Untitled Document


register
REGISTER HERE FOR EXCLUSIVE OFFERS & INVITATIONS TO OUR READERS

REGISTER YOURSELF
Register to participate in monthly draw of lucky Readers & Win exciting prizes.

EXCLUSIVE SUBSCRIPTION OFFER
Free 12 Print MAGAZINES with ONLINE+PRINT SUBSCRIPTION Rs. 300/- PerYear FREE EXCLUSIVE DESK ORGANISER for the first 1000 SUBSCRIBERS.

   >> सम्पादकीय
   >> राजधानी
   >> कवर स्टोरी
   >> विश्व डाइजेस्ट
   >> बेटी बचाओ
   >> आपके पत्र
   >> अन्ना का पन्ना
   >> इन्वेस्टीगेशन
   >> मप्र.डाइजेस्ट
   >> मध्यप्रदेश पर्यटन
   >> भारत डाइजेस्ट
   >> सूचना का अधिकार
   >> सिटी गाइड
   >> अपराध मिरर
   >> सिटी स्केन
   >> जिलो से
   >> हमारे मेहमान
   >> साक्षात्कार
   >> केम्पस मिरर
   >> फिल्म व टीवी
   >> खाना - पीना
   >> शापिंग गाइड
   >> वास्तुकला
   >> बुक-क्लब
   >> महिला मिरर
   >> भविष्यवाणी
   >> क्लब संस्थायें
   >> स्वास्थ्य दर्पण
   >> संस्कृति कला
   >> सैनिक समाचार
   >> आर्ट-पावर
   >> मीडिया
   >> समीक्षा
   >> कैलेन्डर
   >> आपके सवाल
   >> आपकी राय
   >> पब्लिक नोटिस
   >> न्यूज मेकर
   >> टेक्नोलॉजी
   >> टेंडर्स निविदा
   >> बच्चों की दुनिया
   >> स्कूल मिरर
   >> सामाजिक चेतना
   >> नियोक्ता के लिए
   >> पर्यावरण
   >> कृषक दर्पण
   >> यात्रा
   >> विधानसभा
   >> लीगल डाइजेस्ट
   >> कोलार
   >> भेल
   >> बैरागढ़
   >> आपकी शिकायत
   >> जनसंपर्क
   >> ऑटोमोबाइल मिरर
   >> प्रॉपर्टी मिरर
   >> सेलेब्रिटी सर्कल
   >> अचीवर्स
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> जीवन दर्शन
   >> कन्जूमर फोरम
   >> पब्लिक ओपिनियन
   >> ग्रामीण भारत
   >> पंचांग
   >> रेल डाइजेस्ट
  


IND VS SL: रोहित शर्मा ने गुरु सचिन तेंदुलकर को 'यहां' दी मात...सहवाग को भी नहीं बख्शा
13 December 2017

नई दिल्ली: मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ चल रहे दूसरे डे-नाइट मुकाबले में कप्तान रोहित शर्मा ने अपना 16वां शतक जड़ने के साथ ही एक ऐसा बड़ा कारनामा कर डाला, जिस पर उनके गुरु सचिन तेंदुलकर को भी फख्र होगा. यही नहीं, उन्होंने इस शतक से अपने दोस्त और वरिष्ठ वीरेंद्र सहवाग को भी नहीं बख्शा, तो वहीं पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को भी रोहित शर्मा ने चुनौती दे डाली है. चलिए पहले बात गुरु-चेले की कर लेते हैं. अब यह तो आप जानते ही हैं कि सचिन तेंदुलकर एक तरह से रोहित शर्मा के मार्गदर्शक रहे हैं. पहले कई मौकों पर उन्होंने यह कहा है कि विराट कोहली और रोहित शर्मा दो ऐसे बल्लेबाज हैं, जो उनका रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं. और बुधवार को रोहित ने कम से कम एक मामले में तो यह कारनामा कर ही दिखाया मोहाली का यह शतक रोहित के वनडे करियर का 16वां शतक था. अपने 16वें वनडे शतक के लिए जहां सचिन तेंदुलकर ने 185 पारियां ली थीं, तो रोहित शर्मा ने सचिन से 18 कम पारियां पहले ही इस कारनामे को अंजाम दे दिया. रोहित शर्मा ने अपना शतक 167वीं पारी में पूरा करके गुरु को बता दिया कि वह आगे उनके और कई रिकॉर्डों पर पानी फेरेंगे.हां यह जरूर है कि यह बतौर कप्तान रोहित का पहला शतक है. ठीक यही बात रोहित ने वीरेंद्र सहवाग को भी बता दी. अब भारत के लिए सबसे ज्यादा वनडे शतक के मामले में रोहित अब वीरेंद्र सहवाग (15) को पछाड़ कर कर आगे निकल गए हैं. इस पारी के बाद वह सर्वाधिक वनडे शतक के मामले में चौथी पायदान पर आ गए हैं. रोहित से ज्यादा वनडे में शतक सिर्फ सचिन (49), विराट कोहली (32) और सौरव गांगुली (22) ने ही बनाए हैं. धर्मशाला में सस्ते में निपटने के बाद रोहित शर्मा को जिस टॉनिक की जरुरत थी, वह उन्हें मोहाली में मिल गया है. और उम्मीद है कि अब रोहित का बल्ला तीसरे वनडे और टी-20 मुकाबले में भी लंकाई गेंदबाजों की लंका लगाएगा


यह बड़ा अवार्ड' जीतने के लिए विराट कोहली को इस तिकड़ी को देनी होगी मात
11 December 2017

नई दिल्ली: इस साल बल्ले से एक के बाद एक रिकॉर्ड बनाने वाले और कई रिकॉर्डों को डुबाने वाले भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली के लिए अब अवार्ड जीतने का समय करीब-करीब शुरू हो चुका है. वजह यह है कि कुछ ही दिन बाद साल 2017 खत्म हो जाएगा. ऐसे में एक नहीं बल्कि कई पुरस्कार समारोहों का आयोजन होना है. और इसमें कोई दो राय नहीं कि रिकॉर्डों की तरह ही विराट कई पुरस्कार भी अपनी झोली में डालने के लिए तैयार हैं. सबसे पहले आपको इस पुरस्कार के बारे में बता देते हैं. यह पुरस्कार आईसीसी का क्रिकेटर ऑफ द ईयर-2017 (वीवर्स च्वॉयस अवार्ड) है. इस पुरस्कार के लिए क्रिकेटप्रेमियों की ऑनलाइन वोटिंग को भी शामिल किया जाता है, तो वहीं कई क्रिकेटरों और पत्रकारों का पैनल भी साल का सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर चुनने में अहम भूमिका निभाता है. इस श्रेणी साल 2017 के लिए नामित खिलाड़ियों के नामों का ऐलान हो गया है. और इसमें विराट कोहली का मुकाबला तीन चोटी के खिलाड़ियों से है. इस प्रतिष्ठित पुरुस्कार के लिए विराट को न्यूजीलैंड के बेन स्टोक्स, ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर और इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जे. रूट चुनौती दे रहे हैं. इन बाकी तीन खिलाड़ियों ने भी इस साल शानदार प्रदर्शन किया है. लेकिन जिस अंदाज में विराट कोहली का बल्ला श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई टेस्ट सीरीज में बोला है, उसने कोहली के प्रदर्शन और दावेदारी को एक नया ही मुकाम दे दिया है. बावजूद इसके जे रूट, डेविड वॉर्नर और बेन स्टोक्स के साथ उनकी टक्कर बहुत ही कांटे की है. कुल मिलाकर आईसीसी क्रिकेटर ऑफ द ईयर (वीवर्स च्वॉयस अवार्ड, 2017) के लिए मुकाबला बहुत ही रोमांचक है. इसमें दो राय नहीं कि अगर विराट कोहली को यह पुरस्कार जीतना है, तो इसमें करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों के वोटों के भी बहुत ही ज्यादा मायने हैं. इसीलिए बेहतर है कि कोहली को विजेता बनाने के लिए भारतीय ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन वोटिंग करें. बाकी इस बाबत कौन चैंपियन बनता है, यह अगले कुछ दिनों के भीतर साफ हो जाएगा



टी-20 में 800 छक्के लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने क्रिस गेल
9 December 2017

नई दिल्‍ली: अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिये मशहूर क्रिस गेल क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप टी-20 में 800 छक्के जड़ने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गये हैं. वेस्टइंडीज के बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने बांग्लादेश प्रीमियर लीग के ढाका में खेले गये मैच में रंगपुर राइडर्स की तरफ से नाबाद 126 रन की पारी के दौरान यह उपलब्धि हासिल की. उन्होंने अपनी 51 गेंद की पारी में छह चौके और 14 छक्के लगाये. गेल के नाम पर अब 318 टी-20 मैचों में 801 छक्के दर्ज हैं. इनमें से 103 छक्के उन्होंने टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगाये हैं. टी-20 में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों की सूची में गेल के बाद वेस्टइंडीज के ही कीरेन पोलार्ड (506), न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम (408), वेस्टइंडीज के ड्वेन स्मिथ (351) और ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर (314) का नंबर आता है. गेल ने टी-20 में अपना 19वां शतक भी पूरा किया. उनकी इस पारी से राइडर्स ने इस एलिमिनेटर मैच में खुलना टाइटन्स को आठ विकेट से हराया


यह खास शर्त' पूरी होगी, तभी टीम इंडिया श्रीलंका के खिलाफ वनडे में बन पाएगी नंबर-1
8 December 2017

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रही तीन वनडे मैचों की जीत के साथ ही रोहित शर्मा एंड कंपनी एक बड़े लक्ष्य के साथ मैदान पर उतरेगी. दोनों टीमें जब धर्मशाला में पहला डे-नाइट मुकाबला खेलेंगी, तो भारतीय वनडे टीम के पास आईसीसी रैंकिंग में नंबर एक पायदान को कब्जाने का पूरा मौका होगा. लेकिन ऐसा करने के लिए उसे 'एक खास शर्त' को पूरा करना होगा. और विराट कोहली के बिना टीम के लिए यह शर्त आसान होने नहीं जा रही. श्रीलंका को टेस्ट सीरीज में शिकस्त करने के बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी धर्मशाला के स्टेडियम में जमकर पसीना बहा रहे हैं. मगर रोहित के रणबांकुरे एक अलग ही दबाव के साथ शुक्रवार के रण में मैदान पर उतरेंगे. यह दबाव इसी शर्त के रूप में उन पर होगा, जो टीम इंडिया के रैंकिंग में फिर से नंबर एक वनने की राह में खड़ा हुआ है. बता दें कि आसीसी रैंकिंग में फिलहाल दक्षिण अफ्रीका और भारत दोनों के ही 120 रेटिंग अंक हैं, लेकिन अंकों में तकनीकी तौर पर अंतर होने के कारण फिलहाल दक्षिण अफ्रीकी पहली पायदान पर काबिज है. जहां दक्षिण अफ्रीका के 6386 अंक हैं, तो वहीं भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका से सिर्फ सांत अंक पीछे हैं. ये वो अंक हैं जो रेटिंग प्वाइंट्स (120) से अलग होते हैं. टीम इंडिया के 6379 अंक हैं. चलिए बात टीम इंडिया की खास शर्त की करते हैं, जिससे रोहित की टीम को नंबर एक बनने के लिए हर हाल में पूरा करना है. इसके लिए भारत को धर्मशाला का मुकाबला हर और हर हाल में जीतना ही होगा. वैसे बता दें कि मुकाबला सिर्फ धर्मशाला ही नहीं बल्कि 13 दिसम्बर को मोहाली और 17 दिसम्बर को विशाखापत्तनम में होने वाले वनडे मैच भी हर हाल में जीतने होंगे. जी हां, श्रीलंका के खिलाफ 2-1 से सीरीज जीतने से ही फिर से नंबर एक का ताज नहीं मिल जाएगा. खास शर्त यही है कि अगर भारतीय वनडे टीम को वनडे रैंकिंग में नंबर एक टीम बनना है, तो उस हर हाल में तीनो वनडे मैच जीतने होंगे. और अगर शुरुआत ही धर्मशाला में हार से हुई, तो रैंकिंग का फिर से राजा बनने का सपना भी धर्मशाला में ही चूर हो पाएगा साफ है कि रोहित एंड कंपनी हर मुकाबले में इस दबाव के साथ मैदान पर उतरेगी. वहीं अब जब विराट टीम इंडिया के साथ नहीं हैं, तो दबाव को और बढ़ाएगा. अब करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों की नजरें इसी पर लगी हैं कि 'नए लुक' में टीम इंडिया फिर से वनडे की रैंकिंग का राजा बन पाती है या नहीं


एक और 'विराट कारनामा'! 'यहां' एक साथ 'इन चार दिग्गजों' को दे पटका विराट कोहली ने!
7 December 2017

नई दिल्ली: कहा जा सकता है कि 'रिकॉर्डमैन' बन चुके भारतीय कप्तान विराट कोहली की इन दिनों पांचों उगंलियां घी और सिर पूरी तरह से कड़ाही में है! श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई सीरीज में कई रिकॉर्डों को डुबोने वाले विराट के लिए गुरुवार का दिन बड़ी खबर लेकर आया और कोहली ने अब अब एक और विराट कारनामा कर डाला है. कोहली ने अपने इस विराट कारनामे से एक नहीं बल्कि चार-चार दिग्गजों को एक ही बार में पटक डाला यूं तो रेस पिछले कई दिनों से चल रही थी. इस रेस में एक नहीं कई दिग्गज कोहली को ओपन चैलेंज दे रहे थे. इसमें विदेशी ही नहीं बल्कि भारतीय खिलाड़ी भी शामिल थे. लेकिन श्रीलंका के खिलाफ विराट ने सीरीज में 610 रन बनाकर इन इन सभी को पीछे छोड़ दिया. चार दिग्गजों को पटकने के बाद अब ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ विराट कोहली के निशाने पर आ गए हैं. चलिए आपको पहले यह बताते हैं कि किन दिग्गजों को विराट कोहली ने रेस मे पीछे कर दिया है. विराट ने चल रहे इस 'द्वंद्व' में अपने कारनामे से एक साथ पटका है डेविड वॉर्नर, चेतेश्वर पुजारा, केन विलियम्स और जे रूट को. ये चारों ही बल्लेबाज श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में विराट से आगे चल रहे थे. चंद दिन पहले ही विराट ने अपना सफर रैंकिंग में बतौर नंबर छह बल्लेबाज शुरू किया था. लेकिन अब तीन टेस्ट में निकाले गए 152.50 के औसत के बाद कोहली ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ के बाद नंबर दो पायदान पर आ गए हैं. विराट अब 893 प्वाइंट्स के साथ दुनिया के नंबर दो बल्लेबाज हैं स्मिथ और उनके बीच अभी भी 45 अंकों का फासला है, जिनके 938 अंक हैं. लेकिन जिस रफ्तार से कोहली का बल्ला आग उगल रहा है, तो कोई बड़ी बात नहीं कि जल्द ही कोहली स्टीव स्मिथ को भी गद्दी से उतारकर नंबर एक पायदा कब्जा लें.


एशेज: तेज गेंदबाज मिचेल स्‍टार्क ने किया कमाल, ऑस्‍ट्रेलिया ने एडिलेड टेस्‍ट 120 रन से जीता
6 December 2017

एडिलेड: तेज गेंदबाज मिचेल स्‍टार्क ने कमाल करते हुए ऑस्‍ट्रेलिया को इंग्‍लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज के दूसरे टेस्‍ट मैच में यादगार जीत दिला दी है. स्‍टार्क ने 88 रन देकर पांच विकेट लिए, उनके इस प्रदर्शन की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने एडिलेड टेस्‍ट 120 रनों से जीता. मैच के अंतिम दिन इंग्‍लैंड की जीत की उम्‍मीदें बरकरार थीं और स्‍टंप्‍स के समय टीम का स्‍कोर चार विकेट पर 176 रन था. टीम को जीत के लिए 178 रन की जरूरत थी लेकिन स्‍टार्क ने यह संभव नहीं होने दिया. उनकी तूफानी गेंदबाजी के कारण इंग्‍लैंड की टीम दूसरी पारी में 84.2 में 233 रन बनाकर आउट हो गई. इस जीत के साथ स्‍टीव स्मिथ की ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने सीरीज में 2-0 से बढ़त हासिल कर ली है. इससे पहले, ब्रिस्बेन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया ने 10 विकेट से जीत हासिल की थी. कप्तान जो रूट की (67) की मंझी हुई बल्लेबाजी के दम पर इंग्लैंड ने चौथे दिन मंगलवार को स्‍टंप्‍स तक दूसरी पारी में 4 विकेट पर 176 रन बनाए थे. रूट के विकेट पर रहते हुए इंग्‍लैंड की जीत की उम्‍मीद कायम थीं. उसे जीत के लिए 178 रन की दरकार थी जबकि छह विकेट आउट होने बाकी थे. पांचवें दिन जब इंग्‍लैंड की पारी प्रारंभ हुई तो टीम के समर्थक जीत की उम्‍मीद लगाए हुए थे लेकिन रूट (67) के जल्‍दी ही आउट होने से इन उम्‍मीदों ने दम तोड़ दिया. रूट को तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड की गेंद पर विकेटकीपर टिम पेन ने कैच किया. पांचवां विकेट 177 के स्कोर पर गिरा. रूट के आउट होने के साथ ही इंग्लैंड की जीत की उम्‍मीदें टूट गई. इसके बाद स्‍टार्क और नाथन लियोन ने बाकी के बल्लेबाजों को भी ज्यादा देर तक मैदान पर टिकने नहीं दिया. लियोन ने मोइन अली (2) का विकेट लिया जबकि जॉनी बेयरस्टॉ (36), क्रेग ओवर्टन (7) और स्टुअर्ट ब्रॉड (8) के विकट स्‍टार्क ने अपनी झोली में डाले. इस डे-नाइट टेस्‍ट में ऑस्‍ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शॉन मार्श (126) के शतक की बदौलत पहली पारी आठ विकेट पर 442 रनों पर घोषित कर दी. जवाब में इंग्‍लैंड की पहली पारी 227 रन पर सिमट गई थी. हालांकि ऑस्ट्रेलिया का दूसरी पारी में प्रदर्शन सबसे खराब रहा था और इंग्‍लैंड जेम्स एंडरसन ने पांच और क्रिस वोक्स ने चार विकेट लेते हुए उसे 138 रनों पर ही समेट दिया था. इस पारी के आधार पर इंग्लैंड के पास 353 रनों का लक्ष्य था, जिसे टीम हासिल नहीं कर पाई और 233 रन पर सिमट गई. ऑस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में शतक लगाने वाले शॉन मार्श को प्लेयर ऑफ द मैच के पुरस्कार से नवाजा गया. इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बीच अब एशेज सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच 14 से 18 दिसम्बर तक पर्थ में खेला जाएगा


खेल जिन्दगी का अहम हिस्सा हैं- मुख्यमंत्री श्री चौहान
5 December 2017

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि खेल जिन्दगी का अहम हिस्सा हैं। खेल चिंताओं से मुक्त करते हैं और शरीर को स्वस्थ रखते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहां 17वीं अखिल भारतीय पुलिस वाटर स्पोर्ट्स प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस प्रतियोगिता के उद्घाटन की घोषणा की तथा स्मारिका का विमोचन भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खेल में राजनीति नहीं होना चाहिए, राजनीति में खेल होना चाहिए। खेलों से मन प्रसन्न होता है और कार्य क्षमता बढ़ती है। मध्यप्रदेश का यह सौभाग्य है कि 17वीं अखिल भारतीय वाटर स्पोर्टस की प्रतियोगितायें बीते पन्द्रह साल में चौथी बार यहां आयोजित की जा रही हैं। मध्यप्रदेश में खेलों के लिये विकसित की गई सुविधाएं गर्व करने लायक हैं। उद्घाटन समारोह में अतिथियों का स्वागत करते हुये अपर पुलिस महानिदेशक श्री एस.एल. थाउसेन ने बताया कि इस प्रतियोगिता में इक्कीस राज्यों के चार सौ खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। इसमें 86 स्पर्धाओं में 180 पदक दिये जायेंगे। कार्यक्रम में मध्यप्रदेश दल के कैप्टन नरेन्द्र यादव ने प्रतिभागियों को शपथ ग्रहण करायी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव गृह श्री के.के. सिंह, पुलिस महानिदेशक श्री आर.के. शुक्ला सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तथा खिलाड़ी मौजूद थे


एकलव्य पुरस्कार विजेताओं को शासकीय नौकरी मिलेगी : मुख्यमंत्री श्री चौहान
5 December 2017

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने एकलव्य पुरस्कार विजेताओं को शासकीय नौकरी देने, अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक विजेताओं को बिना परीक्षा के पुलिस में उपनिरीक्षक, आरक्षक के पद पर नियुक्ति देने और अन्य शासकीय विभागों में भी ऐसी व्यवस्था करने की घोषणा की है। श्री चौहान आज मध्यप्रदेश शिखर खेल अलंकरण समारोह 2017 कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर विधानसभा उपाध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह, विधायक, गणमान्य नागरिक, खेल प्रेमी और खिलाड़ी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन्दगी खेल के बिना अधूरी है। राजनीति में खेल आ जाये तो चमत्कार होता है, लेकिन खेलों में राजनीति नहीं आनी चाहिए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जिस विजन के साथ राष्ट्र निर्माण का कार्य हो रहा है, उसमें 2020 के ओलंपिक में भारत पदकों का रिकार्ड बनायेगा। खेलों में देश में नया इतिहास रचा जा रहा है। मध्यप्रदेश भी इसमें अग्रणी रहेगा। मध्यप्रदेश के खिलाड़ियों के प्रदर्शन में यह दिख रहा है। भारत की महिला हॉकी टीम में आधे खिलाड़ी मध्यप्रदेश की हॉकी अकादमियों के हैं। अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में प्रदेश के 80 खिलाड़ियों ने प्रतिभागिता की, जिनमें से 46 ने पदक प्राप्त किये। उन्होंने पालकों से कहा कि बच्चों को खेलने-कूदने और मस्ती करने का अवसर भी दें। जो बच्चे पढ़ना चाहते हैं और जो खेलना चाहते हैं, दोनों के साथ प्रदेश की सरकार है। मेधावी बच्चों की उच्च शिक्षा की फीस राज्य सरकार द्वारा भरवाये जाने की योजना का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि खेलने वाले बच्चों को भी पीछे नहीं रहने दिया जायेगा। बच्चे राज्य का भविष्य हैं, उनकी हर आवश्यकता को पूरा किया जाएगा। केन्द्रीय युवा कार्य एवं खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि कानून बनाकर केन्द्रीय सरकारी नौकरियों में खिलाड़ियों के लिये निर्धारित पदों के आरक्षण की व्यवस्था की जायेगी। खिलाड़ियों के लिये आरक्षित पद पर उम्मीदवार नहीं मिलने पर रिक्त पद अगले वर्ष की रिक्तियों में जोड़ दिये जायेंगे। उन्होंने बताया कि खेलों से संबंधित मोबाइल एप्लीकेशन भी तैयार किया जा रहा है जिसमें खेल मैदानों, अन्य सुविधाओं और प्रशिक्षकों की जानकारी उपलब्ध रहेगी। श्री राठौर ने कहा कि भारत सरकार खेलों इंडिया के विजन पर कार्य कर रही है। देश में पहली बार अंडर-17 की खेल प्रतियोगिताओं का विशाल टूर्नामेंट 31 जनवरी से 8 फरवरी 2018 तक आयोजित किया जायेगा। इस टूर्नामेंट में विभिन्न विद्यालयों, फेडरेशनों और स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया की टीमें भाग लेंगी। खिलाड़ियों को समर्थन और संसाधन उपलब्ध कराने के लिये प्रथम चरण की स्पांसरशिप भी केन्द्र सरकार द्वारा दी जायेगी। हर वर्ष देश भर से एक हजार खिलाड़ियों को पांच लाख रुपये प्रति वर्ष के मान से आठ वर्ष की स्पांसरशिप दी जायेगी। विद्यालयों में आगामी ग्रीष्मावकाश से पूर्व आठ से चौदह वर्ष की उम्र की खेल प्रतिभाओं की खोज का कार्य भी किया जायेगा। उनकी शारीरिक क्षमताओं और दक्षताओं के आधार पर उनको उपयुक्त खेल का प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसी तरह खेल प्रतिभाओं को खोजने वाले प्रशिक्षकों को भी उचित प्रोत्साहन और सम्मान दिये जाने की व्यवस्था भी की जा रही है ताकि पदक विजेता खिलाड़ी के प्रशिक्षक के लिये निर्धारित प्रोत्साहन राशि का बीस प्रतिशत हिस्सा प्रारंभिक कोच को मिले। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में खेलो इंडिया अभियान में खेल संस्कृति को प्रोत्साहित करने के प्रयास किये जा रहे है। अच्छा इंजीनियर, अच्छा डॉक्टर और अच्छा नागरिक बनाने के लिये खेल आवश्यक हैं। टीम के लिये खेलने, गिर कर उठने और हार कर जीतने की शिक्षा खेल मैदान में ही मिलती है। ऐसे गुरुओं के सम्मान और गुरु-शिष्य की संस्कृति को पुनर्स्थापित करने के प्रयास किये जा रहे हैं। श्री राठौड़ ने मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व की सराहना करते हुए बताया कि मध्यप्रदेश राज्य में ही उनकी विद्यालयीन और सैनिक शिक्षा संपन्न हुई है। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि दिल और दिमाग में जीत हासिल करने का जज्बा ही जीत को पक्का करता है। पैरा ओलम्पियन खिलाड़ियों के जीवन संघर्ष का उल्लेख करते हुये उन्होंने कहा कि इन खिलाड़ियों ने चुनौतियों का सामना संकल्प और कठोर परिश्रम से किया और सफलता प्राप्त की। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने आज दो सौ करोड़ का बजट खेलों को उपलब्ध कराया है। इस अवसर पर रियो पैरा ओलम्पिक के पदक विजेताओं सुश्री दीपा मलिक को चालीस लाख रुपये, श्री देवेन्द्र झांझरिया को पचास लाख रुपये, मरियप्पन थंगावेलू को पचास लाख रुपये और वरुण सिंह भाटी को पच्चीस लाख रुपये तथा रियो ओलम्पिक-2016 में महिला कुश्ती में कांस्य पदक विजेता सुश्री साक्षी मलिक को पच्चीस लाख रुपये की सम्मान निधि से सम्मानित किया गया। भारतीय महिला हॉकी दल में मध्यप्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी की सुश्री अनुराधा देवी, पी. सुशीला चानू, रेणुका यादव तथा एल. फैली को 5-5 लाख रुपये की सम्मान निधि दी गई। वर्ष 2017 के लिये एकलव्य, विक्रम एवं विभिन्न खेल पुरस्कारों के लिए प्रदेश के कुल 28 खिलाड़ियों को शिखर सम्मान से अलंकृत किया गया।


AUS VS ENG: जेम्स एंडरसन का बड़ा कारनामा...पर 'यह ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर' बना चुनौती
5 December 2017

नई दिल्ली: खुद को सर्वकालिक महान गेंदबाजों में शामिल करा चुके इंग्‍लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने एशेज के दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया को बहुत ही सस्ते में समेटते हुए सिर्फ 138 रनों पर ढेर कर दिया. हालांकि इस टेस्ट मैच में भी इंग्लैंड का जीतना बहुत ही मुॉश्किल है. लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन का एंडरसन पर कोई असर नहीं है. एंडरसन ने चौथे दिन पांच विकेट चटकाए और इसी के साथ ही वे विंडीज के महान गेंदबाज कर्टनी वाल्श के और नजदीक पहुंच गए. यह बहुत ही साफ है कि कोर्टनी वाल्श के 519 विकेट पर एंडरसन जल्द ही अपना नाम लिखा लेंगे. फिलहाल जेम्स एंडरसन के 514 विकेट हो गए हैं और वह वॉल्श का रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ छह विकेट ही दूर हैं. बहरहाल यह 25वां मौका था, जब इस इंग्लिश सीमर ने मैच में पांच विकेट चटकाए. वहीं एंडरसन ने मैच में दस विकेट तीन बार लिए हैं. इस कारनामे के बाद एंडरसन का दुनिया का दूसरा सबसे तेज गेंदबाज बनना तय है लेकिन इंग्लैंड के इस महान सीमर के सामने अब सबसे बड़ा चैलेंज ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा बन गए हैं. चैलेंज की वजह मैक्ग्रा का रिकॉर्ड ही नहीं, बल्कि एंडरसन की उम्र भी है. मैक्ग्रा ने अपने टेस्ट करियर में 563 विकेट लिए हैं और तेज गेंदबाजों की पायदान में वह नंबर एक पर हैं, तो उन्होंने पारी में पांच विकेट चटकाने का कारनामा 29 बार किया है. अब इसी रिकॉर्ड को तोड़ना एंडरसन के लिए एक बड़ी चुनौती बन गया है जेम्स एंडरसन अगले साल 36 साल के होने जा रहे हैं. यह सही है कि एंडरसन ने अपनी बेमिसाल फिटनेस के चलते ही 514 विकेट लिए हैं, लेकिन अगर यह कहा जाए कि मैक्ग्रा के 563 विकेट से आगे निकलना उनके लिए बड़ी चुनौती है, तो यह गलत नहीं ही होगा


मैच के दौरान श्रीलंका के ख‍िलाड़‍ियों ने पहना मास्‍क, ट्विटर पर जमकर उड़ा मजाक
4 December 2017

नई द‍िल्‍ली : रविवार यानी कि तीन दिसंबर का द‍िन हमेशा हमेशा के लिए क्रिकेट के इतिहास में दर्ज हो गया है. लेकिन इतिहास भारत की बेहतरीन पारी या किसी रिकॉर्ड की वजह से नहीं बना है. जी हां, अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में पहली बार प्रदूषण की वजह से मैच रोक दिया गया. यही नहीं श्रीलंका के खिलाड़ी मैदान में मास्‍क पहने हुए नजर आए. दिल्‍ली के फिरोज शाह कोटला स्‍टेडियम में भारत और श्रीलंका के बीच चल रहे टेस्‍ट मैच के दूसरे दिन कई बार खेल में व्‍यवधान आया. श्रीलंकाई खिलाड़‍ी खांसी, दम घुटने और सांस लेने में तकलीफ की श‍िकायत कर रहे थे और उनकी ओर से कई बार मैच रोकने की अपील की गई. इन सबसे विराट कोहली बेहद परेशान हो गए और उन्‍होंने कुछ इस तरह पारी की घोषणा कर दी: टीम इंडिया अच्‍छा खेल रही थी और जिन हालातों में पारी की घोषणा हुई वो भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को ज़रा भी पसंद नहीं गया है. मैच को अपने पक्ष में करने का आरोप लगाते हुए ट्विटर यूजर्स ने श्रीलंका के कैप्‍टन दिनेश चंदीमल और ख‍िलाड़‍ियों का जमकर मजाक उड़ाया: बहरहाल, हम तो यही कहेंगे कि हो सकता है कि श्रीलंकाई ख‍िलाड़‍ियों ने कुछ ज्‍यादा ही कर दिया हो लेकिन दिल्‍ली की हवा जहरीला है इसमें कोई दोराय भी नहीं है. अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में मास्‍क पहने हुए ख‍िलाड़‍ियों को देखकर भारत की छवि बहुत खराब हुई है. ऐसे में इस जहरीली हवा से छुटकारा पाने के लिए ठोस कदम उठाना और भी जरूरी हो गया है.


IND vs SL: तीसरा टेस्‍ट कल से, टीम इंडिया के पास ऑस्‍ट्रेलिया और इंग्‍लैंड के रिकॉर्ड की बराबरी का मौका
1 December 2017

नई दिल्ली: भारत और श्रीलंका के बीच तीन टेस्‍ट मैच की सीरीज का अंतिम मैच कल से यहां के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला जाएगा. विजय रथ पर सवार विराट कोहली ब्रिगेड लगातार नौवीं सीरीज जीतकर इतिहास रचने के इरादे से उतरेगी. नागपुर में दूसरे टेस्ट में पारी और 239 रन की जीत के साथ मौजूदा सीरीज में 1-0 से आगे चल रही टीम इंडिया ने कोहली की अगुआई में पिछली आठ सीरीज में जीत दर्ज की है और अगर टीम कल से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट को ड्रॉ भी करा लेती है तो लगातार नौ टेस्ट सीरीज जीतने के ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेगी. भारत ने पिछली सीरीज वर्ष 2014-15 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी की सरजमीं पर गंवाई थी. टीम इंडिया को तब चार मैचों की सीरीज में 2-0 से शिकस्त का सामना करना पड़ा. इसके बाद से भारत ने नौ सीरीज खेलीं और लगातार आठ सीरीज जीतकर इतिहास रचने की दहलीज पर खड़ा है. टीम इंडिया ने इस दौरान स्वदेश में पांच, श्रीलंका में दो और वेस्टइंडीज में एक सीरीज जीती. दुनिया की नंबर एक टीम भारत के स्वदेश में दबदबे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 2012-13 में इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों की सीरीज 2-1 से गंवाने के बाद से वह अपनी मेजबानी में लगातार सात सीरीज जीत चुका है. टीम इंडिया ने इस दौरान 23 मैचों में से 19 में जीत दर्ज की जबकि एकमात्र मैच उसने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गंवाया. दक्षिण अफ्रीका के कड़े दौरे से पहले यह भारत के लिए अंतिम टेस्ट मैच होगा और ऐसे में टीम प्रबंधन की इच्छा के अनुरूप कोटला में भी कोलकाता के ईडन गार्डन्स और नागपुर के वीसीए स्टेडियम की तरह घसियाली पिच पर मैच हो सकता है. ईडन गार्डन्स पर तेज गेंदबाजों ने कहर बरपाया था जबकि नागपुर में स्पिनर अधिक प्रभावी रहे थे. टीम प्रबंधन के सामने यह भी सवाल होगा कि इस मैच में कोलकाता की तरह पांच गेंदबाजों के साथ उतरा जाए या नागपुर की तरह चार गेंदबाजों के साथ उतरकर अतिरिक्त बल्लेबाज को खिलाया जाए. अगर भारत पांच गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला करता है तो उप कप्तान अजिंक्य रहाणे को बाहर बैठाना पड़ सकता है. वह मौजूदा सीरीज की तीन पारियों में एक बार भी दोहरे अंक तक नहीं पहुंचे हैं. दूसरी तरफ रोहित शर्मा ने एक साल से भी अधिक समय बाद टीम में वापसी करते हुए नागपुर में शतक जड़ा था जिसके कारण उन्हें बाहर करना आसान फैसला नहीं होगा. भारत पिछले 30 साल से कोटला पर अजेय है. यहां पिछले 11 मैचों में से 10 में टीम इंडिया ने जीत दर्ज की है और एक मैच बराबरी पर छूटा. इस मैदान पर भारत ने कुल 33 टेस्ट खेले हैं और उनमें से उसे 13 में जीत और छह में हार मिली जबकि 14 मैच ड्रॉ छूटे. निजी कारणों से पिछले मैच में बाहर रहने वाले शिखर धवन और लोकेश राहुल में से एक को अंतिम एकादश से बाहर रहना पड़ सकता है क्योंकि मुरली विजय नागपुर में शतक जड़कर सलामी बल्लेबाज के रूप में अपना दावा मजबूत कर चुके हैं. मध्यक्रम में कोहली का साथ बेहतरीन फॉर्म में चल रहे चेतेश्वर पुजारा, रोहित और विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा निभा सकते हैं. रहाणे को अगर मौका मिलता है तो वह कोटला पर अपने पिछले प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे. उन्होंने इस मैदान पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दिसंबर 2015 में हुए पिछले मैच की दोनों पारियों में शतक जड़े थे. रहाणे इसके अलावा 3000 टेस्ट रन की उपलब्धि भी हासिल कर सकते हैं जिसके लिए उन्हें 185 रन की दरकार है. नागपुर में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाली ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की जोड़ी एक बार फिर मैदान पर दिख सकती है. तेज गेंदबाजों में ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और उमेश यादव दावेदार होंगे कोहली के पास इस मैच में जीत के साथ भारत के दूसरे सबसे सफल कप्तान के रूप में सौरव गांगुली की बराबरी करने का मौका होगा. गांगुली की अगुआई में भारत ने 49 मैचों में 21 जीत दर्ज की जबकि कोहली की अगुआई में भारत अब तक 31 मैचों में 20 जीत दर्ज कर चुका है. कप्तान के रूप में इन दोनों से अधिक जीत सिर्फ धोनी (60 मैचों में 27 जीत) के नाम दर्ज हैं.दूसरी तरफ श्रीलंका को बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों विभागों में जूझना पड़ा है. कप्तान दिनेश चंदीमल (दो मैचों में 166 रन) के अलावा टीम का कोई बल्लेबाज सीरीज में 100 रन के आंकड़े को भी पार नहीं कर पाया है. गेंदबाजी में तेज गेंदबाज सुरंगा लकमल के अलावा टीम के अन्य गेंदबाजों ने निराश किया है


विश्‍व रिकॉर्डधारी मुरलीधरन जैसी ‘रफ्तार’ हासिल करने के लिए रविचंद्रन अश्विन को करना होगा यह काम!
30 November 2017

नई दिल्ली: सबसे कम टेस्‍ट में 250 और 300 विकेट लेकर बड़ा कारनामा करने वाले टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन पर दुनियाभर की निगाहें टिकी हुई हैं. श्रीलंका के खिलाफ नागपुर टेस्‍ट में 300 विकेट पूरे करने के बाद अश्विन ने कहा है कि वे अपने टेस्‍ट विकेटों की संख्‍या 'डबल' करना चाहते हैं. अश्विन को आगे भी ‘सबसे तेज’ बने रहने और 600 विकेट के जादुई आंकड़े को छूने के लिए विदेशी सरजमीं पर अच्छा प्रदर्शन करना होगा क्योंकि भारतीय टीम को अगले दो वर्षों में स्वदेश के बजाय विदेशों में अधिक टेस्ट मैच खेलने हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में इस समय सर्वाधिक विकेट श्रीलंका के ऑफ स्पिनर मुरलीधरन के नाम पर हैं. मुरली के रिकॉर्ड को छूने या इसके करीब तक पहुंचने के लिए अश्विन को विदेशी मैदानों पर भी लगातार विकेट हासिल करने होंगे.खासतौर पर उन्‍हें एशिया के बाहर के मैदानों पर अपने गेंदबाजी प्रदर्शन को बेहतर बनाना होगा. अश्विन ने नागपुर में अपने 54वें टेस्‍ट में 300वां विकेट लेकर सबसे कम मैचों में इस मुकाम पर पहुंचने का रिकॉर्ड बनाया है. इसके बाद 350 से लेकर 800 विकेट तक के सभी रिकार्ड मुरलीधरन के नाम पर हैं जिनकी नजर में अभी यह भारतीय ऑफ स्पिनर विश्व का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज है. अश्विन अभी जिस गति से विकेट ले रहे हैं उससे वह मुरलीधरन के सबसे तेज 350 और 400 विकेट लेने के रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं या उसकी बराबरी कर सकते हैं लेकिन इसके लिये उन्हें विदेशों में अच्छा प्रदर्शन करना होगा. उन्होंने विदेशी सरजमीं पर 20 टेस्ट मैचों में केवल 84 विकेट लिए हैं. इस तरह से उन्होंने विदेशों में प्रति टेस्ट 4.2 विकेट लिए हैं जबकि ओवरआल उनका यह औसत प्रति टेस्ट 5.5 है. विदेशों के इन विकेटों में भारतीय उपमहाद्वीप के अन्य देशों (श्रीलंका और बांग्लादेश) में सात टेस्ट मैचों में लिए गए 43 विकेट भी शामिल हैं. इन दोनों देशों में परिस्थितियां स्पिनरों के अनुकूल होती है. इस तरह से अश्विन भारतीय उपमहाद्वीप से बाहर 13 टेस्ट मैचों में केवल 41 विकेट ले पाए हैं जो कि प्रति मैच 3.1 विकेट बैठता है. अश्विन यदि उपमहाद्वीप से बाहर अपने प्रदर्शन में सुधार नहीं कर पाते हैं तो फिर उनके लिए यह बुरी खबर होगी कि भारत को अगले दो साल में जो 16 टेस्ट मैच विदेशों में खेलने हैं वे सभी उपमहाद्वीप से बाहर खेले जाएंगे. भारत ने अगले साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका में चार टेस्ट मैच खेलने हैं जहां अश्विन ने जो एकमात्र टेस्ट मैच खेला है उसमें उन्हें विकेट नहीं मिला. इसके बाद जुलाई-अगस्त में भारतीय टीम इंग्लैंड में पांच टेस्ट मैच खेलेगी. इस देश में अश्विन के नाम पर दो टेस्ट मैचों में तीन विकेट दर्ज हैं. भविष्य के दौरा कार्यक्रम के अनुसार भारत अगले साल चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिये दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाएगा जहां अश्विन का प्रदर्शन अपेक्षाकृत बेहतर (छह मैचों में 21 विकेट) है. भारतीय टीम अगस्त 2019 में वेस्टइंडीज में भी तीन टेस्ट मैच खेलेगी. कैरेबियाई सरजमीं पर अश्विन ने अब तक चार मैचों में 17 विकेट हासिल किये हैं. बीसीसीआई अगर किसी अन्य सीरीज का प्रबंध नहीं करता है तो भारत अगले दो वर्षों में स्वदेश में केवल आठ टेस्ट मैच ही खेल पाएगा.अगर अश्विन के आंकड़ों पर बात करें तो उन्होंने अपने पहले 50 टेस्ट विकेट नौ टेस्ट मैच में लिए थे लेकिन विदेशी सरजमीं पर खेले गये पहले नौ मैचों में उनके नाम पर केवल 24 विकेट दर्ज थे. उन्होंने 18वें टेस्ट में 100 विकेट लेकर नया भारतीय रिकॉर्ड बनाया था और फिर अगले 100 विकेट लेने के लिये 19 टेस्ट मैच खेले थे लेकिन 200 से 300 विकेट तक वह केवल 17 टेस्ट मैचों में पहुंच गए थे. इस गति से वह 72 टेस्ट मैच तक 400 विकेट तक पहुंच जाएंगे. यह वही संख्या है जितने मैचों में मुरलीधरन ने यह आंकड़ा छुआ था. इसके बाद हालांकि श्रीलंकाई दिग्गज ने विकेट लेने की अपनी गति बढ़ा दी थी. अश्विन ने हाल में कहा था कि उनका लक्ष्य 600 विकेट के जादुई आंकड़े तक पहुंचना है. मुरलीधरन ने 101 मैचों में यह मुकाम हासिल किया था जबकि उन्होंने 58 मैचों में 300 विकेट लिए थे. इसका मतलब है कि उन्होंने अपने अगले 300 विकेट केवल 43 मैचों में लिए थे. टेस्ट क्रिकेट में 600 से अधिक विकेट लेने वाले दो अन्य गेंदबाज शेन वार्न ने पहले 300 विकेट 63 मैचों में अगले 300 विकेट भी इतने ही मैचों में लिए थे. अनिल कुंबले ने हालांकि पहले 300 के लिए 66 मैच खेले लेकिन इसके बाद 58 मैच खेलकर वह 600 के आंकड़े को छू गए थे. अश्विन अगर विदेशों में घर जैसा प्रदर्शन नहीं दोहरा पाते हैं तो उन्हें अंतिम एकादश से बाहर बैठना पड़ सकता है जैसा कि पहले भी होता रहा है. अश्विन के पदार्पण के बाद भारत ने उपमहाद्वीप में जो 41 टेस्ट मैच खेले उन सभी में यह ऑफ स्पिनर अंतिम एकादश में शामिल था. इन मैचों में अश्विन ने 259 विकेट लिए. उपमहाद्वीप से बाहर इस बीच भारत ने जो 21 टेस्ट मैच खेले उनमें से आठ में अश्विन को अंतिम एकादश में नहीं चुना गया था. बीसीसीआई को अपनी अगली विशेष आम सभा (एसजीएम) में भविष्‍य के दौरा कार्यक्रम पर भी चर्चा करनी है और अगर 2019 के बाद के कार्यक्रम में भारतीय टीम को स्वदेश में अधिक मैच खेलने को मिलते हैं तो फिर अश्विन कई अन्य रिकार्ड अपने नाम कर सकते हैं


सर्वोच्च खेल पुरस्कारों का 5 दिसम्बर को अलंकरण समारोह
29 November 2017

प्रदेश का सर्वोच्च ‘‘विक्रम, एकलव्य, विश्वामित्र, स्व. श्री प्रभाष जोशी खेल पुरस्कार तथा लाईफ-टाईम अचिव्हमेंट खेल पुरस्कार-2017 समारोह का 5 दिसम्बर को टी.टी. नगर स्टेडियम में केन्द्रीय खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री राजवर्धन सिंह राठौर के मुख्य आतिथ्य में आयोजित होगा। खेल और युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने यह जानकारी देते हुए बताया है कि इस वर्ष 14 जूनियर खिलाड़ियों को एकलव्य पुरस्कार, दस सीनियर खिलाड़ियों को विक्रम पुरस्कार, दो खेल प्रशिक्षकों को विश्वामित्र पुरस्कार, एक खेल हस्ती को खेलों में विशेष योगदान के लिए स्व. श्री प्रभाष जोशी खेल पुरस्कार तथा खेलों के विकास तथा प्रोत्साहन एवं जीवन पर्यन्त योगदान के लिए एक खेल हस्ती को लाईफ टाईम अचिव्हमेंट पुरस्कार से नवाजा जायेगा। ये खेल हस्तियां होंगी सम्मानित :-
एकलव्य पुरस्कार-2017
इस वर्ष 14 खिलाड़ियों को एकलव्य पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। इनमें पाँच-पाँच खिलाड़ी इन्दौर और भोपाल के तथा अशोकनगर, जबलपुर, शिवपुरी और ग्वालियर का एक-एक खिलाड़ी शामिल हैं। सम्मानित होने वाले खिलाड़ियों में सुश्री मनीषा कीर (शूटिंग) भोपाल, सुश्री प्रत्यक्षा सोनी (सॉफ्ट टेनिस) भोपाल, श्री प्रियम जैन (वूशू) अशोकनगर, सुश्री माला कीर (क्याकिंग-कैनोइंग) भोपाल, सुश्री सुदीप्ती हजेला (घुड़सवारी) इन्दौर, श्री तितिक्षा मराठे (तैराकी) इन्दौर, श्री विश्वजीत सेंधव (रोइंग) भोपाल, सुश्री हर्षिता तोमर (सेलिंग) भोपाल, श्री पीयूष सिंह (वेटलिफ्टिंग) जबलपुर, श्री पलाश समाधिया (कराते) शिवपुरी, सुश्री अंचित कौर (फेंसिंग) ग्वालियर, सुश्री ज्योति पारखे (सॉफ्टवॉल) इन्दौर, श्री आकाश रूडेले (कबड्डी) इन्दौर तथा सुश्री ईशिका शाह (विलियर्ड-स्नूकर) इन्दौर शामिल हैं।
विक्रम पुरस्कार-2017
इस वर्ष विक्रम पुरस्कार से सम्मानित होने वाले दस खिलाड़ियों में पाँच बालक और पाँच बालिका खिलाड़ियों का चयन किया गया हैं। इनमें जबलपुर और भोपाल के तीन-तीन, टीकमगढ़, आगर-मालवा, इन्दौर और ग्वालियर का एक-एक खिलाड़ी शामिल है। इनमें श्री प्रिंस परमार (क्याकिंग-कैनोइंग) टीकमगढ़, सुश्री स्वेच्छा जाटव (वूशू) जबलपुर, श्री संजय सिंह राठौड़ (शूटिंग) आगर-मालवा, सुश्री सोना कीर (रोइंग) भोपाल, श्रीमती रीना सिंधिया (कराते) जबलपुर, सुश्री शैला चार्ल्स (सेलिंग) भोपाल, श्री अफ्फान यूसुफ (हॉकी) भोपाल, श्री नरेन्द्र समेलिया (खो-खो) इन्दौर, सुश्री सरिता रैकवार (पॉवरलिफ्टिंग) जबलपुर और श्री धर्मेन्द्र अहिरवार (तैराकी-दिव्यांग) ग्वालियर का चयन विक्रम पुरस्कार के लिए किया गया है।
विश्वामित्र पुरस्कार-2017
इस वर्ष का विश्वामित्र पुरस्कार सुश्री तरूणा चावरे (मल्लखम्ब) उज्जैन और श्री दविन्दर सिंह खनूजा (पॉवरलिफ्टिंग) इन्दौर को प्रदान किया जाएगा।
स्व. श्री प्रभाष जोशी खेल पुरस्कार-2017
मल्लखम्ब खेल को प्रोत्साहन देने के लिए स्थापित इस वर्ष का स्व. श्री प्रभाष जोशी खेल पुरस्कार मल्लखम्ब खिलाडी श्री चन्द्रशेखर चैहान उज्जैन को प्रदान किया जाएगा।
लाईफ टाईम अचिव्हमेंट पुरस्कार-2017
इस वर्ष का लाईफ टाइम अचिव्हमेन्ट पुरस्कार स्व. श्री प्रभाकर कुलकर्णी, इन्दौर को मरणोपरांत उनके क्रिकेट, खो-खो एवं कबड्डी में किए गए उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया जायेगा।


सोशल मीडिया पर उड़ी पाक क्रिकेटर उमर अकमल की मौत की खबर, जानिए क्या है सच्चाई
29 November 2017

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर खबरें आती हैं और वायरल हो जाती हैं. चाहे वो सच हो या फेक. लोग सच मान बैठते हैं और झूठी खबर सच्ची बताकर पेश करते हैं. ठीक वैसा ही हुआ उमर अकमल के साथ, सोशल मीडिया पर उनकी झूठी खबर वायरल हुई कि उमर अकमल की लाहौर में मौत हो गई. जिसके बाद उन्हें RIP लिखने लगे. जिसके बाद पूरी दुनिया में ये खबर वायरल हो गई. एक फोटो भी वायरल हो रही है जिसमें उमर अकमल जैसा ही कोई शख्स अस्पताल में पड़ा हुआ है.
उमर अकमल ने खुद बताई ये खबर झूठी
उमर अकमल ने जैसे ही ये खबर सुनी तो उन्होंने सोशल मीडिया पर ट्वीट और वीडियो पोस्ट कर बताया कि ये खबर झूठी है और वो बिलकुल सुरक्षित हैं. उमर ने ट्वीट करते हुए लिखा: 'अलहमदुल्लाह, मैं लाहौर में पूरी तरह सुरक्षित हूं, सोशल मीडिया पर वायरल खबर गलत है. और इंशाअल्लाह मैं नेशनल टी20 कप के सेमीफाइनल में खेलूंगा जैसे ही उमर ने ये खबर बताई ने फैन्स ने रिट्वीट करना शुरू कर दिया. ताकी ये झूठी खबर और न फैले. उमर अकमल ने अपना आखिरी वनडे मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 26 जनवरी 2017 को खेला था. फिलहाल वो टीम से बाहर चल रहे हैं लेकिन टीम में वापसी के लिए कड़ी महनत कर रहे हैं


IND vs SL: सबसे तेज 300 विकेट लेने के बाद रविचंद्रन अश्विन ने दिया यह बयान
28 November 2017

नागपुर: श्रीलंका के खिलाफ सोमवार को दूसरे टेस्ट मैच में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले दिग्गज गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने अपने करियर के 300 टेस्ट विकेट भी पूरे किए. अश्विन ने कहा है कि वह इस आंकड़े को 'डबल' करना चाहते हैं. विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में सोमवार को खेले गए मैच में अश्विन सबसे तेजी से करियर के 300 विकेट पूरे करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं. अश्विन ने 54वें टेस्ट मैच में यह आंकड़ा छुआ है. इस सूची में अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज डेनिस लिली को पछाड़ते हुए पहला स्थान हासिल कर लिया है. अश्विन ने 54 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे किए हैं, वहीं लिली ने 56 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे करने का रिकॉर्ड बनाया था अश्विन ने कहा, 'मैं उम्मीद कर रहा हूं कि 300 विकेट की इस उपलब्धि को मैं 600 विकेट में तब्दील कर सकूं. मैंने अभी केवल 54 टेस्ट मैच ही खेले हैं. स्पिन गेंदबाजी उतनी आसान नहीं है, जितनी यह नजर आती है.' दूसरे टेस्ट से पहले अश्विन को 300 विकेट पूरे करने के लिए 8 विकेट और लेने थे, जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में हासिल किए. भारतीय टीम ने विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका को एक पारी और 239 रनों से हरा दिया. इस टेस्ट मैच में अश्विन ने कुल 8 विकेट लिए और 300 विकेट पूरे करने की उपलब्धि भी हासिल की. केवल इतना ही नहीं. अश्विन ने सबसे तेजी से 300 विकेट पूरे करने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में अनिल कुंबले को पछाड़ा है. कुंबले ने 66 मैचों में 300 विकेट लिए थे, जो अश्विन ने 54 मैचों में हासिल किए हैं. अश्विन ने कहा, 'इसमें काफी मेहनत लगती है. मैंने और रवींद्र जडेजा ने काफी गेंदबाजी की थी. टीम की ओर से हाल ही में मिले ब्रेक से हमें श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए तरोताजा होने में काफी मदद मिली


IND V/S SL: 'कुछ यूं' सिर पर सवार हुए विराट कोहली..न स्टीव वॉ बचेंगे, न ही पोंटिंग!
27 November 2017

नई दिल्ली: अगर यह कहा जाए कि इन दिनों भारतीय कप्तान की पांचों उंगलियां घी में और सिर कड़ाही में है, तो एक बार को गलत नहीं ही होगा. पहले दोहरा शतक, फिर बड़ी जीत और इसके बाद लगातार उन पर हो रही रिकॉर्डों की बारिश! कोहली कुछ भी करते हैं, झट से कोई न कोई रिकॉर्ड निकलकर सामने आ ही जाता है. नागपुर में 'विराट जीत' के बाद भी कुछ ऐसा ही हुआ. अब विराट कोहली दो पूर्व कंगारू कप्तानों को पटखनी से बस चंद ही कदम दूर हैं विराट कोहली का नागपुर में बतौर कप्तान यह 31वां टेस्ट मैच था. इस टेस्ट में जीत के बाद कोहली अब दोनों पूर्व कप्तानों के सिर पर सवार हो गए हैं. बता दें कि इतने ही मैचों में कप्तानी करने तक ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ ने अपनी कप्तानी में ऑस्ट्रेलियाई टीम को 21 टेस्ट मैचों में जीत दिलाई थी. वहीं, इतने ही मैचों में कप्तानी करने तक रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलिया को 23 मैचों में जीत से नवाजा था. बेशक इतने मैचों के बाद विराट कोहली जीत के मामले में इन दोनों से पीछे खड़े रह गए हों, लेकिन इन दोनों का रिकॉर्ड किसी भी सूरत में विराट के हाथों से बचने नहीं जा रहा.नागपुर में यह विराट की अपने 31वे टेस्ट की कप्तानी में 20वीं जीत थी. इस जीत के साथ ही उन्होंने इतने ही टेस्ट मैचों में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (19 जीत) के रिकॉर्ड पर तो पानी फेर दिया अब जब विराट कुछ दिन बाद फिरोजशाह कोटला मैदान पर तीसरे टेस्ट में मैदान पर उतरेंगे, तो उनके पास स्टीव वॉ का रिकॉर्ड बराबर करने का पूरा मौका होगा. साफ है कि अब अपनी कप्तानी में हासिल होने वाली एक-एक जीत विराट को रिकी पोंटिंग (23) के नजदीक लेकर आएगी


टी20 क्रिकेट: पाकिस्‍तान के कामरान अकमल ने 71 गेंद पर ठोके 150 रन, 'दागी' सलमान बट के साथ बनाया विश्‍व रिकॉर्ड
25 November 2017

पाकिस्‍तान के विकेटकीपर बल्‍लेबाज कामरान अकमल ने 'दागी' सलमान बट के साथ टी20 क्रिकेट में विश्‍वरिकॉर्ड बनाया है. इन दोनों बल्‍लेबाजों ने शुक्रवार को टी20 क्रिकेट की पहले विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी निभाई. दोनों ने पहले विकेट के लिए 209 रन जोड़े. पाकिस्तान के राष्ट्रीय टी20 कप में लाहौर व्‍हाइट्स टीम की ओर से इस्लामाबाद के खिलाफ इन दोनों ने यह कारनामा किया. इस दौरान कामरान ने जहां 12 छक्‍कों और 14 चौकों की मदद से नाबाद 150 रन बनाए वहीं सलमान बट ने 49 गेंदों में 55 रन बनाए. रावलपिंडी में खेले गए इस मैच में लाहौर की टीम ने 20 ओवर में बिना विकेट खोए 209 रन बनाए थे.इस मैच में जहां लाहौर टीम का एक भी विकेट नहीं गिरा, वहीं इस्लामाबाद की टीम महज 100 रन बनाकर आउट हो गई. मैच में लाहौर टीम ने 109 रनों से जीत दर्ज की. कामरान-बट की जोड़ी ने केंट के जेएल डेनली और डीजे बेल के 207 रनों के पहले विकेट की साझेदारी के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा. डेनली-बेल ने यह रिकॉर्ड इंग्लिश काउंटी टी20 क्रिकेटक्रिकेट में एसेक्‍स के खिलाफ बनाया था. कामरान-बट की ओर से की गई यह साझेदारी (209) टी20 क्रिकेट के किसी भी विकेट की तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है. कामरान ऐसे पहले पाकिस्‍तानी और विकेटकीपर बल्‍लेबाज बन गए जिन्‍होंने किसी टी20 मैच में 150 रन बनाए हैं.उ'न्‍होंने दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डि कॉक के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा. दक्षिण अफ्रीका बल्‍लेबाज ने टी20 मैच में नाबाद 126 रन की पारी खेली थी. गौरतलब है कि सलमान बट स्‍पॉट फिक्सिंग के मामले में पांच वर्ष का प्रतिबंध झेल चुके हैं.प्रतिबंध पूरा करने के बाद बट ने हाल ही में पाकिस्‍तान के घरेलू क्रिकेट में वापसी की है


एशेज: मिचेल स्‍टार्क और पैट कमिंस ने इंग्‍लैंड को पहली पारी में 302 रन पर समेटा
24 November 2017

ब्रिसबेन: मार्क स्‍टोनमैन, जेम्‍स विंस और डेविड मालन के अर्धशतक के बावजूद इंग्‍लैंड की टीम आज यहां एशेज सीरीज के पहले टेस्‍ट के दूसरे दिन 302 रन पर आउट हो गई. इंग्लिश पारी लंच के तुरंत पहले 116.4 ओवर में 302 रन पर समाप्‍त हुई. इसी स्‍कोर पर लंच घोषित कर दिया गया. मैच के दूसरे दिन ऑस्‍ट्रेलिया के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया और इंग्‍लैंड की पारी को समेटने में ज्‍यादा देर नहीं लगाई.तेज गेंदबाज मिचेल स्‍टार्क और पैट कमिंस ने तीन-तीन विकेट लिए. स्पिन नाथन लायन ने दो विकेट हासिल किए. मैच के दूसरे दिन इंग्‍लैंड ने चार विकेट पर 196 रन से आगे खेलना प्रारंभ किया. पांचवें विकेट के लिए डेविड मालन और मोईन अली की जोड़ी ने 83 रन की साझेदारी की. इंग्‍लैंड की पारी का पांचवां विकेट डेविड मालन (56) के रूप में गिरा जिनहें स्‍टार्क ने शॉन मार्श के हाथों कैच कराया. मालन के आउट होने के बाद मोईन अली भी नहीं टिके और 38 रन बनाकर लायन की गेंद पर एलबीडब्‍ल्‍यू आउट हो गए दोनों सेट बल्‍लेबाजों के आउट होने के बाद इंग्लिश टीम नियमित अंतराल में विकेट गवांती रही. क्रिस वोक्‍स (0), जॉनी बेयरस्‍टॉ (9), जैक बॉल (14)और स्‍टुअर्ट ब्रॉड (20)आउट होने वाले अगले बल्‍लेबाज रहे. मैच के पहले दिन मार्क स्‍टोनमैन ने 53 और जेम्‍स विंस ने 83 रन की पारी खेली थी.


हांगकांग सुपर सीरीज: साइना नेहवाल दूसरे दौर में पहुंची, कश्यप और सौरभ हारे
22 November 2017

कोलून: साइना नेहवाल ने चार लाख डालर ईनामी राशि की हांगकांग सुपर सीरिज बैडमिंटन के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया लेकिन पारूपल्ली कश्यप और सौरभ वर्मा पहले दौर की बाधा पार नहीं कर सके. लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना ने दुनिया की 44वें नंबर की खिलाड़ी डेनमार्क की मेट्टे पोलसेन को 21 . 19, 23 . 21 से हराया. दुनिया की 11वें नंबर की खिलाड़ी साइना अब आठवीं वरीयता प्राप्त चीन की चेन युफेइ से खेलेगी जिसने अगस्त में ग्लास्गो में हुई विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीता था. पुरूष एकल वर्ग में राष्ट्रमंडल खेल चैम्पियन कश्यप को कोरिया के ली डोंग कियून ने 15 . 21, 21 . 9, 22 . 20 से हराया. वहीं, सौरभ इंडोनेशिया के टोमी सुगियार्तो से 15 . 21, 8 . 21 से हार गए.


विराट के हाथों 'कुछ यूं' बाल-बाल बच गए हाशिम अमला!
21 November 2017

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुए ईडन गार्डन में सोमवार को खत्म हुए पहले टेस्ट के आखिरी दिन शानदार नाबाद शतक जड़ने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कई रिकॉर्ड अपनी झोली में डाले. 104 रनों की इस नाबाद पारी से कहीं उन्होंने सुनील गावस्कर को पीछे छोड़ा, तो किसी मामले में दिलीप वेंगसरकर को. लेकिन बड़े-बड़े दिग्गजों को गद्दी से उतारने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला कोहली के हाथों से बाल-बाल बच गए. वैसे अगले दोनों टेस्ट मैचों में भी कोहली और हाशिम के बीच कई रिकॉर्डों को लेकर जंग चलती रहेगी. अब यह तो आप जानते ही हैं कि कोहली और हाशिम अमला के बीच कई मामलों में रेस चल रही है. कभी हाशिम अमला आगे निकल जाते हैं, तो कभी कोहली उन पर भारी पड़ जाते हैं. सोमवार को भी एक ऐसी ही रेस में विराट, हमला को मात देने से बाल-बाल चूक गए और अब यह मौका विराट को को दोबारा नहीं मिलेगा क्योंकि अब यह इतिहास के पन्नों में दर्ज हो चुका है. फिर से ध्यान दिला दें कि कोहली ने सोमवार को टेस्ट करियर का 18वां टेस्ट शतक जड़ने के साथ ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना 50वां शतक जड़ा था. यह कारनामा करने वाले कोहली दुनिया के आठवें और भारत के दूसरे बल्लेबाज बन गए. लेकिन इस सबके हाशिम अमला के रिकॉर्डों के लिए बड़ा खतरा बन चुके विराट उन्हें मात देने से बहुत ही नजदीकी अंतर से चुक गए. यह अंतर रहा पारियों के लिहाज से. बता दें कि विराट कोहली ने अपना 50वां अंतरराष्ट्रीय शतक 348वीं पारी में बनाया, जबकि हाशिम अमला ने भी अपने 50वें शतक (32 वनडे, 18 टेस्ट) के लिए इतनी ही यानी 348 पारियां लीं. मतलब यह कि कोहली इस मामले में अमला को मात देने से सिर्फ एक पारी दूर रह गए. वहीं, मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपना 50वां अंतरराष्ट्रीय शतक 376वीं पारी में बनाया था. बहरहाल, इस चूक से विराट कोहली सबक ले सकते हैं क्योंकि सिर्फ 29 साल के कोहली को आगे और कई मामलों में तेज गति के लिहाज से हाशिम अमला को पटखनी देने का मौका मिलेगा. कुल मिलाकर आगे भी दोनों दिग्गज बल्लेबाजों बीच रेस बहुत ही रोमांचक होने जा रही है क्योंकि दोनों की उम्र के बीच सिर्फ दो साल का ही फासला है


खुद पर से यह 'ग्रहण' नहीं हटा सके केएल राहुल..पर बना गए 'यह रिकॉर्ड'!
20 November 2017

नई दिल्ली: भारत के सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल पर पिछली कई पारियों से लगा 'ग्रहण' सोमवार को श्रीलंका के खिलाफ ईडन गार्डन में पहले टेस्ट मैच के आखिरी दिन भी नहीं हट सका. फिर एक अच्छी शानदार पारी खेलने के बावजूद राहुल की बदनसीबी जारी रही. राहुल का 'यह दुर्भाग्य' पिछली कई पारियों से चला आ रहा है और यह ग्रहण लाख कोशिशों के बावजूद हटने का नाम नहीं ले रहा. ईडन टेस्ट की दूसरी पारी में भी एक बार फिर से लोकेश राहुल अपने अर्धशतक को शतक में तब्दील नहीं कर सके. लेकिन इसके बावजूद उन्होंने एक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली. ईडन में मैच के पांचवें दिन राहुल अपने रविवार के स्कोर में महज छह रन और जोड़कर 79 रन बनाकर आउट हो गए. लेकिन इस पारी के साथ ही उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड बराबर कर लिया, जिससे वह इस साल खेले जाने वाले बाकी टेस्ट मैचों में अपनी बल्‍लेबाजी को और ऊंचाई प्रदान कर सकते हैं. बता दें कि अपनी इस पारी के साथ ही राहुल ने 2017 में सबसे ज्यादा अर्धशतक बनाने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली.लेकिन राहुल इन अपनी इन पारियों को शतक में तब्दील करने पर काफी मैचों से लगे ग्रहण को नहीं हटा सके. इस पारी के साथ लोकेश राहुल ने इस साल सबसे ज्यादा अर्धशतक या पचास प्लस स्कोर के मामले में दक्षिण अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर की बराबरी कर ली है. ये दोनों सलामी बल्लेबाज अभी तक इस साल नौ अर्धशतक अपने खाते में जमा कर चुके हैं. वैसे इन दोनों बल्लेबाजों का श्रीलंकाई विकेटकीपर और लेफ्टी बैट्समैन निरोशन डिकवेला भी दबे पांव पीछा कर रहे हैं. यह श्रीलंकाई बल्लेबाज इस साल अपने खाते में छह पचासे जमा करके दूसरी पायदान पर चल रहा है खैर अब जब धीरे-धीरे साल 2017 समाप्ति की तरफ बढ़ रहा है, तो देखना बहुत ही रुचिकर होगा कि अर्धशतक की रेस में इस साल का शहंशाह कौन साबित होता है और इससे भी बड़ा सवाल यह कि क्या राहुल अपने ऊपर लगे इस ग्रहण को श्रीलंका के खिलाफ अगले दोनों टेस्ट मैचों में हटा पाएंगे पाएंगे. बेस्ट ऑफ लक राहुल


खेलों को प्रोत्साहित करने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा
18 November 2017

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज इन्दौर में चार दिवसीय राष्ट्रीय सीनियर कुश्ती स्पर्धा के समापन समारोह में कहा कि मध्यप्रदेश में खेलों को प्रोत्साहित करने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। खिलाड़ियों को आगे बढ़ने के लिये राज्य सरकार द्वारा हर संभव सहायता भी उपलब्ध करायी जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के लिये लगातार कारगर प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश के खिलाड़ी राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सीनियर कुश्ती स्पर्धा में पदक जीतने वाले श्री रवि बारोड़ और सुश्री रानी राणा को एक-एक लाख रूपये की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाएगी तथा नौकरी देने पर भी विचार किया जायेगा। श्री चौहान ने राष्ट्रीय स्पर्धा में पदक जीतने वाले पहलवानों को पुरस्कार वितरित किये। उन्होंने ओलम्पियन श्री सुशील पहलवान, सुश्री साक्षी मलिक, राष्ट्रीय स्पर्धा में पदक जीतने वाले श्री रवि बारोड़ और सुश्री रानी राणा का स्वागत किया। मध्यप्रदेश कुश्ती संघ के अध्यक्ष डॉ.मोहन यादव ने स्पर्धा के लिये राज्य सरकार द्वारा दिये गये सहयोग के लिये आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत, महापौर श्रीमती मालिनी गौड़, इन्दौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री शंकर लालवानी, मध्यप्रदेश ओलम्पिक संघ के अध्यक्ष तथा विधायक श्री रमेश मेंदोला, मध्यप्रदेश कुश्ती संघ के अध्यक्ष तथा विधायक डॉ. मोहन यादव, विधायक श्री महेन्द्र हार्डिया मौजूद थे।


एक बार फिर इस क्रिकेटर की गेंदबाजी पर आईसीसी ने लगाया बैन, यह रहा कारण
17 November 2017

दुबई: ​अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने पाकिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज की गेंदबाजी को एक बार फिर से प्रतिबंध लगाया है.श्रीलंका के खिलाफ दुबई में खेली गई टेस्ट सीरीज में आईसीसी ने उनकी गेंदबाजी एक्शन को गलत पाया, जिसके बाद आईसीसी ने यह फैसला लिया. आईसीसी ने यह फैसला एक स्वतंत्र जांच के बाद लिया है. परीक्षण में हफीज का हाथ गेंदबाजी करते समय 15 डिग्री के आईसीसी के नियम से अधिक मुड़ता है. आईसीसी ने एक बयान में कहा, ‘अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने पाकिस्तान के ऑफ स्पिन गेंदबाज मोहम्मद हफीज का गेंदबाजी एक्शन एक स्वतंत्र परीक्षण में गलत पाया, इसलिए इस ऑफ स्पिनर को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में तुरंत प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया गया है उन्होंने कहा, ‘आईसीसी के गेंदबाजी नियमों के अनुच्छेद 11.1 के तहत हफीज का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंध सभी राष्ट्रीय क्रिकेट महासंघों की घरेलू क्रिकेट स्पर्धाओं में भी लागू होगा.’ बयान में कहा गया है, ‘हालांकि अनुच्छेद 11.5 के अनुसार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) से सलाह के बाद हफीज पीसीबी के घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट में गेंदबाजी कर सकते हैं.’ हफीज को श्रीलंका के खिलाफ खेले गए तीसरे वनडे मैच में संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन का दोषी पाया गया था जो 18 अक्टूबर को आबूधाबी में खेला गया था. इसके बाद वह एक नवंबर को उनका लफबरो यूनिवर्सिटी में स्वतंत्र परीक्षण हुआ था हफीज अपने गेंदबाजी एक्शन में सुधार करते हुए दोबारा गेंदबाजी करने की अपील कर सकते हैं. यह पहली बार नहीं है जब हफीज पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने पर प्रतिबंध लगा हो. हफीज तीन साल में तीन बार प्रतिबंधित किए जा चुके हैं. वह जितनी जल्दी गेंदबाजी एक्शन में सुधार करते हैं उतनी ही जल्दी वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर गेंदबाजी कर सकेंगे. हफीज नवंबर 2014 में न्यूजीलैंड की टेस्ट सीरीज के दौरान संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के दोषी पाए गए थे जिसके बाद उन पर दिसंबर में गेंदबाजी करने से प्रतिबंध लग गया था वह अप्रैल 2015 में बदले हुए गेंदबाजी एक्शन से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करते हुए आए थे. लेकिन कुछ ही महीनों बाद गाल में श्रीलंका के खिलाफ उन्हें एक बार फिर संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन का दोषी पाया गया था. जांच में पाया गया कि उनका गेंदबाजी एक्शन गलत है. उन्हें 24 महीनों में दूसरी बार गलत गेंदबाजी एक्शन का दोषी पाया गया था इसी के चलते उन पर 12 महीनों के लिए गेंदबाजी करने से प्रतिबंधित कर दिया गया


हाल ही में सोशल मीडिया पर ट्रोल किए गए अजित अगरकर इस मामले में हैं भारत के नंबर वन बॉलर
16 November 2017

नई दिल्‍ली: टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर अजित अगरकर को हाल ही में सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया गया था. दरअसल, अजित ने कहा था कि भारतीय टीम को क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट (टी20) में महेंद्र सिंह धोनी से अलग कुछ सोचने की जरूरत है. अजित का यह बयान धोनी के फैंस को नागवार गुजरा और उनकी आलोचना का दौर शुरू हो गया. कुछ फैंस ने यहां तक कमेंट किया-अगरकर, आप बताएं कि देश के लिए क्रिकेट खेलते हुए आपकी उपलब्धि क्‍या रही है. बेशक, महेंद्र सिंह धोनी के मुकाबले अगरकर का भारतीय क्रिकेट को योगदान खास नहीं रहा है, लेकिन मुंबई के इस गेंदबाज के नाम पर एक ऐसी उपलब्धि है जिसे बेहतरीन माना जा सकता है. दरअसल अगरकर भारत की ओर से सबसे कम वनडे मैचों में 50 विकेट पूरे करने वाले गेंदबाज हैं. अजित ने अपने 23वें वनडे में ही 50 विकेट अपने नाम कर लिए थे. भारत की ओर से वे सबसे कम वनडे में 50 विकेट लेने वाले बॉलर हैं. यही नहीं, विश्‍व क्रिकेट में उनसे कम वनडे मैचों में केवल एक गेंदबाज ने ही 50 विकेट हासिल किए थे. श्रीलंका के अजंता मेंडिस ने 19वनडे में 50 विकेट पूरे किए थे. भारत के अगरकर और न्‍यूजीलैंड के मिचेल मैकक्‍लेंघन ने 23 मैचों में यह उपलब्धि हासिल की है. वे इस मामले में संयुक्‍त रूप से दूसरे स्‍थान पर हैं. खास बात यह है कि वनडे में 50 विकेट लेने के मामले में महान डेनिस लिली, शेन वॉर्न, वकार यूनुस और सकलैन मुश्‍ताक भी उनके पीछे हैं. ऑस्‍ट्रेलिया के दिग्‍गज तेज गेंदबाज डेनिस लिली और पाकिस्‍तान के नवोदित हसन अली ने अपने 24वें मैच में वनडे में 50-50 विकेट पूरे किए थे. इसी तरह शेन वॉर्न ने 25वें, वकार ने 27वें और सकलैन मुश्‍ताक ने अपने 28वें वनडे में 50 विकेट के आंकड़े को छुआ था भारतीय गेंदबाजों के लिहाज से बात करें तो अजित अगरकर से पीछे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह हैं. बुमराह ने हाल ही में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर वनडे में अपने 50 विकेट पूरे किए. यह उनके वनडे करियर का 28वां मैच रहा. रावलपिंडी एक्‍सप्रेस के नाम से मशहूर रहे शोएब अख्‍तर ने 29 मैच में 50 वनडे विकेट पूरे किए थे


इस 'काल के पंजे' से खुद को ईडन में बचा पाएगी श्रीलंकाई टीम?
15 November 2017

कोलकाता: गुरुवार से भारत और श्रीलंका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का आगाज हो रहा है. ईडन गार्डन में शुरू हो पहले टेस्ट में दोनों देशों की टीमें एक दूसरे से भिड़ने को तैयार हैं. लेकिन मुकाबले से पहले ही विराट एंड कंपनी ने लंकाइयों के सामने खड़ा कर दिया है 'पंजा चैलेंज'!. वास्तव में श्रीलंका के सामने फिलहाल यही सबसे बड़ी चुनौती है. क्रिकेट प्रेमियों के बीच चर्चाएं शुरू हो चुकी हैं और क्रिकेट पंडितों सहित गली-नुक्कड़, चौराहों, पान की दुकानों सभी जगह जोर-शोर से यह चर्चा तेजी से परवान चढ़ने लगी है कि क्या लंकाई 'विराट के पंजे' से मुक्त हो पाएंगे?.यूं तो इस बड़े सवाल का जवाब ईडेन गार्डन में मिल जाएगा, लेकिन लंकाई टीम के हालिया प्रदर्शन पर गौर करें, तो उसका 'विराट के पंजे' से निकलना बहुत ही मुश्किल नजर आ रहा है. वैसे आप सोच रहे होंगे कि आखिर यह "विराट का पंजा" क्या है
क्या कहते हैं आंकड़े
दरअसल यह काल का पंजा वो लगातार पांच हार हैं, जो लंकाई टीम को पिछले लगातार पांच टेस्ट मैचों में भारत के हाथों झेलनी पड़ीं. 20-24 अगस्त 2015 को मेजबानों को कोलंबो (पी. सारा. ओवल) में 278 रनों से धोया. 28 अगस्त से 1 सितंबर के बीच कोलंबो (सिंहली स्पोर्ट्स क्लब ग्राउंड) में भारत 117 रन से जीता. 26-29 जुलाई 2017 को भारत ने मेजबान श्रीलंका की गाले (गाले इंटरनेशनल स्टेडियम) में 304 रनों से लंका लगाई. 3-6 अगस्त 2017 को भारत की कोलंबो में पारी और 53 रन से बड़ी जीत. 12-14 अगस्त तक भारत ने केवल तीन दिन में ही मेजबान टीम को कैंडी (पालेकल इंटरनेशनल स्टेडियम) में फिर से पारी और 171 रनों से धूल चटायी. अब तो आप समझ ही गए होंगे कि हम श्रीलंका टीम पर ईडेन गार्डन में मंडरा रहे किस विराट के पंजे के बारे में बात कर रहे थे. साफ है कि मेहमान टीम पहले ही दिन से अपने ऊपर मंडरा रहे इस पंजे के दबाव के साथ मैदान पर उतरेगी. अब देखने वाली बात यह होगी क्या लंकाई अपने आप को भारत के हाथों 'हार के इस सिक्सर' से खुद को बचा पाते हैं,या नहीं?


अब प्‍लेन में बिजनेस क्‍लास में सफर कर सकेंगे टीम इंडिया के क्रिकेटर
14 November 2017

विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया के क्रिकेटर अब नेशनल ड्यूटी के दौरान इकॉनोमी क्लास की बजाए बिजनेस क्लास में हवाई यात्रा करेंगे. इस संबंध में खिलाड़ियों ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से अपील की थी, जिसे क्रिकेट बोर्ड ने सोमवार को स्वीकार कर लिया है. मीडिया रिपार्ट्स के अनुसार, टीम इंडिया के कई खिलाड़ियों ने बोर्ड से इकॉनोमी क्लास में सफर करने को लेकर शिकायत की थी. कुछ खिलाड़ियों ने सेल्‍फी के आग्रह के चलते इस दौरान खुद को भीड़ से घिरने का हवाला दिया था. दूसरी ओर कुछ लंबे कद के खिलाड़ियों ने यह शिकायत की थी कि इकॉनमी क्लास में वे आराम से नहीं बैठ पाते हैं. बीसीसीआई के कार्यकारी अध्‍यक्ष सीके खन्‍ना ने एएनआई को बताया कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्‍त कमेटी ऑफ एडमिनिस्‍ट्रेटर्स (CoA) की दिल्‍ली में हाल में हुई बैठक में इस प्रस्‍ताव को मंजूरी दी गई है. प्‍लेयर्स को घरेलू फ्लाइट के लिए बिजनेस क्‍लास में यात्रा के प्रस्‍ताव को स्‍वीकार कर लिया गया है गौरतलब है कि कुछ समय पहले टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कपिल देव ने बोर्ड को यह सलाह भी दी थी कि बीसीसीआई के पास खुद का विमान होना चाहिए, जिससे खिलाड़ियों का काफी समय बचेगा. कपिल ने तब कहा था कि बिजी शेड्यूल के कारण इस समय खिलाड़ि‍यों को काफी सफर करना पड़ता है. इससे क्रिकेटर्स को सफर करने में आसानी होगी. खिलाड़ियों के इस प्रस्ताव को बीसीसीआई में सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासनिक समिति (CoA) के साथ दिल्ली में आयोजित हुई बैठक में मंजूरी मिली है. खन्ना ने एएनआई को बताया कि, 'किसी सीरीज की शुरुआत और अंत में खिलाड़ियों को बिजनस क्लास में सफर की मंजूरी का प्रस्ताव सीओए बैठक में पास हो गया है


मध्यप्रदेश शूटिंग अकादमी की रुबीना फ्रांसिस ने रचा इतिहास
11 November 2017

मध्यप्रदेश शूटिंग अकादमी की महिला खिलाड़ी रुबीना फ्रांसिस ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के लिए स्वर्ण पदक हासिल कर इतिहास रच दिया है। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमति यशोधरा राजे सिंधिया ने जानकारी देते हुए बताया कि 10 नवम्बर से बैंकाक, थाइलैंड में खेले जा रहे वर्ल्ड शूटिंग पैरा स्पोर्ट वर्ल्ड कप में रुबीना फ्रांसिस ने 10 मीटर एयर पिस्टल में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए टीम इवेंट में स्वर्ण पदक हासिल किया है। इसमें रुबीना ने 355 अंक, पूजा अग्रवाल ने 358 तथा सोनिया शर्मा के 357 अंक, कुल 1070 अंकों के साथ भारत पहले स्थान पर रहा। थाईलैंड 1048 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहा। उल्लेखनीय है कि दोनो पैरों से जबलपुर निवासी रुबीना का इसी वर्ष जुलाई में मध्य प्रदेश शूटिंग अकादमी में चयन हुआ था। रुबीना भारत में निशक्त खिलाड़ियों के वर्ग में पहली रैंकिंग पर है। उनका चयन भारत सरकार की टारगेट ओलिम्पिक पोडियम योजना के तहत किया गया है, जिसमें देश के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को 50 हज़ार रु प्रति माह छात्रवृत्ति दी जाती है।


पाकिस्तान सुपर लीग में नीलामी के लिए वाटसन-ब्रावो जैसे 11 बड़े क्रिकेटर्स के नाम
11 November 2017

लाहौर: पाकिस्तान सुपर लीग के लिए रविवार को होने वाली खिलाड़ियों की नीलामी में शेन वाटसन, क्रिस लिन, ड्वेन ब्रावो समेत 501 विदेशी खिलाड़ी और कई बड़े घरेलू खिलाड़ी शामिल हैं. इन तीनों के अलावा नीलामी में शामिल होने वाले अन्य बड़े नाम हैं- जेपी ड्यूमनी, इमरान ताहिर, कार्लोस ब्रेथवेट, कोलिन मुनरे, मिचल जॉनसन, अदिल राशिद, थिसारा परेरा, एंजला मैथ्यूज और तेज गेंदबाज मुस्तफिजुर रहमान. हर टीम ने पहले ही नौ खिलाड़ियों को बनाए रखा है और 16 सदस्यीय टीम को पूरा करने के लिए पीएसएल की नीलमी में हर टीम प्लेटिनम वर्ग से एक, एक डायमंड वर्ग से, गोल्ड वर्ग से एक, दो सिल्वर वर्ग से और दो खिलाड़ी इमर्जिग स्टार पूल से शामिल कर सकती है. अपनी टीम में 20 सदस्यों को पूरा करने के लिए सप्लीमेंटरी राउंड में टीमें चार खिलाड़ियों का चयन करने में सक्षम होगी. प्लेटिनम वर्ग के खिलाड़ियों का आधार वेतन 140,000 डॉलर, डायमंड वर्ग का 70,000 डॉलर, गोल्ड वर्ग का 50,000, सिल्वर वर्ग का 25,000 और इमर्जिग स्टार वर्ग के खिलाड़ियों को वेतन 10,000 डॉलर होगा. सप्लीमेंटरी खिलाड़ियों को अनुबंध आधारित वेतन नहीं दिया जाएगा. पीएसएल 2017-18 में छह टीमें आमने-सामने होंगी. मुल्तान सुल्तान्स, इस्लामाबाद यूनाइटेड, कराची किंग्स, लाहौर क्वाडलेंर्ड्स, पेशावर झल्मी और क्वेटा ग्लेडियेटर्स


श्रीलंका टीम का अभ्‍यास मैच कल से, बोर्ड अध्‍यक्ष एकादश का मुकाबला करेगी
10 November 2017

कोलकाता: भारत में अपना पहला टेस्ट मैच जीतने की उम्मीद के साथ यहां पहुंची श्रीलंका की टीम इस कड़ी सीरीज की शुरुआत कल से यहां बोर्ड अध्यक्ष एकादश के खिलाफ दो दिवसीय अभ्यास मैच से करेगी. श्रीलंका 2009 के बाद भारत में पहला टेस्ट मैच खेलेगा. उसका भारतीय सरजमीं पर बहुत खराब रिकॉर्ड रहा है. उसने अब तक भारत में जो 17 टेस्ट मैच खेले हैं उनमें से दस में उसे हार मिली है और बाकी सात मैच ड्रॉ रहे हैं. कप्तान दिनेश चंदीमल के लिए यह बहुत मुश्किल काम होगा. वह भारतीय सरजमीं पर अपना पहला टेस्ट मैच भी खेलेंगे. वह एंजेलो मैथ्यूज और रंगना हेराथ के अनुभव का फायदा उठाने की कोशिश करेंगे जो सात साल पहले 0-2 से टेस्ट सीरीज हारने वाली टीम का हिस्सा थे. अपनी सरजमीं पर भारत के हाथों तीनों प्रारूप में 0-9 से करारी शिकस्त झेलने वाली श्रीलंका की टीम उसके लगभग दो महीने के बाद यहां पहुंची है लेकिन इस बीच उसने पिछले महीने पाकिस्तान को यूएई में 2-0 से हराया जिससे निश्चित तौर पर उसका मनोबल बढ़ा होगा. श्रीलंका की टीम इस दौरे में तीन टेस्ट, तीन वनडे और इतने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी. दौरे का समापन 24 दिसंबर को मुंबई में होगा. चंदीमल और उनकी टीम को तीसरी श्रेणी के बोर्ड अध्यक्ष एकादश के खिलाफ अच्छी शुरुआत की उम्मीद होगी. संजू सैमसन इस मैच में बोर्ड अध्यक्ष एकादश की अगुवाई करेंगे. मैच जाधवपुर यूनिवर्सिटी मैदान पर खेला जाएगा जहां की पिच तेज गेंदबाजों की मददगार मानी जाती है. बोर्ड ने रणजी ट्रॉफी को महत्व देते हुए इस मैच के लिए तीसरे दर्जे की टीम का चयन किया है. टीम में मुख्य रूप से हैदराबाद, केरल, मध्यप्रदेश और पंजाब के खिलाड़ी शामिल हैं जो घरेलू टूर्नामेंट के पांचवें चरण में नहीं खेल रहे हैं. ऐसी स्थिति में श्रीलंका को अच्छा मैच अभ्यास मिल पाएगा इसकी संभावना कम नजर आती है. श्रीलंका के खिलाड़ियों में निगाहें पूर्व कप्तान और आलराउंडर मैथ्यूज पर टिकी रहेंगी जो पाकिस्तान सीरीज से बाहर रहने के बाद वापसी कर रहे हैं. पिंडली की मांसपेशियों में खिंचाव से उबरने के बाद मैथ्यूज अब पूरी तरह से फिट है और ईडन गार्डन्स में 16 से 20 नवंबर के बीच होने वाले पहले टेस्ट मैच से पूर्व लय हासिल करना चाहेंगे. पाकिस्तान के खिलाफ 16 विकेट लेने वाले अनुभवी स्पिनर रंगना हेराथ यहां भी अपनी उसी फॉर्म को बरकरार रखने की कोशिश करेंगे. उनका साथ देने के लिए चाइनामैन लक्षण संदाकन हैं जिन्होंने भारत के खिलाफ पल्लेकल टेस्ट मैच में पांच विकेट लिए थे बोर्ड अध्यक्ष की टीम की पंजाब के युवा बल्लेबाज अनमोलप्रीत सिंह भी शामिल हैं जिन्होंने छत्तीसगढ़ के खिलाफ रणजी मैच में 267 रन बनाए थे. पंजाब के सलामी बल्लेबाज जीवनजोत सिंह को भी इस टीम में जगह मिली है. बल्लेबाजी विभाग के अन्य सदस्यों में बी. संदीप, तन्मय अग्रवाल और रोहन प्रेम शामिल हैं. तेज गेंदबाजी विभाग का जिम्मा केरल के संदीप वारियर और मध्यप्रदेश के अवेश खान संभालेंगे. केरल की तरफ से खेल रहे मध्यप्रदेश के आलराउंडर जलज सक्सेना स्पिन विभाग की अगुवाई करेंगे जिसमें उन्हें हैदराबाद के बायें हाथ के स्पिनर आकाश भंडारी का सहयोग मिलेगा. पूर्व लेग स्पिनर नरेंद्र हिरवानी टीम के कोच होंगे


करिश्मा: बिना कोई रन दिए भारत के इस युवा खिलाड़ी ने टी-20 में झटके 10 विकेट
9 November 2017

नई दिल्ली: राजस्थान की राजधानी जयपुर में खेले गए घरेलू टी-20 मैच के एक इनिंग में 15 साल के उम्र के आकाश चौधरी ने 10 विकेट लेकर सनसनी मचा दी है. जयपुर में खेले जा रहे स्वर्गीय भंवर सिंह टूर्नामेंट में लेफ्ट आर्म के तेज गेंदबाज आकाश ने ऐसा करिश्मा कर दिखाया जो आज तक पूरे विश्वभर के क्रिकेट में नहीं हो सका. इससे पहले भारत की और से अनिल कुंबले ने 4 से 7 फरवरी 1999 को हुए टेस्ट मैच पाकिस्तान के खिलाफ यह कारनामा कर चुके हैं. टी-20 में आकाश की करिश्माई गेंदबाजी दिशा क्रिकेट अकादमी की ओर से खेलते हुए 15 साल के आकाश चौधरी ने पर्ल एकेडमी के खिलाफ यह प्रतिभावान खेल का प्रदर्शन किया. 156 रनों का पीछा करते हुए पर्ल एकेडमी की टीम 36 रन से यह मैच हार गई. क्रिकेट में आंकड़ों के जानकार मोहनदास मेनन ने यह जानकारी अपने ट्विटर पर शेयर की है आकाश ने 4 ओवर की गेंदबाजी में बिना कोई रन देते हुए 10 विकेट झटके. एक वेबमीडिया को इंटरव्यू देते हुए आकाश ने कहा कि टी-20 मैच में 5 विकेट निकालना ही आश्चर्य की बात होती है, ऐसे में मैंने 10 विकेट झटके, जोकि मेरे लिए बड़े ही गर्व की बात है. मैं भगवान को शुक्रिया अदा करता हूं.


IND vs NZ: तीसरे टी20 मैच में भारत की सीरीज जीत के अभियान के बीच बारिश बन सकती है 'विलेन
7 November 2017

त्रिवेंद्रम: विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया आज यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे और निर्णायक टी20 मैच में जीत के साथ सीरीज अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी जिसमें महेंद्र सिंह धोनी के बल्लेबाजी क्रम पर सभी की नजरें टिकी होंगी. बारिश इस मैच में खलल डाल सकती है. मौसम विभाग ने तिरुवनंतपुरम में बारिश की भविष्यवाणी की है. आशंका है कि हाल में हुई हुई भारत-ऑस्ट्रेलिया टी20 सीरीज की तरह ही इस सीरीज का निर्णायक मैच भी कहीं बारिश की भेंट न चढ़ जाए. तीन टी20 की सीरीज में दोनों टीमें इस समय 1-1 की बराबरी पर हैं. विराट कोहली की अगुआई वाली टीम इंडिया काफी अच्‍छे फॉर्म में है लेकिन न्यूजीलैंड ने पहले वनडे और फिर टी20 सीरीज में उसे कड़ी टक्कर दी है. भारत ने पहले टी20 में न्यूजीलैंड को 53 रन से हराया था लेकिन दूसरे मैच में टीम को 40 रन से हार का सामना करना पड़ा जहां कोलिन मुनरो ने मेजबान टीम के गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त करते हुए शतक जड़ा. शहर में लगभग तीन दशक (29 साल) बाद अंतरराष्ट्रीय मैच का आयोजन हो रहा है. यह मैच इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि धोनी को सबसे छोटे प्रारूप में बदलने की मांग एक बार फिर तेज हो गई है. भारत के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण ने कहा है कि धोनी वनडे टीम का हिस्सा हो सकता है लेकिन समय आ गया है कि सबसे छोटे प्रारूप में किसी और को निखारा जाए. धोनी ने दूसरे टी20 मैच में 37 गेंद में 132 के स्ट्राइक रेट से 49 रन की पारी खेली थी जो बुरा प्रदर्शन नहीं है लेकिन पिछले एक साल में उनका स्ट्राइक रोटेट करने में नाकाम रहना चिंता की बात है. धोनी ने पांच गेंद में बाउंड्री से 26 रन जुटाए जिसमें तीन छक्के और दो चौके शामिल रहे लेकिन बाकी 32 गेंद में वह 23 रन ही बना सके. अब यह देखना रोचक होगा कि कप्तान कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री अगले मैच में धोनी को कौन से क्रम पर खिलाते हैं. कुछ लोगों का सुझाव है कि भारत के जल्द विकेट गंवाने पर धोनी चौथे नंबर पर बेहतर हैं क्योंकि इससे उन्हें जमने का समय मिलता है. भारत को कैच छोड़ने का खामियाजा भी भुगतना पड़ा जबकि न्यूजीलैंड ने पदार्पण कर रहे तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को निशाना बनाया. जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार की प्रभावी गेंदबाजी से हालांकि टीम इंडिया न्यूजीलैंड को 200 रन से कम के स्कोर पर रोकने में सफल रही. अब यह देखना होगा कि टीम प्रबंधन सिराज को एक और मौका देता है या उनकी जगह अतिरिक्त बल्लेबाज को खिलाता है. कोहली ने राजकोट में हार के बाद स्वीकार किया था कि बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया और सभी खिलाड़ियों के योगदान देने की जरूरत पर जोर दिया. न्यूजीलैंड ने सीरीज की शुरुआत दुनिया की नंबर एक टी20 टीम के रूप में की थी लेकिन इसके बाद यह रैंकिंग पाकिस्तान को गंवा दी. टीम हालांकि अंतिम मैच में भारत को हराकर एक बार फिर शीर्ष पर काबिज हो सकती है न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों का प्रभावी तरीके से सामना किया है जबकि स्पिनर्स और तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ प्रभावी प्रदर्शन किया है. बोल्ट ने राजकोट में एक ही ओवर में सलामी बल्लेबाजों शिखर धवन और रोहित शर्मा को पवेलियन भेजकर भारतीय शीर्षक्रम को झटके दिए थे. नए बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने 23 रन की पारी के दौरान कुछ अच्छे शॉट खेले लेकिन फिर खराब शॉट खेलकर पेवेलियन लौटे. आलराउंडर हार्दिक पंड्या पिछले कुछ मैचों में नाकाम रहे हैं लेकिन कप्तान ने उनका बचाव किया है और वह कल के मैच में प्रभावी प्रदर्शन करना चाहेंगे


IND vs NZ: कॉलिन मुनरो ने ऐसा कारनामा किया जो उनके अलावा अब तक कोई नहीं कर सका
6 November 2017

नई दिल्‍ली: न्‍यूजीलैंड के कॉलिन मुनरो ने राजकोट टी20 मैच में शतकीय पारी खेलते हुए भारत के खिलाफ अपनी टीम की जीत में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई. अपनी नाबाद 109 रन की पारी के दौरान इस कीवी ओपनर ने ऐसा कारनामा किया जो टी20 इंटरनेशनल में अब तक कोई बल्‍लेबाज नहीं कर सका है. बाएं हाथ के इस बल्‍लेबाज ने इस साल टी20 इंटरनेशनल में अपना दूसरा शतक जमाया. वे एक साल में यह कारनामा करने वाले दुनिया के पहले बल्‍लेबाज हैं. टी20 के धुरंधर बल्‍लेबाज माने जाने वाले क्रिस गेल, एरोन फिंच, ब्रेंडन मैक्‍कुलम और डेविड मिलर भी एक साल में टी20 इंटरनेशनल में दो शतक नहीं बना सके हैं. गौरतलब है कि मुनरो के अलावा न्‍यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्‍कुलम, वेस्‍टइंडीज के क्रिस गेल और एलिन लेविस ही टी20 इंटरनेशनल में दो शतक बना पाए हैं, इनमें से कोई भी एक साल में यह उपलब्धि हासिल नहीं कर पाया है. राजकोट में हुए दूसरे टी मैच में मुनरो ने 58 गेंदों का सामना करते हुए सात चौकों और इतने ही छक्‍कों की मदद से नाबाद 109 रन बनाए. उन्‍हें मैच का सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ी घोषित किया गया. बाएं हाथ के बल्‍लेबाज और दाएं हाथ के मध्‍यम गति के बॉलर मुनरो ने अब तक एक टेस्‍ट, 27 वनडे और 34 टी20 मैच खेले हैं. टेस्‍ट में 15, वनडे में 593 और टी20 में 717 रन उनके नाम पर दर्ज हैं. गेंदबाजी में उन्‍होंने टेस्‍ट में 2 और वनडे व टी20 में एक-एक विकेट हासिल किया है. .
टी20 इंटरनेशनल में दो शतक जमाने वाले बल्‍लेबाज इस प्रकार हैं...

1.कॉलिन मुनरो (न्‍यूजीलैंड),...
वर्ष 2017, नाबाद 109 और 101 इसमें से नाबाद 109 रन की पारी उन्‍होंने भारत और 101 की पारी बांग्‍लादेश के खिलाफ खेली
2.ब्रेडन मैक्‍कुलम (न्‍यूजीलैंड),..
वर्ष 2010 और 2012, नाबाद 116 और 123 इसमें से नाबाद 116 रन की पारी उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया और 123 रन की पारी बांग्‍लादेश के खिलाफ खेली.
3. क्रिस गेल (वेस्‍टइंडीज),..
वर्ष 2007और 2016, 117 और नाबाद 100 117 रन की पारी उन्‍होंने दक्षिण अफ्रीका और नाबाद 100 रन की पारी इंग्‍लैंड के खिलाफ खेली थी. इसमें से नाबाद 109 रन की पारी उन्‍होंने भारत और 101 की पारी बांग्‍लादेश के खिलाफ खेली
4. एविन लेविस (वेस्‍टइंडीज),.
वर्ष 2016 और 2017, 100 और नाबाद 125 ये दोनों शतकीय पारी लेविस ने भारतीय टीम के खिलाफ खेली थीं.


IND vs NZ LIVE: दूसरा टी-20 मैच आज, सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया
4 November 2017

राजकोट: भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन टी-20 मैचों के सीरीज का दूसरा मैच आज राजकोट में खेला जाएगा. भारतीय टीम के पास इस मैच को जीत कर सीरीज सील करने का सुनहरा मौका होगा, क्योंकि भारतीय टीम ने पहले मैच में न्यूजीलैंड को 53 रनों के भारी अंतर से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है. भारतीय टीम पर न्यूजीलैंड की टीम टी-20 मैचों में हमेशा भारी पड़ी है, इसलिए भारत चाहेगी कि सीरीज को राजकोट में ही सील किया जाए. लेकिन भारतीय टीम के लिए यह बहुत ही मुश्किल होगा, क्योंकि न्यूजालैंड पलटवार करने में सक्षम है. वैसे भी न्यूजीलैंड आंकड़ों के हिसाब से भारतीय टीम पर भारी है. न्यूजीलैंड ने लगातार 6 मुकाबलों में भारतीय टीम को हराया था. दिल्ली में मैच से पहले भारत ने एक भी मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ नहीं जीता था. पिछले मैच में भारत के दोनों ओपनरों की शानदार बल्लेबाजी ने भारत को न्यूजीलैंड पर आसान जीत दर्ज करने में काफी मदद की. अगर राजकोट में भी रोहित और शिखर का बल्ला ऐसे ही गरजा तो भारत इस मैच में न्यूजीलैंड पर भारी पड़ सकता है. पहले मैच में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भारत की नजरें दूसरा टी-20 मैच में जीत हासिल करते हुए तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त लेने पर होंगी. वहीं, न्यूजीलैंड आज को सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में होने वाले इस मैच में वापसी करने के इरादे से उतरेगा. मेजबानों की फॉर्म को देखते हुए जीत उससे दूर नहीं लग रही है लेकिन किवी टीम टी-20 की नंबर-1 टीम है और उसमें वापसी करने का पूरा माद्दा है. पहले मैच में किवी टीम की न गेंदबाजी चली थी न बल्लेबाजी. शिखर धवन और रोहित शर्मा की जोड़ी ने उसे विकेटों के लिए तरसा दिया था. बची कुची कसर विराट कोहली ने पूरी कर दी थी. कोहली ने पिछले मैच में श्रेयस अय्यर को पदार्पण का मौका दिया था, लेकिन वह बल्लेबाजी करने नहीं उतर पाए थे. दूसरे मैच में भी उम्मीद है कि अय्यर अंतिम एकदाश में होंगे. किवी गेंदबाजों में से सिर्फ मिशेल सैंटनर ही भारतीय गेंदबाजों को शुरुआत में कुछ हद तक रोक पाए थे. बाकी के सभी गेंदबाज महंगे साबित हुए थे, हालांकि ईश सोढ़ी ने दो विकेट जरूर लिए थे. वहीं, गेंदबाजी में भुवेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, युजवेंद्र चहल ने भारत की तरफ से अपना कमाल दिखाया था. दिल्ली का मैच तेज गेंदबाज आशीष नेहरा का अंतिम मैच था. उनके जाने के बाद टीम में एक गेंदबाज की जगह खाली हुई है. ऐसे में इस सीरीज में टीम में शामिल किए गए मोहम्मद सिराज पदार्पण कर सकते हैं. किवी टीम के लिए सिर्फ बल्लेबाजी और गेंदबाजी ही चिंता का सबब नहीं है बल्कि फील्डिंग में भी पिछले मैच में वह कमजोर रही थी. शुरुआत में ही धवन और रोहित के कैच किवी फील्डरों ने छोड़े थे. ऐसे में मेहमानों को तीन क्षेत्र में सुधार करने की जरूरत है बल्लेबाजी में किवी टीम की आस कप्तान केन विलियमसन, रॉस टेलर, मार्टिन गुप्टिल और टॉम लाथम पर है. इनके अलावा अगर कोलिन मुनरो का बल्ला चल गया तो वह भारतीय टीम के लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं. अब देखना होगा कि कौन सी टीम राजकोट में बाजी मारती है


रणजी ट्रॉफी: चेतेश्‍वर पुजारा ने झारखंड के खिलाफ जमाया दोहरा शतक, बना दिया यह रिकॉर्ड
3 November 2017

राजकोट: चेतेश्वर पुजारा आज प्रथम श्रेणी मैचों में सर्वाधिक दोहरा शतक बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए और उनके इस रिकॉर्ड प्रदर्शन से सौराष्ट्र ने झारखंड के खिलाफ रणजी ट्रॉफी ग्रुप बी क्रिकेट मैच में अपनी स्थिति मजबूत कर ली. पुजारा ने 204 रन बनाये जो उनका प्रथम श्रेणी मैचों में 12वां दोहरा शतक है. इस तरह से उन्होंने विजय मर्चेंट (11 दोहरे शतक) का रिकॉर्ड तोड़ा. केएस रणजीतसिंहजी ने 14 दोहरे शतक लगाए हैं लेकिन वह इंग्लैंड की तरफ से खेला करते थे. अपनी इस पारी के जरिये पुजारा ने श्रीलंका के खिलाफ आगामी टेस्‍ट सीरीज के पहले अपना फॉर्म दिखा दिया है. टीम इंडिया को इसी माह से घरेलू मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्‍ट की सीरीज खेलनी है. सौराष्ट्र के कप्तान पुजारा ने अपनी पारी में 355 गेंदों का सामना किया और 28 चौके लगाए. उनके अलावा चिराग जानी ने 108 रन की पारी खेली. इन दोनों ने छठे विकेट के लिए 210 रन की साझेदारी की जिससे सौराष्ट्र ने अपनी पहली पारी नौ विकेट पर 553 रन बनाकर समाप्त घोषित की. इसके जवाब में झारखंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक दो विकेट पर 52 रन बनाए हैं. मैच में झारखंड की हालत खस्‍ता है. टीम अभी सौराष्ट्र से 501 रन पीछे है. सौराष्ट्र की तरफ से दोनों विकेट बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने लिए


INDvsNZ: न्‍यूजीलैंड के खिलाफ पहली टी20 जीत में टीम इंडिया ने बनाए यह खास रिकॉर्ड
2 November 2017

नई दिल्ली: प्रारंभिक बल्‍लेबाज रोहित शर्मा (80) और शिखर धवन (80) के बीच 158 रन की रिकॉर्ड साझेदारी के दम पर भारत ने फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले जा रहे पहले टी-20 मैच में न्यूजीलैंड को 53 रन से पराजित कर दिया. इस जीत के साथ टीम इंडिया ने तीन टी20 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है.आशीष नेहरा के विदाई मैच में टीम इंडिया ने दिल्‍ली के इस तेज गेंदबाज तेज गेंदबाज को जीत का तोहफा दिया. नेहरा ने अपने घरेलू मैदान पर कल के टी20 के रूप में अपना अंतिम इंटरनेशनल मैच खेला. इस मैच में जीत के साथ ही .
टीम इंडिया ने कुल रिकॉर्ड भी अपने नाम किए. आइए डालते हैं इन रिकार्ड्स पर नजर.
1. रोहित शर्मा और शिखर धवन ने पहले विकेट के लिए 158 रनों की साझेदारी की. यह टी-20 मैचों में भारत के लिए किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है. 2.कल के टी20 मैच में चार छक्‍के लगाने के बाद रोहित शर्मा टी20 में भारत की ओर से सबसे ज्‍यादा छक्‍के लगाने वाले बल्‍लेबाज हो गए हैं. उन्‍होंने 257 मैचों में अब तक 268 छक्‍के जमाए हैं. सुरेश रैना के 259 मैचों में 255 छक्‍के हैं. वे इस मामले में दूसरे स्‍थान पर हैं. 3. बुधवार के मैच में भारत की ओर से बनाए गए 202 रन न्‍यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया को टी20 में सर्वाधिक स्‍कोर है. टीम इंडिया का पिछला सर्वाधिक स्‍कोर 9 विकेट पर 180 रन था जो टीम ने वर्ल्‍डकप 2007 के दौरान दक्षिण अफ्रीका के जोहांसबर्ग में बनाया था. 4.भारतीय टीम की यह टी20 इंटरनेशनल में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ पहली जीत है. टीम इंडिया ने इससे पहले न्‍यूजीलैंड के खिलाफ 6 टी20 मैच खेले थे जिसमें से पांच में कीवी टीम ने जीत हासिल की थी जबकि एक मैच बारिश के कारण रद्द हुआ था. सातवें मैच में जाकर टीम इंडिया को न्‍यूजीलैंड के खिलाफ टी20 मैच में जीत मिली है.


शेन डाउरिच की सर्वश्रेष्ठ पारी की बदौलत वेस्टइंडीज ने जिंबाब्वे पर बढ़त बनाई
1 November 2017

बुलवायो: विकेटकीपर बल्लेबाज शेन डाउरिच के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी और कप्तान जेसन होल्डर के साथ उनकी अटूट शतकीय साझेदारी ने वेस्टइंडीज ने जिंबाब्वे के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन बढ़त हासिल की. वेस्टइंडीज की टीम सलामी बल्लेबाज कीरन पावेल (90) के अर्धशतक के बावजूद आफ स्पिनर सिकंदर रजा (82 रन पर पांच विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने 230 रन पर सात विकेट गंवाने के बाद संकट में थी डाउरिच (नाबाद 75) और होल्डर (नाबाद 71) ने इसके बाद आठवें विकेट के लिए 144 रन की अटूट साझेदारी करके टीम का स्कोर सात विकेट पर 374 रन तक पहुंचाकर उसे बढ़त दिलाई. डाउरिच ने अब तक 153 गेंद का सामना करते हुए नौ चौके जड़े हैं जबकि होल्डर ने 132 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का जड़ा है इससे पहले जिंबाब्वे ने कल पहली पारी में 326 रन बनाए थे. वेस्टइंडीज की टीम आज एक विकेट पर 78 रन से आगे खेलने उतरी और दिन का खेल खत्म होने तक उसने 48 रन की बढ़त बना ली है.


INDvsNZ: पहला टी20 कल, आशीष नेहरा को विदाई मैच में जीत का गिफ्ट देना चाहेगी विराट ब्रिगेड
31 October 2017

नई दिल्‍ली: वनडे सीरीज 2-1 के अंतर से जीतने के बाद टीम इंडिया यहां कल होने वाले पहले टी20 में भरपूर आत्‍मविश्‍वास के साथ न्‍यूजीलैंड के खिलाफ उतरेगी. विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया का पहला लक्ष्‍य 'बुजुर्ग' तेज गेंदबाज आशीष नेहरा को विजयी विदाई देकर न्यूजीलैंड के खिलाफ खेल के सबसे छोटे प्रारूप में अपना खाता खोलना होगा. लगभग 19 साल पहले अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले नेहरा ने घोषणा की है कि घरेलू मैदान फिरोजशाह कोटला में होने वाला पहला टी20 मैच उनका आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच होगा. इस 38 वर्षीय तेज गेंदबाज ने भारत की तरफ से अपना आखिरी मैच भले ही इस साल पहले एक फरवरी को बेंगलुरू में खेला था लेकिन संन्यास की पूर्व घोषणा के कारण उनका इस मैच में खेलना तय है. नेहरा ने अपना अंतिम टेस्ट मैच अप्रैल 2004 जबकि आखिरी वनडे वर्ल्‍डकप 2011 में खेला था लेकिन वह आईपीएल और अन्य टूर्नामेंटों में नियमित तौर पर खेलते रहे हैं. इस बीच छोटे प्रारूप में वे भारतीय टीम का हिस्सा भी बने रहे. दिल्ली का यह तेज गेंदबाज अपने परिजनों और शहर के दर्शकों के सामने जब आखिरी मैच खेलने के लिये उतरेगा तो निश्चित तौर पर मैदान के अंदर और बाहर भावनाओं का ज्वार भी उमड़ रहा होगा. यह देखना जरूर दिलचस्प होगा कि नेहरा को किस गेंदबाज के स्थान पर अंतिम एकादश में रखा जाता है क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टी20 मैचों में भारत भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पंड्या, युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के साथ उतरा था. भुवनेश्वर कानपुर में आखिरी वनडे में नियंत्रित गेंदबाजी नहीं कर पाए थे और उनको विश्राम दिया जा सकता है विराट कोहली एंड कंपनी एक तीर से कई निशाने साधने की कोशिश करेगी. प्रत्येक क्रिकेटर चाहता है कि उनका वरिष्‍ठ साथी जीत के साथ विदाई ले तथा वर्तमान टीम भी नेहरा को यह सम्मान देने में कसर नहीं छोड़ेगी. अगर भारत जीत दर्ज करता है तो यह उसकी न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 में पहली जीत भी होगी. इससे भारत जहां हार के अपने क्रम को तोड़ेगा वहीं आखिरी दो वनडे की जीत से मिली विजयी लय भी जारी रखेगा. भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ जो पांच टी20 मैच खेले हैं उन सभी में उसे हार का सामना करना पड़ा. इनमें पिछले साल वर्ल्‍ड टी20 चैंपियनशिप का नागपुर में खेला गया मैच भी शामिल है जब भारतीय टीम 79 रन पर ढेर हो गई थी. न्यूजीलैंड एकमात्र ऐसी टीम है जिसके खिलाफ भारत अब तक छोटे प्रारूप में जीत दर्ज नहीं कर पाया है. पूरी संभावना है कि यह क्रम वर्तमान सीरीज में टूट जाएगा. लेकिन कोहली की टीम के लिए यह आसान भी नहीं होगा क्योंकि जिस तरह से वनडे सीरीज में मैच काफी करीबी रहे और कीवियों ने अपने जज्बे और जोश का जानदार नमूना पेश किया उससे यह उम्मीद बन गयी है कि टी20 सीरीज भी रोमांचक होगी. न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों विशेषकर मध्यक्रम का प्रदर्शन काबिलेतारीफ रहा है और कप्तान केन विलियमसन इसे टीम के लिए सकारात्मक पक्ष मानते हैं. विलियमसन के अलावा टॉम लाथम और हेनरी निकोल्स ने मध्यक्रम में अच्छी बल्लेबाजी की है जबकि सलामी बल्लेबाज कॉलिन मुनरो ने भी अपने शॉट चयन से प्रभावित किया है. मार्टिन गुप्टिल वनडे की असफलता की भरपाई टी20 में करने के लिए बेताब होंगे. नेहरा जहां अपने आखिरी मैच को यादगार बनाना चाहेंगे वहीं कप्तान कोहली भी अपने घरेलू मैदान पर पहली बड़ी पारी खेलने की कोशिश करेंगे. फिरोजशाह कोटला पर भारत अपना पहला टी20 मैच खेलेगा जहां कोहली ने कुछ यादगार पारियां खेली हैं. शिखर धवन का भी यह घरेलू मैदान पर है जिसमें अब तक वह टेस्ट और वनडे में बड़ी पारी नहीं खेल पाए हैं. वह कल इसकी भरपाई करने की कोशिश करेंगे. केएल राहुल टी20 के लिये टीम में हैं और धवन जानते हैं कि आगे किसी तरह की असफलता से उन्हें अंतिम एकादश में अपनी जगह गंवानी पड़ सकती है. आलराउंडर पंड्या पर भी निगाहें टिकी रहेंगी. भारत ने अच्‍छे फॉर्म में चल रहे श्रेयस अय्यर और तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के रूप में दो नए चेहरे टीम में लिए हैं. अय्यर को मध्यक्रम में केदार जाधव की जगह पर मौका मिल सकता है लेकिन पहले मैच में नेहरा के खेलने के कारण सिराज को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के लिये थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है. मैच शाम सात बजे शुरू होगा और ऐसे में ओस की भूमिका भी अहम होगी. बाद में गेंदबाजी करने वाली टीम को इससे अधिक जूझना पड़ सकता है और ऐसे में टॉस की भूमिका भी महत्वपूर्ण बन जाएगी. भारत जहां कोटला पर अपना पहला टी20 मैच खेलेगा वहीं न्यूजीलैंड ने पिछले साल वर्ल्‍ड टी20 में एक मैच यहां खेला था जिसमें उसे इंग्लैंड के हाथों सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा था


आईसीसी रैंकिंग में नंबर वन बल्लेबाज बने विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह ने भी किया कमाल
30 October 2017

मुंबई: भारतीय टीम को लगातार सातवीं सीरीज जिताने वाले कप्तान विराट कोहली ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की वनडे बल्लेबाजों की रैंकिंग में एक बार फिर शीर्ष स्थान हासिल कर लिया है. इसके साथ ही गेंदबाजों की रैंकिंग में भारत के युवा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने अपने करियर की सर्वोच्च रैंकिंग हासिल की है. वह तीसरे स्थान पर हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर में खेले गए तीसरे मैच में कोहली ने शतकीय पारी खेली थी. उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज अब्राहम डिविलियर्स को पछाड़ते हुए फिर से वनडे रैंकिंग में पहले स्थान पर अपना कब्जा जमा लिया. दिल्ली के बल्लेबाज ने न्यूजीलैंड के खिलाफ मुंबई में खेले गए पहले मैच में 121 रनों की पारी खेली थी, वहीं कानपुर में अंतिम मैच में 113 रनों की बेहतरीन शतकीय पारी खेली. उनके वनडे रैंकिंग में 889 अंक हैं, जो किसी भी भारतीय द्वारा हासिल किए गए सबसे अधिक अंक हैं. इससे पहले, 1998 में दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने 887 अंकों के साथ वनडे रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया था. भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने फाइनल मैच में 147 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी. वह 799 अंकों के साथ सातवें स्थान पर बने हुए हैं, जो उनके करियर की सबसे बड़ी रैंकिंग है. दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस दो अंक ऊपर उठते हुए आठवें, भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी एक स्थान ऊपर उठते हुए 11वें और न्यूजीलैंड के बल्लेबाज टॉम लाथम ने 15 स्थानों की छलांग लगाते हुए वनडे बल्लेबाजों की रैंकिंग में 23वां स्थान हासिल किया है. भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का प्रदर्शन भी न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली गई इस सीरीज में शानदार रहा. उन्होंने कुल छह विकेट लिए और वह गेंदबाजों की रैंकिंग में तीसरे स्थान पर पहुंच गए हैं. इस रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज इमरान ताहिर दूसरे और पाकिस्तान के गेंदबाज हसन अली पहले स्थान पर हैं. भारत के स्पिन गेंदबाज अक्षर पटेल वनडे गेंदबाजों की शीर्ष-10 रैंकिंग में शामिल होने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली गई तीन वनडे मैचों की सीरीज में 1-2 से जीत हासिल करने वाली भारतीय टीम वनडे रैंकिंग में दूसरे स्थान पर है. वह शीर्ष पर काबिज दक्षिण अफ्रीका की टीम से केवल दो अंक पीछे है.


बंगाल क्रिकेट संघ में उठे बगावती सुर, सौरव गांगुली की जा सकती है कुर्सी!
28 October 2017

नई दिल्ली: भारतीय टीम के महानतम कप्तानों में शामिल सौरव गांगुली के खिलाफ बंगाल क्रिकेट संघ में बगावती सुर उठने लगे हैं. अब आलम यह है कि सौरव गांगुली से बंगाल क्रिकेट संघ का अध्यक्ष पद छोड़ने की मांग की जाने लगी है. लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लेकर कैब में यह नया विवाद उफना है. इन सिफारिशों के तहत बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के संयुक्त सचिव सुबीर गांगुली ने आज कैब अध्यक्ष सौरव गांगुली को पत्र भेजकर कहा कि अगर उन्हें ‘कूलिंग ऑफ’ पर जाने के लिये बाध्य किया जाता है, तो लोढा समिति के अनुसार यही नियम इस महान क्रिकेटर भी भी लागू होता है. सुबीर आईपीएल संचालन परिषद के पूर्व सदस्य और कैब के अनुभवी रह चुके हैं. वह राज्य संघ में पूर्व कोषाध्यक्ष बिस्वरूप डे के साथ सौरव गांगुली के विरोधी ग्रुप का हिस्सा हैं. उन्होंने तीन पेज के इस पत्र में लिखा, ‘‘अगर आप मुझे संयुक्त सचिव के पद पर जारी रखने के लिये मुझे अमान्य करार कते हो तो लोढा समिति की सिफारिशों के अनुसार आप भी जारी नहीं रह सकते और इसके अनुसार ‘कूलिंग ऑफ’ का तीन साल का समय आपके खिलाफ भी लागू होगा. आपको भी तुरंत प्रभाव से अपना पद छोड़ना होगा. अब देखना होगा कि कैब में उफने नए विवाद क्या रंग लेगी. हालांकि सौरव गांगुली के लिए इन मुश्किल हालात से निकलना इतना आसान भी नहीं होगा


पाकिस्तान में दिखा जसप्रीत बुमराह का 'जुड़वा' भाई, जानिए क्या है सच्चाई
27 October 2017

नई दिल्ली: टीम इंडिया के धाकड़ गेंदबाज जसप्रीत बुमराह आज कल सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में हैं. हमेशा खेल के लिए चर्चा में रहने वाले बुमराह आज कल किसी और वजह से सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बने हुए हैं. एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जो हू-ब-हू उनकी तरह दिख रहे हैं. हर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ये फोटो वायरल हो रही है. लोग इस शख्स को जसप्रीत बुमराह का जुड़वा भाई बता रहे हैं. आइए जानते हैं इस बात में कितनी सच्चाई है.
वर्ल्ड इलेवन के खिलाफ लाहौर में देखा गया बुमराह जैसा शख्स..
वर्ल्ड इलेवन और पाकिस्तान के बीच हुए टी-20 मुकाबले में लाहौर के स्टेडियम में जसप्रीत बुमराह का हमशक्ल देखने को मिला. गद्दाफी स्टेडियम के बाहर लाइन में खड़ा एक शख्स बिलकुल बुमराह जैसा लग रहा था. पाकिस्तानी फैन्स जब उसके पास पहुंचे तो पता चला कि वो भी एक आम पाकिस्तानी नागरिक है जो मैच देखने आया है. लेकिन लोगों ने उस शख्स के साथ फोटो क्लिक कर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दी और वो फोटो वायरल हो गई.
वायरल हुई फोटो.
पाकिस्तान में वायरल होते-होते ये फोटो भारत में वायरल होने लगी. जिसमें लोग उस शख्स को बुमराह को जुड़वा भाई बताया जा रहा है. पाकिस्तान के लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा है- 'शुक्रिया जसप्रीत बुमराह, पाकिस्तान आने के और वर्ल्ड-XI बनाम पाक का मैच देखने के लिए. आप हमेशा पाकिस्ताम के बड़े इवेंट्स में सपोर्ट करते हो. शुक्रिया, प्यार, पाकिस्तान की तरफ से


BCCI ने टीवी स्टिंग में पिच से छेड़छाड़ के दावों के बाद पुणे के क्यूरेटर को निलंबित किया
26 October 2017

नई दिल्ली/पुणे: भारतीय क्रिकेट आज फिर तब भ्रष्टाचार की गिरफ्त में आ गया जब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारत-न्यूजीलैंड के बीच दूसरे वनडे से कुछ घंटे पहले पुणे क्रिकेट स्टेडियम के क्यूरेटर को निलंबित कर दिया क्योंकि उन्होंने एक टीवी स्टिंग आपरेशन में पिच से कथित रूप से छेड़छाड़ के लिये सहमति जताई थी. इंडिया टुडे टीवी द्वारा किये गये इस स्टिंग आपरेशन में क्यूरेटर पांडुरांग सालगांवकर महाराष्ट्र क्रिकेट संघ (एमसीए) के स्टेडियम की पिच पर खड़े होकर एक अंडरकवर रिपोर्टर से बात करते हुए दिख रहे हैं जिसमें यह रिपोर्टर एक सट्टेबाज बना हुआ है हालांकि तीन मैचों की सीरीज का दूसरा मैच आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही हुआ क्योंकि आईसीसी पर्यवेक्षक ने पिच का मुआयना करने के बाद इसे मंजूरी दे दी. महाराष्ट्र क्रिकेट संघ के अध्यक्ष अभय आप्टे ने टॉस से महज आधा घंटे पहले इसकी घोषणा की. 68 वर्षीय सलगांवकर इस रिपोर्टर की जरूरत के मुताबिक पिच के साथ छेड़छाड़ करने की बात पर सहमति जताते हुए दिख रहे हैं. इंडिया टुडे टीवी ने कहा कि यह वीडियो बीती शाम रिकॉर्ड किया गयाण्‍ हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि पूर्व तेज गेंदबाज सलगांवकर आज शाम होने वाले मैच से पहले कुछ घंटे पहले पिच से छेड़छाड़ कैसे कर सकते थे.बीसीसीआई के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा, 'पांडुरांग सलगांवकर को तुरंत प्रभाव से महाराष्ट्र क्रिकेट संघ के क्यूरेटर पद से निलंबित किया जाता है। ’’ उन्होंने साथ ही कहा, ‘एमसीए ने भी सलगांवकर को संघ के सभी अन्य पदों से निलंबित कर दिया है. एमसीए ने एक जांच आयोग भी गठित किया है. बीसीसीआई ने पहले ही कहा है कि भ्रष्ट गतिविधियों के प्रति जरा भी ढील नहीं बरती जाएगी. ’ बाद में बीसीसीआई द्वारा जारी बयान में यह दोहराया गया कि रमेश महामुंकर को भारत और न्यूजीलैंड के बीच दूसरे वनडे के लिये मुख्य विकेट और मैदान के लिये प्रभारी बनाया गया. प्रशासकों की समिति (सीओए) प्रमुख विनोद राय ने बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) का बचाव किया और कहा कि तीन सदस्यीय टीम कितना काम कर सकती है. उन्होंने कहा, ‘‘नीरज कुमार की अध्यक्षता वाली एसीयू में केवल तीन ही लोग हैं, इसलिये वे हर जगह नहीं हो सकते.’’ बीसीसीआई के बयान में राय ने कहा, ‘हम मुद्दे को देख रहे हैं और संबंधित अधिकारियों से संपर्क में हैं. हमने विस्तृत रिपोर्ट के बारे में पूछा है और इसी के अनुसार काम करेंगे. ’ बीसीसीआई के वरिष्ठ अधिकारी इस बात से नाराज हैं कि सालगांवकर सट्टेबाज बने रिपोर्टर को अपने साथ मैच की मुख्य पिच पर ले गये. बीसीसीआई के नियमों के अनुसार किसी भी गैर मान्यता प्राप्त व्यक्ति, जिसमें पत्रकार भी शामिल हैं, को पिच के निकट जाने की अनुमति नहीं है. बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा, ‘नीरज कुमार की अगुवाई वाली बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू) को कुछ जवाब देने होंगे. यहां एक अनजान व्यक्ति आता है जिसके पास ‘सभी क्षेत्रों में जाने वाला’ पास भी नहीं है और उसे क्यूरेटर मुख्य पिच पर ले जाता है. ’’ यह पूछने पर कि एसीयू इकाई को जवाब देना होगा कि एक बाहरी व्यक्ति को पिच पर कैसे जाने दिया गया तो चौधरी ने कहा, ‘एसीयू से जुड़े सभी व्यक्ति जवाबदेह होंगे. किसी भी मामले में पिच के बीच में जाने की इजाजत कुछ चुनिंदा लोगों को ही है. ’ जब बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि वह कुमार को ईमेल लिख रहे हैं कि ताकि उनकी टीम इस घटना पर अपडेट दें. खन्ना ने कहा, ‘एमसीए के पूर्व अध्यक्ष अजय शिर्के और मौजूदा अध्यक्ष अभय आप्टे ने सालगांवकर को रिटायर होने के बाद करियर जारी रखने में मदद की. उन्हें एमसीए से प्रति महीना 65,000 रूपये का वेतन मिलता है और साथ ही बीसीसीआई की पेंशन भी है. वह बीसीसीआई के स्वतंत्र क्यूरेटरों में शामिल हैं। हम अभय और अजय दोनों के लिये बुरा महसूस कर रहे हैं. सालगांवकर ने उन्हें निराश किया.


दिसंबर में विराट-अनुष्का दे सकते हैं गुड न्यूज, कर सकते है…!
24 October 2017

नई दिल्ली: दिवाली पर लोगों को बहुत सारे सरप्राइज और गिफ्ट मिले. अब दिवाली का जश्न खत्म हो चुका है लेकिन बॉलीवुड एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा के फैंस के लिए जश्न मनाने का एक और मौका सामने आ सकता है. स्पॉटब्वॉय की खबर के मुताबिक अनुष्का शर्मा और विराट कोहली इस साल दिसंबर में शादी कर सकते हैं. जी हां ये बात अब सामने आ रही है. आपको बता दें कि भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली ने दिसंबर में होने वाले श्रीलंका टूर में मैच न खेलने की अर्जी दी है. यानि को वो दिसंबर महीने में छुट्टी चाहते हैं BCCI को दिए एप्लीकेशन में उन्होंने छुट्टी का कारण ‘पर्सनल’ लिखा है. सिर्फ इतना ही नहीं अनुष्का के कुछ करीबी दोस्तों ने बताया है कि वो भी दिसंबर महीने में कोई शूटिंग नहीं करना चाहती हैं. तो क्या दोनों इस दिसंबर में शादी करने की सोच रहे हैं या फिर शादी का फैसला हो चुका है ये तो वक्त ही बताएगा लेकिन ये तो तय है कि कुछ विराट होने वाला है. आपको बता दें कि हाल ही में विराट और अनुष्का ने मान्यवर के एक विज्ञापन में साथ काम किया. ये विज्ञापन एक शादी की थीम पर आधारित था जिसमें दोनों एक दूसरे के साथ 7 वचन की कसमें निभाते दिखे. अब लगता है कि दोनों जल्द ही असल जिंदगी में ऐसा करते दिखेंगे आपको बता दें कि हाल ही में विराट और अनुष्का ने मान्यवर के एक विज्ञापन में साथ काम किया. ये विज्ञापन एक शादी की थीम पर आधारित था जिसमें दोनों एक दूसरे के साथ 7 वचन की कसमें निभाते दिखे. अब लगता है कि दोनों जल्द ही असल जिंदगी में ऐसा करते दिखेंगे.


विराट कोहली के शतक के बावजूद घरेलू धरती पर पहली बार वन-डे मैच हारी टीम इंडिया
23 October 2017

नई दिल्ली: टीम इंडिया के लिए अपनी धरती पर यह पहला मौका था, जब विराट कोहली के शतक के बावजूद वे हार गए हों... इससे पहले विराट कोहली के कुल चार ऐसे शतक रहे हैं, जो टीम के काम नहीं आए, और टीम हार गई, लेकिन उन चारों मौकों पर टीम विदेशी मैदानों पर खेल रही थी. रविवार को ठोका गया शतक विराट के करियर का 31वां शतक था, और अब वह सबसे ज़्यादा वन-डे शतक बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में सिर्फ 'मास्टर ब्लास्टर' सचिन तेंदुलकर से पीछे रह गए हैं, जिन्होंने अपने करियर में 49 शतक लगाए थे... विराट ने इस शतक के साथ ही ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज़ रिकी पॉन्टिंग को पीछे छोड़ा, जिनके करियर में 30 शतक दर्ज हैं. जहां तक विदेशी धरती का सवाल है, विराट कोहली ने अब तक 18 शतक विदेशी धरती पर लगाए हैं, जिनमें से चार न्यूट्रल मैदान थे, यानी खेलने वाली दोनों टीमों में से किसी का भी घरेलू मैदान नहीं... इन चारों मैचों में भारत विजयी रहा था... विराट कोहली की विदेशी धरती पर खेली गईं शेष 14 शतकीय पारियों में से सिर्फ चार ऐसी रहीं, जिनकी बदौलत टीम इंडिया को जीत हासिल नहीं हुई सो, कुल मिलाकर यह सिर्फ पांचवां मौका है, जब विराट कोहली के शतक बनाने के बावजूद टीम इंडिया हार गई हो, इसलिए कहा जा सकता है कि जब-जब विराट का बल्ला चला, अधिकतर बार टीम ने जीत का दामन थामा.. जहां तक घरेलू मैदानों की बात है, विराट ने करियर का पहला शतक स्वदेश में ही ठोका था, और प्रतिद्वंद्वी टीम थी पड़ोसी देश श्रीलंका, जिन्हें 24 दिसंबर, 2009 को कोलकाता में हार का सामना करना पड़ा था... श्रीलंका के खिलाफ घरेलू धरती पर वह इसके बाद भी एक और शतक जड़ चुके हैं... इसके अलावा विराट ने भारत की सरज़मीं पर ऑस्ट्रेलिया व न्यूज़ीलैंड के खिलाफ तीन-तीन, इंग्लैंड व वेस्ट इंडीज़ के खिलाफ दो-दो, और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक शतक ठोक चुके हैं, जिनमें से रविवार को न्यूज़ीलैंड के हाथों मिली हार पहला मौका था, जब विराट की शतकीय पारी काम न आई...


फीफा अंडर-17 विश्व कप: इराक पर बड़ी जीत से माली शान से क्वार्टर फाइनल में पहुंचा
18 October 2017

मडगांव: लसाना एनडियाए के दो गोल की मदद से माली ने इराक को एकतरफा मुकाबले में 5-1 से शिकस्त देकर शान से फीफा अंडर-17 विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनायी. अब तक हर मैच में गोल करने वाले एनडियाए ने 33वें और दूसरे हाफ के इंजुरी टाइम (94वें मिनट) में गोल किये. उनके अलावा हादजी ड्रेम (25वें), फोडे कोनाटे (73वें) और सेमे कमारा (87वें मिनट) ने गोल किये. इराक की तरफ से एकमात्र गोल अली करीम ने 85वें मिनट में किया. माली शनिवार को गुवाहाटी में होने वाले क्वार्टर फाइनल में अपने अफ्रीकी प्रतिद्वंद्वियों घाना और नाइजर के बीच होने वाले प्री क्वार्टर फाइनल मैच के विजेता से भिड़ेगा. माली की टीम ने शुरू से ही दबदबा बना दिया था और हादजी ने उसे जल्द ही बढ़त भी दिला दी थी. सलाम जिदोऊ ने बायें छोर से गेंद बनायी और उसे हादजी को सौंपा जिन्होंने इस टूर्नामेंट के इतिहास का 2000वां गोल भी किया अफ्रीकी टीम ने आधे घंटे का खेल पूरा होने के कुछ देर बाद अपनी बढ़त दोगुनी कर दी. उन्होंने जिमूसा ट्राओरे के क्रास पर हेडर से यह गोल दागा. कोनाटे ने इसके बाद गोलकीपर अली इबादी को छकाकर माली की तरफ से तीसरा गोल किया. एशियाई टीम की तरफ से अली करीम ने एक गोल किया लेकिन इसके बाद माली ने अंतिम क्षणों में दो गोल दाग दिये. एनडियाए इस तरह से टूर्नामेंट में अब तक पांच गोल दाग चुके हैं


ऑस्‍ट्रेलिया के इस बल्‍लेबाज ने तोड़ा महान विव रिचर्ड्स के 33 साल पुराना रिकॉर्ड
17 October 2017

इस 32 वर्षीय बल्‍लेबाज ने क्रिकेट को नए आयाम दिए हैं. पहले क्रम पर बैटिंग के लिए उतरते हुए जोश डंस्‍टन ने जबर्दस्‍त पारी खेली. इस धाकड़ बल्‍लेबाज ने 35-35 ओवर के मुकाबले में 307 रन बनाए.उन्‍होंने वेस्‍ट अगस्‍ता की ओर से खेलते हुए विव रिचर्ड्स के एक महत्‍वपूर्ण रिकॉर्ड को तोड़ दिया. तिहरा शतक जड़ते हुए वेस्‍ट अगस्‍ता की ओर से 86 फीसदी रन बनाए. अपनी पारी में उन्‍होंने 40 छक्‍के जमाए. पोट अगस्‍ता क्रिकेट एसोसिएशन के इस बी ग्रेड के मुकाबले में डंस्‍टन की वेस्‍ट अगस्‍ता टीम ने सेंट्रल स्‍टर्लिंग के खिलाफ 9 विकेट खोकर 354 रन बनाए. डंस्‍टन ने अपनी टीम के कुल रनों में से 86.72 रन बनाए. इसके साथ ही उन्‍होंने वेस्‍टइंडीज के महान बल्‍लेबाज विव रिचर्ड्स की ओर से बनाए गए वनडे के 33 साल पुराने रिकॉर्ड को गुजरे जमाने की बात बना दिया. वर्ष 1984 में रिचर्ड्स ने ओल्‍डट्रेफर्ड में इंग्‍लैंड के खिलाफ 189 रन की पारी खेली थी. इस पारी में इंडीज टीम ने 55ओवर में 9 विकेट पर 272 रन बनाए थे जो कि टीम के कुल स्‍कोर का 69.48 फीसदी था. अपनी इस पारी के बारे में adelaidenow.com.au से बात करते हुए डंस्‍टन ने कहा कि मैंने अपने साथियों के साथ रात में शांत बैठकर कुछ बीयर पी थीं. इसलिए मैं बल्‍लेबाजी करते हुए ज्‍यादा कुछ नहीं सोच रहा था. जब मैं गेंद को हिट कर रहा था तो कोशिश यही थी कि गेंद बाउंड्री के बाहर ही जाए और मैं आउट नहीं होऊं. उन्‍होंने कहा कि वैसे भी मेरी पहचान बड़े-बड़े छक्‍के जमाने वाले बल्‍लेबाज के रूप में है. मुझे दौड़कर बन बनाना पसंद नहीं है. एक गेंद मेरे बल्‍ले का किनारा लेकर विकेटकीपर के पास पहुंची लेकिन उसने कैच ड्रॉप कर दिया. मैच में वेस्‍ट अगस्‍ता की पूरी पारी डंस्‍टन के इर्दगिर्द ही केंद्रित रही. उनके पांच सहयोगी बल्‍लेबाज तो शून्‍य पर आउट हुए. टीम के दूसरा बेस्‍ट स्‍कोर बेन रसेल का रहा जिन्‍होंने नाबाद 18 रन बनाए. डंस्‍टन ने अपनी पारी की शुरुआत छक्‍का जमाते हुए की और इसके बाद टीम के 318 रन में से 307 रन बनाए. उन्‍होंने सातवें विकेट के लिए रसेल के साथ 203 रन की साझेदारी की. इस साझेदारी में रसेल का योगदान महज 5 रन का रहा


बांग्‍लादेश के हरफनमौला शाकिब अल हसन की बड़ी उपलब्धि
14 October 2017

लंदन: बांग्‍लादेश के क्रिकेटर शाकिब अल हसन के नाम पर एक बड़ी उपलब्धि जुड़ गई है. हरफनमौला शाकिब एमसीसी विश्‍व क्रिकेट समिति में शामिल होने वाले बांग्लादेश के पहले क्रिकेटर बन गए हैं. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक गैटिंग इस समिति के अध्यक्ष हैं. शाकिब के अलावा सूजी बेट्स, इयान बिशप और कुमार धर्मसेना को भी समिति में शामिल किया गया है. एमसीसी की वेबसाइट में कहा गया है, ‘मई में एमसीसी की वार्षिक आम बैठक में लिए गए फैसले के अनुसार इंग्लैंड और मिडिलसेक्स के पूर्व कप्तान माइक गैटिंग समिति के नए अध्यक्ष होंगे. वह इंग्लैंड के एक अन्य पूर्व कप्तान माइक ब्रेयरली की जगह लेंगे.’गैटिंग इससे पहले 2006 से 2012 तक विश्व क्रिकेट समिति के सदस्य रहे थे शाकिब को बांग्लादेश के बेहतरीन खिलाड़ियों में गिना जाता है. उन्होंने अब तक 51 टेस्ट और 177 वनडे खेले हैं. 59 टी20 मैचों में भी उन्‍होंने बांग्‍लादेश का प्रतिनिधित्‍व किया है. टेस्‍ट मैचों में 3594 रन बनाने के अलावा 188 विकेट भी शाकिब के नाम पर हैं. वनडे में उन्‍होंने 4983 रन बनाने के साथ 224 विकेट लिए हैं. टी20 मैचों में शाकिब ने 1208 रन बनाए हैं और 70 विकेट हासिल किए हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में शाकिब 5 और वनडे में सात शतक जमा चुके हैं एमसीसी की समिति में स्‍थान मिलने के बाद उन्होंने कहा, ‘मैं वास्तव में आभारी हूं कि एमसीसी ने प्रतिष्ठित विश्व क्रिकेट समिति के एक सदस्य के रूप में मेरा चयन किया. मुझे यह सम्मान देने के लिए क्लब का शुक्रिया


निर्णायक मुकाबले के लिए आज हैदराबाद में उतरेंगी भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें, फैंस को जोरदार मुकाबले की उम्मीद
13 October 2017

नई दिल्ली: भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें आखिरी और निर्णायक टी-20 मुकाबले के लिए आज हैदराबाद में उतरेंगी. आज का मुकाबला उप्पल के राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में होगा. यह पहला मौका होगा कोई अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच उप्पल में खेला जाएगा. दोनों टीमों की निगाहें खिताबी जीत पर होंगी, क्योंकि दोनों ही टीमें सीरीज में एक-एक मैच जीत चुकी हैं. भारतीय टीम अगर आज का मैच जीत लेती है तो 70 साल के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब यह टीम ऑस्ट्रेलिया को लगातार चार सीरीज में मात देगी. इससे पहले भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया को लगातार तीन सीरीज में मात दे चुकी है. भारत ने पहले 2016 में ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में टी-20 सीरीज 3-0 से, इस साल टेस्ट सीरीज में 2-1 से और वनडे सीरीज 4-1 से हराया है. इस लिहाज से भरत के पास इतिहास बनाने का मौका होगा. रांची में खेला गया पहला मैच भारत ने जीता था, जबकि गुवाहाटी में खेला गया दूसरा मैच ऑस्ट्रेलिया के नाम रहा था. राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाने वाला तीसरा टी-20 सीरीज का निर्णायक मैच आज होगा. दूसरे मैच में बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जेसन बेहेरेन्डॉर्फ ने भारत के मजबूत बल्लेबाजी क्रम को सस्ते में समेटते हुए चार विकेट अपने नाम किए थे. भारत इस मैच में सिर्फ 118 रन ही बना सका था. भारत को उम्मीद होगी की दूसरे मैच में बल्लेबाजों का विफल होना महज इत्तेफाक साबित हो और तीसरे मैच में उसके बल्लेबाज अपने बल्ले का जौहर दिखाएं. वहीं, भारतीय कप्तान विराट कोहली की कोशिश एक बार फिर जीत की राह पर लौटने की होगी. मेजबान टीम की बल्लेबाजी की जिम्मेदारी एक बार फिर शिखर धवन, रोहित शर्मा, कोहली, महेंद्र सिंह धौनी, हार्दिक पांड्या, मनीष पांडे और केदार जाधव पर होगी.आशीष नेहरा ने अभी तक इस सीरीज में एक भी मैच नहीं खेला है. कोहली इस मैच में इस वरिष्ठ गेंदबाज को मौका दे सकते हैं. नेहरा ने नवंबर में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की पुष्टि कर दी है. भारतीय गेंदबाजी का भार भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के कंधों पर होगा. वहीं, स्पिन में युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को धराशायी करने का जिम्मा संभालेंगे. वहीं मेहमान टीम कप्तान डेविड वार्नर और ग्लेन मैक्सवेल से फॉर्म में लौटने की उम्मीद लगाए बैठी है. पिछले मैच में ट्रेविस हेड और मोएजिज हेनरिक्स ने टीम को संकट से उबारते हुए जीत दिलाई थी. वार्नर को हालांकि अपने गेंदबाजों से ज्यादा उम्मीद है. पैट कमिस, जेसन, केन रिचर्डसन, नाथन कल्टर नाइल और एडम जाम्पा ने पिछले मैच में संयुक्त रूप से बेहतरीन प्रदर्शन किया था. अगर यह गेंदबाजी आक्रमण एक बार फिर संयुक्त प्रदर्शन कर पाने में सफल रहता है तो भारत को परेशानी हो सकती है. बात करें पिच की तो हैदराबाद के उप्पल स्टेडियम में हमेशा से ही स्पिनर्स को मदद मिलती रही है. इस लिहाज से दोनों टीमों के स्पिनर्स इस मैच में अपना जलवा बिखेर सकते हैं


टेस्ट गेंदबाजों की रैंकिंग में इस दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर ने रविचंद्रन अश्विन को पीछे छोड़ा
12 October 2017

दुबई: दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज कागिसो रबादा ब्लोमफोनटेन में बांग्लादेश के खिलाफ शानदार प्रदर्शन की बदौलत आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में दो स्थान के फायदे से करियर के सर्वश्रेष्ठ तीसरे स्थान पर पहुंच गए हैं. मैन ऑफ द मैच रबादा ने दोनों पारियों में पांच-पांच विकेट चटकाए थे. उनके इस प्रदर्शन की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने पारी और 254 रन से जीत दर्ज की थी रैंकिंग में दुबई में श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच दूसरे टेस्ट के नतीजे को भी शामिल किया गया है. इस मैच में श्रीलंका ने 68 रन से जीतकर सीरीज पर 2-0 से कब्जा जमाया था. रबादा ने इस प्रदर्शन की बदौलत श्रीलंका के रंगना हेराथ और भारत के रविचंद्रन अश्विन को पीछे छोड़ा. अब उनके 876 अंक हैं. रैंकिंग में जेम्स एंडरसन (इंग्लैंड) पहले, रवींद्र जडेजा (भारत) दूसरे और आर. अश्विन चौथे स्थान पर हैं. भारतीय बल्लेबाजों में चेतेश्वर पुजारा चौथे, जबकि कप्तान विराट कोहली छठे स्थान पर बरकरार हैं. भारत ने हाल में कोई टेस्ट नहीं खेली है. हालांकि इसके बाजवूद लोकेश राहुल और अजिंक्य रहाणे एक-एक स्थान के फायदे से क्रमश: आठवें और नौवें स्थान पर हैं. श्रीलंका के खिलाफ 5 विकेट चटकाने वाले वहाब रियाज भारत के उमेश यादव को पछाड़कर 24वें स्थान पर पहुंच गए हैं. हैरिस सोहेल 35 स्थान के फायदे से 83वें स्थान पर हैं बल्लेबाजी रैंकिंग में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पहले, इंग्लैंड के जो रूट दूसरे और न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन तीसरे स्थान पर हैं.


दूसरे टी-20 में टीम इंडिया के चार विकेट झटकने वाले तेज गेंदबाज जेसन बेहरेनडोर्फ ने जाहिर की अपनी इच्छा
11 October 2017

भारत के खिलाफ दूसरे टी- 20 अंतरराष्ट्रीय मैच में आस्ट्रेलिया की आठ विकेट की जीत के बाद मैन आफ द मैच चुने गये तेज गेंदबाज जेसन बेहरेनडोर्फ अपने प्रदर्शन से काफी खुश हैं लेकिन उनका अंतिम लक्ष्य लंबे समय तक टेस्ट क्रिकेट खेलना है. बेहरेनडोर्फ ने आस्ट्रेलिया की आठ विकेट की जीत में 21 रन देकर चार विकेट झटके और इसके लिये उन्हें मैन आफ द मैच चुना गया. उन्होंने कहा, 'टेस्ट क्रिकेट सबसे बड़ा पुरस्कार है और निश्चित रूप से सभी क्रिकेटर आस्ट्रेलियाई टीम की हरे रंग की कैप पहनना का सपना संजोये होते हैं और मैं भी ऐसा ही करना चाहता हूं. मैं टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिये सबकुछ कर रहा हूं.' रांची में पदार्पण मैच में उन्होंने सिर्फ एक ओवर फेंका था और इस तेज गेंदबाज ने बादलों भरे मौसम का पूरा फायदा उठाते हुए भारत के शीर्ष चार बल्लेबाज रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली और मनीष पांडे को 15 गेंद में आउट कर दिया. उन्होंने कहा, 'सच कहूं तो यह अहसास अद्भुत है. रांची में एक ओवर मिलना ही अच्छा था लेकिन इस मैच में चार ओवर में चार विकेट झटकना और मैच जीतना तथा वो भी वनडे में खराब प्रदर्शन के बाद बहुत विशेष रहा.' बेहरेनडोर्फ ने कहा, 'मैं सचमुच इस प्रदर्शन से काफी खुश था. कुछ गेंद पर बाउंड्री भी लगी, मुझे निश्चित रूप से ऐसी गेंदबाजी नहीं करनी.


IND vs AUS: भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टी-20 मैच आज, सीरीज सील करने उतरेगी टीम इंडिया
10 October 2017

नई दिल्ली: रांची में खेले गए पहले टी-20 मैच में ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद भारतीय टीम की निगाहें गुवाहाटी में होने वाले दूसरे मैच को जीतने के ऊपर टिकी हैं. भारत अगर आज का मैच भी जीत गया तो टी-20 सीरीज भी जीत जाएगा. भारतीय टीम इस दौरे पर ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट और वनडे सीरीज में पहले ही मात दे चुकी है. भारत निश्चित तौर पर इस मैच को जीतकर टी-20 सीरीज जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ेगा. ऑस्ट्रेलिया को इस दौरे पर अभी निराशा ही हाथ लगी है. भारत में भारत को हराने का सपना देखने वाली इस ऑस्ट्रेलियन टीम को विराट की सेना ने अभी तक कोई मौका नहीं दिया है कि वो भारत पर हावी हो सकें. भारतीय टीम जिस तरह से खेल रही है, उसे देख लगता नहीं कि ऑस्ट्रेलियन टीम को आज के मैच में भी वापसी का मौका मिलेगा. ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्मिथ पहले ही चोट के कारण स्वदेश लौट चुके हैं. उनके जाने के बाद कार्यवाहक कप्तान डेविड वॉर्नर पर ऑस्ट्रेलिया को जीत दिलाने जिम्मा है. लेकिन इसके लिए ऑस्ट्रेलियन टीम असाधारण खेल दिखाना होगा. पहले मैच में नौ विकेट से जीत हासिल करने के बाद भारत आज यहां नवनिर्मित बरसापारा क्रिकेट स्टेडियम खेले जाने वाले दूसरे टी-20 मैच में जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी तीन मैचों की सीरीज पर कब्जा जमाने के इरादे से उतरेगा. टी-20 रैंकिंग में पांचवें स्थान पर कायम मेजबान टीम ने सीरीज की शुरुआत जीत के साथ की है. उसने पहले मैच में बारिश से बाधित मैच में ऑस्ट्रेलिया को मात दी थी. उस मैच में हरफनमौला प्रदर्शन करने के बाद मेजबान टीम की कोशिश उसी प्रदर्शन को दोहराने की होगी. बल्लेबाजी आक्रमण पूरी तरह से कप्तान विराट कोहली, शिखर धवन, रोहित शर्मा, महेंद्र सिंह धौनी पर होगी. वहीं, निचले क्रम में मनीष पांडे, केदार जाधव और हार्दिक पांड्या पर टीम को मजबूत स्कोर प्रदान करने का भार होगा. कोहली इस मैच में तेज गेंदबाज आशीष नेहरा को अंतिम एकादश में मौका दे सकते हैं, वहीं, गेंदबाजी में जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार का खेलना तय है. स्पिन में कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल के ऊपर टीम का भार होगा. कुलदीप ने पिछले टी-20 में अच्छा प्रदर्शन किया था. वह वनडे सीरीज में भी ऑस्ट्रेलिया के लिए सिरदर्द साबित हुए हैं. एक बार फिर उन पर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम को कमर तोड़ने की जिम्मेदारी होगी. वहीं, मेहमान ऑस्ट्रेलिया को अपनी रणनीतियों पर दोबारा विचार करने की जरूरत है. उनकी कोई भी नीति इस दौरे पर अभी तक सफल नहीं रही है. नियमित कप्तान स्टीव स्मिथ के सीरीज से बाहर होने के बाद और ग्लेन मैक्सवेल के फॉर्म में न होने के कारण टीम की बल्लेबाजी का पूरा भार कार्यवाहक कप्तान डेविड वार्नर और उनके साथ पारी की शुरुआत करने वाले एरॉन फिंच पर आ गया है.बड़ा स्कोर करने या बड़ा लक्ष्य हासिल करने के लिए इन दो बल्लेबाजों में से किसी एक का अंत तक रहना ऑस्ट्रेलिया के लिए जरूरी हो गया है. गेंदबाजी में नाथन कल्टर नाइल वनडे के बाद टी-20 में ऑस्ट्रेलिया के लिए कारगर साबित हुए हैं. उनके अलावा कोई और गेंदबाज अपनी छाप नहीं छोड़ सका है. लेग स्पिनर एडम जाम्पा से टीम को उम्मीदें हैं लेकिन उनका जादू अभी तक देखने को नहीं मिला है


FIFA U-17 World Cup : भारतीय टीम का आज कोलंबिया से होगा मुकाबला
9 October 2017

नई दिल्ली: फीफा अंडर17 वर्ल्‍डकप में भारतीय फुटबॉल टीम अपने दूसरे मैच में आज कोलंबिया के सामने होगी. मैच दिल्‍ली के जवाहर लाल नेहरू स्‍टेडियम में खेला जाएगा. भारतीय टीम के मिडफील्डर सुरेश सिंह वांगजाम ने कहा कि मेजबान टीम सोमवार को कोलंबिया के साथ होने वाले अगले ग्रुप मैच के लिए तैयार है और वह भारतीय प्रशंसकों को निराश नहीं करेगी. सुरेश सिंह नेटीम के अभ्यास सत्र के दौरान कहा, "हम कोलंबिया के खिलाफ खेलने के लिए तैयार है और हम मैच में अपनी सबकुछ झोंक देंगे." मणिपुर के सुरेश ने कहा, "हमें अपनी गलतियों को सुधार करके आगे बढ़ने की जरूरत है, हार और जीत खेल का अहम हिस्सा है. हम अपने अगले मैच के लिए तैयार है." सुरेश ने आगे कहा, "55,000 दर्शकों के सामने अपने देश का प्रतिनिधित्व करना एक ऐसी भावना है जोकि शब्दों में बयां नहीं की जा सकती." हालांकि, इस मजबूत मिडफील्डर ने माना कि आक्रामक क्षेत्रों में अभी टीम को बहुत सुधार करने की आवश्यकता है. सुरेश ने कहा, "अमेरिका के खिलाफ हमारे पास सटीक नहीं थे. मैं मानता हूं कि हम अच्छा कर सकते है." कोलंबिया की टीम के बारे में उन्होंने कहा, "मैं मानता हूं कि अगर हम अपनी पोजिशनिंग पर ध्यान दें, तो हम उनकी तेजी को रोक सकते हैं. अगर हम संगठित रहते हैं, तो हम उन्हें रोक सकते हैं. वह शारीरिक रूप से बहुत ही मजबूत है. हमने उनके साथ मैक्सिको में खेला था और हम एक कड़े मैच की अपेक्षा कर रहे हैं. उन्हें अगर विश्व में बने रहना है, तो उन्हें जीत दर्ज करनी होगी। हमें मैच के पूरे 90 मिनट कड़ी टक्कर मिलेगी."उन्होंने आगे कहा, "विश्व स्तर पर एक छोटी सी गलती आपको बहुत भारी पड़ सकती है और यह हमारी लिए सबसे बड़ी सीख रही. हमने अपने पहले मैच से काफी कुछ सीखा. यह एक बहुत बड़ी प्रतियोगिता है. एक समय हमने गोल करने का एक मौका गवाया और उसके 10 सेकंड बाद ही उसी काउंटर पर विपक्षी टीम ने गोल कर दिया. यह हमारे लिए एक बहुत बड़ी सीख रही." टूर्नामेंट में मेजबान भारत सहित दुनियाभर की 24 दिग्‍गज टीमें भाग ले रही हैं . 23 दिन तक चलने वाले अंडर 17 वर्ल्डकप में इन टीमों को 6 ग्रुप में बांटा गया है. इसके मैच नई दिल्ली, नवी मुंबई, गोवा, कोच्चि, गुवाहाटी और कोलकाता में खेले जा रहे हैं. टूर्नामेंट में भाग लेने वाली भारतीय टीम की कप्‍तानी अमरजीत सिंह कियाम कर रहे हैं. राउंड ऑफ मुकाबले 16 अक्टूबर से 18 अक्टूबर तक खेला जाएंगे. जिसके बाद क्वार्टर फाइनल होंगे,जो 21 अक्टूबर और 22 अक्टूबर को खेला जाएगा.


भारत के खिलाफ टी-20 सीरीज से ठीक पहले ऑस्ट्रेलिया को लगा करारा झटका
7 October 2017

रांची: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन टी-20 सीरीज का पहला मैच आज झारखंड क्रिकेट संघ (जेसीए) अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेला जाएगा. टीम इंडिया ने वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 4-1 से मात दी थी. टीम इंडिया के हाथों वनडे सीरीज में करारी हार झेलने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को अब टी-20 सीरीज शुरू होने से ठीक पहले तगड़ा झटका लगा है. ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ कंधे की चोट के कारण टी-20 सीरीज से बाहर हो गए हैं. स्मिथ की गैर-मौजूदगी में उपकप्तान डेविड वार्नर टीम की कमान संभालेंगे. टीम में स्मिथ की जगह मार्कस स्टोइनिस लेंगे.स्मिथ को भारत के खिलाफ नागपुर में पांचवें वनडे के दौरान कंधे में चोट लगी थी. उन्होंने रांची में गुरुवार को अभ्यास सत्र के बाद एमआरआई कराया और शुक्रवार को इंडोर प्रैक्टिस सेशन में भाग नहीं लिया टीम के डॉक्टर रिचर्ड सॉ ने एक बयान में कहा, 'स्मिथ को भारत के खिलाफ नागपुर में पांचवें वनडे के दौरान फील्डिंग करते हुए चोट लगी थी. मैच के बाद उन्होंने कंधे में सूजन की शिकायत की थी. वह बल्लेबाजी और फील्डिंग में सहज मूवमेंट नहीं कर पा रहे थे. उन्होंने कहा कि स्मिथ एमआरआई कराया गया और कोई गंभीर चोट नहीं है. हमने कोई जोखिम नहीं लेते हुए उन्हें आराम देने का फैसला किया है. वह ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद आगे का इलाज कराएंगे, लेकिन उम्मीद है कि शेफील्ड शील्ड सत्र तक फिट हो जाएंगे.' स्मिथ भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में सिर्फ 142 रन बना सके. उन्होंने पिछले साल टी-20 वर्ल्ड कप के बाद से एक भी टी-20 मैच नहीं खेला है


फिर गरजेगा सहवाग का बल्ला, पाकिस्तानी खिलाड़ियों के खिलाफ लगाएंगे चौके-छक्के
6 October 2017

नई दिल्ली: संन्यास ले चुके विरेंद्र सहवाग एक बार फिर ग्राउंड पर चौके-छक्के लगाते नजर आएंगे. इनके साथ पाकिस्तान के बूम-बूम प्लेयर शाहिद आफरीदी भी नजर आएंगे. ये दोनों दिग्गज और श्रीलंका के कुमार संगकारा भले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके हों, लेकिन यूएई में शुरू होने जा रही टी-10 लीग में प्रशंसकों को एक बार फिर इनका जलवा देखने को मिलेगा. सहवाग इस साल दिसंबर में शुरू होने जा रही टी-10 क्रिकेट लीग में खेलने उतरेंगे. इस लीग में 10-10 ओवर के मैच खेले जाएंगे और दोनों टीमों को 45-45 मिनट का खेल खेलना होगा. दुनिया भर में हो रही ट्वेंटी 20 लीगों की लोकप्रियता को देखते हुए अब टी-10 फटाफट लीग का नया प्रारूप शुरू किया गया है. लीग के अध्यक्ष सलमान इकबाल ने उम्मीद जताई है कि प्रशंसकों को यह प्रारूप भी पसंद आएगा. यह टी-10 लीग 21 से 24 दिसंबर तक खेली जाएगी.
शाहिद आफरीदी हैं काफी एक्साइटेड
सहवाग, आफरीदी और संगकारा के अलावा शाकिब अल हसन के अलावा पूर्व पाकिस्तानी कप्तान मिस्बाह उल हक भी इस लीग में खेलने उतरेंगे. टी-10 को लेकर पाकिस्तानी क्रिकेटर काफी एक्साइटेड नजर आ रहे हैं. उन्होंने कहा- जब मुझे इस प्रारूप के बारे में बताया गया तो मैंने खेलने को लेकर उत्सुकता जाहिर की थी.
इंग्लैंड कप्तान मोर्गन बोले- काफी मजा आने वाला है
इंग्लैंड के मौजूदा वनडे और ट्वेंटी 20 कप्तान मोर्गन ने भी कहा कि यह लीग काफी सफल साबित होगी. उन्होंने कहा इस लीग का पूरा कार्यक्रम ही काफी मजेदार है. हमें पता है कि जब पहली बार ट्वेंटी 20 क्रिकेट खेला गया था तब उसे लेकर कितना मजा था. यदि यह नया फॉर्मेट सफल रहा तो निश्चित ही बाकी के प्रारूपों पर भी इसका असर होगा. इस महीने इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली टीमों का ड्राफ्ट तैयार किया जाएगा


वनडे सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका की टीम में तेज गेंदबाज डेन पेटरसन शामिल
5 October 2017

ब्‍लोमफोंटेन: बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज में चोटिल हुए मोर्ने मोर्केल के स्थान पर दक्षिण अफ्रीका की टीम में शामिल किए गए डेन पेटरसन को वनडे सीरीज के लिए भी टीम में जगह मिली है. वेबसाइट 'ईएसपीएनक्रिकइन्फो डॉट कॉम' की रिपोर्ट के अनुसार, पेटरसन को पहली बार दक्षिण अफ्रीका की वनडे टीम में शामिल किया गया है. अपने करियर में अब तक पेटरसन ने दक्षिण अफ्रीका के लिए चार टी-20 मैच खेले हैं. इस साल उन्होंने जून में इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 मैच खेला था. दक्षिण अफ्रीका चयनकर्ताओं के संयोजक लिंडा जोंडी ने कहा, "डेन ने इस साल इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया था, विशेषकर अंतिम ओवरों में उनकी गेंदबाजी अच्छी रही थी.अब हम देखना चाहते हैं कि क्या वह ऐसा ही प्रदर्शन वनडे मैचों में दे सकते हैं." दक्षिण अफ्रीका ने बांग्लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए टीम की घोषणा कर दी है. इस सीरीज को टीम 2019 वर्ल्‍डकप के लिए अपनी तैयारी के रूप में भी देख रही है. इसके अलावा, यह फाफ डु प्लेसिस के लिए कप्तान के तौर पर पहली वनडे सीरीज होगी. ..
दक्षिण अफ्रीका वनडे टीम इस प्रकार है.
फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), हाशिम अमला, टेम्बा बावुमा, फरहान बेहरदीन, क्विंटन डी कॉक (विकेटकीपर), एबी डिविलियर्स, जेपी. डुमिनी, इमरान ताहिर, डेविड मिलर, वेन पार्नेल, डेन पेटरसन, आंदिले फेहालुक्वायो, ड्वेन प्रीटोरियस और कगीसो रबाडा.


कोई किसान तो कोई मेकैनिक का बेटा, पढ़ें भारत के फुटबॉल टीम के खिलाड़ियों की कहानी
3 October 2017

नई दिल्ली: देश में क्रिकेट को ज्यादा तवज्जो दी जाती है. इसके पीछे कोई भी खेल आगे नहीं टिकता. लेकिन भारत में कई युवा ऐसे भी हैं जिन्होंने क्रिकेट नहीं फुटबॉल को पहली पसंद माना. फुटबॉल का जुनून ऐसा कि गरीबी में भी फुटबॉल का साथ नहीं छोड़ा और टीम इंडिया की अंडर-17 टीम में शामिल हुए. 8 अक्टूबर से फुटबॉल का महाकुंभ यानी अंडर-17 वर्ल्ड कप की शुरुआत हो रही है. जो भारत में खेला जाएगा. इसमें कुल 24 टीमें खेलेंगी. 52 मैच होंगे. इसका फाइनल 28 अक्टूबर को कोलकाता में होगा. इस मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं भारतीय फुटबॉल के खिलाड़ियों की कहानी. कैसे जिद और जुनून के चलते उन्होंने टीम में जगह बनाई.
अमरजीत सिंह.
मणिपुर के अमरजीत सिंह को टीम का कप्‍तान चुना गया. अमरजीत सिंह कियाम के पिता किसान हैं जबकि मां मछली बेचती है. मणिपुर के थाउबाल जिले की हाओखा ममांग गांव के अमरजीत के लिए फुटबॉल खेलना प्रारंभ करने से लेकर कप्‍तान बनने तक का सफर आसान नहीं रहा. अमरजीत ने कहा, "मेरे पिता किसान है और खाली समय में बढ़ई का काम करते है, मेरी मां गांव से 25 किलोमीटर दूर जाकर मछली बेचती है ताकि मेरा फुटबॉल खेलने के सपना पूरा हो सकें."
अनिकेत जाधव
अनिकेत जाधव टीम इंडिया की अंडर-17 टीम में फॉरवर्ड प्लेयर हैं. अनिकेत ने यह सपना तब देखा था, जब घर की माली हालत मुश्किल भरी थी. पिता मिल की नौकरी छूटने के बाद गैराज में मेकैनिक के तौर पर काम करने लगे थे. लंबे समय तक वहां भी बात नहीं बनी तो ऑटोरिक्शा चलाने लगे. इन मुश्किल हालात में भी पिता ने अनिकेत को खेलने से नहीं रोका. वह 6 साल की उम्र से खेलने लगे थे.
कोमल थटाल.
कोमल थटाल टीम इंडिया की अंडर-17 टीम के शानदार प्लेयर हैं. उनसे काफी उम्मीदें लगाई जा रही हैं. उनके माता-पिता टेलर हैं. कोमल फुटबॉल खेलना चाहते थे. पैसे नहीं होने के कारण रद्दी कपड़ों से गेंद बनाकर ही फुटबॉल खेलने लगते थे. इस गेंद के साथ शुरू हुआ सफर अब भारत टीम अंडर-17 टीम तक जा पहुंचा है


विद्यार्थियों टीमें द्वारा बनाई गई गो कार्ट्स हिस्सा ले रही हैं। इन टीमों में भोपाल की 4 तथा मध्यप्रदेश की 16 टीमें भाग ले रही हैं।
Our Correspondent :2 October 2017

भोपाल। राधारमण ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूट्स परिसर में चल रही नेशनल गो कार्ट चैम्पियनशिप का ग्राण्ड फिनाले मंगलवार को आरपीएम रेसिंग ट्रेक पर होगा जहां देशभर के युवा इंजीनियरिंग विद्यार्थियों द्वारा बनाई गई गो कार्ट्स रेस में प्रथम आने के लिए अपना दमखम दिखाएंगी। इस चैम्पियनशिप में देश के विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों की 150 टीमें हिस्सा ले रही हैं। इन टीमों में भोपाल की 4 तथा मध्यप्रदेश की 16 टीमें भाग ले रही हैं। प्रतियोगिता में आज डिजाइन इवाल्युशन, बिजनेस प्लान, ब्रेक टेस्ट, एक्सीलरेशन टेस्ट, स्किड टेस्ट, ऑटोक्रॉस और ट्रेक्शन टेस्ट जैसे महत्वपूर्ण राउण्ड पूरे किये गए। इन राउण्ड्स को सफलतापूर्वक पार करने वाली सभी गो कार्ट मंगलवार सुबह आरपीएम रेसिंग ट्रेक पर चैम्पियनशिप के लिए दौड़ लगाएंगी। इस चैम्पियनशिप में विभिन्न कैटेगरी के 10 विजेताओं का चयन किया जाएगा जिन्हें शाम 7 बजे राधारमण परिसर में आयोजित किये जा रहे पुरस्कार वितरण समारोह में पुरस्कृत किया जायेगा। राधारमण समूह के चेयरमेन आर आर सक्सेना ने अंतिम रूप से चयनित टीमों को फिनाले में अपना अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करने तथा प्रतियोगिता के दौरान सुरक्षा नियमों के पालन की सलाह दी है।


आइल ऑफ मैन अंतरराष्ट्रीय शतरंज में आनंद जीते, गुजराती ने ड्रॉ खेला
2 October 2017

आइल ऑफ मैन: पांच बार के विश्व चैंपियन विश्वनाथ आनंद और स्वप्निल एस धोपड़े ने आइल ऑफ मैन अंतरराष्ट्रीय शतरंज टूर्नामेंट के आठवें दौर में जीत दर्ज की. वहीं विदित संतोष गुजराती ने ड्रॉ खेला. इस दौर के बाद ये तीनों खिलाड़ी संयुक्त रूप से तीसरे स्थान पर हैं. आनंद ने फ्रांस के फ्रेस्सिनेट लाउरेंट को 41 चालों में पराजित किया. अगले दौर में उन्हें चीन के होउ यिफान से भिड़ना है. स्वप्निल ने इंग्लैंड के शॉर्ट नाइजेल को 71 चाल के बाद हराया. अब उन्हें यूक्रेन के एल्जानोव पावेल के खिलाफ खेलना है. इस दौर में पावेल का मुकाबला गुजराती से था जहां 30 चाल के बाद दोनों ड्रॉ करने पर सहमत हो गए. अगले दौर में वह हंगरी के राप्पोर्ट रिचर्ड के खिलाफ उतरेंगे. भारतीय ग्रैंडमास्टर हारिका द्रोनावल्लि ने ऑस्ट्रेलिया के ग्रैंड मास्टर जॉन पॉल वाल्लेस से कल रात ड्रॉ खेला. एस सेतुरमण को रूस के व्लादिमिर क्रेमनिक से हार झेलनी पड़ी. उनका अगला मुकाबला हमवतन स्वयम्स मिश्रा से है. टूर्नामेंट में मैग्नस कार्लसन और हिकारु नाकामुरा क्रमश: 7 और 6.5 अंकों के साथ पहले और दूसरे स्थान पर हैं.


बेंगलुरु वनडे में हार के साथ ही भारतीय टीम से छिन गया नंबर वन का ताज
29 September 2017

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया ने बेंगलुरु वनडे में भारत को 21 रनों से हरा दिया. इस हार के साथ ही भारत का विजयी रथ भी थम गया. भारतीय टीम का विजयी अभियान पिछले 9 मैचों से लगातार चलता आ रहा था और उम्मीद भी यही की जा रही थी कि भारत ऑस्ट्रेलिया को बेंगलुरु में हराकर अपने जीत के सिलसिले को बरकरार रखेगा. लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने कल शानदार खेल दिखाते हुए भारत को मात दे दी. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 334 रन का स्कोर खड़ा किया. जिसके जवाब में भारतीय टीम 50 ओवर में 8 विकेट खोकर 313 रन ही बना पाई. पांच वनडे मैचों की सीरीज में भारत की यह पहली हार है और ऑस्ट्रेलिया की पहली जीत. फिलहाल, इस सीरीज में भारत 3-1 से आगे है. भारत को बेंगलुरु मैच में हारने से काफी नुकसान हुआ है. भारत यह मैच ही नहीं हारा बल्कि भारतीय टीम ने वनडे में नंबर वन की पोजिशन भी गंवा दी. इंदौर वनडे में जीत हासिल कर भारत ने नंबर की पोजिशन पाई थी. इस मैच से पहले भारत के 120 अंक थे, लेकिन बेंगलुरु में हार के बाद भारतीय टीम के 119 अंक रह गए. अब भारत और साउथ अफ्रीका के अंक बराबर हैं, लेकिन दशमलव गणना में आगे होने से साउथ अफ्रीका की टीम नंबर वन पर पहुंच गई है. अब भारत के पास नागपुर में होने वाले अंतिम मैच जीतकर दोबार नंबर वन की कुर्सी पर विराजमान होने का आखिरी मौका है. भारत यह मैच जीत जाता है तो उसके दोबार 120 अंक हो जाएंगे और वह नंबर वन बन जाएगा. लेकिन अगर इस मैच में भी भारत को हार मिलती है तो भारत के 118 अंक रह जाएंगे और वह दूसरे स्थान पर रहेगा. वहीं अंतिम मैच ऑस्ट्रेलिया ने जीता तो वह 116 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर पहुंच जाएगी बेंगलुरु वनडे में भारत की हार के बाद भी कप्तान विराट कोहली ने एक अनोखा रिकॉर्ड बना दिया. इस मैच में कोहली ने बहुत ज्यादा रन तो नहीं बनाए, लेकिन उन्होंने कप्तान के तौर पर सबसे तेज 2000 रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. इससे पहले यह रिकॉर्ड साउथ अफ्रीका के धाकड़ बल्लेबाज एबी डिविलियर्स के नाम था. विराट ने यह रन 39 सबसे तेज 39 मैचों में बनाए, जबकि डिविलियर्स ने 41 वनडे मैच में यह रन बनाए थे.


INDvAUS: चौथे एकदिवसीय मैच में भारत को जीत के लिए मिला 335 रन का लक्ष्य
28 September 2017

नई दिल्ली: भारत के खिलाफ वनडे सीरीज के चौथे मैच में ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवर में 5 विकेट खोकर 334 रन बनाए. भारत की तरफ से उमेश यादव सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 4 ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया था. टीम ने बेहतरीन शुरुआत करते हुए 231 रन पर अपना पहला विकेट गंवाया. ओपनर आरोन फिंच (94) और डेविड वार्नर (124) ने भारत के खिलाफ रिकॉर्ड साझेदारी करते हुए पहले विकेट के लिए 231 रन जोड़े. आस्ट्रेलिया की तरफ से भारत के खिलाफ वनडे में पहले विकेट के लिए यह सबसे बड़ी साझेदारी है. वार्नर ने 119 गेंदों में 12 चौके और चार छक्के लगाए. वहीं फिंच ने 96 गेंदों में 10 चौके और तीन छक्के लगाए. यह जोड़ी जब तक मैदान पर खेल रही थी तब तक ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 350 के पार जाता दिख रहा था, लेकिन जैसे ही यह जोड़ी आउट गई ऑस्ट्रेलियाई पारी लड़खड़ा गई और टीम पूरे 50 ओवर खेलने के बाद पांच विकेट खोकर 334 रन ही बना सकी. भारत की तरफ से उमेश यादव ने चार विकेट लिए, जबकि केदार जाधव ने एक विकेट हासिल किया. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया है. ये वनडे बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जा रहा है. ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में दो बदलाव किए हैं. मैक्सवेल की जगह मैथ्यू वेड और आगर की जगह जैम्पा को टीम में शामिल किया है. वहीं टीम इंडिया की बात करें तो कुलदीप यादव, बुमराह और भुवनेश्वर को आराम दिया गया है और उनकी जगह उमेश यादव, मोहम्मद शमी और अक्षर पटेल को जगह दी गई है. विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम शनदार लय में है. पिछले तीनों मैचों में टीम इंडिया ने शानदार परफॉर्मेंस देते हुए सीरीज अपने कब्जे में कर ली है. अब उसका इरादा क्लीन स्वीप पर है. कोहली की नजरें इस मैच को जीत कर महेंद्र सिंह धोनी के रिकार्ड को तोड़ने पर होंगी. भारतीय टीम जीत हासिल कर लेती है तो कोहली वनडे मैचों में कप्तान के तौर पर लगातार सबसे ज्यादा जीत (लगातार नौ मैच में जीत) हासिल करने के मामले में धोनी को पीछे छोड़ देंगे.
टीम इंडिया के बल्लेबाज फॉर्म में
भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने पिछले मैच में बेहतरीन प्रदर्शन किया था. हालांकि, पहले दो मैचों में उसका मध्यक्रम विफल रहा था. लेकिन टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने इसमें बदलाव किए और तीसरे मैच में हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या को चौथे नबंर पर उतारा और उनके स्थान पर मनीष पांडे को भेजा. उनका यह प्रयोग सफल रहा और टीम को जीत मिली. इस सीरीज में भारत की गेंदबाजी उसकी सबसे बड़ी ताकत रही है। चाहे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार हों या स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव, सभी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है.


अंतरराष्ट्रीय शतरंज टूर्नामेंट में विश्वनाथन आनंद की शानदार जीत, हरिका ने खेला ड्रा
27 September 2017

आइल आफ मैन: पांच बार के विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद ने आइल आफ मैन अंतरराष्ट्रीय शतरंज टूर्नामेंट के तीसरे दौर में जर्मनी के निकोलस लुबे को हराकर शानदार वापसी की जबकि द्रोणवल्लि हरिका ने स्वीडन के ग्रैंडमास्टर नील्स ग्रैंडिलियस के खिलाफ बाजी ड्रा खेली. आनंद ने पिछले दौर में अपनी बाजी ड्रा खेली थी लेकिन तीसरे दौर में उन्होंने सफेद मोहरों से खेलते हुए जर्मन खिलाड़ी पर दबदबा बनाये रखा और 42 चाल में बाजी अपने नाम की. शानदार फार्म में चल रही हरिका के पास लगातार तीसरी बाजी जीतने का शानदार मौका था लेकिन सफेद मोहरों से खेलने के बावजूद उन्हें स्वीडिश खिलाड़ी से अंक बांटने पड़े. अब आनंद और हरिका दोनों के तीन में से 2.5 अंक हैं और वह संयुक्त पांचवें स्थान पर हैं. आनंद अगली बाजी में लाटविया के ग्रैंडमास्टर अलेक्सी शिरोव से जबकि हरिका फ्रांसीसी ग्रैंडमास्टर लारेंट फ्रेसिनेट से भिड़ेंगी. इन दोनों के अलावा भारत के एस पी सेतुरमन, विदित गुजराती और स्वप्निल घोपाड़े के भी समान 2.5 अंक हैं. सेतुरमन और गुजराती सफेद मोहरों का फायदा उठाकर क्रमश: इंग्लैंड के एंड्रयू लेजर और अमेरिका के माइकल विलियम ब्राउन को हराया. हरिका की तरह अपनी पहली दोनों बाजियां जीतकर शानदार शुरूआत करने वाले घोपाड़े ने तीसरी बाजी काले मोहरों से खेलते हुए पेरू के जुलियो ग्रैंडा जुनिजा के खिलाफ ड्रा खेली. विश्व चैंपियन नार्वे के मैगनस कार्लसन ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा है. उन्होंने अमेरिका के झियांग जेफ्री को हराकर लगातार तीसरी जीत दर्ज की और वह तीन में से तीन अंक लेकर उक्रेन के पावेल इलजानोव, उज्बेकिस्तान के रूस्तम कासिमदजनोव और अमेरिका के अलेक्सांद्र लैडरमैन के साथ संयुक्त बढ़त पर हैं इस टूर्नामेंट में कुल 160 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं जिनमें 30 भारतीय भी शामिल हैं.


राधारमण में होगी नेशनल गो कार्ट चैम्पियनशिप
26 September 2017

भोपाल। राधारमण ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूट्स परिसर में देश के 150 इंजीनियरिंग कॉलेजों के ऑटोमोबाइल इंजीनियरों द्वारा विकसित की गई गो कार्ट्स का जमावड़ा लगेगा। ये गो कार्ट्स राधारमण समूह की रातीबड़ परिसर में 29 सितम्बर से आयोजित होने जा रही चौथी नेशनल गो कार्ट चैम्पियनशिप में अपना दमखम दिखाएंगी। स्पीड, रोमांच और युवा इंजीनियरों के इनोवेशन से भरी इस पांच दिवसीय रेस का आयोजन वर्चूलिस मोटरस्पोर्ट्स, इन्दौर द्वारा किया जा रहा है। रेस में भाग ले रही गो कार्ट्स को टेक्नीकल इन्स्पेक्शन, डिजाइन इवाल्यूशन, डायनामिक टेस्ट, बिजनेस प्लान तथा एंड्योरेंस टेस्ट आदि से गुजारा जाएगा। विजेताओं को आयोजक संस्था द्वारा 20 लाख रूपए तक के नकद पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे। राधारमण समूह के चेयरमेन आर आर सक्सेना ने कहा कि गो कार्ट चैम्पियनशिप ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रिकल व इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग की शिक्षा ले रहे विद्यार्थियों को उनकी कल्पनाशीलता, तकनीकी ज्ञान तथा कुछ हटकर करने की इच्छा को आजमाने का अवसर प्रदान करेगी।


क्रिकेट नियमों में कई बदलाव: अब मैदान पर की 'बदसलूकी' तो होना पड़ेगा बाहर
26 September 2017

नई दिल्ली: क्रिकेट को और रोमांचक बनाने के उद्देश्य से 28 सितंबर से इस खेल के कई नियमों में बदलाव किया जाएगा. आईसीसी ने प्रेस रिलीज़ में बताया है कि क्रिकेट मैचों के दौरान कई बार देखा गया है कि मैदान में किसी खिलाड़ी का व्यवहार सही नहीं होता है. कभी एक खिलाड़ी स्लेजिंग करता है तो कभी अंपायर पर दवाब डालने के लिए ज्यादा अपील करता है. यही नहीं, कई बार मैदान के अंदर खिलाड़ी एक-दूसरे से भिड़ भी जाते हैं. ऐसी हरकतों पर कड़ाई से लगाम लगाने के लिए एमसीसी ने क्रिकेट के नियमों में कई बदलाव किए हैं. अब मैदान में ख़राब व्यवहार की वजह से पेनल्टी के रूप में पांच रन के साथ-साथ खिलाड़ी को पूरे मैच से सस्‍पेंड भी किया जा सकता है. ये सारे बदलाव क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने किए हैं.
MCC के कड़े नियम :
मैदान में खिलाड़ियों के ख़राब व्यवहार को देखते हुए एमसीसी ने कुछ कड़े नियम बनाए हैं. अब अगर खिलाड़ी मैदान में ख़राब व्यवहार करता है तो उसे सजा मिलेगी. एमसीसी ने इसके लिए अपराध के चार लेवल बनाए है. लेवल-1 के तहत बताया गया है कि अगर कोई खिलाड़ी ज्यादा अपील करता है और अंपायर के निर्णय पर ऐतराज़ जताता है तो सबसे पहले उसे चेतावनी दी जाएगी. इसके बावजूद अगर वह फिर भी ऐसा करता है तो पेनल्टी के रूप में विपक्षी टीम को पांच रन मिलेंगे. लेवल-2 के तहत बताया गया है कि कोई भी खिलाड़ी जानबूझकर दूसरे खिलाड़ी की तरफ गेंद फेंकता है और जानबूझकर विपक्षी टीम के खिलाड़ी से भिड़ता है तो विपक्षी टीम को तुरंत 5 पेनल्टी रन मिल जाएंगे.
पूरे मैच के लिए किया जा सकता है सस्‍पेंड :
लेवल-3 में बताया गया है कि अगर कोई खिलाड़ी अंपायर को डराने की कोशिश करता है या दूसरे खिलाड़ी, टीम ऑफिशियल या दर्शकों को धमकी देता है तो विपक्षी टीम को पेनल्टी के रूप में 5 रन मिलेंगे. साथ ही मैच के फॉर्मेट को देखते हुए उस खिलाड़ी को कुछ ओवरों के लिए मैदान से बाहर भेजा जा सकता है. लेवल-4 के अपराध के तहत बताया गया है कि अगर कोई खिलाड़ी, अंपायर को धमकी देता है या मैच के दौरान किसी भी तरह की हिंसा में शामिल होता है तो पेनल्टी के रूप में विपक्षी टीम को 5 रन मिलेंगे और उस खिलाड़ी को पूरे मैच के लिए बाहर बैठना पड़ेगा.
बैट के आकार में भी बदलाव :
कुछ दिनों से क्रिकेट बैट के साइज को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे थे. कई बार यह आरोप लगाया गया था कि कुछ खिलाड़ी ज्यादा चौड़े बैट का इस्तेमाल कर रहे हैं. हालांकि अब एमसीसी ने बैट के आकार को लेकर भी कड़े नियम बनाए हैं. अब बैट की चौड़ाई 108mm, गहराई 67mm और एजेस 40mm होगी. एमसीसी ने अपनी प्रेस रिलीज में बताया है कि बैट बनाने वाली कंपनी, फेडरेशनों, आईसीसी और कई संस्थाओं से बातचीत के बाद गेंद और बल्ले के बीच संतुलन लाने के लिए यह निर्णय लिया गया है.
रन आउट को लेकर भी यह बदलाव:
रन आउट को लेकर भी एक बदलाव किया गया है. पहले यह नियम, जब गेंद स्टंप में लगती है तब बल्लेबाज का बैट या बॉडी, पॉपिंग क्रीज में ग्राउंडेड (जमीन पर) होनी चाहिए. यानी अगर बल्लेबाज पहले से पॉपिंग क्रीज में अपने बैट या बॉडी को ग्रॉउंडेड कर चुका है, लेकिन जब गेंद स्टंप पर लगी तब उसका बल्ला या बॉडी हवा में है तो उसे आउट दिया जाता था. ऐसा कुछ दिन पहले न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज नील वैगनर के साथ भी हुआ था. पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच के दौरान वैगनर ने रन लेते हुए पॉपिंग क्रीज क्रॉस कर ली थी और अपना बल्ला भी जमीन पर रख लिया था, लेकिन लेकिन जब गेंद स्टंप में लगी तो उनका बल्ला हवा में था. इसकी वजह से उन्हें रन आउट दिया गया, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अगर बल्ला और बॉडी एक बार पॉपिंग क्रीज क्रॉस कर लेता है तो बल्लेबाज को आउट नहीं दिया जाएगा चाहे गेंद स्टंप में लगते वक्त उसका बल्‍ला हवा में ही क्‍यों न हो.


खेल मंत्रालय ने पीवी सिंधु का नाम पद्म भूषण सम्मान के लिए भेजा
25 September 2017

नई दिल्ली: खेल मंत्रालय ने महिला बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु के नाम का प्रस्ताव पद्म भूषण सम्मान के लिए किया है. यह देश का तीसरा सबड़े बड़ा नागरिक सम्मान है. ओलिंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली सिंधु ने लगातार कई खिताब अपने नाम किए हैं. 2016 में चाइना ओपन और फिर इसी साल इंडिया ओपन के बाद पिछले दिनों कोरिया ओपन खिताब, सिंधु के तीनों ही खिताब ओलिंपिक रजत पदक के बाद आए हैं. पीवी सिंधु हालांकि जापान ओपन सुपर सीरीज के दूसरे दौर में हारने के बाद इस टूर्नामेंट से बाहर हो गईं. सुपर सीरीज के अलावा सिंधु के अहम पदकों पर नजर डालें तो रियो में ऐतिहासिक रजत पदक के बाद उन्होंने ग्लासगो वर्ल्ड चैंपियनशिप में रजत जीता. बीसीसीआई ने भी इस साल महेंद्र सिंह धोनी का नाम पद्म भूषण सम्मान के लिए प्रस्तावित किया है. धोनी दुनिया के इकलौते कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी की सभी ट्रॉफियों पर कब्जा जमाया है. साल 2007 में उनकी कप्तानी में टीम इंडिया टी-20 वर्ल्डकप चैंपियन बनी थी. वर्ष 2011 में भारतीय टीम ने 28 साल बाद वनडे वर्ल्‍ड कप पर कब्जा जमाया था. इसके बाद धोनी की ही कप्तानी में भारत चैंपियंस ट्रॉफी का सरताज बना था. सिंधु ने अप्रैल में कुछ समय के लिए अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ दूसरी रैंकिंग भी हासिल की. सोल में अच्छे प्रदर्शन की बदौलत सिंधू ने पिछले हफ्ते भी नंबर दो रैंकिंग हासिल की. मार्च, 2015 में सिंधु को देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया. पीवी सिंधु 2014 और 2013 वर्ल्ड चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीत चुकी थीं. 2014 में एशियन और कॉमनवेल्थ खेलों में भी सिंधु के नाम कांस्य पदक हैं.


टीम इंडिया की लगातार 11 मैचों में जीत, विराट-रहाणे समेत 5 प्लेयर्स बने हीरो
22 September 2017

स्पोर्ट्स डेस्क.भारत ने वनडे सीरीज के लगातार दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया को हरा दिया। मेजबान टीम ने ये मैच 50 रन से जीत लिया और सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली। पिछले मैच की तरह इस मैच में भी कंगारू प्लेयर्स, इंडियन क्रिकेटर्स के सामने कमजोर साबित हुए। हालांकि उनकी बॉलिंग अच्छी थी, लेकिन बैट्समैन क्रीज पर नहीं टिक सके। वनडे में ये भारत की लगातार 11वीं जीत है। श्रीलंका को भारत 9-0 से हरा चुका है। सीरीज का तीसरा मैच रविवार 24 सितंबर को इंदौर में होगा। .
इन प्लेयर्स ने दिलाई भारत को जीत.
- विराट कोहली - अजिंक्य रहाणे - भुवनेश्वर कुमार - कुलदीप यादव - युजवेंद्र चहल
ऐसा रहा मैच का रोमांच.
- मैच में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए भारत की पूरी टीम 50 ओवरों में 252 रन पर ऑल आउट हो गई। - भारत की ओर से दूसरे विकेट के लिए 102 रन की पार्टनरशिप हुई, वहीं चौथे विकेट के लिए 55 रन जुड़े। - ऑस्ट्रेलिया की ओर से कोल्टर नाइल और केन रिचर्डसन ने 3-3 विकेट लिए। - जवाब में टारगेट का पीछा करने उतरी मेहमान टीम की शुरुआत खराब रही, और 9 रन पर ही उसके दो विकेट गिर गए। - तीसरे विकेट के लिए हेड और स्मिथ ने 72 रन जोड़े, लेकिन हेड के आउट होते ही कंगारू टीम की इनिंग लड़खड़ा गई। - ऑस्ट्रेलिया की ओर से मार्कस स्टोइनिस ने सबसे ज्यादा 62* और स्टीव स्मिथ ने 59 रन की इनिंग खेली। - वनडे करियर का सौवां मैच खेल रहे ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने मैच में फिफ्टी लगाई, लेकिन वे टीम को नहीं जीता सके। - मेहमान टीम के सभी प्लेयर्स 43.1 ओवर में 202 रन पर आउट हो गए और भारत ने ये मैच 50 रन से जीत लिया।
विराट कोहली (107 बॉल पर 92 रन)
- भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मैच में शानदार बैटिंग करते हुए वनडे करियर की 45वीं फिफ्टी लगाई। - विराट 107 बॉल पर 92 रन बनाकर आउट हुए, जिसमें उन्होंने 8 चौके भी लगाए। - उन्होंने अपने 50 रन 60 बॉल पर पूरे किए थे। हालांकि वे केवल 8 रन से सेन्चुरी से चूक गए। - 19 रन पर पहला विकेट गिर जाने के बाद बैटिंग करने उतरे विराट ने संभलकर बैटिंग करते हुए भारत का स्कोर आगे बढ़ाया। - विराट ने दूसरे विकेट के लिए रहाणे के साथ 102 रन और चौथे विकेट के लिए जाधव के साथ 55 रन की पार्टनरशिप की। - भारतीय कप्तान के वनडे करियर में ये छठा मौका रहा जब वे नर्वस नाइंटीज के शिकार हुए। वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनके साथ दूसरी बार ऐसा हुआ।


स्पेनिश लीग: मेसी के शानदार 4 गोल से बार्सिलोना जीता
21 September 2017

बार्सिलोना: स्टार फॉरवर्ड लियोनेल मेसी के शानदार चार गोल की बदौलत बार्सिलोना ने स्पेनिश फुटबॉल लीग में खेले गए मैच में एइबर को मात दी. मंगलवार रात खेले गए इस मैच में बार्सिलोना ने एइबर को 6-1 से हराया. मैच में 20वें मिनट में मेसी ने पेनल्टी पर गोल कर बार्सिलोना का खाता खोला. इसके बाद पॉलिन्हो ने 38वें मिनट में दूसरा गोल कर टीम को बढ़त दी. दूसरे हाफ में सुआरेज ने 53वें मिनट में गोल कर बार्सिलोना को 3-0 से बढ़त दी. इस बीच, सर्गी एनरिक ने एइबर के लिए 57वें मिनट में पहला गोल दागा और यह इस मैच में टीम की ओर से किया गया अंतिम गोल भी था. इसके बाद मेसी ने आगे बढ़ते हुए 59वें, 62वें और 87वें मिनट में एक के बाद एक तीन गोल दागे और बार्सिलोना को 6-1 से जीत दिलाई. बार्सिलोना 15 अंकों के साथ लीग सूची में शीर्ष स्थान पर है.


बीसीसीआई ने MS धोनी का नाम पद्म भूषण अवॉर्ड के लिए प्रस्तावित किया
20 September 2017

नई दिल्‍ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान एमएस धोनी का नाम देश के तीसरे सबसे बड़े नागरिक सम्‍मान पद्मभूषण के लिए प्रस्‍तावित किया है. क्रिकेट के खेल में टीम इंडिया की जीत में दिए गए योगदान के लिए यह सिफारिश की गई है. गौरतलब है कि धोनी ने हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ 300 वनडे खेलने का रिकॉर्ड बनाया था. इसी सीरीज में वे वनडे में 100 स्टंपिंग करने वाले दुनिया के इकलौते विकेट कीपर बने थे. महेंद्र सिंह धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में चेन्‍नई में एक और बड़ा कारनामा किया था.उन्‍होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे मैच में मुश्किल हालातों में बल्लेबाजी करते हुए अपने इंटरनेशनल करियर का 100वां अर्धशतक लगाया. धोनी ने पहले वनडे में 79 रन की पारी खेली थी और हार्दिक पंड्या के साथ मिलकर शतकीय साझेदारी की थी.एमएस धोनी टेस्‍ट क्रिकेट से संन्‍यास ले चुके हैं लेकिन टी20 और वनडे मैचों में अभी भी खेल रहे हैं. 90 टेस्‍ट में उन्‍होंने 38.09 के औसत से 4876 रन बनाए जिसमें 224 रन उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर रहा. टेस्‍ट क्रिकेट में 6 शतक माही के नाम पर दर्ज हैं. वनडे मैचों में धोनी 10 हजार रन के आंकड़े के बेहद करीब हैं. 302 वनडे मैचों में उन्‍होंने 9737 रन बनाए हैं जिसमें नाबाद 183 रन उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर रहा है. वनडे क्रिकेट में धोनी 10 शतक और 66 अर्धशतक बना चुके हैं. वनडे मैचों में उनका औसत 52.34 का है. 78 टी20 मैचों में धोनी ने 1212 रन बनाए हैं जिसमें एक अर्धशतक शामिल हैं. धोनी दुनिया के इकलौते कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी की सभी ट्रॉफियों पर कब्जा जमाया है. साल 2007 में उनकी कप्तानी में टीम इंडिया टी20 वर्ल्डकप चैंपियन बनी थी. वर्ष 2011 में भारतीय टीम ने 28 साल बाद वनडे वर्ल्‍डकप पर कब्जा जमाया था. इसके बाद धोनी की ही कप्तानी में भारत चैंपियंस ट्रॉफी का सरताज बना था.


बेल्जियम ने ऑस्ट्रेलिया का डेविस कप सपना तोड़ा, फाइनल में फ्रांस से भिड़ेगा
19 September 2017

पेरिस: ऑस्ट्रेलिया की 14 साल में डेविस कप फाइनल में पहुंचने की उम्मीद बेल्जियम ने सेमीफाइनल में 3-2 से जीत दर्ज कर तोड़ दी. अब वह खिताब के लिए फाइनल में पड़ोसी देश फ्रांस से भिड़ेगा. ब्रसेल्स में स्टीव डार्सिस ने अंतिम उलट एकल मुकाबले में जोर्डन थाम्पसन पर 6-4, 7-5, 6-2 से जीत दर्ज की और बेल्जियम को फाइनल में पहुंचाया. डेविड गोफिन ने निक किर्गियोस को 6-7, 6-4, 6-4, 6-4 से हराकर अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया था. 9 बार के चैंपियन फ्रांस ने लिली में सर्बिया को 3-1 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया. अब वह 24 से 26 नवंबर तक बेल्जियम की मेजबानी करेगा. फ्रांस ने 2001 में डेविस कप खिताब अपने नाम किया था. वह 2002, 2010 और 2014 फाइनल में हार गया था. बेल्जियम ने 2015 में फाइनल में प्रवेश किया था लेकिन वह ब्रिटेन से हार गया था. जो विल्फ्रेड सोंगा की अगुआई में फ्रांस की टीम एक दिन पहले ही सर्बिया को हराकर खिताबी मुकाबले का टिकट कटा चुकी है


डेविस कप: संघर्षपूर्ण मुकाबले में कनाडा से 3-2 से हारी भारतीय टीम
18 September 2017

एडमंटन: डेविस कप के मुकाबले में भारतीय टीम को कनाडा के खिलाफ संघर्षपूर्ण मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा है. रामकुमार रामनाथन को 'करो या मरो' के चौथे मैच में शिकस्त का सामना करना पड़ा जिससे भारत को एक बार फिर एशिया क्षेत्र में चुनौती पेश करनी होगी जबकि डेनिस शापोवालोव ने यहां कनाडा को 3-2 से जीत दिलाकर एक बार फिर एलीट डेविस कप विश्व ग्रुप टेनिस टूर्नामेंट में वापसी कराई. भारत को रामकुमार से मुकाबले के अंतिम दिन चमत्कार की उम्मीद थी लेकिन वह मौकों को भुनाने में सफल रहे जिससे दुनिया के 51वें नंबर के खिलाड़ी शापोवालोव ने 6-3, 7-6, 6-3 की जीत के साथ कनाडा को 3-1 की विजयी बढ़त दिलाई. भारत ने मुकाबले के पहले दिन एक सिंगल्‍स जीता था जबकि दूसरे में उसे हार मिली थी. दूसरे दिन डबल्‍स मैच में रोहन बोपन्‍ना-पुरव राजा की जोड़ी को कनाडा की जोड़ी से हार का सामना करना पड़ा था. युकी ने इसके बाद महज औपचारिकता के पांचवें मैच में ब्रायडन शनूर को 6-4, 4-6, 6-4 से हराया लेकिन भारत को कनाडा के खिलाफ इंडोर कोर्ट में हुए विश्व ग्रुप प्ले ऑफ मुकाबले में 2-3 से शिकस्त झेलनी पड़ी. उतार-चढ़ाव से भरे मैच में युकी ने निर्णायक सेट में शुरुआती ब्रेक से उबरते हुए पांचवें मैच प्वाइंट पर जीत दर्ज की. भारत इसके साथ ही लगातार चौथे साल प्ले ऑफ की बाधा को पार करने में विफल रहा. पिछले तीन प्रयासों में उसे सर्बिया, चेक गणराज्य और स्पेन के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा है. कनाडा ने इस तरह पिछले साल फरवरी में ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ पहले दौर में मिली शिकस्त के बाद 16 देशों के विश्व ग्रुप में वापसी की. भारत को अब फिर प्ले ऑफ चरण तक पहुंचने के लिए 2018 में एशिया ओसियाना ग्रुप एक में चुनौती पेश करनी होगी. रामकुमार जब तक संभल पाते तब तक शापोवालोव ने पहले गेम में उनकी सर्विस तोड़कर 4-1 की बढ़त बना ली थी. बाएं हाथ के खिलाड़ी शापोवालोव ने पहले आठ गेम में सिर्फ तीन अंक गंवाए. रामकुमार को कुछ शानदार रिटर्न की बदौलत नौवें गेम में दो ब्रेक प्वाइंट मिले लेकिन उन्होंने इन दोनों को बचाने के बाद ऐस के साथ पहला सेट अपने नाम किया. भारतीय खिलाड़ी ने दूसरे सेट में बेहतर प्रदर्शन किया और एक समय 5-4 से आगे चल रहे थे. रामकुमार को 12वें गेम में चार सेट प्वाइंट मिले लेकिन वह एक का भी फायदा नहीं उठा पाए और अंतत: टाईब्रेक में मैच के अपने पांचवें डबल फाल्ट के साथ उन्होंने दूसरा सेट भी गंवा दिया. दबाव के बावजूद शापोवालोव ने दूसरे सेट के अंतिम 15 में से 13 अंक जीते. रामकुमार छह में से एक भी ब्रेक प्वाइंट का फायदा नहीं उठा पाए जबकि शापोवालोव ने विषम परिस्थितियों में बेहतर प्रदर्शन किया.तीसरे सेट के छठे गेम में शापोवालोव ने रामकुमार की सर्विस तोड़कर 4-2 की बढ़त बनाई और फिर नौवें गेम में भारतीय खिलाड़ी की सहज गलती के साथ सेट और मैच अपने नाम किया.


इस वजह से वर्ल्ड XI में नहीं है कोई भारतीय खिलाड़ी, ICC ने किया खुलासा
15 September 2017

नई दिल्ली: पाकिस्तान में क्रिकेट की बहाली की कोशिशें की जा रही हैं और इसी वजह से पाकिस्तान और विश्व एकादश के बीच पाकिस्तान की धरती पर तीन टी-20 मैचों की सीरीज़ खेली जा रही है, जिसमें से दो मैच खेले जा चुके हैं, और दोनों टीमें एक-एक मैच जीत चुकी हैं. विश्व एकादश, यानी वर्ल्ड XI की टीम में क्रिकेट खेलने वाले सभी देशों में से कोई न कोई खिलाड़ी खेल रहा है, लेकिन क्या कारण है कि भारतीय टीम का कोई भी खिलाड़ी इस टीम में नहीं है. इस सवाल का जवाब हर क्रिकेट फैन जानना चाहता है. इस संबंध में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी (सीईओ) डेव रिचर्डसन ने बताया कि विश्व एकादश में एक भी भारतीय खिलाड़ी इसलिए नहीं है, क्योंकि भारतीय टीम का कार्यक्रम बेहद व्यस्त है और हाल ही में उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज भी खेलनी है. उन्होंने बताया कि विश्व एकादश में एक भी भारतीय खिलाड़ी नहीं होने का एक कारण राजनीतिक हालात भी हैं. डेव रिचर्डसन ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के राजनीतिक हालात और संभावित मुश्किलों को भी हम नजरअंदाज नहीं कर सकते. उन्होंने यह भी बताया कि विश्व एकादश में सबसे ज्यादा खिलाड़ी साउथ अफ्रीका से इसलिए हैं, क्योंकि हाल ही में उन्हें कोई सीरीज नहीं खेलनी है. भारत और पाकिस्तान के बीच सीरीज को लेकर उन्होंने कहा कि हम दोनों देशों को सीरीज खेलने पर बाध्य नहीं कर सकते, क्योंकि दो देशों के बीच की सीरीज उनकी इच्छाओं पर निर्भर करती है. उन्होंने यह भी कहा कि हम भी चाहते हैं कि दोनों देशों के बीच सीरीज हो, लेकिन मौजूदा राजनैतिक हालात की वजह से अभी यह संभव होता नहीं दिखता. बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बात साल 2014 में एक समझौता हुआ था, जिसके मुताबिक, दोनों देशों को 2015 से 2023 के बीत छह सीरीज खेलनी थी, लेकिन राजनीतिक हालात की वजह से भारत ने ये सीरीज खेलने से मना कर दिया


प्रो कबड्डी लीग : पुणे से घर में हारी हरियाणा
14 September 2017

सोनीपत: हरियाणा स्टीलर्स को प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के सीजन-5 में बुधवार को अपने घर में पुणेरी पल्टन के हाथों हार का सामना करना पड़ा है. मोतीलाल नेहरू स्कूल ऑफ स्पोर्ट्स में खेले गए मैच में पुणे ने हरियाणा को एकतरफा मुकाबले में 38-22 से मात दी. पहले हाफ में मेजबान टीम ने पूरी तरह से पुणे के सामने घुटने टेक दिए थे, हालांकि दूसरे हाफ में उसने वापसी की कोशिश की, लेकिन पुणे ने उसे हमेशा रोके ही रखा. इस हाफ में मेजबान टीम ने पहले हाफ से ज्यादा अंक लिए, लेकिन वह जीत के लिए काफी साबित नहीं हो सके. पुणे की जीत के हीरो दीपक हुड्डा और संदीप नरवाल रहे. दोनों ने क्रमश: 13 और आठ अंक लिए. हरियाणा के लिए दीपक कुमार ने 11 अंक लिए. पहले हाफ में मोनू ने सफल रेड मारते हुए पुणे का खाता खोला, लेकिन दीपक कुमार ने तुरंत स्कोर बराबर कर दिया. यहां से पुणे ने लगातार अंक लिए और हरियाणा पीछे होती चली गई. 10वें मिनट तक पुणे ने 12-1 की बढ़त ले ली थी. मेजबान टीम ने बाकी के बचे 10 मिनटों में कुछ अंक तो लिए, लेकिन अंकों के अंतर को कम करने के लिए वह काफी नहीं रहे. पहले हाफ की समाप्ति तक पुणे 18-6 से आगे थी. दूसरे हाफ में मेजबान टीम ने पुणे की तुलना में तेजी से अंक जुटाए. उसने स्कोर एक समय 17-26 कर दिया था, लेकिन पहले हाफ में अंक न ले पाने की गलती का उसे खामियाजा भुगतना पड़ा और अंत में उसे हार ही मिली.


बैडमिंटन : कोरिया ओपन में पी. कश्‍यप में मुख्‍य दौर में जगह बनाई, प्रणव-सिक्‍की की जोड़ी हारी
13 September 2017

सियोल: भारत के अग्रणी बैडमिंटन खिलाड़ी पारूपल्ली कश्यप ने कोरिया ओपन के क्वालीफिकेशन राउंड में खेले गए दो मैचों में जीत हासिल करते हुए मुख्य दौर में प्रवेश कर लिया है, वहीं प्रणव जैरी चोपड़ा और एन.सिक्की रेड्डी को मिश्रित युगल के पहले दौर में हार का सामना करना पड़ा. कश्यप के अलावा मिश्रित युगल में अश्विनी पोनप्पा और सातविकसाईराज रंकीरेड्डी की जोड़ी ने भी दोनों राउंड में विजय प्राप्त करते हुए मुख्य दौर में जगह बनाई, कश्यप ने अपने पहले मैच में मंगलवार को चीनी ताइपे के लिन यु सिन को 35 मिनट में 21-19, 21-19 से मात दी. वहीं दूसरे मैच में उन्होंने चीनी ताइपे के ही कान चाओ यु को 21-19, 21-18 से पराजित करते हुए मुख्य दौर में जगह बनाई. यह मैच 34 मिनट तक चला. मुख्य दौर में कश्यप बुधवार को चीनी ताइपे के ही सू जेन हाओ से भिड़ेंगे. कश्यप के अलावा समीर और सौरव वर्मा, बी.साई प्रणीत, एच.एस प्रणॉय भी इस टूर्नामेंट में खेलेंगे.वहीं अश्विनी और सात्विक की जोड़ी ने पहले मैच में जर्मनी के पीटर काएसबायेर और ओल्गा कोनोन की जोड़ी को 21-12, 21-15 से करारी शिकस्त दी. भारतीय जोड़ी को यह मुकाबला जीतने के लिए महज 24 मिनट लगे. दूसरे मैच में अश्विनी और सात्विक की जोड़ी ने इंडोनेशिया के रोनाल्ड रोनाल्ड और अनिशा सौफिका की जोड़ी को कड़े मुकाबले में 27-25, 21-17 से मात देते हुए मुख्य दौर में प्रवेश किया. यह मैच 37 मिनट तक चला. मुख्य दौर में यह जोड़ी हांक कांग की चुन मान और यिंग सुएट की जोड़ी से भिड़ेगी. प्रणव और सिक्की की जोड़ी को इंडोनेशिया की प्रवीण जोर्डन और डेब्बी सुसांटो की जोड़ी से 48 मिनट तक चले मैच में 21-13, 19-21, 15-21 से हार का सामना करना पड़ा.


ATP रैंकिंग : राफेल नडाल शीर्ष पर, रोजर फेडरर को दूसरा स्थान
12 September 2017

मैड्रिड: तीसरी बार अमेरिका ओपन जीतने वाले टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल पेशेवर टेनिस संघ (एटीपी) की रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर बरकरार हैं. सोमवार को रिलीज हुई इस रैंकिंग में स्विट्जरलैंड के रोजर फेरडरर ने एंडी मरे को पीछे धकेलते हुए दूसरा स्थान हासिल कर लिया है. ब्रिटेन के स्टार खिलाड़ी मरे दूसरे स्थान से फिसलकर तीसरे स्थान पर आ पहुंचे हैं. समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, नडाल ने अमेरिका ओपन के फाइनल में केविन एंडरसन को सीधे सेटों में 6-3, 6-3, 6-4 से मात देकर करियर के 16वें ग्रैंड स्लैम खिताब पर कब्जा जमाया. रैंकिंग की बात की जाए, तो जर्मनी के खिलाड़ी एलेक्जेंडर ज्वेरेव ने अपना अच्छा प्रदर्शन बरकरार रखते हुए दो स्थान ऊपर उठकर चौथा स्थान हासिल किया है और उनके पीछे क्रोएशिया के मारिन सिलिक भी दो स्थान ऊपर उठते हुए पांचवें स्थान पर आ पहुंचे हैं. सर्बिया के स्टार खिलाड़ी और पूर्व शीर्ष वरीयता प्राप्त नोवाक जोकोविक एक स्थान फिसलते हुए छठे स्थान पर पहुंच गए, लेकिन आस्ट्रिया के डोमिनिक थीम ने एक स्थान की बढ़त लेकर शीर्ष-10 खिलाड़ियों की रैंकिंग में सातवां स्थान हासिल किया है. स्विट्जरलैंड के दिग्गज खिलाड़ी स्टान वावरिंका को बड़ी निराशा हाथ लगी है. वह चार स्थान फिसलते हुए आठवें स्थान पर आ पहुंचे हैं. हालांकि, बुल्गेरिया ग्रिगोर दिमित्रोव नौवें स्थान पर बरकरार है. इस रैंकिंग में स्पेन के खिलाड़ी पाब्लो कारेनो बुस्टा ने शानदार तरीके से नौ स्थानों की बड़ी छलांग लगाकर शीर्ष-10 खिलाड़ियों में खुद को शुमार किया है. अमेरिका ओपन में नडाल के खिलाफ फाइनल में खेलने वाले दक्षिण अफ्रीका के टेनिस खिलाड़ी एंडरसन की बात की जाए, तो अपने शानदार प्रदर्शन से उन्होंने 17 स्थानों की बड़ी छलांग लगाकर एटीपी रैंकिंग में 15वां स्थान हासिल किया है


एक वनडे मैच ऐसा, जिसमें दोनों टीमों के गेंदबाज ने हासिल किए 6-6 विकेट
11 September 2017

नई दिल्‍ली: वनडे क्रिकेट में ऐसा मौका कम ही आता है जब एक ही मैच में दोनों टीमों का कोई गेंदबाज छह-छह विकेट हासिल करे. वनडे इंटरनेशनल मैचों के करीब 4 हजार वनडे मैचों के इतिहास केवल एक बार ऐसा हुआ है. मजे की बात यह कि ऐसा मैच भारत में ही इसी वर्ष हुआ था. चूंकि मैच में विश्‍व क्रिकेट की दो नवोदित टीमों के बीच मुकाबला था. यह मैच आयरलैंड और अफगानिस्‍तान के बीच हुआ था और ग्रेटर नोएडा ने इस मैच की मेजबानी की थी. अफगानिस्‍तान ने अपने स्‍टार लेग स्पिनर राशिद खान की गेंदबाजी की बदौलत मैच में 34 रन से जीत हासिल की थी 17 मार्च 2017 को खेले गए इस मैच में पहले बल्‍लेबाजी करते हुए अफगानिस्‍तानी टीम ने निर्धारित 50 ओवर्स में 6.76 के औसत से 338 रन बनाए. अफगान टीम के असगर स्‍टेनिकजई ने सर्वाधिक 101 रन बनाए जबकि मोहम्‍मद शहजाद ने 63 और रहमत शाह ने 68 रन की पारी खेलीं. आयरलैंड के लिए पॉल स्टिर्लिंग सबसे कामयाब गेंदबाज रहे उन्‍होंने 55 रन देकर छह विकेट हासिल किए. जवाब में खेलते हुए आयरलैंड की टीम ने जबर्दस्‍त संघर्ष किया, लेकिन दाएं हाथ के लेग ब्रेक बॉलर राशिद खान की गेंदबाजी के आगे उसे हार माननी पड़ी. मैच में आयरलैंड की टीम 47.3 ओवर में 304 रन बनाकर ढेर हो गई. छह विकेट लेने वाले पॉल स्टिर्लिंग ने मैच में बल्‍लेबाजी में भी जमकर हाथ दिखाते हुए 95 रन की पारी खेली. ई.जोएस ने 55 और विलियम पोर्टरफील्‍ड ने 45 रन की पारी खेली. अफगानिस्‍तान के लिए राशिद खान सबसे कामयाब गेंदबाज रहे जिन्‍होंने 43 रन देकर छह विकेट लिए. एक अन्‍य स्पिन गेंदबाज मोहम्‍मद नबी के खाते में तीन विकेट आए. इस तरह दो गुमनाम सी टीमों, अफगानिस्‍तान और आयरलैंड के बीच हुआ यह मैच इस लिहाज से इतिहास के पन्‍नों में दर्ज हो गया कि इसमें दोनों टीमों के एक-एक गेंदबाज ने छह-छह विकेट लिए.


यूएस ओपन: जुआन मार्टिन को मात देकर फाइनल में पहुंचे राफेल नडाल
9 September 2017

नई दिल्ली: स्पेन के स्टार टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल ने यूएस ओपन के सेमीफाइनल में जुआन मार्टिन डेल पेट्रो को 4-6, 6-0, 6-3, 6-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया है. अब वह खिताबी जीत से महज एक कदम दूर हैं. 31 वर्षीय इस चैंपियन खिलाड़ी का यह 32वां ग्रैंड स्लैम फाइनल होगा. नडाल अब अपने करियर के 23वें और इस साल अपना तीसरा फाइनल खेलेंगे. बता दें कि उन्होंने इस साल रिकॉर्ड 10वां फ्रेंच ओपन खिताब भी जीता है. विश्व के नंबर वन खिलाड़ी नडाल का सामना रविवार को फाइलन में अब 32वें स्थान पर काबिज केविन एंडरसन के साथ होगा, जो 52 साल में ग्रैंडस्लैम के खिताबी मुकाबले में जगह बनाने वाले पहले दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी हैं. एंडरसन ने स्पेन की 12वीं वरीयता प्राप्त पाब्लो कैरेंनो बस्टा को 4-6, 7-5, 6-3, 6-4 से हराकर पहली बार किसी ग्रैंड स्लैंम फाइनल में जगह बनाई है. रविवार को होने वाले फाइनल में अब नडाल को खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है, जिन्होंने एंडरसन के खिलाफ अब तक अपने चारों मुकाबलों में जीत दर्ज की है. स्पेन के इस दिग्गज खिलाड़ी ने हालांकि कहा कि वह अपने विरोधी को हल्के में नहीं ले रहे. क्वार्टर फाइनल में चार सेट में रोजर फेडरर को हराने वाले 2009 के चैंपियन डेल पोत्रो सेमीफाइनल के दौरान थके हुए लग रहे थे. उन्होंने पहले सेट जीता, लेकिन इसके बाद थकान उन पर हावी होने लगी और नडाल की ताकत तथा फुर्ती का उनके पास कोई जवाब नहीं था. नडाल ने इस मैच में 45 विनर लगाए और 20 सहज गलतियां की, जबकि डेल पोत्रो 23 ही विनर लगा पाए और उन्होंने 40 सहज गलतियां की. इस बीच नीदरलैंड के जीन जूलियन रोजर और रोमानिया के होरिया तेकाऊ ने अमेरिकी ओपन के पुरुष युगल का खिताब जीता. इस 12वीं वरीय जोड़ी ने फेलिसियानो लोपेज और मार्क लोपेज की स्पेन की 11वीं वरीय जोड़ी को सीधे सेटों में 6-4, 6-3 से हराकर अपना पहला अमेरिकी ओपन खिताब जीता.


विराट के सामने अब ऑस्ट्रेलिया की चुनौती, क्या टीम इंडिया कर पाएगी कंगारूओं का व्हाइटवॉश?
8 September 2017

नई दिल्ली: श्रीलंका को टेस्ट, वनडे और T20 में मात देने के बाद भारतीय टीम के हौंसले बुलंद हैं. विराट कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया ने 9-0 से श्रीलंका दौरे पर जीत हासिल की और ऑस्ट्रेलिया के रिकॉर्ड की बराबरी की. अब कोहली एंड कंपनी के सामने ऑस्ट्रेलिया की चुनौती है.
8 और 9 सितंबर को भारत आएगी ऑस्ट्रेलियाई टीम’
ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाड़ी 9 सितंबर तक भारत पहुंच जाएंगे. बांग्लादेश से टेस्ट सीरीज़ 1-1 की बराबरी करने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत में 5 मैचों के वनडे सीरीज़ और 3 मैचों की T20 सीरीज़ खेलेगी. मेहमान टीम का पहला वनडे मैच 17 सितंबर को चेन्नई में खेला जाएगा. वहीं सीरीज़ का आख़िरी T20 मैच 13 अक्टूबर को हैदराबाद में खेला जाएगा. हालांकि ऑस्ट्रेलिया बांग्लादेश के साथ सीरीज़ खेल कर आ रही है लेकिन टीम को एक अभ्यास मैच खेलने का भी मौक़ा मिलेगा. 12 सितंबर को बोर्ड प्रेसिडेंट XI के ख़िलाफ़ मैच में ऑस्ट्रेलिया का सामना आईपीएल के स्टार्स से होगा. इस मैच में राहुल त्रिपाठी, नीतीश राणा और वाशिंगटन सुंदर जैसे चेहरे कंगारूओं को टक्कर देंगे.
रोहित शर्मा की चेतावनी
श्रीलंका के ख़िलाफ़ सीरीज़ जीतने के बाद टीम के ओपनर रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलिया को इशारों में चेतावनी देते हुए एक वीडियो भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर डाला. रोहित वीडियो में कहते हैं कि टीम इंडिया बिना हारे देश लौट रही है और ये एक बड़ी उपलब्धि है. इसके बाद श्रीलंका में 2 शतक बनाने वाले रोहित ने कहा कि अब टीम का पूरा ध्यान ऑस्ट्रेलिया के साथ सीरीज़ पर है जिसका सबको इंतज़ार है और देश में फ़ैन्स से खूब समर्थन की उम्मीद है. रोहित के इस वीडियो पर फ़ैन्स ने उन्हें सीरीज़ के लिए शुभकामनाएं भी दी हैं
2013 में भारत ने जीती 3-2 से वनडे सीरीज़’
ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 2013 में भारत में 7 मैच की वनडे सीरीज़ खेली थी. इस सीरीज़ में बाज़ी भारत के हाथ रही थी. भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3-2 से हराया था. दो मैच बारिश की भेंट चढ़ा. रांची में हुए मैच में ऑस्ट्रेलिया ने बल्लेबाज़ी की लेकिन भारत बल्लेबाज़ी नहीं कर सका. वहीं कटक वनडे में एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी. अगर भारतीय ज़मीन पर वनडे में ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड देखे तो कंगारू टीम ने 46 वनडे खेला है. इन मैचों में 21 मैचों में ऑस्ट्रेलिया को जीत मिली है. जबकि 25 में उसे हार मिली
क्या होगी युवराज-रैना की वापसी?
पिछली बार जब ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ वनडे सीरीज़ हुई तो टीम के कप्तान एमएस धोनी थे. अब विराट के हाथों में कमान है और टीम के ज़्यादातर चेहरे वहीं है जो धोनी के वक़्त टीम में थे सिवाए युवराज सिंह और सुरेश रैना के. दोनों खिलाड़ी फ़िलहाल टीम से बाहर हैं लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि दोनों खिलाड़ियों का फ़िटनेस टेस्ट जल्द होगा और पास होने पर वो टीम में वापसी कर सकते हैं. अगर युवी और रैना की वापसी होगी तो विराट को प्लेइंग इलेवन चुनने में काफ़ी माथापच्ची करनी होगी.
क्या होगा टीम का कॉम्बिनेशन?’
ओपनिंग में रोहित शर्मा, शिखर धवन, केएल राहुल और अजिक्य रहाणे की दावेदारी है तो मीडिल ऑर्डर में केदार जाधव, मनीष पांडे ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ मिले मौक़ों का खूब फ़ायादा उठाया. वहीं हार्दिक पांड्या टीम के रेगुलर खिलाड़ी बनते जा रहे हैं. स्पिनर में अक्षर पटेल, यजुवेंद्र चहल, कुलदीप यादव तो हैं ही लेकिन रविंद्र जडेजा और आर अश्विन की वापसी कोहली को नए सिरे से स्पिनरों को रोटेट करना होगा
ऑस्ट्रेलिया की प्लानिंग’
दूसरी तरफ़ ऑस्ट्रेलिया की बात करे तो जिस तरीके से टीम ने बांग्लादेश दौरे पर प्रदर्शन किया वो तारीफ़ के लायक है. ऑस्ट्रेलियाई चयनकर्ताओं ने बांग्लादेशी पिच को देखते हुए टीम में तीन स्पिनर शामिल किए और नतीजा सबके सामने हैं. ऐसे में विराट कोहली कंगारूओं को हल्के में लेने की भूल नहीं कर सकते. जाहिर है टीम इंडिया के खिलाड़ियों को श्रीलंका में हुए व्हाइटवॉश को भूलाकर नए सिरे से कंगारूओं को मात देने के लिए रणनीति बनानी होगी.
कब होंगे वनडे मैच
17 सितंबर पहला वनडे चेन्नई 21 सितंबर दूसरा वनडे कोलकाता 24 सितंबर तीसरा वनडे इंदौर 28 सितंबर चौथा वनडे बेंगलुरु 1 अक्टूबर पांचवां वनडे नागपुर
टी-20 मैच का यह है कार्यक्रम
7 अक्टूबर पहला T20 रांची 10 अक्टूबर दूसरा T20 गुवाहाटी 13 अक्टूबर तीसरा T20 हैदराबाद


कप्‍तान विराट कोहली के इन गुणों के कायल हुए 'चाइनामैन' गेंदबाज कुलदीप यादव
7 September 2017

कोलंबो: टीम इंडिया के श्रीलंका दौरे में चाइनामैन कुलदीप यादव को टेस्‍ट सीरीज के पहले दो टेस्‍ट में खेलने का मौका नहीं मिला. खराब व्‍यवहार के कारण लेग स्पिनर रवींद्र जडेजा पर लगे एक मैच के बैन के कारण उन्‍हें तीसरे टेस्‍ट में खेलने का अवसर मिला. इस मौके का यूपी का इस युवा गेंदबाज ने भरपूर लाभ उठाया. वनडे सीरीज के दो मैचों और एकमात्र टी20 मैच में भी कुलदीप अपनी गेंदबाजी से हर किसी को प्रभावित करने में सफल रहे. बेहद कम समय में कुलदीप, कप्‍तान विराट कोहली का भरोसा हासिल करते जा रहे हैं. कुलदीप भी कोहली की कप्‍तानी के कायल हैं. विराट को करिश्माई कप्तान बताते हुए उन्‍होंने कहा है कि वे (कोहली )गेंदबाजों को काफी सहयोग और आजादी देते हैं. भारत ने श्रीलंका को कल एक टी20 मैच में आसानी से हराया. इससे पहले टेस्ट और वनडे सीरीज क्रमश: 3-0 और 5-0 से जीती थी. यादव ने कहा,‘विराट आपको वह सब देते हैं जो आप मैदान पर चाहते हैं. जब मैं गेंदबाजी करता हूं तो वह आकर मुझसे पूछते हैं कि तुम्‍हें कैसी फील्ड चाहिए. गेंदबाज को यही चाहिए होता है. वे गेंदबाज को पूरी आजादी देते हैं.’ उन्होंने कहा,‘उन्होंने टेस्ट वनडे सीरीज और अब टी20 में मेरा पूरा साथ दिया. मैं इस तरह की टीम एकता और कप्तान से बहुत खुश हूं.’ उन्होंने कहा कि मैदान पर कोहली की प्रतिबद्धता दूसरों के लिये प्रेरणास्रोत है कुलदीप ने कहा,‘वह बल्लेबाजी और फील्डिंग दोनों में मोर्चे से अगुवाई करते हैं. जब फील्डिंग करते हैं तो जान लगा देते हैं. मैदान पर या नेटपर उनको देखने से ही प्रेरणा मिलती है.’ यादव ने कहा,‘उनको देखकर अगर हम अपनी फील्डिंग में एक प्रतिशत भी सुधार कर सके तो बहुत होगा. वह युवा खिलाड़ियों को बताते हैं कि उनसे क्या चाहिए और हम टीम से क्या चाहते हैं.’ यादव को इस दौरे पर कुछ मौके मिले और उन्होंने अपने प्रदर्शन पर संतोष जताया. उन्होंने कहा,‘अभी तक यह मेरे लिए चुनौतीपूर्ण रहा है लेकिन मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं. मुझे आखिरी टेस्ट मैच में मौका मिला और आखिरी दो वनडे भी खेले. टी20 में भी प्रदर्शन अच्छा रहा.’उन्होंने कहा,‘एक खिलाड़ी के तौर पर आपको हर मैच में अच्छा प्रदर्शन करना होता है. हर कोई अपना योगदान देना चाहता है खासकर तब जबकि कप्तान और कोच रोटेशन का फैसला लेते हैं. मैं इस नीति से खुश हूं क्योंकि वर्ल्‍डकप से पहले वे सभी को आजमाना चाहते हैं


BANvsAUS Test: डेविड वार्नर और पीटर हैंड्सकोंब के अर्धशतक, मजबूत स्थिति में है ऑस्‍ट्रेलिया
6 September 2017

चटगांव: बांग्‍लादेश के खिलाफ दूसरे टेस्‍ट मैच में ऑस्‍ट्रेलिया टीम फिलहाज मजबूत स्थिति में नजर आ रही है. ओपनर डेविड वार्नर व पीटर हैंड्सकोंब के अर्धशतक और इन दोनों के बीच शतकीय साझेदारी की बदौलत आस्ट्रेलिया ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन पहली पारी में दो विकेट पर 225 रन बना लिए हैं. वार्नर ने 170 गेंद में चार चौकों की मदद से 88 रन की नाबाद पारी खेलने के अलावा कप्तान स्टीव स्मिथ (58) के साथ दूसरे विकेट के लिए 93 और हैंड्सकोंब (नाबाद 69) के साथ तीसरे विकेट के लिए 127 रन की अटूट साझेदारी की. बांग्लादेश ने पहली पारी में 305 रन बनाए थे जिससे ऑस्ट्रेलियाई टीम अब सिर्फ 80 रन से पीछे है जबकि उसके आठ विकेट शेष हैं. गौरतलब है कि सीरीज में बराबरी हासिल करने के लिए ऑस्‍ट्रेलिया को यह टेस्‍ट हर हाल में जीतना है. ढाका में हुए पहले टेस्‍ट में बांग्‍लादेश ने 20 रन से जीत हासिल की थी. पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही और टीम ने दूसरे ओवर में ही मैट रेनशा (4) का विकेट गंवा दिया. मुस्तफिजुर रहमान (45 रन पर एक विकेट) की गेंद पर विकेटकीपर मुशफिकुर रहमान ने रैनशा शानदार कैच लपका. इसके बाद वार्नर ने कप्तान स्‍टीव स्मिथ के साथ मिलकर पारी को संभाला. स्मिथ ने मेहदी हसन मिराज की गेंद पर एक रन के साथ 81 गेंद में अर्धशतक पूरा किया.हालांकि वे इसके बाद बाएं हाथ के स्पिनर ताइजुल इस्लाम (50 रन पर एक विकेट) की सीधी गेंद को चूककर बोल्ड हो गए. उन्होंने 94 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके मारे. इसके बाद वार्नर और हैंड्सकोंब ने पारी को आगे बढ़ाया. दोनों ने चाय तक टीम का स्कोर दो विकेट पर 111 रन तक पहुंचा दिया. शुरुआत में धीमी बल्लेबाजी करने वाले वार्नर ने हैंड्सकोंब के साथ मिलकर अंतिम सत्र में 114 रन जोड़े और इस दौरान मेजबान गेंदबाजों को सफलता से महरूम रखा. वार्नर ने शाकिब अल हसन की गेंद पर एक रन के साथ 98 गेंद में अपना 25वां अर्धशतक पूरा किया जो उनका चौथा सबसे धीमा अर्धशतक है. हालांकि वे 52 रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब ताइजुल की गेंद पर शार्ट लेग पर मोमिनुल हक ने उनका कैच टपका दिया. पीटर हैंड्सकोंब ने भी इसके बाद मुस्तफिजुर की गेंद पर एक रन के साथ 74 गेंद में अर्धशतक पूरा किया. इससे पहले सुबह बांग्लादेश की टीम छह विकेट पर 253 रन से आगे खेलने उतरी और 52 रन जोड़कर उसने अपने बाकी चार विकेट भी गंवा दिए. ऑफ स्पिनर नाथन लियोन ने 94 रन देकर सात विकेट चटकाए जिसमें कल के नाबाद बल्लेबाज और कप्तान मुशफिकुर रहीम का विकेट भी शामिल है जिन्होंने 68 रन की पारी खेली. वह अपने कल के स्कोर में छह रन ही जोड़ सके


ऑफ स्पिनर नाथन लियोन ने किया ऐसा कारनामा जो टेस्‍ट क्रिकेट में पहले कभी नहीं हुआ
5 September 2017

चटगांव: बांग्‍लादेश के खिलाफ दूसरे टेस्‍ट मैच में ऑस्‍ट्रेलिया टीम के ऑफ स्पिनर नाथन लियोन ने ऐसा करिश्‍मा कर दिया जो क्रिकेट के 100 साल से अधिक के इतिहास में इससे पहले कभी नहीं हुआ. सोमवार से चटगांव में शुरू हुए सीरीज के दूसरे टेस्‍ट मैच के पहले दिन लियोन ने पांच विकेट लिए. उन्‍होंने बांग्‍लादेश की पहली पारी के दौरान के अपने चार विकेट एलबीडब्‍ल्‍यू करते हुए हासिल किए. संयोग से यह बांग्‍लादेशी टीम के पहले चार विकेट भी रहे. टेस्‍ट क्रिकेट के इतिहास में इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ जब किसी एक गेंदबाज ने विपक्षी टीम के चार बल्‍लेबाजों को एक ही तरीके से आउट सीरीज में अब तक शानदार प्रदर्शन करने वाले लियोन दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में बांग्लादेश टीम के शीर्ष क्रम के चार बल्लेबाजों को आउट किया. मजे की बात यह रही कि ये चारों बल्‍लेबाज एक ही तरीके से (LBW) आउट हुए. पहले टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ था कि किसी भी टेस्ट मैच में शीर्ष क्रम के चार बल्लेबाजों को एक ही गेंदबाज ने एक ही तरीके से आउट किया हो. लियोन ने जिन बल्लबाजो को अपना शिकार बनाया उनमे तमीम इकबाल (9 रन), सौम्य सरकार (33 रन), इमरुल कायस (4 रन) और मोनीमुल हक (31) रन शामिल थे लियोन ने टेस्‍ट के पहले दिन 77 रन देकर 5 विकेट लिए. सीरीज के पहले टेस्ट में भी लियोन ने शानदार गेंदबाजी की थी और मैच में 9 विकेट लिए थे. दो टेस्‍ट की सीरीज में बांग्‍लादेश की टीम 1-0 से बढ़त बना चुकी है. ढाका में हुआ पहला टेस्‍ट बांग्‍लादेश की टीम ने 20 रन से जीता था. अगर टीम इस टेस्‍ट को जीतने या ड्रॉ करने में सफल रही तो क्रिकेट की दिग्‍गज ऑस्‍ट्रेलिया को टेस्‍ट सीरीज में शिकस्‍त देकर इतिहास रच देगी.


आखिरी वनडे में 5 विकेट लेने वाले भुवनेश्‍वर कुमार के प्रदर्शन की इस खास बात पर नहीं गई किसी की नजर
4 September 2017

नई दिल्‍ली: भारत-श्रीलंका के बीच रविवार को कोलंबो में हुए पांचवें वनडे मैच में कप्‍तान विराट कोहली और भुवनेश्‍वर कुमार ने टीम इंडिया की छह विकेट की जीत में अहम भूमिका निभाई. इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने 5-0 के एकतरफा अंतर से सीरीज अपने नाम कर ली है. इस मैच में जहां विराट ने नाबाद शतकीय पारी खेली, वहीं भुवनेश्‍वर कुमार ने पांच विकेट लेकर श्रीलंका को 238 के स्‍कोर पर समेटने में अहम भूमिका निभाई. गेंद को स्विंग कराने में माहिर भुवनेश्‍वर के इस प्रदर्शन को विराट के बल्‍लेबाजी प्रदर्शन से बेहतर माना गया. यही कारण रहा है कि भुवी को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. आखिरी वनडे में भुवनेश्‍वर ने 9.4 ओवर में 42 रन लेकर पांच विकेट लिए. मजे की बात यह रही कि वनडे सीरीज में उनके विकेटों की संख्‍या भी 5 ही रही. भुवनेश्‍वर ने चार मैच में 34.4 ओवर करते हुए 169 रन देकर पांच विकेट लिए और उनका औसत 33.8 का रहा. सीरीज के अन्‍य तीन वनडे मैचों में (जिनमें भुवनेश्‍वर कुमार खेले) इस तेज गेंदबाज को कोई विकेट हासिल नहीं हुआ. सीरीज में भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्‍वर ने ऐसा कारनामा किया जो भारतीय वनडे इतिहास में कभी नहीं हुआ. बुमराह और भुवनेश्वर ने इस द्विपक्षीय सीरीज में पारी में पांच-पांच विकेट लिए. बुमराह ने तीसरे वनडे में पांच विकेट लेने का कारनामा किया था जबकि भुवनेश्वर कुमार ने रविवार को पांचवें व अंतिम वनडे में 5 विकेट झटके. बुमराह ने सीरीज के पांच मैच में 15 विकेट झटके. उन्‍होंने इंग्लैंड के तेज गेंदबाज क्रिस वोक्स का रिकॉर्ड तोड़ा है जिनके नाम श्रीलंका में खेली गई द्विपक्षीय सीरीज में 14 विकेट थे


श्रीलंका के खिलाफ टीम इंडिया बना सकती है खास रिकॉर्ड, जानें कौन किसे छोड़ सकता है पीछे
2 September 2017

नई दिल्ली: श्रीलंका के आर प्रेमदासा क्रिकेट स्टेडियम पर भारत और श्रीलंका के बीच सीरीज का आखिरी यानी पांचवा एक दिवसीय मैच रविवार को खेला जाएगा. भारत सीरीज में 4-0 से आगे है. रविवार के मैच में भारत के उन खिलाड़ियों को मौका मिल सकता है जो अभी तक इस सीरीज में कोई भी मैच नहीं खेले हैं. पूरी सीरीज में जहां टीम इंडिया का प्रदर्शन शानदार रहा है वहीं अपने घरेलू मैदान में श्रीलंका काफी खराब प्रदर्शन कर रही है. सीरीज में भारत ने हर डिपार्टमेंट में श्रीलंका को पीछे छोड़ दिया और विराट कोहली का हर परीक्षण सफल रहा है. पहले तीन मैचों में भारत के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया था. इंडिया के गेंदबाज कोहली के निर्णय को सही साबित करते हुए तीनों मैचों में श्रीलंका को 250 के नीचे रोकने में कामयाब हुए. चौथे मैच में कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया था और इस मैच में खुद कोहली और रोहित ने शानदार शतक जड़े. ड
टीम इंडिया कायम कर सकती है एक खास रिकॉर्...
टीम इंडिया ने 50 ओवरों में 375 रन का एक विशाल स्कोर खड़ा किया था. सबसे बड़ी बात यह है श्रीलंका के मैदान पर भारत का यह सबसे बड़ा स्कोर था. इस मैच से पहले श्रीलंका के मैदान पर भारत का सबसे बड़ा स्कोर 363 रन का था जो भारत ने 3 फरवरी 2009 को कोलंबो के मैदान पर बनाया था. अगर भारत रविवार का मैच जीत जाता है तो यह पहली बार होगा जब श्रीलंका के मैदान पर भारत 5-0 से सीरीज जीतने का गौरव हासिल करेगा और भारत के एक दिवसीय मैचों के इतिहास में यह दूसरी बार होगा जब विदेशी मैदान पर भारत पांच मैचों की एक दिवसीय सीरीज को क्लीन स्वीप करने में कामयाब होगा. वर्ष 2013 में विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने ज़िम्बाब्वे को उसके घरेलू मैदान पर पांच मैचों की सीरीज में 5-0 से हराया था. विराट कोहली के सिवा कोई भी कप्तान यह कारनामा नहीं कर पाया.
टीम इंडिया के बल्लेबाज पीछे छोड़ सकते हैं कई बड़े खिलाड़ियों को.
अगर रविवार के मैच में विराट कोहली 23 रन बना लेते हैं तो वे एक दिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में ऑस्ट्रेलिया के मार्क वॉग को पीछे छोड़ देंगे. एक दिवसीय मैचों में मार्क वॉग ने 244 मैच खेलते हुए 8500 रन बनाए हैं जबकि विराट कोहली ने 193 मैच खेलते हुए करीब 55 के औसत से 8477 रन बनाए हैं. अगर महेंद्र सिंह धोनी पांचवे मैच में 64 रन बना लेते हैं तो एक दिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पाकिस्तान के मोहम्मद यूसुफ को पीछे छोड़ देंगे. धोनी ने 300 एक दिवसीय मैच खेलते हुए 9657 रन बनाए हैं, जबकि यूसुफ ने 288 मैच खेलते हुए 9720 रन बनाए हैं. इस मैच में रोहित शर्मा के पास भी एक मौका है बांग्लादेश के तमीम इकबाल को पीछे छोड़ने का. अगर रोहित शर्मा को इस मैच में मौका मिलता है और वे 23 रन बना लेते हैं तो सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले तमीम को पीछे छोड़ देंगे. तमीम इकबाल ने 173 मैच खेलते हुए 5743 रन बनाए हैं जबकि रोहित ने 162 मैच खेलते हुए 5721 रन बनाए हैं.
सबसे ज्यादा शतक के मामले में टूट सकते हैं कई रिकॉर्ड..
एक दिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा शतक जड़ने के मामले में भी रविवार को भारतीय बल्लेबाज कई रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं. इस मैच में अगर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली शतक मारने में कामयाब होते हैं तो सबसे ज्यादा शतक बनाने के मामले में ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग को पीछे छोड़ देंगे. पोंटिंग ने 375 मैच खेलते हुए हुए 30 शतक जड़े हैं जबकि कोहली अब तक 193 मैच खेलते हुए 29 शतक मार चुके हैं. इस मैच में रोहित शर्मा अगर शतक जड़ते हैं तो सबसे ज्यादा शतक के मामले में ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर को पीछे छोड़ देंगे. एक दिवसीय मैचों में डेविड वार्नर ने 96 मैच खेलते हुए 13 शतक ठोके हैं जबकि रोहित शर्मा ने 162 मैच खेलते हुए 13 शतक ठोके हैं. शिखर धवन अगर रविवार को शतक मारने में कामयाब होते हैं तो राहुल द्रविड़ से आगे निकल जाएंगे. द्रविड़ ने 344 मैच खेलते हुए 12 शतक मारे हैं जबकि धवन 90 मैच खेलते हुए 11 शतक मारने में कामयाब हुए हैं.


धोनी ने तोड़ दिया एक बड़ा रिकॉर्ड, तो विराट ने 'क्रिकेट के भगवान' को पीछे छोड़ा
1 September 2017

नई दिल्ली: टीम इंडिया ने चौथे वनडे में श्रीलंका को 168 रनों के बड़े अंतर से हरा दिया है. मैच में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए भारतीय टीम ने रोहित शर्मा के 104, विराट कोहली के 131, मनीष पांडे के नाबाद 50 और एमएस धोनी के नाबाद 49 रनों की मदद से 50 ओवर में पांच विकेट खोकर 375 रन का विशाल स्‍कोर खड़ा किया. जवाब में श्रीलंका टीम मैच में टीम इंडिया को कभी भी चुनौती पेश करती नजर नहीं आई. शुरुआत से ही उसके विकेट गिरते रहे. 42.4 ओवर में पूरी टीम 207 रन बनाकर आउट हो गई. श्रीलंकाई पारी में एंजेलो मैथ्‍यूज के 70 और मिलिंदा सिरीवर्धना के 39 रन उल्‍लेखनीय रहे. भारत के लिए जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पंड्या और कुलदीप यादव ने दो-दो विकेट लिए
किसने क्या किया कमाल..
1- महेंद्र सिंह धोनी के बारे में यह कहने की जरूरत नहीं है कि जब वह खेलते हैं कि हमेशा मैच जिताते हैं. 73वीं बार नाबाद रहते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे में सबसे ज्यादा नॉट आउट रहने का रिकॉर्ड बनाया है. उन्होंने इस मामले में चामिंडा वास और शॉन पोलाक को पीछे छोड़ा है जो 72 बार नॉट आउट रहे हैं. 2- अजीबो-गरीब ऐक्शन वाले लासिथ मलिंगा ने वनडे में 300 विकेट पूरे कर लिए. ऐसा करने वाले वह विश्व के 11वें गेंदबाज बन गए हैं. तेज गेंदबाजी में वह 8वें गेंदबाज बने हैं. 3- विराट कोहली ने वनडे में 29 वां शतक लगाया. उन्होंने 185वीं पारी में यह करिश्मा किया. सचिन तेंदुलकर 29वें शतक तक पहुंचने के लिए 265 और रिकी पोटिंग ने 330 पारियां खेली थीं. 4- रोहित और विराट की जोड़ी ने 8वीं बार 150 या उससे ज्यादा रनों की साझेदारी की है. इससे पहले सचिन और सौरव के बीच 12 बार ऐसी साझेदारियां हो चुकी हैं.


INDvsSL 4th ODI LIVE: टीम इंडिया को लगा पहला झटका, शिखर धवन बने विश्‍व फर्नांडो के शिकार
31 Aug 2017

कोलंबो: श्रीलंका के खिलाफ चौथे वनडे क्रिकेट मैच में भारतीय टीम लगातार चौथी जीत दर्ज करने के इरादे से उतरी है. सभी की नजरें महेंद्र सिंह धोनी पर लगी हैं जो इस प्रारूप में 300वां मैच खेल रहे हैं. ऐसे में टीम इंडिया अपने पूर्व कप्‍तान को जीत का तोहफा देना चाहेगी. वनडे क्रिकेट में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशरों में से एक धोनी से अधिक वनडे सिर्फ सचिन तेंदुलकर ( 463), राहुल द्रविड़ (344) , मोहम्मद अजहरुद्दीन (334) , सौरव गांगुली (311) और युवराज सिंह (304) ने खेले हैं.ऐसे में टीम इंडिया अपने पूर्व कप्‍तान को जीत का तोहफा देना चाहेगी. वनडे क्रिकेट में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशरों में से एक धोनी से अधिक वनडे सिर्फ सचिन तेंदुलकर ( 463), राहुल द्रविड़ (344) , मोहम्मद अजहरुद्दीन (334) , सौरव गांगुली (311) और युवराज सिंह (304) ने खेले हैं.भारत सीरीज में 3-0 से आगे है.मैच में टीम इंडिया के कप्‍तान विराट कोहली ने टॉस जीता और पहले बैटिंग करने का निर्णय लिया है. तीन ओवर के बाद टीम का स्‍कोर एक विकेट खोकर 11 रन है. शिखर धवन (4)आउट होने वाले बल्‍लेबाज हैं. रोहित शर्मा 3 और विराट कोहली 2 रन बनाकर क्रीज पर हैं. शिखर धवन और रोहित शर्मा की जोड़ी ने भारतीय पारी की शुरुआत की. लसित मलिंगा के पहले ओवर में धवन (4 रन, छह गेंद) ने चौका लगाया लेकिन दूसरे ही ओवर में उन्‍हें आउट होना पड़ा. विश्‍व फर्नांडो की गेंद पर उनका कैच पुष्‍पकुमार ने लपका.टीम इंडिया ने मैच में केदार जाधव, भुवनेश्‍वर कुमार और युजवेंद्र चहल की टीम से बाहर रखा है. इनकी जगह पर मनीष पांडे, शारदुल ठाकुर और कुलदीप यादव को मौका दिया गया है दूसरी ओर श्रीलंका के लिये अपनी सर्वश्रेष्ठ अंतिम एकादश उतार पाना मुश्किल हो गया है. सनत जयसूर्या की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने इस्तीफा दे दिया है जिसे श्रीलंका क्रिकेट ने स्वीकार भी कर लिया. वे इस सीरीज के अंत तक पद पर बने रहेंगे. दिनेश चंदीमल पिछले वनडे में अंगूठे में फ्रेक्चर के कारण सीरीज से बाहर हो गए हैं. वहीं कार्यवाहक कप्तान चामरा कपुगेदरा भी कमर की चोट के कारण आगे नहीं खेल सकेंगे. लसित मलिंगा चौथे वनडे में कमान संभालेंगे जबकि निलंबित कप्तान उपुल थरंगा पांचवें वनडे और छह सितंबर को होने वाले टी20 मैच में कप्तानी करेंगे


बांग्‍लादेश ने ऑस्‍ट्रेलिया को हराकर रचा इतिहास, शाकिब अल हसन बने जीत के हीरो
30 Aug 2017

ढाका: मेजबान बांग्‍लादेश ने पहले क्रिकेट टेस्‍ट में यहां ऑस्‍ट्रेलिया की मजबूत टीम को हराकर इतिहास रच दिया है. मैच के चौथे दिन ऑस्‍ट्रेलियाई टीम के सामने जीत हासिल करने के लिए दूसरी पारी में 265 रन बनाने का लक्ष्‍य था. तीसरे दिन की समाप्ति तक टीम दो विकेट पर 109 रन बनाते हुए मजबूती से लक्ष्‍य की ओर बढ़ती नजर आ रही थी लेकिन चौथे दिन आज बांग्‍लादेशी गेंदबाजों ने मेहमान टीम को 244 रन पर ढेर करते हुए 20 रन की करिश्‍माई जीत हासिल कर ली. टीम की इस जीत में ऑलराउंडर शाकिब अल हसन हीरो साबित हुए जिन्‍होंने पहली पारी की तरह दूसरी पारी में भी पांच विकेट हासिल किए. ताइजुल इस्‍लाम ने तीन और मेहदी हसन ने दो विकेट लिए. ऑस्‍ट्रेलिया ने आज सुबह दो विकेट पर 109 रन से खेलना शुरू किया तो हर किसी को उम्‍मीद थी कि टीम जीत के लक्ष्‍य को हासिल कर लेगी. इस समय दो अनुभवी बल्‍लेबाज डेविड वॉर्नर और कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ नाबाद थे. लेकिन स्‍कोर अभी 158 रन तक पहुंच पाया था कि शतकवीर वॉर्नर (135 गेंद, 16 चौके, एक छक्‍का) आउट हो गए.वॉर्नर ने अपना शतक 121 गेदों पर पूरा किया था. इस दौरान उन्‍होंने 15 चौके और एक छक्‍का लगाया. चौथे विकेट के रूप में स्‍टीव स्मिथ (37 रन) के 171 के कुल स्‍कोर पर आउट होते ही ऑस्‍ट्रेलिया की उम्‍मीदें धराशायी हो गईं. इसके बाद टीम लगातार विकेट गंवाती रही और 70.5 ओवर में पूरी टीम 244 रन बनाकर पेवेलियन वापस लौट गई. बांग्‍लादेश ने पहली पारी में 260 रन बनाए थे जिसके जवाब में ऑस्‍ट्रेलिया की पहली पारी 217 रन पर समाप्‍त हुई थी. बांग्‍लादेश की टीम दूसरी पारी में 221 रन बनाकर ढेर हुई थी.पहली पारी के आधार पर मिली 43 रन की बढ़त को मिलाकर कंगारू टीम को मैच जीतने के लिए 265 रन का लक्ष्‍य मिला था लेकिन टीम के संघर्ष ने 244 रन तक पहुंचते-पहुंचते दम तोड़ दिया.आखिरी क्षणों में कमिंस ने ऑस्‍ट्रेलिया को जीत दिलाने का भरसक प्रयास किया लेकिन अन्‍य बल्‍लेबाजों से उन्‍हें सहयोग नहीं मिला. वे 33 रन (तीन चौके, दो छक्‍के )बनाकर बनाकर नाबाद रहे.ऑस्‍ट्रेलिया टीम का आखिरी विकेट जोश हेजलवुड के रूप में गिरा जो बिना कोई रन बनाए ताइजुल इस्‍लाम के शिकार बने.


INDvsSL ODI Series: एमएस धोनी ने फिर खेली शानदार पारी, बल्‍ले से कर रहे कमाल
28 Aug 2017

नई दिल्‍ली: टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने पल्‍लेकेले में हुए तीसरे वनडे मैच में संयम भरी पारी खेलते हुए टीम इंडिया की जीत में अहम भूमिका निभाई. श्रीलंका के 217 रन के आसान से लक्ष्‍य का पीछा करते हुए टीम इंडिया ने जब 61 रन पर चार विकेट गंवा दिए थे तो ऐसा लग रहा था कि मैच में श्रीलंका टीम कुछ कमाल कर सकती है. लेकिन मुश्किल के इस मौके पर रोहित शर्मा का साथ देने के लिए महेंद्र सिंह धोनी आए.अपने कप्‍तानी के दिनों में 'कैप्‍टन कूल' के नाम से लोकप्रिय रहे धोनी के रोहित के साथ पांचवें विकेट के लिए 157 रन की अविजित साझेदारी करते हुए टीम को जीत तक पहुंचा दिया. बेशक रोहित शर्मा के नाबाद 124 रनों के आगे धोनी की पारी को उतनी अहमियत नहीं मिल पाई, लेकिन भारतीय टीम की जीत में माही के 67 रन के इस योगदान को अनदेखा नहीं किया जा सकता. इससे पहले तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने 27 रन देकर तीन विकेट लेते हुए मेजबान श्रीलंका को 217 रन के स्‍कोर तक सीमित रखने में अग्रणी भूमिका निभाई थी. धोनी ने नाबाद 67 रन (86 गेंद, चार चौके और एक छक्‍के) की पारी खेली. इस सीरीज के के दौरान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की. वनडे में भारत की ओर से रन बनाने के मामले में अब वे चौथे स्‍थान पर हैं. धोनी ने वनडे में 9378 रन बनाने के मोहम्‍मद अजहरुद्दीन के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है. वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले चार शीर्ष भारतीय बल्‍लेबाज इस प्रकार हैं.
वनडे में भारत के लिए सर्वाधिक रन..
18426 सचिन तेंदुलकर 11221 सौरव गांगुली 10768 राहुल द्रविड़ 9608 महेंद्र सिंह धोनी 9378 मोहम्‍मद अजहरुद्दीन


दुनिया की सबसे 'ताकतवर' टीम से भिड़ेंगे इंजमाम के चुने हुए क्रिकेटर
26 Aug 2017

कराची: पाकिस्तान ने अगले महीने विश्व एकादश टीम के खिलाफ होने वाले तीन मैचों की टी20 सीरीज के लिए अनुभवी आलराउंडर मोहम्मद हफीज और सलामी बल्लेबाज कामरान अकमल को 16 सदस्यीय टीम में जगह नहीं दी है. इन दोनों के अलावा राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने सीनियर तेज गेंदबाज वहाब रियाज को भी टीम में शामिल नहीं किया है. मुख्य चयनकर्ता इंजमाम उल हक ने जोर देकर कहा कि टीम को अंतिम रूप देते हुए खिलाड़ियों की हाल की फार्म और फिटनेस पर विचार किया गया है. विश्व एकादश की अगुआई दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस करेंगे. टीम 12, 13 और 15 सितंबर को मैच खेलेगी जिससे पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी होगी. पाकिस्तान की अगुआई विकेटकीपर बल्लेबाज सरफराज अहमद करेंगे. टीम में बल्लेबाज उमर अमीन और तेज गेंदबाज सोहेल खान की वापसी हुई है जबकि आलराउंडर आमिर यमीन को भी टीम में जगह मिली है.
टीम इस प्रकार है:..
सरफराज अहमद (कप्तान), फखर जमां, अहमद शहजाद, शोएब मलिक, बाबर आजम, उमर अमीन, इमाद वसीम, मोहम्मद नवाज, शादाब खान, फहीम अशरफ, हसन अली, आमिर यमीन, मोहम्मद आमिर, रूमान रईस, सोहेल खान और उस्मान शिनवारी.


महेंद्र सिंह धोनी ने कान में कही ऐसी बात कि भुवनेश्वर ने ठोक डाला अर्द्धशतक.
25 Aug 2017

नई दिल्ली: पाल्लेकेले में टीम इंडिया की 100 रनों से बड़ी साझेदारी के बाद सिर्फ़ अपना चौथा वनडे खेल रहे श्रीलंका के ऑफ़ स्पिनर अकिला धनंजय ने अपने तीन ओवरों में मैच का रुख़ बदल दिया. भारत का पहला विकेट 109 के स्कोर पर गिरा और फिर 131 के स्कोर पर 16वें से 22वें ओवर के बीच भारत ने अपने 7 विकेट गंवा दिए. एक सिरे पर खड़े पूर्व कप्तान एमएस धोनी का साथ निभाने आये भुवनेश्वर के साथ अगले 100 रनों का सफ़र टीम इंडिया के लिए लंबा हो सकता था. लेकिन धोनी ने एक बार फिर क्रिकेट मैदान पर अपना करिश्मा दिखाया, ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी के ज़रिये नहीं, बल्कि समझदारी के साथ पार्टनरशिप निभाते हुए मैच में बल्ले से कमाल करने वाले भुवनेश्वर कुमार (80 गेंद, नाबाद 53 रन, 4 चौके, 1 छक्का) कहते हैं, "थोड़ा हैरान करने वाली बात ज़रूर थी. अच्छी पार्टनरशिप हो रही थी और अचानक 3-4 विकेट गिर गए. मैं बैटिंग करने गया तो एमएस ने कहा कि अपना नेचुरल गेम खेलो. जैसा टेस्ट में खेलते हो वैसा ही खेला. मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं था. 7 विकेट गिर चुके थे और हमारे पास खोने को कुछ नहीं था. ख़ास बात ये है कि इस पूरी पारी में धोनी ने क़रीब 25 ओवर पिच पर रहते हुए सिर्फ़ एक चौका लगाया और मैच को मुक्कमल अंजाम पर पहुंचा दिया. वनडे में पहली बार अर्द्धशतक लगाने वाले भुवी कहते हैं कि दूसरे सिरे पर माही के होते हुए उनपर कोई दबाव नहीं था. भुवी ने कहा, 'उनके दूसरे सिरे पर होने से अफ़रातफ़री और दबाव तो नहीं होता. मुझे पता था कि उनके होते हुए आख़िर में 7-8 के रेट से रन बनाना भी मुश्किल नहीं..इसलिए मैं ज़रा भी फ़िक्रमंद नहीं था.' दरअसल लक्ष्य का पीछा करने में माही का कोई सानी नहीं. लक्ष्य का पीछा करते हुए धोनी पाल्लेकेले में 39 वीं बार नॉटआउट रहे
सफ़ल चेज़ में नॉट आउट
एमएस धोनी 39 बार
जॉन्टी रोड्स 33 बार
इंज़माम-उल-हक़ 32 बार
कामयाबी से लक्ष्य का पीछा करने में धोनी का औसत सर डॉन ब्रैडमैन के टेस्ट औसत सा ही नज़र आता है. े
क्या कहते हैं आंकड़
एमएस धोनी 99.16
विराट कोहली 97.68
माइकल बेवन 86.25
धोनी की इस पारी को दिग्गजों ने ट्विटर पर खूब सराहा है. संजय मांजरेकर ने ट्वीट किया है, "धोनी का भविष्य उनकी पिछली पारियों से नहीं तय किया जाना चाहिए. अगर वो भारत के बेहतरीन विकेटकीपर बल्लेबाज़ हैं तो टीम में उनकी जगह बनती है." उसी तरह विरेन्द सहवाग ने ट्वीट किया है, "टीम इंडिया को बधाई. धनंजय ने अच्छी गेंद डाली मगर धोनी ने अच्छा संयम दिखाया. भुवी का जज़्बा काबिले तारीफ़ है. शाबाश! माही अपने प्रदर्शन से आलोचकों को जवाब देते रहे हैं. कप्तान विराट और टीम मैनेजमेंट भी उनकी अहमियत को कम नहीं आंकता. वैसे माही के फ़ैन्स उनसे हमेशा धमाकेदार पारियों के इंतज़ार में रहते हैं.


एबी डिविलियर्स ने दक्षिण अफ्रीका की वनडे टीम की कप्तानी छोड़ी.
24 Aug 2017

जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर एबी डिविलियर्स ने वनडे टीम की कप्तानी छोड़ने की घोषणा कर दी है. डिविलियर्स ने क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) से उन्हें वनडे कप्तान की भूमिका से मुक्त करने को कहा. उन्होंने फाफ डु प्लेसिस को पूरे समर्थन का आश्वासन दिया, जो उनकी गैरमौजूदगी में कप्तान की भूमिका निभाते रहे हैं. डिविलियर्स ने यह भी कहा है कि वह खेल के सभी फॉर्मेट में चयन के उपलब्ध रहेंगे. डिविलियर्स ने कहा, 'पिछले 12 महीने में काफी कुछ कहा और लिखा गया और मुझे लगता है कि समय आ गया है कि मैं अपनी स्थिति को पूरी तरह से स्पष्ट करूं.' उन्होंने कहा, 'पिछले लगभग एक साल में मैंने अपनी प्रतिबद्धताओं को मैनेज करने की कोशिश की. मैं मानसिक और शारीरिक रूप से थका हुए महसूस कर रहा हूं.' डिविलियर्स ने कहा, 'सीएसए के साथ मिलकर, हमने व्यावहारिक कार्यक्रम तैयार करने का प्रयास किया है जो मेरे करियर को जितना अधिक संभव हो उतना लंबा करने में मदद करेगा. उन्होंने कहा, 'पिछले छह साल से टीम की अगुआई करना सम्मान की बात है लेकिन अब समय का गया है कि कोई और वनडे अंतरराष्ट्रीय टीम को आगे लेकर जाए. जिसे भी नया वनडे कप्तान चुना जाएगा, उसे मेरा पूरा समर्थन हासिल होगा.'


शाहिद अफरीदी ने की तूफानी बल्‍लेबाजी, केवल 42 गेंदों पर ही ठोका शतक.
23 Aug 2017

लंदन: अपनी आक्रामक बल्‍लेबाजी के लिए मशहूर शाहिद अफरीदी ने मंगलवार को ऐसी पारी खेली जो क्रिकेटप्रेमियों को लंबे अरसे तक याद रहेगी. 'बूम-बूम अफरीदी'' के नाम से लोकप्रिय पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान ने नेटवेस्‍ट टी20 ब्‍लास्‍ट क्‍वार्टर फाइनल में महज 42 गेंदों पर शतक जड़ दिया. अपनी इस पारी के जरिये अफरीदी ने दिखाया कि भले ही वे इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्‍यास ले चुके हैं लेकिन वे अपने बल्‍ले से अभी भी रनों की बारिश कर सकते हैं. हैंपशायर की तरफ से खेलते हुए अफरीदी ने 43 गेंदों पर 101 रन बनाए. इस धुआंधार पारी में 7 छक्के और 10 चौके शामिल थे. इस मैच में डर्बीशायर के कप्तान गैरी विल्सन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का का फैसला लिया. हैंपशायर की तरफ से पारी की शुरुआत करने आए 37 वर्षीय अफरीदी ने मैदान के हर कोने में शॉट लगाए और विपक्षी गेंदबाज उनके आगे पूरी तरह असहाय नजर आए. पहले विकेट के लिए अफरीदी और केल्विन डिकिंसन ने 43 रन जोड़े, दूसरे विकेट के लिए उन्होंने जेम्स विंस के साथ 97 रनों की साझेदारी कर टीम को बड़े स्‍कोर तक पहुंचा दिया अपनी इस पारी के दौरान अफरीदी ने मात्र 20 गेंदों पर ही अर्धशतक पूरा कर लिया था. यह अफरीदी की धमाकेदार पारी का ही कमाल था कि हैंपशायर टीम 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 249 रन का विशाल स्‍कोर बनाने में सफल हो गई. इस विशाल स्‍कोर के बोझ तले दबी डर्बीशायर की टीम 148 पर ही सिमट गई. मैच हैंपशायर की टीम ने 101 रन के बड़े अंतर से जीता गौरतलब है कि अफरीदी के नाम पर इंटरनेशल क्रिकेट में सबसे तेज शतक बनाने का रिकॉर्ड दर्ज रहा. उन्‍होंने श्रीलंका के खिलाफ 37 गेंदों में शतक जमाया था. बाद में न्‍यूजीलैंड के कोरी एंडरसन और दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स ने इस रिकॉर्ड को तोड़ा था.


क्या वर्ल्ड कप 2019 की तैयारी के बीच बेस्ट बैलेंस में फिट नहीं हो पा रहे युवी और धोनी?.
22 Aug 2017

नई दिल्ली: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की नज़र दो साल बाद होने वाले 2019 वर्ल्ड कप पर टिकी हैं जिसके लिए उन्होंने अभी से प्लानिंग और तैयारी भी शुरू कर दी है. टीम प्रबंधन का भी उन्हें साथ मिल रहा है. श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे मैच में जीत के बाद विराट ने भविष्य के प्लान के कुछ संकेत दिए. विराट कोहली ने टीम में बड़े बदलाव के भी संकेत दिए. विराट ने कहा, "आपको 24 महीने पहले तैयारी शुरू कर देनी होगी. हम प्रयोग करने जा रहे हैं. यहां से आपको कई बदलाव देखने को मिलेंगे. इसमें सभी खिलाड़ियों को शामिल किया जाएगा. यह अधिक से अधिक संतुलन हासिल करने से जुड़ा है." विराट कोहली को तीनों फॉर्मेट की कप्तानी मिले ज्यादा समय नहीं हुआ है, इसके बावजूद वो कामयाब कप्तान बनने की ओर कदम बढ़ाते दिखाई दे रहे हैं. टेस्ट में उनकी कप्तानी में पिछले दो वर्षों में टीम ने लगातार आठ सीरीज़ पर कब्ज़ा किया है. 29 में से वो 19 मैचों में जीत दर्ज कर चुके हैं और महज़ धोनी और गांगुली से ही पीछे हैं. टीम नंबर वन है और सबसे लंबी सीरीज़ जीत के सिलसिले से अब वो महज़ एक सीरीज़ जीत दूर हैं. वनडे में दो सीरीज़ जीतीं हैं और एक चैंपियन ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में हार मिली. और अब इस कप्तान की नज़र दो साल बाद होने वाले 2019 वर्ल्ड कप पर टिकी हैं जिसके लिए कप्तान कोहली ने प्लानिंग और तैयारी भी शुरु कर दी है. विराट कोहली ने कहा, "मुझे लगता है हमे 2019 विश्व कप के लिए प्लैन करना शुरू कर देना चाहिए. आपको कम से कम 24 महीने पहले से विश्न कप के लिए पलैनिंग और तैयारी शुरू कर देनी चाहिए..हम इसको चुनौती की तरह देख रहे हैं और कोशिश कुछ अलग प्रयोग करने पर होगी. आने वाले समय में आप बहुत से बदलाव देखेंगे..सभी खिलाड़ी इसके लिए तैयार हैं. हमें देखना होगा किससे हमे बेहतर बैलेंस मिलता है. विराट टीम में बड़े बदलाव की बात कह रहे हैं क्योंकि वो बेस्ट बैलेंस की तलाश में है. ऐसे में जहां पहले ही युवराज सिंह के बाहर होने पर पहले उनके ड्रॉप होने फिर रेस्ट देने की बात सामने आई, तो फिर उनके यो-यो टेस्ट में फ़ेल होने की ख़बरे आईं. वहीं एमएस धोनी को लेकर मुख्य चयनकर्ता ने बयान दिया कि इस सीरीज़ में उनके प्रदर्शन पर नज़र रहेगी. क्या ये खिलाड़ी उस बेस्ट बैलेंस में फ़िट नहीं बैठते हैं, या कुछ और बेहतर ढूंढने की कोशिश है. क्या ये बड़े बदलाव की प्रक्रिया इस तरह की नेगेटिव न्यूज़ बनकर टीम पर बुरा असर तो नहीं डालेगी क्योंकि चैंपियंस ट्रॉफ़ी से पहले टीम इंडिया के लिए एक बड़ा पूल पहले ही तैयार किया जा चुका है और श्रीलंका दौरे पर भी उन्हीं खिलाड़ियों को मौक़ा दिया गया है


श्रीलंका के खिलाफ मैच में भारत को जीत दिलाने वाले शिखर धवन ने कहा, मुझे नाकामियों ने सबक सिखाया.
21 Aug 2017

दाम्बुला: शानदार फॉर्म में चल रहे शिखर धवन उस खराब दौर को नहीं भुले है जिसकी वजह से उन्हें टीम से बाहर रहना पड़ा था और उनका कहना है कि नाकामियों ने उन्हें अहम सबक सिखाया है. धवन को खराब फॉर्म के कारण पिछले साल न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के बाद टीम से बाहर कर दिया गया था. वह इस साल चैम्पियंस ट्राफी के लिये टीम में लौटे और तब से शानदार फॉर्म में हैं. श्रीलंका के खिलाफ सोमवार को पहले वनडे में शतक लगाकर भारत को जीत दिलाने के बाद धवन ने कहा,‘अगले विश्व कप में अभी काफी समय है. मैं लगातार अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं. यही मेरा लक्ष्य है क्योंकि अगर मैं अच्छा नहीं खेला तो टीम में इतने महान बल्लेबाज हैं कि मेरी जगह कोई भी ले सकता है.’ उन्होंने कहा,‘नाकामी आपको बहुत कुछ सिखाती है और मैं खुशकिस्मत हूं कि मैने वह सबक सीखा.’ खराब दौर के बारे में उन्होंने कहा,‘मैं पहले ही खराब दौर से गुजर चुका हूं तो इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचता. जब यह आना होगा, तब आयेगा. मैं उसका भी स्वागत करुंगा. जब मैं अच्छा नहीं खेल रहा था तब भी प्रक्रिया पर ध्यान था. अब अच्छा खेलने पर भी प्रक्रिया पर ही ध्यान है.’ श्रीलंका दौरे पर धवन ने गाले और पल्लेकेले टेस्ट में भी शतक जमाये थे. उन्होंने कहा कि चैम्पियंस ट्राफी 2013 में भी वह ऐसे ही फार्म में थे जब आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला टेस्ट शतक जमाया था. धवन ने कहा ,‘जब मैने 2013 चैम्पियंस ट्राफी में वनडे टीम में वापसी की तो इसी तरह धाराप्रवाह बल्लेबाजी कर रहा था. इस बार भी चैम्पियंस ट्रॉफी में वही लय थी.’ उन्होंने कहा कि टीम के युवा खिलाड़ियों के स्तर तक रहने के लिये उन्हें अपनी फिटनेस पर पूरा ध्यान देना होगा. उन्होंने कहा ,‘खेल की रफ्तार के मुताबिक मुझे खुद को फिट रखना होगा. इसके अलावा मेरे ज्यादा लक्ष्य नहीं है कि मुझे इतने रन बनाने हैं. मैं अपनी फिटनेस, कौशल और फील्डिंग पर फोकस करता हूं.’ धवन ने श्रीलंकाई टीम के प्रति हमदर्दी जताते हुए कहा,‘यह युवा टीम है और बदलाव के दौर से गुजर रही है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में परिपक्व होने के लिये अनुभव जरूरी है. ये लड़के अच्छे हैं और समय के साथ बेहतर होंगे.’ यह पूछने पर कि क्या मौजूदा श्रीलंकाई गेंदबाजी आक्रमण अब तक का सबसे कमजोर है , उन्होंने कहा,‘मैं इतने कड़े शब्दों का इस्तेमाल नहीं करुंगा. मैं नहीं कहूंगा कि यह सबसे कमजोर गेंदबाजी आक्रमण है. बायें हाथ का गेंदबाज विश्वा फर्नांडो अच्छी गेंदबाजी करता है. चैम्पियंस ट्रॉफी में उन्होंने हमें हराया था.’


कुक का 'डबल धमाका', इंग्लैंड ने 514 रन बनाकर पारी घोषित की.
19 Aug 2017

नई दिल्ली: पाकिस्तान के बल्लेबाज जुबैर अहमद की मरदान में घरेलू मैच के दौरान बाउंसर लगने से मौत हो गई. चार लिस्ट ए मैच खेल चुके अहमद टी20 टीम क्वेटा बीयर्स की तरफ से खेल रहे थे. यह घटना 14 अगस्त को घटी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने आज सोशल मीडिया पर एक संदेश के जरिये इस खबर की पुष्टि की और हमेशा सुरक्षा उपकरणों का उपयोग करने की जरूरत पर जोर दिया. पीसीबी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘जुबैर अहमद की दुखद मौत हमें सबक देती है कि हमेशा सुरक्षा उपकरण जैसे हेलमेट का उपयोग करना जरूरी है. जुबैर के परिवार के प्रति हमारी संवेदना बर्मिंघम: पूर्व कप्तान एलेस्टेयर कुक के करियर के चौथे दोहरे शतक की मदद से इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन पहली पारी 8 विकेट पर 514 रन बनाकर समाप्त घोषित की. सलामी बल्लेबाज कुक ने 243 रन बनाए और उनके आउट होते ही कप्तान जो रूट ने पारी समाप्त घोषित कर दी. कुक ने वेस्टइंडीज के सबसे सफल गेंदबाज ऑफ स्पिनर रोस्टन चेज की गेंद पर पगबाधा आउट होने से पहले 407 गेंदों का सामना करके 33 चौके लगाए. कुक का यह वेस्टइंडीज के खिलाफ सर्वोच्च स्कोर भी है. कुक ने अपनी पारी के दौरान कप्तान जो रूट (136) के साथ तीसरे विकेट के लिए 248 रन और डेविड मलान (65) के साथ चौथे विकेट के लिए 162 रन की दो बड़ी साझेदारियां कीं. मलान लंच से ठीक पहले ऑफ स्पिनर चेज की गेंद पर आउट हुए. मलान का यह टेस्ट मैचों में पहला अर्धशतक है. उन्होंने अपनी पारी में 139 गेंदें खेलीं और 10 चौके लगाए. भारत के खिलाफ 2011 में इसी मैदान पर 294 रन की पारी खेलने वाले कुक ने केमार रोच की गेंद को थर्ड मैन पर चार रन के लिए भेजकर अपना चौथा दोहरा शतक पूरा किया. इंग्लैंड ने आज तीन विकेट पर 348 रन से आगे खेलना शुरू किया था. चेज वेस्टइंडीज के सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने 113 रन देकर चार विकेट चटकाए. रोच ने, 2 जबकि मिगुएल कमिन्स और जैसन होल्डर ने एक 1-1 विकेट लिए. जवाब ने वेस्टइंडीज ने दिन का खेल खत्म होने तक 1 विकेट खोकर 44 रन बना लिए थे.


भारत दौरे के लिए ऑस्ट्रेलिया की वनडे, टी-20 टीम घोषित.
18 Aug 2017

नई दिल्ली: पाकिस्तान के बल्लेबाज जुबैर अहमद की मरदान में घरेलू मैच के दौरान बाउंसर लगने से मौत हो गई. चार लिस्ट ए मैच खेल चुके अहमद टी20 टीम क्वेटा बीयर्स की तरफ से खेल रहे थे. यह घटना 14 अगस्त को घटी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने आज सोशल मीडिया पर एक संदेश के जरिये इस खबर की पुष्टि की और हमेशा सुरक्षा उपकरणों का उपयोग करने की जरूरत पर जोर दिया. पीसीबी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘जुबैर अहमद की दुखद मौत हमें सबक देती है कि हमेशा सुरक्षा उपकरण जैसे हेलमेट का उपयोग करना जरूरी है. जुबैर के परिवार के प्रति हमारी संवेदना मेलबर्न : भारत दौरे के लिए ऑस्ट्रेलिया की वनडे और टी-20 टीम घोषित हो गई है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने शुक्रवार को टीम की घोषणआ की. भारत के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए चुनी गई 14 सदस्यीय टीम में चोटिल मिशेल स्टॉर्क को जगह नहीं मिली है. वह अपने पैर की चोट से पूरी तरह से उबर नहीं पाए हैं. वहीं, वनडे सीरीज के लिए जेम्स फॉकनर और नाथन कोल्टर-नाइल को टीम में शामिल किया गया है. टीम के कप्तान स्टीवन स्मिथ होंगे.
17 सितंबर से शुरू होगी सीरीज ऑस्ट्रेलिया की भारत के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज 17 सितंबर से होगी. इसका समापन एक अक्टूबर को होगा. इसके बाद 3 टी-20 मैचों की सीरीज शुरू होगी. 7 अक्तूबर को पहला मैच होगा, जबकि अंतिम मैच 13 अक्टूबर को खेला जाएगा. टी-20 सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम में जेसन बेहेरेन्डोर्फ और केन रिचर्डसन को शामिल किया गया है. वहीं इस टीम में जोश हेजलेवुड को जगह नहीं मिली है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की वेबसाइट 'क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू' ने यह जानकारी दी.
वनडे टीम: स्टीवन स्मिथ (कप्तान), डेविड वार्नर (विकेटकीपर), एश्टन एगर, हिल्टन कार्टराइट, नाथन कोल्टर-नाइल, पैट्रिक कमिंस, जेम्स फॉकनर, एरोन फिंच, जोश हेजलेवुड, ट्रैविस हेड, ग्लेन मैक्सवेल, मार्क्‍स स्टोनीस, मैथ्यू वेड और एडम जांपा.
टी-20 टीम स्टीवन स्मिथ (कप्तान), डेविड वार्नर (विकेटकीपर), जेसन बेहेरेन्डोर्फ, डेन क्रिश्चियन, नाथन कोल्टर-नाइल, पैट्रिक कमिंस, एरोन फिंच, ट्रैविस हेड, मोइजिस हेनरिक्स, ग्लेन मैक्सवेल, टिम पेन, केन रिचर्डसन और एडम जांपा.


बाउंसर लगने से पाकिस्तानी क्रिकेटर जुबैर अहमद की मौत.
17 Aug 2017

नई दिल्ली: पाकिस्तान के बल्लेबाज जुबैर अहमद की मरदान में घरेलू मैच के दौरान बाउंसर लगने से मौत हो गई. चार लिस्ट ए मैच खेल चुके अहमद टी20 टीम क्वेटा बीयर्स की तरफ से खेल रहे थे. यह घटना 14 अगस्त को घटी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने आज सोशल मीडिया पर एक संदेश के जरिये इस खबर की पुष्टि की और हमेशा सुरक्षा उपकरणों का उपयोग करने की जरूरत पर जोर दिया. पीसीबी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘जुबैर अहमद की दुखद मौत हमें सबक देती है कि हमेशा सुरक्षा उपकरण जैसे हेलमेट का उपयोग करना जरूरी है. जुबैर के परिवार के प्रति हमारी संवेदना पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने (PCB) अपने ऑफिशियल टि्वटर हैंडल पर ये घटना शेयर की. PCB ने ट्वीट किया कि जुबेर की मौत एक बार फिर इस बात को याद दिला देती है कि बैटिंग के दौरान पूरे वक्त सेफ्टी गियर (हेलमेट) पहनना जरूरी है गौरतलब है कि 2 दिन पहले ही ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज डेविड वॉर्नर भी सिर पर बाउंसर लगने की वजह से चोटिल हो गए. सिर पर गेंद लगने से ऑस्ट्रेलिया के युवा बल्लेबाज फिल ह्यूज की भी मौत हो चुकी है दो साल पहले नवंबर 2014 में ऑस्ट्रेलिया के 25 साल के ओपनर बैट्समैन फिल ह्यूज की मौत भी बाउंसर लगने से हो गई थी. सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर ह्यूज 63 रन बनाकर खेल रहे थे. इसी दौरान न्यू साउथ वेल्स के बॉलर सीन एबोट की एक बॉल को हुक करने के लिए वे आगे बढ़े, लेकिन शॉट चूक गए और बॉल सीधे उनके सिर के पीछे जा लगी थी ह्यूज ने बाउंसर लगने के बाद पहले अपने हाथ घुटने पर रखे और फिर वे ग्राउंड पर मुंह के बल गिर गए थे. तब उन्हें एयर एंबुलेंस में वेंटिलेटर पर रखा गया और सेंट विसेंट अस्पताल पहुंचाया गया. वहां उनके सिर की इमरजेंसी सर्जरी भी की गई थी. लेकिन दो दिन कोमा में रहने के बाद वे चल बसे थे


टीम इंडिया की श्रीलंका के खिलाफ ऐतिहासिक जीत, देश से बाहर टेस्ट सीरीज की व्हाइटवाश.
14 Aug 2017

मेहमान भारतीय टीम अब सीरीज़ के तीसरे टेस्ट मैच में मेज़बान श्रीलंका को पारी और 171 रन से हरा दिया है. यह भारतीय टीम द्वारा विदेशी धरती पर तीन टेस्ट मैचों की किसी सीरीज़ को पूरी तरह वाइटवॉश कर डालने, यानी 3-0 से जीतने का पहला मौका है. खेल के तीसरे दिन फॉलोऑन खेलती श्रीलंकाई टीम के तीन विकेट पहले ही सत्र में आउट हो गए थे, जिनसे उनका संकट गहरा गया है. भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजों ने एक बार फिर अपने दमदार प्रदर्शन से पल्लेकेले अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में जारी तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन सोमवार को भोजनकाल तक श्रीलंका को कमजोर कर दिया. पहले सत्र की समाप्ति तक फॉलोऑन खेल रही उतरी श्रीलंका की टीम चार विकेट के नुकसान पर केवल 82 रन ही बना पाई. रविचंद्रन अश्विन ने दिमुथ करुणारत्ने को 16 के निजी स्कोर पर पैवेलियन भेजा था, और पिच पर उतरे कुशल मेंडिस अभी टिक भी नहीं पाए थे कि पुष्पकुमारा को मोहम्मद शामी ने विकेट के पीछे ऋद्धिमान साहा के हाथों लपकवा दिया. इसके बाद जल्द ही कुशल मेंडिस को भी शामी ने पगबाधा आउट कर वापस भेज दिया. दिन का खेल शुरु होने के वक्त तीन टेस्ट मैचों की साराज़ में वाइटवॉश करने, यानी 3-0 से मेज़बानों को हराने के लिए टीम इंडिया को सिर्फ 9 विकेट चटकाने बाकी थे, और अब लग रहा है कि सीरीज़ का आखिरी टेस्ट मैच खेल के तीसरे दिन ही खत्म हो जाएगा. भारतीय बल्लेबाज़ों के शानदार प्रदर्शन, और खासतौर से हार्दिक पंड्या के चौकों-छक्कों से सजे बेहतरीन शतक की बदौलत टीम इंडिया ने पहली पारी में 487 रन बनाए थे, जिनके जवाब में श्रीलंकाई टीम पहली पारी में सिर्फ 37.4 ओवरों में 135 रन पर सिमट गई. भारतीय गेंदबाज़ों में कुलदीप यादव ने चार, रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शामी ने दो-दो विकेट चटकाए, तथा हार्दिक पंड्या ने एक मेज़बान खिलाड़ी को पैवेलियन लौटाया. इसके बाद फॉलोऑन खेलते हुए श्रीलंकाई टीम ने सलामी बल्लेबाज़ उपुल तरंगा के रूप में अपना पहला विकेट फिर जल्दी गंवा दिया, और स्टम्प्स के समय मेज़बान टीम एक विकेट के नुकसान पर 19 रन बनाकर पारी की हार से बचने के लिए संघर्ष कर रही थी.


INDvsSL 3rd Test: पहले दिन केएल राहुल ने इस बड़े रिकॉर्ड की बराबरी की.
12 Aug 2017

कैंडी: श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्‍ट मैच के पहले दिन भारतीय टीम के ओपनर केएल राहुल एक बड़े रिकॉर्ड की बराबरी करने में सफल रहे. कैंडी टेस्‍ट के पहले दिन राहुल लंच के बाद 85 रन बनाकर आउट हुए. टेस्‍ट क्रिकेट में उनका यह लगातार सातवां अर्धशतक रहा. उन्‍होंने कोलंबो में हुए दूसरे टेस्‍ट में भी 57 रन की पारी खेली थी. इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के दौरान राहुल ने लगातार पांच 50+ की पारी खेली थीं. लगातार सबसे अधिक अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड वेस्‍टइंडीज के एवर्टन वीक्‍स, जिम्‍बाब्‍वे के एंडी फ्लावर, वेस्‍टइंडीज के शिवनारायण चंद्रपाल, श्रीलंका के कुमार संगकारा, ऑस्‍ट्रेलिया के सी. रोजर्स के नाम पर था. इन पांचों के नाम पर लगातार सात पारियों में अर्धशतक बनाने का रिकॉर्ड था. अब केएल राहुल ने भी अपना नाम इस रिकॉर्ड के साथ जोड़ लिया है गौरतलब है कि ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के बाद ही कंधे की चोट के कारण राहुल क्रिकेट से बाहर हो गए थे. कंधे की सर्जरी कराने के बाद ही श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए भारतीय टीम में वापसी कर पाए हैं. राहुल इस चोट के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 10वें संस्करण में नहीं खेल पाए थे. चैंपियंस ट्रॉफी और वेस्टइंडीज दौरे पर भी वे नहीं जा पाए थे.


श्रीलंका दौरा : माता सीता जहां रखी गई थीं, उस अशोक वाटिका को देखने पहुंचे टीम इंडिया के सदस्‍य.
11 Aug 2017

कोलंबो: श्रीलंका में टेस्‍ट सीरीज खेल रहे भारतीय टीम के सदस्‍य खाली समय में पौराणिक-धार्मिक महत्‍व वाले यहां के स्‍थानों को देखने का भी मौका भी नहीं चूक रहे. टीम के सदस्‍य हाल ही में अशोक वाटिका को देखने पहुंचे. धार्मिक मान्‍यताओं के अनुसार, लंकापति रावण ने माता सीता का हरण करने के बाद उन्‍हें यही रखा था. गौरतलब है कि भारत और श्रीलंका के बीच सीरीज का तीसरा और अंतिम टेस्‍ट मैच शनिवार से खेला जाना है. सीरीज में टीम इंडिया को इस समय 2-0 की बढ़त हासिल है और तीसरे मैच में जीत हासिल करते हुए वह 3-0 के एकतरफा अंतर से सीरीज अपने नाम कर लेगी. टीम इंडिया के सदस्‍य मोहम्‍मद शमी और उमेश यादव ने अशोक वाटिका के भ्रमण के फोटो सोशल मीडिया पर पोस्‍ट किए हैं. शमी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर जो फोटो डाले हैं, उसमें टीम के अन्‍य सदस्‍य कुलदीप यादव, ऋद्धिमान साहा, ईशांत शर्मा, उमेश यादव और केएल राहुल को उनके परिवार के साथ देखा जा सकता है तेज गेंदबाज उमेश यादव ने भी अपने इंस्‍टाग्राम अकाउंट पर एक फोटो पोस्‍ट किया है. इसमें उमेश और उनकी पत्‍नी एक गहरे गड्ढे जैसे स्‍थान पर खड़े हुए हैं जिसे उन्‍होंने 'हनुमानजी के पैर का निशान' बताया है.


जड़ेजा की जगह अक्षर पटेल टीम में, पल्लेकल टेस्ट में कर सकते हैं डेब्यू.
10 Aug 2017

कोलंबो: श्रीलंका के खिलाफ 12 अगस्त से शुरू हो रहे तीसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट के लिये बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल को रविंद्र जडेजा की जगह 12 सदस्यीय भारतीय टीम में शामिल किया गया है. अगर पल्लेकल टेस्ट में अक्षर पटेल खेलते हैं तो ये उनके करियर का पहला टेस्ट होगा. अक्षर पटेल अभी दक्षिण अफ्रीका में हैं, वह इंडिया ए का हिस्सा हैं. उन्हें तीसरे टेस्ट से पहले श्रीलंका बुलाया गया है. आपको बता दें कि अक्षर अभी तक 30 मैच में 35 विकेट ले चुके हैं. उन्होंने भारत के लिए अपना आखिरी मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ अक्टूबर 2016 में खेला था. बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा, "अखिल भारतीय सीनियर चयन समिति ने 12 अगस्त 2017 से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट के लिये रविंद्र जडेजा की जगह अक्षर पटेल को टीम में शामिल किया है." अक्षर भारत ए टीम का हिस्सा थे जिसने कल रात दक्षिण अफ्रीका ए को सात विकेट से हराकर त्रिकोणीय सीरीज की ट्रॉफी अपने पास रखी. जडेजा को 24 महीने के भीतर छह डिमेरिट अंक होने के कारण तीसरे टेस्ट से निलंबित कर दिया गया. भारत ने पहले दोनों टेस्ट जीतकर सीरीज अपने नाम पहले ही कर ली है. भारतीय टीम में 15वें सदस्य के रूप में कुलदीप यादव को भी शामिल किया गया है. हालांकि अंतिम एकादश में उनको जगह मिलेगी या नहीं, यह अभी तक तय नहीं है. टीम प्रबंधन इस युवा चाइनामैन गेंदबाज का कवर चाहता है. चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद फिलहाल तीसरे टेस्ट के लिए पल्लेकल में हैं और उनके कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के साथ चर्चा के बाद फैसला करने की उम्मीद है.


भारत अगर पल्लेकल टेस्ट भी जीता, तो 'विराट की ब्रिगेड' के नाम होगा ये बड़ा रिकॉर्ड.
9 Aug 2017

अपने 85 साल के टेस्ट इतिहास में अब तक सिर्फ एक बार विदेशी सरजमीं पर किसी सीरीज़ में तीन टेस्ट मैच जीतने वाली भारतीय टीम को अब श्रीलंका के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज़ में न सिर्फ लगभग 50 साल बाद यह उपलब्धि दोहराने बल्कि विदेश में पहली बार लगातार तीन टेस्ट मैच जीतने का सुनहरा मौका मिला है.
12 अगस्त से है तीसरा टेस्ट विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम ने श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ के पहले दोनों मैच आसानी से जीते हैं और अगर वह पल्लेकल में 12 अगस्त से शुरू होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में भी अपना विजयी अभियान बरकरार रखती है तो फिर यह पहला अवसर होगा जबकि भारतीय टीम विदेशी सरज़मीं पर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ में क्लीन स्वीप करेगी. भारत ने इससे पहले सिर्फ एक बार विदेशी धरती पर किसी सीरीज़ में तीन टेस्ट मैच जीते. मंसूर अली खां पटौदी की अगुवाई वाली टीम ने फरवरी, मार्च 1968 में न्यूज़ीलैंड को चार टेस्ट मैचों की सीरीज़ में 3-1 से हराया था. इस दौरान हालांकि टीम ड्यूनेडिन में पहला टेस्ट मैच जीतने के बाद क्राइस्टचर्च में दूसरा टेस्ट मैच हार गयी थी. इसके बाद भारत ने वेलिंगटन और ऑकलैंड टेस्ट जीते थे.
1986 में भी मिला था ऐसा मौका मौजूदा सीरीज़ से पहले भारत को 1986 में इंग्लैंड में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ जीतने का मौका मिला था लेकिन कपिल देव की टीम पहले दोनों टेस्ट मैच जीतने के बाद तीसरे टेस्ट को ड्रॉ करा बैठी थी. पाकिस्तान के खिलाफ 2004 में पहला टेस्ट मैच जीतने के बाद भारत दूसरा मैच हार गया था लेकिन उसने तीसरा टेस्ट जीतकर सीरीज़ अपने नाम की थी.
विदेश में इन दो टीमों को कर चुके हैं क्लीन स्वीप अगर हम विदेशों में क्लीन स्वीप की बात करें तो भारत अब तक सिर्फ बांग्लादेश और ज़िम्बाब्वे के खिलाफ ही यह करिश्मा कर पाया है लेकिन तब सीरीज़ एक या फिर दो टेस्ट मैचों तक सीमित थी. भारत ने बांग्लादेश को 2000 में एक टेस्ट, 2004 और 2010 में दो-दो टेस्ट मैचों की सीरीज़ में हराया था. इस बीच उसने ज़िम्बाब्वे को उसकी धरती पर दो मैचों में 2-0 से हराया था. भारत हालांकि अपनी सरज़मीं पर इससे पहले तीन या इससे अधिक टेस्ट मैचों में क्लीन स्वीप कर चुका है. भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को चार मैचों की सीरीज़ में 4-0 से हराया था. मोहम्मद अज़हरूद्दीन की टीम ने 1993-94 में इंग्लैंड और श्रीलंका का तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ में सूपड़ा साफ किया था. कोहली की अगुवाई में टीम ने पिछले साल न्यूज़ीलैंड के खिलाफ यही करिश्मा दोहराया था. पिछले साल ही भारतीय टीम ने इंग्लैंड को पांच मैचों की सीरीज़ में 4-0 से हराया था जबकि 2015 में उसने दक्षिण अफ्रीका को चार मैचों की सीरीज़ में 3-0 से शिकस्त दी थी.
पहले दो टेस्ट में भारत को मिली आसान जीत मौजूदा सीरीज़ में भारत ने गॉल में खेले गए पहले टेस्ट मैच में श्रीलंका को 304 रन और कोलंबो में दूसरे टेस्ट मैच में पारी और 53 रन से पराजित किया था. भारतीय टीम की बेहतरीन फॉर्म को देखते हुए पल्लेकल में भी वह जीत के प्रबल दावेदार के रूप में उतरेगी. भारत इससे पहले कभी पल्लेकल में टेस्ट मैच नहीं खेला है जबकि श्रीलंका ने यहां जो पांच टेस्ट मैच खेले हैं उनमें से एक में उसे हार और एक में जीत मिली है जबकि बाकी तीन मैच ड्रॉ रहे हैं. भारत ने पल्लेकल में हालांकि एक वनडे और एक टी20 मैच खेला है और दोनों में उसने जीत दर्ज की है.


झूलन गोस्वामी को सम्मानित करेगा बंगाल क्रिकेट संघ.
8 Aug 2017

नई दिल्ली: बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) मंगलवार को अपने वार्षिक सम्मान समारोह में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे अनुभवी दिग्गज गेंदबाज झूलन गोस्वामी को 10 लाख रुपए का नगद इनाम प्रदान कर सम्मानित करेगा. बंगाल की रहने वाली झूलन ने हाल ही में इंग्लैंड में संपन्न हुए आईसीसी महिला विश्व कप में भारतीय टीम को फाइनल तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी. वह भारतीय टीम की कप्तान भी रह चुकी हैं. 34 वर्षीय झूलन ने हाल ही में आस्ट्रेलिया की कैथरीन फिट्जपैट्रिक का रिकॉर्ड ध्वस्त करते हुए वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट हासिल करने का विश्व कीर्तिमान अपने नाम किया है. इंग्लैंड के खिलाफ हुए फाइनल मैच में झूलन ने शानदार गेंदबाजी की थी और 23 रन देकर तीन विकेट चटकाए थे, जिसकी बदौलत भारत ने इंग्लैंड को 50 ओवरों में सात विकेट पर 228 रनों पर सीमित कर दिया था. हालांकि भारतीय बल्लेबाज अपने खेल पर नियंत्रण नहीं रख सकीं और एकसमय जीता लग रहा मैच भारत के हाथों मात्र नौ रनों के अंतर से फिसल गया. सोमवार को एक समारोह के दौरान झूलन ने कहा, 'हमने फाइनल मैच में अपने स्तर पर सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश की, लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से क्रिकेट में पूर्वानुमान नहीं लगाए जा सकते. मैच के आखिरी एक घंटे में मैच का रुख पलट गया और हम हार गए. यही जीवन है.


विकेट लेने की 'मशीन' बनते जा रहे आर.अश्विन, इस मामले में अभी अनिल कुंबले से हैं पीछे.
5 Aug 2017

कोलंबो: श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो टेस्‍ट में रविचंद्रन अश्विन ने पहली पारी में पांच विकेट हासिल किए. अश्विन के इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारतीय टीम श्रीलंका टीम को पहली पारी में 183 रन पर आउट करके फॉलोआन देने में सफल रही. मैच के दूसरे दिन ही अश्विन ने श्रीलंका उपुल थरंगा और दिमुथ करुणारत्‍ने के विकेट ले लिए थे. उन्‍होंने आज मैच के तीसरे दिन श्रीलंका की पहली पारी के दौरान एंजेलो मैथ्‍यूज, दिलरुवान परेरा और नुवान प्रदीप को भी आउट किया. अश्विन करियर का 51वां टेस्‍ट खेल रहे हैं और 26बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट (श्रीलंका की पहली पारी तक) हासिल कर चुके हैं. भारत की ओर से इससे ज्‍यादा बार पारी में पांच या अधिक विकेट टीम इंडिया के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने ही हासिल किए हैं. दाएं हाथ के लेग स्पिनर कुंबले ने 131 टेस्‍ट में 35 बार पारी में पांच या इससे ज्‍यादा विकेट लिए थे. अश्विन ने आज पांच या इससे ज्‍यादा विकेट लेने के हरभजन सिंह के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा. 'भज्‍जी' ने 103 टेस्‍ट में 25 बार यह उपलब्धि हासिल की है. महान हरफनमौला कपिलदेव 23 और पूर्व लेग स्पिनर भगवत चंद्रशेखर 16 बार पारी में पांच या इससे ज्‍यादा विकेट लेने की उपलब्धि हासिल कर चुके हैं. कपिलदेव ने 131 और चंद्रशेखर ने 58 टेस्‍ट मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्‍व किया था. साल 2016 में 72 टेस्ट विकेट लेकर आईसीसी के बेस्ट टेस्ट क्रिकेटर ऑफ ईयर बने अश्विन का प्रदर्शन दिनोंदिन बेहतर होता जा रहा है. अश्विन ने गेंदबाजी में ही नहीं बल्कि बल्लेबाजी में भी जौहर दिखाया है. वह टेस्ट मैचों में अब तक चार शतक लगा चुके हैं. वेस्टइंडीज के खिलाफ वर्ष 2011 में टेस्ट मैचों में ऑफ स्पिनर के रूप में टीम इंडिया में जगह बनाने वाले रविचंद्रन अश्विन ने वर्ल्ड क्रिकेट में खुद एक ऑलराउंडर के रूप में स्थापित कर लिया है. अश्विन की क्रिकेट की उपलब्धियों को देखकर हर कोई उनकी सराहना कर रहा है, फिर चाहे वह कोई भारतीय क्रिकेटर हो या विदेशी. पिछले दिनों ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज कप्तान स्‍टीव वॉ ने तो आर अश्विन को गेंदबाजी का 'डॉन' करार दिया था.अश्विन अपनी गेंदों के वेरिएशन से बल्‍लेबाजों की कड़ी परीक्षा लेते हैं. दरअसल स्‍टीव वॉ ने अश्विन को यह नाम ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन से तुलना करते हुए दिया है, जिनके बल्लेबाजी औसत तक कोई नहीं पहुंच पाया है. स्टीव वॉ के अनुसार अगर ब्रैडमैन बल्लेबाजी के 'डॉन' थे, तो अश्विन 'गेंदबाजी के डॉन' हैं. भारतीय गेंदबाजी में सबसे तेज 100 विकेट लेने का रिकॉर्ड भी अश्विन के ही नाम पर है. उन्‍होंने 18 टेस्ट मैचों में 100 विकेट के आंकड़े को छुआ था.


कोलंबो टेस्ट : दूसरे दिन लंच तक भारत के 442 पर गिरे 5 विकेट.
4 Aug 2017

कोलंबो। भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन लंच तक भारत ने 442/5 रन बना लिए हैं। इस समय क्रीज पर रिद्धिमान साहा (16) और रविचंद्रन अश्विन (47) रन बनाकर टिके हुए हैं। दूसरे दिन लंच तक श्रीलंका को 2 विकेट मिले और दिमुथ करुणारत्ने, मलिंडा पुष्पकुमारा को 1-1 विकेट हासिल हुआ। आज पहले सत्र में पुजारा (133) रन बनाकर आउट हो गए। पुजारा और रहाणे के बीच चौथे विकेट के लिए कुल 217 रनों की साझेदारी हुई। इसके बाद रहाणे और अश्विन ने संभलकर बल्लेबाजी की और दोनों ने भारत के स्कोर 400 के पार पहुंचा दिया। दोनों बल्लेबाज भारत को विशाल स्कोर तक ले जाने की कोशिश कर रहे थे तभी रहाणे (132) रन बनाकर आउट हो गए। रहाणे और अश्विन ने पांचवें विकेट के लिए 63 रन जोड़े। रहाणे के बाद साहा बल्लेबाजी करने आए और अश्विन के साथ मिलकर भारत के स्कोर को 442/5 पहुंचा दिया। साहा इस समय 16 रन बनाकर खेल रहे हैं तो अश्विन 47 रन पर नॉट आउट हैं।


स्टैनफोर्ड क्लासिक ओपन से हटीं शारापोवा.
3 Aug 2017

स्टैनफोर्ड। पांच बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन मारिया शारापोवा बाएं हाथ में दर्द के चलते स्टैनफोर्ड क्लासिक के अपने दूसरे दौर के मैच से पहले हट गई हैं। शारापोवा ने एक बयान में कहा कि दुर्भाग्य से, मुझे आज के मैच से पीछे हटना होगा। उन्होंने कहा कि सोमवार की रात खेले गये मैच के बाद मुझे अपने बाएं हाथ में दर्द महसूस हो रहा था। कल की स्कैन के बाद, डॉक्टर ने मुझे सलाह दी है कि मैं आराम करूं। 15 महीने की डोपिंग प्रतिबंध के बाद शारापोवा चौथी टूर्नामेंट में वाइल्डकार्ड के रूप में हिस्सा ले रही थीं। शारापोवा ने सोमवार को स्टैनफोर्ड में पैर की चोट से उबरते हुए आठ हफ्ते बाद डब्ल्यूटीए में वापसी की थी, जहां उन्होंने जेनिफर ब्रैडी को 6-1, 4-6, 6-0 से हराया था।


ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटर बेरोजगार, नए भुगतान करार के बिना बांग्लादेश दौरे पर नहीं जायेंगे: स्‍टीव स्मिथ.
2 Aug 2017

सिडनी: ऑस्‍ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा कि खिलाड़ियों और प्रबंधन के बीच भुगतान विवाद लगभग थमने की उन्हें खुशी है लेकिन उन्होंने चेताया कि नया करार होने की दशा में ही टीम इस महीने बांग्लादेश दौरे पर जायेगी. जून के आखिर में करार खत्म होने के बाद से करीब 230 ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटर बेरोजगार हैं. नये भुगतान करार पर महीनों की तीखी तकरार अब खत्म होती दिख रही है. स्मिथ ने कहा,''अभी करार हुआ नहीं है. अभी कुछ चीजें तय होनी बाकी हैं. हम इस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.'' उन्होंने कहा, ''लेकिन मैंने क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया से साफ तौर पर कह दिया है कि करार होने के बाद ही हम 18 अगस्त से शुरू हो रहे बांग्लादेश दौरे पर जायेंगे.'


सहवाग ने फिर छोड़ा 'ट्वीट बाउंसर', लिखा- पति परिवार का HEAD, पत्नी वो गर्दन जो सिर को चारों आेर घुमाती है.
31 July 2017

नर्इ दिल्ली। क्रिकेट के मैदान पर कभी छक्के-चौकों की बरसात करने वाले पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग आजकल ट्विटर पर आतिशी पारियां खेल रहे हैं। सहवाग के दनदनाते ट्वीट अक्सर चर्चाआें में रहते हैं। एक बार फिर सहवाग ने कुछ एेसा लिखा है जो वायरल हो गया है। इस बार उन्होंने बीवी को लेकर ट्वीट किया है। सहवाग ने अपने ट्वीट में लिखा है कि पति परिवार का HEAD होता है आैर पत्नी गर्दन होती है जो सिर को चारों आेर घुमाती है। जो बीवी से करे प्यार वो सेल्फी से कैसे करे इनकार। इसके साथ ही उन्होंने अपनी पत्नी आरती के साथ एक सेल्फी शेयर की है। लोगों को सहवाग का ये ट्वीट इतना पसंद आया है कि वो इसे 3000 से ज्यादा बार रिट्वीट किया जा चुका है, वहीं 40 हजार से ज्यादा लोगों ने इसे लाइक किया है। ये कोर्इ पहला मौका नहीं है जब सहवाग ने पत्नी को लेकर कोर्इ ट्वीट किया हो। इससे पहले सहवाग ने ट्विटर पर एक सिनेमा हाॅल में फिल्म देखने की फोटो साझा की थी। इसमें सहवाग ने लिखा था कि एक खुश बीवी का मतलब है कि खुश जिंदगी। थिएटर में बीवी फिल्म देख रही है आैर मैं मैच, बीवी भी खुश आैर मैैं भी। हम आपको बता दें कि वीरेंद्र सहवाग भारत के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक रहे हैं। फिलहाल वे खेल रत्न अवाॅर्ड आैर अर्जुन अवाॅर्ड के लिए खिलाड़ियों का चयन करने वाली कमेटी का हिस्सा हैं। इस कमेटी में उनके साथ पीटी उषा को भी शामिल किया गया है।


विश्व जूनियर स्क्वैश में छठें स्थान पर रही भारतीय टीम.
29 July 2017

नई दिल्ली। भारतीय टीम डब्लूएसएफ विश्व जूनियर स्क्वैश चैम्पियनशिप के लड़कियों की टीम स्पर्धा में छठवें स्थान पर रही। पांचवे-छठवें स्थान के लिए हुए मैच में भारतीय टीम को संयुक्त राज्य अमेरिका ने 2-1 से हरा दिया। इस मैच में एक बार फिर सुनयना कुरूविला ने भारत को बराबरी दिलायी थी लेकिन आखिरी मैच में ऐश्वर्या भट्टाचार्य के हारने से भारतीय टीम को 2-1 से हार का सामना करने के साथ ही छठें स्थान से संतोष करना पड़ा। इस मैच के पहले मुकाबले में मरीना स्टेफानोनी ने आकांक्षा सालुंखे को 11-2, 11-9, 11-4 से हराया। हालांकि दूसरे मुकाबले में सुनयना कुरूविला ने ग्रेस डोयल को 11-7, 3-11, 7-11, 7-11 से हराकर भारत को 1-1 की बराबरी दिलायी। अंतिम मुकाबले में एले रगिएरिया ने ऐश्वर्या भट्टाचार्य को 11-7, 11-5, 11-8 से हराकर अमेरिका को 2-1 से जीत दिलाकर पांचवें स्थान पर पहुंचा दिया।


सिनसिनाटी ओपन के लिए शारापोवा और अजारेंका को वाइल्डकार्ड.
28 July 2017

मॉस्को । रूसी टेनिस खिलाड़ी मारिया शारापोवा को सिनसिनाटी डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट में वाइल्ड कार्ड प्रवेश मिला है। सिनसिनाटी ओपन यूएस ओपन के पहले अंतिम और महत्वपूर्ण वार्म-अप है। शारापोवा के अलावा बेलारूसी स्टार विक्टोरिया अजारेंका को भी वाइल्डकार्ड दिया गया है, जिन्होंने हाल ही में मातृत्व अवकाश के बाद टेनिस कोर्ट में वापसी की है। सिनसिनाटी ओपन 12 अगस्त से शुरू होकर 20 अगस्त तक चलेगा। टूर्नामेंट के निदेशक आंद्रे सिल्वा ने कहा कि शारापोवा और अजारेंका को टूर्नामेंट को और मजबूती देने के लिए वाइल्डकार्ड प्रदान किया गया है। उन्होंने कहा कि इन दोनों खिलाड़ियों के अलावा पहले से ही और कई शानदार खिलाड़ी हमसे जुड़े हैं। टूर्नामेंट के दौरान हम डब्ल्यूटीए नंबर 1 रैंकिंग की उम्मीद करते हैं और इस क्षमता के खिलाड़ियों को जोड़ने से टूर्नामेंट को अधिक मजबूती मिलेगी। 30 वर्षीय शारापोवा ने 2011 में सिनसिनाटी ओपन का खिताब जीता था। जबकि अजारेंका ने 2013 में यह खिताब जीता था।


खेल मंत्री ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम को किया सम्मानित.
27 July 2017

नई दिल्ली। खेल मंत्री विजय गोयल ने गुरूवार को भारतीय महिला क्रिकेट टीम को आईसीसी महिला विश्वकप में उनके शानदार प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया। गोयल ने टीम को बधाई देते हुए कहा कि मिताली राज की अगुवाई वाली भारतीय टीम भले ही मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ खिताबी मुकाबले में नौ रन से हार गई हो,लेकिन उन्होंने पूरे देश के दिलों को जीत लिया है। उन्होंने कहा कि हमारी महिला क्रिकेट टीम ने बहुत अच्छा किया है कि उनके लिए किसी भी प्रकार की प्रशंसा कम होगी। विश्व कप में उपविजेता होने के बावजूद मुझे लगता है कि महिला टीम ने फाइनल जीता है क्योंकि उन्होंने पूरे देश के दिलों को जीत लिया है और पूरे देश के दिलों को जीतना इतनी बड़ी बात है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कहा है, ‘हमें आप पर गर्व है’ और यही कारण है कि प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं कि यदि आप खेलते हैं, तो आप बढ़ेंगे’। खेल मंत्री ने आगे कहा कि 50 ओवर के टूर्नामेंट में उनके प्रदर्शन के बाद देशभर के लोग महिला क्रिकेटरों के बारे में अधिक जागरूक हो गए हैं। विश्व कप से पहले महिला टीम के बारे में लोगों को ज्यादा जानकारी नहीं थी, लेकिन अब विश्व कप के खिताबी मुकाबले के बाद लोग सभी महिला खिलाड़ियों के बारे में जानते हैं| इसलिए मैं मिताली राज और उनकी पूरी टीम को बधाई देना चाहता हूं। मैं भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को भी बधाई देना चाहता हूं। साथ ही कोच, टीम मैनेजर और सहायक स्टाफ को भी बधाई देना चाहता हूं। गौरतलब है कि इंग्लैंड ने आईसीसी महिला विश्व कप के एक रोमांचक मुकाबले में भारत को 9 रन से हराकर विश्व कप पर कब्जा किया। इंग्लैंड की तरफ से अन्ना श्राबोलल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 46 रन देकर 6 विकेट लिये। 229 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही भारतीय टीम एक समय तीन विकेट पर 191 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी। आखिरी 12 गेंदों पर टीम को जीत के लिए 11 रनों की दरकार थी, लेकिन भारतीय टीम 219 रनों पर ही सिमट गई।


गाले टेस्ट : पहले दिन लंच तक भारत ने एक विकेट पर 115 रन बनाए.
26 July 2017

गाले: तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला के पहले टेस्ट के पहले दिन लंच तक भारतीय टीम ने एक विकेट के नुकसान पर 115 रन बना लिए हैं। चेतेश्वर पुजारा 37 रन और शिखर धवन 64 बनाकर नाबाद हैं। इन दोनों के बीच अब तक 88 रनों की साझेदारी हो चुकी है। भारत की तरफ से आउट होने वाले बल्लेबाज अभिनव मुकुंद हैं। मुकुंद को प्रदीप ने डिकवेला के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेजा। मुकुंद ने 12 रन बनाए। इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। अभिनव मुकुंद और शिखर धवन ने संभलकर खेलते हुए भारतीय टीम को सधी शुरुआत दी। इन दोनों के बीच 27 रन की साझेदारी हुई। आठवें ओवर की तीसरी गेंद पर 27 के कुल स्कोर पर मुकुंद को प्रदीप ने डिकवेला के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेजा। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे चेतेश्वर पुजारा और शिखर धवन ने भारतीय टीम को कोई क्षति नहीं होने दी और स्कोर 100 के पार पहुंचाया। इस दौरान धवन ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया।


इतिहास रचने जा रही थी टीम इंडिया तब ‘द हूफ’ के हाथ में आई गेंद और फिर.
24 July 2017

नई दिल्ली: 2005 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल मैच में रन का पीछा करने का जो दबाव भारतीय महिला टीम के ऊपर था रविवार को एक बार फिर उसी दबाव ने टीम को इतिहास रचने से रोक दिया. अच्छी शुरुआत के बावजूद सिर्फ 29 रन पर आखिरी सात विकेट गवां कर टीम इंडिया 9 रन से मैच हार गई और लॉर्ड्स के मैदान पर एक खास रिकॉर्ड बनाने से चूक गई. अगर रविवार को भारत फाइनल मैच जीत जाता तो यह पहली बार होता जब किसी देश की पुरुष और महिला टीम ने क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान पर वर्ल्ड कप जीतने का गौरव हासिल किया होता. 1983 में भारतीय पुरुष टीम ने इस मैदान पर इतिहास रचते हुए वर्ल्ड कप जीता था. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने निर्धारित 50 ओवरों में 7 विकेट पर 228 रन बनाए थे. इंग्लैंड की तरफ से नेटली स्कीवर ने सबसे ज्यादा 51 रन बनाए. भारत की तरफ झूलन गोस्वामी ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 10 ओवर में सिर्फ 23 रन देकर 3 विकेट लिए. दो रन आउट भारत के लिए घातक साबित हुए : भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही. टीम के सिर्फ पांच रन के स्कोर पर स्मृति मंधाना बिना खाते खोले पैवेलियन लौट गईं. कप्तान मिताली राज और पूनम राउत के बीच दूसरे विकेट के लिए 38 रन की साझेदारी हुई, लेकिन भारत का स्कोर जब 43 रन था तब मिताली रन आउट हो गईं. यह रन आउट भारत के लिए घातक साबित हुआ. इस टूर्नामेंट में मिताली ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाए. तीसरे विकेट के लिए हरमनप्रीत कौर और पूनम राउत के बीच 95 रन की साझेदारी हुई. जब भारत का स्कोर 138 रन था तब 51 रन बनाकर कौर आउट हो गईं. चौथे विकेट के लिए राउत और वेदा कृष्णामूर्ति के बीच 53 रन की साझेदारी हुई. ये दोनों बल्लेबाज जब मैदान पर थे तो यह लग रहा था कि भारत इस मैच को आसानी से जीत जाएगा, लेकिन पूनम राउत के 86 रन पर आउट हो जाने के बाद भारत के ऊपर दवाब बढ़ता गया और टीम इंडिया ने अपने आखिरी छह विकेट सिर्फ 29 रन पर गवां दिए. मिताली राज की तरह अहम समय पर शिखा पांडे भी रन आउट हो गईं. फाइनल मैच में दो रन आउट भारत के ऊपर भारी पड़े. द हूफ’ के नाम से प्रसिद्ध अन्या श्रुब्सोले ने छीन ली भारत से जीत : 191 रन पर सिर्फ तीन विकेट गवां कर जब टीम इंडिया एक सुनिश्चित जीत की तरफ बढ़ रही थी तब ‘द हूफ’ के निकनेम से प्रसिद्ध अन्या श्रुब्सोले गेंदबाज़ी करने आईं और भारत से मैच छीन लिया. अगर इंग्लैंड के लिए किसी एक खिलाड़ी ने मैच जीताने का काम किया तो वह है अन्या श्रुब्सोले. 42 ओवरों के बाद भारत का स्कोर तीन विकेट पर 191 रन था. मैदान पर पूनम राउत और वेदा कृष्णमूर्ति मौजूद थे तब श्रुब्सोले गेंदबाज़ी करने आईं. श्रुब्सोले की पहली दो गेंदों पर कृष्णमूर्ति ने दो शानदार चौके भी लगाए लेकिन शानदार वापसी करते हुए श्रुब्सोले ने पांचवे गेंद पर सेट बल्लेबाज पूनम राउत को आउट कर दिया. फिर अपने अगले ओवर में श्रुब्सोले ने कृष्णमूर्ति और झूलन गोस्वामी का विकेट लिया. 48 ओवरों के बाद भारत का स्कोर आठ विकेट पर 218 रन था. भारत को जीतने के लिए आखिरी 12 गेंद पर 11 रन की जरूरत थी तब 49वां ओवर गेंदबाज़ी करने के लिए श्रुब्सोले आईं और पहली गेंद पर दीप्ति शर्मा को आउट किया और फिर इसी ओवर की चौथी गेंद पर राजेश्वरी गायकवाड़ को बोल्ड कर दिया और इसी के साथ इंग्लैंड को शानदार जीत दिलाई. सिर्फ इतना ही नहीं शिखा पांडे के रन आउट के पीछे भी श्रुब्सोले का हाथ था. करियर का सबसे शानदार प्रदर्शन : अन्या श्रुब्सोले का करियर का यह सबसे शानदार प्रदर्शन है. श्रुब्सोले ने 9.4 ओवर की गेंदबाज़ी करते हुए 46 रन देकर 6 विकेट लिए. इससे पहले श्रुब्सोले का सबसे अच्छा प्रदर्शन साउथ अफ्रीका के खिलाफ था. 10 फरवरी 2013 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ उन्होंने 10 ओवरों में 17 रन देकर 5 विकेट लिए थे. अगर वर्ल्ड कप की बात की जाए तो सबसे अच्छा प्रदर्शन के मामले में श्रुब्सोले तीसरे स्थान पर पहुँच गई हैं. महिला वर्ल्ड कप में गेंदबाजी में सबसे अच्छा प्रदर्शन जैकी लार्ड के नाम है. 14 जनवरी 1982 को लार्ड ने भारत के खिलाफ 8 ओवर गेंदबाजी करते हुए 10 रन देकर 6 विकेट लिए थे. इसे पहले भी श्रुब्सोले ने कई शानदार प्रदर्शन किए हैं. 2014 के महिला टी-20 वर्ल्ड कप में भी श्रुब्सोले ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए ‘वीमेन ऑफ द सीरीज’ का खिताब अपने नाम किया था. अब तक श्रुब्सोले ने कुल मिलाकर 46 एकदिवसीय मैच खेलते हुए 45 विकेट लिए हैं.


विश्व जूनियर स्क्वैश के क्वार्टर फाइनल में हारे अभय
22 July 2017

नई दिल्ली। भारत के शीर्ष जूनियर स्क्वैश खिलाड़ी अभय सिंह डब्लूएसएफ विश्व जूनियर स्क्वैश चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में हारकर बाहर हो गये। अभय को मिस्र के मारवान तेरेक ने 8-11, 11-4, 11-6, 11-6 से हराया। तरेक ने इससे पहले तीसरे दौर में एक अन्य भारतीय खिलाड़ी यश फडटे को भी मात दी थी। अभय अब 5 से 8वें स्थान के लिए खेलेंगे। चैंपियनशिप में अब भारत की उम्मीदें अब लड़कियों के टीम स्पर्धा से जुड़ी हैं। जो 25 जुलाई को शुरू हो रही है। इसके बाद लड़कों की एक अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट सीरीज़ का भी आयोजन किया जायेगा, जिसमें भारत, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड की टीमें शामिल होंगी।


भारत आईसीसी महिला विश्वकप के फाइनल में, ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराया
21 July 2017

डर्बी। हरमनप्रीत कौर की तूफानी (नाबाद 171) शतक और गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराकर आईसीसी महिला विश्व कप के खिताबी मुकाबले में जगह बनायी, जहां मेजबान इंग्लैंड से उनका सामना होगा। भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 42 ओवरों में 04 विकेट के नुकसान पर 281 रन बनाये। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 40.1 ओवरों में 245 रनों पर आल आउट हो गई। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से केवल विलानी और ब्लैकवेल ही भारतीय गेंदबाजों का सामना कर पायीं। विलानी ने 75 और ब्लैकवेल ने 90 रन बनाये। इन दोनों के अलावा केवल पेरी ने 38 रन बनाये। भारत की तरफ से झूलन गोस्वामी, शिखा पांडेय, दीप्ती शर्मा ने 2-2 व राजेश्वरी गायकवाड़, दीप्ती शर्मा और पूनम यादव ने 1-1 विकेट लिया। इससे पहले हरमनप्रीत कौर के नाबाद विस्फोटक शतक (171) की बदौलत टॉस जीतकर बारिश से बाधित आईसीसी महिला विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 42 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 281 रन बनाया। बारिश कारण देर से शुरू हुए इस मैच को 42-42 ओवरों का किया गया। भारतीय टीम की शुरुआत एक बार फिर अच्छी नहीं रही। मैच के पहले ओवर में ही स्कॉट की गेंद पर स्मृति मंधाना छह गेंद पर छह रन बनाकर विलानी को कैच दे पवेलियन लौट गईं। स्मृति लगातार पांचवीं बार 15 रन से कम के स्कोर पर आउट हुई। भारत को दूसरा झटका पूनम राउत के रूप में लगा। पूनम ने 14 रन बनाकर गार्डनर की गेंद पर मूनी को कैच थमा बैठीं। 25वें ओवर की आखिरी गेंद पर कप्तान मिताली 36 रन बनाकर क्रिस्टन बीम्स की गेंद पर बोल्ड हो गईं। इसके बाद हरमनप्रीत और दीप्ती शर्मा ने पारी को संभाला। इन दोनों के बीच 137 रनों की साझेदारी हुई। विलानी ने दीप्ती को 238 को स्कोर पर बोल्ड कर यह साझेदारी तोड़ी। दीप्ती ने 25 रन बनाये। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से स्कॉट, गार्डनर, विलानी, और क्रिस्टन बीम्स ने एक-एक विकेट लिया।


नए कोच के साथ श्रीलंका जीतने निकली टीम इंडिया
19 July 2017

नई दिल्ली: नए कोचिंग स्टाफ के साथ भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार को श्रीलंका दौरे के लिए रवाना होगी. इस दौरे पर टीम अपना पहला टेस्ट मैच 26 जुलाई से गॉल में खेलेगी. टीम इस दौरे पर तीन टेस्ट मैच, पांच वनडे और एक टी-20 मैच खेलेगी. दौरे का अंत कोलंबों में टी-20 मैच के साथ होगा. चोटिल सलामी बल्लेबाज मुरली विजय कलाई में चोट के कारण इस दौरे से बाहर हो गए हैं. उनकी जगह बाएं हाथ के बल्लेबाज शिखर धवन को टीम में जगह मिली है रवि शास्त्री के मुख्य कोच के तौर पर टीम के साथ यह पहला दौरा होगा. शास्त्री को हाल ही में टीम का मुख्य कोच बनाया गया है. वहीं मंगलवार को गेंदबाजी कोच के तौर पर भरत अरुण के नाम पर मुहर लग गई है. वह इस दौरे पर एक बार फिर टीम के साथ होंगे. टीम गॉल के बाद दूसरा टेस्ट सिंहली स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर तीन से सात अगस्त के बीच और तीसरा टेस्ट पालेकेले में 12 से 16 अगस्त के बीच खेला जाएगा. पालेकेले में ही दूसरा और तीसरा वनडे क्रमश: 24 और 27 अगस्त को खेला जाएगा. वनडे सीरीज की शुरूआत 20 अगस्त से दाम्बुला में होगी. चौथा और पांचवां वनडे मैच खेट्टाराम में होगा. इसी जगह इकलौता टी-20 मैच छह सितंबर को खेला जाएगा. श्रीलंका ने इससे पहले 2015 में भारत की मेजबानी की थी.


पोलो विश्व कप के लिए भारतीय टीम ने किया क्वालीफाई
17 July 2017

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया में 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे पोलो विश्व कप के लिए भारतीय टीम ने क्वालीफाई कर लिया है। भारत ने 1957 में फ्रांस में पोलो विश्व कप का खिताब जीता था। भारत ने तेहरान में खेले गये क्वालीफाइंग दौर में ईरान, दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान को हराकर विश्वकप के लिए क्वालीफाई किया। भारत ने मेजबान ईरान को 10-8 से, दक्षिण अफ्रीका को 5-4 से और पाकिस्तान को 8-7 से हराया। दूसरी तरफ सेना भारतीय पोलो टीम में सेना ने किसी भी खिलाड़ी के न होने पर अफसोस जताया है। पूर्व भारतीय पोलो खिलाड़ी कर्नल नरिन्दर ने बताया कि भारतीय टीम में सेना का कोई खिलाड़ी शामिल नहीं था, जबकि सेना के पास 6000 घोड़े हैं, यह वाकई अफसोसजनक है।


जयपुर के सुंदर गुर्जर ने जीता स्वर्ण, 60.36 मीटर भाला फेंककर पाई स्वर्णिम सफलता
15 July 2017

जयपुर। लंदन में चल रही वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स में जयपुर के एथलीट सुंदर गुर्जर ने ​एफ-46 वर्ग में भाला फेंक स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता लिया है। सुन्दर ने 60.36 मीटर भाला फेंकते हुए यह स्वर्णिम सफलता हासिल की। स्पर्धा का रजत पदक 57.93 मीटर भाला फेंकने वाले श्रीलंका के हेरात दिनेश तथा कांस्य पदक 56.14 मीटर भाला फेंकने वाले चीन के गुओ चुनलैंग ने प्राप्त किया। सुन्दर की इस सफलता पर पैरा स्पोट्र्स एसोसिएशन, राजस्थान के मुख्य संयोजक दिने दिनेश कुमार उपाध्याय और अन्य पदाधिकारियों ने बधाइयां दी हैं। टूर्ना में आज राज्य की पैरा एथलीट शताब्दी अवस्थी एफ-55 वर्ग में शॉटपुट स्पर्धा में भाग लेंगी।


'दानवीर' बना ये दिग्गज क्रिकेटर, नीलाम करने जा रहा 10 हज़ारी बल्ला, शिक्षा-स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए जुटा रहा राशि
13 Jul 2017

नई दिल्ली। लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज यूनुस खान ने जिस बल्ले से टेस्ट क्रिकेट में 10000 रनों का आंकड़ा छूआ था उस बल्ले को अब वह नीलाम करेंगे। 40 वर्षीय यूनुस ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने जिस बल्ले से 10000 रनों का आंकड़ा पार किया था उस बल्ले को एक एनजीओ को सौंप देगें ताकि बल्ले को नीलाम करके शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में लोगों की मदद की जा सके। पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने कहा कि वह भविष्य में बहुत कल्याणकारी कार्य करना चाहते हैं खासकर शिक्षा, स्वास्थ्य के लिए। इसके अलावा वह देश में क्रिकेट को बढ़ावा देने के दिशा में भी काम करना चाहते हैं। टेस्ट क्रिकेट में 118 मैच खेलकर 10000 रन बनाने वाले यूनुस ने इस वर्ष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उन्होंने 265 वनडे मैचों में 7249 रन बनाए है।


भारतीय रेसिंग की पहली महिला ड्राइवर मीरा का खुलासा! 'पुरुष ड्राइवर नहीं चाहते थे मैं ड्राइव करूं
12 Jul 2017

नई दिल्ली। वो 8 साल की थी, जब पहली बार रेसिंग कार के लिए उसके मन में क्रेज जागा। पापा ने कार्टिंग (छोटी फॉर्मूला जैसी कार) ट्रेक शुरू किया था और बाकी बच्चों की तरह वो भी उसका मजा लेने के लिए आने लगी। मजा ऐसा आया कि उसने इसे ही करियर बनाने की ठान ली। लेकिन क्या ये इतना आसान था? यदि 17 साल की मीरा इरडा के शब्दों में कहा जाए तो नहीं, ये दुनिया के सबसे मुश्किल कामों में से एक था। खासतौर पर इसलिए, क्योंकि वो एक लड़की थी। रेसिंग शब्द आते ही जिस समाज में सिर्फ लड़कों की ही तस्वीर दिमाग में आती हो, वहां देश की पहली प्रोफेशनल फॉर्मूला रेसर बनना बहुत सारे बलिदानों के बाद संभव हुआ है। बढिय़ा शुरुआत की मीरा इरडा तीन दिन पहले कोयंबटूर के कारी मोटरस्पोट्र्स स्पीड-वे पर जेके टायर एफएमएससीआई नेशनल रेसिंग की यूरो जेके सीरीज में उतरने वाली पहली और इकलौती महिला रेसर बनी हैं। ये सीरीज भारतीय सर्किट की फॉर्मूला रेस कही जाती है। हालांकि सिर्फ 1 महीने की तैयारी से शामिल हुई मीरा का प्रदर्शन पहली बार में उतना बढिय़ा नहीं रहा, लेकिन दूसरे दिन जैसे वे टॉप-8 ड्राइवरों में शामिल हुई, उससे उनके आगामी भविष्य का अंदाजा लग सकता है। स्कूल के साथी भी छूट गए इस साल कक्षा 12 में पहुंची बड़ोदरा निवासी मीरा ने बताया कि उन्हें स्कूल टाइम में अपने साथियों से बिछुडऩा पड़ा। दिन में कई घंटे प्रैक्टिस होती थी, बाहर भी जाना पड़ता था। पिछले साल नेशनल रेसिंग की एलजीबी-4 सीरीज में रूकी चैंपियन बनीं मीरा का कहना है कि बाद में तो मुझे पारिवारिक समारोह भी छोडऩे पड़े। दूसरे शब्दों में कहें तो रेसिंग के लिए मेरी, मेरे पिता किरीट इरडा और मां की सोशल लाइफ खत्म हो गई। ट्रैक पर भी थी अकेली मीरा बताती हैं कि शुरुआत में रेसिंग सर्किल में भी अकेली रहती थी। पुरुष ड्राइवर दूर रहते थे, मुझे हतोत्साहित करते थे। ट्रैक से बाहर आते ही मेरी मां ही मेरी दोस्त होती थी। धीरे-धीरे मैंने अपने प्रदर्शन से मात देनी शुरू की तो सम्मान मिलना शुरू हुआ। अब सब सहयोग करते हैं। मेरे कंधे थक जाते थे एक महीना पहले यूरो जेके सीरीज के लिए हरी झंडी मिलने पर मीरा ट्रेनिंग के लिए मलेशिया गई। वो बताती हैं कि मैंने जब ये कार चलाना शुरू की तो कुछ लैप के बाद ही मेरे कंधे-कलाई थक जाती थी। नतीजा मुझे फिटनेस प्रोग्राम और बढ़ाना पड़ा। ऐसा रहता है शेड्यूल 06 बजे सुबह उठकर रनिंग, 02 घंटे रनिंग और एरोबिक्स 8.30 बजे सुबह स्कूल जाना, वहां इंटरवल में फुटबॉल खेलना 03 घंटे स्कूल से लौटकर सिमुलेटर पर ड्राइविंग प्रैक्टिस 2.5 घंटे तक उसके बाद जिम में जाकर एक्सरसाइज करना


इस अफगानिस्तानी खिलाड़ी ने टी-20 में ठोका दोहरा शतक, लगाए 21 छक्के और 16 चौके
11 Jul 2017

नई दिल्ली। अफगानिस्तान के एक क्रिकेटर ने ऐसा कारनामा कर दिया जिसे हर कोई हैरान है। अफगानिस्तान के बल्लेबाज शफीकूल्लाह शफक ने अपने बल्ले से रनों की ऐसी 'आग' उगली की टी-20 में दोहरा शतक ठोक डाला। उन्होंने घरेलू टी-20 मैच में तुफानी पारी खेलते हुए 71 गेदों 214 रन बना डाले। इस ताबड़तोड़ पारी के दौरान शफीकूल्लाह ने 21 छक्के और 16 चौके जड़े। शफीकूल्लाह की विस्फोट बल्लेबाजी की बदौलत उनकी टीम, खतीज क्रिकेट अकादमी ने 20 ओवरों में 351 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा कर दिया। शफीकूल्लाह को दूसरे छोर पर वहीदुल्लाह का अच्छा साथ मिला। वहीद ने भी महज 31 गेंदों में 81 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। जवाब में काबूल स्टार क्रिकेट क्लब की टीम 107 रनों पर ढेर हो गई। इसी के साथ खतीज क्रिकेट अकेडमी 244 रनों से जीत हासिल कर ली। शफीकुल्लाह ने 2009 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। वे अब तक 20 वनडे खेले चुके हैं, जिनमें उनका औसत 25.53 है। वहीं 35 टी-20 मैचों में उन्होंने अपने देश का प्रतिनिधित्व किया है। टी-20 में उन्होंने कुल 392 रन बनाए हैं और उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 51 रन है और इनका स्ट्राइक रेट 143.07 का रहा है। आपको बता दें कि प्रोफेशनल टी-20 मैचों में सबसे बड़ा निजी स्कोर क्रिस गेल ने बनाया है। उन्होंने आइपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते हुए नाबाद 175 रन बनाए थे। हालांकि भारत में खेले गए एक घरेलू टी-20 मैच में मोहित अहलावत ने तिहरा शतक ठोंका था


एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत ने रचा इतिहास
10 Jul 2017

नई दिल्ली नई दिल्ली। मेजबान भारत ने भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में संपन्न हुए 22वें एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 12 स्वर्ण, पांच रजत और 12 कांस्य (29 पदक) पदकों के साथ शीर्ष स्थान हासिल कर इतिहास रच दिया है। भारतीय दल ने प्रतियोगिता के चौथे और अंतिम दिन अपना वर्चस्व जारी रखते हुए पांच स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक जीता और पहला स्थान हासिल कर इतिहास रच दिया। चीन 20 पदकों (आठ स्वर्ण, सात रजत और पांच कांस्य) के साथ दूसरे और कजाकिस्तान 8 पदकों (चार स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य) के साथ तीसरे स्थान पर रहा। वहीं, ईरान पांच पदकों (चार स्वर्ण और एक कांस्य) के साथ चौथे स्थान पर रहा। भारत के लिए महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में निर्मला श्योराण और पुरूषों की 400 मीटर दौड़ में मुहम्मद अनस ने स्वर्ण पदक जीता। इसी स्पर्धा में राजीव अरोकिया ने रजत पदक जीता, जबकि महिलाओं में जिस्ना मैथ्यू ने कांस्य पदक जीता। महिलाओं और पुरूषों की 1500 मीटर दौड़ में पीयू चित्र और अजय कुमार सरोज ने स्वर्ण जीता तो 100 मीटर दौड़ में महिला धाविका दुती चंद ने कांस्य पदक पर कब्जा जमाया। पुरूष शॉटपुट में तेजेंदर पाल सिंह ने 19.77 मी. से रजत पदक जीता। मनप्रीत कौर ने महिलाओं की गोला फैंक स्पर्धा में 18.28 मीटर गोला फेंक कर स्वर्ण पदक हासिल किया। लंबी दूरी के धावक जी. लक्ष्मणन ने 5000 मीटर की दौड़ 14 मिनट 54.48 सैकेंड में पूरी करके पहला स्थान हासिल किया। इसके अलावा लक्ष्मणन ने 10000 मीटर रन में 29:55.87 समय के साथ अपना दूसरा स्वर्ण जीता। इस प्रतियोगिता का रजत भी भारत के नाम रहा। भारत के गोपी थोनकाल ने 29:58.89 समय के साथ रजत पदक जीता। इसके अलावा वी. नीना और नयन जेम्स ने महिलाओं की लंबी कूद में रजत और कांस्य पदक जीता। वहीं, विकास गौड़ा, संजीवनी यादव, अनु रानी ने क्रमश: पुरुषों के चक्का फैंक, महिलाओं की 5000 मीटर दौड़ और भाला फैंक में कांस्य पदक अपने नाम किया। भारतीय युवा भाला फेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने 85.23मीटर भाला फेंक कर स्वर्ण पर कब्जा जमाया। महिलाओं की 800 मीटर स्पर्धा में भारत की अर्चना यादव ने स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। भारत के एक और धावक जिनसॉन जॉनसन ने पुरुषों के 800 मीटर वर्ग में कांस्य पदक जीता। इस प्रतियोगिता में भारत ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से न सिर्फ इतिहास रचा बल्कि एशिया में अपना लोहा भी मनवाया।


भारत के लिए सीरीज जीतने का मौका, विंडीज के पास बचाने का
6 Jul 2017

नई दिल्ली किंग्स्टन। पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला के आखिरी मुकाबले को भारत और विंडीज दोनों टीमें ही जीतना चाहेंगी। विंडीज के लिए यह मैच सीरीज में बराबरी करने और भारत के लिए सीरीज जीतने का मौका होगा। पहला मैच बारिश के कारण रद्द होने के बाद भारत ने लगातार दो मैच जीतते हुए सीरीज में 2-0 की बढ़त ले ली थी, लेकिन चौथे वनडे में मिली अप्रत्याशित हार के चलते उसे सीरीज पर कब्जा जमाने के लिए पांचवें मैच तक इंतजार करना पड़ रहा है। पिछले मैच में दोनों टीमों की गेंदबाजी अच्छी रही थी, लेकिन मेहमान और मेजबान टीमों के लिए बल्लेबाजी थोड़ी चिंता का विषय है। शिखर धवन इस सीरीज में कुछ खास नहीं कर पाए हैं। आखिरी मैच में उनसे टीम को रनों की उम्मीद होगी। वहीं कप्तान विराट कोहली भी बल्ले से पिछले मैच में असफल रहे थे। केदार जाधव, हार्दिक पांड्या अंत में अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हैं, लेकिन पिछले मैच में यह दोनों भी विफल रहे थे। सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने हर मैच में 50 का आंकड़ा पार किया है और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने भी अर्धशतक जड़े हैं। लेकिन पिछले मैच में इन दोनों ने बेहद धीमी पारियां खेली थीं। भारत की सबसे बड़ी चिंता इस सीरीज में तेजी से रन बनाने की रही है। बीते दो मैचों में खासकर भारतीय बल्लेबाज रनों की गति को बढ़ा नहीं पाए हैं। इसका बहुत बड़ा कारण पिच भी रही है। पिछले दो मैचों में विकेट काफी धीमी थी और बल्लेबाजों को काफी परेशानी हो रही थी। अगला मैच सबिना पार्क मैदान पर खेला जाना है। यहां की पिच के भी धीमी रहने की संभावना है। ऐसे में दोनों टीमों के दिमाग में यह बात होगी कि इस परिस्थिति में किस तरह से रन बनाने हैं और बोर्ड पर मजबूत स्कोर टांगना है। विंडीज की पिछली जीत के हीरो पांच विकेट लेने वाले कप्तान जेसन होल्डर रहे थे। गेंदबाजी में उनके अलावा अल्जारी जोसेफ, एश्वेल नर्स, देवेंद्र बिशू हैं जिन्होंने पिछले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था। बल्लेबाजी विंडीज की मुख्य चिंता है। इस सीरीज की शुरुआत से ही उसका कोई भी बल्लेबाज नहीं चला है। शाई होप ने जरूर कुछ प्रभाव छोड़ा है। शाई होप के अलावा रोस्टन चेस विंडीज की बल्लेबाजी की मुख्य कड़ी हैं।


ये है बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु की फैमिली, हर मेंबर रहा है स्पोर्ट्स पर्सन
5 Jul 2017

नई दिल्ली भारत की स्टार शटलर और ओलिंपिक मेडलिस्ट पीवी सिंधु आज (5 जुलाई) अपना 23वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रही हैं। पिछले साल रियो ओलिंपिक में बैडमिंटन में सिल्वर मेडल जीतकर सिंधु रातोंरात रोल मॉडल बन गईं। वे ओलिंपिक में सिल्वर जीतने वाली पहली और बैडमिंटन में मेडल जीतने वाली दूसरी शटलर हैं। - पीवी सिंधु की फैमिली में उनके माता-पिता के अलावा उनकी बड़ी बहन भी है। उनके पेरेंट्स प्रोफेशनल वॉलीबॉल प्लेयर रह चुके हैं, वहीं बड़ी बहन हैंडबॉल प्लेयर रही हैं। - पीवी सिंधु के पिता का नाम पीवी रमण हैं और मां का नाम पी. विजया है। उनके पिता को साल 2000 में अर्जुन अवॉर्ड मिल चुका है। वे 1986 में सियोल एशियन गेम्स में ब्रोंज मेडल जीतने वाली टीम इंडिया का हिस्सा थे। - वहीं सिंधु की मां जो कि भारतीय रेलवे में जॉब करती थीं, उन्होंने सिंधु को टाइम देने के लिए जॉब से वॉलंट्री रिटायरमेंट ले लिया। - सिंधु की बड़ी बहन पीवी दिव्या भी नेशनल लेवल हैंडबॉल प्लेयर थीं। लेकिन डॉक्टर बनने के लिए उन्होंने अपने स्पोर्ट्स करियर को छोड़ दिया। - सिंधु के पेरेंट्स चाहते थे कि उनकी बेटी भी वॉलीबॉल प्लेयर बने। लेकिन सिंधु ने वॉलीबॉल की बजाए बैडमिंटन को चुना। दरअसल जब वे 6 साल की थीं तब पी. गोपीचंद ने भारत के लिए ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैम्पियनशिप जीती थी। इसी घटना ने सिंधु को बैडमिंटन प्लेयर बनने के लिए इंस्पायर किया। - सिंधु ने 8 साल की उम्र से बैडमिंटन की ट्रेनिंग लेना शुरू कर दी थी। उनके पहले को महबूब अली थे। जो कि सिकंदराबाद में इंडियन रेलवे सिग्नल इंजीनियरिंग थे और बैडमिंटन की ट्रेनिंग देते थे। - कुछ साल बाद सिंधु ने बाद में पुलेला गोपीचंद की बैडमिंटन अकादमी को ज्वॉइन कर लिया और पढ़ाई के साथ-साथ बैडमिंटन में भी नाम कमाने लगी। उन्होंने अंडर-10 एज ग्रुप के दौरान ही कई टाइटल्स जीत लिए। बढ़ती उम्र के साथ वे लगातार बैडमिंटन में सक्सेस हासिल करती रहीं।


कौन है टीम इंडिया के कोच पद के दावेदार? जानिए 3 बड़े नाम
4 Jul 2017

नई दिल्ली टीम इंडिया के पूर्व डायरेक्टर रवि शास्त्री ने टीम इंडिया के कोच पद के लिए अप्लाई करने का फैसला किया है। रवि शास्त्री ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि " हां मैंने हेड कोच के पद के लिए आवेदन करने का फैसला किया है। साथ ही उन्होंने उन खबरों का खंडन किया है जिनमें कहा गया था कि वह बोर्ड द्वारा कोच बनने के 100 प्रतिशत आश्वासन के बाद ही वह अप्लाई करेंगे। शास्त्री के अलावा आवेदन करने वालों में लालचंद राजपूत, डोडा गणेश, रिचर्ड पायबस, टॉम मूडी, विरेंद्र सहवाग और वेंकटेश प्रसाद भी शामिल है। सदस्यीय क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी अब 10 जुलाई को इंटरव्यू के माध्यम से ही टीम इंडिया के कोच का चुनाव करेगी। बीसीसीआई ने कहा है कि हेड कोच के ट्रांस्पेरेंट और फेयर अप्वाइंटमेंट के लिए कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स की ओर से नामित सदस्य पूरी प्रॉसेस पर नजर रखेगा। जानकारों की मानें तो टीम इंडिया के मुख्य कोच के लिए रवि शास्त्री प्रबल दावेदार माने जा रहे है। शास्त्री 2014 से 2016 के बीच भारतीय क्रिकेट टीम के डायरेक्टर रह चुके हैं। उनके कार्यकाल में टीम इंडियन ने 2015 वर्ल्ड कप और 2016 वर्ल्ड टी20 के सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था। शास्त्री के बाद किसी की नाम सबसे आगे दिख रहे है तो वो है वीरेंद्र सहवाग का। सहवाग और शास्त्री के अलावा टॉम मूडी भी इस लिस्ट में प्रबल दावेदारों में से एक माने जा रहे है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शास्‍त्री कोच पद के लिए कप्‍तान विराट कोहली की पसंद बताए जा रहे हैं। विराट ने चैम्पियंस ट्रॉफी से पहले भी रवि शास्‍त्री को कोच बनाए जाने की पैरवी की थी। विराट और रवि शास्‍त्री के अच्‍छे रिश्‍ते किसी से छिपे नहीं हैं। यह भी कहा जाता है कि कुंबले की नियुक्ति से पहले विराट कोहली ने सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण की सदस्यता वाली क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी को रवि शास्त्री का नाम सुझाया था।


महिला क्रिकेट टीम की हर सदस्य योद्धा की तरह : गोयल
3 Jul 2017

नई दिल्ली। आईसीसी महिला विश्व कप 2017 में पाकिस्तान के खिलाफ जीत के बाद युवा और खेल मामलों के राज्य मंत्री विजय गोयल ने आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ शानदार प्रदर्शन के लिए भारतीय महिला क्रिकेट टीम को बधाई दी है। गोयल ने कहा है, वाह! भारत ने पाकिस्तान को 74 रनों पर आल ऑउट कर दिया और 95 रनों से जीत हासिल की! अगले मैच के लिए मिताली राज और उनकी टीम को बधाई और शुभकामनाएं। गोयल ने यह भी कहा कि टीम इंडिया की प्रत्येक सदस्य योद्धाओं की तरह हैं। उल्लेखनीय है कि मिताली राज की कप्तानी में टीम इंडिया ने महिला विश्व कप 2017 के अपने तीसरे मैच में चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को 95 रनों से हराते हुए लगातार तीसरी जीत दर्ज की है। इस जीत के साथ टीम इंडिया के 6 अंक हो गए हैं और वह पॉइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंच गई है। भारत की ओर से एकता बिष्ट ने जबरदस्त गेंदबाजी करते हुए 5 विकेट लिए। भारत की ओर से पूनम राउत ने 47 और सुषमा वर्मा ने 33 रन बनाए थे। 170 रन के टारगेट का पीछा करते हुए पाकिस्तान की टीम 38.1 ओवर में केवल 74 रन ही बना सकी।


एंटिगा में गेंदबाजों का जलवा, भारत ने 93 रन से जीता मैच
1 Jul 2017

ऐंटिगा। भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेला गया तीसरा एकदिवसीय मैच पूरी तरफ गेंदबाजों के नाम रहा। मैच में टॉस जीतकर कैरेबियाई टीम ने पहले गेंदबाजी चुनी और भारत के मजबूत बल्लेबाजी क्रम को 50 ओवरों में चार विकेट पर 251 रनों पर रोक दिया। इसके बाद, मौका मिलते ही भारतीय गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए वेस्टइंडीज टीम को 158 रनों पर भी ढेर कर दिया। ऐसे में भारत को तीसरे वनडे मैच में 93 रनों की जीत मिली। इस जीत के साथ भारत ने पांच एकदिवसीय मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त ले ली है। बतादें कि पहला मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था। भारत की जीत में महेंद्र सिंह धोनी (78), अंजिक्य रहाणे (72) की संघर्षपूर्ण पारियों के साथ रविचंद्रन अश्विन और कुलदीप यादव की फिरकी का अहम योगदान रहा। रहाणे और धोनी ने टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया, तो अश्विन और कुलदीप ने तीन-तीन विकेट लेकर विंडीज को मामूली लक्ष्य तक पहुंचने नहीं दिया। विंडीज की शुरुआत खराब रही। उमेश यादव ने दूसरे ओवर की दूसरी गेंद पर इविन लुइस (2) को बोल्ड कर भारत को पहली सफलता दिलाई। इसके बाद काइल होप (19) और शाई होप (24) ने टीम को 54 के स्कोर तक पहुंचाया। इसी स्कोर पर हार्दिक पंड्या ने काइल को केदार जाधव के हाथों कैच पर दूसरी सफलता दिलाई। चार रन के बाद कुलदीप ने रोस्टन चेस (2) को अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया। यहां से भारतीय गेंदबाज विंडीज पर हावी हो गए और लगातार विकेट लेते रहे। मेजबान टीम की तरफ से जैश मोहम्मद ने सबसे ज्यादा 40 रन बनाए। उन्होंने केरन पावेल (30) के साथ छठे विकेट के लिए 54 रनों की साझेदारी कर संभालने की कोशिश की लेकिन असफल रहे। पहला ओवर फेंकने आए जाधव ने पहली ही गेंद पर केसरिक विलियम्स को आउट कर विंडीज को पविलियन भेज दिया। पूरी टीम 38.1 ओवरों में ही पविलियन लौट गई। इससे पहले, भारतीय पारी की शुरुआत भी कुछ खास नहीं रही। बाएं हाथ के बल्लेबाज शिखर धवन (2) तीसरे ओवर में ही पवेलियन लौट गए। आक्रामक विराट कोहली 22 गेंदों में 11 रन बना सके जिसमें दो चौके शामिल थे। वह 10वें ओवर की तीसरी गेंद पर 34 के कुल स्कोर पर आउट हुए। आमतौर पर तेजी से रन बटोरने वाली भारतीय टीम को अपना अर्धशतक पूरा करने के लिए 15वें ओवर की पहली गेंद का इंतजार करना पड़ा। भारत के 100 रन 27वें ओवर की पहली गेंद पर पूरे हुए, लेकिन अगली गेंद पर लेग स्पिनर देवेंद्र बिशू ने युवराज सिंह को पविलियन भेज दिया। तेज तर्रार पारी खेलने वाले युवराज ने 55 गेंदों में चार चौकों की मदद से 39 रन बनाए। इसके बाद पूर्व कप्तान धोनी ने रहाणे का साथ दिया और चौथे विकेट लिए 70 रन जोड़े। यह जोड़ी भी विंडीज गेंदबाजों की नपी तुली लाइन लैंथ के कारण खुलकर नहीं खेल सकी और 16 ओवरों में 4.37 की औसत से ही रन जोड़ पाई। इस तरह संघर्षपूर्ण और जुझारू पारी की बदौलत भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवर में सिर्फ 251 रन तक ही पहुंच सकी।


टीम इंडिया के नाम जुड़ेगा 600 का जादुई आंकड़ा
30 Jun 2017

नई दिल्ली। भारत और वेस्टइंडीज के बीच शुक्रवार को पांच वनडे मैचों की सीरीज का तीसरा मैच खेला जाएगा। इस मैच के साथ ही भारतीय टीम वनडे क्रिकेट में विदेशी जमीन पर 600 मैच खेलने वाली दूसरी टीम बन जाएगी। भारत से पहले सिर्फ पाकिस्तानी टीम यह मुकाम हासिल कर चुकी है। भारत ने अभी तक कुल 914 मैच खेले हैं। इनमें से 463 मैच जीते हैं और 404 में उसे हार मिली है। 40 मैच ऐसे हैं जिनका कोई नतीजा निकला। घरेलू मैदान पर भारत ने कुल 315 वनडे मैच खेले हैं, इनमें से उसे 183 में जीत मिली है और 121 में भारत हारा है। 2 मैच टाई रहे हैं और 9 का कोई नतीजा नहीं निकला। अगर विदेशी जमीन पर खेले गए मैचों की बात करें तो भारत ने 599 में से 280 में जीत हासिल की है। 283 भारत हारा है और 5 मैच टाई रहे हैं 31 मैचों का कोई परिणाम नहीं निकला है। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने कुल 700 मैच विदेशी धरती पर खेले हैं। पाकिस्तान ने इनमें से 354 मैच जीते हैं और 325 हारी है। 7 मैच टाई रहे हैं और 14 का कोई नतीजा नहीं रहा। इसके अलावा, श्रीलंका ने 553 मैचों में 226 में जीत हासिल की है। वेस्ट इंडीज ने (519), ऑस्ट्रेलिया (473), न्यू जीलैंड ने (438) मैच विदेशी धरती पर खेले हैं। इंग्लैंड की टीम ने कुल 408 मैच अपनी जमीन के बाहर खेले हैं। इनमें से उसे 183 में जीत मिली है।


बांग्लादेशी क्रिकेटर का हुअा खतरनाक रोड एक्सीडेंट, पूरी फैमिली थी साथ
29 Jun 2017

बांग्लादेश के सबसे बेहतरीन बॉलर अब्दुर रज्जाक एक खतरनाक सड़क हादसे का शिकार हो गए हैं। रज्जाक अपने परिवार के साथ खुलना से ढाका की ओर निकले थे, उसी दौरान उनकी कार हादसे का शिकार हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक हादसा बेहद खतरनाक था, लेकिन सही समय पर रज्जाक और उनके परिवार को बाहर निकाल लिया गया जिससे उनकी जान बच गई।
बच्चे भी थे साथ. - रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके साथ वाइफ, बेटा, उनकी बहन और उनके दो बच्चे भी थे। वे अपने परिवार के साथ ईद मनाने खुलना गए थे। खुलना से ढाका लौटते वक्त ये हादसा हो गया। हालांकि, खबरों के मुताबकि उनकी हालत में सुधार हो रहा है। - आपको बता दें कि रज्जाक वनडे में बांग्लादेश की ओर से तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले बॉलर हैं। रज्जाक ने बांग्लादेश के लिए तीनों फॉर्मेट खेले हैं। उन्होंने 12 टेस्ट मैचों में 23 विके, 153 वनडे मैचों में 207 विकेट और 34 टी-20 मैचों में 44 विकेट झटके हैं।


टी-20 रैंकिंग : कोहली शीर्ष पर बरकरार, बुमराह दूसरे नंबर पर
28 Jun 2017

नई दिल्ली । आईसीसी की जारी ताजा टी-20 रैंकिंग में भारतीय कप्तान विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार है। पाकिस्तान की आईसीसी चैम्पियंस ट्राफी विजेता टीम के सदस्य इमाद वसीम टी20 गेंदबाजों में पहले स्थान पर पहुंच गये हैं। जबकि भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह दूसरे स्थान पर हैं। शीर्ष तीन हरफनमौला खिलाड़ियों की सूची में कोई बदलाव नहीं हुआ है जिसमें बांग्लादेश के शकिब अल हसन की बादशाहत बरकरार है। दक्षिण अफ्रीका के इमरान ताहिर ने इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला के समाप्त होने के बाद अपना यह स्थान गंवा दिया। टी-20 गेंदबाजों की ताजा रैंकिंग इंग्लैंड के दक्षिण अफ्रीका को 2-1 को हराने के एक दिन बाद अपडेट की गयी है, ताहिर दो मैचों में महज एक विकेट ही चटका सके जिससे उन्होंने दो स्थान गंवा दिये। उनका तीसरे स्थान पर खिसकने का मतलब हुआ कि इमाद ने पहली बार अपने करियर में शीर्ष स्थान हासिल किया जिसमें बुमराह ने दूसरे स्थान पर जगह बनायी है। बल्लेबाजों की सूची में कोहली, आस्ट्रेलिया के आरोन फिंच और न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन ने अपने शीर्ष तीन स्थानों पर कब्जा बरकरार रखा है। हालांकि एबी डिविलियर्स और जेसन राय को हाल में समाप्त हुई सीरीज में काफी फायदा हुआ। डिविलयर्स सीरीज में 146 रन बनाकर सबसे ज्यादा रन जुटाने वाले बल्लेबाज रहे। वह 12 पायदान की छलांग से 20वें स्थान से शीर्ष 20 में वापसी करने में सफल रहे। वहीं राय ने 103 रन बनाये जिससे वह अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ 25वें स्थान पर पहुंचे, उन्हें 26 पायदान का बड़ा फायदा हुआ। टीम रैंकिंग में इंग्लैंड दूसरे स्थान पर पहुंच गया, उसने पाकिस्तान के साथ 121 अंक की बराबरी पर शुरूआत की थी, लेकिन अब उनके 123 अंक हो गये हैं और वह शीर्ष पर काबिज न्यूजीलैंड से दो अंक से पिछड़ रही है। इसके विपरीत दक्षिण अफ्रीका को एक अंक का नुकसान हुआ, जिससे वह 110 अंक से आस्ट्रेलिया की बराबरी पर पहुंच गया। हालांकि वह दशमलव की गणना के आधार पर आस्ट्रेलिया से उपर छठे स्थान पर बना हुआ है।


होपमैन कप से करेंगे रोजर फेडरर 2018 सत्र की शुरुआत
27 Jun 2017

सिडनी। स्विट्जरलैंड के महान टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर 2018 में आस्ट्रेलिया ओपन टेनिस टूर्नामेंट में खिताब की रक्षा के अपने अभियान की तैयारी पर्थ में होपमैन कप के साथ करेंगे। फेडरर इस साल भी चोट के बाद वापसी करते हुए मिश्रित टीम स्पर्धा होपमैन कप में खेले थे और इसका उन्हें अच्छा नतीजा मिला था। फेडरर ने चिर प्रतिद्वंद्वी रफेल नडाल को हराकर इस साल आस्ट्रेलिया ओपन का खिताब जीता था। इसके बाद वह मियामी, इंडियन वेल्स और हाले में भी खिताब जीतने में सफल रहे। दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी फेडरर एक बार फिर इस टूर्नामेंट में हमवतन बेलिंडा बेनसिच के साथ जोड़ी बनाएंगे।


आस्ट्रेलिया ओपन बैडमिंटन के सेमीफाइनल में पहुंचे श्रीकांत
23 Jun 2017

नई दिल्ली । भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने आस्ट्रेलिया ओपन बैडमिंटन के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। श्रीकांत ने अपने ही देश के बी साई प्रणीत को शिकस्त दी। क्वार्टर फाइनल मुकाबले में श्रीकांत ने बी साई प्रणीत को 25-23, 21-17 से मात दी। हराकर आस्ट्रेलिया ओपन बैडमिंटन के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। इसके पहले श्रीकांत ने दूसरे दौर में शीर्ष वरीय कोरिया के सोन वान हो 15-21,21-13,21-13 से हराया था। जबकि, साई प्रणीत ने चीन के हुआंग यूशियांग को 21-15,18-21,21-13 से मात दी।


आईसीसी महिला विश्व कप: अब महिलाएं लेंगी पाकिस्तान से बदला
21 Jun 2017

नई दिल्ली चैंपियंस ट्रॉफी में भारत को करारी शिकस्त देकर भारतीय प्रशंसकों को निराश करने वाली पाकिस्तान टीम से अब भारतीय महिलाएं बदला लेंगी। क्रिकेट का रोमांच एक बार दोबारा उसी देश में चरम पर होगा जहां भारतीय पुरुष टीम को शिकस्त झेलनी पड़ी थी। 24 जून से इंग्लैंड में आईसीसी महिला विश्व कप शुरू हो रहा है। विश्व कप में भारत और पाकिस्तान की टीम एक ही ग्रुप में हैं। दोनों का मुकाबला 2 जुलाई को डर्बी मैदान पर खेला जाएगा। ऐसे में एक बार फिर मैच का रोमांच चरम पर होगा।
ये है भारतीय टीम.. मिताली राज कप्तान, एकता बिष्ट, राजेश्वरी गायकवाड़, झूलन गोस्वामी, मानसी जोशी, हरमनप्रीत कौर, वेदा कृष्णमूर्ति, स्मृति मंदाना, मोना मेशराम, शिखा पांडे, पूनम यादव, नुसरत परवीन, पूनम राउत, दीप्ति शर्मा, सुषमा वर्मा।


भारतीय हॉकी टीम ने पाकिस्तान को 7-1 से रौंदा
19 Jun 2017

लंदन। हॉकी विश्व लीग सेमीफाइनल्स के अपने तीसरे मैच में हरमनप्रीत सिंह, तलविंदर सिंह और आकाशदीप सिंह के 2-2 गोलों की बदौलत भारत ने पाकिस्तान को 7-1 से रौंद दिया। इस रोमांचक मुकाबले के 13वें मिनट में भारत को पहला पेनल्टी कार्नर मिला। जिसे गोल में तब्दील कर हरमनप्रीत सिंह ने भारत को पहली सफलता दिलायी। इसके बाद तलविंदर सिंह ने 21वें और 24वें मिनट में लगातार तो मैदानी गोल कर भारत को 3-0 से आगे कर दिया। पहले हॉफ की समाप्ति पर भारतीय टीम ने 3-0 की बढ़त बरकरार रखी। भारतीय टीम ने दूसरे हॉफ की शुरूआत भी काफी आक्रामक की। जिसका फायदा भी जल्द ही भारतीय टीम को मिला। मैच के 33वें मिनट में भारतीय टीम को एक और पेनल्टी कार्नर मिला। जिसे हरमनप्रीत सिंह ने एक बार फिर पेनल्टी को गोल में बदलते हुए भारत को 4-0 से आगे कर दिया। यह हरमनप्रीत का मैच का दूसरा गोल था। मैच के 47वें मिनट में शानदार मैदानी गोल कर आकाशदीप सिंह ने भारत को 5-0 से आगे कर दिया। इस गोल के 2 मिनट बाद ही 49वें मिनट में परदीप मोर मैदानी गोल कर भारत को 6-0 से आगे कर दिया। मैच के 57वें मिनट में उमर मुहम्मद भुट्टा ने मैदानी गोल कर पाकिस्तान का खाता खोला और स्कोर 6-1 कर दिया। 2 मिनट बाद ही आकाशदीप सिंह ने 59वें मिनट में मैदानी गोल कर भारत को 7-1 से जीत दिला दी।


चौथी बार चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचने के लिए मैदान पर उतरेगा भारत
15 Jun 2017

बर्मिंघम। भारतीय टीम बांग्लादेश को हराकर चौथी बार आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचने के लिए मैदान पर उतरेगी। टीम इंडिया के इस मैच में जीत हासिल करने के बाद एक बार फिर से 18 जून को भारत-पाक के बीच खिताबी मुकाबला देखने को मिलेगा। इसके बाद यह दूसरा मौका होगा जब भारत आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में पाकिस्तान से भिड़ेगा। इससे पहले दोनों देश 2007 टी-20 विश्व कप के फाइनल में एक-दूसरे से भिड़ चुके हैं। जिसमें भारत ने जीत हासिल कर टी-20 का पहला विश्व कप अपने नाम किया था। कागजों पर भारत इस मैच जीत का प्रबल दावेदार है, लेकिन क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और ऐसे में बांग्लादेश को जीत का दावेदार नहीं मानना गलत होगा। भारतीय टीम भी अपने इस पड़ोसी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ किसी तरह की भी ढिलाई बरतने से बचना चाहेगी। विशेषकर बांग्लादेश ने जिस तरह से लीग चार में न्यूजीलैंड के खिलाफ शानदार वापसी करके जीत दर्ज की उसे देखते हुए कोई भी टीम उसको कमजोर मानने की गलती नहीं करेगी। इस जीत से बांग्लादेश ने सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए अपनी राह तैयार की थी। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करने के बाद भारतीय टीम भी आत्मविश्वास से भरी है और वह अपनी यही फार्म बरकरार रखकर बांग्लादेश को कड़ा सबक सिखाने की कोशिश करेगी। भारत के बल्लेबाज फार्म में हैं, गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और क्षेत्ररक्षण भी बेहतरीन है। कुल मिलाकर विराट कोहली की टीम अभी खेल के तीनों विभाग में अव्वल नजर आ रही है। ऐसे में भाग्य के भरोसे सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली मुर्तजा की टीम को जीत दर्ज करने के लिए एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड पर कुछ विशिष्ट प्रदर्शन करना होगा।


हॉकी : वर्ल्ड कप से बाहर किए जाने पर पाकिस्तान ने भारत को जिम्मेदार ठहराया
30 November 2016
अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) द्वारा जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप से पाकिस्तान को बाहर किए जाने पर पाकिस्तान ने भारत को इसका जिम्मेदार ठहराया है. एफआईएच के मुताबिक, पाकिस्तान हॉकी महासंघ (पीएचएफ) ने अंतिम तारीख तक अपने खिलाड़ियों का यातायात कार्यक्रम नहीं बताया था. पीएचएफ ने हालांकि इसके बाद एफआईएच की आलोचना की है और उसके इस कदम को सोची समझी साजिश बताया है. पीएचएफ के सचिव शहबाज अहमद ने इसके लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है. पाकिस्तान के अखबार 'द डॉन' ने मंगलवार को शहबाज के हवाले से लिखा है, "पाकिस्तान ने किसी भी कार्यक्रम में देरी नहीं की. पाकिस्तानी खिलाड़ियों को अंतिम तिथी से पहले वीजा न देना भारत की गलती है." उन्होंने कहा, "हमारी सरकार ने समय पर खिलाड़ियों को टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के लिए अनापत्ती प्रमाण पत्र (एनओसी) जारी कर दिया था. यह दुख की बात है कि पाकिस्तान जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप में हिस्सा नहीं ले पाएगा. हमने हमारे खिलाड़ियों के लिए प्रशिक्षण शिविर भी लगाया था तो हम कार्यक्रम में कैसे देरी कर सकते हैं."
 
Copyright © 2014, BrainPower Media India Pvt. Ltd.
All Rights Reserved
DISCLAIMER | TERMS OF USE