Untitled Document


register
REGISTER HERE FOR EXCLUSIVE OFFERS & INVITATIONS TO OUR READERS

REGISTER YOURSELF
Register to participate in monthly draw of lucky Readers & Win exciting prizes.

EXCLUSIVE SUBSCRIPTION OFFER
Free 12 Print MAGAZINES with ONLINE+PRINT SUBSCRIPTION Rs. 300/- PerYear FREE EXCLUSIVE DESK ORGANISER for the first 1000 SUBSCRIBERS.

   >> सम्पादकीय
   >> राजधानी
   >> कवर स्टोरी
   >> विश्व डाइजेस्ट
   >> बेटी बचाओ
   >> आपके पत्र
   >> अन्ना का पन्ना
   >> इन्वेस्टीगेशन
   >> मप्र.डाइजेस्ट
   >> मध्यप्रदेश पर्यटन
   >> भारत डाइजेस्ट
   >> सूचना का अधिकार
   >> सिटी गाइड
   >> अपराध मिरर
   >> सिटी स्केन
   >> जिलो से
   >> हमारे मेहमान
   >> साक्षात्कार
   >> केम्पस मिरर
   >> फिल्म व टीवी
   >> खाना - पीना
   >> शापिंग गाइड
   >> वास्तुकला
   >> बुक-क्लब
   >> महिला मिरर
   >> भविष्यवाणी
   >> क्लब संस्थायें
   >> स्वास्थ्य दर्पण
   >> संस्कृति कला
   >> सैनिक समाचार
   >> आर्ट-पावर
   >> मीडिया
   >> समीक्षा
   >> कैलेन्डर
   >> आपके सवाल
   >> आपकी राय
   >> पब्लिक नोटिस
   >> न्यूज मेकर
   >> टेक्नोलॉजी
   >> टेंडर्स निविदा
   >> बच्चों की दुनिया
   >> स्कूल मिरर
   >> सामाजिक चेतना
   >> नियोक्ता के लिए
   >> पर्यावरण
   >> कृषक दर्पण
   >> यात्रा
   >> विधानसभा
   >> लीगल डाइजेस्ट
   >> कोलार
   >> भेल
   >> बैरागढ़
   >> आपकी शिकायत
   >> जनसंपर्क
   >> ऑटोमोबाइल मिरर
   >> प्रॉपर्टी मिरर
   >> सेलेब्रिटी सर्कल
   >> अचीवर्स
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> जीवन दर्शन
   >> कन्जूमर फोरम
   >> पब्लिक ओपिनियन
   >> ग्रामीण भारत
   >> पंचांग
   >> रेल डाइजेस्ट
  

"बेटी"
कहने को वरदान है बेटी,,,
अनचाही संतान है बेटी,,,

कपड़ा पैसा दाल समझ कर,,,
कर दी जाती दान है बेटी,,,

खूब ठहाकों से आता बेटा,,,
बुझती सी मुस्कान है बेटी,,,

लेना-देना दो बापों के बीच,,,
हो जाती है कुर्बान ये बेटी ,,,

पूछ नहीं है घर में लेकिन,,,
घर की इज्जत मान है बेटी ,,,

सास कहे है गैर के घर की,,,
माँ के घर मेहमान है बेटी,,


- प्रियंका पारे

"वो लड़की"
मनहूसी सी छा गई घर में छा पैदा हुई वो लड़की , कुछ बड़ी हुई तो घर के पहरे में आ गयी वो लड़की ।
घर का पूरा काम करती,ध्यान रखती वो लड़की,
हसने पर प्रतिबन्ध,रोने पर मनाही,
घर के बहार झाकने पर डांट सुनती वो लड़की ।

पढ़ती और अव्वल आती पर सराही ना जाती,
आगे बढ़ने-पढ़ने से रोक दी जाती वो लड़की ।

ब्याही दी गई किसी अनजान पुरुष के साथ ,
उतरा माँ-बाप का बोझ,अब दहेज़ के लिए प्रताड़ित की जाती वो लड़की ।

रोती,बिलखती एकांत में मायूस होती,
भटकती मंजिल की तलाश में वो लड़की ।


- प्रियंका पारे

अब ऑनलाइन करें लाड़ली लक्ष्मी योजना के लिए आवेदन
भोपाल | अब लाड़ली लक्ष्मी योजना के आवेदन ऑनलाइन www.ladlilaxmi.com कर सकेंगे। अब तक यह आवेदन आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से ही भरा जाता था। संचालनालय महिला सशक्तिकरण महिला बाल विकास ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। लाड़ली को कक्षा छह में प्रवेश पर दो हजार कक्षा, 9 में प्रवेश पर 4000 हजार रुपए, कक्षा 11 में प्रवेश पर 6 हजार और 18 साल की आयु पूर्व विवाह न होने पर और कक्षा 12वीं में प्रवेश लेने पर 21 साल में एक लाख रुपए की राशि दी जाएगी।


"बेटी बचाओ संकल्प" पोस्टर का विमोचन
भोपाल। बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती ऊषा चतुर्वेदी ने आज यहाँ 'बेटी बचाओ संकल्प' पोस्टर का विमोचन किया। आयोग की अध्यक्ष श्रीमती ऊषा चतुर्वेदी ने कहा कि हमारी मंशा है कि प्रदेश में जन-जन तक यह संदेश जाये कि 'जननी को जन्मने दो और जन्मी को जीने दो' इस संकल्प-पत्र में समाहित पाँच बातें इस संदेश को प्रबल करती हैं।
स्वयंसेवी संस्थाओं निवसिड, बचपन और साथी द्वारा ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में बेटियों के संरक्षण एवं संवर्धन के लिये चलाये जा रहे 'बेटी जिंदाबाद अभियान' के लिये पाँच संकल्प बिन्दुओं पर आधारित पोस्टर तैयार किया गया है। स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा आँगनवाड़ी एवं स्कूलों में बेटी बचाओं के लिये जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।
इस अवसर पर आयोग के सदस्य सुश्री आर.एच. लता, श्री विभांशु जोशी, स्वयंसेवी संस्था बचपन के श्री संजय कुमार सिंह, सुश्री तरन्नुम मेवाती एवं अन्य सदस्य उपस्थित थे।


ब्यूरो ९ अक्टूबर, भोपाल
बेटी बचाओ अभियान की अलख जगाने मुख्य मंत्री अंचल के प्रवास पर - दतिया से करेगे जन जाग्रति यात्रा की शुरुआत
|
ब्यूरो ५ अक्टूबर, भोपाल
- बेटियो की चहक और आवभगत से गुलजार हुआ मुख्यमंत्री निवास - पंगत मे बैठकर खाई खीर पूड़ी|
- प्रदेश के सभी जिले मे शुरू हुआ बेटी बचाओ अभियान |
- मेट्रोमिरर डॉट कॉम ने भोपाल मे २००९ मे शुरू की प्रतिभाशाली बेटियो को "डाटर्स ऑफ भोपाल " अवार्ड्स
|







प्रतिभावान बेटी को कब मिलेगा २ लाख रुपये का राष्ट्रीय सम्मान ?
भोपाल, २७ अप्रैल, मेट्रोमिरर संवाददाता
पब्लिक रिलेशन काउन्सिल ऑफ़ इंडिया, भोपाल चेप्टर और मेट्रो मिरर डोट कॉम न्यूज़ पत्रिका द्वारा १ जुलाई २००९ को भारत की बेटी कल्पना चावला के जन्मदिन पर 'डाटर्स ऑफ़ भोपाल' का आयोजन किया गया जिसमे भोपाल शहर की २० प्रतिभावान बेटियों और महिलाओं को उनके विभिन्न क्षेत्रों में योगदान हेतु 'डाटर्स ऑफ़ भोपाल' सम्मान से नवाजा गया | इस समारोह में उपस्थित मुख्य अतिथि जनसंपर्क मंत्री श्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने इस अवसर पर मेट्रो मिरर डाट कॉम और पब्लिक रिलेशन काउन्सिल ऑफ़ इंडिया, भोपाल चेप्टर की इस पहल को सराहनीय बताया और उन्होंने कहा की मैं भी इससे प्रेरित हुआ हूँ और मध्यप्रदेश शासन की और से अब प्रतिवर्ष प्रतिभावान बेटी को २ लाख रूपए का ईनाम दिया जायेगा | इस हेतु उन्होंने एक कमेटी बनाकर प्रतिभावान बेटी का चयन कर उसी वर्ष ईनाम और सम्मान देने की बात भी कही थी | करीब दो वर्ष बीत जाने पर भी इस महत्वपूर्ण घोषणा हेतु अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है जो बेटियों को मायूस कर रहा है और प्रतिभावान बेटी २ लाख रुपये के ईनाम का इन्तजार कर रही है |

- मुख्यमंत्री शिवराज सिह चौहान ५ अक्टूबर को ११.०० बजे मुख्यमंत्री निवास से बेटी बचाओ अभियान की शुरुआत करेगे|
- राज्य सरकार के इस अभियान पर १०० करोड़ रुपये से अधिक खर्च होगा |

 
Copyright © 2014, BrainPower Media India Pvt. Ltd.
All Rights Reserved
DISCLAIMER | TERMS OF USE