Untitled Document


register
REGISTER HERE FOR EXCLUSIVE OFFERS & INVITATIONS TO OUR READERS

REGISTER YOURSELF
Register to participate in monthly draw of lucky Readers & Win exciting prizes.

EXCLUSIVE SUBSCRIPTION OFFER
Free 12 Print MAGAZINES with ONLINE+PRINT SUBSCRIPTION Rs. 300/- PerYear FREE EXCLUSIVE DESK ORGANISER for the first 1000 SUBSCRIBERS.

   >> सम्पादकीय
   >> राजधानी
   >> कवर स्टोरी
   >> विश्व डाइजेस्ट
   >> बेटी बचाओ
   >> आपके पत्र
   >> अन्ना का पन्ना
   >> इन्वेस्टीगेशन
   >> मप्र.डाइजेस्ट
   >> मध्यप्रदेश पर्यटन
   >> भारत डाइजेस्ट
   >> सूचना का अधिकार
   >> सिटी गाइड
   >> अपराध मिरर
   >> सिटी स्केन
   >> जिलो से
   >> हमारे मेहमान
   >> साक्षात्कार
   >> केम्पस मिरर
   >> फिल्म व टीवी
   >> खाना - पीना
   >> शापिंग गाइड
   >> वास्तुकला
   >> बुक-क्लब
   >> महिला मिरर
   >> भविष्यवाणी
   >> क्लब संस्थायें
   >> स्वास्थ्य दर्पण
   >> संस्कृति कला
   >> सैनिक समाचार
   >> आर्ट-पावर
   >> मीडिया
   >> समीक्षा
   >> कैलेन्डर
   >> आपके सवाल
   >> आपकी राय
   >> पब्लिक नोटिस
   >> न्यूज मेकर
   >> टेक्नोलॉजी
   >> टेंडर्स निविदा
   >> बच्चों की दुनिया
   >> स्कूल मिरर
   >> सामाजिक चेतना
   >> नियोक्ता के लिए
   >> पर्यावरण
   >> कृषक दर्पण
   >> यात्रा
   >> विधानसभा
   >> लीगल डाइजेस्ट
   >> कोलार
   >> भेल
   >> बैरागढ़
   >> आपकी शिकायत
   >> जनसंपर्क
   >> ऑटोमोबाइल मिरर
   >> प्रॉपर्टी मिरर
   >> सेलेब्रिटी सर्कल
   >> अचीवर्स
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> जीवन दर्शन
   >> कन्जूमर फोरम
   >> पब्लिक ओपिनियन
   >> ग्रामीण भारत
   >> पंचांग
   >> रेल डाइजेस्ट
 




मध्यप्रदेश मंत्रि-परिषद के नवनियुक्त मंत्रियों को विभागों का वितरण

मंत्रि

मंत्रि-परिषद सदस्य

विभाग

1.

श्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री

सामान्य प्रशासन, नर्मदा घाटी विकास, विमानन, संस्कृति, पर्यटन एवं अन्य विभाग जो किसी मंत्री को आवंटित नहीं

2.

श्री जयंत कुमार मलैया, मंत्री

वित्त एवं वाणिज्यिक कर

3.

श्री गोपाल भार्गव, मंत्री

पंचायत एवं ग्रामीण विकास, सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण

4.

डॉ. गौरीशंकर शेजवार, मंत्री

वन, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी

5.

श्री नरोत्तम मिश्र, मंत्री

जल संसाधन, जनसंपर्क एवं संसदीय कार्य

6.

श्री ओम प्रकाश धुर्वे, मंत्री

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण, श्रम - पर्यावरण

7.

कुवंर विजय शाह, मंत्री

स्कूल शिक्षा

8.

श्री गौरीशंकर चतुर्भुज बिसेन

किसान कल्याण एवं कृषि विकासजल संसाधन, जनसंपर्क एवं संसदीय कार्य

9.

श्री रुस्तम सिंह, मंत्री

लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण

10.

श्रीमती अर्चना चिटनिस, मंत्री

महिला एवं बाल विकास

11.

श्री उमाशंकर गुप्ता, मंत्री

राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

12.

सुश्री कुसुम मेहदेले, मंत्री

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, जेल

13.

श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, मंत्री

खेल और युवा कल्याण, धार्मिक न्यास और धर्मस्व

14.

श्री पारसचन्द्र जैन, मंत्री

ऊर्जा

15.

श्री राजेन्द्र शुक्ल, मंत्री

खनिज साधन, वाणिज्य, उद्योग और रोजगार, प्रवासी भारतीय

16.

श्री अंतर सिंह आर्य, मंत्री

मंत्री पशुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास, कुटीर एवं ग्रामोद्योग, पर्यावरण

17.

श्री रामपाल सिंह, मंत्री

लोक निर्माण, विधि एवं विधायी कार्य

18.

श्री ज्ञान सिंह, मंत्री

आदिम जाति कल्याण, अनुसूचित जाति कल्याण

19.

श्रीमती माया सिंह, मंत्री

नगरीय विकास एवं आवास

20.

श्री भूपेन्द्र सिंह ठाकुर, मंत्री

गृह, परिवहन

21.

श्री जयभान सिंह पवैया, मंत्री

उच्च शिक्षा, लोक सेवा प्रबंधन, जन शिकायत निवारण

22.

श्री लाल सिंह आर्य, राज्य मंत्री

नर्मदा घाटी विकास, विमानन, सामान्य प्रशासन

23.

श्री शरद जैन, राज्य मंत्री

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, आयुष, गैस राहत, संसदीय कार्य

24.

श्री सुरेन्द्र पटवा, राज्य मंत्री

संस्कृति, पर्यटन, किसान कल्याण तथा कृषि विकास





भारतीय जनता पार्टी मध्य प्रदेश कार्य समिति सदस्यो की सुची
भारत स्वाभिमान और गौरव के 3 वर्ष पूर्ण होने पर समस्त भारतवासियों को बधाई

27 May 2017

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान और प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के तीन वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने पर प्रदेशवासियों और भारतवर्ष के लोगों को बधाई देते हुए कहा कि इस अवधि में भ्रष्टाचार मुक्त शासन, गरीबोन्मुखी, गतिशील पहल ने देश की सवा अरब जनता को गौरवान्वित किया है। उन्होंने कहा है कि इन 3 वर्षों में भारत के भाल पर स्वाभिमान लिखा गया है। विश्व के पटल पर भारत का सम्मान बढ़ा है। हम एक सशक्त, समृद्ध और समरस भारत की दिशा में तेजी से आगे बढ़े हैं। हमारा पूर्ण विश्वास है कि श्री नरेन्द्र मोदी जैसे नेता के नेतृत्व में यह भारत आने वाले समय में और तेजी से आगे बढ़ेगा तथा आने वाली सदी भारत की सदी होगी। भारत ही विश्व का नेतृत्व करेगा। ऐसे संकेतों को आज प्रत्येक भारतवासी गौरवान्वित होकर अनुभूत कर रहा है। श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले 10 वर्षों की नीतिगत अस्त-व्यस्तता को समाप्त कर त्वरित साहसिक निर्णय लेकर प्रशासन की जड़ता को समाप्त किया है। इन वर्षों में भ्रष्टाचार का एक भी छींटा उनकी सरकार पर नहीं पड़ा। जबकि यूपीए सरकार के 10 वर्षों के कार्यकाल में भ्रष्टाचार और घोटाला जनचर्चा का विषय होने से जनता का सरकार पर से भरोसा समाप्त हो गया था। भ्रष्टाचार के केन्द्र बन चुके अड्ड़ों की सफाई की तथा योजना आयोग और विदेश निवेश प्रोत्साहन बोर्ड को समाप्त कर लाल फीताशाही से केन्द्र और राज्यों को मुक्त किया। कालाधन, जाली नोटों और भ्रष्टाचार की चर्चाएं पूर्ववर्ती सरकार में खूब हुई, लेकिन इन पर लगाम लगाने का साहस नहीं किया गया। श्री नरेन्द्र मोदी सरकार ने विमुद्रीकरण करके कालेधन की व्यवस्था को तहस-नहस करके कालेधन के सृजन अवसरों को ही समाप्त कर दिया। नोटबंदी से देश के कोष को लगभग 5 लाख करोड़ रू. का लाभ हुआ जो गरीबोन्मूलन की योजना में निवेश होगा। उन्होनें कहा कि आजादी के बाद देश की जनता ने पहली बार समावेशी विकास महसूस किया है। केन्द्र सरकार की योजनाओं का लाभ अल्पकाल में ही जन-जन, जरूरतमंद लोगों तक पहुंचा है। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना, जन-धन योजना, आवास योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना, सुकन्या समृद्धि योजना, स्वच्छ भारत मिशन जैसी योजनाएं और इनीशिएटिव ने लाखों परिवारों के जीवन में उमंग पैदा कर दी है। जीवन स्तर बढ़ाया है और खुशहाली का द्वार खोला है। श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि आधार कार्ड योजना को गंतव्य तक पहुंचाया और मनरेगा को कृषि के पूरक अंग के रूप में आगे बढ़ाया, जिससे सिंचन क्षमता में इजाफा हो रहा है। तीन वर्षों में श्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्र सरकार के आलोचकों को इस बात से बेहद हताशा हुई कि उन्हें मोदी सरकार के विरूद्ध न तो कोई खामी दिखी और न ही वे सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा सके। इससे समूचा विपक्ष आलोचना करते करते रपटीले मार्ग पर फिसल चुका है। मोदी सरकार ने जहां विकास दर को 7 प्रतिशत पर स्थायित्व दिया है, वहीं मंहगाई दर पर लगाम कस दी है। जनजीवन के हर क्षेत्र में श्री नरेन्द्र मोदी सरकार ने अपनी जनोन्मुखी छवि अंकित करने में सफलता पायी है। मोदी सरकार के तीन साल बेमिसाल साबित हुए है। श्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व पटल पर अपनी विशेष पहचान बनाकर भारत का सम्मान बढ़ाया है। भारत को विश्व की चुनिंदा शक्तियों की कतार में खड़ा कर दिया है।

प्रदेश में 56 स्थानों पर मोदी फेस्ट के कार्यक्रम निर्धारित- विजेश लूनावत

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लूनावत ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल के तीन वर्षों में जनजीवन के हर क्षेत्र में सुखद परिवर्तन परिलक्षित हुआ है। मोदी फेस्ट के आयोजन का लक्ष्य जनता को बदलते भारत की छवि से अवगत कराना है। उन्होनें बताया कि इसी सिलसिले में रेलमंत्री श्री सुरेश प्रभु 9 जून को भोपाल पधारकर इंदौर पहुंचेंगे और मोदी फेस्ट के आयोजन में भाग लेंगे। केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत 11 एवं 12 जून को प्रदेश में आयोजित कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, श्री प्रकाश जावड़ेकर, केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री फग्गनसिंह कुलस्ते, डॉ. संजीव वलियान 8 और 9 जून को पधारेंगे। केन्द्रीय मंत्री श्री राजीव प्रताप रूढ़ी भी मोदी फेस्ट में भाग लेंगे। विदेश राज्यमंत्री श्री एमजे अकबर 9 जून को इंदौर में रहेंगे। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्रबुद्धे 13 और 14 जून को मध्यप्रदेश प्रवास पर रहेंगे। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा, राष्ट्रीय महासचिव श्री कैलाश विजयवर्गीय एवं राष्ट्रीय सचिव श्रीमती ज्योति धुर्वे मोदी फेस्ट आयोजन में भाग लेंगी। प्रदेश के सभी 29 संसदीय क्षेत्रों में सांसद, विधायक, निर्वाचित प्रतिनिधि कार्यक्रमों का संयोजन करेंगे। जिला प्रभारी मंत्री भी इन कार्यक्रमों में सक्रिय भागीदारी करेंगे। श्री विजेश लूनावत ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री, मंत्रियों, प्रदेश पदाधिकारियों, सांसदों को अन्य प्रदेशों में आयोजन में भाग लेने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान उड़ीसा में जनजाति बहुल क्षेत्रों में पहुंचेंगे। केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर प. बंगाल, श्री थावरचंद गेहलोत आंध्र प्रदेश, श्री फग्गनसिंह कुलस्ते झारखंड, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री प्रभात झा चंडीगढ़, राष्ट्रीय महासचिव श्री कैलाश विजयवर्गीय प. बंगाल, वरिष्ठ मंत्री श्री जयंत मलैया, डॉ. गौरीशंकर शेजवार, डाॅ. नरोत्तम मिश्र, श्रीमती अर्चना चिटनीस, श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया व श्रीमती माया सिंह कर्नाटक, श्री उमाशंकर गुप्ता, श्री जयभान सिंह पवैया, सांसद श्री मेघराज जैन तमिलनाडू, श्री प्रहलाद पटेल मणिपुर, श्री राकेश सिंह महाराष्ट्र और डॉ. सत्यनारायण जटिया हरियाणा पहुंचेंगे और मोदी फेस्ट के कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

सभी जिला इकाईयों की महत्वपूर्ण बैठक 2 जून को

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री श्री अजय प्रताप सिंह ने बताया कि 2 जून 2017 को सभी जिला इकाईयों की जिलों में महत्वपूर्ण बैठक होगी। बैठक में 2 जुलाई को प्रदेश में किये जाने वाले 6 करोड़ वृक्षारोपण के अभियान की सफलता के लिए तैयारियों पर विस्तार से चर्चा की जायेगी। इस महावृक्षारोपण अभियान में प्रदेश के 25 लाख जन भाग लेंगे। जिलेवार तैयारियों की चर्चा के बाद लक्ष्य की पूर्ति के उपायों पर चर्चा की जायेगी एवं संकल्प पत्र भी भराये जायेंगे। उन्होनें बताया कि प्रदेश में चल रहे कार्य विस्तार अभियान समयदानी कार्यकर्ताओं के प्रवास की प्रगति पर भी बैठक में चर्चा होगी। नर्मदा तट स्थित पावन ज्योर्तिलिंग आंेकारेश्वर में आदि शंकाराचार्य की भव्य धातु प्रतिमा की स्थापना के लिए लौह संग्रह पर भी चर्चा की जायेगी। हर जिले से प्रतिमा के लिए लोहा, लोहे की वस्तुओं का संग्रह किया जायेगा। श्री अजय प्रताप सिंह ने बताया कि निर्वाचन आयोग नवमतदाता के पंजीयन के लिए अभियान 1 जुलाई से आयोजित करने जा रहा है। लोकतंत्र की बुनियाद मतदाता ही है, इस दृष्टि से पार्टी का लक्ष्य होगा कि 18 वर्ष की आयु पूरी करने वाला कोई भी युवक निर्वाचन आयोग के इस अभियान के लाभ से वंचित न रहने पावे। 2 जून की बैठक की कार्यसूची में यह विषय भी प्रमुख होगा। 18 वर्ष पूर्ण करने वाले बच्चों का पंजीयन कराने में सहयोग किया जाना है।

प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चैहान 27 व 28 मई को ग्वालियर, भिंड, जबलपुर, सतना व छतरपुर के दौरे पर

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान 27 एवं 28 मई को दो दिवसीय दौरे पर ग्वालियर, भिंड, जबलपुर, सतना और छतरपुर जिले के प्रवास पर रहेंगे। आप 27 मई को प्रातः 7.40 बजे भोपाल से रेलमार्ग द्वारा ग्वालियर प्रस्थान करेंगे। दोपहर 1 बजे ग्वालियर जिला कार्यालय पहुंचेंगे। दोपहर 2.30 बजे ग्वालियर से सड़क मार्ग द्वारा भिंड रवाना होंगे। सायं 4 बजे भिंड में कार्यकर्ताओं से भेंट करेंगे। तत्पश्चात 4.30 बजे ग्राम परसाला में बूथ संपर्क कार्यक्रम में भाग लेंगे। सायं 5 बजे कार द्वारा मिहोना पहुंचकर चंबल गौरव यात्रा में शामिल होंगे। रात्रि 8 बजे भिंड से ग्वालियर प्रस्थान करेंगे। तत्पश्चात रात्रि 10.23 बजे रेलमार्ग से ग्वालियर से जबलपुर रवाना होंगे। श्री नंदकुमार सिंह चौहान 28 मई को प्रातः 8.20 बजे जबलपुर सर्किट हाउस पहुंचेंगे। प्रातः 9 बजे जार्ज डिसिल्वा वार्ड में बूथ संपर्क कार्यक्रम में शामिल होंगे। प्रातः 10 बजे बस स्टेंड के पास स्थित मानस भवन में राजपूत समाज के कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। दोपहर 12 बजे सड़क मार्ग द्वारा जबलपुर से नागौद (जिला-सतना) रवाना होंगे। सायं 4 बजे सांसद निवास, श्याम भवन पहुचेंगे। सायं 5 बजे नागौद में महाराणा प्रताप जयंती पर आयोजित मंचीय कार्यक्रम में शामिल होंगे। तत्पश्चात 6 बजे नागौद से छतरपुर प्रस्थान करेंगे। आप रात्रि 8.30 बजे महाराजा छत्रसाल उत्सव समिति, महू सहानिया पहुंचकर स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे।

सबका साथ-सबका विकास सम्मेलन‘मोदी-फेस्ट’ का प्रमुख आकर्षण होगा- डॉ. विजयवर्गीय

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के मुख्य प्रदेश प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने बताया कि 26 मई से आरंभ हुए ‘मोदी-फेस्ट’ (मेकिंग ऑफ़ डेव्हलपड् इंडिया) के दौरान आयोजित हो रहे ‘सबका साथ-सबका विकास’ सम्मेलन जन आकर्षण का केन्द्र होंगे। भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा राज्यों की राजधानियों में और 300 मुख्य जिलों में कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। इसी क्रम में जिला मुख्यालयों पर प्रगति का दिग्दर्शन करने के लिए प्रदर्शनियां लगाई जा रही है। तीन दिवसीय प्रदर्शनियां क्रमवार 100-100 जिलों में लगेंगी। इस मौके पर विषय विशेषज्ञों द्वारा मार्गदर्शन देने के लिए विशेष सत्र आयोजित किये जायेंगे। उन्होनें बताया कि मोदी फेस्ट आयोजन का मुख्य उद्देश्य मोदी सरकार की जनोन्मुखी योजनाओं को लोकप्रिय बनाना, योजनाओं से लाभांवित परिवारों से सुखद परिवर्तन की जानकारी अन्यों तक पहुंचाना और विकास के बढ़ते चरण में जनसहयोग समर्थन हासिल करना है। आजादी के बाद पहली बार देश की जनता ने ऐसा समावेशी विकास महसूस किया है। केन्द्र सरकार की योजनाओं का लाभ अल्पकाल में ही जन-जन, जरूरतमंद लोगों तक पहुंचा है। अन्य सभी विकासोन्मुखी योजनाओं के साथ प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना, जन-धन योजना, आवास योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना, सुकन्या समृद्धि योजना, स्वच्छ भारत मिशन जैसी योजनाएं और इनीशिएटिव ने लाखों परिवारों के जीवन में उमंग पैदा कर दी है। जीवन स्तर बढ़ाया है और जनता की खुशहाली का द्वार खोला है। डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने बताया कि सबका साथ-सबका विकास सम्मेलनों की 30 जून तक देश के सभी राज्यों, मध्यप्रदेश के 51 जिलों में धूम रहेगी। इसका उद्देश्य जनता को बताना है कि जनोन्मुखी योजनाओं और इनीशिएटिव किस तरह जनजीवन में सुखद परिवर्तन लाने में सहायक सिद्ध हुए है। जरूरतमंद परिवार कैसे लाभांवित हुए है और सरकारी प्रयास जनता की, एनजीओ की पहल किस तरह मददगार बनती है।


पं. दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानवदर्शन से प्रगतिशील भारत के दर्शन होते है - शिवराजसिंह चौहान

26 May 2017

भोपाल 25 मई 17। भोपाल के लालघाटी चौराहे के समीप पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा लगाने के लिए आज प्रतिमा स्थल का भूमिपूजन किया गया। पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा स्थल एवं सौन्दर्यकरण कार्य का भूमिपूजन श्री अवधेशानन्द महाराज, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, भोपाल महापौर माननीय आलोक शर्मा द्वारा किया गया। जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद महाराज ने कहा कि भारत में पं. दीनदयाल उपाध्याय का जन्मशताब्दी वर्ष मनाया जा रहा है। अपने जीवन में हर मानव समाज के साथ प्राणियों के हित में भी अनेक कार्य कर चुके है। सभी का एक साथ मंगल हो ऐसी कल्पना पं. दीनदयाल उपाध्याय ने की थी। इस कार्य को आगे बढ़ाने में केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर जुटी है। इस कार्य के लिए केन्द्र सरकार ने एक समिति बनायी है। जिसमें 154 लोग उसमें मैं स्वयं भी हूँ। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि लालघाटी चैराहे के समीप पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा लगाने के लिए जो प्रयास किए जा रहे है वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद से प्रगतिशील भारत के दर्शन होते है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सरकार ने भारत को विश्व पटल पर एक नई पहचान दी है। केन्द्र सरकार की योजनाओं को अधिक से अधिक लोगों तक ले जाने के लिए सभी को मिलकर कार्य करना है। इस अवसर पर सांसद श्री आलोक संजर, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लुणावत, विधायक व जिला अध्यक्ष श्री सुरेन्द्रनाथ सिंह, हुजूर विधायक श्री रामेश्वर शर्मा, बीडीए अध्यक्ष श्री ओम यादव, डॉ. हितेष वाजपेयी, निगम अध्यक्ष श्री सुरजीत सिंह चौहान, श्रीमती कृष्ण गौर, श्री सत्यार्थ अग्रवाल, श्री अशोक सैनी, श्री बहादुर सिंह (हीरू भाई), श्री अंशुल तिवारी, श्री सुधीर जाचक, श्री महेश मकवाना, श्री मनोज राठौर, श्री रामदयाल प्रजापति, श्री कृष्णमोहन सोनी, सुनील यादव, श्री राजेन्द्र गुप्ता, श्री विकास वीरानी, श्री रमेश शर्मा गुट्टू भैया, श्री केवल मिश्रा, श्री राकेश जैन, श्री मंजू बारीकिया, श्रीमती वंदना जाचक, श्री दीपा वासवानी, श्रीमती महेश खटवानी, श्रीमती ज्योति पाण्डे, श्री भगवानदास सबनानी, श्री कुलदीप खरे श्री सुशील वासवानी, श्री राम बंसल, सुमित पचैरी, श्री गणेश राम नागर, श्री महेश जोशी, श्री महेश शर्मा, श्री सुरेन्द्र वाडिका, श्री हरिशंकर मिश्रा, श्रीमती सुषमा बविशा, श्रीमती संतोष हिरवे, नित्यानंद शर्मा, श्री नरेश जाधव, श्री मनोज राठौर, श्री जगदीश यादव, रामकुमार खिलनानी, विकास सोनी, अतुल घेंघट, प्रतीक अग्रवाल, दिनेश भोसले, महेंद्र दवे, आनंद पाराशर, बल्लू राठौर, देवकरण झोरड, श्री पुष्पेन्द्र जैन, श्री सूरज यादव, श्री निखलेश मिश्रा सहित जिला पदाधिकारी, मोर्चा प्रकोष्ठ संयोजक, सह संयोजक, मंडल अध्यक्ष, महामंत्री, वार्ड संयोजक उपस्थित थे।


मण्डला जिले के कांग्रेस के वरिष्ठ सदस्य भाजपा में शामिल हुए जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने दिलवाई सदस्यता

25 May 2017

जनसंपर्क, जल संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने बम्हनी बंजर, ‍िजला मण्डला के कार्यक्रम में कांग्रेस के दो वरिष्ठ सदस्य श्री नारायण चंदोल एवं श्री सुखदेव रजक को भाजपा की सदस्यता ग्रहण करवायी। नगर परिषद, नैनपुर जिला मण्डला में भी कांग्रेस के 14 वरिष्ठ सदस्यों ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए सदस्यों को सदस्यता दिलवाई एवं जन-प्रतिनिधियों का आभार व्यक्त किया।


नरेन्द्र मोदी भारत के लिए ईश्वरीय वरदान तीन साल में भारत की छवि विश्व शिखर पर- शिवराज सिंह चौहान

Our Correspondent :25 May 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मीडिया की एक दिवसीय प्रादेशिक कार्यशाला का उद्घाटन आज प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने दीप प्रज्जवलित कर किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आजादी के बाद देश को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के रूप में क्रांतिकारी, दूरदृष्टा, निर्णय लेने वाला नेतृत्व मिला है। श्री नरेन्द्र मोदी का तीन वर्ष का कार्यकाल बेमिसाल रहा है। गांव, गरीब, किसान, मजदूर, आम आदमी को अपनी सरकार होने की सुखद अनुभूति तो हुई है, वहीं श्री नरेन्द्र मोदी ने वैश्विक नेता के रूप में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश की सम्मानजनक पहचान बनाई है। उन्होनें श्री नरेन्द्र मोदी को देश के लिए ईश्वरीय वरदान बताते हुए उनके कृतित्व और व्यक्तित्व की भूरि-भूरि सराहना की। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कार्यशाला में उपस्थित मीडिया प्रभारियों और प्रवक्ताओं से कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी के उल्लेखनीय परफार्मेंस की छवि जन-जन के मानस पटल पर अंकित करने के कार्य में जुट जायें। 26 मई से 15 जून तक आयोजित ‘मोदी फेस्ट’ अभियान में जन-जन को केन्द्र सरकार की तीन वर्ष की उपलब्धियों से दृश्य-श्रव्य सभी संचार माध्यमों से रूबरू करायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान का प्रदेश मीडिया प्रभारी श्री लोकेन्द्र पाराशर ने फूल-मालाओं से स्वागत किया। प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लूनावत का प्रदेश सह मीडिया प्रभारी श्री संजय गोविन्द खोचे ने स्वागत किया। कार्यशाला का संचालन प्रदेश सह मीडिया प्रभारी श्री सर्वेश तिवारी ने किया। आभार प्रदर्शन प्रदेश प्रवक्ता सुश्री राजो मालवीय ने आभार व्यक्त किया। श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के तीन वर्षों के कार्यकाल को स्वर्ण युग बताते हुए कहा कि तीन वर्षों के नेतृत्व में श्री नरेन्द्र मोदी को समाजशास्त्रियों, विश्लेषकों ने युग-पुरूष, राष्ट्र ऋषि के रूप में संबोधित किया है और विश्व के सर्वमान्य नेताओं में अग्रणी बताया है। उन्होंने कहा कि एनडीए प्रथम अटलजी के नेतृत्व देश की विकास दर आठ प्रतिशत पहुंची थी, महंगाई सिमट गयी थी। यूपीए के दौर में डॉ. मनमोहन सिंह के नेतृत्व में पिछले 10 वर्षो में विकास दर 4 प्रतिशत पर सिमट गयी और महंगाई ने पंख पसारे। नीतिगत अस्त व्यस्तता से श्री नरेन्द्र मोदी को सामना करना पड़ा लेकिन उनके अथक प्रयासों, शीघ्र निर्णयात्मक पहल से देश की विकास दर लगभग 8 प्रतिशत पहुँच रही है और महंगाई का दंश टूट गया है। भारत की दुनिया में नई पहचान बनी है। उन्होंने बताया कि मोदी फेस्ट के प्रारंभिक दिन 26 मई को सेतु के उदघाटन के साथ तीन वर्षो की उपलब्धियों का जश्न मनाया जायेगा। प्रदेश की जनता के नाम संबोधन सभी नगरीय निकायों के मुख्यालयों पर सुना जायेगा। इसी तरह 31 को प्रदेश की जनता के नाम मुख्यमंत्री का संबोधन 23040 ग्राम पंचायतों में सुना जायेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ग्राम पंचायत से केन्द्र तक सत्ता में है। पार्टी प्रवक्ताओं, मीडिया प्रभारियों पर गंभीर दायित्व है। वे इस अभियान को गंभीर दायित्व के रूप में पूरा करें। जनता और संचार माध्यम सकारात्मक भाव से सूचना सज्जित होकर गंतव्य तक पहंुचे और पार्टी तथा राज्य एवं केन्द्र सरकार की सकारात्मक छवि का सृजन कर यश के भागीदार बनें। उत्खनन नीति की धुरी मेहनतकश होंगे श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा में नदी संरक्षण के अनुरूप सकारात्मक वातावरण बना है। हरे भरे मध्यप्रदेश की कल्पना साकार हुई है। प्रकृति और नदियों के संरक्षण के अनुरूप वातावरण बना है। खण्डवा के मीडिया प्रभारी श्री सुनील जैन और सिराजुद्दीन परफेक्ट छायाकार ने सिंहस्थ का चित्र भेंट किया। सभी ने छायाचित्र की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

राष्ट्रवाद, विकास, सुशासन, अंत्योदय भाजपा का विचार- श्री विजेश लुणावत

दूसरे सत्र में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लुणावत ने संबोधित करते हुए कहा कि 26 मई से देशव्यापी मोदी फेस्ट का 21 दिवसीय अभियान आरंभ होगा, इसमें आपकी महत्वपूर्ण भागीदारी होगी। जन-जन तक प्रचार माध्यमों से श्री नरेन्द्र मोदी के ‘‘सबका साथ सबका विकास’’ तुष्टीकरण किसी का नहीं, सभी को न्याय सभी को समान अवसर का संदेश संप्रेषित करें। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित राजनैतिक दल है। देश में पार्टी के 12 करोड़ कार्यकर्ता है। मध्यप्रदेश में कार्यकर्ताओं की शक्ति अंक बल एक करोड़ है। यही पार्टी संगठन की असली शक्ति है जिसने केन्द्र में सत्तासीन किया और प्रदेश में 13 वर्षो से भाजपा विकास और सुशासन के लिए समर्पित है। पार्टी का लक्ष्य अंत्योदय है और गांव, गरीब, किसान, मजदूर, आम आदमी पार्टी और सरकार की रचनात्मक जनहितैषी गतिविधियों की धुरी है। उन्होंने कहा कि पार्टी का विस्तार जिला, मंडल, मतदान केन्द्र, नगर ग्राम केन्द्र तक हुआ है। मतदान केन्द्र सशक्त हुए है। इन्हें आने वाली चुनौतियों के लिए सजग, तत्पर और सज्जित करना है। चुनाव की रणभूमि में विजय स्थल हमारा मतदान केन्द्र है जिसकी सुदृढ़ बनावट और सशक्तिकरण पर हमारी रणनीति निर्भर होती है। वर्ष भर में 6 कार्यक्रमों का आयोजन हमें संगठनात्मक रूप से सशक्तिकरण का मार्ग सुझाता है। श्री विजेश लुणावत ने कहा कि 1980 में भारतीय जनता पार्टी के गठन के दौरान मुंबई अधिवेशन में पार्टी का ताज ग्रहण करते हुए श्री अटलबिहारी वाजपेयी ने अंधेरा छटने, सूर्य की किरणे विकीर्ण होने की भविष्यवाणी की थी। 16 मई 2014 को लोकसभा चुनाव में पार्टी को जनादेश मिलने और 26 मई को भारत में प्रचंड बहुमत वाली श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार के गठन के साथ वह भविष्यवाणी फलित हुई है। इसी सफलता के बाद मोदी सरकार सफलता के तीन वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में देशव्यापी मोदी फेस्ट का आयोजन किया जा रहा है। केन्द्र की उपलब्धियां जन-जन तक पहुँचाने में जुट जायें, मोदी सरकार की उपलब्धियां हमारी धरोहार है। तीसरे सत्र में आईटी विभाग के प्रदेश संयोजक श्री शिवराज डाबी ने प्रजेन्टेशन दिया और कहा कि इलेक्ट्रानिक मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण हो गयी है। यह संचार का प्रभावी माध्यम है। सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने के लिए आईटी की शक्ति को अंगीकार करें। मीडिया संपर्क प्रमुख डॉ. अनिल सौमित्र ने कहा कि मोदी सरकार 26 मई को तीन वर्ष पूरे कर रही है। केन्द्र सरकार की तीन वर्षो की उपलब्धियों को जन जन तक पहंुचाने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि आर्थिक, सामाजिक एवं विभिन्न मुद्दों पर मोदी सरकार ने ऐतिहासिक उपलब्धियां अर्जित की है।

अपनी उपयोगिता सिद्ध करें मीडिया प्रभारी - लोकेन्द्र पाराशर

समापन सत्र को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी श्री लोकेन्द्र पाराशर ने कहा कि आमतौर पर सभी राजनैतिक दल एक जैसे दिखते है लेकिन भारतीय जनता पार्टी एकमात्र ऐसा राजनैतिक दल है जो अन्य दलों से भिन्न है। हमारे पास आत्मशुद्धि से परिपूर्ण नेताओं की विशाल श्रृंखला है। हमारे यहां नेतृत्व के प्रति अटूट श्रद्धा है और यही हमारे दल की पूंजी है। उन्होंने कहा कि हम राजनीति के क्षेत्र में बौद्धिक कार्य करने के लिए निकले है। समसामयिक मुद्दों और सामूहिक विषयों पर हमारी पकड़ होनी चाहिए। हमें अपनी उपयोगिता सिद्ध करनी है। उन्होंने कहा कि हम संवेदनशील सरकार और संगठन के कार्यकर्ता है। संवाद, संपर्क और समन्वय के साथ हम कार्य करें। श्री पाराशर ने दिल्ली में संपन्न हुई राष्ट्रीय मीडिया कार्यशाला के विषयों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यशाला में प्रदेश प्रवक्ता श्री राहुल कोठारी, सुश्री राजो मालवीय, श्री हिदायतुल्ला शेख, श्री उमेश शर्मा, श्री रजनीश अग्रवाल, श्री राजपालसिंह सिसौदिया, मीडिया संपर्क प्रमुख डॉ. अनिल सौमित्र सहित संभागीय मीडिया प्रभारी, जिला मीडिया प्रभारी एवं जिला सह मीडिया प्रभारी उपस्थित थे।


कार्य विस्तार योजना के प्रथम चरण में समयदानी कार्यकर्ताओं ने 3500 ग्राम केन्द्रों में दस्तक दी- अजय प्रताप सिंह

22 May 2017

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री श्री अजय प्रताप सिंह ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी वर्ष कार्य विस्तार योजना के अंतर्गत समयदानी कार्यकर्ता 20 मई को अपने-अपने नगर-ग्राम केन्द्रों को कूच कर गये। 21 मई को समयदानी कार्यकर्ताओं ने 3500 ग्राम केन्द्रों में समिति की बैठक में 21 से 28 मई तक का कार्यक्रम निर्धारित कर शाम को मतदान केन्द्र पर पहुंच चुके हैं और बैठकें आरंभ हो गयी हैं। ग्रामीण अंचल में पार्टी के विचार के साथ चैपालों पर केन्द्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों की चर्चा की जा रही है। उन्होनें बताया कि पार्टी के वरिष्ठ नेता माननीय श्री अनिल दवे जी के दुःखद स्वर्गवास के कारण विस्तार योजना के जिलों में होने वाले वर्ग कुछ जिलों में स्थगित हो जाने से लगभग आधे जिलों में कार्य विस्तार योजना समय पर आरंभ नहीं हो पाया है। तथापि 28 से 30 जिलों में कार्य विस्तार योजना को समयदानी कार्यकर्ताओं ने आरंभ कर दिया है। श्री अजयप्रताप सिंह ने बताया कि पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी वर्ष कार्य विस्तार योजना में भाग लेने पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, सांसद एवं मध्य प्रदेश संगठन प्रभारी डॉ. विनय सहस्रबुद्धे भी 22 मई को हुजूर विधानसभा क्षेत्र में पहुचेंगे। आप 27 को छिंदवाड़ा जिले में ग्राम-नगर केन्द्रों का भ्रमण कर मतदान केन्द्र तक पहंुचेगे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान 25 मई को गुना, अशोकनगर जिले में कार्य विस्तार योजना में सहभागी बनेंगे। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चैहान आज खंडवा संसदीय क्षेत्र में पहुंचे और ग्राम-नगर केन्द्रों में समयदानी कार्यकर्ताओं के साथ बैठकों में शामिल हुए। आज केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री फग्गनसिंह कुलस्ते ने डिंडौरी में समयदानी कार्यकर्ताओं के साथ नगर-ग्राम केन्द्रों की बैठकों में भाग लिया। केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत 28 और 29 मई को बड़वानी जिले में ग्राम-नगर केन्द्रों की बैठकों में शामिल होंगे। सभी सांसद, विधायक, निगम-मंडलों के पदाधिकारी भी कार्य विस्तार योजना में सहभागी बन रहे है। भोपाल नगर के जिला अध्यक्ष श्री सुरेन्द्रनाथ सिंह ने बताया कि भोपाल नगर में पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी वर्ष कार्य विस्तार योजना का कार्यक्रम समायदानी कार्यकर्ताओं के बीच निर्धारित हो चुका है। कार्यकर्ताओं का वर्ग 28 मई को संपन्न होगा, जिसके उपरांत कार्यकर्ता शहर के 85 वार्डों में संपर्क करेंगे तथा कार्य विस्तार योजना पर अमल होगा। भोपाल जिला ग्रामीण अध्यक्ष श्री गोपाल सिंह मीणा ने बताया कि हामूखेड़ा में समिति की बैठक है। उनका रात्रि विश्राम मतदान केन्द्र पर होगा। रात्रि विश्राम के पूर्व चैपालों पर चर्चा होगी। बैरसिया विधानसभा क्षेत्र के ग्राम-नगर केन्द्रों का समन्वय कार्य श्री गोपाल सिंह मीणा स्वयं कर रहे है। जबकि प्रभारी श्री वीरेन्द्र कुमार हुजूर विधानसभा क्षेत्र में केन्द्र वार समन्वय कर रहे है। भोपाल जिला ग्रामीण में 47 ग्राम केन्द्र और 8 नगर केन्द्रों मंे आज समिति की बैठकों के बाद कार्यकर्ता मतदान केंद्रों पर पहुंच चुके हैं।


राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. विनय सहस्रबुद्धे 22 को भोपाल में

22 May 2017

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, प्रदेश संगठन प्रभारी एवं सांसद डॉ. विनय सहस्रबुद्धे 22 मई को एक दिवसीय भोपाल प्रवास पर रहेंगे। इस दौरान आप विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे। डॉ. विनय सहस्रबुद्धे प्रातः 9 बजे प्रदेश भाजपा कार्यालय से ग्राम तूमड़ा के लिए प्रस्थान करेंगे। 9.30 बजे अनुसूचित जाति के कार्यकर्ता श्री प्रकाश चैहान के निवास पर अल्पाहार के साथ जनसंपर्क कार्यक्रम में भाग लेंगे। तत्पश्चात 10.30 बजे पं. दीनदयाल उपाध्याय मंगल भवन का लोकापर्ण करेंगे। प्रातः 10.45 बजे ‘‘पं. दीनदयाल उपाध्याय जल आंदोलन’’ कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। दोपहर 12.15 बजे ग्राम कालूखेड़ी में बूथ कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित कर 1.45 बजे वार्ड क्रमांक 6 में बूथ कमेटी की बैठक में भाग लेंगे। आप दोपहर 3 बजे युवा सदन, मालवीय नगर में जिला पदाधिकारी एवं मंडल अध्यक्षों की बैठक में शामिल होंगे। तत्पश्चात सायं 4 बजे होटल पलाश रेसीडेंसी में पत्रकार बंधुओं से चर्चा करेंगे।


प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने तीन वर्षों में भारत का इकबाल बुलंद किया- मनोहर ऊटवाल

22 May 2017

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री और सांसद श्री मनोहर ऊटवाल ने कहा कि देश में 2014 तक यूपीए सरकार के समय हुए घोटालों और भ्रष्टाचार की चर्चा देश दुनिया में होती थी। अंतर्राष्ट्रीय जगत में भारत में नीतिगत अस्त-व्यस्तता का माहौल होने से देश के सामने अनेक चुनौतियां थीं। भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव 2014 में जनता को भ्रष्टाचार मुक्त, गरीबों की सरकार का जो भरोसा दिलाया था। श्री नरेंद्र मोदी सरकार उस पर खरे उतरने से देश और दुनिया में भारत का इकबाल बुलंद हुआ है और अंतर्राष्ट्रीय पटल पर भारत का सम्मान बढ़ा है। तीन वर्षों में सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी छीटा नहीं पड़ा। उन्होंने कहा कि देश में 1991 से आरंभ आर्थिक उदारीकरण के बाद पूंजीमूलक व्यवस्था से मानवीय चेहरा ओझल हो गया था। श्री नरेंद्र मोदी ने जन-धन योजना जैसी हर हफ्ते एक गरीबोन्मुखी योजना क्रियान्वित करके साबित कर दिया है कि देश के खजाने पर पहला अधिकार गरीब का है, गरीबों की सरकार है। उज्जवला योजना में 2 करोड़, 20 लाख गरीब महिलाओं को निशुल्क गैस के चूल्हे ने गरीबों की सरकार का अहसास करा दिया है। प्रधानमंत्री आवास योजना ने आवासहीनों को अपने घर के सम्मान का भरोसा दिया है। इसके लिए 96266 करोड़ रू. का केंद्र सरकार ने प्रावधान कर हर परिवार के सिर पर 2022 तक छत होने का भरोसा पुष्ट किया है। श्री मनोहन ऊटवाल ने कहा कि समाज कल्याण योजनाओं में मिलने वाली सब्सीडी गरीबों के खातों में जमा होने से हेराफेरी बंद हुई है। गरीब लाभान्वित महसूस कर रहे हैं। गंभीर रोगों से परेशान परिवारों को 15 जीवनदायक दवाओं के मूल्य निर्धारित होने से लाभ पहुंचा है। हृदय रोगियों के लिए आवश्यक स्टेंट के मूल्य को 1 लाख रू. से घटाकर श्री नरेंद्र मोदी सरकार ने पहुंच के भीतर कर दिया हैं। इसके दामों में 85 प्रतिशत की कमी आने से मरीजों का मनोबल बढ़ा है। उन्हें महसूस हुआ है कि स्वास्थ्य उनका संवैधानिक अधिकार है। काश्तकारों को प्रधानमंत्री फसल बीमा ने आर्थिक सुरक्षा का अहसास कराया है। केंद्र और राज्य सरकारें किसानों के जोखिम में भागीदार बन गई है।


समेकित माडल स्कूल परियोजना से शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ेगी- रविनंदन मिश्र

22 May 2017

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक श्री रविनंदन मिश्र ने आगामी शिक्षण सत्र से बैतूल और खंडवा में आरंभ किये जा रहे उत्कृष्ट समेकित माडल स्कूल योजना की सराहना करते हुए कहा कि इससे प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ेगी और अभिभावकों पर निजी स्कूलों में शुल्क के रूप मंे पढ़ने वाला बोझ कम होगा। निजी विद्यालयों की मनमानी पर बे्रक लगेगा। आगामी शिक्षण सत्र से बैतूल और खंडवा में समेकित माडल स्कूल खोलने की योजना प्रायोगिक तौर पर आरंभ हो गयी है, जिससे सरकार पर पड़ने वाला अनावश्यक बोझ भी कम होगा। उन्होनें बताया कि राजनैतिक लाभ के लिए पूर्ववर्ती सरकारों ने स्कूलों की भरमार कर दी, जिससे संसाधनों का दुरूपयोग होने के साथ शिक्षा की गुणवत्ता प्रभावित होने से अभिभावक निजी विद्यालयों की ओर आकर्षित हो गये और सरकारी विद्यालय उपेक्षा के शिकार हुए। पिछले दिनों विधानसभा सत्र में शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह ने इस पायलट प्रोजेक्ट के आंरभ करने की घोषणा की, जिसके फलस्वरूप बैतूल और खंडवा में समेकित माॅडल स्कूल खोलने की सरकारी स्तर पर तैयारियां आरंभ हो गयी है। श्री रविनंदन मिश्र ने बताया कि समेकित स्कूल में निजी स्कूलों से बेहतर सुविधाएं सुलभ की जायेगी और 10 किमी की परिधि में बने प्राईमरी, मिडिल स्कूल बंद करने के साथ छात्रों की सुविधा के लिए बसों का प्रबंधन होगा। समेकित स्कूलों में छात्रावास, प्रयोगशालाएं, खेल के मैदान, आॅडिटोरियम जैसी सभी सुविधाएं जुटायी जायेगी। श्री मिश्र ने इस अभिनव प्रयास के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान और शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह के प्रति आभार व्यक्त किया है। उन्होनें बताया कि 10 किमी के दायरे में आने वाले स्कूलों के बच्चों के लिए अध्ययन की उत्कृष्ट व्यवस्था किये जाने के बाद भी राज्यकोष को 1 करोड़ रू. की न्यूनतम बचत का अनुमान है।


1 जुलाई से बाजार की नजरें और उपभोक्ता का नजरिया बदल जायेगा- आर्थिक प्रकोष्ठ

22 May 2017

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी, आर्थिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक श्री योगेश मेहला ने कहा कि आने वाले डेढ़ माह में बाजार की नजरे बदलने से उपभोक्ताओं का नजरिया भी बदल जायेगा। तब बाजार अब जैसा नहीं रहेगा इसलिए ग्राहक को भी सुखद अनुभूति होगी। अनाज, दूध, दही, फल, सब्जी जीएसटी के दायरे से बाहर होगी। कृषि उत्पाद भी जीएसटी से मुक्त होंगे। इसका तत्काल असर होगा कि खानपान की चीजों पर महंगाई का डंक नहीं पड़ने से उपभोक्ता को राहत मिलेगी। खानपान की अन्य वस्तुओं काॅफी, चाय मिठाई जैसे उत्पाद 5 प्रतिशत टैक्स के दायरे में सिमट जायेंगे। ऐसा होने से उपभोक्ता को अब की तुलना में उत्पाद सस्ते मिलेंगे। उन्होंने कहा कि जीएसटी की ऊंची दर 28 प्रतिशत है, लेकिन देखने की बात यह है कि इस श्रेणी में उपभोक्ता सामग्री की मात्र 19 प्रतिशत वस्तुएं ही आती हैं। जीएसटी लागू होने से सिर्फ उपभोक्ताओं को ही लाभ नहीं पहुंचा है, बल्कि जीएसटी से दुनिया की भारत के प्रति अवधारणा भी बदल गई है। जीएसटी देश का ऐसा आर्थिक सुधार है जिसने राजनैतिक सहमति का रंग गाढ़ा कर दिया है। राजनैतिक सहमति का नया इतिहास बना है। श्री मेहता ने कहा कि जीएसटी लागू होने में विलंब का कारण सभी संभव आशंकाओं का निवारण करना है। इससे लोकतंत्र की ताकत बढ़ी है। दुनिया को संदेश गया है कि सुधार भारत की प्रकृति है। जीएसटी के क्रियान्वयन से पारदर्शिता आयेगी। खपत बढ़ेगी जिससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। यदि भ्रष्टाचार के युग से निकलेंगे तो निश्चित रूप से भारत में अर्थव्यवस्था का स्वर्ण युग आयेगा, लेकिन ध्यान देने की बात यह है कि कानून, व्यवस्था कितनी भी श्रेष्ठ हो उसका सुखद अनुभव जनता को तभी होता है, जब क्रियान्वयन के प्रति प्रतिबद्धता प्रदर्शित की जाये।


सबसे सस्ती सौर ऊर्जा मध्यप्रदेश में 750 मेगावाट की तीन इकाईयां, मेट्रों कारपोरेशन से क्रय अनुबंध
-विजेश लूनावत

17 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लूनावत ने कहा कि मध्यप्रदेश के रीवा में स्थापित हो रही तीन सोलर ऊर्जा इकाईयों से 750 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। देश में सबसे सस्ती सोलर ऊर्जा रीवा सोलर सयंत्र में बनेगी। रीवा जिले की गुड़ तहसील में स्थापित हो रहे संयत्रों के डेव्हलपरों से अनुबंधन होना तय हो गया है। केंद्रीय मंत्री श्री वैंकेया नायडू, केंद्रीय ऊर्जा मंत्री श्री पीयुष गोयल, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में डेव्हलपर्स बिजली विक्रय का अनुबंध करेंगे। रीवा प्लांट से बनने वाली बिजली में से 24 प्रतिशत बिजली मेट्रों दिल्ली को दी जायेगी।
श्री विजेश लूनावत ने कहा कि पहले अनुदानों के बावजूद सोलर ऊर्जा का दाम 4 रू. 50 पैसे यूनिट था। लेकिन रीवा प्लांट में होने वाले उत्पादन का मूल्य सबसे कम लगभग 2 रू. 90 पैसे यूनिट होगा। इस तरह देश में मध्यप्रदेश सबसे सस्ती सोलर बिजली उत्पादन करने वाला राज्य होगा। यह भी दिलचस्प हकीकत है कि इस परियोजना में विश्व बैंक ने धन का निवेश किया है और इस निवेश पर सबसे कम ब्याज रखा गया है।
श्री विजेश लूनावत ने कहा कि मध्यप्रदेश में सोलर ऊर्जा के लिए कुछ स्थानों का अनुकूलता के आधार पर चयन किया गया है। नीमच, शाजापुर, आगर, छतरपुर, मुरैना और राजगढ़ में सोलर ऊर्जा के लिए भूमि उपलब्ध हो चुकी है। यहां लगने वाले संयंत्रों से 2000 मेगावट बिजली का उत्पादन होगा।

जीएसटी राजनैतिक सहमति की उपलब्धि, कृषि जीएसटी के दायरे से बाहर
- बंशीलाल गुर्जर

17 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री श्री बंशीलाल गुर्जर ने कहा कि जिस तरह जीएसटी और इससे संबद्ध चार विधेयक लोकसभा और राज्यसभा में पारित हो चुके हैं और राज्यांे तथा राजनैतिक दलों को इसका समर्थन मिला है। यह देश में राजनैतिक सहमति की एक बड़ी मिसाल कायम हुई है। सबसे खास बात यह है कि कृषि पर जीएसटी प्रभावी नहीं हो यह भी सहमति बन गई है। कृषि उत्पाद जीएसटी के दायरे से बाहर रहेंगे।
उन्होंने कहा कि पेट्रोल, डीजल, बिजली और अल्कोहल को भी फिलहाल बाहर रखा गया है। जीएसटी का एक चरण राज्य विधानसभा में पारित होने का शेष है जो मानसून सत्र के पहले ही विशेष सत्र में पारित होने में कोई अड़चन नहीं होगी और इसके साथ ही राष्ट्रपति की स्वीकृति मिलते ही 1 जुलाई से जीएसटी के रूप में देश में सबसे बड़ा आर्थिक सुधार मूर्त रूप लेगा।
श्री गुर्जर ने कहा कि जीएसटी का एक लाभ यह होगा कि इसका दायरा बड़ जायेगा। देश की अर्थव्यवस्था की सेहत सुधरेगी। जीडीपी में डेढ़ से दो प्रतिशत का इजाफा होगा। उपभोक्ता के लिए जीएसटी का सबसे अधिक लाभ मिलना तय है। क्योंकि अभी तक वस्तुओं सेवाओं पर राज्यों और केंद्र के 17 में से अधिकांश टैक्स लगते हैं। इसमें कई विभागों का हस्तक्षेप रहता है। जिससे वाणिज्य व्यापारी शोषण का शिकार होने से बचने के लिए कर अपवंचन करते हैं। जीएसटी एक ही अप्रत्यक्ष कर होगा जिसमें पारदर्शिता रहेगी। व्यापारी को लिखा पढ़ी से छुट्टी मिल जायेगी। कर अपवंचन की प्रवृत्ति पर स्वमेव अंकुश लग जायेगा। जीएसटी उत्पाद पर एक ही टैक्स रहेगा।
श्री गुर्जर ने कहा कि समस्त टैक्सों के बदले में एक टेक्स लगने से उत्पाद का मूल्य कम होगा। मूल्य कम होने से उपभोक्ता को लाभ होगा। साथ ही जीएसटी से केंद्र और राज्यों के राजस्व में वृद्धि होगी। जिन देशों में कर संग्रह में वृद्धि हुई है वहां टैक्सों में कमी की गई है। इस तरह सही मायने में जीएसटी जनता के लिए लाभ का सौदा सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के पहले भी देश में कई आशंकाएं व्यक्त की जा रही थी, जो निर्मूल साबित हुई है। इसी तरह महंगाई बढ़ने की आशंका भी यदि गलत साबित होती है, तो इन्कार नहीं किया जा सकता। व्यवस्था परम्परा में बदलाव को लेकर स्वाभाविक रूप से कई तरह की आशंकाए होती है, लेकिन आगे चलकर यही बदलाव सुखद भविष्य का कारक बनता है। जीएसटी को पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने गेम चेंजर बताया है। 150 देश में जीएसटी प्रणाली ने अर्थव्यवस्था में जान फूंकी है।

निजी अस्पताल सिजेरियन प्रसव में मनमानी नहीं कर सकेंगे
- संपतिया उईके

17 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश मंत्री श्रीमती संपतिया उइके ने कहा कि राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी अस्पतालों में होने वाले मनमाने ढंग से प्रसव के लिए सिजेरियन आॅपरेशन पर नियंत्रण लगा दिया है। अधिकतम 50 प्रतिशत तक सिजेरियन आपरेशन को मान्य किया जायेगा। अधिकतम 50 प्रतिशत तक सिजेरियन आपरेशनों की संख्या मर्यादित रखने के लिए स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारी निजी अस्पतालों का नियमित दौरा कर निगरानी रखेंगे। निजी अस्पतालों को नियमित रूप से सिजेरियन आॅपरेशनों का का रिकार्ड और डेटा प्रस्तुत करना पड़ेगा। इससे परिवारों पर सिजेरियन आपरेशन के लिए निजी नर्सिंग होम का दबाव कम होगा और प्रसव के मामले में परिवार आर्थिक शोषण से मुक्त होंगे।
श्रीमती संपतिया ने कहा कि सिजेरियन आॅपरेशन के बारे में विशेषज्ञों की राय है कि 20 प्रतिशत से अधिक सिजेरियन आपरेशन से प्रसव नहीं कराये जाने चाहिए। इसका स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ने के साथ परिवार पर आर्थिक भार बढ़ता है। लेकिन मौजूदा हालात में सिजेरियन का औसत 80 प्रतिशत तक हो जाता है, जो मान्य नहीं किया जायेगा। राज्य के स्वास्थ्य चिकित्सा मंत्रालय द्वारा की गई पहल सामयिक है।
अस्पतालों में पैसा कमाने की चाह में निरंतर सिजेरियन आॅपरेशन का प्रचलन बढ़ना सोचनीय है। प्रदेश के महिला आयेाग ने भी इस पे्रक्टिस पर चिन्ता व्यक्त की है। इसलिए जहां चिकित्सा विभाग कड़ाई बरतेगा जनता को भी जागरूकता का परिचय देने की आवश्यकता है। चिकित्सा विभाग अस्पतालों के रिकार्ड की निगरानी कर सिजेरियन आॅपरेशन को विशेष परिस्थिति में ही माना करेंगे।


मुख्यमंत्री की सामयिक पहल, सरपंच, सचिवों और रोजगार सहायकों की हड़ताल स्थगित
- नागरसिंह चौहान

17 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता, विधायक श्री नागर सिंह चौहान ने सरपंच, पंचायत सचिवों और रोजगार सहायकों की मुख्यमंत्री जी से भेंट के बाद हड़ताल स्थगित करने की घोषणा को सराहनीय कदम बनाया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्राम पंचायतों को 6 हजार रू. वार्षिक सत्कार भत्ता स्वीकृत किये जाने पर संतोष व्यक्त किया है और कहा कि इससे पंचायत पदाधिकारियों की लंबे समय से चली आ रही मांग पूरी हो गई है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गांव के गरीब अवासहीन परिवार को ही आवासीय सुविधा और अन्य गरीबी उन्मूलन की योजनाओं का लाभ पात्रता के आधार पर मिलेगा। इसके लिए सर्वे कराया जायेगा। साथ ही बताया गया कि पंचायतों में 25 हजार रू. से अधिक राशि आहरण पर कोई पाबंदी नहीं लगाई गई है। अलबत्ता आॅनलाईन सिस्टम डेव्हलप किया जा रहा है, जिससे पारदर्शिता सुनिश्चित होगी।
उभय पक्षों में सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में हुई चर्चा में यह भी तय किया गया कि जो राशि हितग्राही के खाते में आती है, उसके हितग्राही द्वारा दुरूपयोग किये जाने पर सरपंच और सचिव को जिम्मेदार नहीं माना जायेगा, इससे विवादों का अन्त होगा।


अटेर विधानसभा उपचुनाव मतदान में कांग्रेस के हित में एकपक्षीय कार्यवाही न्याय संगत नहीं
- नंदकुमार सिंह चौहान

10 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने भारत सरकार के मुख्य निर्वाचन आयुक्त दिल्ली से भेंटकर उनको दिये गये अभ्यावेदन में अटेर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के समर्थन में एक पक्षीय कार्यवाही किये जाने का आरोप लगाया है। भाजपा के प्रत्याशी द्वारा की गयी शिकायतों की अनदेखी को बेइंसाफी बताया है। श्री नंदकुमार सिंह चैहान के साथ पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश संगठन प्रभारी डॉ. विनय सहस्रबुद्धे भी थे।
मुख्य निर्वाचन आयुक्त को दिये ज्ञापन में श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने बताया कि निम्नांकित मतदान केन्द्रों पर कांग्रेस द्वारा की गयी अवैध कार्यवाही के फलस्वरूप दोबारा मतदान कराने का निवेदन किया है। साथ ही पुर्नमतदान में उक्त मतदान केन्द्रों पर विशेष पुलिस बल तैनात करने की मांग की है। उन्होनें कहा कि अटेर क्षेत्र में कांग्रेस के प्रत्याशी हेमंत कटारे ने ईवीएम मशीन के बारें में शिकायत की थी और अधिकारियों द्वारा गड़बड़ी किये जाने की आशंका जताई थी, जिस पर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, भिंड कलेक्टर, एसपी सहित 19 अधिकारियों के तबादले कर दिये गये। जबकि हेमंत कटारे द्वारा लगाये गये आरोप कल्पना प्रसूत थे। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी का प्रभार आंध्र के चुनाव पदाधिकारी श्री भंवरलाल को सौंपा गया, साथ ही 6 पुलिस थानों के प्रभारी अधिकारी हटा दिये गये। लेकिन उनके ऐवज में कोई पदस्थापना नहीं की गयी। इससे प्रोत्साहित होकर कांगे्रस के समर्थक असामाजिक तत्वों को खुलकर मतदान प्रभावित करने की छूट मिल गयी। इन तत्वों ने बूथ क्रमांक 183 (जोहरी ब्राम्हण), 213 लहारपुरा, 215 मारूपुरा, 203 अमलहेड़ा, 172 गोअरकला, 167 पाली नंबर-2, 141 जवासा नंबर-1, 142 जवासा नंबर-2, 90 जनोरा, 92 गजना-1, गजना-2, 48 बड़पुरी, 49 बड़पुरा, 50 प्रतापपुरा, 52 गोंदपुरा, 17 बड़नपुर, 29 रैपुरा, 41 निवारी, 74 वमनपुरा, 67 नखलौरी, 58 मलिंगपुर, 109 परियाया, 103 मनेपुरा, 114 भगतुआपुरा, 115 जनावली, 116 भगवंतपुरा, 140 सिहोनी, 191 बरोही-1, बरोही-2, 197 गोपालपुरा, 134 रानी विरगंवा नंबर-1, 135 रानी विरगंवा नंबर-2, 136 रानी विरगंवा नंबर-3, 144 जवासा नंबर-4 एवं 55 होलापुरा में बूथ कैपचरिंग करने का दुस्साहस किया गया। श्री नंदकुमार सिंह चौहान एवं डॉ. विनय सहस्रबुद्धे ने उक्त मतदान केन्द्रों पर पुर्नमतदान और मतदान के समय विशेष सुरक्षा बल तैनात किये जाने की मांग की।
श्री चौहान ने आयोग को बताया कि अटेर क्षेत्र में तैनात चुनाव पर्यवेक्षकों को कांग्रेस का समर्थन करने वाले हिस्ट्रीशीटर, असामाजिक तत्वों की सूची पहले ही सौंपी जा चुकी है। परन्तु कोई कार्यवाही न होना खेद का विषय है। पहले ही भाजपा ने कहा था कि हटाये गये पुलिस अधिकारियों के स्थान रिक्त रखे जाने से कानून व्यवस्था ध्वस्त हो जाने की आशंका व्यक्त करके प्रशासन और जिम्मेदार चुनाव अधिकारियों से निवेदन किया गया था, लेकिन सब वेअसर रहा। उक्त प्रार्थना प्रत्र की प्रति आज दिल्ली में चुनाव आयोग को सौंप दी गयी। इन्हीं बाजिव कारणों के विद्यमान होते हुए पार्टी ने उक्त मतदान केन्द्रों पर पुर्नमतदान की मांग की है और तत्काल कार्यवाही की अपेक्षा की है।

रियल एस्टेट रेग्युलेटरी अथारिटी एक्ट के अमल में आने से जरूरतमंदों का अपने मकान का सपना पूरा होगा
- विजेश लूनावत

10 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लूनावत ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 2022 तक हर आवासहीन के सिर पर साया करने का लक्ष्य पूरा किया जा रहा है। मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री आवास योजना आरंभ की गयी है। नगरों और ग्रामीण क्षेत्रों में रिहायशी भूखंड वितरण का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। मकान बनाने के लिए शासकीय इमदाद दी जा रही है। इसमें निजी क्षेत्र का सहयोग लिया जा रहा है। हर व्यक्ति को आवास मिशन की सफलता में रियल एस्टेट रेग्युलेटरी अथारिटी एक्ट मील का पत्थर साबित होगा। यह अधिनियम उपभोक्ता और बिल्डर को मर्यादित ढंग से कार्य करने को प्रेरित करेगा। उन्होनें कहा कि रियल एस्टेट से उपभोक्ताओं को सुनिश्चित राहत मिलेगी। क्योंकि बिल्डर को समय सीमा में आवास बनाकर सौंपना होगा। अधिनियम में तीन अपीलीय कोर्टों का गठन किया जायेगा। इन न्यायालयों में शिकायतों का समय सीमा में निराकरण किया जायेगा। 1 मई से अधिनियम प्रभावी हो जाने से उपभोक्ता द्वारा निवेश की गयी राशि का 70 प्रतिशत अंश बिल्डर को प्रोजेक्ट में निवेश करना होगा। ऐसा करना प्रोजेक्ट समय पर पूरा होने की गारंटी होगा।


कांग्रेस ने अटेर विधानसभा उपचुनाव मतदान में असामाजिक तत्वों का सहारा लेकर दहशत का माहौल बनाया बलपूर्वक मतदान कराने के कृत्य की भाजपा ने शिकायत दर्ज कराई
10 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री श्री अजयप्रताप सिंह के नेतृत्व में पार्टी पदाधिकारियों के शिष्ठ मंडल ने आज मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में पहुंचकर एक ज्ञापन दिया और अटेर विधानसभा क्षेत्र (भिंड) में कांग्रेस द्वारा बलपूर्वक, आतंक के माहौल में जबरिया मतदान कराने की बूथवार शिकायत की तथा आतंक फैला रहे व्यक्तियों के विरूद्ध जनप्रतिनिधित्व अधिनियम के अंतर्गत तत्काल कार्यवाही करने की मांग की। शिष्ठ मंडल में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लूनावत, श्री रामेश्वर शर्मा, प्रदेश महामंत्री श्री विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश मंत्री श्रीमती कृष्णा गौर, प्रदेश कार्यालय मंत्री श्री सत्येन्द्र भूषण सिंह, श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, प्रदेश प्रवक्ता श्री रजनीश अग्रवाल, श्री हिदायतुल्लाह शेख, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी श्री संजय गोविन्द खोचे भी सम्मिलित थे।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को श्री अजयप्रताप सिंह ने बताया कि कांग्रेसी कार्यकर्ता शस्त्रों से लैस होकर मतदान केन्द्रों पर कब्जा कर मतदान सूची लेकर निर्वाचन दल को प्रभावित करने में जुटे है। उन्होनें बूथवार गैरकानूनी पहल का ब्यौरा देते हुए बताया कि बूथ क्रमांक 42 पर आरक्षक कृष्णा शुक्ला बैच नंबर 485 ने कांग्रेस के पक्ष में मतदान कराया। बूथ क्रमांक 88 पर सुई गांव में पीठासीन अधिकारी ने स्वयं कांगे्रस के पक्ष में मतदान करने के मतदाताओं को विवश किया। सैकड़ों मतदाताओं के पास जरूरी दस्तावेज होने पर भी उन्हें मतदान से वंचित कर दिया गया। उन्होनें बताया कि बूथ क्रमांक 48, 49 एवं 78 पर कांगे्रसी आधिपत्य जमाने में तुले हुए है। ग्राम गढ़ी क्षेत्र में बूथ क्रमांक 260 में बिना अनुमति के अवैध रूप से 6-7 वाहनों में कांगे्रसी कार्यकर्ता धींगा मस्ती कर रहे है। बूढ़नपुरा क्रमांक 16 में समुदाय विशेष को मतदान करने दिया जा रहा है। इसी तरह क्रमांक 263 कछुरी में अपराधिक तत्वों को खुली छूट दी जा रही है, जो मतदान को रोकने में जुटे है। कुछ बूथों पर ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ कर मतदान की गति धीमी रखने के प्रयास में पीठासीन अधिकारी स्वयं जुटे है, इनमें बूथ क्रमांक 231 प्रमुख है।

श्री अजयप्रतात सिंह ने कहा कि इस आशय की शिकायतें मौके पर भाजपा के अधिकृत चुनाव मतदान एजेंटों द्वारा संबंधित अधिकारियों को दी गयी है, लेकिन वे सभी मौनदर्शक बने हुए है। श्री सिंह ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को अटेर में पार्टी के निर्वाचन कार्यकर्ता श्री शैलेन्द्र भदौरिया द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारी को सौंपी गयी शिकायतों की प्रतियां भी सौंपी और तत्काल कार्यवाही करने का आग्रह किया, जिससे मतदान में निष्पक्षता सुनिश्चित हो सके। श्री सिंह ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को ऐसे असामाजिक तत्वों की कारगुजारियों की लंबी सूची बूथवार सौंपी है जो मतदान को प्रभावित करने में जुटे है, उनका रिकार्ड अपराधिक है और उन्हें शह मिली हुई है। कांगे्रसी मतदान को जिस तरह प्रभावित करने में जुटे है, उससे लगता है कि पराजयबोध से ग्रसित होकर ऐन केन प्रकारेण चुनाव परिणाम प्रभावित करने में विफल प्रयास में जुटे है।


महाकौशल में इंडस्ट्रियल कारीडोर बनने से क्षेत्रीय विकास का असंतुलन दूर होगा
इंजी. प्रदीप लारिया

10 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष इंजी. प्रदीप लारिया ने कहा कि महाकौशल अंचल उद्योगों के लिए उर्वर भूमि है, लेकिन आजादी के बाद इस अंचल के औद्योगीकरण की दिशा में प्रयास न हो पाने से क्षेत्र की औद्योगिक संभावनाएं धरातल पर नहीं उतर पाई। मध्यप्रदेश सरकार ने इस दिशा में ठोस पहल कर महाकौशल क्षेत्र इंडस्ट्रियल काॅरीडोर का सिलसिला आरंभ किया है। इंडस्ट्रियल कारीडोर बनने से जबलपुर, कटनी से लेकर सतना, रीवा, बनारस और सोनभद्र तक उद्योगों का जाल बिछेगा, जिससे इस क्षेत्र में व्याप्त बेरोजगारी पर प्रहार होगा। महाकौशल विंध्य अंचल की कृषि प्रधान अर्थव्यवस्था को उद्योगों का संबल मिलेगा। कृषि और उद्योगों में संतुलन आने से विकास का असंतुलन समाप्त होगा।
श्री लारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान सरकार ने इस दिशा में अनूठी पहल करके संभावनाओं के उचित दोहन की भूमिका तैयार कर दी है। केन्द्र सरकार की औपचारिक अनुमति के साथ महाकौशल विंध्य क्षेत्र में खुशहाली का नया विजन शुरू होगा।
उन्होनें कहा कि महाकौशल और विंध्य अंचल में प्रचुर मात्रा में भूमि, जल भंडार और बिजली उपलब्ध है। इस अंचल में मानव संसाधन की बहुतायत है। जबलपुर, कटनी, रीवा, सतना में तमाम इंजीनियरिंग संस्थान है, जहां स्किल्ड मानव संसाधन उपलब्ध है। साथ ही मेक इन मध्यप्रदेश अभियान के तहत आज 150 विभिन्न ट्रेडों में आईआईटी, आईटी, इंजीनियरिंग कालेजों में स्किल डेवलपमेंट कार्यक्रम संचालित हो रहे है। काॅरीडोर बनने से रोजगारोन्मुखी शिक्षा का सही लाभ पहुंचेगा। उन्होनें कहा कि इस क्षेत्र में कृषि उपज, वनोपज, खनिज का भंडार है। इनका औद्योगिक उत्पादन होने से क्षेत्र की आर्थिक खुशहाली में पंख लग जायेंगे।


किसान मोर्चा की संभागीय बैठक 10 को रीवा एवं 12 अप्रैल को जबलपुर में
10 April 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री रणवीर सिंह रावत ने बताया कि किसान मोर्चा की संभागीय बैठक 10 को रीवा एवं 12 अप्रैल को जबलपुर में आयोजित की गयी है। उन्होनें बताया कि 10 अप्रैल को रीवा में पार्टी कार्यालय में रीवा संभाग की बैठक आहूत की गयी है एवं 12 अप्रैल को जबलपुर संभाग की बैठक उत्सव पैलेस आगा चैक, जबलपुर में रखी गयी है। बैठक में संभाग में निवासरत् मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारी, जिला पदाधिकारी, मंडल अध्यक्ष, मंडी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, जिला एवं जनपद पंचायत के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष उपस्थित रहेंगे। श्री रावत ने बताया कि होशंगाबाद, सागर और भोपाल संभाग की संभागीय बैठकें संपन्न हो चुकी है।


"प्रचंड जनादेश: चुनौतियाँ और संभावनाएँ"; विषय पर हुई संगोष्ठी
10 April 2017
जनसंपर्क, जल-संसाधन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज पाक्षिक पत्रिका 'नवलोक भारत', भोपाल द्वारा आयोजित वैचारिक संगोष्ठी प्रचंड जनोदश: चुनौतियाँ और संभावनाएँ में हिस्सा लिया। मंत्री डॉ. मिश्र ने समन्वय भवन में आयोजित संगोष्ठी की अध्यक्षता की। जनसंपर्क मंत्री ने संगोष्ठी में आए अतिथि वक्ताओं श्री सुधांशु त्रिवेदी और सुश्री शाज़िया इल्मी का मध्यप्रदेश आगमन पर स्वागत किया।
संगोष्ठी के मुख्य वक्ता श्री सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि राजनैतिक दल को प्राप्त प्रचंड बहुमत अधिक अपेक्षाओं को साथ लाता है। उन्होंने कहा कि अपेक्षाओं के ज्वार और उत्तरदायित्वों के भार का संगम हाल ही में उत्तरप्रदेश विधानसभा के चुनाव परिणामों में देखने को मिला है। श्री त्रिवेदी ने कहा कि उत्तरप्रदेश में विकास का नया युग प्रारंभ होगा। प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व का यह नैतिक प्रभाव ही है कि उनके स्वच्छता अभियान और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के आव्हान को जनता ने अंगीकार्य किया। श्री त्रिवेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी की नेतृत्व क्षमता से विश्व के कई राष्ट्र प्रभावित हुए हैं। विषय प्रवर्तन वरिष्ठ पत्रकार और राष्ट्रीय एकता समिति मध्यप्रदेश के उपाध्यक्ष श्री रमेश शर्मा ने किया। संगोष्ठी को दैनिक भास्कर समाचार पत्र समूह के प्रमुख श्री रमेशचंद्र अग्रवाल और सुश्री शाजिया इल्मी, नई दिल्ली ने भी सम्बोधित किया।
सहकारिता राज्य मंत्री श्री विश्वास सारंग ने प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत किया। संचालन श्री विवेक सारंग ने किया। पत्रिका के संस्थापक संपादक वरिष्ठ राजनेता श्री कैलाश सारंग ने कहा कि पत्रिका द्वारा ऐसी विचार संगोष्ठियों का आयोजन भविष्य में भी किया जाएगा। इस अवसर पर अतिथियों को स्मृति-चिन्ह किए गए। कार्यक्रम में श्री राजीव मोहन गुप्त प्रधान संपादक दैनिक जागरण, श्री राजेन्द्र शर्मा प्रधान संपादक दैनिक स्वदेश, श्री भरत पटेल प्रधान संपादक दैनिक सांध्य प्रकाश, वरिष्ठ साहित्यकार श्री बटुक चतुर्वेदी के साथ ही राजधानी के अनेक वरिष्ठ पत्रकार, जन-प्रतिनिधि और प्रबुद्धजन उपस्थित थे। शुरूआत सुश्री उपासना सारंग के वन्दे-मातरम् गायन से हुई।


बांधवगढ़ के विकास के लिए कमल को समर्थन देकर शिवनारायण सिंह को विजयी बनायें - शिवराज सिंह चौहान
22 March 2017
बांधवगढ़: भारतीय जनता पार्टी के बांधवगढ़ विधानसभा उपचुनाव के प्रत्याशी श्री शिवनारायण सिंह ने आज अपना नामांकन पत्र प्रस्तुत करते हुए बड़े बुजुर्गों और क्षेत्र की जनता से आशीर्वाद देने की प्रार्थना की। उक्त अवसर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान उपस्थित थे।
बाद में चुनाव जनसभा को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान और श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने संबोधित करते हुए जन-जन से आग्रह किया कि वे क्षेत्रीय प्रगति और प्रदेश के सर्वागींण विकास के लिए भारतीय जनता पार्टी को अपना बहुमूल्य समर्थन देकर विजयी बनायें।


जन-जन को शक्ति संपन्न और खुशहाल बनानें के लिए आवश्यकतानुसार कानून में संशोधन करने, नया कानून बनानें में हिचक नहीं होगी
22 March 2017
बांधवगढ़: मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि पांच दशकों तक प्रदेश और केन्द्र में कांग्रेस की सरकारें रही है। कांगे्रस ने हमेशा जनता का भावनात्मक शोषण किया है। आत्मनिर्भर बनानें का प्रयास नहीं किया। भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता में आने के बाद इस दिशा में जो पहल की है, उसके परिणाम प्रदेश की जनता और देश में आम आदमी राहत और सकून के साथ महसूस कर रहा है। कांग्रेस ने अभाव के दिनों में लाल गेहूं परोसा जो मानवीय उपयोग के लिए भी उपर्युक्त नहीं था। भाजपा ने सत्ता में आने के बाद आदिवासी, अनुसूचित जाति, गरीब परिवारों को एक रू. किलो में गेहूं, चावल और आयोडीनयुक्त नमक देने की व्यवस्था करके आर्थिक-सामाजिक दृष्टि से राहत प्रदान की है। प्रदेश को खाद्य उत्पादन में आत्मनिर्भर ही नहीं अपितु सरप्लस राज्य बना दिया है। किसानों और मजदूरों के लिए प्रदेश में साख व्यवस्था को आसान बनाया है। किसानों को जीरों प्रतिशत ब्याज पर कर्ज और खाद-बीज के लिए कर्ज पर 10 प्रतिशत की छूट देकर किसानों को ऋणग्रस्तता से मुक्ति दिलाई है। कांग्रेस के समय किसान 18 प्रतिशत ब्याज चुकाते थे, किसान कर्ज में पैदा होता था, जीता था और कर्ज के बोझ तले मर जाता था। प्रश्न यह है कि जनता विचार करे कि कांग्रेस ये राहत क्यों नहीं दे पायी।
उन्होनें कहा कि प्रदेश में प्रत्येक निवासी को आवासीय भूखंड और अपने घर का गौरव प्राप्त होना चाहिए। इसके लिए मध्यप्रदेश सरकार कानून ला रही है, जिससे प्रत्येक परिवार को अपने घर का गौरव प्राप्त होगा। प्रदेशव्यापी सर्वे में आवासहीनों का पता लगाया जा रहा है और आवासीय भूखंड देने का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। उन्होनें कहा कि अभावग्रस्तता में कोई भी प्रतिभावान छात्र उच्च शिक्षा से वंचित नहीं रहे। इसके लिए मध्यप्रदेश सरकार ने एक हजार करोड़ रू. का बजट में प्रावधान किया है। छात्र 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करके 12वीं पास करता है, तो उसे मेडिकल इंजीनियरिंग, आईआईटी जैसे उच्च शिक्षा के पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए मध्यप्रदेश सरकार फीस भरेगी। गरीबों के बच्चे भी ऊंचें पदों पर पहुंचे इसके लिए मध्यप्रदेश सरकार ने बंदोबस्त किया है। कांगे्रस के पास विकास की कोई कल्पना नहीं है। अलबत्ता, कांग्रेस हताशा में आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर रही है। इसका खामियाजा उसे पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ा है। गोवा में भाजपा की सरकार को कांग्रेस ने बर्दाश्त नहीं किया और याचिका लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गये, जहां उसे मुंह की खाना पड़ी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भाजपा विकास और सुशासन का पर्याय बन चुकी है। उपचुनाव में भाजपा के प्रत्याशी श्री शिवनारायण सिंह को विजयी बनाकर क्षेत्रीय विकास सुनिश्चित करें। उन्होनें कहा कि इस क्षेत्र के विकास के लिए राज्य सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी।


राज्य सरकार और केन्द्र में अनुकूलता का लाभ उठाने के लिए शिवनारायण सिंह को विजयी बनायें
22 March 2017
प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश की जनता सौभाग्यशाली है कि उसे मध्यप्रदेश में किसानपुत्र, कर्मठ और प्रगतिशील नेता के रूप में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का नेतृत्व प्राप्त है। केन्द्र में श्री नरेन्द्र मोदी का आशीर्वाद और मार्गदर्शन हमें उपलब्ध है। इस अनुकूलता का लाभ उठाने के लिए क्षेत्रीय जनता भाजपा प्रत्याशी श्री शिवनारायण सिंह को अपना आशीर्वाद देकर विजयी बनायेगी। श्री शिवनारायण सिंह की जीत मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की झोली में डालकर क्षेत्रीय विकास का दावा करने का क्षेत्र की जनता को अवसर मिलेगा। इस क्षेत्र को सर्वागींण विकास के शिखर पर पहुंचानें में राज्य सरकार और केन्द्र सरकार का समर्थन हासिल होगा। उन्होनें कहा कि कांगे्रस अस्ताचल की ओर बढ़ रही है, उससे जनता की उम्मीदें समाप्त हो चुकी है, क्योंकि जनता ने देखा है कि कांग्रेस में सिर्फ कुर्सी की दौड़ चल रही है। उसने सामाजिक सरोकार को तिलांजलि दे दी है। देश में कुछ राज्यों में ही कांग्रेस का अस्तित्व बचा है, जबकि भारतीय जनता पार्टी देश के अधिकांश भागों में विकास और सुशासन की मशाल लेकर आगे बढ़ रही है। यह उपचुनाव क्षेत्र की जनता की खुशहाली और आंचलिक विकास की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। इसमें भाजपा की विजय से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के हाथ में ताकत बढ़ेगी और जनता के लिए वे और अधिक उर्जा के साथ बेहतर ढंग से समर्पित भाव से सेवा करनें में समर्थ होंगे। उन्होनें कहा कि भाजपा के प्रत्याशी श्री शिवनारायण सिंह विधायक बनकर क्षेत्र की समस्याएं सीधे मुख्यमंत्री तक पहुंचा सकेंगे और समाधान करनें में देर नहीं लगेगी। उन्होनें कहा कि चुनाव में विजय पाने के लिए हर मतदाता अपने को भाजपा का प्रत्याशी मानकर जुट जाये, जिससे 9 अप्रैल को मतदान के दिन मतदान का कीर्तिमान बने और श्री शिवनारायण सिंह ऐतिहासिक मतों से विजयी बनें।
मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के समक्ष सभा में 2013 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी श्री प्यारेलाल बैगा ने अपने समर्थकों के साथ भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। सैकड़ों की संख्या में बांधवगढ़ विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधियों ने भाजपा की रीति नीति से प्रभावित होकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान एवं प्रदेश अध्यक्ष श्री नंदकुमारसिंह चौहान ने पुष्पमाला पहनाकर सभी का स्वागत किया।
इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विनोद गोटिया, श्री रामलाल रौतेल, प्रदेश महामंत्री श्री अजयप्रताप सिंह, वरिष्ठ मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, श्री राजेन्द्र शुक्ल, श्री भूपेन्द्र सिंह, श्री गोपाल भार्गव, श्री ओमप्रकाश धुर्वे, श्री संजय पाठक, श्रीमती ललिता यादव, श्री जयसिंह मरावी, श्री मोती कश्यप, सुश्री मीना सिंह, श्री रामलाल बैगा, प्रदेश मंत्री सुश्री संपतियां उइके, श्री सुभाष सिंह उपस्थित थे।


जीडीपी में 2 प्रतिशत वृद्धि होगी जीएसटी के चार विधेयक संसद में मंजूर होंगे, राज्य जीएसटी की राज्यों में अनुमति के साथ 1 जुलाई से जीएसटी- विजेश लुणावत
22 March 2017
भोपाल: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लुणावत ने कहा कि जीएसटी से जुड़े चार विधेयकों को मंत्रिपरिषद की स्वीकृति हो चुकी है। इनमें केन्द्रीय जीएसटी विधेयक 2017, एकीकृत जीएसटी विधेयक 2017, केन्द्रीय शासित राज्य वस्तु सेवा विधेयक और वस्तु और सेवाकर (राज्यों के मुआवजा) विधेयक 2017 को अनुभूति मिल चुकी है। जीएसटी विधेयक ने चार दरे की मंजूर कर दी है। लक्जरी उत्पादों जो अहित कर वस्तुएं पर अतिरिक्त उपकर लिया जायेगा। किस वस्तु पर कितना उपकर लगाया जायेगा इसका निर्णय जल्दी ही किया जायेगा। इससे पांच वर्षो तक राज्यों की भरपाई की जायेगी।
उन्होंने बताया कि राज्यों की तरह शुल्क वसूली का प्रावधान किए जाने पर राज्य जीएसटी विधेयक राज्यों द्वारा विधानसभाओं में पारित किया जायेगा। यह विधायी प्रक्रिया पूर्ण होते ही जीएसटी अमलीजामा पहन लेगी। इसके बाद देश के जीडीपी में उछाल आयेगा। अनुमान है कि जीडीपी में 2 प्रतिशत इजाफा होगा।


गंगा के जीवित नदी घोषित होने के दूरगामी अनुकूल नतीजे होंगे- विष्णुदत्त शर्मा
22 March 2017
भोपाल: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री श्री विष्णुदत्त शर्मा ने मोहम्मद सलीम द्वारा प्रस्तुत याचिका पर उत्तराखंड उच्च न्यायालय द्वारा दिये गये निर्णय पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इसके दूरगामी सुखद परिणाम मिलेंगे। उच्च न्यायालय में मो. सलीम ने गुहार लगायी थी कि गंगा नदी देशवासी जनता की आस्था और आशा का केन्द्र है। इसके प्राकृतिक स्वरूप को बरकरार रखने के प्रयास हों। जहां इसके स्वरूप पर अतिक्रमण है, उसे तत्काल हटाया जाये। न्यायालय ने ‘‘राईट आॅफ नेचर’’ के सिद्धान्त पर गंगा और यमुना को जीवित नदी घोषित करते हुए कहा कि जिस तरह मानव को जीवित रहने का हक है, कोई आघात पहुंचता है वह दंड का भागी होता है, नदी के स्वरूप को प्रतिकूल ढंग से प्रभावित करने वाला दंड का भागी होगा। इसका स्पष्ट अर्थ यही है कि गंगा जी को प्रदूषित करने, उसके स्वरूप को आहत करने के हर कदम पर जिम्मेदारी तय हो और ऐसा करने वाला दंड का भागी बने। इस निर्णय से दूरगामी असर पड़ेगा। प्रकृति के प्रति जनता में जिम्मेदारी का बोध विकसित होगा।
उन्होनें कहा कि इस दिशा में मध्यप्रदेश में नर्मदा सेवा यात्रा की पहल वास्तव में एक अनूठी पहल है और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान के सात्विक चिंतन और प्रकृति, पर्यावरण सरंक्षण की दिशा में कल्पनाशीलता का परिचायक है।
श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि प्रकृति और पर्यावरण सरंक्षण की दिशा में उच्च न्यायालय का निर्णय मील का पत्थर सिद्ध होगा। इस तरह की पहल न्यूजीलैंड में वसकुई नदी के संरक्षण के लिए हो चुकी है और लाभदायी सिद्ध हुई है। इक्वाडोर में तो जनमत संग्रह भी कराया जा चुका है और संवैधानिक संशोधन भी हो चुका है। उन्होनें कहा कि मध्यप्रदेश में नर्मदा सेवा यात्रा के माध्यम से जो पहल आरंभ हुई है उसे देश और दुनिया में अग्रणी पहल माने जाने के कई कारण है। नदी, प्रकृति के संरक्षण के लिए जन जागरूकता आवश्यक है। जनता में जब बोध जागता है तो कानून अमलीजामा जल्दी पहनता है। इस दृष्टि से मध्यप्रदेश में नमामि देवी नर्मदे नर्मदा सेवा यात्रा एक विलक्षण अभियान बन चुका है, जो जन आंदोलन का स्वरूप ले चुका है।


विंध्य विकास प्राधिकरण विंध्य को एक सूत्र में बाँधने का काम करेगा
उद्योग मंत्री श्री शुक्ल प्राधिकरण के नव-नियुक्त अध्यक्ष के शपथ ग्रहण समारोह में

18 Feb. 2017
वाणिज्य-उद्योग, रोजगार तथा खनिज साधन मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि विंध्य विकास प्राधिकरण सम्पूर्ण विंध्य को एक सूत्र में बाँधने का काम करेगा। इसमें सुदृढ़ संगठन के माध्यम से विकास के नित नये कार्य किये जायेंगे। श्री शुक्ल आज रीवा में विंध्य विकास प्राधिकरण के नव-नियुक्त अध्यक्ष श्री सुभाष सिंह के शपथ ग्रहण समारोह को संबोधित कर रहे थे। नव-नियुक्त अध्यक्ष को प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी संयुक्त आयुक्त श्री राकेश शुक्ल ने शपथ दिलवायी।
श्री शुक्ल ने कहा कि विंध्य क्षेत्र सीमेंट तथा पॉवर का हब है। यहाँ बाणसागर की नहरों से सिंचाई के संसाधन उपलब्ध हुए हैं और किसान उन्नतिशील बनकर अन्य क्षेत्रों के कृषकों की तुलना में समृद्धशाली हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि विंध्य में फोर-लेन सड़कों का जाल बिछ गया है, अब किसी को भी रीवा से कहीं भी जाने के लिये फोर-लेन सड़कों की सुविधा है। उद्योग मंत्री ने कहा कि यहाँ रेल तथा हवाई सुविधाओं के विस्तार से बड़े-बड़े उद्योग स्थापित होंगे। वे दिन दूर नहीं जब इस क्षेत्र में सभी आवश्यक सुविधाओं का विस्तार हो जायेगा। श्री शुक्ल ने कहा कि सफेद शेरों को वापस लाकर विंध्य की पहचान तथा गौरव की वापसी हुई है। साथ ही विश्व का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित होगा और सबसे कम दाम में बिजली देने वाला सौर ऊर्जा प्लांट कहलायेगा।

उद्योग मंत्री ने कहा कि प्राधिकरण विकास रूपी रथ को आगे ले जाने में सहायक होगा। सभी जन-प्रतिनिधि विकास की योजनाएँ बनायेंगे। इनका मूर्तरूप में परिणित किये जाने का समवेत कार्य करेंगे। श्री शुक्ल ने नव-नियुक्त अध्यक्ष को बधाई देते हुए उम्मीद जाहिर की कि विंध्य क्षेत्र के विकास और समृद्धि में सभी सहयोगी होंगे।
अध्यक्ष श्री सुभाष सिंह ने कहा कि विंध्य क्षेत्र के विकास के लिये जो जिम्मेदारी उन्हें सौंपी गयी है, उसका सभी के सहयोग से निष्ठापूर्वक निर्वहन करने का पूरा प्रयास करूँगा।
कार्यक्रम को प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष श्री अजय प्रताप सिंह, श्रीमती रीति पाठक सहित अनेक जन-प्रतिनिधियों ने भी संबोधित किया।


पचमढ़ी में दो दिवसीय विधायक प्रशिक्षण वर्ग का समापन
समय का बेहतरीन इस्तेमाल करें विधायक - शिवराजसिंह चौहान

16 Feb. 2017
भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने अपने विधायकों से कहा है कि वे समय का बेहतरीन इस्तेमाल करने के लिए योजना बनाए और जनता के हित के कामों को अधिक से अधिक समय देकर करने का प्रयत्न करें। श्री चौहान पचमढ़ी में आयोजित विधायक प्रशिक्षण शिविर के समापन सत्र को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि सरकार दिन रात मध्यप्रदेश की जनता की सेवा में नई-नई योजनाएं और प्रकल्प लेकर आ रही है। विकास के काम दस गुना रफ्तार से आगे बढ़ रहे हैं। इन सभी कार्यो का भूमिपूजन और लोकार्पण उस क्षेत्र के समूचे समाज को साथ लेकर हमारे जनप्रतिनिधियों को करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्यक्रम में बेटी पूजन अवश्य कराए जाएं इससे समाज में बेटियों के प्रति श्रद्धा और बढ़ेगी। साथ ही मुख्यमंत्री ने प्रत्येक आयोजन के दौरान पर्यावरण की सुरक्षा के लिए कम से कम एक पेड़ लगाने का आव्हान किया। उन्होंने सभी विधायकों और प्रदेश पदाधिकारियों को 18 फरवरी को आयेाजित होने वाले मिल बांचे मध्यप्रदेश में सक्रिय भागीदारी निभाने को कहा। 8 मार्च को विश्व महिला दिवस पर हर एक गांव में ग्राम सभा के आयोजन की जानकारी भी मुख्यमंत्री ने विधायकों को दी। उन्होंने बताया कि 4 मार्च को महान संत रविदास जी की जयंती पर सागर में रविदास महाकुंभ का आयोजन किया जायेगा। 14 अप्रैल डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती से लेकर 31 मई तक ग्रामोदय अभियान चलेगा। 14 अप्रैल के दिन वे स्वयं इस अभियान को संबोधित करेंगे और उसे प्रत्येक ग्राम पंचायत पर सुना जायेगा।
श्री शिवराजसिंह चौहान ने बताया कि 1 मई को तिथि के अनुसार आदिगुरू शंकराचार्य की जंयती है। इसे हर जिला स्तर और ग्राम स्तर पर मनाने की योजना है। औंकारेश्वर में शंकराचार्य जी की अष्टधातु की प्रतिमा स्थापित की जाना चाहिए इसके लिए घर घर से धातु मांगी जायेगी। उन्होंने कहा कि भगवान राम ने भारत को उत्तर से दक्षिण तक जोड़ा और भगवान कृष्ण ने पूरब से पश्चिम तक, लेकिन आदिगुरू शंकराचार्य ने भारत को चारों दिशाओं से जोड़ा। वे 32 साल की उम्र में पदयात्रा करते हुए दक्षिण से चलकर औंकारेश्वर पहुंचे। जहां उन्होंने नर्मदा अष्टक की रचना की। उन्होंने सभी विधायकों से नर्मदा सेवा यात्रा में जाने की भी अपील की। साथ ही पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी वर्ष में कोई न कोई एक रचनात्मक काम अपने हाथ में लेने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि हमें नशामुक्ति को जन आंदोलन का रूप देना है। समाज की मनोवृत्ति बदलकर ही प्रदेश को नशा मुक्त किया जा सकता है और एक बार वातावरण बन गया तो यह काम सहज ही हो जायेगा।
मुख्यमंत्री ने अपने विधायकों और भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेश के पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज हम जहां भी जाते है वहां हमारे विधायकों के अनुशासन और क्रियाशीलता की चर्चा होती है। हमारी इस प्रतिष्ठा में और चार चांद लगे इसलिए ऐसे प्रशिक्षण शिविर आयोजित किए जाते हैं। हमें यहां से निकलकर अपने काम को और अधिक परिष्कृत करने की दिशा में दिन रात जुट जाना है।
उन्होंने स्व. कुशाभाऊ ठाकरे जी का स्मरण करते हुए कहा कि एक कार्य क्षेत्र में कई लोग एक साथ निकलते है लेकिन उनमें से कुछ लोग कुशाभाऊ ठाकरे बनते है। मैंने उन्हें बहुत नजदीक से देखा है कि वे 24 घंटे परिश्रम करते थे। सादा जीवन और सर्व समावेशी आचरण व्यवहार हमें आज तक प्रेरणा देता है। उन्होंने कहा कि पं. दीनदयाल उपाध्याय ने हमें अंतिम व्यक्ति की चिंता करने का जो संदेश दिया है उस मार्ग पर हम तभी ठीक से चल पायेंगे जब हम अपने समय का नियोजन व्यवस्थित करेंगे। उन्होंने कहा कि जब समय का नियोजन ठीक होगा तो किसी भी कार्य में कठिनाई नहीं होगी। समय में आपकी छवि निखरेगी और जनहित के कामों को व्यवस्थित किया जा सकेगा। अपने अत्यंत आत्मीय उदबोधन में श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि हम जो लोग सात्विक जीवन में है उन्हें अपने शारीरिक और पारिवारिक जीवन का भी ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने विधायकों को प्रातः उठकर ध्यान योग करने तथा परिवार के साथ कुछ समय बिताने की सलाह भी दी।
उन्होंने कहा कि अगर हमें समाज जीवन में एकाग्र होकर काम करना है तो परिवार के साथ समय व्यतीत करना भी आवश्यक है। उन्होंने सभी विधायकों से सरकार की योजनाओं को गंभीरता से समझने और उनका क्रियान्वयन कराने की अपील की। उन्होंने कहा कि समाज के प्रत्येक व्यक्ति के लिए सरकार ने तमाम योजनाएं चला रखी है। यदि विधायकगण सिर्फ इन योजनाओं का क्रियान्वयन अपने अपने क्षेत्रों में व्यवस्थित कराएं तब भी उनकी सफलता के मार्ग को कोई रोक नहीं सकता। उन्होंने ग्रामोदय, नगरोदय, बेटी बचाओ, कन्यादान योजना आदि क्षेत्रों में कई विधायकों के आयोजनों की मुक्तकंठ से प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि सरकार मध्यप्रदेश के साढ़े सात करोड़ लोगों के हित में जो दिन रात परिश्रम कर रही है उन सभी योजनाओं का लोकव्यापीकरण करना चाहिए। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि नर्मदा और क्षिप्रा को जोड़े जाने से पूरे अंचल में जो खुशहाली आयी है उससे दिल को सुकून मिलता है और इस पूरी परियोजना में समाज की जो व्यापक भागीदारी हुई उसने इस सुकून को दस गुना कर दिया। मुख्यमंत्री ने विधायकों से समाज के और अधिक करीब जाने के लिए ऐसे कार्यक्रम आयोजित करने का भी आव्हान किया जिससे वे समाज के साथ एकाकार हो सके। उदाहरण के तौर पर उन्होंने मंत्री श्री गोपाल भार्गव के बेटे की शादी सार्वजनिक विवाह समारोह में किए जाने का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश का प्रत्येक बेटा और बेटी हमारा परिवार है। इसलिए हमारे विधानसभा क्षेत्र में सरकार जब बेटी बेटियों के विवाह कराती है तब हमारी भूमिका मुख्य यजमान की तरह होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे स्वयं भी प्रतिवर्ष 2 बेटियों की शादी कराते है और सपत्निक उसमें शामिल होते हैं। एक ओर वे स्वयं बारात की अगवानी आदि करतें हैं वहीं उनकी पत्नि बेटियों की छोटी छोटी रस्मों में हिस्सेदार बनती है। उन्होंने कहा कि समाज के विभिन्न वर्गो के लिए हम जो कार्य कर रहें हैं वह किसी राजनैतिक फायदे के लिए नहीं है, लेकिन उसका फायदा हमें मिले यह राजनैतिक धर्म कहता है। सरकार समाज के हित में लगभग सवा सौ योजनाएं चला रही है और इनमें से कई योजनाओं को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किया जा चुका है।
उन्होंने कहा कि हमारे विधायकों को अपना अध्ययन बढ़ाकर तथ्यों और तर्को के साथ अपनी बात रखने की सामथ्र्य और बढ़ानी चाहिए, जिससे हम कहीं भी अपनी बात लेकर जायेंगे तो उसे न मानने का कोई कारण किसी के पास नहीं रहेगा। ऐसा करने से समाज में हमारी छवि निखरेगी और जब हमारी छवि निखरेगी तब निश्चित ही भारतीय जनता पार्टी की छवि भी और निखरेगी।
समापन सत्र के मंच पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सत्यनारायण जटिया और प्रदेश महामंत्री श्री अजयप्रताप सिंह उपस्थित थे।


कांग्रेस डूबता जहाज बुंदेलखण्ड में बांधा नरोत्तम जी ने समां
Our Correspondent :13 Feb. 2017
उत्तरप्रदेश के बुंदेलखण्ड क्षेत्र और कानपुर क्षेत्र के लिए सभाएं कर रहे मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज झांसी में बहुत दिलचस्प अंदाज में कहा कि कांग्रेस एक डूबता जहाज है। इस सभा में भी नरोत्तम ने समां बांध लिया। उन्होंने सपा, कांग्रेस गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी में सपा और कांग्रेस के गठबंधन की खास बात यह है कि एक (अखिलेश) का पिता परेशान है, दूसरे (राहुल) की माँ। कांग्रेस की उलटी गिनती शुरू हो गई है। अखिलेश को दो महीने पहले पता चला कि उसका चाचा खराब है। इसके पहले चार साल आठ महीने वो चाचा बहुत अच्छा था। श्री नरोत्तम ने कहा कि उत्तर प्रदेश के मतदाताओं को भारतीय जनता पार्टी पर बहुत विश्वास है। यूपी में भाजपा की लोकप्रियता साफ दिखाई दे रही है।
ज्ञातव्यर है कि डॉ. नरोत्तम ने संगठन द्वारा दी गई जिम्मेदारी के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्रों का दौरा पूरा कर लिया है। डॉ. मिश्र की सभाओं में जहां बूथ कार्यकर्ताओं की भीड़ जमकर उमड़ी वहीं मौजूद आम जनता ने भी उनके अंदाज को पसंद किया है। डॉ. मिश्र मध्यप्रदेश में विभिन्न क्षेत्र में हुए विकास का विवरण भी मतदाताओं को दिया है। उन्होंने मध्यप्रदेश को विकास का एक उदाहरण बताया है।
डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज रविवार, 12 फरवरी को उत्तरप्रदेश के झांसी में आयोजित एक सभा में कहा कि उनसे कुछ लोगों ने प्रश्न किया कि राहुल गांधी ने खाट सभा की थी, आपका क्या कहना है ? मैंने कहा कि मुझे क्या कहना है। मेरा इतना ही कहना है कि हम लोग खाट पर सोते हैं और विधानसभा, लोकसभा में भाषण देते हैं। ये राहुल गांधी खाट पर बैठकर भाषण देते हैं और लोकसभा में सोते हैं।
डॉ. नरोत्तम ने कहा कि आज तो श्री मुलायम सिंह यादव ने भी एक टीवी चैनल पर कह दिया है कि यूपी में भाजपा की सरकार बन रही है।


श्रमिक के सम्मान में राजा भी छोड़ देते हैं रास्ता : सरसंघचालक
सेवाभारती के रजत जयंती वर्ष एवं संत रविदास जयंती के अवसर पर भोपाल में आयोजित श्रम साधक संगम में शामिल हुए संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत

13 Feb. 2017
भोपाल। संत रविदास महाराज ने हमें अपने काम और व्यवहार से संदेश दिया था कि कोई भी काम और मनुष्य छोटा-बड़ा नहीं होता, सब समान होते हैं। हमें अपने श्रम को हल्का नहीं मानना चाहिए। समाज को उसकी आवश्यकता है, इसलिए हम वह श्रम कर रहे हैं। श्रम में जिसका मान होता है, वही देश विकास करता है। इसलिए हमें श्रम और श्रमिकों का सम्मान करना चाहिए। राजा की सवारी के लिए सब रास्ता छोड़ते हैं, परंतु सवारी के सामने श्रमिक आ जाए तो राजा भी उसके लिए रास्ता छोड़ देते हैं। यह हमारी परंपरा है। भोपाल के लाल परेड मैदान पर उपस्थित हजारों श्रम साधकों के बीच यह विचार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने व्यक्त किए। संत रविदास जयंती और अपने रजत जयंती वर्ष के अवसर पर सेवाभारती की ओर से श्रम साधक संगम का आयोजिन किया गया था, जिसमें भोपाल की 160 सेवा बस्तियों के सभी प्रकार के श्रम साधक उपस्थित थे।
सरसंघचालक डॉ. भागवत ने कहा कि यह आयोजन तीन प्रसंगों का संगम है। एक, सेवाभारती का रजत जयंती वर्ष। दो, संत रविदास महाराज की जयंती और तीन, श्रम साधकों का संगम। यह त्रिवेणी है। उन्होंने कहा कि सेवा का अंग्रेजी में अर्थ सर्विस बताया जाता है। सर्विस के साथ वेतन भी होता है। इसलिए अपने यहाँ इसे सेवा नहीं माना जाता है। जो व्यक्ति यह कहता है कि उसने बहुत सेवा की है अर्थात् सेवा का अहंकार जब प्रकट होता है, तब उसका मूल्य माटी हो जाता है। सेवाभारती के कार्यों की सराहना करते हुए सरसंघचालक ने कहा कि सेवाभारती के कार्यकर्ता समाज को अपना मानते हैं, इसलिए सेवा कार्य करते हैं। वह मानते हैं कि समाज परिवार का कोई भी भाई पीछे नहीं रहना चाहिए।
परस्पर सहयोग से बड़ा होगा समाज :
सरसंघचालक डॉ. भागवत ने कहा कि समाज परस्पर सहयोग से बड़ा होता है। समाज के जो लोग ऊपर हैं, उन्हें थोड़ा नीचे झुककर कमजोर व्यक्ति की ओर हाथ बढ़ाना चाहिए और जो व्यक्ति नीचे हैं, उन्हें ऊपर की ओर उठना चाहिए। दोनों एक-दूसरे के साथ आएंगे, तब समाज सशक्त होता है। हिन्दू समाज में जो सामथ्र्यवान हैं, उनका कर्तव्य है कि वह कमजोर व्यक्तियों को सबल बनाने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति का जीवन अकेले नहीं चलता है। प्रत्येक व्यक्ति का जीवन चल सके, इसके लिए सब अपना-अपना काम करते हैं। सबको साथ लेकर चलना ही भारत का स्वधर्म है।
पसीने के फूल से बड़ा होता है देश :
श्रम साधकों के महत्त्व को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि समाज के सभी लोगों को श्रमिकों का सम्मान करना चाहिए। पसीने के फूल खिलने पर ही देश बड़ा होता है। इसलिए प्रामाणिकता से हमें अपना कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हम अपने काम के प्रति सम्मान रखेंगे, तो दूसरे भी हमारे काम को सम्मान से देखेंगे।
शिक्षा, स्वास्थ्य और सेवा के क्षेत्र में सेवाभारती का बड़ा योगदान :
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में सेवाभारती ने शिक्षा, स्वास्थ्य और सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान दिया है। श्रम साधकों के प्रति समाज और सरकार के भी कुछ कर्तव्य हैं, हमें इन कर्तव्यों का पालन करना चाहिए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी श्रमिकों को कानून बनाकर घर उपलब्ध कराने की घोषणा की। परीक्षा का अवसर नजदीक आने पर उन्होंने विद्यार्थियों को संदेश दिया कि तनावरहित होकर मेहनत और ईमानदारी से पढ़ाई करें। इस अवसर पर महापौर आलोक शर्मा, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशीष चौहान, वृहद कैपिटल प्रा.लि. पुणे के प्रबंध निदेशक प्रसाद दाहपुते, स्वागत समिति के अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र कुमार शुक्ला और मध्यभारत सेवाभारती के अध्यक्ष गोपाल कृष्ण गोदानी भी उपस्थित थे। इस अवसर पर संत रविदास महाराज पर केंद्रित लेखक रामनाथ नीखरा की पुस्तक और सेवा प्रेरणा के विशेषांक का भी विमोचन किया गया। सेवाभारती का परिचय एवं उसके कार्यों की जानकारी सेवाभारती के सचिव प्रदीप खाण्डेकर और कार्यक्रम का संचालन करण सिंह ने किया।
कला साधकों के साथ संवाद और शौर्य स्मारक का किया भ्रमण :
संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने मध्यप्रदेश प्रवास के चौथे दिन सुबह अनौपचारिक कार्यक्रम के तहत कला साधकों से संवाद किया। भोपाल में गुंदेचा बंधुओं के प्रयास से स्थापित ध्रपद संस्थान में प्रदेश के प्रख्यात कला साधक समूह के बीच सरसंघचालक ने कहा कि कला को समृद्ध करना, देश और समाज के लिए आवश्यक है। कला क्षेत्र के लिए उन्होंने राजाश्रय से अधिक समाजाश्रय की महत्ता को रेखांकित किया। सरसंघचालक डॉ. भागवत शाम 6 बजे शौर्य स्मारक भी पहुंचे। यहाँ उन्होंने परिसर का भ्रमण किया।
सेवा के लिए सम्मान :
1. सर्वश्रेष्ठ छात्रावास सम्मान-2017 : सरला-विनोद वनवासी छात्रावास, ग्वालियर
2. सेवावृत्ति पुरस्कार-2017 : पुरुषोत्तम मेघवाल
3. स्व. तात्या साहब पिंपलीकर सेवा सम्मान-2017 : श्रीमती सुधा पाचखेड़े
आज के कार्यक्रम :
पुस्तक विमोचन : भारत भवन में शनिवार सुबह 10:30 बजे वरिष्ठ पत्रकार विजय मनोहर तिवारी की पुस्तक 'भारत की खोज में मेरे पांच साल' का विमोचन।
पं. दीनदयाल उपाध्याय-एक विचार : चरैवेति के तत्वावधान में पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष के अंतर्गत 'पं. दीनदयाल उपाध्याय-एक विचार' पर व्याख्यान माला का आयोजन शनिवार दोपहर 3 बजे संत हिरदाराम गर्ल्स कॉलेज, संत हिरदाराम नगर, बैरागढ़।


पं. दीनदयाल उपाध्याय के त्याग, समर्पण और वैचारिक दर्शन से निरंतर ऊर्जित होकर मानव कल्याण में जुटें- नंदकुमार सिंह चौहान
Our Correspondent :11 Feb. 2017
भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक पं. दीनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि पर आज प्रातः भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान एवं राज्यसभा सांसद श्री एल गणेशन सहित पार्टी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये।
श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की एवं उनके त्याग और समर्पण का पुण्य स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने देश ही नहीं मानव जाति के लिए एकात्म मानववाद का वैचारिक दर्शन देकर वसुधैव कुटुम्बकम की भावना को साकार किया हैं। राजनीति में शुचिता और मानव कल्याण की भावना को जीवंत करने का जो संदेश दिया है वह हम सबके लिए प्रेरणास्त्रोत है। उन्होंने कहा कि दुनिया में पूंजीवाद और साम्यवाद सिसकियां भर रहे है, इनमें मानव कल्याण की भावना किंचित भी नहीं हैं। पं. दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानववाद ने मानव, समाज और जीवन में खुशियां और हर चेहरे पर मुस्कान बिखेरी है। मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में राज्य सरकार और केंद्र में एनडीए की श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने एकात्म मानववाद को धरातल पर अवतरित करके समाज के अंतिम व्यक्ति के दुख-दर्द को बांटा हैं और उसकी प्रगति का मार्ग प्रशस्त किया हैं। हम सभी कार्यकर्ता भगवान से प्रार्थना करते है कि हमें उनके मार्ग पर चलने की शक्ति प्रदान करें।
इस अवसर पर सांसद श्री एल गणेशन, प्रदेश मंत्री श्री पंकज जोशी, प्रदेश कार्यालय मंत्री श्री सत्येन्द्र भूषण सिंह, श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी श्री संजय गोविन्द खोचे, श्री उदय अग्रवाल, नगर निगम अध्यक्ष श्री सुरजीत सिंह चौहान, महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती लता ऐलकर, युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष श्री अभिलाष पांडे, प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक श्री अरविन्द कोठेकर, कटनी महापौर श्री शशांक श्रीवास्तव, श्री वीरेंद्र राणा, श्री दुर्गेश केसरवानी, श्री लिलि अग्रवाल, श्री अशोक सैनी, श्री राजेन्द्र कुकरेजा, श्री निखिलेश मिश्रा, श्री राजकुमार विश्वकर्मा, श्रीमती शशि सिन्हो, श्रीमती अर्चना पांडे, श्रीमती भावना सिंह, श्रीमती आशा सेंगर, श्री जगदीश सिंह राजपूत, श्री राजू मीणा, श्री शिशिर बड़कुल, श्री देव राजोरिया, श्री गोपाल तोमर, श्री अनिल शिकरे सहित पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।


डॉ. नरोत्तम मिश्र ने यूपी में नापे 50 विधानसभा क्षेत्र
Our Correspondent :11 Feb. 2017
भारतीय जनता पार्टी की ओर से उत्तरप्रदेश के कानपुर क्षेत्र के लिए प्रभारी, प्रमुख प्रचारक और मध्यप्रदेश के जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने अधिकांश विधानसभा क्षेत्र का भ्रमण पूर्ण कर लिया है। डॉ. मिश्र की सभाओं में जहां संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ी वहीं आम जनता ने भी उनके दिलचस्प अंदाज को पसंद किया है। डॉ. मिश्र मध्यप्रदेश में गत 13 वर्ष में विभिन्न क्षेत्र में हुई प्रगति के उदाहरण भी आमजन को बता रहे हैं।
डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज शुक्रवार, 10 फरवरी को उत्तरप्रदेश के इटावा में आयोजित एक सभा में कहा कि उत्तरप्रदेश के यह चुनाव असामाजिक तत्वों के प्रति जनता के प्रतिरोध की अभिव्यक्ति होगा। उत्तरप्रदेश की अराजक स्थिति से आम जन परेशान हो चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी अच्छी कानून व्यवस्था के साथ ही विकास को प्राथमिकता देकर खुशहाली लाने का काम करेगी। यूपी के बुन्देलखण्ड इलाके के साथ ही कानपुर के निकटवर्ती विधानसभा क्षेत्रों में गत तीन सप्ताह से डॉ. नरोत्तम मिश्र सघन भ्रमण, जनसंपर्क और चुनाव प्रचार कर रहे हैं।


सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के प्रति असहिष्णुता सेकुलरवाद का छद्म...! - भरतचन्द्र नायक
Our Correspondent :6 Feb. 2017
‘‘सूख हाड़ ले जात सठ स्वान, निरखि मृगराज’’ लंपटीय तासीर सत्ता लोलुपों का स्वभाव आदि काल से व्यवहार में देखा सुना गया। सांस्कृतिक राष्ट्रवाद से प्रेरित संगठन की प्रेरणा का यहीं जन्म होता है। अंगे्रजों ने बांटो और राज करो की मंषा से भारतीय समाज के विखंडन के बीज बोये। 1925 में राष्ट्र को एकता के सूत्र में गुंथित करने का अनुष्ठान आरंभ हुआ। समय ने करवट ली। भारत को आजादी मिली। लेकिन सत्ता में आने के साथ समाज को फिरकों में बांट कर तुष्टीकरण को परवान चढ़ाना सत्ता मठाधीशों ने मूल मंत्र अपना लिया। आवश्यकता ही अविष्कार की जननी होती है। राष्ट्रवादी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने सांस्कृतिक गतिविधियों के विस्तार के लिए संगठन का जब विस्तार किया, जाति विहीन, राष्ट्र को समर्पित युवा शक्ति को एकता के सूत्र में पिरोने का संगठित प्रयास सफलता की सीढ़ियां चढ़ने लगा। तत्कालीन मठाधीशों की भुकुटियां तन गयी। संगठन को कुचलने की चेतावनियां मिली। लेकिन राष्ट्रवाद के प्रसार में न साहस थका और न कदम पीछे रहे। जैसे-जैसे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के पौधे को सींचा और उसका विस्तार हुआ इसकी छवि देशव्यापी बनती गयी और विदेशों में भी रा.स्व.सं. की चर्चा शुरू हो गयी। मजे की बात यह कि जैसे-जैसे संगठन का कलेवर विस्तृत हुआ, इसके विरूद्ध गलत अटकलबाजियां फैलाना सत्ता और सत्तोन्मुख तत्वों का शगल बन गया। संघ को शंका की दृष्टि से देखा जाने लगा। इसी का नतीजा था कि बार-बार सांस्कृतिक राष्ट्रवादी संगठन को कठघरे में में खड़ा किया गया। न्यायिक आयोग बने संगठन ने सामना किया और न्याय, नीति, नीयत की कसौटी पर संघ ने अपनी सांस्कृतिक धर्मिता की पवित्रता सिद्ध की। उसे क्लीनचिट मिली। लेकिन शंकालु होना सत्ता का स्वभाव है। यही सत्ता लोलुपता प्रपंच गढ़ती है। सांच को भी आंच पहुंचाती है। राजा इन्द्र ने इसी ईष्र्यावश कितने ऋषि मुनियों को लक्ष्य से भटकाने की कोशिश की। षड़यंत्र अतीत के साक्षी है। लेकिन स्वभावगत जो विफलता लगती है कि इन षड़यंत्रों की पोल खोलने का संघ ने प्रयत्न यदा कदा ही किया। जन भ्रम निवारण करने के लिए संघ ने जो खिड़की अब खोली है, उससे बहुत हद तक सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को आहत करने वाले तत्वों के सिर से नकाब उतरा है।
हाल के दौर में जब-जब सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का ज्वार आया तथाकथित सेकुलरवादियों ने शक्ति भर भ्रम फैलाया। सम्मान लौटाकर विरोध करने वालों की पोल तो हाल में खुल गयी, जब कांगे्रस ने जुमे की नमाज पढ़ने तक के लिए अवकाश की घोषणा कर ली। साम्प्रदायिकता के बीज बोकर सेकुलरवाद का जश्न मनाना आज एक राजनैतिक फैशन बन गया है। भारतीय समाज का यह दुर्भाग्य है कि कांगे्रस और उसके साथी संगी सेकुलरवाद की मनमाफिक परिभाषा गढ़ते, समाज को छलते और साम्प्रदायिकता का विस्तार करते है। इससे देश और समाज भले कमजोर हो, इनकी निगाह महज वोटों और सत्ता पर केन्द्रित होती है। लेकिन साम्प्रदायिक हथकंडा का मर्म अब अल्पसंख्यक भी समझ चुके है। सेकुलरवादी अल्पसंख्यकों के हमदर्द नहीं उनकी चातकी दृष्टि सिर्फ वोटों पर है। अल्पसंख्यक प्रेम उनके लिए समाज के संगठित होने, कौम की तरक्की का साधन नहीं केवल सत्ता के लिए साध्य है।
बाबरी मजिस्द विवाद के मुख्य पक्षकार हासिम अंसारी उत्तर प्रदेश की राजनीति के ऐसे चेहरे रहे है जो आगे बढ़ते थे तो सियासी तूफान आता था। अपने जीवन के आखिरी पड़ाव में हासिम अंसारी साहब ने फरमाया कि देश को नरेन्द्र मोदी जैसे नेताओं की जरूरत है। आजादी के बाद नरेन्द्र मोदी पहला शख्स है जिसने साफ सपाट बात की। उन्होनें ही मुस्लिम समाज से गुजारिश की कि विकास और न्याय का ढिंढ़ौरा नहीं पीटता, लेकिन साथ लेकर चलता है। मजे की बात यह है कि हासिम अंसारी की राम मंदिर विवाद के महंत रामचन्द्र दास से गहरी दोस्ती थी। लेकिन दोस्ती में मंदिर-मजिस्द विवाद आड़े नहीं आया। मुसलमान कौम ने सांस्कृतिक राष्ट्रवाद पर भरोसा जताया है, साथ ही संघ परिवार की मुसलमानों के साथ की गयी पहल सराही गयी। क्योंकि यहां सब एक मन होकर मुल्क की खिदमत का पैगाम है, वोटों की मारा-मारी नहीं है। जिन अल्पसंख्यकों को खौंफजदा करके कांगे्रस सहित सहयोगी दल उनके वोटों से सत्ता हासिल करने में कामयाब होते रहे है। संघ परिवार से उनके जुड़ाव ने सेकुलरवादियों के ताजिये ठंडे कर दिये है। संघ के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने अल्पसंख्यकों को भरोसे में लेते हुए कहा कि मुल्क के 25 करोड़ मुसलमानों के बिना भारतीयता अधूरी रहेगी। उन्होनें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इफ़्तार जलसा कर दुनिया के मुस्लिम नेताओं को दावत दे डाली। यथार्थ में देखा जाये तो भारतीय जनसंघ से लेकर भारतीय जनता पार्टी के विकास तक अल्पसंख्यकों से रिश्तों में न तो खटास और न तकरार हुई। यह भी एक यर्थाथ है कि तकरार करने का रसायन पं. नेहरू के वक्त ही तैयार हो गया था, जब उन्होनें बाबरी मजिस्द की ताली फेंक दी और राजीव गांधी ने ताला खुलवा दिया। वास्तव में मुसलमानों से राष्ट्रवादी समुदाय का मेलजोल 9 जुलाई 1966 को ही शुरू हो गया था, जब अटलजी ने दिल्ली शाहजहांनी जामा मजिस्द के सामने अवाम के संपादक अनवर देहलवी को अपना प्रत्याशी बनाया था। अनवर देहलवी जनसंघ के खुर्राट नेता हुए और आज भी जनसंघ के कारपोरेटर के रूप में उनकी सेवाएं याद की जाती है। जहां तक संघ, जनसंघ और भाजपा का ताल्लुक है, इमाम उमर इलियासी जो कि भारत की 5 लाख मस्जिदों की आॅल इंडिया इमाम आॅर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष है, का कहना है कि नफरत के बीज बोकर कोई मिठास वाले फल की उम्मीद नहीं की जा सकती। यह इंसानियत का उसूल है गढ़े मुर्दे उखाड़कर सियासत हो सकती है, मुल्क अवाम की भलाई नहीं कर सकते। लोग कहते है कि गर केन्द्र में भाजपा आयी तो अल्पसंख्यक मुसीबत भोगेंगे। लेकिन आशंका को अटल जी ने तो झुठलाया, नरेन्द्र मोदी ने आगे बढ़कर टीम इंडिया कहकर सबको गले लगाया है। आरक्षण को लेकर सर संघचालक और प्रचार प्रमुख का मानना है कि कौम को विकास की मुख्यधारा में लाना है। आरक्षण कोई खैरात नहीं एक रास्ता है, जिसे कायम रहना है लेकिन यह भी सोचने की बात है कि यह फिरका परस्ती को जारी रखने में सहायक बनता है। जब तक जाति पांति अवसर का पेरामीटर रहेगा, जातिविहीन भेदभाव रहित एक रस समाज की कल्पना क्लिष्ट बनी रहेगी। हिन्दू होने के रस का आस्वादन भली प्रकार संभव नहीं होगा।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को लेकर भ्रांतियों का जाल फैलाने की मुहिम अब गड़रिया की टेर बनकर अनसुनी बन रही है। गड़रिया भेड़ें चराता है और मस्ती में गांव वालों को पुकारता कि शेर आ गया। गांव वाले परेशान हो गये। लेकिन जब शेर आया तो किसी ने गड़रिया का रूदन नहीं सुना। सत्ता और सेकुलकर का नाता अंतिम सांसे ले रहा है। सेकुलरिज्म का छद्म जनता समझ चुकी है। जन-जन समझता है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखा इंसानियत को जोड़ने वाली शक्ति है, इसका उद्देश्य समाज में सकारात्मकता लाना है, जिसे कोई भी नकारात्मक ताकत हानि नहीं पहुंचा सकती। यही कारण है कि शाखाओं का देश में ही नहीं विदेशों में भी विस्तार हो रहा है। युवाओं में संस्कृति, परंपरा, संस्कार, इतिहास, राष्ट्र भाव जगाने के केन्द्र के रूप में शाखा पुनीत गुरूकुल बनती जा रही है। इसमें उम्र का, जाति-पांति, सम्प्रदाय का कोई फर्क नहीं है। 18 वर्ष से कम आयु के लिए बाल भारती, बाल गोकुल संकुल है। विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों के युवकों के लिए शाखा बौद्धिक विकास, शारीरिक शौष्ठव के केन्द्र है। संघ द्वारा देश भर में 32 हजार 400 संस्थानों पर 50 हजार से अधिक शाखाएं लगायी जा रही है। 12 हजार 32 साप्ताहिक मिशन कार्यक्रम, 7233 मासिक मिशन कार्यक्रम चल रहे है। मजे की बात यह है कि एक मां ने जब बच्चे को संघ में जाकर राष्ट्रीय संस्कारों से संस्कृत होकर देखा तो राष्ट्र सेविका समिति की पे्ररणा मिली। आजादी के पूर्व ही राष्ट्र सेविका समिति को मौसी लक्ष्मीबाई केलकर ने जन्म दिया, जो पुष्पित फलित पल्लवित हो रही है, अपनी अस्सी वर्षीय यात्रा में संघ के संस्कारों का बीजारोपण कर नारीशक्ति का प्रस्फुटन किया है।
जहां तक मुस्लिम बच्चों को संस्कारित करने का सवाल है, संघ के स्कूलों में 4700 मुस्लिम बच्चे संस्कारित हो रहे है। देशभर में 12364 विद्यालय बाल भारती के है, इनमें मुस्लिम बच्चे खुशी-खुशी प्रवेश पाते है। कश्मीर सहित सभी राज्यों में विद्या भारती के स्कूल है और इनमें 270 मुस्लिम आचार्य कार्यरत है। हिन्दुत्व के इन संस्कार केन्द्रों में एक सौ से अधिक ईसाई आचार्य भी है, जो हिन्दुत्व के संस्कारों को आगे बढ़ा रहे है। हिन्दू होने का एक अपना रस है, क्योंकि यहां इस्लाम का सम्मान करने की सुविधा है। कुरान और वाईविल को पवित्र कहने की सद्भावना विराजमान है। हिन्दू होने के कारण ही हम दुनिया की सारी आस्थाएं स्वीकार करके आल्हादित होते है। हिन्दु होकर आस्तिक रह सकते है और नास्तिक भी बने रह सकते है। ऐसा इसलिए है कि यहां नफरत हिंसा तुल्य मानते है। सहिष्णुता असीम है। हिन्दु होकर विवेक का इस्तेमाल कर सकते है। हिन्दु होने का एक आनंद यह भी है कि भौतिकवादी हो सकता है। आध्यात्मिक होने की छूट है, आस्तिकता से संतुष्ट होते है, इसलिए अंधविश्वास काफूर हो जाता है। अब विचारणीय प्रश्न यह है कि जो असहिष्णुता का इल्जाम लगाते है, वे कितने सहिष्णु है।


जनता के विश्वास पर खरा उतरकर हरदा
नगर में विकास की इबारत लिखें- नंदकुमार सिंह चौहान

6 Feb. 2017
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान ने कहा कि चुनाव जनता के विश्वास पर जीते जाते है। मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी पर जनता का अटूट विश्वास है, उस विश्वास पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान खरे उतरे है और इसका परिणाम है कि हर चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत हासिल की है। उन्होंने कहा कि हरदा नगरपालिका में भारतीय जनता पार्टी की ऐतिहासिक जीत हरदा नगर की जनता के विश्वास की जीत है। जनता के विश्वास पर नगरपालिका के जनप्रतिनिधि खरा उतरें और हरदा नगर के विकास की इबारत लिखें। श्री नंदकुमार सिंह चौहान आज हरदा में नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष एवं पार्षदों के शपथ ग्रहण समारोह को संबोधित कर रहे थे।
उन्होनें कहा कि जीत के साथ जबावदारी आती हैं। जिस तरह जीत को सर माथे पर रखते है, उसी तरह जनप्रतिनिधि को जबावदारियों के लिए भी तत्पर खड़े रहें। उन्होनें कहा कि हरदा क्षेत्र को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ऊचाईयों पर पहुंचाया है। नवनिर्वाचित नगरपालिका अध्यक्ष एवं पार्षद मिलकर नगर को विकास की कई सौगात दें। उन्होनें नगरोदय अभियान को प्रदेश सरकार का महत्वाकांक्षी अभियान बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने नगर विकास के लिए तीन चरणों में नगरोदय अभियान चलाया है, इसके माध्यम से नगर की आवश्यकता अनुसार योजनाओं और विकास कार्यों का क्रियान्वयन होना है। उन्होनें नवनिर्वाचित अध्यक्ष एवं पार्षदों से आग्रह करते हुए कहा कि नगरोदय अभियान एवं मध्यप्रदेश सरकार की नगर विकास को लेकर चल रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचानें में अपनी भूमिका का निर्वाह करें। कार्यक्रम में नवनिर्वाचित अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र जैन ने जीत के लिए जनता का आभार जताते हुए उनकी उम्मीदों पर खरा उतरनें की बात कही। इस अवसर पर पूर्व मंत्री श्री कमल पटेल, जिला अध्यक्ष श्री अमरसिंह मीणा, श्री संतोष पाटिल, श्री श्याम महाजन, श्री गौरीशंकर मुकाती सहित पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे।


 
Copyright © 2014, BrainPower Media India Pvt. Ltd.
All Rights Reserved
DISCLAIMER | TERMS OF USE