खिलचीपुर के 1376 किसानों का 9 करोड़ 43 लाख का फसल ऋण माफ किया गया।
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि इस बार माफ किए गए ऋण में 8 करोड रुपए राष्ट्रीय कृत बैंकों के भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कन्या विवाह योजना, पेंशन योजना, गौशाला निर्माण सहित सभी वायदों को पूरा करने के लिये चरणबद्ध तरीके से काम किया है। ऊर्जा मंत्री ने बताया कि जिले में जल्दी ही गेहूँ उपार्जन का कार्य शुरू होगा। उन्होंने कहा कि जिले में गेहूँ का रकबा बढ़ा है। इसलिये उपार्जन केंद्रों की संख्या भी बढ़ायी जाएगी। उन्होंने बताया कि किसानों को बिजली उपलब्ध कराने के लिए पहली बार जिले में 20 नए ग्रिड स्वीकृत किए गए हैं।
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का भूमि-पूजन
ऊर्जा मंत्री श्री सिंह ने खिलचीपुर में 30 बिस्तर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन का भूमि-पूजन किया। उन्होंने भवन का निर्माण समय-सीमा में कराने के निर्देश दिए। श्री सिंह ने खिलचीपुर प्रीमियम लीग क्रिकेट टूर्नामेंट के फायनल मैच का भी शुभारंभ किया।
इस अवसर पर राजगढ़ विधायक श्री बापू सिंह तंवर, पूर्व सांसद श्री नारायण सिंह आमलाबे और अन्य जन-प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।

नेशनल लोक अदालत में सम्पत्ति और जल-कर सहित अन्य करों के अधिभार पर मिलेगी छूट
4 February 2020
भोपाल.प्रदेश में 8 फरवरी को आयोजित हो रही नेशनल लोक अदालत में सम्पत्ति-कर, जल-कर एवं अन्य करों के अधिभार पर निर्धारित शर्तों के अधीन छूट दी जायेगी। ये छूट उन निकायों में लागू नहीं होगी, जहाँ निर्वाचन की आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील होगी।
सम्पत्ति-कर के ऐसे प्रकरण, जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 50 हजार रुपये तक बकाया हो, उनमें मात्र अधिभार में 100 प्रतिशत तक की छूट मिलेगी। जल-कर के ऐसे प्रकरण, जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 10 हजार रुपये तक बकाया होगी, उनमें अधिभार में 100 प्रतिशत तक की छूट मिलेगी। सम्पत्ति-कर के ऐसे प्रकरण, जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 50 हजार से अधिक तथा एक लाख के बीच बकाया है, उनमें अधिभार में 50 प्रतिशत तक की छूट मिलेगी। जल-कर के ऐसे प्रकरण, जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 10 हजार से 50 हजार तक है, उनमें अधिभार में 75 प्रतिशत की छूट दी जायेगी। सम्पत्ति-कर के ऐसे प्रकरण, जिनमें कर तथा अधिभार की राशि एक लाख से अधिक बकाया है, उनमें अधिभार में 25 प्रतिशत तक की छूट मिलेगी। जल-कर के ऐसे प्रकरण, जिनमें कर तथा अधिभार की राशि 50 हजार से अधिक बकाया है, उनमें अधिभार में 50 प्रतिशत की छूट दी जायेगी।
यह छूट मात्र एक बार ही दी जायेगी। आगामी 8 फरवरी को आयोजित हो रही लोक अदालत के लिये यह छूट वर्ष 2018-19 तक की बकाया राशि पर ही दी जायेगी। छूट के बाद राशि अधिकतम 2 किश्तों में जमा करनी होगी, जिसमें कम से कम 50 प्रतिशत राशि लोक अदालत के दिन ही जमा कराना अनिवार्य होगा। इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही के निर्देश सभी नगर निगम आयुक्त और मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को दिये गये हैं।

आदिवासी क्षेत्रों में 50 सामुदायिक भवनों के लिये 34 करोड़ स्वीकृत
4 February 2020
भोपाल.राज्य शासन ने प्रदेश की विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा, भारिया और सहरिया बहुल्य क्षेत्रों में 50 सामुदायिक भवनों के निर्माण के लिये 34 करोड़ 50 लाख रुपये की राशि स्वीकृत की है। इनमें से संभागीय स्तर पर बनने वाले 3 सामुदायिक भवन के लिये 6 करोड़ रुपये, 10 जिला-स्तरीय सामुदायिक भवन निर्माण के लिये 10 करोड़ रुपये और 37 विकासखण्ड-स्तरीय सामुदायिक भवन निर्माण के लिये 18 करोड़ 50 लाख रुपये स्वीकृत किये गये हैं।
प्रदेश में निवास करने वाली आदिवासियों की संस्कृति और उनके देव-स्थलों के संरक्षण के लिये आस्ठान योजना शुरू की गई है। योजना के जरिये आदिवासी समुदाय के कुल-देवता और ग्राम देवी-देवताओं के स्थानों में निर्मित देवगुढ़ी, मढ़िया, देवठान पर आने वाले श्रद्धालुओं के विश्राम के लिये सामुदायिक भवनों का निर्माण कराया जा रहा है। इन सामुदायिक भवनों में पेयजल सहित सभी आवश्यक सुविधाएँ होंगी।
जबलपुर, ग्वालियर और शहडोल संभागीय मुख्यालय पर 2-2 करोड़ रुपये के मान से राशि मंजूर की गई है। जिला-स्तरीय सामुदायिक भवन निर्माण के लिये 1-1 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है। ये सामुदायिक भवन मंडला जिले के मोहगांव विकासखण्ड के ग्राम चौगान, डिंडोरी जिले के डिंडोरी, अनूपपुर जिले के पुष्पराजगढ़ विकासखण्ड के अमरकंटक, गुना जिले के राघौगढ़ विकासखण्ड के ग्राम लक्ष्मणपुरा, उमरिया जिले के पाली, छिंदवाड़ा जिले के तामिया विकासखण्ड में अनहोनी मेला, मुरैना जिले के पहाडगढ़, शिवपुरी जिले के पोहरी, अशोकनगर जिले के चंदेरी विकासखण्ड के ग्राम नानकपुर और बालाघाट में बनाये जाएंगे।
आदिम जाति कल्याण विभाग ने दतिया जिले के भांडेर विकासखण्ड के मरईमाता ग्राम नोबई, अशोकनगर जिले के अशोकनगर, गुना जिले के विकासखण्ड बम्होरी के ग्राम अकोदा, ग्वालियर जिले के घाटीगाँव और डबरा विकासखण्ड के ग्राम कोसा, मुरैना जिले के जौरा, श्योपुर जिले के विजयपुर और श्योपुर, उमरिया जिले के करकेली, अनूपपुर जिले के पुष्पराजगढ़ विकासखण्ड के ग्राम खजरवार, मण्डला जिले के मण्डला, निवास, नारायणगंज विकासखण्ड के माडोगढ़, नैनपुर, बीजाडाण्डी विकासखण्ड के ग्राम खमेरखेड़ा, मवई, घुघरी, बिछिया विकासखण्ड के नेवसा, डिण्डोरी के शाहपुरा, अमरपुर, मेहदवानी विकासखण्ड के ग्राम भलवारा, बालाघाट जिले के बैहर विकासखण्ड के आमगाँव, डिण्डोरी जिले के ग्राम कुडा, बजांग विकासखण्ड के करवेमट्ठा ग्राम शोभापुर, समनापुर विकासखण्ड के राम्हेपुर (मढ़िया), करंजिया विकासखण्ड के ग्राम बरनई, गुना जिले के ग्राम सिंगाड़ी, ग्वालियर जिले के मुरार विकासखण्ड के ग्राम गुर्री, मुरैना जिले के सबलगढ़, शिवपुरी जिले के खनियाधाना, मुरैना जिले के कैलारस, शहडोल जिले के गोहपारू, सोहागपुर, उमरिया जिले के मानपुर, भिण्ड जिले के गोहद, बालाघाट जिले के बिरसा और शिवपुरी जिले के कोलारस में विकासखण्ड स्तरीय सामुदायिक भवन निर्माण के लिए 50-50 लाख रुपये मंजूर किये गये हैंफ निर्माण एजेंसी को निर्माण कार्य गुणवत्ता के साथ नियत समय में पूरा किये जाने के निर्देश दिये गये हैं।

नर्मदा परिक्रमा पथ के लिये मिलेंगे एक करोड़ 40 लाख
3 February 2020
भोपाल.अमरकंटक में नर्मदा परिक्रमा पथ के निर्माण के लिये एक करोड़ 40 लाख रूपये दिए जाएंगे। इसके साथ ही नर्मदा उद्गम क्षेत्र की स्वच्छता, सुंदरता एवं आधारभूत संरचनाओं के विकास के लिये भी सहयोग दिया जाएगा। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने अनुपपुर जिले मे आयोजित अमरकंटक नर्मदा महोत्सव के समापन कार्यक्रम में यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि अमरकंटक टूरिज्म एवं कन्वेंशन सेन्टर के लिये भी आवश्यक राशि उपलब्ध कराई जाएगी।
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि अमरकंटक नर्मदा महोत्सव हर वर्ष मनाया जाएगा। उन्होंने प्रसिद्ध गायक पद्मश्री कैलाश खेर को महोत्सव का ब्रांड एम्बेसडर बनाने की बात कही। समारोह में श्री खेर ने संगीतमय प्रस्तुति दी।
श्री सिंह ने रामघाट में माँ नर्मदा की आरती कर प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना की। उन्होंने आचार्य महामण्डलेश्वर ब्रह्मर्षि रामकृष्णानंद महाराज से भेंट कर अमरकंटक क्षेत्र से संबंधित समस्याओं एवं सुझावों पर चर्चा की। इस दौरान जनजाति कार्य विभाग, विमुक्त घुम्मकड़ एवं अर्धघुम्मकड़ जनजाति विकास मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम, विधायक श्री फुन्देलाल सिंह मार्को और श्री सुनील सर्राफ सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

खजुराहो में भव्य नृत्य समारोह 20 से 26 फरवरी तक
3 February 2020
भोपाल.राज्य शासन द्वारा विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो में इस वर्ष 20 से 26 फरवरी तक भव्य नृत्य समारोह आयोजित किया जाएगा। भारतीय शास्त्रीय नृत्य शैलियों पर केन्द्रित इस शीर्षस्थ समारोह में प्रतिदिन शाम 7 बजे से भारतीय शास्त्रीय नृत्य शैलियों के श्रेष्ठ कलासाधक अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे।
समारोह में खजुराहो के पश्चिम मंदिर समूह के पास स्थित परिसर में 20 फरवरी को उमा शर्मा दिल्ली कथक, जतिन गोस्वामी गोलाघाट और असम सत्रिया मीरा दास एवं साथी भुबनेश्वर ओडिसी नृत्य प्रस्तुत करेंगे। दूसरे दिन 21 फरवरी को पूजिता कृष्णन हैदराबाद विलासिनी, कृष्ण मोहन मिश्रा नई दिल्ली कथक, लता सिंह मुंशी एवं साथी भोपाल भरतनाट्यम की प्रस्तुति देंगे। तीसरे दिन 22 फरवरी को शोबना चन्द्रकुमार पिल्लई चेन्नई भरतनाट्यम, सुपर्वा मिश्रा अहमदाबाद ओडिसी, आनन्दा शंकर जयंत एवं साथी हैदराबाद भरतनाट्यम का प्रदर्शन करेंगे। चौथे दिन 23 फरवरी को वाय आशा कुमारी नई दिल्ली ओडिसी, क्षितिजा बर्वे गोवा भरतनाट्यम, रागिनी मक्खर एवं साथी इन्दौर कथक प्रस्तुत करेंगी। पाँचवे दिन 24 फरवरी को एन. श्रीकान्त एवं अश्वथी श्रीकान्त कोजीकोट केरल भरतनाट्यम, नायर सिस्टर्स बैंगलोर मोहिनीअट्टम, नर्तकी नटराज चेन्नई भरतनाट्यम प्रस्तुत करेंगी।
खजुराहो नृत्य समारोह में छठवें दिन 25 फरवरी को भद्रा सिन्हा और गायत्री वर्मा नई दिल्ली भरतनाट्यम, ऋचा जोशी-दीपक गंगानी नई दिल्ली कथक और मोहिका सक्सेना भोपाल भरतनाट्यम की प्रस्तुति देंगे। समारोह में अंतिम दिन 26 फरवरी को श्रीविद्या हैदराबाद कुचिपुड़ी, इनाक्षी सिन्हा-पवित्र भट्ट मुम्बई ओडिसी+भरतनाट्यम, वासु सिनम एवं साथी इम्फाल मणिपुरी, अमिता खरे एवं साथी भोपाल कथक की प्रस्तुति करेंगे।

समाचार-पत्रों की प्रसार संख्या के सत्यापन और पुनरीक्षण पर पत्रकार संगठनों से हुई चर्चा
3 February 2020
भोपाल.जनसम्पर्क संचालनालय द्वारा नियमित विज्ञापन सूची के समाचार-पत्रों की प्रसार संख्या के सत्यापन और वार्षिक पुनरीक्षण के संबंध में आज संचालक जनसम्पर्क श्री ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने पत्रकार संगठनों के प्रतिनिधियों से चर्चा की। श्री ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने पत्रकार संगठनों को आश्वस्त किया कि जिलों से समाचार-पत्रों की प्रसार संख्या के सत्यापन की जानकारी प्राप्त होने पर विज्ञापन की प्रक्रिया सतत् जारी रहेगी। जिलों से शीघ्र जानकारी भेजने के लिये कहा गया है।
संचालक जनसम्पर्क श्री श्रीवास्तव ने बताया कि प्रसार संख्या सत्यापन की कार्यवाही शासन की विज्ञापन नीति एवं नियमों के अनुसार ही है। जिलों में जो समिति गठित की गई है, वह समाचार पत्रों की प्रसार संख्या के सत्यापन के लिये है। श्री श्रीवास्तव ने बताया कि दैनिक समाचार-पत्रों के जिन प्रकाशकों/सम्पादकों ने अभी तक वार्षिक पुनरीक्षण संबंधी प्रपत्र की पूर्ति नहीं की है, वे जिला जनसम्पर्क कार्यालय के अलावा जनसम्पर्क संचालनालय भोपाल के संबंधित प्रकोष्ठ में भी कार्यालयीन समय में सीधे जमा करा सकते हैं।
इस अवसर पर पत्रकार संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी अपने सुझाव दिये।

युवाओं और बच्चों को वेटलैण्ड्स संरक्षण के लिये जागरूक करना जरूरी
2 February 2020
भोपाल.विश्व वेटलैण्ड्स दिवस पर रविवार को सुबह राज्य वेटलैण्ड्स प्राधिकरण द्वारा स्कूल-कॉलेज के छात्र-छात्राओं में वेटलैण्ड संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के लिये "रन फॉर वेटलैण्ड्स एण्ड बॉयोडायवर्सिटी'' का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि कार्यपालन संचालक एप्को एवं प्राधिकरण के सदस्य सचिव श्री जितेन्द्र सिंह राजे ने फ्लैग ऑफ कर रन को रवाना किया। श्री राजे स्वयं भी इस दौड़ में सम्मिलित हुए।
प्राधिकरण के सदस्य सचिव श्री राजे ने कहा कि बच्चों और युवाओं को वेटलैण्ड्स के बारे में जागरूक बनाना समय की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वेटलैण्ड्स पेड़-पौधों तथा जीव-जंतुओं की विभिन्न प्रजातियों के निवास स्थल हैं। श्री राजे ने कहा कि जल के संरक्षण के साथ-साथ उनके पारिस्थितिक तंत्र को भी संरक्षण देना वेटलैण्ड्स के संरक्षण एवं प्रबंधन का उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि पृथ्वी पर मानव जीवन के बचे रहने के लिये प्रत्येक पारिस्थितिक तंत्र का बना रहना जरूरी है। श्री राजे ने आशा व्यक्त की कि रन के आयोजन से बच्चों, किशोरों और नव-युवाओं में वेटलैण्ड्स के प्रति जागरूकता आयेगी।
कार्यक्रम में स्कूल-कॉलेज के विद्यार्थियों की ड्राइंग-पेंटिंग प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। आर.जे. द्वारा बच्चों और आम नागरिकों के लिये क्विज प्रोग्राम किया गया। उत्साह से लबरेज बच्चों और युवाओं ने प्रत्येक गतिविधि में सक्रिय भागीदारी की। विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।
कार्यक्रम में अपर आयुक्त नगर निगम, श्री मेहताब सिंह, श्री कमल सिंह सोलंकी,श्री पवन कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन श्री अनुज पाठक ने किया।

वन स्टाप सेन्टर्स के लिए 561 नये पद स्वीकृत
1 February 2020
भोपाल.राज्य शासन द्वारा महिला-बाल विकास विभाग के अन्तर्गत वन स्टॉप सेन्टर्स के लिए आउटसोर्स से 561 नये पद स्वीकृत किये गये हैं। प्रति सेन्टर तीन केस वर्कर (महिला), एक परामर्शदाता (महिला), एक आई.टी. वर्कर (महिला/पुरुष), तीन बहुउद्देश्यीय सहायक (2 महिला-पुरूष) के मान से पद स्वीकृत किए गए हैं। इन पदों पर निर्धारित दर /कलेक्टर दर पर राज्य/ जिला स्तर पर निविदा द्वारा चयनित एजेंसी के माध्यम से नियुक्ति की जाएगी।
वन स्टाप सेन्टर में केस वर्कर के कुल 153 पद स्वीकृत किए गए हैं। इसके लिए महिला की अधिकतम आयु सीमा 45 वर्ष और मास्टर इन सोशल वर्क की उपाधि तथा महिलाओं से संबंधित कार्य में न्यूनतम एक वर्ष का अनुभव जरूरी है।
परामर्शदाता (महिला) के 51 पद के लिए आवेदक की अधिकतम आयु सीमा 50 वर्ष निर्धारित की गई है। मनोविज्ञान, क्लीनिकल साइकोलॉजी में स्नातकोत्तर डिग्री, परामर्शदाता/साइकोथेरेपिस्ट के रूप में मेन्टल हेल्थ इंस्टीट्यूट, राज्य एवं जिला स्तरीय क्लीनिक में कार्य करने का न्यूनतम 3 वर्ष का अनुभव अनिवार्य होगा। कम्प्यूटर/आईटी में डिप्लोमा प्राप्त 35 वर्ष आयु के महिला अथवा पुरूष स्नातक को वन स्टॉप सेन्टर में आईटी वर्कर के रूप में नियुक्त किया जायेगा। प्रदेश में आईटी वर्कर के पद स्वीकृत किए गए हैं।
प्रदेश के सभी जिलों के वन स्टॉप सेन्टर के लिए 35 वर्ष आयु सीमा के 2 महिला एवं 1 पुरूष प्रति सेन्टर के मान से 153 बहुउद्देश्यीय सहायक के पद स्वीकृत किए गए हैं। इस पद के लिए हेल्पर अथवा भृत्य के रूप में कार्य करने का एक वर्ष का अनुभव अनिवार्य होगा। इसी प्रकार, सुरक्षा कर्मी (पुरूष) के 153 पद के लिए सुरक्षा कर्मी के रूप में एक वर्ष कार्य का अनुभव तथा आयु सीमा 35 वर्ष निर्धारित की गई है।

आईफा फिल्म अवार्ड 2020 के लिए समिति गठित
1 February 2020
भोपाल.राज्य शासन ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आईफा फिल्म अवार्ड 2020 के लिए समिति का गठन किया है। समिति में अपर मुख्य सचिव जल संसाधन एवं नर्मदा घाटी विकास, अपर मुख्य सचिव वित्त, अपर मुख्य सचिव गृह, प्रमुख सचिव जनसम्पर्क और सचिव वाणिज्यिक कर को सदस्य एवं सचिव पर्यटन को सदस्य सचिव मनोनीत किया गया है। इसके साथ ही आईफा फिल्म अवार्ड के कार्य सम्पादन के लिये पर्यटन विभाग को नोडल विभाग बनाय गया है।


विश्व वेटलैंड्स दिवस पर जन-जागरूकता कार्यक्रम
1 February 2020
भोपाल.विश्व वेटलैंड्स (नमभूमि) दिवस 2 फरवरी को राज्य वेटलैंड प्राधिकरण, एप्को तथा नगर निगम के संयुक्त तत्वावधान में 'वेटलैंड्स एवं जैव विविधता' जन-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रमुख सचिव लोक निर्माण एवं पर्यावरण श्री मलय श्रीवास्तव होंगे। कार्यक्रम में कार्यपालक संचालक एप्को श्री जितेन्द्र सिंह राजे, कलेक्टर श्री तरूण पिथौड़े और आयुक्त नगर निगम श्री व्ही. दत्ता भाग लेंगे।
डब्ल्यू.डब्ल्यू.एफ.-इंडिया के सहयोग से आयोजित किया जा रहा यह कार्यक्रम प्रात: 8 बजे आरंभ होगा। कार्यपालक संचालक एप्को, सदस्य वेटलैंड प्राधिकरण द्वारा स्वागत उद्बोधन के बाद मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों के उद्बोधन होंगे। प्रात: 8:30 बजे मुख्य अतिथि 'रन फॉर वेटलैंड्स एण्ड बायो-डाइवर्सिटी' को फ्लैग ऑफ करेंगे। यह दौड़ बोट क्लब से मुख्यमंत्री निवास टर्न तथा वहां से वापस होगी। प्रात: 8:30 से 9:30 बजे तक समानान्तर रूप से ड्राइंग-पेंटिंग प्रतियोगिता और पर्यावरणीय खेल होंगे। आम नागरिकों और प्रतिभागियों के लिए क्विज कार्यक्रम भी होगा।
इस मौके पर प्रात: 10 से 11 बजे तक 'वेटलैंड्स एवं जैव-विविधता: विशेषज्ञ के साथ परिचर्चा' आयोजित होगी। इसके बाद ईको क्लब सदस्य और अन्य विद्यार्थियों के लिये क्विज प्रतियोगिता होगी। पुरस्कार वितरण के साथ कार्यक्रम का समापन होगा।

राम पथ वन गमन निर्माण में तेजी लाने के लिए गठित होगा ट्रस्ट : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
30 January 2020
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने राम पथ वन गमन निर्माण की समीक्षा बैठक में ट्रस्ट बनाने और पथ निर्माण का दायित्व सड़क विकास निगम को सौंपने के निर्देश दिए हैं। श्री कमल नाथ ने कहा कि प्रथम चरण में 30 किलोमीटर अमरकंटक और 30 किलोमीटर चित्रकूट क्षेत्र से पथ का सर्वे कर निर्माण कार्य प्रारंभ किया जाए। बैठक में जनसम्पर्क एवं अध्यात्म मंत्री श्री पी.सी. शर्मा एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सुरेश पचौरी भी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि राम पथ वन गमन निर्माण कार्य में गति लाई जाए। पथ निर्माण क्षेत्र का सर्वे कार्य तत्काल पूरा करें। पथ के दोनों ओर पौधारोपण सहित जो भी सुविधाएँ और सौंदर्यीकरण के कार्य हैं, उसकी भी योजना समय-सीमा में बनाई जाए। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा कि पथ निर्माण कार्य की सभी औपचारिकताएँ त्वरित गति से पूरी हों। धनराशि की उपलब्धता के संबंध में कहा कि पथ निर्माण के लिए इस वर्ष बजट में 22 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। अगले वर्ष भी राशि का पर्याप्त प्रावधान किया जाएगा।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि राम पथ वन गमन निर्माण में तेजी लाने के लिए शीघ्र ही ट्रस्ट गठित किया जाए। ट्रस्ट में साधु-संतों के साथ जन-प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाए। इसके निर्माण के लिए भगवान राम के प्रति आस्था रखने वालों से आर्थिक सहयोग भी प्राप्त किया जाए। पथ का निर्माण ट्रस्ट की निगरानी में हो। मुख्यमंत्री ने ट्रस्ट का प्रारुप शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।
सड़क विकास निगम को दायित्व
मुख्यमंत्री ने पथ निर्माण से जुड़े सर्वे आदि का दायित्व सड़क विकास निगम को देने के निर्देश दिए हैं। निगम अध्यात्म विभाग के मार्गदर्शन में कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि सर्वे के दौरान शासकीय, वन एवं निजी भूमि चिन्हित कर उसके अधिग्रहण सहित अन्य औपचारिकताएं शीघ्र पूरी की जाएं। मुख्यमंत्री ने पथ निर्माण की चौड़ाई कम से कम 8 फिट रखने को कहा। उन्होंने पथ के गुणवत्तापूर्वक और त्वरित गति से निर्माण कार्य के लिए अत्याधुनिक तकनीक अपनाने के निर्देश भी दिए। बैठक में यह भी तय किया गया कि चित्रकूट स्थित मंदिरों को मध्यप्रदेश विनिर्दिष्ट मंदिर अधिनियम के अंतर्गत लाया जाएगा।
सीता माता मंदिर निर्माण के लिए उच्च स्तरीय अधिकारियों का दल श्रीलंका जाएगा
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज श्रीलंका में सीता माता के मंदिर तथा साँची में अंतर्राष्ट्रीय के स्तर बौद्ध दर्शन केन्द्र विकसित करने की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि अधिकारियों का उच्चस्तरीय दल श्रीलंका सरकार से चर्चा कर सीता मंदिर निर्माण कार्य को अंतिम रूप दे। मुख्यमंत्री ने मंत्रालय में हुई बैठक में कहा कि अधिकारियों का दल बौद्ध दर्शन के विश्व प्रसिद्ध स्थल बोधगया भी जाए और वहाँ के अनुभवों के आधार पर शीघ्र एक प्रोजेक्ट प्रस्तुत करें। यह दोनों कार्य समय-सीमा में प्रारंभ करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारियों का दल श्रीलंका जाकर वहाँ की सरकार से सीता मंदिर निर्माण संबंधी प्रक्रिया के बारे में चर्चा करे। यह दल सभी मुद्दों पर चर्चा कर मंदिर निर्माण संबंधी कार्य योजना बनाए। इसमें मध्यप्रदेश और श्रीलंका की भूमिका का भी स्पष्ट उल्लेख हो।
मुख्यमंत्री ने कहा कि साँची में भी जो कार्य किए जाने है, उसकी प्रोजेक्ट रिपोर्ट 10 दिन में तैयार करें और 30 दिन में क्या काम किए जाने हैं, इसे अंतिम रूप दिया जाए। उन्होंने साँची बौद्ध अध्ययन केन्द्र, प्रशिक्षण केन्द्र सहित अन्य कार्यों के संबंध में जापान तथा श्रीलंका सहित अन्य बौद्ध धर्म के प्रति आस्था रखने वाले देशों के प्रतिनिधियों से भी चर्चा करने को कहा। मुख्यमंत्री ने चर्चाओं के आधार पर योजना बनाने के निर्देश दिए।
बैठक में मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती, अपर मुख्य सचिव अध्यात्म श्री मनोज श्रीवास्तव, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अनुराग जैन एवं संबंधित वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

प्रदेश के 14 जिलों में खोले जाएंगे मेगा स्किल सेंटर : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
30 January 2020
भोपाल.युवाओं में कौशल विकास के लिए प्रदेश के 14 जिले में मेगा स्किल सेंटर स्थापित होंगे। ये सेंटर प्रदेश के आदिवासी ब्लाकों में भी खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने मार्च 2020 तक सभी सेंटर शुरू करने के निर्देश दिए हैं। श्री कमल नाथ मंत्रालय में भोपाल में स्थापित होने वाले ग्लोबल स्किल पार्क के निर्माण की प्रगति एवं एशियन डेवलपमेंट बैंक की सहायता से क्रियान्वित स्किल डेवलपमेंट प्रोजेक्ट की समीक्षा कर रहे थे।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि युवाओं में कौशल विकास हो, यह आज की सबसे बड़ी जरूरत है। इससे हम बेरोजगारी की चुनौती का सामना कर सकेंगे। श्री कमल नाथ ने कहा कि अधिक से अधिक कौशल विकास केंद्र खोले जाएं और उसमें ऐसे ट्रेड का प्रशिक्षण दिया जाए, जिनमें रोजगार की व्यापक संभावनाएँ हैं।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने भोपाल में स्थापित होने वाले ग्लोबल स्किल पार्क का निर्माण मार्च 2020 तक शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके पूर्व निर्माण संबंधी सभी प्रक्रियाएँ पूरी कर ली जाएं। मुख्यमंत्री ने दस संभागीय आई.टी.आई. के निर्माण कार्य में भी गति लाने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री ने आई.टी.आई. गोविन्दपुरा के परिसर में संचालित ग्लोबल स्किल पार्क-सिटी केम्पस में प्रशिक्षणरत प्रशिक्षणार्थियों को उद्योगों में प्लेसमेंट तथा नियोजित प्रशिक्षणार्थियों की ट्रेकिंग सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक फ्रेमवर्क तैयार करने को कहा।
बैठक में बताया गया कि खरगौन, इंदौर, गुना, ग्वालियर, सिंगरौली, रीवा, दमोह, सागर, राजगढ़, भोपाल, सिवनी, जबलपुर, शाजापुर एवं उज्जैन में मेगा स्किल सेंटर खोले जाएंगे।
बैठक में मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहन्ती, प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास श्री प्रमोद अग्रवाल एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

सर्व ब्राह्मण सामूहिक विवाह सम्मेलन में शामिल हुए मंत्री श्री शर्मा
30 January 2020
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा बसंत पंचमी पर गुफा मंदिर प्रांगण में आयोजित सर्व ब्राह्मण सामूहिक विवाह सम्मेलन में सम्मिलित हुए। श्री शर्मा ने नव-दम्पतियों को गृहस्थ जीवन की शुभकामनाएँ दीं और उपहार भेंट किये।
पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सुरेश पचौरी, पूर्व सभापति नगर निगम श्री कैलाश मिश्रा, पूर्व विधायक श्री रमेश शर्मा और समाज के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
मंत्री श्री शर्मा शिव शक्ति हनुमान मंदिर कोटरा में साईं बाबा पालकी शोभायात्रा में भी शामिल हुए। उन्होंने मंदिर में साईं बाबा की पूजा-अर्चना की।

मॉडल हायर सेकेण्डरी स्कूल के खेल मैदान में बनेगा स्टेडियम
30 January 2020
भोपाल.शासकीय मॉडल हायर सेकेण्डरी स्कूल, तात्या टोपे नगर के खेल मैदान में एक करोड़ की लागत से स्टेडियम का निर्माण कराया जायेगा। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने स्कूल के वार्षिकोत्सव समारोह 2019-20 में यह बात कही। श्री सिंह ने स्कूल की प्रयोगशाला और स्मार्ट क्लास-रूम भी देखा।
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि 11वीं कक्षा के विद्यार्थी अगले 10 वर्ष की प्लानिंग अभी से करें। अभी से यह तय करें कि 10 साल बाद वह अपने आपको कहाँ देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि ध्यान रखें कि शिक्षक की डांट हमेशा विद्यार्थियों के भले के लिये ही होती है।
प्रायवेट स्कूल से अधिक एडवांस प्रयोगशाला
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि मॉडल स्कूल की प्रयोगशाला और स्मार्ट क्लास रूम किसी भी प्रायवेट स्कूल से अधिक एडवांस हैं। उन्होंने कहा कि जीवन में वही सफल होता है, जो हर परिस्थिति का सामना सकारात्मक रूप से करता है।
बचपन याद आया
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि विद्यार्थियों को देखकर मुझे मेरा बचपन याद आ गया। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के साथ ही माता-पिता, दादा-दादी और नाना-नानी की सीख को भी कभी नहीं भूलें। श्री सिंह ने कहा कि जीवन में अनुशासन का पालन जरूर करें। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन का टाइम टेबल बनायें और उसका पालन करें। शिक्षा हमेशा आपके साथ रहती है। श्री सिंह ने शिक्षकों और उल्लखेनीय उपलब्धि हासिल करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया।
प्राचार्य श्रीमती रेखा शर्मा और उप प्राचार्य श्री आर.के. श्रीवास्तव ने भी संबोधित किया। छात्र संघ अध्यक्ष श्री गगन परमार और उपाध्यक्ष कु. कौशिकी गांगुली ने स्कूल के अनुभव साझा किये। विद्यार्थियों द्वारा रोचक सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई।

अध्यात्म मंत्री श्री शर्मा द्वारा कैलाशी मन्दिर प्रियदर्शनी नगर का लोकार्पण
29 January 2020
भोपाल.जनसम्पर्क एवं अध्यात्म मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज कैलाशी मन्दिर प्रियदर्शनी नगर का लोकार्पण कियाl
लोकार्पण अवसर पर वार्ड 46 के पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह गुड्डू चौहान, श्री अमित शर्मा, श्री प्रवीण सक्सेना और स्थानीय नागरिक मौजूद थेl


शासकीय खरीदी में एम.एस.एम.ई. इकाईयों को प्राथमिकता दी जाएगी
29 January 2020
भोपाल.सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री आरिफ अकील ने 'जी.ई.एम. संवाद' कार्यक्रम के शुभारंभ सत्र में कहा कि शासकीय खरीदी में एमएसएमई इकाइयों को प्राथमिकता दी जायेगी, जिससे उनके व्यवसाय एवं रोजगार दोनों में बढ़ोत्तरी हो। उन्होंने बताया कि कि जी.ई.एम. पोर्टल पर मध्यप्रदेश की 3,736 एमएसएमई इकाइयों से 864 करोड़ रुपये का व्यवसाय किया गया है। देश में सबसे ज्यादा रोजगार एमएसएमई इकाइयाँ उपलब्ध करवा रही हैं।
मंत्री श्री आरिफ अकील ने कहा कि इस पोर्टल पर एमएसएमई की इकाइयों से खरीदारी के चयन का प्रावधान है और उन्हें ईएमडी में छूट भी दी जाती है। जीईएम पोर्टल पर एमएसएमई इकाइयों को प्राप्त सुविधा से वे देशभर में अपने उत्पाद को शासकीय खरीदी के लिये उपलब्ध करवा सकते हैं।
मंत्री श्री अकील ने कार्यक्रम के दौरान जेम से सबसे अधिक खरीदी करने पर प्रोत्साहन स्वरूप अर्बन डेव्हलपमेंट डिपार्टमेंट के अधिकारी को सम्मानित किया। इस मौके पर बताया गया कि जिला अथवा तहसील स्तर पर भी कोई भी शासकीय विभाग जीईएम पोर्टल के माध्यम से पूरे देश में निर्मित उत्पादों के स्पेसिफिकेशन एवं दरें जानकर अपनी आवश्यकतानुसार सामग्री एवं सेवाएँ सरलता से प्राप्त कर सकता है। सरकारी विभागों को जीईएम पोर्टल के माध्यम से खरीदी में सरलता, सही समय और सही दरों पर वांछित सामग्री अथवा सेवा उपलब्ध कराई जाती है। सरकारी उपभोक्ताओं की सुविधा के लिये पोर्टल पर सीधी खरीद के साथ ई-निविदा, रिवर्स ई-नीलामी और ऑनलाइन खरीदी की सुविधा उपलब्ध है।
पोर्टल का लक्ष्य सरकार की सार्वजनिक खरीददारी में पारदर्शिता और दक्षता लाना तथा गति को बढ़ाना है। एमओयू के तहत राज्य के शासकीय विभागों द्वारा गवर्मेंट-ई-मार्केटप्लेस नई दिल्ली के माध्यम से खरीदी की जा रही है। केन्द्र शासन द्वारा शासकीय खरीदी के लिये डी.जी.एस. एण्ड डी. को समाप्त कर गवर्मेंट-ई-मार्केटप्लेस पोर्टल शुरू किया गया है।
गवर्मेंट-ई-मार्केटप्लेस एवं सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग द्वारा प्रदेश के बायर्स एवं सेलर्स के लिये 'जीईएम-संवाद'' कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रमुख सचिव श्री मनु श्रीवास्तव, जीईएम नई दिल्ली के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री प्रकाश मिरानी, उप-मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री वाय.के. पाठक, लघु उद्योग निगम के प्रबंध संचालक श्री पंकज जैन कार्यक्रम में शामिल हुए।
कार्यक्रम के प्रथम सत्र में प्रदेश के शासकीय एवं केन्द्र शासन के आमंत्रित वरिष्ठ क्रेता अधिकारियों से जीईएम पोर्टल संबंधी सुझावों की जानकारी ली गई और समस्याओं के निराकरण के लिये मार्गदर्शन दिया गया। द्वितीय सत्र में प्रदेश के प्रमुख आमंत्रित विक्रेता/निर्माता/सेवा-प्रदाताओं से जीईएम पोर्टल संबंधित सुझावों की जानकारी लेकर उनकी समस्याओं के निराकरण के लिये मार्गदर्शन दिया गया।

"गाँधी तुम्हे नमन कार्यक्रम में शामिल होंगे मंत्रीगण
29 January 2020
भोपाल.राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की पुण्य-तिथि 30 जनवरी को उच्च शिक्षा विभाग द्वारा संत हिरदाराम कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय, भोपाल में सुबह 11 बजे 'गाँधी तुम्हे नमन'' कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम में जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा, उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी, ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह और शहीद हेमू कालानी एजुकेशनल सोसायटी के अध्यक्ष श्री सिद्धभाऊ शामिल होंगे।
इस अवसर पर महाविद्यालयों में स्थापित 'गाँधी स्तम्भ' एवं विश्वविद्यालयों में स्थापित 'गाँधी चेयर' का प्रतीकात्मक संयुक्त लोकार्पण किया जायेगा। साथ ही, मध्यप्रदेश हिन्दी ग्रंथ अकादमी द्वारा गाँधीजी पर केन्द्रित कृतियों का विमोचन भी किया जायेगा।

संजय सागर बाँध की सिल्टिंग हटाने की कार्य-योजना बनाने के निर्देश
27 January 2020
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने गुना में संजय सागर डेम की जल-भराव क्षमता को कायम रखने और किसानों को सिंचाई के लिए भरपूर पानी दिलाने के लिये डेम में जमा गाद (सिल्टिंग) को हटाने के लिए कार्य-योजना बनाने के निर्देश दिये हैं। श्री सिंह संजय सागर डेम पर किसानों और ग्रामीणों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने आदिवासी बाहुल्य पंचायतों के 20 ग्रामों के किसानों को उन्नत बीज प्रदाय करने और उनकी कृषि से आय बढ़ाने के लिये पायलेट प्रोजेक्ट बनाने को कहा।
मंत्री श्री सिंह ने ग्रामीणों से चर्चा में बताया कि बरैयाखेड़ा मार्ग पर पुल बनेगा। उन्होंने बरैयाखेड़ा ग्राम तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क का विस्तार करने, क्षेत्र में गौशाला निर्माण के लिए भूमि तलाशने तथा क्षेत्र के विद्युत बिलों और विद्युत प्रदाय संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए संजय सागर डेम स्थल पर शिविर लगाने के निर्देश दिए।
श्री सिंह ने पनवारी के श्री अय्यूब खान के खेरखेड़ा स्थित आलू के खेत का निरीक्षण किया। अय्यूब खान एक निजी कंपनी को आलू के चिप्स के लिए उनकी मांग पर विशेष प्रजाति के आलू की खेती कर रहे हैं। उन्होंने चिप्स के लिये आलू की प्रजाति, लागत और उत्पादन की जानकारी ली तथा किसानों को लाभांवित करने की संभावनाएं जानी।
मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने ग्राम महादेवपुरा पहुंचकर मंदिर परिसर में ग्रामीणों से चर्चा की, उनकी समस्याएं जानी तथा कृषि योजनाओं से लाभांवित हितग्राहियों से चर्चा की। यहां उन्होंने श्रृद्धालुओं और ग्रामीणजनों की सुविधा के लिये एक करोड़ की लागत से सामुदायिक भवन बनाए जाने कि घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि ग्राम झरपई में विद्युत उपकेन्द्र स्थापित होगा, जिससे क्षेत्र में विद्युत समस्याओं का निदान होगा।

आरा मिलों के लिये आवंटित भूमि की बाउण्ड्री-वॉल जल्द बनायें
27 January 2020
भोपाल.सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री आरिफ अकील ने आरा मिलों के लिये चयनित चांदपुर की भूमि पर जल्द बाउण्ड्री-वॉल बनाने के निर्देश दिये हैं। श्री अकील ने आज चांदपुर में मुआयना किया और संबंधित अधिकारियों की बैठक ली। श्री अकील ने रहवासियों को विस्थापित करने और अतिक्रमणकारियों को हटाने के निर्देश दिये।
मंत्री श्री आरिफ अकील ने चांदपुर में रहवासियों से चर्चा की और पानी के इंतजाम के लिये पीएचई के अधिकारियों को बोर कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहाकि चांदपुर में स्थानीय लोगों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने चांदपुर भूमि का नक्शा भी देखा। आरा मिल्स के अध्यक्ष ने आरा मिलों की सूची उपलब्ध करवाई।
उल्लेखनीय है कि आरा मिल्स के क्लस्टर के लिये ग्राम चांदपुर में 30 एकड़ भूमि पर भारत सरकार की एमएसएमई सीडीपी योजनांतर्गत औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने के लिये लघु उद्योग निगम को क्रियान्वयन एजेंसी नियुक्त कर परियोजना तैयार कर भारत सरकार को भेजी गई है। प्रस्ताव भारत सरकार स्तर पर अनुमोदन के लिये विचाराधीन है। शहर में कार्यरत सभी आरा मशीनों एवं टिम्बर व्यापारियों का विस्थापन किया जाना है। साथ ही, नये औद्योगिक क्षेत्र में भूखण्ड विकसित किये जायेंगे। भोपाल टिम्बर मर्चेंट एण्ड सॉ मिल्स ऑनर एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री बदर आलम ने 86 आरा मशीन संचालक और 32 चिरान व्यापारियों की सूची भी प्रस्तुत की है।
श्री अकील के साथ बैठक में प्रमुख सचिव एम.एस.एम.ई श्री मनु श्रीवास्तव, संभागायुक्त श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव, अपर आयुक्त नगरीय प्रशासन श्री आशीष सक्सेना मौजूद थे।

गणतंत्र दिवस पर सभी जिलों में हुए कार्यक्रम
27 January 2020
भोपाल.गणतंत्र दिवस पर प्रदेश के सभी जिलों में संयुक्त परेड, विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम और विकास आधारित प्रदर्शनियों के साथ विभिन्न कार्यक्रम संपन्न हुए। मंत्रियों ने आवंटित जिलों में ध्वजारोहण किया।
खंडवा : संस्कृति, चिकित्सा शिक्षा और आयुष मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने खंडवा जिला मुख्यालय पर स्टेडियम ग्राउण्ड में ध्वजारोहरण कर परेड की सलामी ली। डॉ. साधौ ने मुख्यमंत्री के नागरिकों के नाम संदेश का वाचन किया। इस अवसर पर स्कूली छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। विभिन्न विभागों ने आकर्षक झाकियां प्रस्तुत की।
नरसिंहपुर : विधानसभा अध्यक्ष श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने नरसिंहपुर में हॉकी स्टेडियम ग्राउण्ड पर गणतंत्र दिवस परेड की सलामी ली। पुलिस बैंड द्वारा संगीत की धुनों के साथ गीत प्रस्तुत किये गए। सशस्त्र पुलिस बल, जिला पुलिस बल, होम गार्ड, एन.सी.सी. की टुकड़ियों ने परेड में हिस्सा लिया। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों का सम्मान किया गया। उत्कृष्ट कार्य करने वाले शासकीय सेवक सम्मानित किये गये।
होशंगाबाद : जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने होशंगाबाद में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर संयुक्त परेड और मार्च पास्ट का प्रदर्शन हुआ जिसमें पुलिस, नगर सेना और एन.सी.सी के साथ ही विशेष सशस्त्र बल के जवानों ने हिस्सा लिया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में दिव्यांग छात्र-छात्राओं ने सामूहिक नृत्य प्रस्तुत किये। विभिन्न शासकीय विभागों ने विकास और शासकीय योजनाओं पर केन्द्रित झाकियों का प्रदर्शन किया।
सिवनी : विधानसभा उपाध्यक्ष सुश्री हिना कावरे ने सिवनी जिला मुख्यालय पर गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया। उन्होंने शहीद बिन्दु कुमरे के माता-पिता का शाल एवं श्रीफल से सम्मान किया। कार्यक्रम में संयुक्त परेड द्वारा मार्च पास्ट देशभक्ति गीतों पर कार्यक्रम और झाँकियों का प्रदर्शन भी किया गया। श्रेष्ठ झांकियों को पुरस्कार प्रदान किये गए। कार्यक्रम में अनेक जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।
बालाघाट : खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने बालाघाट में राष्ट्र-ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम और शासकीय योजनाओं एवं उपलब्धियों पर आधारित झांकियों का प्रदर्शन किया गया। श्रेष्ठ कार्य करने वाले शासकीय सेवकों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये।
देवास : लोक-निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने देवास में गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण कर सलामी ली। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन किया। श्री वर्मा ने शांति के प्रतीक कबूतर और रंग-बिरंगे गुब्बारे खुले आसमान में छोड़े। बच्चों ने राष्टीय भावनाओं से ओत-प्रोत गीत प्रस्तुत किये। कार्यक्रम में श्रेष्ठ कार्य के लिये अधिकारी-कर्मचारी और श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिये चयनित झांकियों को पुरस्कृत किया गया।
सागर : नवीन एवं नवकरणीय, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने सागर में पीटीसी ग्राउण्ड में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली और परेड का निरीक्षण किया। श्री यादव ने स्वतंत्रता सेनानियों का अभिनन्दन किया। श्रेष्ठ सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिये विद्यार्थियों, पुलिस एवं एनसीसी के जवानों और उत्कृष्ट कार्य के लिये अधिकार-कर्मचारी पुरस्कृत किये गये। कार्यक्रम में जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।
आगर - मालवा: नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने जिला मुख्यालय आगर-मालवा में ध्वजारोहण किया। उन्होंने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। नौ प्लाटून परेड में शामिल थीं, जिसका निरीक्षण मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने किया। स्कूली छात्रों के साथ ही नन्हें-मुन्हें बच्चों ने शारीरिक व्यायाम और मलखम्ब के कार्यक्रम प्रस्तुत कर दर्शकों को मोहित कर दिया। इस अवसर पर परेड में हिस्सा लेने वाले श्रेष्ठ प्लाटून कमाण्डर पुरस्कृत किये गये। आकर्षक झांकियों को भी पुरस्कार दिये गये। मंत्री श्री जयर्द्धन सिंह ने ट्राफी प्रदान की।
सीधी : पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने सीधी में ध्वजारोहण किया। उन्होंने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। इस अवसर पर शहीद परिवारों को सम्मानित किया गया। जिले के 15 विद्यालयों के 1000 छात्र-छात्राओं ने एक ताल में शारीरिक व्यायाम प्रदर्शित किया। उत्कृष्ट कार्य के लिये अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रशंसा पत्र दिये गये।
निवाड़ी : वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। उन्होंने हर्ष फायर के बाद परेड के दल नायकों से परिचय प्राप्त किया। मंत्री श्री राठौर ने स्वतंत्रता सेनानी श्री सीताराम मानव का सम्मान किया। कार्यक्रम में ओरछा महोत्सव की झांकी भी प्रस्तुत की गई, जिसे प्रथम पुरस्कार प्राप्त है। मंत्री श्री राठौर ने सांस्कृतिक कार्यक्रम और श्रेष्ठ कार्य के लिये पुरस्कार प्रदान किये।
खरगौन : कृषि मंत्री श्री सचिन यादव ने खरगौन में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर स्कूली छात्र-छात्राओं ने गीत-संगीत पर केन्द्रित कार्यक्रम प्रस्तुत किया। जिले के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और उनके परिजन का शाल और श्रीफल से सम्मान किया गया।
दमोह : राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने दमोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। मंत्री श्री राजपूत ने शासन की योजनाओं पर आधारित झांकियों की सराहना की। कार्यक्रम में स्कूली विद्यार्थियों ने देशभक्ति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। मंत्री श्री राजपूत ने मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया।
शाजापुर : जल संसाधन मंत्री श्री हुकुम सिंह कराड़ा ने शाजापुर में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। इस अवसर पर स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों का सम्मान किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अंतर्गत विद्यार्थियों ने राष्ट्रभक्ति की थीम पर सामूहिक नृत्‍य प्रस्तुत किये।
रायसेन : स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने रायसेन में राष्ट्रध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। डॉ. चौधरी ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को सम्मानित किया। विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने 'सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा' और अन्य गीतों पर रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया। परेड श्रेष्ठ प्रदर्शन के लिये पुलिस, सशस्त्र बल और होमगार्ड को पुरस्कार प्रदान किये गये। झांकियों और उत्कृष्ट कार्य के लिये शासकीय सेवकों भी सम्मानित किया गया। जनसम्पर्क विभाग ने उपलब्धियों पर आधारित विकास प्रदर्शनी भी लगायी।
जिला कलेक्टरों ने फहराया राष्ट्रीय ध्वज
जिला अनूपपुर में कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर शांति के प्रतीक गुब्बारे छोड़े गये। देशभक्ति गीत और सांस्क्रतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये। छतरपुर में कलेक्टर श्री मोहित बुंदस ने ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली। इस मौके पर स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान किया गया। बैतूल में कलेक्टर श्री तेजस्वी नायक ने गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। कटनी में कलेक्टर श्री शशि भूषण सिंह ने ध्वजारोहण कर मार्च पास्ट परेड की सलामी ली। अनेक जन-प्रतिनिधि कार्यक्रम में उपस्थित थे। उमरिया में कलेक्टर स्वरोचिश सोमवंशी ने ध्वजारोहण किया और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। हरदा में कलेक्टर श्री एस. विश्वनाथन ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। मण्डला में कलेक्टर श्री जगदीश चंद्र जटिया ने ध्वजारोहण किया और परेड का निरीक्षण भी किया। स्कूली बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये।
जिला सतना में कलेक्टर श्री सत्येन्द्र सिंह ने गणतंत्र दिवस परेड की सलामी ली। इस मौके पर करीब 3500 छात्र-छात्राओं ने कार्यक्रम प्रस्तुत किये। बुरहानपुरमेंकलेक्टर श्री राजेश कुमार, रतलाम में कलेक्टर रतलाम श्रीमती रूचिका चौहान, शिवपुरी में कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा और टीकमगढ़ में कलेक्टर श्रीमती हर्षिका सिंह ने राष्ट्रध्वज फहराया। कार्यक्रम में स्वतंत्रता सेनानियों और उत्कृष्ट शासकीय सेवकों का सम्मान किया गया।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आचार्य विद्यासागर जी महाराज से लिया आशीर्वाद
26 January 2020
भोपाल. मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने इंदौर में जैन संत आचार्य विद्यासागर जी महाराज के चरण धोकर आशीर्वाद प्राप्त किया। आचार्य ने मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में गौ-शालाओं के निर्माण पर उन्हें साधुवाद दिया। आचार्य ने कहा कि आज से पंच कल्याणक महोत्सव प्रारंभ होने जा रहा है। विश्व शान्ति के उद्देश्य से होने वाले इस महोत्सव के पहले दिन मुख्यमंत्री का यहाँ आना एक सुखद संयोग है। इसका पुण्य उन्हें और राज्य को भी मिलेगा। आचार्य श्री ने मुख्यमंत्री से चर्चा के दौरान हाथकरघा और आयुर्वेद को प्रोत्साहन देने की आवश्यकता बतायी।

रेरा अध्यक्ष श्री अंटोनी डिसा ने किया ध्वजारोहण
26 January 2020
भोपाल.रेरा अध्यक्ष श्री अंटोनी डिसा ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर रेरा भवन में ध्वजारोहण किया। इस मौके पर न्यायिक सदस्य श्री दिनेश कुमार नायक, तकनीकी सदस्य अनिरूद्ध डी कपाले, सचिव श्री चंद्रशेखर वालिम्बे, प्रशासनिक अधिकारी श्री अभय अरविंद बेडेकर सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।
मंत्री श्री शर्मा ने स्कूली बच्चों को कराया संविधान की उद्देशिका का वाचन
25 January 2020
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने भोपाल के शिवाजी नगर वार्ड-46 में राजीव गाँधी हाई स्कूल में बच्चों को संविधान की उद्देशिका का वाचन कराया। उन्होंने कहा कि बच्चों को संविधान की महत्ता से बचपन से ही अवगत कराने का यह अभिनव प्रयास है। श्री शर्मा ने बताया कि अब प्रदेश के सभी स्कूलों में प्रति सप्ताह शनिवार के दिन बच्चे संविधान की उद्देशिका का वाचन करेंगे। इससे उनके मन में देशप्रेम के भाव पैदा होंगे। साथ ही, संविधान के प्रति सम्मान की भावना भी मजबूत होगी।
मंत्री श्री शर्मा ने इस मौके पर राजीव गाँधी हाई स्कूल को हायर सेकेण्डरी स्कूल में उन्नत करने के प्रस्ताव पर यथाशीघ्र कार्यवाही का आश्वासन दिया। पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान, स्थानीय नागरिक और बड़ी संख्या में स्कूली बच्चे उपस्थित थे।
पुस्तक 'गाँधी है तो भारत है'' का विमोचन
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा और पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह ने डॉ. ब्रह्मदीप अलूने की पुस्तक 'गाँधी है तो भारत है'' का विमोचन किया। पद्मश्री विजयदत्त श्रीधर और विधायक श्री कुणाल चौधरी उपस्थित थे। इस अवसर पर आयोजित पुस्तक परिचर्चा में वरिष्ठ पत्रकारों और विभिन्न क्षेत्रों के लब्ध-प्रतिष्ठित लोगों ने भाग लिया।

वन मंत्री श्री सिंघार ने माण्डव में देखा निर्माणाधीन तितली पार्क
25 January 2020
भोपाल.वन मंत्री श्री उमंग सिंघार ने धार जिले के सुप्रसिद्ध पर्यटन स्थल माण्डवगढ़ में एक करोड़ 80 लाख रुपये की लागत से बनने वाले स्व. जमुनादेवी तितली पार्क का निरीक्षण किया। रानी रूपमती मार्ग पर सागर तालाब के सामने 4 हेक्टेयर क्षेत्र में तितली पार्क बनाया जा रहा है।
वन मंत्री ने निरीक्षण के दौरान पार्क में प्रदेश में पाई जाने वाली सभी और देश की विभिन्न प्रजातियों की तितलियों के लिये उनके आवास के अनुकूल सभी प्रबंध और सुविधाएँ जुटाने के निर्देश दिये।
वन मंत्री ने संभावित पर्यटन क्षेत्र के रूप में उभर रहे तारापुर गेट और मिरा की जिरात क्षेत्र का भी मुआयना किया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों के साथ इस क्षेत्र में पर्यटन विकास के लिये आवश्यक व्यवस्थाओं पर विचार-विमर्श किया।

मंत्री श्री वर्मा द्वारा फसल ऋण माफी प्रमाण-पत्र वितरित
25 January 2020
भोपाल.लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने देवास जिले के सोनकच्छ में जय किसान फसल ऋण माफी योजना में पात्र किसानों को 50 हजार से एक लाख रुपये तक के ऋण माफी प्रमाण-पत्र वितरित किये। जिले में दूसरे चरण में जिले में साढ़े 13 हजार किसानों का 95 करोड़ की राशि का ऋण माफ किया जा रहा है। मंत्री श्री वर्मा ने बताया कि फसल ऋण माफी के पहले चरण में प्रदेश के 20 लाख किसानों का 50 हजार रुपये तक का कर्ज माफ किया गया है।
देवास जिला अव्वल
मंत्री श्री वर्मा ने बताया कि फसल ऋण माफी के मामले में पहले चरण में देवास जिला प्रदेश में पहले स्थान पर रहा है। जिले में सबसे ज्यादा 95 हजार 200 किसानों के फसल ऋण माफ किये गये। उन्होंने बताया कि सोनकच्छ तहसील में दूसरे चरण में 1300 किसानों के साढ़े 9 करोड़ रुपये की ऋण राशि माफ की जाएगी।

समाचार-पत्र "कर्मवीर के शताब्दी समारोह में 5 विभूतियाँ सम्मानित
24 January 2020
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा और पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह ने माधवराव सप्रे समाचार-पत्र संग्रहालय में समाचार-पत्र 'कर्मवीर'' के शताब्दी समारोह में विभिन्न क्षेत्रों की 5 विभूतियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर कर्मवीर के शताब्दी विशेषांक का विमोचन हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री श्री सिंह ने समाचार-पत्रों के ऐतिहासिक संकलन और संरक्षण के क्षेत्र में सप्रे संग्रहालय द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना की।
समारोह में गाँधी मार्ग के अनुयायी डॉ. राकेश कुमार पालीवाल, जैव-विविधता के संरक्षक श्री बाबूलाल दहिया, संस्कारधानी के सेतु बंधु श्री शंकरभाई ठक्कर, छत्तीसगढ़ के प्रतिष्ठित पत्रकार श्री रमेश नैय्यर और हिन्दी सेवी श्री कैलाशचंद्र पंत को 'कर्मवीर'' सम्मान प्रदान किया गया। सम्मान-स्वरूप शॉल, गाँधी चर्खा की प्रतिकृति और प्रशस्ति-पत्र भेंट किया गया।
समारोह में पत्रकार श्रीमती अमृता सिंह, पूर्व सांसद श्री रामेश्वर नीखरा, माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति श्री दीपक तिवारी और विश्वविद्यालय के पूर्व महानिदेशक श्री अरुण चतुर्वेदी भी उपस्थित थे।

राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने बेटियों का किया सम्मान
24 January 2020
भोपाल.राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि बेटियाँ हैं तो हमारा घर है और बेटियाँ हैं तो हमारा संसार है। श्री राजपूत 'सागर की बेटी-सागर का अभिमान'' कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे।
श्री राजपूत जैसीनगर सागर में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम में श्री राजपूत ने बेटियों को सम्मानित करते हुए कहा कि सागर की बेटियों ने विभिन्न क्षेत्रों में अपनी योग्यता और कौशल का परचम लहराया है।
मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि बेटियाँ आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं, चाहे प्रशासनिक दक्षता का क्षेत्र हो अथवा पुलिस या ऑर्मी का। उन्होंने हर जगह अपनी अलग पहचान बनाई है। इस अवसर पर शहर के गणमान्य नागरिक एवं बड़ी संख्या में बच्चे भी उपस्थित थे।

मंत्री श्री सचिन यादव ने दी गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ
24 January 2020
भोपाल.किसान कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण मंत्री श्री सचिन यादव ने प्रदेशवासियों को 71 वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ दी हैं। उन्होंने अपने शुभकामना संदेश में कहा कि प्रदेश अब कृषि उत्पादन के क्षेत्र में समृद्धता की ओर अग्रसर है।
मंत्री श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार कृषि को आर्थिक विकास का मुख्य आधार बनाने के लिये कृत-संकल्पित है। श्री यादव ने नागरिकों से आग्रह किया कि प्रदेश की तरक्की में समर्पित योगदान के लिये आगे आएं।

मध्यप्रदेश को मिली दावोस में बड़ी सफलताएं
23 January 2020
मध्य प्रदेश ने दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की सालाना बैठक में शीर्ष निवेशकों के साथ पर चर्चा के शुरुआती दौर में ही बड़ी सफलता हासिल करते हुए 4125 करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित कर लिया है।
मंडीदीप में स्थित दावत फूड कंपनी लिमिटेड को सऊदी सरकार की कंपनी सऊदी अरब एग्रीकल्चर एंड लाइवस्टॉक इन्वेस्टमेंट कंपनी से 125 करोड़ रुपये का सीधा विदेशी निवेश मिला है। इसके अलावा कुल 650 मेगावाट क्षमता की दो केंद्रीय पवन परियोजनाएं भी अनुमोदित हो गई हैं। प्रत्येक परियोजना 325 मेगावाट क्षमता की है। सॉफ्ट बैंक एनर्जी (जापान) द्वारा और एक्टिस (इंग्लैंड) द्वारा क्रियान्वित की जायेगी। इसमें कुल 4000 करोड़ रुपये का निवेश होगा। प्रारंभिक सफलता से साबित हो गया है कि निवेशक समुदाय ने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में भरोसा किया है।
विश्वास के इसी वातावरण के चलते अब परिणाम मिलना शुरू हो गये हैं। इससे पहले 220 करोड़ रुपये की लागत से एक वर्ल्ड क्लास 27-होल गोल्फ कोर्स सह रिसॉर्ट और होटल का निर्माण प्रसिद्ध पर्यटक स्थल सांची के पास निनोद गाँव में होने जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने हाल ही में वेस्ले समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री डोरियन मूलन को लैटर आफ अवार्ड सौंपा था।

सिंह सत्या और सिंहनी नंदी नये माहौल में ढलने लगे
23 January 2020
वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में 16 जनवरी को छत्तीसगढ़ के कानन पेंडारी जूलॉजिकल पार्क से लाया गया सिंह जोड़ा नये परिवेश में ढलने लगा है। लगभग 4 वर्ष की आयु वाले दोनों सिंह एक ही माँ की संतान हैं। फिलहाल इन्हें क्वेरेंटाइन में रखा गया है।
वन्य-प्राणी चिकित्सक सत्या और नंदी का लगातार स्वास्थ्य परीक्षण कर रहे हैं। इनकी खुराक भी सामान्य हो चली है। सत्या 9 किलो और नंदी 8 किलो मांस का भोजन कर रहे हैं। वन विहार प्रबंधन द्वारा इनके लिये बाड़ा तैयार किया गया है। क्वेरेंटाइन अवधि पूरी होने पर स्वास्थ्य परीक्षण के बाद इन्हें बाड़े में छोड़ दिया जायेगा। वन विहार में इस समय सत्या और नंदी सहित 4 सिंह और 2 सिंहनी हैं।

अतिथि विद्वान 3 फरवरी तक भर सकेंगे विकल्प
23 January 2020
उच्च शिक्षा विभाग द्वारा अतिथि विद्वानों की आमंत्रण प्रक्रिया में संशोधन किया गया है। लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित नई नियुक्ति के फलस्वरूप फॉलेन आउट अतिथि विद्वान 3 फरवरी तक विकल्प भर सकते हैं। इसके अलावा जिन अतिथि विद्वानों ने अपनी प्रोफाइल अपडेट नहीं की है, वे 30 जनवरी तक अपनी प्रोफाइल अपडेट कर सकते हैं। चार फरवरी को मेरिट अनुसार अतिथि विद्वानों को महाविद्यालय का आवंटन किया जाएगा तथा 5 से 7 फरवरी तक वे संबंधित महाविद्यालय में कार्यभार ग्रहण कर सकेंगे।



"खेलो इंडिया" यूथ गेम्स में पदक विजेताओं को मिलेगी प्रोत्साहन राशि
22 January 2020
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने असम के गुवाहटी में 'खेलो इंडिया' यूथ गेम्स में प्रदेश के खिलाड़ियों के अद्वितीय प्रदर्शन की सराहना करते हुए पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी है। उन्होंने स्वर्ण पदक विजेता को एक लाख, रजत पदक विजेता को 75 हजार तथा कांस्य पदक विजेता को 50 हजार रूपये प्रोत्साहन राशि दिए जाने की घोषणा की है।
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खेल अधोसंरचना, आधुनिक और वैज्ञानिक पद्धति से प्रशिक्षण, खेल उपकरण जैसी सभी सुविधाएँ सुलभ कराई जा रही है। इसी का परिणाम है कि हमारे खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। खेलो इंडिया में प्रदेश को पिछले वर्ष सिर्फ 8 स्वर्ण पदक मिले थे। इस वर्ष प्रदेश के खिलाड़ियों ने 15 स्वर्ण प्राप्त किये हैं।
मध्यप्रदेश को मिले 46 पदक
'खेलो इंडिया' यूथ गेम्स में मध्यप्रदेश के खिलाड़ियों ने 15 स्वर्ण, 11 रजत 20 कांस्य सहित कुल 46 पदक प्राप्त किये। खिलाड़ियों ने ये पदक एथलेटिक्स, जूडो, तीरंदाजी, टेबल टेनिस, शूटिंग, कुश्ती, तैराकी, बैडमिंटन, वेटलिफ्टिंग और बॉक्सिंग खेल में हासिल किये। वर्ष 2019 में 'खेलो इंडिया' यूथ गेम्स में प्रदेश के खिलाड़ियों ने 8 स्वर्ण, 8 रजत और 15 कांस्य सहित कुल 31 पदक हासिल किये थे।

ऊर्जा मंत्री द्वारा 2 करोड़ से अधिक के विकास कार्यो का भूमि-पूजन
22 January 2020
भोपाल.ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने राजगढ़ जिले के जीरापुर विकासखण्ड में 2 करोड़ से अधिक लागत के विकास कार्यो का भूमि-पूजन किया। उन्होंने छापीहेड़ा में एक करोड़ 2 लाख रूपये की लागत की गौशाला और जीरापुर में एक करोड़ 4 लाख के कस्तूरबा गाँधी बालिका छात्रावास तथा 9 लाख 9 हजार लाख के जनपद कार्यालय परिसर सौन्दर्यीकरण के कार्यो का भूमि-पूजन किया।
ग्राम पंचायत स्तर पर बनेंगी गौ-शालाएँ
ऊर्जा मंत्री श्री सिंह ने कहा कि निराश्रित गौवंश के संवर्द्धन के लिये ग्राम पंचायत स्तर पर भी गौशालाएँ बनायी जाएंगी। उन्होंने बताया कि अब गौशालाओं को प्रति पशु प्रतिदिन 20 रूपये दिये जा रहे है। श्री सिंह ने कहा कि नगरीय निकाय खिलचीपुर, जीरापुर और माचलपुर को कचरा उठाने के लिये 5-5 वाहन उपलब्ध कराये जाएंगे।
कानून व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग करें
मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने लोगों से आग्रह किया कि संविधान का सम्मान करें और कानून-व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग करें। श्री सिंह ने छात्रावास के लिये दो गीजर और 25 बेड अपनी ओर से देने की घोषणा की। उन्होंने छात्रावास के सामने लगने वाले मार्केट और अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने छात्रावास में रहने वाली बालिकाओं से भी चर्चा की। उन्होंने स्थानीय लोगों से स्वच्छता अभियान में सक्रिय सहभागिता की अपील की।
इस दौरान पूर्व सांसद श्री नारायण सिंह आमलाबे एवं अन्य जन-प्रतिनिधियों ने भी विचार व्यक्त किये।

राष्ट्रीय कवि प्रदीप सम्मान से अलंकृत होंगे श्री अशोक चक्रधर
22 January 2020
भोपाल.राज्य शासन द्वारा गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर रविंद्र भवन में 25 जनवरी को शाम 7 बजे से अखिल भारतीय कवि सम्मलेन आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर वरिष्ठ साहित्यकार श्री अशोक चक्रधार, नई दिल्ली को राष्ट्रीय कवि प्रदीप सम्मान 2018 से अलंकृत किया जाएगा।
संस्कृति विभाग द्वारा रविन्द्र भवन में आयोजित किये जा रहे राष्ट्रीय कवि सम्मेलन में कवि श्री कुंवर बैचेन (गाजियाबाद), सुश्री सरिता शर्मा (नई दिल्ली), श्री अरुण जैमिनी (नई दिल्ली), श्री आशीष अनल (लखीमपुर), श्री सांड नरसिंहपुरी (नरसिंहपुर), सुश्री सरिता कोहेनूर (वारासिवनी), सुश्री अनु सपन (भोपाल), श्री बद्र वास्ती (भोपाल) और श्री संतोष शर्मा (विदिशा) काव्य पाठ करेंगे। कवि सम्मेलन में श्रोताओं का प्रवेश निःशुल्क रहेगा।
'सुभाष की कहानी' नाटक का मंचन
नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती पर 23 जनवरी को शहीद भवन में शाम 6.30 बजे से 'सुभाष की कहानी'' नाटक का मंचन होगा। प्रशांत चटर्जी द्वारा निर्देशित यह नाटक रंग माध्यम के कलाकारों द्वारा मंचित किया जायेगा।

मंत्री श्री शर्मा ने अस्पताल पहुँचकर धन प्रसाद के उपचार की जानकारी ली
21 January 2020
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने शासकीय हमीदिया अस्पताल पहुँचकर कमला नेहरू वार्ड में भर्ती धन प्रसाद अहिरवार के उपचार एवं स्वास्थ्य की जानकारी ली। उन्होंने चिकित्सकों और परिजनों से उपचार के संबंध में चर्चा की। चिकित्सक डॉ. अरूण भटनागर ने उपचार के संबंध में जानकारी दी। पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान साथ थे।
मंत्री श्री शर्मा ने परिजनों को आश्वस्त किया कि सरकार धन प्रसाद का हर संभव बेहतर उपचार कराएगी। श्री शर्मा ने बताया कि सागर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को सभी दोषियों को गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिये गये हैं।

लंदन में बेट प्रोग्राम में शामिल हुए मंत्री डॉ. चौधरी
21 January 2020
भोपाल.स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी लंदन में ब्रिटिश काउन्सिल द्वारा आयोजित ब्रिटिश एजुकेशनल ट्रेनिंग एण्ड टेक्निकल प्रोग्राम (बेट) में शामिल हुए। डॉ. चौधरी बेट में मध्यप्रदेश में स्कूल शिक्षा में किये जा रहे नवाचारों की जानकारी देंगे।
प्रोग्राम में विश्व के 150 देशों के स्कूल शिक्षा मंत्री भाग ले रहे हैं। इस मौके पर पीसा (प्रोग्राम फॉर इन्टरनेशनल स्टूडेंट एसेसमेंट) द्वारा साक्षरता दर और लर्निंग पद्धतियों की गुणवत्ता बढ़ाने, शिक्षा से समुदायों को जोड़ने और शिक्षा से जुड़े विभिन्न विषयों पर विस्तृत परिचर्चा आयोजित की जा रही है।

दलगत भावना से ऊपर उठकर विकास की बात हो - मंत्री श्री पटवारी
21 January 2020
भोपाल.उच्च शिक्षा, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने अपने प्रभार के जिला देवास में जिला योजना समिति की बैठक ली। उन्होंने समिति के सदस्यों से कहा कि यह समिति जिले के विकास से संबंधित कार्यों पर चर्चा करने का मंच है। यहाँ जन-प्रतिनिधियों को दलगत भावना से ऊपर उठकर जिले के विकास की बात पर जोर देना चाहिये। श्री पटवारी ने निर्वाचित जन-प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि वे अपने-अपने क्षेत्र में विकास और निर्माण के कार्यों का नियमित निरीक्षण करें, जिससे व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाये रखा जा सके।
मंत्री श्री पटवारी ने बैठक में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क, शिक्षा, महिला-बाल विकास, स्वास्थ्य, पशु-पालन और अजा-अजजा कल्याण की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण से संबंधित सभी योजनाओं की अद्यतन जानकारी और ठेकेदारों के विरुद्ध की गई कार्यवाही की जानकारी क्षेत्रीय विधायक को दी जाये। शिक्षक-विहीन शालाओं में शिक्षकों की पर्याप्त व्यवस्था की जाये। छात्रावासों में सोलर पैनल लगाने की कार्य-योजना बनाई जाये। श्री पटवारी ने कहा कि नये आँगनवाड़ी केन्द्र खोलने की प्रक्रिया में जन-प्रतिनिधियों के प्रस्ताव भी शामिल किये जायें। प्रसूति सहायता योजना में लंबित सभी मामलों में तुरंत भुगतान की कार्यवाही की जाये।
देवास जिले में 30 गौ-शालाएँ स्वीकृत
जिला योजना समिति की बैठक में बताया गया कि प्रथम चरण में 30 गौ-शालाएँ स्वीकृत की गई हैं। इनमें से 20 गौ-शालाओं का निर्माण आगामी फरवरी माह के अंत तक पूर्ण किया जायेगा। द्वितीय चरण में 90 गौ-शालाओं का प्रस्ताव है।
बैठक में जानकारी दी गई कि देवास जिले के 500 तक की जनसंख्या वाले सभी गाँव प्रधानमंत्री ग्राम-सड़क योजना में बारहमासी पक्की सड़कों से जोड़ दिये गये हैं। इसी तरह, 250 से 500 तक जनसंख्या के गाँवों को मुख्यमंत्री ग्राम-सड़क योजना में ग्रेवल स्तर तक के मार्ग का निर्माण कर पक्की सड़कों से जोड़ा गया है।
बैठक में सांसद श्री महेन्द्र सिंह सोलंकी और विधायक श्रीमती गायत्री राजे पवार, श्री मनोज चौधरी, श्री आशीष शर्मा श्री पहाड़ सिंह और जिला पंचायत अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सिंह राजपूत तथा सदस्यगण उपस्थित थे।

स्व. अमर सिंह राठौर स्मृति 39वीं अखिल भारतीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता
20 January 2020
भोपाल.निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर में 39वीं स्वर्गीय अमर सिंह राठौर स्मृति अखिल भारतीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता में सांस्कृतिक संध्या भी आयोजित की जा रही है। इसी तारतम्य में रविवार को सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रंखला में सुप्रसिद्ध भजन गायक श्री अनूप जलोटा ने भक्ति गायन से श्रोताओं को भाव-विभोर किया।
प्रतियोगिता में सांस्कृतिक संध्या में छतरपुर के श्री शिवेंद्र शुक्ला ने अपने 50 सदस्यीय दल के साथ महाराजा छत्रसाल नाटक का मंचन किया। इसके बाद उन्नाव के श्री रामनाथ पांडे ने आल्हा गायन की प्रस्तुति दी। साथ ही सुश्री सुजाता त्रिवेदी एवं श्री रवि त्रिपाठी ने अपनी प्रस्तुति दी, जिसको उपस्थित दर्शकों ने खूब सराहा।
इस अवसर पर वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर तथा अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित रहे।
मंत्री-मण्डल के सदस्यों ने किया ओरछा दर्शन
वित्त, आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री श्री तरूण भनोत, उर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह, श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया, खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल तथा लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा निवाड़ी जिले के प्रवास के दौरान ओरछा पहुंचे। मंत्री-मण्डल के सभी सदस्यों ने श्री रामराजा सरकार के दर्शन किये तथा प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना की।

मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने की "नमस्ते ओरछा महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा
20 January 2020
भोपाल.लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने निवाड़ी जिले के सुप्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल ओरछा में मार्च माह में आयोजित किये जा रहे 'नमस्ते ओरछा'' महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने महोत्सव के अंतर्गत की जा रही तैयारियों के सिलसिले में संबंधित अधिकारियों से विस्तार से जानकारी प्राप्त की।
मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि 'नमस्ते ओरछा'' महोत्सव के आयोजन को भव्य एवं गरिमामय स्वरूप देने के लिये सभी जरूरी व्यवस्थाएँ समय पर सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पर्यटक व्यवस्थाओं से संतुष्ट रहें, उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कत पेश न आये। इसके लिये सभी इंतजाम चाक-चौबंद होने चाहिये। श्री वर्मा ने बताया कि हमारी कोशिश है कि महोत्सव का आनंद लेने आये दर्शक वापस जाते समय मधुर स्मृति साथ लेकर जायें।
मंत्री श्री वर्मा ने लोक निर्माण सहित सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को ताकीद की कि वे पूरे मन से तैयारियों में जुट जायें। आयोजन को सफल बनाने में अपना सक्रिय योगदान दें। बैठक में संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

बुजुर्ग, दिव्यांग तथा बीमार उपभोक्ताओं के लिये राशन की दुकानों पर होगी विशेष व्यवस्था
20 January 2020
भोपाल.खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि उपभोक्ताओं को राशन की दुकानों पर बेहतर गुणवत्ता की खाद्य सामग्री सहज रूप से उपलब्ध करायी जाये। राशन की दुकानों पर आने वाले बुजुर्ग, दिव्यांग तथा बीमार उपभोक्ताओं को राशन के लिये कतार में खड़ा नहीं होना पड़े, ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उपभोक्ताओं के हितों के साथ लापरवाही करने वाले किसी भी अधिकारी और दुकानदार को बख्शा नहीं जायेगा। मंत्री श्री सिंह तोमर ने इंदौर में संभागीय समीक्षा बैठक में ये निर्देश दिये। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट भी विशेष रूप से शामिल हुए।
मंत्री श्री तोमर ने कहा कि खाद्य विभाग जरूरतमंद व्यक्तियों के हितों का रक्षक है। सभी अधिकारी मानवीयता एवं सेवा भाव से अपने कर्तव्यों एवं दायित्वों का निर्वहन करें। श्री तोमर ने कहा कि प्रदेश में सार्वजनिक वितरण प्रणाली व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया जा रहा है। यह प्रयास किये जा रहे हैं कि उपभोक्ताओं को सहज रूप से खाद्यान्न सामग्री मिले। ऐसे उपभोक्ता जो राशन की दुकान तक नहीं आ सकते हैं, उन्हें राशन उपलब्ध कराने के लिये किसी अन्य व्यक्ति को नामांकित करने की सुविधा दी गई है। इसके अलावा जिलों में अग्रिम आवंटन दिया जा रहा है, जिससे दुकानदार अग्रिम उठाव कर अगले माह की पहली तारीख से ही खाद्यान्न वितरण शुरू कर सके। अभी से ही फरवरी माह का आवंटन जारी कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि रबी उपार्जन के लिये सभी खरीदी केन्द्रों पर किसानों के लिये छाया, पानी, भोजन आदि की पर्याप्त व्यवस्था की जाये। किसी भी किसान को परेशान नहीं होना पड़े, यह सुनिश्चित किया जाये। किसानों को समय पर उनकी उपज का भुगतान भी मिले। श्री तोमर ने पेट्रोल पम्पों की नियमित जाँच करने के निर्देश दिए।
मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि आदिवासी बहुल जिलों में विशेष ध्यान दिया जाये। यह व्यवस्था की जाये कि सभी निराश्रित बुजुर्गों को समय पर राशन मिले।
अन्यत्र रखे खाद्यान्न की जाँच के आदेश
मंत्री श्री तोमर ने इंदौर स्थित वेयर हाउस तथा लोकसेवा सहकारी उपभोक्ता भंडार मर्यादित महाराजा प्रताप नगर का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने वेयर हाउस के एक अन्य कक्ष में 200 क्विंटल खाद्यान्न रखा पाया। खाद्यान्न संदिग्ध अवस्था में रखे पाये जाने पर उन्होंने जाँच के आदेश दिये और कहा कि दस दिन में जाँच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जाये। जाँच में दोषी पाये जाने वाले अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाये। उन्होंने वेयर हाउस परिसर में गंदगी पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त कर उन्होंने स्वयं ही सफाई की।

ऑटो स्टैंड भी स्मार्ट बने : मंत्री श्री शर्मा
19 January 2020
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने नर्मदा भवन के समीप ऑटो स्टैंड निर्माण कार्य का भूमि-पूजन किया। उन्होंने नगर निगम अधिकारियों से कहा कि ऑटो स्टैंड स्मार्ट होना चाहिए। यहाँ चालकों के लिये बैठने और पीने के पानी की सुविधा सुनिश्चित करें। रात में यहाँ पर्याप्त रोशनी रहे।
मंत्री श्री शर्मा ने शिवाजी नगर वार्ड 46 में दूध डेरी के पास, पांच नंबर मार्केट, ग्रीन फील्ड स्कूल के पास और प्रियदर्शनी नगर की आंतरिक मार्ग पर पेवर ब्लाक लगाने के कार्य की शुरूआत की। पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान, श्री आसिफ जकी और स्थानीय नागरिक साथ थे।

"ठहरो सूरज" पुस्तक का विमोचन
19 January 2020
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने श्री राजेन्द्र कानूनगो की पुस्तक 'ठहरो सूरज' का विमोचन किया। श्री शर्मा ने श्री कानूनगो को बधाई और शुभकामनाएं दी। श्री कानूनगो ने पुस्तक के संबंध में जानकारी दी।



सुरक्षित भविष्य के लिए पेट्रोलियम पदार्थो का संरक्षण आवश्यक : मंत्री श्री तोमर
16 January 2020
भोपाल.खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने कहा है कि आने वाली पीढ़ियों के सुरक्षित भविष्य के लिए पेट्रोलियम पदार्थो का संरक्षण आवश्यक है। श्री तोमर पेट्रोलियम कंजर्वेशन रिसर्च एसोसिएशन द्वारा आयोजित'संरक्षण क्षमता महोत्सव' को संबोधित कर रहे थे। मंत्री श्री तोमर ने कहा कि पेट्रोलियम उत्पाद प्रकृति का बहुमूल्य उपहार है। प्रकृति के अन्य स्त्रोतों की तरह इसकी उपलब्धता भी सीमित है। इसलिए आने वाली पीढ़ियों कि लिए इसका संरक्षण आवश्यक है। उन्होंने कहा कि आज के दौर में पेट्रोलियम उत्पादों के बिना जीवन कैसा होगा, यह सोचना भी कठिन है। देश-विदेश के वैज्ञानिक ऊर्जा के वैकल्पिक स्त्रोतों को तलाशने में जुटे हैं। उन्हें काफी हद तक सफलता भी मिली है लेकिन ईंधन के रूप में पेट्रोलियम उत्पादों का पूर्ण विकल्प मिलना आसान नहीं दिखता। खाद्य-नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री तोमर ने कहा कि ईधन की बचत करके ही हम इस अमूल्य धरोहर को आने वाली पीढ़ी को सौंप सकते है। श्री तोमर ने उपस्थित जन-समुदाय को ईधन बचाने की शपथ दिलाई। पेट्रोलियम कंजर्वेशन रिसर्च एसोसिएशन द्वारा आगामी 15 फरवरी तक यह महोत्सव पूरे देश में एक साथ मनाया जा रहा है। महोत्सव के अन्तर्गत ईधन को बचाने के लिये जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया है।
मेडिकल कॉलेज में चिकित्सीय सुविधा शत-प्रतिशत पूरा होने पर ही भवन अधिग्रहण करने की कार्यवाही की जाये
16 January 2020
भोपाल.चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने निर्देश दिये हैं कि विदिशा मेडिकल कॉलेज में चिकित्सीय सुविधा शत-प्रतिशत पूरा होने पर ही भवन अधिग्रहण की कार्यवाही की जाये। डॉ. साधौ गुरुवार को विदिशा में अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय की सामान्य परिषद की बैठक को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज के भवन कार्यों के रिवाइज स्टीमेट में लागत 90 करोड़ रुपये तक बढ़ाई गई है। इसके बावजूद डीपीआर में पूर्व में अंकित भवनों को विलोपित किया गया है। उन्होंने मेडिकल कॉलेज के वाहन पार्किंग प्रबंधन में और अधिक सुधार किये जाने और मेडिकल कॉलेज की ओपीडी को ग्राउण्ड फ्लोर पर शिफ्ट किये जाने के निर्देश दिये।
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. साधौ ने सबसे पहली स्वीकृत डीपीआर और रिवाइज्ड डीपीआर में मिलान करने के निर्देश दिये। उन्होंने पहली सामान्य सभा की बैठक में मेडिकल कॉलेज के लिये स्वीकृत पद, लैब निर्माण, चिकित्सीय उपकरण संचालन आदि के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। विधायक श्री शशांक भार्गव ने मेडिकल कॉलेज तक सड़क निर्माण कार्य को तेजी से पूरा किये जाने की बात कही। भोपाल कमिश्नर श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव ने बैठक में कहा कि विदिशा मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों को एम्स की तर्ज पर सुविधाएँ उपलब्ध कराई जायेंगी।
मेडिकल भवन का निरीक्षण
चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने निर्माणाधीन चिकित्सा वार्डों का निरीक्षण किया। उन्होंने विद्यार्थियों से पढ़ाई और आवासीय सुविधा के बारे में भी जानकारी प्राप्त की।

नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव की उपस्थिति में अनुबंध पर हस्ताक्षर हुए
16 January 2020
भोपाल.नवीन और नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव की उपस्थिति में पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया और रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड (रम्स) के बीच मंत्रालय में आगर, शाजापुर और नीमच में कुल 1500 मेगावाट सौर पार्कों के ए आंतरिक ग्रिड संयोजन के लिए सब-स्टेशन एवं लाईन निर्माण के लिए अनुबंध किया गया। इस अवसर पर पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (PGCIL) को परियोजना सलाहकार सेवा प्रदान करने के लिए सलाहकार नियुक्त करते हुए समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड की ओर से श्री राजीव रंजन मीणा, मुख्य कार्यपालक अधिकारी, रम्स तथा श्री टी.सी. शर्मा, कार्यपालक निदेशक, पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने समझौते पर हस्ताक्षर किए।
मंत्री श्री हर्ष यादव ने इस अवसर पर रम्स के अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि आगर, शाजापुर और नीमच सौर पार्क भी पूर्व में निष्पादित रीवा परियोजना की तरह इतिहास रचेंगे। नवीन और नवकरणीय ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव श्री मनु श्रीवास्तव ने बताया कि आगर, शाजापुर और नीमच में 1500 मेगावाट के आगामी सौर पार्कों के लिए समझौते पर हस्ताक्षर से मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ का प्रदेश को नवकरणीय ऊर्जा सम्पन्न राज्यों में अग्रणी बनाने में प्रमुख कदम होगा। श्री राजीव रंजन मीणा ने विश्वास जताया कि पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के सहयोग से परियोजना नियत समय में पूर्ण होगी।
रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड (रम्स) को 550 मेगावाट आगर सोलर पार्क, 500 मेगावाट नीमच सोलर पार्क और 450 मेगावाट शाजापुर सोलर पार्क विकसित करने के लिए नवीन और नवकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (एमएनआरई) ने अधिकृत किया है। पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया सौर पार्कों से उत्पादित बिजली निकासी के लिए आवश्यक आंतरिक ग्रिड संयोजन के लिए सब-स्टेशन एवं लाईन निर्माण का विकास करने में सलाहकार की भूमिका निष्पादित करेगा। पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (PGCIL) भारत की सबसे बड़ी ट्रांसमिशन कम्पनी है, जो सौर पार्कों के सफल निष्पादन के लिए रम्स को सहयोग प्रदान करेगी।
विश्व बैंक, भारत में सोलर पार्कों के बुनियादी ढांचे के वित्तीय-पोषण के लिए इंडियन इनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी (IREDA) के माध्यम से 100 मिलियन अमेरिकन डॉलर का ऋण प्रदान कर रहा है। विश्व बैंक अनुदान योजना के तहत समर्थित होने वाले देश के पहले सौर पार्कों में मध्यप्रदेश के 750 मेगावाट रीवा अल्ट्रा-मेगा सोलर पार्क और 250 मेगावाट का मंदसौर सौर पार्क शामिल है। पार्क सफलतापूर्वक पूर्ण क्षमता से उत्पादन प्रारंभ कर रहे हैं। विश्व बैंक ने आगर, शाजापुर और नीमच ने राज्य में तीन सौर पार्कों के वित्त-पोषण के लिए स्वीकृति दी है।

भोपाल, इन्दौर एयरपोर्ट पर खुलेंगे मृगनयनी एम्पोरियम
14 January 2020
भोपाल.कुटीर और ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने हाथकरघा और रेशम संचालनालय, हस्तशिल्प विकास निगम, माटी कला बोर्ड और खादी ग्रामोद्योग बोर्ड की गतिविधियों की समीक्षा की। श्री यादव ने कहा कि बुनकरों, कारीगरों, किसानों और शिल्प कलाकारों के हितों को ध्यान में रखकर योजनाओं के क्रियान्वयन में गति लायें। हर माह नियमित रूप से योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करें। राज्य सरकार के वचन-पत्र में इन वर्गों से संबंधित बिन्दुओं पर शीघ्र कार्यवाही करें। बैठक में विभाग के प्रमुख सचिव श्री अनिरूद्ध मुखर्जी उपस्थित थे।
बैठक में बताया गया कि इस वर्ष जबलपुर में नेशनल हैण्डलूम एक्सपो आयोजित किया गया। होशंगाबाद में 16 जनवरी को शिल्प बाजार लगाया जा रहा है। भोपाल के साथ ही विभिन्न नगरों में पूरे वर्ष हस्तशिल्प मेले लगाये गये हैं। हस्तशिल्प निगम ने विभिन्न प्रदेशों में एम्पोरियम खोलने के प्रयास किये हैं। गुजरात के केवड़िया स्थित एकता मॉल में एम्पोरियम शुरू करने के बाद प्रदेश में भोपाल और इंदौर एयरपोर्ट पर मृगनयनी एम्पोरियम की स्थापना की जाएगी। लंदन में भी एम्पोरियम के लिये उपयुक्त स्थान की तलाश की जा रही है। सागर और छिंदवाड़ा में इस वर्ष एम्पोरियम प्रारंभ करने की कार्यवाही की गई है।
मृगनयनी एम्पोरियम में मिलेगी दूल्हे की शेरवानी
बैठक में बताया गया कि हस्तशिल्प विकास निगम ने वैवाहिक वस्त्रों की उपलब्धता की दिशा में कदम उठाया है। अब तक दुल्हन के लिये चंदेरी और महेश्वरी साड़ियाँ ही मृगनयनी एम्पोरियम में उपलब्ध रहती थीं। अब दूल्हे के लिये शेरवानी भी उपलब्ध कराई जाएगी। इसके साथ ही शादी के बाजार में मिलने वाले सूट और टाई की विभिन्न वेरायटी भी उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा। भोपाल के मिन्टो हॉल में 22 जनवरी को रॉयल हैरीटेज कलेक्शन के अन्तर्गत युवा वर्ग को आकर्षित करने के लिये इन परिधानों का विशेष शो भी किया जाएगा।
बैठक में बताया गया कि माटी कला बोर्ड ने मिट्टी खनन की बिना रॉयल्टी अनुमति के लिये सभी कलेक्टर्स को निर्देश जारी किये हैं। शिल्पकार परिवारों को मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना में 7 साल तक रियायती दर पर ऋण दिया जा रहा है। बैंक की प्रचलित ब्याज दर पर पुरूष कारीगरों को 5 प्रतिशत और महिला उद्यमियों को 6 प्रतिशत ब्याज अनुदान भी दिया जा रहा है। पारम्परिक रूप से माटी कला से जुड़े कारीगरों को नई तकनीक का प्रशिक्षण दिलवाने की कार्यवाही की गई है। खादी बोर्ड ने इंदौर में नवीन खादी उत्पादन केन्द्र प्रारंभ करने की पहल की है।
खादी वस्त्रों को मिला कबीरा ब्रांड
खादी उत्पादों पर 20 प्रतिशत छूट को बढ़ाते हुए 10 प्रतिशत अतिरिक्त छूट प्रदान की जा रही है। खादी बोर्ड ने पीपीपी मोड में छिंदवाड़ा में खादी ग्रामोद्योग विक्रय केन्द्र शुरू किया है। खंडवा, होशंगाबाद, गुना, सतना, शहडोल और सागर में केन्द्र प्रारंभ करने की कार्यवाही की जा रही है। खादी वस्त्रों को कबीरा ब्रांड दिया गया है। अब खादी वस्त्र इसी ब्रांड से बेचे जा रहे हैं। खादी को जीएसटी से भी मुक्त किया गया है।
श्री यादव ने रेशम उत्पादन बढ़ाने के लिये रेशम उत्पादक किसानों को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये। आयुक्त रेशम श्री कविंद्र कियावत ने बताया कि वर्ष 2020-21 में किसानों की निजी भूमि और शासकीय रेशम केन्द्रों की भूमि के 2200 एकड़ क्षेत्र में मलबरी पौध-रोपण किया जाएगा। वर्तमान में प्रदेश के शासकीय रेशम केन्द्रों पर 90 एकड़ क्षेत्र में शहतूत नर्सरी का रोपण किया गया है। हितग्राहियों के चयन, पंजीकरण और भुगतान प्रक्रिया के लिये ई-रेशम पोर्टल शुरू किया गया है, जिसमें 2000 किसानों ने पंजीयन कराया है। सिल्क फेडरेशन ने 2 साल पहले खरीदे गये ककून और हितग्राहियों के मानदेय का शत-प्रतिशत भुगतान कर दिया गया है। मलबरी और टसर विकास योजना से 6724 हितग्राही लाभान्वित हुए हैं। रेशम उत्पादक किसानों को कृमि पालन के लिये ट्रे, चंद्रिका, एंगल ऑयरन स्टेंड आदि उपकरण उपलब्ध करवाए गए हैं। रेशम केन्द्रों पर सभी आवश्यक बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध कराई जा रही हैं। प्रदेश की सभी धागाकरण इकाईयों को क्रियाशील किया जा रहा है। इस वर्ष नरसिंहपुर में नवीन मलबरी ग्रेनेज केन्द्र की स्थापना के साथ ही 2 ऑटोमेटिक रीलिंग मशीन और मल्टी रीलिगं मशीन स्थापित की जाएगी।
बैठक में प्रबंध संचालक हस्तशिल्प विकास निगम श्री राजीव शर्मा, प्रबंध संचालक खादी बोर्ड श्री मनोज खत्री और अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

छिन्दवाड़ा कम्बल निर्माण केन्द्र में बनेगी कार्यशाला
14 January 2020
भोपाल.प्रमुख सचिव, कुटीर एवं ग्रामोद्योग श्री अनिरुद्ध मुखर्जी की अध्यक्षता में राज्य खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के संचालक मण्डल की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में छिंदवाड़ा स्थित कम्बल निर्माण केन्द्र में कार्यशाला (वर्कशेड) निर्माण के लिये 40 लाख रुपये स्वीकृत किये गये। कार्यशाला का निर्माण लोक निर्माण विभाग की परियोजना क्रियान्वयन इकाई द्वारा पीपीपी मोड में कराया जायेगा। बैठक में बोर्ड के प्रबंध संचालक श्री मनोज खत्री भी उपस्थित थे।
प्रमुख सचिव श्री मुखर्जी ने बोर्ड की योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए कहा कि बुनकरों और शिल्पकारों के हितों को ध्यान में रखकर योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इस काम में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।
बैठक में बताया गया कि छिंदवाड़ा स्थित कम्बल निर्माण केन्द्र को सर्व-सुविधायुक्त बनाने के प्रयास किये जा रहे हैं, जिससे यहाँ अधिकाधिक कम्बल निर्माण संभव हो सके। बताया गया कि गाँधीजी के 150वें जन्म वर्ष के अवसर पर बोर्ड द्वारा खादी वस्त्रों की बिक्री पर 30 प्रतिशत की छूट दी जा रही है।

दूरस्थ ग्रामीण अंचलों में अनिवार्य स्वास्थ्य सेवाओं के लिये शीघ्र बनेगी नई स्वास्थ्य नीति
14 January 2020
भोपाल.चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा है कि प्रदेश के दूरस्थ ग्रामीण अंचलों में अनिवार्य स्वास्थ्य सेवाएं सुलभ कराने के लिये राज्य सरकार शीघ्र ही नई स्वास्थ्य नीति लागू करेगी। इसमें स्नातक और स्नातकोत्तर डॉक्टर्स को ग्रामीण अंचलों में सेवाएँ देना अनिवार्य किया जाएगा। डॉ. साधौ सागर में बुंदेलखण्ड मेडिकल कॉलेज की स्वशासी समिति की बैठक को संबोधित कर रही थीं।
मंत्री डॉ. साधौ ने बताया कि प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में डीएम और एमसीएच की सीटें बढ़ाने पर गंभीरतापूर्वक विचार किया जा रहा है। साथ ही, एमबीबीएस और पीजी पाठ्यक्रमों में भी सीटें बढ़ायी जायेंगी। डॉ. साधौ ने मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. जी.एस. पटेल को निर्देश दिये कि कॉलेज में फिजियोथेरेपी सेक्शन शीघ्र शुरू करायें। साथ ही, कॉलेज की आय बढ़ाने के लिये सकारात्मक प्रयास करें। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार पैरा-मेडिकल और नर्सिंग स्टाफ की कमी को दूर करने के लिये प्रयासरत है।
बैठक में स्वशासी समिति के सचिव डॉ. डी.के. जैन, मेडिकल कॉलेज के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

किशोर बच्चों की जिज्ञासाओं का समाधान करेगी "उमंग" हेल्पलाइन
13 January 2020
भोपाल.स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने आर.सी.वी.पी. नरोन्हा प्रशासन एवं प्रबंधकीय अकादमी में उमंग किशोर हेल्पलाइन 14425 एवं परामर्श केन्द्र का शुभारंभ करते हुए कहा कि इससे किशोर बच्चों की शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक समस्याओं और जिज्ञासाओं का समाधान होगा। उन्होंने कहा कि परामर्श केन्द्रों में बच्चों की पहचान को गुप्त रखा जायेगा, ताकि वे निडर होकर अपनी बात कह सकें।
मंत्री डॉ. चौधरी ने बताया कि किशोर बच्चों को अज्ञानतावश गलत कदम उठाने से रोकने के लिये यह हेल्पलाइन और परामर्श केन्द्र स्थापित कर राज्य सरकार ने नवाचार को प्रोत्साहित किया है। 'उमंग'' हेल्पलाइन 14425 निरंतर कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि एक राज्य-स्तरीय सहित 313 विकासखण्डों पर परामर्श केन्द्र बनाये गये हैं। इन केन्द्रों पर एक ही समय में 16 से 20 कॉल अटेंड किये जायेंगे। परामर्श केन्द्र सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक काम करेंगे। प्रत्येक केन्द्र में दो परामर्शदाताओं के हिसाब से कुल 626 परामर्शदाताओं को नियुक्त किया गया है। यह केन्द्र 9228 हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी स्कूलों के बच्चों को परामर्श देंगे।
38 लाख से अधिक किशोर-किशोरी और अभिभावक होंगे लाभान्वित
प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरुण शमी ने बताया कि स्वास्थ्य, महिला-बाल विकास, पुलिस और न्याय विभाग के सहयोग से 'उमंग'' हेल्पलाइन और परामर्श केन्द्रों का संचालन किया जायेगा। हेल्पलाइन और परामर्श केन्द्र 38 लाख से भी अधिक किशोर बच्चों और उनके अभिभावकों की समस्याओं का समाधान करने में मदद करेंगे।
विश्व स्वास्थ्य संगठन के सिद्धांतों पर आधारित है हेल्पलाइन और परामर्श केन्द्र
आयुक्त स्कूल शिक्षा श्रीमती जयश्री कियावत ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा बताये गये 10 जीवन-कौशल को ध्यान में रखते हुए हेल्पलाइन और परामर्श केन्द्र का मॉड्यूल तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान, यूएनएफटीए, भारतीय ग्रामीण महिला संघ, इंदौर और आरईसी फाउण्डेशन के सहयोग से 'उमंग'' हेल्पलाइन और परामर्श केन्द्र की स्थापना की गई है। कक्षा 9वीं से 12वीं तक के सभी किशोर बालक-बालिकाओं के लिये अलग-अलग मार्गदर्शिका बनाई गई है।
मार्गदर्शिका, फ्लिप बुक और सफलता की कहानियों का विमोचन
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने इस अवसर पर उमंग परामर्श कौशल प्रशिक्षण मार्गदर्शिका और फ्लिप बुक तथा कक्षा 12वीं के किशोर-किशोरियों के लिये सफलता की कहानियों का विमोचन किया। यूएनएफपीए इंडिया नई दिल्ली की प्रतिनिधि सुश्री अंर्जेटीना माटावेल पिक्किन ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।
परामर्श केन्द्र की विशेषता
यू.एन.एफ.पी.ए. (संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष) के राज्य कार्यक्रम समन्वयक डॉ. निलेश देशपाण्डे ने पी.पी.टी. के माध्यम से बताया कि 'उमंग'' किशोर हेल्पलाइन एवं परामर्श केन्द्रों में उच्च तकनीकी का प्रयोग किया गया है। इसमें लैंड-लाइन नंबर को मेप किया जाता है। डाटा से संबंधित सूचनाओं को रिकॉर्ड करके मासिक रिपोर्ट बनाई जा सकती है। क्लांइट के साथ लाइव चेट की जा सकेगी तथा ईमेल द्वारा भी परामर्श दिया जा सकेगा। परामर्शदाता ने कितने कॉल अटेंड किये तथा कितना समय लिया यह भी रिकॉर्ड रहेगा। प्रत्येक कॉलर की उम्र, लिंग, स्थान, कॉल का प्रकार आदि का भी रिकॉर्ड रहेगा।
विशेषज्ञ परामर्शदाता
विकासखण्ड स्तरीय परामर्श केन्द्रों में एक महिला एवं एक पुरूष परामर्शदाता की नियुक्ति की गई है, जिनका विशेषज्ञों द्वारा साईकोमेट्रिक टेस्ट लिया गया है। परामर्शदाताओं को टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेस मुम्बई में 10 दिवसीय प्रशिक्षण दिलवाया गया। साथ ही, विषय-विशेषज्ञ द्वारा प्रशिक्षण दिया गया है। सभी परामर्शदाताओं को प्रत्येक 6 माह में प्रशिक्षण दिया जायेगा। साप्ताहिक मॉक सेशंस भी होंगे। कार्यस्थल पर परामर्शदाताओं के लिए भी साईको थेरेपी एवं रिलेक्सेशन जोन का प्रावधान किया गया है फोन कॉल पर बात करने की कोई सीमा नहीं है। परामर्शदाता मानसिक एवं शारीरिक बदलाव, मानसिक स्वास्थ्य, नशे की लत, गैर-संचारी रोग, भावनात्मक समस्या, पोषण, शैक्षणिक एवं करियर परामर्श, आपसी रिश्ते एवं आत्महत्या की रोकथाम आदि पर परामर्श देंगे।

बरमान मेले की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाएँगे : विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति
13 January 2020
भोपाल.विधानसभा अध्यक्ष श्री एन.पी. प्रजापति ने कहा है कि नरसिंहपुर जिले के प्रसिद्ध बरमान मेले के स्वरूप को परिवर्तित कर श्रद्धालुओं और मेले के माध्यम से जीविका चलाने वाले लोगों के लिये सुविधाजनक बनाया जायेगा। मेले की व्यवस्थाएँ बेहतर बनाने के लिये आवश्यक वित्तीय प्रबंध किये जायेंगे। श्री प्रजापति ने कहा कि घाटों के विकास के साथ ही नर्मदा जी पर बन रहे पुल के दोनों ओर सुविधाजनक निर्माण कर इसे आमजन के लिये पूरी तरह उपयोगी बनाया जाएगा।
संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि बरमान मेले में ख्यात गायकों और कलाकारों को आमंत्रित कर लोक-रंजन की बेहतर व्यवस्थाएँ की जाएंगी। माँ नर्मदा के निकट रहने वाले नागरिक इन मेलों से भावनात्मक रूप से जुड़े हैं। बरमान मेले में सागर और दमोह जिलों से भी श्रद्धालु पहुँचते हैं। इस तरह के मेले युवा पीढ़ी को हमारे समृद्ध अतीत से परिचित कराते हैं। मेले के उद्घाटन समारोह को सामाजिक न्याय मंत्री श्री लखन घनघोरिया ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर विधायक श्री संजय शर्मा, श्री जालम सिंह पटेल, श्रीमती सुनीता पटेल और अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे। प्रारंभ में अतिथियों ने नर्मदा जी का पूजन-अर्चन किया। विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अतिथियों सहित आमजन ने भी अवलोकन किया।

लगातार मिलावट कर रहे खाद्य व्यापारियों के विरूद्ध रासुका की कार्यवाही करें : मंत्री श्री सिलावट
13 January 2020
भोपाल.लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने खाद्य सुरक्षा विभाग की गतिविधियों की मंत्रालय में समीक्षा करते हुए कहा कि लगातार मिलावट कर रहे खाद्य व्यापारियों के विरूद्ध रासुका की कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि शुद्ध के लिये युद्ध अभियान में अभी तक लिये गये नमूनों में से 35 प्रतिशत से अधिक नमूने अमानक स्तर के पाये गये हैं। इन नमूनों से संबंधित मिलावटखोरों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करें। श्री सिलावट ने अभियान को जारी रखने के निर्देश देते हुए कहा कि अभियान में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध निलंबन तक की कार्यवाही करें। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने निर्देश दिये कि मिलावटखोरों के विरूद्ध प्रत्येक माह की गतिविधियों का कैलेण्डर बनाकर कार्यवाही करें और अमानक पाये गये खाद्य पदार्थों के नमूनों में की गई दण्डात्मक कार्यवाही की जानकारी आम जनता को भी दें।
मंत्री श्री सिलावट ने निर्देश दिये कि प्रदेश में संभाग एवं जिला स्तर पर शुद्ध के लिये युद्ध अभियान के अन्तर्गत जन-जागरूकता रैली आयोजित की जाए। रैली में जिले के प्रभारी मंत्री के साथ-साथ गणमान्य नागरिकों और आमजनों की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि पहले संभाग स्तर पर रैली का आयोजन किया जाए उसके बाद जिला स्तर पर रैली निकाली जाए। श्री सिलावट ने समीक्षा के दौरान ग्वालियर में 31 जनवरी, जबलपुर में 2 फरवरी और रीवा में 3 फरवरी को जन-जागरूकता रैली आयोजित करने के निर्देश दिए।
मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि आम आदमी के हित में अशुद्ध खाद्य पदार्थों के निर्माण और बिक्री को रोकना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। इसलिये अभियान को सफल बनाने के लिये विभागीय अधिकारी अपनी जिम्मेदारियों को गंभीरता से निभायें। उन्होंने निर्देश दिये कि बड़े-बड़े संस्थानों से खाद्य पदार्थों के नमूनों की जांच को प्राथमिकता दें। सभी तरह के पैकेज्ड फूड, दूध, पनीर, मावा आदि की लगातार जाँच जारी रहे।
41 मिलावटखोरों के विरूद्ध रासुका की कार्यवाही
खाद्य सुरक्षा आयुक्त श्री राजीव दुबे ने समीक्षा बैठक में बताया कि शुद्ध के लिये युद्ध अभियान के अन्तर्गत अभी तक 41 मिलावटखोरों के विरूद्ध रासुका की कार्यवाही की गई है। मिलावटखोरी में दोषी पाये गये शेष मामलों में प्रकरण संबंधित न्यायालयों में प्रस्तुत किये गये हैं।
भोपाल में इसी माह शुरू होगी पहली माइक्रो बायोलॉजी लैब
संयुक्त नियंत्रक खाद्य सुरक्षा श्री डी.के. नागेन्द्र ने बताया कि प्रदेश की पहली माइक्रो बायोलॉजी लैब इसी माह भोपाल में शुरू की जाएगी। साथ ही प्रदेश के 5 संभागों में एक वर्ष के भीतर शासकीय परीक्षण लैब शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि युवा वर्ग में शुद्ध खाद्य पदार्थों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिये जिला स्तर पर स्कूलों-कॉलेजों में निबंध, भाषण और नाटक प्रतियोगिताओं का आयोजन कराया जा रहा है। इन प्रतियोगिताओं में चयनित विद्यार्थियों की भोपाल में राज्य स्तरीय प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी।

राजभवन में शास्त्रार्थ सभा के लिए मिले 733 आवेदन
12 January 2020
भोपाल.राज्यपाल श्री लालजी टंडन की अध्यक्षता में राजभवन में 13 जनवरी को शास्त्रार्थ सभा होगी। यह सभा राजभवन के सभागार सांदीपनि में दोपहर 3.30 बजे शुरू होगी। राज्यपाल के सचिव श्री मनोहर दुबे ने बताया कि शास्त्रार्थ सभा के प्रवेश-पत्र 12 जनवरी से राजभवन की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। प्रवेश-पत्र राजभवन की वेबसाइट से डाउनलोड किए जा सकते हैं। आवेदकों को प्रवेश-पत्र उपलब्धता की सूचना मोबाइल पर एसएमएस द्वारा भी दी गई है।
सचिव श्री दुबे ने बताया कि शास्त्रार्थ सभा में शामिल होने के लिए कुल 733 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इसमें से 440 आवेदन आम नागरिकों द्वारा ऑनलाइन भेजे गये हैं। इनमें भोपाल से 226 और अन्य जिलों से 214 व्यक्तियों के आवेदन शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, महर्षि पाणिनि संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय से 97, संस्कृत के शिक्षकों एवं आचार्यों के 54, शिक्षा विभाग से जुड़े प्राध्यापकों तथा शिक्षकों के 85, छात्र-छात्राओं के 43 आवेदन मिले हैं। इसके अलावा मीडियाकर्मियों ने भी 14 आवेदन किये हैं।

"उमंग" हेल्पलाइन का शुभारंभ करेंगे मंत्री डॉ. चौधरी
12 January 2020
भोपाल.स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी 13 जनवरी को प्रशासन अकादमी में सुबह 11 बजे 'उमंग'' हेल्पलाइन का शुभारंभ करेंगे। यह हेल्पलाइन 10 से 19 वर्ष तक आयु के किशोरों के शारीरिक और मानसिक बदलावों के चलते उनके मन में उत्पन्न होने वाले द्वंद, तनावों और जिज्ञासा का निराकरण करेगी।
इस राज्य-स्तरीय हेल्पलाइन के अंतर्गत टोल-फ्री नम्बर 14425 पर सोमवार से शनिवार तक सुबह 8 से रात 8 बजे तक किशोरों की समस्याएँ सुलझाने और उन्हें मार्गदर्शन प्रदान करने के लिये परामर्शदाता उपलब्ध रहेंगे। किशोरों के अलावा, उनके अभिभावक और शिक्षक भी किशोरों की समस्याओं से जुड़े मसलों को लेकर हेल्पलाइन नम्बर पर उचित मार्गदर्शन प्राप्त कर सकेंगे।
प्रत्येक विकासखण्ड में टेली काउंसिलिंग के साथ एक परामर्श केन्द्र की स्थापना की जायेगी। प्रशिक्षण के बाद परामर्शदाता आउटरीच कार्यक्रम के अंतर्गत स्कूलों में पहुँचकर कार्यशालाओं का आयोजन करेंगे और विद्यार्थियों तथा शिक्षकों को संबंधित समस्याओं के प्रति संवेदनशील और जागरूक बनायेंगे।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा श्री रमाकांत शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त
12 January 2020
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने श्री रमाकांत शर्मा के निधन पर शोक व्यक्त किया है। श्री कमल नाथ ने कहा कि मेरे मंत्रि-मंडल के साथी श्री पी.सी. शर्मा के बड़े भाई श्री रमाकांत शर्मा के निधन का समाचार सुनकर मुझे गहरा दु:ख हुआ है। मुख्यमंत्री ने शर्मा परिवार के प्रति शोक संवेदनाएं व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा को शांति तथा परिवार को यह दु:ख सहन करने की शक्ति देने की ईश्वर से प्रार्थना की है।


वर्ष 2019 में हुई ग्राम स्तर से प्रदेश के समग्र विकास की शुरूआत
11 January 2020
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में राज्य सरकार का विश्वास है कि, ग्राम स्तर पर व्यवहारिक योजना निर्माण से प्रदेश के समग्र विकास को आवश्यक गति दी जा सकती है। इसलिये ग्राम स्तर पर विद्यमान परिस्थितियों और जरूरतों के मुताबिक समग्र और समावेशी विकास के लिए योजनाएँ बनाने पर जोर दिया गया। सरकार ने विकास के विजन को प्राथमिकता दी, जिससे राज्य की समृद्धि का लक्ष्य तय हो सका।
आर्थिक विश्लेषण और सांख्यिकी, शासकीय योजनाओं को व्यवहारिक और वैज्ञानिक आधार प्रदान करते हैं। सामाजिक विकास हो अथवा अधोसंरचना निर्माण, हर गतिविधि में वास्तविकता से रू-ब-रू कराना तथा कार्यों के लिए लक्ष्य और समय-सीमा निर्धारित करने में इनका महत्वपूर्ण योगदान है। इस क्षेत्र में राज्य योजना आयोग और आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग दिशा सूचक का काम कर रहे हैं।
ग्राम विकास योजना
प्रदेश में पहली बार वर्ष 2019 में आजीविका, अधोसंरचना, शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण, नागरिक अधिकार संरक्षण आदि क्षेत्रों को ध्यान में रखकर ग्राम विकास की योजना तैयार की गई। इस प्रक्रिया से विभिन्न जिलों की विशिष्ट परिस्थितियों, विशेषकर महिलाओं, बच्चों, अनुसूचित जाति, जनजाति तथा सामाजिक रूप से पिछड़े समुदायों को नियोजन प्रक्रिया से जोड़ने में सफलता मिली। यह प्रक्रिया समाज के समावेशी एवं त्वरित विकास के लिए मील का पत्थर साबित हुई। प्रदेश स्तर पर विकेन्द्रीकृत नियोजन के जरिये कार्य भी प्रस्तावित किए गए।
आकांक्षी विकासखण्डों में डैश बोर्ड निर्माण
योजना निर्माण की राज्य स्तरीय राज्य योजना आयोग द्वारा सतत विकास की कार्य-योजना 2030 तैयार कर ली गई है। भारत सरकार के नीति आयोग द्वारा चयनित राज्य के आठ आकांक्षी जिलों में अनुश्रवण और मूल्यांकन का कार्य इस आयोग द्वारा किया जा रहा है। इसके लिए जिला स्तर पर प्रशिक्षण और क्षमतावर्धन के कार्यक्रम किए गए हैं। प्रदेश के 50 आकांक्षी विकासखण्डों में डैश बोर्ड निर्माण के बाद अनुश्रवण और मूल्यांकन कार्य का विस्तार किया गया। "आकांक्षी विकासखण्डों का उत्थान" निर्देशिका तैयार की गयी। इसमें आकांक्षी विकासखण्डों के उत्थान, कार्यक्रम के संस्थागत प्रबंधन, संकेतकों और कार्य सम्पादन में सुधार के उपाय, स्वास्थ्य और पोषण, शिक्षा, कृषि और सहयोगी सेवाएँ, आधारभूत सुविधाएँ, कौशल विकास तथा वित्तीय समावेशन पर विशेष जानकारी उपलब्ध करायी गयी।
धान गहनता (मेडागास्कर) प्रणाली
राज्य योजना आयोग द्वारा प्रदेश में इव्यूलेशन ऑफ प्रमोशन फॉर आर्गेनिक फार्मिंग, इव्यूलेशन ऑफ प्रोजक्ट टू पापुलराईज स्वीट कॉर्न, डिस्ट्रीब्यूशन ऑफ पम्पसेट्स (डीजल/इलेक्ट्रिकल) ऑन सब्सिडी टू फार्मर्स, इव्यूलेशन ऑफ प्रोजेक्ट फार इन्क्रीजिंग वाटरयूज इफीशियंसी थ्रू डिस्ट्रीब्यूशन ऑफ स्प्रिंकलर पाइप लाइन एण्ड ड्रिप्स आदि शोध प्रतिवेदन तैयार किये गये। समग्र नर्सरी संवर्धन के लिए धान गहनता(मेडागास्कर) प्रणाली लागू की गई। कोदो/कुटकी, तिल और रामतिल जैसी पारंपरिक फसलों की संरक्षण परियोजना का मूल्यांकन भी किया गया।
आर्थिक सर्वेक्षण में नीतियों, उपलब्धियों, घोषणाओं का विश्नेषण
आर्थिक सर्वेक्षण ऐसा दस्तावेज है जिसमें प्रदेश के विकास के विभिन्न सूचकांकों का मूल्यांकन, नीतियों एवं कार्यक्रमों के परिणामों का आकलन किया जाता है ताकि प्रदेश की प्राथमिकताओं के लिए नीतियों एवं कार्यक्रमों में आवश्यक सुधार किया जा सके। राज्य सरकार ने प्रदेश का आर्थिक सर्वेक्षण 2018-19 तैयार किया। सर्वेक्षण में आर्थिक स्थिति की समीक्षा, लोकहित, बचत एवं विनियोजन, खाद्यान्न उपार्जन एवं वितरण, कृषि, उद्योग, अधोसंरचना, सामाजिक क्षेत्र तथा सुशासन एवं कानून-व्यवस्था के अन्तर्गत प्रदेश की सामाजिक-आर्थिक व्यवस्था, नीतियों, उपलब्धियों, घोषणाओं और कार्य-कलापों का विश्लेषणात्मक विवेचन प्रस्तुत किया गया।
प्रति व्यक्ति आय में 9.71 प्रतिशत की वृद्धि
राज्य के सकल घरेलू उत्पाद के अनुमान वर्ष 2018-19 तैयार किये गये। इसमें गत वर्ष की तुलना में वृद्धि दर (स्थिर भावों पर) 7.04 प्रतिशत रही है। इसी क्रम में राज्य की प्रति व्यक्ति आय 2018-19 में 90 हजार 998 रूपये अनुमानित है, जो वर्ष 2017-18 की प्रति व्यक्ति आय 82 हजार 941 रूपये की तुलना में 9.71 प्रतिशत अधिक है।
जन्म-मृत्यु पंजीयन अब ऑनलाइन
राज्य में जन्म-मृत्यु पंजीयन के लिये आयुक्त आर्थिक एवं सांख्यिकी को मुख्य-पंजीयक का दायित्व सौंपा गया। इसे ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम पंचायतों और नगरीय क्षेत्र में नगर पालिका, नगर पंचायत, नगर निगम केच-मेंट बोर्ड तथा स्वास्थ्य संस्थाओं के माध्यम से जन्म-मृत्यु पंजीयन कराया जा रहा है। जन्म-मृत्यु पंजीयन अब ऑन लाइन किया जा रहा है। राज्य में वर्ष 2019 में जन्म पंजीयन 71.79 प्रतिशत और मृत्यु पंजीयन 74.71 प्रतिशत रहा।
विकास प्रक्रिया को दिशा और गति देने के प्रयास
राष्ट्रीय न्यादर्श सर्वेक्षण के अन्तर्गत क्षेत्रीय कार्यों के सर्वेक्षण, सारणीयन, अध्ययन और प्रतिवेदन तैयार करने तथा आर्थिक गणना जैसी गतिविधियाँ संचालित की गई। सर्वेक्षण के 77वें दौर में 1 जनवरी, 2019 से 31 दिसम्बर, 2019 तक परिवार की सूची, ऋण और निवेश, गृह भूमि और पशुपालन धारिता तथा कृषक घर की स्थिति के मूल्यांकन से संबंधित 537 सेंपल कार्य पूर्णता की ओर हैं। सांख्यिकी और आर्थिक विश्लेषण, अध्ययन, संवाद एवं सर्वे और उसकी व्याख्या, प्रतिवेदन तैयार करने तथा योजना निर्माण के माध्यम से प्रदेश में विकास प्रक्रिया को दिशा और गति देने के प्रयास वर्ष 2019 में ही शुरू किये गये हैं।

आदिवासी उपयोजना क्षेत्र में बने 2 लाख से अधिक प्रधानमंत्री आवास
11 January 2020
भोपाल.प्रदेश के आदिवासी उपयोजना क्षेत्र में पिछले एक वर्ष में 2 लाख से अधिक प्रधानमंत्री आवास बनाये गये। इस कार्य पर 1350 करोड़ रूपये से अधिक की राशि खर्च की गई। इसी तरह, निर्मल भारत अभियान के अन्तर्गत आदिवासी बहुल गाँवों में 2 लाख 63 हजार से अधिक अनुसूचित जनजाति परिवारों के घरों में शौचालयों का निर्माण किया गया, जिस पर करीब 172 करोड़ रूपये की राशि खर्च की गई।
राज्य सरकार ने आदिवासी उपयोजना क्षेत्र में स्व-रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के मकसद से मात्र एक साल में 5 हजार 693 अनुसूचित जनजाति स्व-सहायता समूहों को 7 करोड़ रूपये से अधिक की राशि राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से उपलब्ध कराई है। इसी के साथ 949 स्व-सहायता समूहों को सामुदायिक निवेश के रूप में करीब साढ़े 6 करोड़ रूपये की राशि प्रदान की गई। इन क्षेत्रों के 16 हजार 744 हितग्राहियों के स्व-सहायता समूहों को बैंक लिंकेज भी कराया गया।
ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क निर्माण
प्रदेश के 89 आदिवासी विकासखण्डों में पिछले एक वर्ष में 368 करोड़ अधिक की राशि खर्च कर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में 4521 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया गया। इन क्षेत्रों में मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के अन्तर्गत 245 करोड़ रूपये से अधिक की राशि खर्च कर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले करीब 15 लाख विद्यार्थियों को लाभान्वित किया गया।
सिचाईं रकबा बढ़ाने 50 हजार से अधिक कार्य
आदिवासी उपयोजना क्षेत्र में पिछले वर्ष सिचाई रकबे में वृद्धि के लिये डेम रिहेबिलिटेशन एण्ड इम्प्रूवमेंट परियोजना में 50847 कार्य कराये गये। आदिम जाति कल्याण विभाग ने डिण्डोरी मध्यम सिचाई, करंजिया मध्यम सिंचाई, हिरवार सूक्ष्म सिंचाई, माही, मुर्की, परकुल और कारम परियोजना, लोअर खरमोर के साथ सिंचाई से जुड़े अन्य निर्माण कार्यों पर 90 करोड़ रूपये की राशि खर्च की।

मंत्री श्री शर्मा और डॉ. साधौ केंसर सर्वाइवल मिलन समारोह में शामिल हुए
11 January 2020
भोपाल.चिकित्सा शिक्षा, आयुष एवं संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ और जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा एम.व्ही.एम. कालेज परिसर में कैंसर सर्वाइवल मिलन समारोह और जुबिन नौटियाल के शो में शामिल हुए। विधायक श्री कुणाल चौधरी और श्री आरिफ मसूद भी उपस्थित थे।
मंत्री डॉ. साधौ ने स्वर्गीय मदन मोहन जोशी द्वारा कैंसर रोगियों के इलाज के लिये किये गये कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जवाहरलाल नेहरू कैंसर संस्थान को पूर्ण सहयोग करेगी।

नौरादेही में पहली बार 3 शावकों के साथ कैमरे में ट्रेप हुई बाघिन
7 January 2020
भोपाल.सागर जिले के नौरादेही अभयारण्य ने भी पन्ना टाइगर पार्क की तरह बाघ पुनर्स्थापना में सफलता हासिल की है। बाघ शून्य हो चुके इस जंगल में अप्रैल-2018 में बाँधवगढ़ से बाघ और पेंच टाइगर रिजर्व से बाघिन को लाया गया था। बाघ को एन-2 और बाघिन को एन-1 नाम दिया गया। बाघिन एन-1 ने कुछ माह पूर्व ही 3 शावकों को जन्म दिया, जो गत दिवस अपनी माँ के साथ कैमरे में पहली बार ट्रेप हुए। इसी साल 526 बाघों के साथ टाइगर स्टेट बने मध्यप्रदेश के लिये यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है।
सागर, दमोह और नरसिंहपुर जिले के 900 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल वाले इस अभयारण्य में बड़ी संख्या में तेंदुआ, नीलगाय, चीतल, लकड़बग्घा, भालू और विभिन्न प्रकार के पक्षी पाये जाते हैं। कान्हा टाइगर रिजर्व के बराबर क्षेत्रफल वाले इस अभयारण्य में पिछले कई वर्षों से बाघ समाप्त हो चुके थे। वन विभाग ने कई सालों तक नौरादेही अभयारण्य को एक श्रेष्ठ वन्य-प्राणी रहवास क्षेत्र के रूप में विकसित करने के बाद बाँधवगढ़ टाइगर रिजर्व से एक बाघ और पेंच टाइगर रिजर्व के कर्मचारियों द्वारा पाली गई अनाथ बाघिन को यहाँ शिफ्ट किया।
बाघ एन-2 प्राकृतिक परिवेश में पला-बढ़ा था जबकि बाघिन पेंच टाइगर रिजर्व की मशहूर नाला बाघिन की बेटी थी। माँ की मृत्यु के बाद 3 माह की बाघिन को कान्हा के घोरेला एन्क्लोजर में पालने के बाद इसे दो वर्ष 3 माह की उम्र में नौरादेही अभयारण्य में छोड़ दिया गया था। मनुष्यों द्वारा पाली गई यह बाघिन बड़े जतन से अपने शावकों की रक्षा और पालन-पोषण कर रही है। कैमरे में ट्रेप हुए चित्र से स्पष्ट होता है कि तीनों शावक पूर्णत: स्वस्थ हैं और माँ उन्हें जंगली जीवन जीने के गुर सिखा रही है।

नदी, तालाब, कुओं के संरक्षण-संवर्धन की ठोस रणनीति बनायें
7 January 2020
भोपाल.लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने जल भवन में 'जल जीवन मिशन' क्रियान्वयन की कार्यशाला में कहा कि ग्रामीणों को घर तक नल से जल पहुँचाने की जिम्मेदारी को मिशन के रूप में निभायें। उन्होंने कहा कि नदी, तालाब और कुओं के संरक्षण और संवर्धन की ठोस रणनीति बनायें। श्री पांसे ने कहा कि राज्य सरकार ने 'राईट टू वाटर एक्ट' के जरिये सम्पूर्ण आबादी को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने की सार्थक पहल की है। इस मिशन का शत-प्रतिशत क्रियान्वयन सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी विभागीय अधिकारियों है।
मंत्री श्री पांसे ने अधिकारियों से कहा कि जल मिशन योजना के अन्तर्गत न सिर्फ लक्ष्यों की पूर्ति सुनिश्चित हो बल्कि योजनाओं से ग्रामीणों को दीर्घकालीन लाभ भी मिले। उन्होंने कहा कि योजना में आमजनों की सक्रिय सहभागिता और वित्तीय भागीदारी भी सुनिश्चित की जायेगी।
प्रमुख सचिव श्री संजय कुमार शुक्ला ने कहा कि ग्रामीण परिवारों को गुणवत्तायुक्त पेयजल घरेलू नल कनेक्शन के माध्यम से उपलब्ध कराना चुनौतीपूर्ण जरूर है लेकिन बेहतर प्लानिंग से इसे सफल बनाया जा सकता है। भारत सरकार के जल एवं स्वच्छता मंत्रालय के उप सचिव श्री मनोज साहू ने कहा कि जल-गुणवत्ता को सुनिश्चित करने के लिये हर गाँव में 5 महिलाओं को फील्ड टेस्ट किट के माध्यम से गुणात्मक जल परीक्षण का प्रशिक्षण दिलाया जायेगा। साथ ही, जिला एवं उपखण्ड स्तर पर कार्यरत जल परीक्षण प्रयोगशालाओं का चरणबद्ध तरीके से नेशनल ऐक्रेडिटेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग केलिब्रेशन लेबोरेटरीज (NABL) से प्रमाणीकरण कराया जायेगा।
कार्यशाला में प्रमुख अभियंता श्री सी.एस. संकुले, प्रमुख अभियंता (सलाहकार) श्री के.के. सोनगरिया, जल निगम के निदेशक श्री बी.एम. सोनी सहित सभी विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

नर्मदा-कालीसिंध परियोजना से घर-घर पहुँचेगा पेयजल - मंत्री श्री वर्मा
7 January 2020
भोपाल.लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने देवास जिले में सोनकच्छ विकासखण्ड के ग्राम गंधर्वपुरी में 'आपकी सरकार-आपके द्वार' कार्यक्रम में बताया कि 4 हजार करोड़ लागत की नर्मदा-कालीसिंध लिंक परियोजना के जरिये गाँव-गाँव, घर-घर पाईप लाइन से पेयजल पहुँचेगा। उन्होंने कहा कि नई सरकार ने क्षेत्र की पेयजल समस्या के निराकरण के लिये सबसे पहले यह परियोजना स्वीकृत की है।
मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि राज्य सरकार मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में आम जनता के हित में काम कर रही है। यह सरकार लोगों के सुख-दुख में सदैव उनके साथ रहती है और उनकी समस्याओं के निराकरण के लिये पूरी तरह प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों की समस्याओं का गाँव में ही निराकरण सुनिश्चित करने के उद्देश्य से नई सरकार ने 'आपकी सरकार-आपके द्वार' कार्यक्रम शुरू किया है।
लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश को स्वच्छ, स्वस्थ और सुरक्षित बनाने के लिये हम कृत-संकल्पित हैं। इसी क्रम में प्रदेश के विभिन्न शहरों में भू-माफिया, गुण्डा तत्वों और अवैध गतिविधियों में संलिप्त लोगों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जा रही है।
'आपकी सरकार-आपके द्वार' कार्यक्रम में कलेक्टर डॉ. श्रीकांत पाण्डेय ने ग्रामीणों से कहा कि वे अपनी समस्याएँ बेहिचक विभागीय अधिकारियों के सामने रखें ताकि उनका मौके पर ही निराकरण किया जा सके।
मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने शिविर में आचार्य श्री विद्यासागर गौ-संवर्धन योजना में हितग्राहियों को अनुदान प्रमाण-पत्र वितरित किये और ग्राम काछी गुराडिया के हितग्राहियों को पट्टे वितरित किये। शिविर में जन-प्रतिनिधि, अधिकारी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

सभी श्रेणी की कर प्रणाली को सरल और सुगम बनाने का साल रहा-2019
6 January 2020
भोपाल.राज्य सरकार ने पिछले एक वर्ष में सभी श्रेणी के करदाताओं के लिये कर प्रणाली को सरल और सुगम बनाया है। अब कम्प्यूटर प्रणाली से जीएसटी सिस्टम में पंजीयन की कार्यवाही की जा रही है। जीएसटी में अनिवार्य पंजीयन के लिये एक जुलाई 2019 से करदाताओं की वार्षिक टर्नओव्हर सीमा को 20 लाख से बढ़ाकर 40 लाख किया गया। वेट अधिनियम में 2,90,457 पंजीबद्ध करदाता एक जुलाई 2017 को जीएसटी में माइग्रेट हुए थे। इनकी संख्या बढ़कर अब 4 लाख 17 हजार से ज्यादा हो गई है। अप्रैल 2019 के बाद से अब तक जीएसटी में 41 हजार 136 नये पंजीयन जारी किये गये।
कम्पोजिशन की सुविधा
सालाना डेढ़ करोड़ तक टर्नओव्हर वाले छोटे निर्माता करदाताओं को कम्पोजिशन की सुविधा का विकल्प दिया गया, जिसमें उन्हें हिसाब रखने से छूट दी गई। त्रैमासिक कर चुकाने और वार्षिक विवरणी की सुविधा देने के लिये जीएसटी के नियमों में जरूरी बदलाव किये गये। सभी करदाताओं को प्रतिमाह वापसी के आवेदन करने की सुविधा दी गई। अब करदाता गलती से कर की राशि किसी अन्य हेड में जमा होने पर वापसी के लिये स्वयं ही उसे सही हेड में ट्रांसफर कर सकेंगे।
जीएसटी प्रणाली का कम्प्यूटरीकरण
पिछले एक वर्ष में लगभग 22 करोड़ 30 लाख रुपये वाणिज्यिक कर राजस्व अर्जित किया गया। जीएसटी लागू होने के बाद इसमें समाहित मालों पर वर्ष 2015-16 में प्राप्त राजस्व के आधार पर प्रतिवर्ष 14 प्रतिशत की वृद्धि दर से क्षतिपूर्ति देने का प्रावधान किया गया। इस दौरान रिटर्न कम्प्लाइंस का प्रतिशत भी 81 से बढ़कर 90 हो गया। एक साल में 8208 रिफण्ड आवेदन का निराकरण किया गया और 427 करोड़ की क्लेम राशि की वापसी स्वीकार की गई। जीएसटी प्रणाली कम्प्यूटरीकृत की गई। व्यवसायिक संगठनों, व्यवसाइयों, कर सलाहकारों आदि को प्रणाली के बारे में 1200 कार्यशालाओं में पूरी जानकारी दी गई।
कर की दरों में कमी
प्रदेश में वर्ष 2019 में वाणिज्यिक कर की दरों में कमी की गई। इलेक्ट्रिक व्हीकल पर 12 से घटाकर 5 प्रतिशत, इनके चार्जर पर 18 से घटाकर 5 प्रतिशत और दोना-पत्तल पर 5 से घटाकर जीरो प्रतिशत कर निश्चित किया गया। रियल एस्टेट सेक्टर को बढ़ावा देने के लिये अफोर्डेबल हाउसिंग (45 लाख के मूल्य तक) कर की दर 8 से घटाकर एक प्रतिशत की गई। नान अफोर्डेबल हाउसिंग पर कर की दर 12 से घटाकर 5 प्रतिशत की गई। करदाताओं के लिये कार्यालयों में 100 हेल्प डेस्क की सुविधा सुनिश्चित की गई।
डीम्ड कर निर्धारण योजना
करदाताओं को कार्यालय में बुलाये बिना प्रकरणों के निराकरण के लिये डीम्ड कर निर्धारण योजना लागू की गई। इसमें उन प्रकरणों का निराकरण किया जा रहा है, जिनमें स्व-कर निर्धारण संभव नहीं है। योजना में वर्ष 2017-18 के प्रथम त्रैमास के 3,27,178 प्रकरणों का निराकरण किया गया। स्व-कर निर्धारण सुविधा में वेट और जीएसटी लागू होने के पूर्व वर्ष 2017-18 की प्रथम तिमाही के 3,12,102 प्रकरणों का निराकरण किया गया। एनफोर्समेंट कार्यवाही में 879 पंजीबद्ध करदाताओं को चिन्हित कर उनके व्यवसाय स्थल की जाँच कर 342 पंजीयन निरस्त किये गये और 30 करोड़ रुपये कर जमा कराया गया। परिवहित मालों की जाँच की कार्यवाही में 27 करोड़ से ज्यादा की शास्ति वसूल की गई।
पंजीयन मुद्रांक राजस्व संग्रहण में 10.20 और 13 प्रतिशत की वृद्धि
प्रदेश में पिछले वित्त वर्ष में करीब 5305 करोड़ और और इस वित्त वर्ष में अब तक करीब 3922 करोड़ पंजीयन एवं मुद्रांक राजस्व संग्रहण किया गया। यह संग्रहण गत वर्षों की तुलना में क्रमश: 10.20 और 13 प्रतिशत अधिक रहा। पारिवारिक बँटवारे के दस्तावेजों पर स्टाम्प शुल्क की दर को ढाई से घटाकर आधा प्रतिशत किया गया। महिलाओं को सभी सम्पत्तियों में सह-स्वामी बनाने की पहल शुरू की गई। स्टाम्प शुल्क की दर शहरी क्षेत्र में 5.9 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्र में 2.9 प्रतिशत से घटाकर एकजाई 1100 रुपये की गई।
गाइड लाइन दरों में 20% की उल्लेखनीय कमी
राज्य शासन ने प्रचलित बाजार मूल्य गाइडलाइन की स्थलवार दरों को एक जुलाई 2019 से पूरे प्रदेश में 20 प्रतिशत घटाकर लागू किया। इससे आम जनता का अपना घर बनाने का सपना साकार हुआ और रियल एस्टेट को भी बढ़ावा मिला। नगर निगम/नगर पालिका/ नगर पंचायत क्षेत्र में क्रमश: एक हजार, पाँच सौ और तीन सौ वर्ग मीटर तक कृषि भूमि के मामले में भू-खण्ड के मान से मूल्यांकन के प्रावधान को सरल किया गया। फलस्वरूप कृषि भूमि की खरीदी-बिक्री को बढ़ावा मिला। अब किसान अपनी जमीन का एकमुश्त क्रय-विक्रय कर सकेंगे। पुराने भवनों की खरीद-बिक्री में भवन की आयु के अनुरूप छूट देने का प्रावधान लागू किया गया। अब भवन की आयु 10 से 20 वर्ष तक होने पर 20 प्रतिशत और इसके आगे प्रत्येक पाँच वर्ष के लिये 5 प्रतिशत के साथ अधिकतम 50 प्रतिशत छूट का प्रावधान किया गया।
'सम्पदा' सॉफ्टवेयर का उन्नयन
प्रचलित 'सम्पदा' सॉफ्टवेयर का उन्नयन कर इसमें नई तकनीक का उपयोग करते हुए आम जनता के लिये उपयोगी बनाने का निर्णय लिया गया। इसके उपयोग से पक्षकार खुद अपने दस्तावेज का ऑनलाइन पंजीयन करा सकेंगे। पंजीकृत दस्तावेजों के प्रारूप वेबसाइट पर उपलब्ध रहेंगे। बैंकों में बंधक विलेखों के पंजीयन की सुविधा बैंक अधिकारियों को प्रदान करने का भी निर्णय लिया गया। इससे आम आदमी को उप पंजीयक कार्यालय आने की जरूरत नहीं होगी।
सभी गाइडलाइन क्षेत्र जीपीएस से टैग करने का निर्णय
प्रदेश के समस्त गाइडलाइन क्षेत्रों को जीपीएस से टैग करने का निर्णय लिया गया। इससे कोई भी व्यक्ति मध्यप्रदेश के किसी भी क्षेत्र में नये मोबाइल एप से अंचल सम्पत्ति की दर जान सकेगा। जिस जगह पर व्यक्ति खड़ा होगा, उस क्षेत्र की गाइडलाइन दरों के साथ आसपास के महत्वपूर्ण क्षेत्रों की जानकारी भी ले सकेगा। इस व्यवस्था से राजस्व अर्जन की दृष्टि से सम्पत्ति की फोटो मोबाइल एप में लेने पर कर अपवंचन की स्थिति नहीं बनेगी।
सम्पदा परियोजना से जुड़ेंगे सभी संबंधित विभाग
सम्पदा परियोजना को भू-अभिलेख, नगरपालिका, टाउन एण्ड कन्ट्री प्लानिंग आदि विभागों के सॉफ्टवेयर से जोड़ने का निर्णय लिया गया। इससे यह पता लगाया जा सकेगा कि क्रय-विक्रय की जाने वाली भूमि शासकीय, वक्फ बोर्ड, धार्मिक ट्रस्ट (मंदिर, मस्जिद, चर्च आदि) की तो नहीं है। इससे भूमि संबंधी विवादों में कमी आयेगी और शासन की सार्वजनिक सम्पत्ति तथा धार्मिक स्थल आदि की सम्पत्ति सुरक्षित रह सकेगी। यह परियोजना प्रारंभ होने के पूर्व के भौतिक रूप से पंजीकृत दस्तावेजों का डिजिटाईजेशन भी कराया जा रहा है। यदि सम्पत्ति पर कोई भार है, तो उसकी जानकारी अब बेहतर तरीके से प्राप्त हो सकेगी। इस परियोजना का आधार से एकीकरण करने के फलस्वरूप दस्तावेजों का पंजीयन कराये जाने में गवाहों की आवश्यकता नहीं होगी। इससे पंजीयन की कार्यवाही में पारदर्शिता आयेगी।
वन क्षेत्रों में रिसोर्ट बार लायसेंस फीस में कमी
वन क्षेत्रों और कम आबादी के पर्यटन क्षेत्रों में अवैध शराब की गतिविधियों को रोकने के लिये रिसोर्ट बार (एफ एल-3) के लायसेंस की फीस कम कर दी गई है। फलस्वरूप बाँधवगढ़, कान्हा और अन्य वन क्षेत्रों में रिसोर्ट बार खोलने के 13 नये प्रस्ताव राज्य शासन को प्राप्त हुए। मदिरा पर लगने वाले टैक्स को 5 से बढ़ाकर 10 प्रतिशत किया गया। इससे साल भर में 250 करोड़ का अतिरिक्त राजस्व प्राप्त होगा। रेस्तरां बार लायसेंस और होटल बार लायसेंस के लिये जीएसटी को अनिवार्य कर दिया गया है। विशिष्ट श्रेणी के होटलों के लिये यह प्रावधान किया गया कि उनके द्वारा ऑनलाइन आवेदन और निर्धारित फीस जमा करने के एक सप्ताह के भीतर लायसेंस का रिन्यूवल हो जाये अन्यथा डीम्ड बार लायसेंस जारी किया जाना माना जायेगा। विदेशी मदिरा विक्रय के लिये जारी विभिन्न लायसेंसों, विनिर्माणी इकाइयों के लायसेंसों और अन्य लायसेंसों की फीस में वृद्धि भी की गई।
अवैध मदिरा निर्माण, परिवहन, भण्डारण के 61,511 प्रकरणों में कार्यवाही
इस वित्त वर्ष में आबकारी ठेकेदारों के विरुद्ध अनियमितता के 62 हजार 932 और अवैध रूप से मदिरा निर्माण, परिवहन, भंडारण और विक्रय करने वालों के विरुद्ध 61 हजार 511 प्रकरण पंजीबद्ध कर कार्यवाही सुनिश्चित की गई। अवैध मदिरा परिवहन में उपयोग में लाये गये 432 वाहन जप्त किये गये हैं। साथ ही, हरियाणा और पंजाब राज्य से आने वाली अवैध मदिरा भी बड़ी मात्रा में जप्त की गई।

उद्योगों के लिये स्थायी निवासियों को 70% रोजगार देना अनिवार्य
6 January 2020
भोपाल.राज्य शासन ने उद्योग सवंर्धन नीति में नवीन संशोधन/प्रावधान करते हुए औद्योगिक इकाइयों को अतिरिक्त सुविधाएँ देने का निर्णय लिया है। साथ ही, औद्योगिक इकाइयों में प्रदेश के स्थायी निवासियों को 70 प्रतिशत रोजगार दिया जाना अनिवार्य किया गया है।
प्रदेश में जीएसटी व्यवस्था लागू होने से वृहद श्रेणी के उद्योगों को देय टैक्स सहायता निरंतर दिये जाने के संबंध में प्रक्रिया का पुनर्निर्धारण किया गया है। उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये प्रदेश की नई सरकार ने औद्योगिक प्रयोजन के लिये आपसी सहमति से निजी भूमि अर्जन के लिए लैंड पूलिंग पॉलिसी भी लागू कर दी है।
राज्य सरकार ने जवाहर लाल नेहरू बंदरगाह मुम्बई को इन्दौर से रेल मार्ग द्वारा जोड़ने के लिये इक्विटी अंशदान के रूप में 15 प्रतिशत की सहभागिता सुनिश्चित की है। इसमें इंदौर से मनमाड़ तक रेल परियोजना का क्रियान्वयन होगा। परियोजना से प्रदेश में उत्पादित माल का परिवहन सुगम हो सकेगा। औद्योगिक इकाइयों को उनके परिसरों में रूफटॉफ पर सौर फोटोवोल्टाईक पावर प्लांट के माध्यम से हरित एवं सस्ती ऊर्जा उपलब्ध कराने का भी निर्णय लिया गया है। इसके पहले चरण में मंडीदीप और पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र में योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है।

नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह द्वारा इंदौर में ट्रैचिंग ग्राउण्ड का अवलोकन
6 January 2020
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने इंदौर में ट्रेचिंग ग्राउण्ड स्थित मटेरियल रिकवरी फेसिलिटी फेज-1 (एमआरएफ फेज-1) का अवलोकन किया। उन्होंने 56 दुकान क्षेत्र का स्मार्ट सिटी योजना के तहत 4.50 करोड की लागत से पुनरूद्धार कार्य की जानकारी ली तथा 56 दुकान क्षेत्र में व्यापारिक एसोसिएशन के पदाधिकारियों व व्यापारियों से चर्चा की।
मंत्री श्री सिंह ने ट्रेंचिंग ग्राउण्ड पर स्थित 300 टन क्षमता के मटेरियल रिकवरी फेसिलिटी फेज-1 (ऑटोमेटेड ड्रायवेस्ट कचरा सेग्रिकेशन) प्लांट का निरीक्षण किया। नगर निगम आयुक्त श्री आशीष सिंह ने प्लांट से संबंधित जानकारी विस्तार से दी। उन्होंने बताया कि किस प्रकार से शहर से एकत्रित होने वाला सूखा कचरा प्लांट में लाया जाता है और यहाँ किस प्रकार से मशीन के माध्यम से 13 प्रकार के कचरे को अलग-अलग किया जाता है। इसमें चमड़ा, कांच की बॉटल, कचरा, कागज, कत्ता, प्लास्टिक की थैलियां, पाउच व अन्य प्रकार का सूखा कचरा प्लांट मशीनों के माध्यम से स्वतः पृथक्-पृथक् हो जाता है। एजेंसी को निगम द्वारा सूखा कचरा उपलब्ध कराया जाता है, साथ ही एजेंसी द्वारा निगम को प्रतिवर्ष निर्धारित राशि दी जा रही है।
मंत्री श्री सिंह को बताया गया कि 56 दुकान क्षेत्र में गार्डन, कव्हर्ड एरिया फॉर सिटिंग, फाउण्टेन, पब्लिक परफार्मेंस एरिया, डिजिटल स्क्रीन डिस्प्ले के लिये, 56 दुकान स्थित दुकानो की एकरूपता तथा बाहर के साईन बोर्ड भी एक रूप के रहेंगे, शुद्ध पीने का पानी, पार्किंग व्यवस्था आदि सुविधा के साथ यह क्षेत्र नो व्हीकल झोन भी रहेगा। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि इंदौर की निगम परिषद व इंदौर की जनता ने स्वच्छता के लिये बहुत ही अच्छा कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इंदौर ने स्वच्छ सर्वेक्षण के लिये बहुत ही अच्छी तैयारी की है, मुझे पूरा विश्वास है कि इंदौर स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में फिर नंबर वन शहर बनेगा।
श्री सिंह ने कहा कि 56 दुकान का नाम पूरे देश में है। यहाँ कई प्रदेश व शहरों के लोग आते हैं। जिस प्रकार से गुडगांव में सायबर हब है, न्यूयार्क में टाईम स्क्वायर है, उसी तर्ज पर इंदौर के 56 दुकान का पुनरूद्धार किया जाएगा। मंत्री श्री सिंह द्वारा आई बस को हरी झंडी दिखाकर शुभारम्भ किया गया।

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में प्लास्टिक के विरुद्ध शपथ बोर्ड
5 January 2020
भोपाल.प्लास्टिक के उपयोग से पर्यावरण पर होने वाले दुष्प्रभावों से लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में नये वर्ष 2020 के आगमन पर पर्यटकों के लिये एक शपथ बोर्ड लगाया गया है।इसमें पर्यटकों को वन, वन्य प्राणी और पर्यावरण के संकल्प का संदेश दिया गया है। इसमें प्रबंधन द्वारा पर्यटकों को प्लास्टिक का सीमित उपयोग करने के साथ प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग कम करने, दोबारा उपयोग और पुन: रिसाईकिल के लिए प्रेरित किया गया है। शपथ बोर्ड वन विहार के दोनों गेट पर लगाया गया है।
संचालक श्रीमती कमलिका मोहन्ता ने बताया कि पॉलिथिन और प्लास्टिक का बढ़ता उपयोग पर्यावरण के साथ मनुष्य की सेहत के लिये हानिकारक है। पशुओं को अक्सर पन्नी खाने के बाद घातक रूप से बीमार होते देखा गया है। प्लास्टिक शहरों में ड्रेनेज सिस्टम बिगाडने के साथ ये भू-जल स्तर को भी गिराता है। श्रीमती मोहन्ता ने पर्यटकों से अपील की है कि वे शपथ का अपने जीवन में भी पालन कर पर्यावरण सन्तुलन स्थापित करने में सहयोग दें।

सहस्त्रधारा को वॉटर स्पोर्ट्स के लिये विकसित किया जाएगा : मंत्री डॉ. साधौ
5 January 2020
भोपाल.चिकित्सा शिक्षा, आयुष एवं संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ खरगौन जिले में सहस्त्रधारा (जलकोटी)में आयोजित सातवीं राष्ट्रीय कायकिंग और कैनोइंग चैम्पियनशिप के समापन कार्यक्रम में शामिल हुईं। डॉ. साधौ ने कहा कि कायकिंग और कैनोइंग प्रतियोगिता के लिये यह ट्रैक विश्व-स्तरीय साबित हुआ है। इसे वॉटर स्पोर्ट्स के लिये विकसित किया जाएगा।
कार्यक्रम में भारतीय कायकिंग और कैनोइंग एसोसिएशन के अधिकारी श्री प्रशांत कुशवाहा ने बताया कि अब तक आयोजित 7 राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में 6 प्रतियोगिताएँ सहस्त्रधारा के ट्रैक पर आयोजित की गई। इसलिये कई एसोसिएशन की निगाह इस ट्रैक पर है।
मंत्री डॉ. साधौ शनिवार को मण्डलेश्वर में उमिया कन्या शिक्षा महाविद्यालय के वार्षिकोत्सव और महेश्वर में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के स्नेह सम्मेलन में भी शामिल हुईं।

साँची में विश्व बौद्ध संग्रहालय और शिक्षण संस्थान की स्थापना होगी >
5 January 2020
भोपाल.भोपाल से कोलम्बो (श्रीलंका) सीधी विमान सेवा शुरू की जाएगी। साँची में विश्व बौद्ध संग्रहालय और शिक्षण संस्थान की स्थापना का काम जल्द शुरू किया जाएगा। मध्यप्रदेश के आध्यात्म मंत्री श्री पी.सी. शर्मा की कोलम्बो में श्रीलंका सरकार के विदेश मंत्री श्री दिनेश गुणवर्धने के साथ हुई बैठक में यह निर्णय लिए गए। बैठक में महाबोधि सोसायटी के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री भिक्खु वानगल उपतिस्स नायक थेरो और मध्यप्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव उपस्थित थे।
बैठक में श्रीलंका के विदेश मंत्री श्री गुणवर्धने ने कहा कि भारत सरकार द्वारा भोपाल से कोलम्बो विमान सेवा शुरू करने की पहल स्वागत योग्य है। उन्होंने कहा कि श्रीलंका सरकार कोलम्बो से भोपाल के लिये सीधी विमान सेवा शुरू करने के लिए तैयार है। श्रीलंका के विदेश मंत्री ने कहा कि श्रीलंका से लाखों यात्री भोपाल और साँची जाते हैं। भोपाल-कोलम्बो के बीच डायरेक्ट एयर कनेक्टिविटी से लाखों लोगों को लाभ होगा।
बैठक में आध्यात्म विभाग द्वारा साँची में विश्व बौद्ध संग्रहालय और शिक्षण संस्थान, भिच्छु प्रशिक्षण और बुद्धिस्ट चेन्टिंग सेंटर की स्थापना पर विस्तृत चर्चा हुई। विश्व बौद्ध संग्रहालय और शिक्षण संस्थान के प्रोजेक्ट को प्रस्तुत किया गया। बौद्ध संग्रहालय और शिक्षण संस्थान में बौद्ध दर्शन, बौद्ध विज्ञान, बौद्ध कला एवं संस्कृति और बौद्ध समारोह के साथ दुनिया के विभिन्न देशों में स्थित बौद्ध धर्म के तीर्थ, बौद्ध धर्म की परम्पराएं एवं बौद्ध धर्म को मानने वालों की जीवन और कला शैली को शामिल किया गया है। मंत्री श्री शर्मा ने बताया है कि श्रीलंका के विदेश मंत्री श्री गुणवर्धने ने प्रोजेक्ट को वित्तीय समर्थन देने की स्वीकृति प्रदान की है।
आध्यात्म मंत्री श्री शर्मा ने बताया कि भारत में श्रीलंका और श्रीलंका में भारत के लोक कल्याण, लोक कला और संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों के नियमित आयोजनों का सिलसिला भी शुरू किया जाएगा। श्रीलंका के विदेश मंत्री ने कहा कि आयोजनों को शुरू करने संबंधी प्रस्ताव पर चर्चा करने श्रीलंका सरकार सांस्कृतिक दल को मध्यप्रदेश भेजेगी।
मंत्री श्री शर्मा ने महाबोधि सोसाइटी के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री भिक्खु वानगल उपतिस्स नायक थेरो को 70वें जन्म-दिवस पर बधाई दी। श्री उपतिस्स का भारत और विशेषकर मध्यप्रदेश में साँची बौद्ध केन्द्र से सतत संपर्क रहा है। मंत्री श्री शर्मा ने बताया कि महाबोधि सोसाइटी भारत में आजादी के बहुत पहले से कार्यरत है। श्रीलंका में महाबोधि सोसायटी का आज 40वां स्थापना दिवस होने पर महाबोधि सोसायटी के अध्यक्ष को उन्होंने बधाई दी।

गुफा मंदिर में श्रीराम कथा की तैयारियाँ समय पर पूरी करें : मंत्री श्री शर्मा
2 January 2020
भोपाल.आध्यात्म मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने निर्देश दिये हैं कि गुफा मंदिर में 6 जनवरी से प्रारंभ हो रहे श्रीराम कथा महोत्सव की सभी तैयारियाँ समय पर पूरी करें। उन्होंने कहा कि दो दिन में लालघाटी से गुफा मंदिर को जोड़ने वाली सड़क की मरम्मत करायें। मंदिर परिसर में साफ-सफाई और पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था करें। मंदिर परिसर में सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए जाएं।
गुफा मंदिर महंत श्री चन्द्रमा दास त्यागी ने बताया कि 6 जनवरी से 14 जनवरी तक रोजाना दोपहर बाद 2 बजे से शाम 5 बजे तक राम कथा होगी। बैठक में गुफा मंदिर महंत श्री चन्द्रमा दास त्यागी, पूर्व महापौर श्री सुनील सूद, पूर्व नगर निगम सभापति श्री कैलाश मिश्रा मौजूद थे।


मंत्री श्री शर्मा के मुख्य आतिथ्य में महिला आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर आज
2 January 2020
भोपाल.मंत्रालय स्थित सरदार पटेल पार्क में तीन दिसम्बर को महिला आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा। मंत्रालयीन कर्मचारी संघ द्वारा भोपाल पुलिस के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम में जनसम्‍पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा मुख्य अतिथि होंगे। शिविर में दोपहर 12 से 2 बजे तक महिला कर्मचारियों और उनकी बेटियों को आत्मरक्षा की फिजिकल ट्रेनिंग दी जाएगी। साथ ही, जागरूकता, सतर्कता और महिला अपराधों से संबंधित कानूनी प्रावधानों की जानकारी भी दी जाएगी।



मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के डेटा सेंटर को विश्वस्तरीय आईएसओ प्रमाण-पत्र मिला
2 January 2020
भोपाल.मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के डेटा सेंटर को विश्वस्तरीय आईएसओ-27001:2013 प्रमाण-पत्र मिला है। कंपनी के प्रबंध संचालक श्री विशेष गढ़पाले ने प्रमाण-पत्र प्राप्त किया। प्रमाण-पत्र डेटा सेंटर को सूचना के बेहतर प्रबंधन के लिये प्रणाली की स्थापना, कार्यान्वयन, रख-रखाव और सूचना के लगातार सुधार के आवश्यक प्रावधान के लिये दिया गया है। ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने आईएसओ प्रमाण-पत्र मिलने पर कंपनी के अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है।
कंपनी के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग अंतर्गत स्थित डेटा सेंटर को विश्व स्तर पर सम्मानित एवं मान्यता प्राप्त मानक द्वारा प्रमाणित किया गया है। यह एक कठिन मानक है, जिसे प्राप्त करने के लिये कंपनी में सूचना प्रौद्योगिकी सम्बन्धी कड़े नियम एवं पॉलिसी बनाई गई है। यह मानक भारत की गिनी-चुनी वितरण कंपनियों जैसे बीएसईएस दिल्ली, टाटा पॉवर दिल्ली, महाराष्ट्र विद्युत वितरण एंव सीएएससी कोलकत्ता आदि को ही प्राप्त है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इस मानक को प्राप्त करने वाली मध्य प्रदेश की पहली वितरण कंपनी बन गई है। इस मानक के द्वारा यह प्रमाणित है कि कंपनी में उपभोक्ताओं एवं कर्मचारियों से संबंधित सभी डेटा पूरी तरह सुरक्षित है।

वर्ष के अंत तक पूरा हो जायेगा शैल चित्रों का दस्तावेजीकरण
2 January 2020
भोपाल.संस्कृति विभाग के पुरातत्व संचालनालय द्वारा प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों के चित्रित शैलाश्रयों का दस्तावेजीकरण और संरक्षण वर्ष 2020 के आखिर तक पूरा कर लिया जायेगा।
उल्लेखनीय है कि राजधानी भोपाल में श्यामला हिल्स तथा मनुआभान की टेकरी और रायसेन जिले में भीम बैठका, साँची, खरवई, पेनगवां, रायसेन किले के पास रामछज्जा, बारला आदि स्थानों के चित्रित शैलाश्रय पर्यटकों और पुरातत्व प्रेमियों के आकर्षण का केन्द्र हैं। हजारों वर्ष पहले ये शैलाश्रय आदि मानव का बसेरा रहा है।
पुरातत्व संचालनालय ने इन शैलाश्रयों की सूची तैयार कर विधिवत सर्वेक्षण की पहल की है। इन सभी स्थानों का दस्तावेजीकरण (डॉक्यूमेन्टेशन) करने के पश्चात इनके संरक्षण के कार्य को अंजाम दिया जायेगा। सभी शैलाश्रयों से संबंधित विस्तृत विवरण 5 खंडों में प्रकाशित किया जायेगा। पुरातत्व संचालनालय ने प्रदेश में विभिन्न स्मारकों के संरक्षण और अनुरक्षण का कार्य भी करवाया है।

ओरछा को बनाएंगे विकसित पर्यटन केन्द्र : मंत्री श्री राठौर
31 December 2019
भोपाल.वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने सुप्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल ओरछा में करीब 7 करोड़ लागत के निर्माण एवं विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि ओरछा को विकसित पर्यटन केन्द्र बनाया जाएगा।
मंत्री श्री राठौर ने कहा कि ओरछा क्षेत्र आध्यात्मिक समृद्धि के साथ-साथ ऐतिहासिक धरोहरों का धनी है। उन्होंने बताया कि ओरछा की पहचान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्थापित करने के लिये आगामी मार्च माह में भव्य ओरछा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। श्री राठौर ने कहा कि ओरछा नगर को खूबसूरत बनाने के साथ-साथ यहाँ के रहवासियों को सभी आवश्यक सुविधाएँ मुहैया कराने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि ओरछा में शीघ्र ही सुव्यवस्थित हाट-बाजार बनाया जाएगा, जिसमें सभी तरह के छोटे-बड़े दुकानदारों के लिये स्थान सुरक्षित रहेगा।
कार्यक्रम में स्थानीय जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित थे।

ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने दी नूतन वर्ष की बधाई
31 December 2019
भोपाल.ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने प्रदेशवासियों को नूतन वर्ष- 2020 की बधाई एवं शुभकामनाएँ दी हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बिजली उपभोक्ताओं को निरंतर सस्ती बिजली उपलब्ध करवाने के हर संभव प्रयास कर रही है।
श्री सिंह ने आग्रह किया है कि बिजली उपभोक्ता नये वर्ष में बिजली का दुरूपयोग रोकने और समय पर बिजली बिल का भुगतान करने का संकल्प लें।


मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने नागरिकों को दी नव-वर्ष की शुभकामनाएँ
31 December 2019
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने नागरिकों को नव-वर्ष 2020 की शुभकामनाएँ दी हैं। श्री सिंह ने कहा है कि सरकार शहरों के सर्वांगीण विकास के लिए कृत संकल्पित है।
श्री सिंह ने नागरिकों से शहर को स्वच्छ रखने में सहयोग करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि शहर के हर घर में पाइप लाइन से पेयजल उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है।


जलसंसाधन मंत्री श्री कराड़ा एवं नगरीय विकास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने
28 December 2019
भोपाल.जल संसाधन मंत्री श्री हुकुम सिंह कराड़ा एवं नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने आज शाजापुर में 2215.64 करोड़ रूपये की नर्मदा क्षिप्रा लिंक परियोजना, 13 करोड़ रूपये लागत की नर्मदा जलावर्धन योजना तथा 92 करोड़ के सीवेज ट्रीटमेंट योजना के कार्यों का भूमिपूजन किया। इससे अगले ढाई वर्षों में शाजापुर के नागरिकों को घर-घर प्रतिदिन नर्मदा का जल मिलने लगेगा। साथ ही शाजापुर नगर के लिए विश्व बैंक की सहायता से स्वीकृत सीवेज ट्रीटमेंट योजना से नगर की हर गली और मोहल्ले स्वच्छ होंगे।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में जलसंसाधन मंत्री श्री कराड़ा ने कहा कि नर्मदा क्षिप्रा लिंक का काम लगभग दो से ढाई साल के भीतर पूरा कराकर शाजापुर के नागरिकों को पानी पिलायेंगे। उन्होंने कहा कि रबी की सिंचाई से चीलर डेम के खाली होने के बाद इसे नर्मदा के जल से पुनः भरने और इस पानी को तीसरी फसल के लिए किसानों को देने की योजना भी बनाई जा रही है। नर्मदा क्षिप्रा लिंक से मक्सी एवं शाजापुर क्षेत्र के किसानों को लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में लगभग एक हजार गौ-शालाएं इस वर्ष बनकर तैयार हो जायेगी। नागरिक जो जलकर आज दे रहे हैं, वही जलकर की दर बाद में भी रहेगी।
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि नर्मदा क्षिप्रा लिंक से शाजापुर एवं मक्सी नगर को पेयजल के लिए पानी उपलब्ध होगा। साथ ही इस योजना से किसानों को सिंचाई के लिए पानी भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि शाजापुर नगर के लिए लगभग 92 करोड़ की सीवेज ट्रिटमेंट योजना से नगर की गंदगी दूर होगी। इस योजना से प्रत्येक घर को जोड़ा जायेगा। शहर में योजना के क्रियान्वयन के उपरांत खुली नालियां नहीं रहेंगी। शहर के लगभग 12500 मकानों में नर्मदा जल वितरण के लिए कनेक्शन दिया जायेगा और प्रतिदिवस जलप्रदाय भी होगा।
इस मौके पर उन्होंने शाजापुर नगर के लिए बड़ा हाट बाजार बनाने के लिए एक करोड़ रूपये तथा गरीब व्यक्तियों के ठहरने के लिए आश्रय स्थल निर्माण के लिए एक करोड़ रूपये प्रदान करने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने कहा कि शाजापुर नगर में ट्रांसपोर्ट नगर एवं आधुनिक बस स्टेण्ड निर्माण के लिए नगर पालिका को जमीन उपलब्ध करा दी जायेगी तो इसके निर्माण में जितनी भी राशि की जरूरत होगी, उतनी राशि दी जायेगी।
इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती शीतल भट्ट, जिला पंचायत सदस्य श्री राजकुमार कराड़ा, श्री रामवीर सिंह सिकरवार, श्री गोविन्द शर्मा, नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि श्री क्षितिज भटट्, पूर्व विधायक आगर श्रीमती शकुन्तला चौहान सहित बड़ी संख्या में आसपास के क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
आजीविका मिशन की प्रदर्शनी का अवलोकन
कार्यक्रम स्थल पर राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत कार्यरत् स्वसहायता समूहों द्वारा उनके उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई गयी। इस प्रदर्शनी का अवलोकन नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह एवं जलसंसाधन मंत्री श्री हुकुम सिंह कराड़ा ने किया। इस मौके पर नगर के 175समूहों के लिए स्वीकृत अनुदान राशि 45 लाख रूपये का चेक भी स्वसहायता समूहों को प्रदान किया गया।
फायर ब्रिगेड वाहन का लोकार्पण
शाजापुर नगर की नर्मदा क्षिप्रा लिंक जलावर्धन योजना के भूमि पूजन अवसर पर नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने शाजापुर नगर के फायर ब्रिगेड वाहन का लोकार्पण फीता काटकर एवं वाहन चलाकर किया। इस मौके पर जलसंसाधन मंत्री श्री हुकुम सिंह कराड़ा सहित अन्य अतिथि वाहन में सवार हुए।

किलों के शहर माण्डवगढ़ में 5 दिवसीय "माण्डू फेस्टिवल शुरू
28 December 2019
भोपाल.प्रदेश की ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत को संजोए धार जिले के किलों के शहर माण्डवगढ़ में आज 5 दिवसीय 'माण्डू फेस्टिवल'' शुरू हुआ। संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ और पर्यटन मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने फेस्टिवल का शुभारंभ किया। इस बार यह फेस्टिवल 'खोजने में खो जाओ'' सोच पर आधारित है।
पर्यटन मंत्री श्री बघेल ने शुभारंभ समारोह में कहा कि इस बार माण्डू फेस्टिवल में कारवाँ सराय में प्रतिदिन सुबह योग सत्र आयोजित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि माण्डू फेस्टिवल में पर्यटकों को परफार्मिंग आर्ट्स वर्कशॉप, आर्ट इंस्टालेशन, नेचर ट्रेल्स, वॉक्स, कविता-पाठ, फूड, वास्तु-शिल्प, संगीत और बहुत कुछ देखने को मिलेगा। फोटोग्राफरों के लिये स्वर्ग की अनुभूति देने वाले इस फेस्टिवल में इतिहास, विरासत, खाने के अनुभव और इंस्टाग्राम वाले स्थानों को देखने के अवसर प्राप्त होंगे।
माण्डू फेस्टिवल का पहला दिन
फेस्टिवल में पहले दिन लेक-साइड पर विशेष रूप से तैयार लेजर-शो आयोजित किया गया। स्थानीय बुनकरों द्वारा मध्यप्रदेश की असली बुनाई एवं प्रिन्ट्स पर जोर देते हुए 'शक्ति' का प्रस्तुतिकरण हुआ, जिसमें अनूठी आदिवासी डिजाइनों को प्रदर्शित किया गया। इसके अलावा निशानेबाजी, पैरासेलिंग, पैराग्लाइंडिंग, बंजी जंपिंग, रॉक क्लाइम्बिंग, जोर्बिंग जैसी कई सारी साहसिक गतिविधियाँ ऐतिहासिक भव्यता के बीच रोमांच पैदा करती रहीं। कला और इतिहास के समागम का उत्सव मनाते हुए लोकप्रिय कलाकार, इण्डियन ओशन, प्रेम जोशुआ, नवराज हंस, अंतरिक्ष और कबीर कैफे ने अपने भावपूर्ण संगीत से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया।
प्रेम जोशुआ आज देंगे लाइव परफार्मेंस
फेस्टिवल में दूसरे दिन 29 दिसम्बर को बेहतरीन विंड म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाने वाले मशहूर कलाकार प्रेम जोशुआ लाइव प्रस्तुति देंगे। पर्यटकों को स्थानीय गाँवों का भ्रमण कराया जायेगा, जिससे उन्हें पता चल सके कि मध्यप्रदेश का ग्रामीण पर्यटन कितना अधिक समृद्ध है। खाने के शौकीनों के लिये मालवा क्षेत्र के कई परम्परागत व्यंजनों को परोसा जाएगा, जिसे खासतौर पर शेफ्स द्वारा तैयार किया जाएगा।
माण्डू फेस्टिवल के शुभारंभ कार्यक्रम में विधायक श्री पांचीलाल मेड़ा, श्री प्रताप ग्रेवाल और डॉ. हीरालाल अलावा उपस्थित थे। कार्यक्रम के बाद अतिथियों ने कारवाँ सराय में आर्ट एवं क्रॉफ्ट डिस्ट्रिक्ट का शुभारंभ किया।

नगरीय विकास मंत्री द्वारा बालिका छात्रावास का भूमि-पूजन
27 December 2019
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने गुना जिले की तहसील आरोन के ग्राम पनवाड़ी हाट में कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास का भूमि-पूजन किया। छात्रावास का निर्माण एक करोड़ 38 लाख रूपये की लागत से करवाया जायेगा।
मंत्री श्री सिंह ने भूमि-पूजन कार्यक्रम में ग्रामीणों को शासन की योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना में शेष किसानों का कर्ज जल्द माफ किया जायेगा। इसकी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। कार्यक्रम में स्थानीय जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

मंत्री डॉ. चौधरी द्वारा विजेता, उप-विजेता टीम पुरस्कृत
27 December 2019
भोपाल.स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी रायसेन खेल स्टेडियम में आयोजित 65वीं राष्ट्रीय टेनिस-बॉल क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन समारोह में शामिल हुए। डॉ. चौधरी ने विजेता और उप-विजेता टीमों को पुरस्कार प्रदान किए।
प्रतियोगिता में बालक वर्ग सीनियर में मध्यप्रदेश की टीम विजेता तथा गोवा की टीम उप-विजेता रही। उड़ीसा की टीम ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। बालिका वर्ग सीनियर में मध्यप्रदेश की टीम विजेता तथा छत्तीसगढ़ की टीम उप-विजेता रही। बालिका वर्ग सीनियर में गोवा की टीम तृतीय स्थान पर रही। बालक वर्ग में मध्यप्रदेश के खिलाड़ी सचिन को बेस्ट बॉलर तथा प्रियांश चौहान को बेस्ट बैट्समेन का पुरस्कार दिया गया। बालिका वर्ग में मध्यप्रदेश की खिलाड़ी अंजु मेडा को बेस्ट बॉलर तथा अंकिता को बेस्ट बैट्समेन का पुरस्कार दिया गया। बालिका वर्ग में वूमन ऑफ द टूर्नामेंट का पुरस्कार मध्यप्रदेश की खिलाड़ी साक्षी उंटवले को तथा बालक वर्ग में मेन ऑफ द टूर्नामेंट का पुरस्कार मध्यप्रदेश के खिलाड़ी साहिल को दिया गया।

शिक्षण संस्थाओं को गुणवत्ता मानकों पर खरा उतरने की जरूरत : श्री निशंक
27 December 2019
भोपाल.केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि शिक्षण संस्थाएँ गुणवत्ता मानकों पर खरा उतरने के ईमानदार प्रयास करें। उन्होंने कहा कि शैक्षणिक गतिविधियों का क्रियान्वयन विजनरी होना चाहिए।
श्री निशंक आज राजभवन में प्रदेश की केन्द्रीय शिक्षण संस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाएँ राष्ट्र के निर्माण में महती भूमिका निभाती हैं। यह अपेक्षा की जाती है कि शिक्षण संस्थाओं की सक्रियता और गतिशीलता समाज को दिशा प्रदान करे। श्री निशंक ने कहा कि शैक्षणिक संस्थाओं के प्रमुख का दायित्व अत्यंत महत्वपूर्ण है। शिक्षण संस्थाओं में सकारात्मक वातावरण निर्माण के लिये श्रेष्ठ कार्य करने वालों का उत्साहवर्द्धन किया जाना चाहिए और गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध कार्यवाही भी सुनिश्चित होनी चाहिए।
इस मौके पर केन्द्रीय शिक्षण संस्थाओं के प्रमुख, कुलपति केन्द्रीय विश्वविद्यालय, सागर प्रो. आर.पी. तिवारी, कुलपति ट्राइबल विश्वविद्यालय, अमरकंटक प्रो. पी.एम. त्रिपाठी, निदेशक आईआईटी, इंदौर प्रो. प्रदीप माथुर, निदेशक एनआईटी, भोपाल श्री एन.एस. रघुवंशी, निदेशक आईसीसीआर श्री मनोज कुमार, प्राचार्य आरआईई श्री नित्यानंद प्रधान और स्कूल ऑफ प्लानिंग एण्ड आर्किटेक्ट, उपायुक्त केन्द्रीय विद्यालय संगठन श्री सोमित श्रीवास्तव, उपायुक्त नवोदय विद्यालय संगठन श्री पी.एस. सरदार और शिक्षा अधिकारी डॉ. प्रशांत द्विवेदी उपस्थित थे।

बाघ विहीन पन्ना टाइगर रिजर्व अब है 55 बाघों का घर
26 December 2019
भोपाल.मध्यप्रदेश में पन्ना-हीरा के लिये विख्यात पन्ना जिले ने बाघ पुन: स्थापना के सफल 10 वर्ष पूरे कर बाघ संरक्षण के क्षेत्र में वैश्विक पहचान बनाई है। पिछले कुछ वर्षों में बाघविहीन हो चुका पन्ना टाइगर रिजर्व आज छोटे-बड़े मिलाकर कुल 55 बाघों का घर है। बाघ की अकेले रहने की प्रवृत्ति के कारण अब यह क्षेत्र भी बाघों के लिये छोटा पड़ने लगा है। कई देश अब पन्ना मॉडल का अध्ययन कर अपने देश में बाघ पुन: स्थापना का प्रयास कर रहे हैं।
पन्ना के जंगलों में बाघ हुआ करते थे। इस वजह से वर्ष 1994 में टाइगर रिजर्व का दर्जा भी मिला था। फिर एक समय ऐसा भी आया, जब वर्ष 2009 में इस टाइगर रिजर्व में एक भी बाघ नहीं बचा। वन्य-प्राणी विशेषज्ञ और पन्ना के नागरिक यह स्थिति देख आश्चर्य चकित रह गए। मार्च-2009 में बाँधवगढ़ और कान्हा टाइगर रिजर्व से 2 बाघिन को पन्ना लाया गया। इन्हें टी-1 और टी-2 नाम दिया गया। इसके बाद 6 दिसम्बर को पेंच टाइगर रिजर्व से बाघ लाया गया, जिसका नामकरण टी-3 किया गया। इस बाघ का पन्ना टाइगर रिजर्व में मन नहीं लगा और वह वापस दक्षिण दिशा की ओर चल पड़ा। हर वक्त सतर्क पार्क प्रबंधन ने 19 दिन तक बड़ी कठिनाई और मशक्कत से इसका लगातार पीछा किया और 25 दिसम्बर को इसे बेहोश कर पुन: पार्क में ले आये।
टाइगर रिजर्व में वापस बाघ को लाने के लिये लगातार रोज मंथन और अनुसंधान होते रहे। इसके लिये वन विभाग ने लॉस्ट वाइल्डरनेस फाउण्डेशन से सम्पर्क किया। फाउण्डेशन ने सबसे पहले हताश और निराश हो चुके पार्क प्रबंधन को प्रोत्साहित किया। उन्हें प्रशिक्षण के साथ आगे आने वाली कठिन और लम्बी कार्य यात्रा के लिये तैयार किया।
बाघों का पन्ना टाइगर रिजर्व से नामो-निशान मिटने का एक बड़ा कारण था, स्थानीय पारधी समुदाय द्वारा शिकार को अपना परम्परागत व्यवसाय मानना। पारधी जाति शिकार को अपनी वीरता का मानदण्ड मानती थी। उनको अपना पुश्तैनी व्यवसाय छोड़ने के लिये मनाना बहुत बड़ी चुनौती थी। ये लोग गरीब होने के साथ अनपढ़ भी थे। इसलिये पारधी समुदाय की मानसिकता को बदलने के साथ उन्हें रोजगार के नये अवसर प्रदान करने के रास्ते ढूँढे गये। इनको विश्वास में लेने के बाद फारेस्ट गाइड और प्राकृतिक भ्रमण पर पर्यटकों का साथ देने का प्रशिक्षण दिया गया, ताकि इन्हें पर्याप्त आमदनी प्राप्त हो सके। पर्यटकों के साथ इनका भ्रमण "वॉक विद द पारधीज'' काफी लोकप्रिय भी हुआ। पर्यटन को बढ़ाने में पार्क प्रबंधन ने पारधी लोगों के जंगल के प्रति गहन ज्ञान का भी सदुपयोग किया। वे पर्यटकों को चिड़ियों की विभिन्न आवाजों और सीडकार्विंग से काफी लुभाते हैं। इस समाज को विकास की मुख्य-धारा से जोड़ने के लिये उनके बच्चों को बोर्डिंग स्कूल में भी भर्ती कराया गया।
पन्ना टाइगर रिजर्व में अभी लॉस्ट वाइल्डनेस फाउण्डेशन द्वारा 15 आदिवासी बसाहटों में काम किया जा रहा है। फाउण्डेशन आदिवासियों को बाघ से सामना होने पर बचाव करना और वन्य-प्राणी-मानव द्वंद रोकना सिखाता है। पार्क प्रबंधन ने शिकार के विरुद्ध कड़ी सतर्कता बढ़ाई है। पहले आदिवासी जानवरों का शिकार कर उनके अंगों को अवैध रूप से बेचा करते थे। कई बार जब बाघ खाने की तलाश में गाँव में घुसकर मवेशी मार देते थे, तब गाँव वाले भी ट्रेप या जहर से बाघ को मार देते थे। इसके अलावा बाघों की विलुप्ति का सबसे बड़ा कारण बाहरी व्यक्तियों द्वारा अवैध तरीके से अंधाधुंध शिकार किया जाना था। शिकारी रात के अंधेरे में वन-रक्षकों को चकमा देकर बाघ को मार देते थे।
बाघ टी-3 के वापस टाइगर रिजर्व में लौटने के बाद इतिहास बदलने वाला था। वर्ष 2010 में बाघिन टी-1 ने अप्रैल में और टी-2 ने अक्टूबर में शावकों को जन्म दिया। अब रिजर्व में बाघ की संख्या 8 हो गई थी। टी-1 ने पहली बार 16 अप्रैल को शावकों को जन्म दिया था। यह दिन आज भी पन्ना टाइगर रिजर्व में जोर-शोर से मनाया जाता है। इसके बाद वन विभाग द्वारा 5 वर्षीय बाघों का एक जोड़ा भी कान्हा राष्ट्रीय उद्यान से यहाँ लाया गया। वर्ष 2013 में भी पेंच से एक बाघिन को पन्ना स्थानांतरित किया गया। अनुमानत: पन्ना में अब तक 70 बाघ हो चुके हैं, जिनमें से कुछ विंध्य और चित्रकूट क्षेत्र के जंगलों में भी पहुँच चुके हैं। अब पन्ना टाइगर पार्क रिजर्व में 55 बाघ हैं।
बाघ पुनस्थापना की पहल करने के पहले क्षेत्र संचालक ने अपने अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ लोगों के बीच जाकर बाघों को बचाने के लिये हाथ जोड़कर विनती की। लोगों पर इस कार्यवाही का असर हुआ और वे उनके इस नेक काम में दिल से जुड़ते गये। लोगों ने बाघ पुनर्वापसी की महत्ता को समझा और शिकार न करने की कसम ली। पूरे विश्व में जब बाघ कम होते जा रहे हैं, ऐसे में पन्ना में बाघ पुन: स्थापना देश और प्रदेश के लिये गर्व की बात है।

प्रदेश में सशक्त बनती सार्वजनिक वितरण प्रणाली
26 December 2019
भोपाल.प्रदेश के प्रत्येक जरूरतमंद पात्र परिवार को दो जून की रोटी मुहैया करना राज्य सरकार का प्राथमिक लक्ष्य है। प्रदेश में 5.46 करोड़ हितग्राहियों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के प्रावधानों के तहत रियायती दर पर राशन मुहैया कराने का काम राज्य सरकार कर रही है। इससे भी आगे बढ़कर मध्यप्रदेश शासन के अक्टूबर 2019 में 22 हजार राशन दुकानों को आधार-आधारित राशन वितरण व्यवस्था (Ae-PDS) से जोड़ दिया गया। इस व्यवस्था से ऐसे सभी गरीब हितग्राही जो रोजगार की तलाश में किसी अन्य कारणों से एक शहर से दूसरे शहर चले जाते है वह व्यक्ति उस शहर की किसी भी दुकान से अपना राशन Ae-PDS से ले सकता है। इसका अभी तक लाभ 76.93 लाख परिवार इसका लाभ उठा चुके है। यह उल्लेखनीय तथ्य है कि केन्द्र सरकार इस योजना को लागू करने पर विचार कर रही है। उससे पहले मध्यप्रदेश सरकार ने कार्य रूप में परिवर्तित कर दिया है।
इसके साथ ही 17 दिसम्बर 2018 को प्रदेश में नई सरकार का गठन जिन 'वचनों' के साथ किया गया था उनकी पूर्ति भी पूर्ण-प्रतिबद्धता क साथ की जा रही है।
मध्यप्रदेश खाद्य सुरक्षा दाल वितरण योजना
प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 अंतर्गत सम्मिलित हितग्राहियों के भोजन में प्रोटीन एवं अन्य पोषक तत्वों की पूर्ति के लिए मध्यप्रदेश खाद्य सुरक्षा दाल वितरण योजना लागू की गई, जिसे अंतर्गत चना की वितरण दर 27 रुपये प्रति किलोग्राम की दर निर्धारित है। पात्रता प्रति सदस्य एक किलो एवं अधिकतम चार किलो प्रति परिवार है। हर महीने 117 लाख 47 हजार पात्र परिवारों को 40 हजार 793 मेट्रिक टन का आवंटन दिया गया है।
शक्कर वितरण
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के अंतर्गत सम्मिलित पात्र परिवार के रूप में चिन्हित अन्त्योदय अन्न योजना के 16 लाख 39 हजार 993परिवारों को 20 रू. प्रति किलो की दर से एक किलो शक्कर प्रतिमाह प्रति परिवार वितरण माह मार्च, 2019 से प्रारम्भ किया गया है, जिस पर राज्यसरकार द्वारा रू. 3 हजार 224 प्रति टन के मान से अनुदान दिया जा रहा है।
मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के अंतर्गत अपात्र हितग्राहियों को पोर्टल से विलोपित कर 1,65,438 नवीन परिवारों को सम्मिलित किया जाकर योजना का लाभ दिया गया है। वर्तमान में 5.46 करोड़ हितग्राहियों को लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली का लाभ दिया जा रहा है।
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के अंतर्गत वर्ष 2011 की जनसंख्या अनुसार 75 फीसदी आबादी 5 करोड़ 46 लाख को ही लाभांवित करने का प्रावधान है। वर्ष 2018 की अनुमानित जनसंख्या 8 करोड़ 23 लाख हो गई है, जिसका 75% आबादी 6 करोड़ 17 लाख होती है। इस प्रकार, 71 लाख हितग्राहियों के लिये खाद्यान्न आवंटन प्राप्त नहीं हो रहा है। वर्तमान आबादी का 66% लाभ हितग्राहियों को ही मिल पा रहा है, जो कि अधिनियम के अनुसार 9% कम है। इन 71 लाख हितग्राहियों के लिये अतिरिक्त खाद्यान्न आवंटन करने की मांग भारत सरकार से की गई है।
पात्र परिवारों का सत्यापन अभियान
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के अंतर्गत वर्तमान में सम्मिलित 117.52 लाख पात्र परिवारों के 5 करोड़ 46 लाख हितग्राहियों के घर-घर जाकर सत्यापन करने का अभियान संचालित किया जा रहा है, जिसमें लगभग 61 हजार सत्यापन दलों द्वारा यह कार्य ‘’एम-राशन मित्र मोबाईल एप’’ के माध्यम से किया जाएगा।
अभियान के अंतर्गत पात्र परिवारों के छूटे हुए सदस्यों के नाम की जानकारी संकलित की जाएगी तथा परिवार के सभी सदस्यों के आधार नंबर एवं मोबाईल नंबर भी प्राप्त किए जाएंगे। सत्यापन अभियान में अस्तित्वविहीन एवं अपात्र परिवारों के चिन्हांकन उपरांत उनको सुनवाई का अवसर देकर विलोपित किया जाएगा, जिसके विरूद्ध नवीन परिवारों को जोड़ा जा सकेगा।
दुकान संचालन हेतु विक्रेताओं के लिए मार्गदर्शिका
01 नवम्बर को मध्यप्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर प्रदेश के समस्त 24713 उचित मूल्य दुकान के विक्रेताओं को उपलब्ध कराई गई है।
रबी विपणन वर्ष 2019-20 में 9 लाख 87 हजार 258 किसानों से 73 लाख 69 हजार 550 मे.टन गेहूं का उपार्जन किया गया जो कि विगत वर्ष से 53 हजार 508 मे.टन अधिक है।
उपार्जित गेहूं की कुल राशि रू. 13 हजार 560 करोड़ का भुगतान किसानों को किया गया है जो विगत वर्ष से 867 करोड़ अधिक है।
समर्थन-मूल्य पर फसलों के उपार्जन के साथ ही भुगतान प्रक्रिया को भी पारदर्शी और त्वरित भी किया गया है। रबी फसलों के उपार्जन के लिए खरीदी केन्द्रों की संख्या 3008 से बढ़ाकर 3545 की गई। किसान भाइयों को just in time (JIT) के द्वारा तीन दिन में राशि उनके खाते में जमा कराने का काम भी राज्य सरकार ने किया है। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में भी एक वर्ष में 18.78 लाख परिवारों को गैस कनेक्शन प्रदान किए गये है। प्रदेश में कुल 71.39 लाख परिवारों को लाभान्वित किया गया है।
समर्थन मूल्य खरीदे गये अनाज के रख-रखाव के लिए संसाधनों को वितरीत करना भी मध्यप्रदेश सरकार की प्राथमिकता रही है। नार्बाड के सहयोग से 139 विकासखण्डों और 76 उपार्जन केन्द्रों पर 77.40 करोड़ रूपये की लागत से 500-500 मैट्रिक टन क्षमता के 'गोदाम सह-उचित मूल्य दुकान' निर्माण का कार्य हाथ में लिया गया है। निजी गोदाम संचालकों के प्रोत्साहन के साथ ही वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन की भण्डार क्षमता विस्तार के प्रयास जारी है इसके लिए 143.87 करोड़ रूपये की डी.पी.आर. तैयार कर ऋण हेतु नार्बाड को प्रस्ताव भेजा गया है।
प्रदेश उपभोक्ता-हितों के संरक्षण में भी देश में अग्रणी राज्य है। राज्य सरकार के उपभोक्ता मामलों के विकास की मध्यप्रदेश राज्य उपभोक्ता हेल्पलाइन को लगातार चौथी बार प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है।

स्पेशल बच्चों के लिये स्पेशल अनुभूति वाला रहा शिविर
24 December 2019
भोपाल.भोपाल के वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में आज अद्भुत नजारा था। अनुभूति शिविर में शामिल दिव्यांग बच्चों के साथ वन विहार के अधिकारी और कर्मचारी भी बराबरी से भाग ले रहे थे। आरूषि संस्था, दिग्दर्शिका पुनर्वास एवं अनुसंधान केन्द्र, निदान संस्था और सेरीब्रल पालसी एसोसिएशन ऑफ इंडिया के 90 दिव्यांग छात्र-छात्राओं ने अनुभूति कार्यक्रम में भाग लेकर शिविर का खूब आनंद लिया।
संचालक वन विहार श्रीमती कमलिका मोहन्ता ने बताया कि दिव्यांग बच्चों के लिए अनुभूति शिविर में अलग तरह की तैयारी की गई थी। वन विहार के अधिकारियों-कर्मचारियों ने भी बच्चों के साथ नृत्य, गायन में भाग लिया। पालतू जानवरों का सहारा लेकर बच्चों को वन्य-प्राणियों की जानकारी दी गई। बच्चों ने चित्रकला प्रतियोगिता में तरह-तरह के चित्र बनाए, जो अब वन विहार में रहेंगे। सहायक संचालक श्री ए.के. जैन ने बताया कि आज के शिविर से हमें संतुष्टि की अनुभूति हुई। अब हम दृष्टि-बाधित बच्चों के लिये एक अलग शिविर आयोजित करने का सोच रहे हैं।
शिविर में स्पेशल बच्चों को अलग तरीके से पक्षी, वन्य प्राणी और वानिकी गतिविधियाँ करवाई गईं। गतिविधियों के दौरान विशेष रूप से आमंत्रित सायकोलॉजिस्ट डॉ. गीता नरहरि, श्रीमती रीता प्रकाशम, श्रीमती आभा गुप्ता, मास्टर ट्रेनर श्री ए.के. खरे और डॉ. एस.आर. वाघमारे बच्चों की मदद करते रहे। संचालक श्रीमती मोहन्ता ने बच्चों को शपथ दिलाई और पुरस्कार-प्रमाण पत्र वितरित किये। आज हुई प्रतियोगिताओं की विशेषता यह रही कि चारों ही संस्थाओं से एक-एक बच्चे को किसी प्रतियोगिता के आधार के बिना पुरस्कृत किया गया। प्रत्येक बच्चे को अनुभूति बैग, केप, पठनीय सामग्री, मुन्ना की कहानी, स्टीकर-पोस्टर, की-रिंग और बैज दिए गए।
चौथा शिविर 4 जनवरी को
वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में चौथा अनुभूति शिविर 4 जनवरी 2020 को होगा। इसमें शासकीय उच्च.मा. विद्यालय कोटरा सुल्तानाबाद, संस्कार भारती विद्यापीठ, शासकीय उच्च.मा. विद्यालय कस्तूरबा के छात्र-छात्राएँ भाग लेंगे। बच्चों के लाने-लेजाने की व्यवस्था वन विहार द्वारा की जायेगी।

मंत्री श्री सिंह द्वारा विकास कार्यों का भूमि पूजन
24 December 2019
भोपाल.नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने यादगार-ए-शाहजहानी पार्क भोपाल में विकास कार्यों का भूमि पूजन किया। पार्क में अमृत मिशन के अंतर्गत एक करोड़ की लागत के विभिन्न विकास कार्य करवाए जाएंगे। श्री सिंह ने शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी दी। इस दौरान विधायक श्री आरिफ मसूद और महापौर श्री आलोक शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


किसान दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए मंत्री श्री हर्ष यादव
24 December 2019
भोपाल.कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने सागर जिले के बम्होरी में कृषि विज्ञान केन्द्र में किसान दिवस पर हुए कार्यक्रम में राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी। श्री यादव ने बताया कि मार्च-2020 तक प्रदेश में 25 हजार सोलर पम्प स्थापित करने का लक्ष्य है। आने वाले 3 वर्ष में 2 लाख सोलर पम्प लगाये जाएंगे। उन्होंने बताया कि किसानों को सोलर पम्प स्थापना की सिर्फ 10 प्रतिशत राशि ही जमा करनी होती है। श्री यादव ने कहा कि रायसेन और विदिशा जिलों के किसान सोलर पम्प स्थापना के प्रति सजग और सक्रिय हैं।
मंत्री श्री यादव ने कहा कि राज्य शासन किसानों के दु:ख-दर्द में उनके साथ है। किसानों को बिजली और पानी की सुविधाएँ देकर समृद्ध बनाने के लक्ष्य के प्रति गंभीर है। उन्होंने बताया कि जिन स्थानों पर बाँधों का निर्माण हो सकता है, उनका सर्वे कर शीघ्र ही योजनाएँ क्रियान्वित की जाएंगी।
मंत्री श्री यादव ने कहा कि किसानों को अब पारम्परिक खेती की जगह आधुनिक उपायों के साथ कृषि कार्य करना होगा, ताकि उत्पादन में वृद्धि हो और वे समृद्ध बन सकें।


24 December 2019
भोपाल.
"तारे जमीं पर" कार्यक्रम में बच्चों के साथ शामिल हुए मंत्री श्री शर्मा
22 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क एवं विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज राष्ट्रीय गणित दिवस के मौके पर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद में आयोजित तारे जमीं पर कार्यक्रम में शामिल हुए। कार्यक्रम में एसओएस बालग्राम के बच्चों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। इस अवसर पर सचिव श्री फैज अहमद किदवई भी उपस्थित थे।
मंत्री श्री शर्मा ने इन बच्चों से कहा कि गणित के विषय में मजबूत हो जाएं, तो उन्हें जीवन में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। श्री किदवई ने बच्चों को महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजम के जीवन के संघर्ष के बारे में बताया। मुख्य अतिथि श्री गोविंद गोयल ने बच्चों का उत्साहवर्धन किया। कार्यक्रम का आयोजन पब्लिक रिलेशन्स सोसायटी और एचएनएन न्यूज चैनल ने किया।
मंत्री श्री शर्मा ने जैन मुनिश्री निकलंक सागर से लिया आशीर्वाद
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी. सी. शर्मा ने आज चौक बाजार जैन मन्दिर में जैन मुनिश्री निकलंक सागर महाराज से आशीर्वाद प्राप्त कियाl मंत्री श्री शर्मा ने मुनिसंघ के सानिध्य में पूजा और प्रार्थना भी कीl
विकास कार्यों का भूमि पूजन
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी. सी. शर्मा ने आज चूना भट्टी क्षेत्र में काली मन्दिर के पास नाला निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया। श्री शर्मा ने वार्ड का भ्रमण कर रहवासियों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं का तत्काल निराकरण करने के अधिकारियों को निर्देश दियेl

श्री संजय खाण्डे इण्डियन रोड कांग्रेस के काउंसिल मेम्बर चुने गए
22 December 2019
भोपाल.अधीक्षण यंत्री लोक निर्माण श्री संजय खाण्डे इण्डियन रोड कांग्रेस के 80वें वार्षिक अधिवेशन में 7वीं बार काउंसिल मेम्बर निर्वाचित हुए हैं।
श्री खाण्डे को मध्यप्रदेश सहित बिहार, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, उड़ीसा, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, झारखण्ड, जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश तथा उत्तर-पूर्व के निर्वाचन में समस्त राज्यों के प्रतिनिधियों का समर्थन मिला।
श्री खाण्डे ने इस मौके पर कहा कि प्रदेश में सड़क निर्माण योजना, सड़कों पर दुर्घटना की रोकथाम और पर्यावरण संरक्षण के लिए नीति-निर्धारण कराने के लिये सभी जरूरी प्रयास किए जाएंगे। श्री सी.पी. अग्रवाल, मुख्य तकनीकी परीक्षक (सतर्कता) तथा सचिव एवं प्रमुख अभियंता श्री आर.के. मेहरा तथा विभागीय अधिकारियों ने श्री खाण्डे को बधाई दी है।

स्कूलों में खेलों को प्रोत्साहित करने दिये गये 70 करोड़ : मंत्री डॉ. चौधरी
22 December 2019
भोपाल.स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी और नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने विदिशा में 65वीं राष्ट्रीय शालेय ताईक्वांडो प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किये। इस अवसर पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सुरेश पचोरी भी उपस्थित थे।
मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने इस मौके पर बताया कि स्कूलों में खेलों को प्रोत्साहित करने के लिये 70 करोड़ की राशि खेल सामग्री खरीदने के लिये प्रदाय की गई है। प्रत्येक प्राथमिक स्कूल को पांच हजार, मिडिल स्कूल को दस हजार तथा हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूल को 25-25 हजार रूपए की राशि जारी की गई है। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने भी समारोह को संबोधित किया।
65वीं राष्ट्रीय शालेय ताईक्वांडो प्रतियोगिता में महाराष्ट्र राज्य ने 60 पाइंट से ओवरऑल चैम्पियनशिप हासिल की। सिक्किम राज्य को बेस्ट डिसिप्लिन प्रदर्शन सम्मान दिया गया। बॉयज वर्ग में उत्तर प्रदेश कुल 29 पाइंट लेकर प्रथम तथा 14 पाइंट लेकर द्वितीय स्थान पर रहा। गुजरात की टीम 12 पाइंट प्राप्त कर तृतीय स्थान पर रही। गर्ल्स आयु वर्ग की विभिन्न प्रतियोगिताओं में महाराष्ट्र 31 पाइंट लेकर प्रथम, केन्द्रीय विद्यालय संगठन 12 पाइंट लेकर द्वितीय तथा आँध्रप्रदेश 10 पाइंट लेकर तृतीय स्थान पर रहा।

देश की सांस्कृतिक विरासत का अनूठा संगम है राष्ट्रीय बालरंग महोत्सव : मंत्री डॉ. चौधरी
21 December 2019
भोपाल.स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय में आयोजित राष्ट्रीय बालरंग महोत्सव के समापन समारोह में कहा कि यह महोत्सव वास्तव में देश की सांस्कृतिक विरासत का अनूठा संगम है। इस विरासत के संवाहक हैं आज के बच्चे। महोत्सव इन बच्चों के लिये अपने-अपने क्षेत्र की सामाजिक, सांस्कृतिक विशेषताओं तथा वेश-भूषा, कला, नृत्य, खान-पान आदि की विविधताओं को साझा करने का मंच है।
मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिये पढ़ाई के साथ अन्य रचनात्मक गतिविधियों में सहभागिता भी बहुत जरूरी है। इससे बच्चे अनुशासन, आत्म-निर्भरता, प्रबंधन आदि सीखते हैं। डॉ. चौधरी ने समर्थ एवं लघु भारत प्रदर्शनी का अवलोकन किया और बच्चों द्वारा लगाई गई स्टीम शिक्षा पद्धति एवं उमंग मॉड्यूल की सराहना की। उन्होंने फूड जोन के विभिन्न स्टॉल्स में बच्चों द्वारा बनाए गए लज़ीज़ व्यंजनों का स्वाद लिया और प्रतियोगिताओं के विजेता बच्चों को पुरस्कृत किया। इस अवसर पर जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा एवं आयुक्त लोक-शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत भी उपस्थित थीं।
महोत्सव में सांस्कृतिक नृत्य में सिक्किम प्रथम, हरियाणा द्वितीय और हिमाचल प्रदेश तृतीय स्थान पर रहा। मध्यप्रदेश को प्रथम और छत्तीसगढ़ को द्वितीय सांत्वना पुरस्कार मिला। समर्थ एवं लघु भारत प्रदर्शनी, फूड जोन, क्रॉफ्ट आदि के पुरस्कार भी वितरित किये गए। बाल पत्रकारों ने सभी अतिथियों का इंटरव्यू लिया और उन्हे बाल-पत्र भेंट किया। बाल कलाकारों की प्रथम 5 सांस्कृतिक नृत्यों की आकर्षक प्रस्तुति ने दर्शकों को आत्म-विभोर किया।

"शुद्ध के लिये युद्ध अभियान लगातार जारी रहेगा : मंत्री श्री सिलावट
21 December 2019
भोपाल.लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने कहा है कि प्रदेश में विगत जुलाई माह से शुरू किया गया 'शुद्ध के लिये युद्ध'' अभियान लगातार जारी रहेगा। उन्होंने पिछले 5 माह में की गई कार्यवाहियों की जानकारी देते हुए बताया कि मिलावटी सामान बेचने वाले 40 मिलावटखोरों के विरुद्ध रासुका की कार्यवाही की गई है। खाद्य पदार्थों में मिलावट करने के मामले में 100 से अधिक प्रकरणों में एफआईआर दर्ज कर मिलावटखोरों के खिलाफ कार्यवाही सुनिश्चित की गई है। इस दौरान मिलावटखोरों पर 4 करोड़ 56 लाख रुपये जुर्माना अधिरोपित किया गया और 24 करोड़ रुपये मूल्य के दूषित मिलावटी सामान की जप्ती की गई।
एक साल में शुरू की जाएंगी 5 नई प्रयोगशालाएँ
मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने बताया कि खाद्य सुरक्षा की कार्यवाही को प्रभावी बनाने के लिये आगामी एक साल के भीतर इंदौर, जबलपुर, सागर, उज्जैन और ग्वालियर में प्रयोगशालाएँ शुरू की जाएंगी। ये प्रयोगशालाएँ शुरू होने पर खाद्य पदार्थों की जाँच रिपोर्ट 3 दिन में प्राप्त हो सकेगी। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने इन 5 प्रयोगशालाओं के अतिरिक्त 12 नवीन चलित खाद्य प्रयोगशालाएँ शुरू करने का निर्णय लिया है। अभी प्रदेश में 2 चलित प्रयोगशालाएँ संचालित की जा रही हैं।

विधायक स्व. श्री शर्मा के अन्तिम संस्कार में शामिल होंगे मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
21 December 2019
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ 22 दिसम्बर को जौरा विधायक स्वर्गीय श्री बनवारी लाल शर्मा के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे। श्री कमल नाथ दिल्ली से दोपहर 3 बजे मुरैना जिले में स्वर्गीय श्री शर्मा के निवास जापथाप पहुँचेंगे। स्वर्गीय श्री शर्मा के अंतिम संस्कार में शामिल होने के बाद मुख्यमंत्री इसी दिन शाम को भोपाल आएंगे।



राष्ट्रीय तानसेन सम्मान से अलंकृत हुए पंडित विद्याधर व्यास
18 December 2019
भोपाल.शास्त्रीय संगीत के क्षेत्र में दुनिया-भर में प्रतिष्ठित अंतर्राष्ट्रीय तानसेन समारोह का मंगलवार शाम भव्य एवं गरिमामय शुभारंभ हुआ। हजीरा स्थित संगीत सम्राट तानसेन के समाधि-स्थल पर सूर्य मंदिर की आभा से दमकते मंच पर आयोजित समारोह में कार्यक्रम की मुख्य अतिथि संस्कृति मंत्री डॉ विजयलक्ष्मी साधौ ने ग्वालियर घराने के मूर्धन्य गायक पं. विद्याधर व्यास को वर्ष 2019 के तानसेन सम्मान से अलंकृत किया। कर्नाटक की नाट्य-संस्था नील कंठेश्वर नाट्य सेवा संघ (निनासम हेग्गोडु) के डायरेक्टर श्री के. वेंकटेश एवं सचिव श्री एन. नारायण भट्ट को राष्ट्रीय राजा मानसिंह तोमर सम्मान से विभूषित किया गया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव, संस्कृति, श्री पंकज राग, और संभागीय आयुक्त श्री एम.बी. ओझा उपस्थित थे।
समारोह में संस्कृति मंत्री डॉ साधौ ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व में कला और संस्कृति को ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए निरंतर प्रयासरत है। आज तकनीकी का युग है लेकिन हमें वर्तमान पीढ़ी को अपनी परम्पराओं और संस्कारों से रूबरू कराने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अनेकता में एकता हमारी भारतीय संस्कृति का मूल भाव रहा है। आज संस्कृति के माध्यम से इसे पोषित करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हर विचारधारा का सम्मान होना चाहिए। मध्यप्रदेश सरकार इसी मंत्र के साथ काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आज पंडित विद्याधर व्यास जी और 'निनासम'' का सम्मान करके वे खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहीं हैं। उन्होंने सम्मानित कलाकारों को मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की ओर से भी शुभकामनाएं दी।
ग्वालियर संगीत का श्रेष्ठ घराना : पं. व्यास
तानसेन समारोह से सम्मानित पं. विद्याधर व्यास ने कहा कि तानसेन सम्मान मिलने पर वे गौरवान्वित अनुभव कर रहे हैं। वास्तव में यह ग्वालियर घराने की उस सुदीर्घ परंपरा का सम्मान है जो विष्णु दिगम्बर पलुस्कर से होती हुई हम तक पहुंची है। उन्होंने कहा कि कला को अगली पीढ़ी को हस्तांतरित करना बहुत जरूरी है। ग्वालियर घराने में ये काम हो रहा है। ग्वालियर ख्याल गायकी परंपरा का सबसे पुराना घराना है। उन्होंने उम्मीद जताई कि ग्वालियर घराने की यह परंपरा आगे भी जारी रहेगी। इस सम्मान से उन्हें आगे जाने की प्रेरणा भी मिलेगी।
डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने इसके पहले संगीत सम्राट तानसेन की समाधि पर श्रद्धा-सुमन अर्पित किए। तत्पश्चात दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रमुख सचिव पंकज राग ने स्वागत भाषण दिया और सम्मानित विभूतियों का प्रशस्ति वाचन किया।
पं. रविशंकर के जीवन पर केंद्रित छायाचित्र प्रदर्शनी 'प्रणति' का शुभारंभ
इस अवसर पर विश्वविख्यात सितार वादक पं. रविशंकर के जीवन पर केंद्रित छायाचित्र प्रदर्शनी 'प्रणति' का शुभारंभ किया गया। मुख्य अतिथि संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ एवं प्रमुख सचिव श्री पंकज राग ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रदर्शनी में पं रविशंकर, उनके परिजनों और देश-विदेश में रह रहे उनके सांगीतिक मित्रों के साथ लिए गए छायाचित्र प्रदर्शित किए गए हैं। कई चित्र तो अत्यंत ही दुर्लभ हैं। एक छायाचित्र से पता चलता है कि पं रविशंकर शुरू के दिनों में नृत्य भी करते थे। ऐसे ही एक चित्र में वे लन्दन की सड़कों पर सितार लिए पैदल-पैदल जा रहे हैं। ऐसे अन्य दुर्लभ चित्र में वे यहूदी मेनुहिन और जॉर्ज हैरिसन, उस्ताद अमज़द अली खां, पं भीमसेन जोशी, उस्ताद अलाउद्दीन खां और पं किशन महाराज के साथ दिख रहे हैं। उनके कुछ छायाचित्र परिजनों के साथ भी हैं, जिनमें वे अपनी बड़ी बेटी सुकन्या, छोटी बेटी अनुष्का एवं बड़े भाई उदयशंकर के साथ हैं। पं. रविशंकर के जीवन पर केंद्रित छायाचित्रों की यह प्रदर्शनी उनके जन्म-शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में लगाई गई है। मंगलवार की शाम हज़ारों की तादाद में संगीत-रसिकों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया और इसकी सराहना की।
कार्यक्रम में सम्मानित कलाकार पण्डित विद्याधर व्यास ने राग “केदार” में ख्याल गायकी की प्रस्तुति दी। शासकीय माधव संगीत महाविद्यालय ग्वालियर के छात्र-छात्राओं ने ध्रुपद गायन, मोईनुद्दीन खां जयपुर ने सारंगी वादन एवं प्रेमकुमार मलिक प्रयागराज ने ध्रुपद गायन की प्रस्तुति दी ।

मंत्री श्री हर्ष यादव की अध्यक्षता में परामर्शदात्री समिति की बैठक सम्पन्न
18 December 2019
भोपाल.कुटीर और ग्रामोद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने मंत्रालय में आयोजित विभागीय परामर्शदात्री समिति की बैठक में कहा कि पारम्परिक लघु व्यवसायों और उनसे जुड़े हुनरमंद शिल्पियों के प्रोत्साहन दिया जाएगा। इन व्यवसायों और शिल्पियों की आर्थिक दशा में सुधार लाने के लिये सभी संभव प्रयास किये जाएंगे।
बैठक में विधायक श्री ओ.पी.एस. भदौरिया, श्री वालसिंह मैडा, श्री मोहन यादव और श्री वीरेन्द्र रघुवंशी ने उज्जैन में पीतल, शिल्प और पूजा सामग्री निर्माण, वस्त्र छपाई, ईमली व्यवसाय, शिवपुरी में रेशम उत्पादन, कोलारस अंचल में वस्त्र निर्माण, मेहगाँव में कोरी और प्रजापति समाज द्वारा रजाई खोल और कुल्हड़ बनाने के पारम्परिक कार्य के संरक्षण एवं विकास के सुझाव दिये। बैठक में चन्देरी साड़ी की तरह भिण्ड जिले में धोती बनाने के पारम्परिक व्यवसाय के उन्नयन पर भी चर्चा हुई।
बैठक में बताया गया कि वर्ष 2019 में रेशम संचालनालय ने करीब 4 करोड़ रुपये के उत्पाद के विक्रय में सफलता प्राप्त की है। पूर्व वर्षो के स्टाक को बेचने के लिये होशंगाबाद जिले के मालीखेड़ा में केन्द्रीय भण्डार प्रारंभ कर पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश आदि राज्यों के व्यापारियों को सुविधा उपलब्ध कराई गई है। हस्तशिल्प विकास निगम विभिन्न मेलों और प्रदर्शनियों के माध्यम से बुनकरों के तैयार किये गये उत्पाद के लिये बाजार उपलब्ध करवा रहा है। बताया गया कि जनवरी माह में उज्जैन में क्राफ्ट बाजार लगाना प्रस्तावित है। उज्जैन में मृगनयनी एम्पोरियम शुरू करने की पहल भी की गई है।
आयुक्त रेशम श्री कवीन्द्र कियावत और आयुक्त हस्तशिल्प श्री राजीव शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने देखी विजय दिवस प्रदर्शनी
16 December 2019
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने विजय दिवस पर शौर्य स्मारक परिसर में जनसम्पर्क विभाग द्वारा आयोजित 'भारतीय इतिहास का एक स्वर्णिम अध्याय' छाया-चित्र प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रदर्शनी में बांग्लादेश के उदय तथा पाकिस्तान पर भारत की विजय को सशक्त छाया-चित्रों के माध्यम से दर्शाया गया है।
सामान्य प्रशासन एवं सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री आरिफ अकील, जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने भी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती, पुलिस महानिदेशक श्री वी.के. सिंह, आयुक्त जनसम्पर्क श्री पी. नरहरि और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

स्कूल शिक्षा मंत्री ने 1971 के युद्ध में भाग लेने वाले सैनिकों को किया सम्मानित
16 December 2019
भोपाल.स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने रायसेन जिले के सांची में विजय दिवस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के संदेश का वाचन किया तथा सन् 1971 के भारत-पाक युद्ध में भाग लेने वाले सेवानिवृत्त हवलदार 18-राजपूत बटालियन श्री जयसिंह तोमर एवं सेवानिवृत्त नर्सिंग असिस्टेंट आर्मी मेडीकल कोर श्री भैयालाल जायसवाल को शाल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।
इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि आज ही के दिन आयरन लेडी पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्रीमती इंदिरा गांधी के नेतृत्व में भारत ने दुनिया में शक्तिशाली देश के रूप में स्थान बनाया। हमारे वीर जवानों ने 16 दिसम्बर सन् 1971 को पाकिस्तान के साथ युद्ध में पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों को सरेंडर करवाते हुए विजय प्राप्त की और बांग्लादेश को एक स्वतंत्र देश के रूप में मान्यता दिलाई। उन्होंने कहा कि स्व. श्रीमती इंदिरा गांधी ने देश के विकास के साथ-साथ देश की अखण्डता बनाए रखने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हमारे वीर सैनिक, जो युद्ध में शहीद हुए और जिन्होंने अपनी जान की बाजी लगाकर देश का नाम ऊंचा किया। ऐसे वीर सैनिकों को श्रृद्धांजली अर्पित करता हूँ। इसके साथ ही आज हमारे बीच जो वीर सैनिक हैं, उनको शत-शत नमन करता हूँ। कार्यक्रम में सैनिक श्री जयसिंह तोमर और श्री भैयालाल जायसवाल ने सन् 1971 के भारत-पाक युद्ध के अपने संस्मरण भी सुनाएं।

मंत्री श्रीमती इमरती देवी अचानक पहुँचीं वन स्टाप सेंटर और संप्रेषण गृह
16 December 2019
भोपाल.महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने आज शासकीय जे.पी. अस्पताल के पास स्थित वन स्टाप सेंटर पर अचानक पहुँचकर रजिस्टर का अवलोकन किया। उन्होंने निर्देश दिये कि संस्था के सभी कर्मचारी अपना पहचान-पत्र अथवा नाम का टेग जरूर लगाएं। उन्होंने काउंसलर से कहा कि किसी भी प्रकरण में केवल एक पक्ष की बात को न सुनें। दोनों पक्षों की काउंसलिंग कर प्रकरण का निपटारा करें।
मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने जहाँगीराबाद स्थित बाल संप्रेषण गृह और नेहरू नगर स्थित बालिका संप्रेषण गृह का दौरा कर उपस्थित बच्चों से मुलाकात की। उन्होंने बच्चों से भोजन, साफ-सफाई आदि की जानकारी भी ली। मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन कर्मचारियों की नियुक्ति संप्रेषण गृह की है और वे कहीं और कार्य कर रहे हैं, उन्हें तत्काल वापस करें। श्रीमती इमरती देवी ने बालिका संप्रेषण गृह में बच्चियों से मुलाकात की और व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

मंत्री श्री शर्मा सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल हुए
15 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज नर्मदा मंदिर हॉल में सहस्त्र औदीच्य ब्राह्मण समाज के स्नेह मिलन समारोह, कोटरा स्थित न्यू हाउसिंग बोर्ड कालोनी में गोरखा कल्याण समाज और जैन मंदिर जवाहर चौक स्थित अखिल भारतीय दिगम्बर जैन युवक-युवती परिचय सम्मेलन में शामिल हुए।
मंत्री श्री शर्मा समाज द्वारा आयोजित युवक-युवती परिचय एवं स्नेह मिलन समारोह में युवक-युवतियों को प्रशस्ति-पत्र वितरीत किया। मंत्री श्री शर्मा ने आने वाली पीढ़ी को समाज के नव-निर्माण के साथ सही दिशा में प्रगति करने का संदेश देते हुए युवक-युवतियों को शुभकामनाएँ दी। सामाजिक कार्यक्रम में वरिष्ठ नागरिक, समिति के सदस्य, पदाधिकारी एवं युवक-युवतियाँ उपस्थित रहीं।
कलश यात्रा में मंत्री श्री शर्मा हुए शामिल
धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज नेहरू नगर डी सेक्टर में शुरू होने जा रही श्रीमद्भागवत कथा के शुभारंभ पर कलश-यात्रा में शामिल हुए। मंत्री श्री शर्मा ने संत-महात्माओं का स्वागत किया और आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर नेहरू नगर के रहवासी मंत्री श्री शर्मा के साथ कलश यात्रा में शामिल हुए।

मंत्री श्री शर्मा ने पोंटा सहिब जा रही तीर्थ दर्शन ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
15 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अन्तर्गत पोंटा साहिब हिमाचल प्रदेश के लिए जा रही तीर्थ दर्शन स्पेशल ट्रेन को हबीबगंज स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ट्रेन की रवानगी के समय मंत्री श्री शर्मा ने पोंटा साहिब हिमाचल प्रदेश जा रहे तीर्थ यात्रियों को पुष्पगुच्छ भेंटकर स्वागत किया और सुखद, मंगलमय तीर्थ यात्रा की कामना की। तीर्थ दर्शन ट्रेन में करीब एक हजार यात्री पोंटा साहिब के लिए रवाना हुए। इस मौके पर जनप्रतिनिधिगण और तीर्थ दर्शन के लिए जा रहे सिक्ख समाज के परिजन उपस्थित रहे।

20 हजार योद्धाओं ने "शुद्ध के लिए युद्ध" अभियान के समर्थन में पैदल मार्च निकाला
15 December 2019
भोपाल.लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट और जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा भोपाल शहर में "शुद्ध के लिये युद्ध" अभियान को समर्थन देने के लिये 20 हजार से अधिक लोगों द्वारा रोशनपुरा चौराहा से लाल परेड ग्राउंड तक निकाले गये पैदल मार्च में शामिल हुए। लोगों ने अभियान में भागीदारी का संकल्प लिया। रोशनपुरा चौराहा पर समाजसेवी श्रीमती निर्मला बुच, पदमश्री श्री ज्ञान चतुर्वेदी, ओलम्पियन श्री नील रंजन नेगी और अर्जुन अवार्डी श्री जी.एल. यादव ने पैदल मार्च को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पैदल मार्च में समाज सेवी, खिलाड़ी, होटल एसोसिएशन, डॉक्टर, शिक्षक, छात्र-छात्राएँ, एसडीआरएफ के डायरेक्टर जनरल और उनकी टीम, एनसीसी, एनएसएस, रोटरी क्लब और अन्य सामाजिक संगठन भी शामिल हुए।
श्री सिलावट ने पैदल मार्च में शामिल लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हम रैली में प्रतिभागी के तौर पर शामिल हुए हैं। आज कोई भाषण नहीं होगा। लाल परेड ग्राउंड पर पैदल मार्च के बाद अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी नील रंजन नेगी ने मुख्यमंत्री का संदेश पढ़कर सुनाया। पद्मश्री श्री मुनीश मिश्रा ने शुद्धता का संकल्प दिलाया। युवाओं के साथ खड़े होकर मंत्रीद्वय के साथ एडीजी श्री आदर्श कटियार, कमिश्नर भोपाल संभाग श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव सहित हजारों युवाओं ने शुद्धता की शपथ ली। कलेक्टर श्री तरूण पिथोड़े ने पैदल मार्च को सफल बनाने के लिये प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया।

भोपाल मेडिकल कॉलेज में बढ़ेंगी 128 पी.जी. सीट
14 December 2019
भोपाल. केंद्र सरकार ने गाँधी मेडिकल कॉलेज भोपाल में पी.जी. में 128 सीट वृद्धि किये जाने के प्रदेश के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है। कॉलेज में पहले से पी.जी. में 157 सीट हैं। इसमें 128 की वृद्धि होने से अब पी.जी. में सीट संख्या बढ़कर 285 हो जाएगी।
गांधी मेडिकल कॉलेज में 128 पी.जी. सीट बढ़ने से एनाटॉमी की सीटें २ से बढ़कर 16, फीजियोलॉजी की 4 से बढ़कर 9, फार्मोकोलॉजी की 2 से बढ़कर 14, पैथोलॉजी की 11 से 20, माइक्रोबायोलॉजी की 3 से 9, कम्युनिटी मेडिसिन की 4 से 17, फॉरेंसिक मेडिसिन की 4 से 9, जनरल मेडिसिन की 18 से 24, पीडियाट्रिक्स की 19 से 25, टी.बी. चेस्ट की 2 से 5, जनरल सर्जरी की 16 से 24, आर्थोपेडिक्स की 1 से 17, ऑटोरिनोलेरिंगोलोजी की 3 से 5, ऑप्थालयोलॉजी की 7 से 8, आब्स्ट्रेट्रिक्स एंड गायनोलॉजी की 20 से 25, एनेस्थियोलॉजी की 19 से 35 और रेडिओडायग्नोसिस की 6 से बढ़कर 10 सीट हो जाएँगी। इनके अलावा बायोकेमेस्ट्री की 10 और साइकियाट्रिक की 3 सीटों को मंजूरी मिलने से ये दोनों पाठ्यक्रम भी शुरू हो सकेंगे।

पुलिस के प्रति संवेदनशील और अपराधियों के लिये सख्त सरकार
14 December 2019
भोपाल.मध्यप्रदेश में बीते एक वर्ष में पहली बार पुलिसकर्मियों और उनके परिवार के कल्याण के लिए राज्य सरकार ने क्रांतिकारी प्रयास किये हैं। नई सरकार के इन प्रयासों से पुलिस महकमे में विश्वास का भाव जागा है। परिणामस्वरूप प्रदेश की पुलिस पहले से अधिक मुस्तैद हुई है।
साप्ताहिक अवकाश
अभी कुछ समय पहले तक 24X7 की ड्यूटी निभाना पुलिस के हिस्से में था। लगातार ड्यूटी के कारण पुलिस कर्मियों की स्वास्थ्य की समस्या और मानसिक अवसाद के मामले सामने आ रहे थे। ऐसे में नई सरकार ने पुलिस कर्मियों को सप्ताह में एक दिन अवकाश देने का निर्णय लिया। पुलिसकर्मियों के हित में पहली बार इस तरह का बड़ा फैसला लिया गया।
मुख्यमंत्री पुलिस आवास योजना
मध्यप्रदेश पुलिस में आरक्षक तथा निरीक्षक स्तर के पुलिस कर्मचारियों को निःशुल्क आवास सुविधा देने के लिये 25 हजार आवास का निर्माण कराया जा रहा है। प्रथम चरण में 5000 आवास का निर्माण पूर्ण हो चुका है। द्वितीय चरण में 5000 आवास का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। तृतीय चरण में 5000 आवासों के निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया पूर्ण की जा रही है।
संविलियन एवं अनुकम्पा नियुक्ति
एस.ए.एफ. के आरक्षक से प्रधान आरक्षक तक, जिनकी सेवा 5 वर्ष की हो गई है, उनका जिला पुलिस में 25 प्रतिशत तक पद पर संविलियन करने के लिए कार्य-योजना तैयार की जा रही है। इसी क्रम में मृत पुलिसकर्मियों के आश्रितों को पुलिस विभाग में अनुकम्पा नियुक्ति नहीं मिलने पर अन्य विभागों में अनुकम्पा नियुक्ति दिए जाने की योजना प्रचलन में है।
पुलिस परिसर में सेवा केन्द्र
पुलिस परिवार की महिलाओं को आत्म-निर्भर बनाने के लिये वर्ष 2003 में पुलिस अनुसूचित जाति/जनजाति महिला कल्याण समिति का पंजीयन कराकर प्रशिक्षण केन्द्रों की स्थापना, लायब्रेरी एवं बच्चों के लिए विद्यालय की स्थापना की गई थी। ये सेवा केन्द्र पिछले कई सालों से निष्क्रिय हो गए थे। अब इन्हें सक्रिय कर इनमें पुलिसकर्मियों के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए निःशुल्क कोचिंग के साथ सांस्कृतिक गतिविधियों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।
पुलिसकर्मियों के आश्रितों को रोजगार
पुलिस की अन्य इकाइयों की आश्रित महिलाओं और बालिकाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिये विसबल रेंज ग्वालियर, जबलपुर और इंदौर में केन्द्रीय कल्याण निधि से राशि स्वीकृत की गई है। सेनानी 6वीं वाहिनी जबलपुर, 2री वाहिनी ग्वालियर, प्रथम वाहिनी इंदौर, 15वीं वाहिनी इंदौर, 24वी वाहिनी जावरा, 32वीं वाहिनी उज्जैन में कल्याण केन्द्र स्थापित कर डाटा एन्ट्री ऑपरेटर, ब्यूटीशियन, सिलाई, मेकअप आर्टिस्ट एवं ब्यूटी थेरेपिस्ट का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इससे आश्रित महिलाएँ एवं बच्चियों को सरलता से रोजगार मिल सकेगा तथा वे आर्थिक रूप से आत्म-निर्भर हो सकेंगी। प्रदेश पुलिस की सभी इकाइयों में आँगनवाड़ी, शिशु गृह तथा झूलाघर शुरू करवाने के प्रयास भी किये जा रहे हैं।
अपराधों पर नियंत्रण एवं निर्णय
मध्यप्रदेश सरकार के अपराधों के खिलाफ सख्त रवैये से अपराधों में गिरावट दर्ज की गई है। नई सरकार के प्रति विश्वास का भाव आम आदमी में बढ़ा है। खासतौर पर महिला सुरक्षा को लेकर नई सरकार की कार्रवाई से अपराधियों में भय का वातावरण बन गया है।
महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा
इस वर्ष प्रथम पाँच माह में महिलाओं एवं बच्चों के विरूद्ध अपराधों में न्यायालयों से 1400 से अधिक प्रकरणों में सजा दिलाई गई है। यह गत वर्ष इसी अवधि की तुलना में 9 प्रतिशत अधिक है। अब तक 27 मामलों में अपराधियों को मृत्युदंड की सजा सुनाई गई है।
अपराधों के खिलाफ प्रदेशव्यापी विशेष अभियान
प्रदेश में नई सरकार के गठन के बाद अपराधों की रोकथाम के लिए प्रदेशव्यापी अभियान चलाया गया। अभियान में प्रदेश भर में 5947 अवैध हथियार एवं 3 लाख 6 हजार 856 लीटर अवैध मदिरा जप्त की गई। अवैध कारोबार में लिप्त आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई। माह जनवरी से अप्रैल तक की अवधि में नारकोटिक्स विंग ने 17 हजार किलोग्राम अवैध मादक पदार्थ तथा करीब 56 हजार अफीम और गांजे के पौधे जब्त किये। प्रतिबंधित नशीले केमिकल्स की 32 हजार से ज्यादा सीरप और गोलियाँ जब्त की गईं। अवैध मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त 1285 आरोपियों पर एनडीपीएस एक्ट में कार्रवाई की गई। प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के 30 हजार 895 प्रकरणों में 32 हजार 919 आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। कुल 30 हजार गिरफ्तारी वारन्ट की तामीली कराई गई। तामीली का प्रतिशत लगभग 69 रहा। गुमशुदा बालक-बालिकाओं को खोजने के लिए 15 मार्च से 15 अप्रैल तक विशेष अभियान चलाकर कुल 1054 बच्चों को ढूँढ़ने में पुलिस को उल्लेखनीय सफलता मिली।
सराहना/पुरस्कार
नक्सल विरोधी अभियान में पुलिस ने 14-14 लाख रुपये के इनामी नक्सलियों अशोक उर्फ मंगेश और नक्सली महिला नंदे को जिला बालाघाट के थाना लॉजी के अंतर्गत ग्राम नेवरवाही में पुलिस मुठभेड़ में मार गिराया। मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा इस अभियान में अदम्य साहस एवं वीरता का परिचय देने वाले 19 कर्मियों को क्रम पूर्व पदोन्नति (आउट ऑफ टर्न) दी गई है। गुंडा विरोधी अभियान में पुलिस अधीक्षक, उज्जैन के नेतृत्व में कुख्यात बदमाश रोनक एवं उसके साथियों को भारी मात्रा में हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया।
प्रशिक्षण एवं आधुनिक तकनीक
मध्यप्रदेश के सभी पुलिस महानिरीक्षकों को उनके अधीनस्थ जिलों में नियमित प्रशिक्षण कार्यक्रम करने के निर्देश दिये गये हैं। सभी पुलिस प्रशिक्षण संस्थाओं में भी पुलिस को विधिक प्रक्रिया एवं जाँच के आधुनिक तरीकों का प्रशिक्षण दिया जाएगा।
महिला सुरक्षा के प्रयास
प्रदेश में महिला सुरक्षा के लिये 17 से 45 वर्ष आयु वर्ग की बीपीएल वर्ग की महिलाओं को निःशुल्क स्मार्ट फोन दिये जाने का निर्णय लिया गया है, जिसमें आत्म-रक्षा के लिये एप इंस्टाल होगा। महिला द्वारा इसके उपयोग से पुलिस तत्काल मदद के लिए पहुँच सकेगी। इस एप से शासन की जन-कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी महिलाओं को प्राप्त हो सकेगी।
मॉडल एक्ट और मॉब लिंचिंग कानून
जुलिया रिबेरा, मालिमाथ, सोली सोराबाजी कमेटी की सिफारिशों का अध्ययन कर प्रदेश में पुलिस मॉडल एक्ट लागू करने पर विचार किया जा रहा है। साथ ही उच्चतम न्यायालय के निर्णयानुसार राज्य सरकार ने मॉब लिंचिंग अथवा भीड़ द्वारा अन्य कारणों से दुष्प्रेरित होकर की जाने वाली घटनाओं के खिलाफ कानून बनाने का निर्णय लिया है।
प्रदेश में आतंकवाद विरोधी कानून की तर्ज पर साम्प्रदायिक/जातिगत फसादत के खिलाफ सख्त कानूनी प्रावधान किया जा रहा है। नई सरकार द्वारा अपराधों पर नियंत्रण पाने तथा अपराधियों के हौसले पस्त करने के लिए कठोर कार्रवाई की जा रही है। साथ ही, पुलिस का मनोबल बढ़ाने के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाओं को भी मूर्त रूप दिया जा रहा है। सरकार के संवेदनशील व्यवहार से पुलिस प्रशासन में चुस्ती आ गई है। आम आदमी में भी सरकार के प्रति भरोसा बढ़ा है। प्रदेश में शांतिपूर्ण वातावरण तैयार हो गया है।

गैर कृषि उपभोक्ताओं को एक रूपये प्रति यूनिट और कृषि उपभोक्ताओं को आधी दर पर बिजली
14 December 2019
भोपाल.एक साल पहले तक मध्यप्रदेश की विद्युत कंपनियाँ पर कुल 37 हजार 963 करोड़ का ऋण और लगभग 44 हजार 975 करोड़ का संचयी घाटा था। बीते एक साल में राज्य सरकार ने कम्पनियों को खस्ताहाल वित्तीय स्थिति से छुटकारा दिलाने के प्रयास शुरू कर दिये हैं। साथ ही, इंदिरा गृह ज्योति योजना लागू कर आम उपभोक्ताओं को 100 यूनिट तक बिजली एक रूपये प्रति यूनिट देने का काम किया है। इसके अलावा इंदिरा किसान ज्योति योजना लागू कर किसानों के लिये 10 हार्स पावर तक के पंपों पर विद्युत शुल्क 1400 रूपये से घटाकर 700 रूपये प्रति हार्स पावर प्रतिवर्ष कर दिया।
इंदिरा गृह ज्योति योजना
इस वर्ष फरवरी माह में इंदिरा गृह ज्योति योजना लागू की गई। इसमें संबल योजना के पात्र घरेलू उपभोक्ताओं को 100 यूनिट तक की मासिक खपत पर 200 रूपये के स्थान पर अधिकतम 100 रूपये का बिल दिया जा रहा था और शेष राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जा रही थी। सरकार ने इंदिरा गृह ज्योति योजना का विस्तार करते हुए इस योजना को संबल योजना से असंबद्ध किया। अब ऐसे सभी घरेलू उपभोक्ताओं को जिनकी मासिक खपत 30 दिन की रीडिंग में 150 यूनिट हो, को भी योजना में शामिल किया गया है। गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के घरेलू उपभोक्ताओं को 30 यूनिट तक की मासिक खपत के लिए मात्र 25 रूपये देने पड़ रहे हैं। इसमें 4 माह में एक बार 100 रूपये लेने की व्यवस्था की गई। इस योजना से लगभग 97 लाख घरेलू उपभोक्ता लाभांवित हो रहे हैं- जो कुल उपभोक्ताओं का 83 प्रतिशत है। योजना में प्रतिवर्ष लगभग 3400 करोड़ रूपये की सब्सिडी राज्य शासन द्वारा बिजली कम्पनियों को दी जाएगी।
इंदिरा गृह ज्योति योजना और संबल योजना की तुलना करें तो इंदिरा गृह ज्योति योजना में जहाँ लगभग 97 लाख अर्थात 83 प्रतिशत उपभोक्ता लाभान्वित हो रहे हैं, वहीं पूर्ववर्ती सरकार की संबल योजना से लगभग 42 लाख अर्थात मात्र 35 प्रतिशत उपभोक्ताओं को ही लाभ मिला था। इंदिरा गृह ज्योति योजना में 100 यूनिट तक की खपत पर 100 रूपये बिल आ रहा है, जो पहले 200 रूपये मासिक था।
इंदिरा किसान ज्योति योजना
इंदिरा किसान ज्योति योजना में पूर्व प्रचलित कृषि पंप कनेक्शन के लिए देय 1400 रूपये प्रति एच.पी. प्रतिवर्ष के शुल्क को आधा करते हुए 10 एच.पी.तक के पंप उपभोक्ताओं को 700 रूपये प्रति एच.पी. प्रति वर्ष की दर से दो समान किश्तों में देय है। साथ ही 10 एच.पी.तक के मीटर युक्त स्थाई एवं अस्थाई कृषि पंप कनेक्शनों को भी ऊर्जा प्रभार में 50 प्रतिशत की छूट दी गई है। योजना में कृषक उपभोक्ता को 2 किश्तों में राशि देने का भी प्रावधान किया गया है। योजना से 19 लाख 91 हजार कृषक लाभान्वित हो रहे हैं। राज्य सरकार द्वारा इस योजना में 8 हजार 760 करोड़ रूपये की सब्सिडी दी जाएगी। साथ ही इंदिरा किसान ज्योति योजना के अतिरिक्त एक हेक्टेयर तक की भूमि वाले 8 लाख अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के कृषकों को 5 हार्स पॉवर तक के कृषि पंप कनेक्शनों के लिए नि:शुल्क बिजली दी जा रही है। इसके एवज में सरकार बिजली कंपनियों को 3800 करोड़ रूपये की वार्षिक सब्सिडी देगी। किसानों को सिंचाई के लिए 10 घन्टे बिजली देने के समय के संबंध में निर्णय लेने का अधिकार जिला योजना समिति को दिया गया है।
सरकार ने खराब ट्रांसफार्मर को बदलने के लिए पात्रता नियमों में परिवर्तन कर पहले के 40 प्रतिशत के स्थान पर 10 प्रतिशत बकाया पर ट्रांसफार्मर बदलने की नीति लागू की है।
गलत देयकों के निराकरण के लिए समिति गठित
बिजली उपभोक्ताओं की गलत देयकों से संबंधित शिकायतों के निराकरण के लिए विद्युत वितरण केन्द्रवार समिति का गठन किया गया है। कुल 1210 समितियाँ गठित की गई हैं। समितियों द्वारा अब तक 49 हजार से अधिक शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है।
डायल 100 की तर्ज पर कॉल सेन्टर 1912
विद्युत संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए डायल 100 की तर्ज पर कॉल सेन्टर 1912 स्थापित किया गया है। जनवरी 2019 से अब तक इसमें प्राप्त 31 लाख 65 हजार 727 शिकायतों का निराकरण किया जा चुका है। शिकायतों के निराकरण के बाद उपभोक्ताओं से फीडबेक भी लिया जाता है।
विद्युत दुर्घटना में पशु हानि पर आर्थिक सहायता
विद्युत दुर्घटना में जनहानि के साथ ही पशु हानि होने पर भी राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधानों को लागू किया गया है। पिछले 10 माह में 88 प्रकरणों में 20 लाख 85 हजार रूपये की आर्थिक सहायता पशु मालिकों को दी गई है। बिजली कंपनियों में आऊट सोर्सिंग कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के लिए समिति का गठन किया गया है।
विद्युत उपलब्धता के लिए प्रयास
प्रदेश के कुल एक करोड़ 58 लाख विद्युत उपभोक्ताओं में से एक करोड़ 17 लाख घरेलू, 29 लाख कृषि और 12 लाख अन्य उपभोक्ता है। वर्तमान में विभिन्न स्त्रोतों से 20 हजार 502 मेगावॉट की विद्युत उपलब्धता है। इसी उपलब्धता के कारण 5 जनवरी 2019 को 14 हजार 89 मेगावॉट विद्युत मांग की पूर्ति की गई, जो प्रदेश के अब तक के इतिहास में सर्वाधिक है। प्रदेश में दिसम्बर 2018 से अक्टूबर 2019 की अवधि में 69219 मिलियन यूनिट विद्युत आपूर्ति की गई, जो पूर्व वर्ष की इसी अवधि से 6.4 प्रतिशत अधिक है।
इस वित्तीय वर्ष में विद्युत उपलब्ध क्षमता में 2137 मेगावॉट की वृद्धि का लक्ष्य है। भविष्य में भी प्रदेश विद्युत के क्षेत्र में आत्म-निर्भर बना रहे, इसके लिए सतपुड़ा ताप विद्युत गृह,सारणी जिला बैतूल एवं अमरकंटक ताप विद्युत गृह चचाई जिला अनुपपूर में 600 मेगावॉट की एक-एक इकाई की स्थापना की जायेगी। सतपुड़ा और अमरकंटक विस्तार इकाइयों के लिए वर्ष 2019-20 के बजट में प्रावधान किया गया है। इसके अतिरिक्त निजी क्षेत्र में 2640 मेगावॉट की उत्पादन इकाइयों की स्थापना के भी प्रयास किये जा रहे हैं। उर्जा स्टोरेज के लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट (EOI) जारी की गई है।
विद्युत प्रणाली सुदृढ़ीकरण के प्रयास
विद्युत कंपनियों द्वारा विद्युत प्रणाली के सुदृढ़ीकरण के अंतर्गत विद्युत उपलब्धता क्षमता में 1682 मेगावॉट की वृद्धि की गई। श्री सिंगाजी ताप विद्युत परियोजना खण्डवा के द्वितीय चरण में 660 मेगावॉट उत्पादन संयत्र की इकाई क्रमांक चार को 50 माह 28 दिन के रिकार्ड समय में क्रियाशील किया गया, जो प्रदेश के पावर सेक्टर में एक कीर्तिमान है। तेरह नए अति उच्च दाब केन्द्र और 24 वर्तमान अति उच्च दाब उप केन्द्रों पर अतिरिक्त ट्रांसफार्मर स्थापित किए गए। प्रदेश में 1827 अति उच्च दाब लाइनों का निर्माण, 2354 एमबीए अति उच्च दाब ट्रांसफार्मरों में वृद्धि, 185 33/11 केव्ही उप केन्द्रों की स्थापना, 407 पॉवर ट्रांसफार्मर, 1953 किलोमीटर 33 केव्ही लाइन, 43793 किलोमीटर 11 केव्ही लाइन एवं 20518 एलटी लाइन का निर्माण और एक लाख 19 हजार 29 वितरण ट्रांसफार्मर की स्थापना की गई है। जनवरी 2019 से अक्टूबर 2019 तक 59 हजार 914 खराब ट्रांसफार्मर बदले गये। पात्र खराब ट्रांसफार्मर 3 दिन में बदलने की व्यवस्था की गई है।
नवाचार
तीनों विद्युत वितरण कंपनियों से प्रतिभाशाली युवा इंजीनियरों के तकनीकी एवं वाणिज्यिक मामलों के दो दल गठित किए गए हैं, जो शोध और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए अनुशंसाएं देंगे। संधारण कार्य के लिए शटडाउन की पूर्व सूचना दिए जाने की व्यवस्था लागू की गयी है। जन-प्रतिनिधियों एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों को दूरभाष एवं एप के माध्यम से सूचित किया जा रहा है। उपभोक्ताओं को समाचार-पत्र एवं यदि उनके मोबाईल नंबर पंजीकृत हैं, तो एसएमएस द्वारा पूर्व सूचना दी जाने की व्यवस्था की गई है। प्रदेश के बड़े शहरों में अति उच्च दाब गैस इन्सुलेटेड उपकेन्द्र बनाने का निर्णय लिया गया है। वितरण कंपनियों में आर.एण्ड.डी.सेल स्थापित किया गया है, जो तकनीकी समस्या एवं नवाचार इत्यादि पर सुझाव देगा।
पहली बार एक माह में 217 करोड़ राजस्व संग्रह
मध्यप्रदेश के पावर सेक्टर के इतिहास में नवंबर 2019 का माह मील का पत्थर है। नवंबर में राजस्व संग्रह 2017 करोड़ रुपये हुआ है, जो नवंबर 2018 की तुलना में 413 करोड़ अधिक है। इस प्रकार लगभग 26 प्रतिशत अधिक राजस्व मिला है, जो अब तक का प्रदेश का एक माह का सर्वाधिक राजस्व संग्रह है।
गौरतलब है कि वर्ष 2018 में जुलाई से नवंबर की तुलना इस वर्ष 2019 से की जाए तो इन महीनों में 1687 करोड़ का अधिक राजस्व संग्रह हुआ है। इसी प्रकार प्रति यूनिट नगद राजस्व वसूली गत वर्ष 2 रुपये 34 पैसे की तुलना में इस वर्ष नवंबर में 4 रुपये 14 पैसे हो गई है। यह गत वर्ष के इसी माह से 77 प्रतिशत अधिक है।
नवंबर में पूर्व क्षेत्र कंपनी द्वारा 31.71 प्रतिशत, मध्य क्षेत्र कंपनी द्वारा 20.38 प्रतिशत और पश्चिम क्षेत्र कंपनी द्वारा 25.63 प्रतिशत अधिक राजस्व संग्रह किया गया। यह कंपनी गठन के बाद किसी एक माह में सर्वाधिक राजस्व संग्रह है।
पुरस्कार
सौभाग्य योजना में शत-प्रतिशत घरों में विद्युतीकरण देश में सबसे पहले पूरा करने पर भारत सरकार द्वारा फरवरी 2019 में दो भिन्न-भिन्न श्रेणियों में पश्चिम एवं मध्य क्षेत्र विद्युत कंपनी को 100-100 करोड़ और 50-50 लाख रूपये के पृथक-पृथक नगद पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

प्रतिभा पर्व में शामिल हुए जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
13 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज तुलसी नगर स्थित नवीन कन्या स्कूल के प्रतिभा पर्व में शामिल हुए। श्री शर्मा ने स्कूल में परीक्षा व्यवस्था और स्मार्ट क्लास का निरीक्षण किया तथा परीक्षा संचालन व्यवस्था देखी। उन्होंने छात्राओं और शिक्षकों से चर्चा भी की। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्री नितिन सक्सेना और श्री राकेश वाथम उपस्थित थे।


केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर से मिले मंत्री श्री सचिन यादव
13 December 2019
भोपाल.किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव ने आज नई दिल्ली में केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर से मुलाकात की। केन्द्रीय मंत्री ने बताया कि भारत सरकार ने मध्यप्रदेश की माँग स्वीकार करते हुए 2.80 लाख मीट्रिक टन यूरिया का अतिरिक्त आवंटन जारी कर दिया है।
केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर ने कहा कि केन्द्र ने मध्यप्रदेश का यूरिया का आवंटन 15.4 लाख मीट्रिक टन से बढ़ाकर 18 लाख मीट्रिक टन कर दिया है। उन्होंने आश्वस्त किया कि मध्यप्रदेश के किसानों के हित में केन्द्र द्वारा राज्य सरकार को पूर्ण सहयोग दिया जाएगा।

राज्य एवं संभाग स्तरीय आंतरिक शिकायत निवारण समिति गठित
13 December 2019
भोपाल.राज्य शासन ने न्यायालयों में उच्च शिक्षा विभाग के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये राज्य एवं संभाग स्तरीय आंतरिक शिकायत निवारण समितियों का गठन किया है। राज्य स्तरीय समिति में प्रमुख सचिव, उच्च शिक्षा की अध्यक्षता में राजपत्रित अधिकारियों (प्राचार्य, प्राध्यापक, सह-प्राध्यापक, सहायक प्राध्यापक, क्रीड़ा अधिकारी एवं ग्रंथपाल) के प्रकरणों/शिकायतों का निराकरण किया जाएगा। समिति में आयुक्त, उच्च शिक्षा, विधि महाविद्यालय के नामांकित प्राध्यापक/सहायक-प्राध्यापक, संचालनालय में न्यायालयीन शाखा प्रभारी एवं प्रकरण से संबंधित संचालनालय/मंत्रालय के शाखा प्रभारी को सदस्य मनोनीत किया गया है।
संभाग स्तरीय समिति में अराजपत्रित कर्मचारियों के प्रकरणों और शिकायतों का निराकरण क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक की अध्यक्षता में किया जाएगा। प्रकरण से संबंधित जिले के अग्रणी महाविद्यालय के प्राचार्य, अध्यक्ष द्वारा नामांकित कोई विधि विषय के प्राध्यापक/सहायक प्राध्यापक और क्षेत्रीय अतिरिक्त संचालक कार्यालय के विधि प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी को समिति का सदस्य बनाया गया है।
शिकायतकर्ताओं से सॉफ्टवेयर के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन प्राप्त किया जाएगा। आवेदनकर्ता अपने शासकीय ई-मेल से लॉग-इन कर ऑनलाइन आवेदन और अन्य दस्तावेज अपलोड कर सकते हैं। सेवारत कर्मचारी अपने शासकीय ई-मेल आई.डी. एवं पासवर्ड का प्रयोग कर लॉग-इन कर सकते हैं। सेवानिवृत्त अधिकारी-कर्मचारी अपने मोबाइल नम्बर की सहायता से विभागीय पोर्टल पर अपना पंजीयन करवा सकते हैं।

साईं पालकी यात्रा में शामिल हुए मंत्री श्री शर्मा
12 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा आज रचना नगर स्थित पिपलेश्वर हनुमान मंदिर की साईं पालकी यात्रा में शामिल हुए और साईंनाथ की पूजा-अर्चना कीl पालकी यात्रा में पुष्प-वर्षा करते हुए नागरिकों ने साईं पालकी यात्रा का स्वागत किया।
धर्मस्व मंत्री श्री शर्मा मठ मंदिर न्यास समिति अध्यक्ष से मिले
जनसम्पर्क एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा आज मठ मंदिर न्यास समिति के अध्यक्ष श्री सुबोधानंद महाराज से मिले। उन्होंने सुबोधानंद महाराज जी को पुष्प-गुच्छ भेंटकर आशीर्वाद प्राप्त किया। मंत्री श्री शर्मा के साथ पार्षद श्री मोनू सक्सेना भी मौजूद थे।

मंत्री श्री वर्मा की अध्यक्षता में रोगी कल्याण समिति की बैठक हुई
12 December 2019
भोपाल.लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा की अध्यक्षता में आयोजित रोगी कल्याण समिति की बैठक में सोनकच्छ अस्पताल में सुविधाओं में बढ़ोतरी करने का निर्णय सर्वसहमति से लिया गया।
बैठक में तय किया गया कि अस्पताल भवन की रंगाई-पुताई, ओटी, प्रस्तावित एनआरसी की वाटर-प्रूफिंग व रंगाई-पुताई, गार्डन निर्माण, लेट-बाथ, पानी की टंकी, एल्यूमिनियम गेट की व्यवस्था तथा मरीजों के लिये नवीन आरओ, 2 वॉटर कूलर तथा 2 टन का एसी क्रय करने का निर्णय लिया गया।
बैठक में अस्पताल में सहूलियतें बेहतर बनाने के साथ-साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का सिविल अस्पताल के रूप में उन्नयन कराने का निर्णय लिया गया। इसके लिये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को आवश्यक पहल करने को कहा गया। परिसर की स्वच्छता व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिये भी अपेक्षित कदम उठाये जाने के निर्देश दिये गए।
बैठक में डायलिसिस, सोनोग्राफी मशीन, डिजिटल एक्स-रे भी चिकित्सालय में उपलब्ध कराये जाने पर सहमति बनी।

मंत्री श्री वर्मा द्वारा पेयजल टंकी और सामुदायिक भवन का भूमि-पूजन
12 December 2019
भोपाल.लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने आज देवास जिले के सोनकच्छ विकासखण्ड के ग्राम गंधर्वपुरी में 2 करोड़ 45 लाख की पेयजल टंकी तथा 22 लाख 50 हजार रूपये के सामुदायिक भवन का भूमि-पूजन किया। उन्होंने बताया कि ग्राम गंधर्वपुरी में नई गौशाला बनाई जाएगी। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में ग्रामीण और जन-प्रतिनिधि मौजूद थे।


धर्मस्व मंत्री श्री शर्मा ने किया भूमि-पूजन
11 December 2019
भोपाल.जनसंपर्क, विधि एवं विधायी, धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा पाँच नंबर स्थित सिद्धेश्वर मंदिर में निर्माण कार्यों का भूमि-पूजन किया और कोटरा में भागवत कथा में शामिल होकर व्यासपीठ की पूजा-अर्चना कीl उन्होने ईश्वर से प्रदेश की उन्नति और खुशहाली की कामना की। मंत्री श्री शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि आप सबके आशीर्वाद से हमें जनता की सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ। विकास के काम करना हमारी पहली प्राथमिकता है। हम स्थानीय जनप्रतिनिधियों और नागरिकों के सहयोग से क्षेत्र का विकास करेंगे।
मंत्री श्री शर्मा ने सिद्धेश्वर मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के रूकने एवं अन्य निर्माण कार्यों के लिए भूमि-पूजन किया। कार्यक्रम में मंत्री श्री शर्मा के साथ पार्षद योगेन्द्र सिंह गुड्डू चौहान उपस्थित थे।

दोष सिद्ध दो अधिकारियों की स्थायी रूप से पेंशन रोकने का निर्णय
11 December 2019
भोपाल.सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह की अध्यक्षता में आज मंत्रालय में हुई मंत्रिमण्डलीय समिति की बैठक में विभिन्न विभागों के दोषी पाए गए अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्ध कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया। बैठक में वित्त मंत्री श्री तरूण भनोत, महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल उपस्थित थे। बैठक में सहकारिता, महिला-बाल विकास तथा नगरीय प्रशासन आदि विभागों के सेवानिवृत्त अधिकारियों/कर्मचारियों के पेंशन प्रकरण संबंधित प्रमुख सचिव द्वारा प्रस्तुत किये गये।
बैठक में महिला-बाल विकास और नगरीय प्रशासन विभाग के एक-एक प्रकरण में दोष सिद्ध होने पर संबंधित अधिकारी की पेंशन स्थायी रूप से रोके जाने का निर्णय लिया गया। महिला-बाल विकास विभाग के एक अन्य प्रकरण में संबंधित की 10 प्रतिशत पेंशन 3 वर्ष के लिये रोके जाने का निर्णय लिया गया। सहकारिता विभाग के प्रकरण में संबंधित से सहकारी समिति को हुई क्षति 10 लाख रूपये वसूले जाने तथा पेंशन न रोके जाने का निर्णय लिया गया।
बैठक में अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन श्री के.के. सिंह, प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री संजय दुबे, प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास श्री अनुपम राजन, प्रमुख सचिव सहकारिता श्री अजीत केसरी तथा प्रमुख सचिव विधि श्री सतेन्द्र सिंह भी मौजूद थे।

छिन्दवाड़ा में 15-16 दिसम्बर को राज्य-स्तरीय कॉर्न फेस्टिवल
11 December 2019
भोपाल.राज्य शासन द्वारा मक्का उत्पादन और उपयोग को बढ़ावा देने के लिये आगामी 15-16 दिसम्बर को छिन्दवाड़ा में राज्य-स्तरीय कॉर्न फेस्टिवल आयोजित किया जाएगा। फेस्टिवल में जनसमुदाय की अधिकाधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिये एडवेंचर गतिविधियाँ आयोजित की गईं। गुरूवार को आयोजित हॉट एयर बैलून एडवेन्चर, रोलर बॉल, इनफ्लैटेबल क्लाइंम्बिग वॉल और कमाण्डो नेट आदि एडवेंचर गतिविधियों में हजारों की संख्या में लोगों ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया।
2 लाख 75 हजार स्कूली बच्चों ने एक साथ बनाई पेंटिंग
राज्य-स्तरीय कॉर्न फेस्टिवल में स्कूली बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिये शनिवार 7 दिसम्बर को जिला स्तरीय पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित की गई। प्रतियोगिता में जिले के 4 हजार 600 स्कूलों के 2 लाख 75 हजार बच्चों ने एक साथ पेंटिंग बनाकर वर्ल्ड रिकार्ड कायम करने का प्रयास किया है।
कॉर्न फेस्टिवल में पुरस्कृत होंगी पेंटिंग्स
पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रत्येक स्कूल की पहली तीन चयनित पेंटिंग और जिला एवं विकासखण्ड स्तर से चुनी गईं पहली, दूसरी और तीसरी पेंटिंग कॉर्न फेस्टिवल में आम जनता के लिये प्रदर्शित की जायेगी। स्कूल में प्रथम आने वाली पेंटिंग को प्रशस्ति-पत्र दिया जायेगा और विकासखण्ड तथा जिले में चयनित पहली, दूसरी और तीसरी पेंटिंग को शील्ड प्रदान की जायेगी। कॉर्न फेस्टिवल में 16 दिसम्बर को जिले में प्रथम में आने वाली पेंटिंग को 5100 रूपये, द्वितीय पेंटिंग को 3100 और तृतीय पेंटिंग को 2100 रूपये नगद पुरस्कार दिया जायेगा।

नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन यूनिफार्म्ड वीमेन इन प्रिजन्स एडमिनिस्ट्रेशन 19-20 दिसम्बर को
10 December 2019
भोपाल.जेल विभाग और बी.पी.आर. एण्ड डी. नई दिल्ली द्वारा संयुक्त रूप से 19-20 दिसम्बर को सेंट्रल एकेडमी फॉर पुलिस ट्रेनिंग कान्हासैया में सेकेण्ड नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन यूनीफार्म्ड वीमेन इन प्रिजन्स एडमिनिस्ट्रेशन का आयोजन किया जा रहा है। कॉन्फ्रेंस में विभिन्न राज्यों की जेलों के वार्डन से लेकर महानिरीक्षक स्तर की वर्दीधारी महिला अधिकारी और कर्मचारी, गैर-सरकारी संगठनों के सदस्य, शैक्षणिक संस्थाओं के प्रतिनिधि एवं अन्य सरकारी विभागों के अधिकारी शामिल होंगे।
वर्दीधारी महिलाओं के इस प्रकार के राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन पहली बार दिल्ली से बाहर मध्यप्रदेश में किया जा रहा है। पहली बार यह सम्मेलन 2017 में दिल्ली में हुआ था। मध्यप्रदेश में महिलाओं को शासकीय सेवाओं में 30 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। वर्तमान में प्रदेश के जेल विभाग में 900 से अधिक वर्दीधारी महिला अधिकारी-कर्मचारी कार्यरत हैं।
द्वितीय राष्ट्रीय नेशनल कॉन्फ्रेंस में जेल विभाग में कार्यरत वर्दीधारी महिला अधिकारियों-कर्मचारियों के लिये लिंगभेद मुक्त कार्य-स्थल/वर्दीधारी महिलाओं की कार्य-स्थल पर चुनौतियाँ, वर्दीधारी महिला अधिकारियों के लिए कार्य और पारिवारिक जीवन में संतुलन/वर्दीधारी महिला जेल अधिकारियों को जेल के मुख्य कार्यों एवं दायित्वों से जोड़ना, कार्य-स्थल से जुड़ी समस्याएँ तथा मानसिक एवं सामाजिक रूप से मजबूत बनाने के लिये कार्य-निष्पादन संबंधी चर्चा की जाएगी। कॉन्फ्रेंस में दो ऐसी वर्दीधारी महिला अधिकारी-कर्मचारियों की भी चर्चा होगी, जिन्होंने अपने कार्यकाल में सफलतापूर्वक चुनौतीपूर्ण कार्य किये हैं।

पन्ना टी-3 वॉक 20 से 26 दिसम्बर तक : ऑनलाइन आवेदन 14 दिसम्बर तक
10 December 2019
भोपाल.बाघ पुन:स्थापना का दशक पूर्ण होने पर वन विभाग और राज्य जैव-विविधता बोर्ड द्वारा पन्ना में बाघों की आबादी के पितामह टी-3 को लेकर किये गये वर्ष 2009 के प्रयासों को पुनर्जीवित करने के लिये 20 से 26 दिसम्बर तक 'पन्ना टी-3 वॉक'' का आयोजन किया जा रहा है। वॉक में भाग लेने के लिये बाघ और प्रकृति-प्रेमी मध्यप्रदेश जैव-विविधता के पोर्टल mpsbb@mp.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर रहे हैं। आवेदन की अंतिम तिथि 14 दिसम्बर है।
सदस्य राज्य जैव-विविधता बोर्ड श्री श्रीनिवास मूर्ति ने बताया कि सात चरणों में आयोजित इस वॉक में 18 साल से अधिक आयु वाले और एक दिन में 15 से 20 किलोमीटर चलने में सक्षम व्यक्ति भाग ले सकते हैं। प्रतिभागी को बुंदेलखण्ड और बघेलखण्ड की भौगोलिक एवं जैव-विविधता की जानकारी होना चाहिए। प्रतिभागी को पन्ना आने-जाने का व्यय स्वयं उठाना होगा। एक चरण में 50 प्रतिभागी शामिल होंगे। देर से आने वाली प्रविष्टियों को मान्य नहीं किया जाएगा। चयनित प्रतिभागियों को ई-मेल और फोन द्वारा सूचना दी जाएगी।
चयनित प्रतिभागी 20 दिसम्बर को पन्ना टाइगर रिजर्व पहुँचकर क्षेत्र संचालक को सूचित करेंगे। प्रतिभागियों को यहाँ अल्प प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। प्रतिभागियों को उन्हीं स्थानों पर ठहराया जाएगा, जहाँ-जहाँ से टी-3 वर्ष 2009 में गुजरा था। किसी भी प्रतिभागी के साथ किसी साथी को अनुमति नहीं दी जाएगी।

शत-प्रतिशत हो मीटर रीडिंग : ऊर्जा मंत्री श्री सिंह
10 December 2019
भोपाल.ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने शत-प्रतिशत मीटर रीडिंग करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि इंदिरा गृह ज्योति योजना का पूरा लाभ तभी मिलेगा, जब सही मीटर रीडिंग के आधार पर बिजली बिल बनेगा। श्री सिंह ने सागर रीजन में सागर, टीकमगढ़, छतरपुर, दमोह, पन्ना और निवाड़ी जिले में बिजली आपूर्ति और अन्य योजनाओं की वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिये।
ऊर्जा मंत्री श्री सिंह ने कहा कि किसानों को निर्धारित शेडयूल के आधार पर बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पानी की उपलब्धता के आधार पर भी शेडयूलिंग का प्लान भी बना सकते हैं।
हर माह के दूसरे मंगलवार को समिति की बैठक
ऊर्जा मंत्री श्री सिंह ने कहा कि बिजली बिल से संबंधित समस्याओं के निराकरण के लिए गठित समिति की बैठक हर माह के दूसरे मंगलवार को अनिवार्य रूप से करें। निर्धारित समय पर बैठक नहीं करने वाले जूनियर इंजीनियर को नोटिस जारी करें।
राजस्व संग्रह बढ़ायें
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बिजली बिल की वसूली पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को इस संबंध में समझाइश भी दें कि बिल नहीं जमा नहीं करने पर बिजली आपूर्ति में कठिनाई होगी। सचिव ऊर्जा श्री नितेश व्यास ने कहा कि अधिकारी फील्ड में जाकर योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति देखें।

मंत्री श्री शर्मा ने चौपाल लगाकर किया समस्याओं का निराकरण
9 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी कार्य मंत्री श्री पी सी शर्मा ने वल्लभ नगर में जन चौपाल लगाकर जनता की समस्याओं का त्वरित निराकरण के लिए संबंधित विभाग को निर्देशित किया।
जन चौपाल में 'आपकी सरकार - आपके द्वार' योजना के अंतर्गत राशन कार्ड, पहचान पत्र, सड़क, बिजली, पेयजल जैसी मूलभूत समस्याओं का निराकरण किया गया। मंत्री श्री शर्मा ने सम्बंधित विभागों को समय-सीमा में कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस मौके पर वल्लभ नगर के रहवासी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


शासकीय सेवकों के लिए लागू होगी स्वास्थ्य बीमा योजना : मंत्री डॉ. गोविंद सिंह
9 December 2019
भोपाल.सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने बताया है कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निर्देशानुसार प्रदेश के समस्त सेवारत एवं सेवानिवृत्त अधिकारियों/कर्मचारियों एवं उनके परिवारों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना तैयार की गई है। योजना की औपचारिक स्वीकृति के बाद शीघ्र ही इसे लागू कर दिया जाएगा। डॉ. सिंह ने बताया कि योजना से लगभग 7.5 लाख सेवारत तथा लगभग 5 लाख सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों तथा उनके परिवारों को सामान्य रूप से 5 लाख रूपये तक तथा गंभीर बीमारियों में 10 लाख रुपये तक कैशलैस इलाज की सुविधा मिलेगी।
मंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि योजना में प्रत्येक सेवारत/सेवानिवृत्त शासकीय सेवक को हेल्थ कार्ड जारी किया जाएगा, जिसके माध्यम से उन्हें चयनित नेटवर्क हॉस्पिटल्स में नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा मिलेगी। क्रियान्वयन एजेंसी के माध्यम से बीमा कंपनी द्वारा सीधे अस्पताल को वास्तविक भुगतान किया जाएगा। एक्सीडेंट अथवा अन्य इमर्जेन्सी के केस में इम्पेनल्ड हॉस्पिटल्स के अलावा अन्य हॉस्पिटल में इलाज करवाने के लिए संबंधित सीएमओ से रैफर कराने का प्रावधान भी किया जा रहा है।
डॉ. गोविंद सिंह ने बताया कि योजना में इलाज एवं ऑपरेशन के व्यय के अलावा 10 हजार रूपये तक ओ.पी.डी. व्यय देना भी प्रावधानित है। इसके अलावा, ऑपरेशन/इलाज के बाद चलने वाली दवाओं पर होने वाले खर्च तथा ब्लड प्रेशर एवं शुगर जैसी बीमारियों की दवाओं का खर्च भी दिए जाने का प्रावधान किया जा रहा है।
सामान्य प्रशासन मंत्री ने बताया कि विभिन्न निगम-मंडलों सहित संविदा पर कार्य कर रहे कर्मचारियों को भी इस योजना का लाभ दिए जाने पर विचार किया जा रहा है। बीमा की प्रीमियम राशि का निर्धारण सेवारत शासकीय सेवक के 'पे बैण्ड' के अनुसार तथा सेवानिवृत्त शासकीय सेवक की पेंशन राशि के अनुसार होगा। मासिक प्रीमियम अंशदान राशि न्यूनतम 250 रूपये और अधिकतम 1000 रूपये होगी, जो शासकीय सेवक के वेतन से कटेगी।

कान्हा टाईगर रिजर्व में पाँच जंगली कुत्तों की मृत्यु की जाँच के निर्देश
9 December 2019
भोपाल.वन मंत्री श्री उमंग सिंघार ने कान्हा टाईगर रिजर्व में पाँच वन्य प्राणी जंगली कुत्तों की मृत्यु की जाँच के निर्देश दिये हैं। ये जंगली कुत्ते शनिवार को गश्ती दल द्वारा रिजर्व के खटिया परिक्षेत्र के अरोली और खीसी बीट में मृत पाए गये थे। हिस्टोपैथॉलॉजिकल और फॉरेंसिक जाँच के लिये मृत कुत्तों का विसरा जबलपुर के स्कूल ऑफ वाइल्ड लाइफ फॉरेंसिक एण्ड हेल्थ और सागर की फॉरेंसिक लैब में भेजा गया है। श्री सिंघार ने अधिकारियों से कहा कि यदि जाँच में कुत्ते किसी महामारी का शिकार होना पाये जाते हैं, तो बीमारी को फैलने से रोकने के लिये सभी एहतियाती उपाय अपनायें। उन्होने कहा कि यह भी सुनिश्चित करें कि इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो।
क्षेत्र संचालक श्री एल. कृष्णमूर्ति के निर्देश पर वन्य प्राणी चिकित्सक डॉ. संदीप अग्रवाल ने उप संचालक सुश्री सुचिता तिर्की और सहायक संचालक श्री सुनील कुमार सिन्हा की उपस्थिति में मृत जंगली कुत्तो का पोस्टमार्टम किया। प्रथम दृष्टया जंगली कुत्तों की मृत्यु किसी बीमारी से होना प्रतीत होती है। रिजर्व प्रबंधन ने आस-पास के जल स्त्रोतों के पानी के नमूने भी एकत्र किये हैं, जिनकी जाँच की जा रही है। साथ ही, आस-पास के डेढ़ किलोमीटर के क्षेत्र में सघन कॉम्बिंग कर आवांछित तत्वों की खोज भी की गयी है।

युवक-युवती परिचय सम्मेलन में शामिल हुए मंत्री श्री शर्मा
8 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज चार इमली स्थित महाराणा प्रताप भवन में राजपूत युवक-युवती परिचय सम्मेलन और रेल्वे इंस्टीट्यूट परिसर में अखिल भारतीय कोली समाज द्वारा आयोजित युवक-युवती परिचय सम्मेलन में शामिल हुए। श्री शर्मा ने परिचय सम्मेलनों में शामिल युवक-युवतियों को शुभकामनाएं दीं। कार्यक्रम में समिति के सदस्य एवं पदाधिकारी मौजूद थे।
आठ राज्यों आचार्यों का सम्मान
मंत्री श्री शर्मा ने मानस भवन में राष्ट्रीय ब्राह्मण युवाजन सभा के कार्यक्रम में आठ राज्यों के आचार्यों को सम्मानित किया। श्री शर्मा ने आचार्यों को अभिनन्दन पत्र भेंट किये।
इस मौके पर महापौर श्री आलोक शर्मा, पार्षद श्री गिरीश शर्मा, पंडित श्री विष्णु राजोरिया, श्री पुष्पेन्द्र मिश्रा, श्री अशोक भारद्वाज सहित समिति के सदस्य एवं पदाधिकारी उपस्थित थे।
विकास कार्यों का भूमि-पूजन
जनसम्पर्क मंत्री ने बलवीर नगर में सड़क और सीवेज निर्माण, चूना भट्टी में सड़क निर्माण, कम्फर्ड गार्डन में कम्युनिटी हॉल, चाणक्यपुरी में पार्क तथा बाउंड्री वाल निर्माण का भूमि-पूजन किया। श्री शर्मा ने निर्माण कार्यों को तय समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने निर्माण कार्यों में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने को कहा।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ करेंगे राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता का शुभारंभ
8 December 2019
भोपाल. मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ सोमवार 9 दिसम्बर को शाम 5 बजे भोपाल के टी.टी. नगर स्टेडियम में एकलव्य आवासीय विद्यालयों की 5 दिवसीय राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता का शुभारंभ करेंगे। समारोह में केन्द्रीय जनजातीय कार्य मंत्री श्री अर्जुन मुंडा प्रमुख अतिथि और प्रदेश के आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम विशिष्ट अतिथि रहेंगे।
प्रतियोगिता में 23 राज्यों के 284 एकलव्य आवासीय विद्यालयों के 4,000 खिलाड़ी 15 खेल विधाओं में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे। राष्ट्रीय खेलकूद प्रतियोगिता का समापन 13 दिसम्बर को टी.टी. नगर स्टेडियम में होगा।
छ: खेल मैदानों में होंगी प्रतियोगिताएँ
खेल प्रतियोगिताएँ राजधानी भोपाल के 6 खेल मैदानों पर आयोजित की जाएंगी। इनमें से टी.टी. नगर स्टेडियम में एथलेटिक्स, बेडमिंटन, कबड्डी, कराटे, व्हाली-बॉल, बॉक्सिंग, कुश्ती, बॉस्केट-बॉल, ताईक्वांडो और टेबल-टेनिस प्रतियोगिताएँ होंगी। मोतीलाल नेहरू स्टेडियम और एमव्हीएम ग्राउण्ड में फुटबाल प्रतियोगिता होगी। अंकुर स्कूल, 6 नम्बर स्टॉप स्थित खेल मैदान में तीरंदाजी प्रतियोगिता, लाल परेड ग्राउण्ड पर खो-खो और हैण्ड-बॉल, मेजर ध्यानचंद हॉकी स्टेडियम में हॉकी और प्रकाश तरुण पुष्कर में तैराकी प्रतियोगिता होगी।
प्रतियोगिता के प्रवेश पास की व्यवस्था
राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता के प्रवेश पास वितरण की व्यवस्था टी.टी. नगर स्टेडियम, भोपाल के कन्ट्रोल रूम में की गई है। कन्ट्रोल रूम का फोन नम्बर 0755-2665510 है।

तानसेन संगीत समारोह ग्वालियर में 17 दिसम्बर से
8 December 2019
भोपाल.संगीत सम्राट तानसेन की स्मृति में ग्वालियर में 17 दिसम्बर से 5 दिवसीय राष्ट्रीय तानसेन समारोह आयोजित किया जाएगा। राज्य सरकार ने इस वर्ष से समारोह को अंतर्राष्ट्रीय पहचान देने का निर्णय लिया। इस वर्ष तानसेन संगीत समारोह में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगीत कला साधक और कलाकार शिकरत करेंगे। समारोह में पंडित रविशंकर की जन्म-शताब्दी पर आधारित चित्र प्रदर्शनी 'प्रणति' आयोजित की जाएगी। संगीत संवाद पर केन्द्रित वादी-संवादी कार्यक्रम में विख्यात सितार वादक श्री शुभेन्दु राव और ध्रुपद गायक उमाकान्त गुन्देचा के व्याख्यान प्रमुख आकर्षण रहेंगे।।
संस्कृति विभाग द्वारा आयोजित इस तानसेन संगीत समारोह में पहले दिन 17 दिसम्बर को सुबह 9:30 बजे संगीत सम्राट तानसेन की समाधि पर हरिकथा और मीलाद की प्रस्तुति होगी। इसी दिन शाम 7 बजे सारंगी वादक पद्मश्री मोईनुद्दीन खाँ और प्रेम कुमार मलिक ध्रुपद गायन प्रस्तुत करेंगे। पहले दिन ही शासन द्वारा स्थापित राष्ट्रीय तानसेन एवं राजा मानसिंह तोमर सम्मानों का अलंकरण समारोह होगा। इस मौके पर तानसेन सम्मान से अंलकृत कलाकार गायन प्रस्तुत करेंगे। इसके पूर्व संगीत महाविद्यालय, ग्वालियर के कलाकारों की प्रस्तुति होगी।
दूसरे दिन 18 दिसम्बर को प्रात:कालीन सभा में सुबह 10 बजे मीता पंडित, रसिका गावड़े और सागर मोरानकर का गायन होगा। श्रुति अधिकारी अपने साथी कलाकारों के साथ पंचनाद प्रस्तुत करेंगी। समारोह में ग्रीस की कलाकार लौकिया वालासी और स्टेला वालासी द्वारा गायन संतूरी की प्रस्तुति होगी। सायंकालीन सभा में तानसेन संगीत महाविद्यालय एवं अभिजीत सुखदाण का ध्रुपद गायन, अब्दुल सलाम, नौशाद का क्लेरोनेट वादन तथा यू.एस.ए से आये मोहन देशपाण्डे का गायन होगा। उल्लेखनीय है कि कर्नाटक संगीत के मूर्धन्य मृदंगाचार्य पद्य विभूषण श्री उमायलपुरम के शिवरमन का मृदंग वादन समारोह का विशेष आकर्षण होगा।
तानसेन संगीत समारोह में तीसरे दिन 19 दिसम्बर को सुबह की सभा में सुधाकर देवले और सोनल शिवकुमार का गायन, जयंत गायकवाड़ का पखावज वादन और सलीम अल्लाहवाले ग्रुप का ताल सप्तक होगा। शाम की सभा में नरेश मल्होत्रा एवं पं. अजय पोहनकर का गायन और नित्यानंद हल्दीपुरकर का बांसुरी वादन होगा। विश्व संगीत श्रृंखला में ईरान के कलाकार सियावस इमानी, पेड्रम खावर जामिनी, आमिर खैरी की प्रस्तुति होगी।
समारोह में चौथे दिन 20 दिसम्बर को सुबह की सभा में महेश दत्त पाण्डेय, आपूर्वा गोखले और पल्लवी जोशी का युगल गायन होगा। रामचंद्र भागवत का वॉललिन वादन होगा। इसी सत्र में विश्व संगीत के अंतर्गत चीन की कलाकार ली फेंगयुन द्वारा गुचिन की प्रस्तुति होगी। इसी दिन शाम की सभा में कौशिकी चक्रवर्ती और जान्हवी फनसालकर का गायन होगा। श्री नरेन्द्रनाथ धर सरोद वादन प्रस्तुत करेंगे। इसी शाम विश्व संगीत के अन्तर्गत इजराईल के मीर गैसेनबावर, अमित मीनाखेम और ऐरन जमीन द्वारा नेय, परकशन और ऊद की प्रस्तुति होगी।
राष्ट्रीय तानसेन समारोह में पाँचवे और अंतिम दिन 21 दिसम्बर को ग्वालियर में तानसेन की जन्म स्थली बेहट में सुबह की सभा होगी। इसमें संजुक्ता दास और प्रज्जवल शिरके गायन प्रस्तुत करेंगे। अली अहमद खाँ का सारंगी वादन होगा। इसी दिन शाम की सभा गुजरी महल में होगी, जिसमें जयश्री सबागुंजी और सुजाता गुरव का गायन तथा मीता नाग का सिताव वादन होगा। विश्व संगीत की प्रस्तुतियों के अंतर्गत बेल्जियम के कलाकार हेलिना सूटर्स और बियेतरेज गायन एवं गिटार की प्रस्तुति देंगे।
तानसेन समारोह की सुबह एवं शाम की सभाओं की शुरूआत में परंपरा अनुसार माधव संगीत महाविद्यालय, राजा मानसिंह तोमर संगीत विश्वविद्यालय, भारतीय संगीत महाविद्यालय, शंकर गंधर्व महाविद्यालय, ध्रुपद केन्द्र ग्वालियर, साधना संगीत महाविद्यालय, तानसेन संगीत कला केन्द्र बेहट एवं सारदा नाद मंदिर के कलाकारों द्वारा ध्रुपद गायन की प्रस्तुति होगी।

मुख्य सचिव श्री मोहन्ती को लगाया झंडा दिवस का लेपल पिन
7 December 2019
भोपाल.मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहन्ती को सशस्त्र सेना झंडा दिवस 7 दिसम्बर के अवसर पर प्रभारी संचालक सैनिक कल्याण तथा उप सचिव गृह डॉ. आर.आर. भोसले द्वारा लेपल पिन लगाया गया। डॉ. भोसले ने अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मनोज श्रीवास्तव, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अनुराग जैन और प्रमुख सचिव लोक निर्माण श्री मलय श्रीवास्तव को भी लेपल पिन लगाया गया। श्री मोहन्ती सहित सभी अधिकारियों ने झंडा दिवस निधि के लिए सहायता राशि प्रदान की। इस अवसर पर कर्नल अश्विनी कुमार भी मौजूद थे।
उल्लेखनीय है कि वर्ष 1949 से सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाया जाना शुरू हुआ। इस दिन शहीद सैनिकों के बलिदान और पूर्व सैनिकों के नि:स्वार्थ त्याग को याद किया जाता है। नागरिकों को झंडे वितरित कर प्राप्त दान राशि का शहीद सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों के लिए चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं में उपयोग किया जाता है।

मंत्री श्री हर्ष यादव द्वारा वीआईपी रोड पर सोलर पैनल्स का निरीक्षण
7 December 2019
भोपाल.नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव ने आज भोपाल की वी.आई.पी. रोड पर स्थापित सोलर पैनल्स का निरीक्षण किया। पैनल्स की स्थापना से करबला पंप हाऊस का संचालन होने पर विद्युत व्यय में अनुमानित 42 लाख रूपये वार्षिक की कमी आएगी। इस मौके पर प्रमुख सचिव श्री मनु श्रीवास्तव और ऊर्जा विकास निगम के अधिकारी उपस्थित थे।
वी.आई.पी. रोड के ब्रिज एवं उससे लगी रिटेनिंग वॉल पर 1.2 किलोमीटर लंबाई में 500 किलोवॉट क्षमता का सोलर पॉवर प्लांट संयंत्र स्थापित किया गया है। यह संयंत्र करबला रॉ-वाटर पंपिंग स्टेशन को सौर ऊर्जा से संचालित करने में विद्युत आपूर्ति में सहयोग प्रदान करेगा। परियोजना की स्थापना के लिये बडे़ तालाब के किनारे को सुनियोजित एवं सुव्यवस्थित रूप से उपयोग किया गया है। इसमें प्रतिदिन लगभग 2000 यूनिट विद्युत उत्पादन होगा। इससे प्रतिमाह 60 हजार यूनिट विद्युत की बचत होगी। इससे नगर निगम को सालाना 42 लाख रूपये की बचत होगी। सोलर पैनल्स रूफटॉप नेट मीटरिंग प्रणाली के अंतर्गत स्थापित की गई हैं।
भोपाल शहर को स्मार्ट सिटी एवं सोलर सिटी के रूप में विकसित किये जाने की अवधारणा नवकरणीय ऊर्जा प्रणालियों एवं ऊर्जा दक्ष प्रणालियों के माध्यम से पूर्ण किया जाएगा। शहर की पारम्परिक विद्युत आवश्यकताओं में 10 प्रतिशत की कमी चरणबद्ध रूप से की जाएगी। प्रदेश में सोलर रूफटॉप योजना में लगभग 27 मेगावॉट ग्रिड आधारित परियोजनाएं स्थापित की जा चुकी हैं। ये परियोजनाएं प्रमुख रूप से प्रदेश में स्वास्थ्य केन्द्र, शैक्षणिक संस्थाएं, शिक्षा केन्द्र एवं राज्य शासन की संस्थाएं, भारत संचार निगम के भवन आदि पर स्थापित की गई हैं।

झण्डा दिवस पर प्रतीक ध्वज लगाकर प्राप्त की दान राशि
7 December 2019
भोपाल.सशक्त सेना झण्डा दिवस (07 दिसम्बर) का आयोजन आज जिला सैनिक बोर्ड कार्यालय में किया गया। सेवानिवृत्त सैन्य कर्मियों एवं आम नागरिकों को बोर्ड के सदस्यों ने प्रतीक ध्वज लगाया और दान राशि प्राप्त की। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल यशवंत के. सिंह ने विभिन्न कार्यालयों में जाकर कार्यालय प्रमुखों एवं शासकीय सेवकों को प्रतीक स्वरूप झण्डा लगाया तथा झण्डा निधि में दान राशि प्राप्त की।
उल्लेखनीय है कि ब्रिटिश साम्राज्य के समय से 07 दिसम्बर को झण्डा दिवस के रूप में मनाये जाने की परम्परा है। झण्डा निधि में एकत्रित राशि का उपयोग सैन्य कर्मिकों एवं उनके परिजनों के लिए संचालित कल्याण कार्यक्रमों में किया जाता है। झण्डा निधि में आम नागरिकों द्वारा दी गई स्वेच्छिक दान राशि का आशय अपनी सेनाओं के प्रति कृतज्ञता प्रकट कर यह दर्शाता है कि समूचा राष्ट्र उनके साथ है।
कारगिल युद्ध में 10 दिसम्बर 1994 को शहीद हुए भोपाल के सपूत शहीद केप्टन देवाशीष शर्मा की स्मृति में उनकी माता श्रीमती निर्मला शर्मा ने जिला सैनिक बोर्ड के सभाकक्ष में स्व-निर्मित सैरेमिक कलाकृतियों की एक प्रदर्शनी लगाई है जो 10 दिसम्बर तक रहेगी। इन कलाकृतियों को आम नागरिक खरीद सकते हैं। श्रीमती शर्मा विगत कई वर्षों से स्व-निर्मित सैरेमिक कलाकृतियों के विक्रय से प्राप्त राशि सशस्त्र सेना झण्डा निधि में जमा करती आ रही हैं।
भोपाल जिला सैनिक बोर्ड द्वारा इस वर्ष झण्डा निधि में रूपये 12 लाख 19 हजार 265 की राशि एकत्रित की है जो लक्ष्य का 109 प्रतिशत है तथा पिछले साल से करीब डेढ़ लाख रूपये अधिक है।
इस अवसर पर बिग्रेडियर आर. विनायक, कर्नल एस. कुमार. कर्नल एस.सी. दीक्षित सहित पूर्व सैनिक, उनके परिवारजन तथा आम नागरिक उपस्थित थे।

आंदोलनों के प्रकरणों की वापसी पर हुआ विचार-विमर्श
6 December 2019
भोपाल.गृह मंत्री श्री बाला बच्चन तथा जनसम्पर्क और विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी. सी. शर्मा ने आज मंत्रालय में हुई बैठक में आरक्षण और किसान आंदोलन के दौरान दर्ज किये गये प्रकरणों की वापसी के संबंध में विचार-विमर्श किया। इस सिलसिले में अगली बैठक 11 दिसम्बर को होगी।
डॉ. अम्बेडकर का महा-परि-निर्वाण दिवस
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज भारत रत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर के महा-परि-निर्वाण दिवस कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। श्री शर्मा ने बोर्ड ऑफिस चौराहा स्थित डॉक्टर अम्बेडकर की प्रतिमा पर विभिन्न धर्म-गुरुओं के साथ माल्यार्पण किया।
रामकथा में जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा आज गेहूँखेड़ा, कोलार में आयोजित श्री रामकथा महोत्सव में शामिल हुए। रामकथा का आयोजन स्थानीय नागरिकों द्वारा किया गया। कथा-वाचक पं. वैभव पटेले श्री रामकथा का वाचन कर रहे हैं।

नेशनल लोक अदालत 14 दिसम्बर को
6 December 2019
भोपाल.विद्युत वितरण कंपनियों के कार्य क्षेत्र के जिलों में 14 दिसम्बर को नेशनल लोक अदालत में बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरण में समझौते के माध्यम से निराकृत किये जाएगें। कंपनी द्वारा विद्युत उपभोक्ताओं एवं उपयोगकर्ताओं से अपील की गई है कि वे अप्रिय कानूनी कार्यवाही से बचने के लिए अदालत में समझौता करने के लिए संबंधित बिजली कार्यालय से संपर्क करें। विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 135, 138 तथा 126 के तहत दर्ज बिजली चोरी एवं अनियमितताओं के प्रकरणों में लोक अदालत में समझौता शर्तों का मसौदा जारी कर दिया गया है। ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये लोक अदालत में जरूर आएं।
कंपनी द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि धारा 135 और 138 के न्यायालयों में लंबित प्रकरण एवं न्यायालय में दर्ज नहीं हो सके प्रकरण तथा धारा 126 के अंतर्गत बनाये गये हैं, ऐसे प्रकरण, जिनमें उपभोक्ताओं द्वारा अपीलीय कमेटी के समक्ष आपत्ति/अपील प्रस्तुत नहीं की गई है, की प्रीलिटिगेशन के माध्यम से निराकरण के लिये निम्नदाब श्रेणी के समस्त घरेलू, समस्त कृषि, 5 किलोवॉट तक के गैर घरेलू एवं 10 अश्व शक्ति भार तक के औद्योगिक उपभोक्ताओं को छूट दी जाएगी।
प्रिलिटिगेशन स्तर पर - कंपनी द्वारा आकलित सिविल दायित्व की राशि पर 40 प्रतिशत एवं आकलित राशि के भुगतान में चूक किये जाने पर निर्धारण आदेश जारी होने की तिथि से 30 दिवस की अवधि समाप्त होने के पश्चात् छः माही चक्रवृद्धि दर अनुसार 16 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से लगने वाले ब्याज की राशि पर 100 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।
न्यायालयीन लंबित प्रकरणों में - कंपनी द्वारा आकलित सिविल दायित्व की राशि पर 25 प्रतिशत एवं आंकलित राशि के भुगतान में चूक किये जाने पर निर्धारण आदेश जारी होने की तिथि से 30 दिवस की अवधि समाप्त होने के पश्चात् प्रत्येक छःमाही चक्रवृद्धि दर अनुसार 16 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से लगने वाले ब्याज की राशि पर 100 प्रतिशत छूट दी जाएगी।
कंपनी ने कहा है कि लोक अदालत में छूट कुछ नियम एवं शर्तों के तहत दी जाएगी- आवेदक को निर्धारित छूट के उपरांत शेष बिल आकलित सिविल दायित्व एवं ब्याज की राशि का एकमुश्त भुगतान करना होगा। उपभोक्ता/उपयोगकर्ता को विचाराधीन प्रकरण वाले परिसर एवं अन्य परिसरों पर उसके नाम पर किसी अन्य संयोजन/संयोजनों के विरूद्ध विद्युत देयकों की बकाया राशि का पूर्ण भुगतान भी करना होगा। आवेदक के नाम पर कोई वैध कनेक्शन न होने की स्थिति में छूट का लाभ प्राप्त करने के लिये आवेदक द्वारा वैध कनेक्शन प्राप्त करना एवं पूर्व में विच्छेदित कनेक्शनों के विरूद्ध बकाया राशि (यदि कोई हो) का पूर्ण भुगतान किया जाना अनिवार्य होगा। नेशनल लोक अदालत में छूट आवेदक द्वारा विद्युत चोरी/अनाधिकृत उपयोग पहली बार किये जाने की स्थिति में ही दी जाएगी। विद्युत चोरी/अनाधिकृत उपयोग के प्रकरणों में पूर्व की लोक अदालत/अदालतों में छूट प्राप्त किये उपभोक्ता/उपयोगकर्ता छूट के पात्र नहीं होंगे। सामान्य बिजली बिलों में जुड़ी बकाया राशि पर कोई छूट नहीं दी जाएगी। यह छूट मात्र नेशनल ‘‘लोक अदालत‘‘ 14 दिसम्बर 2019 को समझौते करने के लिये ही लागू रहेगी।

हर कार्यालय में हो आन्तरिक परिवाद समिति : आयुक्त महिला बाल-विकास
6 December 2019
भोपाल.आयुक्त महिला-बाल विकास श्री नरेश पाल कुमार ने कहा है कि सभी कार्यालयों में आन्तरिक परिवाद समिति आवश्यक रूप से गठित की जाये। श्री पाल महिला-बाल विकास, संगिनी तथा मारथा फाउंडेशन द्वारा आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला में महिलाओं के कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीड़न को रोकने के उपाय संबंधी कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।
आयुक्त श्री पाल ने कहा कि ऐसी प्रत्येक घटना, जिसमें महिलाओं का जेन्डर समानता, जीवन जीने और स्वतंत्रता के मौलिक अधिकार का हनन होता है, को सुप्रीम कोर्ट ने उत्पीड़न माना है। उन्होंने कहा कि सरकारी, निगम या सोसायटी द्वारा स्थापित विभाग, संगठन, उपक्रम, संस्था, शासकीय यूनिट, प्राइवेट कंपनी, स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, बैंक, उद्योग, शॉपिंग मॉल, दुकान, घर, जहाँ किसी भी आयु की महिला पारिश्रमिक पर नियुक्त की गई हो, वो 'महिलाओं का कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीड़न (निवारण, प्रतिषेध और प्रतितोषण) अधिनियम-2013' के दायरे में आते हैं। श्री पाल ने बताया कि इस कानून में नियोक्ता को अपने कार्यालय या कार्य-स्थल को महिलाओं के लिए लैंगिक उत्पीड़न से मुक्त माहौल बनाने के लिए जिम्मेदार बनाया गया है।
दो दिवसीय कार्यशाला में विभिन्न विभागों की समिति के अध्यक्ष और सदस्य, विश्वविद्यालय, अस्पताल, प्राइवेट कंपनी, शॉपिंग मॉल, महिला गृह उद्योग, मीडिया ग्रुप आदि के सदस्य उपस्थित रहे।

सहकारी और निजी क्षेत्र में 80:20 रहेगा खाद वितरण अनुपात
5 December 2019
भोपाल.प्रदेश में खाद की कालाबाजारी और अवैध भण्डारण को रोकने के लिये मंत्रिमण्डल उप-समिति ने खाद का वितरण अनुपात सहकारी क्षेत्र में 80 प्रतिशत तथा निजी क्षेत्र में 20 प्रतिशत करने का निर्णय लिया है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा आज इस आशय का आदेश जारी किया गया।




किसानों का संबल बनेंगी खाद्य प्र-संस्करण इकाइयाँ : मंत्री श्री पटवारी
5 December 2019
भोपाल.केन्द्रीय खाद्य प्र-संस्करण उद्योग मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर बादल ने देवास जिले में स्टील साइलो युक्त 52 एकड़ में निर्मित अवंति मेगा फूड पार्क का शुभारंभ किया। देवास जिले के प्रभारी उच्च शिक्षा तथा खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। केन्द्रीय खाद्य प्र-संस्करण उद्योग राज्य मंत्री श्री रामेश्वर तेली, सांसद श्री महेन्द्र सोलंकी, पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह, पूर्व मंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय, विधायक श्रीमती गायत्री राजे पवार, श्री मनोज चौधरी तथा रघुनाथ मालवीय उपस्थित थे। मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि मेगा फूड पार्क के रूप में देवास जिले को शानदार सौगात मिली है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि ये फूड पार्क अधिक उत्पादन की स्थिति में किसानों का संबल बनेंगे। किसानों को यहाँ उनके उत्पादों की अच्छी कीमत मिलेगी। श्री पटवारी ने कहा कि जब फसलों का उत्पादन अधिक होता है, तो किसानों को अपनी उपज सस्ते दामों में बेचनी पड़ती है। उन्होंने कहा कि खाद्य प्र-संस्करण और भण्डारण की सुविधा मिलने से किसान अब अपनी उपज का भण्डारण कर वैल्यू एडिशन के माध्यम से उसे अधिक दामों पर बेचकर ज्यादा कमाई कर पाएंगे। श्री पटवारी ने कहा कि राज्य शासन विकास के कार्यों में हर प्रकार से सहयोग करने के लिए कटिबद्ध है। केन्द्रीय मंत्री श्रीमती हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि खाद्य प्र-संस्करण से किसान अपनी उपज में मूल्य वृद्धि करके आमदनी दोगुना करने में सफल होंगे। श्रीमती कौर ने कहा कि यह उद्योग न केवल किसानों की आमदनी को बढ़ाने में सहायक है बल्कि क्षेत्र के युवाओं को भी बड़ी संख्या में रोजगार उपलब्ध कराने में भी मददगार होगा। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में 2 नये फूड पार्क खरगोन और देवास में शुरू किए गए हैं।
एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय अखिल भारतीय खेलकूद प्रतियोगिता
4 December 2019
भोपाल.आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने कहा है कि भोपाल में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय अखिल भारतीय खेल-कूद प्रतियोगिता का आयोजन होना मध्यप्रदेश के लिए गर्व की बात है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि प्रतियोगिता के सफल आयोजन के लिए सभी आवश्यक तैयारियाँ समय पर पूरी कराएं। श्री मरकाम आज मंत्रालय में आयोजित बैठक में तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव श्रीमती दीपाली रस्तोगी भी उपस्थित थीं।
मंत्री श्री मरकाम ने देश के विभिन्न राज्यों से भोपाल आने वाले खिलाड़ियों और पदाधिकारियों की आवास व्यवस्था, खेल मैदानों की स्थिति और इस मौके पर होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों की जानकारी भी ली। श्री मरकाम ने एकलव्य विद्यालयों के उन खिलाड़ियों की जानकारी भी ली, जो राष्ट्रीय खेल-कूद प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व करेंगे।
बैठक में बताया गया कि 9 दिसम्बर से 13 दिसम्बर तक होने वाली राष्ट्रीय खेल-कूद प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश समेत 23 राज्यों के 3500 खिलाड़ी और 1500 पदाधिकारी शामिल हो रहे हैं। राष्ट्रीय प्रतियोगिता में 16 खेल विधाओं को शामिल किया गया है। खेल प्रतियोगिताएँ टी.टी. नगर स्टेडियम, लाल परेड ग्राउंड, मेजर ध्यानचंद स्टेडियम, मोतीलाल विज्ञान महाविद्यालय ग्राउंड, अंकुर स्कूल ग्राउंड 6 नंबर स्टॉप पर होंगी। तैराकी की प्रतियोगिता प्रकाश तरण पुष्कर में होगी।
बैठक में बताया गया कि छात्रों और छात्राओं को प्रतियोगिता के लिए दो आयुवर्ग समूह अन्डर 14 और अन्डर 19 बनाए गए हैं। प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश के 26 आवासीय विद्यालयों के 555 छात्र-छात्राएँ विभिन्न खेल विधाओं में अपना प्रदर्शन करेंगे।
प्रतियोगिता के दौरान आदिवासी लोक संस्कृति पर केंद्रित मध्यप्रदेश के करीब 500 कलाकार और अन्य राज्यों के 150 कलाकार अपनी आकर्षक प्रस्तुतियाँ देंगे। बैठक में संचालक आदिवासी क्षेत्रीय योजना श्री राकेश सिंह, प्रबंध संचालक आदिवासी वित्त विकास निगम के श्री अभिषेक सिंह और अपर आयुक्त आदिवासी विकास श्री ऋषि गर्ग भी मौजूद थे।

जनसम्‍पर्क मंत्री श्री शर्मा ने गैस त्रासदी के दिवंगतों को दी श्रद्धांजलि
3 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज राजीव स्मृति पुनर्वास केन्द्र में जहरीली गैस कांड संघर्ष मोर्चा द्वारा आयोजित जन एकता दिवस सर्वदलीय जन श्रद्धांजलि सभा में भोपाल गैस त्रासदी की 35वीं बरसी पर दिवंगतों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मंत्री श्री शर्मा ने गैस त्रासदी के पीड़ितों की आवाज बनने वाले सामाजिक कार्यकर्ता स्व. अब्दुल जब्बार को भी याद किया। श्रद्धांजलि सभा में जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री कैलाश मिश्रा, स्थानीय जन-प्रतिनिधि और समिति के सदस्य उपस्थित थे।

मुख्य सचिव ने किया "डिसरोबिंग ऑफ द्रोपदी एण्ड अदर स्टोरीज़" पुस्तक का विमोचन
3 December 2019
भोपाल.मुख्य सचिव श्री सुधिरजंन मोहन्ती ने आज अरेरा क्लब में पूर्व मुख्य सचिव तथा अध्यक्ष रेरा श्री अन्टोनी डिसा 'टीनो' द्वारा लिखित पुस्तक 'डिसरोबिंग ऑफ द्रोपदी एण्ड अदर स्टोरीज़' का विमोचन किया। श्री मोहन्ती ने कहा कि भावनाओं का वैविध्य, प्रारंभिक वर्षों के प्रशासनिक अनुभवों का साउद्देश्य विस्तृत विवरण तथा प्रभावी वाक्य विन्यास पुस्तक को आकर्षक बनाता है। यह विशेषताएँ एक बैठक में पूरी पुस्तक पढ़ने के लिये पाठक को विवश करती हैं। इस अवसर पर पूर्व मुख्य सचिव तथा अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन संस्थान के महानिदेशक श्री आर.परशुराम, पूर्व मुख्य सचिव तथा राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बी.पी. सिंह भी उपस्थित थे।
श्री डिसा ने पुस्तक की कहानियों के पात्र, विषय, उनकी सामयिकता, भाव और प्रभाव की चर्चा की। पुस्तक में ग्यारह लघु कथाएँ हैं। श्री आर. परशुराम तथा श्री बी.पी. सिंह ने भी पुस्तक पर विचार व्यक्त किये। विमोचन से पूर्व भोपाल गैस त्रासदी में दिवंगतों की आत्मा की शांति के लिये दो मिनिट का मौन भी रखा गया।

हर निकाय में बनायें पार्क और ट्रेचिंग ग्राउण्ड
3 December 2019
भोपाल.हर निकाय में कम से कम एक पार्क या अर्बन फारेस्ट, ट्रेचिंग ग्राउण्ड, एक बढ़िया हॉल जरूर बनायें। शहर को धूल मुक्त करने के लिये मुख्य मार्ग के साइड में पेविंग ब्लाक लगवायें अथवा फुटपाथ बनवायें। सभी निकायों में कम से 15 कचरा वाहन होने चाहिये। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने यह बात अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान में मुख्य नगरपालिका अधिकारियों के आधारभूत एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण के समापन कार्यक्रम में कही। श्री सिंह ने प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण-पत्र वितरित किये।
श्री सिंह ने कहा कि जल का अधिकार अधिनियम में प्रत्येक नगर में प्रतिदिन पानी देने का प्रोजेक्ट बनायें। पानी का स्थायी स्त्रोत खोजें, जहाँ से बारह महीने पानी मिल सकें। शहरों की 20 साल की भविष्य की योजना बनायें। उन्होंने कहा कि निकाय को आत्म-निर्भर बनाने के लिये संसाधनों का बेहतर उपयोग करें। उन्होंने कहा कि आवास योजना में पैसों की कमी नहीं है। निकाय के सभी कच्चे मकानों को पक्के मकानों में बदलें। सीवेज सिस्टम के लिये छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर नगरीय निकाय की मल निस्तरण प्रणाली का अध्ययन करें। अक्षय जल संचय अभियान में रूफ वॉटर हार्वेस्टिंग की संरचनाएँ बनवायें।
श्री सिंह ने कहा कि स्वच्छ सर्वेक्षण के बाद शहरों की रेटिंग आवारा पशुओं की संख्या के आधार पर की जायेगी। आवारा पशुओं को शहर से बाहर निर्धारित स्थानों पर रखने की व्यवस्था करें। उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम आगे भी करवाये जायेंगे। श्री सिंह ने चेक लिस्ट पुस्तिका का विमोचन भी किया।
नागरिकों के जीवन-स्तर में सुधार लाना हो उद्देश्य : श्री परशुराम
संस्थान के महानिदेशक श्री आर. परशुराम ने कहा कि मुख्य नगरपालिका अधिकारियों का मुख्य उद्देश्य नागरिकों के जीवन-स्तर में सुधार लाना होना चाहिये।संस्थान में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री की इस वर्ष तीसरी विजिट है, जो संस्थान के लिये गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि संस्थान में अब डॉक्टरों के क्षमतावर्धन का कार्यक्रम करवाया जायेगा। श्री परशुराम ने बताया कि अगले चरण में नगरीय निकायों के निर्वाचित महापौर और अध्यक्षों को भी प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि स्पेसिफिक ट्रेनिंग मॉड्यूल बनाया जायेगा। प्रशिक्षणार्थियों ने भी अपने अनुभव शेयर किये। इस मौके पर प्रमुख सलाहकार श्री गिरीश शर्मा भी उपस्थित थे।

जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा द्वारा 2 करोड़ के विकास कार्यों का शुभारंभ
1 December 2019
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज शिवाजी नगर, चार इमली और कोटरा क्षेत्र की बस्तियों में लगभग दो करोड़ रुपये लागत के सड़क डामरीकरण, पेवर ब्लाक, नाली निर्माण, पार्क डेवलपमेंट सहित अन्य विकास कार्यों का भूमि-पूजन किया। श्री शर्मा ने निर्माण ऐजेन्सी से पूरी गुणवत्ता के साथ तय समय सीमा में कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिये।
मंत्री श्री शर्मा ने शिवाजी नगर के वार्ड 46 की बस्तियों में एक करोड़ 80 लाख रुपये लागत के विकास कार्यों का भूमि-पूजन किया। कोटरा क्षेत्र में 20 लाख रुपये लागत के नाला निर्माण और पार्क डवलपमेंट के कार्यों की आधारशिला रखी। श्री शर्मा ने कोटरा राजीव नगर में रहवासियों के साथ ट्री गार्ड के साथ 51 पौधे भी लगाए।

कलार समाज का युवा वर्ग प्रदेश के विकास में भी सहभागी बने - मंत्री श्री जायसवाल
1 December 2019
भोपाल.विधानसभा अध्यक्ष श्री एन.पी. प्रजापति, खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल और जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज यहाँ कल्चुरी भवन में आयोजित कलार समाज के सामूहिक विवाह एवं परिचय सम्मेलन में शामिल हुए। सम्मेलन में समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री दिलीप सूर्यवंशी ने समाज की गतिविधियों की जानकारी दी। सम्मेलन में विधायक श्री मुनमुन राय भी उपस्थित थे।
विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति ने कहा कि कलार समाज सनातन धर्म का पक्षधर है। इस समाज ने सकारात्मक सोच की परंपरा को अपनाया है। मंत्री श्री जायसवाल ने समाज के युवाओं को आव्हान किया कि प्रदेश के विकास में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें। समाज में व्यापार-व्यवसाय के साथ शिक्षा के प्रसार की दिशा में भी अपना योगदान दें।
विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रजापति, मंत्री श्री जायसवाल और समाज के वरिष्ठ जनों ने सम्मेलन में नव-दम्पत्तियों को आशीर्वाद दिया।

जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने किया नेत्र शिविर का निरीक्षण
29 November 2019
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज अरेरा कालोनी में आयोजित नि:शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर में नेत्र पीड़ितों से मुलाकात की। शिविर में नेत्र रोगियों का निःशुल्क नेत्र परीक्षण किया गया। शिविर में दस नंबर मार्केट के व्यापारियों सहित बड़ी संख्या में स्थानीय रहवासियों ने अपनी आँखों की जाँच कराई।


ऊर्जा मंत्री द्वारा कटनी जिले में 7 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण/भूमि-पूजन
29 November 2019
भोपाल. ऊर्जा मंत्री और कटनी जिले के प्रभारी श्री प्रियव्रत सिंह ने जनपद पंचायत बड़वारा में 'आपकी सरकार-आपके द्वार'' शिविर में लगभग 7 करोड़ 87 लाख एक हजार रुपये लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण/भूमि-पूजन किया। उन्होंने 3 करोड़ 74 लाख 44 हजार रुपये के 30 कार्यों का भूमि-पूजन और 3 करोड़ 34 लाख 27 हजार रुपये के 16 निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया। शिविर में 279 आवेदनों का निराकरण किया गया।
ऊर्जा मंत्री श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश में किसानों को प्रतिदिन सिंचाई के लिये 10 घंटे बिजली मिलेगी। बिजली आपूर्ति का शेड्यूल प्रभारी मंत्री तय करेंगे। उन्होंने कहा कि बड़वारा के अस्पताल को सर्व-सुविधायुक्त बनाया जाएगा। श्री सिंह ने कहा कि करौंदी कर्क रेखा मध्य बिन्दु को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोगों को मूलभूत सुविधाएँ उपलब्ध कराने के साथ ही उनकी समस्याओं का भी त्वरित निराकरण किया जाएगा। ऊर्जा मंत्री ने हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के हित-लाभ वितरित किये। इस दौरान विधायक श्री विजय राघवेन्द्र सिंह सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।
परिवर्तन की अनूठी पहल
ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने बस-स्टैण्ड, कटनी में ग्रामीण आजीविका विक्रय केन्द्र का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि यह परिवर्तन की अनूठी पहल है। श्री सिंह ने कहा कि स्व-सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों को अब स्थाई बाजार मिलेगा। उन्होंने कहा कि समूह के उत्पादों का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।

जरूरतमंदों के लिये सस्ते मकान के तरीके खोजने की जरूरत - रेरा अध्यक्ष श्री डिसा
29 November 2019
भोपाल. म.प्र. भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण (रेरा) अध्यक्ष श्री अन्टोनी डिसा ने मुम्बई में 'राष्ट्रीय किफायती आवास सम्मेलन' में कहा कि अब जरूरतमंदों के लिये सस्ते मकान के तरीके खोजने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस काम में रेरा संगठन को अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी।
श्री डिसा ने मध्यप्रदेश में रेरा एक्ट के बेहतर क्रियान्वयन का उल्लेख करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में रेरा ने सूचना-संचार तकनीक के उपयोग में सफलता हासिल की है। इससे सकारात्मक परिणाम भी मिले हैं। उन्होंने कहा कि देश के अनेक राज्य मध्यप्रदेश के साफ्टवेयर पर बेस्ड हैं।
इस मौके पर श्री अन्टोनी डिसा सहित अन्य अतिथियों ने स्मारिका का विमोचन किया। सम्मेलन में मुख्य कार्यकारी अधिकारी, स्लम पुनर्वास प्राधिकरण मुंबई, श्री दीपक कपूर, अध्यक्ष महाराष्ट्र जल संसाधन विनियामक प्राधिकरण श्री के पी बख्शी, उपाध्यक्ष और मुख्य कार्यपालन अधिकारी महाराष्ट्र आवास क्षेत्र विकास प्राधिकरण श्री मिलिंद माहेश्कर, संयुक्त अध्यक्ष, महाराष्ट्र आवास विकास निगम लिमिटेड, श्री राजेंद्र मिरगाने, प्रबंध निदेशक, आर एंड डीबी, भारतीय स्टेट बैंक श्री पीके गुप्ता सहित देश के अन्य राज्यों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

निकायों को आय के साधन बढ़ाने होंगे- प्रमुख सचिव श्री दुबे
27 November 2019
भोपाल.नगरीयनिकायों को आय के साधन बढ़ाने होंगे। संपत्ति कर, जल कर सहित अन्य करों की नियमित वसूली करें। प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन और विकास श्री संजय दुबे ने अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान में मुख्य नगरपालिका अधिकारियों केा आधारभूत एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रम में यह बात कही।
प्रमुख सचिव श्री दुबे ने कहा कि कोई भी अधिकारी-कर्मचारी आदर्श परिस्थिति में काम नहीं करता। उन्होंने कहा कि जो परिस्थितियाँ हैं, उसी में बेहतर परिणाम देने की चुनौती है। श्री दुबे ने कहा कि जब आप जन-प्रतिनिधि को यह कहें कि यह कार्य नहीं हो सकता है, तो साथ में यह भी बताएं कि इसके स्थान पर क्या हो सकता है।
शासन के नियमों का पालन करें
प्रमुख सचिव श्री दुबे ने कहा कि शासन के नियमों का पालन करना आपकी ड्यूटी है। उन्होंने कहा कि शहर में होर्डिंग और बैनर लगाने के संबंध में शासन के वर्तमान निर्देशों के अनुसार कार्यवाही करें। श्री दुबे ने कहा कि नियमों की बकाया राशि जल्द जारी की जाएगी। उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों के प्रश्नों का विस्तार से जवाब दिया। श्री दुबे ने कहा कि विभाग की वीडियो काफ्रेंसिंग में भी समस्याएँ बता सकते हैं। इस दौरान संस्थान के प्रमुख सलाहकार श्री गिरीश शर्मा उपस्थित थे।

मिलावटखोरों के खिलाफ "शुद्ध के लिये युद्ध अभियान जारी रखने के निर्देश
27 November 2019
भोपाल.लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि प्रदेश में 'शुद्ध के लिये युद्ध'' अभियान में मिलावटखोरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई निरंतर जारी रखें। उन्होंने कहा कि अभियान को जन-आंदोलन का रूप दें। श्री सिलावट आज भोपाल में विभागीय योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में आयुक्त, खाद्य सुरक्षा श्री राजीव दुबे उपस्थित थे।
मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि स्वस्थ प्रदेश की परिकल्पना को साकार करने के लिये विगत 19 जुलाई से 'शुद्ध के लिये युद्ध'' अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि अभियान के जरिए जन-सामान्य को जागरूक करने के लिये सोशल मीडिया के साथ अन्य प्रचार माध्यमों का उपयोग भी किया जाए। श्री सिलावट ने कहा कि युवा पीढ़ी को इस मामले में जागरूक बनाने के लिये कॉलेजों और स्कूलों में विद्यार्थियों की प्रतियोगिताएँ आयोजित की जाएं।
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने संभाग स्तर पर उड़नदस्तों के गठन और अंतर्राज्यीय सीमा चौकियों पर निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला स्तर पर व्यापारियों की बैठक बुलाकर मिलावटखोरों के खिलाफ एकजुट होने की समझाइश दिए जाने के लिये भी कहा। उन्होंने कहा कि न्यायालयों में प्रस्तुत प्रकरणों में मजबूती से राज्य शासन का पक्ष रखा जाए।
बैठक मे बताया गया कि अब तक मिलावटखोरों के खिलाफ कार्यवाही में करीब 4 करोड़ रुपये अर्थदण्ड वसूला गया है। प्रदेश में अब तक दूध उत्पादों, खाद्य पदार्थों और पान-मसाला सहित 9,707 नमूने जाँच के लिये एकत्रित किये गए हैं। बत्तीस खाद्य कारोबारियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) में कार्रवाई की गई है। मिलावट के 94 प्रकरणों में एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। अभियान में लिये गए 3323 नमूनों की जाँच रिपोर्ट आ गई है। इनमें 2040 मानक, 876 अवमानक, 282 मिथ्या छाप, 44 अपद्रव्य, 43 असुरक्षित और 34 प्रतिबंधित श्रेणी के नमूने पाए गए हैं।
स्वाईन फ्लू एवं डेंगू बीमारियों पर चर्चा
मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट 28 नवम्बर को दोपहर 1.30 बजे मंत्रालय में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधिकारियों की बैठक लेंगे। इस बैठक में स्वाईन फ्लू एवं डेंगू जैसी गंभीर मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिये किये जा रहे प्रयासों पर चर्चा होगी।

लगातार प्रयास से ही सफलता सुनिश्चित : मंत्री श्री शर्मा
25 November 2019
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज मिन्टो हॉल में प्रतिज्ञा प्रतियोगी विद्यार्थी महाकुंभ 2019 में कहा कि लगातार प्रयास करने से ही सफलता सुनिश्चित होती है। उन्होंने प्रतिभागियों से कहा कि आप जब किसी बड़े पद पर पहुँच जाएं, तो सभी वर्गों एवं धर्मों का पूरा सम्मान करते हुए कार्य करें।
कार्यक्रम में पूर्व राज्यपाल श्री कप्तान सिंह सोलंकी, विधायक श्री विश्वास सारंग, बाल संरक्षण आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. राघवेंद्र शर्मा, एवं आयोजक प्रतिज्ञा समाज सेवा कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री अनिल कुमार उपाध्याय, सहित बड़ी संख्या में प्रतिभागी उपस्थित थे।

स्वच्छता का कार्य प्यार से हो, घृणा से नहीं
25 November 2019
भोपाल.नगरों में स्वच्छता का कार्य प्यार से हो, घृणा से नहीं। अधिकारी-कर्मचारी ऐसा कार्य करें कि सेवानिवृत्ति पर सिर्फ पेंशन नहीं, अच्छे कार्यों का पुण्य भी साथ रहे। वरिष्ठ लेखक श्री सोपान जोशी ने अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान (एआईजीजीपीए) में व्याख्यान-माला 'असरदार परिवर्तन-टिकाऊ परिणाम'' में 'डूबते-सूखते हमारे नगरों का भविष्य'' पर विचार व्यक्त करते हुए यह बात कही।
जहाँ हरियाली नहीं, वहाँ हिंसा अधिक
श्री जोशी ने कहा कि अधिकारी विशेष बनने का प्रयास नहीं करें। उन्होंने कहा कि अनुसंधान में पाया गया है कि जहाँ हरियाली नहीं होती, वहाँ हिंसा अधिक होती है। उन्होंने कहाकि शहरों को चिड़िया-घर नहीं बनने दें। श्री जोशी ने कहा कि गंभीर समस्याओं का समाधान कभी भी सुविधाओं से नहीं निकलता। इनका समाधान तो दुविधा से ही मिलेगा। जल और जमीन से सीधा संबंध रखें। उन्होंने बताया कि पहले पानी के आधार पर ही गाँव बनते थे। श्री जोशी ने बताया कि बिना पानी के जमीन का कोई मोल नहीं है। उन्होंने मैले पानी के उपचार के विभिन्न तरीकों के बारे में उदाहरण के माध्यम से जानकारी दी। श्री जोशी ने संस्थान में प्रशिक्षणरत मुख्य नगर पालिका अधिकारियों की शंकाओं का समाधान भी किया।
शहरी विकास की बने स्पष्ट नीति
महानिदेशक अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान श्री आर. परशुराम ने कहा कि शहरी विकास की स्पष्ट नीति बननी चाहिये। उन्होंने कहा कि 'असरदार परिवर्तन-टिकाऊ परिणाम'' श्रृंखला उल्लेखनीय कार्य करने वालों के अनुभव शेयर करने का एक माध्यम है। इस मौके पर संस्थान के प्रमुख सलाहकार श्री एम.एम. उपाध्याय और श्री गिरीश शर्मा भी उपस्थित थे।

कान्हा के पास रहने वाले ग्रामीणों को कुकर और गैस कनेक्शन वितरण
25 November 2019
भोपाल.कान्हा टाइगर रिजर्व मण्डला के सरही प्रवेश-द्वार पर प्रबंधन की ओर से विधायक श्री नारायण पट्टा ने 181 हितग्राहियों को 131 प्रेशर-कुकर और 50 नये गैस कनेक्शन वितरित किये। सभी लाभान्वित रिजर्व के आसपास बसे गाँव जैलवार, चटुआखार, मगधा, मोहगाँव, टकटौआ और सरही के निवासी हैं। क्षेत्र संचालक श्री एल. कृष्णमूर्ति ने बताया कि प्रोजेक्ट टाइगर स्कीम के तहत रिजर्व के आसपास निवासरत ग्रामीणों को इस तरह की घरेलू उपयोग की आवश्यक वस्तुएँ प्रदाय की जाती हैं।
श्री कृष्णमूर्ति ने कहा कि ग्रामीणों को प्रेशर कुकर और गैस कनेक्शन मिलने से जंगल पर दबाव कम होगा। ग्रामीण जंगल में ईंधन के लिये लकड़ी बीनने नहीं जाएंगे। इससे मानव-वन्य-प्राणी द्वंद भी प्रतिबंधित होगा। उन्होंने कहा कि इस प्रयास से ग्रामीणों का समय बचेगा और वे रिजर्व द्वारा दिये जा रहे सिलाई प्रशिक्षण का लाभ लेकर अतिरिक्त आय अर्जित कर सकेंगे। क्षेत्र संचालक ने बताया कि जंगल पर दबाव कम करने और स्थानीय ग्रामीणों का जीवन सुविधाजनक बनाने के लिए कान्हा टाइगर रिजर्व प्रबंधन ने यह प्रोजेक्ट क्रियान्वित किया है।

दृष्टिबाधित विद्यार्थियों के लिए "सुगम्य पुस्तकालय प्रारंभ
20 November 2019
भोपाल.राज्य शिक्षा केन्द्र एवं साईट सेवर्स संस्था ने संयुक्त रूप से दृष्टि-बाधित एवं अल्प दृष्टि-बाधित स्कूली बच्चों को पठन-पाठन सामग्री उपलब्ध कराने के लिये ऑनलाइन प्लेटफार्म 'सुगम्य पुस्तकालय'' प्रारम्भ किया है। इस पर बच्चे नि:शुल्क पंजीयन कराकर उपलब्ध पाठ्य-पुस्तकों का ऑनलाइन अध्ययन कर सकेंगे।
सुगम्य पुस्तकालय पर उपलब्ध 15 हजार से अधिक पुस्तकें मोबाइल/कम्प्यूटर पर डाउनलोड कर बच्चों को उपलब्ध कराई जा सकेंगी। इस नवाचार द्वारा दृष्टि-बाधित एवं अल्प दृष्टि-बाधित स्कूली बच्चों के लिये आइकफ आश्रम में आज कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में प्रदेश के सभी जिलों के मोबाइल स्रोत सलाहकार को ऑनलाइन संचालन के लिये प्रशिक्षित किया गया। मोबाइल स्रोत सलाहकार शाला स्तर पर बच्चों को पठन-पाठन सामग्री उपलब्ध कराएंगे।

जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने दिलाई अखण्डता दिवस की शपथ
19 November 2019
भोपाल.जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने 19 नवम्बर राष्ट्रीय अखण्डता दिवस पर मंत्रालय स्थित पटेल पार्क में अधिकारियों-कर्मचारियों को राष्ट्रीय अखण्डता की शपथ दिलाई। मुख्य सचिव श्री एस.आर.मोहंती उपस्थित थे।
सुबह 11 बजे हुई शपथ में मंत्रालय, सतपुड़ा और विंध्याचल भवन के अधिकारी-कर्मचारियों ने देश की आजादी तथा अखंडता बनाये रखने, उसे मजबूत करने और कभी भी हिंसा का सहारा नहीं लेने की प्रतिज्ञा की।
कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन श्री के.के. सिंह, प्रमुख सचिव कार्मिक श्रीमती दीप्ति गौड़ मुखर्जी, प्रमुख सचिव आदिम जाति कार्य श्रीमती दीपाली रस्तोगी भी उपस्थित थी।

बचपन से ही मिलें ऊर्जा संरक्षण के संस्कार: राज्यपाल श्री टंडन
15 November 2019
भोपाल.राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने कहा है कि नए भारत के निर्माण के लिए जरूरी है कि हम हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनें। उन्होंने कहा कि ऊर्जा की बचत ही ऊर्जा का उत्पादन है। इसलिये बच्चों को बचपन से ही ऊर्जा संरक्षण के संस्कार दिये जाएं। श्री टंडन बाल दिवस पर समन्वय भवन में आयोजित राज्य स्तरीय चित्रकला प्रतियोगिता पुरस्कार वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। नर्मदा हाइड्रो इलेक्ट्रिक डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में राज्यपाल ने विजेताओं को पुरस्कार और दस-दस प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किए।
राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि "एक भारत-श्रेष्ठ भारत" मिशन को सफल बनाने के लिए जरूरी है कि मांग और उत्पादन में संतुलन हो। उत्पादन में वृद्धि, उपयोग में संयम और वितरण में समानता हो। उन्होंने कहा कि ऊर्जा संरक्षण समय की आवश्यकता है। इसके लिए समाज में जन-जागृति लाना जरूरी है। उन्होंने एनएचडीसी द्वारा इस दिशा में किये गये प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि स्कूली बच्चों के बीच ऊर्जा संरक्षण विषय पर चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन एक सार्थक पहल है। बच्चों में ऊर्जा की बचत के संस्कार होने से उनके परिजनों में भी ऊर्जा संरक्षण के प्रति चेतना का विकास होगा।
एनएचडीसी के प्रबंध निर्देशक श्री ए.के. मिश्रा ने बताया कि केन्द्रीय विद्युत मंत्रालय के ऊर्जा संरक्षण राष्ट्रीय अभियान 2019 के अन्तर्गत एनएचडीसी द्वारा प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। इस प्रतियोगिता में प्रदेश के 69 हजार 250 स्कूलों के 11 लाख 81 हजार बच्चे शामिल हुए हैं। दो श्रेणियों में आयोजित प्रतियोगिता में दोनों श्रेणियों में 50-50 बच्चों का चयन कर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रथम पुरस्कार विजेता को 50 हजार, द्वितीय को 30 हजार और तृतीय को 20 हजार रूपये एवं प्रशस्ति-पत्र से पुरस्कृत किया गया है। विजेता आगामी 12 दिसम्बर को राष्ट्रीय चित्रकला प्रतियोगिता में भागीदारी करेंगे। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मुख्य महाप्रबंधक श्री अशोक कुमार ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर कक्षा 4थी से 6वीं तक की प्रथम श्रेणी में वेदिका जैन को प्रथम, कनक गोयल को द्वितीय और वंशिका सिसोदिया को तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। श्रेणी दो में कक्षा 7वीं से लेकर 9वीं तक के विद्यार्थियों में प्रथम पुरस्कार भविष्य आचार्य, द्वित्तीय पुरस्कार शुभंकर कुमार और तृतीय पुरस्कार आर्यंशी को प्रदान किया गया। सांत्वना पुरस्कार के रूप में दोनों श्रेणियों के दस-दस प्रतिभागियों को 7500-7500 रूपये एवं प्रशस्ति-पत्र से पुरस्कृत किया गया।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने नेहरू जी की प्रतिमा पर अर्पित की पुष्पाँजलि
15 November 2019
भोपाल.मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने पंडित जवाहर लाल नेहरू की 130वीं जयंती पर रोशनपुरा स्थित पंडित नेहरू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की। श्री कमल नाथ इस मौके पर एकत्रित स्कूली बच्चों से भी मिले।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने बच्चों से कहा कि शिक्षा के साथ ज्ञान भी प्राप्त करें। ज्ञान हमें हर चुनौती का सामना करने में मार्गदर्शन प्रदान करता है। मुख्यमंत्री ने बच्चों से रचनात्मक गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। श्री कमल नाथ ने 'पंडित नेहरू अमर रहे' का नारा लगा रहे नन्हें बच्चों को गोद में लेकर दुलारा।
इस मौके पर जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा, पूर्व मंत्री श्री चंद्रप्रभाष शेखर, पूर्व विधायक श्री भूपेन्द्र जैन एवं श्री राजीव सिंह सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

सामूहिक निकाह सम्मेलन में शामिल हुए राजस्व मंत्री श्री राजपूत
15 November 2019
भोपाल.परिवहन एवं राजस्व मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने सागर में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अन्तर्गत आल इंडिया इज्जितमइ निकाह सम्मेलन में वर-वधुओं को आशीर्वाद देते हुए कहा कि बेटियों को रूख्सत करते हुए मुझे अपनी बेटी की विदाई का अहसास हो रहा है। उन्होंने कहा कि बच्चे, बच्चे ही होते है, चाहे वे किसी भी समुदाय अथवा धर्म के हों। कन्यादान से बड़ा महादान और कोई नहीं है। बेटियों के निकाह सम्मेलन में उपस्थित होकर मैं स्वयं को पिता के रूप में गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ।
मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि राज्य सरकार के सामूहिक विवाह में शासन की ओर से दिये जाने वाले सहयोग को सामान के रूप में न देते हुए सीधे नगद राशि बेटियों के खातों में जमा करने का निर्णय अनुकरणीय है। इससे बेटियाँ अपनी गृहस्थी की जरूरत एवं पसंद के अनुसार उपयोगी सामग्री स्वयं खरीद सकती हैं।

सूखा और गीला कचरा संग्रहण में जन-सहयोग प्राप्त करने के निर्देश
5 November 2019
भोपाल.आयुक्त, नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री पी. नरहरि ने आज जबलपुर में जबलपुर संभाग के नगरीय निकायों की गतिविधियों की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि गीला तथा सूखा कचरा संग्रहण में जन-सहयोग प्राप्त करें, लोगों को जागरूक करने के लिये वार्डों में शिविर लगायें। निकाय प्रभारी प्रतिदिन सुबह नगर में साफ-सफाई की व्यवस्था का निरीक्षण करें, एकत्रित कचरे के निस्तार का इंतजाम करें और गीले कचरे से कम्पोस्ट बनाई जाये।
श्री नरहरि ने आवासीय भूमि का पट्टा वितरण, शौचालय निर्माण, कर वसूली और प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि नगरीय निकाय अपने क्षेत्र में विकास कार्यों के लिये स्वयं के संसाधन से धन-राशि जुटाने के प्रयास करें। श्री नरहरि ने कर वसूली में खराब प्रदर्शन पर 11 नगरीय निकायों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि दिसम्बर माह तक अनिवार्य रूप से डीपीआर स्वीकृत कराकर पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित करें।

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री श्री जवाहरलाल नेहरू की 130वीं वर्षगाँठ
5 November 2019
भोपाल.प्रदेश में 14 नवम्बर को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री श्री जवाहरलाल नेहरू की 130वीं वर्षगाँठ मनाई जाएगी। उच्च शिक्षा विभाग ने निर्णय लिया है कि युवाओं और विद्यार्थियों में नेहरू जी की विरासत को प्रतिष्ठापित करने के लिये सभी विश्वविद्यालयों और शासकीय तथा अशासकीय महाविद्यालयों में वर्ष भर विभिन्न कार्यक्रम और सेमिनार आयोजित किए जाएंगे।
विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों को वर्ष भर आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों और सेमिनार की रूपरेखा तैयार करने के लिये कहा गया है। कार्यक्रमों और सेमिनार में विद्यार्थियों, शोधार्थियों, प्राध्यापकों, गणमान्य नागरिकों ओर जन-प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाएगा।
नेहरू जी की 130वीं वर्षगाँठ पर राष्ट्रीय स्तर के सेमिनार और कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। सभी विश्वविद्यालयों और शासकीय तथा अशासकीय महाविद्यालयों में राष्ट्रीय स्तर के सेमीनार और कार्यक्रम के लिये महत्वपूर्ण विषय निर्धारित किये गये हैं। ये विषय हैं नेहरू और धर्मनिरपेक्षता, नेहरू और प्रजातंत्र, नेहरू और भारत की संकल्पना, नेहरू और शिक्षा, नेहरू और आधुनिक भारत का निर्माण, नेहरू की विदेश नीति, नेहरू और विधि सम्मत शासन, नेहरू एवं वैज्ञानिक अभिरूचि का विकास, नेहरू एवं इतिहास बोध, नेहरू एवं लेखन की अभिव्यक्ति, नेहरू एवं समाजवाद, नेहरू एवं बौद्धिक उदारवार, नेहरू एवं गुट निरपेक्षता तथा नेहरू एवं भारत का स्वतंत्रता संघर्ष।

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय शैक्षणिक कैलेण्डर के अनुसार संचालित हों
5 November 2019
भोपाल.आदिम-जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों के प्राचार्यों को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि विद्यालय शैक्षणिक कैलेण्डर के अनुसार संचालित हों। जिन विद्यालयों में सीटें रिक्त रह जायेंगी, उन विद्यालयों के प्राचार्यों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी। आदिम-जाति कल्याण मंत्री श्री मरकाम आज मंत्रालय में प्रदेश में संचालित एकलव्य आवासीय विद्यालयों की गतिविधियों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव आदिम-जाति कल्याण श्रीमती दीपाली रस्तोगी भी मौजूद थीं।
आदिम-जाति कल्याण मंत्री श्री मरकाम ने लोक निर्माण विभाग की परियोजना क्रियान्वयन इकाई (पीआईयू) को निर्देश दिये कि आवासीय विद्यालयों के सभी अधूरे निर्माण कार्यों को हर हाल में इस वर्ष दिसम्बर तक पूरा किया जाये। मंत्री श्री मरकाम ने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर विद्यार्थियों को अनिवार्य रूप से महात्मा गांधी के स्मारक और देश के प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों का भ्रमण करवाये जाने के निर्देश भी प्राचार्यों को दिये। मंत्री श्री मरकाम ने एकलव्य विद्यालयों के छात्रावासों की स्थिति की भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि प्राचार्य यह सुनिश्चित करें कि विद्यार्थियों को गणवेश, ब्लेजर एवं अन्य सामग्री गुणवत्तापूर्ण ही दी जाये। बैठक में प्रमुख सचिव श्रीमती रस्तोगी ने विद्यालयों में मोटिवेशनल स्पीच के सत्र अनिवार्य रूप से किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने विद्यालय परिसर में पौध-रोपण की स्थिति की भी जानकारी ली। प्रमुख सचिव ने कहा कि संस्था के प्राचार्य और अधीक्षक सुनिश्चित करें कि विद्यार्थियों को प्रतिदिन पोषणयुक्त भोजन मिले।
बैठक में बताया गया कि मध्यप्रदेश ट्राईबल वेलफेयर रेसीडेंशियल एण्ड आश्रम एजुकेशनल सोसायटी द्वारा 45 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों का संचालन किया जा रहा है। इनमें 13 हजार 100 आदिवासी विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं। बैठक में प्रत्येक विद्यालय प्राचार्य से पिछले 3 वर्षों में आवंटित बजट एवं व्यय राशि, छात्रों के प्रवेश की स्थिति तथा खेलकूद एवं सांस्कृतिक गतिविधियों की जानकारी ली गई। बैठक में बताया गया कि वर्ष 2019-20 में एकलव्य आदिवासी विद्यालयों के लिये करीब 107 करोड़ रुपये की राशि केन्द्र सरकार द्वारा मंजूर की गई है।

बोट क्लब होगा प्लास्टिक फ्री
18 September 2019
बोट क्लब भोपाल को प्लास्टिक फ्री बनाया जायेगा। यहाँ पर उपयोग के लिये कपड़े के बैग दिये जायेंगे। जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह और महापौर श्री आलोक शर्मा ने आज बोट क्लब में बैग सिलाई कियोस्क का शुभारंभ किया। उन्होंने जोनल अधिकारियों को दी जाने वाली अल्टो कार को हरी झंड़ी दिखाकर रवाना किया। मंत्री श्री सिंह ने स्वयं कार ड्राइव की। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को स्वच्छता की शपथ दिलायी गयी।
जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि अब फेंका-फांकी नहीं, सिर्फ स्वच्छता होगी। जोनल अधिकारी देखें कि इस सड़क पर एक भी पॉलिथिन नहीं दिखे। उन्होंने कहा कि सभी विभागों के अधिकारियों को भोपाल में चल रहे स्वच्छता अभियान से जोड़ा जाये। श्री शर्मा ने कहा कि शाहजहाँनी पार्क को उसके नाम के अनुरूप बनायें। उन्होंने बताया कि मेट्रो ट्रेन मण्ड़ीदीप और सीहोर तक चलाने का प्रस्ताव है।
बोट क्लब के विकास का प्रोजेक्ट बनायें
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि बोट क्लब को प्लास्टिक फ्री बनाने के साथ ही इसके विकास का प्रोजेक्ट भी बनायें। पर्यटकों को यहाँ बेहतर सुविधाएँ मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि भोपाल को पूरी तरह से प्लास्टिक मुक्त बनाने में आज का यह कदम महत्वपूर्ण साबित होगा। आइस्क्रीम की पैकिंग सहित अन्य उत्पादों की सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति के भी उपाय सोचने होंगे। श्री सिंह ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण की तरह ही शहरों से आवारा पशु, उपेक्षित गायें, स्ट्रीट डॉग्स, आवारा सुअरों को हटाने पर रेंकिंग दी जायेगी। बड़े शहरों में आवारा पशु हटाने पर 40, स्ट्रीट डॉग पर 40 और सुअरों को हटाने पर 20 अंक दिये जायेंगे। छोटे शहरों के लिये भी इसी तरह के अंक निर्धारित कर रेंकिंग तय की जायेगी। उन्होंने कहा कि जोनल अधिकारी जन-प्रतिनिधियों की बातों को गम्भीरता से सुनें और उस पर उचित कार्यवाही भी करें। कपड़े के बैग बनाने के लिए हर वार्ड में स्व-सहायता समूहों को जोड़ें।
महापौर श्री आलोक शर्मा ने कहा कि शहर को स्वच्छ बनाने के लिये सुनियोजित कार्य-योजना बनायी जायेगी। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कथनी और करनी में अंतर नही दिखना चाहिए। नयी पीढ़ी को साफ-सुंदर शहर सौपेंगे। श्री शर्मा ने कहा कि भोपाल की लाईफ-लाईन बड़े तालाब को प्लास्टिक फ्री किया जायेगा।
इस मौके पर स्वच्छता अभियान से जुड़े महाशक्ति सेवा केन्द्र, लायंस क्लब आकृति इको सिटी और सकारात्मक सोच संस्था को सम्मानित किया गया। आयुक्त नगरपालिक निगम भोपाल श्री विजय दत्ता ने अभियान की जानकारी दी। नगरपालिक निगम के नेता प्रतिपक्ष श्री मोहम्मद सगीर अहमद ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। उन्होंने बताया कि यहाँ आने वाले लोगों को 5 रूपये में कपड़े का बैग दिया जायेगा, जिसे वापस भी किया जा सकेगा। कियोस्क में पुराने कपड़ों के बैग भी बनाये जायेंगे। इस दौरान स्थानीय जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

छात्र के ट्वीट पर मुख्यमंत्री ने तत्काल स्वीकृत की आर्थिक सहायता
12 September 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने होल्कर साइंस कॉलेज, इंदौर के छात्र श्री अतुल पाटीदार के ट्वीट पर आग से झुलसे एक अन्य छात्र और छात्रा को तत्काल आर्थिक सहायता स्वीकृत की।
विद्यार्थी श्री पाटीदार ने मुख्यमंत्री को ट्वीट करके जानकारी दी थी कि उसके दो सहपाठी सुश्री अंकित मेहरा और श्री राहुल राज मेहरा रुद्राक्ष अपार्टमेंट में लगी आग में बुरी तरह जल गए हैं। इन दोनों का इंदौर के आनंद अस्पताल में इलाज चल रहा है। छात्र ने अपने ट्वीट में उन्हें आर्थिक मदद की जरूरत बताते हुए मुख्यमंत्री से इलाज में मदद करने का आग्रह किया।
छात्र के ट्वीट के जवाब में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने सुश्री अंकिता मेहरा को एक लाख रुपए और राहुल राज मेहरा को 80 हजार रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की। मुख्यमंत्री ने दोनों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना भी की।

राष्ट्रीय वन शहीद दिवस पर 10 शहीद वनकर्मियों के परिवार सम्मानित
12 September 2019
अपर मुख्य सचिव वन श्री ए.पी. श्रीवास्तव ने आज राष्ट्रीय वन शहीद दिवस पर वन और वन्य-प्राणियों की रक्षा के लिये प्राण न्यौछावर करने वाले 10 शहीद वनकर्मियों के परिवारों को शाल और श्रीफल से सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि भोपाल शहर में अधिसूचित वन क्षेत्र के भू-खण्ड पर शहीद वन विकसित करें। एसीएस ने कहा कि राज्य शासन शहीद वनकर्मियों के परिवारों को समुचित सहायता उपलब्ध कराने के लिये कृत-संकल्पित है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक और वन बल प्रमुख श्री जे.के. मोहन्ती ने बताया कि भोपाल में निर्माणाधीन वन-भवन में वन शहीदों की स्मृति में स्मारक बनाया जायेगा।
कार्यक्रम में शहीद वन रक्षक प्रताप सिंह, रामनारायण वैद्य, राकेश शांडिल्य, लक्ष्मीनारायण सेन, प्रहलाद जाटव, बट्टूलाल, रघुनंदन लाल यादव, वीर हनुमंत सिंह, कोमल सिंह राजपूत और शरन सिंह गौर के परिजनों को सम्मानित किया गया। रक्त दान शिविर भी लगाया गया।

पशुपालन और डेयरी उद्योग में उन्नत तकनीक को बढ़ावा - केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री बालियान
9 September 2019
केन्द्रीय पशुपालन राज्य मंत्री श्री संजीव कुमार बाल्यिमान ने बताया है कि पशुपालन और डेयरी उद्योग को लाभकारी बनाने के लिये उन्नत तकनीकों के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस क्षेत्र में उद्यमियों को आकर्षित करने के लिये पीपीपी मोड पर प्रोजेक्ट क्रियान्वित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। श्री बालियान आज यहाँ 29वीं भारतीय वेटनरी कॉन्फ्रेंस के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे।
केन्द्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि पशुधन का संरक्षण मानव जीवन और पर्यावरण संतुलन के लिये बहुत जरूरी है। वेटनरी डॉक्टर्स और विशेषज्ञों को यह बात समझते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन करना चाहिये। पशुधन संरक्षण में समाज के सभी वर्गों की भागीदारी सुनिश्चित करने का प्रयास भी करना चाहिये।
प्रदेश के पशुपालन मंत्री श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार ने शत-प्रतिशत निराश्रित गौ-वंश को संरक्षित करने का निर्णय लिया है। इसके लिये हाईटेक गौ-शालाएँ बनाई जा रही हैं। ग्रामीणों को दुग्ध उत्पादन बढ़ाने और डेयरी उद्योग अपनाने के लिये भी प्रोत्साहित किया जा रहा है।
कॉन्फ्रेंस में देश के 20 राज्यों के वेटनरी डॉक्टर्स और विशेषज्ञों ने भाग लिया। लुधियाना विश्वविद्यालय के उप कुलपति डॉ. गुरुदयाल सिंह, वेटनरी एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पशुपालन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

मंत्री श्री शर्मा द्वारा "गॉड ऑफ गॉड्स" फिल्म प्रदर्शन का शुभारंभ
9 September 2019
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज यहाँ रंगमहल टॉकीज में 'गॉड ऑफ गॉड्स' फ़िल्म के प्रदर्शन कार्यक्रम का शुभारंभ किया l प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा निर्मित यह फिल्म देवों के देव निराकार शिव पर केन्द्रित हैl ब्रम्हाकुमारी राजयोगिनी अवधेश बहन ने बताया कि फिल्म पूरे देश में दिखाई जा रही हैl


भोजपुर क्लब में इंडोर क्रिकेट प्रेक्टिस एवं फुटसाल कोर्ट का लोकार्पण
31 August 2019
राज्यसभा सदस्य और पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह ने भोजपुर क्लब बिट्टन मार्केट के स्पोर्टस एरीना में इंडोर क्रिकेट प्रेक्टिस तथा फुटबाल के नये स्वरूप 'फुटसाल' के कोर्ट का लोकार्पण कर खिलाड़ियों को सम्मानित किया। पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सुरेश पचौरी, सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा और विधायक श्री आरिफ मसूद उपस्थित थे।


मंत्री श्री शर्मा आमजन की सहायता करने में पहले नंबर पर
31 August 2019
जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान से आम जनता को सहायता पहुँचाने में सबसे आगे हैं। वर्तमान वित्तीय वर्ष में अप्रैल से 22 अगस्त तक श्री शर्मा ने आमजन को 16 करोड़ 53 लाख 50 हजार रुपये की राशि की मदद करवाई है।
प्रदेश में कमलनाथ सरकार के आने के बाद 22 अगस्त तक मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से पीड़ितों के उपचार एवं अन्य प्रकरणों में 57 करोड़ 98 लाख 41 हजार 935 रुपये की मदद मुहैया कराई गई है।
मंत्री श्री शर्मा ने पीड़ितों को सही समय पर समुचित उपचार उपलब्ध कराने के लिये पूर्ण गंभीरता एवं संवेदनशीलता से सहायता की। उन्होंने बताया कि जरूरतमंद को त्वरित मदद करने के लिए प्रदेश सरकार वचनबद्ध है। श्री शर्मा ने कहा कि वे और सरकार के अन्य मंत्री मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नेतृत्व और मार्गदर्शन में जनता की हर संभव सहायता करने की निरंतर कोशिश कर रहे हैं और निरन्तर करते रहेंगे।

मिलावट रहित खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने जारी रहेगा "शुद्ध के लिए युद्ध" अभियान
20 August 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि मध्यप्रदेश की जनता को स्वास्थ्यवर्धक मिलावट रहित खाद्य-सामग्री उपलब्ध करवाने के लिए राज्य सरकार ने 'शुद्ध के लिए युद्ध' अभियान शुरू किया है। आज मंत्रालय में मंत्री-मंडल की बैठक में सभी मंत्रियों ने मुख्यमंत्री को बधाई दी कि उन्होंने जनहित में एक ऐतिहासिक कदम उठाकर मिलावटखोरों के विरूद्ध सख्ती की। इससे आमजन के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभाव पर रोक लगेगी और प्रदेश में लोगों को शुद्ध सामग्री उपलब्ध होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश को मिलावट मुक्त प्रदेश बनाने के लिए सरकार का अभियान निरंतर जारी रहेगा।
मंत्री-मंडल की बैठक में जुलाई माह से मिलावटखोरों के खिलाफ चलाए गए अभियान की विस्तृत रिपोर्ट पेश की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार मिलावटी खाद्य पदार्थ बनाने और विक्रय करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई करने के लिए संकल्पित है। खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 विनियम 2011 के अंतर्गत मिलावटी खाद्य पदार्थ का निर्माण एवं विक्रय करने वालों के विरूद्ध प्रभावी एवं कठोर प्रावधान बनाने के लिए उच्च-स्तरीय समिति का गठन किया गया है। इस समिति के सदस्य प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, प्रमुख सचिव गृह एवं विधायी कार्य विभाग हैं। समिति द्वारा की गई अनुशंसाओं को मंत्री-मंडल द्वारा अनुमोदित कर भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण भारत सरकार को भेजा जाएगा।
मंत्री-मंडल की बैठक में बताया गया कि मिलावटखोरों के खिलाफ चलाए गए अभियान के दौरान जिला भोपाल में 1300 किलो मावा एवं पनीर, जिला रायसेन में 64 लाख रुपए का घी, जिला इंदौर एवं जबलपुर में लगभग 6 लाख रुपए का मिलावटी पनीर, जिला उज्जैन में 1 लाख 69 हजार रुपए का नकली घी, जिला खरगोन में 1 लाख 50 हजार रुपए का नकली घी, देवास में 78 लाख रुपए का घी एवं दूध पावडर जप्ती की कार्रवाई की गई। अन्य जिलों में भी दूध एवं दुग्ध उत्पादों की जप्ती की गई है। जिला नीमच में 39 लाख रुपए का मिलावटी धनिया, मिर्च एवं हल्दी, जिला छिंदवाड़ा में 80 हजार किलो गुड़, जिला गुना में 4300 लीटर, नरसिंहपुर जिले में एक लाख 16 हजार 580 लीटर, सागर जिले में 45 हजार 994 लीटर खुला खाद्य तेल एवं नीमच जिले में 24 हजार 270 किलो ग्राम मिलावटी मूंगफली तेल जप्त किया गया। जिला इंदौर में कार्बाइड से पकाए गए करीब 600 किलो पपीता और जिला बड़वानी में कार्बाइड से पकाए गए करीब 300 किलो केले नष्ट कराए गए हैं। पूरे प्रदेश में मिलावटी दूध, दुग्ध उत्पाद, खाद्य तेल, आटा, फल एवं अन्य खाद्य पदार्थों के रूप में 16 करोड़ 59 लाख 86 हजार 196 रुपए की जप्ती की गई है। साथ ही 19 लाख 02 हजार 950 रुपए के दूषित मावा, पनीर, नमकीन, फल, खाद्य तेल को नष्ट कराया गया है।
मिलावट के विरूद्ध चलाए गए अभियान के दौरान 19 जुलाई से 15 अगस्त तक कुल 3195 नमूने जाँच के लिए संग्रहित किए गए। राज्य खाद्य जाँच प्रयोगशाला द्वारा 19 जुलाई से 6 अगस्त तक कुल 428 नमूनों के जाँच प्रतिवेदन जारी किए गए हैं, जिनमें 139 नमूने सब स्टेण्डर्ड (मिलावटी), 22 मिथ्याछाप, 8 असुरक्षित, 3 प्रतिबंधित और 9 अपद्रव्य स्तर के घोषित किए गए हैं। अन्य नमूनों को जाँच के लिए भारत सरकार द्वारा अधिसूचित प्रयोगशाला में विश्लेषण के लिए राज्य के बाहर भेजा गया है।
41 एफ आई आर दर्ज : 7 के विरूद्ध रासुका
मिलावटखोरों के विरूद्ध चलाये गये अभियान में दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की गई है। भोपाल में 7, रायसेन में एक, राजगढ़ में 2, विदिशा में एक, कटनी में 2, सिवनी में 2, खरगोन और खण्डवा में एक-एक, धार में 4, ग्वालियर में 3, गुना में 2, सिंगरौली में एक, मुरैना में 12 और भिण्ड में 2 कुल 41 एफआईआर दर्ज की गई हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत रायसेन में एक, जबलपुर में एक, इंदौर में 2, खरगोन में एक, ग्वालियर में एक और उज्जैन में एक कुल 7 लोगों के विरूद्ध रासुका की कार्यवाही की गई है।
प्रशासन द्वारा फलों एवं सब्जियों को कृत्रिम रूप से नियम विरूद्ध कार्बाइड से पकाने पर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा निरंतर नमूना लेने एवं जप्ती की कार्रवाई की जा रही है। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा फलों एवं सब्जियों को पकाने में उपयोग किए जाने वाले कार्बाइड के कुल 17 नमूने लिए गए हैं एवं 8 आरोपी खाद्य कारोबारकर्ता के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किए गए हैं। इसी अनुक्रम में दुधारू पशुओं में प्रतिबंधित आक्सिटोसिन इंजेक्शन के दुरुपयोग हेतु विक्रय करने पर ग्वालियर में 2 प्रकरण औषधि निरीक्षकों द्वारा दर्ज किए गए हैं।
मध्यप्रदेश मंत्री-परिषद द्वारा इंदौर, जबलपुर, एवं ग्वालियर में 3 नवीन प्रयोगशाला स्थापित करने की अनुमति प्रदान की गई है। जिसमें इंदौर में स्थापित की जाने वाली प्रयोगशाला के लिए 1 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया गया है। खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 विनियम 2011 में दिए गए कार्य एवं कर्त्तव्यों और खाद्य एवं औषधि प्रशासन में मैदानी एवं लिपिकीय अमले का विस्तार कर मंत्री-परिषद द्वारा पदोन्नति एवं सीधी भर्ती के कुल 152 स्थाई पद एवं 61 आउटसोर्स के पद स्वीकृत किए गए हैं।

कमलनाथ की मंत्री ने कहा- मैं तीन तलाक पर क्यों बोलूं मेरी तो शादी ही नहीं हुई है
1 August 2019
इंदौर. राज्यसभा में तीन तलाक बिल पास होने पर जहां मुस्लिम महिलाओं मे खुशी है। वहीं, मध्यप्रदेश में कमल नाथ सरकार की चिकित्सा मंत्री ने तीन तलाक को लेकर अजीबो-गरीब बयान दिया है। बुधवार को इंदौर पहुंची प्रदेश की चिकित्सा मंत्री से जब मीडिया ने तीन तलाक के मुद्दे पर बात की तो उन्होंने अजीब जवाब दिया। मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा- कि यह एक संवेदनशील मुद्दा है। उन्होंने कहा- मैं तीन तलाक के मुद्दे पर क्या बोलूं मेरी तो शादी ही नहीं हुई है।
बोलने के लिए कई नेता
चिकित्सा शिक्षा मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ बुधवार को अचनाक एमवाए अस्पताल पहुंचीं थी। जब मीडिया ने उनसे तीन तलाक बिल के राज्य सभा में होने पर सवाल किया तो उन्होंने कहा- यह संवेदनशील मुद्दा है। इस पर बोलने के लिए बहुत सारे नेता हैं उन्हीं को बोलेन दीजिए। वैसे भी मेरी तो शादी भी नहीं हुई है।
व्यवस्थाओं पर जताई खुशी
इस दौरान मंत्री ने एमवाए अस्पताल का दौरा कर अस्पताल की व्यवस्थाओं पर खुशी जताई। वहीं, कैंटिन में गंदगी और रेट लिस्ट देखकर वो नाराज हुईं। उन्होंने कहा कि अस्पताल में जल्द ही नई बर्न यूनिट शुरू की जाए।
मंगलवार को राज्यसभा में पास हुआ है बिल
मोदी सरकार ने मंगलवार को राज्यसभा के पटल पर तीन तलाक का बिल रखा था। लंबी चर्चा के बाद ये बिल राज्यसभा से पास हुआ है। अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद ये कानून बन जाएगा। देश में अब एक साथ तीन तलाक देना अपराध है। तीन तलाक बिल पास होने पर प्रदेश की मुस्लिम महिलाओं ने खुशी जताई है। बता दें कि राज्यसभा में कांग्रेस ने तीन तलाक बिल के संशोधन की मांग की थी। इसके साथ ही कांग्रेस ने तीन तलाक बिल का विरोध किया था।
दिग्विजय सिंह ने बिल पास होने पर क्या कहा
कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा था- यदि मोदी सरकार आरोपी पर मेरा जेल भेजने के बजाय कम से कम 1 लाख का जुर्माना और दस हजार प्रति माह पत्नी को अलाउंस का संशोधन स्वीकार कर लेती तो पूरा विवाद ही समाप्त हो जाता। मोदी जी की मंशा अनुसार उन्हें मुसलमानों का विश्वास भी मिल जाता जो वे चाहते भी हैं।

नहीं मिल रहा आवास योजना का लाभ
1 August 2019
छिंदवाड़ा. लोधीखेड़ा नगर पंचायत में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्र बहुत से हितग्राहियों को लाभ नहीं मिल रहा है। कई हितग्राही ऐसे हैं जो महीनों से नगर पंचायत का चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन उन्हें सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है।
नगर पंचायत के अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से कई बार आवास योजना के लाभ के लिए गुहार लगा चुके देवेंद्र गोखे ने बताया कि उनके नाम से लोधीखेड़ा नगर पंचायत क्षेत्र में कच्चा मकान है। मकान जर्जर हो चुका है, बावजूद इसके प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं दिया गया है। गोखे ने बताया कि कई अपात्र लोगों को आवास योजना का लाभ दे दिया गया है जबकि जरूरतमंद परेशान हो रहे हैं।
शौचालय का भी नहीं कराया गया निर्माण
शौचालय निर्माण के लिए भी देवेंद्र गोखे ने आवेदन दिया था, लेकिन आज तक उनके घर में शौचालय नहीं बनवाया गया। पूरा परिवार बाहर शौच के लिए जाने को मजबूर है। अब अधिकारी यह कह रहे हैं कि यह योजना बंद हो गई है और आपके घर में शौचालय का निर्माण नहीं हो सकता।
सूचना का अधिकार के तहत नहीं दे रहे जानकारी
देवेंद्र गोखे ने नगर पंचायत लोधीखेड़ा के लोक सूचना अधिकार से सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत प्रधानमंत्री आवाज योजना में कितने मकान बनाए गए हैं, इसकी जानकारी चाही थी। लोक सूचना अधिकारी को पहला आवेदन 3 जनवरी, दूसरा आवेदन 10 जनवरी और तीसरा आवेदन 15 जनवरी 2019 को दिया गया था, लेकिन उन्हें आज तक चाही गई जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई है।

सांप निकले तो इन्हे कॉल करे।
26 July 2019
सांप निकले तो इन्हे कॉल करे।....
सौर ऊर्जा से जगमग होगा खरगोन का कलेक्ट्रेट भवन
23 July 2019
अब खरगोन जिला मुख्यालय पर नया कलेक्ट्रेट भवन भी सौर ऊर्जा से जगमग होगा। भवन में पंखे, एसी, कूलर, कम्प्यूटर, फोटोकॉपी आदि सारे काम इसी ऊर्जा से होंगे। इस भवन में बिजली भी रहेगी, लेकिन उसका उपयोग आवश्यकता पड़ने पर ही होगा।
नये कलेक्ट्रेट भवन में म.प्र. ऊर्जा विकास निगम द्वारा सोलर पैनल लगाए गए हैं। ये बिजली पर होने वाले खर्च को तो कम करेंगे, साथ ही पर्यावरण सरंक्षण में भी फायदेमंद होंगे।
भवन में प्रतिदिन 240 यूनिट बिजली उत्पादन क्षमता के 60 किलोवॉट के सोलर पम्प लगाये गये हैं। करीब 40 लाख की लागत के इन सोलर पम्प से प्रतिमाह 7200 यूनिट बिजली की बचत होगी। इस तरह प्रतिमाह बिजली बिल में लगभग 50 हजार रूपये की बचत होगी।

ऊर्जा मंत्री द्वारा धतरावदा राजगढ़ में विद्युत सब-स्टेशन का लोकार्पण
15 July 2019
ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने राजगढ़ जिले के ग्राम धतरावदा में एक करोड़ 98 लाख लागत के 33/11 के.व्ही. विद्युत सब-स्टेशन का लोकार्पण किया। इससे 26 गाँव के विद्युत उपभोक्ता लाभान्वित होंगे।
श्री सिंह ने कहा कि क्षेत्रीय किसानों को निर्बाध बिजली आपूर्ति होगी। जिले में रोजगार के नये अवसर सृजित करने के साथ ही पिछड़े क्षेत्रों को विकास की मुख्य-धारा से जोड़ा जायेगा। उन्होंने बताया कि जामगाँव में बन रहे ग्रिड को जल्द प्रारंभ किया जायेगा। इसके साथ ही कुण्डालिया परियोजना से समूह नल-जल योजना शुरू कर घर-घर पेयजल उपलब्ध कराया जायेगा। इस दौरान जन-प्रतिनिधि एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

मंत्री डॉ. चौधरी ने मूक-बधिर बच्चों के साथ मनाया जन्म-दिन
15 July 2019
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने आज अपना जन्म-दिन बिसनखेड़ी स्थित चाइल्ड विथ स्पेशल नीड्स छात्रावास में मूक, बधिर, दृष्टि-बाधित, मंदबुद्धि बच्चों के साथ मनाया। डॉ. चौधरी ने बच्चों को केक, मिठाई, फल तथा कपड़े भेंट कर जन्म-दिन की खुशियाँ बाँटी। बच्चों ने उन्हें साइन लैंग्वेज में जन्म-दिन की शुभकामनाएँ दी। डॉ. चौधरी ने छात्रावास प्रांगण में पौधा भी लगाया।
राजधानी से दूसरे शहरों को जोड़ने के लिए शुरू हुईं 56 इंटरसिटी बसें
15 July 2019
भोपाल. राजधानी से दूसरे शहरों को बस सेवा से जोड़ने के लिए सूत्र सेवा के तहत 56 बसों की शुरुआत हो चुकी है। भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड (बीसीएलएल) के पास मई में 75 बसें आई थीं। आरटीओ से परमिट होते ही बची हुई 19 बसें भी उतारी जाएंगी। 34 शहरों में कुल 110 बसों का संचालन होना है। इसमें 62 एसी और 48 नॉन एसी बसें शामिल हैं।
बीसीएलएल ने सूत्रसेवा की बसों का संचालन चार्टर्ड स्पीड प्राइवेट लिमिटेड और श्री दुर्गम्मा ट्रांस-वे प्राइवेट लिमिटेड को सौंपा है। होशंगाबाद रोड, रायसेन रोड से होकर जाने वाली बसें आईएसबीटी और इंदौर रूट की ओर जाने वाली बसें हलालपुर से संचालित की जा रही हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 जून 2018 में इंदौर से सूत्र सेवा की शुरुआत की थी। शुरुआत में बीसीएलएल ने भोपाल से जबलपुर के लिए दो बसें चालू की थीं। इसके बाद भोपाल से छिंदवाड़ा, अशोक नगर, आष्टा के लिए चालू हुईं। अब धीरे-धीरे 22 शहरों के लिए बसों की संख्या 56 तक पहुंच चुकी है।
राजधानी से इन शहरों को जोड़ा गया
भोपाल से नीचम, खिलचीपुर, झाबुआ, खरगौन, सेंधवा, गोरेगांव, अलीराजपुर, रतलाम, उज्जैन, गंजबासौदा, गुना, चतरा, राजनगर, सिरोंज, सिलवानी, बैतूल, पांढुर्ना, सारणी।
ये सुविधाएं मिलेंगी
इस बस सेवा में आईटीएमएस, उपकरणों जैसे जीपीएस, पीआईएस, पीएएस आदि लगाए जाने का प्रावधान किया गया है। महिलाओं की सुरक्षा के दृष्टिगत पैनिक बटन, कैमरा जैसे यंत्र लगे होने चाहिए। इन बसों को शहरों में बनाए कंट्रोल कमांड सेंटर के साथ पब्लिक ग्रिवेन्स सिस्टम तथा हेड कंट्रोल कमांड सेंटर से लिंक किया जाना था। साथ ही यात्रियों को सिंगल टिकट सिस्टम वेबसाइट और मोबाइल एप्लिकेशन की सुविधा भी प्रदान की जानी है। हालांकि ऑपरेटर स्तर पर ही टिकट दिए जा रहे हैं।
बीसीएलएल ही करेगा मॉनिटरिंग
सूत्र सेवा की बसें समय पर न चलने, हर कहीं बस रोकने, तेज रफ्तार से चलाने पर ऑपरेटर के खिलाफ सुनिश्चित हो सकेगी। आरटीओ द्वारा यात्री वाहनों के हिसाब से तय किराया ही वसूला जा सकेगा। जैसे जैसे परमिट मिलते जा रहे हैं, सूत्रसेवा की बसों की संख्या बढ़ाई जा रही है। बसों में मिलने वाली अन्य सुविधाएं भी बढ़ाई जाएंगी। किसी तरह की असुविधा होने पर यात्री बीसीएलएल कार्यालय में शिकायत कर सकते हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने भोपाल में लगा पोस्टर
8 July 2019
भोपाल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्य प्रदेश का कांग्रेस अध्यक्ष बनाने के बीच उन्हें कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग उठी है। हालांकि ये मांग दिल्ली में नहीं भोपाल में हुई है। भोपाल के प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं ने पोस्टर लगाए हैं। जिसमें राहुल गांधी से अपील की गई है कि वो सिंधिया को मध्य प्रदेश कांग्रेस की कमान सौंपे। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया है।
व्यापमं काे बंद करने की तैयारी, 18 हजार शिक्षकों की भर्ती अटकी
8 July 2019
प्रदेश सरकार व्यापमं (पीईबी) को बंद करने की तैयारी में है। इसके लिए औपचारिकताएं शुरू कर दी गई हैं। व्यापमं की जगह राज्य कर्मचारी आयोग का गठन किया जाएगा। इधर, व्यापमं ने अब तक स्कूल शिक्षा विभाग में शिक्षकों की भर्ती के लिए हुई टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट (टीईटी) का रिजल्ट अब तक घोषित नहीं किया है। इस वजह से अब तक शिक्षकों की करीब 18 हजार नियुक्तियां अटकी हुई हंै। कांग्रेस सरकार व्यापमं बंद कर उसकी जगह सरकारी सेवाओं मेंं चयन के लिए राज्य कर्मचारी आयोग का गठन करना चाहती है। इसके माध्यम से विभिन्न विभागों में भर्ती के लिए परीक्षा-इंटरव्यू आदि लिए जाएंगे। यह दावा भी किया जा रहा है कि व्यापमं की तरह इसमें भ्रष्टाचार नहीं होगा। बल्कि पारदर्शी और निष्पक्ष तरीके से उम्मीदवारों को अवसर दिए जाएंगे। जानकारी के मुताबिक पीईबी को जल्द बंद कर दिया जाएगा। इस संबंध में प्रस्ताव भी तैयार कर लिया गया है। इसे बंद करने के बाद इसकी री-स्ट्रक्चरिंग की जाएगी और नए तौर-तरीके से इसके माध्यम से परीक्षा ली जाएगी। अब तक घोषित नहीं हुआ परिणाम : पीईबी ने फरवरी में टीईटी आयोजित की थी। इसका परिणाम चार महीने गुजर जाने के बाद भी घोषित नहीं किया जा सका है। इस वजह से स्कूलों में लगभग 18 हजार शिक्षकाें की भर्ती अटकी हुई है। अतिथि शिक्षकों के माध्यम से स्कूलों में पढ़ाई हो रही है। स्कूल शिक्षा के अधिकारियों का कहना है कि पीईबी से रिजल्ट घोषित करने का इंतजार है। जब तक रिजल्ट घोषित नहीं होगा, तब तक अतिथि शिक्षकों से काम चलाना पड़ेगा। इतना समय गुजर जाने के बाद भी रिजल्ट घोषित न होने से पीईबी पर सवाल उठ रहे हैं। इधर, पीईबी के परीक्षा नियंत्रक एकेएस भदौरिया ने कहा कि इस महीने के अंत तक रिजल्ट घोषित किया जा सकता है।
एमपी नगर जोन-1 से 90 फीसदी तक गुमठियां साफ
8 July 2019
भोपाल एमपी नगर में रविवार को भी अतिक्रमण विरोधी अभियान चला। विजय स्तंभ के सामने और...
एमपी नगर में रविवार को भी अतिक्रमण विरोधी अभियान चला। विजय स्तंभ के सामने और आसपास के अन्य क्षेत्रों से रविवार को गुमठियां, ठेले और काउंटर जब्त किए गए। निगम अब तक 325 से अधिक गुमठियां जब्त कर चुका है। एमपी नगर में चल रहे इस अभियान से जोन-1 में 90 फीसदी गुमठियां साफ हो गईं हैं। अगले चरण में एमपी नगर जोन-2 से गुमठियां हटाई जाएंगी। उधर, पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह ने रविवार शाम को रोशनपुरा पर प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि गुमठी और ठेला व्यवसायियों को बिना शिफ्टिंग के नहीं हटाया जा सकता है। पूर्व विधायक ने चेतावनी दी कि यदि इन व्यवसायियों को व्यवस्थापित नहीं किया गया तो वे गुमठी व्यवसायियों के साथ रात में कभी भी वल्लभ भवन में घुस जाएंगे। प्रदर्शन के बाद एसडीएम संजय श्रीवास्तव को सौंपे ज्ञापन में उन्होंने राज्यपाल या मुख्यमंत्री से मुलाकात का समय तय कराने का अनुरोध किया, ताकि वे अपनी बात उन तक पहुंचा सकें। कांग्रेस पार्षदों पर क्यों नहीं हुई एफआईआर भाजपा नेताओं ने सीएसपी उमेश तिवारी को सौंपे ज्ञापन में सवाल उठाया है कि कांग्रेस पार्षदों द्वारा निगम मुख्यालय पर किए गए प्रदर्शन और तालाबंदी के मामले में नगर निगम ने उन पर एफआईआर क्यों नहीं कराई। जिला महामंत्री अनिल अग्रवाल, अशोक सैनी, राम बंसल और राजेंद्र गुप्ता ने कहा कि या तो पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह पर दर्ज एफआईआर वापस ली जाए या कांग्रेस पार्षदों पर भी एफआईआर दर्ज हो।

निपाह वायरस से भयभीत होने से नहीं सूझबूझ और सावधानी से बचा जा सकता है
1 Jun 2018
भोपाल। अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत द्वारा आज पुरानी विधानसभा स्थित यादव मोहल्ला झुग्गी बस्ती में निपाह वायरस से बचने हेतु अग्रिम सुरक्षा की दृष्टि से निःशुल्क दवाइयो का वितरण किया गया। चिकित्सकों ने रहवासियों को दवाईयों से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि निपाह वाइरस से भयभीत होने से नहीं सूझबूझ और सावधानी से बचा जा सकता है। उन्होंने बताया कि निपाह वायरस के संक्रमण के लक्षणों की शुरुआत एन्सेफेलेटिक सिंड्रोम से होती है, जिसमें बुखार, सिरदर्द, म्यालगिया की अचानक शुरुआत, उल्टी, सूजन, विचलित होना और मानसिक भ्रम शामिल हैं. संक्रमित व्यक्ति 24 से 48 घंटों के भीतर कॉमेटोज हो सकता है। उन्होंने बताया कि आप जो खाना खाते हैं वह चमगादड़ या उनके मल से दूषित नहीं हुआ हो। चमगादड़ के कुतरे फलों को खाने से बचना चाहिए। अपने हाथों को अच्छी तरह से साफ करें। रोगी के लिए उपयोग किए जाने वाले कपड़े, बर्तन और सामान को अलग से साफ रखना चाहिए। वायरस से प्रभावित क्षेत्रों में यात्रा न करें और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क से दूर रहें। बड़ी संख्या में रहवासियों ने वायरस से बचने के उपाय समझे। चिकित्सकों ने तीन दिवस तक सूरक्षा डोज लेने का सभी से आग्रह किया। शिविर में विशेषज्ञ डॉ. सारिका शर्मा, डॉ. रेणुका वर्मा, डॉ. रेणुका शर्मा, डॉ. लक्की कारखुर ने सैकडों रहवासियो का उपचार कर निःशुल्क दवाइयों का वितरण किया। इस अवसर पर प्रान्त सचिव श्री हरीश बारी सहित श्रीमती वंदना सैनी, श्रीमती प्रतिमा हरित, श्री अमित सैनी, श्री राजेश ललवानी, एवं जिला अभिभाषक संघ के वरिष्ठ सदस्य श्री प्रदीप शर्मा एडवोकेट उपस्थित थे।
भोपाल को संस्कार आधारित स्मार्ट सिटी बनाने में सहयोग दें नागरिक : मुख्यमंत्री श्री चौहान
8 February 2018
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के नागरिकों से भोपाल शहर को भारतीय संस्कारों और मूल्यों पर आधारित स्मार्ट सिटी बनाने में सहयोग करने आव्हान किया है। उन्होंने कहा है कि उच्च नागरिक संस्कारों के प्रतीक शहर के रूप में भी भोपाल अपनी पहचान बनाये। श्री चौहान आज यहां भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कार्पोरेशन द्वारा किये जा रहे क्षेत्र आधारित विकास कार्यों के अंतर्गत शासकीय बहुमंजिला आवासों के भूमि-पूजन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। श्री चौहान ने इनक्यूबेशन केन्द्र और एकीकृत कंट्रोल एवं कमांड सेंटर सहित कुल 500 करोड़ रुपये लागत के कार्यों का शिलान्यास किया गया। श्री चौहान ने कहा कि भोपाल शहर को आधुनिक बनाने के लिए 18 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के निर्माण कार्य चल रहे हैं। उन्होंने नागरिकों से आग्रह किया कि वे भोपाल को न सिर्फ देश बल्कि विश्व के बेहतरीन शहरों में शामिल करने में कोई प्रयास अधूरे नही छोड़े। उन्होंने कहा कि भोपाल को झुग्गी मुक्त शहर बनाने में किसी प्रकार की कसर नही छोड़ेंगे। श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में 51 हजार 894 मकान बनाकर जरूरतमंदों को दिए जा रहे हैं। इस योजना में 13 हजार से ज्यादा मकान बन चुके हैं। भोपाल को आधुनिक बनाने में एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किये जा रहे हैं। उन्होंने नागरिकों से भोपाल को स्वच्छता सर्वे में देश का नंबर वन शहर बनाने का संकल्प दिलाया। श्री चौहान ने मुख्यमंत्री आश्रय योजना के अंतर्गत पात्र लोगों को आवासीय पट्टे वितरित किये। उन्होंने कहा कि कोई गरीब बिना आवास के नहीं रहेगा, उन्हें पूरा सम्मान मिलेगा। श्री चौहान ने कहा कि सरकार ने कर्मचारियों और हर वर्ग का पूरा ध्यान रखा है। मुख्यमंत्री ने शौर्य स्मारक का उल्लेख करते हुए कहा कि अब यह देशभक्ति का संस्कार देने का प्रेरणा केन्द्र बन चुका है। उन्होंने बताया कि भारत माता मंदिर परिसर के निर्माण के लिए जमीन आवंटित दी गई है। रानी कमलापति की प्रतिमा भी स्थापित की जाएगी। उन्होने कहा कि देश भक्ति की प्रेरणा देने वाले शहर के रूप में भी भोपाल की पहचान होगी। भोपाल जिले के प्रभारी मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान प्रधानमंत्री श्री मोदी के स्मार्ट शहरों के सपने को साकार कर रहे हैं। उन्होने कहा कि भोपाल शहर को स्मार्ट बनाने के साथ शिक्षा, संस्कार, नागरिक कर्तव्यों के पालन में भी स्मार्ट बनाया जाना चाहिये। राजस्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि स्मार्ट सिटी प्रकृतिजन्य सुंदर शहर के बीच भोपाल की शान होगी और शहर का गौरव बढ़ाएगी। भोपाल महापौर आलोक शर्मा ने बताया कि भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखकर स्मार्ट सिटी के विकास का रोडमैप बनाया गया है। भोपाल कलेक्टर और स्मार्ट सिटी कार्पोरेशन के अध्यक्ष श्री सुदाम खाड़े ने स्मार्ट सिटी शहर की परियोजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि नौ परियोजनाएं पूरी हो गई हैं और 22 भविष्य में पूरी हो जाएँगी। इन्क्यूबेशन केन्द्र और एकीकृत कंट्रोल एन्ड कमांड सेंटर स्मार्ट सिटी का मुख्य आकर्षण होंगे। एकीकृत कंट्रोल एन्ड कमांड सेंटर पर एक ही जगह सभी डिजिटल सुविधाएं उपलब्ध होंगी जिससे शहर के यातायात पर निगरानी रखी जा सकती है। इस अवसर पर स्मार्ट सिटी का स्वरूप दिखाने वाली एक फ़िल्म भी दिखाई गई। मंत्रोच्चारण के साथ भूमि-पूजन कार्यक्रम संपन्न हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल गौर, सहकारिता राज्य मंत्री श्री विश्वास सारंग, विधायक श्री सुरेन्द्र नाथ सिंह, नगर निगम अध्यक्ष डॉ. सुरजीत सिंह चौहान, मध्यप्रदेश माटीकला बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामदयाल प्रजापति और बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
अमरकंटक को 155 करोड़ से मिनी स्मार्ट सिटी बनाएंगे : मुख्यमंत्री श्री चौहान
24 January 2018
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अमरकंटक को मिनी स्मार्ट सिटी बनाएंगे। इस कार्य पर 155 करोड़ रूपये की राशि व्यय की जायेगी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में नर्मदा के बिना सुखमय जीवन की कामना नहीं की जा सकती। मुख्यमंत्री नर्मदा जयंती पर अनूपपुर जिले के अमरकंटक में रामघाट पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित विशाल जन-समुदाय को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अमरकंटक में 12 करोड़ 56 लाख रूपये लागत की जल प्रदाय योजना और साढ़े 18 करोड़ रुपये लागत के सीवरेज प्लांट का भूमि-पूजन किया। श्री चौहान ने अमरकंटक में स्वच्छता और अधोसंरचना विकास के लिये सवा 5 करोड़ रुपये देने की घोषणा भी की। श्री चौहान ने कहा कि नमामि देवि नर्मदे-सेवा यात्रा के दौरान नर्मदा को प्रदूषण-मुक्त बनाने के लिये जो संकल्प राज्य सरकार ने लिया था, उसे सामाजिक सहभागिता के साथ पूरा किया जायेगा। उन्होंने कहा कि नर्मदा के तट पर स्थित सभी शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों में जन-जागरण के साथ-साथ निर्माण कार्य कराने का काम सरकार द्वारा किया जा रहा है। इसी कड़ी में गत वर्ष नर्मदा तटीय क्षेत्रों पर लगभग 2 करोड़ पौधे रोपित करने का कार्य किया गया था। इस वर्ष भी पौध-रोपण करवाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने लोगों का आव्हान किया कि नर्मदा में गन्दा पानी न छोड़ें और जल-संरक्षण एवं संवर्द्धन के कार्य करवाने के लिये आगे आयें। उन्होंने माँ नर्मदा की निर्मलता को बनाये रखने के लिये मिलकर प्रयास करने की आवश्यकता बतायी। इस अवसर पर सांसद श्री ज्ञान सिंह, अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सिंह मरावी, विधायक श्रीमती प्रमिला सिंह, अमरकंटक विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री अम्बिका प्रसाद तिवारी सहित अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे। अध्यापक संवर्ग ने किया मुख्यमंत्री का स्वागत कार्यक्रम में अध्यापक संवर्ग ने शिक्षकों के हित में मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा हाल ही में लिये गये निर्णय की सराहना की और मुख्यमंत्री का ह्रदय से स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अध्यापक खूब पढ़ायें, बच्चों को आगे बढ़ायें। अध्यापक संवर्ग का कहना था कि हम सबके जीवन की आकांक्षा मुख्यमंत्री निर्णय ने पूरी कर दी है। शालाओं एवं समाज में हमारा जो दोयम दर्जा था, उससे मुक्ति मिल गई है। हम ईमानदारी से कार्य करते हुए बच्चों एवं देश के भविष्य को सँवारने में जुट गये हैं।
राज्यमंत्री श्री सारंग द्वारा 25 लाख की दो सड़कों का भूमिपूजन
21 January 2018
सहकारिता, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विश्वास सारंग ने आज 25 लाख रूपये लागत की दो सड़कों का भूमि-पूजन किया। इनमें महामाई का बाग बस्ती में 80 फिट रोड़ से स्टेशन को जोड़ने वाली सड़क और वार्ड 44 के पद्मनाभ नगर बस्ती को रायसेन की ओर जाने वाली मुख्य सड़क को जोड़ने वाली सड़क शामिल है। राज्यमंत्री श्री सारंग ने इस अवसर पर कहा कि सड़क को तय समय-सीमा में उच्च गुणवत्ता के साथ बनवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी वार्डों में लगातार विकास कार्य चल रहे हैं। बस्तियों में आंतरिक मार्ग एवं नाली निर्माण का कार्य करवाया जा रहा है। श्री सारंग ने कहा कि नरेला विधानसभा क्षेत्र के शत् प्रतिशत घरों में नर्मदा जल की नियमित सप्लाई सुनिश्चित की गई है। इस मौके पर स्थानीय पार्षद और बड़ी संख्या में नागरिक गण मौजूद थे
नगरीय निकाय एवं पंचायत निर्वाचन की सभी तैयारियाँ पूर्ण : श्री परशुराम
16 January 2018
राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री आर. परशुराम ने बताया कि नगरीय निकाय एवं पंचायतों के आम/उप निर्वाचन शांतिपूर्वक करवाने के लिये सभी तैयारियाँ पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने कहा है कि मतदाता किसी भी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें। मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा के पर्याप्त बंदोबस्त किये गये हैं। श्री परशुराम ने बताया है कि मतदान केन्द्रों में अभ्यर्थियों द्वारा शपथ-पत्र में दी गई जानकारी का फ्लेक्स भी लगाया जायेगा। मतदान 17 जनवरी को सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। मतगणना 20 जनवरी को सुबह 9 बजे से होगी। गौरतलब है कि धार जिले में नगर पालिका परिषद धार, मनावर और पीथमपुर नगर परिषद सरदारपुर, राजगढ़, धरमपुरी, धामनोद, कुक्षी और डही, बड़वानी जिले में नगर पालिका परिषद बड़वानी, सेंधवा नगर परिषद पानसेमल, खेतिया, पलसूद, अंजड़ और राजपुर, खण्डवा जिले में ओंकारेश्वर नगर परिषद, गुना जिले में राघौगढ़ विजयपुर और अनूपपुर जिले के जैतहरी नगर परिषद में आम निर्वाचन होगा। भिण्ड जिले की नगर परिषद अकोड़ा, देवास जिले की नगर परिषद करनावद और राजगढ़ जिले की नगर परिषद खिलचीपुर में अध्यक्ष को अपने पद से वापस बुलाने के लिये निर्वाचन होगा। रीवा जिले की नगर परिषद सेमरिया के अध्यक्ष पद के लिए उप-निर्वाचन होना हैं। सिंगरौली के वार्ड क्रमांक 27, बालाघाट नगर पालिका परिषद मलाज खण्ड के वार्ड क्रमांक 24,25,26, बैतूल नगर पालिका परिषद सारणी के वार्ड क्रमांक 15, मण्डला नगर परिषद निवास वार्ड 14,15, सीधी के चुरहट वार्ड 3, सागर के शाहगढ़ वार्ड 10, सतना के नागोद वार्ड 4, छतरपुर के चंदला वार्ड 9, झाबुआ के मेघनगर वार्ड 4 और दमोह के नगर परिषद पथरिया के वार्ड क्रमांक 13 में पार्षद पद का उप निर्वाचन होगा। मतदान 17 जनवरी को और मतगणना 20 जनवरी को होगी। इसके साथ ही 7,035 पंच, 168 सरपंच, 17 जनपद पंचायत सदस्य और 3 जिला पंचायत सदस्य के लिये भी आम/उप निर्वाचन होगा।
डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण करने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य
15 January 2018
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा है कि मध्यप्रदेश शत-प्रतिशत नगरीय निकायों से डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। स्वच्छ भारत अभियान में भारत सरकार द्वारा कराये जा रहे स्वच्छता सर्वेक्षण अभियान की मॉनीटरिंग कड़ाई से की जाये, जिससे प्रदेश में किये जा रहे प्रयासों से मध्यप्रदेश देश में पुन: नई पहचान बना सके। उन्होंने यह बात मंत्रालय में स्वच्छ भारत अभियान-2018 की समीक्षा बैठक में कही। श्रीमती माया सिंह ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान में नगरीय क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति दर्ज की गई है। शत-प्रतिशत नगरीय क्षेत्रों में खुले में शौच की कुप्रथा से मुक्ति दिलाने के बाद डोर-टू-डोर कचरा प्रबंधन का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नगरीय क्षेत्रों में निजी जन-भागीदारी से ठोस अपशिष्ट प्रबंधन का कार्य लैण्डफिल साइट एवं प्र-संस्करण द्वारा किया जा रहा है। यह कार्य निर्धारित समय-सीमा में पूर्ण कराये जायें। उन्होंने कहा कि ठोस अपशिष्ट प्रबंधन में क्लस्टर बनाते समय नगरीय निकायों के बीच की दूरी पर विशेष ध्यान दिया जाये, जिससे एक दिन में ही कचरा मुख्य संग्रहण केन्द्रों तक पहुँच सके। उन्होंने ठोस अपशिष्ट प्रबंधन केन्द्रों की प्रगति की साप्ताहिक रिपोर्ट प्राप्त करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि कचरा संग्रहण का कार्य अवकाश के दिनों में भी जारी रखा जाये। प्रमुख सचिव श्री विवेक अग्रवाल ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण-2018 पूरे देश के साथ प्रदेश में भी जारी है। प्रथम चरण में 26 निकायों का सर्वेक्षण पूर्ण हो चुका है। शेष निकायों में सर्वेक्षण द्वितीय चरण में किया जायेगा। स्वच्छता सर्वे और डोर-टू-डोर कलेक्शन कार्य की नियमित समीक्षा भोपाल-स्तर से की जा रही है। सभी 51 जिलों के लिये एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्त किये गये हैं। श्री अग्रवाल ने बताया कि निजी जन-भागीदारी आधारित ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना में 26 क्षेत्रीय इकाइयों में से 6 इकाइयों में विद्युत उत्पादन इकाइयाँ स्थापित की जायेंगी। इनके माध्यम से 65 मेगावॉट विद्युत उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। शेष 20 इकाइयों से कचरे से जैविक खाद बनाया जाना प्रस्तावित है।
राज्य मंत्री श्री सारंग ने 50 लाख की सड़कों का किया भूमि-पूजन
4 January 2018
सहकारिता, भोपाल गैस त्रासदी, राहत एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विश्वास सारंग ने आज कस्तूरबा नगर, गौतम नगर और रचना नगर में 50 लाख रूपये से अधिक लागत की सड़कों का भूमि-पूजन किया। राज्य मंत्री श्री सारंग ने भूमि-पूजन कार्यक्रम में कहा कि नरेला विधान सभा क्षेत्र में 5 फ्लाईओवर बनाये गये है। उन्होंने कस्तूरबा नगर में नर्मदा जल सप्लाई सुनिश्चत करने के लिए 10 लाख लीटर क्षमता की पानी की नई टंकी निर्माण करवाने का आश्वासन दिया।

aaनव वर्ष की शुरूआत स्वच्छता अभियान के साथ


1 January 2018

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष व विधायक श्री सुरेन्द्रनाथ सिंह, सांसद श्री आलोक संजर ने नव वर्ष की शुरूआत स्वच्छता अभियान के साथ शुरू किया। उन्होंने 12 नंबर कुशाभाऊ ठाकरे नगर में झाड़ू लगाई और नालियों से कचरा निकाला। उन्होंने रहवासियों को स्वच्छता का संकल्प दिलाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 2 अक्टूबर गांधी जयंती से स्वच्छता अभियान की शुरूआत करके देश को स्वच्छ करने का जो बीड़ा उठाया है उसे हम सबको मिलकर पूरा करना है। स्वच्छ और स्वस्थ रहना है तो सबसे पहले अपने घर और मोहल्ले से सफाई रखना होगी। इसी तरह हम सब लोग मिलकर अपना भोपाल अब की बारी नंबर वन की तैयारी को बनाए रखेंगे। इस अवसर पर जिला मीडिया प्रभारी राजेंद्र गुप्ता, युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष श्री नितिन दुबे, मंडल अध्यक्ष श्री राजकुमार विश्वकर्मा, महामंत्री श्री मुकुल लोखंडे, श्री दिनेश कुशवाहा, युवा मोर्चा अरेरा मंडल अध्यक्ष राहुल पचैरी, पार्षद श्रीमती सुषमा बबीसा, श्रीमती संतोष हिरवे, युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष श्री नितिन दुबे, श्री अनंत संजर, महामंत्री युवा मोर्चा गोपाल तोमर मनोज ठाकुर, पवन दुबे, श्री पंकज त्रिपाठी, राजेश हिरवे, श्री महेंद्र तोमर, श्री ओसवाल जी सहित मंडल के सभी पदाधिकारी मोर्चा प्रकोष्ठ के के संयोजक उपस्थित थे।


निर्धारित अवधि से 18 महीने पहले बनकर तैयार होगा रेल्वे ओवर-ब्रिज -राज्य मंत्री श्री सारंग

23 December 2017

सहकारिता, भोपाल गैस त्रासदी, राहत एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विश्वास सारंग ने कहा है कि ओल्ड सुभाष नगर में निर्माणाधीन रेल्वे ओवर-ब्रिज (आर.ओ.बी.) निर्धारित अवधि से 18 माह पहले बनकर तैयार होगा। राज्य मंत्री श्री सारंग ने आज निर्माणाधीन आर.ओ.बी. का निरीक्षण किया और कार्य की प्रगति के संबंध में अधिकारियों से चर्चा की। राज्य मंत्री श्री सारंग ने कहा कि ओल्ड सुभाष नगर फाटक पर आर.ओ.बी. के निर्माण से वर्षों पुरानी समस्या का समाधान होगा। उन्होंने बताया कि आर.ओ.बी. में लोक निर्माण विभाग का 85 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है। रेल्वे द्वारा भी कार्य शुरू कर दिया गया है। आर.ओ.बी. निर्माण की लागत 40 करोड़ रुपये है। इस मौके पर स्थानीय पार्षद, रेलवे और लोक निर्माण विभाग के अधिकारी तथा स्थानीय नागरिक मौजूद थे।
घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को राहत जॉच के बाद ही जारी किए जाएंगे बिजली बिल

6 December 2017

भोपाल 06 दिसंबर। राज्य की बिजली वितरण कंपनियों द्वारा बिजली उपभोक्ताओं की अधिक राशि के बिलों की शिकायतों के निराकरण के लिए बिलिंग सॉफ्टवेयर में परिवर्तन करते हुए ऐसे बिजली बिल जिसमें विगत वर्ष उसी माह की तुलना में 25 प्रतिशत या अधिक की वृद्धि होती है तो इन बिजली उपभोक्ताओं के बिल वितरण कंपनी के सक्षम अधिकारी की जॉंच के बाद ही संबंधित उपभोक्ता को जारी किये जाएंगे। इस संबंध में आवश्यक आदेश जारी कर दिए गए हैं। घरेलू उपभोक्ताओं को राहत देने वाली इस खबर से जहॉं एक ओर अधिक राशि के बिजली बिल होने की शिकायतों का निराकरण होगा वहीं दूसरी ओर उपभोक्ता संतोष में भी वृद्धि होगी। राज्य की विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा सभी संभाग/जोन/वितरण केन्द्रों में तत्काल प्रभाव से यह कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। निर्देशों में कहा गया है कि यदि किसी उपभोक्ता को निर्देशों का पालन नहीं करते हुए बिल जारी किये गये तो उस स्थिति में संबंधित अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक डॉ. संजय गोयल ने बताया है कि कंपनी कार्यक्षेत्र के सभी संभागीय/जोन/वितरण केन्द्र के अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं और उनसे कहा है कि किसी भी स्थिति में घरेलू उपभोक्ताओं को अधिक राशि के बिजली बिल प्राप्त होने की शिकायतों का तत्काल निराकरण सुनिश्चित किया जाए और बिल जारी करने के पूर्व सक्षम अधिकारी द्वारा बिल की जांच कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि चालू माह से ही यह व्यवस्था लागू कर दी गई है।

समाधान एक दिन-तत्काल सेवा प्रदाय व्यवस्था 15 दिसम्बर से होगी लागू

30 November 2017

मुख्य सचिव श्री बसंत प्रताप सिंह ने तत्काल सेवा प्रदाय व्यवस्था को कारगर तरीके से लागू करने के लिए आवश्यक विभागीय पहल एवं कार्यवाही के निर्देश दिये हैं। साथ ही यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि सुविधाजनक तरीके से शासन की परिकल्पना के अनुसार लोक सेवा केन्द्र पर नागरिकों को सभी सेवाएं प्राप्त हों। उन्होंने इसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ समय पर सुनिश्चित करने को कहा। मुख्य सचिव श्री सिंह 'समाधान एक दिवस' कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। कार्यशाला अटल बिहारी बाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान में मध्यप्रदेश लोक सेवा अभिकरण द्वारा की गई थी। कार्यशाला को विचार-विमर्श की दृष्टि से पांच समूहों में वर्गीकृत किया गया। अलग-अलग विभागों की प्रस्तावित सेवाओं पर उपस्थित विशेषज्ञों की राय ली गई। इसमें सभी समूहों द्वारा व्यवहारिक संशोधनों के साथ लगभग 50 नागरिक सेवाओं को तत्काल सेवा प्रदाय व्यवस्था में शामिल करने का सुझाव दिया गया। इन सेवाओं में प्रमुख रूप से सामाजिक न्याय की 14 सेवाएं, गृह एवं परिवहन की 9, श्रम की 7, राजस्व की 4, सामान्य प्रशासन विभाग की 3, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी की 3, नगरीय प्रशासन की 1, वाणिज्य एवं उद्योग की 1, महिला एवं बाल विकास, खाद्य, पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा वाणिज्य कर की 7 सेवाएँ शामिल हैं। कार्यशाला में सचिव लोक सेवा प्रबंधन श्री हरिरंजन राव ने नागरिक सुविधा की दृष्टि से कनाडा एवं प्रदेश के अन्य राज्यों में इसी तरह के कार्यक्रमों का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि इस पहल को समर्थन देने एवं आम नागरिकों को एक दिवस में सेवा उपलब्ध कराने की दृष्टि से विभागीय नियमों, परिपत्रों में आवश्यक संशोधन कर मुख्यमंत्री की मंशा अनुसार 15 दिसम्बर से तत्काल सेवा प्रदाय व्यवस्था लागू करने में विभाग सहयोग प्रदाय करें। श्री राव ने बताया कि मुख्यमंत्री की परिकल्पना के अनुरूप प्रदेश के नागरिकों को विभिन्न विभागों की सेवाओं का लाभ एक कार्य दिवस में उपलब्ध हो, इस दृष्टि से लोक सेवा गारंटी कानून में अधिसूचित सेवाओं में से ऐसी सेवाओं का चिन्हांकन किया गया है, जिन्हें त्वरित नागरिक सुविधा की दृष्टि से एक दिवस में उपलब्ध करवाया जा सकता है। लोक सेवाओं के प्रदाय की गारंटी अधिनियम 2010 में ‘’समाधान एक दिन’’ तत्काल सेवा प्रदाय व्यवस्था 15 दिसम्बर 2017 से प्रारंभ की जाना है। इसके लिए लोक सेवा प्रदाय की गारंटी अधिनियम में अधिसूचित कुल 13 विभागों की 57 सेवाओं का चयन किया गया है। मुख्यमंत्री द्वारा 14 नवम्बर 2017 को समाधान ऑनलाईन में दिये गये निर्देशानुसार इन सभी चिन्हांकित सेवाओं का लाभ एक कार्य दिवस के भीतर दिया जाना है। कार्यशाला में अपर मुख्य सचिव श्री दीपक खाण्डेकर, श्री के.के. सिंह एवं प्रमुख सचिव श्री जे.एन. कंसोटिया, श्री एस. एन. मिश्रा, श्री अश्विनी राय एवं सचिव श्री मनोहर दुबे, श्री विवेक पोरवाल एवं श्रीमती जयश्री कियावत उपस्थित थीं। इसके अतिरिक्त कलेक्टर विदिशा श्री अनिल सुचारी, कलेक्टर होशंगाबाद श्री अविनाश लवानिया, कलेक्टर भोपाल श्री सुदाम खाडे़, कलेक्टर सीहोर श्री तरूण पिथोड़े, कलेक्टर कटनी श्री विशेष गढ़पाले एवं अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान के संचालक श्री अखिलेश अर्गल भी उपस्थित थे। विषय प्रवर्तन सचिव लोक सेवा प्रबंधन श्री हरिरंजन राव द्वारा किया गया। संयोजन कार्यपालन संचालक राज्य लोक सेवा अभिकरण श्री नंद कुमारम द्वारा किया गया। कार्यशाला में राजस्व, सामान्य प्रशासन, गृह, ग्रामीण विकास, परिवहन, श्रम, नगरीय प्रशासन सहित कुल 13 विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों एवं विषय-विशेषज्ञ शामिल हुए एवं अपने सुझाव रखे।

बिजली बिल का अग्रिम भुगतान करेंऔर पाएं छूट

22 November 2017

भोपाल 22 नवम्बर। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के निम्नदाब उपभोक्ताओं के लिए अच्छी खबर है। यह उपभोक्ता बिजली बिल की राशि का आनलाईन अथवा आॅफलाइन अग्रिम भुगतान भी कर सकते हैं। यह राशि कितनी भी हो सकती है। अग्रिम राशि जमा करने की कोई सीमा नहीं है। उपभोक्ताओं द्वारा जो अग्रिम राशि जमा की जाएगी उसमें उपभोक्ता के चालू बिजली बिल की राशि को समायोजित कर शेष राशि पर माह के आखिर में 1 प्रतिशत रिबेट (छूट) प्रदान की जाएगी। उपभोक्ताओं से कंपनी ने आग्रह किया है कि वे अग्रिम भुगतान कर बिजली बिल की राशि जमा करें और छूट का लाभ उठाएं।
आनलाईन भुगतान करें, 20 रूपये तक की छूट पाएं
मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने निम्नदाब उपभोक्ताओं से अपील की है कि वे आॅनलाईन बिजली बिल का भुगतान कर अधिकतम 20 रूपये तक अपने बिल में छूट प्राप्त कर सकते हैं। इसी प्रकार उच्चदाब उपभोक्ता आॅनलाईन बिजली बिल का भुगतान कर अधिकतम एक हजार रूपये की छूट प्राप्त कर सकते हैं। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने बताया है कियदि कोई उपभोक्ता आॅनलाईन बिजली बिल का भुगतान करता है तो उसके द्वारा कुल जमा किए गए बिल पर आधा प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी। यह छूट अधिकतम 20 रूपये तक होगी और न्यूनतम 5 रूपये होगी। इसी प्रकार जो उच्चदाब उपभोक्ता हैं यदि वे आॅनलाईन बिजली बिल का भुगतान करते हैं तो उनके द्वारा कुल जमा किए गए बिजली बिल पर आधा प्रतिशत छूट प्रदान की जाएगी। यह छूट अधिकतम एक हजार तक हो सकती है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के निम्न दाब उपभोक्ताओं को आनलाईन बिजली बिलों के भुगतान की सुविधा कम्पनी की वेबसाइट www.mpcz.co.in  के माध्यम से उपलब्ध है। उपभोक्ता अपने क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, कैश कार्ड या 50 से अधिक बैंकों की इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से बिजली बिलों का भुगतान कर सकते हैं।
आनलाईन भुगतान : कहां क्लिक करें
www.mpcz.co.in पर क्लिक करें। आनलाईन बिल भुगतान के आॅपशन पर क्लिक करें। View & Pay का बटन क्लिक करें। बिजली बिल का अकाउंट आई.डी. टाइप करें। अब उपभोक्ता का बिल कम्प्यूटर स्क्रीन पर होगा। भुगतान के लिए चार विकल्पों में से किसी एक का चुनाव करें। भुगतान के लिए आगे बढ़े और भुगतान करें। भुगतान होने पर रसीद प्रिन्ट करें। भुगतान पूर्णतया सुरक्षित है।
कॉमन सर्विस सेन्टर द्वारा भी बिजली बिल भुगतान की सुविधा
शहरी क्षेत्रों मंे बिल भुगतान के लिए कैश काउन्टर, आनलाईन सुविधाएं, बिजली कंपनी के उपभोक्ता सेवा केन्द्र तो मौजूद हैं ही लेकिन अब कंपनी ने ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायत स्तर पर भारत सरकार की सेवा ‘‘कॉमन सर्विस सेन्टर‘‘ स्कीम के अंतर्गत एक समझौता निष्पादित किया है जिसमें एक नए विकल्प के तौर पर मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के 16 जिलों की लगभग 1000 पंचायतों में स्थापित ‘‘कॉमन सर्विस सेन्टर‘‘ के जरिए बिल भुगतान एवं नए कनेक्शन का काम सौंपा गया है। भारत सरकार द्वारा नागरिक सेवाओं की सुविधा के विस्तार के लिए ‘‘कॉमन सर्विस सेन्टर‘‘ ग्रामीण क्षेत्रों में विकसित किये गये हैं। इन कॉमन सर्विस सेन्टर में पहॅुंचकर लोग अन्य नागरिक सेवाओं जैसे आधार कार्ड, पेन कार्ड, वोटर कार्ड के साथ - साथ अब बिजली बिल के साथ ही नए कनेक्शन के आवेदन भी जमा कर सकते हैं। उपभोक्ताओं को बहुत मामूली रकम चुका कर इन सेवाओं का लाभ मिल सकता है और वे अपने घर के समीप ही ‘‘कॉमन सर्विस सेन्टर‘‘ में बिल जमा कर बकायदा पक्की रसीद प्राप्त कर सकते हैं।
ई.सी.एस. से भुगतान की सुविधा
उपभोक्ताओं को सेवा प्रदाता ‘‘कंपनी‘‘ के माध्यम से ई.सी.एस. (इलैक्ट्रानिक क्लियरिंग सिस्टम) द्वारा बिल भुगतान की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। यह सुविधा प्राप्त करने के लिए उपभोक्ता को पंजीयन कराना होता है। पंजीयन के लिए फोन नं. 2558000, 4250000 पर कार्यालयीन समय पर संपर्क करके सुविधा के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त की जा सकती है। संबंधित उपभोक्ता को बैंक को अपने खाते से आनलाईन बिल राशि आहरित करने के लिए अधिकृत करना होता है। यह सुविधा उन उपभोक्ताओं के लिए लाभप्रद है जो व्यस्तता के कारण बिल भुगतान केन्द्रों की लाइन में खड़े होना नहीं चाहते और बिना किसी परेशानी और चूक के बिल अदा करना चाहते हैं।

मध्यप्रदेश में स्मार्ट सिटी के विकास में स्पेन सहयोग देगा

21 November 2017

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने गवर्मेंट ऑफ कैटेलोनिया के आग्रह पर आज स्पेन में प्रदेश में स्मार्ट सिटी पर किये गए कार्यों को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। श्रीमती सिंह की स्पेन ट्रेड एण्ड इन्वेस्टमेंट के अधिकारियों के साथ स्मार्ट सिटी में स्पेन की सहभागिता पर विस्तार से चर्चा हुई। स्पेन के ट्रेड डायरेक्टर को प्रदेश की स्मार्ट सिटी के लिए किये जा रहे प्रोजेक्ट्स और संभावनाओं से अवगत कराया गया। श्रीमती माया सिंह ने कहा कि स्पेन आगे बढ़कर सहभागिता के लिये उत्साहित है। स्पेन में स्मार्ट सिटी के लिए विश्व का सबसे बड़ा आयोजन करने वाली संस्था फिरा वर्सिलोना इंटरनेशनल के सीईओ के साथ बैठक में निर्णय लिया गया कि इण्डिया एडिशन के लिए प्रतिनिधि मण्डल मध्यप्रदेश दौरे पर भेजा जाएगा। मंत्री श्रीमती सिंह ने बताया कि सॉलिड बेस्ट मैनेजमेंट में प्रदेश में शानदार कार्य-योजना बनाई गई है, जिसका प्रस्तुतिकरण भी किया गया। प्रदेश के 26 क्लस्टर्स पर आधारित सॉलिड बेस्ट मैनेजमेंट की योजना से पूरे प्रदेश के नगरीय निकाय शामिल हो गये हैं। इस क्षेत्र में नई तकनीक से कार्य कर रही कम्पनी एमबीएन सिस्टम प्रदेश में कार्य करने के लिए उत्साहित है। इस कम्पनी के सीईओ श्री सेंटियागो और वाइस प्रेसीडेंट भोपाल निवासी श्री शशिधर जटिया प्रदेश के लिए कार्य करने के लिये उत्साहित हैं। इस्राइल ने भी सहयोग में उत्सुकता दिखाई इस्राइल ने रियल टाइम सिटी मैनेजमेंट पर उत्कृष्ट कार्य किया है। प्रदेश में स्मार्ट सिटी में संभावनाओं के बारे में उनके उच्च स्तर के अधिकारियों से विशेष चर्चा हुई। इस्राइल इसमें एक कदम आगे बढ़कर सहयोग करने का इच्छुक है। इस्राइल का मोबाइल ऑफिस और रियल टाइम मैनेजमेंट की प्रणाली अत्यंत प्रभावी है। चर्चा में बताया गया कि मध्यप्रदेश के संदर्भ में स्थानीय मुद्दे को शामिल करते हुए नई प्रणाली बनाई जाएगी। इस अवसर पर भारत के शहरी विकास मंत्रालय के ज्वाइन सेक्रेटरी श्री अमृत अभिजात और डायरेक्टर स्मार्ट सिटी श्री सजीश कुमार के साथ वर्ल्ड स्मार्ट सिटी के इण्डिया एडिशन और भारत की अगली कॉन्फ्रेंस मे सहभागिता पर चर्चा हुई। सिस्को के यू.एस. हेड श्री अनिल मेनन के साथ भी मध्यप्रदेश में नेटवर्किंग एवं इंक्यूवेशन सेंटर के लिए भी बैठक की गई।

भोपाल हाट में 10 से 20 नवम्बर तक राष्ट्रीय खादी उत्सव

9 November 2017
कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग, मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड और सिल्क फेडरेशन द्वारा भोपाल हाट में 10 से 20 नवम्बर 2017 तक राष्ट्रीय खादी उत्सव आयोजित किया जा रहा है। इसमें कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग के उत्पादों की बिक्री सह-प्रदर्शनी होगी। राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता 10 नवम्बर को शाम 6 बजे खादी उत्सव का शुभारंभ करेंगे। खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष श्री सूरज सिंह आर्य और उपाध्यक्ष श्री रघुनन्दन शर्मा शुभारंभ कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में भाग लेंगे। बिक्री-सह-प्रदर्शनी में खादी के कबीरा ब्रॉण्ड के रेडीमेड एवं अन्य वस्त्र, विंध्य वैली के मसाले, शहद एवं अन्य हर्बल उत्पाद, प्राकृत के रेशमी वस्त्र, दूसरे अन्य राज्यों के खादी एवं अन्य उत्पाद उपलब्ध रहेंगे।
महिला सुरक्षा के लिए कैंडल मार्च

8 November 2017

- भोपाल गैंगरेप का जताया विरोध
- लाइट बंद करके न्यू मार्केट के व्यापारियों ने किया समर्थन
भोपाल। देश और प्रदेश में महिलाओं पर प्रतिदिन अपराध बढ़ते जा रहे हैं। बलात्कार की घटनाओं ने लोगों को सहमा दिया है। गांव ही नहीं, शहरों में तक महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। इस बीच प्रशासन का रवैया भी बेहद असंवेदनशील हुआ है। इसी लापरवाही के चलते मप्र के राजधानी भोपाल के ह्दय स्थल में एक छात्रा गैंगरेप का शिकार हो गई। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि उन्होंने पुलिस चौकी से 100 मीटर के अंदर ही गैंगरेप को अंजाम दिया। अमानवीयता यहीं नहीं थमी, शिकायतकर्ता को पुलिस ने तवज्जो नहीं दी और 24 घंटे तक एफआईआर दर्ज नकी की गई। इस घटना से राजधानी की महिलाओं में आक्रोश व्याप्त है। इस घटना का विरोध जताते हुए शहर की महिलाओं और जागरुक लोगों और सामाजिक संगठनों ने मंगलवार को कैंडल मार्च निकाला। यह कैंडल मार्च रोशनपुरा चौराहे से होते हुए पूरे न्यू मार्केट क्षेत्र में निकाला गया। महिलाओं ने शासन व प्रशासन के प्रति गुस्सा जताते हुए मांग की कि महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जाये। इसके साथ ही पुलिस भी संवेदनशील बने। कैंडल मार्च के दौरान राजधानी के न्यू मॉर्केट क्षेत्र के दुकानदारों ने लाइट बंद कर कैंडल मार्च का समर्थन किया। जैसे-जैसे कैंडल मार्च आगे बढ़ा, लोग भी इसमें शामिल होते गए। कैंडल मार्च में रुचिका सचदेवा, ट्विंकल जैन, रेखा शर्मा, सपना चौधरी, सुजाता पुरी, अजिता असनानी, चाक्षी सचदेवा, भूमिका छाजेड़, श्रीमोहि कल्याणी विश्वास, बिंदु श्रीदेवी, स्मृति अग्रवाल, मनीषा छाजेड़ मुख्यरूप से शामिल रहीं। इसके साथ न्यू मार्केट व्यापारी महासंघ से शशांक जैन, हरजेश राय, सुदीप गुप्ता, महेश खुराना, जय चावला, कमल गौड़, अभिनव कासलीवाल भी कैंडल मार्च में शामिल हुए। लायंस क्लब (प्रताप), संत विद्यासागर शिक्षा समिति, लायनेस क्लब (चार्टर) और संस्कार फाउंडेशन संगठन भी मार्च में शामिल हुए।

स्मार्ट रोड से प्रभावित लोगों को मिलेंगे नये मकान

4 November 2017
राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा है कि स्मार्ट रोड बनाने के लिए जिनके मकान हटाये जायेंगे उन्हें प्रधान मंत्री आवास योजना में मकान दिये जायेंगे। यह मकान बाणगंगा में ही बनेंगे। वर्तमान में इन्हें अस्थायी आवास दिये जा रहे हैं। श्री गुप्ता नगर निगम के अधिकारियों के साथ चर्चा कर रहे थे। श्री गुप्ता ने कहा कि स्मार्ट रोड के लिए यथासंभव वर्तमान रोड के बीच से दोनों तरफ 50-50 फीट जमीन लें। उन्होंने कहा कि प्रयास करें कि व्यवस्थापन कम से कम हो। स्मार्ट रोड पॉलीटेक्निक चौराहा से भारत माता चौराहा तक बनायी जा रही है। स्मार्ट सिटी के सीईओ श्री चंद्रमौली शुक्ला ने योजना की पूरी जानकारी दी।

राजस्व मंत्री श्री गुप्ता ने कोटरा में किया सार्वजनिक शौचालय का भूमि-पूजन

4 November 2017
राजस्व,विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने कोटरा में जय हनुमान अखाड़ा के पास सार्वजनिक शौचालय निर्माण के लिए भूमि-पूजन किया। उन्होंने निर्माण कार्य समय-सीमा में पूरा करने के निर्देश दिये। श्री गुप्ता ने शासन की विभिन्न जन-कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी दी। इस दौरान स्थानीय जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

ड्यूटी के दौरान बिजली कर्मियों से दुव्र्यवहार पर होगी कानूनी कार्यवाही

1 November 2017
भोपाल 01 नवंबर। बिजली के मैदानी कर्मचारियों और अधिकारियों को ड्यूटी के दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा मारपीट/दुव्र्यवहार की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कानूनी कार्यवाही करने का निर्णय लिया है। कंपनी ने कहा है कि प्रायः देखने में आ रहा है कि बिजली कर्मियों पर ड्यूटी के दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा मारपीट/दुव्र्यवहार किया जा रहा है। चूंकि ऐसी घटनाएं विद्युत अधिकारियों और कर्मचारियों का मनोबल गिराती हैं, इसलिए कंपनी के कार्यक्षेत्र में कार्यरत सभी नियंत्रणकर्ता अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि मैदानी अधिकारियों/कर्मचारियों के साथ होने वाली दुव्र्यवहार या मारपीट की घटनाओं को पूरी गंभीरता से लिया जाए। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने ड्यूटी पर तैनात अधिकारियांे/कर्मचारियों से दुव्र्यवहार या मारपीट के मामलों को शासकीय कामकाज में बाधा डालने के तौर पर लिया जाकर तुरंत कानूनी कार्यवाही के निर्देश दिए हैंं। कंपनी ने कहा है कि चालू रबी सीजन में बिजली आपूर्ति की विषम परिस्थिति में निष्ठापूर्वक काम कर रहे अधिकारियों/कर्मचारियों का मनोबल नीचा करने की इजाजत किसी को भी नहीं दी जा सकती है। कंपनी ने मैदानी अधिकारियों/कर्मचारियों से कहा है कि विद्युत आपूर्ति की स्थिति पर लगातार नजर रखें और जिले के कलेक्टर/पुलिस अधीक्षक से संपर्क कर किसी भी अप्रिय स्थिति में उनसे आवश्यक सहयोग प्राप्त करें। इस संबंध में मैदानी महाप्रबंधकों/उपमहाप्रबंधकों को निर्देशित किया गया है कि वे अपने कार्यक्षेत्र में विगत 5 वर्ष में कंपनी के अधिकारियों/कर्मचारियों के साथ हुई मारपीट (घातक/अघातक) मामलों में पुलिस थाने में दर्ज/कोर्ट में विचाराधीन मुकदमों की समीक्षा करें।  

बिजली कर्मियों के लिए सातवां वेतनमान घोषित

31 October 2017
भोपाल 31 अक्टूबर। मध्य प्रदेश के स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के निर्देश पर माननीय ऊर्जा मंत्री श्री पारस चन्द्र जैन द्वारा प्रदेश के ऊर्जा विभाग के अधीन सभी विद्युत कंपनियों के कार्मिकों को राज्य शासन द्वारा स्वीकृत सातवें वेतनमान के अनुरूप सातवा वेतनमान देने की घोषणा कर तोहफा दिया है। इससे विद्युत कंपनियों पर प्रति माह 30 करोड़ रूपये का अतिरिक्त भार आएगा। माननीय ऊर्जा मंत्री जी द्वारा विद्युत कंपनियों के कार्मिकों को इस अवसर पर बधाई देते हुए प्रदेश की जनता को सतत् विद्युत आपूर्ति प्रदान करने हेतु अधिक मेहनत एवं लगन से कार्य करने की अपील की है।

निशातपुरा से 13 साल का छात्र हुआ लापता, कॉपी लेने गया था मामी के घर

7 September 2017
भोपाल। निशातपुरा थाना क्षेत्र स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी से एक छात्र गुम हो गया। छात्र का नाम कबीर शाहिद है, जो कि अपनी मां के साथ रहता था। बुधवार की दोपहर बच्चा अपनी मामी के घर कॉपी लेने गया था उसके बाद से ही घर नहीं लौटा। पिता की शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। -निशातपुरा थाने से मिली जानकारी के अनुसार कबीर शाहिद (13) बुधवार दोपहर करीब 3 बजे से लापता है। घर से जाते वक्त वह अपनी मां शाहीन प्रहरी को बता कर गया था कि वह मामी के घर कॉपी लेने जा रहा है। देर शाम तक जब कबीर नहीं लौटा तो शाहीन ने इसकी जानकारी अपने पति शाहिद प्रहरी को दी। गुमशुदा बच्चे के पिता शाहिद प्रहरी राजगढ़ जिला स्थित कालापीपल में अध्यापक के पद पर कार्यरत है। -बच्चे के गुमशुदा होने के खबर मिलते ही शाहिद फौरन भोपाल पहुंचे। उन्होंने देर रात तक बच्चे की तलाश की, लेकिन बच्चा नहीं मिला। उन्होंने देर रात निशातपुरा थाने में बच्चे के गुमशुदा होने की शिकायत दर्ज कराई। परिजनों के अनुसार उनकी किसी दुश्मनी नहीं है, लिहाजा उन्हें किसी पर शक भी नहीं है।

रन-वे पर पहुंची दिल्ली-भोपाल फ्लाइट का AC हुआ बंद, यात्रियों ने किया हंगामा

7 September 2017
भोपाल। दिल्ली से भोपाल आने वाली जेट एयरवेज की फ्लाइट का एसी न चलने पर बुधवार रात यात्रियों ने दिल्ली एयरपोर्ट पर जमकर हंगामा किया। यह फ्लाइट टेक ऑफ के लिए रन-वे पर पहुंच चुकी थी। लेकिन इसका एसी नहीं चल रहा था। इसके पर कई यात्री विमान से उतर गए। काफी मशक्कत के बाद एयरक्राफ्ट री-स्टार्ट किया गया। तब एसी शुरू हो सका। -इस प्रक्रिया में फ्लाइट करीब ढाई घंटे देर से रवाना होकर रात 10:40 पर भोपाल पहुंची। जेट के सेल्स मैनेजर सैयद कुमैल ने बताया कि कुछ समस्या हुई थी, जिसे दूर कर लिया गया है। -एयरपोर्ट सूत्रों के अनुसार दिल्ली में एयरक्राफ्ट को स्टार्ट करने के बाद से ही एसी काम नहीं कर रहे थे। यात्रियों की बोर्डिंग हो चुकी थी। एसी बंद होने के कारण यात्रियों को समस्या हुई तो उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। सूत्रों के अनुसार एक यात्री की तबियत भी एसी बंद होने के कारण बिगड़ गई पर जेट के अधिकारियों का दावा है कि ऐसा घटनाक्रम नहीं हुआ।

ये पत्रकार नहीं बल्कि हिंदुस्तान की पत्रकारिता की हत्या है: कांग्रेस

7 September 2017
भोपाल। कर्नाटक की जर्नलिस्ट गौरी लंकेश (55) की हत्या के विरोध में मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। युकां के अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने लंकेश के हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यह किसी पत्रकार की हत्या नहीं बल्कि हिंदुस्तान की पत्रकारिता की हत्या है। -युकां अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने लंकेश की हत्या के विरोध में कहा कि देश की सत्ता पर वो विचारधारा आसीन है, जो सच्चाई को बर्दाश्त नहीं करती है। जनता के बाद अब लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की आवाज को दबाने की कोशिश की गई है। लेकिन, इस देश में सच्चाई के पक्षधर पत्रकारों की कमी नहीं है ये एक आवाज को दबा सकते हैं, लाखों लोगो की हुंकार को नहीं। गौरी लंकेश का बलिदान इस देश की कट्टर विचारधारा को जड़ से समाप्त करने का परिचायक बनेगा। -गौरतलब है कि गौरी कन्नड़ टैबलॉइड ‘गौरी लंकेश पत्रिके’चलाती थीं। वे सांप्रदायिकता और हिंदू कट्टरपंथ विचारधारा के खिलाफ आवाज उठाती रहती थीं। नवंबर 2016 में बीजेपी नेताओं के खिलाफ एक रिपोर्ट को लेकर दायर मानहानि मामले में उन्हें 6 महीने कैद की सजा हुई थी।

दूसरा स्मार्ट सिटीजन ओरिएंटेशन कार्यक्रम

23 September 2016
भोपाल के नागरिकों को स्मार्ट बनाने के उद्देश्य से पिछले माह शुरू हुई 'स्मार्ट सिटीजन ओरिएंटेशन सीरीज' का दूसरा ओरिएंटेशन इस रविवार आयोजित होगा । स्वामी विवेकानंद लाइब्रेरी द्वारा बी पॉज़िटिव सोसाइटी के साथ मिलकर इस सीरीज की शुरुआत की गयी है । इस सीरीज में लोगों को उनके जीवन से जुड़ी बुनियादी सेवाओं की समझ विकसित कराई जाती है ताकि वे बिना किसी असुविधा के इन सेवाओं को बेहतर इस्तेमाल कर सकें । इस रविवार स्वामी विवेकानंद लाइब्रेरी में आयोजित हो रहे इस दूसरे ओरिएंटेशन कार्यक्रम का विषय है - बैंकिंग सेवाएँ व उनसे जुड़ी सावधानियाँ । कार्यक्रम में सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के सेवानिवृत्त सहायक महाप्रबंधक श्री दीपक भसीन मुख्य वक्ता होंगे । वरिष्ठ चार्टर्ड अकाउंटेंट अंशुल अग्रवाल इस सत्र की अध्यक्षता करेंगे कार्यक्रम 25 सितंबर को ठीक 5 बजे शुरू होगा । कोई भी शहरवासी बिना किसी रजिस्ट्रेशन के इस कार्यक्रम का हिस्सा बन सकता है । कार्यक्रम विवरण इस प्रकार है :- कार्यक्रम - दूसरा स्मार्ट सिटीजन ओरिएंटेशन

दिनांक - 25 सितंबर 2016 रविवार
समय - शाम 5 बजे
स्थान - स्वामी विवेकानंद लाइब्रेरी भोपाल


दस दिन तक गणेश उत्सव की रहेगी धूम - गणेश पंडाल और बाजार सजे

5 September 2016
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में १० दिनों मनाया जाने वाला गणेश उत्सव आज गणेश चतुर्थी के साथ शुरू हुआ। पुरे शहर में गणेश पंडाल और बाजार सज धज कर तैयार है। रोज गणेश आरती और प्रसाद के लिए भक्तो की भीड़ पंडालो पैर जमा रहेगी
रोज शाम को विभिन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम की पंडालो में आयोजित किये जायेंगे। १० दिनों तक चलने वाले गणेश उत्सव के अंतिम दिन अनंत चतुर्दशी को गणेश प्रतिमाओ का धूमधाम से विसर्जन किया जायेगा और अगले बरस जल्दी आने के लिए गणेश जी से प्राथना की जाएगी


घर का राज नहीं कि एक नोटिस से मकान तोड़ दो
01 September 2016
भोपाल। नगर निगम की कार्यप्रणाली के खिलाफ हाइकोर्ट की इंदौर बेंच ने सोमवार को तल्ख टिप्पड़ी की । एक नोटिस देकर मकान तोड़ने और उसके मालिक के हाइकोर्ट में याचिका लगाते ही जवाब पेश करने के तरीके पर अदालत ने कहा की निगम अफसरों के घर का राज नहीं है। हाइकोर्ट ने अवैध निर्माण तोड़ने के कई आदेश निगम को दिए है ,लेकिन एक भी जगह करवाई नहीं की। हाइकोर्ट ने निगम की करवाई के खिलाफ रहवासी को स्टे दिया। निगम इन दिनों जिंसी रोड व व्यास पुल को चौड़ा करने के लिए बाधक निर्माण हटा रहा है। इस करवाई के खिलाफ स्टे लेने के लिए रहवासी अखिलेश मिश्रा ने हाइकोर्ट में ३ अक्टूबर २०१५ को याचिका लगाई थी। इसमें उल्लेख किया कि निगम ने केवल एक नोटिस दिया। सुनवाई भी ठीक से नहीं की और मुआवजा दिए बिना अफसर मालिकाना हक़ वाली जगह को बाधक बताकर तोड़ने पर आमादा हो गए, इस पर निगम द्वारा पेश जवाब में कहा कि सभी को नोटिस देने के बाद सुनवाई का अवसर दिया। जस्टिस एस सी शर्मा ने याचिका पर सुनवाई करते हुए न केवल रहवासी को स्टे दिया ,बल्कि नगर निगम को फटकार भी लगाई।


आठ हजार सफाई कर्मियों ने दिया धरना
यादगारे शाहजहानी पार्क में मौन रहकर किया प्रदर्शन

02 May 2016
भोपाल। यादगारे शाहजहानीं पार्क में अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस ट्रेड यूनियन के तत्वावधान में सफाई कर्मियों की 34 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेशभर के लगभग 8 हजार सफाई मजदूर कामगारों ने मौन रह कर धरना दिया। धरना स्थल पर मुख्यमंत्री के सलाहकार एवं खनिज विकास निगम के चेयरमैन शिव चौबे भी पहुंचे और उन्होंने सफाई कर्मियों को मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया।
यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष मगन झांझोट ने शाहजहानीं पार्क में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में सफाई कर्मचारियों की हालत दिनों-दिन खराब होती जा रही है। इस बारे में कई बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित संबंधित विभाग को ज्ञापन दिए, धरना-प्रदर्शन किए गए लेकिन सरकार को सफाई कर्मचारियों की हालत पर जरा भी तरस नहीं आया। उन्होंने कहा कि सिर पर मैला ढोने और हाथ से सफाई करने वाले सफाई कामगारों की समस्याओं का अब शीघ्र समाधान का वक्त आ गया है, लेकिन सरकार के कानों में आज तक जूं नहीं रेंग पाई है। धरने के दौरान सफाई कर्मचारियों के बीच मुख्यमंत्री के सलाहकार एवं खनिज विकास निगम के चेयरमैन शिव चौबे ने पहुंचकर उनकी समस्याएं सुनीं तथा इससे सीएम को अवगत कराने का आश्वासन दिया।

यह थीं प्रमुख मांगें

- सफाई के कार्य की ठेकेदारी प्रथा बंद की जाए
- संविधान की धारा 341, 14, 15, 16 के आधार पर मौजूदा अनुसूचित जाति को मिलने वाले आरक्षण में से बाल्मिकी मेहतर को लोक संख्या के आधार पर 5 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए।
- सिर पर मैला ढोने और हाथ से सफाई कामगारों का प्रदेश व्यापी सर्वेक्षण कर उनके आश्रितों को तथा उनका पुनर्वसन हेतु आर्थिक पैकेज दिया जाए।
- नगर पालिका, नगर निगमों में सफाई कामगारों के रिक्त पदों पर सीधी भर्ती से नियुक्ति की जाए।


डीएवीपी की चित्र प्रदर्शनी ‘विकास की नई उड़ान’ का शुभारंभ
01 April 2016
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं एवं उपलब्धियों पर आधारित सात दिवसीय चित्र प्रदर्शनी ‘विकास की नई उड़ान’ का आयोजन क्षेत्रीय प्रदर्शनी कार्यालय द्वारा कम्युनिटी हॉल, टी टी नगर, भोपाल में किया गया है। इस सात दिवसीय प्रदर्शनी का शुभारम्भ आज दिनांक 31 मार्च 2016 को श्री राजेश खटीक, माननीय पार्षद तथा श्री शंकर मकोरिया, माननीय पार्षद द्वारा किया गया। प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए माननीय पार्षद ने इसे जनता के लिए बहुत उपयोगी बताया। भोपाल के सभी नागरिकों का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि वो बड़ी संख्या में आकर इस प्रदर्शनी का अवलोकन करें तथा सरकार द्वारा चलाई जा रहीं विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में अधिक से अधिक जानकारी लें और उनका फायदा उठाएं।
इस चित्र प्रदर्शनी के माध्यम से देश के सभी वर्गों किसानों, महिलाओं, अल्पसंख्यकों तथा युवावर्ग आदि के लिए किए जा रहे हितकारी कार्यों को दिखाया गया है। सामाजिक सुरक्षा तथा वित्तीय सहायता के लिए सरकारी योजनाओं की जानकारी इस प्रदर्शनी के जरिए मिल रही है। कृषि, व्यापार, संचार तकनीकी, शिक्षा एवं कौशल आदि क्षेत्रो में हुई प्रगति की झलक प्रदर्शनी में देखी जा सकती है। साथ ही शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए किये जा रहे प्रयासों एवं कार्यों की झलक भी इस प्रदर्शनी में देखी जा सकती है। ‘सबका साथ सबका विकास’, सबके लिए काम, प्रधानमंत्री जन-धन योजना, मुद्रा बैंक, कृषि क्षेत्र में द्वितीय हरित क्रांति, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, नारीशक्ति, देश की तरक्की, स्मार्ट सिटी, अष्टलक्ष्मी और वसुधैव कुटुम्बकम् जैसे महत्वपूर्ण विषयों को इस चित्र प्रदर्शनी के माध्यम से स्थानीय जनता तक लाया गया है ताकि इसके अवलोकन से वे लाभान्वित हो सकें।


सहयोग को आगे आए विट्ठल मार्केट के व्यापारी हरिओम फिर से अध्यक्ष मनोनीत
02 March 2016
भोपाल। विट्ठल मार्केट में ‘‘कचरे से खाद बनाने की योजना’’ का सभी व्यापारी मिलकर समर्थन करेंगे। मंगलवार को हुई बैठक में सर्वसम्मति से सभी व्यापारियों ने यह निर्णय लिया। इससे पहले कचरे से खाद बनाने के लिए चयनित स्थान को लेकर विवाद की स्थिति बनी थी और व्यापारियों ने इस महत्वपूर्ण योजना का विरोध शुरू कर दिया था। अब बैठक के बाद सभी ने एक सुर में महापौर को सहयोग करने का मन बना लिया है। बैठक में विट्ठल मार्केट हाट बाजार फल-सब्जी फुटकर व्यापारी संघ का अध्यक्ष पुनः हरिओम खटीक को मनोनीत किया गया है।
विट्ठल मार्केट हाट बाजार फल-सब्जी फुटकर व्यापारी संघ के अध्यक्ष हरिओम खटीक ने बताया कि विकास कार्यों में जनभागीदारी बढ़ाने और सभी के सुझाव आमंत्रित करने के लिए एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें विट्ठल मार्केट के समस्त व्यापारी प्रतिनिधि शामिल हुए और निर्णय लिया गया कि वे सभी मिलकर विकास कार्यों में पूरी तरह से सहयोग प्रदान करेंगे। बैठक में फल-सब्जी, कपड़ा, किराना, मसाला और अनाज व्यापारी समिति के पदाधिकारी आए तथा सभी से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की। विट्ठल मार्केट में हाट बाजार के समीप कचरे से खाद बनाने की परियोजना के लिए किये जा रहे निर्माण कार्य को लेकर विवाद की स्थिति बनी थी, इसके बाद तरह-तरह की अफवाहें फैलाई जा रही थीं। परियोजना के लिए वहां कपड़ा व्यापारियों को हटा दिया गया था, लेकिन अब उन्हें भी उचित स्थान उपलब्ध करा दिया गया है। सभी व्यापारी समितियों ने शासन-प्रशासन को विकास कार्यों में हरसंभव सहयोग देने का एक प्रस्ताव पास किया। बैठक में एक बार फिर से हरिओम खटीक को विट्ठल मार्केट हाट बाजार फल-सब्जी फुटकर व्यापारी संघ का अध्यक्ष मनोनीत किया गया है।
बैठक में विट्ठल मार्केट हाट बाजार फल-सब्जी फुटकर व्यापारी संघ के अध्यक्ष हरिओम खटीक, मनजी वर्मा, राजेश साहू, रमेश खटीक, मुन्ना कुरैशी, अंजू चैहान, ऐजाज उद्दीन, कमलेश चैहान, विजय गुप्ता, मनीष जैन, राजेश जोगी समेत कपड़ा व्यापारी, दाल-चावल, मसाला व्यापारी, फल-सब्जी व्यापारी प्रमुख रूप से शामिल हुए। बैठक में प्रस्ताव पारित होने के बाद विट्ठल मार्केट में विकास कार्य के लिए चला आ रहा गतिरोध एक माह बाद थम गया है।


अपने नए शो के प्रमोशन के लिए 11 मार्च को टीम के साथ भोपाल आएंगे कपिल शर्मा
02 March 2016
भोपाल। कुछ समय के लिए छोटे पर्दे से दूर रहने के बाद कॉमेडी किंग कपिल शर्मा और उनकी टीम धमाकेदार इंट्री के लिए तैयार है। 'द कपिल शर्मा शो' के प्रीमियर से पहले फैन्स को उनके शहर में अपने पसंदीदा सितारों से संवाद करने का एक मौका मिलेगा।
जानकारी के अनुसार मल्टी सिटी टूर के साथ कपिल और उनकी टीम एक मनोरंजन सफर शुरू करने वाली है। इस सिलसिले में 11 मार्च को कपिल और उनकी टीम भोपाल पहुंचेगी।
मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मल्टी सिटी टूर की शुरुआत 5 मार्च को अमृतसर से होगी। कपिल और उनकी टीम 11 मार्च को भोपाल, 16 मार्च को लखनऊ और अप्रैल के पहले सप्ताह में दिल्ली जाएंगे। अलग-अलग शहरों में घूमकर कपिल और उनकी टीम अपने आने वाले शो का प्रमोशन कर रही है। गौरतलब है कि हालही में कपिल शर्मा के नए कॉमेडी शो 'द कपिल शर्मा शो' का प्रोमो रिलीज किया गया था, जिसे लोगों ने काफी सराहा।
45 सेकेंड के इस प्रोमो में कपिल शर्मा के साथ सुनील ग्रोवर, अली असगर, कीकू शारदा, नवजोत सिंग सिद्धु, सुमोना चक्रवर्ती और चंदन प्रभाकर भी नजर आ रहे हैं। कपिल का यह नया शो 23 अप्रैल से सोनी एंटरटेनमेंट टीवी पर शुरू होगा। हर शनिवार और रविवार रात 9 बजे यह शो दिखाया जाएगा।


खेल विभाग ने जीती विधायक कप फुटबॉल
02 March 2016
भोपाल| खेल विभाग ने मास क्लब को 4-0 से हराकर विधायक कप फुटबॉल प्रतियोगिता जीत ली। प्रतियोगिता का समापन व पुरस्कार वितरण विधायक विश्वास सारंग ने किया। रेलवे मैदान पर खेल और युवा कल्याण की टीम के प्रशांत थापा ने दो गोल किए। जबकि तीसरा गोल निखिल और चौथा गोल सत्येन्द्र सिंह के बूट से आया। इस अवसर पर जोस चाको, जयप्रकाश सिंह, एसएल कौल, संदीप तिवारी आदि उपस्थित थे।


हुजूर विधायक ने किया सलैया पुल का लोकार्पण
13 January 2016
कोलार के दानिश कुंज से मिसरोद होशंगाबाद रोड को जोड़ने वाले सलैया पुल का आज औपचारिक लोकार्पण हुजूर विधानसभा से विधायक एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता श्री रामेश्वर शर्मा जी के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ ! लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्मित 105 मीटर लम्बे इस पुल के निर्माण में विभाग द्वारा 313 लाख रूपए खर्च किये गए है ! श्री शर्मा ने इस अवसर पर उपस्थित नागरिका बंधुओ को संबोधित करते हुए कहा की
श्री शिवराज सिंह जी चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश चहुमुखी प्रगति कर रहा है ! प्रदेश में सडको का जाल बिछाया जा रहा है , प्रदेश के विकास एवं उत्थान में सरकार संकल्पित है ! श्री शर्मा ने कहा की उपनगर कोलार के विकास में यह पुल एक अध्याय के रूप में जुड़ा है ! श्री शर्मा ने कहा की हुजूर विधानसभा मे विकास की रूप रेखा तैयार की गयी है श्री शर्मा ने कहा की आप लोगो की उर्जा एवं आशीर्वाद से हम जल्द ही 50 करोड़ से अधिक की रोड़ो का भूमि पूजन आगामी दिनों में करने जा रहे है !
अंत में श्री शर्मा ने कार्यक्रम में पधारे सभी नागरिक बंधुओ को आभार व्यक्त किया !
कार्यक्रम में विशेष रूप से बी एस वाजपेयी , मंडल अध्यक्ष तारा चन्द्र मारण , भूपेंद्र माली , रविन्द्र यति ,पवन बोराना,मंडल उपाध्यक्ष श्याम मीना , अमित शुक्ल , संजय श्रीवास्तव , संजीव मिश्र , राज शर्मा , सौरभ शर्मा , प्रदीप पाटीदार सहित बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक उपस्थित रहे ! ।

नेपाली युवक- युवती परिचय सम्मेलन भारत में पहली बार 17 जनवरी को भोपाल में
13 January 2016
भोपाल । श्री पशुपतिनाथ नेपाली समाज के अध्यक्ष श्री लिलामणी पाण्डे ने बताया कि भारत वर्ष में पहली बार नेपाली समाज द्वारा 17 जनवरी 2016 को भोपाल में समाज के विवाह योग्य युवक-युवतियों का पहला परिचय सम्मेलन आयोजित किया जायेगा जिसमें देष भर से युवक युवती भाग लेगें।
उन्होंने बताया कि लम्बे समय से सम्मेलन की आवष्यकता महषुष की जा रही थी। भारत में रह रहे नेपाली समाज के लागों को सादी विवाह के लिए या तो नेपाल जाना पडता था या विवाह समारोह जो खर्जीलि होती थी। इससे बचने के लिए नेपाली समाज ने युवक युवती परिचय सम्मेलन का फैषला लिया है। परिचय सम्मेलन में समाज की स्मारिका का विमोचन तथा समाज के वरिष्ठजनों का सम्मान एवं मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया जायेगा।
इस अवसर पर सांसद श्री आलोेक संजर, विधायक श्री विष्वास सारंग, महिला आयाग की पूर्व सदस्य श्रीमति शषि सिन्हों, समाज के पूर्व अध्यक्ष श्री डोलराज भंडारी, श्री डोलराज गैरे, वरिष्ठजन सहित पदाधिकारी उपस्थित रहेगें। ।

दुनिया का सबसे बड़ा धर्म सम्मेलन 'इज्तिमा' का आगाज, 2 लाख मुस्लिम पहुंचे
28 November 2015
भोपाल। बैरसिया रोड स्थित घासीपुरा में 68वें तीन दिवसीय आलमी तब्लीगी इज्तिमा की शुरुआत शनिवार सुबह 6.15 बजे फजिर की नमाज के साथ हुई। रविवार को यहां करीब 500 इज्तिमाई निकाह होंगे।
सोमवार को देश में अमनो-अमान व खुशहाली की सामूहिक दुआ के साथ इसका समापन होगा। इस मजहबी समागम में शामिल होने के लिए अब तक दो लाख लोग पहुंच चुके हैं। जमातों के आने का सिलसिला जारी है। शनिवार शाम तक यह आंकड़ा तीन लाख तक पहुंचने का अनुमान है। धर्मावलंबियों के वाहनों के लिए पार्किंग और ट्रैफिक व्यवस्था में भी कई परिवर्तन किए गए हैं। खास तौर पर 30 नवंबर को होने वाली सामूहिक दुआ में उमड़ने वाली भीड़ के मद्देनजर भोपाल जिले की सीमा के पहले ही भारी वाहनों को रोक दिया जाएगा। यह रोक इज्तिमा स्थल खाली होने तक जारी रहेगी।
इंतजामिया कमेटी के प्रवक्ता मो.अतीक-उल-इस्लाम के अनुसार दिल्ली मरकज समेत मुंबई, अलीगढ़, लखनऊ, फर्रूखाबाद, अहमदाबाद आदि स्थानों से कई उलेमा आ चुके हैं। देश-विदेश की दो सौ से अधिक जमातें आ चुकी हैं।

नमाज का वक्त

फजिर-सुबह 6.15 बजे
जोहर- दोपहर 2.00 बजे
असिर- शाम 4.30 बजे,
मगरिब-रात 5.38 बजे
ईशा- बयान खत्म होने के बाद।

निकाह रविवार को

रविवार को इज्तिमा स्थल पर करीब पांच सौ जोड़ों के इज्तिमाई निकाह होंगे। इस बार निकाह मुख्य मंच से अलग स्थान पर बनाए गए पंडाल में किए जाएंगे। इस पंडाल में 12 तख्त लगाए जाएंगे। प्रत्येक तख्त पर 40 जोड़े बैठेंगे।

ये रहेगी व्यवस्था

इज्तिमा पंडाल 40 एकड़ में
विदेशी जमातों की ठहरने की अलग व्यवस्था।
पेयजल के लिए ट्यूबवेल व पानी के टैंकर।
पूछताछ केंद्र, पुलिस कंट्रोल रूम ।
एम्बुलेंस, प्राथमिक उपचार केंद्र।
रेलवे काउंटर व टेलीफोन बूथ
सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस वाच टावर।

भारी वाहनों को रोकेंगे

इंतजामिया कमेटी के अनुसार यातायात पुलिस से हुई चर्चा के बाद तय किया गया है कि इज्तिमा स्थल के बाहर मुख्य मार्ग से गुजरने वाले सभी भारी वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी। केवल वे ही वाहन आ सकेंगे, जो इज्तिमा के काम में लगे होंगे। भारी वाहनों की आवाजाही मुबारकपुर, सूखी सेवनिया, अरवलिया जोड़, ईंटखेड़ी तिराहा, करोंद से लांबाखेड़ा की ओर से प्रतिबंधित रहेगी। 30 नवंबर को भारी वाहन फंदा एवं श्यामपुर, परवलिया, सलामतपुर, बिलखिरिया बायपास, मंडीदीप की सीमा पर रोके जाएंगे। इज्तिमा स्थल खाली होने के उपरांत ही भारी वाहनों को जाने की इजाजत दी जाएगी।

वाहनों के मार्ग एवं पार्किंग स्थल

इंदौर एवं राजगढ़ मार्ग से आने वाले वाहन मुबारकपुर से नए बायपास होकर आएंगे। सागर, रायसेन, औबेदुल्लागंज आदि तरफ से आने वाले वाहन कोकता नए बायपास से लांबाखेड़ा होते हुए इज्तिमा में प्रवेश करेंगे।


उच्च शिक्षा मंत्री द्वारा मेनिट चौराहे में सुलभ काम्पलेक्स का भूमि-पूजन
21 September 2015
भोपाल। उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने मेनिट चौराहे के पास सुलभ काम्पलेक्स का भूमि-पूजन किया। सुलभ काम्पलेक्स 6 लाख की लागत से बनाया जायेगा।
श्री गुप्ता ने कहा कि सुलभ काम्पलेक्स का निर्माण कार्य समय-सीमा में पूर्ण करवायें। उन्होंने गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। इस मौके पर स्थानीय जन-प्रतिनधि उपस्थित थे।


भेल महाविद्यालय भवन को मिलेगी जमीन- मंत्री श्री गौर
05 March 2015
भोपाल। मप्र के गृह एवं जेल मंत्री श्री बाबूलाल गौर ने कहा कि शासकीय भेल महाविद्यालय भवन के लिये जमीन दी जायेगी। जमीन लेने भेल प्रशासन को प्रस्ताव दिया है। श्री गौर ने महाविद्यालय में पेयजल के लिये विधायक निधि से एक लाख रुपये की स्वीकृति भी दी। श्री गौर आज महाविद्यालय के वार्षिक स्नेह सम्मेलन में शामिल हुए।
श्री गौर ने कहा कि विद्यार्थी जीवन में संस्कारित जीवन का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय के मौजूदा भवन की मरम्मत और सुधार के लिये भेल प्रबंधन ने 50 लाख रुपये दिये हैं। जमीन मिलने पर आधुनिक शैक्षणिक जरूरतों को पूरा करने वाले भवन का निर्माण किया जायेगा। समारोह में विभिन्न प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया।
सामाजिक कार्यकर्ता श्री बी.डी. शर्मा ने छात्र जीवन के प्रेरक प्रसंगों को सुनाया। उन्होंने कहा कि युवा शक्ति का राष्ट्र निर्माण में उल्लेखनीय योगदान होता है। प्राचार्य श्रीमती इन्दुप्रभा तिवारी ने महाविद्यालय का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। श्री रूपेश दीक्षित ने छात्रों की ओर से महाविद्यालय में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी दी।


किसान मोर्चा संगठन का मूल आधार- श्री नदंकुमार सिंह चौहान
05 March 2015
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि आजादी के संग्राम में देश के किसानों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। किसान परिवर्तनशीलता के संवाहक है। देश में हरित क्रांति लाकर खाद्यान्न के मामले में भारत को स्वावलंबी बनानें में किसानों का योगदान है। किसानों को बलवूते पर ही भारतीय जनता पार्टी का सदस्यता महाअभियान प्रगति के नये क्षितिज पर पहुंचेगा और पार्टी संगठन विश्व का सबसे बड़ा संगठन बनेगा। किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का खंडवा में उद्घाटन करते हुए श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी में था, प्रदेश में खाद्यान्न के लिए केन्द्र पर निर्भर थे। जब तत्कालीन खाद्य और कृषि मंत्री से प्रदेश का खाद्यान्न कोटा बढ़ाने के लिए आग्रह किया जाता था, तब केन्द्र सरकार मध्यप्रदेश पर तंज कसती थी कि बिना खाद्यान्न का अधिग्रहण किये मध्यप्रदेश की अतिरिक्त कोटे की मांग अनुचित है। मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के साथ रिकार्ड उत्पादन हुआ है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की किसान हितैषी नीतियों ने सोने पर सुहागा कर दिया है। इसी का परिणाम है कि मध्यप्रदेश को तीसरी बार कृषि कर्मण सम्मान मिला है। मध्यप्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से मुक्त हो गया है। उन्होनें मध्यप्रदेश के किसानों को बधाई देते हुए कहा कि राज्य सरकार और केन्द्र सरकार की नीतियों से अधिक से अधिक लाभ उठाकर देश की खाद्य सुरक्षा को मजबूत करनें में केन्द्र का सहयोग करें। बैठक की अध्यक्षता करते हुए मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री बंशीलाल गुर्जर ने किसान मोर्चा की संगठनात्मक गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मोर्चा पार्टी के सदस्यता महाअभियान का लक्ष्य पूर्ण कर प्रदेश में अग्रणी मोर्चा बनेगा।
श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि किसान वास्तव में संगठन के साथ ही देश की रीढ़ है, किसान मोर्चा में काम करना गौरव की बात है। किसान मोर्चा के श्री ओमप्रकाश धनकड़ आज हरियाणा में मंत्री का दायित्व संभाल रहे है। राजस्थान के किसान मोर्चा के पदाधिकारी केन्द्र में मंत्री है। जाहिर है कि भारतीय जनता पार्टी में योग्यता और कर्मठता का सम्मान होता है। किसान मोर्चा ने संगठन को, सरकार नेतृत्व प्रदान किया है। मोर्चा के कार्यकर्ता समर्पित भाव से पार्टी संगठन के कार्य में जुटे रहें। उनकी कर्मठता का मूल्यांकन पार्टी संगठन करेगा। किसान मोर्चा के समक्ष कार्य का विस्तीर्ण क्षेत्र है, सदस्यता महाअभियान को उन्होनें मानव इतिहास का एक दूरदर्षितापूर्ण मनोविज्ञान बताया और कहा कि सदस्यता को पूरी गंभीरता के साथ लें और 31 मार्च 2015 तक पार्टी का प्रदेष में दो करोड़ 21 लाख और देष में 10 करोड़ सदस्यता का लक्ष्य पूर्ण करनें में कोई कसर बाकी न रखें।
उन्होनें मार्मिक शब्दों में कहा कि हम अपने लगातार बढ़ रहे सदस्यों की संख्या देखकर आल्हादित हों, लेकिन उदासीन न हो। क्योंकि जब तक हम अपने हर हितचिंतक को सदस्यता के अंचल में नहीं लायेंगे, तब तक राजनैतिक स्थिरता में कहीं न कहीं कमी बनी रहेगी। उन्होनें किसानों को भरोसा दिलाया कि समर्थन मूल्य पर राज्य सरकार की ओर से बोनस देने में कुछ वर्जनाएं है, लेकिन किसान की मेहनत और परिश्रम को देखते हुए राज्य सरकार इसकी क्षतिपूर्ति अवष्य करेगी। उन्होनें प्रदेश के जिन अंचलों में ओला-पानी से फसल प्रभावित हुई है, वहां तत्काल सर्वेक्षण और राहत के उपाय करनें की भी राज्य सरकार से अनुषंसा की तथा भरोसा व्यक्त किया कि किसान को तत्काल प्रभावी राहत सुनिष्चित करायी जायेगी।
श्री बंशीलाल गुर्जर ने स्वागत भाषण में मध्यप्रदेश में सिंचाई का क्षेत्र साढ़े 7 लाख हेक्टेयर से बढ़ाकर 25 लाख हेक्टेयर किये जाने, विद्युत उत्पादन क्षमता 3 हजार मेगावाट से बढ़ाकर 15 हजार मेगावाट किये जाने और किसानों को बिना ब्याज के कर्ज का प्रावधान किये जाने के लिए राज्य सरकार, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी संगठन का आभार माना। किसान मोर्चा की बैठक में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति आभार प्रस्ताव पारित किया गया और बताया गया कि मध्यप्रदेश भाग्यषाली है जहां श्री शिवराज सिंह चौहान जैसा किसान पुत्र मुख्यमंत्री और कर्मठता में बेजोड़ श्री नरेन्द्र मोदी जैसा दूरदृष्टा भूमि पुत्र की प्रधानमंत्री के रूप में सेवाएं उपलब्ध है। धन्यवाद प्रस्ताव में प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के लिए प्रावधान किये जाने, केन्द्र द्वारा साढ़े 8 लाख करोड़ रू. का कर्ज किसानों को प्रावधान किये जाने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया गया। दूसरे धन्यवाद प्रस्ताव में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए किसान मोर्चा ने गंभीर-नर्मदा लिंक परियोजना और प्रदेश में खेत सिंचाई योजना के लिए प्रावधान किये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त की और भरोसा दिलाया कि किसानों की मेहनत अगले वर्ष भी रंग लायेगी और मध्यप्रदेश को चैथी बार कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित होने का अवसर मिलेगा। मोर्चा ने तीसरी बार कृषि कर्मण सम्मान प्राप्त होने पर प्रदेष के किसानों और राज्य सरकार, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को भी बधाई दी।
इस अवसर पर मोर्चा के उपाध्यक्ष श्री बीडी पटैल, महामंत्री श्री संदीप पटैल, श्री रवीश चैहान, संगठन मंत्री श्री धीरज सिंह, विधायक श्री देवेन्द्र वर्मा, जिला अध्यक्ष व महापौर श्री सुभाष कोठारी, मोर्चा जिला अध्यक्ष श्री रविन्द्र षिवहरे, श्री आनंद मोहन सहित मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारी एवं कार्यसमिति सदस्य उपस्थित थे। श्री सूबेदार सिंह ने कार्यसमिति बैठक में आभार प्रदर्शन किया। मोर्चा के सदस्यता प्रभारियों ने आगामी 20 दिन के लिए सदस्यता महाअभियान की कार्ययोजना को अक्षरषः क्रियान्वयन करनें की आवष्यकता रेखांकित की।


निर्माण श्रमिकों की हितग्राहीमूलक योजनाओं की राशि में वृद्धि
05 March 2015
मप्र के विकास के विज़न को साकार करने वाला बजट- मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल। मध्यप्रदेश भवन एवं संन्निर्माण कर्मकार मण्डल द्वारा पहले से संचालित श्रमिक हितैषी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं को और अधिक हितग्राहीमूलक तथा व्यवहारिक बनाया गया है। मण्डल की प्रसूति और विवाह सहायता, शिक्षा प्रोत्साहन राशि और मेधावी छात्र-छात्राओं को नगद पुरस्कार योजना में दी जाने वाली राशि में बढ़ोत्तरी की गई है।
प्रसूति सहायता योजना में ग्रामीण क्षेत्र में महिला हिताधिकारियों को पोषण आहार भत्ता राशि 1000 से बढ़ाकर 1400 रुपये कर दी गई है। विवाह सहायता योजना की हितलाभ राशि 15 हजार से बढ़ाकर 25 हजार रुपये और शिक्षा प्रोत्साहन राशि श्रमिक पुत्र-पुत्रियों को 5000 रुपये तक के स्थान पर 10 हजार तक मिलेगी। इसी प्रकार मेधावी छात्र-छात्राओं को नगद पुरस्कार योजना में 5वीं से स्नातकोत्तर स्तर की परीक्षा के लिये दिये जाने वाले 500 से 3000 रुपये की पुरस्कार राशि को 2000 से 12 हजार रुपये तक कर दिया गया है।


भेल महाविद्यालय भवन को मिलेगी जमीन- मंत्री श्री गौर
05 March 2015
भोपाल। मप्र के गृह एवं जेल मंत्री श्री बाबूलाल गौर ने कहा कि शासकीय भेल महाविद्यालय भवन के लिये जमीन दी जायेगी। जमीन लेने भेल प्रशासन को प्रस्ताव दिया है। श्री गौर ने महाविद्यालय में पेयजल के लिये विधायक निधि से एक लाख रुपये की स्वीकृति भी दी। श्री गौर आज महाविद्यालय के वार्षिक स्नेह सम्मेलन में शामिल हुए।
श्री गौर ने कहा कि विद्यार्थी जीवन में संस्कारित जीवन का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि महाविद्यालय के मौजूदा भवन की मरम्मत और सुधार के लिये भेल प्रबंधन ने 50 लाख रुपये दिये हैं। जमीन मिलने पर आधुनिक शैक्षणिक जरूरतों को पूरा करने वाले भवन का निर्माण किया जायेगा। समारोह में विभिन्न प्रतियोगिताओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया।
सामाजिक कार्यकर्ता श्री बी.डी. शर्मा ने छात्र जीवन के प्रेरक प्रसंगों को सुनाया। उन्होंने कहा कि युवा शक्ति का राष्ट्र निर्माण में उल्लेखनीय योगदान होता है। प्राचार्य श्रीमती इन्दुप्रभा तिवारी ने महाविद्यालय का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। श्री रूपेश दीक्षित ने छात्रों की ओर से महाविद्यालय में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी दी।


किसान मोर्चा संगठन का मूल आधार- श्री नदंकुमार सिंह चौहान
05 March 2015
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि आजादी के संग्राम में देश के किसानों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। किसान परिवर्तनशीलता के संवाहक है। देश में हरित क्रांति लाकर खाद्यान्न के मामले में भारत को स्वावलंबी बनानें में किसानों का योगदान है। किसानों को बलवूते पर ही भारतीय जनता पार्टी का सदस्यता महाअभियान प्रगति के नये क्षितिज पर पहुंचेगा और पार्टी संगठन विश्व का सबसे बड़ा संगठन बनेगा। किसान मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का खंडवा में उद्घाटन करते हुए श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी में था, प्रदेश में खाद्यान्न के लिए केन्द्र पर निर्भर थे। जब तत्कालीन खाद्य और कृषि मंत्री से प्रदेश का खाद्यान्न कोटा बढ़ाने के लिए आग्रह किया जाता था, तब केन्द्र सरकार मध्यप्रदेश पर तंज कसती थी कि बिना खाद्यान्न का अधिग्रहण किये मध्यप्रदेश की अतिरिक्त कोटे की मांग अनुचित है। मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के साथ रिकार्ड उत्पादन हुआ है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की किसान हितैषी नीतियों ने सोने पर सुहागा कर दिया है। इसी का परिणाम है कि मध्यप्रदेश को तीसरी बार कृषि कर्मण सम्मान मिला है। मध्यप्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से मुक्त हो गया है। उन्होनें मध्यप्रदेश के किसानों को बधाई देते हुए कहा कि राज्य सरकार और केन्द्र सरकार की नीतियों से अधिक से अधिक लाभ उठाकर देश की खाद्य सुरक्षा को मजबूत करनें में केन्द्र का सहयोग करें। बैठक की अध्यक्षता करते हुए मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री बंशीलाल गुर्जर ने किसान मोर्चा की संगठनात्मक गतिविधियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मोर्चा पार्टी के सदस्यता महाअभियान का लक्ष्य पूर्ण कर प्रदेश में अग्रणी मोर्चा बनेगा।
श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि किसान वास्तव में संगठन के साथ ही देश की रीढ़ है, किसान मोर्चा में काम करना गौरव की बात है। किसान मोर्चा के श्री ओमप्रकाश धनकड़ आज हरियाणा में मंत्री का दायित्व संभाल रहे है। राजस्थान के किसान मोर्चा के पदाधिकारी केन्द्र में मंत्री है। जाहिर है कि भारतीय जनता पार्टी में योग्यता और कर्मठता का सम्मान होता है। किसान मोर्चा ने संगठन को, सरकार नेतृत्व प्रदान किया है। मोर्चा के कार्यकर्ता समर्पित भाव से पार्टी संगठन के कार्य में जुटे रहें। उनकी कर्मठता का मूल्यांकन पार्टी संगठन करेगा। किसान मोर्चा के समक्ष कार्य का विस्तीर्ण क्षेत्र है, सदस्यता महाअभियान को उन्होनें मानव इतिहास का एक दूरदर्षितापूर्ण मनोविज्ञान बताया और कहा कि सदस्यता को पूरी गंभीरता के साथ लें और 31 मार्च 2015 तक पार्टी का प्रदेष में दो करोड़ 21 लाख और देष में 10 करोड़ सदस्यता का लक्ष्य पूर्ण करनें में कोई कसर बाकी न रखें।
उन्होनें मार्मिक शब्दों में कहा कि हम अपने लगातार बढ़ रहे सदस्यों की संख्या देखकर आल्हादित हों, लेकिन उदासीन न हो। क्योंकि जब तक हम अपने हर हितचिंतक को सदस्यता के अंचल में नहीं लायेंगे, तब तक राजनैतिक स्थिरता में कहीं न कहीं कमी बनी रहेगी। उन्होनें किसानों को भरोसा दिलाया कि समर्थन मूल्य पर राज्य सरकार की ओर से बोनस देने में कुछ वर्जनाएं है, लेकिन किसान की मेहनत और परिश्रम को देखते हुए राज्य सरकार इसकी क्षतिपूर्ति अवष्य करेगी। उन्होनें प्रदेश के जिन अंचलों में ओला-पानी से फसल प्रभावित हुई है, वहां तत्काल सर्वेक्षण और राहत के उपाय करनें की भी राज्य सरकार से अनुषंसा की तथा भरोसा व्यक्त किया कि किसान को तत्काल प्रभावी राहत सुनिष्चित करायी जायेगी।
श्री बंशीलाल गुर्जर ने स्वागत भाषण में मध्यप्रदेश में सिंचाई का क्षेत्र साढ़े 7 लाख हेक्टेयर से बढ़ाकर 25 लाख हेक्टेयर किये जाने, विद्युत उत्पादन क्षमता 3 हजार मेगावाट से बढ़ाकर 15 हजार मेगावाट किये जाने और किसानों को बिना ब्याज के कर्ज का प्रावधान किये जाने के लिए राज्य सरकार, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान और पार्टी संगठन का आभार माना। किसान मोर्चा की बैठक में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति आभार प्रस्ताव पारित किया गया और बताया गया कि मध्यप्रदेश भाग्यषाली है जहां श्री शिवराज सिंह चौहान जैसा किसान पुत्र मुख्यमंत्री और कर्मठता में बेजोड़ श्री नरेन्द्र मोदी जैसा दूरदृष्टा भूमि पुत्र की प्रधानमंत्री के रूप में सेवाएं उपलब्ध है। धन्यवाद प्रस्ताव में प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के लिए प्रावधान किये जाने, केन्द्र द्वारा साढ़े 8 लाख करोड़ रू. का कर्ज किसानों को प्रावधान किये जाने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया गया। दूसरे धन्यवाद प्रस्ताव में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए किसान मोर्चा ने गंभीर-नर्मदा लिंक परियोजना और प्रदेश में खेत सिंचाई योजना के लिए प्रावधान किये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त की और भरोसा दिलाया कि किसानों की मेहनत अगले वर्ष भी रंग लायेगी और मध्यप्रदेश को चैथी बार कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित होने का अवसर मिलेगा। मोर्चा ने तीसरी बार कृषि कर्मण सम्मान प्राप्त होने पर प्रदेष के किसानों और राज्य सरकार, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को भी बधाई दी।
इस अवसर पर मोर्चा के उपाध्यक्ष श्री बीडी पटैल, महामंत्री श्री संदीप पटैल, श्री रवीश चैहान, संगठन मंत्री श्री धीरज सिंह, विधायक श्री देवेन्द्र वर्मा, जिला अध्यक्ष व महापौर श्री सुभाष कोठारी, मोर्चा जिला अध्यक्ष श्री रविन्द्र षिवहरे, श्री आनंद मोहन सहित मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारी एवं कार्यसमिति सदस्य उपस्थित थे। श्री सूबेदार सिंह ने कार्यसमिति बैठक में आभार प्रदर्शन किया। मोर्चा के सदस्यता प्रभारियों ने आगामी 20 दिन के लिए सदस्यता महाअभियान की कार्ययोजना को अक्षरषः क्रियान्वयन करनें की आवष्यकता रेखांकित की।


निर्माण श्रमिकों की हितग्राहीमूलक योजनाओं की राशि में वृद्धि
05 March 2015
मप्र के विकास के विज़न को साकार करने वाला बजट- मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल। मध्यप्रदेश भवन एवं संन्निर्माण कर्मकार मण्डल द्वारा पहले से संचालित श्रमिक हितैषी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं को और अधिक हितग्राहीमूलक तथा व्यवहारिक बनाया गया है। मण्डल की प्रसूति और विवाह सहायता, शिक्षा प्रोत्साहन राशि और मेधावी छात्र-छात्राओं को नगद पुरस्कार योजना में दी जाने वाली राशि में बढ़ोत्तरी की गई है।
प्रसूति सहायता योजना में ग्रामीण क्षेत्र में महिला हिताधिकारियों को पोषण आहार भत्ता राशि 1000 से बढ़ाकर 1400 रुपये कर दी गई है। विवाह सहायता योजना की हितलाभ राशि 15 हजार से बढ़ाकर 25 हजार रुपये और शिक्षा प्रोत्साहन राशि श्रमिक पुत्र-पुत्रियों को 5000 रुपये तक के स्थान पर 10 हजार तक मिलेगी। इसी प्रकार मेधावी छात्र-छात्राओं को नगद पुरस्कार योजना में 5वीं से स्नातकोत्तर स्तर की परीक्षा के लिये दिये जाने वाले 500 से 3000 रुपये की पुरस्कार राशि को 2000 से 12 हजार रुपये तक कर दिया गया है।


राष्ट्र-गीत गायन 2 मार्च को
27 February 2015
भोपाल। राष्ट्र-गीत वंदे मातरम् का सामूहिक गायन सोमवार, 2 मार्च को पूर्वान्ह 11 बजे होगा। मंत्रालय के समक्ष सरदार वल्लभ भाई पटेल उद्यान में हर महीने के पहले कार्य-दिवस पर राष्ट्र गीत का गायन किया जाता है।


कन्यादान योजना प्रकोष्ठ की बैठक 27 फरवरी को भोपाल में
27 February 2015
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी कन्यादान योजना प्रकोष्ठ की प्रदेश पदाधिकारियों, जिला संयोजकों और संदस्यता संभाग एवं जिला प्रभारियों की बैठक 27 फरवरी को दोपहर प्रदेश कार्यालय, पं. दीनदयाल परिसर में आयोजित की जायेगी। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष श्री नंदकुमारसिंह चौहान, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री अरविंद मेनन, प्रदेश मंत्री श्रीमती नीता पटैरिया और मोर्चा-प्रकोष्ठ के सदस्यता प्रभारी श्री मनोरंजन मिश्र मार्गदर्षन करेंगे।
कन्यादान योजना प्रकोष्ठ की प्रदेश प्रभारी श्रीमती नीता पटैरिया ने बताया कि सभी संगठनात्मक जिलों में प्रकोष्ठ का समग्र गठन और सदस्यता अभियान की बेठक में समीक्षा की जायेगी और सदस्यता के लिये जिलेवार कार्ययोजना तैयार की जायेगी।


रेल बजट बेहद निराशाजनक- अरूण यादव
27 February 2015
मप्र के विकास के विज़न को साकार करने वाला बजट- मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल। प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष अरूण यादव ने रेल बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे बेहद निराशाजनक बताया और कहा है कि यात्रियों की सुविधाओं पर सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया है। इसी के साथ महिलाओं की सुरक्षा के भी कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किये हैं।
आज यहां जारी अपने बयान में श्री यादव ने बताया कि रेल मंत्री ने यात्री किराया और मालभाड़े में कोई वृद्धि न करने का छल यात्रियों के साथ किया है, क्योंकि मोदी सरकार बनने के कुछ ही समय बाद किराये में 14 प्रतिशत की वृद्धि की गई थी। देश में लगभग 12 हजार ऐसे रेल्वे क्रासिंग हैं जो मानव रहित है, इन पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने की बजाय एसआरओ, आरडीएसओ तथा आईआईटी की मदद का लालच भर दिया गया है। इससे जाहिर है कि सरकार मानव रहित क्रासिंग पर लोगों की सुरक्षा के प्रति गंभीर नहीं है।
श्री यादव ने इस बात पर भी खेद व्यक्त किया है कि म.प्र. से भाजपा के 27 सांसद होने के बावजूद प्रदेश को एक भी नई गाड़ी की सौगात नहीं मिली है। रेल मंत्री का पूरा जोर यात्रियों की सुविधाओं और विदेशी निवेश बढ़ाने पर केंद्रित रहा है। इसके लिए उन्होंने सांसदों से अपनी निधि से दान देने की अपील की है। इससे सांसद निधि से होने वाले विकास कार्यों पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। साथ ही यह भी दोहराया कि निवेश में कमी के कारण रेलवे की क्षमता नहीं बढ़ायी गई और सुरक्षा तथा सुविधाओं पर भी ध्यान देने पर जोर नहीं दिया गया। उनका यह कथन भी गौरतलब है कि देश में जितने भी नागरिक रेल सुविधाओं की उम्मीद करते हैं, उन्हें अंदाजा नहीं होगा कि भारतीय रेल किन मुश्किलों में काम कर रही है। इससे जाहिर है कि सरकार धीरे-धीरे रेलवे को विदेशी निवेश की ओर धकेल रही है तथा निकट भविष्य में रेलवे का निजीकरण भी किया जा सकता है। जहां तक प्रमुख गाड़ियों में ई-कैटरिंग सुविधा शुरू करने की बात है तो इसके पहले सरकार को शताब्दी जैसी प्रमुख रेल गाड़ी की व्यवस्था की समीक्षा करनी होगी, जहां सड़ा खाना परोसने के कई उदाहरण सामने आ चुके हैं। इन सबसे स्पष्ट है कि रेल बजट आम आदमी की भावनाओं पर कतई खरा नहीं उतरा है।


मेट्रो परियोजना के संबंध में बैठक आज
26 February 2015
भोपाल। भोपाल नगर में प्रस्तावित मेट्रो परियोजना के संबंध में आज 26 फरवरी को अपरान्ह तीन बजे कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में एक बैठक आयोजित की गई है। बैठक में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ ही आयुक्त नगर निगम व नगर निगम के अन्य अधिकारी, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अधीक्षण यंत्री, समस्त अधीक्षण यंत्री व कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग तथा अन्य सभी संबंधित अधिकारियों के साथ मेट्रो परियोजना के संबंध में चर्चा की जायेगी।


मध्यप्रदेश बजट स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करने वाला बजट
26 February 2015
बेहतर चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करने वाला बजट
मंत्री श्री मिश्रा ने की प्रावधानों की प्रशंसा

भोपाल। मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि आज विधानसभा में प्रसतुत बजट मध्यप्रदेश में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करने वाला बजट है । इस बजट में जहां अधोसंरचना विकास को प्राथमिकता दी गयी है वहीं चिकित्सा और लोक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 5 हजार 389 करोड रुपए किया गया है । डॉ मिश्रा ने बजट प्रावधानों की प्रशंसा की है ।
प्रदेश में चिकित्सकों की उपलब्‍धता सुनिश्चित करने के लिए वर्ष 2014-15 में चिकित्सा महाविद्यालयों में एम बी बी एस पाठयक्रम में 230 सीटों की वृद्धि की गई है । प्रदेश में 7 शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय प्रारंभ किये जा रहे हैं जिनमें एम बीबीएस पाठ्यक्रम की लगभग 800 अतिरिक्त सीटें उपलब्ध हो सकेंगी । जबलपुर, ग्वालियर एवं रीवा के चिकित्सा महाविद्यालयों में सुपर स्पेश्यलिटी स्वास्थ्य सेवा के लिए 450 करोड रुपए की लागत की परियोजनाएं संचालित की जाना प्रस्तावित हैं । चिकित्सा शिक्षा के लिए वर्ष 2015-16 में रुपए 649 करोड़ का प्रावधान प्रस्तावित है जो वर्ष 2014-15 के बजट प्रावधान से 67 करोड़ अधिक है । इसी तरह प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर कर विस्तारित किया जा रहा है । नागरिकों को चिकित्सा सुविधाएं 51 जिला चिकित्सालय , 66 सिविल अस्पताल, 334 सामुदायिक सामुदायिक केंद्र, 1 हजार 171 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 9 हजार 192 उप स्वास्थ्य केंद्र , 53 विशेष नवजात केयर इकाई, 228 नवजात स्टेबलाईजेशन इकाई, 1 हजार 296 नवजात केयर कार्नर , 316 पोषण पुनर्वास केंद्र, 1 हजार 412 प्रसव केंद्र एवं 48 हजार 959 ग्राम आरोग्य केंद्रों के नेटवर्क के माध्यम से उपलब्ध हैं । बड़े चिकित्सालयों की व्यवस्था प्रबंधन के लिए पृथक प्रबंधक संवर्ग का गठन किया गया है । राज्य के सभी शासकीय अस्पतालों में सभी रोगियों को आवश्यक दवाएं नि:शुल्क उपलब्ध कराने वाली सरदार वल्लभ भाई पटेल नि:शुल्क औषधि वितरण योजना लागू है । वर्ष 2015-16 में स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत 4 हजार 740 करोड़ रुपए का प्रावधान प्रस्तावित है ।
जिला चिकित्सालयों में 48 नि:शुल्क जांच उपलब्ध हैं । इन योजनाओं के क्रियान्वयन से शासकीय चिकित्सा सुविधाओं के प्रति आम जनता का विश्वास बढ़ा है । इसी कारण चिकित्सालयों में आंतरिक एवं बाह्य रोगियों की संख्या में वृद्धि हुई है । गत दो वर्षों में शासकीय चिकित्सालयों में आंतरिक एवं बाह्य रोगियों की संख्या में क्रमांक 33.4 प्रतिशत व 85. 4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है ।
शासकीय चिकित्सालयों में सूचना के आदान-प्रदान के लिए ई-हेल्थ साफ्टवेयर तथा औषधियों की आवश्यकतानुसार उपलब्धता सुनिश्चित करने की दृष्टि से स्टेट ड्रग मैनेजमेंट इनफारमेशन सिस्टम लागू किया गया है । आदिवासी क्षेत्रों की स्वास्थ्य आवश्यकताओं के आंकलन एवं योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन पर शोध के लिए जबलपुर में क्षेत्रीय जनजातीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र प्रारंभ किया गया है ।


मप्र के विकास के विज़न को साकार करने वाला बजट- मुख्यमंत्री श्री चौहान
26 February 2015
मप्र के विकास के विज़न को साकार करने वाला बजट- मुख्यमंत्री श्री चौहान

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि विधानसभा में प्रस्तुत बजट मध्यप्रदेश के विकास को तेज गति से आगे ले जाने वाला बजट है। इस बजट में समाज के सभी वर्गों के कल्याण का ध्यान रखा गया है। यह बजट लगातार 11 वें वर्ष रेवेन्यु सरप्लस वाला बजट है। उन्होंने संतुलित और विकासपरक बजट के लिये वित्त मंत्री को बधाई दी है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह मध्यप्रदेश के विकास के लिये बनाये गये

विज़न-2018 को साकार करने वाला बजट है। करीब एक लाख 31 हजार 199 करोड़ रूपये का यह बजट गत वर्ष से 12 प्रतिशत अधिक है। इसमें पूंजीगत परिव्यय में 13.8 प्रतिशत की वृद्धि तथा राजस्व व्यय में मात्र 9.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। सकल राज्य घरेलू उत्पाद की तुलना में कुल ऋण गत वर्ष के 20.7 प्रतिशत से घटकर 19.6 प्रतिशत रह गया है। राजस्व प्राप्ति की तुलना में ब्याज भुगतान मात्र 7.04 प्रतिशत है, जो वर्ष 2003-04 में 22 प्रतिशत था। राजस्व प्राप्ति की तुलना में वेतन-भत्तों के व्यय में लगातार कमी हुई है, जो वर्तमान में मात्र 22.63 प्रतिशत रह जायेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि बजट में अधोसंरचना विकास को प्राथमिकता दी गयी है। सड़कों के लिये 5 हजार 900 करोड़ रूपये, ग्रामीण सड़कों के लिये 2 हजार 800 करोड़ रूपये, ऊर्जा के लिये 9700 करोड़ रूपये, सिंचाई के लिये 7400 करोड़ तथा कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र के लिये 19 हजार 600 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। बजट में अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग कल्याण के लिये 22 हजार 500 करोड़ रूपये, महिला एवं बाल विकास के लिये 4,400 करोड़ रूपये, स्कूली शिक्षा के लिये 15 हजार 700 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है। बजट में कौशल विकास और निवेश को बढ़ाने के लिये आवश्यक व्यवस्थाएँ की गयी है। कानून-व्यवस्था की बेहतरी के लिये 5 हजार पुलिस जवान की भर्ती का प्रावधान किया गया है। बजट में पर्यटन, खेल-कूद और संस्‍कृति को बढ़ावा देने के साथ सिंहस्थ आयोजन के लिये पर्याप्त प्रावधान किये गये हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बजट को अधोसंरचना विकास, निवेश को बढ़ावा देने वाला संतुलित और जनकल्याणकारी बजट बताया है।


राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज चयन परीक्षा का परिणाम घोषित
25 February 2015
भोपाल। राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज की प्रथम चयन परीक्षा 2014-15 का परिणाम घोषित कर दिया गया है। परीक्षा में शामिल विद्यार्थी अपना परिणाम स्कूल शिक्षा विभाग के पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in पर देख सकते हैं।
राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज की प्रथम चयन परीक्षा विगत 2 नवम्बर को हुई थी। परीक्षा में कक्षा दसवीं में अध्ययनरत विद्यार्थी शामिल हुए थे। राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज छात्रवृत्ति में चयनित विद्यार्थियों को सम्पूर्ण विद्यार्थी जीवन के लिये छात्रवृत्ति दी जाती है। कक्षा 11 वीं एवं 12 वीं तक प्रतिमाह 1250 रुपये तथा स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं में 2000 रुपये प्रतिमाह की छात्रवृत्ति प्राप्त होती है। इसके आगे पी.एच.डी./एम.फिल आदि में अध्ययन जारी रखने पर चयनित विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियमानुसार छात्रवृत्ति प्राप्त होती है।
प्रथम चयन परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थियों की द्वितीय एवं अंतिम चयन परीक्षा राष्ट्रीय-स्तर पर आयोजित की जायेगी। परीक्षा आगामी 10 मई को चयनित केन्द्रों पर होगी।


37 लाख से होगा विज्ञान महाविद्यालय जबलपुर में विद्युतीकरण
25 February 2015
भोपाल। शासकीय आदर्श विज्ञान महाविद्यालय जबलपुर के विभिन्न कक्ष में विद्युतीकरण एवं अन्य कार्य के लिए 37 लाख 25 हजार रुपये स्वीकृत किये गये हैं। इसमें से 14 लाख 81 हजार विद्युतीकरण, 5 लाख 88 हजार आवास गृहों में सुधार और 11 लाख 50 हजार रुपये कन्या छात्रावास में 2 कमरा निर्माण के लिए राशि स्वीकृत की गई है।


प्रदेश स्तरीय विभिन्न विभागीय परीक्षाओं का आयोजन 16 से 23 मार्च 15 तक
25 February 2015
भोपाल। प्रदेश के सभी विभागो द्वारा संचालित विभागीय परीक्षा 16 से 23 मार्च तक आयोजित की गई है। पूर्व में उक्त परीक्षायें 12 से 19 जनवरी के मध्य संचालित की जानी थी। किन्तु पंचायत निर्वाचन एवं नगरीय निकायो को दृष्टिगत रखते हुये, उक्त परीक्षाओं की तिथि परिवर्तित कर दी गई है। 16 मार्च से लेकर 23 मार्च तक उक्त परीक्षायें प्रातः 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक एवं दोपहर 1 बजे से 5 बजे तक सांयकाल होंगी। उक्त परीक्षाओं में भोपाल ,जबलपुर ,इंदौर , उज्जैन ,ग्वालियर , सागर , रीवा , शहडोल एवं नर्मदा पुरम , होशंगाबाद संभाग के विभिन्न निर्धारित स्थानो पर आयोजित की गई है।


सदस्यता महाअभियान बहनों के लिए चुनौती के साथ अवसर- शिवराजसिंह
20 February 2015
भोपाल। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद् और विज्ञान भारती के संयुक्त तत्वावधान में भोपाल विज्ञान मेला 20 फरवरी बीएचईएल के दशहरा मैदान में शुरू होगा।
दोपहर 12.30 होने वाले उदघाटन समारोह में नगरीय विकास मंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय, संस्कृति राज्य मंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा एवं विधायक श्री विश्वास सारंग उपस्थित रहेंगे। तीन दिवसीय मेले में ब्रह्मोस मिसाइल, नाभिकीय ऊर्जा पेवेलियन और भारत सरकार का स्टील पेवेलियन आकर्षण का केन्द्र रहेंगे। देश भर से आये कारीगरों का ग्रामीण प्रौद्योगिकी पेवेलियन मुख्य आकर्षण होगा। वैज्ञानिक एवं विद्यार्थी संवाद और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। मेले में प्रवेश नि:शुल्क है।


नीलम पार्क और यादगार-ए-शाहजहाँनी पार्क अस्थायी जेल घोषित
20 February 2015
भोपाल। राज्य शासन द्वारा नीलम पार्क एवं यादगार-ए-शाहजहाँनी पार्क को 27 मार्च 2015 तक की अवधि के लिए अस्थायी जेल घोषित किया गया है। जेल विभाग ने इस संबंध में अधिसूचना जारी की है।


गेहूँ उपार्जन के लिए समग्र आई.डी. की बाध्यता नहीं
20 February 2015
भोपाल। खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग ने जिला कलेक्टर्स को निर्देश दिए हैं कि समग्र आई.डी. के बिना किसी भी किसान से गेहूँ की खरीदी न रोकी जाए। प्रदेश में इस वर्ष किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी का कार्य 18 मार्च से प्रारंभ होकर 26 मई तक चलेगा। इस वर्ष 1450 रुपए प्रति क्विंटल के भाव पर किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूँ की खरीदी की जाएगी।
खाद्य, नागरिक आपूर्ति मंत्री कुँवर विजय शाह ने बताया कि किसानों के पंजीयन की कार्यवाही पूरी कर ली गई है। इस वर्ष 19 लाख 8 हजार किसान ने समर्थन मूल्य पर गेहूँ देने के लिए पंजीयन करवाया है। पिछले वर्ष 17 लाख 28 हजार किसान ने पंजीयन करवाया था। खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग ने मैदानी अमले को निर्देशित किया है कि वे ग्राम पंचायतों से समग्र आई.डी. की जानकारी लेकर ई-उपार्जन में प्रविष्टि करें, जिससे गेहूँ उपार्जन की प्रक्रिया को और बेहतर बनाया जा सके।
राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी की सभी तैयारियाँ कर ली गई हैं। गेहूँ खरीदी के लिए इस वर्ष 2,995 खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। किसानों को अपनी उपज बेचने में असुविधा न हो इसके लिए उपार्जन संस्था द्वारा एसएमएस के जरिए उपार्जन तिथि से किसान के मोबाइल पर यह सूचना दी जाएगी। जिले में गेहूँ उपार्जन की व्यवस्था को प्रभावी बनाने कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति भी गठित की गई है। प्रदेश में समर्थन मूल्य पर गेहूँ खरीदी के कार्य के लिए स्टेट सिविल सप्लाईज़ कार्पोरेशन को नोडल एजेंसी बनाया गया है।


राष्ट्रीय ग्रामीण जल एवं स्वच्छता जागरूकता सप्ताह के लिये समिति गठित
19 February 2015
भोपाल। स्वच्छ भारत मिशन में आम जनता में स्वच्छता संबंधी व्यापक प्रभाव डालने के प्रयास के लिये 16 से 22 मार्च तक राष्ट्रीय ग्रामीण जल एवं स्वच्छता जागरूकता सप्ताह मनाया जायेगा। राज्य शासन ने इस संबंधी कार्य-योजना के क्रियान्वयन के लिये अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास की अध्यक्षता में समिति गठित की है। समिति में स्कूल शिक्षा के अपर मुख्य सचिव और लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, महिला-बाल विकास, लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी तथा नगरीय विकास एवं पर्यावरण के प्रमुख सचिव, पंचायत एवं ग्रामीण विकास के सचिव और पंचायत राज संचालनालय के आयुक्त सदस्य होंगे।


गत सात दिवस में स्वाईन फ्लू से 8 की मृत्यु
19 February 2015
भोपाल। राज्य में स्वाईन फ्लू पर नियंत्रण के प्रयास तेजी से सफल हो रहे हैं। प्रदेश में 11 से 15 फरवरी के दौरान पाँच दिवस में कुल 7 मृत्यु और 17 फरवरी को एक मृत्यु की सूचना है। बहुआयामी प्रयासों के कारण अब तेजी से स्थिति में सुधार हो रहा है।


गृह मंत्री श्री गौर ने राज्यपाल श्री यादव से भेंट की
19 February 2015
भोपाल। मप्र के गृह एवं जेल मंत्री श्री बाबूलाल गौर ने आज राजभवन में राज्यपाल श्री रामनरेश यादव से भेंट की। श्री गौर ने आज विधानसभा में अभिभाषण के समय विपक्ष द्वारा किये गये अपमान पर खेद जताया।
श्री गौर ने कहा कि विपक्ष का सदन में आज राज्यपाल जी के प्रति किया गया आचरण अपमानजनक था। इससे सदन की गरिमा को ठेस लगी है। उन्होंने कहा कि पिछले 40 वर्ष में वह भी विपक्ष में रहकर और नेता प्रतिपक्ष के तौर पर भी मान्य परम्पराओं की मर्यादा में बात रखने का अनुभव रखते हैं। उन्होंने कहा कि उनके संसदीय जीवन में आज विपक्ष का आचरण मर्यादा और परम्पराओं के उलट था।


कांग्रेस पर होगा पलटवार, घेरेंगे दिग्विजय-सिंधिया को
18 February 2015
भोपाल। व्यापमं घोटाले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का नाम घसीटने वाले कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के खिलाफ राज्य सरकार ने घेराबंदी की तैयारी शुरू कर दी है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के कार्यकाल में हुई अवैध और अनियमित नियुक्तियों के मामले में सरकार जल्द ही आयोग या कमेटी बनाकर जांच करवाएगी। वहीं, ग्वालियर में जमीनों को खुर्द--बुर्द करने के मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को लपेटने की कवायद होगी। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने मंगलवार को अपने प्रमुख सचिव को निर्देश दिए।

पीएम-जेटली ने की बात

उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक सीएम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री अण जेटली ने भी बात की। दोनों नेताओं ने सीएम को सलाह दी कि वे अपनी बात पूरी ताकत के साथ कहें, चुप न रहें और कांग्रेस के हमलों का पलटवार करें। वहीं, मंगलवार को मुख्यमंत्री ने अपना केरल दौरा स्थगित कर दिया। सीएम हाउस में उन्होंने दो बार अपने प्रमुख सचिव इकबाल सिंह बैंस और एसके मिश्रा के साथ मीटिंग की, फिर मीडिया के साथ बातचीत कर व्यापमं मामले में अपना पक्ष रखा।

किया था जांच का ऐलान

मुख्यमंत्री चौहान ने विस में 2 जुलाई 2014 को कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा की गई कई अवैध नियुक्तियों का हवाला दिया था। तब सीएम ने ऐलान किया था कि सारी अवैध नियुक्तियों की सरकार जांच कराएगी। सूत्र बताते हैं कि कांग्रेसी हमले के बाद सीएम को बताया गया कि कुछ ब्यूरोक्रेट्स के प्रभाव के चलते ये कार्रवाई आगे नहीं ब़़ढ पाई है। इसके बाद सीएम ने तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए।

सिंधिया पर कसेंगे शिकंजा

जमीनों की खरीद-फरोख्त के मामले में सिंधिया पर भी शिकंजा कसने की तैयारी विस चुनाव से पहले से ही सरकार कर रही थी। सूत्रों के मुताबिक अब सरकार इस जांच की गति तेज करेगी। हालांकि ग्वालियर कलेक्टर कुछ दिन पहले ही नोटिस भी जारी कर चुके हैं।

मामला विचाराधीन

विधानसभा में कांग्रेस के आरोपों के जवाब में सरकार ने कहा था कि कांग्रेस के कार्यकाल में सिगरेट के पैकेट की पर्चियों पर नियुक्तियां की गई। तब इनकी जांच की बात कही गई थी। अभी ये मामला विचाराधीन है-नरोत्तम मिश्रा, सरकार के प्रवक्ता
मैंने शपथ पत्र पर आरोप लगाए हैं। यदि साहस है तो मुझ पर कार्रवाई करें या फिर इस्तीफा दें-दिग्विजय सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री।


रोगी को अस्पताल पहुँचाने में देर न करें
18 February 2015
भोपाल।मुख्य सचिव श्री अन्टोनी डिसा ने आज मंत्रालय में स्वाईन फ्लू नियंत्रण समन्वय समिति की बैठक में रोग की स्थिति की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने सरकारी विभाग और निजी अस्पताल की ओर से रोगियों के उपचार की विस्तार से जानकारी प्राप्त की। बैठक में बताया गया कि रोगी और परिवार के स्तर पर अस्पताल पहुँचने में विलम्ब रोग की पीड़ा बढ़ाने वाला सिद्ध हुआ है।

ऐहतियात में ही बचाव

समन्वय समिति ने नागरिकों से आग्रह किया है कि मामूली सर्दी, जुकाम और खाँसी होने पर भी सजग रहें। साँस की तकलीफ हो तो चिकित्सकीय परामर्श लें और जरूरत हो तो जाँच भी करवायें। संदिग्ध रोगी को भी टेमीफ्लू देने के निर्देश दिये गये। प्रदेश के सभी जिलों में पर्याप्त दवाएँ मुहैया करवाई गई हैं। स्वाईन फ्लू उपचार में संलग्न चिकित्सक और स्टॉफ को सुरक्षा के लिये जरूरी वेक्सीन का डोज दिया जाये। आवश्यक मास्क और पीपीई का उपयोग हो। कल इस संबंध में वीडियो कान्फ्रेंस द्वारा भी समस्त कलेक्टर्स और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को बताया जा चुका है। रेग्युलर ट्रीटमेंट करने वाले अमले को स्वयं व्यक्तिगत स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित करने पर ध्यान देना है।

निजी अस्पताल और संगठन भी सक्रिय

प्रदेश में स्वाईन फ्लू रोग नियंत्रण के प्रभाव युद्ध स्तर पर किये जा रहे हैं। स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा विभाग मिलकर इस समस्या का समाधान निकालने और नागरिकों की तकलीफ कम करने से जुटे हैं। महिला-बाल विकास विभाग की आँगनवाड़ी कार्यकर्त्ता, आशा कार्यकर्त्ता के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जनता को रोग के प्रति जागरूक बनाने की कोशिशों को अंजाम दे रही हैं। मुख्य सचिव श्री डिसा ने जिला स्तर पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, प्राइवेट प्रेक्टिसनर्स एसोसिएशन और स्वैच्छिक संगठन को शासन के प्रयासों में सहभागी बनाने के निर्देश दिये हैं। प्रचार-प्रसार में सर्वाधिक जोर रोगी के समय से अस्पताल पहुँचने पर दिया जा रहा है।

बचें भीड़-भाड़ से और रखें स्वच्छता

समन्वय समिति ने रोग के वायरस से सावधान रहने पर सहमति जताई और जनता से अपील की कि भीड़-भाड़ के इलाकों में जाने से बचें। सर्दी-जुकाम, खाँसी कम होने पर भी सजग रहें। स्वच्छता का भी ध्यान रखें। प्रारंभिक लक्षण दिखाई दें तब भी पास के सरकारी अस्पताल या शासन की ओर से चिन्हित किये गये अस्पताल जाकर जाँच और उपचार के लिये चिकित्सक से मिलें।

अधिकारी दल रवाना होंगे मैदानी दौरे पर

प्रदेश के जिलों में स्थानीय अमले को सक्रिय बनाया गया है। उपचार कार्यों का जायजा लेने राजधानी से समस्त 51 जिले के वरिष्ठ अधिकारी बुधवार 18 फरवरी से भ्रमण के लिये रवाना होंगे। प्रदेश में एक जनवरी से 16 फरवरी तक 961 रोगी की स्क्रीनिंग में 352 पॉजिटिव मिले हैं। कुल 356 रोगी के सेम्पल निगेटिव पाये गये। इस अवधि में 126 रोगी उपचार के बाद स्वस्थ हो गये। प्रदेश में 81 रोगी को गहन उपचार मिला, लेकिन असमय मृत्यु हो गई।


भाजपा के दु‌र्व्यवहार से परेशान राज्यकर्मी, 18 को राज्यव्यापी काम बंद
18 February 2015
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के दु‌र्व्यवहार से परेशान राज्य के अधिकारी और कर्मचारी 18 फरवरी को पूरे प्रदेश में काम बंद [शटडाउन] करेंगे। इस संबंध में मुख्य सचिव अंटोनी जेसी डिसा ने सोमवार को अधिकारी व कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधियों को मंत्रालय बुलाया था। चर्चा में ठोस निष्कर्ष न निकलने पर अधिकारी-कर्मचारियों ने अपनी शट डाउन कार्यक्रम को यथावत रखने की बात कही।
देर शाम को संगठन के पदाधिकारियों के पास मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को सुबह 10.30 बजे मुलाकात करने का संदेशा भेजा है। सभी संगठनों के पदाधिकारियों का कहना है कि यदि मुख्यमंत्री हमारे अधिकारी-कर्मचारियों को नेताओं की प्रताड़ना से सुरक्षा देने के लिए प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने का आश्वासन देते हैं तो ही हम अपने शट डाउन कार्यक्रम को रोकेंगे। अन्यथा 18 को पूरा सरकारी काम-काज ठप कर दिया जाएगा। राजपत्रित अधिकारी संघ के अध्यक्ष जीपी माली, मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के प्रांताध्यक्ष अरुण द्विवेदी, मप्र राज्य कर्मचारी संघ के जीतेंद्र सिंह समेत अन्य संगठनों के प्रतिनिधि आज सुबह सीएम से मिलने जाएंगे।

इधर मंत्रालय में लहराई तख्तियां

मंत्रालयीन अधिकारी-कर्मचारी संघ की जीएडी राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य से वार्ता फेल होने के बाद उन्होंने 18 फरवरी को मंत्रालय से मशाल जुलूस निकालने का निर्णय लिया। इस अवसर पर संघ ने पूरे मंत्रालय में तख्तियां लहराकर सभी को 18 फरवरी को मशाल जुलूस में शामिल होने का आव्हान किया।
मंत्रालयीन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक के नेतृत्व में 50 से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों ने पूरे मंत्रालय में नारों की तख्तियां लहराते हुए नारेबाजी भी की। इस अवसर पर मंत्रालय के सुरक्षा कर्मी कर्मचारियों से तख्तियां छिनते नजर आए।


मुख्य सचिव ने की स्वाईन फ्लू नियंत्रण प्रयासों की समीक्षा
17 February 2015
भोपाल। मप्र के मुख्य सचिव श्री अन्टोनी डिसा ने आज राज्य में स्वाईन फ्लू नियंत्रण के प्रयासों की समीक्षा की। राज्य शासन द्वारा गठित समन्वय समिति प्रतिदिन रोग नियंत्रण के प्रयासों की समीक्षा कर रही है।
मुख्य सचिव श्री डिसा ने बैठक में कहा कि स्वाईन फ्लू के बेहतर नियंत्रण के लिए यदि और अधिक संख्या में निजी अस्पताल चिन्हित और पंजीकृत करना जरुरी हो तो यह कार्य तत्काल किया जाए। मुख्य सचिव ने बैठक में निर्देश दिए कि जिला स्तर पर भी रोग नियंत्रण की नियमित समीक्षा की जाए। इसके लिए राज्य स्तर से सभी कलेक्टर्स से वीडियो कान्फ्रेन्सिंग द्वारा बातचीत कर जरूरी निर्देश दिए जाएं। मुख्य सचिव ने रोग नियंत्रण के लिए अब तक किए प्रयासों की भी जानकारी प्राप्त की।
प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य श्री प्रवीर कृष्ण ने बताया कि राज्य में अब रोग तेजी से नियंत्रित हो रहा है। डेढ-दो माह पहले से एहतियात के तौर पर जरूरी उपाय प्रारंभ कर दिए गए थे। इस समय राज्य में 51 जिला अस्पताल, 6 चिकित्सा महाविद्यालय और 34 निजी अस्पताल स्वाईन फ्लू के रोगियों के उपचार का कार्य कर रहे हैं। चिकित्सकों को आवश्यक प्रशिक्षण भी दिया गया है। टेमीफ्लू दवा, पीपीई किट, मास्क और पल्स ऑक्सीलेटर जैसी सामग्री पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करावाई गई हैं।
आम नागरिकों से अपील की गई है कि रोग के प्रारम्भिक लक्षणों के दिखते ही शीघ्र शासकीय चिकित्सालयों में जाकर चिकित्सकीय सलाह लें।


राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज चयन परीक्षा का परिणाम घोषित
17 February 2015
भोपाल। राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज की प्रथम चयन परीक्षा 2014-15 का परिणाम घोषित कर दिया गया है। परीक्षा में शामिल विद्यार्थी अपना परिणाम स्कूल शिक्षा विभाग के पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in पर देख सकते हैं।
राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज की प्रथम चयन परीक्षा विगत 2 नवम्बर को हुई थी। परीक्षा में कक्षा दसवीं में अध्ययनरत विद्यार्थी शामिल हुए थे। राष्ट्रीय प्रतिभा-खोज छात्रवृत्ति में चयनित विद्यार्थियों को सम्पूर्ण विद्यार्थी जीवन के लिये छात्रवृत्ति दी जाती है। कक्षा 11वीं एवं 12वीं तक प्रतिमाह 1250 रुपये तथा स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं में 2000 रुपये प्रतिमाह की छात्रवृत्ति प्राप्त होती है। इसके आगे पी.एच.डी./एम.फिल आदि में अध्ययन जारी रखने पर चयनित विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियमानुसार छात्रवृत्ति प्राप्त होती है।
प्रथम चयन परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थियों की द्वितीय एवं अंतिम चयन परीक्षा राष्ट्रीय-स्तर पर आयोजित की जायेगी। परीक्षा आगामी 10 मई को चयनित केन्द्रों पर होगी।


मध्यप्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य
17 February 2015
भोपाल। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मध्यप्रदेश को नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में किये गये उत्कृष्ट कार्यों के लिए आज नई दिल्ली में पुरस्कृत किया। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने यह पुरस्कार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से विज्ञान भवन में रि-इन्वेस्ट-2015 कॉफ्रेंस में ग्रहण किया। कार्यक्रम में केन्द्रीय ऊर्जा, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल और केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण उपस्थित थे।
ऊर्जा मंत्री श्री शुक्ल ने ऊर्जा के क्षेत्र में की गई उल्लेखनीय प्रगति का श्रेय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में किये गये अभिनव प्रयासों का ही फल बताया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कृषि के क्षेत्र में 24X7 दस घंटे और रिहायशी इलाकों के लिए बेरोकटोक 24 घंटे बिजली उपलब्ध करवायी जा रही है।
मध्यप्रदेश को नीमच में एशिया का सबसे बड़ा सौर संयंत्र (2x450 मेगावाट) स्थापित करने के लिए सम्मानित किया गया है। कान्फ्रेंस में मध्यप्रदेश के रीवा में विश्व के सबसे बड़े सौर संयंत्र (750 मेगावाट) स्थापित करने की आधारशिला रखने का भी उल्लेख किया गया। प्रदेश में पवन ऊर्जा के क्षेत्र में 450 मेगावाट के दो संयंत्र स्थापित करने का भी कार्य किया गया है।
नई दिल्ली में रि-इन्वेस्ट -2015 सम्मेलन का उद्देश्य देश में नवकरणीय ऊर्जा के महत्व को बताना और इसके माध्यम से देश में सभी उपभोक्ताओं को सस्ते दर पर ऊर्जा उपलब्ध करवाना है। केबिनेट सचिव श्री अजीत सिंह, केन्द्रीय सचिव नवकरणीय ऊर्जा श्री उपेन्द्र त्रिपाठी, मध्यप्रदेश के अपर मुख्य सचिव नवकरणीय ऊर्जा श्री एस.आर. मोहंती, आयुक्त एवं प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम श्रीमती गौरी सिंह सहित अन्य राज्य के मंत्री एवं अधिकारी मौजूद थे।


10 कलाकार को मिलेंगे रूपंकर कला पुरस्कार
16 February 2015
भोपाल। उस्ताद अलाउद्दीन खाँ संगीत एवं कला अकादमी द्वारा ललित कलाओं के 10 कलाकार को उनकी श्रेष्ठ कलाकृतियों के लिये पुरस्कार दिये जायेंगे। प्रत्येक कलाकार को 21 हजार रुपये, शॉल तथा श्रीफल भेंटकर पुरस्कृत किया जायेगा है। यह पुरस्कार अन्तर्राष्ट्रीय खजुराहो नृत्य समारोह के पहले दिन 20 फरवरी को दिये जायेंगे। अकादमी को कलाकारों से प्राप्त प्रविष्टि के आधार पर राष्ट्रीय स्तर की चयन समिति द्वारा 10 कलाकर की श्रेष्ठ कलाकृति को पुरस्कार के लिए चुना गया है।

इन्हें मिलेगा पुरस्कार

देव कृष्ण जटाशंकर जोशी पुरस्कार ग्वालियर के कलाकार श्री मनीष गुप्ता को, मुकुन्द सखाराम भाण्ड पुरस्कार भोपाल के डॉ. कीर्ति सिंह ठाकुर को, सैय्यद हैदर रजा़ पुरस्कार सुश्री हंसा मिलन कुमार को, दत्तात्रेय दामोदर देवलालीकर पुरस्कार श्री सुरेश कुमार धुर्वे को, जगदीश स्वामीनाथन पुरस्कार शिवपुरी के श्री रौनक राय को, विष्णु चिंचालकर पुरस्कार सागर के श्री नि‍तिन योगी को, नारायण श्रीधर बेन्द्रे पुरस्कार जबलपुर की सुश्री भारती सिंह परमार एवं लक्ष्मी सिंह राजपूत पुरस्कार भोपाल की सुश्री आरती पालीवाल को दिया जायेगा।


महाअभियान के दूसरे दिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने बूथ स्तर तक अभियान चलाया
16 February 2015
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी सदस्य