Untitled Document


register
REGISTER HERE FOR EXCLUSIVE OFFERS & INVITATIONS TO OUR READERS

REGISTER YOURSELF
Register to participate in monthly draw of lucky Readers & Win exciting prizes.

EXCLUSIVE SUBSCRIPTION OFFER
Free 12 Print MAGAZINES with ONLINE+PRINT SUBSCRIPTION Rs. 300/- PerYear FREE EXCLUSIVE DESK ORGANISER for the first 1000 SUBSCRIBERS.

   >> सम्पादकीय
   >> राजधानी
   >> कवर स्टोरी
   >> विश्व डाइजेस्ट
   >> बेटी बचाओ
   >> आपके पत्र
   >> अन्ना का पन्ना
   >> इन्वेस्टीगेशन
   >> मप्र.डाइजेस्ट
   >> मध्यप्रदेश पर्यटन
   >> भारत डाइजेस्ट
   >> सूचना का अधिकार
   >> सिटी गाइड
   >> अपराध मिरर
   >> सिटी स्केन
   >> जिलो से
   >> हमारे मेहमान
   >> साक्षात्कार
   >> केम्पस मिरर
   >> फिल्म व टीवी
   >> खाना - पीना
   >> शापिंग गाइड
   >> वास्तुकला
   >> बुक-क्लब
   >> महिला मिरर
   >> भविष्यवाणी
   >> क्लब संस्थायें
   >> स्वास्थ्य दर्पण
   >> संस्कृति कला
   >> सैनिक समाचार
   >> आर्ट-पावर
   >> मीडिया
   >> समीक्षा
   >> कैलेन्डर
   >> आपके सवाल
   >> आपकी राय
   >> पब्लिक नोटिस
   >> न्यूज मेकर
   >> टेक्नोलॉजी
   >> टेंडर्स निविदा
   >> बच्चों की दुनिया
   >> स्कूल मिरर
   >> सामाजिक चेतना
   >> नियोक्ता के लिए
   >> पर्यावरण
   >> कृषक दर्पण
   >> यात्रा
   >> विधानसभा
   >> लीगल डाइजेस्ट
   >> कोलार
   >> भेल
   >> बैरागढ़
   >> आपकी शिकायत
   >> जनसंपर्क
   >> ऑटोमोबाइल मिरर
   >> प्रॉपर्टी मिरर
   >> सेलेब्रिटी सर्कल
   >> अचीवर्स
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> जीवन दर्शन
   >> कन्जूमर फोरम
   >> पब्लिक ओपिनियन
   >> ग्रामीण भारत
   >> पंचांग
   >> रेल डाइजेस्ट
  

जनसंपर्क मंत्री डॉ. मिश्र ने किया क्रिकेट टूर्नामेंट का समापन
17 April 2017

जनसंपर्क, जल संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज दतिया स्थित किला परिसर में दतिया चैलेंजर कप क्रिकेट टूर्नामेंट के समापन समारोह में हिस्सा लिया। डॉ. मिश्र ने कहा कि खेलों से न सिर्फ आपसी भाईचारा और प्रेम बढ़ता है बल्कि शरीर भी स्वस्थ रहता है। प्रत्येक खिलाड़ी को खेल भावना अपनानी चाहिए। इस अवसर पर जनसंपर्क मंत्री ने खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त किया और प्रतीक स्वरूप बल्लेबाजी भी की।
सेवढ़ा विधायक श्री प्रदीप अग्रवाल ने अपेक्षा की कि यह टूर्नामेंट हर वर्ष इसी तरह गरिमामय ढंग से होता रहेगा। मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र एवं अतिथियों को स्मृति-चिन्ह भेंट किए गए।
कैरियर सेमीनार
जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने दतिया के वृन्दावन धाम में कैरियर सेमीनार को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मेडिकल, इंजीनियरिंग सहित अनेक तरह की व्यवसायिक शिक्षा के लिए विद्यार्थियों को अनेक सुविधाएँ उपलब्ध करवाई हैं। परिश्रम अवश्य विद्यार्थियों के हाथ में है। जनसंपर्क मंत्री ने विद्यार्थियों को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ दीं।


वीनस को बाहर कर सेमीफाइनल में पहुंची वेस्नीना
17 March 2017
रूस की एलीना वेस्नीना ने पूर्व नंबर एक अमरीका की वीनस विलियम्स को हराकर इंडियन वेल्स टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह बना ली है जबकि एक अन्य मैच में कैरोलीन वोज्नियाकी भी हार कर बाहर हो गई।
सेेरेना को 14वीं सीड रूसी खिलाड़ी वेस्नीना ने 6-2 4-6 6-3 से मात देकर महिला एकल का क्वार्टरफाइनल मैच जीत लिय। विंबलडन सेमीफाइनलिस्ट 30 वर्षीय वेस्नीना ने सेरेना के बेहतरीन फोरहैंड का जवाब देते हुए 12वीं सीड वीनस के खिलाफ दो घंटे 11 मिनट में मैच समाप्त किया। इससे पहले रूसी खिलाड़ी ने दूसरी सीड जर्मनी की एंजेलिक केर्बर को क्वार्टरफाइनल में हराया था।
एक अन्य मैच में 28वीं सीड ब्लादेनोविच ने अपने विजयी अभियान को जारी रखते हुये 13वीं सीड और 2011 की विजेता डेनमार्क की वोज्नियाकी को 3-6 7-6 6-2 से मात दी। इस जीत के साथ उनका अगले सप्ताह डब्ल्यूटीए रैंकिंग के शीर्ष 20 में पहुंचना तय है।


NZvsSA: 94 रन पर 6 विकेट गिरने के बाद क्विंटन डिकॉक और तेंबा बावुमा बने दक्षिण अफ्रीका के 'संकटमोचक'
17 March 2017
वेलिंगटन: विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक और तेंबा बावुमा के अर्धशतकों की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन खराब शुरुआत से उबरने के बाद जबर्दस्‍त वापसी की. 94 रन तक छह विकेट गंवाने वाले दक्षिण अफ्रीका ने दूसरे दिन की समाप्ति तक 9 विकेट खोकर 349 रन बना लिए. हालांकि डिकॉक (91) और बावुमा (89) , दोनों शतक से चूक गए. दोनों ने सातवें विकेट के लिए 160 रन की साझेदारी की. दूसरे दिन स्‍टंप्‍स के समय वेर्नोन फिलेंडर 36 और मोर्ने मोर्केल 31 रन बनाकर क्रीज पर थे. ये दोनों अंतिम विकेट के लिए अब तक 47 रनों की साझेदारी कर चुके हैं. मैच में दक्षिण अफ्रीका टीम की बढ़त अब 81 रन तक पहुंच गई है और उसका एक विकेट आउट होना शेष है. न्यूजीलैंड ने पहली पारी में 268 रन बनाए थे.
डिकॉक ने शुक्रवार को आक्रामक पारी खेली. उन्‍होंने अपने 91 रन के लिए महज 118 गेंदों का सामना किया और 10 चौके और तीन छक्‍के लगाए. दूसरी ओर बावुमा ने अपने 89 रनों के लिए 160 गेंदों का सामना करते हुए नौ चौके लगाए. बावुमा हालांकि पांच रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब वेगनर की बाउंसर को हवा में लहरा गए लेकिन ग्रैंडहोम फिसल गए और इसे कैच नहीं कर सके.
डिकॉक ने टिम साउथी की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा और फिर नील वेगनर की लगातार गेंदों पर भी चौके और छक्के के साथ 55 गेंद में आठवां अर्धशतक पूरा किया. तेज गेंदबाज कोलिन डि ग्रैंडहोम ने लंच से पहले हाशिम अमला (21) और फाफ डु प्लेसिस (23) को पेवेलियन भेजकर न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी किया. पहले दिन के खेल की समाप्ति के बाद दक्षिण अफ्रीका का स्‍कोर दो विकेट पर 24 रन था. दक्षिण अफ्रीका ने आज सुबह के सत्र में 80 रन पर चार विकेट गंवाए जिससे लंच तक उसका स्कोर छह विकेट पर 104 रन था. इससे पहले न्‍यूजीलैंड के 268 रनों के स्‍कोर के जवाब में दक्षिण अफ्रीका का शीर्ष क्रम बड़ा योगदान देने में नाकाम रहा. स्‍टीफन कुक ने 3, डीन एल्‍गर और के. रबाडा ने 9-9, हाशिम अमला ने 21, जेपी डुमिनी ने 16 और कप्‍तान फाफ डु प्लेसिस ने 23 रन बनाए.


स्मिथ ने नहीं इस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने दिया टीम इंडिया को ‘विराट दर्द’
16 March 2017
रांची में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने भले ही शतक जमा दिया हो। लेकिन टीम इंडिया को ‘विराट दर्द’ किसी बल्लेबाज़ ने दिया, तो वो थे पीटर हैंड्सकॉम्ब। आप सोच रहे होंगे कि 19 रन बनाने वाले हैंड्सकॉम्ब ने ऐसा क्या कर दिया। जिससे टीम इंडिया को भारी नुकसान हो गया।
पीटर हैंड्सकॉम्ब ने दिया 'विराट दर्द'
रांची टेस्ट मैच के पहले दिन लंच के बाद पीटर हैंड्सकॉम्ब ने रवींद्र जडेजा की एक गेंद को मिड-विकेट की तरफ खेला। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली गेंद के पीछे दौड़े। कोहली, जो एक शानदार फील्डर हैं, ने छलांग लगाकर गेंद को रोकने का प्रयास किया लेकिन इस नीचे गिरते समय उनका दायां कंधा जमीन से टकराया। गिरते ही कोहली के कंधे में दर्द शुरू हो गया। हालांकि कोहली ने बाउंड्री तो रोक ली। लेकिन उनके चेहरे पर हो रहा दर्द साफ झलक रहा था।
इस गेंद क बाद विराट कोहली को मैदान से बाहर जाना पड़ा। इस घटना के बाद विराट कोहली मैदान पर नहीं लौटे और अजिंक्य रहाणे ने ही मैदान पर भारतीय टीम की कमान संभाली।
विराट कोहली की ये चोट अगर गंभीर हुई तो टीम इंडिया को इसका भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। ये टेस्ट सीरीज़ इस समय 1-1 की बराबरी पर है। तो ऐसे सीरीज़ के इस नाजुक मोड़ पर भारतीय टीम को अपने कप्तान की सख्त जरुरत है।


टेनिस : लगातार तीसरे मुकाबले में रोजर फेडरर ने राफेल नडाल को हराया, क्‍वार्टर फाइनल में पहुंचे
16 March 2017
स्विट्जरलैंड के स्टार टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने ऑस्‍ट्रेलियन ओपन टेनिस चैंपियनशिप के फाइनल के परिणाम को दोहराते हुए फिर स्‍पेन के राफेल नडाल पर जीत हासिल की है. फेडरर ने नडाल को पुरुष एकल वर्ग के मुकाबले में 6-2, 6-3 से मात देकर बीएनपी परिबास ओपन टेनिस टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है. स्विस टेनिस स्‍टार ने अपने करियर में पहली बार स्पेन के स्टार खिलाड़ी नडाल पर लगातार तीन मुकाबलों में जीत हासिल की है. इससे पहले फेडरर ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के खिताबी मुकाबले में स्पेन के नडाल को मात दी थी.फेडरर ने स्‍पेन के राफेल नडाल को 6-4, 3-6, 6-1, 3-6, 6-3 से हराकर चैंपियनशिप अपने नाम की थी. उनके करियर का यह 18 वां ग्रैंडस्‍लैम रहा. साल के पहले ग्रैंडस्‍लैम का फाइनल जीतने के बाद फेडरर ने कहा था कि अगर वे फाइनल में अपने मित्र और चिर-प्रतिद्वंद्वी स्पेन के राफेल नडाल के हाथों हार भी जाते तो भी उन्हें खुशी होती.
बीएनपी परिबास ओपन टेनिस टूर्नामेंट में हुए एक अन्य प्री-क्वार्टर फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया के निक कर्गियोस ने उलटफेर करते हुए विश्व के दूसरी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी नोवाक जोकोविक को 6-4 , 7-6 (7-3) से मात देकर अंतिम-8 में जगह बनाई है. टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में किर्गियोस का मुकाबला फेडरर से ही होगा. इंडियन वेल्स टूर्नामेंट के महिला एकल वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली स्वेतलाना कुजनेत्सोवा पहली खिलाड़ी हैं. उन्होंने रूस की एनास्तासिया पाव्लुचेंकोवा को सीधे सेटों में 6-3, 6-2 से मात दी.


सानिया-स्ट्रायकोवा का इंडियन वेल्स में सफर समाप्त
15 March 2017
भारत की दिग्गज महिला टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा को बीएनपी परिबास इंडियन वेल्स हार्डकोर्ट टेनिस टूर्नामेंट के महिला युगल वर्ग क्वार्टर फाइनल मुकाबले में अपनी पूर्व जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस से हार का सामना करना पड़ा।
इस हार के साथ ही सानिया-बारबरा का सफर इस टूर्नामेंट में समाप्त हो गया है और साथ ही इस प्रतियोगिता में भारतीय चुनौती भी समाप्त हो गई है।
टूर्नामेंट में मंगलवार देर रात खेले गए इस मैच में ताइवान की चान युंग जान और स्विट्जरलैंड की मार्टिना हिगिस की जोड़ी ने सानिया और उनकी जोड़ीदार चेक गणराज्य की बारबोरा स्ट्रायकोवा को सीधे सेटों में 6-4, 6-4 से मात दी।
सानिया-बारबरा की जोड़ी ने इटली की सारा इरानी और पोलैंड की एलिसिया रोसोल्सका की जोड़ी को 6-2, 6-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया था।


आज के ही दिन खेला गया था इतिहास का पहला टेस्ट मैच, पढ़ें पूरी कहानी
15 March 2017
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रहा है. तीसरा मैच रांची में होना है साथ ही धोनी के इस शहर में ये पहला टेस्ट होगा. आज हम आपको ले जा रहे हैं क्रिकेट के रोचक इतिहास में. आज से ठीक 140 साल पहले 1877 में विश्व का पहला टेस्ट मैच खेला गया था. पहले टेस्ट से लेकर अभी तक इसमें कई बदलाव आए, न सिर्फ नियम के मामले में बल्कि खिलाड़ियों के आचरण में भी.
क्रिकेट की पहचान 'ए जेंटलमैन्स गेम' के नाम से होती थी. आज जैसे भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच स्लेजिंग और कड़वाहट देखने को मिलती है, वो क्रिकेट के शुरुआती दिनों में देखने को नहीं मिलती थी.
ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड के बीच खेला गया था पहला मैच
खैर, पहला टेस्ट मैच 15 से 19 मार्च तक ऑस्‍ट्रेलिया और इंग्‍लैंड के बीच मेलबर्न में खेला गया था. खेल के लिए कोई समय सीमा नहीं रखी गयी थी, लेकिन मैच सिर्फ चार दिन में ही खत्‍म हो गया था. ऑस्‍ट्रेलिया ने इस मैच में इंग्‍लैंड को 45 रनों से हरा दिया था. ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने टॉस जीत कर पहले बल्‍लेबाजी की थी. पहले बल्‍लेबाजी करते हुए कंगारु टीम ने अपनी पहली पारी में 245 रन बनाये थे. जवाब में इंग्‍लैंड की टीम पहली पारी में महज 196 रन पर ही ऑल आउट हो गयी थी.
दूसरी पारी में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम को इंग्‍लैंड की टीम ने महज 104 रन पर ही ऑल आउट कर दिया. इंग्‍लैंड को जीत के लिए मात्र 153 रन बनाने थे. लेकिन ऑस्‍ट्रेलियाई गेंदबाजों की घातक गेंदबाजी के आगे अंग्रेज जम नहीं पाये और पूरी टीम मात्र 108 रन पर ही ढेर हो गयी और ऑस्‍ट्रेलिया 45 रन से जीत दर्ज कर ली.
किसने बनाया पहला शतक
ऑस्‍ट्रेलिया के चार्ल्स बैन्नरमैन ने पारी के पहले ओवर की दूसरी गेंद पर इतिहास का पहला रन लिया. वो टेस्‍ट क्रिकेट में पहला शतक जमाने वाले खिलाड़ी भी बने. ऑस्‍ट्रेलिया और इंग्‍लैंड के बीच खेले गए विश्व क्रिकेट के पहले टेस्‍ट मैच में उन्‍होंने पहली पारी में शानदार 165 रनों की पारी खेली.
रिटायर्ट हर्ट होने वाला पहला बल्लेबाज
चार्ल्स बैन्नरमैन (165 रन) ने पहले मैच में कमाल की पारी खेली. लेकिन उनके दाएं हाथ की अंगुली में जॉर्ज यूलिएट की गेंद लग गई, जिससे उन्हें फ्रैक्चर हो गया. बैन्नरमैन को रिटायर्ड हर्ट होकर मैदान से बाहर जाना पड़ा. इस तरह वो इतिहास के पहले रिटायर्ड हर्ट होने वाले बल्लेबाज भी बन गए. ये थे पांच विकेट लेने वाले पहले खिलाड़ी
इंग्‍लैंड के गेंदबाज जॉर्ज यूलेकेट ने टेस्‍ट क्रिकेट में एक पारी में पांच विकेट लेने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज हैं. उन्‍होंने पहली पारी में पांच ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाजों को आउट किया. लेकिन इस मैच में सबसे अधिक विकेट और टेस्‍ट मैच में एक पारी में सात विकेट लेने का रिकॉर्ड ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी थॉमस किंग्स्टन केंडल ने बनाया. उन्‍होंने दूसरी पारी में 7 विकेट लिए.
ऑस्ट्रेलिया ने जीत लिया पहला टेस्ट
इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 45 रन से जीत दर्ज की. इंग्लैंड की टीम पहली पारी में 196 रन पर सिमट गई. दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम 104 रन ही बना पाई और इंग्लैंड को जीत के लिए 154 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन 108 रन पर ही पूरी टीम लौट गई.
गूगल ने भी बनाया डूडल
खास अवसरों को अपने ही अंदाज में बयां करने वाले गूगल ने टेस्ट क्रिकेट के इस 'जन्मदिन' को अपने ही अंदाज में डूडल बनाकर याद किया. इस मैच की खास बात ये रही कि इसमें इतिहास का पहला शतक बना, पहले गेंदबाज ने पांच विकेट झटके और पहला रन बना.

गंभीर और भास्कर के बीच विवाद की जांच करेगा डीडीसीए11 March 2017
नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी गौतम गम्भीर और दिल्ली रणजी टीम के कोच के.पी. भास्कर के बीच जारी विवाद की जांच के लिए दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) द्वारा एक स्वतंत्र समिति का गठन किया जाएगा.
वेबसाइट 'ईएसपीएनक्रिकइन्फो डॉट कॉम' की रिपोर्ट के अनुसार, डीडीसीए के प्रशासक और सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति विक्रमजीत सेन ने शुक्रवार सुबह फिरोज शाह कोटला स्टेडियम में गंभीर, दिल्ली टीम के प्रबंधक शंकर सैनी और कोच भास्कर से मुलाकात की, जिसके बाद दोनों पार्टियों ने समिति के गठन पर स्वीकृति दे दी है.
उल्लेखनीय है कि गंभीर ने दिल्ली के कोच भास्कर पर टीम के युवा खिलाड़ियों के बीच अनिश्चितता का माहौल बनाने के आरोप लगाए हैं. भास्कर ने कहा, "गंभीर के इस प्रकार के आरोपों की घटनाओं के कई उदाहरण हैं और दुर्भाग्यवश इस बार निशाना मैं बना हूं. मैं सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति सेन का सम्मान करता हूं और मुझे उनके फैसले पर पूरा भरोसा है."
गंभीर ने इस बात को स्वीकार किया है कि विजय हजारे ट्रॉफी में सोमवार को उत्तर प्रदेश और दिल्ली के मैच के बाद उनका कोच भास्कर के साथ विवाद हुआ था, लेकिन उन्हें कोच को अपशब्द कहने की बात से साफ इनकार कर दिया है.


चोटिल स्टार्क की जगह लेंगे कमिंस, बाकी बचे दो टेस्ट खेलेंगे
11 March 2017
मौजूदा बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के बाकी बचे दो टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलियाई तेज आक्रमण पैट कमिंस के हाथ में होगा. 23 वर्षीय कमिंस चोटिल मिशेल स्टार्क की जगह लेंगे, जो दाएं पैर के फ्रैक्चर के बाद ऑस्ट्रेलिया लौट चुके हैं.
शेफील्ड शील्ड में शानदार वापसी से चुने गए
दाएं हाथ के तेज गेंदबाज कमिंस ने चोटिल होने के छह साल बाद वापसी करते हुए शेफील्ड शील्ड मैच में 8 विकेट चटकाए. जो उनके ऑस्ट्रेलियाई टीम में स्टार्क के विकल्प के तौर पर चुने जाने का आधार बना.
2011 में डेब्यू के बाद पहली बार टेस्ट खेलेंगे
कमिंस ऑस्ट्रेलिया के लिए 2011 में डेब्यू के बाद पहली बार कोई टेस्ट खेलेंगे. द. अफ्रीका के खिलाफ अपने पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करते हुए उन्होंने 7 विकेट चटकाए थे.
सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच 16 से रांची में
भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज का तीसरा टेस्ट 16 मार्च से रांची में खेला जाएगा. सीरीज में दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर हैं. दूसरे टेस्ट में 75 रनों की हार के बाद ऑस्ट्रेलिया को दो झटके लगे. मिशेल स्टार्क से पहले पेसर मिशेल मार्श कंधे की चोट की वजह से बाकी बचे दो टेस्ट मैचों से बाहर हो गए थे. उनकी जगह हरफनमौला खिलाड़ी मार्कस स्टोइनिस को बुलाया गया है.


स्मिथ DRS विवाद: विराट के साथ BCCI; दोनों पर कोई एक्शन नहीं होगा- ICC
8 March 2017
बेंगलुरू में दूसरे टेस्ट के दौरान हुए स्टीव स्मिथ डीआरएस विवाद में बयानबाजी जारी है। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने स्मिथ का बचाव किया तो बीसीसीआई ने भी बयान जारी कर कहा- विराट कोहली और टीम इंडिया का स्टैंड सही था। इसके बाद बुधवार रात क्रिकेट की सुप्रीम बॉडी आईसीसी का बयान आया। उसने कहा- कोहली हों या स्टीव स्मिथ, किसी के भी खिलाफ डीआरएस कॉन्ट्रोवर्सी में कार्रवाई नहीं होगी।
- भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने एक लेटर जारी करते हुए कहा, 'कई बार इस घटना का वीडियो देखने और विचार के बाद बीसीसीआई टीम और कप्तान के साथ खड़ा है।'
- बीसीसीआई के मुताबिक, विराट मेच्योर क्रिकेटर हैं। उनका ऑनफील्ड बर्ताव दूसरों के लिए मिसाल है। उस घटना के वक्त विराट ने जो भी किया, उसे आईसीसी के एलिट पैनल अंपायर नाइजेल लान्ग का भी सपोर्ट मिला। नाइजेल खुद स्मिथ को रोकने के लिए उनकी ओर दौड़े थे।
बीसीसीआई ने आईसीसी से की रिक्वेस्ट
- घटना उस वक्त हुई थी जब स्टीव स्मिथ अंपायर द्वारा lbw आउट दिए जाने के बाद डीआरएस मामले में हेल्प के लिए पवेलियन की ओर देख रहे थे।
- बीसीसीआई ने आईसीसी से भी रिक्वेस्ट करते हुए कहा कि वो भी तुरंत इस बात पर ध्यान दे कि स्मिथ ने मैच के बाद हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में माना था कि उस समय उनकी सोच ने काम करना बंद कर दिया था।
- भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने उम्मीद जताई कि सीरीज के बाकी दोनों मैच पूरी तरह से खेल भावना के साथ खेले जाएंगे।
ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड और कोच ने किया था स्मिथ का बचाव
- विवाद बढ़ता देख ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने स्मिथ का बचाव किया था।
- क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड ने एक बयान जारी करते हुए कहा, 'वे अपने कप्तान और टीम के साथ मजबूती से खड़े हैं।'
- उन्होंने कहा कि 'उनके कप्तान की ईमानदारी पर सवाल उठाना गलत है और मैच के दौरान डीआरएस के विवादास्पद फैसले पर ड्रेसिंग रूम से मदद लेने के स्मिथ के फैसले में कोई गलत इरादा नहीं था।'
- सदरलैंड ने कहा, 'मैं स्मिथ, ऑस्ट्रेलियाई टीम और ड्रेसिंग रूम की ईमानदारी पर सवाल उठाने वाले आरोपों को गलत मानते हुए इसे खारिज करता हूं।'
- सदरलैंड का बयान कोच डैरेन लेहमैन के उस बयान के बाद आया, जिसमें उन्होंने कहा था कि 'ऑस्ट्रेलिया ने अच्छा क्रिकेट खेला।'
लक्ष्मण ने की थी बैन की डिमांड
- इस मामले में पूर्व भारतीय बैट्समैन वीवीएस लक्ष्मण ने स्मिथ पर बैन लगाने की मांग की थी। उस वक्त कमेंट्री कर रहे सुनील गावसकर और वीवीएस लक्ष्मण ने स्मिथ के इस रवैये की खासी आलोचना की थी।
- टी ब्रेक के दौरान तो लक्ष्मण ने तो यहां तक कह डाला था कि मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड को इस मामले को गंभीरता से देखना चाहिए और स्मिथ पर बैन लगाना चाहिए।
- लक्ष्मण ने कहा था, 'एक कप्तान को ऐसा नहीं करना चाहिए। यह पूरी तरह खेल भावना के खिलाफ है। इस बात की भी जांच होनी चाहिए कि क्या स्मिथ ने पहले भी डीआरएस का इस्तेमाल करते हुए ऐसा कुछ किया है और अपने ड्रेसिंग रूम की मदद ली है। यदि उन्हें छोड़ा जाता है तो इसका गलत संदेश जाएगा।'
गांगुली और गावसकर ने भी किया था विरोध
- वहीं पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने कहा था, अगर अंपायर ने खुद देखा कि स्मिथ डीआरएस के रूल्स तोड़ रहे हैं तो उन्हें एक्शन लेना चाहिए।
- सुनील गावसकर ने कहा था, 'हमें देखना होगा कि स्मिथ की इस हरकत पर आईसीसी और मैच रेफरी क्या फैसला लेते हैं। मैच रेफरी और अंपायरों को कड़ा एक्शन लेना होगा।'
अश्विन ने बताया अंडर 10 खेल जैसा
- ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने इस विवाद को लेकर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के रवैये को अंडर-10 खेल जैसा बताया।
- अश्विन के मुताबिक, डीआरएस पर बेंगलुरु टेस्ट की घटना पूरी तरह से अजीब है, यह घटना अंडर-10 खेल जैसी है जिसने हमें अपने जूनियर क्रिकेट दिनों की याद दिला दी।
- उन्होंने कहा, 'यह बहुत ही हैरान करने वाली घटना है। आखिरी बार मैंने ऐसा कुछ अंडर-10 मैच में देखा था जब हमारे कोच हमें बताया करते थे कि प्वाइंट और कवर के फील्डर कहां खड़े होते हैं।'


जब माइकल क्लार्क ने दी ब्रेट ली से गेंदबाजी कराने की धमकी, तो गावस्कर ने पूछा-द्रविड़ को बुलाऊं क्या?
8 March 2017
भारत और आॅस्ट्रेलिया के बीच बेंगलुरू टेस्ट मैच में मैदान पर जोरदार मुकाबला चल रहा था वहीं, दूसरी तरफ कमेंट्री बॉक्स में भी जोश अपने चरम पर था। विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में आॅस्ट्रेलिया को हार का स्वाद चखा रही थी तो वहीं, कमेंट्री बॉक्स में सुनील गावस्कर पूर्व आॅस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क को चारो खाने चित्त करने में लगे हुए थे। बेंगलुरू टेस्ट मैच के चौथे दिन आॅस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने कमेंट्री के दौरान भारतीय बल्लेबाजों का मजा लेना चाहा। मैच के चौथे दिन एम चिन्नास्वामी मैदान की पिच पर बल्लेबाजी करना बहुत मुश्किल हो गया था। सुबह के सत्र में भारत की बल्लेबाजी पूरी तरह बिखर गयी और 6 विकेट पहले घंटे के खेल में ही पवेलियन लौट गए।
आॅस्टेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने चौ​थे दिन पहले सत्र में नई गेंद ली। जोश हेज़लवुड और मिचेल स्टॉर्क ने अपने कप्तान को निराश नहीं किया और एक एक ओवर के स्पेल में भारत के चार विकेट उखाड़ दिए। इसके साथ ही आॅस्ट्रेलिया की टीम ने मैच में जबरदस्त वापसी कर ली। इसके बाद उमेश यादव भी चलते बने। भारत के छह विकेट गिर चुके थे। आखिरी विकेट के लिए इशांत शर्मा और रिद्धिमान साहा ने आॅस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को इंतजार कराया। अंतिम विकेट के लिए उन्होंने रिद्धिमान साहा के साथ 16 रनों की अहम साझेदारी की। इस दौरान मैच में कमेंट्री कर रहे माइकल क्लार्क ने अपने साथी कमेंटेटर सुनील गावस्कर से बातचीत में कहा, ‘अगर आॅस्ट्रेलियाई टीम में ब्रेट ली होते तो वह इशांत शर्मा को इतनी देर तक नहीं टिकने देते।’

बेंगलुरु टेस्ट: भारत को पुजारा और रहाणे ने दिलाई वापसी
6 March 2017
बेंगलुरु: चेतेश्वर पुजारा की नाबाद 79 रन की पारी की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन 126 रन की बढ़त हासिल की जिससे मेजबान टीम की उम्मीदें कायम है. भारत ने 4 विकेट के नुकसान पर 213 रन बना लिए हैं. शुरुआत में चेतेश्वर पुजारा के आत्मविश्वास में कमी दिखी लेकिन पिच पर कुछ समय बिताने के बाद उनके फुटवर्क में सुधार आया. इस खतरनाक पिच पर वह 173 गेंदों में 79 रन बनाकर डटे हुए हैं. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 276 रन बनाये जिसमें बायें हाथ के स्पिनर रविंद्र जडेजा ने 63 रन देकर छह विकेट चटकाये.
पुजारा ने शानदार जज्बा दिखाया और सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (51) ने मैच में दूसरा अर्धशतक लगाकर मदद की. पुजारा और अजिंक्य रहाणे (नाबाद 40 रन) के बीच पांचवें विकेट के लिये नाबाद 93 रन की साझेदारी निर्णायक साबित हो सकती है. सीरीज में पहली बार भारत ने पूरा एक सत्र बिना विकेट गंवाये निकाला. पुजारा ने 173 गेंद का सामना करते हुए छह चौके जमा लिये हैं जबकि रहाणे ने भी 105 गेंद का सामना करते हुए तीन बाउंड्री लगायी। काफी श्रेय राहुल को दिया जाना चाहिए जिन्होंने 85 गेंद की चार चौके जड़ित पारी के दौरान तेज गेंदबाजों और स्पिनरों दोनों का अच्छी तरह सामना किया. पहली स्लिप में खड़े ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने उनका कैच लपका, इस दौरान भारतीय क्रिकेटर ने अपने करियर में 1000 टेस्ट रन पूरे किये.
मेहमान के गेंदबाज ने जोश हेजलवुड भारतीय बल्लेबाजों पर जोरदार अटैक किया. इस पारी में उन्होंने अपनी रणनीति में बदलाव किया और सिम के जरिये गेंद फेंकना बेहतर समझा. उनकी गेंदबाजी बेहतरीन रही. विराट को भी हेजलवुड ने पगबाधा कर भारत का तीसरा अहम विकेट निकाला. तब मैच पर ऑस्ट्रेलिया मजबूत पकड़ हो गई थी लेकिन बाद में मैच उसके हाथ से निकलने लगा. हालांकि उन्हें अभी निराश नहीं होना चाहिए। मैट रेनशॉ, स्टीवन स्मिथ, शॉन मार्श और मैथ्यू वेड ने साबित किया है कि कठिन परिस्थितियों में मोर्चा कैसे संभाला जाता है। इस लिए चौथा दिन रोमांचक होने वाला है।
मैच के बाद राहुल ने कहा, पहली पारी से यह आसान थी, मैंने यहां बहुत क्रिकेट खेला है। यह मेरा होम टाउन है और मैं जानता हूं बल्लेबाजी के लिए तीसरा दिन बेहतर होता है। चौथे दिन गेंद ऊंची नीची रहती हैं। इसलिए हम खुश हैं। हम कल अच्छी शुरुआत करेंगे और साझेदारी अच्छी होगी। हमारे इरादे स्पष्ट थे और स्ट्राइक को रोटेट किया। इससे ऑस्ट्रेलिया पर दबाव बना।


अनुराग ठाकुर ने सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त मांगी माफ़ी, झूठा हलफ़नामा दाखिल करने पर मिला था अवमानना नोटिस
6 March 2017
झूठा हलफनामा दाखिल करने के आरोप में न्यायालय की अवमानना नोटिस का सामना कर रहे भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने सोमवार (6 मार्च) को शीर्ष अदालत से बिना शर्त माफी मांगी। न्यायालय में मौजूद ठाकुर ने कहा कि उनकी मंशा कभी भी कोई झूठी जानकारी शीर्ष अदालत को देने की नहीं थी और उन्होंने एक हलफनामा दाखिल किया जिसमें उन परिस्थितियों का जिक्र किया जिनके तहत उनके कथन के कारण अवमानना कार्यवाही शुरू की गयी। न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष ठाकुर की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता पी एस पटवालिया ने कहा, ‘मैंने (अनुराग) बिना शर्त माफी मांगी है और मैंने परिस्थितियों को बयां किया है। मेरा इरादा कोई भी गलत जानकारी दाखिल करने का नहीं था।’
पीठ ने इस हलफनामे के अवलोकन के बाद मामले की सुनवाई 17 अप्रैल के लिये स्थगित कर दी और अनुराग ठाकुर को भी उस दिन व्यक्तिगत रूप से पेश होने से छूट दे दी। शीर्ष अदालत ने दो जनवरी को बीसीसीआई के अड़ियल रवैये पर कडा रुख अपनाते हुए अनुराग ठाकुर और अजय शिर्के को प्रशासन में व्यापक बदलाव के उसके निर्देशों का पालन करने में ‘व्यवधान’ पैदा करने तथा लटकाने के कारण अध्यक्ष तथा सचिव पद से हटा दिया था। पीठ ने स्वायत्ता के मुद्दे पर आईसीसी को पत्र लिखने के बारे में झूठा हलफनामा दाखिल करने के कारण ठाकुर के खिलाफ अवमानना की कार्यवाही का नोटिस जारी कर दिया था।
इस मामले में सोमवार (6 मार्च) को सुनवाई के दौरान बीसीसीआई की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि उन्हें आईसीसी की आगामी बैठक में उठने वाले विभिन्न मुद्दों पर मंत्रणा के लिये राज्यों के संगठनों के साथ बैठक करने की अनुमति प्रदान की जाये। उन्होंने कहा कि यदि इन मुद्दों पर चर्चा नहीं की गयी तो सरकार और बीसीसीआई को बहुत अधिक धन का नुकसान होगा क्योंकि यह राजस्व से संबंधित है। हालांकि, शीर्ष अदालत द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता पराग त्रिपाठी ने इस अनुरोध का विरोध किया और कहा कि ऐसी बैठक की अनुमति उसी परिस्थिति में दी जा सकती है जब राज्यों के संगठन न्यायालय के निर्देशानुसार यह आश्वासन दें कि वे न्यायमूर्ति आर एम लोढ़ा समिति की सिफारिशों का पालन करेंगे।
इस पर पीठ ने कहा कि पहले तथ्य स्पष्ट हो जायें। हमे आईसीसी से कुछ लेना देना नहीं है। हमारा सरोकार तो इतना ही है कि एक देश के रूप में भारत के सर्वश्रेष्ठ हितों की पूर्ति होनी चाहिए और उसे पैसा भी मिलना चाहिए। न्यायालय ने कहा कि मान लीजिये इसमें नुकसान है और बहुत अधिक धन का नुकसान है तो इसका ध्यान रखना होगा। पीठ ने जब यह कहा कि आईसीसी कई स्तर वाली संस्था है और बीसीसीआई इसका एक सदस्य है तो सिब्बल ने कहा कि परंतु बीसीसीआई से राजस्व मिलता है। 90 फीसदी राजस्व अकेले बीसीसीआई से ही आता है। इस पर पीठ ने स्पष्ट किया कि वह आईसीसी और बीसीसीआई के वित्तीय पहलू पर गौर नहीं करेगी। न्यायालय ने कहा कि इस मसले पर 20 मार्च को सुनवाई की जायेगी।


IND vs AUS : पुणे टेस्ट में आस्ट्रेलिया ने भारत को 333 रनों से हराया, टीम इंडिया 107 रनों पर ढ़ेर
25 Feb. 2017
पुणे: करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले स्टीव ओकीफी और नाथन लियोन की फिरकी के जादू से आस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में भी भारत को सिर्फ 107 रन पर समेटकर तीसरे ही दिन पहला क्रिकेट टेस्ट 333 रन से जीतकर चार मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त बना ली। आस्ट्रेलिया ने इसके साथ ही भारत के लगातार 19 मैचों के अजेय अभियान को भी थाम दिया और साथ ही 20 टेस्ट बाद मेजबान टीम को उसके मैदान पर हार का स्वाद चखाया।
पहली पारी में 35 रन देकर छह विकेट चटकाने वाले बायें हाथ के स्पिनर ओकीफी ने दूसरी पारी में भी 35 रन देकर छह विकेट चटकाए जबकि आफ स्पिनर लियोन ने 53 रन देकर चार विकेट हासिल किए जिससे भारतीय टीम 441 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए सिर्फ 33.5 ओवर में 107 रन पर पवेलियन लौट गई। मेजबान टीम की ओर से चेतेश्वर पुजारा (31) के अलावा कोई बल्लेबाज 20 रन तक भी नहीं पहुंच पाया।
ओकीफी ने मैच में 70 रन देकर 12 विकेट चटकाए जो किसी आस्ट्रेलियाई गेंदबाज का भारतीय सरजमीं पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी है। इससे पहले एलेन डेविडसन ने दिसंबर 1959 में कानपुर में भारत के खिलाफ मैच में 124 रन देकर 12 विकेट हासिल किए थे। इससे पहले आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ ने अपना 18वां टेस्ट शतक जड़ते हुए 202 गेंद में 11 चौकों की मदद से 109 रन बनाए जिससे मेहमान टीम ने दूसरी पारी में 285 रन का स्कोर खड़ा किया। तेज टर्न और उछाल के बीच स्मिथ की यह पारी भारतीय सरजमीं पर किसी विदेशी बल्लेबाज की सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक है। यह भारत के खिलाफ पिछले पांच टेस्ट में उनका लगातार पांचवां शतक है।
भारत की अपनी सरजमीं पर दिसंबर 2012 और 20 टेस्ट के बाद यह पहली हार है। तब उसे इंग्लैंड के खिलाफ कोलकाता में सात विकेट से शिकस्त का सामना करना पड़ा था। विराट कोहली की अगुआई में भारतीय टीम को अपनी सरजमीं पर पहली बार शिकस्त का सामना करना पड़ा है। दूसरा टेस्ट चार मार्च से बेंगलुरू में खेल जाएगा।
लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत की शुरूआत बेहद खराब रही। ओकीफी ने मुरली विजय (02) को पांचवें ओवर में पगबाधा किया जबकि पहली पारी के शीर्ष स्कोर लोकेश राहुल (10) को अगले ओवर में लियोन ने पगबाधा किया जिससे भारत का स्कोर दो विकेट पर 16 रन हो गया। इन दोनों ने रिव्यू लिया लेकिन मैदानी अंपायर का फैसला बरकरार रहा और भारत ने पहले छह ओवर में ही दोनों रिव्यू गंवा दिए।
शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों में पुजारा और कप्तान विराट कोहली ही कुछ आश्वस्त दिखे। कोहली हालांकि ओकीफी की सीधी गेंद को पूरी तरह से चूककर बोल्ड हुए। उन्होंने गेंद को नहीं खेलने का फैसला किया और गेंद स्टंप से टकरा गई। उन्होंने 13 रन बनाए।
अजिंक्य रहाणे (18) ने इसके बाद ओकीफी की गेंद पर कवर में लियोन को आसान कैच थमाया। ओकीफी ने रविचंद्रन अश्विन (08) को पगबाधा करके मैच में पहली बार 10 विकेट हासिल किए।
भारत ने चाय से पहले की आखिरी गेंद पर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा (05) का विकेट गंवाया जिससे टीम का स्कोर छह विकेट पर 99 रन हो गया। साहा को ओकीफी ने पगबाधा आउट किया। चाय के बाद दूसरी ही गेंद पर ओकीफी ने पुजारा को पगबाधा किया। लियोन ने इसके बाद 32वें ओवर में रविंद्र जडेजा (03) को बोल्ड करने के बाद इशांत शर्मा (00) को डेविड वार्नर के हाथों कैच कराया।
लियोन ने अगले ओवर में जयंत यादव (05) को विकेटकीपर मैथ्यू वेड के हाथों कैच कराके आस्ट्रेलिया को जीत दिलाई।
भारत इस तरह मैच में दोनों पारियों में मिलाकर सिर्फ 212 रन ही बना पाया। इससे पहले आस्ट्रेलिया ने आज लंबे खिंचे पहले सत्र में 41 ओवर में 142 रन जोड़े। टीम चार विकेट पर 143 रन से आगे खेलने उतरी। स्मिथ आज 59 रन से आगे खेलने उतरे। भारतीय क्षेत्ररक्षकों ने कल उन्हें तीन जीवनदान दिए थे और जब उन्होंने अपने कल के स्कोर में सात रन जोड़े थे तब रहाणे ने लेग स्लिप में उनका कैच छोड़ा। अश्विन तीसरी बार दुर्भाग्यशाली रहे और स्मिथ का विकेट अपने नाम नहीं कर पाए।
जडेजा ने मिशेल मार्श (30) को विकेटकीपर साहा के हाथों कैच कराके भारत को दिन की पहली सफलता दिलाई। स्मिथ और मार्श ने पांचवें विकेट के लिए 56 रन जोड़े। स्मिथ 73 रन के निजी स्कोर पर भी भाग्यशाली रहे जब जडेजा की गेंद उनके पैड पर लगी लेकिन अंपायर रिचर्ड केटलब्रो ने उन्हें नाट आउट दिया। भारत के पास रिव्यू नहीं बचा था लेन रीप्ले में साफ दिखा कि स्मिथ आउट थे।
स्मिथ ने जडेजा पर चौका और फिर दो रन के साथ 187 गेंद में शतक पूरा किया। जडेजा ने हालांकि एक ओवर बाद उन्हें पगबाधा कर दिया। स्मिथ ने रिव्यू लिया लेकिन टीवी अंपायर ने मैदानी अंपायर के फैसले को सही करार दिया। मिशेल स्टार्क (30) ने इस बीच ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए आस्ट्रेलिया की बढ़त को 400 रन के पार पहुंचाया। उन्होंने जडेजा पर दो जबकि अश्विन पर एक छक्का जड़ा। वह हालांकि अश्विन पर एक और छक्का जड़ने की कोशिश में बाउंड्री पर लोकेश राहुल को कैच दे बैठे। उन्होंने 31 गेंद का सामना करते हुए तीन छक्के और दो चौके मारे।
उमेश ने इसके बाद नाथन लियोन (13) को पगबाधा किया जबकि जडेजा ने स्टीव ओकीफी (06) को साहा के हाथों कैच कराके आस्ट्रेलिया की पारी का अंत किया। भारत की ओर से अश्विन ने 119 रन देकर चार जबकि जडेजा ने 65 रन देकर तीन विकेट चटकाए। उमेश ने 39 रन देकर दो विकेट हासिल किए।


NZvsSA : एबी डिविलियर्स ने विस्फोटक बैटिंग के साथ सौरव गांगुली का रिकॉर्ड तोड़ा, सचिन-लारा-धोनी भी पीछे छूटे
25 Feb. 2017
दक्षिण अफ्रीका की टीम इस समय शानदार फॉर्म में चल रही है. खुद कप्तान एबी डिविलियर्स (AB de villiers) चोट के बाद वापसी करने के बाद से रन बरसा रहे हैं. प्रोटियाज टीम इस समय न्यूजीलैंड के साथ 5 मैचों की वनडे सीरीज खेल रही है, जिसका तीसरा वनडे वेलिंगटन में खेला जा रहा है. दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीतने के बाद पहले बैटिंग की और 8 विकेट पर 271 रन बनाए और न्यूजीलैंड को 112 रन पर समेट कर 159 रन से मैच जीतकर सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली. इस बीच कप्तान डिविलियर्स ने एक नया इतिहास रचते हुए टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का 13 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया. इस मामले में उन्होंने महान सचिन तेंदुलकर, ब्रायन लारा, रिकी पॉन्टिंग जैसे धुरंधरों को पीछे छोड़ा. आइए जानते हैं कि डिविलियर्स ने कौन-सा रिकॉर्ड बनाया और इसमें और कौन-से बल्लेबाज हैं शामिल...
न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के तीसरे वनडे में एबी डिविलियर्स हाशिम अमला (7) और फाफ डुप्लेसिस (36) के आउट होने के बाद मैदान पर उतरे. उस समय उन्हें यह रिकॉर्ड बनाने के लिए महज 5 रन चाहिए थे, जो उन्होंने आसानी से हासिल कर लिए. उन्होंने इस रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिए सबसे कम गेंदे भी खेली हैं. हालांकि इसके बाद भी उन्होंने अपनी पारी जारी रखी और 80 गेंदों में 85 रन की शानदार पारी खेली, जिसमें 7 चौके और एक छक्का लगाया. उन्होंने जेपी डुमिनी के साथ 42 और पर्नेल के साथ 84 रन जोड़ते हुए टीम का स्कोर 50 ओवर में 8 विकेट पर 271 रन तक पहुंचाने में अहम योगदान दिया.
इसमें बने नंबर वन
360 डिग्री प्लेयर कहलाने वाले डिविलियर्स ने इस मैच पांच रन बनाने के साथ ही वनडे क्रिकेट में अपने 9000 रन पूरे करते हुए टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के वर्ल्ड रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. उन्होंने इसके लिए 9005 गेंदें खेलीं. मतलब 100 के आसपास के स्ट्राइक रेट से उन्होंने यह रन ठोके हैं. अब वह वनडे में सबसे तेजी से यह उपलब्धि हासिल करने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. वह लगातार फॉर्म में चल रहे हैं और श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में चोट के बाद वापसी करते हुए 5 वनडे में तीन फिफ्टी (63, 60 और 64*) लगाईं थीं. उनसे पहले एडम गिलक्रिस्ट ने 9328 गेंदों में 9000 रन पूरे किए थे.
दक्षिण अफ्रीका के दूसरे, दुनिया के 18वें बल्लेबाज
एबी डिविलियर्स ने मैच और पारी दोनों के लिहाज से वर्ल्ड रिकॉर्ड बना लिया है. उन्होंने 214 वनडे की 205 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की है. जैक कलिस के बाद डिविलियर्स दक्षिण अफ्रीका के दूसरे और दुनिया के 18वें खिलाड़ी हैं जिन्होंने 9000 वनडे रन पूरे किए हैं. सौरव गांगुली ने साल 2004 में 236वें वनडे में मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी 228वीं पारी में 9000 रन पूरे कर रिकॉर्ड अपने नाम किया था.
टीम इंडिया के मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने 242 वनडे की 235 पारियों में 9000 हजार रन पूरे कर सबसे तेजी से इसे पूरा करने का रिकॉर्ड बनाया था, जिसे गांगुली ने तोड़ा था. वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा ने 246 मैचों की 239 पारियों और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने 248 मैचों की 242 पारियों में यह उपलब्धि दर्ज की थी. टीम इंडिया के सफलतम कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) ने 244 पारियों में यह कमाल किया था.
समय के लिहाज से द्रविड़ हैं आगे
डिविलियर्स ने मैच और पारियों के लिहाज से भले ही रिकॉर्ड बना लिया है, लेकिन सबसे कम समय में 9000 रन पूरे करने की बात करें, तो यह कमाल टीम इंडियाी के ही पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ के नाम यह रिकॉर्ड है. राहुल द्रविड़ ने अपने डेब्यू के बाद 9 साल और 332 दिन में ही वनडे में 9 हजार रन पूरे कर लिए थे, जबकि डिविलियर्स ने इसके लिए 12 साल लिए हैं. उन्होने 2 फरवरी 2005 में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे डेब्यू किया था.
औसत में डिविलियर्स के बाद हैं धोनी
वनडे क्रिकेट में 9000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज़ों में एबी डिविलियर्स का औसत सबसे ज्यादा है, जो 53.89 है. उनके बाद एमएस धोनी का नंबर आता है, 51.14 के औसत से रन बनाए हैं. सचिन तेंदुलकर ने वनडे में सर्वाधिक 18426 रन बनाए हैं, लेकिन उनका औसत 44.83 और स्ट्राइक रेट 86.23 रहा.


भारत को शूटिंग वर्ल्‍डकप के पहले दिन पूजा घटकर ने दिलाया ब्रॉन्‍ज मेडल
24 Feb. 2017
नई दिल्‍ली: पूजा घटकर ने कुछ तकनीकी दिक्कतों से उबरते हुए आज यहां महिला 10 मीटर एयर राइफल में ब्रॉन्‍ज मेडल जीता जिससे भारत ने अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी खेल महासंघ (आईएसएसएफ) वर्ल्‍डकप में सकारात्मक शुरुआत की. पूर्व एशियाई चैम्पियन 28 साल की पूजा फाइनल में 228.8 के स्कोर के साथ पोडियम में जगह बनाने में सफल रही और यहां डॉ. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में वर्ल्‍डकप में अपना पहला मेडलजीता. चीन की मेंगयाओ शी ने 252 .1 अंक के साथ गोल्‍ड मेडल जीतते हुए स्पर्धा में नया वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बनाया. मेंगयाओ की हमवतन डोंग लिजी ने प्रतियोगिता के पहले दिन 248.9 अंक के साथ सिल्‍वर मेडल अपने नाम पर किया. पिछले साल मामूली अंतर से रियो ओलिंपिक कोटा हासिल करने में नाकाम रही पूजा ने फाइनल राउंड की शुरुआत 10.4 अंक के साथ की और कुछ मौकों पर चूकने के अलावा अच्छा स्कोर बनाया. वह पहले चरण के बाद 104.6 अंक के साथ दूसरे स्थान पर थीं.
लिजी ने इस दौरान पूजा को कड़ी टक्कर दी जबकि मेंगयाओ ने शीर्ष पर बढ़त बरकरार रखी. पूजा ने अपने 19वें और 21वें शाट में क्रमश: 10 . 8 और 10 . 7 अंक के साथ ब्रॉन्‍ज मेडल पक्का किया. फाइनल के दौरान पूजा की बंदूक का ‘ब्लाइंडर’ भी गिर गया और उन्हें अंतिम कुछ शॉट आंख बंद करके लगाने पड़े. क्वालीफिकेशन में पूजा 418 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रही थीं जबकि मेंगयाओ ने 418 . 6 अंक के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया था. लिजी ने 417.7 अंक जुटाए थे.



INDvsAUS: आर. अश्विन ने तोड़ा महान ऑलराउंडर कपिल देव का 37 साल पुराना रिकॉर्ड
24 Feb. 2017
पुणे: भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने महान ऑलराउंडर कपिल देव का 37 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया है. पुणे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट के दूसरे दिन मेहमान टीम की पहली पारी का अंतिम विकेट चटकाते हुए अश्विन ने इस घरेलू सीजन में 64 विकेट पूरे किये, जिसके साथ ही उन्होंने कपिल देव के होम सीजन में सबसे अधिक 63 विकेटों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. कपिल देव ने 1979-80 में 13 मुकाबलों में 63 विकेट लिए थे वहीं अश्विन सिर्फ 10 मैचों में ही इस रिकॉर्ड को तोड़ने में कामयाब रहे.
अश्विन, जो हाल ही में टेस्ट क्रिकेट में सबसे जल्दी 250 विकेट पूरे करने वाले गेंदबाज़ बने थे, 2012-13 सीजन में इस रिकॉर्ड को तोड़ने के करीब आए थे. इस सीजन में अश्विन ने 10 टेस्ट में 61 विकेट हासिल करते हुए विश्‍व क्रिकेट में अपनी प्रतिभा का परिचय दिया था. विश्व के नंबर 1 स्पिनर अश्विन ने इस होम सीजन में बेहतरीन शुरुआत करते हुए न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 3 टेस्ट की सीरीज में 27 विकेट हासिल किए, इसके बाद इंग्लैंड के विरुद्ध अश्विन ने 5 मैचों में कुल 28 विकेट झटके और बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट में वे 6 विकेट हासिल करने में कामयाब रहे. 30 वर्षीय इस स्पिनर को अब भारतीय धरती पर 200 विकेट पूरे करने के लिए सिर्फ 7 विकेट चाहिए. ऐसा करते ही वह अनिल कुंबले (350), हरभजन सिंह (265) और कपिल देव (219) के बाद ये उपलब्धि हासिल करने वाले चौथे भारतीय गेंदबाज बन जाएंगे.
टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट में सबसे कम मैचों में 250 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे. उन्‍होंने अपने 45वें टेस्‍ट में यह उपलब्धि हासिल की थी. श्विन से पहले सबसे कम टेस्‍ट में 250 विकेट के आंकड़े तक पहुंचने का रिकॉर्ड लिली के ही नाम पर था. इसी तरह दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज डेल स्टेन को 250 विकेट तक पहुंचने के लिए 49 टेस्ट लगे थे. दक्षिण अफ्रीका के ही एक अन्‍य तेज गेंदबाज एलन डोनाल्‍ड ने 50 टेस्‍ट में 250 का आंकड़ा छुआ था.'व्‍हाइट लाइटनिंग' के नाम से मशहूर रहे डोनाल्‍ड के नाम पर 330 टेस्‍ट विकेट दर्ज हैं.



INDvsAUS Test : उमेश यादव ने ऑस्ट्रेलिया को झकझोरा, झटके 4 विकेट, पहले दिन ऑस्ट्रेलिया- 256/9
23 Feb. 2017
पुणे: टीम इंडिया वर्तमान में आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन है, तो ऑस्ट्रेलियाई टीम नंबर दो पर है. जाहिर है जब दो शीर्ष टीमों की टक्कर हो रही है, तो रोमांच तो रहेगा ही. फैन्स की नजरें पुणे में खेले जा रहे पहले टेस्ट के पहले दिन के खेल पर पर टिकी रहीं. पहला दिन पूरी तरह से टीम इंडिया के गेंदबाजों के नाम रहा. खासतौर पर तेज गेंदबाज उमेश यादव (Umesh Yadav) ने गजब की गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया के 4 विकेट झटक लिए. दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने 94 ओवरों में 9 विकेट पर 256 रन बना लिए. मिचेल स्टार्क (57) और जॉश हेजलवुड (1) नाबाद रहे. धड़ाधड़ गिरते विकेटों के बीच स्टार्क ने तूफानी पारी खेली और महज 47 गेंदों में फिफ्टी बना दी. उनसे पहले मैट रेनशॉ 36 रन पर रिटायर्ड हर्ट होने के बाद फिर बैटिंग करने के लिए लौटे और अच्छी बल्लेबाजी की. उन्होंने करियर की दूसरी फिफ्टी बनाई, लेकिन 68 रन (156 गेंद, 10 चौके, 1 छक्का) पर आर अश्विन ने उन्हें आउट कर दिया. टीम इंडिया की ओर से उमेश यादव ने 4 विकेट, रवींद्र जडेजा और आर अश्विन ने 2-2 विकेट, तो जयंत यादव ने एक विकेट झटका. दिनभर स्पिनरों ने सबसे अधिक गेंदबाजी की, जिससे टीम इंडिया का ओवर रेट कापी बेहतर रहा और उसने निर्धारित 90 ओवरों से 4 ओवर अधिक फेंक डाले.
ऑस्ट्रेलिया का विकेट पतन - 1/82 (डेविड वॉर्नर- 38), 2/119 (शॉन मार्श- 16), 3/149 (पीटर हैंड्सकॉम्ब- 22), 4/149 (स्टीव स्मिथ- 27), 5/166 (मिचेल मार्श- 5), 6/190 (मैथ्यू वेड- 8), 7/198 (मैट रेनशॉ- 68), 8/205 ( स्टीफन ओकीफी- 0), 9/205 (नैथन लियोन- 0)
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम की ओर से मैट रेनशॉ ने सबसे अधिक 68 रन, तो मिचेल स्टार्क ने नाबाद 57 रन, डेविड वॉर्नर ने 38 रन (77 गेंद, 6 चौके), कप्तान स्टीव स्मिथ ने 95 गेंदों में 27 रन, शॉन मार्श ने 55 गेंदों का सामना किया और 16 रन जोड़े. पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 45 गेंदों में 22 रन बनाए. कंगारुओ की ओर से कोई भी बड़ी साझेदारी नहीं हो पाई. जैसे ही कोई जोड़ी आगे बढ़ती तो टीम इंडिया के गेंदबाज उसे तोड़ देते. खासतौर से चायकाल के बाद तो उसकी बल्लेबाजी ताश के पत्तों की तरह झड़ गई.
5 बार वॉर्नर को लौटा चुके हैं उमेश यादव
डेविड वॉर्नर टेस्ट मैचों में 10 पारियों में टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमेश यादव का 5 बार शिकार बन चुके हैं. वॉर्नर के अलावा ऑस्ट्रेलिया के शॉन मार्श को भी वह 5 बार लौटा चुके हैं. किसी भी बल्लेबाज को सबसे अधिकर बार आउट करने के मामले में वॉर्नर और मार्श संयुक्त रूप से उनके पसंदीदा शिकार हैं.
स्मिथ का भारत के खिलाफ औसत 93 का है
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को भारतीय गेंदबाजी रास आती है और भारत के खिलाफ उनका टेस्ट में औसत बेहद शानदार है. उन्होंने इस मैच से पहले तक टीम इंडिया के साथ खेलते हुए 12 पारियों में चार शतक और तीन फिफ्टी लगाई हैं. यह उनका किसी भी टीम के खिलाफ दूसरा बेस्ट है. हालांकि वह पुणे में पहले दिन कुछ खास नहीं कर पाए.
अंतिम सत्र में कंगारुओं ने खोए 5 विकेट
चायकाल के बाद ऑस्ट्रेलिया का पांचवां विकेट गिर गया. रवींद्र जडेजा ने कसी हुई गेंदबाजी करते हुए मिचेल मार्श पर दबाव बनाया और उन्हें इसका परिणाम जल्दी ही मिल गया. मार्श उनकी एक गेंद पर चूके और विकेटों के सामने पकड़े गए. अंपायर ने उन्हें पगबाधा करार दिया. इसके बाद मैट रैनशॉ ने 125 गेंदों में करियर की दूसरी फिफ्टी पूरी की. रेनशॉ ने मैथ्यू वेड के साथ 24 रनों की साझेदारी करके पारी को संभालने की कोशिश की, लेकिन वेड को उमेश यादव ने चलता कर दिया. वह पगबाधा आउट हुए. ऑस्ट्रेलिया को सबसे तगड़ा झटका अश्विन ने 196 के स्कोर पर दिया, जब उन्होंने जमकर खेल रहे मैट रेनशॉ को 68 रन पर स्लिप पर खड़े मुरली विजय के हाथों खूबसूरती से कैच करा दिया. रेनशॉ ने 156 गेंदों का सामना किया और 10 चौके व 1 छक्का लगाया. आठवां विकेट स्टीफन ओकीफी का गिरा, जिन्हें उमेश यादव की गेंद पर विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा ने ग्रेट कैच लेकर चलता किया. अगली ही गेंद पर नैथन लियोन भी उमेश का शिकार बन गए और टीम इंडिया ने नौवां विकेट झटक लिया. चायकाल से लगभग 15 मिनट पहले रवींद्र जडेजा और आर अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया को लगातार दो झटके दिए. जडेजा ने हैंड्सकॉम्ब (22) और अश्विन ने कप्तान स्टीव स्मिथ (27) को लौटाया. दोनों के बीच 30 रनों की साझेदारी हुई.
चायकाल से बिल्कुल पहले दो बड़े झटके
लंच के बाद पहले घंटे के भीतर ही तेज गेंदबाज भुवनएश्वर कुमार की जगह शामिल किए गए स्पिनर जयंत यादव ने शॉन मार्श को 16 रन पर कैच करा दिया. मार्श को विराट कोहली ने लेग स्लिप पर लपका. लगभग ऐसी ही गेंद पर जयंत ने वॉर्नर को बोल्ड किया था, लेकिन अंपायर ने नोबॉल करार दिया था. मार्श और स्मिथ के बीच 37 रनों की साझेदारी हुई. स्मिथ ने इसके बाद पीटर हैंड्सकॉम्ब के साथ पारी को संभालने की कोशिश की. दोनों के बीच 30 रनों की साझेदारी हुई. चायकाल से थोड़ी देर पहले ही ऑस्ट्रेलिया को दो बड़े झटके लगे. रवींद्र जडेजा ने पीटर हैंड्सकॉम्ब को 22 रन पर पगबाधा आउट कर दिया. इसके बाद अगले ही ओवर में आर अश्विन कप्तान स्टीव स्मिथ को 27 रन पर विराट कोहली के हाथों में मिडविकेट पर कैच करा दिया. टिककर खेल रहे स्मिथ ने अचानक ही एकाग्रता खो दी और गलत शॉट खेल बैठे. ऑस्ट्रेलिया ने 149 रन पर ही तीसरा और चौथा विकेट गंवा दिया.



जॉन और नाओमी बने 'सर्वश्रेष्ठ प्लेयर आफ द ईयर'
23 Feb. 2017
चंडीगढ़: ब्रिटेन के जॉन-जॉन डोहेमैन और हालैंड की नाओमी वान एस को वर्ष 2016 के सर्वश्रेष्ठ पुरूष और महिला खिलाड़ियों के हॉकी स्टार्स अवार्ड से सम्मानित किया गया है।
हॉकी इंडिया(एचआई) ने चंडीगढ़ में आयोजित इस सम्मान समारोह में खिलाड़ियों को सम्मानित किया। अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने गुरूवार को खिलाड़ियों, गोलकीपर, राइजिंग स्टार, कोच तथा अंपायरों के लिए एफआईएच हॉकी स्टार्स 2016 अवार्ड की घोषणा की। ब्रिटेन की मैडी हिंच और आयरलैंड के डेविड हार्टे को वर्ष के सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर अवार्ड से सम्मानित किया गया।
ओलिंपिक रजत पदक विजेता बेल्जियम के पुरूष हॉकी खिलाड़ी डोहेमैन और रिटायर होने जा रहीं हालैंड की नाओमी ने 2016 के हॉकी स्टार्स अवार्ड जीते। सर्वश्रेष्ठ महिला गोलकीपर का अवार्ड जीतने वाली रियो ओलंपिक की स्वर्ण पदक विजेता मैडी ने कहा कि हॉकी स्टार्स 2016 का अवार्ड जीतना उनके लिये बहुत महत्वपूर्ण है। आयरिश खिलाड़ी हार्टे ने लगातार दूसरे वर्ष सर्वश्रेष्ठ पुरूष गोलकीपर का अवार्ड जीतने पर खुशी जताई। रियो ओलिंपिक में पदक जीतने वाली बेल्जियम की पुरूष टीम के दो खिलाड़ियों डोहेमैन और आर्थर वैन डोरेन ने दो वर्गों में हॉकी स्टार्स अवार्ड अपने नाम किये। आर्थर को राइजिंग स्टार ऑफ द ईयर (अंडर 23 या उससे कम उम्र) के अवार्ड से सम्मानित किया गया।



पुणे टेस्ट से पहले कंगारुओं को विराट कोहली की चेतावनी
22 Feb. 2017
नई दिल्ली: अब से 24 घंटे बाद विराट कोहली के नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट टीम पुणे में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ 4 मैचों की टैस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में भिड़ेगी। विराट कोहली ने टैस्ट से पहले कंगारुओं को चेतावनी दी और कहा-हमें छेड़ा तो बख्शे नहीं जाओगे।
उन्होंने कहा, ‘मैंने अंतिम बार जब स्टॉर्क का सामना किया था उसकी तुलना में वो अब बहुत ही ज्यादा खतरनाक गेंदबाज हैं। उन्होंने अपनी गेंदबाजी में अभूतपूर्व सुधार किया है और एक विश्वस्तरीय गेंदबाज बनकर उभरे हैं और इसलिए मैं उनका सम्मान करता हूं। मैंने एक गेंदबाज के तौर पर मिचेल स्टॉर्क को परिपक्व होते हुए देखा है।’ विराट कोहली ने आगामी टेस्ट सीरीज में स्लेजिंग के मुद्दे पर भी पत्रकारों के सवालों का जवाब दिया। उन्होंने कहा, ‘हम शुरूआत नहीं करेंगे, लेकिन अगर हमें उकसाया जाएगा तो हम चुपचाप भी नहीं बैठेंगे।’
भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि टीम इंडिया गुरुवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली चार टेस्ट मैचों की सीरीज में बढ़े हुए आत्मविश्वास के साथ मैदान में उतरेगी। कोहली ने पहले टेस्ट मैच से पहले कहा, ‘इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट टेस्ट में हमने मेहमान टीम को जीत से रोका था। इसके बाद हमने चार टेस्ट मैच जीते। इससे टीम और खिलाडि़यों का मनोबल बढ़ा और टीम के रूप में हमारा चेहरा उभरकर सामने आया। इसी के चलते इस बार हमारी टीम बढ़े हुए मनोबल के साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उतरेगी।’
विराट ने कहा, हम ऑस्ट्रेलियाई टीम के बारे में ज्यादा नहीं सोच रहे हैं, हमारा पूरा ध्यान इस बात पर है कि हमें अपनी क्षमता के मुताबिक प्रदर्शन करना है। हम सिर्फ अच्छा खेलना चाहते हैं। वैसे कंगारू टीम की ताकत और कमजोरी के बारे में हमें पता है और हमने अपनी योजना तैयार कर ली है। विराट कोहली ने खुद के आंकलन के बारे में कहा, ‘मैं हर सीरीज के बाद खुद का आकंलन नहीं करता हूं। मेरी प्राथमिकता यह रहती है कि मैं टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करूं और टीम भी बेहतर क्रिकेट खेले। हर खिलाड़ी देश के लिए अच्छा प्रदर्शन करना चाहता है। मैं कप्तानी के बारे में ज्यादा नहीं सोचता हूं, यदि टीम जीतती है तो कप्तानी अच्छी मानी जाती है, लेकिन यदि टीम हार जाए तो कप्तानी की आलोचना होती है।’


टीम इंडिया के कोच अनिल कुंबले ने तेज गेंदबाज नाथू सिंह सहित इन तीन क्रिकेटरों को माना बेहतरीन
22 Feb. 2017
पुणे: देश में ऐसे युवा क्रिकेटरों की फौज निकल रही है जिन्‍होंने अपनी प्रतिभा के बल पर टीम इंडिया में प्रवेश के लिए मजबूत दावेदारी पेश की है. टीम इंडिया के कोच अनिल कुंबले कुछ युवा क्रिकेटरों से बेहद प्रभावित हैं. कुंबले ने कहा है कि राजस्थान के तेज गेंदबाज नाथू सिंह और अनिकेत चौधरी के साथ-साथ केरल के बासिल थंपी से काफी अच्‍छे खिलाड़ी हैं और टीम की भविष्य की रणनीति का हिस्सा हैं. कुंबले ने कहा कि इन खिलाड़ियों में प्रतिभा है और इसी कारण इन खिलाड़ियों पर देश का भविष्य निर्भर करता है. कुंबले ने कहा, "हमारे पास अनिकेत चौधरी, थंपी, नाथू सिंह हैं जो भविष्य की रणनीति का हिस्सा हैं. इसी तरह न्यूजीलैंड दौरे से पहले जयंत यादव, कुलदीप यादव हमारे संयोजन का हिस्सा थे जिन्होंने हमें टेस्ट के लिए तैयार करने में मदद की." उन्होंने कहा, "मुझे उनके साथ काम करने का मौका नहीं मिला. मुझे घरेलू गेंदबाजों के साथ काम करने का मौका नहीं मिलता है इसलिए मैं उनके साथ टेस्ट मैच से पहले समय बिताता हूं."
भारतीय टीम प्रबंधन इस समय टेस्ट टीम में तेज गेंदबाजों की अहमियत पर चर्चा कर रहा है. कुंबले ने कहा, "यह जरूरी नहीं है कि वह लोग भविष्य में टीम का हिस्सा हों, लेकिन आने वाली सीरीजों को देखते हुए इन सभी का टीम की रणनीति में शामिल होना और हमारे काम करने के तरीके को देखना अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सफल होने के लिए जरूरी है." उन्होंने कहा, "चेन्नई (इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट) में भारत के जीतने की उम्मीद ज्यादा लोगों को नहीं थी।.मुंबई में भी हम टॉस हार गए थे लेकिन इसके बाद भी हम पारी से जीते." पूर्व कप्तान ने कहा, "कोलकाता में भी न्यूजीलैंड के खिलाफ हमारे लिए मुश्किल हो रही थी लेकिन हमारे तेज गेंदबाजों ने हमें जीत दिलाई. हम पिच और परिस्थतियों को लेकर चिंतित नहीं होते हैं."
भारत को यहां गुरुवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू हो रही टेस्ट सीरीज खेलना है. पिच पर कुंबले ने कहा कि यह अच्छी दिख रही है. उन्‍होंने कहा, "यह अच्छी विकेट है. हम हर विपक्षी टीम का सम्मान करते हैं. हम इस समय तैयारी के सर्वश्रेष्ठ माहौल में हैं. परिणाम हमारे पक्ष में रहे हैं. हमारे सभी खिलाड़ियों ने बल्ले और गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया है." कुंबले ने कहा कि खिलाड़ी अब आत्मनिर्भर बन गए हैं और मैदान तथा मैदान के बाहर चुनौतियों से अच्छी तरह निपट रहे हैं.



फेडरर ने नडाल को डबल्स पार्टनर बनाने की इच्छा जताई
21 Feb. 2017
रॉजर फेडरर ने इस वर्ष होने वाले प्रारंभिक लेवर कप टेनिस टूर्नामेंट में रफाएल नडाल के साथ डबल्स में जोड़ी बनाने की इच्छा जताई है।
फेडरर ने 22 से 24 सितंबर तक होने वाले इस नए टूर्नामेंट की घोषणा के अवसर पर यह इच्छा जताई। इसमें ब्योर्न बोर्ग की यूरोपियन टीम का जॉन मैकेनरो की रेस्ट ऑफ द वर्ल्ड टीम के बीच मुकाबला होगा।
फेडरर ने पिछले महीने ऑस्ट्रेलियन ओपन में पांच सेटों के संघर्ष के बाद नडाल को हराकर खिताब जीता था। उन्होंने कहा, मैं हमेशा से ही नडाल के साथ डबल्स में जोड़ीदार के रूप में खेलना चाहता था। ऐसा इसलिए क्यों‍कि मेरी उनके साथ भिड़ंत हमेशा ही खास रही है।
यह टूर्नामेंट रॉड लेवर के नाम पर होगा, जो कैलेंडर ग्रैंड स्लैम ‍बनाने वाले अंतिम खिलाड़ी थे। उन्होंने 1969 में यह उपलब्धि हासिल की थी। यह टूर्नामेंट ओलिंपिक वर्ष को छोड़कर हर वर्ष आयोजित किया जाएगा। इसमें 6-6 खिलाडि़यों की टीम हिस्सा लेगी। 4-4 खिलाड़ी विम्बल्डन के बाद एटीपी रैंकिंग के अनुसार चुने जाएंगे और दो-दो खिलाडि़यों का चयन कप्तान बोर्ग और मैकेनरो करेंगे।

टैमल मिल्स का 12 करोड़ में बिकना टेस्ट क्रिकेट के मुंह पर तमाचा है: केविन पीटरसन
21 Feb. 2017
मुंबई: इंग्लैंड के स्टार बैट्समैन रह चुके केविन पीटरसन ने अपने ही देश के पेस बॉलर टैमल मिल्स के आईपीएल ऑक्शन में 12 करोड़ में बिकने पर सवालिया निशान लगाए हैं। पीटरसन ने सीधे तौर पर तो कुछ नहीं कहा लेकिन मिल्स का नाम लेकर कहा कि सिर्फ टी-20 फॉर्मेट में खेलने वाले प्लेयर का 12 करोड़ में खरीदा जाना वास्तव में टेस्ट क्रिकेट पर तमाचा है। बता दें कि दुनियाभर में लीग क्रिकेट खेलने वाले पीटरसन इस बार आईपीएल में नजर नहीं आएंगे।
- सोमवार को आईपीएल 2017 के ऑक्शन हुए थे। इसमें इंग्लैंड के बेन स्टोक्स 14.50 करोड़ जबकि इसी देश के मिल्स 12 करोड़ में बिके।
- खास बात ये है कि दोनों को ही अपने बेस प्राइज से कई गुना ज्यादा कीमत मिली।
- पीटरसन ने बेन स्टोक्स को लेकर तो कुछ नहीं कहा लेकिन टेस्ट क्रिकेट के बहाने मिल्स पर निशाना साधा।
- पीटरसन ने मंगलवार को कुछ ट्वीट किए। एक ट्वीट में कहा- ये टेस्ट क्रिकेट के मुंह पर एक और तमाचा है। इंग्लैंड की टी-20 टीम का स्पेशिलिस्ट सबसे ज्यादा अमीर प्लेयर हो गया है। इसके बाद फिर ट्वीट किया। कहा- मैं उस पर इल्जाम नहीं लगा रहा हूं। उसने मेहनत से मुकाम हासिल किया है लेकिन टेस्ट क्रिकेट अब पिछड़ रहा है और आईसीसी को इस पर फौरन ध्यान देना चाहिए।
- बाद में शायद मिल्स पर किए गए ट्वीट को लेकर पीटरसन को गलती का अहसास हुआ। उन्होंने आखिरी ट्वीट में कहा- मिल्स बहुत अच्छा बॉलर है। उसे जो मिला वो उसके लायक भी है। मिल्स को चार साल पहले ही इंग्लैंड के लिए खेलना था।
कौन हैं टैमल मिल्स?
- बता दें कि टैमल मिल्स इंग्लैंड के लिए सिर्फ टी-20 क्रिकेट खेलते हैं। इस फॉर्मेट में वो इंग्लैंड की वर्तमान टीम के सबसे अच्छे बॉलर माने जाते हैं।
- 140 KMPH से ज्यादा की रफ्तार से बॉलिंग करने वाले मिल्स के पास बैकहैंड स्लोअर वन भी है।
- इंग्लैंड के इस पेस बॉलर को रफ्तार के मामले में कैसिगो रबादा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव और मिशेल स्टार्क की फेहरिस्त में रखा जाता है।
- सिर्फ दो साल पहले मिल्स के साथ एक ट्रैजेडी हुई। उनकी स्पाइनल कॉर्ड और वर्टिब्रे काफी करीब आ गईं। इससे पीठ में तेज दर्द होने लगा। डॉक्टर्स ने कहा कि अगर अब भी वो पेस बॉलिंग करेंगे तो ये खतरनाक होगा।
- मिल्स ने खेलना तो नहीं छोड़ा। हां, इतना जरूर किया कि वो अब टेस्ट या 4 दिन के मैच की जगह वनडे और टी-20 खेलने लगे।

IPL 2017: नीलामी में बिकने वाले पहले अफगानी बने नबी, राशिद को मिले 4 करोड़
20 Feb. 2017
बंगलुरु में चल रही आईपीएल नीलामी में सभी नजरें बड़े खिलाड़ियों पर टिकी थी. लेकिन इन सभी के बीच अफगानिस्तान क्रिकेट के लिए यह नीलामी ऐतिहासिक रही. अफगानिस्तान के मोहम्मद नबी आईपीएल नीलामी में बिकने वाले पहले अफगानी क्रिकेटर बने. नबी को सनराइजर्स हैदराबाद ने 30 लाख रुपये में खरीदा, उनका बेस प्राइस भी 30 लाख रुपये ही था.
आईपीएल में चुने जाने के बाद नबी ने ट्वीट कर अपनी खुशी का इजहार किया, उन्होंने लिखा कि यह उनके लिए बहुत बड़ा खुशी का पल है. उन्होंने अपने जूनियर राशिद खान को भी बधाई दी.
टी-20 एक्सपर्ट हैं नबी
मोहम्मद नबी ने 52 टी-20 मैचों में कुल 56 विकेट चटके हैं, वहीं कुल 704 रन बनाये हैं. नबी आईसीसी की ऑलराउंडर रैंकिंग में चौथे स्थान पर हैं.
4 करोड़ में बिके राशिद
वहीं अफगानिस्तान के स्पिनर राशिद खान को सनराइजर्स हैदराबाद ने ही 4 करोड़ रुपयों में खरीदा. राशिद खान ने अभी तक कुल 21 टी-20 मैचों में से 31 विकेट लिए हैं.

बैटिंग के दौरान अब मैं ज्‍यादा सहज हूं, विरोधी टीम के बारे में ज्‍यादा नहीं सोचता : श्रेयश अय्यर
20 Feb. 2017
मुंबई: युवा बल्लेबाज श्रेयश अय्यर ने स्‍वीकार किया है कि भारत 'ए' टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे ने एक खिलाड़ी और बल्‍लेबाज के रूप में विकास करने में उनकी मदद की है. अय्यर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इसी तरह के एक अभ्‍यास मैच में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे लेकिन इस बल्लेबाज ने कहा कि वह अब तब से कहीं बेहतर बल्लेबाज बन गए हैं. भारत 'ए' और ऑस्ट्रेलिया के बीच ड्रॉ समाप्त हुए तीन दिवसीय अभ्‍यास मैच के दौरान करियर की सर्वश्रेष्ठ नाबाद 202 रन की पारी खेलने वाले अय्यर ने कहा, ‘मैं पहली बार डेल स्टेन (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अभ्‍यास मैच में) का सामना कर रहा था और एक युवा होने के नाते यह काफी मुश्किल था. वह अपनी फॉर्म के शीर्ष पर थे.
श्रेयश ने कहा, हाल में मैंने बांग्लादेश के खिलाफ शतक बनाया (हैदराबाद में दो दिवसीय मैच के दौरान) और उस प्रेरणा के साथ मैं ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ अभ्‍यास मैच में उतरा था.’ उन्होंने कहा, ‘अब मैं थोड़ा अधिक सहज हो गया हूं. विरोधी टीम के बारे में अधिक नहीं सोचता. फील्‍डर्स की स्थिति के अलावा मेरे आसपास जो भी हो रहा है, उस पर ध्यान लगाने की जगह खुद से बात करता हूं. भारत 'ए' के साथ ऑस्ट्रेलिया का दौरा बेहतरीन अनुभव था.’अय्यर ने कहा, ‘मैं पहली बार ऑस्ट्रेलिया गया था. वहां गेंदबाज भी अच्छे थे. वहां समान उछाल भी नहीं था या तो गेंदें काफी नीचे रह रही थी या फिर उछाल ले रही थी. तेज गेंदबाजी के अनुकूल विकेटें थीं और इस दौरे ने बड़ी भूमिका निभाई.’ अय्यर ने 210 गेंद की अपनी पारी के दौरान 27 चौके लगाए और उन्होंने कहा कि वह अपनी पारी को सत्र दर सत्र आगे बढ़ाना चाहते थे.
अभ्‍यास मैच में ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर नाथन लियोन ने 162 रन देकर चार विकेट चटकाए, अय्यर ने उन्हें स्टीफन ओकीफी से बेहतर गेंदबाज बताया जिन्होंने 101 रन देकर तीन विकेट हासिल किए. उन्होंने कहा, ‘ओकीफी बायें हाथ के स्पिनर है. स्पिन की दिशा में खेलना आसान होता है लेकिन लियोन को अच्छा उछाल मिल रहा है और वह सीधी गेंदबाजी भी कर रहा है, इसलिए वह स्टीफन की तुलना में अधिक प्रभावी है.

वर्ल्‍ड नंबर 5 में पहुंची पीवी सिंधु, दूसरी भारतीय खिलाड़ी बनीं
18 Feb. 2017
रियो ओलंपिक में भारत को रजत पदक दिलाने वाली पीवी सिंधु अपने सर्वोच्‍च रैंकिंग में पहुंच गयीं हैं. सिंधु वर्ल्‍ड बैडमिंटन रैंकिंग में नंबर पांच में जगह बना ली है. इस स्‍थान पर पहुंचने वाली वो भारत की दूसरी खिलाड़ी भी बन गयी हैं.
रियो ओलंपिक में अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत को रजत पदक दिलाने के बाद इस समय सिंधु भारत की सर्वोच्‍च रैंकिंग प्राप्‍त खिलाड़ी हैं. रियो के बाद सिंधु का प्रदर्शन दिनों-दिन और निखरता जा रहा है. सिंधु ने पिछले महीने सैयद मोदी ग्रां प्री का खिताब भी अपने नाम किया था. इस समय सिंधु का 69399 अंक है और नंबर पांच पर मौजूद हैं.
सिंधु के अलावा साइना नेहवाल भी रैंकिंग में टॉप टेन में जगह बनाने में कामयाब रही है. इस समय नेहवाल नंबर आठ पर हैं. नेहवाल का अंक 66709 है. पिछला साल सिंधु के लिए खास रहा, क्‍योंकि रियो ओलंपिक में उन्‍होंने रजत पदक पर कब्‍जा जमाया और देश को पदक दिलाने में बड़ी भूमिका निभायी. इसके अलावा उन्‍होंने चाइना ओपन का खिताब भी जीत लिया था. नये साल में रैंकिंग में नंबर पांच पर पहुंच कर सिंधु काफी खुश हैं. उन्‍होंने कहा, मैं वर्ल्‍ड रैंकिंग में नंबर पांच पर पहुंच कर काफी खुश हूं. मुझे आशा था कि पिछले साल के प्रदर्शन के बाद मेरी रैंकिंग में सुधार होगी.


IPL 2017: 5 खिलाड़ी जिन्हें कोलकाता की टीम इस नीलामी में जरुर खरीदना चाहेगी
18 Feb. 2017
आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के बाद कोलकाता नाइट राइडर्स ही एकमात्र ऐसी टीम है जो कि अपने टीम में बहुत कम बदलाव करती है। चेन्नई की तरह कोलकाता भी 2 बार आईपीएल का खिताब जीत चुकी है। इस बार के संस्करण में केकेआर अपना तीसरा आईपीएल जीतने की पूरी कोशिश करेगी।
हालांकि पिछले सीजन से इतर इस बार की नीलामी में केकेआर को ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी। कोलकाता ने अपने 6 विदेशी खिलाड़ियों को रिलीज कर दिया जिनमें 4 तेज गेंदबाज हैं, वहीं आंद्रे रसेल पर 1 साल का बैन भी लगा है। ऐसे में टीम को 20 फरवरी को बैंगलुरु में हो रहे नीलामी में कुछ अच्छे खिलाड़ियों को खरीदने की कोशिश करनी होगी।
केकेआर के पास अभी मात्र दो फ्रंट लाइन तेज गेंदबाज हैं। वहीं ऑलराउंड विभाग में भी टीम को अच्छे खिलाड़ियों की जरुरत है। कोलकाता के पास 19.75 करोड़ रुपए खर्च करने के लिए हैं ऐसे में टीम कुछ अहम खिलाड़ियों को जरुर टीम में शामिल करने की कोशिश करेगी।
इसमें कोई शक नहीं है कि रॉबिन उथप्पा जब से केकेआर की टीम से जुड़े हैं उन्होंने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। टीम की कई जीत में उनका अहम योगदान रहा है। लेकिन 31 साल के उथप्पा अभी उतनी अच्छी फॉर्म में नहीं हैं। यही वजह है कि इस बार आधे रणजी सीजन के बीच में उन्हें कर्नाटक रणजी टीम से भी ड्रॉप कर दिया गया। वहीं दूसरी तरफ वो चोट से भी जूझ रहे हैं।
अगर उथप्पा पूरी तरह से फिट रहते हैं तो निश्चित तौर पर वो कोलकाता के अंतिम 11 में खेलेंगे। लेकिन अगर उनकी चोट ठीक नहीं हुई तो टीम के पास कोई दूसरा अच्छा विकेटकीपर बल्लेबाज नहीं है। ऐसी परिस्थिति में श्रीलंकाई खिलाड़ी निरोशन डिकवेला कोलकाता के लिए अच्छे विकल्प साबित हो सकते हैं। डिकवेला की बेस प्राइज महज 30 लाख है और श्रीलंका के लिए पिछले 6 महीनों में उन्होंने शानदार खेल दिखाया है।
विकेटकीपर बल्लेबाज निरोशन डिकवेला अपनी टीम के लिए ओपनिंग भी करते हैं। 140 की उनकी स्ट्राइक रेट ये बताने के लिए काफी है कि वो कितने विस्फोटक बल्लेबाज हैं। उथप्पा के अलावा केकेआर के पास और कोई बैकअप नहीं है। ऐसे में डिकवेला, उथप्पा की जगह को काफी अच्छे से भर सकते हैं।
डिकवेला अच्छी विकेटकीपिंग के साथ ही उथप्पा की ही तरह टीम को तेज शुरुआत देने में सक्षम हैं। अगर उथप्पा नहीं खेलते हैं तो डिकवेला एक बेहतर विकल्प साबित हो सकते हैं।

महान धावक उसेन बोल्ट की रफ्तार पड़ रही धीमी, कहा-200 मीटर रिकार्ड अब मेरी जद में नहीं
3 December 2016
दुनिया का सबसे तेज व्यक्ति अब धीमा पड़ रहा है. महान धावक उसेन बोल्ट ने कहा है कि अपने अंतिम सत्र में उनकी 200 मीटर में दौड़ने की योजना नहीं है. बोल्ट का मानना है कि वह अब 19.19 सेकेंड का खुद का विश्व रिकार्ड तोड़ने की स्थिति में नहीं हैं. छठी बार आईएएएफ का 'साल के सर्वश्रेष्ठ पुरुष एथलीट' का पुरस्कार हासिल करने के बाद 30 साल के बोल्ट ने कहा कि उन्होंने सोचा था कि वह रियो डि जिनेरियो ओलंपिक में 19 सेकेंड से कम के बैरियर को तोड़ने में सफल रहेंगे. लेकिन अब उनका मानना है कि उनके पैरों में इतनी जान नहीं रही कि वह रिकार्ड तोड़ सकें.
विश्व खिताब जीतने के बाद पांच दिन बाद ही निको रोसबर्ग ने फॉर्मूला वन से संन्यास लिया
3 December 2016
निको रोसबर्ग ने मर्सीडीज के लिए विश्व खिताब जीतने के बाद पांच दिन बाद ही शुक्रवार को फॉर्मूला वन से संन्यास लेने की घोषणा करके मोटर रेसिंग जगत को स्तब्ध कर दिया. यह 31 वर्षीय जर्मन ड्राइवर एलेन प्रोस्ट (1993) के बाद पहले ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने मौजूदा चैंपियन रहते हुए संन्यास लिया. उन्होंने फिनाले में अपनी टीम के साथी लुइस हैमिल्टन को हराकर खिताब जीता था. रोसबर्ग ने अंतर्राष्ट्रीय आटोमोबाइल महासंघ (एफआईए) के वाषिर्क पुरस्कार समारोह से पूर्व वियना में यह बड़ी घोषणा की. रविवार को अबुधाबी ग्रांप्री में हैमिल्टन के बाद दूसरे नंबर पर आकर विश्व चैंपियन बनने वाले रोसबर्ग ने कहा, "मैंने यहां अपना फार्मूला वन करियर समाप्त करने का फैसला किया है." उन्होंने कहा कि चैंपियनशिप जीतने के बाद उन्होंने अपना यह फैसला किया. रोसबर्ग ने कहा, "सोमवार से ही इस पर विचार करना शुरू कर दिया था. मैंने इसमें थोड़ा समय लिया लेकिन आखिर नतीजे पर पहुंच गया. कहानी खत्म. अगला कदम एक पिता और पति की भूमिका निभाना है और मैं इसके लिए पूरी तरह से तैयार हूं."
मकाउ ओपन बैडमिंटन : क्‍वार्टर फाइनल में 226वीं रैंकिंग की चीनी खिलाड़ी से हारीं साइना नेहवाल
2 December 2016
भारत की अग्रणी महिला बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल को शुक्रवार को मकाऊ ओपन के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा. टूर्नामेंट की शीर्ष वरीय खिलाड़ी सायना को शुक्रवार को खेले गए मुकाबले में चीन की झांग यिमान के हाथों उलटफेर का शिकार होना पड़ा. झांग ने सायना को 35 मिनट तक चले मुकाबले में 21-12, 21-17 से मात दी. विश्व की 10वीं वरीयता प्राप्त सायना का झांग के खिलाफ यह पहला मुकाबला था, जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा. इस हार के साथ ही टूर्नामेंट के महिला एकल वर्ग में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई है. टूर्नामेंट के पुरुष एकल वर्ग में बी.साई प्रणीथ का मुकाबला शुक्रवार को चीन के झाओ जुन पेंग से होना है.
हॉकी : वर्ल्ड कप से बाहर किए जाने पर पाकिस्तान ने भारत को जिम्मेदार ठहराया
2 December 2016
अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) द्वारा जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप से पाकिस्तान को बाहर किए जाने पर पाकिस्तान ने भारत को इसका जिम्मेदार ठहराया है. एफआईएच के मुताबिक, पाकिस्तान हॉकी महासंघ (पीएचएफ) ने अंतिम तारीख तक अपने खिलाड़ियों का यातायात कार्यक्रम नहीं बताया था. पीएचएफ ने हालांकि इसके बाद एफआईएच की आलोचना की है और उसके इस कदम को सोची समझी साजिश बताया है. पीएचएफ के सचिव शहबाज अहमद ने इसके लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है. पाकिस्तान के अखबार 'द डॉन' ने मंगलवार को शहबाज के हवाले से लिखा है, "पाकिस्तान ने किसी भी कार्यक्रम में देरी नहीं की. पाकिस्तानी खिलाड़ियों को अंतिम तिथी से पहले वीजा न देना भारत की गलती है.
सायना नेहवाल को मकाउ ओपन के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने पर मिले ताने, भड़की सायना ने दिया करारा जवाब
1 December 2016
सायना नेहवाल ने मकाउ ओपन सुपर सीरीज के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है. सायना ने दूसरे राउंड में इंडोनेशिया की दिनार दिया ऑस्टिन को तीन गेम के मुकाबले में 17-21, 21-18, 21-12 से हरा दिया. पहले राउंड में भी सायना को जीत हासिल करने के लिए तीन गेम का मैच खेलना पड़ा था. वर्ल्ड नंबर 11 सायना ने पहले राउंड में 44वीं वर्ल्ड रैंकिंग वाली हाना रामदिनि को शिकस्त दी थी, जबकि दूसरे राउंड में 50वीं रैंकिंग वाली दिनार दिया ऑस्टिन को मात दी. पर यह क्या जीत के बाद भी सोशल मीडिया पर वह निशाने पर आ गईं. फिर क्या था सायना ने भी करारा जवाब दिया.. सायना को दूसरे राउंड में जीत के बाद भी ट्विटर पर ताने झेलने पड़े. एक ट्वीट ने सायना पर ताने मारे कि बिना रैंकिंग वाले खिलाड़ियों से हारना सायना के लिए नई कूल बात है.
महान फुटबॉलर जिनेदीन जिदान के बेटे एंजो ने पहले मैच में ही गोल किया
1 December 2016
रीयाल मैड्रिड के कोच जिनेदीन जिदान के बेटे एंजो ने सीनियर टीम के साथ पदार्पण मैच में ही गोल कर दिया और यूरोपीय चैम्पियन टीम ने कल्चरल लियोनेसा को 6-1 से हराकर कोपा डेल-रे फुटबॉल में औसत के आधार पर 13-2 से जीत दर्ज करके अंतिम 16 में प्रवेश कर लिया. वहीं बार्सीलोना को अंतिम 32 के दौर के पहले मुकाबले में हर्क्युल्स ने 1-1 से ड्रा पर रोका. जिदान के चार बेटों में सबसे बड़े एंजो रीयाल की युवा टीम के लिए खेलते रहे हैं. फ्रांस और रीयाल मैड्रिड के महान खिलाड़ी रहे जिदान ने हाफटाइम में उसे उतारा. 21 साल के एंजो ने अपने पिता की प्रतिभा की बानगी पेश करते हुए गोल किया. जिदान ने कहा, 'अगर मैं कोच की हैट उतारकर देखूं तो एक पिता के तौर पर मैं उसके लिये खुश हूं. लेकिन एक कोच के तौर पर मैने मैच देखा और मैं टीम के प्रदर्शन से संतुष्ट हूं.'
पीवी सिंधु का चाइना ओपन खिताब एक बड़ी उपलब्धि : प्रकाश पादुकोण
30 November 2016
दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण ने पीवी सिंधु की चाइना ओपन सुपर सीरीज महिला एकल में खिताब जीतने को बड़ी उपलब्धि करार देते हुए मंगलवार को यहां उम्मीद जताई कि यह हैदराबादी खिलाड़ी अगले साल भी अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखेगी. प्रकाश ने कहा, ‘‘यह उसका पहला सुपर सीरीज खिताब है और यह निश्चित तौर पर बड़ी उपलब्धि है, क्योंकि जब आप इतना अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो आपसे काफी उम्मीद की जाती है. मुझे उम्मीद है कि वह आने वाले वर्षों में भी अच्छा प्रदर्शन जारी रखेगी.’’ इक्कीस वर्षीय सिंधु हैदराबाद की साइना नेहवाल और किदाम्बी श्रीकांत के बाद चाइना ओपन का एकल खिताब जीतने वाली तीसरी भारतीय हैं. वह रियो ओलिंपिक के फाइनल में पहुंची थी जहां पहला गेम जीतने के बावजूद स्पेन की कारोलिना मारिन से हार गईं थी.
हॉकी : वर्ल्ड कप से बाहर किए जाने पर पाकिस्तान ने भारत को जिम्मेदार ठहराया
30 November 2016
अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) द्वारा जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप से पाकिस्तान को बाहर किए जाने पर पाकिस्तान ने भारत को इसका जिम्मेदार ठहराया है. एफआईएच के मुताबिक, पाकिस्तान हॉकी महासंघ (पीएचएफ) ने अंतिम तारीख तक अपने खिलाड़ियों का यातायात कार्यक्रम नहीं बताया था. पीएचएफ ने हालांकि इसके बाद एफआईएच की आलोचना की है और उसके इस कदम को सोची समझी साजिश बताया है. पीएचएफ के सचिव शहबाज अहमद ने इसके लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है. पाकिस्तान के अखबार 'द डॉन' ने मंगलवार को शहबाज के हवाले से लिखा है, "पाकिस्तान ने किसी भी कार्यक्रम में देरी नहीं की. पाकिस्तानी खिलाड़ियों को अंतिम तिथी से पहले वीजा न देना भारत की गलती है." उन्होंने कहा, "हमारी सरकार ने समय पर खिलाड़ियों को टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए अनापत्ती प्रमाण पत्र (एनओसी) जारी कर दिया था. यह दुख की बात है कि पाकिस्तान जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप में हिस्सा नहीं ले पाएगा. हमने हमारे खिलाड़ियों के लिए प्रशिक्षण शिविर भी लगाया था तो हम कार्यक्रम में कैसे देरी कर सकते हैं."
 
Copyright © 2014, BrainPower Media India Pvt. Ltd.
All Rights Reserved
DISCLAIMER | TERMS OF USE